सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ देहाती बिहार

तस्वीर का शीर्षक ,

लाइक के वीडियो: सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी, रवीना ने अपनी और उसकी न्यूड फोटो भेजी थी और लिखा था कि क्या वो चाहता है कि ये फोटो रवीना रवि की घरवाली को भेज दे.

अंग्रेजी बीएफ पिक्चर दिखाओ

उससे सहन नहीं हो पाया और उसने मेरा लंड हाथ में पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर लगाते हुए नीचे से अपनी गांड उठा दी. मैथिली सेक्सी बीएफबाथरूम जाने के दौरान उसकी गांड ऊपर नीचे मटक रही थी तथा गदराई चुचियों में कंपन मात्र हो रहा था.

वो नीचे से अपनी चुत उठा उठा कर चुदवाने लगी और मैंने भी अपनी स्पीड और बढ़ा दी. बीएफ कुंवारी चूततभी मैं ‘आह हह अह हहह माँ की चूत तेरी … तनु बहनचोद साली … मैं झड़ रही हूँ साली … मेरी रांड है तू मादरचोद … आअह अह्ह ह्हह … रंडी मेरी … आह ह्ह्ह अह ह्ह्ह ह्हह’ करते हुए झड़ने को हुई.

खूब कस के एक दूसरे को चूस रहे थे, उसके हाथ मेरे पीठ पर जम गए थे और टाँगें मेरी टांगों पर लिपट गयी थीं.सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी: मेरी उँगलियों की हर जुम्बिश के साथ-साथ वसुंधरा के के मुंह से निकलती प्रणय-सिसकारियों में वृद्धि होती जा रही थी और हर पल वसुंधरा के जिस्म का तापमान बढ़ता ही जा रहा था.

शाईना अपनी चूत को सहलाते हुये सिसकारियां ले रही थी- आह्ह्ह बेबी … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊं… ऊं… आई… ई ई सी… सी उफ़… उफ़ हाई… मजा आ रहा है.कहानी के पिछले भाग में मैंने आपको बताया था कि मैं दीदी की चूत चुदाई के नजदीक पहुंच कर चूक गया.

सेक्सी एचडी बीएफ वीडियो में - सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी

उसके बाद मैंने मिताली भाभी की छोटी सी चूत के मुँह पर अपने होंठ टिका दिए.मैं मोना को जब भी देखता, तो उसकी नजरों में मुझे अपने लिए एक खास चमक दिखाई पड़ती.

अंशी (मेरी गर्लफ्रेंड) की सहेली को हमारे बारे में सब पता था कि हम दोनों चुदाई करते हैं. सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी मैं- ऐसी कौन सी चीज है, जिसके लिए हम सभी यहां पर मौजूद हैं और जिसका अस्तित्व इस कमरे में मौजूद है.

मेरी चूत ने अभी अभी रस बहाया था, इसलिए मेरी रस भरी चूत में लंड जाने से ‘फच फच.

सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी?

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि दोस्त के ज़ोर देने पर मैं उसके साथ जिम में जाने के लिए तैयार हो गया. पता नहीं उसने क्या सोचा, लेकिन जवाब आया कि ठीक है … अब जब भी रात को हमारी बात होगी, मैं आपको सब कुछ बता दिया करूंगी. फिर अपनी नंगी गांड को थोड़ी सी ऊपर उठाते हुए उसने कहा- इस्स … मुंह खोल ले यार … चूस ले इसे अब.

थोड़ी देर में ही मीना मछली की तरह तड़पने लगी क्योंकि ऊपर तो कुणाल ने बारी बारी से उसके मम्मे चूस चूस कर लाल कर दिए थे और नीचे रवि ने अपनी जीभ से उसकी चूत को अंदर तक छोड़ दिया था. उस वक्त वो वासना की चादर तन पर लपेट लेती है और लंड के प्रहार से अपने अस्तित्व को नष्ट करके नया जीवन पाना चाहती है. फिर उठ कर उनकी गोद में बैठ कर उनकी गर्दन में लिपटते हुए बोली- बाबू आप बड़े गंदे हो.

संजू ने उसी पोज में उसके लंड में अपनी चूत को फंसाये हुए अपनी चुचियों को नीरज के मुँह से सटा दिया. तभी अचानक स्वीटी आंटी ने अपनी दुपट्टा मेरे हाथों पर रख दिया, जिससे किसी को पता न चल सका. मैं बोली- हां मम्मी ठीक है … सोने दो बस अब मेरे रूम में डबलबेड लगवा दो.

