देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर का ऐप

तस्वीर का शीर्षक ,

ओपन सेक्सी एचडी: देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी, अबकी बार जब रूम दूंगी, तो मेरी मर्जी चलेगी … मैं तो पूरी चुदाई देखूंगी.

ब्लू सेक्सी वीडियो चोदने वाली

मैंने उन्हें अंदर आने दिया और शरमा कर किचन में कुछ बनाने का नाटक करने लगी. ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊउनकी बात पर मैंने कहा- आपने जो बोला मैंने वो किया, अब आप इस तरह की बातें कर रहे हैं? मैं ये सब नहीं कर सकती हूं.

देखो कैसे पागल हुआ जा रहा है आपकी चूत में जाने के लिये!कहकर मैंने मामी का हाथ पकड़ा और अपने रॉड की तरह तने हुए लंड पर रखवा दिया. सेक्सी वीडियो बिहार के भोजपुरीमैंने शिखा आंटी से पूछा- कहां निकल जाऊं साली रांड … बोल?तो शिखा आंटी बोलीं- आंह अन्दर ही अपना माल गिरा दो बेटा.

मौसी ने मुझसे कहा कि पायल आज मेरी ज़िंदगी का अब तक का सबसे बेस्ट सेक्स हुआ है … इतना मज़ा तो मुझे सुहागरात में भी नहीं आया था.देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी: उसने अपने पैर फैला दिए जिससे उसका लंड सीधा खड़ा होकर लहराने लगा। मैंने झट से उसका लंड अपने हाथ में लिया.

मैंने अपनी बीवी को फिर से दबोच लिया और उसके होंठों को गर्दन को चूमने और चाटने लगा.कोई आधे घंटे तक गांड मारने के बाद मैंने अपना सारा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया.

बंगाली सेक्सी फिल्म बंगाली सेक्सी फिल्म - देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी

फिर आंटी ने बताया कि उनके पीरियड नहीं आ रहे हैं … इस बार 6-7 दिन ऊपर हो गए हैं.रोहन बोला- तुम भी पॉर्न फिल्म देखती हो क्या?मैंने कहा- एक दो बार देखी हैं मैंने.

उसकी बात सुनकर लता आंटी ने मुझसे बोला- हितेश तू हॉल में जाकर बैठ … मैं अभी आती हूँ. देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी करीब एक महीने बाद वो आगरा आया और हम दोनों उससे मिलने के लिए आगरा निकल पड़े.

मैंने अपने इस शो के लिए खास प्रकार का एक रूम तैयार किया था, जो बहुत बड़ा है.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी?

उसे दर्द हुआ … मगर वो नशे में होने के कारण थोड़ी ही चीखी फिर मस्त चुदाई स्टार्ट हो गयी. किसी ने ठीक ही कहा है कि एक लड़का और एक लड़की कभी दोस्त नहीं हो सकते. तभी उसने मुझसे कहा- पता नहीं कब चलेगा ये?मैंने उससे पूछा- कहां तक जाएंगी आप?उसने कहा- राइपुर (बदला हुआ).

मैंने तुरंत अपने गाउन को नीचे कर दिया और उनके घुटनों के बीच में आकर बैठ गयी. लेकिन मेरे हज़्बेंड, रवि अब महीने में एक दो बार ही सेक्स कर पाते हैं. मैंने कहा- किनको? हाथ से बताओ न!उसने मेरी आंखों में आंखें डालीं और बोली- हाथ की जगह मैं सीधे मुँह से पूछ लेती हूँ कि तुम मेरे बूब्स को ऐसे क्यों देख रहे हो?मुझे उसकी आंखों में वासना दिखाई दी और मैंने साफ़ साफ़ कह दिया- यार तेरे बूब्स सच में बहुत मस्त हैं.

पर क्या करता दोस्तो, मैं चुपचाप रह गया और अन्दर जाकर सोफे पर बैठ गया. मैंने अन्दर देखा कि दीपक जी बेड पर चित लेटे हैं और जेठानी जी दीपक के लम्बे लंड पर अप-डाउन हो रही थीं. पहले धंधा करती थी क्या?उसकी बात के जवाब में मैंने कुछ नहीं कहा तो वो फिर बोला- बता ना … बोल, जवाब दे?मैंने कहा- हम छत्तीसगढ़ी लड़की अंदर से मजबूत होती हैं इसलिए हमारे अंदर ज्यादा ताकत होती है.

