चुदाई हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्स सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

త్రిబుల్ ఎక్స్ మూవీస్: चुदाई हिंदी बीएफ, मैं उसकी इस नाटकीय अदा पर हंस दिया और उसको अपनी बांहों में भरकर चूमने लगा.

सेक्सी बीएफ स्कूल में

मेरा लंड उसके चूतड़ों की दरार से होता हुआ उसकी चूत तक मसाज कर रहा था. बीएफ सेक्सी 12 सालमैंने नीतू के कूल्हों से पकड़ कर उसकी गर्दन पर किस किया और अपने कपड़े पहनने लगा.

फिर धीरे धीरे उसकी चूत पर आ गया तो प्रतीक्षा और संयोगिता को मेरे लंड और पोते चूसने में दिक्कत होने लगी।मैंने उन तीनों को बोला- मैं सीधा पीठ के बल सीधा लेट जाता हूँ जिससे प्रतीक्षा और संयोगिता को मेरे लंड और पोते चूसने में कोई तकलीफ नहीं होगी. सेक्सी बीएफ इंग्लिश ब्लू फिल्मखाना खाने के बाद हम सभी अपने कमरे में चले गए और हम सभी को पता था कि कमरे में अब क्या होने वाला है.

उन्होंने मेरी कमीज़ में हाथ डाल दिया और मेरे शरीर को ज़ोर से अपने हाथों से पकड़ लिया.चुदाई हिंदी बीएफ: फिर मेरे मायके से फ्रिज ले आओ … वैसे भी आपने इस दीवाली में वो फ्रिज लाने का मन बनाया हुआ था.

चार-पांच दिन के बाद फिर से वही वासना और कभी न खत्म होने वाली तलाश शुरू हो जाती थी.हम दोनों किस करने में इतने डूब गए कि पता ही नहीं चला, कब 10 बज गए और पार्क बन्द होने की सीटी बज गई.

मालिनी के बीएफ - चुदाई हिंदी बीएफ

मुझे नहीं पता कि कहानी में उसने अपना नाम गीत रखने के लिए क्यों कहा, पर जुबां पर इस नाम के आते ही मेरी धड़कनों ने गुनगुनाना शुरू कर दिया.मैंने प्रीति से पूछा- क्या बात है जान … आज बड़ी हॉट लग रही हो … तुमने इतना हॉट कपड़े क्यों पहने हैं? मैं तुम्हारे मुँह से सुनना चाहता हूं.

एक मीठा सा दर्द और इसके साथ जो आनन्द मिल रहा था, शायद दुनिया में वो आनन्द मुझे कहीं और नहीं मिल सकता था. चुदाई हिंदी बीएफ वो हंसते हुए लंड को अपने माथे से लगा कर बोली- जी बाबा जी … आप अपने प्रवचन कभी हरिद्वार चल कर हर की पैड़ी पर दो … बहुत सी नारियां लाभ प्राप्त कर लेंगी.

मम्मी ने मुझसे पूछा- रॉकी आज का तुम्हारा क्या प्लान है?मैंने कहा- कुछ भी तो नहीं.

चुदाई हिंदी बीएफ?

अब वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसकी चूत में जीभ डाल कर उसकी चूत को चोद रहा था. वो घोड़ी बनी और मेरे लंड पर एक चुम्मी लेकर बोली- मेरे अच्छे साहब जी. सुबह की चाय के बाद मुझे अन्तर्वासना की सेक्स कहानी पढ़े बिना चैन ही मिलता है.

घर पहुंचते पहुंचते मैंने सुमन से पूछा, दवाई लगाने कब आऊं तो बोली- मम्मी चार बजे सत्संग जाती हैं, तब आना. हम लोग सुमन की डॉक्टर के यहां पहुंचे तो आंटी ने कहा- बेटा साथ में अन्दर चले जाना, मैं गंवार कुछ समझ नहीं पाऊंगी. मैंने मैम से कहा- मैम आपको अपने कपड़े उतारने पड़ेंगे, नहीं तो ये गंदे हो जाएंगे.

