भौजी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,लड़की का कंडोम

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स बीएफ दे: भौजी सेक्सी बीएफ, रेखा को एक बार झाड़ने के बाद मैंने हफ्ज़ा को ठीक उसी पोजीशन में लिया और उसे चोदना आरम्भ कर दिया.

सेक्स करना दिखाओ

थक हार कर मैं भी चुप हो गया और हम दोनों अपने अपने कपड़े पहन कर वहां से निकल गए. मेकअप पाउडरकरिश्मा को किस करते करते करते मैंने उसकी नाईटी और ब्रा उतार दी और करिश्मा के चूचे अपने हाथों में लेकर चूसने लगा.

फिर उसने अब्डोमिनल गार्ड दिखाते हुआ पूछा- ये कहां लगती है?मैंने कहा- मुझे पता नहीं. राजस्थानसेक्समैंने भी उनकी आंखों में देखते हुए अपना लौड़ा किरण की चूत पर रखा और पूरी ताकत से एक झटका देते हुए लौड़े को घुसा दिया.

अब मेरा लंड उसकी गुलाबी चूत के द्वार पर खड़ा था और अंदर जाने के लिए बेकरार था.भौजी सेक्सी बीएफ: फिर इसके बाद हल्की सी बारिश चालू हो गयी तो मैं एक बड़ा सा पेड़ देखकर रुक गया और अपनी जैकेट पहन ली.

आप मुझे मेल से बताएं कि आपको मेरे ऐस फक़ एक्स्पीरिएंस में मजा आया?[emailprotected]ऐस फक़ एक्स्पीरिएंस का अगला भाग:चढ़ती जवानी में सेक्स की चाह- 4.इसके बाद समीर भैया ने मुझे एक बार फिर से ऊपर खींचा और मेरे होंठों से शुरू करते हुए मेरे पूरे बदन को चूमने लगे.

सुहागरात मनाना - भौजी सेक्सी बीएफ

जैसे ही पॉल ने खुद का वीर्य चाट लिया, वैसे ही रीना ने उसको मेरे लौड़े की और धकेला.उस अवस्था में वो अपने मुँह से होंठों का चुम्बन लेते लेते चुदाई करने लगी.

आज रात को मैं पापा के साथ चुदवा कर मम्मी को भी अपने खेल में शामिल करवाना चाह रही थी. भौजी सेक्सी बीएफ अब यह सब सोचकर मेरी चूत भी गीली होने लगी थी और मैं भी उनकी ही तरह से मादक होने लगी थी.

भावनाओं में बह कर ऐसा कोई कदम उठाना शायद मुझे आगे चल कर बहुत तकलीफ दे सकता है.

भौजी सेक्सी बीएफ?

तब मैंने अंकल की तरफ गौर से देखा तो उन्होंने कहा- बेटा तुम मजे से किताब देखो, बस मैं तो बस यूं ही, तुम्हें और थोड़ा मजा देने की कोशिश कर रहा हूं. फिर अगले दिन से मैंने उस स्टोरी के हिसाब से सब काम करना शुरू कर दिए. चूत गर्म करने के बाद अपने लंड से उनकी ताबड़तोड़ चुदाई करने में जो मजा मिलता है, वो अद्भुत है.

वो एक हाथ से मेरे सिर को पकड़ कर किस कर रहा था और अपना कमर वाला हाथ धीरे धीरे टी-शर्ट के अन्दर ऊपर उठाने लगा था. फिर आजकल नौकरी के लिए इतनी प्रतिस्पर्धा मची है कि पहले जिस काम के दस हजार मिलते थे, अब उसी काम को सात से आठ हजार में करना पड़ता है. फिर मैंने तकिया उसकी गांड के नीचे सैट किया और अपने लंड को उसकी चूत में रगड़ने लगा.

चाची बड़ी खुश हुईं और उन्होंने अपनी बहू को आवाज लगाई- सरोज बेटा, देख तो तेरा देवर युवी आया है. इधर मेरे और शिल्पा के बीच व्हाट्सएप पर बातचीत भी ज्यादा होने लगी थी. मुझे अपनी बहन की बातों से समझ आ गया कि वो पूरी चुदक्कड़ लौंडिया है और मेरे दोस्त से चुत गांड सब मरवा चुकी है.

