सेक्सी सुहागरात बीएफ

छवि स्रोत,मधु क्लोज

तस्वीर का शीर्षक ,

ग्वालियर बीएफ: सेक्सी सुहागरात बीएफ, मैंने अपना लंड उसी वक्त निकाल लिया और उसको नीचे लिटा कर खुद उसके ऊपर चढ़ गया.

इंग्लैंड वाली सेक्स

वो सिसकारते हुए बोले- हए … रंडी … तेरी अदा पागल कर देगी।मैं सामने से सुन्दर के आंड चूस रही थी कि सुरजन ने चूत तेज़ी से चोदनी शुरू कर दी. सेक्सी पिक्चर फुल एचडी में सेक्सीआपकी सोनिया वर्मा[emailprotected]फर्स्ट टाइम सेक्स की कहानी जारी है.

फिर उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाला और मुझे सीढ़ी पर झुकाकर घोड़ी बना दिया, फिर से मेरी चूत में अपना लंड डालकर आगे पीछे करने लगा. छोटी बच्ची का सेक्सअभय ने देखा तो देखता रह गया, ममता की चूत से पानी बह रहा था, जो उसकी जांघों तक बह कर आ गया था.

वासना से भरी भाभी कह रही थी- काट डाल मेरी चूचियों को!भाभी कामज्वर से पागल हुई जा रही थी.सेक्सी सुहागरात बीएफ: वो मुस्कुरा कर बोलीं- अरे तुम अभी सिंगल हो! लगता तो नहीं है … चलो कोई बात नहीं, मैं देखती हूँ.

दीदी बहुत देर तक आनाकानी की मगर किसी तरह से रमेश ने मेरी सेक्सी दीदी को पैंटी उतारने के लिए मना ही लिया.फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुर में धक्का देना शुरू कर दिया.

जाटों की सेक्स वीडियो - सेक्सी सुहागरात बीएफ

वो साला उन्हें ढकने के बहाने कभी ऊपर से चुचे सहलाता, तो कभी नीचे से.इससे भाभी जी और ज्यादा तड़पने लगीं- आरुष, तुम तो आज मुझे पागल ही कर दोगे … सच में मैं तुम्हारी फैन हो गयी हूँ.

कहानी के पिछले हिस्सेचिकनी चाची के बदन को पाने की चाहतमें आपने जाना कि मैं अपनी चाची के साथ सेक्सी सपना देख रहा था, तभी मेरे लंड ने रस छोड़ दिया था. सेक्सी सुहागरात बीएफ मैंने आगे की ओर झुककर उसकी चूचियां पकड़ लीं और उसे आधे लण्ड से चोदने लगा.

अब मैंने अच्छे से हाथ देकर उसकी चूत पर हाथ रख दिया और हथेली से सहलाने लगा.

सेक्सी सुहागरात बीएफ?

मैंने जैसे ही उनके निप्पल को चूमा, पूनम ने अपनी बांहों में मुझे भर लिया और मेरे बालों में अपने हाथ ऐसे फेरने लगीं, जैसे मुझसे कह रही हों कि आज इनको चूस चूस कर इनका सारा रस पी जाओ. वो सिसकार रही थी- आह हह … मम्मम्म … और जोर से जान आह हह … चोदो मुझे आह हहह … बस आज की रात मुझे चोदते जाओ ओऊऊऊ … बहुत दिनों से अच्छे से चुदी नहीं! आज मुझे रगड़ रगड़ के चोद दो हह!मैं उसे लगातार चोदे जा रहा था।फिर मैंने उसे घोड़ी बनने को बोला. अभय ने देखा तो देखता रह गया, ममता की चूत से पानी बह रहा था, जो उसकी जांघों तक बह कर आ गया था.

ऐसे ही दिन बीतने लगे।बहुत मायूस थी मैं!अगर मायके जाने को बोलती तो सभी कह देते- वहीं से तो आई हो, अब हमारा दिल नहीं लगता! यहीं रहो।एक दो बार गई भी इनके साथ और वापस आ जाती।3 महीने बीत गए। मैं कैद होकर रह गई. फ़ातिमा को छोटे कपड़े पहनने का बहुत शौक था तो वो मेरे सामने क्रॉप टॉप और शॉर्ट्स में रहती थी. उसका जिस्म भी गुलाब के फूल की तरह है, एकदम मक्खन मुलायम, कसा हुआ टाइट फिगर और सेक्सी जिस्म की मलिका थी वो.

