हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू

छवि स्रोत,ल से नाम लिस्ट गर्ल

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स बीएफ चुदाई हिंदी: हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू, ऐसे ही एक दिन इन्टरनेट पर खोजते हुए अन्तर्वासना साइट मिली, तो इसे पढ़ना शुरू किया.

सेक्स छोटी

मैंने जल्दी में उसकी पेंट उतार दी और उसको अपनी गोदी में अपनी तरफ मुँह करके बिठा लिया था. बंगाली सेक्सी साड़ी वालीअभागी सुधा (क्या लिखू माँ? जो मुझसे नहीं लिखा जाएगा)अभी मेरे पति को गुज़रे कुछ दिन ही हुए थे कि मेरी चाची एक दिन मुझसे बोली कि सुधा अभी तुम्हारी उम्र ही क्या है.

मेरा हाथ पूरा फ़ैलाने के बाद भी उसकी गांड को पूरी तरह से नहीं ढक पा रहा था. राजस्थानी सेक्सी मूवी हिंदी मेंमैंने तभी माइक की तरफ देखा, उसने तुरंत कह दिया मुझे ऐसा कोई शौक नहीं है और न ही मैं समलैंगिक हूँ, मुझे केवल औरतें ही पसंद हैं.

फिर मैं उनके बगल में आकर लेट गया और वो मेरी तरफ करवट करके मेरे कंधे पर अपना सर रखकर लेट गईं.हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू: मैंने पर्ची देखी तो मेकअप का सामान लिखा था, मैंने बोला- अगर देर नहीं हुई तो जरूर ला दूंगी.

धीरज बहुत ही मेहनती था और कुछ ही समय में वो कंपनी में उच्‍च पद पर आ गया।अब क्योंकि मैं उससे रोज़ ही मिलती जुलती थी धीरे धीरे मैंने खुद को पाया कि मैं उसको चाहने लगी हूँ मगर मैंने कभी उससे जाहिर नहीं होने दिया क्योंकि मुझे नहीं पता था कि वो मेरे बारे में क्या सोचता है.मैंने कहा- तुम अपनी बुक्स दिखाओ!और यह कह कर मैंने उसकी सारी किताबें और नोटबुक्स अपने पास उठा कर रख ली और देखने लगा.

गेर वाली गाड़ी - हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू

संपत ने कुछ नहीं कहा और वो मेरी मम्मी की चुचियों को तेजी से मसलने लगे.स्वाति का ये पहली बार था तो उसकी चूत कसी हुई थी और मेरा भी पहला ही था.

मुन्ना अंकल ने मेरे पास आकर सीधे मेरे पिछवाड़े में अपना हाथ रख दिया और जैसे ही हाथ मेरी गांड में छुआ, उन्हें चिपचिपा सा लगा तो बोले- यह तो चुदाई करवा चुकी है, लगता है उसके लन्ड का रस निकल चुका होगा।मुन्ना अंकल ने मेरे चूतड़ों को फैलाकर देखा, फिर बोले- नहीं, यह लंड का रस नहीं है, कुछ और रहा होगा. हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू उसके बाद अपनी हथेली से मेरी चूत को रगड़ने लगा और बोला- वन्द्या, तू बहुत गजब की माल है, क्या मस्त तेरी चूत है बिल्कुल लाल सुर्ख पड़ी हुई है, बहुत मजा आएगा! मैं तुझे जो बोला हूं, सोच ले.

मैंने उससे कुछ नहीं पूछा और सीधे पिंकी से बोली कि खाना तो ठीक बनाती हो ना?उस कामवाली पिंकी ने कहा- जी आप खुद ही देख लीजिएगा, जब कुछ देर बाद बनाऊंगी.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू?

मुस्कराते हुए उसने जाकर दरवाज़ा बंद कर दिया और वापिस आकर मेरे सामने टेबल से लग कर खड़ी हो गई. मेरी सेक्सी कहानी को पसंद करने के लिए आप सबका तहे दिल से शुक्रिया। लेकिन कुछ लोग मुझसे मेरे फोन नम्बर वगैरा की माँग करते हैं और कुछ रिश्ते बनाने की! मेरी आप सब से विनती है कि ऐसे मैसेज न करें क्योंकि मेरे लिए यह मुमकिन नहीं है।आप बस मेरी सेक्स कहानियों का आनंद उठाइए और अगर कहानी में कोई कमी पेशी लगती है तो मुझे ज़रूर बताइए।आपकी चुदासी घोड़ी रूपिंदर कौर की सेक्स कहानी जारी रहेगी. मैंने उनको खुद से दूर किया और एक नज़र ऊपर से नीचे तक दीदी के नंगे बदन को देखा.