रीना को भी अच्छे से पता था कि उसका गांडू पति कैसे किसी मर्द के वीर्य के लिए प्यासा है. इसी लिए अपने जीवन के अनुभवों को कहानी का रूप देकर आप सबके साथ साझा करने का मेरा मन करता है.

वहां भैया ने मेरी फ्रॉक का हुक भी ख़राब कर दिया, जिस वजह से अब मेरी पीठ पूरी तरह से नंगी हो गई.

बाद में उसे बिस्तर पर बैठाकर मैंने दर्द की दवा दी, उसे पुचकारते हुए सुला दिया और मैं भी सो गया.

उन्होंने मेरे निप्पलों को भी खूब रगड़ा, जिसके कारण मेरी दोनों चूचियां एकदम लाल पड़ गईं. उन लोगों ने भी जब लच्छो को देखा तो मुझसे उसकी गदराई जवानी की तारीफ की. हमारी नींद खुली हम दोनों नंगे एक दूसरे से लिपटे हुए थे, एकदम लॉक थे.

उसके विरोध न करने पर कभी उसके गालों को और कभी कानों को सहलाने लगा।बातों ही बातों में मैंने पिंकू से अपने साथ ही सोने के लिए बोला लेकिन पिंकू मना करने लगी. जब मैंने उसके होंठों को चूमने लगा तो वो भी मेरे होंठों को अपने मुँह में रख कर चूसने लगी. आज फ़ज़लू मियां को नशा चढ़ रहा था, जो शीरीं की उम्र और हुस्न को देखकर बढ़ता जा रहा था.

मैं उनके पैरों की तरफ आकर उनके पैरों से उन्हें चूमते हुए ऊपर को बढ़ने लगा.

मैंने अपने रूम की खिड़की थोड़ी सी खोल ली ताकि मम्मी जब बेडरूम में घुसें तो मैं उन्हें देख सकूँ. मैं पहले भी सेक्स कहानीरिश्ते की बहन की सीलपैक चूत की चुदाईलिख चुका हूं. मैंने कहा- हां कुणाल, तुम्हारी शालिनी से जल्दी से शादी हो जाए, फिर धमाल करते हैं.

मैं मामी को पसंद करता था, उनके बूब्स बहुत रसीले लगते थे मुझे। मामी के साथ मेरे सेक्स संबंध बन गए … कैसे?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम प्रदीप सिंह है और मैं पंजाब का रहने वाला हूं।मेरी उम्र 28 साल है और मेरी हाइट 5. मैंने रेखा को इस रूप में कई बार देखा था लेकिन ऐसा अहसास आज पहली बार हुआ था. अपनी सहेली के साथ जा सकती हो, मगर मेरे से मिलने की तुमको फुर्सत नहीं है.

अब मैं अपने आप से कंट्रोल खोने लगा।मुझे लग रहा था कि अभी जाकर मैं अपनी पिंकू की चूत फाड़ चुदाई कर दूं और उसके मखमली दूधों को चूस चूस कर और भी बड़े कर दूं.

नशे में मुझे यह भी होश ना रहा कि मैं सड़क पर खड़ी हूं और मैं अपने बदन को सहलाने में लगी हूँ. इसलिए इस बार मैंने सोनी के साथ थोड़ा निर्दयी बनने का फैसला कर लिया था.

भौजी सेक्सी बीएफ कुछ ही देर के बाद उसने मेरे मुँह में ही अपना लंड रस गिरा दिया और मैं भी उसके वीर्य को पी गयी. क्योंकि मेरे अन्दर से जितना पानी रिस रहा था, उतना ही मेरे अन्दर की आग और ज्यादा भड़क रही थी.

भौजी सेक्सी बीएफ वो मेरे लंड के नीचे लटकते आंडों को पकड़ कर लंड चूस रही थी और अपनी चूत में मेरा मुँह और ज्यादा दबाने कीई कोशिश कर रही थी. मैं उसको ऊपर से जोर जोर से चोद रहा था और वो नीचे से अपनी गांड को उठा उठा कर चुदवा रही थी.

