सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी

छवि स्रोत,हाई स्कूल सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीपी ओपन चुदाई: सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी, तो वो बोले- यार मुझे सर मत बुलाया करो, आज से तुम मुझे जानू कह सकते हो.

सेक्सी चूत वीडियो दिखाओ

इसी के साथ साथ अपने होंठों से मेरे लंड पर किस करने लगीं और लंड के आगे वाले भाग को अपने मुँह में लेकर अपनी जीभ से स्पर्श करते हुए चूसने लगीं. इंग्लिश सेक्सी वीडियो गांड मारने वालीज्यों ही उसकी पैंटी उतरी उसने झट से चूत को अपने हाथों से ढक लिया; अब लाज तो इतनी जल्दी नहीं उतरती न.

मयूरी- पर अपने वादा किया था?अशोक- पर ये कैसे? मुझे लगा कि तुम कुछ महँगा सामान मांगोगी तो दिला दूंगा. सेक्सी व्हिडीओ लागलाकाश मेरे गांडू पति को भी ये सब मालूम होता तो मेरी चूत की आज ये हालत नहीं होती.

मैंने अपनी जीभ उनकी फुद्दी में डाल दी और फुद्दी को टंगफक करते हुए चोदने लगा.सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी: उसने तरह तरह के पकवान बनाए थे।मैंने पूछा- ये पकवान किसके लिए बनाए हैं?तो पूजा ने कहा- ये मैंने अपने पति के लिए बनाए हैं, आज रात को मैं अपने पति को अपने हाथों से खिलाऊंगी.

मौसी के यहाँ ज्यादा बड़ा घर नहीं है, एक कमरे में सब सामान था और एक कमरा छोटा था इसलिए हाल के फर्श में ही 15-16 लोग एक साथ नीचे बिछा के लेटते थे.मैं कुछ कुछ समझ तो गया था, सो मैं जल्दी से उनके बगल में ही लेट गया.

सेक्सी होली गीत - सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी

तभी उन्हें किसी का फोन आया, जिसे उन्होंने लंबी चौड़ी माँ बहन की गालियां दीं और मुझसे गलती होने पर माफ़ी मांगने की कोशिश की.पद्रह मिनट की ठुकाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में उतार दिया और उस पर गिर पड़ा.

मैंने उससे कहा- सुनो मेरी एक दोस्त है, जो पूरी एक नंबर की चुदक्कड़ है, उसका नाम मालती है. सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी थोड़ी देर बाद ऐसे ही सोते हुए भाभी चित होकर अपने पैर फैलाकर सो गईं, जिससे समझ गया कि भाभी को अब चूत में खुजली हो रही है और चुदवाना है.

उस दिन के बाद हम रात भी एक ही कमरे में सोते और रात को भी कितनी 3-4 बार सेक्स करते.

सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी?

मैं- अब और कितना जोर से चोदूँ … अपनी पूरी ताकत लगा कर ही तो चोद रहा हूँ. मैंने पहले कहा था कि स्त्रियों में यह गुण जन्मजात होता है कि वो पुरुष के मनोभाव क्षणमात्र में ही पढ़ लेती हैं. उसके हाथों का मेरे लंड पर स्पर्श पाते ही जैसे मेरा 6 इंच का लंड 7 इंच का हो गया.

भगवान ने इतनी छोटी बनाई कि किसी लड़की के सामने नंगा होने में शर्म आती है. हम दोनों की चुदाई बड़ी घर्षण पैदा करते हुए हमारे बदन की आवाजों से और हम दोनों की कामुक चीत्कारों से पूरा कमरा गूँजने लगा था ‘आ हहुहऊहह उहह य्या याह एयेए हह आहह औउहह. चारों आपस में पक्की सहेलियाँ थी और कई सालों से एक दूसरे को जानती थी.

मुस्कान थोड़ा शर्माती हुई उठी और मुझे लेटा कर मेरे लंड को हाथ में लेकर धीरे धीरे सहलाने लगी. थोड़ी देर जब मैं थक गया तो उसको अपने बगल में लेटे हुए लंड लगाए हुए लेटा रहा. मयूरी- वो तो ठीक है… पर आपको मेरे लिए भी वक्त निकालना चाहिए… वरना मुझे कौन प्यार करेगा?पापा- एकदम सही बात… अच्छा… एक बात बताओ?मयूरी- क्या पापा?पापा- आप अपने पापा को प्यार करते हो?मयूरी- हाँ पापा!पापा- कितना?मयूरी अपनी दोनों बांहें फैलाती हुई- इतना सारा… आ…और ऐसा करते हुए उसने अपने पापा के चेहरे को अपनी बांहों में भर लिया.