थोड़ी देर मेरा लंड चूसने के बाद वो मेरे ऊपर की तरफ आ गई और किस करने लगी. अगर यहां मैं उसके फिगर की बात करूंगा, तो वो बहुत लंबी और स्लिम-ट्रिम थी.

वैसे भी अब तक उनकी चुत में कई लंड जा चुके थे तो उन्हें लंड लेने की आदत हो चुकी थी.

मैंने मां की पैंटी को हल्के से साइड में किया और उसकी चूत पर होंठ रख दिये.

आआ … आह्ससस …नो … नहीं।लंड को चूत पर रगड़वाने में जितना मजा मिल रहा था अब उससे कई गुना ज्यादा दर्द मेरी चूत में होने लगा था. एक बार फिर से अपने होंठों को अनीता भाभी के सेक्सी होंठों पर रखकर चूसने और खाने लगा. इस बीच मैंने उसी प्यासी हुई चूत को सहलाना जारी रखा … और मैंने उसे समझा दिया कि अगर सनी का मैसेज आए, तो तू उससे बात कर लेना.

लता आंटी बोलीं- अब जल्दी से मीना को खुश कर दे, जैसे तू मुझे खुश करता है. तो दोस्तो, इस कहानी पर आपकी क्या राय है मुझे मेरी ईमेल आईडी पर रिप्लाई देकर जरूर बतायें. फिर वो जीभ घुसाकर मेरी चूत को अंदर तक चाटने लगा।उसकी इस हरकत से मुझे मेरी चूत पर गुदगुदी-सी महसूस हो रही थी.

इसके बाद मैंने आंटी की तीन बार गांड मारी और दो बार चूत की चुदाई की.

मेरी ननद पूछने लगी- भाभी आप दोनों की सेक्स लाइफ कैसी है?मैं बोली कि मेरे हज़्बेंड रवि महीने में एक या दो बार करते हैं. मेरा मानना है कि वो समय माया की जिन्दगी का सबसे खूबसूरत समय रहा होगा. चूंकि मैं एक बिजनेसमैन था और साथ में एक ऐसा काम करता हूं … जिसमें मुझे बहुत मजा आता है.

फिर मैं दोबारा बूब्स चूसने लगा और फिर चूमते हुए नीचे नाभि को किस किया. मैंने उसको अपने पैरों के पास बैठा कर अपने लंड उसके मुँह में डाल दिया और बोला- लंड चूसो. मैं अपनी मां को पेलने लगा और बोला- मां तुम इतनी बड़ी रंडी हो गई हो मुझे भरोसा ही नहीं हो रहा है.

मैंने उसको वहीं किचन स्लैब पर टिका लिया और उसकी चूत को चोदते हुए उसको लिप किस करने लगा.

मगर उसके बाद अम्मी ने मामू से कह कर उस आदमी पर बुरी नियत का इल्जाम लगवा कर उसे हटवा दिया था. किताबों में बहुत लौड़े देखे थे लेकिन असल जिन्दगी में ये पहला मौका था जब लंड को मैं नंगा अपनी आंखों के सामने देखने वाली थी.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी काफी देर तक मैंने उसकी चुदाई की और उसकी चूत झड़ने के बाद ही शांत हुई. अंततः निष्कर्ष निकला कि शैली समझदार है, उसे राजदार बनाया जाये, वो भी दो किश्तों में.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी मेम मेरे होंठों को चूसने में लगी हुई थी और मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था. मैंने कहा- किस जगह लोगी?वो बोली- मेरे हॉस्टल के पास एक दुकान है, वहां पर आ जाना.

फिर अशोक ने अपना लंड निकाल कर मां की चूत में डाल दिया और वो मां को पेलने लगा.

होली का सेक्सी वीडियो

वो जोर से मेरी चूचियों को भींचते हुए बोले- चल आज मैं तुझे बताता हूं कि मर्द को छेड़ने का अंजाम क्या होता है, आज तेरी शरारत की सजा मैं तुझे जरूर दूंगा. घरवालों को स्टेशन तक छोड़कर आने के बाद मैं अपने रूम में आकर लेट गया. फिर उसने धीरे धीरे नीचे दबाव देना शुरू किया तो मेरा लण्ड उसकी चूत में सरकने लगा.