मैंने जितना सोचा था, सुहानी मेरी उस सोच से ज्यादा ही प्यासी लग रही थी.

मोटी औरत की फोटो

मगर मेरा आप सभी दोस्तों से पुन: निवेदन है कि आप मुझे ‘किसी से मिलवा दो या किसी भाभी की या कपल का नंबर दे दो’ जैसे शब्दों का प्रयोग करते हुए कोई ईमेल न करें. गांड का छेद दिखते ही मैंने अपना लौड़ा उसकी गांड पर रखा और किरण के बाल खींचते हुए उसे नीचे की तरफ खींचा. उसने कहा- अरे हां वो हैंडल लगवाना था, कोई बात नहीं, आप कुंडी खोल दो.

अभी अंकित ये नहीं जानता था कि मैं अंकित और वंदना के बारे में सब कुछ जान चुका हूँ. मैं मेडिकल स्टोर गया, उधर से कुछ कंडोम और भाई के लिए नींद की गोली ले आया. मैं चौंक कर एकदम से बेड से खड़ा हो गया और उन्हें देख कर डरा हुआ सा भूत बन कर खड़ा था.

कहां तो शीरीं चूत की चुदाई पर रो रही थी और कहां अब वो फ़ज़लू को पूरा साथ दे रही थी.

मैंने अपना पैग खत्म किया और शालिनी से कहा- बस लंड चूसोगी ही या और कुछ भी करना है?शालिनी ने कहा- जीजू आज तो मुझे आज इस लंड का पूरा मजा लेना है. एक तरफ वो बड़ी तेजी से मेरा लंड दबाती हुई चूस रही थी और उतनी ही तेजी से मैं उसकी चूत चाट रहा था. उनकी इस बात को सुनकर मैं सूरज जी और ऐसे सारे लोगों से माफी मांगती हूँ.

फिर आजकल नौकरी के लिए इतनी प्रतिस्पर्धा मची है कि पहले जिस काम के दस हजार मिलते थे, अब उसी काम को सात से आठ हजार में करना पड़ता है. अम्मी बोलतीं- शर्म नहीं है क्या?तो कहता- अम्मी, मैं तो आपके होंठों की बात कर रहा था. मैं उसे समझाता कि आजकल लोग नौकरी छोड़ कर अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर रहे हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि नौकरी करने वाले इंसान को एक मशीन के जैसे काम करना पड़ता है.

कैसे चोद पाया मैं उसे!नमस्कार दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी में आप सभी का स्वागत है. मैं वापस अपने ऑफिस से अपने रूम पर जा रही थी और एक फ्लोर चढ़ने के बाद जब तक मेरा फ्लैट आ रहा था, तो उसमें से एक लड़का, जिसका नाम राकेश था, उसने मेरे साथ एक हरकत कर दी.

मैंने बाहर से ही उससे कहा- अबे यार कुंडी तो लगा लेती … और तेरे रूम के बाथरूम में क्या पानी नहीं आ रहा था जो मेरे रूम में नहाने आई?वो हंसने लगी और अन्दर से ही आवाज लगा कर बोली- सॉरी भैया, वो मेरे रूम का शॉवर चल नहीं रहा था, इसलिए मैं आपके रूम में आ गई थी. मैंने भी वही नुस्खा अपनाया और ऑफिस को बाय बाय बोलकर सीधा एक महंगी परफ़्यूम की दुकान में आ गया. मैंने धीरे धीरे उसकी आंखों पर किस किया और गर्दन पर चूमता हुआ उसके होंठों पर आ गया.

मैंने मां के माथे पर हाथ लगा कर देखा, तो उन्हें बहुत तेज बुखार चढ़ा था.

मोहिनी ने जब फ्रेंची में से फूले हुए लंड को देखा तो उसकी आंखों में वासना के डोरे तैरने लगे. थोड़ी देर बाद मैंने उसे उल्टा लेटा कर उसके बड़े बड़े चूतड़ और उसकी पीठ को चूमना शुरू कर दिया. मैंने अपने हाथ इसके पीछे ले जाकर एक ही झटके में उसकी ब्रा का हुक खोल दिया.

