बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू

छवि स्रोत,नवरात्रि दुर्गा पाठ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बूब्स फोटो: बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू, आन्या तो कुछ बोलने की हालत में नहीं थी, वो ‘बस बस …’ कहे जा रही थी.

साउथ अफ्रीकन सेक्सी फिल्म

जब वो ऊपर से साफ़ करती तो लंड को नीचे कर देतीं … और जब नीचे से साफ़ करतीं, तो लंड को ऊपर कर देतीं. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो बताएंजब उसका दर्द काफ़ी कम हो गया तो मैंने धीरे-धीरे झटके लगाने चालू कर दिए.

उन्होंने पूरी तैयारी कर ली थी, पर मैं उनकी वाइफ न होने से थोड़ी ऑकवर्ड महसूस कर रही थी. हिंदी में वीडियो सेक्सी पिक्चरमम्मा ने नाराज होते हुए कहा- मुझे जान से मारने का मन है क्या मेरे राजा!मैं- कैसी बात कर रही हो जान … सुहागरात पर शुभ शुभ बोलो.

हमने दोनों ने ही साथ में खाना खाया और खाना खाकर फिर से टीवी देखने लग गए.बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू: पर इसको अपनी लानी चाहिए … देखो ना … तुम्हारी भी तो कैसे चोंच उठाए खड़ी हैं … तुम ब्रा भी नहीं पहनती हो … है ना?”सर की बात सुनकर पिंकी का चेहरा सच में ही गुलाबी सा हो गया … अब शायद उसके मन में भी सर की बातें सुन कर घंटियाँ सी बजने लगी थीं.

दोस्तों उसके बाद कई बार कल्पना का कॉल आया और मैंने उन्हें हर बार जन्नत की सैर कराई और एक दो बार तो उनकी सास घर पर ही थी.उनकी चुत और पैंटी पूरी ऐसी भीगी हुई थी जैसे उन्होंने पेशाब कर दिया हो.

हॉट एंड सेक्सी हिंदी - बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू

कुछ बातें ऐसी भी हैं, जो करने से औरत खुद पर काबू नहीं रख पाती, बेकाबू हो जाती है.उसको लाल रंग की साड़ी में देख कर मेरा लंड एकदम कड़ा हो गया और तौलिया बुरी तरह से तन गया.

बीवी की चुत की चुदाई करके इतना काबिल हो गया हूँ कि अब मैं अपनी बीवी को, वो जितनी देर चुदाई करवाती है, उतनी देर तक उसकी चुत की चुदाई कर देता हूँ. बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू इधर मेरी व्याकुलता बढ़ती ही जा रही थी सो मैं बोल पड़ी- लंड को हाथ से पकड़ कर चुत में घुसाओ न.

एक बार तो मन किया कि शायद मैं ही ज्यादा सोच रहा हूँ मगर फिर ध्यान आया कि अगर उसे कुत्ते को अंदर बंद ही करना था तो कमरे की लाइट बंद करने की क्या जरूरत थी?हो न हो जरूर उसकी चूत का लावा कुत्ते के लंड के पानी से शांत होने की इच्छा कर रहा होगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू?

उसके बाद मैंने उसके बालों को हटाया तो देखा कि उसकी कुर्ती के पीछे चेन लगी हुई थी. वो पजामी मम्मा के शरीर के निचले हिस्से यानि उनकी गांड, उनकी जांघों और आगे उनकी चूत पर भी चिपकी हुई थी. पर मैं करूं तो क्या ये मेरी समझ में नहीं आ रहा था क्योंकि मैं इन चक्करों से बिल्कुल अनजान थी.

और तुम मुझे देख कर चौंक क्यों गए? मत चौंको … मैं तुम्हारे पास ही हूँ. इसी वजह से शायद मर्द बार बार उत्तेजना में लिंग बाहर निकाल कर अन्दर घुसाते हैं. पिछले भाग में आपने पढ़ा कि श्लोक और सीमा के अहमदाबाद जाने के बाद मैंने विक्रम को जयपुर बुला लिया.