काफ़ी देर मेरे चेहरे को प्यार करने के बाद में वो मेरी गर्दन पर किस करने लगे. अभी देखना तेरी चूत की खुजली मैं अपने लंड से खुजाऊंगा तुझे तभी चैन पड़ेगा, मेरा लंड लोगी न अपनी चूत में?” मैंने उसकी जांघ पर चिकोटी काट कर कहा. एक तो ऐसी लड़की मिलती नहीं, मिली तो सेक्स के लिए आसानी से तैयार होती नहीं और हमने कुछ करने की कोशिश की तो हंगामा अलग से होने का खतरा रहता है.

मैं बस यही सोचती कि काश कैसे भी आकर मुझे कोई अपनी बांहों में भर ले, और मेरे जिस्म को मसल दे … आज मेरी तमन्ना पूरी कर दे … मेरी प्यास बुझा दे, मेरे साथ जमकर सब वो करे जो मेरे गर्मी को शांत कर सके।परंतु ऐसा कोई नहीं मिला, कैसे मिलता जब तक कि कोई बातचीत ना हुई हो. वह मुझे कस कस कर पकड़ने लगी, मजा आ रहा था … उसने अपने पैरों को मेरी कमर से बांध रखा था और मैं जोर जोर से धक्के लगा रहा था, हर धक्के के साथ उसकी आह निकल जाती थी. फोन की स्क्रीन पर देसी नंगी जवान लड़की अपने पैर खोले एक हाथ में फुट भर लम्बा काला मोटा डिल्डो लिए चूस रही थी और दूसरे हाथ की उँगलियों से उसने अपनी चिकनी चूत खोल रखी थी.

तारा ने मुझे बताया कि कुछ मर्द ऐसे भी होते हैं, जिनको अपनी गुदा में लिंग लेना पसंद होता है. इसी दौरान अशोक ने अपने एक साथ से मयूरी की गांड के एक उभार को छोड़ दिया और मयूरी की जादुयी चूचियों पर अपना हाथ फेरने लगा.

उस दिन सर के लंड का स्वाद तो नहीं मिला, लेकिन उनके दोस्त के लंड का स्वाद मिल गया था.

मैं अब लंड को दबाते हुए उनकी ओर थोड़ा कम देखते हुए दूसरी तरफ देख रहा था.

मैं अपने पति से कह देती हूँ आज इंस्पेक्शन पर जाना है और बस मैं उसके लंड के साथ पूरी रात बिता देती हूँ. उसने अपना लंड घुसाना चालू किया पर वो फिसलकर कभी ऊपर कभी नीचे चला जाता. मामी मेरे नीचे पड़ी ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थीं लेकिन मैं बिना रुके उनकी चुत को चोदता चला जा रहा था.

हमारे सामाजिक और पारिवारिक जीवन को ठेस पहुँचाए बिना खुद को तृप्त करने का जरिया मात्र होती हैं कहानियाँ. मैंने उसके चूतड़ों पर दो तीन थप्पड़ मारे और पीछे से लिंग को चूत पर सेट किया और धक्के मरना चालू किया. ”मैं उनके पीछे जाकर उनसे सट के खड़ी हो गयी। एक साथ धक्का देने से टहनी थोड़ा सा खिसक तो गयी पर मेरा बदन उनके नंगे बदन पर रगड़ने की वजह से मेरी कामवासना जागृत होने लगी। मेरे स्तन उनकी पीठ में घुस गए थे, मुझे पूरा भरोसा था कि अंकल भी उत्तेजित हो गए होंगे।नीतू … थोड़ा और जोर लगाना होगा, तुम पीछे से ज्यादा जोर नहीं लगा सकती। एक काम करो तुम आगे हो जाओ, मैं तुम्हारे पीछे से जोर लगाता हूँ.

मेरे सारे कपड़े तो पहले से ही भीग रहे थे, अब डर भी था और चुदने का मन भी कर रहा था.

अंकित बोला- वन्द्या, अब तू तैयार हो जा … मैं तुझे आज बहुत चोदने वाला हूं, मैं और मेरा लन्ड बहुत तड़प रहे हैं, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा. अब तक इस हॉट गर्ल सेक्स कहानीवो बरसात की हसीन शाम-1में आपने जाना कि मेरे मोहल्ले की शादीशुदा हॉट गर्ल पायल को हम तीन दोस्तों ने चुदाई के लिए राजी कर लिया था. उन्होंने भी मुझे कस के जकड़ लिया और हम दोनों का जबर्दस्त आलिंगन हुआ.

मुझे आगे वाले ने मेरे मम्मों को पकड़ कर मुझे सहारा सा दिया हुआ था, जिससे मुझे काफी राहत मिल रही थी. घर पहुंचते ही उसने नए फ़ोन के लिए पूछा तो मैंने अगली बार दिल्ली से लाने की बोला और सुबह वाली ट्रेन से वापस दिल्ली आ गया. मैं समाली अंकल से अपने आप ही लिपट कर उनके बदन में घुसी जा रही थी, अपनी दोनों बांहों से समाली अंकल को समेट के कस लिया और जमकर उनसे लिपट गई.