’मैंने दुकान से उसके लिए प्रो-ईस का पैकेट लिया और कंडोम का एक छोटा पैकेट मांगा. इसी के साथ साथ उसके मुँह से लगातार निकल रहा था- आह … सी … ई … बेबीईई … आह … करते रहो … अह … आ … ऐसे ही … अच्छा लग रहा है.

मैं जोर जोर से चूसने लगा और एक हाथ उसकी पैंटी में डालकर उसकी चूत सहलाने लगा।अब मैं नीचे की ओर बढ़ने लगा और एक ही झटके में उसकी पैंटी उतार दी, पिंकू मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी।पिंकू उछलकर मेरे ऊपर आ गई और एक-एक करके मेरे सारे कपड़े उतार दिए जिससे कि मेरा लंबा और मोटा लंड आजाद हो गया।मेरा लंड देखकर पिंकू शर्मा गई और बोली- भैया, आपने तो अंदर खजाना छुपा के रखा है. मैंने उनके गाल पर एक खींच कर चाटा मार दिया और कहा- साली, तुझे मैंने कहा था ना … आज से तू मेरी रखैल है. मैंने उसके लिए एक हल्का सा पैग बनाया ताकि उसको नशा न हो और अपना थोड़ा सा हैवी बना लिया.

भाभी को चोदने वाला वीडियो

मैंने उसके होंठों को दुबारा पकड़ते हुए अपने हाथों का काम शुरू कर दिया.

अपनी बुर पर मेरे होंठों का स्पर्श पाते ही सोनी के मुँह से आह सी निकल गयी और वो मेरे ऊपर झुक सी गयी. तभी पापा ने मम्मी की गांड के ऊपर से चादर हटाई और उनका पेटीकोट पूरा कमर तक उठा दिया. उसकी सहेलियां अपनी चुदाई का किस्सा उसे बड़े चाव से सुनाती थीं, जिससे उसके मन में भी सेक्स के प्रति झुकाव होने लगा था.

इस चुप्पी के बीच कभी वो पैग का घूंट पीती, कभी मेरी पैंट के ऊपर हाथ फिरा कर मेरे सोये हुए लंड को वापिस तैयार करने लगती. गीली चूत में मेरा लंड ‘फच्च फच्च …’ करके सनसनाता हुआ तेजी से अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. ब्लू पिक्चर देना ब्लू पिक्चरमां को हमेशा मेरी चिंता लगी रहती है और वो मेरे लिए काफी परेशान रहती हैं.

सोनी की बुर एकदम साफ थी मतलब ना ही सोनी के बुर में … और ना ही मेरे लंड पर मुझे खून दिखा. मेरी यही आशा भी और उम्मीद भी है कि मेरी इस एक्स एक्स एक्स कहानी को भी पढ़कर आप लोगों के तन मन में आग लग जाएगी.

मैं तो बस यह चाहती थी कि मेरा काम जल्दी से हो जाए और यह कमरे से बाहर निकल जाए, जिससे मैं अपनी चूत के अन्दर उंगली कर सकूं और अपनी खुजली को पूरी तरह से मिटा सकूं. लंड के अन्दर जाते ही मेरी गांड में से एक पक्क की आवाज़ आयी और दर्द और जलन के कारण मेरी आवाज निकलने लगी. शायद वो पूरी तरह गर्म हो चुकी थी या उसे भी अब मुझ पर पूरा भरोसा हो गया था या फिर उसे भी अब सेक्स का मज़ा लेना था.

उसी ने कुणाल को हमारे बारे में सारी बातें बताई हैं और ये भी कहा है कि आज रात में वो यहां आएगा, तो मैं उसके साथ मजे कर सकती हूँ. मैं इतनी पागल थी कि मैंने अपनी उत्तेजना के चलते अपने कमरे का दरवाजा भी बंद नहीं किया था. उस डांट से बचने के लिए वो ऊपर आ जाता था, दीदी वहां पहले ही मिल जाती थी और वो उसको समझाती थी.

मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत में गया, तो वो कराह उठी और उसके मुँह से मस्त आवाजें निकलने लगीं.