मैंने उसको वही वाला वीडियो चलाने के लिए बोला, जो वो अपने कमरे में देख कर अपनी चुत में उंगली कर रही थी. रूम में कोई नहीं था, तो मैं बाहर आ गई और बाथरूम का दरवाजा बाहर से बंद कर लिया. इसलिए मैंने बहाना बनाया कि अगर मैं बाहर गया तो चाची को शक हो जायेगा कि इतनी देर से मैं और आप एक ही बंद कमरे में क्या कर रहे थे?उसको भी ये बात समझ आयी और वो मान गई.

मैंने सोच लिया था कि इससे पहले कि और कोई रिश्तेदार घर आ जाएं … मुझे विशाल के लंड से चुद ही लेना चाहिए.

मेरे साथ जो हुआ है वो सभी मैं इस कहानी में बताऊंगा।बात 3 साल पहले की है. उसके बाद मैंने उसको पेनकिलर दी ताकि उसका दर्द जल्दी से जल्दी कम हो जाये और उसके घरवालों को कोई शक न हो कि वो चुदवाकर आई है. मैं गई तो उन्होंने मुझे नीचे घुटनों के बल बैठा दिया और रवि को खड़ा करके मेरे मुँह में रवि का लंड डाल दिया.

मैंने पूछा- मेरा होने वाला है, कहां निकालूं?उसने कहा- अन्दर ही डाल दो. मैंने देर नहीं करते हुए मेरा मुंह सीधा चूत पर रख दिया और उसकी मखमली चूत पर अपने गर्म होंठ लगा कर उसकी चूत को चूसने और चाटने लगा. कुछ देर बाद ससुर ने बहू की चुत में अपना रस गिरा दिया मतलब कंडोम में वीर्य त्याग करके वो अपनी बहू के ऊपर से उठे और कंडोम को हटा कर डस्टबिन में डाल कर अपने कपड़े लेकर कमरे से बाहर निकल गए.

हिन्दुस्तानी Xxx कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं कुछ अपनी मां के बारे में बता देता हूँ. अपनी सारी ख्वाहिशें पूरी कर ले आज।फिर क्या था … मैं सर और मैडम के बेडरूम की ओर चल पड़ी.

मैं बाहर गेट पर ही फोन से बात कर रहा था और बीवी को बोल रहा था- जल्दी आ जा यार, अब तो जम कर तेरी चूत चूसने का मन है. मैं- तो सबसे पहले किसने आपकी कातिलाना गांड मारी थी?ऐश्वर्या ने स्माइल करके जबाव दिया- अविनाश ने पहले मेरी गांड मारी थी. देवर भाभी रोमांस सेक्स स्टोरी के पिछले भागदेवर से लिया चुदाई का असली मजा- 1में आपने पढ़ा कि मुझे अपने पति की रूखी चुदाई में मजा नहीं मिला.

शमशेर ने अपने कपड़े पहने और उसने सामने नंगी खड़ी जारा को अपनी गोद में बिठा लिया.

अब आगे की फेमिली सेक्स स्टोरी:समीर ने झट से अपना लंड जेठानी जी की गांड में पेल दिया. उनके चेहरे को देख कर नहीं लग रहा था कि वो जाग चुके हैं इसलिए मैं बेधड़क उनके लिंग को चूस रही थी. कुछ देर बाद ननद भाभी की चूत में उँगली कर करके चाटने लगी और इधर धीरे धीरे साधना भी आउट हो गई.

फिर एक मिनट बाद मैं उसके नीचे होकर बगल में लेट गया और उससे बात करने लगा. मां ने झट से मेरा हाथ निकाला और अपनी चूची को बाहर करके बिना हुक खोले ही मेरे मुंह पर रख दिया.

पांच मिनट बाद वो बोली- प्लीज़ मैं अब और नहीं रुक पाऊंगी … मेरे साथ ही मेरे अन्दर आप भी लंड झाड़ लो … मैं आपका वीर्य अपनी चूत में लेना चाहती हूँ. माय गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे कॉलेज में एक लड़की मुझे पसंद आयी. चूंकि मैं एक बिजनेसमैन था और साथ में एक ऐसा काम करता हूं … जिसमें मुझे बहुत मजा आता है.