मुनीर और तारा एक दूसरे के चेहरे को निहारते, चूमते सहलाते बातें करने लगे.

तभी मुझे मेरे पड़ोस वाले भैया की आवाज सुनाई दी, वो मेरी मम्मी से बातें कर रहे थे. ये कहकर पति ने अपना लंड धक्का मारने के लिए चुत से बाहर निकालना चाहा तो लंड बाहर नहीं आ रहा था और मेरी चुत में भी दर्द हो रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू मैं जब वापिस लौटा तो उन्होंने मुझे पास बुलाया और अपने कमरे में धक्का देकर जमीन पर पटक दिया और जल्दी से गेट लगाकर रोमांटिक एक्शन पोज में पैर फैलाकर खड़ी हो गईं. बिस्तर पर खून देख कर तो जैसे उसकी जान ही निकल गई, पर मैंने उसको समझाते हुए शांत किया.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू मैंने होश गंवाते हुए पास की टेबल पर रखी क्रीम की डिब्बी उठाई और अपने लंड पर क्रीम लगाकर उसकी चूत के मुँह पर सुपारा फिराना चालू किया. अब उन्होंने लंबी सांस ली और मुझे ऊपर आने का इशारा किया, मेरी आंखों में बहुत ही गौर से देखा और कहा- राजे तुमने मुझे धन्य कर दिया!और वे मेरे लंड को लंड को हिलाने लगी.

अशोक- क्या बक रही हो?मयूरी- क्यूँ? आप अपनी बेटी को चोद सकते हो तो वो अपने बेटों से नहीं चुदवा सकती?अशोक- म… मतलब वो कैसे?मयूरी- माँ ने तो एक बार मेरे साथ भी सेक्स किया था… लेस्बियन…अशोक- मतलब त… तुम माँ-बेटी?मयूरी- हाँ पापा…और फिर मयूरी ने अपनी माँ और अपने बीच हुई चुदाई से लेकर उनके दोनों बेटों से चुदाई की पूरी दास्ताँ सुना दी.

बफ वीडियो भोजपुरी

मैं इतना परेशान हो गया कि त्यागपत्र दे दिया जो कि मेरी परेशान हो चुकी जिन्दगी का सबसे बड़ा उदाहरण हुआ. जो दिखने में गांव की देसी गर्ल लगती हैं, पर हैं बहुत सुंदर और सेक्सी. फिर वो आई, मैंने बोला- रीना मैंने आज तक कभी ऐसा नहीं किया, सो डर लगता है, सोसाइटी में किसी को पता चलेगा तो?रीना ने बोला- इस सबकी तुम बिल्कुल चिंता मत करो.

दसवीं की परीक्षा के बाद कविता ने स्कूल छोड़ दिया और वो किसी दूसरे संस्थान में पढ़ने लगी. मैं थका हुआ था तो सो गया बिना कुछ खाये पिये!क्योंकि घर की एक चाबी हमेशा उसके पास रहती थी तो वो उस चाबी से दरवाजा खोलकर अंदर आ गई और अपना काम करने लगी।सारा काम खत्म करके उसने खाना खाने के लिए मुझे आवाज दी तो मैं सोने का नाटक करने लगा. वो- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैं एकदम से चौंक गया क्योंकि किसी कस्टमर ने आज तक मुझसे ऐसा नहीं पूछा था.

उसने मुँह में 2 मिनट ही चोदा कि मैंने निकाल दिया।फिर वो कभी मेरी चूत फाड़ता तो कभी गान्ड… दोनों की बैंड बजा बजाकर चोदता रहा और तो मैं तो दर्द से सुन्न सी हो गयी थी।वो ऐसे ही 15-20 मिनट चोदता रहा। फिर उसने और स्पीड बढ़ा दी और बोला- रानी, मेरा अब निकलने वाला है।यह सुनकर मेरी दिल को सुकून आया और मैं भी उसके झटके का जवाब देने लगी.

मेरा लंड पहले से थोड़ा खड़ा होने लगा था, जो अब गांड का स्पर्श पाते ही पूरा अकड़ गया. तुमने अन्दर क्यों किया?वो बोला- अरे यार रुका ही नहीं गया, मुझे चुदाई का कोई तजुर्बा नहीं है. शादी के बाद भी मौका मिलता है और उसका मन करता है तो वो मुझे चुद जाती है.