पर हम लोग तो चुदाई करने में मस्त थे तो किसको डोर बेल की आवाज सुनाई देती!तब चाची ने अपनी चाबी से दरवाजा खोला और अंदर आ गयी. मैं फिर से उफान पे आ गया और बिना देर किए मैंने भाभी को अपने नीचे लेटा कर उनके दोनों पैरों को फैला दिया.

अचानक इतने मोटे लंड से चूत में हुए फैलाव को मामी बर्दाश्त नहीं कर पायीं.

मैंने उसे पूछा- तुम्हें कैसे पता?तो उसने कहा- मेरी सहेली ने अपनी सुहागरात के बारे में बताया था कि पहली बार की चुदाई में थोड़ी देर दर्द होता है … इसके बाद बहुत मजा आता है.

उस दिन से जब तक टूर था, मैंने मौक़ा पाते ही उसको बहुत बार चोदा और एक बार उसकी गांड भी मारी. फिर मैंने भाभी को उल्टा लेटा दिया और उनकी गांड को सहलाने लगा, बिल्कुल गोल मांसल कूल्हे जैसे इन्हें संगमरमर के पत्थर की तरह तराशा गया हो. फिर मैंने उसे भी नहाने को बोलकर उसके कपड़े उतारने लगा, वो थोड़ा विरोध करने लगी… पर मैंने उसकी एक न सुनी और उसकी टी-शर्ट उतार दी.

यह बात आज से करीब 2 साल पहले की है, उस वक्त मैं पढ़ाई के लिए अपने मामा के घर दिल्ली आया था. मैंने फट से बोल दिया- मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता हूँ, उसे आपके घर पे लाना चाहता हूँ. और ऐसा कहते ही अशोक ने मयूरी की चूत पर अपना मुँह रख दिया और और अपनी जबान से उसको चाटने और चोदने लगा.

यह दृश्य देखकर मयूरी की कामाग्नि भी जाग उठी, उसने वहीं पर खड़े अपने पिता के लंड की ओर देखा जो किसी वृक्ष के तने की भांति तना हुआ था.

और पूजा भी कहती है- तुम जैसी चुदाई मेरी पूरी रिश्तेदारी में कोई नहीं करता! मैंने सभी अपनी सहेलियों और बहनों से यह पूछा है, सब कहती हैं कि उनके पति तो बस 2-4 मिनट में ही झड़कर दूर जाते हैं. उन्होंने बात करने के बाद मुझसे कहा कि एक कस्टमर आने वाली है, तो तू रुक जा, मैं घर जा रहा हूँ. इस शानदार चुदाई के चलते इतना मजा आने लगा था कि मन कर रहा था कि यह गांड चुदाई कभी भी ख़त्म ना हो…लेकिन तभी नताशा के बोझ से दबे दीमा ने मेरी पत्नी के कूल्हे पकड़ कर उसे ऊपर की ओर उभारते हुए अपने लंड को बाहर कर लिया.

मेरे लंड के दबाव से चूत की दोनों फांकें फैल गयी थीं, जिससे उसकी चूत का मुँह भी थोड़ा सा खुल गया. कल शाम को या कल रात भर यहीं रह जाना … सोमवार को यहीं से ही आफिस चले जाना. उसने भी मेरी बात मान ली और अपने शरीर को फिर से कड़ा करके वो मेरा अगला धक्का खाने के लिये तैयार हो गयी.

मैंने गाड़ी स्टार्ट की और गाड़ी को सिटी से बाहर हाइवे पर ले गया और साइड में लगा कर मैं उसके लिए पैग बनाने लगा.

तब मुझे समझ में आया कि चाचा मुझे बेचने के लिए लड़के लाता है और उनको मेरे को दिखाता है. मैंने उसके मम्मे दबाने शुरू किये और उसकी पतली निक्कर के ऊपर से उभरी चूत पर हाथ फिराया तो वह एकदम सिहर उठी.

सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी अब मैंने कहा- तैयार हो?वो बोली- किसलिए?तो मैंने कहा- अभी बताता हूँ. मैं उसकी नीले रंग की प्रिंटेड पैंटी के ऊपर से उसकी योनि को सहलाने लगा.

सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी बाकी लड़कियों ने पूछा- किसके साथ?तो वो थोड़ा शर्माने लग गयी और बात को टालने लगी. मम्मी मस्ताई हुई आवाज में बोलीं- मेरे राजा अब जल्दी से अपने इस समधी लंड को मेरी चुत में पेल डालो.