उधर नीचे रोहित उसकी चूत को बेतहाशा पागलों की तरह चूम और चूस रहा था।मैं अपना लंड चुसवाते हुए सन्जू की चूत की तरफ झुक गया जिसे रोहित चूसे जा रहा था. इस प्रक्रिया में वसुन्धरा की दोनों टाँगें मेरी निचली पीठ तक फ़िसल गयी. साथ ही अमर ने हाथ नीचे किया और पिंकी के पेटीकोट के नाड़े को खींच दिया.

मैंने ऐसा किया था और दो चार बार कर चुकी थी, पर उससे मेरी सील नहीं टूटी. और अन्दर पेलो भैया … और अन्दर … बहुत खुजली होती है मेरी चूत में …मैं- और तेज प्रिया!प्रिया- हां भैया और तेज्ज.

उसने खुशी खुशी मेरी मैली चड्डी ले ली और बोली- जीजू, जब मुझे आपने लंड की याद आयेगी तो मैं इसी को सूँघ कर काम चला लूंगी.

आप अपने दोनों पैर उठा कर लंहगे के बीच में रख दीजिये और खड़ी हो जाएँ और मैं लहंगा ज़मीन से उठा कर आपकी कमर तक लाकर एडजस्ट कर के नाड़ा बाँध देता हूँ … ठीक है?”वसुंधरा ने सर नीचा किये-किये ‘हाँ’ में सर हिलाया, अपने पैरों से बैली उतारी और जाकर कुर्सी पर बैठ गयी.

मेरा लंड तो उनकी चूत का प्यासा था, वो तुरंत उठकर खड़ा हो गया और अब मैं लंड को धीरे धीरे चाची की गांड पर रगड़ने लगा. मैं चॉकलेट का कवर खोलते हुए बोली- अंकल आप नहीं खाते चॉकलेट?अंकल ने जवाब दिया- मैं शेविंग कर रहा हूँ ना, शेविंग के बाद खा लूंगा. बाहर बादल टूट कर बरस रहे थे और बाहर की ठिठुरती सर्दी में, कमरे के अंदर आदम और हव्वा के सम्पूर्ण जीवन के सब से जादुई पल आन पहुंचे थे.

और फिर कुछ देर के बाद मैंने उसकी बगलों को चाटा, वह पागल हो गयी और मुझे कस कर पकड़ लिया. जा … जाकर बदल ले अपनी किस्मत!ऊषा तुरंत समझ गयी कि उसे क्या करना है. मेरी शादी 2 महीने पहले ही सुषमा नाम की लड़की से हुई थी जिसे मैंने जमकर चोद लिया.

मैं महसूस कर रहा था कि वे अपने स्वेटर के ऊपर से अपने मम्मों को मसलने लगी थीं.

उसका नितम्ब सहलाना मेरी जांघों में आग लगा रहा था, पर मुझे जो चाहिए था, वह रिस्पांस मुझे नहीं मिल रहा था. मैंने मोटा लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसे उसकी चूत के छेद पर रख कर अन्दर धक्का दे मारा. बस दो प्यासों की तरह एक दूसरे की जिस्म की अग्नि को बुझाए जा रहे थे.

मैंने अपने हाथों से सरिता की चूत की पंखुड़ियों को दोनों तरफ खींचकर फैला दिया. ” यह कहकर बाली रानी ने अपनी उंगलियां, जो उसने चूत में लगा कर रस से गीली कर ली थीं, मेरे मुंह से चिपका दीं. पर मुझे आधे घंटे का समय तो दो। मैं तुझे वापस फोन करती हूँ।बस आधे घंटे में ही मौसी का फोन घनघना उठा।उसने कहा- हां ले भोसड़ी वाली रूपाली, मैं तेरे लिए एक नहीं दो लण्ड भेज रही हूँ। उनका कोड है ‘घंटा’.

मगर विपिन जी का लंड तो मेरी उम्मीद से कहीं ज्यादा दमदार भयंकर साबित हो रहा था.

वो मुझे अपनी बांहों में भरे हुई थी और अपने हाथ मेरे बालों में फिरा रही थी. हमारी एक और चुदाई हुई जिसमें मैंने उसकी अलग अलग पोजीशनों में चुदाई की.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू भैया ने आशा के भाभी के बालों को पकड़ा और अपने लंड की गोलाई पर भाभी के होंठों को फिराने लगे. नीलू ने कहा कि पगली आशीष से बोलना कि कंडोम लेकर आए या फिर तुझे टेबलेट लाकर खिला दे.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू उसकी गांड से टच होते ही मेरा लंड एकदम से टाइट हो गया और तन कर सात इंच लम्बा होकर सीधा खड़ा होने की कोशिश करता हुआ पैंट में अंदर ही मुड़ गया. जैसे ही पूरा लंड चुत के अन्दर गया, तो भाभी बोलीं- अब कुछ शांति हुई है मेरी इस साली को.

