छोटी सी लड़की का बीएफ

छवि स्रोत,टाइट सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

भारतीय बीएफ वीडियो: छोटी सी लड़की का बीएफ, थोड़ी देर बाद बोली- दीदी मेरे पेट से लेकर नीचे पाँव की ऐड़ी तक सब सुन्न हो गया है.

काजल राघवानी सेक्सी वीडियो एचडी

मैं उसे बिना कुछ बोले अपने रूम में जाकर बहुत रोया उसे भूलने के लिए मैंने अपना हाथ भी काट लिया था, लेकिन उसे कोई फ़र्क नहीं पड़ा. गोरिला सेक्सीज़ायरा- सच सच बता कि कितनी गर्लफ्रेंड हैं तेरी?मैं- कसम से भाभी… एक भी नहीं है यार.

यहाँ मेरे अलावा और कौन है और उसने ये कहते हुए खोलने के लिए हाथ आगे बढ़ाए. करीना कपूर के सेक्सी चाहिएमेरे जिस्म का जलवा पूरे गांव में आग की तरह फ़ैल गया और गांव के सारे लड़के मेरे आगे पीछे घूमने लगे.

बस मैंने उनके ब्लाउज के सारे बटनों को खोल दिया और उनके एक दूध में मुँह लगा कर मस्त होकर पीने लगा.छोटी सी लड़की का बीएफ: दीदी की सिसकारियाँ अब बहुत तेज थी, दीदी का जिस्म कभी अकड़ रहा था तो कभी ढीला हो रहा था, दीदी बार बार इधर उधर हिल रही थी, बुरी तरह से मचल रही थी.

यह सुनकर वो मुस्कुराने लगीं और बोलीं- क्या तू मेरे साथ सेक्स करेगा?यह सुन कर मैं बहुत खुश हुआ, मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि चाची मुझसे चुदना चाहती हैं.पर जब उनकी ब्रा की स्ट्रिप दिखती, तो मैं उसको पकड़ कर खींच कर छोड़ देता और उन्हें इससे ज़ोर से लग जाती.

सेक्सी ब्लू हद वीडियो - छोटी सी लड़की का बीएफ

कुछ देर बाद मेरे ठीक होने पर संजय ने अपना लंड धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया.अब विवेक और मेरी बीवी में, बॉस और सबऑर्डिनेट के सम्बन्ध की जगह प्रेमी प्रेमिका का सम्बन्ध बन चुका था.

उस दिन सन्डे था तो मेरी स्कूल की छुट्टी थी, मैंने अपनी अम्मी से बोला कि मैं चाचीजान के यहाँ जा रहा हूँ. छोटी सी लड़की का बीएफ बाँए हाथ से मेरी खुली पीठ पर बांई तरफ कंधे के पास रखा और मुझे अपनी तरफ खींच कर अपने सीने से लगा लिया.

कुछ दिन ऐसा ही चलता रहा और कुछ लोगों को मेरी सोसाइटी में पता चल गया था कि मैंने और रोहण ने शादी कर ली है.

छोटी सी लड़की का बीएफ?

फिर मैंने एक एक कर उसके ब्लाउज़ के बटन खोले और ब्लाउज़ और ब्रा दोनों को एक साथ ही उसके जिस्म से अलग कर दिया. उसने अपनी उंगलियों से मेरी चूत को खोलते हुए अपना लंड डालना शुरू कर दिया. अबकी बार मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख कर चूसना शुरू कर दिया और अपने लंड को धीरे से उसकी चूत में धक्का दे दिया.

मैंने जब वो देखी तो मेरे होश उड़ गए और शॉक के मारे मेरी आंखें बड़ी हो गईं. कभी कभी उंगली से चूत को खोदते खोदते खर्राटा मारने लगते थे, कभी हिम्मत करके चढ़ाई करते भी तो जब तक मेरा चूत रस छोड़ कर ताव में आती, तब तक वे मेरी चूत में ढेर सारा वीर्य गिरा कर निढाल हो जाते और पलट कर सो जाते. आनन्द फिर लंड को चुत के होंठों के पास लेकर गया और मोना की चूत फैला कर एक जोर का धक्का लगा दिया, जिससे आधा लंड मोना की चूत में घुस गया.