बिंदु केवल उस स्थिति में प्रेगनेन्ट हो सकती थी कि कोई टेढ़े लंड वाला मर्द बिंदु की चुदाई करे. पर मैंने उनके मुँह में चड्डी डाल रखी थी … तो उनकी चीख जोर से नहीं निकल पा रही थी. मेरा मन कर रहा था कि इसको भी बड़ी बेरहमी से चूम-चाट कर पूरी तरह से लाल रंग का कर दूं.

तू सुन रहा था … फिर भी आया क्यों नहीं?मैंने कहा- अरे यार वो मान नहीं रही थी, जबरदस्ती करना ठीक नहीं था. फ़ातिमा को छोटे कपड़े पहनने का बहुत शौक था तो वो मेरे सामने क्रॉप टॉप और शॉर्ट्स में रहती थी.

फिर जैसे ही अंकल मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगे तो कुछ ही पल में मेरा माल निकलने लगा.

उसका लंड जोया के मुँह के बड़ी आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था और वो लौंडिया भी बड़े मजे से लंड चूस रही थी.

मैं उसे बार बार रोकने की कोशिश करता … मगर वो और जोर से नौंचने लगती. मैंने अपने लंड को बुआ की चुत से पूरा बाहर निकाला और फिर से एक तेज झटके से वापस अन्दर डालते हुए उनके होंठों पर काट लिया. उन दोनों के लंड चूसने वाली लड़की जोया कभी नवीन के टोपे को चूसने लगती, तो कभी विवेक के टोपे को चूसने लगती.

दोस्तो, मैं अपनी Xxx मामी की कहानी के पहले भागगर्म मामी की गांड चाट कर चूत चुदाईमें आपको अपनी मामी की चुदाई बता रहा था. मैंने सामने से उससे पूछा- मूसलों से क्या डरना … इस बात को जरा तफसील से बताओ!वो समझ गई कि मैं क्या कहना चाह रहा हूँ. जीवन में पहली बार मैं किसी को चोदने वाला था लेकिन ब्लू फिल्म्स देखकर बहुत तजुर्बा हासिल कर चुका था.

मैंने चित्रा का हाथ चूमकर कहा- चित्रा, मैं तुम्हारी हर जरूरत पूरी करने की कोशिश करूंगा.

मैंने कहा- वो क्या?उसने मेरे हाथ को अपने सीने में रख दिया और बोली- राज, तुम मुझे खुश कर दो!मैंने कहा- ये गलत है. मीना की चुदाई से पहले पूजा मुझसे चुदना चाहती थी क्योंकि मंझली वो ही थी. ऐसे तेरे को बच्चा हो गया तो?वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … हां वही तो चाहती हूं मैं.

उन्होंने थैंक्यू कहा और पूछा- क्या तेरी कोई जीएफ नहीं है?मैंने कहा- नहीं. मैंने भी अन्दर आते ही जल्दी से दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया और ममता को बांहों में भर कर उसके होंठ चूसने लगी. प्लीज अब मेरे लंड को चूस कर शांत कर दो, अब मुझसे सहा नहीं जा रहा है.

देखो रूपाली कब से ट्रे लिए खड़ी है।नीतू अब तक मुझसे सारी बातें आँख बंद करके कर रही थी इसलिये रूपाली का नाम सुनते ही नीतू ने एकाएक अपनी आँखें खोल दी और तुंरत उठ कर बैठ गई।अगले ही पल उसकी नजर खुद पर पड़ी तो उसे ध्यान आया कि उसने एक भी कपड़ा नहीं पहना हुआ है.

अफ़रोज़- हां आपा … बल्कि मैं तो ये भी सोच रहा हूँ कि भगवान ने मुझे सिर्फ़ एक बहन क्यों दी. रोज़ तो मैं काउंटर के पिछले दरवाजे से जाकर पर्चा लेती थी … लेकिन आज मेरी चुल्ल ने मुझे ऐसा करने को मजबूर कर दिया था.

सेक्सी सुहागरात बीएफ मेरा लंड ढाई इंच मोटा होने की वजह से इसको निगलने के लिए अनुष्का शर्मा जितना बड़ा मुँह होना जरूरी है, वरना चूसने वाली के मुँह में जल्दी ही दर्द होने लगता है. अफ़रोज़- सच आपा?मैं- हां … अच्छा एक बात बताऊं, तू इस बात का अफ़सोस ना कर कि तेरे पास सिर्फ़ एक ही बहन है.