आपका योगीस्टूडेंट से सेक्स की कहानी पर अपनी राय देने के लिये आप मुझे मेरी ईमेल[emailprotected]पर संपर्क कर सकते हैं. उनके कहते ही वह दोनों अंकल आ गए और जो सबसे ज्यादा उम्र के थे, वह मेरे ऊपर चढ़ने लग गए. जैसे ही हम दोनों रूम में पहुंचे, वो मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरे होंठों को जोरदार किस करके लगा.

शीतल- हाय मेरी प्यारी बेटी…और ऐसा कहकर शीतल के होंठों पर एक प्यारा सा चुम्बन देकर अपने बेटों के कमरे में चली गयी और मयूरी ने अशोक के कमरे का रुख किया. मेरा भाई जल्दी जल्दी मुझे चोदने लगा और उसके बाद कुछ देर की जबरदस्त चुदाई के बाद मैं और मेरा भाई साथ में झड़ गए.

उधर मेरी कमर को उठाकर कर मेरे पिछवाड़े को और ऊपर उठाकर कूल्हों को फैला कर समाली अंकल ने अपना लंड मेरी गांड के छेद में टिका दिया. पढ़ाई के साथ मौज मस्ती भी चलने लगी और ऐसे ही हम एक दूसरे लाइफ के बारे में बताने लगे कि किसकी गर्लफ्रेंड है और किसकी नही है या किसकी जुगाड़ कौन सी है. फिर टीचर ने अपने सारे कपड़े उतार दिए, उनका लंड और बॉडी देख कर मेरे तनबदन में आग सी लग गई.

मयूरी ने जल्दी-जल्दी अपने कपड़े पहने और मुस्कुराती हुई अपने बिस्तर पर लेट गयी.

मेरी उम्र 20 साल की है, औसत दुबला सा शरीर है और मैं बाइसेक्सुअल हूँ. क्रिकेट और फुटबॉल खेलने के कारण मेरी एथलीट बॉडी थी, गेहुंआ रंग, पूरे 6 फीट लंबा कद और शक्ल से कमीनापन साफ़ दिखता था. सुन्दर गोल सा चेहरा, उमड़ते यौवन से भरपूर मजबूत सुगठित बदन जो कि सिर्फ मेहनत करने वाली कामिनियों का ही होता है.

थोड़ी देर के बाद मुझे भी लगा कि अब ज़्यादा देर रुक नहीं सकता और इसलिए मैंने अपना लंड एक बार जड़ तक पूजा की चुत में पेलकर उसकी एक चूची अपने मुँह में भर कर चुपचाप लेट गया. मैंने सोचा- एक बार में ही पूरा अन्दर कर देता हूँ, दर्द का झंझट ही खत्म हो जाएगा.

कि वाकई में मैं क्या-क्या कर सकती हूँ।”और न सिर्फ वह चपड़-चपड़ लिंग चूसने लगी, अपितु उल्टे हाथ से दोनों बॉल्स भी धीरे-धीरे सहलाने दबाने लगी. मैं एक मंजे हुए खिलाड़ी की तरह उसके अधरों के रस को कोमलता से चूस रहा था. एक दिन मैंने उसे मैसेज किया- क्या कर रही हो?तो वो बोली- फ्री बैठी हूँ.

एक्स वीडियो देसी एचडी

सभी पाठकों से अनुरोध है कि नीचे दिये गए ईमेल पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य दें.

अंकल ने मुझे बुलाया और मेरे जिस्म पे हाथ फेरा और मेरे होंठों को चूसा. मैंने भी करवट बदल कर अपना मुँह उसकी तरफ कर लिया और धीरे धीरे उसके नंगे बदन को सहलाते हुए कैसी रही? मैंने आंख मारकर कहा. दरअसल हम लोग भले ही खुलकर सेक्स पर चर्चा करते थे, पर एक दूसरे का आदर भी उतनी ही करते थे.

यह बात आज से लगभग 5 महीने पहले की है, जब मैं अपना एक एग्जाम निपटा के कुछ दिन के लिए अपने गाँव आया था. उनकी डांट से मेरी डर से गांड फट गई और मैंने उन्हें यूं ही छोड़ दिया. छोटी बच्ची का वीडियो सेक्सीवो ऑर्डर ले कर सभी जगह सामान पहुंचाती थी और मिले पैसों से घर चलाती थी.

पापा समझ गए कि मयूरी को भी आनन्द आ रहा है और वो इस पापा के इस काम में राजी भी है. लड़की वालों के यहां तक बारात पहुँचते पहुँचते कम से कम दो घंटे तो लगेंगे ही.

उधर जगत देव अंकल भी बोले- वन्द्या आज मैं तुम्हें जी भर के बहुत चोदूंगा, तुम कल मुझसे शादी कर लेना, फिर तुम जो बोलोगी, सब करूंगा. इस वक्त मेरे मजे की कोई सीमा नहीं थी, उनका लंड मेरी चुत का भोसड़ा बना रहा था. पहले तो मैं एकदम से हिचक गई, पर मेरा बहुत मन कर रहा था तो मैंने अंकित को बोला- अंकित, तू बहुत मस्त है.