तो मैंने उनको बताया कि वो लड़की मुझे बुला रही है, क्योंकि मैंने उस लड़की के बारे में उनको पता दिया था. मनु की चूत की दीवारें दीदी की चूत के मुकाबले आपस में थोड़ी चिपकी हुई सी थीं और कामोत्तेजना कि वजह से चूत का सांस लेना स्पष्ट नजर आ रहा था. उन्होंने कहा- मैंने पहले ही कहा था कि मैं सेक्स के लिए राज़ी नहीं हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उनको बर्थ पर ही घोड़ी बनाया और पीछे से लंड पेल दिया. मेरे मन में अभी भी अजीब उधेड़बुन चल रहा था … जैसे कि क्या ये जो कुछ हो रहा है, वो सही है! मुझे जेठजी को रोकना चाहिए या नहीं … और इसके बाद क्या होगा?दोस्तो, यहां मैं आप सबको एक बात बताना चाहूंगी कि मेरे पति और श्वेता भाभी के बीच भी शारीरिक संबंध थे और ये बात मेरे पति ने मुझे शादी से पहले ही बता दिया था.

मेरी बात पर रोहण ने कहा- ठीक है तुम भी जा सकती हो, मुझे कोई परेशानी नहीं है.

फिर हाथ से लंड पकड़ कर दीदी की गांड में जैसे जैसे लंड अन्दर जा रहा था, उसकी गांड की दरार से भैया खेल रहे थे.

हम दोनों एक लय में मुस्कान की चूत और गांड चोद रहे थे जिससे मुस्कान को मज़ा आ रहा था. उसने मुझे बेड पर सीधा लिटा दिया और मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से बाहर निकाल कर उस पर टूट पड़ी. उस दिन बारिश हो रही थी और मेरे तीनों अंडरवियर गीले थे, तो मैं बिना अंडरवियर के ढीला सा नेकर पहने हुए लेटा था.

मैंने अपने पैर बिस्तर के निचले सिरे पर मज़बूती से जमाये, वसुंधरा के ऊपरी होंठ को अपने होठों में दबाया और दो-तीन बार अपनी कमर ऊपर-नीचे करते-करते अपने शरीर के निचले हिस्से को नीचे की ओर एक ज़ोर का धक्का दिया. कुछ देर बाद मैंने उनको बर्थ पर ही घोड़ी बनाया और पीछे से लंड पेल दिया. प्रीति की आँखों से आंसुओं की धार बहने लगी, वह रोने लगी और बोलने लगी- संजय, जल्दी से निकालो.

उसने मेरी चूची को दबाना शुरू कर दिया, उसके हाथ में मेरी चूचियां नहीं आ रही थी.

तभी जीजा जी रूमाल लेकर भागने को हुए … लेकिन आलिया ने जीजा जी को पकड़ लिया, जिससे उन लोगों के दो पॉइंट हो गए और हमारा अभी भी जीरो पॉइंट ही था. मैं बोली- तो फिर किसी दिन मिलाना मुझे … उसको किसी दिन घर पर बुला लो. अब तो मेरी सेक्सी चाची की चूत पाव रोटी की तरह चिकनी और फूली हुई दिख रही थी.

मेरा तो नाम आप सभी जानते ही हो, जो नहीं जानते हैं, उनको मैं बता दूँ कि मेरा नाम शुभम है, मैं उत्तर प्रदेश के नोएडा से हूँ. चित्रा- हां डैड वो दोनों शादी करना चाहते हैं और शायद हमें उन दोनों की शादी करवा देनी चाहिए. पीठ के निचले हिस्से पर नितम्बों की फांक के ऊपरी सिरे को छूते ही वसुंधरा का न सिर्फ़ पूरा जिस्म थरथरा गया बल्कि वसुंधरा मुझ से और भी कस कर लिपट भी गयी और मेरे होंठों पर एक चुम्बन भी जड़ दिया.

वो चारों एक दूसरे तरफ फिर वो एक साथ मिलकर बोलने लगीं, जिसे सुनकर हमें मजा आने लगा.

मैंने बर्फ का टुकड़ा उसकी चूत की फांकों में घिसा और अन्दर फंसा दिया. उसके बाद तो मेरे पैरों में इतनी ताकत ही नहीं बची थी कि कुतिया बनी और देर तक रह सकूं.