सेक्सी सुहागरात बीएफ उनके कंबल में घुसते ही मैंने देखा कि दीदी ने ऊपर टी-शर्ट और नीचे शॉर्ट्स पहना हुआ था. उसके मुँह से ‘आह आह …’ की आवाज निकलने लगी, तो मैं समझ गया कि ये चुदवाने के लिए तैयार है.

मैंने भाभी की बात से संतुष्ट होते हुए हां में सर हिलाते हुए कहा- ठीक है भाभी.

शीला की चुदाई

उसने मुझसे सिर्फ ओके कहा और मेरा हाथ पकड़ कर अपने घर की तरफ ले जाने लगी. सुधीर और चित्रा ने आपस में बात की और आनन फानन में बरखा से मेरी शादी करा दी. भाभी- तुम आज पूरा दिन और पूरी रात के लिए मेरे गुलाम हो, निकालो इन्हें जल्दी से.

फिर मैं अपनी एक उंगली उसकी चुत की दरार पर फेरने लगा और पैंटी के ऊपर से ही चुत का दाना सहलाने लगा. अजय मेरा फोन हाथ में ले के खड़ा था।मैंने चिल्ला के कहा- मेरा फोन दो यार अजय प्लीज।अजय बोला- नहीं, पहले तुम इनकी बात सुन लो. मेरी पिछली कहानी थी:पेट्रोल पम्प पर झगड़े का हसीन फलअब मेरी नयी कहानी पढ़िए कॉलेज गर्ल सेक्स की.

अपने दोनों हाथों को मेरी गांड के ऊपर रख कर उसे नीचे की तरफ दबाते हुए अपनी गांड ऊपर की तरफ उठाने लगीं.

मुझे पहले पहल तो उसके होंठों का स्वाद कुछ अजीब सा लगा मगर एक गर्म मर्द के होंठों से जब मेरे होंठों को चूसा गया, तो मुझे बहुत ही आनन्द आने लगा. फिर भाभियो, आप सब तो जानती ही हो कि मेरे शिकारी को क्या चाहिए? चुत चुत और सिर्फ चुत. मुझे लगा कि मेरा आपके घर आना सुधीर साहब को अच्छा लगेगा या नहीं?”क्यों? सुधीर को इसमें क्या आपत्ति हो सकती है? वैसे सुबह 9 बजे सुधीर दोनों बेटियों बरखा और बहार को लेकर निकल जाते हैं, उनको स्कूल ड्राप करके दस बजे तक शोरूम पहुंच जाते हैं.

कुछ दिनों बाद मेरी बड़ी बहन सुमन का कॉल आया कि वो मां से मिलने के लिए आ रही हैं और 6-7 दिन यहीं रुकेंगी. आह ये सब इतना गजब महसूस हुआ कि उधर ही मेरा सब माल निकल गया और मैं करवट बदल कर सो गया. आज मैं इस प्यासी गरम औरत की सेक्स कहानी में आपको उन भाभी के बारे में आपको बता रहा हूँ कि कैसे मैंने पुलिस वाले की वाइफ के साथ सेक्स किया.

उसने पास आकर मुझे भी ताल में खींच लिया और हम दोनों एक दूसरे पर पानी उछालने लगे. कुछ देर लंड चूसने के बाद उसने शहज़ाद से अपने साथ अन्दर कमरे में चलने को बोला, तो शहज़ाद भी नंगा ही वहां से निकल गया.

इसलिए मैं उससे बोली- अरे यार, तूने मेरी चुत की अपने ख़्यालों में इतनी पूजा की है … और तुमने अपना वादा भी निभाया है … इसलिए मैं अपने प्यारे भाई का दिल नहीं तोड़ूँगी. उसने मुझसे और पीने को कहा लेकिन तीन पैग के बाद तो मुझसे खड़ा भी नहीं रहा जा रहा था. फिर कुछ देर बाद उसने मम्मी के कपड़े उतारे और उनके दूध दबाते हुए बोला- चल भैन की लौड़ी … अब पोजीशन में हो जा.

फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रखा, वो डर गई और बोली- इतना बड़ा और मोटा लंड मेरी छोटी सी चूत में कैसे जाएगा … मैं तो मर ही जाऊंगी.

तो उसने अपने मोबाइल में मेरा नम्बर सेव कर लिया और अपने नम्बर मिसकॉल करके दे दिया. मैं बिना कुछ कहे, अपना परिचय दिए बिना, अपनी साड़ी को घुटनों तक ले जाकर कचरा निकालने में लग गई. अंकल मेरी छाती का इलाज करना चाहते थे लेकिन शर्म और मर्यादा रुकावट बन गई थी.

फिर भी मैं बहुत ही डरती थी कि अगर मेरे पति को पता चल गया तो वह मुझे छोड़ देगा. मेरा अगला धक्का उनकी चुत में यूँ गया था, जैसे उनकी चुत को चीरते हुए किसी भाले की तरह घुसा हो.

मैंने बहार की टाँगें उठाकर अपने कंधों पर रख लीं और अपनी राजधानी एक्सप्रेस चला दी. कुच्ची के मुँह से ये सुनते ही मेरी नज़र उन लड़कियों की भीड़ में से जमीला को ढूंढने लगी. मैं भी मर्द के साथ सहवास के लिए बहुत भूखी थी, तो मैंने भी उसे पूरी इजाजत दे दी.

एक्स एक्स एक्स हिंदी देहाती

मैंने कहा- चैक करने दो न!वो चुप हो गई तो मैंने उसके टॉप को उतार दिया और उसकी ब्रा में कैद चूचियों को देख कर एकदम से बौरा गया.

मैंने मौसी की चूत को फिर से चाट कर गीला किया और अपने लंड का सुपारा उनकी चूत पर रगड़ने लगा. कुच्ची बोल रहा था- तो क्या हुआ … वो मेरा दोस्त है … जैसे मैं, वैसे वो!शब्बो- नहीं, मुझे ये सब नहीं करना, तुम्हें करना है … तो करो, वरना मैं जा रही हूं. मैंने उसको अलग किया और थोड़े गुस्से में बोली- मेरी चूत भी फाड़ोगे या मैं जाऊं?वो खड़ा हुआ और अपने लंड को मेरी चूत पर टिका दिया.

नीचे मामी जी की चूत अपनी गहराई में मेरे मोटे लंड को लिए पानी छोड़ रही थी, जिससे मेरा लंड भी सन चुका था. उसके बाद मैं फ्रेश होकर वहां से निकलने को हुआ तो टीटीई बाबू बोले- एक नंबर लिख ले और बात कर लियो … शायद तेरा दिन बन जाए. कैमरा ब्यूटी प्लसअब मेरे सवाल का जवाब आप लोग दें कि आखिर मेरे बेटे का बाप इन आठों में कौन है.

किस खत्म होने के बाद मिहिका बोली- पागल है होंठ सूज गए और सुबह कोई पूछेगा तो क्या बोलूंगी मैं!मैं बोला- ओके आगे से नहीं काटूंगा. पहले तो आप सभी से मैं माफी चाहूंगी कि आप सबकी रिक्वेस्ट के बाद भी मैं कोई नई सेक्स कहानी नहीं लिख पाई.

नियाशा एक पक्की रंडी की तरह मेरे लंड को पूरा अपने मुंह में ले जाती और मैं तो जैसे आसमान में उड़ रहा था. मेरी बुद्धि घूम गई कि ये लड़की क्या चाह रही है, अपने घर ले जाकर कैसे क्या करेगी. मैंने कहा- वो क्या?उसने मेरे हाथ को अपने सीने में रख दिया और बोली- राज, तुम मुझे खुश कर दो!मैंने कहा- ये गलत है.

मामी जी ने पास में पड़ी अपने साड़ी उठाई और मेरे लंड को अपनी साड़ी से अच्छी तरह से पौंछ कर साफ कर दिया. लौटते समय देखा कि अफ़रोज़ के कमरे की लाइट ऑन थी और उसके कमरे का दरवाज़ा भी थोड़ा सा खुला था. आप लोगों को मैं बता दूँ कि मैं जिससे भी चुदती थी … तो वो सब ज्यादातर बिना कंडोम के मुझे चोदते और मेरी चूत में ही स्पर्म भी छोड़ देते.

वो मुझे अपने कमरे में ले गईं और मुझे बिस्तर पर धकेलते हुए बैठाते हुए मुझसे बोलीं- तुम बैठो, मैं अभी आई.