रजनी जी ने कहा- पर किसी ने देख लिया तो?फूफा जी समझ गए कि इनको चुदना तो है.

সেক্সের বিএফ বই

उसके बाद से उनका व्यवहार मेरी तरफ कुछ अलग सा हो गया था, वो मुझसे बातें करते, मेरी क्लास में खूब तारीफ करते. अचानक मनीषा ने मुझसे पूछा- पंकज तेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने मना कर दिया, फिर पूछा- आज ये क्यों पूछा, कोई ख़ास वजह?वो बोली- नहीं. उतने में मेरे दोस्त ने मुझसे पूछा- क्या हुआ?तो मैंने उसे बताया- मुझे वो अच्छी लगी, पर वो मुझे ज्यादा नहीं देख रही है.

जिन भाभी को मैं इतने दिनों से चोदने की सोच रहा था, आखिरकार मेरा वो सपना पिछली रात को सच हो ही गया. ये देख, छोटी सी विडियो क्लिप बनाई है दस पन्द्रह सेकंड की!और उन अंकल को दिखाई. अब रजत अपनी एक उंगली मयूरी की गांड के छेद पर रखकर धीरे-धीरे घुसाने की कोशिश कर रहा था.

वो कुछ देर मेरे लंड पर उंगली घुमाती रही फिर जोर से मेरा लंड दबाने लगी। मैंने शावर चला दिया और हम नहाने लगे। मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी.

प्रिया की जांघों को सहलाते हुए मैं अपना हाथ उसकी चुत पर ले आया और उसकी छोटी सी नर्म मुलायम चिकनी चूत मेरी हथेली में खो गयी. अंकल ने फिर मुझे बिस्तर पर लिटाया और फिर से मेरी दोनों चूचियों को मुँह में लेकर खूब चुसाई शुरू कर दी. तो वो बोली- देखते हैं आज तेरे केले का दम…यह कह कर वो मुझसे लिपट गई.

मैं किसी मौके की तलाश में थी, मगर मुझे कोई मौका मिल ही नहीं रहा था. दीमा ने अपने मूसल लंड से मेरी पतिव्रता पत्नी की चूत को टहोकना शुरू कर दिया. मैं उठा और झट से अंडरवियर और पैंट पहन कर स्वाति के होंठों को प्यार से किस किया.

वो मेरे चूत को चाटने लगे, मुझे अलग ही नशा चढ़ने लगा, वो फिर अपनी उंगली को मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगे, मैं सिसकारियां लेने लगी. अब मैं बिल्कुल निश्चिंत महसूस कर रहा था; सारी बाधाएं दूर हो गयीं थीं.

उसने बिना टाइम गंवाए मुझे पूरी तरह से नंगी करके अपना लंड मेरी चुत के होंठों को खोल कर उस पर रखा और फिर जोर से एक धक्का दे मारा. मैंने पंडित से पूछा था, उसने कहा कि जल्दी से जल्दी भी करोगे तो एक महीने बाद की तारीख निकलती है. अबकी बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से अपना लंड पेल कर दस मिनट तक उसे वैसे ही चोदता रहा.

उसके मम्मे बिना ब्रा के भी एकदम तने हुए लग रहे थे और उसके एक एक कदम चलने के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे.

पूजा ने कहा- इसमें क्या बड़ी बात है, मैंने भी अपने छोटे भाई को पटा रखा है. कम्मो ने मेरे सीने को कुछ देर तक निहारा और फिर उठ कर मेरी छाती से लग गयी और अपना मुंह वहीं छुपा कर गहरी गहरी सांस लेने लगी, फिर वहीं पर दो तीन बार चूम लिया. मुस्कान अब मेरे ऊपर पेट के बल लेटी हुई थी और उसका मुँह मेरे लंड को चूस रहा था.

हमारी जीभें कितनी ही देर तक आपस में गुटरगूं करती रहीं, लड़ती झगड़ती रहीं और फिर वो हट गयी और लेट कर अपनी अपना मुंह अपनी हथेलियों से छिपा लिया और गहरी गहरी सांसें भरने लगी. खैर 2-3 मिनट तक रेस्ट करने के बाद वो अन्दर बाहर अपने लंड को करने लगा.

मयूरी- जैसी आपकी मर्ज़ी पापा…और फिर थोड़ी देर तक रंगरलियां मनाने के बाद बाप-बेटी ने अपने कपड़े पहन लिए. रशीद का लंड सात-आठ इंच का लम्बा और बहुत ही मोटा व झांटों से भरा हुआ था. मानसी- आज तो उद्घाटन करवाकर आ गयी मेरी रानी?मैंने कहा- नहीं रे … वो तो खेल के पहले ही आउट गया, उसका बल्ला डाउन हो गया.