अमेरिकन सेक्स वीडियोस

एक मिनट बाद उसका लंड सिकुड़ कर चुत से बाहर निकला, तो मेरी चूत में से उसका रस और मेरा खून निकलने लगा.

जिया मेम- आर यू नर्वस? (तुम्हें घबराहट हो रही है?)मैं- यस मेम।जिया मेम- एक्चुली मैं भी थोड़ी नर्वस हूं. मेरे एक फेसबुक फ्रेंड के कहने पर मैं इन वाकयात को एक एक करके आपके साथ साझा कर रही हूं. मैंने उनको अन्दर आने का इशारा किया और वो अपनी गांड को जुम्बिश देते हुए मेरे पीछे चलने लगीं.

अब आगे की वर्जिन Xxx कहानी:मैं अपने कमरे में आकर बेड पर बैठ गया था. फिर उसने रानी की तरफ कुछ इशारा किया, तो रानी दूसरे लड़के के लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. कृष्णा मधु के सेक्सी वीडियोआज मेरी भूख मिटा दे मेरे बच्चे।मैंने मौसी की चूत में उंगली दे दी और जोर जोर से अंदर बाहर करने लगा.

मैंने फिर कार के अन्दर की लाइट को ऑन किया, तो भाभी अपनी चूत और मम्मों को छुपाने लगीं. तीसरे दिन मेरा और अंकल का मिलना तय हुआ था।अब आगे की इंडियन Xxx स्टोरीज:किसी तरह एक दिन बीत गया और अंकल से मिलने का मेरा समय और करीब आ गया था। मैं उस पल के लिए बहुत ज्यादा उत्साहित थी कि जब अंकल से मेरी मुलाकात होगी तो वो पल कैसा होगा.

अब मां सोचने लगीं कि इन दोनों को ये सब कैसे मालूम था कि मां घर पर नहीं होंगी. मेरी न्यू कामुकता कहानी फ्री में पढ़ कर मजा लें कि मैं शादी में पटायी भाभी को कार में ले गया और उनको नंगी कर लिया. वो सीधे बोलने लगीं- तुम यहां पर बैठने के लिए नहीं आए हो, जल्दी से मेरी गांड में अपनी जीभ डालकर मेरी सेवा करो.

मुझे भी तीन चूतों के बीच में एक लंड होकर इतना मजा आता है कि बस क्या बताऊं. शर्ट निकाला तो उसकी काली ब्रा में कैद मस्त गोल शेप वाली चूचियां मेरे सामने थीं. अब मेरी बीवी ने धीरे धीरे अपनी आंखों को खोला और मुझे देख कर मुस्कुराई.

से थोड़ा आगे ही एक खड्डा बचाने के लिए अचानक से ड्राइवर ने तेजी से ब्रेक लिए जिससे कुछ लड़कियां आगे की तरफ गिरीं.

गार्ड बस में मेरे पीछे खड़ा हो गया और जब तक मेरा स्टॉप नहीं आया, तब तक वो अपनी उंगली से मेरी चूत सहलाता रहा. हमने वहां रात का खाना खाया और वहां से निपट कर करीब साढ़े ग्यारह बजे रात को घर के लिए वापसी चल पड़े.

लगातार चुदाई के कारण मेरे बदन में दर्द हो गया तो …अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नीता क्रॉसड्रेसर का प्यार भरा नमस्कार. शैली ने मेरी तरफ देखा तो मैंने कहा- उठा लो।उसने फोन उठाया और खुद को संयत करते हुए कहा- हैलो!क्या हुआ?” नमिता ने पूछा. फिर से चूत चाटने की वजह से मैं बहुत जल्द ही गर्म हो गयी थी और अजय का लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सेट करने लगी.

मेरे हाथ मेरी बीवी की नंगी पीठ को सहला रहे थे और मेरे होंठ उसके होंठों को चूस रहे थे. पर उस वक़्त डर के मारे मेरी गांड भी फट रही थी और मेरा लंड भी बाहर आने को बेताब हो रहा था. कुछ देर ऐसे करने के बाद मैंने उनकी ब्रा और पैंटी दोनों को खोल दिया.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी अब मैं महीने की उस एक मुलाकात के खातिर जीने लगा, पर दिल में उसको पाने की और हमेशा के लिए अपना बनाने की ख्वाहिश नहीं गयी. फत्त … की सुखद आवाजें आ रही थी।मेरा मन हो रहा था कि अब चाची की चुदाई रुकनी नहीं चाहिए.