वो भी मेरे मुंह में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा और कुछ देर के बाद वो झड़ गया और अपना माल बाहर निकाल दिया. मैं दौड़ के भाभी के पास गया देखा तो भाभी पानी में गिरी हुई थीं और उनकी साड़ी का पल्लू नीचे आ गया था, जिससे उनके बड़े बड़े बूब्स बहुत अच्छे से दिख रहे थे. अंकल जी कितने ऊंचे ऊंचे मकान हैं न यहाँ पर?” वो आश्चर्य से भर कर बोल पड़ी.

दोनों ने तनिक भी समय नहीं गंवाया और फुर्ती के साथ अलग होकर तारा ने कुतिया की भांति आसन ले लिया.

तो मैंने कहा- मेरा वीर्य तो गिरा नहीं अभी!उसने बोला- जानू आराम से करो, बहुत दर्द हो रहा है. मैंने उससे कहा- मेरी मम्मी ने राजमा चावल बनाए हैं … चलो हम दोनों पहले लंच कर लेते हैं … फिर कैरम खेलेंगे.

फिर मैंने श्यामा से कहा- अब देखना असली डिल्डो जो चुदाई में पूरा एक्सपर्ट है. आज बहुत बातें कर रहा है?मैं- कुछ नहीं, आप जैसी जानदार और शानदार आंटी से तो बातें करना मेरा सौभाग्य है. थोड़ी देर पीठ की मालिश करने के बाद शीतल का हाथ अपने आप ही मयूरी के गांड की गोलाइयों पर चला गया और वो बड़े प्यार से उनका मालिश करने में लग गयी.

मुझे आपकी पिंकी पर तो पूरा विश्वास है कि वो कुछ नहीं करेगी मगर अपने लड़के पर ज़रा भी विश्वास नहीं है. जैसे ही उसके नीचे के दोनों होंठ चूस कर मैंने जीभ अन्दर डाली, उसके सब्र का बाँध टूट गया और चुत से सैलाब निकल कर मेरे चेहरे को नहला गया. इसी लिए जिस दिन से भैया की नौकरी लगी थी, उसी दिन से किसी और का तो पता नहीं, लेकिन मैं बड़ा खुश था कि भैया के साथ यूएसए जाने का मौका मिलेगा और चुदाई भी मिल सकती है.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू [emailprotected]कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड के साथ मेरा पहला सेक्स-3. मैं अपनी जवानी दिखाने के लिए अपने पड़ोस की औरतों के साथ शाम को घूमने निकलने लगी.

मराठी sax

वो फोटो खुलते ही कम्मो थोड़ी घबरा सी गयी और उसने फोन की स्क्रीन को अपने हाथ से छुपा लिया. तो बस अकेली बैठी हूँ, बाकी सब लोगों की छुट्टी हो गई, पर मेरा कुछ काम था. ई…ई”मेरी जान निकल गई, उनका लौड़ा मेरी आधी चूत में लसलसा कर अंदर चला गया था और मेरी आँखों से आँसू की धार बहने लगी.

मैंने उसकी थोड़ी तारीफ की और कहा- मुझे आप बहुत अच्छी लगी हो, क्या मैं आपका नम्बर जान सकता हूँ?वो मुस्कुराते हुए बोली- किस चीज का नम्बर?मैंने अचकचा गया और कहा- फोन का नम्बर दे दीजिएगा. तो मैंने कहा- आप जैसी खूबसूरत बला को देख कर तो किसी नामर्द का भी लंड खड़ा हो जाए तो मैं तो एक जवान लड़का हूं. राजस्थानी सलवार सूटशीतल मयूरी की इस नायब शरीर का निरीक्षण करने में लग गयी कि ईश्वर ने कितनी फुर्सत से बनाया होगा.

की आवाज निकालने लगी।मैं दीदी की चुत को बहुत प्यार से चूस रहा था जैसे आइसक्रीम हो…दीदी आहें भरे जा रही थी और मैं उनकी चुत चूसे जा रहा था- आह अह आह और पीहू और चूसो.

इसकी महक बहुत ही मदहोश करने वाली है, मैं अब तक मैं ज्यादा तो नहीं, पर दस बारह लड़कियों को ही चोद चुका हूं. अब मुझे उन लड़कियों का भी थोड़ा देखना था, जिन की शादी नहीं हुई और वो कैसे काम करती हैं.