उसकी कमर करीब 30 इंच की रही होगी और उसकी गांड लगभग अड़तीस साइज की थी. अब तक मैं भी अपनी पूरी शर्म छोड़ चुकी थी और मैं अब बिना किसी तरह की शर्म के किसी बाजारू रंडी की तरह चुदना चाहती थी.

अभी लंड का सुपारा ही अन्दर गया होगा कि उसने कराह कर कहा- आंह … बस जीजू … रुको थोड़ा. पॉल ने बिना किसी शिकायत अपनी बीवी के मुँह से मेरा मूत भी निगल लिया. जैसे तैसे मैंने अपना खाना खाया और मुंबई जाने की तैयारी करके सो गया.

अब आगे हॉट Xxx सेक्स कहानी:कुछ देर तक तो मैं किरण की हालत पर बिना तरस खाए पूरी ताकत से लंड उसके गले तक घुसाकर उसका मुँह चोदता रहा. [emailprotected]Xxx स्कूल गर्ल हॉट स्टोरी का अगला भाग:चुदाई के चाव में कुंवारी बुर की सील तुड़वाई- 3. उस बारिश में हम लोग लगभग आधे गीले हो गए थे पर कोई रुकने की जगह ही नहीं मिल रही थी.

भौजी सेक्सी बीएफ एक बार उसकी इच्छा से मैंने उसकी गांड भी मारी और इस बार उसे बहुत कम दर्द हुआ. अब BDSM लॉन्ग सेक्स की कहानी में पढ़ें कि उसके बाद मेरा एक आशिक और हुआ.

सेक्सी भोजपुरी वीडियो में

मैंने भी उनको अपने पूरे जिस्म के दर्शन कराने में कोई कोताही नहीं की. उसके बाद मैं बाथटब में जोजोबा आइल डाल कर लेट गयी और रिलेक्स करने लगी. मैंने उसे समझाया कि आज भले चुदाई नहीं हो, पर बाहर से तो चूत का मज़ा लेने दो.

आपको मेरी देसी लड़की सील तोड़ चुदाई की कहानी से उत्तेजना महसूस हो रही होगी?[emailprotected]धन्यवाद. शिल्पा ने मुझे अपने बॉयफ्रेंड और मैंने उसे सोनी के बारे में बता दिया था. सेक्सी वीडियो अच्छा-अच्छानंगी बहन के साथ फुफेरा भाई कमरे में हो तो क्या होगा? और जब दोनों जवान हों, हमउम्र हों और एक दूसरे को पसंद करते हों.

ऊपर वो मेरे होंठों को किस कर रहा था और एक हाथ से मेरे बूब्स दबा रहा था.

मोहिनी की हालत खराब हो रही थी, वो ज़ोर से उसका सर अपनी चूत पर दबाने लगी. आपको तो दीदी की गांड मारने में मजा आ जाता होगा!मैं- नहीं यार शालिनी, तुम्हारी दीदी ने कभी पीछे से नहीं लिया है.

अब उसके घर जाने का टाइम हो गया तो मैंने भी उसे जाने दिया।हमारा यह खेल फिर काफी दिनों तक चला और एक दिन मुझे मौका मिला अपने लण्ड से उसकी गांड खोलने का!एक दिन रविवार को मेरे घर में कोई नहीं था, सब लोग बाहर गए हुए थे. दूसरी बार का सेक्स जैसे कि आप सब लोग जानते ही हैं कि ज्यादा मजेदार होता है, वैसे ही हम दोनों ने दूसरी बार में बहुत देर तक अच्छा और मजेदार सेक्स किया. उस वक्त उसका मुझे इस तरह से किस करने का आभास भी नहीं था, तो मैं उसे किस करते ही एकदम से डर गई और एक अजीब से अहसास से अन्दर से हिल गई.

मेरा पूरा दिन उसके लंड को मुँह और अपनी प्यासी चूत में लेने के बारे में सोचने में ही बीत गया था.

