बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी

छवि स्रोत,हिंदी में बीएफ पिक्चर बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

कमसिन लड़कियों की चुदाई: बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी, मैं भी उसको चोदने लगा, लेकिन यह क्या, फिर वही कहानी, 10-12 धक्के के बाद वो अलग हुई और जमीन पर नागिन की भाँति लेटकर रेंगने लगी और अपनी जीभ को छत पर भर चुके पानी पर चलाने लगी.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स

अरे शालिनी जी, शर्मा क्यों रही हो?” मेरी पीठ को सहलाते हुए उसने पूछा।प्लीज, मुझे शालिनी जी मत कहो!” मैंने उनके सीने के बालों को सहलाते हुए कहा- मुझे केवल शालू कहो, सब मुझे प्यार से शालू ही बुलाते हैं. हिंदी में बीएफ देखनामैंने आंख खोली तो सामने शर्मा सर कमोड से सामने बैठ कर मेरा उत्सर्ग देख रहे थे.

बस एक दूसरे के मुँह में मुँह डाल कर एक दूसरे की जीभ को चूसने का भरपूर प्रयास करने लगे. देसी फिल्म बीएफ फिल्मअब आगे की कहानी:दोस्तो, अब मैं उस वजह पर आ रहा हूँ जिस कारण मैंने यह कहानी सांझी की है.

दस मिनट में ही शीना फिर से एक बार चरम के ऊपर पहुंच चुकी थी और वह अब झड़ना चाहती थी.बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी: थॉमस मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चूमे जा रहा था और मैं भी उसका साथ दे रही थी.

बीच-बीच में वो मेरे लंड को अपनी चूचियों के बीच फंसाकर अपनी चूचियों की चुदाई करा रही थी.मोटा और लम्बा लंड एकदम से घुसने से भाभी की चीख निकल पड़ी- उईई ईईई मर गयी … थोड़ा धीरे डालो न मुकेश!मतलब उस आदमी का नाम मुकेश था.

बुलंदी बीएफ - बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी

इसी धक्का-मुक्की में मेरे हाथ की उंगलियों के पोरू वसुन्धरा की जलती-धधकती योनि से रगड़ खा गए.”क्या?” मैंने महसूस किया नताशा के दिल की धड़कन बहुत बढ़ गई है और वह अपनी जाँघों के साथ अपने नितम्बों को भी दबा रही है।नताशा सच कहूँ तो तुम्हारे नितम्ब इतने खूबसूरत हैं कि एक बार मुझे उनके बीच अपने लंड को डालने का बहुत मन कर रहा है.

मैंने अपना लंड उसकी चुत पे रख दिया, तो वो सिहर उठी और मुझसे चिपक गई. बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी मैं- और तुम्हारा वो फ्रेंड … कहां तक बात पहुंची!मीता- कुछ खास नहीं.

मैंने अपनी जुबान से उनकी चुत का दाना भी खींचते हुए चूस दिया, इससे वो बिलबिला उठीं.

बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी?

अब मैं भी तुम्हें एक राज की बात बताना चाहती हूं, जब तुम मेरी गाड़ी सही करके बाथरूम में जाकर मेरे नाम की मुठ मार रहे थे, और मुठ मारने के लिए जब तुमने हाथ में लंड को पकड़ा तभी मुझे नाप का पक्का यकीन हो गया, जब से लंड को पहली बार रोशनी में देखा तो मैं उसकी दीवानी हो गयी हूँ. मेरे काम का समय दस से नौ का होने के कारण मैं यहां कोई गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया था. मैंने एक दो बार ध्यान भी दिया था कि जब मेरे माणिक मुझे घूरता था, तो उसका लंड उसकी पैन्ट में खड़ा हो जाता था.

अब वे मेरी दोनों रंडियां एक ही वक्त में एक ही साथ मेरा लौड़ा चूस रही थीं. इस बार मैं सोफे पर बैठ गया और सुमन घोड़ी बन कर मेरा लंड चूसने लगी उधर हरकेश उसके पीछे जाकर खड़ा हो गया और अपना लंड उसकी चूत पर लगा कर जोरदार धक्के के साथ पूरा लंड उसकी चूत पर पेल दिया. मेरी बीच वाली उंगली जल्दी-जल्दी मेरी चिकनी चूत में सरपट-सरपट दौड़ रही थी.