एक्स एक्स एक्स एक्स ब्लू सेक्सी

थोड़ी देर देखने के बाद उसका हिलना बंद हो गया, उसने अपने बेड के पास ही रखे डस्ट बिन में कुछ डाला और फिर लाइट बंद कर दी.

शायद नींद में वो मुझे अपना पति राज समझ रही थीं, जो कि मुझे बाद में पता चला. मैंने पूछा क्या इरादा है जानेमन?? आज तो पप्पू पे बड़ा प्यार आ रहा है तुम्हें. अभी तक आपने इस कहानी में पढ़ा कि बहू ने अपनी विधवा सास की कामुकता को समझा और उसकी मदद करने की कोशिश की.

बस अब तो ‘कम्मो की कुंवारी चूत और मेरा लंड’ मैंने खुश हो कर सोचा और जेब से क्वार्टर निकाल कर तीन चार तगड़े घूंट नीट ही गले से उतार लिए और खाली क्वार्टर वहीं फेंक कर तेज कदमों से बारात में शामिल होने चल दिया. तो मैंने भी उनकी इसी बात का फायदा उठा लिया और बोला कि मेरे पास भी कुछ ऐसा है, जो मैं सबको दिखा दूँगा. ब्यूटीफुल लड़की की सेक्सी वीडियोऐसा कहकर चाचा ने पीछे मेरी गांड के छेद के लिए मेरे दोनों कूल्हों को फैला दिया और गांड में उंगली धीरे धीरे चलाने लगे.

तो मैंने दिल की मानकर फिर से पगडंडी ढूंढना शुरू किया तो कुछ दूरी पे मुझे एक पगडंडी दिखाई दी, जिधर ढूंढ रहा था उसके उल्टी साइड में। शायद मैं गलत दिशा में था पहले, तो अब मैंने उसी पगडंडी पर बाइक दौड़ा दी, लगभग 15 मिनट बाद मेरी मंजिल मेरे सामने थी।मैंने झोंपडी के पास जाकर आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं आया, फिर से आवाज लगाई तो भी आवाज नहीं आई. इस दौरान मामी रोतीं, चिल्लातीं और मुझसे दया के लिए गिड़गिड़ाती रहीं.

लड़के की माँ ने कहा- जब लड़का लड़की एक दूसरे को पसंद करते हैं, तो फिर बात पक्की ही समझिए. मैंने पर्ची देखी तो मेकअप का सामान लिखा था, मैंने बोला- अगर देर नहीं हुई तो जरूर ला दूंगी. अब मैं उसके चूचों को एक हाथ से सहला रहा था, तो दूसरी तरफ उसके होंठों को चूसे जा रहा था, जिससे उसका दर्द कम हो जाए.

लेकिन वो इतना कामुक हो गई थी कि कहने लगी- अब जल्दी से एक राउंड कर लो, फिर बॉडी मसाज कर दूंगी!मैं हैरान था कि चुदाई की जल्दी तो मुझे होनी चाहिए लेकिन मेरी जगह येचुदाई के लिए मरी जा रही है. दोस्तो अपने मेल जरूर भेजें और मुझे बताएं कि मेरी ये सेक्स कहानी कैसी लगी. बमुश्किल से बीस सेकंड हुए होंगे कि भाभी भी तड़पने लगी थींभाभी- अक्षय प्लीज़ अब और मत तड़पाओ.

फिर वो मेरे ऊपर से उतरे, देखा नीचे मेरे वाइट पेटीकोट पर बहुत खून निकला हुआ था.

चूंकि मेरा लंड उसकी गांड में चुभ रहा था, जिससे उसकी हालत खराब हो रही थी और मुझे भी अब रहा नहीं जा रहा था. मैं भी पागलों की तरह अपनी मामी के गुलाबी रसीले होंठों को चूसने लगा.

वो मेरी नाजुक चूत को जोर जोर से अपनी उँगलियों से चोद रहा था और मेरी चूत पानी छोड़ रही थी जिसको मेरा भाई चाटने लगा. मैंने उसे पूछा- तुम्हें कैसे पता?तो उसने कहा- मेरी सहेली ने अपनी सुहागरात के बारे में बताया था कि पहली बार की चुदाई में थोड़ी देर दर्द होता है … इसके बाद बहुत मजा आता है. जगह की कमी है न सो कम जगह में कई मंजिला बिल्डिंग में बहुत से परिवार रह सकते हैं.