पर मैंने एक शर्त रखी कि मैं आऊंगा पर आपके घर नहीं बल्कि किसी होटल में रुकूँगा. क्योंकि मैं जानता था कि ये सब वो छोड़ देने की कहकर दिखावा कर रही है. इसके लिए मैंने उनके कमीज के अन्दर हाथ डाल दिया और मौसी की ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को दबाने लगा.

मैं अपने आप अपनी कमर को उछालने लगी और मनोहर का लंड पूरा का पूरा मुँह में अन्दर-बाहर करने लगी.

साथ ही भाभी हिमानी को भी ले आई और उसे समझाया कि जो होना था वह हो चुका है, ऐसा एक बार सभी के साथ होता है, जब चूत की झिल्ली फटती है, अभी पांच मिनट में सब ठीक हो जाएगा. मैं समझ गई कि इसे भी सब पता लग गया है तो मैंने उसे आँख मार कर चुप रहने का इशारा किया. अशोक के मन में ख्याल आया कि वो अभी उनके कमरे में जाए और उनको रंगे हाथ पकड़ ले … फिर वहीं पर सब के साथ जोरदार चुदाई करे.

सेक्सी फिल्म वीडियो एचडी मेंफिर भी दिखावे के लिए छटपटा रही थी और बोल रही थी- ये गलत है, सोहेल मुझे नहीं छोड़ेगा. अन्दर बिस्तर पर चाची पूरी नंगी चित लेटी हुई थीं और चाचा उनकी चूचियों पर टूटे पड़े थे.

ತಮಿಳು ಸಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

जिस वजह से मेरा लंड अब तेजी से एक पिस्टन की तरह उसकी चुत में अन्दर बाहर हो रहा था. चाची नंगी होकर लेट गईं, मैं उनके पास आ गया और उनके बड़े-बड़े बोबों से खेलने लगा, उन्हें दबाने लगा. उसकी चूची को चूसते हुए मैंने अपने हाथ को हरकत दी और उसके चिकने बदन को ऊपर से नीचे तक सहलाने लगा.

मैंने कहा- कौन, देवेन्द्र …?मुकेश बोला- इसका मतलब आप जानते हो, मैंने उसका नाम कब बताया था, बस लड़के के बारे में पूछा था. थोड़ी देर और धक्के लगे कि तारा ने सिसकारी भरे शब्दों में माइक को उकसाने वाले शब्द बोलने शुरू कर दिए. मैंने सुना था कि इधर के देशों में लड़कियां बड़े खुले विचारों वाली होती हैं तथा बड़ी आसानी से चुदाई को मिल जाती है.

चाची चाचा का लंड को जोर जोर से हिलाते हुए बोले जा रही थीं- जल्दी घुसा दो अपना मूसल लंड मेरी चूत में. उसकी विशाल चूचियां एकदम तनी हुई थी और गांड बिल्कुल बाहर निकली हुई थी. कोई कमसिन और कुवांरी लड़की की चुचियों को पी रहा हो तो मजा तो आना लाजिमी था.

कुछ ही देर में मेरे लंड ने उसकी चूत में जगह बना ली थी और उसका दर्द कम होता चला गया. कामदेव ने अपना पुष्पबाण चला ही दिया और कम्मो अपनी एड़ियाँ रगड़ने लगी.

उन्होंने खींच कर मुझे अपने ऊपर ले लिया और टांगें खोलकर मेरा लंड अपनी चूत पे लगाकर खुद ही हिलने लगीं.

मैंने कैब का दरवाजा खोल कर पहले कम्मो को बैठने दिया फिर खुद जा बैठा और हम चल दिए लाल किले की ओर. सेक्सी वीडियो बहनमैंने मनीषा को भी कनखी नगाहों से देखा, वो मेरे लंड को पूरा देखने की कोशिश कर रही थी. इंडियन ओल्ड सेक्स वीडियोबहूरानी ने सामान वाले कमरे का ताला खोला और हम दोनों झट से कमरे में घुस गये और दरवाजा भीतर से लॉक कर लिया. पायल ने मेरे बदन को, कंधे को, चेस्ट को किस करना और काटना शुरू किया.

बाथरूम में घुसते ही मेरी नजर हैंगर पर गई, आज भी वहां काले पेंटी लटकी हुई थी.

कुछ ही दिनों में वैसे ही सबकी जुगाड़ें पट गईं, पर मैंने अब तक किसी लड़की को पसंद नहीं किया था. कुछ ही देर में हम दोनों गुत्थमगुत्था हो गए और कब हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए, मालूम ही नहीं चला. मैं उसे उठा कर बाहर रूम में ले आया और उसे और खुद को तौलिये से सुखाया.