उन्होंने बताया कि वो और उनकी पत्नी साथ में ही अन्तर्वासना साइट पर कहानियाँ पढ़ते हैं. मैं रसोई में पानी पीने गया और मैंने चाची को आवाज़ दी कि चाची खाना लगा दो. उसकी बढ़ती हुई साँसें ये बात कह रही थीं कि उसके मम्मे मेरे कंधों की वजह से गरम हो गए हैं.

तब मैं अवी के पास गई और कहा- शाम को पहनने वाली ड्रेस लाए हो?अवी ने कहा- हाँ लाया हूँ, उस रूम में जाओ, अलमारी में एक बैग रखा है, उसी में है, वो भी तुम्हारी है. उसने मुझे फिर चोदा और मैं फिर झड़ गयी और फिर थोड़ी देर बाद वो भी झड़ गया.

हिंदी सेक्स स्टोरीज के पाठकों को मेरा नमस्कार… मेरा नाम जीत रॉक है, मैं इंजीनियरिंग का स्टूडेंट हूँ और अभी सेकंड ईयर में हूँ.

जो मेरी थी। क्या तुम उसके साथ भी कर सकते हो?मैंने साफ मना कर दिया- मधु ये मेरा काम नहीं है.

मैंने ओके बोला औऱ 15 मिनट के बाद पायल को बोला- मैं छाया के घर सोने जा रहा हूँ. वो भी मेरी छाती मसल रही थी और मेरी पीठ पर अपने नाख़ून भी चुभो रही थी, जिसका आनन्द ही कुछ अलग था. फिर मैंने उसे नीचे लिटा लिया और ऊपर चढ़ कर उसकी चूत चोदने लगा और उसके मम्मे चूसने लगा.

खुल के बोल, तुझे मुझमें सबसे ज्यादा क्या पसंद है, मैं बुरा नहीं मानूंगी. कसम से नाईटी भाबी के जिस्म से चिपकी हुई थी और भाबी बहुत सेक्सी लग रही थीं. किन्तु मैंने अपनी बीवी और उसके फ्रेंडस को ऐसी स्थिति में कभी नहीं देखा था.

मैं भी कालेज के लिए निकल गया, लेकिन मेरे मन में कुछ अजीब सा चल रहा था.

चुदास चढ़ गई तो मैंने भाभी की टांगें चौड़ी की और अपना लंड उनकी चूत की फांकों पर रगड़ने लगा. उफ्फ पापा जी, इस खेल का भी अपना एक अलग ही मजा है; आज पहली बार जाना! अह… मजा आ गया सच में!” बहूरानी थके थके से स्वर में बोली. उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने उसको समझाया- पहली बार सेक्स करने में थोड़ा दर्द तो होता ही है.

लगभग आधे घंटे यूं ही रोने में और एक दूसरे को संभालने में निकल गये, फिर मैंने उनका ध्यान भटकाने के लिए पूछा बाथरूम किधर है. भौजी की झांटें बार-बार मेरे मुँह में आ जाती, फिर भी उनकी चूत की क्लिट को मेरी जीभ बहुत आसानी से रगड़ बना रही थी. मैंने डिसाइड किया कि गाण्ड ही मरवा लेती हूँ। मुझे पता था कि गाण्ड की गली चूत से भी टाइट होती है.

मैंने पूछा कि चूत में मूली क्यों नहीं की?तो बोलीं- मैं चूत की सील लंड से ही खुलवाना चाहती थी.

फिर मैंने लंड की नोक को चूत के छेद पर सैट किया और जोर से धक्का दे दिया. अवी ने मुझे रोमांटिक अंदाज में पकड़ा और आगे की तरफ झुककर मेरे दोनों चुचियों के ऊपर बीच की दरार में किस कर लिया.

छोटी सी लड़की का बीएफ मुझे सभी लोग अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें! मैं आपके मेसेज का इंतजार करूँगा. उसकी गांड और जोर से जवाब देने लगी- ठीक तुम जैसा चाहोगे!उस रात मैंने दो बार उसकी बुर को और चोदा.

छोटी सी लड़की का बीएफ हेल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम पिंकी सिंह है और मैं अन्तर्वासना की सारी की सारी देसी स्टोरीज पढ़ती हूँ. किड अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर मेरी जीवनसंगिनी की गांड में धकेलना शुरू हो गया.

वो समझ गई कि मैं उसकी गाण्ड मारने वाला हूँ।बोली- राज आज पीछे नहीं डालना प्लीज.