चुदाई हिंदी बीएफ परमीत ने मेरी चूत में दोमुँहे लंड को डालकर कुछ देर शांत रखा और जब मैं सामान्य हो गई, तो उसने डिल्डो को हरकत में लाना प्रारंभ कर दिया. मुझे पता नहीं क्या हुआ कि मेरे मुंह से विरोध की जगह कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह …अम्म … ओह्ह … भैया … ये क्या कर रहो हो, ओह्ह … ऐसे मत करो.

चुदाई हिंदी बीएफ मनु ने कहा- यार तू तो पहले भी चुद चुकी है, पर लड़खड़ा कैसे गई?तो मैंने गांड मराने की बात साफ-साफ बता दी और आज की चुदाई में आए आनन्द को भी बता दिया. पर अब तक हम झड़े नहीं थे क्योंकि हमने सेक्स पावर वाली गोली खाई हुई थी।फिर मैं और ऊपर गया और उनके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही किस करते हुए चूसने लगा और मजा लेता रहा.

उस वक्त मैं चुदासी हो रही थी और ख्यालों में इतना खोयी हुई थी कि अगर उस समय कोई कुत्ता भी दिख जाता, तो उससे भी पेलवा लेती … चुत में इतनी ज्यादा खुजली मची हुई थी.

जापानी आयल के लाभ

फिर मैंने धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरु किया और चाची भी मस्त होकर चुदाई करवा रही थी, मेरा पूरा साथ दे रही थी. उसकी बात को सबने हंसी में टाल दिया और अन्दर चले गए, पर उसकी बातों ने मेरी पेंटी सुलगा दी थी. मैंने कुछ कुछ दूरी पर ब्रेक मारना शुरू कर दिया, जिससे स्वीटी आंटी मेरे और करीब खिसक आईं.

उस खुशी के बदले मुझे मेरा इनाम मेरी गीत की एक बहुत अच्छी पिक के रूप में मिला. सच कहूं तो मैं अब जेठजी या खुद को रोकने के बिल्कुल मूड में नहीं थी. हम लोग घर के पीछे वाले रूम में रहते हैं और सामने मकान मालिक लोग रहते हैं.

मैं एकदम से घबरा गई- ये आप कैसी बात कर रहे हैं?वो- वही … जो मेरे दिल में है … मैं बहुत दिनों से कहना चाहता था … मगर कुछ तो डर था कि तुम क्या कहोगी … और मौका भी नहीं मिल पा रहा था.

दोस्तो, मैंने अपना विज्ञापन इंटरनेट की एक व्यस्क साइट पर डाल रखा था. राजन ने एक झटके में अपना सारा माल ममता के मुंह में छोड़ दिया और ममता ने जिन्दगी में पहली बार वीर्यपान किया. बीच रास्ते में ही मैंने भैया के लंड को उनकी पैंट की जिप खोल कर बाहर निकाल लिया और उसको मुंह में लेकर चूसने लगी.

थोड़ी देर में मैंने नोटिस किया कि वो मुझे देख अपना लौड़ा एडजस्ट कर रहे थे. इसी तरह से … आज के बाद, कम से कम … हम दोनों के दिलों में राधेश्याम, सीताराम, उमाशंकर के साथ-साथ एक नाम और गूंजता रहेगा. वो तो एकदम पागल सी हो रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊंह अभय … और चाट मेरी चुत आह आज चोद से फाड़ दे मेरी चुत … आह मेरी प्यास बुझा दे अभय.

अब तक की मेरी इस इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मैंने अपनी भूतपूर्व गर्लफ्रेंड की चुदाई की. तभी सुलेमान खड़ा हुआ- अपना गिलास खाली कर छोकरी!लेकिन मैं धीरे धीरे पीती हूँ.

मैंने नीचे से अपनी गांड उछलना शुरू किया ताकि अधिक से अधिक मेरा लण्ड चूत में समा समा जाये।ऐसा लग रहा था कि सिल्क अपनी चूत की आग को जल्दी ठंडा करना चाह रही थी. उन्होंने मेरे लंड पर हाथ रख दिया और मुझे किस करने ही वाली थीं कि दरवाजे की घंटी बज उठी. मुझे पता चला कि इस होली में हमारे घर स्वीटी आंटी और मनोज अंकल आ रहे हैं.

चारों छोकरियां बहुत मस्त और सेक्सी आइटम थीं, पर मेरी यह कहानी पहली मंजिल पर रहने वाले परिवार से जुड़ी है.