उसके बाद हम बहुत थक गए थे, तो हम दोनों ने वॉशरूम में जा कर एक दूसरे को अच्छे से साफ किया. आज मैंने अपने यार का लंड अपने भाई से चुसवाया था, तो वैसे भी मुझे बड़ी उत्तेजना हो रही थी.

मगर इसका मतलब यह नहीं है कि मैं रंडी बन चुकी हूँ, मैं आज भी अपनी शर्तों पर सेक्स करती हूँ.

हांलाँकि सोनू शादी के पक्ष में नहीं था।शादी हो गयी, मेहमान भी अपने घर चले गये।एक दिन मेरी बहू सायरा ने मुझसे अपने मायके जाने के लिये अनुमति मांगी। मैंने भी खुशी-खुशी इस शर्त के साथ सायरा को उसके घर भेज दिया कि वो जल्दी वापिस लौटकर आयेगी.

पर आज ममता ने अपने हाथों से उसका निकाल दिया तो वो शांत होकर सो गया. अब शीला रोज रात को कभी उंगली, कभी मूली, गाजर करके अपनी गर्मी शांत करती. मैंने कहा- इससे पहले भी तुमने सेक्स किया है क्या किसी के साथ?वो बोली- तुम अपने काम से काम रखो.

उधर नीरज धीरे धीरे अपनी बहन की गांड में लंड थोड़ा-थोड़ा अन्दर बाहर करने लगा. बेबी रानी बोली- मुझे पता है क्या करना है … किसी एक कहानी में तूने ऐसे ही दारू पी थी, माँ के लौड़े. रानी ने फिर से मुझे तेज़ चुदाई करने को कहा- राजे … राजे … हाय मैं मार जाऊंगी … मादरचोद … अब नहीं रुका जा रहा.

उसकी आंखों की चमक से लगा मानो वह पूछ रही हो कि क्यों जानेमन मेरे यार का लंड कैसा लगा.

धीरे धीरे बैठते हुए उसने मेरा करीबन 7 इंची लम्बा लंड अपनी चूत में पूरा का पूरा ले लिया. ममता उठी और वाशरूम में जाकर कुल्ला कर के आई और फ्रॉक पहन कर बोली- मैं कॉफ़ी बना कर लाती हूं. उसे दबा लेता हूँ … थोड़ी देर उसमें लंड घुसाऊंगा … फिर निकाल कर हाथ से ही माल गिरा दूँगा … बोल क्या बोलती है!दीदी बोली- जो आपकी मर्ज़ी … मैं तो आपकी रखैल हूँ जान … तो मैं क्या बोल सकती हूँ.

जैसे जैसे उसकी उंगली की स्पीड बढ़ती गयी मीना के होंठों का दबाव कुणाल के होंठों पर बढ़ता गया. मैंने लंड सहलाते हुए संजू से कहा- तुम लोग चुदाई का मजा लो, मैं यहीं से देख रहा हूँ. अब मुझे सच में दर्द हो रहा था मगर मैं फिर भी बर्दाश्त कर रही थी क्यूंकि ऑफिस में ऐसे किसी ने मेरे साथ कभी नहीं किया था.

पर पता नहीं कैसे ये सोचते सोचते मैं उन पलों को याद करने लगी जब मैं और बृजेश अंदर थे और वो लड़के हमें झांककर देख रहे थे.

फिर मैंने चॉकलेट खोली और उसकी एक साइड उनके मुंह में रख कर दूसरी तरफ से अपने मुंह में लेने लगा. उन्होंने अपनी दो सहेलियों के नंबर भी दिए हैं … उनके साथ की चुदाई की कहानी भी आपको लिखूँगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी मैं भी थोड़ी थोड़ी देर में अलका की गांड में उंगली कर देता, जिससे उसको और अधिक आनन्द मिलता. मैं सोचने लगा कि शायद चाची का मन भी नहाने का हो गया है … पर पानी में नहीं उतरीं.

सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी शुरूआती दौर में उसने मुझसे मेरा नाम आदि पूछा, मेरे पति का नाम पूछा और मेरे बच्चों आदि के बारे में पूछा. इसका एक कारण ये भी था कि मैं भी अपनी सेक्स लाइफ से उतनी खुश नहीं थी … क्योंकि पति हमेशा बाहर रहते थे … और सेक्स में भी उनका उतना इंट्रेस्ट नहीं था.