मैं- नहीं बे चूतिये, लेकिन मैंने उसकी चूत और दूध के दर्शन जरूर किए हैं. मैंने अपनी निक्कर को जांघों तक नीचे कर लिया और अंडरवियर को भी थोड़ा और सरका लिया जिससे चाची के हाथ को मेरे लंड को सहलाने और हिलाने के लिए पर्याप्त जगह मिल जाये. ”क्या?” मैंने महसूस किया नताशा के दिल की धड़कन बहुत बढ़ गई है और वह अपनी जाँघों के साथ अपने नितम्बों को भी दबा रही है।नताशा सच कहूँ तो तुम्हारे नितम्ब इतने खूबसूरत हैं कि एक बार मुझे उनके बीच अपने लंड को डालने का बहुत मन कर रहा है.

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बता रहा हूँ वह मेरी ही छोटी बहन और मेरे बीच में हुई घटना के बारे में है. मैंने मीना को अपने आगोश में इतनी कस कर पकड़ा कि मुझे उसकी हड्डियां चटकती हुई महसूस हुईं.

फिर जब उसने कोई हरकत नहीं की, तो मैंने अपने लंड को फिर से गर्म किया.

वो मुझे कहने लगी- पापा, आप यह क्या कर रहे हैं?मैंने कहा- वही जो एक मर्द और औरत आपस में करते हैं.

ये वो सुख था … जो रेगिस्तान में प्यासे को पानी से मिलता है, गरीब को लगान माफ़ी से … और भूखे को खाने से मिलता है. ऐसे ही एक दिन की बात है जब मैं नहा रहा था। मेरी आदत है खुले में नहाने की। नहाते समय मेरी चाची आकर मुझे छेड़ने लगी। वो मेरी चड्डी खींचने लगी. फिर हम तीनों ने एक साथ शावर लिया और मैंने शावर में ही जूली को किस करना शुरू कर दिया.

मैंने दोनों अप्सराओं को खींच कर अपनी तरफ करवट से कर लिया और आनंद पूर्वक आँखें मूँद के दोनों रानियों के गर्म गर्म शरीर का लुत्फ़ उठाता हुआ मीठी सी नींद में खो गया. लेकिन एक बात तो पक्की थी कि वो राधिका नहीं थी, क्योंकि राधिका को मैं अच्छे से पहचानता था. आआआहह … उसके लंड की रगड़ मुझे बहुत हॉट बना रही थी … मैं अपनी आंखें बंद करके उसके लंड को मेरी चूत पर महसूस कर रही थी.

मैंने उसकी टांगों के बीच एक पुराना तौलिया बिछा दिया, ताकि मेरा बिस्तर खराब न होने पाए.

मेरा लंड नम्रता की चूत को काफी घिस चुका था और खुद भी काफी रगड़ चुका था, सो अब रस बाहर निकलने के लिए बेकरार हो रहा था. मैं अभी नहीं झड़ा था सो एक दो पल रुकने के बाद मैं नीचे लेट गया और उसको अपने लंड के ऊपर सैट कर लिया. मैंने भी उसी अंदाज में जवाब दिया- सही कह रही हो, अब तुम्हारी मिलने से रही, तो कहानी ही सुनकर अपने मन को संतुष्ट कर लूंगा.

काफ़ी सारा अमृत मुंह में गया और काफ़ी सारा नीचे गुड्डी रानी पर, मेरी छाती पर और बेबी रानी की टांगों पर छलक गया. धीरे धीरे पापा मेरी चूत में उंगली करने लगे और मैं पापा का लण्ड दबाने लगी. फिर वो दिन भी आया कि मेरी पोस्टिंग हो गयी और मुझे दूर शहर की एक ब्रांच में ज्वाइन करने के लिए कहा गया.

एक दिन सीमा जी ने कहा- मुझे इस तरह छिप कर मिलना अब अच्छा नहीं लगता, हमें शादी कर लेना चाहिए.

उन्होंने मेरी निक्कर को खींच दिया और मेरे अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को मसलने और सहलाने लगी. वो आई, तो मैंने दरवाज़ा बंद कर दिया और उसको मेरी बांहों में भर लिया.

बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी वो मेरे कपड़े देख कर इतना तो जान चुके थे कि मैं पूरी नंगी हूँ क्योकि मेरी ब्रा और चड्डी वहीं सूख रही थी. फिर मैं उसकी जींस के पास आ गयी और उसकी जींस का हुक खोल कर मैंने उसकी जींस उतार दी.

बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी इसके बाद उसने लंड चूत के मुँह पर सटाया और हल्के से अपना लंड मेरी चुत पर रगड़ने लगा. उसने शर्ट को बड़े मादक अंदाज से मेरी आंखों में देखते हुए बेड के नीचे गिरा दिया.

मैं जब भी भैया के घर जाती हूँ तो उनकी पत्नी से बात करती हूँ और उनकी पत्नी भी बहुत अच्छी है और वो भी मेरे घर आती है.

एक्सएक्स हिंदी

उसके हाथ मुझे रोकने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैंने उसकी तरफ देखा … और गुर्राते हुए उससे बोला- हाथ हटाओ अपने. इसके बाद दूसरे माल ने मेरे पास आकर मेरे हाथ अपने मम्मों पर रखवाया और मैं उसके मम्मे मसलने लगा. उसने मुझे एक बहुत ही सेक्सी सैट दिया और बोला- अगर चाहो तो यहीं पहन कर चैक कर सकती हो.

हमने होंठों के फासले को मिटाकर दोनों के होंठ आपस में मिला दिया और एक दूसरे का रस चूसने लगे. डॉक्टर- मुझे सही सही बताना?मम्मी- डॉक्टर साहब मुझे सेक्स काफी पसंद है. फिर मैं शुरू हो गया, बोला- रूई!और सारा ने अपना दायाँ चूतड़ ऊपर उठा दिया, मैंने पूरा लंड निकाल कर उधर को धक्का मारा, लंड चूत को रगड़ते हुए अंदर चला गया.

आगे से तो उसने अपनी चूत को छिपा लिया मगर पीछे का वह सुनहरा दरवाजा खुला ही हुआ था.

दीपाली और वो दूसरी लड़की ल़ेडीज कम्पार्टमेंट में चढ़ गए और मैं जेंट्स मैं. अब मैं अपनी गर्मागर्म देसी हिन्दी सेक्स कहानीमैं और मेरी प्यासी चाचीका दूसरा भाग पेश करने जा रहा हूँ. जब भाभी आ गईं और मैं कुछ नहीं बोला, तो भाभी ने पूछा- क्या हुआ?मैंने अपना ध्यान उनकी चुचियों से हटा कर भाभी से बोला- पानी चाहिये.

अगले ही पल मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और उन्हें चूसने लगी। शुरूआत में उसे पता ही नहीं चला कि क्या हो रहा है पर मेरे होंठ उसके होंठों पर रगड़ खाते ही वे जोश में आ गया और मेरा साथ देने लगा।हम दोनों जोश में एक दूसरे को चूमने लगे, मेरा हाथ उसकी पैंट के ऊपर से उसके लंड को जोर जोर से मसलने लगा. मेरे सीने पर अपनी बांहों को कसते हुए उसने कहा- सर जी, अब जब आग लगायी है तो इस आग पर पानी भी डाल दीजिये. उसके तने हुए मम्मों को देख कर मेरे दिल की धड़कनें अचानक बहुत ज्यादा बढ़ने लगीं.

तुम साहित्यकार हो, इसलिए थोड़े अलग अंदाज में बात कह दी थी कि प्रतिभा निशा के संग आएगी. अब आगे गर्लफ्रेंड की सहेली की चुदाई की शुरुआत:फिर हम सभी एक साथ खाना खाने बैठ गए.

मैंने पूरी बॉडी की वेक्स की … वैसे भी मैं मलाईका अरोरा जैसी लगती हूँ, सो और भी हॉट लगने लगी. दूसरे दिन मैं स्कूल चला गया और ये सब मैंने अपने खास दोस्त को बताया. अंकल ने अपना लंड दो तीन बार चुत के दरार पर रगड़ कर अंदाजा लिया- नीतू रानी … तैयार हो ना?तैयार … किस चीज … के लिए … आहआ आहह.

शिखा की सील भी आज ही टूटी थी इसलिए उसको हल्का सा दर्द भी हो रहा था.

तो हुआ यूं कि एक दिन में बाहर गया था और पापा को उस दिन काम से छुट्टी थी तो वो घर पर थे. मेरे पीजी के साथ ही एक घर में रहती थी पूनम … जिसके साथ मेरी ये कहानी है. तब जाकर हमने सांस ली और 5 मिनट के बाद हम दोनों एक दूसरे से अलग हो गए.