हम तीनों संजू, नीरज और मैं उसकी बात का जवाब देने की स्थिति में नहीं थे. टीचर होने की वजह से मेरे मुँह से अपने आप ही निकल गया- स्कूल क्यों नहीं आये आज?वह अपनी माँ की तरफ देखने लगा. कोई 10 मिनट की चुदाई में हम दोनों एक दूसरे में समा गए; मैं उसके ऊपर गिर गया.

मैंने अपने दोनों हाथ नीचे से वसुंधरा की नाईटी में डाले और वसुंधरा की नाईटी ऊपर को उलट कर वसुंधरा के सर पर से निकाल कर परे फेंक दी और दोनों के जिस्मों को रजाई के अंदर कर लिया. मीना ने बड़ी शर्मिंदगी के साथ रवि को सॉरी बोला तो रवि बोला- ये मेरे लिए नयी बात नहीं है, मेरे बड़े भाई भी ऐसे ही हैं.

अब राहुल ने मेरे कंधे पर हाथ रख लिया थोड़ी देर बाद मेरे मम्मों को दबाने लगा. मैंने उसकी गर्लफ्रेंड आमिना को फोन किया और बोल दिया कि गलती से नम्बर लग गया. आदी ने विक्की का लंड चूसना चालू कर दिया और मैं वहीं खड़े होकर ये सब देख रही थी.

गाना वाली सेक्सी गाना वाली

जब उनके घर कोई नहीं होता, तो वो मुझे बुला लेते हैं और हम रात भर मजे करते हैं.

मैं- क्या हुआ? कोई जाग रहा है क्या?‌शबनम- नहीं शादी में सब काफी थक चुके थे, तो सब सो गए हैं. तभी मेरे फ़ोन में मेरे पति का कॉल आ गया और रिंगटोन की आवाज से उनको भी पता लग गया कि मैं भी अपनी छत पर हूं. उसका बदन आनन्द से मरोड़ लेने लगा, उसने अपनी चूत से पानी की बौछार कर दी और शांत हो गयी.

नेहा- आह अमित … अब अच्छा लग रहा है … हां ऐसे ही उईईई … आह एई उह आह माई मर गई. मेरी पीठ पर उसके चुचे रगड़ खा रहे थे, जिसका असर मेरे लंड पर हो रहा था. चोदा वीडियो बीएफउसकी पूरी चूचियां समाए जा रही थीं मैं उसकी दोनों चूचियों को बारी बारी से चूसने लगा.

लंड और चूत काम रस से भीगे हुए थे, इसलिए समस्या कम नजर जरूर आ रही थी, पर ऐसा कुछ ना था. उनकी अजीबोगरीब बात सुनकर मैं अन्दर गया और सुमन से पूछा- आंटी ऐसे क्यों कह रही थीं?तो सुमन ने बताया- मम्मी जब सत्संग से लौटी थीं तो मुझसे पूछ रही थीं कि ‘दवा लगाने से कुछ आराम मिला?’ तो मैंने कह दिया, नहीं मिला.

वहां जाकर उसने झुक कर मेरा लंड सूंघा और बोली- इसमें से आशा की चूत की स्मेल आ रही है. मैं अन्दर गई और आदी को शहद की बोतल देते हुए इशारे से बोली- जाओ … इसको टपका कर लंड चूस लेना. मैंने मन मार कर पढ़ना शुरू किया, पर न जाने क्यों मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगता था.

फिर आवाज लगा कर बोला- भाई कितनी देर और लगेगी?मैंने कहा- बस पांच मिनट भाई. मैं चुपके से उसके पीछे गया और उसकी गांड पर लंड लगा कर उसे दबोच लिया. मैंने कहा- तो फिर अगर मैं तुम्हारे घर पर ही रहूं तो तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं होगी.

कुछ लड़के तो बहाना करके हमसे बातें भी कर लिया करते थे और कुछ शरारती लड़के हमें दूर से छेड़ने लगते थे.

मुझे पता नहीं क्या हुआ कि मेरे मुंह से विरोध की जगह कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह …अम्म … ओह्ह … भैया … ये क्या कर रहो हो, ओह्ह … ऐसे मत करो. यह मुझे मालूम ना था और उस टाइम जिओ था नहीं जिससे फ्री बातें हो सकें.