फिर मैंने वो पर्ची बैग से निकाली और हाथ में पकड़ कर ऑटो के करीब गया। ऑटो वाले से पूछा- यह एड्रेस यहां से कितनी दूर है और कितने पैसे लोगे?उसने पूछा- अकेले हो?मैंने कहा- हाँ!तो वो बोला- दूर है यहाँ से, बुकिंग पे जाएगा ऑटो, 150 रुपये लगेंगे.

बीएफ हिंदी video

फिर मैं अपने खड़े लंड के साथ दीदी के कमरे में गया, जहां जीजा जी दीदी को पेल रहे थे. उसके जाने के बाद मैं यही सोचता रहा कि यार मैंने पक्के में कुछ गलती कर दी है … बहुत जल्दी मैंने उसको प्रपोज कर दिया. एग्जाम के बाद दो महीने की छुट्टी होती हैं, उस टाइम लड़कों के पास अपनी जिन्दगी जीने का पूरा टाइम फ्री होता है.

ये खेल जल्द समाप्त हुआ क्योंकि आगे की हरकतों के लिए सब्र रखना किसी के लिए भी संभव नहीं था. हम लोग घर के पीछे वाले रूम में रहते हैं और सामने मकान मालिक लोग रहते हैं. फिर मैंने नीतू की नंगी जांघों पर हाथ फेरते हुए उससे कहा कि खिल तो आज तुम भी बहुत गयी हो.

गोद में बैठते ही संजू ने अपने भाई का लंड अपनी चूत में सैट किया और घप्प से बैठ गई.

एकदम सधी हुई किसी पर्वत चोटियों के समान कड़ी हुई चूचियां बेहद कामुक लग रही थीं. यह कहकर उसने कॉल कट कर दी और मैं भी वापस आकर बात करने लगा।मैंने देखा अक्षय और सरीना की बहुत अच्छी बन रही थी वो दोनों एक साथ बैठकर बात कर रहे थे और नीलू अकेले बोर हो रही थी. मैंने उसकी टीशर्ट को बिल्कुल ऊपर कर दिया और उसकी ब्रा को भी ऊपर करके उसकी चूचियों को मुंह में लेकर पीने लगा.

दो साल में मुंबई से वापिस घर आता है। सास भी क्या करे? दो-दो साल बिना चुदवाये कैसे रहे?इसलिए तो पहले ही अपनी शादी के बाद से ही मेरी सास यही करने लगी थी, फिर मुझे भी अपनी शादी के एक साल बाद पता चला कि मेरी बीवी भी कई मर्दों के साथ सो चुकी है. संजय के कामरस का चूत में आभास होते ही मैंने गर्भ ठहर जाने के डर से उसके ऊपर से हट जाना उचित समझा. डैड- जब मैंने तुझे पहले रिया के बारे में बताया, तब तो तुमने नहीं बताया था.

पति बोले- अचानक से मुझे बाहर जाना पड़ रहा है … मैं 2 या 3 दिन में वापस आऊंगा. मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूँ … क्या कहूं? और उनकी इस हरकत पर कैसे रियेक्ट करूं?जेठजी का तो पता नहीं, पर मेरे दिमाग में यही सब चल रहा था … अभी मैं यही सब सोच ही रही थी कि इतने में जेठजी बोले- सॉरी जस्सी, मुझे लगा कि श्वेता वापस आ गयी है और उसे सरप्राइज देने के चक्कर में मैं तुमसे …इतना कह कर जेठजी चुप हो गए.

अगले दो पल बाद मैंने आलिया की ब्रा को निकाल दिया और उसके मम्मों को चूमने लगा. उसकी गांड उठने लगी थी और वो एकदम से सीत्कार करते हुए अपने जिस्म को अकड़ाने लगी थी. मैं और बॉस जैसे ही आफिस जाने के लिए गाड़ी स्टार्ट करने लगे कि वो रिपोर्ट वाला सहायक उधर से ही गुजर रहा था.

चाची की चुचियां साफ़ ऊपर नीचे होती दिख रही थीं और उन्हें देखकर मैं उत्तेजित हो रहा था.

अगली कामुक कहानी की शुरूआत हो चुकी है, आनन्द लेने के लिए निरंतर बने रहें. मेज पर दोनों ग्लास रखते आंटी हुए बोलीं- बेटा पी लेना, मैं अब सोने जा रही हूँ. वो ब्रा के ऊपर से ही मेरे बूब्स दबाने लगी, फिर उसने मुझे हग किया और अपने हाथ पीछे ले जाकर मेरी ब्रा खोलने लगी तो मैंने भी उसकी ब्रा उतार दी.