सेक्सी वीडियो चाहिए करने वाला

इस बार तिगुनी उत्तेजना के साथ सुकुमारी भौजी ने मेरे विश्वास को जगाया. कुछ देर बाद फूफा जी हाँफने लगे और आआह की आवाज के साथ झड़ गए और मम्मी के बगल में लेट गए. चाची मेरे लिए चाय बना लाईं और कहने लगीं- बेटा जूता उतार कर आराम से बैठ जा मैं जरा कपड़े धो कर अभी आई.

हमने दस मिनट तक चूमा चाटी की होगी, मैंने उनकी जीभ को अपने मुख में लेकर चूसा और उन्हें भी अपनी जीभ चुसवाई. शराब की छोटे छोटे घूँट लेने लगा और पैंट के ऊपर से ही अपने लंड को सहलाने लगा. दोनों ने अपनी गति बढ़ाई और कुछ ही देर में एक के बाद एक ने अपना उबलता लावा मेरे अंदर उड़ेल दिया।मैंने खुद को दोनों से अलग किया और वहीं जमीन पर गिर कर मैं अपनी उखड़ी हुई साँसें संयत करने लगी.

हाँ, यूं ही उचटती सी नज़र कभी उसके ऊपर पड़ी हो तो अलग बात है लेकिन नजर भर के, पसंद नापसंद करने के आशय से मैंने अदिति बिटिया को कभी भी नहीं परखा.

माया ने अंकित का लंड अपने मुँह से बाहर निकाला और अंकित के टट्टों को अपने मुँह में भर लिया. पांच दस मिनट किस कर कर मैंने उसे कहा- अब तुम्हारी बारी, मुझे किस करो…वो भी मुझे किस करने लगी. पूरा का पूरा लंड अंदर बाहर खींच कर वो बड़ी ताकत के साथ मुझे चोद रहा था.

”अरे जल्दी जल्दी कर लेंगे न… देख तेरे बिना डेढ़ साल से ऊपर ही हो गया है. माँ हर रोज़ की तरह अपने बुटीक चली जातीं और उस किरायेदारनी का पति, जिनको मैं सुनील भैया कह कर बुलाता था, वो भी अपने काम पर चले जाते. आज तो मैंने भाभी के होंठों को सुजा दिया था, तो भैया ने भाभी से पूछा- होंठों को क्या हुआ?तो उन्होंने बोला- संजू ने टीवी का रिमोट मार दिया था.

पता नहीं मेरे किस जन्म के कुकर्मों का फल इस पाप कर्म के रूप में उदय हो रहा था. संजय ने बताया कि वो काफी अच्छा पेन्टर भी है, उसने अपनी ड्राइंग की हुई कुछ तस्वीरें भी हमें दिखाईं, जो वाकयी बेहद खूबसूरत थीं.

मैं चाचा का लंड चूस रही थी और वो मजे लेकर अपनी आँखों को बंद करके मुझसे लंड चुसवा रहे थे. उनके चूतड़ तो फ्रंट से भी शानदार थे, हल्का निकला हुआ पिछवाड़ा क्या गजब माल दिख रहा था. मुस्कुरा कर मैंने प्रिया का बायाँ गाल ज़रा सा थपथपाया अपना पजामा उतार कर साइड में रख दिया और अपने दोनों हाथ प्रिया की पैंटी पर रख दिए.

जिससे थोड़ा सा लण्ड भर, अन्दर गया और बीच से मुड़ गया। मुझे थोड़ा दर्द भी हुआ परन्तु मैंने अपने होंठ भींच कर सहन कर लिया। परन्तु लण्ड उससे अन्दर नहीं गया और बाहर ही झड़ गया।”ओह्ह.

मैं उसके दाने को रगड़ता रहा जिससे वो बेहद मचलने लगी… उसे शायद दर्द भी हो रहा था. वैसे मैं भी इस स्थति में मैं क्या कर सकती थी, वो जैसा जैसा कह रहा था, वैसा वैसा कर रही थी. भाभी की पैंटी के अन्दर हाथ डाल कर उसकी चूत की फाँकों को सहलाते हुए अपने दो उंगलियों को उसकी चूत के अन्दर घुसा दिया.

राज लेकिन तभी उन्हीं दिनों में पड़ोस की एक लड़की मेरी अच्छी दोस्त बन गई। मैं उससे कहती कि यार समय नहीं कटता. दोस्तो, मैं एक बार फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी लेकर।मेरा नाम गोल्डी है, मैं दिखने में पतला और 6 फिट 2 इंच का 20 साल का अच्छा दिखने वाला लड़का हूँ। मेरा लंड 8 इंच का है और मोटा है जो अच्छी अच्छी लड़कियों औरतों का दम निकल सकता है। मेरी यह कहानी पूरी सच है.