मैंने इतने में ही भाई को पकड़ लिया और दिव्या ने भैया को पूरा का पूरा पानी में भिगो दिया. ऐसे तो मैंने बहुत से लड़कियों के साथ मजा लिया है, किसी को चोदा है तो किसके साथ सिर्फ ऊपर ऊपर से हाथ सेंके हैं. वो बोली- जानू मैं सब जानती हूं और ये भी जानती हूं कि मुझे आपके लंड जैसा लंड और आपके जैसा चुदाई करने वाला मर्द और कहीं नहीं मिलेगा.

वैसे मुझे भी अमित से चुदने का मन कर रहा है … काफ़ी दिन से उसका लंड नहीं चाटा है. तनु नीचे बैठकर मेरी चूत चाट रही थी और शालिनी मेरी गांड में उंगली कर रही थी. हम लोग आपस में बातें ना के बराबर कर रहे थे, बस एक दूसरे की मन की बात को सुन और समझते हुए प्यार कर रहे थे.

चुदाई हिंदी बीएफ अब मेरा लण्ड टाइट हो चुका था जो आंटी की गाण्ड में चुभ रहा था जिससे आंटी भी अब बहकने लगी थीं। उनका विरोध धीरे धीरे समाप्त होता जा रहा था. जैसा कि आपको पता है मुझे चुदाई से पहले मुझे चुत चाटना बहुत ज्यादा पसंद है.

सेक्सी अरोड़ा

वो उठी और नीरज के लंड को अपनी चूचियों के बीच में लेकर रगड़ने लगी, जिससे नीरज को असीम आनन्द की अनुभूति होने लगी. मेरी उँगलियों की हर जुम्बिश के साथ-साथ वसुंधरा के के मुंह से निकलती प्रणय-सिसकारियों में वृद्धि होती जा रही थी और हर पल वसुंधरा के जिस्म का तापमान बढ़ता ही जा रहा था. मेरी ज़िन्दगी में मैंने पहली बार चलती गाड़ी में सेक्स करने वाला था, वो भी तब … जब गाड़ी मैं खुद चला रहा था.

बस… अब तो बढ़ते-बढ़ते वासना की आग धधकने लगी और मैंने धीरे से उसके लौड़े पर दबाव देना शुरू कर दिया. जेठजी हमेशा की तरह ही रहते, उनके मन में क्या चलता, मैं कभी समझ ही नहीं पाती. सेक्सी वीडियो 2020 बीएफदो-तीन मिनट तक मैंने पूरे जोश में उसकी चूत में जीभ को चलाया और फिर आंटी की चूत में उंगली करने लगा.

उस दिन भी मैं आफिस से जल्दी निकल गयी, पर रास्ते में अचानक हुई बारिश की वजह से मैं भीग गयी.

और डॉक्टर कह रही थीं कि अपने पति से यह दवा लगवा लेना, अन्दर तक लगानी है. आज चाची के पेटीकोट खुले होने के कारण से मैं उनकी गांड को अपने नंगी आंखों से एकदम साफ़ देख रहा था.

अब तक मैं बहुत लोगों से चुदाई करवा चुकी हूँ और मुझे और मेरी कामवासना को बहुत ही कम लोगों ने संतुष्ट किया है. सिल्क- संदीप बस करो! अब आ जाओ! सहन नहीं होता!मैं उठकर उसकी टांगों के बीच में आ गया और लण्ड का सुपारा चूत की गहरी दरार में घिसने लगा. मैं उसे देखता ही रह गया और अपनी बांहों में प्रीति को भर कर बैड पर लेटा दिया.

थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी जिससे संजना मजे और कराहने जैसी मिली आवाज में सीत्कारने लगी।इसी तरह से मैंने संजना को अलग अलग पोजीशन में करीब आधे घंटे तक खूब जी भर के चोदा।इधर जब मैं झड़ने को हुआ तो मैंने संजना को कहा- संजना, अब मेरा बीज निकलने वाला है.

कान में सोने के झुमके और हाथ में दो-दो एक्सपेन्सिव कड़े पहने हुए थी. वो गेस्टरूम में गया और वहां से कुछ लाया और अपने लंड को निकाल कर उस पर पूरा स्प्रे किया. मेरे सारे सपने वहीं पर चकनाचूर हो गये, मेरी गांड फुक गयी ‘ये तो इसकी चूत के चक्कर में पड़ा हुआ है.