फिर मैंने भी अकेलेपन को दूर करने के लिए अन्तर्वासना पर कहानी पढ़नी शुरू कर दी और मुझे भी लगने लगा कि मेरे जीवन में भी कोई जान होना चाहिए. अशोक भी कहाँ पीछे रहने वाला था, वो भी उसकी चूचियों और दूसरे हाथ से कभी उसकी कोमल गांड तो कभी माखन जैसी जांघें तो कभी मलाई जैसी चूत को मसलता रहा. मुझको इस समय रोको मत!तब पूजा अपनी कमर उचकते हुए बोली- अरे चोदो ना राजा, मैं कब मना कर रही हूँ.

सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी मैं इस वक्त मेरी मौसी के पैरों की तरफ सो रहा था और मौसी एक तरफ पीठ करके लेटी हुई थीं. मैं समझ गया और मैंने अपना लंड मामी जी की चूत से बाहर निकाला और कहा- चलो अब पलट जाओ मामी जी.

ब्लू फिल्म सेक्सी एक्स

चाची चाचा का लंड को जोर जोर से हिलाते हुए बोले जा रही थीं- जल्दी घुसा दो अपना मूसल लंड मेरी चूत में. उसी समय जाने किस तरह से हुआ कि जो मेरी चूत में अंकित का बहुत मोटा लंड जाने से दर्द हो रहा था, वह दर्द एक दम से गायब होने लगा और 2 मिनट बाद बचा हुआ दर्द भी जाने कहाँ चला गया. फिर मैंने उसकी गांड में दो उंगलियां जैसे ही डालीं, मुस्कान हल्की सी उछल गई.

यह कह कर उसने मेरा मुँह चूमना शुरू कर दिया और साथ ही एक एक करके मेरे कपड़े भी उतारने लगा. अब मैंने एक हाथ उसकी टी-शर्ट के अन्दर डाल दिया और उसके मम्मे दबाने लगा. एचडी वीडियो सेक्सी फुल एचडी वीडियोमौसी स्टोर रूम की सफाई कर रही थीं, मैं भी स्टोर रूम में जाकर उनकी हेल्प करने लगा और इसी बहाने उन्हें टच भी करता रहा.

विक्रम और रजत एक साथ- कककक… क्या????मयूरी- हाँ… तुम दोनों बिल्कुल सही सोच रहे हो.

’ मैंने लंड की रफ़्तार बढ़ाते हुए चार-छह करारे धक्के नताशा की गांड में दिए तो उसने अपना मुंह खोल दिया, और फिर लोमड़ी की तरह कुटिल मुस्कान के साथ मुस्कुराने लगी. वहां पहुंच कर जब स्नेहा ने सुनसान एरिया देखा तो वो बोली- बाप रे इतना सुनसान इलाका … यहां क्या काम है … मुझे इधर क्यों ले कर आए?मैं- इरादा तो नेक ही है, बस तुमसे अकेले में बात करनी थी तो ले आया.

तभी मैंने देखा कि मामी नहाने के बाद मेरा फोन उठा कर देख रही थीं कि कहीं वीडियो रेकॉर्डिंग तो नहीं हो रही है. तो जल्दी जल्दी कर दो ना जो कुछ रह गया हो, मुझसे नहीं रहा जा रहा अब. अगर पसंद आए तो ज़रूर मेल कीजिए, जिससे नई कहानी लिखने का दिल में उत्साह बढ़ता है.

उन्होंने अलमारी खोलकर एक एलबम निकाला और मेरे सामने एक तस्वीर कर दी.

तो वह उठ कर पानी लेने गई, पीछे से मैंने उसकी बड़ी गाण्ड और चौड़े नंगे पटों को देखा तो मैं बेहोश होने को हो गया. वाह क्या धक्के मार रहे हो, तुम्हारा लंड बिल्कुल मेरी चूत की जड़ तक पहुँच रहा है और मुझे दीवानी बना रहा है. उसे पता ही नहीं चला कि कब वो पीठ की मालिश करते करते मयूरी के गांड की तरफ मुड़ गयी और वो अपने धुन में उसकी गांड की मखमल जैसी सतह हो बड़े प्यार से मालिश करते-करते उसकी गांड की छेद में भी अपना हाथ डालने लगी.

एचडी सेक्सी विडियोमैंने गाड़ी स्टार्ट की और गाड़ी को सिटी से बाहर हाइवे पर ले गया और साइड में लगा कर मैं उसके लिए पैग बनाने लगा. मैंने काफ़ी ध्यान से सुपारे को देखा लेकिन मेरे पास इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं सुपारे के पास अपनी नाक ले जाऊं.