चूतरस से भीगी दीवारों से लंड की रगड़ से मेरा लौड़ा अब आराम से चप-चप की आवाजें करता हुआ अन्दर बाहर करने लगा और रीना के दर्द की जग़ह अब मज़े में बदल गयी. जब मैं घर पर रहता था और वो काम करती रहती, तो मेरी नजर उसके बड़े बड़े उछलते दूध और मटकती हुई गांड पर ही टिकी रहती थी. एक रात उसने मोहिनी के कमरे में से उसकी सिसकारियों की आवाज़ सुनी तो वो जल्दी से बेडरूम की खिड़की पर पहुंच गया.

छोटी बहू नाटकसोनी भी सीधी बैठ गई थी और वो कभी मेरे लंड को देखती, तो कभी अपनी बुर को. मैंने होटल में रूम सर्विस को कॉल करके रूम में ही डिनर लाने का बोल दिया.

सेक्स वीडियो भाभी की

उसने बोला कि वो पहली बार किसी स्टोरी को पढ़कर उसके रचनाकार को मेल करने की हिम्मत जुटा पाई. तभी भाभी फिर से ‘इस्सस्स उफ्फ़ …’ करती हुई मादक सिसकारियां लेने लगी थीं. हॉट सिस फक़ सेशन में दीदी के मुँह से बस एक ही आवाज निकल रही थी ‘कम ऑन भाई और जोर से चोदो …’मैं भी बुलेट ट्रेन की रफ्तार से लंड चूत में चलाये जा रहा था.

पापा और मम्मी ने मुझे और दीदी को ये बात बताई, पहले तो मैंने ये कह कर मना कर दिया कि मैं अभी इंटरव्यू के लिए काफ़ी मेहनत कर रहा हूँ, मैं नहीं जा सकता हूँ. हमारे मकान की उसी दीवार पर बैठी बैठी मैं उस लड़के के बारे में सोच रही थी. पॉल बेचारा हमारे नीचे दबा पड़ा था, पर ना तो मुझे उसकी कोई चिंता थी और ना ही उसकी बीवी रीना को.

मिडी फटी होने के कारण तुरन्त मेरे तन से अलग हो गयी और मैं उन दोनों के सामने नंगी हो गयी. सुहानी जल्दी से सिक्सटी नाइन की पोजीशन में आ गई और वो मेरे लंड को ऐसे चूसने लगी थी कि मैं मस्त हो गया. लंड के नीचे काफी बड़े आकार के गुल्ले लटक रहे थे जो झांटों से भरे हुए थे.

चूँकि सोनी खड़ी थी और मैं घुटनों पर था, तो इस आसन में मेरी जीभ सोनी की बुर की गहराई तक तो पहुंचना मुश्किल था, फिर भी जितना संभव हुआ, मैंने अपनी जीभ को बुर की दरार में चलाना शुरू कर दिया. उसने अपना पैग खत्म करके मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूस चूस कर खड़ा करने लगी.

भाभी के झड़ जाने के बाद मैंने उसे 10 मिनट और उसी पोज़ में चोदा और हम दोनों साथ में झड़ गए.

पिछली बार जब उसने मेरे साथ चुदाई की बात कही थी तो मैंने उससे ऐसा ही कहा- मुझे तेरे साथ सेक्स नहीं करना. सेक्स एंड रोमांसमैंने कुछ देर तक उसकी चूत पर लंड रगड़ा और एकदम से उसकी चूत में लंड ठूंस दिया. सेक्सी वीडियो गानाअदिति ने मुस्कुराकर अपने दोनों हाथ मेरे कंधे पर रखे और अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ती हुई बोली- सचमुच ऐसा कहा है उन्होंने?मैंने उसे चूमते हुए और साथ में अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ते हुए कहा- हां, सचमुच ऐसे ही ख्याल रखने का कहा है पिताजी ने. शायद ऐसा भी हो सकता था कि राकेश ने अन्दर उन दोनों को जाकर पूरी सच्चाई बता दी हो कि मैं कैसे उंगली कर रही थी.

अब तक मेरा भी लंड फटने को हो गया था, इसलिए मैंने उसकी टांगों को खोला और अपना लंड उसकी चूत पर घिसना शुरू कर दिया.

यह तब की बात है, जब मैं अपने दोस्तों के साथ क्लब में अपनी एक फ्रेंड की बर्थडे पार्टी सेलिब्रेट कर रही थी और हमने जमकर शराब पी थी. देसी लड़की सील तोड़ चुदाई की कहानी का मजा लें इस भाग में! मैंने अपने लंड पर और GF की बुर में तेल लगाया और लंड टिका दिया बुर की फांकों के बीच!फ्रेंड्स, नमस्ते. इस बार मैं ड्राइविंग कर रहा था और वो अब लड़कों की तरह दोनों टांग फैला कर मेरे पीछे बैठ गयी.

मैंने रेखा को इस रूप में कई बार देखा था लेकिन ऐसा अहसास आज पहली बार हुआ था. [emailprotected]होटल रूम चुदाई स्टोरी का अगला भाग:बहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेला- 3. मेरा एक प्रोजेक्ट चल रहा था जिसे मुझे हर हाल में अपने कमरे में रह कर ही पूरा करके देना था.

ಕನ್ನಡ ನೀಲಿ ಚಿತ್ರಗಳು

मैंने उसके दोनों हाथों को अपने हाथ में पकड़ रखा था और बहुत तेजी में चुदाई कर रहा था. मैं आपको बता देना चाहता हूँ कि मामा पिछले 4 महीने से शहर में ही थे. यही जन्नत थी मेरे लिए!इससे पहले मैंने कभी कभार उंगली से भी अपने आपको शांत किया था.

मैंने देखा कि वो खुद भी मुझसे हल्का हल्का टच होने की कोशिश कर रहा था.

उससे बात करने पर पता लगा कि वो चंडीगढ़ में पढ़ती है और हॉस्टल में ही रहती है.

मरद बन गया है तू!वह बोला- हां मामी जान, मरद तो मैं वाकई बन गया हूँ. मैं उनके मुँह में जीभ डाल कर घुमा रहा था, वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थीं. बेवफा डीपीउसे कई बार मामी ने भी देखा था और वो एक कातिल मुस्कान चेहरे पर ले आती थीं.

अब मैंने सोचा कि अगर मैं ऐसे ही मौके का इंतजार करता रहा तो यह बात आगे नहीं बढ़ेगी. उधर मोहिनी की हालत खराब थी, वो चाहती थी कि अर्णव अब जल्दी से उसे चोद डाले. चाय खत्म हुई, तो अर्णव ने मोहिनी को अपनी बांहों में भर लिया और उसे चूमने लगा.

ये सुनते ही अम्मी ने थप्पड़ मारना चाहा, पर मैंने हाथ पकड़कर उनके बाल पकड़े और अम्मी के होंठों को अपने होंठों से लगा लिया. फिर मैं उसकी पैंटी को साइड करके उसकी चूत को अपनी जीभ से सहलाने लगा.

मुझे भी उसकी यह बात सही लगी इसलिए मैंने भी उससे इस बात के लिए हां कर दी.

मैं थोड़ी देर में उसके कमरे में गया और उससे कहा- तुम मैं और अंकित हम तीनों लोग मिलकर सेक्स करेंगे. मैं जैसे ही अपने रूम के दरवाजे खोल कर अन्दर आई, मैंने झट से अपने कपड़े उतार दिए और दिमाग में यही सोचने लगी कि मुझे चूत के अन्दर उंगली करनी चाहिए. मैं ऐसे ही गांड में लंड पेलूँगा साली रंडी की औलाद … कुतिया भैन की लौड़ी मेरी रखैल.

अश्लील वीडियो दिखाए बाद में मुझे पता नहीं मौका मिलेगा भी या नहीं … और तुम्हारे लिए मैं कुछ भी कर सकती हूं. मेरे होंठ हटाते ही सोनी ने अपना सर तकिए पर पटक दिया और लंबी लंबी सांस लेने लगी.

उस किताब को देखते यह मेरे अन्दर खून भड़कने लगा क्योंकि वह एक नई वाली चुदाई की किताब थी जिसमें जबरदस्त किस्म के फोटो दिए गए थे. रात में भैया ने बाहर से खाना मंगवाया, उन्होंने दारू पी और मुझे भी दो पैग पिला दिए. [emailprotected]Xxx स्कूल गर्ल हॉट स्टोरी का अगला भाग:चुदाई के चाव में कुंवारी बुर की सील तुड़वाई- 3.

सेकसीबीएफ

दोस्तो, मेरा नाम राहुल मीणा है, मैं नोएडा में अपनी पत्नी सुदिति के साथ रहता हूं. थोड़ी देर ऐसे ही चलता रहा और जब मुझसे रहा नहीं गया, तो मेरे हाथ से किताब नीचे आ गई. मैंने तो उन हरामियों की नजर को पहले से ही पहचान लिया था कि यह मुझे आज बिल्कुल छोड़ने वाले तो हैं नहीं.

नीता बोली- अब हम दोनों चलते हैं गीता!गीता अपना मुँह लटकाकर बोली- हां नीता … शुक्रिया तुम दोनों का. अब यहीं पर बात करनी है या जिस काम के लिए बुलाया है, वो भी करना है?मैंने उससे कहा- सुहानी तुम्हारी बात सही है, पर यार पहले मैं नहाऊंगा, फिर खाना खाऊंगा.

उसने अपनी साड़ी और पेटीकोट उतार दिया और मेरे कपड़े भी निकालकर मुझे पूरा नंगा कर दिया.

https://thumb-v2.xhcdn.com/a/wtGTgdSyblJ77a1iZNmkbA/017/734/772/526x298.t.webm. सोनी ने शर्मवश अपनी टांगों को घुटनों से मोड़ कर एक दूसरे से चिपका लिया. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागकार में चूत में उंगली करके मजा दियामें आपने पढ़ा था कि मैं मिडी उतार कर अपने भाई सनी ….

शीरीं एकदम से नशे से जाग उठी और दर्द के मारे चीख उठी हालांकि उसके मुँह पर फ़ज़लू ने हाथ लगाया हुआ था पर शीरीं की चीखें इतनी जोर की थीं कि पूरे कोठे में गूंज उठीं. अभी मेरे पापा 43 साल के हैं जबकि मेरी मम्मी 42 साल की हैं लेकिन वो लगती 28 साल की हैं. मैंने कहा- अबे यार, तूने कभी नल्ले नहीं चूसे क्या … या लेग पीस नहीं चचोरा.

मैंने दीदी की दोनों टांगें फैला दीं और एक अनुभवी गोताखोर की तरह अपनी जीभ को दीदी के चूत में कुदा दी.

भौजी सेक्सी बीएफ: मैंने सोच कर बताया कि मैं कभी भी एक स्त्री से संतुष्ट नहीं होता हूँ. शालिनी- जीजू, दीदी के बूब्स कितने बड़े हैं, मुझसे तो बहुत बड़े है … और गांड भी बहुत बड़ी है.

कुछ देर में ही सर ने मेरा पल्लू हटा दिया और एक ही झटके में मेरी पूरी साड़ी खोल कर अलग कर दी, फिर मेरे दोनों मम्मों को मींजने लगे. उसका फिगर 32-24-34 का है, रंग सांवला है और वो दिखने में बहुत ही खूबसूरत है. फिर वो अपनी मर्ज़ी से मेरे लौड़े को ऐसे धक्के मारने लगी थी, जैसे वो किसी पागल घोड़े की सवारी कर रही हो.

मैं अपनी इच्छा के विरुद्ध सोचने लगी थी कि मैं आज किसी भी हाल में चाहे जो हो जाए, यहां से चुद कर ही अपने कमरे में जाऊं.

वो मम्मी की पूरी गांड नंगी करके दोनों चूतड़ों को सहलाते हुए मसल रहे थे. मैंने प्यार से उसे बिस्तर पर बैठाया और उसके मस्तक, गाल, होंठ, गर्दन को चूमने लगा. तो मम्मी ने कहा- बेटा, तुम थोड़ी देर बाहर खेलो, मुझे अंकल से कुछ बहुत जरूरी काम है।मुझे थोड़ा गुस्सा आया तो थोड़ी देर दरवाजे पर हाथ मार के मम्मी को आवाज लगाता रहा.