मैं- प्रभा बस अभी से मम्मी मम्मी करने लगी … अभी तो कुछ गया भी नहीं है, केवल लंड का सुपारा ही घुसा है. मैं उनकी ग्रीवा चूम रहा रहा, कान के नीचे चाट चाट कर चूमे जा रहा था.

मैंने हल्के धक्के के साथ अपने लन्ड के टोपे को उसकी बुर में एंट्री करवा दी. उसे देखने के बाद मेरा मन खराब होने लगा तो मैं अपने कमरे में आ गया और सारे कपड़े उतार कर उसकी गठीली देह के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. अदिति का ये अप्रत्याशित व्यवहार मुझे समझ नहीं आ रहा था कि आखिर उसके मन में चल क्या रहा है.

मेरे दिमाग में कुछ खुटका हो गया था मगर मैंने इस समय उससे कुछ भी पूछना उचित नहीं समझा और उसे चोदने में लगा रहा. अंकल बोले- अपना दूध पिलाकर बात करो न!मैंने अपना एक दूध अंकल के मुँह में दिया और वो मेरी गोद में सर रखकर मेरी चूची चूसने लगे. उन्होंने मुझे बस एक मुस्कान दे दी और अपने आपको बाथरूम में जाकर साफ करने लगीं.

सेक्सी सुहागरात बीएफ फ़िलहाल की सेक्स कहानी में इतना ही, आगे मेरी सेक्स कहानी जारी रहेगी. मैंने पूछा- ऐसा क्यों?वो बोला- वो तुम्हारी जांच के लिए ऐसा कह रहा था.

एक्स एक्स गांव की

मैं आपको बता दूं कि मामा की छत आसपास की छतों से ऊंची थी, इसलिए हमें वहां कोई नहीं देख सकता था. उसको सिर्फ फुद्दी मारना आता था।जो मज़ा उसका बाप बिना चोदे अपनी ज़बान से मुझे दे रहा था उतना मज़ा तो क़भी उससे चुदने पर भी नहीं आया मुझे।ससुर जी ने मेरी चूत को चाट चाट कर लाल कर दिया था।उनके चूत चाटने के हुनर ने मुझे उनकी दासी बना दिया।अब तो मैं खुशी खुशी और मज़े लेकर उनके लंड को चूस रही थी।फिर अचानक से उन्होंने पूरी ज़बान मेरी चूत में अंदर तक डाल दी और ज़ोर ज़ोर से चलाने लगे. अब मौसी की हल्की हल्की सिसकारियां निकलने लगीं- अअआह आआह हह … उन्ह उफ्फ!मुझे लगा कि मौसी अब उठने वाली हैं तो मैंने चुत सहलाना रोक दिया.

सबने भोजन पूर्ण किया और शयनकक्ष की ओर चल पड़े, हमारा चुदाई का सिलसिला पुनः चलने लगा. मैंने पूछा- इस बात पर तुम्हारे घर वाले मान जाएंगे?वो बोली- मुझे नहीं पता … हां मैं आपकी बात अपने घर में कह सकती हूँ. मुझे तुमसे प्यार है शायरी लव स्टोरी gifमैंने चाची से नॉर्मल बात करते हुए उनसे चाय की मांग की और कुर्सी पर बैठ गया.

कुच्ची बोल रहा था- तो क्या हुआ … वो मेरा दोस्त है … जैसे मैं, वैसे वो!शब्बो- नहीं, मुझे ये सब नहीं करना, तुम्हें करना है … तो करो, वरना मैं जा रही हूं.

दिखने में वो बिल्कुल माल लगती थी।मेरी और फ़ातिमा की बचपन से दोस्ती थी और हमारे घर वालों की भी खूब बनती थी. मैंने मौसी की गांड अच्छे से चाटी और अपनी जीभ गांड के अन्दर तक डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

अब पिताजी की तबियत ज्यादा खराब रहने की वजह से वो मां की चुदाई नहीं कर पाते थे. फिर शहज़ाद जैसे ही बाहर आया और मुझे उसी दरवाज़े पर नंगी खड़ी देखा तो वो एकदम से चौंक गया और सकपका गया. उसे मेरे साथ रहते हुए करीब चार महीने हो गए थे, एक दिन अचानक दोपहर में आ गई और मुझसे लिपटकर मुझे बेतहाशा चूमने लगी.