उसने बेंच पर लेटकर दोनों तरफ अपनी जांघें फैलाकर नीचे जमीन पर पैर रखे हुए थे. ”और वो मेरी छातियाँ दबाने लगी।फिर मुझे अपनी तरफ घुमाया- पहले कौन सा रस पियेंगी होंठ रस या चूत रस?जो आप पिलाना चाहें!”आजा फिर मेरी जांघों के बीच में!”मैं बैठ गयी और मेरे होंठ जुड़ गए डॉक्टर साहिबा के नीचे वाले होंठों से। शावर चल रहा था और मैं कभी उसकी चूत की फांकों को होठों में दबाती, कभी जीभ से छेड़ती कभी चूत को चूसती.

कसम से यार उसके गुलाब के पंखुड़ियों जैसे होंठ देख कर मैंने भी अपने होंठों पर जीभ को फेर लिया. इससे पहले वो जिन साब के काम करती थी, वहां तो उसका साब शराब में या अपने दौरों में मस्त रहता और मेमसाब सेक्स के शौक़ीन थीं, या यूं कहें कि भूखी थीं. डिनर के बाद रवि ने जाने की बात कही तो मीना बोली- कॉफ़ी पीकर जाना, कल तो सन्डे है.

हिंदी बीएफ वीडियो फुल एचडी

यह देख कर मैं एकदम से नीचे बैठ गयी और उन दोनों का लंड हाथ में ले लिया.

बस इसी तरह ताबड़तोड़ चुदाई चलती रही और दस मिनट के बाद मेरी चूत ने झड़ना शुरू कर दिया. मुस्कान ने भी बड़े प्यार से और बहुत ज़ल्दी से सतीश के लंड को अपने मुंह में ले लिया जैसे वो भी काफी देर से यही इंतजार में थी कि कब उसका लौड़ा फ्री हो।सतीश के लौड़े की वीर्य की धार मुस्कान के मुंह में गिरने लगी. अब सागर ने मेरे शोल्डर से ड्रेस की लेस को हटाया, तो मेरा टॉप नीचे गिर गया.

इतने में नीतू नंगी ही आशा के पास आकर बैठ गयी और उसके लटकते हुए मम्मों को मसलने लगी. संजय ने फिर कहा- यार जिगोलो का मतलब होता है कि वो महिला को खुश करे, उसकी सेवा करे. रोशनी की बीएफमुझे दीवार से लगा कर मेरे होंठों को उसने अपने होंठों से चूसना शुरू कर दिया.

कुछ ही देर में आलिया ने मेरी शर्ट उतार दी और हम दोनों मस्त होकर रोमांस करने लगे. सीमा ने अपना मुख खोल कर मेरे लंड से निकाल रही पिचकारी को अपनी जीभ पे ले लिया और मेरे लौड़े पे हाथ को और तेजी से चलाने लगी.

ना जाने कब प्यार हो गया मुझे पता ही नहीं चला।ऐसे करते करते एक दिन बातें सेक्स की तरफ़ चली गई।क्रिया- तुम तो बातें भी काफी अच्छी करते हो. वो बड़बड़ाने लगी- आह्ह … आ रही हूं, और जोर से … आह्ह चोदो, पूरा घुसा दो. मैंने पहले वसुंधरा के माथे पर एक चुंबन लिया, फिर बारी-बारी दोनों आँखों पर, फिर दोनों कपोलों पर, नाक की फ़ुनगी पर और फिर मैं ज़रा सा रुक गया.

भाबी एकदम से गनगना उठी और वो अपने पैरों को पूरा फैला कर मेरे लंड का स्वागत करने लगी. ब्रा पैंटी रात में वैसे भी नहीं पहनती थी, तो मेरे बड़े बड़े चूचे देख कर आदी स्माइल करने लगा. रोहित गिड़गिड़ाने लगा और बोला- भाभी इसके बाद मैं कभी भी इस शहर नहीं आऊंगा … वैसे भी मेरा घर भी दूसरे गांव में है.

फिर मैंने लौड़ा चूत में घुसाये घुसाये ही गुड्डी को चूचियों से पकड़ के घसीट के अपनी तरफ झुकाया और लपक के अपना मुंह उसके मस्त स्वादिष्ट चूचियों पर लगा के बेसाख्ता चूसने लगा और साथ साथ बेबी रानी को हौले हौले धक्के लगाने लगा.