इससे पहले वो शायद छोटे लंड से चुदी थी इसलिए वो एक बार को तो चिल्ला उठी.

सेक्स करती महिला

थोड़ी देर और इंतज़ार करके मैंने अपना हाथ उसकी सलवार में डाल दिया, हाथ सीधा जाकर उसकी फुद्दी के ऊपर लगा और मैं समझ गया कि उसने पेंटी नहीं पहनी थी. करीब 10 मिनट तक ज़बरदस्त चुदाई के बाद मैंने सरनी को घोड़ी बनाया और फिर से शुरू हो गया. मैंने इस वक्त उससे पूछा- कितने दिनों बाद लंड ले रही हो सोनिया?सोनिया पहले तो हड़ाबड़ा गई, फिर बेशर्मी से मेरे होंठ चूमते हुए बोली- अब तुझसे क्या छिपाना.

अब मेरे पति मेरे दोनों चूतड़ छोड़क़र मेरी साड़ी प्रेस करने लगे और अपना लंड मेरे चुत में अन्दर बाहर करके मेरी चुत चोदने लगे. मेरा हाथ बेड के साइड में रखे लैम्प के स्विच पर जा लगा और लाइट जल गई. इस बार जब निशा ने अपनी गांड पीछे की, तब तक मेरा लंड खड़ा हो चुका था और टाइट भी हो चुका था.

रितेश की बीवी की मरने के बाद पहली बार उसने किसी औरत को इतने करीब से छुआ था.

सोनू से मैंने कहा- अपनी दोनों टांगें चेयर के आसपास फैला कर मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर मेरी गोद में बैठ जाओ. मैंने कहा- क्यों तुमको अपनी चूत पर चुम्मी नहीं करवानी है?दिशा बोली- मुझे तो आपका लंड चूसना है. चीटिंग वाइफ Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मसाज करने वाली लड़की ने एक विदेशी महिला को मालिश के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा देकर गर्म करके अपने पति से चुदवाया.

वाओ, दैट्स ग्रेट बेबी, अरे मिठाई ले के आती न पहली चुदाई की!” डॉली बोली और मुझे बांहों में भर के बेड पर पटक दिया और मेरे ऊपर चढ़ बैठी. करीब पाँच मिनट ही हुए होंगे कि सर ने अपनी बांहें फैलाकर हम दोनों के कंधों पर रख दी- शाबाश … जल्दी-जल्दी करो. ऊपर जाने के लिए सीढ़ियों पर गेट लगा था, जिसको अमीषी ने अन्दर से कुंडी लगाई थी.

अब मीना थोड़ी खुल भी गयी थी और शराब का असर भी उसे एक और लेने को मना नहीं कर पाया. मैंने शगुन भाभी की पैंटी निकाल दी और उनकी चूत मेरे सामने नंगी हो गई.

एक बार फिर मौसी ने मेरा हाथ और पैर अपने पर से हटा दिया, लेकिन इस बार मौसी ने पहली बार के जैसे झटका नहीं. उसने धीरे से कान में कहा- जुल्फी तुम्हारा टाइट हो गया ना?मैं भाभी की बात पर शर्मा गया, मैंने कहा- हां. तेरी बिटिया की बुर, आज मुझे भी तेरे साथ लण्ड चाटने में बड़ा मज़ा आ रहा है.

मैं अभी यही कोशिश कर रहा था कि आंटी सामान लेकर वापिस रसोई में आ गईं.

कमरे के अंदर वसुन्धरा की आहों-सीत्कारों का बाजार खूब गर्म हो उठा था. अंकल ने मेरी तरफ देखा और कहा- तभी से मैं एक बहुत बड़ा गाण्डू बन गया और अब मुझे तुम्हारे जैसे गबरू जवान पसंद हैं. जिस पोजीशन में मेरे पापा, मम्मी को चोदते हैं, उसी पोजीशन में तुम मुझे चोद रहे हो, वह भी ऐसे ही टांगे उठा-उठा कर चोदते हैं.