करीना कपूर की विडियो

’उसके मुँह से इस तरह की भाषा सुनी, तो मैं भी गरमा गया और उसे दबा कर चोदने लगा- ले साली रांड … मादरचोदी … कुतिया … लंडखोर रंडी … ले लंड खा. फिर अगली सुबह मैंने अपना लैपटॉप ओपन किया, तो देखा कि उन्होंने मेरी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली थी और मैसेंजर पर हाय लिख कर भेजा हुआ था. घर आते ही मैं कमरे में गया और पूरे कपड़े उतार कर शीशे के सामने नंगा खड़ा हो गया.

नीचे बढ़ते हुए मैंने उसकी पैंटी उतारी और हल्के हल्के बालों से घिरी हुई उसकी नंगी चूत मेरे सामने थी. उसने मुझे उसके चूचे देखते हुए देख लिया और वो मन ही मन मुस्करा रही थी. पिक्चर फिल्म नंगीअब वो तीनों मुझे बेड पर ले गईं और 5 मिनट में मेरी हालत भी मेरी जेठानी जी जैसी हो गयी.

मैं उसे रोक ही नहीं पाई। मुझे किस करते हुए वो मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी गांड दबाने लगा। फिर वो मेरे कपड़े उतारने लगा। पहले साड़ी, फिर ब्लाउज और पेटीकोट भी।मैं उसके सामने नीले रंग की ट्रांसपेरेंट ब्रा और पैंटी में रह गई जिनमें मेरे निप्पल और मेरी चूत दोनों ही साफ साफ दिख रही थी। वो मेरे जिस्म को सहलाने लगा.

आपको इस सेक्स कहानी में जो भी कमी या अच्छा लगा हो, प्लीज मुझे मेल करके जरूर बताएं, ताकि मैं अपनी अगली मेरी जूसी सेक्स स्टोरीज में आपको और भी मजेदार ढंग से लिख सकूं. जब भी ब्रेक लगता तो मेरी चूचियां शेखर की पीठ से भिड़ जातीं और पीछे से आकाश का लंड मेरी गांड में घुसने को हो जाता.

अब मैं अपना हाथ मीना के नंगे शरीर पर घुमाने लगा, फिर मैं मीना के मस्त रसीले मम्मों को सहलाते हुए दबाने लगा. कोई 30 मिनट की चुदाई के बाद वो मेरे ऊपर आ गई और लंड पर गांड उछालने लगी. एक फीमेल की जुबान लंड से लगते ही मुझे बड़ी अच्छी फीलिंग आई और आज तो मोहित अंकल के लंड से ज्यादा दर्द नहीं हो रहा था.

भाभी की गांड इतनी मस्त बाउंस हुई कि क्या बताऊं?फिर मैंने उनका मुँह पकड़ा, वो पूरा लंड अन्दर बाहर करने लगीं.

मैंने अब अपने लंड के सुपारे को उसकी गांड की छेद पर लगाया और धीरे धीरे उसकी गांड में घुसाने लगा. फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उससे कहा- मेरा लंड पीओ!फिर वो मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. तभी चम्पा मस्ती करने लगी और बोली- क्यों हीरो … नीचे रंग नहीं लगाएगा.

हिंदी सेक्सी ब्लू फिल्म दिखा दोअब आगे की थ्रीसम सेक्स हॉट स्टोरीज:आपको मालूम है कि शुरू में मैं भी सनी से प्यार करती थी, मगर सोना ने सनी से प्रेम कर लिया. बिस्तर के एक किनारे मेरी बीवी खूबसूरत सी साड़ी पहन कर मेरा इन्तजार कर रही थी.

सेक्स फिल्म पिक्चर सेक्स

लेकिन मैंने मेरा हाथ नहीं हटाया।मामी बोली- रोहित! मैंने तुझसे जो कहा था वो याद है या नहीं?मैंने कहा- मामी जी, मुझे आपकी चूत चोदनी है, मुझे तो बस यही याद है और कुछ याद नहीं आ रहा।मामी- नहीं, मैं तुझे ऐसा नहीं करने दूंगी. कुछ दिन बीतने के बाद मैंने उनसे पूछा- क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?उन्होंने कहा- नहीं है. फ़िर वो नीचे बैठ गया और मेरी चूत को पूरा खोल कर उसने अपनी जीभ चुत में डाल दी.