प्रीति को ऊपर से नीचे तक बड़ी गौर से निहार रहा था और फिर प्रीति की चूत में अपनी 2 ऊंगली डालने लगा. फिर मैंने मन में सोचा कि अब शराफत का नक़ाब हटा कर इन्हें अपना असली रूप दिखाना ही पड़ेगा.

उसने हामी भर दी और ठीक समय पर घर का दरवाजा बिना कुंडी के उड़का कर लगा दिया. दोस्तों आपको मेरी गांड मारने की सेक्स कहानी कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं और मेरी पिछली कहानी ‘ट्रेन में मिले एक गाण्डू अंकल. बढ़िया कपड़े पहनना, बढ़िया खाना खाना, देर रात घूमना, मूवी ये सब उसके शौक हैं.

ये कहते हुए मेरे घाघरा को ऊपर करके मेरी रानों को सहलाने लगा … और दबाने लगा. जिया- नो वे …राज- नीरज तू एक काम कर … कंडोम लेकर आ … प्लीज़ वरना तेरी बीवी प्रेग्नेंट हो जाएगी. बेबी रानी का मुंह तो गुड्डी की चूत में चिपका हुआ था इसलिए उसके गले से घूं … घूं … घूं के सिवा कोई ध्वनि नहीं निकल पा रही थी.

सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी परमीत ने मेरी चूत को जी भरके चाट लेने के बाद मेरे जिस्म के हर हिस्से को चूमा और चाटा और फिर मेरे उरोजों से अपने उरोजों को भिड़ा कर रगड़ने लगी. उसके मम्मों का दबना होता था और मेरा लंड तो मेरा मानो पैन्ट को फाड़ कर बाहर आने को हो जाता था.

కాలేజ్ అమ్మాయిల సెక్స్ వీడియోస్

उसके जाने के बाद मैंने कोच से बातों ही बातों में पूछा- जब आप नहीं रहते तो उस दिन जिम बंद रहता है क्या?वो बोला- नहीं, अगर मैं नहीं रहूंगा तो मेरा दोस्त रहेगा. वो मुझे अपनी ओर खींचते हुए मेरे होंठों में किस करने लगे और एक हाथ से मेरी मोटी चिकनी जांघों को सहलाने लगे. वो बोली- आज तुम बिना कंडोम के करो … और अपना पानी मेरे अन्दर ही डाल देना.

भाभी- फिर तो तूने एक भी बार किसी के साथ रात नहीं गुज़ारी होगी?मैं- मैंने एक भी लड़की साथ रात नहीं गुजारी और किसी के साथ अभी तक सेक्स नहीं किया. बाबू का सूखा लंड मेरी चूत पूरी तरह से गीली नहीं रहने के कारण अन्दर घुसा ही नहीं. छोटे लड़कों का बीएफवह अपने पंजे ज़ोरों से कभी मेरी बाँहों में, कभी मेरी छाती में तो कभी मेरी पीठ में गड़ा के गांड हिलहिला के चुदाई करती.

उसको पता नहीं क्या हुआ, वो एकदम से पूरी नंगी होकर मेरा लंड चूसने लगी.

मुझे लगा कि कहीं स्वीटी आंटी अकेले में मेरी मम्मी सब कुछ बता न दें. नीतू भी आकर मेरी बगल में बैठ गयी और मुझसे बोली- तो अब क्या क्या करने का इरादा है जनाब का?मैं बोला- आज की रात सब कुछ तुम्हारी मर्जी से होगा.

चाची भी मेरे मुंह को अपनी चूत पे दबा रही थी और जोर जोर से आवाज निकाल रही थी- आ. वो मेरी तरफ गर्दन घुमा के बोली- अंदर ही निकालना!मेरी सांसें भी तेज होने लगी, आवाजें भी निकलने लगी- ओह्ह्ह सिल्क आह मैं आआआ ररर हां हां हां हूँ न न न न!कहते हुए कोई चार- पांच तेज धक्कों के साथ पूरा लण्ड उसकी चूत में धंसा दिया. इस कहानी को मजेदार बनाने के लिए अलीना की इंग्लिश को मैं हिन्दी में लिख रहा हूं.

उन्होंने मेरे मम्मों से अपने हाथ हटा लिए और अपने होंठों को मेरे चेहरे पर लाकर मेरे पूरे चेहरे को जोर जोर से चूमने लगे.

फिर मेरी कमर को जोर से पकड़ कर थोड़ा जोर लगा कर अपने लौड़े को सीधे अन्दर धकेल दिया. मैं उसकी चालाकी के लिए हंस पड़ी और वो मेरी हंसी को इंज्वाय करने लगा. बातचीत का सिलसिला कुछ यूं परवान चढ़ा कि हम दोनों में लम्बी लम्बी बातें होने लगीं.