बीएफ सेक्सी भाभी

मैं एक हाथ से उसका एक दूध दबाने लगा, दूसरा दूध मुँह में लेकर चूसने लगा, मैंने दूसरा हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा. जैसे ही लंड डालने लगा तो पता नहीं क्या हुआ मैं ठीक से अन्दर नहीं डाल पा रहा था. चुम्बन के साथ-साथ मयूरी अपने पापा का लंड अपने हाथ में लेकर उसको मसलने और आगे पीछे करने लगी.

थोड़ी देर तक उसकी यह हरकत चलती रही और फिर अचानक मेरी चूत में अपनी उंगली डाल दी. अब प्रिया की एक टांग को अपने हाथ से पकड़ कर ऊपर किया, जिससे प्रिया की चूत साफ दिखने लगी थी. साथ वाले कमरे को खुला देखकर मैंने अंदाजा लगाया कि वह हिमानी ही होगी.

मुझे ईमेल के जरिये बहुत संदेश प्राप्त हुए, बहुत से लोगों ने मेरी दूसरी कहानी की नायिका से मिलने की इच्छा जताई।दोस्तो, मैं एक कॉल बॉय हूँ, अपनी किसी दोस्त और अपनी किसी भी ग्राहक के संपर्क सूत्र बता नहीं सकता, यह मेरे उसूल के खिलाफ है।अभी तक मैंने कई लड़कियों और भाभियों की चुदाई की है और उनको भरपूर आनंद भी दिया पर उनकी बिना सहमति कहानी नहीं लिख सकता हूँ. मैंने अलमारी में से अपना पजामा निकाला और उसको बीच में से थोड़ा उधेड़ दिया ताकि मेरा पप्पू वहां से निकल सके. तो मैंने हाथ से पकड़कर चूत के द्वार पर रखा और हल्का सा दबाब बनाने से मेरे लंड का टोपा खाल को छोड़ते हुए अन्दर चला गया.

तब वो बोलीं- बस इतना ही? तभी तुम भाग रहे थे?तो उनकी इस बात पर मुझे हल्का सा गुस्सा भी आया और मैंने उन्हें बेड पर लिटाकर पहले उनके मम्मों से जी भर के खेला, फिर नाभि के रास्ते उनके गदराए हुए बदन को चूमते हुए उनकी मखमली योनि तक आ पहुंचा, जहाँ एक भी बाल नहीं था. फिर मैंने अपने लंड पे शहद लगाया और उसके चूत पे टिका दिया और लंड को ऊपर-नीचे उसकी चूत पे रगड़ने लगा.

फिर 15 मिनट की चुदाई के बाद जब लंड ने पानी छोड़ना शुरू किया तो मुन्ना ने पिंकी की चूत को ही भर दिया.

उसके जिस्म की तपन और वो नेह का आलिंगन मुझे आत्मिक सुख प्रदान कर रहा था. पंजाबी सेक्सी पिक्चर एचडी वीडियोमैं साइड में खड़ा था तो पूजा ने छलनी में से पहले चांद को देखा फिर मुझे देखा और फिर चांद की आरती की फिर मेरी आरती की. सेक्सी वीडियो हिंदी 3gतारा ने कुछ देर और मेहनत की और फिर बड़े ही उग्र और मादक शब्दों में पीछे से सम्भोग करने को कहने लगी. इसके बाद मैंने डरते डरते मौसी को टच करना शुरू किया और उनके मम्मों को दबाने लगा.

भाभी- तो क्या देवरानी की चूत ढीली कर दी है?मैंने कहा- मुझे पता नहीं भाभी.

जेठानी की बात सुन कर तारा तो जैसे ख़ुशी से झूम गयी, पर उसने अपने आव भाव किसी को पता नहीं चलने दिए. मैंने और श्लोक ने आश्रम से गुप्त दान की औपचारिकताओं को पूर्ण किया और दोनों अपने अपने होटल में लौट आए. इतना कहने के बाद चाचा ने अपना हाथ चाची की चूत से हटाकर एक चुची को दबोच लिया और पागल की तरह दोनों हाथों से दोनों चुची मसलने लगे.

अंकल- इसे सुपारा कहते हैं और थोड़ा सुपारे पर नाक लगा के सुपारे की गंध सूंघ कर देख. अशोक के मन में ख्याल आया कि वो अभी उनके कमरे में जाए और उनको रंगे हाथ पकड़ ले … फिर वहीं पर सब के साथ जोरदार चुदाई करे. मैं अपनी जीभ से उसके निप्पल पर घुमाने और अपने हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा.