पर मुझे यह नहीं पता था कि वो चाचा जिनसे मैं बातें करती हूँ, वो मुझे एक दिन चोद देंगे. हम दोनों ने कोल्ड ड्रिंक पिया, उसके बाद मैं और चाचा दोनों मेरे बेडरूम में आ गए और चाचा मुझे किस करने लगे. उसने जो हाथ पैंटी में डाला था, उसी से मेरी पैंटी नीचे कर दी और मेरी गांड की तरफ अपना लंड मेरी पैंटी में डाल कर मेरी गांड में पेलने लगा.

फिर सेक्सी

सफेद रंग की भीगी ब्रा और उसके अन्दर छोटे से दो नींबूओं की सख्ती, मन को बेचैन किये दे रही थी.

इसकी बहुत पतली पतली ट्यूबलाइट जैसी जांघ थीं और दबे हुए पुठ्ठे थे, पर देखो अब कैसे ठुमक ठुमक कर चलती है. मैंने काफी जगह अपने रेज़्यूमे दिए थे, जिस वजह से मुझे कुछ दिन बाद एक मधुरा नाम की लड़की ने फोन किया. मैंने चाची से बोला कि आंटी हमारे यहां पानी नहीं आ रहा और आपको देख के मेरा मन भी नहाने को हो रहा.

मैं- ठीक है दीदी…करण और उसकी माँ के आने से पहले मैंने दीदी को तीन बार चोदा लेकिन उन्होंने मुझे गान्ड नहीं मारने दी. इस वक्त वो घर जा चुकी है और अब वो आ नहीं पाएगी, इसलिए अगर तुमने मिनी बता दिया तो रूपये नहीं देंगे. taken सेक्सीबहुत मजा आ रहा है… बस ऐसे ही मुझे चोदते रहो… आज मिटा दो मेरी चुत की गरमी… मिटा दो इसकी सारी खुजली….

एक तो वो इस घर की बेटी नहीं थी, वो इस फैमिली से बाहर की लड़की थी, जबकि बाकियों के बीच में खून का रिश्ता था. सुकुमारी भौजी की उम्र यही कोई 32-33 की होगी, रंग गेंहुआ, झुलझुला शरीर, चूचियों का उभार सामने की तरफ, चेहरे का नूर तमतमाया हुआ, मानो आज भी शहर की लौंडियों को मात दे देंगी.

फिर हमने दूसरी बार कोशिश कि इस बार लंड का अगला हिस्सा उसकी बुर में घुस गया. प्रिया के बायें उरोज़ के निचली ओर हल्के से बाहर की ओर, सफेद त्वचा पर शहद के रंग का एक बर्थ-मार्क था, दाएं उरोज़ के निप्पल के बादामी घेरे के बिलकुल ऊपर साथ में सफेद त्वचा पर एक काले रंग का तिल था. मैंने किसी तरह जल्दी से पीछे के हिस्से में गोदाम के एक छोटे से दरवाजे में लगी एक छोटी सी खिड़की को खोल कर अन्दर का माहौल जानने की कोशिश की.

मैंने कहा- क्या करूँ तुम देने के लिए मानती ही नहीं हो तो टीवी देख कर ही काम चला रहा हूँ. आपको आंटी की चुत चुदाई की मेरी यह फ्री सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल करना न भूलें. यह मेरी रियल चूत चुदाई सेक्स स्टोरी है कि कैसे मैंने अपनी किराये पर रहने वाली भाभी ज़ायरा को पटा कर उनकी चूत मारी.

उसकी आँख एकदम लाल हो गई और वो बहुत गिड़गिड़ाते हुए आँखों से मुझे अलग होने के लिए कहने लगी.

ऐसे जीन्स टॉप तो अब यहाँ भी लड़कियां पहनने लगी हैं और शराब का तो सवाल ही नहीं उठता. करोगी?मैं- हां कर दूंगी बताओ क्या काम है?अमित- यार तुम्हारे घर के पास एक होटल है.