गुजराती सेक्सी मूवी बीएफइसके बाद मैंने आंटी से पूछा- आंटी यदि आपकी इजाजत हो तो मैं एक सिगरेट पी लूं?आंटी हंस कर बोलीं- यार तूने तो मेरे दिल की बात कह दी. मैं उसकी क्लिट को मुँह में लेकर चुभलाने लगा, वो सह नहीं पाई और बेतहाशा मेरे मुँह में ही झड़ने लगी.

बीएफ बनाना

जीजा जी ने भी उत्साहित होकर आलिया की गांड पर चपत लगाना शुरू कर दीं. अब वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत चाट रहा था।फिर मैंने एक झटके में लन्ड उसके मुंह से बाहर निकाल लिया और उसे सीधा करके एक झटके में लन्ड उसकी चूत में उतार दिया. काफी देर तक लंड चुसवाने के बाद सुहास ने अपना लंड मेरे मुँह से बाहर निकाल लिया और मुझे बेड पर लेटा दिया.

वगैरह वगैरह!इतनी बातों में सामने वाले के जवाब देने के तरीके से यह जाना तो नहीं जा सकता कि सामने वाला किस स्वभाव का हो सकता है. वो शराब पीकर गाली गलौज करता था, कोमल भाभी के साथ मारपीट भी करता था. जैसे ही मैंने उसकी चुत के भगनासा को छेड़ा, उसने मेरा लंड अपने हाथ में कस के पकड़ लिया.

संजय के मुख से आहह निकल गई और उसने आंखें बंद करके अपने हाथों से लंड हिलाकर आखिरी बूँद को बाहर निकाला. हम दोनों अपनेआप से बेसुध, तेज़ी से एक-दूसरे में समा जाने का उपक्रम कर रहे थे. शायद उसी टाइम उन्होंने अपनी चूत साफ़ की होगी।चोर की चोरी कभी न कभी तो पकड़ी जाती है.

उनमें से कुछ लड़कियां तो अब किसी-किसी लड़के के संपर्क में भी आ चुकी थीं … और कहीं-कहीं ऐसे लड़की-लड़के साथ बैठे भी नजर आ जाते थे. उसकी आंखों में चमक आ गयी- जी, बस काम निबटा के आता हूँ, आधे घण्टे में!मैं अंदर आयी और कपड़े बदल लिए। लाल ब्रा पैंटी और गुलाबी साड़ी ब्लाउज … मेक अप कर के तैयार।फिर घण्टी बजी।कौन?”मैं सुलेमान!”मैंने दरवाज़ा खोला, कुछ पल तो वो मुझे हैरानी से देखता रहा, फिर एकदम से मुझे दबोच लिया।अरे दरवाज़ा तो बन्द कर दो.

वो सलवार कमीज में थी और थोड़ी शर्मीली भी थी।खैर वो जानती थी कि उनके पास मेरे सिवा कोई रास्ता नहीं है.

अलीना- तुम क्या करते हो?मैं- मेरे डैड का बिजनेस है, इसलिए उनको बिजनेस में मदद करता हूं. हिंदी सेक्सी बीएफ दे बीएफउसकी हालत देख कर मैं और परमीत भी तेजी से चुदाई करने लगे, पर एक ही डिल्डो एक समय में दोनों को शांत करने में नाकाफी था. बीएफ सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म वीडियोअब तक की सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं नीतू को चोदने के लिए स्टूडियो ले आया था और अब उसकी चुदाई का खेल शुरू होने वाला था. ये कहानी मेरे एक दोस्त शीराज और उस की वाइफ ज़ायरा की है; जब मैंने ज़ायरा की मसाज करते करते उसकी चुदाई की है जो कि मेरे दोस्त के घर पर ही उसकी गैरमौजूदगी में हुई।हुआ यह कि एक दिन मेरे दोस्त का कॉल आया कि उसका ट्रांसफर दिल्ली से मुंबई हो गया है तो उसे दो दिन के अंदर मुंबई शिफ़्ट होना था.

यही सब बातें करते करते नींद आ गई।2 दिन बाद क्रिया का मैसेज रात को आया कि मेरी नानी की तबीयत खराब है तो मम्मी पापा के साथ जा रही हैं और मैंने कोचिंग का बहाना बना लिया है.