हिंदी में नंगी फिल्म ब्लू

मैंने कहा- क्या बात है मेरी रानी … आज बहुत रोमांटिक मूड में है?तो वह बोली- आज इस बारिश ने मूड रोमांटिक कर दिया!मैंने कहा- अच्छा ऐसी बात है तो आओ हम जन्नत में चलते हैं. बस मैं समझ गया कि आज तो इसकी चुत की खुजली मेरे लंड के लिए ही जागी हुई है. जो लड़कियाँ मेरे आगे-पीछे घूमेंगी?मैंने कहा- शाहरुख भी कोई हीरो है? उससे ज्यादा सेक्सी तो तू लगता है।उसने मेरी तरफ देखा और हंसते हुए बोला- हट बहनचोद, चुतिया बना रहा है.

इसलिए मैं भी तुमको पूरा नंगा देखूंगी… फिर मुझे बराबर लगेगा… तुम समझ रहे हो न?रजत घबरा भी रहा था और शर्मा भी रहा था.

अब मैं समझ गई कि वो आदमी भीड़ का बहाना लेकर मेरी गांड के मज़े ले रहा है.

कहीं कुछ हो गया तो?”मैंने उसे प्यार से चूमते हुए उसे समझाने का प्रयास किया- देखो. यह आपकी भाभी नहीं, आपकी एक अच्छी सी परिवार की एक फ्रेंड पूछ रही है।इसके बाद प्रीति बैठ गयी और उन्होंने साईट एंटर की. नई हिंदी सेक्सी बफकइयों ने मुझे अपने छोटे बड़े, बैठे खड़े लंडों की फोटो भेजी हैं और मेरे साथ रात गुजारने की इच्छा जाहिर की है.

मेरे मन में भी एकदम विचार जागा कि इस चौकीदार का तो कुछ करना ही पड़ेगा नहीं तो जब मैं कम्मो को लेकर अभी यहां वापिस आऊंगा तो ये देख लेगा और कुछ गड़बड़ भी कर सकता है फिर. तो मैंने कहा- लगता है, हारने से डर गई हो?वो कहने लगी- मैं डरती नहीं हूँ. पापा अपने ऑफिस चले गए … मैं भी अपने दोस्त के घर जाने के लिए तैयार हुआ.

उससे कम से कम तुम्हारे पति गांड मारने के लिए घर के बाहर नहीं जाएंगे. मैंने कहा- क्या बात है मेरी रानी … आज बहुत रोमांटिक मूड में है?तो वह बोली- आज इस बारिश ने मूड रोमांटिक कर दिया!मैंने कहा- अच्छा ऐसी बात है तो आओ हम जन्नत में चलते हैं.

इस मुलाकात से बाद अब जब भी सोनिया मुझे कहीं पर भी मिलती तो बात कर लेती थी.

अचानक उन्होंने मेरे सिर को पकड़ कर एक ज़ोर से झटका मेरे मुँह में मार दिया और अपना पूरा लंड मेरे मुँह में गले तक घुसेड़ दिया. प्लीज बतायें।”पहले तो अपने दिमाग से निगेटिविटी निकाल दो सारी। शादी नहीं हो रही तो कोई बात नहीं। दिमाग में बिठा लो कि तुम्हें शादी करनी ही नहीं और तुम खुद नौकरी करके अपना गुजारा करने में सक्षम हो। रहा मर्द का संसर्ग तो आसपास पचासों मर्द उपलब्ध है. फिर सीमा के किसी रिश्तेदारी में कोई शादी थी तो उन सभी को वहां जाना था.

स्वरा सेक्सी वीडियो हां तो दोस्तो, मैं कुछ देर उनसे हँसी मज़ाक करके उनकी बातों को समझकर एक दो दिन बाद आने की कह दिया. धक्के इतनी तेज और ताकत से लग रहे थे कि हर धक्के पर थप थप थप की आवाजें निकल रही थीं.

खुले में तो नहीं, पर तीनों को पता था कि पोर्न मूवी लैपटॉप के किस ड्राइव में कहाँ रखी है. बॉस बड़े ही अच्छे और शान्त स्वभाव के इंसान हैं और बातचीत में भी अच्छे हैं. मेरी बांहों में आके मेरे जिस्म में समा जा, ये जो अंकल लोग बोल रहे हैं कि अपनी बहन को चोद दे, लालजी मेरी सगी मौसी का बेटा है और तू उसके सगे बड़े पापा का बेटा है.