मैंने उसका रिजल्ट चेक किया और मैं काफ़ी खुश था कि वो 72% से पास हुई और मैथ्स में 80% मार्क्स लाई थी. उसके आते ही मैंने उसे अपने बांहों में पकड़ लिया और उसे पागलों की तरह चूमने लगा. यह छिनाल मेरी माँ है कि कलयुग की माँ साली मेरी ब्लू फिल्म बनवा रही है.

तब मैंने ही हिम्मत करके बोला- इनको सोने दो हम शादी एन्जॉय करते हैं. मैं बॉस के केबिन में गांड मरवा रही हूँ, ये ऑफ़िस में किसी को नहीं पता था. कुछ देर बाद मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया और अब मैं नीचे और वो मेरे ऊपर थी.

छोटी सी लड़की का बीएफ मेनका- आह आह अतुल, चूसते रहो मेरी चूत को, मेरा आ…आह आहह्हा हाअ आहहाहा निकलने वाला है आह अहह… अतुल मैं… आह अतआ… गयी… अतु…ल… आहहहह्ह…और मेनका दीदी की चुत का ज्वालामुखी फट गया. उन्होंने खुद अपने हाथों से मेरा बॉक्सर निकाला नहीं, बल्कि मेरे लंड को ऊपर से ही पकड़ कर हिलाने लगीं.

सेक्सी हो जाए

मैंने पूछा- आपने xxx वीडियो ढूंढी कैसे?तो बोलीं- रिसेंट डाक्यूमेंट्स से. थोड़ी मेरे बड़े ताऊ ने उस लड़के के माता पिता को बुलाया और उनसे बात करने लगे. इंटरव्यू हुआ और इसमें उन्होंने मुझसे पर्सनल सवाल ज्यादा पूछे औऱ फिर उन्होंने अपने बारे में भी बताना स्टार्ट किया.

दीदी क्सक्सक्स वीडियो देखने लगी, दीदी ने देखा उसमें उन लड़कियों की xxx वीडियो भी थी जो ख़ुदकुशी कर चुकी थी. अब वो माया के घुटनों तक पहुँच चुका था और माया की जाँघों की तरफ बढ़ रहा था. सेक्सी फिल्म सेक्स करते हुएगरम कहानी शुरू करने से पहले मैं अपने नए पाठकों को अपने बारे में बता दूँ.

मेरा सेक्स करने का बड़ा ही मन होता है, पर मैं अपने आपको किसी तरह शांत कर लेती.

कभी कभी वो मुझे किस भी कर रहे थे और हमारी चुदाई की कामुक आवाजें कमरे में गूंज रही थी. मैं भी कालेज के लिए निकल गया, लेकिन मेरे मन में कुछ अजीब सा चल रहा था.

वो आज पहली बार लंड लेने वाली थी और मुझको सब कुछ ऐसा करना था कि उसको ज्यादा परेशानी न हो और दर्द न हो. माया ने अपने दोनों हाथ अंकित के सीने पे रख रखे थे और अंकित के लंड पे उछल रही थी. उस दिन रात को खाने के बाद मैंने सोनी को सॉरी कहा, पर सोनी ने कोई जवाब नहीं दिया और नजरें झुका कर वो अपने रूम में सोने चली गई.

तब तक उसने मेरा लंड ऊपर से ही सहलाया, फिर उसने मेरी पैंट निकाल दी और उसके बाद मेरी शर्ट निकाली।जैसे ही उसने मेरा कच्छा निकाला, उसने झट से मेरा लंड मुँह में भर लिया और पागलों की तरह चूसने लगी.

फिर थोड़ी देर बाद मैंने उन्हें अपने ऊपर ले लिया और मैं नीचे लेट गया. आंटी ने जोर से आँखें भींच ली थी, मेरी इस हरकत पर उन्होंने मुंह इधर उधर फेंक कर साथ देने से मना कर दिया. थोड़ी देर बाद कुतिया की तरह बेड पर उससे पोज बनवाया और उसकी गांड पर लंड रख दिया और मैंने कहा- अपना मुँह बंद रखना क्यूंकि आगे जितना दर्द नहीं हुआ, उससे कई गुना दर्द अब होगा.

हिंदी में सेक्सी वीडियो ऑडियोफिर से मैंने पैर खींचा, तो भाभी बोलीं कि दवाई लगवा लो, जल्दी अच्छा हो जाएगा. शायद हमारे माँ बेटे के रिश्ते की शर्म के कारण! इसी कारण मैं भी ज्यादा खुल नहीं पा रही थी.