बीएफ सेक्सी गावठीमैंने घर जाते वक्त बाहर निकल कर परमीत से कहा- मैं तेरे साथ नहीं जा रही हूँ, तू अकेले ही जाना. कोई 3-4 मिनट के बाद चाचा एकदम से रुक गए और चाची के ऊपर ही ढेर हो गए.

सहेली की शायरी

वो- क्यों … मुझमें कुछ कमी है क्या?मैं- नहीं नहीं … ऐसी बात नहीं … पर आप समझो, मैं जो बोल रही हूं. जबकि मेरी गलती भी नहीं होगी और अपराधी भी मैं हूंगी।”हाँ यह बात तो है सायरा! पर एक रास्ता यह भी तो है कि तुम दोनों एक बेबी को एडाप्ट कर लो तो जमाने वाले नहीं कहेंगे।”तब मैं अपने मां-बाप को क्या जवाब दूंगी। वो अगर पूछें कि तुमने बच्चा गोद क्यों लिया?” अगर मैंने सारा किस्सा बताया तो बोलेंगे कि मैंने उन्हें पहले क्यों नहीं बताया. पति को कुछ काम से बाहर जाना था … और सास ससुर जी रिश्तेदार के घर पर गए हुए थे.

रात लगभग दस बजे उसका मैसेज आया- हाय क्या कर रहे हो?मैंने जवाब दिया- आपका इंतजार कर रहा हूँ, आज आप कुछ बताने वाली थी ना!फिर उसका मैसेज आया कि अच्छा हां … तो बताओ कहां से शुरू करें?मैंने भी लिखा कि आपकी जहां से मर्जी हो, वहां से बता दो. हालांकि दूसरे दिन जब मैं उनके घर गया तो मालूम हुआ कि आज की मैडम ने कोचिंग की छुट्टी कर दी है. बेशक दारू ने सबके सर घुमा रखे थे मगर हम उसके बाद देर रात को चुपचाप अपने घर चली गई।अगले दिन छुट्टी थी तो सब देर से उठी और उठते ही सबने एक दूसरी से बात करी।कल बेशक हमने बेशर्मी की सभी हदें पार कर दी थी मगर आज हमें बड़ी शर्म आ रही थी.

फिर उदास होते हुए बोले- मैं दारू कहां पीता, बस एक घूंट कभी कभी ही ज्यादा पी ली होगी, बाकी सब नाटक है. जैसे ही मैं वसुंधरा वस्त्र-विहीन जिस्म पर ऊपर-नीचे अपनी जीभ फेरता या चुम्बन लेता, वसुन्धरा का पूरा शरीर तन जाता और सिहरन की लहरें वसुन्धरा के शरीर में उठनी शुरू जाती. मेरी चुचियों को दबाते दबाते उसने अपना अंडरवियर और मेरी पैंटी उतार दी.

और जैसे ही सीमा ने मेरे लंड के छेद पर दुबारा जीभ रखी, तभी मेरे लंड ने वीर्य की पिचकारी सीमा की जीभ पर मारी और मेरे मुंह से भी एक मजेदार सिसकारी निकली- उफ फ्फ्फ़ … अह्ह … साली … ले … पी ले … मे. ’‘रंडी साली … मम्मी को भी चुदवायेगी क्या?’मैं उसे चोदने में लगा रहा और वह मस्ती से चुदवाती रही.

फिर जाकर दीदी ने अपनी ब्रा को आज़ाद कर दिया … ब्रा के खुलते ही मैंने जो देखा … आह क्या बताऊं यार … ब्रा में तो वैसे ही मम्मों का इलाका बहुत बड़ा लग रहा था.

मीना के अमेरिका जाते ही रवि ने अपना प्लान शुरू किया और एक नए क्लाइंट से बिना रवीना के मुलाकात की. बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चर चोदा चोदीरानी को मज़ा आने लगा था और वो मस्त धीमे धीमे नितम्ब मटका कर गांड मरवा रही थी. बीएफ इंडियन फुल एचडीहालांकि मैं दिखने में ज्यादा गोरा नहीं हूँ … लेकिन बदसूरत भी नहीं हूँ. सीमा गूं गूं करके मेरा लौड़ा अपने मुंह में आगे पीछे करके चूस रही थी.