मैं फटाफट अपने कपड़े खोल कर सिर्फ़ बनियान और कच्छे में डॉगी की तरह मैडम के कमरे में दाखिल हुआ और भौं भौं करते हुए उसका ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया.

उन्होंने पूछा- बेटा, ये रोहन अंकल कौन हैं … और उसका ही मुझ पर हक़ होगा, इसका क्या मतलब है?मैं- अरे मॉम वो कल आपको सब पता चल जाएगा. जैसे ही लंड ने चूत में स्थान बना लिया तो उसने ऊपर नीचे होना शुरू कर दिया. मैंने उसकी साड़ी, पेटीकोट और पैन्टी उतारी और उसकी चिकनी चूत देखकर बावला हो गया.

ओपन सेक्सी मराठीइस वक्त मुझ पर इतनी मस्ती छाई थी कि क्या बताऊं … मन कर रहा था कि अभी जाकर अफ़रोज़ का लंड अपनी चुत में डलवा लूं. मेरी गर्लफ्रेंड मीतू को यही मालूम था कि मैं जा चुका हूँ और ऑफिस में हूँ.

ब्लू सेक्सी वीडियो हिंदी में

फिर मैं पलंग पर बैठ गयी और उसे चित लिटा दिया, उसके मुरझाए लंड को अपने हाथ में ले लिया. हम दोनों ने उसके बाद कुछ मिनट तक गांड चुदाई का मजा लिया और अब झड़ने की बेला आ गई थी. चाची बोलीं- प्लीज इस्स आह आह ओह ओह तेज तेज रगड़ो … आह मजा आ रहा है सोहेल.

अब आगे देसी ब्लो जॉब सेक्स कहानी:अभय- प्लीज यार ममता … एक बार मेरा लंड चूस कर देख तो सही. लेकिन भाभी पक्की खिलाड़ी थी, वो मुझे मेरे बेडरूम में ले आई और फिर मुझे जोर से किस करने लगी. उसके बाद दीदी ने रमेश से मादक आवाज में कहा- रमेश … अब तुम अपने एक हाथ को मेरे नीचे को लाओ … ताकि मैं अपने मुनिया को छुपा सकूं.

इसके बाद ये सब चले गए लेकिन मेरी गांड और चूत में एकदम दर्द और जलन हो रही थी. मैं सोने का नाटक कर रहा था और भाभी के ख्यालों की वजह से मेरा लंड पहले ही खड़ा था. आज से पहले कभी ऐसा मौका नहीं मिला था मगर आज तो जीजा जी खुद से जन्नत दिखाने का बोल रहे थे, तो मेरे मन में हेनू हेनू होने लगा.

मुझे छत पर सोना था तो मैंने मम्मी से कहा- मुझे नीचे घुटन होती है, मैं छत पर ही सोऊंगा. पिछले भागछोटे भाई को सेक्स करना सिखायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने अपने भाई के होंठों को चूम कर उसे लड़की को किस करना सिखाया था.

एक पल बाद हुर्रेम ने नवीन के लंड को बाहर निकाला और उसके आंडों को अपनी जीभ से लिकलिक करते हुए लंड को मुठियाने लगी.

मैंने शीला आंटी के घर से कुछ दूरी पहले ही बाइक बन्द कर दी थी ताकि किसी को शक न हो. हिंदी इंग्लिश सेक्सअब उसकी स्पीड में थोड़ी सी कमी आ गयी थी और उसने धीरे धीरे करके अपनी सारी गर्मी मेरी चूत रूपी समुन्दर में छोड़ दिया. हाथी के चुटकुलेमैं- ठीक है आने दो … साली का दूध निचोड़ कर पिऊंगाभाभी हंसने लगीं और बोलीं- अरे मेरे देवर … आप तो बड़े चुदक्कड़ हो. कुछ पल किस करने के बाद मैं भाभी की चुत चाटने की कोशिश करने ही जा रहा था कि तभी भाभी ने रोक लिया.

मैंने बोला- क्यों बे साली रांड … मेरा लंड पसंद नहीं आया, जो अपनी बहन के ब्वॉयफ्रेंड का लंड चूस रही थी तू रंडी!ये कह कर मैं हिना के मुँह को पकड़ कर उसे चोदने लगा.