जब मैं शाम को छह बजे वहाँ गया और मैंने जाकर वहाँ देखा तो वो पहले से ही मौजूद थी. हॉट भाभी सेक्सी चुदाई कहानी के अगले भाग में सृजन भाभी मेरे लौड़े से कैसे चुदीं, इसको विस्तार से लिखूंगा.

थोड़ी देर चुप रहने के बाद और मेरे द्वारा दो तीन बार हाथ दबाने के बाद उसने बोलना शुरू किया. कहानी पर कमेंट्स और अपनी राय के लिए नीचे दिए गए मेल आई-डी पर मेल करें. इस पर सुखबीर खुश हो गया और बोला- सारिका जी बस आप उसे अपनी तरह बना दो, मैं आपका हमेशा ग़ुलाम रहूंगा.

वर्जिन छूट

लेडी डॉक्टर हॉट कहानी में पढ़ें कि मैं जांघ में खुजली के इलाज के लिए गया तो लेडी डॉक्टर मिली.

मैं देख रहा था कि लड़के तेरे को कैसे स्कूल में और अभी यहां भी लाइन मार रहे थे. इसी तरह मैंने भी अपने बारे में थोड़ा बहुत राज उसके सामने खोलने शुरू कर दिया था. मैं हताश हो गया और सोचा कि ये तो हाथ में आया मौका निकल गया लाईव चुदाई देखने का.

एकदम से हुए दर्द से पूजा चीखी और बोली- आह … मर गई … थोड़ा धीरे धीरे चोदो ना यार …. फिर उन्होंने मुझे पलट कर घोड़ी बना दिया और डौगी स्टाइल में करके मेरी चूत में लण्ड पेल दिया और मेरे चूतड़ों पर चपत मार मार के मुझे चोदने लगे. எக்ஸ் வீடியோ ஸ்கூல்प्लीज इसे बाहर निकाल लो … मुझे नहीं चुदना तुमसे! तुम बहुत जालिम हो! यह क्या लोहे की गर्म रॉड घुसा डाली है तुमने मुझ में! निकालो इसे … प्लीज बहुत दर्द हो रहा है … मैं दर्द से मर जाऊँगी … प्लीज निकालो इसे!और गुलाबो की से आँखों से आंसू की धारा बह निकली.

मैं पहली बार उन्हें देख रही थी, कोई भी पहली बार देखे, तो इम्प्रेस हो जाये ऐसी उनकी पर्सनालिटी थी. फिर एक दिन रात को उसका फोन आया और वह बोली- आज आपके लिए कुछ खास तोहफा है.

पसीने की वजह से बग़लों में ब्लाउज और जांघों के बीच पैंटी चिपक कर बैठ गई थी. मेरी देसी गर्लफ्रेंड की Xxx कहानी अच्छी लगी या नहीं? आप मुझे मेल करें. मेरे लंड का साइज़ इतना है कि मैं किसी भी गर्ल, आंटी और भाभी को पूरी तरह संतुष्ट कर सकता हूँ.

वहां पर अंकल किस करने वाले थे और मुझे कौन कौन से प्रकार से तंग करने वाले थे, क्या पता. मेरी चूत में चिकनी हो गयी थी इसलिए उसका लंड मेरी चूत पर से फिसल जा रहा था. मैंने महसूस किया कि उनका लण्ड मेरे मुंह लगते ही और बड़ा और कड़ा हो चुका था.

फिर अंकल ने कहा- बेटा आप क्या करते हो?मैंने कहा- अंकल, मैं अभी सरकारी जॉब के लिए तैयारी कर रहा हूँ.

जैसे ही फोन उठाया, तो उधर से आशीष की आवाज आई- हैलो!मैं पहली आवाज में पहचान गई कि यह आशीष है. जिससे मेरा प्री कम निकलने लगा तो मूत वाले कट के ऊपर चड्डी एकदम गीली हो गई.

मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी आपको मजा तो दे रही है ना? कृपया मुझे कमेंट्स में बतायें।[emailprotected]. मैं उन आंसुओं को पी गया, बोला- मेरी रानी, बस इस बार बर्दाश्त कर लो, आगे मजा ही मजा है. मैंने उसकी चुत पर अपने होंठ रख दिए और उसके चुत के छेद में जीभ घुसा घुसा कर चूसने लगा.