मुझे किसी तरह से भैया को भी दो तीन दिन के लिए घर से दूर रखने का प्लान बनाना था.

जिया- और टाइमलाइन!मैं- आधे घंटे में जो ज्यादा क्लू ढूंढेगा, वो जीत जाएगा. उसकी पकड़ मेरी कमर पर ऐसी थी कि मैं तड़पने के अतिरिक्त कुछ ना कर सकी. मैंने पैंटी के ऊपर से ही वसुंधरा की योनि पर अपनी उँगलियों से छेड़खानी शुरू की और अंदाज़े से ही अपनी पहली उंगली और अंगूठे से वसुंधरा के भगनासा को सहलाना शुरू किया.

अच्छे गोल गोल बड़े से वक्ष उभार … रहा सवाल फिगर का … तो जब मिलूंगा तभी पता चलेगा. अब जैसे ही मेरा लंड खाली हुआ तभी उसने मेरा लौड़ा बाहर निकाला और सीधा बाथरूम की ओर भाग गयी।मैंने देखा कि इधर मोनू ने अपने लौड़े का सारा रस मुस्कान के मुंह पर निकाल दिया था. फिर मैं वहां से हटा और उसको थोड़ा सा उठा के अपनी बांहों में ले लिया.

अबे चुटिया

इधर मैंने भी चार-पांच जोरदार धक्के मारे और संजू की चूत में आह की आवाज के साथ झड़ने लगा. उसी कमरे में सुहागरात मनाने के लिए जहां पर कुछ देर पहले मैंने अपने भाई के साथ अधूरी सुहागरात मनाई थी. सुहास ने मेरे मम्मों पर से मेरा हाथ हटाया और मुझे गोद में उठा कर बेड पर लेटा दिया.

अब शालिनी के करीब आने से उनकी आखिरी उम्मीद भी ख़त्म हो गयी थी क्यूंकि शालिनी सबकी बॉस थी.

मूवी के दौरान मैं कभी उसको किस कर देता तो कभी उसकी चूचियों को छेड़ देता.

कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया कि जिम में सुबह के समय एक लड़की आती थी. आगे की सेक्स कहानी में मैं आपको पूरा वाकिया बताऊंगी … और अपनी चुत चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से आपके सामने पेश करूंगी. बीएफ डाउनलोड करने वाला ऐपमेरी सेक्सी बहन की चूत की चुदाई की अभी तक की सेक्स कहानी में आपने जाना था कि मेरी दीदी बड़े भैया अमन के साथ गांड चुदाई के खेल में लगी थी.

अलीना- तुम क्या करते हो?मैं- मेरे डैड का बिजनेस है, इसलिए उनको बिजनेस में मदद करता हूं. उधर काफी लोग कमेंट्स करते हैं, जिसमें बड़ी संख्या में लड़कियां और भाबियों के भी कमेंट्स आते हैं. प्रियंका चुदासी हो गई थी, सो वो बोली- जीजा जी फिर से डालिए ना!मैं बोला- भाभी जी, मेरे लंड के ऊपर आ जाइएगा.

अपितु अब तो वसुंधरा की जांघों से मेरी जाँघें टकराती और एक तेज़ ‘ठप्प’ की आवाज़ आती. जस्सी, तुम?इसके बाद जैसे जेठजी के होंठ सील से गए, वो पता नहीं किस कशमकश में उलझ से गए.

हसन का लंड हमारे बदन से भी ज्यादा गोरा था, उसकी गोलियां बहुत नीचे तक झूल रही थीं और सिकुड़न जैसा कुछ नहीं था.

मुझे लगता है कि सबके घर में ऐसा कुछ हो जाता है … ये मेरे घर का एक पार्ट था. रवि ने कॉफ़ी भी मंगा ली और रवीना की निगाह बचा कर नशे की गोली रवीना की कॉफ़ी में टपका दी. मैंने उसके कपड़े उतारे और अपने से चिपका कर मैं उसके होंठों को चूसने लगा.

सेक्स बीएफ सेक्स फिल्म मैंने इसी पोज में उसके पूरे होंठों को अपने मुँह में ले लिया तथा चुभलाने लगा. वन्दना मेरे होंठों पर एक हल्की सी किस लेते हुए बोली- आप कब आए?मैंने उसकी गांड दबाते हुए बोला कि बस थोड़ी देर पहले आया था.