बीस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मैंने अपना लंड सुनीता भाभी की चूत से निकाला और उसके मुँह में दे दिया. ये इस सेक्स कहानी के सभी उन पात्रों का परिचय था, जो इस सेक्स कहानी में शामिल हैं. मैंने धीरे से कहा- इनको पता तो नहीं चलेगा?उसने कहा- नहीं रे! मैं ख्याल रखूंगी.

फिर मैं नीचे बैठ गया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी चूत में जीभ से चाटने लगा. उसकी पीले रंग की नयी कमीज में से उसकी जालीदार लाल ब्रा भी दिख रही थी. मेरी फिर समझ में नहीं आया कि ये सब जेठानी जी को क्यों याद कर रहे हैं?मैंने उन दोनों को भी स्नेहा के रूम में बैठा दिया और उन्हें भी चाय-नाश्ता दिया.

उसकी जांघें भी एकदम मक्खन के जैसे चिकनी थी। मैं अपने एक हाथ से उसकी चूत को उसकी पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. तभी मौसी ने मुझे बीच में ही रोका और वो जल्दी से किचन में नंगे ही जाकर एक खीरा ले आईं.

फिर मैंने हिम्मत करके बोल दिया- भाभी आप बहुत ज्यादा सुन्दर लग रही हो.

एक तरह से ये हो गया था कि अब मैं उन दोनों के लिए एक जुगाड़ बन गई थी. डब्लू डब्लू बताइएचूंकि मम्मी की गांड बहुत टाइट था, तो मम्मी चिल्लाने लगीं और लंड को बाहर निकालने को बोलने लगीं. न्यूड फोटोग्राफीफिर मैंने उसकी कुर्ती को ऊपर किया और उसके एक निप्पल को अपने होंठ से चूसने लगा. वो सिर्फ बोल रही थी- भाईजान, मुझे नींद नहीं आ रही है … क्या करूं?मैंने कहा- एक मिनट रुको, मैं तुम्हें कॉल करता हूँ.

फिर पांच मिनट के ज़ोरदार शॉट के बाद रवि हट गया और उसने समीर के लंड को जेठानी जी की गांड का रास्ता दिखा दिया.

उसने मेरे नितम्बों को नीचे की ओर दबाया और अपने चूतड़ों को ऊपर उठा कर इशारा किया, तो मैंने अपने नितम्बों को उसकी चूत पर धीरे धीरे से पहले और दबाया. तभी फ़रज़ाना को शरारत सूझी और उसने अपनी दो उंगलियां रवि की गांड के ऊपर रखकर धीरे से दबा दीं. मेरे अण्डों से कमर के निचले हिस्से तक एक तेज सनसनाहट हुई और मैंने पूरी ताकत झोंक दी.

इसका मतलब था कि अभी आधा ही लंड मेरी चूत में गया था और मेरी चूत पूरी तरह से भरी भरी महसूस हो रही थी जैसे उसमें और जगह ही नहीं रह गयी हो।सुनील, सच कहूं तो हरी भैया के लंड के सामने मुझे तुम्हारे लंड से उस दिन घिन्न आने लगी. किस करते वक़्त मेरा एक हाथ उसकी कमर पर था और दूसरे हाथ से मैं उसके मम्मों को सहला रहा था. वो कुछ नहीं बोलती थीं क्योंकि मैं पहले उन्हें चोद चुका था और उन्हें भी ये सब अच्छा लगता था.

सेक्सी फुल मूवी में

उस रात को तो मैंने किसी तरह से अनीता भाभी के नाम की मुठ मारकर लंड को शांत कर लिया. वो अफ्रीकन मेरी बीवी को वासना से देखने लगा और अंग्रेजी में बोला- तुम बहुत सेक्सी हो … मैंने कभी इंडियन लड़की को नहीं चोदा है … आज मैं तुम्हें खूब अच्छे तरीके से चोदूंगा. एक ने आगे आकर रानी को अपनी बांहों में भरा और बोला- तू बता … तुझे मजा आया कि नहीं?रानी उसके सीने से चिपक गई और धीरे से बोली- बहुत मजा आया.