नफीसा ने कराहते हुए कहा- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई … बहुत दर्द हो रहा है जुल्फी. अब मैंने उसकी चूत में उंगली करते हुए उसे कमर के बल सीधा लेटा दिया अब उसके तने हुए स्तन मेरे सामने थे. फिर थोड़ी देर मुँह चोदने के बाद मुझे उल्टा कर दिया और मेरी गांड के छेद में अपना लंड रख दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू मैंने अपने पति को अल्मारी से कपड़े निकाल कर प्रेस करने के लिये दे दिये. दोपहर के समय यही कोई दो बजे के करीब भाभी ने मुझे फ़ोन किया और बोली- मैं घर आ रही हूँ.

सेक्सी गर्ल्स

उसने मेरे शर्ट के बटन तोड़ डाले, वो अपनी एक्साइटमेन्ट को हैंडल नहीं कर पा रही थी।उसने मेरी गर्दन और कंधे पे काटना शुरू कर दिया. अब मेरा खुद को रोकना मुश्किल हो गया तो मैंने अपने होंठ उनकी कुंवारी बुर पर रख दिए. सरिता ने अपना पैर बेड से नीचे रख दिया तो मैंने अपना तना हुआ लंड बाहर निकाल दिया.

यह भी मुझे तब पता लगा जब मेरी माँ अपनी बहन यानि मेरी मौसी के घर गई हुई थी और घर में काम काज के लिए मेरी मामी यानि धीरज की माँ कुछ दिनों के लिए हमारे घर आई हुई थी. अमर की पिंकी के साथ खुली खुली बातें तो नहीं होती थीं मगर डबल मीनिंग बातों में कुछ ना कुछ बात तो हो ही जाती थी. قمبل دات کامदूसरी तरफ मम्मा मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह मज़ा लेते हुए चूस रही थीं, हम दोनों जन्नत की सैर पर थे.

एक बार आशीष मुझसे बोला- तुम सोनम से बोलो कि हमें मिला दे, जब घर में मामी या कोई भी ना हो.

प्रिय मित्रो, आपने मेरी पिछली कहानीमम्मी को दीदी के ससुर ने चोदापढ़ी और पसंद की. मेरे लिंग पर वसुन्धरा की योनि का रह-रह कर स्पंदन हो रहा था जैसे कोई नर्म-गर्म मख़मल अपने हाथ में लपेट कर मेरे लिंग की सख़्ती की थाह ले रहा हो.

फिर थोड़ी देर बाद रोहन ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और एलेक्स का लंड फिर से मेरे हाथ में आ गया था!काफी देर तक चुसाई होने के बाद एलेक्स ने मुझे घोड़ी बना दिया और अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. एक हाथ से मैंने उसकी पैंटी उतारी, उसने एक के बाद एक अपना पैर उठा कर पैंटी को पूरी तरह से निकाल दिया. उस दिन रूपाली बड़ी खुश लग रही थी और वो मुझसे बहुत बेतकल्लुफ होकर बात कर रही थी.

दिलिया उन्हें पीछे करते हुए मेरी छाती पर अपने हाथ रख देती थी मैंने भी अपने चूतड़ उठा कर उनका साथ दिया.

शीतल- आह उई … ये कैसे किया यार … ये तो मेरे साथ कोई पहली बार कर रहा है … आंह अनिल सच में मैं बहुत संतुष्ट महसूस कर रही हूँ. लंड के घुसते ही उन्होंने एक लंबी सांस ली, जैसे उन्हें वो मिल गया था, जो उन्हें चाहिए था. मगर मेरी हिम्मत नहीं हुई कि उसके साथ कुछ गलत करुँ … पर दिल नहीं मान रहा था.

మలయాళం సెక్స్आज मेरा प्यार मेरे जिस्म से खेल रहा था, मुझे बड़ा ही मादक लग रहा था. मैंने जैसे ही लंड का दवाब उसकी चुत पर डाला, अमीषी की आंखें चौड़ी होती गईं.