जब उसको पता लगा कि मैं उसके पीछे आ रहा हूं तो उसने अपने कदमों की स्पीड तेज कर दी. ब्रा में कैद मेरी बड़ी बड़ी चूचियों को देख कर तरुण हक्का बक्का रह गया. बल्लू की सेटिंग को देख कर कोई भी उसको अपने लंड के तले लेने के लिए सपने देखने लग सकता था.

लूडो गेम लोड

थोड़ी ही देर में राहुल वापस आ गया और बोला- क्या हुआ?मैं- अरे वो मेरी फ्रेंड अपनी मम्मी को लेकर हॉस्पिटल चली गई है, तो अब मैं उसके साथ नहीं जा रही हूँ. आलिया- क्या हुआ भाभी?दीदी- देखो ना वो कंधे की मसाज करते हुए मेरे बूब्स सहलाने लगा. मगर काउंटर पर वही कलमुंहा ट्रेनर बैठा देख कर मेरा सारा प्लान चौपट हो गया.

अब किसी के इतना पर्सनल बातों को जानने के बाद आपका नज़रिया तो थोड़ा बहुत तो बदल ही जाता है. इस पर नीरज बोला- बाप रे … बाप कितना चुदवाती हो … मेरा तो पूरा पसीना निकाल दिया.

असल में मैं रास्ते में यही सोच रहा था कि चाची की कैसे चोदा जाए, पर कुछ सूझ नहीं रहा था.

इधर परमीत ने कमर को थोड़ा ज्यादा हिलाना शुरू कर दिया था, पर उसे हसन ने रोकते हुए अपनी ओर उल्टा झुका लिया. मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए और खुद कपड़े पहने हुए हो?मैंने कहा- मेरे कपड़े तुम उतार दो, हिसाब बराबर हो जाएगा।वो उठकर मेरे कपड़े निकालने लगी. उधर थका पड़ा संजय परमीत की चीख से उठ गया और मुस्कुराते हुए बाथरूम की ओर चला गया, जैसे उसे अपनी सोच पर कामयाबी मिल गई हो.

एक दो बार उसने रॉड को उठाने के बहाने से मेरी नाक पर लंड को छुआ दिया. मीना ने रवि को हग किया और कहा कि वो उसकी पर्सनालिटी से बहुत प्रभावित हुई है और उससे दोस्ती करना चाहती है. मैं नीचे आकर कामरस से भरपूर चूत को सपड़ सपड़ करके चाटने लगा, चूत से बहते रस को पीने लगा.

संजू मुस्कुराकर बोली- ये हुई ना मेरी भाभी वाली बात!फिर वो दोनों हंसने लगीं.

चुदाई हिंदी बीएफ: दोस्तो, फिलहाल मैं अपने पाठकों के द्वारा साझा किए अनुभवों को कहानी के रूप में अन्तर्वासना के माध्यम से आप सब तक पहुंचा रहा हूं. दीदी तकिया पर सर रखे जैसे सो गयी थी और उसने अपनी गांड को उठाया हुआ था.

उसे सुनते ही मैं जान गया कि यह बातचीत सोनम और किसी लड़के के बीच की है. उसने अपनी टांगें खोल दीं और साथ ही उसने मेरे लंड को अपने हाथ में थाम लिया. मेरे पहुंचने के कुछ ही पलों बाद मैंने देखा कि चाची अपनी झांटें बना चुकी थीं और अपने अधखुले साये से अपनी चूत पौंछ रही थीं.

मुझे ये भी ध्यान रखना था कि सबकुछ उसकी मर्जी के मुताबिक हो क्योंकि वो मेरी कस्टमर थी.

बहुत बदमाश हो आप!” कहते हुए वसुंधरा ने मुस्कुराते हुए मेरे दायें कंधे पर अपने बाएं हाथ से एक हल्का सा मुक्का मारा और फ़िर खुद ही शरमा कर मेरे गले लग गयी. तभी मेरी उसी चाहत ने मुझे फिर से झंझोड़ दिया और मेरा मन चुत पर किस करने का हो गया. हमने फिर उससे पूछा कि अच्छा ऐसी बात है तो फिर तू दिला सकता है क्या वह माल?तेरे जीजा ने बोला- हां दिला सकता हूं.