शिव मंदिर, हनुमान मंदिर, माँ दुर्गा का मंदिर और बहुत से सामाजिक भवन भी थे. नेहा- हां हां सब सहन कर लूँगी, मेरा पति, जिसे मैं सही से जानती नहीं, वो भी तो मेरे टाँके तोड़ता ही. अभी मेरी उम्र 37 साल है लेकिन कोई भी मुझे देख कर यह नहीं कह सकता कि मेरी उम्र 37 साल है.

कुछ देर बाद पूरी मासूमियत से बोले- थोड़ा दुद्धू पीने को मिल जाता, तो आराम से सो जाता. मेरी जीभ ने जैसे ही उसके लंड के सुपारे को टच किया, उसकी सिसकारी निकल गई. एक बात और … एक दूसरे के बदन को अच्छे से देखा मतलब … चुदाई … बहुत सारा सम्भोग और प्यार किया.

मराठी ऑंटी सेक्सी बीएफ

क्यों सही है न कुत्ते?मैंने बेबी रानी को बाँहों में जकड़ लिया- ओह हो जासूस मैडम जी. और शायद ड्रिंक की वजह से या थकान की वजह से सो गई।अब मैंने अपने पूरे कपड़े उतार दिए और इंदु के नंगे शरीर को अपनी बांहों में भर लिया. पर आज ममता ने अपने हाथों से उसका निकाल दिया तो वो शांत होकर सो गया.

काम के तीव्र आवेश के कारण वसुंधरा के मुंह से निकलने वाली ऊँची-ऊँची काम-कराहों से सारा कमरा गुंजायमान था.

मैं गर्म हो गया तो मैंने उसे रसोई में ही उसकी चुत को चोदा और बाहर आ गया.

उनकी ब्रा मेरे हाथ और उनकी चुचियों के बीच में बाधा बन रही थी तो उन्होंने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा का हुक खोल दिया. राहुल ने तो बमुश्किल ही कुछ लिया, वो तो बहक रहा था और जल्दी ही अपने रूम में चला गया. हिंदी बीएफ लड़की वालाफिर मुझे लगा कि अगर मेरी जरूरत पूरी हो रही है, तो इसमें बुराई नहीं और वैसे भी उन्होंने मुझसे मेरी सहमति से सेक्स करना चाहा है.

और फिर मैं उसके नंगे बदन के ऊपर आ गया और अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के ऊपर रख कर रगड़ने लगा. जब उसने मेरे लंड को पानी और साबुन से साफ़ किया, तो मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया, जिसे उसने किस किया. पर मुझे लगा जैसे मुझे एक आम पाठक की तरह की उस कहानी का अंत में दोनों युगल के सम्भोग के बाद क्या हुआ जानने की उत्सुकता बनी, वैसे ही आप सभी पाठकों को भी उत्सुकता होगी कि संदीप और सिल्क के प्रेम का अंत क्या हुआ?तो कम शब्दों में मैंने ये भी बता दिया कि उनका प्यार अंजाम तक कैसे पंहुचा.

मैं उनके पास गया और बोला- हाई आंटी, मैं रॉकी … पहचाना मुझे!स्वीटी आंटी- हां … पहचान गई. मकान मालिक जाते वक्त मुझसे बोल गयी कि बेटा, शालू और सोनिया के पास वाले रूम में सो जाना, वे दोनों अकेले सोने में डरती हैं … तुम जरा ध्यान रखना … इनके पेपर हैं, नहीं तो इन्हें भी साथ ही ले जाते.

मैं आपको अपनी सेक्सी चुदक्कड़ बहन की सेक्स कहानी को पूरे विस्तार से लिख कर बताऊंगा.

शाम को हम जीजा-साले टीवी देख रहे थे और वो दोनों रसोई में खाना बना रही थीं. और थोड़ी देर बाद जब मेरा लंड पुनः जागृत हुआ तो मैंने घोड़ी बना कर कार में ही उसको जबरदस्त तरीके से चोदा और उसकी चूत में दुबारा लंड झाड़ दिया. दोस्तो, आपकी प्यारी कोमल एक नई सेक्स कहानी के साथ एक बार फिर से आपके सामने हाज़िर है.

बीएफ वीडियो भाभी जी इसलिए सामने शीशे में उसको पता नहीं चल रहा था कि पीछे से मैं भी उसको देख रहा हूं. फिर उसने शर्त रखी थी कि अगर ये हमसे अपनी चूत चुदवाने के लिए राजी हो जाये तो हम लोग कुछ नहीं कहेंगे.