ममता- भर दो भैया मेरी बुर अपने पानी से … आज मैं भी बच्चेदानी में आपका पानी महसूस करना चाहती हूं … आह मेरे प्यारे भैया. मैं उसकी तरफ देख रहा था कि ये उपाय बता रहा है या अपने पड़ोसी अंकल की समस्या बता रहा है. मैंने भी देर करना मुनासिब नहीं समझा और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके एक धक्का दे दिया.

कुछ देर बाद मैंने उसकी बुर खोली और अपनी जीभ अंदर घुसा दी और चाटना शुरू कर दिया. आपने मेरी पिछली गन्दी भाभी की सेक्स कहानी का पहला भागप्यासी भाभी के साथ ओरल सेक्स का मजापढ़ा होगा. अपनी टांगें फैला कर चाची ने मेरे सर को अपनी चुत पर दबाया तो मैं चुत पर थूक लगा कर चाटने लगा, जीभ अन्दर डालने लगा, उनकी क्लिट से खेलने लगा.

সানি লিওনের সেক্সি সেক্সি ভিডিও

भाभी- सपने में किसकी चुत मार रहे थे मेरी जान … जो मेरे देवर का लंड इतना कड़क खड़ा हुआ है. भाभी किचन में चली गईं और बोतल, दो गिलास और फ्राइड चिकन और कुछ स्नेक्स लेकर आ गईं. तो चित्रा ने तमतमा कर मुझे फोन करके बुलाया और अपने कमरे में ले जाकर बोली- तुम बहुत अजीब आदमी हो, मुझे भी चोदते रहे और बरखा को भी चोद दिया.

इसलिए तुझे जितना उछलना है, उछल ले!शायद उसने शिलाजीत या कोई दवाई ली हुई थी और आज वो पहले से मेरी लेने के मूड में आया था.

जबकि मेरी कामुक नजरें अपनी होने वाली बीवी की मस्त चूत और गांड मारने की कल्पना में ही लगी थीं.

मीतू- मुझे भी बुला लेता साले … अपन थ्री-सम कर लेते … ऐसे में तेरा क्या घट जाता. उसके सीने पर एकदम नब्बे डिग्री में तने हुए दो बड़े संतरों से शानदार मम्मे, मेरे लंड को उठक बैठक लगवा रहे थे. फूल हद सेक्सी वीडियोदीदी ने भी उसके लंड को बड़े प्यार से हाथ से सहलाया और अपने दोनों मम्मों के बीच लंड रखवा कर मम्मों को दबाने लगीं.

तू मेरी बुर चोदो साले मादरचोद भड़वे … आज चोद डाल अपनी मां चोद दे भोसड़ी वाले. अचानक से उनकी गांड ने एक झटका खाया और मामी जी की कमर अपने आप ही ऊपर की तरफ उचक गईं, जिससे मेरा आधा से ज्यादा लंड उनकी चूत में घुस गया. मैंने जया के माथे, गालों को चूमने के बाद उसके होंठों पर होंठ रख दिये.

उन्होंने मेरे होंठों को चूमना चूसना शुरू कर दिया और मैं उनके बदन को सहलाने लगी. मैंने कुछ देर में ही एक उंगली को अच्छे से अन्दर बाहर करनी शुरू कर दी.

राजकुमारी कृति की चूत में मेरी जीभ चल रही थी और मेरे दोनों हाथ उसके मम्मों के उभार नाप रहे थे.

मैंने उन्हें कई मर्तबा ऐसे ऐसे कपड़ों में देखा था कि उन कपड़ों में आंटी की जवानी मस्त छलकती थी. चुत को पानी से धोकर मैंने सोनिया भाभी को अपनी गोदी में उठा कर बेडरूम में ले आया. अबकी बार उस लड़के ने शीला आंटी को अपने नीचे ले लिया और उनके ऊपर चढ़ कर लंड चुत में पेल दिया.

हिंदी मे सेकसी [emailprotected]प्यासी औरत की चुदाई कहानी का अगला भाग:बुआ की चुत गांड चोदकर मजा लिया- 3. मैंने अपने हाथों से उसका मुँह अपनी तरफ़ किया और बोली- अभी से ये मज़ा लेना शुरू कर दिया.