எக்ஸ் வீடியோஸ் தெலுங்கு

उन्होंने अपना लंड बाहर निकाला, एकदम मेरे लंड जैसा 8 इंच का मोटा तगड़ा था. वैसे मेरा यह भी प्लान था कि अगर उसकी यह जॉब लग गयी तो दूसरी चुत का परमानेन्ट जुगाड़ हो जाएगा।मैंने अपनी सेफ़ साइड के लिए मेरी बीवी को फ़ोन लगाया, तो उसने बताया कि वो ओफिस में ही थी और क़रीब 5 बजे घर आ पाएगी. थोड़ी मेरे बड़े ताऊ ने उस लड़के के माता पिता को बुलाया और उनसे बात करने लगे.

कार में अवी ने एक हाथ से मेरा हाथ पकड़ लिया, लेकिन इस पर मैंने कुछ नहीं कहा. मैं घंटों अपनी गर्ल फ्रेंड से फोन पे बातें करता रहता पर उसके साथ भी मैंने किस से ज्यादा कभी कुछ किया नहीं था क्योंकि साली नखरे बहुत करती थी. उसने कहा कि उसके सब रिश्तेदार चाहते हैं कि स्वाति आज ही आ जाए, वो सब बहुत जिद कर रहे हैं इसलिए मैंने फ़ोन किया है.

दोस्तो, मेरा नाम रवि है और मैं अहमदाबाद से ही हूँ और जयदीप जी का मित्र हूँ. चाचा मेरी चूची को अब अपने मुख में लेकर चूसने लगे, मैं सिसकारियाँ भर रही थी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह ओह्ह ओह्ह!और वो मेरे निप्पल को चूस रहे थे और दूसरी चूची को मसल रहे थे. पर यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, इसमें मेरा सेक्स का पहला अनुभव है, अगर कोई गलती हुई तो कृपया उसे नजरअंदाज कर दीजियेगा.

मैं हूँ ही अच्छी! तो अच्छी ही लगूंगी ना!मैं बोला- तुम समझी नहीं यार… यार… मैं तुम्हें चाहता हूँ, तुमसे बहुत प्यार करता हूँ. इससे पहले के मंजरी इसके लिए तैयार हो पाती, पुलकित ने ज़ोर लगा कर अपना लंड मंजरी की चूत में ठेल दिया.

मैं अपने आप पर जैसे तैसे काबू रखते हुए शहजाद से फोन पर बात कर रही थी और इधर संजय मेरी चुत में अन्दर तक लंड पेल रहा था.

मैं चुदूँगी पहले साली, तू खा लंड और मैं चुसवाती हूँ अपनी चूत स्टीव से. अनुपमा सेक्सी वीडियोवह मेरा लंड चूसने लगा और बोला- हाँ ठीक है, तू मेरी मार लेना, बस अब तू लेट जा. सेक्सी वीडियो हिंदी में भाभी काअमित ने मुझे पीछे घुमाया और जो क्रीम लगाई थी उसकी मालिश दोनों हाथों से करने लगा. ये सुमित के मुँह से सुनते ही माया के होश उड़ गए सुमित तुम भी?”माया बस इतना ही बोल पाई.

विवेक कामिनी के मम्मों को रगड़े जा रहा था और उसके कड़क निप्पलों को चूसता जा रहा था.

मैंने देखा मौसा जी और उनका बेटा अजय, जो मेरे से सिर्फ 2 साल छोटा था, मेट्रो स्टेशन के नीचे मेरा इन्तजार कर रहे थे. मैं कॉलेज से शाम को 4 बजे तक आ जाता था और दीदी के ऑफिस का टाइम भी 5 बजे का था लेकिन अब वो 8 बजे के पहले नहीं आती थीं. ’फिर मैंने दबी आवाज़ में कमल से कहा- आपका कॉंटॅक्ट नम्बर मिल सकता है?उसने कहा- हां क्यों नहीं.

बहूरानी के होंठ मेरे होंठों से बस चंद इंच की दूरी पर थे, बहू ने होंठों पर कोई लिपस्टिक आदि नहीं लगाई थी, उसके होंठ प्राकृतिक रूप से ही गुलाबी हैं. क्योंकि जनवरी का महीना था।हमने होटल के रेस्टोरेंट में खाना खाया।मैं- रवि तुम्हें कुछ और तो नहीं चाहिए?वो- नहीं चाची जी. अब मैंने दीदी की तरफ देखा तो वे मुस्कुरा रही थीं और अपनी कमर पर हाथ रखे हुए मुझे अपनी चूचियां दिखा रही थीं.