राहुल- बस एक बार में तुम्हें चोदना चाहता हूँ … प्लीज़ मैं अभी ये वीडियो डिलीट कर दूंगा. लड़का- फिर क्या हुआ?लड़की- देर तक रगड़ती रही, फिर पता नहीं क्या हुआ … मेरे नीचे से सफेद सा कुछ निकला, फिर थकावट लगी और नींद आ गई. मीना उछल उछल कर चुद रही थी और बोल रही थी- कुणाल सर, आज आपने मजा दिला दिया.

बिग बॉस सेक्सी वीडियो

कुछ सोच कर मेरे होंठों पर मुस्कराहट आ गई और आंखों में वासना के डोरे तैरने लगे. मैंने सीमा को उल्टा किया और सतीश ने सीमा के मुंह में अपना लौड़ा डाल दिया. मेरे मोटे लंड की रगड़ से उसके आंसू निकल आए- आआआह … अमित छोड़ दे उईईईईई माँ मर गई … आईई बहुत दर्द हो रहा रे!मैंने उसे अच्छे से पकड़ लिया.

उसे भी रात को मेरी लेने में मजा नहीं आया था, इसलिए वो भी आने को राजी हो गया. रवीना ने रवि से पेग से एक सिप मारने को माँगा … सिप लेकर वो बोली कि ये तो बहुत कड़वी है, उसने पहले कभी नहीं पी थी.

ये मस्त और कामुक बातें सोचते हुए मैं और भी मस्ती से लंड पर उछलने लगी.

अभी जेठजी बोल ही रहे थे कि इतने में जोरदार चमक और आवाज के साथ आसमानी बिजली कड़की और मैं भागकर जेठजी से कसकर चिपक गयी. मैंने नीचे उसकी चुत पर लंड घिसना जारी रखा और ऊपर मम्मों को मसलना भी चालू रखा. मैंने हंसते हुए उसकी चूची को मसला और कहा- साफ़ क्यों नहीं कहती मेरी जान कि लंड दिखाओ.

वो बोली- आप वही है ना … जो सविता दीदी की शादी में आए हुए थे?मैं बोला- वो तो सब ठीक है, पर आपको मेरा नंबर कहां से मिला?वो बोली- मुझे किसी की जेब में यह नंबर मिला है. वो बाजार गया और ममता के लिए एक सुंदर सी ड्रेस और कुछ लायेंजरी खरीद कर लाया. यह बात सुनकर प्रिंस खुश होने लगा और मुझसे कहने लगा- आपके साथ कल सुबह तक का मौका है मेरे पास! मैं आपको कल सुबह तक चोद सकता हूं.

उनकी हरकत बेरहम जरूर लग रही थी, पर हमारे हुस्न के अहंकार रूपी वस्त्र को ऐसे ही उतारा जा सकता था.

सेक्सी बीएफ चुदाई हिंदी मूवी: तो वो मान गयी और बोली- एक बार मेरी चूत चाट ले यार … बहुत आग लगी हुई है. उस पे सिल्क की गांड का नशा … पूछो मत … सिल्क एक नवविवाहिता की भांति हमको अपने हाथों से चाय और कुकीज़ पिला और खिला रही थी.

उसके गोल तंदुरुस्त शरीर को देख कर खुद से तुलना करना और भी बुरा लगता था. मैंने उसके मम्मों को दबाते हुए उसके कान में हल्के स्वर में कहा- जान छत्तीस साइज़ है न?वो मुस्कुरा दी और उसने मुझे चूमते हुए कहा- बड़े पारखी हो … अब तक कितनों के नाप चुके हो?मैं खिसिया गया और जल्दी से जबाव दिया-जान आज पहली बार किसी के छुए हैं. कुछ लड़कों ने मेरे चूतड़ों को देखने की भी मांग की।मेरी कहानी को इतना प्यार देने के लिए आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद।अक्षर मैं रात को टहलने के लिए छत पर चली जाती हूँ.

उस लड़की की चूत से मैंने लन्ड निकाल कर उसके पेट पर अपना माल छोड़ दिया।हम दोनों झड़ गए.

डैड से इस बार मुझे झूठ बोलना पड़ा क्योंकि में डैड को कैसे बताता कि दीदी मेरे कमरे में हैं और जीजा जी आलिया के साथ दूसरे कमरे में हैं. उसने पूछा- तुम लोग किस टाइम आते हो?मैंने कहा- हम तो शाम को आते हैं. अब मैंने खुश होकर उसके साथ हुई चुदाई को याद किया और बेड पर ऐसे ही नंगी लेट गई.