चाची की चूत की गंध भी मेरे नाक में चढ़ी जा रही थी जिससे मेरी उत्तेजना बढ़ रही थी. उन्होंने मेरा मोबाईल नंबर अपने मोबाइल में ‘स्नेहा तेरा दूध अमृत …’ के नाम से सेव किया हुआ था. पापा मम्मी के दूध चूसते रहते थे या उनके होंठों पर किस करते रहते थे.

इंडिया सेक्स बीपी वीडियो

वो चीखने को हुई मगर मैंने बड़ी फुर्ती से उसका मुँह दबा दिया और लंड को गांड में पेलता चला गया. मैंने मोबाइल उसे दिया, तो वो बोली- देख ली ड्रेस!मैं बोली- हां बहुत पसंद आई, पर स्टॉक में नहीं है. बीच रास्ते में मुझे अपने फोन की याद आई तो मैं उसे लेने के लिए घर वापस आ गया.

आज तुम्हारा लण्ड लेने के बाद मुझे महसूस हो गया कि मेरी गोद अभी तक क्यों नहीं भरी. उनकी बेटी काफी खूबसूरत हो गयी थी पर अब भी वो मौसी से ज्यादा खूबसूरत नहीं हो सकी थी.

अब एक नंगी महारानी सी बनी कृति मेरे लौड़े पर बैठकर सवारी कर रही थी.

इन ग्यारह वर्षो में बिंदु ओर मैं कैसे तड़पती रही थीं ये साफ़ दिख रहा था. अदिति बेटा, तेरा ये रिवर्स काउगर्ल आसन तो मस्त है, जब तू लंड को चूत से जकड़ कर आगे पीछे होती है तो क्या मस्त आनंद आता है. मुझे मोटी लड़की सेक्स के लिए चाहिए थी भरे बदन के साथ मोटे मोटे निप्पलों वाली! देल्ही सेक्स चैट साईट पर मुझे मेरी मनपसंद लड़की मिली.

मैं मुस्करा कर उनके बदन से लिपट गयी और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूमने लगे. तभी रीमा ने कहा- कमरे में चलते हैं … इधर हॉल में मीरा आंटी आ सकती हैं. ” मैंने कहा और आगे हाथ लेजाकर बहू को मम्में दबोच लिए और उन्हें चोदने लगा.

मैंने अपने होनों हाथों की दो दो उंगलियों को काम पर लगा दिया और अपनी मम्मी के चूचुकों को उंगलियों में दबा कर मींजने लगा.

सेक्सी सुहागरात बीएफ: अब लंड आराम से जाने लगा।मालती की गांड टाइट थी, उसने गांड को ढीला छोड़ दिया और तेज़ तेज़ लंड अंदर बाहर करने लगा।अब मैंने लंड निकाल लिया और बिस्तर पर लेट गया. तो इस बार थोड़ी सी हिम्मत जुटा कर मैं अपना हाथ उसकी गांड के पास ले गया.

ऐसे तो मेरा लंड फट जाएगा, प्लीज यार कुछ तो रहम करो … कुछ तो तरस खाओ मेरे खड़े लंड पर? ममता मेरी बहना ले ले मुँह में लंड ले ले प्लीज … देख अपने भैया का लंड एक बार देख तो. कुछ बाद जब मेरा का दर्द बंद हुआ, तो मैं भी सागर को चूमने लगी।अब सागर को पता चल चुका था कि मैं चुदने को तैयार हो गई हूं; सागर धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा।जैसे ही लंड अपनी जगह पूरी तरह से बनाई तो मैं भी धक्के के मज़े लेने लगीं, सागर ने स्पीड तेज कर दी. अदिति की चूत से झरती वो विशिष्ट गंध मुझे चुदाई के लिए व्याकुल करने लगी तो मैंने अधीरता से बहू की चूत के होंठ खोल लिए और अपनी दाढ़ी बहू की चूत के खांचे में रगड़ने लगा.

मैंने चाची के पेटीकोट के अन्दर सर घुसा दिया और सीधा चुत को चाटने लगा.

फिर रीमा ने निखिल से कहा कि वो एक बार मीरा आंटी के कमरे में देख आए कि वो सो गयी हैं या नहीं. मैंने पूछा- कहां चलना है?तो उसने कहा- मेरे बॉस मेरे घर ही आने वाले हैं और सारा काम वो ही बताएंगे. उसके गाल कश्मीरी सेब की तरह लाल थे और उसका फिगर लगभग 34-28-36 का रहा होगा.