” कहकर वो अपनी गर्म भाभी की चूत खुजलाने लगा।अब कैसा लगा भाभी?”बहुत अच्छा लग रहा है।”तभी वो उठा और अपने बैग से कुछ निकालने लगा।उसके हाथ में शेविंग किट्स थी।मैंने कहा- अब इसका क्या करोगे?कुछ नहीं भाभी, तुम्हारी झांट बनाऊँगा, मुझे अपनी देसी नंगी भाभी की चिकनी चूत देखनी है।”उसने शेविंग किट मेरे बगल में रख दी और फिर कमरे में चारों ओर देखने लगा.

मीना ने मुझसे कहा- हितेश, कल रात की चुदाई में मुझे इतना मजा आया था कि क्या बताऊं.

एक दिन ऑफिस जाते हुए मैंने देखा कि आशू को उसके साथी गधा बना कर उसके ऊपर खेल रहे थे. नाश्ता खत्म करते करते सुभाष का नाश्ता भी खत्म हो गया और अमिता अन्दर चली गई. आदिवासी सेक्सी व्हिडिओ आदिवासीये सब सुनकर अल्पना को विश्वास हो चुका था कि मैं सनी के साथ उसकी और अपनी चुदाई का प्रोग्राम जरूर कर सकती हूँ.

सुभाष कुछ पलों के लिए रूका, दारू का घूंट मारा और आगे बोला- अब 3-4 दिन फालतू में अपने मनोरंजन के लिए इतने मस्त माल को रखूं. उधर से एक सहमी सी आवाज़ से उत्तर आया- हैलो, क्या आप प्रकाश बोल रहे हैं?मैंने उससे पूछा- आप कौन बोल रही हैं?वो बोली- मुझे नहीं पहचाना क्या … उस दिन तो बहुत घूर कर देख रहे थे!मेरी तो मानो लॉटरी खुल गई थी. मेरा मुँह दर्द से खुला … और मेरी जेठानी ने पूरा ग्लास मेरे मुँह में उड़ेल दिया.

मैंने सरिता मामी की चूत को चोद चोद कर मजा लिया और उसके बोबों को दबा दबा कर पीते हुए उसका दूध भी निकाला. मां मेरी पैंट उतारने लगी और मैंने गांड उठा कर उनको जगह दे दी पैंट खींचने के लिए।पैंट नीचे करके मां ने मेरी अंडरवियर में हाथ दे दिया और मेरे लंड को पकड़ लिया.

मेरी पहली कहानी थी:लखनऊ में मिली लड़की को चोदाआज फिर से एक और सेक्स कहानी के साथ आपकी सेवा में हाज़िर हूं.

मेरा अनुबंध 5 साल का है और मुझे डेली 5 घण्टे फिल्मों में काम करना है, बिना किसी छुट्टी के. सुबह जब उठी तो नाश्ते के टाइम पर ही मेरी सास ने मुझे मायके जाने का आदेश दे दिया. मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया रखा और उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा.

काजल राघवानी की नंगी सेक्सी फोटो मैंने मसखरी करते हुए पूछा- क्या घुंघराले बाल नहीं आते हैं?वो बोली- आते हैं. दीपक जी बोले- आह मेरी साली मेरा लंड देख रंडी … इसे चुपचाप अपनी चुत में ले ले … नहीं तो देख मैं अपने इसी लौड़े से तेरी गांड फाड़ दूंगा.

वो छूटने लगी तो मैंने उसके मुंह पर हाथ रख लिया और उसको ताबड़तोड़ चोदने लगा. अमित ने उनसे कहा- आप मेरे दोस्तों के लंड से चुद लेती हो, तो मेरे लंड में कौन से कांटे लगे हैं?मगर उसकी मॉम ने मना कर दिया. फिर मैंने फिर एक बार जाल फेंका और बोल दिया- तू बोल तो … सनी के इसी कड़क लंड से तेरी चूत चुदवा दूँ … वैसे भी तू विवेक के लंड से बोर हो गई है.

भाभी सेक्सी हिंदी

वो देख कर हंस पड़ी और बोली- कॉन्डम भी नहीं लग रहा है आपसे, चुदाई कैसे करोगे?फिर मैंने जल्दी से कॉन्डम पहना और उसकी चूत पर लंड लगा दिया. तभी कुछ देर बाद मेरे लंड ने पिचकारी साधना के मुँह में छोड़ दी और साधना मेरे बीज़ को पूरा पी गई. फिर होते होते बात काफी कामुक हो गयी और मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया और हिलाने लगा.