उसने मेरा मोबाईल मुझे दिया अपने ब्लाउज में से मोबाईल निकाल कर मेरा नम्बर देखा मोबाईल को वापिस ब्लाउज में डाल कर मुस्कराई. मैंने भी उनको तड़पाने की सोची- अंकल आपका कहना है कि मैंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना?मुझे नहीं पता?.

अब मेरा मन अन्दर का सीन देखने में कम लग रहा था और शुभ्रा की गांड में लंड गड़ाने में ज्यादा आनन्द आ रहा था। अब लंड मे तनाव और ज्यादा होने लगा था, साथ ही लग रहा था कि मुझे पेशाब बहुत तेज लगी है और अगर मैं पेशाब करने नहीं गया तो लंड पैन्ट फाड़कर बाहर आ जायेगा. हालांकि हम दोनों उस रात दुबारा चुदाई नहीं कर पाए क्योंकि मेरे साथ मेरी मम्मी मेरे बेडरूम में ही सोती हैं. उंगली करते हुए पति देव बोले- नम्रता वहां पर दूसरों को अपनी बीवी के साथ एन्जॉय करते देख कर मुझे तुम्हारी याद बहुत आ रही थी.

इंग्लिश में चुदाई

इसके बाद सहेली के पापा ने दारू के पैग बनाए और हम दोनों ने तीन तीन पैग खींचे.

चूत के नीचे तकिया लगाया और अपना लंड चूत के छेद पर लगाया, जो गीली हो चुकी थी. इस औरत में इतना सेक्स भरा था कि रात भर में 4 बार चुदने के बाद भी भाभी सुबह सुबह अपने पति का लंड चूसने लगीं. फिर भी मेरा मन नहीं माना, मैं चुपचाप दबे पाँव कमरे से निकल कर चल दी और धीरे-धीरे गेस्ट हाउस की खिड़की के पास पहुँच कर कान लगाकर सुनने लगी.

उसकी बॉडी पर लेटे रहने के कारण मेरा लंड तन गया था जो मनीषा की बॉडी से टच होने लगा था. उतने में उसने बोला- आपकी गर्लफ्रेंड बहुत लकी होगी, जिसे आप जैसा ब्वॉयफ्रेंड मिला है. एक्स सेक्सी व्हिडिओ बीएफयही बात मैंने अंकल जी को कही तो वो तुरंत मेरे ऊपर से हट गए और दूर जा बैठे.

मुझे मेरी आँखों पर भरोसा नहीं हुआ, मैंने दोबारा से अपनी आँखें मली और फिर से देखा कि कहीं मैं स्वप्न तो नहीं देख रही हूँ. अंदर मैंने उसे जमीन पर बिठा दिया फिर बाहर आने लगा तो अनिता बोली- इतना सब कुछ कर ही चुके हो तो यह भी कर ही दो.

उसकी गोरी नंगी जांघें देख कर मेरा मन फिर से उसकी चूत चोदने का करने लगा और मैंने जाकर उसके चूचों को दबोच लिया. उसके बाद वो भी गर्म हो गया और मुझे लिटा कर मेरी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. उसके इस तरीके से मुझे अपनी चूत में बड़ी राहत सी मिल रही थी, साथ ही मेरी चूत का पूरा दर्द भी खत्म होता हुआ सा महसूस होने लगा था.

लेकिन मैं सेक्स के लिए अपनी बेस्टफ्रेंड को चोट नहीं पहुंचाना चाहती थी. लेकिन जैसे ही मैंने वसुन्धरा को पीछे घूम कर देखा तो पाया कि वसुन्धरा की चुनरी, वसुन्धरा की पीठ की ओर से लँहगे के अंदर फंसी हुई थी. जब मैं अपने काम को कर चुका, तो मैंने अपनी कैफ्री उतार फेंका और तने हुए लंड को नम्रता की तरफ कर दिया.

दो साल तक मैं उसी मकान में रहा और बहुत बार सेक्स किया, लेकिन किसी को पता नहीं चला और न ही हमने किसी को बताया.

वापिस आकर बेड के सामने खड़ा होकर मज़े से दोनों रानियों की सुंदरता निहारने लगा. उसके इस तरीके से मुझे अपनी चूत में बड़ी राहत सी मिल रही थी, साथ ही मेरी चूत का पूरा दर्द भी खत्म होता हुआ सा महसूस होने लगा था.