मैं उसके गर्दन के चारों तरफ किस कर रहा था, पागलों की तरह उसके चुचे दबा रहा था. चाचा, आज आपने तो हम दोनों की किस्मत बना दी, मैं तो कहूंगा कि वन्द्या को आप अपनी परमानेंट अपनी रखैल बना लो, इसकी मम्मी का चक्कर छोड़ो, जो करना है इसी के लिए किया करो. पर ऐसा कुछ हुआ नहीं है अब तक, मतलब वो अपने पापा को अपने प्रेमजाल में फंसाने में कामयाब रही है.

ब्लू पिक्चर फिल्म हिंदी में

हम लोग अपनी मस्ती में सब भूल गए और हमें समय का कोई अंदाज नहीं रहा और चाचा चाची बच्चों के साथ वापस आ गए. जब उसने मुझे नंगी कर लिया तो चाचा से बोला- ज़रा इसके हाथ पकड़ कर रखो. अशोक के मन में ख्याल आया कि वो अभी उनके कमरे में जाए और उनको रंगे हाथ पकड़ ले … फिर वहीं पर सब के साथ जोरदार चुदाई करे.

तेरे मुंह का क्या है, बस हिलना ही तो है।”अरे भाभी मैं तो …”क्या मैं तो … ज्यादा डॉक्टर न बन। रेजर या वीट वगैरह न लगाती अपने अंडर आर्म पे। आई बात समझ में!”जी में आया कि गंदी-गंदी गालियां दे दूं दो चार, लेकिन बेबसी से देखता रह गया।यह बारिश मेरे पैर रोक सकती है लेकिन मुझे नहीं रोक सकती। मुझे शाम को किटी में जाना है तो जाना है.

करवाचौथ वाले दिन तक मैंने न पूजा की तरफ देखा और ना ही कोई बात की।करवाचौथ वाली शाम को पूजा मेरे घर आई और मेरी मम्मी के बारे में पूछा तो मैंने भी गुस्से में बता दिया कि वो प्लाट में गयी हैं, आधे घंटे बाद आयेंगी.

काले रंग की ब्रा में उसके दूध से गोरे वक्ष बहुत ही आकर्षक लग रहे थे. जब दोबारा कॉल आया तो मैंने जैसे ही फ़ोन उठाया तो दूसरी तरफ से एक प्यारी सी आवाज ने ‘हेलो …’ बोलकर दिल को छू लिया. हद सेक्स मूवीबस 5 मिनट के बाद वो मर्द और जोर जोर से कराहने लगा और उसने भी मुनीर का हाथ पकड़ अपने लिंग को और जोर जोर से हिलवाने लगा.

पापा का बिजनेस है और मम्मी हाउसवाइफ हैं, मैं और मेरा भाई एक ही कॉलेज में साथ साथ पढ़ाई करते हैं. सबके निकलने के बाद मैं सारे कमरे लॉक करके बारात में शामिल हो जाऊंगा, कोई कीमती सामान तो नहीं रखा है न?” मैंने उन्हें आश्वस्त किया और चाभियां उनसे ले लीं. वो समझ गयी कि बेटी मयूरी ने अपने बाप अशोक का लंड अपने चूत में डलवा लिया है.

उसी दिन शाम की ट्रेन थी, मैंने खाना बनाया और सब खाना खाकर हम लोग निकल गए. उनकी हरकतें ठीक उस तरह थीं जैसे चुदाई के वक्त झटके मारते हुए आगे पीछे होते हैं ना, बिल्कुल वैसे बदन हिला रही थीं.

हमारे घर में मैं, मेरी वाइफ, मेरी मम्मी पापा और मेरे भाई-भाभी और उनकी 5 साल की लड़की रहते हैं.

जिसका नतीजा यह निकला कि उसका सुपारा मेरी चुत को चीरता हुआ अन्दर चला गया और मेरी चुत से खून निकलना शुरू हो गया. सांप के फन की तरह लहराता और फुंफकारता लंड देख कर अनुभवी मामी समझ गयी थीं कि आज उनकी चूत का भोसड़ा बनने वाला है. आपने मेरी लिखी गई मेरी सच्ची कहानीगोरखपुर की जीनत ने घर बुला कर चुत चुदाईको बहुत पसंद किया, इसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

राजस्थान हिंदी सेक्सी वीडियो उसका वीर्य इतनी तेजी से निकला कि सीधा मुनीर के मुख और छातियों पे जा गिरा. ” मैंने एक हाथ से उसकी चूची को सहलाते हुए कहा और साथ ही फिर से एक धक्का और लगाकर अपना पूरा लंड उसकी चुत में घुसा दिया जिससे प्रिया फिर से तिलमिला उठी- आआईईई … मम्मीईईई … ईईई!अब उसकी आंखों से टप टप आंसू बहने लगे.

एक दिन यूं ही चैट करते करते मैंने डीके से कहा कि मुझे सफेद रंग के लोग (यूरोप वासी जैसा रंग) बड़े अच्छे लगते हैं. मैं एक घंटे के बाद तुम्हारे घर पर होऊंगी, तुम कोई अच्छा सा खाने को मंगवा लो या फिर मैं ही लेती आऊं?मैंने कहा- क्यों शर्मिंदा करती हो यार. मैंने धीरे धीरे करते हुए अपनी दो उंगली उसकी चूत में अन्दर पेल दीं और अन्दर बाहर करने लगा.

chudai वीडियो

हम उसकी बिल्डिंग में पहुंच गए थे और लॉबी में लिफ्ट का इंतज़ार कर रहे थे. उसने मेरा पैग जो कि हाफ हो गया था, उसको उठा लिया और एक ही सांस में पूरा पी लिया. चाँदनी की हल्की सी रोशनी में हमारे बदन किसी छाया की तरह दिख रहे थे.

मैंने हिम्मत करते हुए कहा- फोन का नम्बर भी दे दो और अपनी ब्रा का नम्बर भी दे दो. मैं जब वापिस लौटा तो उन्होंने मुझे पास बुलाया और अपने कमरे में धक्का देकर जमीन पर पटक दिया और जल्दी से गेट लगाकर रोमांटिक एक्शन पोज में पैर फैलाकर खड़ी हो गईं.

उसने तरह तरह के पकवान बनाए थे।मैंने पूछा- ये पकवान किसके लिए बनाए हैं?तो पूजा ने कहा- ये मैंने अपने पति के लिए बनाए हैं, आज रात को मैं अपने पति को अपने हाथों से खिलाऊंगी.

अशोक ने मयूरी की चूत को धीरे धीरे सहलाते हुए पूछा- बेटा?मयूरी- हाँ पापा… आह…अशोक- क्या तुम्हारी इस प्यारी सी चूत में कभी किसी का लंड गया है या इसकी सील टूट चुकी है?मयूरी- पापा… मुझे माफ़ कर दीजिये पर मेरी इस चूत की सील टूट चुकी है. 30 को घर आईं और मेरी पत्नी से बोलीं कि उनका सिलेंडर खत्म हो गया है, दूसरा लगवाना है, लेकिन मेरे पति सुबह 7 बजे ही दुकान चले गए और बच्चे भी स्कूल गए हैं, प्लीज़ आप लगवा दीजिये ना. कुछ देर बाद मैं रूम में आया और उसे अपनी बाहों में लेकर लेट गया और हम दोनों एक दूसरे के अंगों से खेलते रहे, फिर हमारा वापस मूड़ बन गया और इस तरह मैंने उस रात उसकी 4 बार दमदार चुदाई की.

एक कली खिलकर फूल बनने को आतुर हो रही थी और मैं लगातार पिछले 15 मिनट से एक भंवरे की भांति उसके होंठों का रसपान किए जा रहा था. घर में उसके पिता अशोक (45 साल), माता जिनका नाम शीतल (41 साल), बड़ा भाई विक्रम (21 साल) और छोटा भाई रजत (18 साल) जैसे सदस्य थे. यही सब देखते हुए मैंने तारा से पूछा कि मुनीर नहीं आई है क्या?तारा ने तुरंत जवाब दिया- माइक और मुनीर कभी अलग नहीं रह सकते.

मेरे ऐसे करने से कम्मो की चूत की चुदास और प्यार की प्यास जग उठी थी सो उसने अपना मुंह खोल दिया और मेरी जीभ भीतर ले ली.

हिंदी बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू: उनकी गुदा का छेद अब एकदम नरम और चिपचिपा गीला था, खुला हुआ भी लग रहा था. थोड़ी देर तक तो वो मेरा भार बर्दाश्त करती रही, फिर मुझसे अलग होने के लिये बोली.

मैं चीखना चाहती थी, पर उस कमीने ने मेरी चीख मुँह पर हाथ लगा कर रोकी हुई थी. उन्होंने देर ना करते हुए मेरे अंडरवियर को भी उतार दिया और मुझसे कहने लगीं कि अरे भैया जी ये आपका लंड है या हथौड़ा. चूंकि उसके साथ मस्ती चलती रहती थी तो मैंने उसके चूतड़ दबाते हुए कहा- हाय सच्ची.

अचानक से हट क्यों गए??मेरा लौड़ा स्साला पैन्ट में पड़ा पड़ा बहुत तेज़ दुखने लग गया था.

गोल भरी नंगी बाहें और टॉप में से बटन तोड़कर बाहर झांकते हुए उसके बड़े बड़े मम्मे थे, जिनका साइज़ लगभग 36 इंच होगा. वो मुस्कुराती हुई अलमारी से अपने कपड़े निकालने लगी और उनको अपने बिस्तर पर रखने लगी. अभी तू हिम्मत से जरा जम के चुदवा ले, अभी थोड़ी देर में दर्द शांत हो जाएगा.