तो उसने सिर्फ इतना कहा- फिर कभी!और इतना कह के वो बगल में लेट गई।मैंने एक हाथ जल्दी से उसके वक्ष पर डाला लेकिन अभी ब्रा बची हुई थी। मेरे लन्ड में आग ऐसी लगी थी कि अब खेलने का मन नहीं था; बस पेलने का मन था।मैंने अँधेरे में उसकी ब्रा के हुक खोलने की कोशिश की। ब्रा बहुत टाइट थी उसकी। थोड़ी देर में ब्रा खुल गई. मैंने फिर कार के अन्दर की लाइट को ऑन किया, तो भाभी अपनी चूत और मम्मों को छुपाने लगीं.

मगर इस समय जितेन्द्र या अशोक को अन्दर बुला कर चुदना कुछ गलत हो सकता था.

पर जब तेरे घर से उसके मायके छोड़ने के बहाने से लेकर आया था, तब मना भी तो कर सकती थी. वो इतना ज्यादा हैंडसम था कि कोई भी लड़की उसे एक बार बिना देखे नहीं रह सकती थी. अब ये सच है या नहीं … ये तो नहीं पता है … मगर जो भी मेरे नीचे से निकली हैं … वे सब बड़ा खुश होकर जाती हैं.

मैंने मेरी बीवी से प्रेम पत्र दिखाने को कहा तो पलंग के नीचे से निकाल कर उसने वह प्रेम पत्र मुझे दिखाया. शमशेर लंड चुसवाता हुआ बोला- साली तेरी चूत में पानी डाला, तूने रोका क्यों नहीं?मेरी बेटी बोली- जी साहब मैं दवा ले लेती हूँ … और गलती से बच्चा रह भी गया … तो हमारी मालकिन गिरवा देती है. उसके नीचे बैठते ही मुझे ऐसा लगने लगा, जैसे उसकी चुत की दीवारें धीरे धीरे मेरे लंड को इंच दर इंच कस रही हैं.

मैंने लता आंटी से कहा- एक बात बोलूं?लता आंटी बोलीं- हां बोल न मेरी जान?मैंने कहा- मुझे अपने दोस्त की बीवी की चुदाई करनी है.

देवर भाभी की बीएफ फिल्म हिंदी: उसकी तरफ देखे बिना ही मैंने एक ही तेज झटके में उस्ताद जी को चूत के अन्दर ठेल दिया. मैंने ये देख कर एक लम्बी आह भर दी और मेरे मुँह से निकल गया- आह मर जावां.

फिर मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी पूरी गांड को फैला दिया और लंड गांड में डाल दिया. शादी तो हमारी नहीं हो सकती, हाँ पर मुझे वो सुख ज़रूर मिल जायेगा जो हम दोनों को चाहिए।मैं- मतलब तो क्या महेश के साथ खुश नहीं हो?वो बोली- वो तो अपने काम और किताबों में ज्यादा बिजी रहता है. उसका लंड चूत की दीवारों को चीरता हुआ मेरी बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा था.

थोड़ी देर मेरा लंड चूसने के बाद वो मेरे ऊपर की तरफ आ गई और किस करने लगी.

तभी मुझे नीरव ने रुकने का इशारा किया।उसने मुझे फिर से वही काले और गोल्डन कलर की ब्रा पैंटी का सेट दिया और कहा- एक बार इसका भी ट्रायल ले लीजिए। इस नाईटी के साथ यह बहुत अच्छी लगेगी और आपको कंफर्टेबल भी रहेगी।मैंने नीरव से ब्रा पैंटी का सेट लिया और दोबारा ट्रायल रूम में जाकर पहन लिया. उनका एक हाथ ब्रा के ऊपर से मेरी तनी हुई चूचियों को सहला रहा था।मेरी तिरछी निगाहें बार बार अंकल की लुंगी की तरफ जा रही थीं. एग्रीमेट में साफ साफ लिखा था कि योगेश जी और उनके बिज़नेस पार्टनर मिथलेश जी, जो अंतर्राष्ट्रीय ब्लू फिल्में बनाने का कान्ट्रेक्ट लेते हैं, के साथ ब्लू फिल्मों में काम करने का मेरा अनुबंध है और ये मैंने अपनी मर्जी से चुना है.