मैंने पूछा- आपकी कौन सी सहेली है मेरे ऑफिस के पास? मुझे भी बताइये न, मैं भी उनसे मिल लूंगा. मुझे इस तरह अधमरा होता देख, उन्होंने मेरे शरीर को अपने बेड के बीचों बीच ले लिया और चारों दिशाओं में चारों हाथ पैर फैला दिए. भाभी ने मेरी लोअर के ऊपर से मेरे लंड को किस करते हुए मेरी ग्रे रंग की लोअर को पूरी गीली कर दिया.

लेकिन तभी राधिका ने जोर एक चपत मार दी, जिससे मेरे मुँह से भी गहरी आह की आवाज निकल गई. अगली सुबह मैं साढ़े चार पर ही उठ गई और फ्रेश होकर नहा भी ली और सलवार कुरता दुपट्टा डाल के मैं तैयार हो गई, ब्रा और पैंटी पहनने का मन ही नहीं हुआ. मीरा भी बिना रुके उसके गांड के छेद को फैला के अपनी जीभ से कुरेद रही थी और अपने हाथों से रितेश का लंड सहला रही थी.

बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी फिर राज हमारे मम्मे दबाएगा, फिर पीठ सहलाएगा, इसके बाद गांड सहलाएगा और आखिर में हम सब राज का लंड चूसेंगे. उसके गोरे-गोरे मम्मे … छोटी छोटी और टाइट चूची … अपनी नंगी बेटी को देखकर मैं होश खो बैठा और उसकी चूची चूसने लगा.

चोदाई वीडियो

वो बोली- जैसे ही तू मेरे पीछे से हटा और दौड़कर कमरे की तरफ आया, मैं भी तेरे पीछे-पीछे आ गयी. उसका तना हुआ छह इंच लंबा और दो इंच मोटा लंड खड़ा मीरा को ललचा रहा था. उसके बाद तो जब भी भाभी मुझे किसी भी प्रोग्राम, त्यौहार पर मिलीं, हम दोनों में हमेशा चुदाई तो हुई ही.

उन्होंने अपने होंठ मेरे माथे पर रखे, फिर आंखों पर किस करते हुए मेरे होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया. मैं भी इधर-उधर देख कर यह सुनिश्चित करने के बाद कि कोई मुझे देख तो नहीं रहा है, मैं भी खेत में उसी के रास्ते पीछे-पीछे अंदर चला गया. मारवाड़ी का बीएफइतना कहकर उसने प्रसाद मुझे दे दिया और बोली- आपका बहुत अहसान है, आपने अच्छे पड़ोसी होने का फर्ज निभाया है.

मेरे दूसरे हाथ से उसका मुंह बन्द करके मैं लगातार उसकी गांड पेलता रहा.

उसकी गांड की दरार में लंड टिकाए हुए ही मैंने उसकी चूचियों को दबाते हुये उसके ब्लाऊज में से पैसे निकाल लिये और मुड़कर दरवाजे की तरफ चल दिया. उसको देखते ही लण्ड सलामी देने लग गया।मैंने उसे अंदर सोफ़े पर बैठाया और हम बातें करने लग गये। बातों बातों में मैं ड्रिंक ले आया और हम पीने लग गए.

दो चार धक्के लगाये कि मेरे लंड से भी गर्म गर्म लावा निकल कर सीमा की चूत में गिरने लगा. भाभी समझ गईं कि मेरा पहली बार है, वो बोलीं- कोई बात नहीं … मैं सब सिखा दूंगी. लोग सच ही कहते हैं कि सेक्स के खेल में आदमी एक बार घुस जाए, फिर उसको इसके अलावा किसी चीज़ का मज़ा नहीं आता.

फोन पर ही हमने सेक्स की बातें की।और जब भी छुट्टियाँ शुरू होती थी तो हम साथ आकर अपनी सेक्स की प्यास बुझाते थे।तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी चाची और गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स की कहानी? मुझे जरूर बताएं।और मुझसे गलती से कोई भूल चूक हुई है तो माफ करना। मेरी कहानी जरूर पढ़ते रहना। और अगर आपको सेक्स स्टोरी पोस्ट करने में कोई परेशानी या झिझक हो रही हो तो मेरे मेल पर बात करें, मैं आपकी मदद जरूर करूँगा.

”फालतू बात मत कीजिये, अंदर चलिए, गीले कपड़े बदलिए, एक कप काफ़ी पीजिये, फिर चले जाइयेगा. मैंने प्रत्युत्तर में उसकी आँखों में झाँक कर देखा तो उसने आँखें घुमा ली. नौकरानी ने मुझसे बोला- ठीक है, मैं शाम को काम करने के लिए तभी आऊंगी.

बीएफ स्किनर थ्योरीयह सब कुछ खड़े खड़े हो रहा था, अब मैंने उसको लिटा दिया और उसकी चूचियों पर हाथ फेरने लगा. कुछ ही देर बाद मेरा भी पानी निकला और मैंने भी उसके मुंह में सारा माल भर दिया.

तेलुगू आंटी सेक्सी वीडियो

हमें फोन पर अनिल की सास ने कहा- आप इधर से निकलेंगे तो मंजू को भी लेते जाना. जब तक तेरी जीभ का रस अच्छे न पी लूंगी और अपनी जीभ का रस पिला न दूंगी. शर्मा सर ने मुझे कमोड पर बैठने को बोला, मैं विरोध करने की स्थिति में नहीं थी.

राधिका घोड़ी बन गई और सोनल ने अपनी भाभी के पीछे जाकर उसके दोनों चूतड़ों पर जोर से एक एक चपत मार दी, जिससे राधिका सिहर उठी. !”आपने यह सब करने के लिए जो आर्टिकल लिखने की बात की थी, वह सब सच था? देखो सच सच बोलना. अब वो चुदने के लिए तड़पने लगीं, पर नितिन ने उनको और तड़पाया, किस करना छोड़ कर सीधे अपना मुँह सीमा की सुर्ख गुलाबी और चिकनी चूत पर ले गया.

जब बेबी रानी ने देखा कि बॉडी वाश सारा निकल गया और फिसलन घट गयी तो हरामज़ादी ने कंडीशनर भी पूरा का पूरा टपका दिया. मैं अनिता की टांगें खोल कर उसकी चूत पर से बाकी बची चॉकलेट को चूस चूस कर खाने लगा. मेरी दीदी की चुत में मेरे पति का लंड कैसे घुस सका, ये आपको मैं अपनी जीजा साली सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

गुस्से में रकुल बोली- जब तुमने मेरा सौदा कर ही लिया तो अब पूछ क्या रहे हो? तुम्हारे लिये तो मैं एक रंडी हो गयी हूं जिसकी तुम दलाली करने लगे हो. मैं अपनी उस मस्त कामवाली को और दो मिनट जोर जोर से चोदा और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

नम्रता- वो कैसी दिखती उन कपड़ों में?मैं- दिखती तो वैसे भी वो बहुत सेक्सी है, लेकिन अगर बिकनी या टू-पीस पहन ले तो और सेक्सी माल दिखती है.

जरा सोचो … नितिन का परचेज़ मैनेजर बनने का ये एक मौका है … वो नहीं बनेगा, तो उसका कोई कलीग मैनेजर बन जायेगा … बाद मैं ऐसा मौका कब मिलेगा पता नहीं. बीएफ देसी एचडी वीडियोहाँ इस बार हमने पूरे होश में सब किया, तो हमारी शर्म भी खत्म हो गयी. बीएफ सेक्सी पंजाबी चुदाईएकदम से एक तेज़ गर्म लहर मेरी रीढ़ से आर पार गुज़री, मेरे मुंह से एक ज़ोर की सीत्कार निकली और मैं झड़ा. वो मेरे चेहरे को देख कर हंसने लगी और बोली- मेरे चोदू भैया, तुझ पर तो मेरी नजर तब से थी जब तेरा ये लौड़ा खड़ा होना शुरू ही हुआ था.

पर आजकल उसका भाई ठीक नहीं है, तो वो उसकी देखभाल में बिजी रहती है, इसलिए वो मिल नहीं पा रही है.

’ की आवाजें निकल रही थीं- आआह थॉमस फक मी बेबी … हां आह आह्ह चोदो … मुझे चोदो मुझे … आह थॉमस फक मी. एकदम फ्रेश कुंवारी बुर थी … मैंने मन लगा कर बुर पर मुँह लगाया और ज़ोर ज़ोर से बुर चूसने चाटने लगा. मैंने उसको उठा बिस्तर पर ले जाकर पटक दिया और धीरे-धीरे अपना शर्ट पैंट खोल कर बिस्तर में आ कर उसके ऊपर चढ़ गया.

जिसने इस कहानी के पहले के पार्ट नहीं पढ़े, वो पढ़ लें, तभी आपको सारी स्टोरी समझ आएगी. वो अपनी गांड पटक कर चूत को मेरे मुँह में ऐसे टिकाने लगी, जैसे वो भी मेरे मुँह को चोदना चाहती हो. मैंने फिर कहा- नहीं यार तुम गलत समझ रही हो … मैं तो सिर्फ ये जानना चाह रहा था कि मेरी बदनामी की आग कहां तक फैली है.

सनी लियोन की फोटो दिखाओ

फिर भी अगर आपके लिए मैं कुछ कर सकता हूँ तो बेझिझक बताइये?”वसुन्धरा फिर से ज़ोर से मुझ से लिपट गयी और मेरे कान में फुसफुसाई- राज!हूँ … !”मत जाओ. थोड़ी देर बाद नम्रता अपने कपड़े सही करते हुए बोली- अपने घर बुला लिया है, दिखाओगे नहीं अपनी बीवी के लिए हुए सेक्सी कपड़े?मैं- ओह हां यार, तुम्हारा कामक्रीड़ा से युक्त मादक जिस्म मेरे सामने जब से आया है, मैं सब कुछ भूल जाता हूं. ऐसे ही एक लोकल गे डेटिंग साइट के जरिये मेरी बात एक लड़के से शुरू हुई.

मेरी बंद आंखों को उनके होंठों का स्पर्श महसूस हुआ, मेरे नाक को हल्के से काटकर उन्होंने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये.

मैंने कहा- इसमें तो पता नहीं कितना टाइम लग जाए और घर पर ये सब करना जरा रिस्की भी है.

” यह बोलकर अंकल ने मेरी टांगें और फैला दीं और एक जोर का धक्का दे दिया. करीब आधे घंटे बाद मैं उसके कानों के पास गया और गाल पर किस करके कान में कहा- चेक योर फ़ोन! (अपना फोन देखो!)मैंने उसे भेजा था- हाय स्लट. अरे हिंदी बीएफमम्मी परसों मेरे एग्ज़ाम खत्म हो जाएंगे, अगर आप कहो तो हम दोनों कहीं घूमने चलें, इससे आपका भी मूड फ्रेश हो जाएगा.

असली सुहागरात तो आज मनी है मेरी … आह्हह मेरे राज… मैं तो तेरी दीवानी हो गयी रे!अंत में वह फिर झड़ गई और बेड पर पसर गई परंतु मेरा तो अभी भी छूटने का नाम नहीं ले रहा था. थोड़ी देर में भाभी पानी लेकर आईं और इस बार वे बड़ी कामुक नज़रों से मुझे देख रही थीं. तुम्हें भूख नहीं लगी है क्या?मैंने कहा- नहीं यार, मुझे तो तुम्हारी चूत की भूख है.

वह मेरे होंठों के रस को ऐसे चूसने लगा जैसे एक भंवरा शहद को चूसता है. उन्होंने दोनों गिलासों में शराब डाली, फिर बोले- चल मेरे और अपने पैग वाले गिलास में मूत.

अचानक ही मुझे अपने ही दिल की धड़कन साफ़-साफ़ सुनाई देने लगी और मुझे एक अनजानी सी बेचैनी महसूस होने लगी.

अंकल ने दूसरा हाथ मेरी पीठ पर ले जाकर मेरी ब्रा का हुक खोला और उसे उतार दिया. वो भी अब फारिग हो चुकी थी, उसकी मलाई मेरे जीभ पर लग रही थी, जबकि मैं उसके मुँह के अन्दर अपना माल छोड़ रहा था. उस दिन मैं पूरा मन बना चुका था कि आज तो चाची की चूत का रस पीना ही है.

बीएफ सेक्सी राजस्थान की मैं तो पहले से ही चाहती थी कि भैया मेरी चूत को चोद दें मगर अभी तक मौका नहीं मिल पा रहा था. मैंने रानी की चूत से मुंह पूरा गोल खोल के लगा दिया- हरामज़ादे, अपने आप नहीं बोल सकता था अमृत पीने को … अगर मुझे याद न आता तो चली जाती बाथरूम … फिर?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया और रानी की अमृत धारा की प्रतीक्षा करने लगा.

मैंने बोला- मुझे तुम्हारी चुत डॉगी स्टाइल में चोदनी है … तुम कुतिया बन जाओ. कई बार ऐसा होता है कि जब हमें जगह नहीं मिलती तो हम बाहर जाकर चुदाई करके आ जाते हैं. संतोष जी लगातार बिना मेरी दर्द की परवाह किये, अपने लंड को चूत में अन्दर बाहर करने लगे.

बीपी सेक्सी वीडियो नेपाली

सरिता- नहीं नहीं अंकल मैं नहीं चिल्लाऊंगी, पर जरा आराम से अन्दर डालना. मैंने मौका देखकर पूनम को अपने दिल की बात कह दी और उसने कहा- मैं शाम को बताऊँगी. आज मैंने शराब भी नहीं पी थी इसलिए मैं भी पूरे होश में था और मोनी भी.

इस घर में मेरी शादी इसलिए हुई थी क्यूंकि इन लोगों ने दहेज़ के नाम पर कुछ भी नहीं मांगा था. फिर जब मैं बाथरूम से बाहर आई, तो वंश मुझे देखता ही रह गया मुझे!उसके बाद हम दोनों बातें करने लगे.

अंशु ने मम्मी को पीछे से पकड़ा हाथ आगे लाके चुचियाँ थाम लीं- लेकिन वो सुहागरात आज नहीं मनाएगी.

मैं- अरे यार क्या हुआ?वो- नहीं प्लीज़ … अब बस मुझे जाने दो मैं इतनी देर से यहां हूँ … घर में अगर किसी को भनक लग गयी, तो बड़ी मुश्किल खड़ी हो जाएगी. फिर उसने कटोरी उठायी और फांकों को फैलाकर कटोरी से चूत पर अपना दूध गिराते हुए बोली- लो मेरी जान दूध पिओ. मुझे अंदेशा हो रहा था कि वसुन्धरा जरूर कुछ नाक़ाबिले-यक़ीन कहने वाली थी.

वास्तव में कोई भी लड़की उसे देख लेती थी, तो वो उसी पल नितिन की दीवानी हो जाती थी. तो उस वक्त मैंने रेड कलर की साड़ी और काले कलर का ब्लाउज पहना हुआ था. डॉक्टर- मुझे सही सही बताना?मम्मी- डॉक्टर साहब मुझे सेक्स काफी पसंद है.

सच में जब माणिक मेरी जांघों को हल्का हल्का मसल रहा था, तब मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था.

बीएफ पिक्चर एचडी वीडियो सेक्सी: जब भी मैं उनके रिश्ते की लड़कियों की चुदाई करता हूं, तब मैं उनको अलग से ले जाकर उनकी ठुकाई करता हूं. मेरे मौन को मेरी सहमति समझकर उन्होंने अपनी लुंगी उतारी, तो मैं देखती ही रह गई.

धीरे धीरे पापा डिप्रेशन में जाने लगे तो मैंने उन्हें डाक्टर को दिखाया तो उन्होंने माहौल बदलने की बात कही. रानी ने मेरे लंड और गांड के बीच में जो मुलायम सा भाग होता है, उसे ज़ोर से दबा दिया. कोई नी अंकल जी!”सोनम बेटा, तुम्हारी आंटी आज दिन में अपने मायके जा रही हैं अपनी मम्मी से मिलने, वो दो साल बाद जा रहीं हैं तो वो पंद्रह बीस दिन रुक कर ही आयेंगी और मैं एकदम अकेला रहूंगा.

हाँ रानी मस्त है … बहुत ही मज़ेदार है … सारा पिला ना?” मैंने मचल कर गुहार लगाई.

तभी रिया ने टोका- क्या हुआ डैड? क्यों निकाल लिया लण्ड बाहर?रमेश ने उसकी ओर मुस्कुरा कर देखा और बोला- इधर आ साली कुतिया और चूस इस लण्ड पर लगे अपनी गांड के रस को. फिर मैं अपने कमरे में आया, तो वो मुझसे बोली- मैं कहां सोऊंगी?मैंने उससे कहा- इसी बिस्तर पर. उन्होंने अचानक कहा- कोमल, तुम बहुत सुन्दर हो!मैं कुछ नहीं बोली, बस थोड़ा मुस्कुरा दी.