गोपी के सेक्सी फोटो

अब उसका नंगा जिस्म मेरी बांहों में था और वो मेरी बांहों में यूं मचल रही थी, जैसे जल बिन मछली हो. हम एक मिड्ल क्लास फैमिली से बिलॉंग करते हैं, सो लड़कियों को ज़्यादा बाहर घूमने या किसी से ज़्यादा बात करनी की छूट नहीं मिलती है. उन्होंने कहा- देखो मैं तुम्हें पसंद करती हूँ और तुमसे चुदना चाहती हूँ.

कुछ देर बाद वो कमसिन जवानी उठी और बगल के खेत में अपना पेटीकोट उठा कर मूतने लगी.

मैंने देर न करते हुए सीधा उसकी जीन्स उतार फैंकी और उसकी पैंटी भी जो कि उसके चुत के पानी से पूरी गीली हो चुकी थी.

साथ ही वह हरामजादा पदमा की निप्पल को भी नशे में दांत से काट रहा था, जिससे पदमा दर्द से व्याकुल होकर जोर जोर से ‘मर गई छोड़ो. करीब 5 मिनट बाद लंड फिर खड़ा हो गया और अबकी बार चाची ने लंड को अपनी चुत पर रखा और मेरे ऊपर बैठ कर झटके देने लगीं. ससुराल की सेक्सी पिक्चरमैंने सोचा कि मैं क्या पहनूँ तो मैंने अंजू का सूट पहन लिया और उसके साथ में चल दी.

एक दिन रात को मैं और शहजाद ऊपर संजय के कमरे में कुछ काम से गए और वापस आते वक्त मैं अपना मोबाइल उसके कमरे में ही भूल आई, जिसका पता मुझे देर रात बेडरूम में सोते वक्त चला. उसकी बुर में गजब की गर्मी महसूस हो रही थी, जो मुझे और एग्ज़ाइट कर रही थी. तभी मैंने दीदी के सर को अपने हाथों से पकड़ा और अपने लंड की तरफ बढ़ा दिया, दीदी ने अपने फेस को दूसरी तरफ मोड़ दिया, मैंने फिर से दीदी के सर को पकड़ा और फेस को लंड की तरफ टर्न कर दिया.

मेरे हाथ का अपनी नंगी चुची पर स्पर्श होते ही ममता जी के मुँह से इईई… श्श्शशश… ओय… इइईई…” की आवाज निकल‌ गयी और वो सिहर गयी… उन्होंने मेरे हाथ को पकड़ लिया और नहीं… अब बहुत हो गया… बस अब…” कहते हुए मुझे हटाने लगी. बातों बातों में एक दिन भाभी ने बताया कि उनकी शादी को दो साल हो गए हैं.

शाम को दीदी के फ्लैट में जा कर मैंने उनको चुपके से आईपिल की गोली दे दी.

पलट कर मेरे पीठ पर, चूतड़ पर, फिर मुझे पलट देते, कभी मेरी चूची को चूसते तो कभी चूची का आटा गूंथते. घर की घंटी बजाई तो एक औरत ने दरवाजा खोला, मैंने अन्दर आकर उस पर गहरी नजर डालते हुए देखा तो देखता रह गया. हाय… कितनी मस्त कसी हुई टाइट चूत है मेरी अदिति बिटिया की!” मैंने जोश में बोला और फुल स्पीड से अपनी बहू को चोदने लगा.

करीना कपूर के हॉट सेक्सी वीडियो लेकिन मैं जब भी जाती तो सबसे पहले अपनी गांड ही चुदवाती थी क्योंकिगांड मराने का मजाअलग ही आता है. मैं तो बस हवा में उड़ रही थी और अंजाने में मेरे मुँह से वो निकाला जो शायद महेश चाहता था.

मैंने मौका देखा और दीदी के हाथ को अपनी चेस्ट पर रखा और अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चेस्ट पर घुमाने लगा. फिर मैंने थोड़ा स्पीड को बढ़ाया तो उसके कंठ से आवाज निकलने लगी- आअहह आअन्न चोद दो. जब मैं पहुंचा तो घर से थोड़ा आगे एक कार ख़ड़ी हुई थी, मैंने घर के दरवाजे का लॉक बंद पाया तो सोचा कि मेरी बीवी मार्केट गई होगी.