इंग्लिश पिक्चर नंगा

उसको चूतरस बोलते हैं, आज तुम्हें पहला मजा आया है, इसलिए तुम्हें मुबारक. अब मुझे तो कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा था, मैंने पूछा- नफीसा भाभी, मैं आंटी को क्या जवाब दूँ?तो नफीसा ने कहा- अभी थोड़े दिन तक इस बात को टाल दो, फिर आगे देख लेंगे. मजबूरन मैं पांच बजे से कुछ ही पहले उठ गई और सुबह सवेरे के कामों से फ्री होकर मैं घर के बाहर जाकर यूं ही खड़ी हो गई.

अपनी पिछली कहानीदोस्त की बहन की चुदाने की चाहतमें मैंने बताया था कैसे ज्योति को मैंने बीच गांव में चोदा था. बोली- वाह, सामान तो मस्त है तुम्हारा! बहुत मजा आयेगा इसके साथ तो आज. ऐसे ही करते करते बीस मिनट बाद मैंने कहा- मेरा निकलने वाला है … मुँह में निकालूं क्या?शीतल- हां, तेरा माल मुझे मेरे मुँह में चाहिए … मैं इसका रस पीना चाहती हूं.

नमस्कार दोस्तो, मैं राज वीर आप सबका धन्यवाद करता हूं कि आप सबने मेरी पिछली कहानीबीवी को गैर मर्द के नीचे देखने की चाहतपढ़ कर मुझे मेल किये, अपनी इच्छाओं को मेरे साथ सांझा किया उसे सुन कर दिल गदगद हो गया!आप सबका धन्यवाद मित्रो, आप सबके बहुत मेल आ रहे थे कि और कहानी लिखो. अपना साढ़े छह इंच के लंड को मैंने एक ही झटके में पूजा की चूत में जड़ तक घुसा दिया. किस बात का वहम हुआ था मुझे आप सब भी समझ ही गए होंगे!जैसे ही मैं मुड़ कर जाने को हुआ तो मुझे एक चीख जैसी आवाज सुनाई दी.

लेकिन जब मैं सुबह जब उठा तो मैंने देखा कि मैं पैन्ट पहने हुए था और सब कुछ साफ था. डायरेक्टर के मूड का भोसड़ा बना हुआ था और आन्या उसके हाथ जोड़ रही थी कि सर एक चांस एक बार और दे दीजिए.

जब भी वो बहुत चुदासी होती है, उसकी चुत में जब ज्यादा खुजली होती है, तो वो मेरा लंड ऐसे ही जोर जोर से चूसती है.

फिर मार्च 2012 में अच्छी सैलरी मिलने के कारण मैं दूसरे शहर में चला गया. फुल सेक्सी वीडियो प्लेयरउस समय ताई का सोने का समय होता था और वो अपने नाती पोतों के साथ सोती थीं. अमरपाली के सेक्सी फोटोतब भी मैं आदतों को पसंद नहीं करती थी, बाकी उसके अन्दर सब कुछ ठीक था. हम लोग तकरीबन 20 मिनट तक ऐसे है पड़े रहे, फिर मैं बोली- उठो यार!वो उठा तब तक उसका थोड़ा सा वीर्य सूख चुका था और हमारे शरीर के बीच चिपक गया था।चुदाई पूरी होने के बाद मैंने अपनी चुत का जायजा लिया, तो फिर से वो काफी खुल चुकी थी।हर्षिल ने कहा- देखा, रोज़ एक बार चुदवा लिया कर! तभी तेरी चुत खुली रहेगी.

अब संगत का असर कब तक नहीं होता, रिम्पी की दोस्ती का असर मेरे ऊपर भी होने लगा और मैं भी रिम्पी के साथ रहते रहते उसके भाई कुलीन से पट गयी.

मैंने सुषी से पूछा कि तुम्हारे माता और पिता को भी तो वह लड़का उम्र में बड़ा लगा होगा न. दूसरी बार में पापा ने मुझे कुतिया बनाकर चोदा और मेरी गांड में उंगली भी डाली. आशीष बोला- तेरी गांड कयामत है बंध्या, ये सिर्फ चुदाई के लिए बनी है.

मैंने अपना लंड अपनी दोनों जांघों के बीच दबाकर रखा और मैं बेड पर किनारे पर बैठ गया. कहानी पर कमेंट्स और अपनी राय के लिए नीचे दिए गए मेल आई-डी पर मेल करें. बुर से निकले स्वादिष्ट माल को पी जा प्यारे भाई!उसकी बुर फड़फड़ा रही थी और उसकी गांड में भी कम्पन हो रहा था.

मराठी ब्लू पिक्चर

इससे पहले मैं कुछ कह पाता वह बोली- मैं तुम्हारे दोस्त से प्यार करती हूँ. आह … क्या एहसास था! उसका थूक और लार भी उस समय मुझे मीठा लग रहा था।एक बार फिर से मैं उसके नंगें शरीर के ऊपर आया और उसको गली देते हुए और उसकी गाली सुनते हुए मैं उसे चोदने लगा. जब उस स्टॉप से बस चलने को हुई, तो मैंने देखा कि एक लेडी मेरी सीट पर बैठ गयी है.

अब चूंकि मेरे बाएं हाथ ने लहंगे के नाड़े वाला हिस्सा छोड़ दिया था तो मेरा बायां हाथ लटक कर वसुंधरा की दोनों जांघों के बीच आ गया था और मैं अपनी बायीं हथेली के पृष्ट भाग पर वसुंधरा की योनि से निकलती ऊष्मा स्पष्ट महसूस कर रहा था.

इसके साथ साथ जो पाठक हैं उन्हें खुद ब खुद आभास हो जाता है कि कहानी सच है या झूठ.

कहते हुए वह अपनी चूत के अंदर उंगली डाल कर मेरे माल को अपनी चूत से बाहर करने लगी. मगर पिंकी ने इस हालत में मुझे देखते ही अपनी आँखें झुका लीं और सुबकती रही. अमरपाली दुबे का नंगी फोटोमैंने उसका मन टटोलने के लिये लंड के ऊपर के उभार के ऊपर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

फिर उसने मुझसे भी कपड़े निकालने को कहा तो मैंने भी जल्दी से अपनी पैंट और टी-शर्ट उतार दी. इस बात पर निशा भी अपनी गांड को कुछ मस्ती से पीछे करके लंड की रगड़ कर मजा लेने लगी थी. थोड़ी देर बाद मुझे भाभी ने फ़ोन किया और पूछा- कहाँ हो?मैंने 5 मिनट में आने को बोल के फोन रख दिया।जब मैं घर पहुँचा तो सीधे उनके रूम में जाने के लिए ऊपर जीने से चढ़ने लगा.

मुझे बाद में अहसास हुआ कि मम्मा के मन में मेरे लिए सेक्स वाली फीलिंग आती होगी. मैंने सोचा कि आज घर पर तो कोई है नहीं तो क्यों ना अपनी चूत पर से बाल ही साफ कर लूं। बाल साफ करने के बाद मैं खूब अच्छी तरीके से नहाई और नहाने के बाद मैं नंगी ही कमरे में आ गई।जैसे ही मैं कमरे में आई तो मैं जीजू को कमरे में बैठा देखकर चौंक गई, मुझे पता ही नहीं चला कि जीजू हॉस्पिटल से कब वापस आ गए.

चाची भी मुझसे कुछ भी नहीं बोलीं और मुझे भी उनके मम्मों के स्पर्श को पाकर बहुत मज़ा आ रहा था.

भाभी ने अपना सर पीटते हुए कहा- हे भगवान कैसा बुद्धू देवर दिया है आपने … ये तो कुछ समझता ही नहीं है. इतना तो मुझे समझ में आ गया था मुझे कि सलोनी में भी आम लड़की की तरह इच्छाएं हैं, अरमान हैं, कुछ जज्बात हैं. मैंने एक दो बार देखा था कि पापा मम्मी को दारु के नशे में बुरी तरह से चोदते हैं और यह बुरी तरह से चोदना ही मम्मी को बहुत अच्छा लगता है.

वेरी वेरी हॉट सेक्सी मूवी उसी समय शिल्पा की आवाज आई- निशा सही से सो ना …मैं शिल्पा की आवाज सुनकर उसकी तरफ देखने लगा, पर उसने अपनी आंखें नहीं खोली थीं. मैंने थोड़ा करीब जाकर झांका तो देखा कि परी अपनी चूत में उंगली कर रही है और उसके मुंह से ही वो सिसकारियाँ निकल रही हैं.

निखिल के मम्मी पापा की एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी, तब से निखिल अपनी मौसी मीरा के साथ ही रहता है. माया आँख मारते हुए बोली- इतनी भी क्या जल्दी है, पहले दरवाजा तो बंद कर लो. उसकी नशीली आँखों में झाँक कर मैंने पूछा- क्या बात है, बड़ी बेचैन हो? तुम्हारे चूचे इतने उफान पर कम ही होते हैं.

डिजे विडियो डाउनलोड 2018

भले ही मीरा ने अपने प्रेमी से पहले कई बार चुदवाया था और कई बार अपनी जवानी में ग्रुप सेक्स भी किया था. वो अपने दोस्त को बोला- अबे पकड़ ठीक से इसके दोनों हाथ … बस कस के पकड़ … फिर बताता हूं साली को, सबको बांटती है और हमसे नाटक दिखा रही है. वात्सायन के अनुसार ऐसे पैरों वाली स्त्रियां बौद्धिक रूप से अत्यंत विकसित, प्राकृतिक तौर पर संकीर्णयोनि अर्थात तंग योनि वाली, पति को सुख देने वाली प्राण-प्रिया और उत्तम संतान को जन्म देने वाली होती हैं.

उसने मुझे कहा कि मैं इसके बारे में उसके घरवालों को कुछ नहीं बताऊं और वो जब फ़ोन करेगी, तो मैं उसको स्कूटी से लेने के लिए आ जाऊं. भाभी बार बार बोल रही थीं- आंह अब तो छोड़ दे अपना पानी!मगर मेरा लंड झड़ ही नहीं रहा था.

उसके बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरे मन में भी चुदाई का कीड़ा कुलबुलाने लगा.

वो मना करने लगी लेकिन मैंने उसको वीडियो का लालच दिया तो बोली- ठीक है … कल का कल देखूंगी, अब कपड़े तो दे दो. थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत को चीर कर मेरी चीख निकलवा दी. वीर्य छूटने के वे कुछ क्षण ऐसे थे जैसे इसके अलावा जिंदगी में इससे बड़ा न तो कोई आनंद है और न ही कोई लक्ष्य.

मैंने भी उसके कंधे पर चाटते हुए उसकी टांगों के बीच अपनी दोनों टांगें डाल दी और उसके जिस्म से खुद को चिपका लिया. ”सोनम, लण्ड के रस में ही असली मज़ा है मेरी जान इसी से चेहरे पर निखार आता है और जवानी और खिल उठती है; तूने देखा तो है कि शादी के बाद लड़की कैसे खिल उठती है. ”कौन सी न्यूज़?”मेरे प्रमोशन की …”उसकी बात सुनकर ही मैं रोमांचित हो गयी और मेरा टेंशन भी थोड़ा कम हो गया.

फ़िर जब चूत ढीली हो गई, वो भी अब बहुत गर्म हो गई थी और बार-बार बोल रही थी- अब डाल दो.

बीएफ सेक्सी वीडियो में चालू: अगर आपका घर भी ऊंचाई पर हो, तो अपनी चूत को ऐसे ही खुली हवा में चांदनी रात में झटके मार कर चोदने का मजा लें. मैंने मम्मी के एक दूध को अपने मुँह में लेकर हाथ ऊपर की तरफ करके उनकी पट्टी को हटा दिया.

तभी मेरे अण्डों में मुझे ऐसा लगा कि कोई विस्फोट हुआ हो और धड़ाम … धड़ाम … धड़ाम … लंड से लावा तेज़ पिचकारी जैसे रानी की चूत में छूटा. मैं खड़ा हो गया तो सरिता ने मेरे होंठों को किस किया और मेरे होंठों को चूसकर अपने चूतरस का स्वाद अनुभव करने लगी. एक दिन की बात है … शूटिंग के बीच में आन्या को डायरेक्टर ने अपने रूम में बुलाया, पर तभी सैट की लाइट चली गई.

मैंने अपना लंड बाहर निकला, तो भाभी ने मेरा लंड चूस चूस कर सारा पानी अपने मुँह में ले लिया और पी गईं.

मैं- यहां?मेरी आंखों में देखते हुए उन्होंने अपना सर सहमति में हिलाया. मैंने अगले दिन फिर से बहुत सजधज के लिपस्टिक लगाई, अच्छे से कपड़े पहने और सोनम के घर पहुंच गई. चार पांच झटके के बाद मैंने अपना पूरा माल उसके मुंह में छोड़ दिया जिसे वो पी गयी.