हॉटस्पॉट बीएफ

घर के तीनों मर्द खाने की टेबल पर हाथ मुँह धोकर बैठे और शीतल और मयूरी रसोई में से कुछ खाने का सामन लाने के बहाने इकट्ठी हुई. इन्हीं बातों से उत्तेजित होकर वो मुझे ऐसे किस करने लगा, जैसे एक हीरो अपनी हीरोइन को किस करता है. यदि तुम्हारी सेक्स की इच्छा पूरी हो जाए तो फिर तुम्हारा पढ़ाई में मन लगेगा.

हिमानी ने अपनी पतली, नर्म और गुदाज हाथ पाँव की उँगलियों पर सुन्दर मैरून कलर की नेल पोलिश लगा रखी थी. अब जैसे पायल को जैसे ही नशा चढ़ा और उसे दिखना बंद हुआ तो सुनील ने उसे हल्के हल्के से चोदना शुरू कर दिया.

मैंने शहद निकाला और उसको अपनी तर्जनी उंगली से चाटते हुए स्वाति को देखने लगा.

एक दिन यूं ही चैट करते करते मैंने डीके से कहा कि मुझे सफेद रंग के लोग (यूरोप वासी जैसा रंग) बड़े अच्छे लगते हैं. फिर वो आई, मैंने बोला- रीना मैंने आज तक कभी ऐसा नहीं किया, सो डर लगता है, सोसाइटी में किसी को पता चलेगा तो?रीना ने बोला- इस सबकी तुम बिल्कुल चिंता मत करो. मोहल्ले की औरतों का भी ग्रुप बना हुआ था, इसलिए धीरे धीरे पायल भी उसी ग्रुप में आने लगी.

माइक ने बहुत पैसा खर्च कर सारा इंतज़ाम किया है और वन विभाग के चौकीदार को इधर आने से मना किया हुआ है. उनके बेड पे आते ही मैंने उन्हें दबोच लिया और उनके मम्मों को मसलने लगा. तुम और तुम्हारा बदन ज़रा भी नहीं हिला इस दौरान … सिवाए तुम्हारी पैन्ट में बने उभार के!इसके आगे की सारी बातें भी अंग्रेजी में हुई थीं लेकिन अन्तर्वासना हिंदी कथा साईट है, इसलिए मैं यहाँ सब हिंदी में ही लिखूंगा.

तो वह बोली- मुझे पता है और मैं सब सहन कर लूँगी, पूरा अन्दर तक डाल दो.

सेक्सी हिंदी बीएफ भोजपुरी: कहने का मतलब यह कि मुझे अपनी जगह पर से उठाना नहीं पड़ा और कम्मो ने काउन्टर से खाना ला ला कर भरपेट से कुछ ज्यादा ही खिला दिया था. अब मैंने उसके दोनों अमृत कलश के चूचुकों को चिकोटी से हौले हौले दबाते हुए उसकी जांघें पूरी तन्मयता से चाटने लगा.

अब तो रजत ने अपनी एक उंगली भी उसके गांड के छेद पर रख कर रगड़ना शुरू कर दिया था. वो बाथरूम नहाने गयी और जानबूझकर नहाने के बाद पहनने वाले कपड़े लेकर नहीं गयी. लगता है तुझे सीधे चोद दूं, और कोई भी मर्द जाति का तुझे देख लेगा उसका तुझे चोदने का मन करेगा ही! वन्द्या चल दे ही दे … बुरा मत मानना जब से तू आई है मेरा बुरा हाल है!मैं बोली- तुम बहुत कमीने हो! मैं तुम्हारी मम्मी और पापा मतलब मौसी और मौसा को यह सब बता दूंगी कि तू ऐसी गन्दी बात मुझसे करता है.

मैं इस घटना के बाद अब उन्हें घूर कर देखने लगा और मेरी इन हरकतों को भाभी ने भी नोटिस कर लिया.

मुझे भी अपनी मामी की चूत के छेद से निकल रही गरमी का अहसास अपने लंड के सुपारे पर हो गया था. मेरी उम्र अभी 20 साल है और मेरी लम्बाई पांच फुट सात इंच है और मेरे लंड की लंबाई छह इंच, व उसकी मोटाई ढाई इंच है. उसने मुझे हाथ पकड़ कर खड़ा कर होंठों पर चूमते हुए लंड पकड़ कर बोली- सच राजू, आज तुझे इस तरह प्यार करके मुझे सपने जैसा लग रहा है.