मुला मुलीची झवाझवी

अब मैं कपड़े सही कर चुकी थी और टॉप के बटन भी बंद कर लिए थे ताकि ज्यादा कुछ ना दिखे. मैंने चाय पीकर उसे बिस्तर में सुला कर उसकी साड़ी हटा कर नंगी कमर की आयोडेक्स लगा कर मालिश की और गर्म पानी से कमर से लेकर उसकी गांड तक सिकाई करने लगा. मैंने पूछा कि दीदी पानी अन्दर गिरा है, अगर बेबी हो गया तो?वो बोलीं- कोई बात नहीं अब हम तुम दो नहीं हैं.

अब दो दिन बाद ही बताऊँगी, अभी सो जा मेरे प्यारे भाई!मैं- ओ के प्यारी दीदी!दो दिन तक मैं सोचता रहा कि आख़िर दीदी कौन सी बात बताना चाहती हैं. ”क्या तुम भी अपनी पार्टनर के साथ ऐसा ही करोगे?”हाँ, अगर वो करने देगी तो.

मैं फ्रेश होने लगी और तभी अवी ने एसएमएस किया कि खाना मत बनाना और जल्दी से तैयार हो जाओ, मैं अभी थोड़ी देर में आ रहा हूँ ओके मेरी जान!मैंने भी कह दिया- ठीक है आओ मैं तैयार ही होने जा रही हूँ.

मैं वैसे बहुत मजाक करती हूँ अपने ऑफिस में और सब लोग मुझे पसंद भी करते हैं. अपने दोनों हाथों को उसकी पैंटी के अन्दर पीछे से डालकर उसके चूतड़ों को सहलाना चालू कर दिया. बेड साफ सुथरा था, बेड के नीचे संदूक था जिसमें ताला लगा था जब मैंने संदूक को खोला तो उसमें कुछ सीडी और मेमोरी कार्ड मिला.

उसके बाद मैंने देर न करते हुए सीधा उसके होंठों पर होंठ रख दिए औऱ उसके होंठ चूसने लगा. कमी है तो प्यार की, जो अब सिर्फ तुम दे सकते हो और मैं तुम्हारे इस एहसान का बदला कभी नहीं उतार पाऊँगी।मैं वहाँ से आ गया।उसके बाद जब भी मौका मिलता. फिर ऐसे ही वीडियो देखते वक्त उनके शादी की वीडियो आई, तो मैं उनसे पूछने लगा- आपकी शादी कब हुई और आपके बच्चे किधर हैं?इस सवाल से मधुरा का थोड़ा मूड खराब हुआ और वो बोलने लगीं कि उनके पति मुझसे प्यार नहीं करते, वो बस अपने जॉब और पैसों से प्यार करते हैं.

उउउमम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीईई आआह्ह्ह…” कहते हुए माया झड़ने लगी.

छोटी सी लड़की का बीएफ: उम्र के हिसाब से काफ़ी बड़ा और लंबा था, उसके लण्ड पर अभी तक एक भी बाल नहीं था. लेकिन उसी रात 4 बजे लंड फिर खड़ा हो गया, मैंने अंजलि की ओर देखा तो वो तो सो रही थी.

भाबी ने कहा- सत्या, मुझे जोर से भूख लग रही है, चलो चल कर कहीं खाना खाते हैं. फिर ऐसे ही बात करते करते मैं उससे सेक्सी बात करने लगा कि कब मिलोगी? मुझे किस चाहिए. मैं भी धीरे धीरे बहकने लगी थी, पर जैसे तैसे मैंने अपने आप पर क्नट्रोल करते हुए सख्ती से संजय को अलग कर लिया.

अब तक की इस फनी सेक्स स्टोरी के तीसरे भागइंग्लिश की क्लास में चुदाई की पढ़ाई-3में आपने पढ़ा था कि जब मैं पिंकी की चूचियों के साथ खेल रहा था तभी रोशनी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा.

फिर एक दिन सुबह चाची मेरे घर आईं और मेरी माँ से पूछा- राज कहां है? मुझे उससे कुछ सामान मंगवाना है. शहजाद कभी भी साथ आठ मिनट से ज्यादा नहीं टिक पाते थे, पर संजय पूरे बीस मिनट से मेरी चुत को चोद रहा था. उनको ऐसा करते हुए बहुत मजा आने लगा और वो गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगीं.