देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,हिंदी फिल्म हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी बीएफ सीन: देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर, मेरी स्टूडेंट से सेक्स कहानी के पहले भागस्टूडेंट से सेक्स: जवान लड़की को दबा कर चोदा-1अब तक आपने पढ़ा किस प्रकार मैं अपनी ही स्टूडेंट को पटा कर उसे चूमने में कामयाब रहा था.

हिंदी मूवी सेक्सी फुल सेक्सी

मैं अब परेशान हो गयी थी अपनी चूत की प्यास से … और अब मुझे नए लंड से चुदवाने का मन कर रहा था. सेक्सी पिक्चर वीडियो हिंदी वीडियोमृदुला ने मुझसे कहा- राज, यू लुक्स सो हैंडसम!मैंने कहा थैंक्यू मेम.

एक तो प्रिया की इतनी मस्त कमर और ऊपर से उसकी गोरी गांड देख कर मन कर रहा था कि बस उसकी चुदाई करता रहूँ. अंग्रेजी सेक्सी मां बेटे कीयह बात तो आप जानते ही होंगे कि नारी का ये हिस्सा कितना सम्वेदनशील होता है.

मैं इस बार धीमे-धीमे धक्के मारता हुआ चोद रहा था जिससे दीमा को अपना लंड अन्दर घुसेड़ने का कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर: एक दिन मैं ऑफिस से घर आया तो वो मेरे घर में मेरे पत्नी के साथ बात कर रही थीं.

मैं जब भी उनके मम्मों को देखता हूँ तो मुझसे रहा नहीं जाता और मैं बॉथरूम में जाकर लंड हिला लेता हूँ और मिताली दीदी को अपने सपनों में ही चोद लेता हूँ.साहिल ने मेरे बूब्स पकड़ लिए और अपना लंड जीन्स से बाहर निकाल लिया और उसे मेरे हाथ में पकड़ा दिया.

सेक्सी चुदाई वाली चुदाई वाली सेक्सी - देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर

बीच की सीट में एक उम्रदराज आदमी बैठे थे, समझो करीब 60 साल के ऊपर के रहे होंगे.मैंने उनका लगभग आधा लंड मुँह में भर लिया था और पूरा लेने की कोशिश कर रहा था कि अचानक उन्होंने ज़ोर से धाक्का मारा और पूरा लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया.

दो दिन तक उनसे बात भी नहीं हुई थी … क्योंकि मैं घर के कामों में उलझ गयी थी. देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर मेरी चूत एकदम टाइट थी, उसकी उंगली ठीक से अंदर नहीं जा पा रही थी, वो फिर भी कोशिश करता रहा और उसकी उंगली मेरे अंदर तक चली गई.

उनके बेड पे आते ही मैंने उन्हें दबोच लिया और उनके मम्मों को मसलने लगा.

देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर?

आपको मेरी अगली कहानी में बताऊँगा कैसे मैंने स्नेहा की भाभी को ठोका. ”मैं उनके पीछे जाकर उनसे सट के खड़ी हो गयी। एक साथ धक्का देने से टहनी थोड़ा सा खिसक तो गयी पर मेरा बदन उनके नंगे बदन पर रगड़ने की वजह से मेरी कामवासना जागृत होने लगी। मेरे स्तन उनकी पीठ में घुस गए थे, मुझे पूरा भरोसा था कि अंकल भी उत्तेजित हो गए होंगे।नीतू … थोड़ा और जोर लगाना होगा, तुम पीछे से ज्यादा जोर नहीं लगा सकती। एक काम करो तुम आगे हो जाओ, मैं तुम्हारे पीछे से जोर लगाता हूँ. मैंने तारा से पूछा- इतना लंबा चौड़ा … क्या ये ही माइक है?उसने हंस कर बताया- हां माइक 6 फ़ीट 6 इंच का है … पर शरीर की सुडौलता के कारण इतना भयानक दिखता है.

मैंने कहा- चाची जब मेरी शादी की थी तब यह नहीं सोचा गया था? जो अब बोल रही हो. आपके फीडबैक से मुझे अपने सम्भोग की कहानी, आप सबको बताने में बहुत प्रोत्साहन मिलता है. तो तू पहले कोई टैक्सी बुक कर दे लालकिले के लिये” मैंने बहू से कहा तो उसने अपने फोन से ऊबर की कैब बुक कर दी.

मैं बोला- कितनों को ये आम चूसने को दिए हैं?तो साली बोली- जितनों का केला चूसा है उन सबने आम चूसे हैं. तब मुझे समझ में आया कि चाचा मुझे बेचने के लिए लड़के लाता है और उनको मेरे को दिखाता है. वहां से खेत की दूरी 40 किलोमीटर है और उस समय बरसात का मौसम बस शुरु होने वाला ही था.

मैं अपने घर में अकेली हो गयी थी मेरे पति के जाने के बाद!मेरे सास ससुर को तो बस टाइम से खाना खिला देती थी और उसके बाद मैं फ्री हो जाती थी. अपनी नयी सेक्स की स्टोरी लेकर हाजिर हूँ, सो लेडीज, आंटी, और भाभी अपनी अपनी चुत में उंगली डालने को तैयार रहो.

जैसे जैसे डीके के धक्के बढ़ते गए, मेरे और जॉन के बीच का घर्षण भी बढ़ता गया.

मेरी चूत को चाटने के बाद वो फिर से अपना लंड मेरी चूत की दरार पर रगड़ने लगा.

रंडी समझा है क्या?मैं गुस्से में आ गया और मैं भी पूरे जोश में लंड पेलने लगा. हम वहां पहुंच गए थे, भैया के साथ घूमना फिरना भी हो रहां था लेकिन यार मैंने जैसा सोचा था ना. बाप बेटी सेक्स की इस कहानी के दूसरे भागमम्मी से बदला लिया सौतेले बाप से चुदकर-2में आपने पढ़ा कि मैं कामवासना से जल रही थी, अपने कमरे में ब्ल्यू फिल्म देख कर अपनी चूत में उंगली कर रही थी.

मैंने अपना हाथ धीरे-धीरे टॉप के ऊपर से उसकी चूची पर रख दिया और धीरे-धीरे सहलाने लगा. फिर एक दिन मैं बाथरूम में नहा रहा था तो चाची की पैंटी वहाँ पर रखी हुई थी, मैं उसको हाथ में लेकर सूंघने लगा और चाची की चूत को याद करके मुठ मारने लगा, मैं जोश में ज्यादा ही जोर से चिल्लाया ओर चाची का नाम लेने लगा।चाची ने सुन लिया और पूछा- शौर्य, क्या कर रहा है अंदर?तो मैं हड़बड़ा गया और चाची की पैंटी को वहीं पे फेंक दिया।खैर चाची की बात बाद में करेंगे … फिलहाल गौरी की कहानी निरंतर करता हूँ. मयूरी रोती हुई- पर तुमने तो देख लिया… मुझे पूरी नंगी… मेरा सब कुछ देख लिया.

मैंने छेद से देखा कि मनीषा उसी ब्लैक पेंटी पे लगा मेरा माल चाट रही थी.

उसकी बात मैंने अनसुनी की और अपनी उंगली की रफ़्तार और तेज कर दी; उसकी चूत की चिपचिपाहट और गीलापन अब मुझे अच्छे से महसूस होने लगा था. उन्हें मैंने हाथ से थोड़ा फैलाया तो उसमें गेहूँ के दाने जैसा उसका दाना, एकदम गुलाबी था. नेहा भाभी की रेशम सी कसी जवानी, मस्त गोल-गोल चूची, चिकने चूतड़ का याद करके अपना लंड तूफ़ान मचा रहा था और पजामे में टेन्ट बना था.

देखो तुम आप की जगह तुम और भाई की जगह जानेमन कह रही हो।” मैंने उसे आंख मारते हुए कहा।चढ़ने दो न नशा मेरी जान. अब मेरी टांग खोल कर मुझे बोला- झुक जाओ!मैं नहीं झुकी तो पकड़ के झुका दिया और सीधे मेरी दोनों टांगों के बीच बैठकर मेरी चूत को चाटने लगा और जोर से जीभ चलाने लगा. हम दोनों को डर नहीं था किसी का!और मुझे तो बहुत दिन के बाद लंड मिला था चुदवाने के लिए तो मैं बहुत मजे से आराम से अपने भाई से चुदवा रही थी.

उसके बाद हाथ को पेट पर फिराते हुए धीरे से सलवार में डाल दिया और साथ में फिर से किस करने लगा.

इस वजह से मेरा पूरा लंड उनकी मांसल कामुक चुत के हर एक कोने में जाकर अपनी गर्माहट से उनको मस्त कर रहा था. मैं खुश थी बहुत कि आज मेरी लंड की भूख और मेरी चूत की प्यास खत्म होगी और मज़े करूँगी बहुत! फिर हम दोनों उसके दोस्त के रूम में मिलने गए, जो कॉलेज के ही पास में था.

देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर चाँदनी की हल्की सी रोशनी में हमारे बदन किसी छाया की तरह दिख रहे थे. इस बार मनीषा चिल्लाई नहीं, लेकिन एक हल्की सी आहह भर कर उनसे मुझे भी पूरी ताक़त के साथ जकड़ लिया.

देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर ऐसा कह कर अंकित ने पूरी जीभ मेरी चूत में घुसा दी और इतना ज़ोर ज़ोर से मेरी चूत को चाटने लगा कि मैं अंकित का सर पकड़ के अपनी चूत में दबाने लगी और अब मैं जाने किस नशे में हो गई थी, मैं बोली- अगर हिम्मत है अंकित तो अभी बुलवा दे अपने दोनों अंकल को … अभी जो करना है कर ले! मेरी हालत बहुत खराब हो चुकी है, जल्दी बुला अपने अंकलों को!मैं ऊंहहह आहहहह करने लगी. मैं बोला- किसे मिस कर रही हो और क्या मिस कर रही हो?प्रिया बोली- आपको मिस कर रही हूँ और जो आप करके गए हो … उसे भी.

एक तो वो समझ नहीं पा रही थी कि किसी स्त्री के प्रति उसका ये आकषण इतना तेज़ क्यूँ है… और वो भी अपने खुद की बेटी के ऊपर… पर जो भी हो, आज उसको मयूरी के पीठ की मालिश करने में एक अलग ही मजा आ रहा था.

सेक्सी में नंगी पिक्चर

कामरस ने चुत की दीवारों की चिकनाई को और भी बढ़ा दिया और मेरा लंड अब आसानी से चुत के अन्दर बाहर होने लगा. मुझे खुशी होगी करने में तुम जैसे लायक लड़के के लिए!इतने में मैं बोली धीरज को देखकर बोली- बोलो ना पापा से कि मेरी प्रमोशन तो अब आपके ही हाथ में है. मैं सर का लंड पन्द्रह मिनट तक चूसता रहा, फिर अचानक वो अकड़ने लगे और सर ने लंड से अपने वीर्य की ज़ोरदार पिचकारी मेरे मुँह ही निकाल दी.

मैंने सुना था कि इधर के देशों में लड़कियां बड़े खुले विचारों वाली होती हैं तथा बड़ी आसानी से चुदाई को मिल जाती है. इसके बाद तो मैंने उसकी चुत की कई तरह से चटनी बनाई और उसको भी मेरे लंड से चुदने में बहुत मजा आता था. ये अभी सोच ही रहे थे कि उतने में डोरबेल बज गयी और पायल की आवाज आयी- जीजू, दरवाजा तो खोलो ना…वो बेचारी इतनी बारिश में आयी थी, मैंने ऊपर कंधे पर दूसरा तौलिया डाल दिया और दरवाजा खोला तो बाहर पायल पूरी तरह से भीगी हुई खड़ी थी.

एक दिन जब मैं बाथरूम में उनकी पेंटी में मुठ मारने घुसा, तो देखा कि उनकी पेंटी बहुत ही ज्यादा गीली थी, ऐसा लग रहा था जैसे कि नहाने से पहले वो अपनी चुत में उंगली डाल कर डिसचार्ज हुई हों.

इस कमरे में अन्दर आते ही अपने हाथ के छोटे हैंडबैग को टेबल में रखा और सर्विस ब्वॉय ने बाकी का सामान हमारे सामने रख दिया और चला गया. आज बहुत बातें कर रहा है?मैं- कुछ नहीं, आप जैसी जानदार और शानदार आंटी से तो बातें करना मेरा सौभाग्य है. यह सुन कर उनका मुँह उतर गया, बोले- बेटी अगर हो सके तो कुछ पैसे हमें दे दो.

इसी के साथ उसकी गांड मेरे लंड पर रगड़ने की वजह से मेरा लंड भी खड़ा हो गया था. जैसा कि मैंने पहले ही बताया कि मुझे चूत चुसाई में बहुत आनंद आता है और मैं जब तक चूत का पानी नहीं पी लेता एक बार … तब तक मैं चुदाई शुरू नहीं करता. हम मतलब मैं और मेरा भाई दोनो एक रूम में सोते हैं और मम्मी पापा दूसरे रूम में! एक रात क्या हुआ कि रात को मैं पानी पीने के लिए उठी तो मम्मी की तेज आवाज सुनी जो उनके कमरे से आ रही थी, मैंने सोचा इतनी रात को मम्मी ऐसे क्यों चीख रही हैं.

तभी उसकी गांड ने मेरे लंड को एक झटका सा मारा, मैं समझ गया कि इसको लंड की चोट चाहिए. हम दोनों के बारे में थोड़ा बहुत अफवाह भी हमारे कॉलोनी में उड़ रही थी कि हम दोनों लोग का चक्कर है.

अब तक इस हिंदी चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा था कि दीपक ने मेरी दमदार चुदाई करके मुझे तृप्त कर दिया था और अब वो मुझे दुबारा चोदने के लिए कह रहा था. मामी ने करवट बदली, खुद ऊपर से नीचे आ गयीं और मुझे नीचे से अपने ऊपर कर लिया. हम दोनों भाई बहन जब भी मिलते हैं, एक दूसरे का हाल चल लेते रहते हैं.

पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों अपने चरम सुख तक पहुंच गए और एक दूसरे से लिपट गए.

मैंने हामी भरते हुए तारा से कहा- तारा जल्दी चलो … रात होने से पहले वापस आना है. मेरी चूत एकदम टाइट थी, उसकी उंगली ठीक से अंदर नहीं जा पा रही थी, वो फिर भी कोशिश करता रहा और उसकी उंगली मेरे अंदर तक चली गई. फिर रात मैं हम तीनों ने एक साथ बैठकर के खाना खाया और अब उसके बाद सोने की बारी आई.

कहानी पढ़ते समय मैं अपने मन में एक छवि बना कर उस कहानी के नायक को अपने ऊपर महसूस करके अपनी चुत की आग को शांत कर लेती हूं. अचानक मनीषा ने मुझसे पूछा- पंकज तेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने मना कर दिया, फिर पूछा- आज ये क्यों पूछा, कोई ख़ास वजह?वो बोली- नहीं.

तभी माइक ने दो जोरदार धक्के मारे, जो उसकी योनि की बच्चेदानी तक गए होंगे. कुछ बोले बिना उन्होंने अपने मोबाइल की लाइट से सब देख लिया और अपने मोबाइल से विडियो रिकार्डिंग भी कर ली अंकित जब लन्ड मेरी गान्ड में डाले था. मैंने जैसे ही ये किया और मेरी गर्म सांसों ने उसकी गरदन को छुआ, वो एकदम से सिहर उठी.

नया वाली सेक्सी वीडियो

इस चीख से लोगों का ध्यान किसी और तरफ न चला जाए, इसलिए मैंने चीखने के बाद आगे वाले को अपना पैर हटाने को कहा कि पैर पर पैर मत रखो.

तारा ने मेरी दुविधा को समझ लिया और उसने मेरा हाथ पकड़ कर भीतर खींचा. उसका एक हाथ मेरे लंड पर था और उसने एक झटके में मेरा अंडरवियर उतार दिया. ऐसा करने से संभोग के दौरान जो सनसनी रहती है, वो कभी कभी धीमी हो जाती है और वैसी सनसनी फिर से पैदा करने के लिए दोबारा मेहनत करनी पड़ती है.

वह अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरे लंड पर पटक रही थी और पूरा मजा ले रही थी चूत चुदाई का!उसकी चोदन क्रिया देख कर मेरे मुंह से सिसकारी फूट पड़ी, कसम से इतना मजा मुझे चुदाई में कभी नहीं आया था जितना मजा मुझे नेहा मुझे ड़े रही थी. वो चूंकि पहाड़ों वाले इलाके यानि नैनीताल के अल्मोड़ा की रहने वाली एक पहाड़न थीं तो आप खुद समझ सकते हैं कि तो कैसी होंगी. सेक्सी पिक्चर नंगा वीडियो सेक्सीउसके चेहरे को अपने चेहरे पर दबाकर मैंने उसके मुलायम सफेद गालों का लुत्फ़ उठाना चाहा.

पर मेरा ज्यादा बड़ा नहीं था तो वो आराम से चूस रहे थे और उन्होंने अपने लंड को मेरे मुँह में पूरा पेल दिया था. उसने तुरंत हां कर दिया, लेकिन मैं तो उसे चोदने के सपने पहले से ही देखता था.

मैं सरिता की तरफ करवट लेकर पलट गया और अपना लंड उसकी गांड से बिल्कुल सटा दिया. मामी मेरे नीचे पड़ी ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थीं लेकिन मैं बिना रुके उनकी चुत को चोदता चला जा रहा था. दोस्तो, आपने मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्यास-1में पढ़ा कि कैसे रेशमा नाम की एक महिला मुझे रांची से पटना तक की ट्रेन में मिली और उन्होंने मेरा लंड चूस कर मेरा पानी निकाला.

फिर प्रीति ने कहा- नहीं भाभी, मेरा भी मन करता है प्लीज़।तो मैं बोली- ठीक है. तो प्रिया बोली- पता नहीं एक ही दिन में क्या जादू करके गए हो आप … बस अब तो मेरी चूत को आपके लंड का ही इंतजार है. मैंने उसके गाउन के अन्दर से एक बूब बाहर निकाला और मुट्ठी में भर के दूध दबाने लगा.

ऊपर से मेरे सामने उसके दो तने हुए मम्मे मुझे ललचा रहे थे, जिनके ऊपर जालीदार ब्रा उसके आमों की खूबसूरती में चार चांद लगा रही थी.

भाभी को दुबारा से चार्ज करने के लिए होंठ चूमते हुए चुचियां रगड़ने लगा और साथ में चूत से लंड रगड़ने लगा. मैं, मेरी मौसी और उनकी बेटियां और मेरा छोटा भाई सभी साथ में सो रहे थे.

ऐसी पोजीशन में चाची की चौड़ी गांड देखने में और ज्यादा चौड़ी नजर आ रही थी. मैंने उससे कहा- तुम ज़रा भी ना घबराना, मैं तुम्हारे चाचा को वो सबक सिखाऊंगी कि पूरी जिंदगी भर याद रखेगा. जैसे ही चाचा ने अपनी एक उंगली को चाची की चूत में घुसाया कि चाची का पूरा बदन सनसना उठा और वो अपने बदन को ऐंठते हुए चूतड़ उछालते हुएऔर बड़बड़ाने लगीं- ओह.

अगले दिन सभी औरतें सज कर तैयार हो गईं सारी ही बड़ी सेक्सी लग रही थी. वो मेरे बालों को ऐसे नोंच रही थीं, जैसे कि मैं ठीक से चुत की चुसाई नहीं कर रहा हूँ. अब उसने भी अपने पूरे कपड़े उतार लिए थे मगर उसका लंड खड़ा तो हुआ मगर इतना सख्त नहीं हो सका था कि वो किसी कुँवारी चूत को खोल सके.

देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर आज मेरा मन पहले से ही चुत चुदाई करवाने का था तो मैंने सोचा कि आज अपनी दीदी के देवर से अपनी चुत को चटवाने का मजा भी ले लूँ. उन्होंने भी मेरा लंड चूस कर कड़ा कर दिया और फिर से चुदाई शुरू हो गयी.

हिंदी सेक्सी फिल्म ट्रिपल एक्स

मैं अभी ठीक से गर्म भी नहीं हुआ था कि वो फिर से अकड़ने लगी और कुछ देर बाद वो जोर जोर से आहें भरते हुए एक बार फिर झड़ गयी. चाची बोले जा रही थीं- आह … चोद … चोद … चोद … और चोद … चोद न रे … चोद मेरी चूत … आह … चोद … चोद … चोद अपनी चाची को … कितना बड़ा चोदू है रे तू … कितना मजा देता है रे मेरी चूत को … चोद मेरी चूत … हाय रे मेरी चूत … हाय रे तेरा लंड. तो मैंने बीच की दो उंगलियां ऊपर की तरफ पलट कर चूत में डाल दीं और जैसा नेट पे मैंने पढ़ा था, वैसे जी स्पॉट ढूंढ कर उस पर उंगलियों से हरकत करने लगा.

कुछ देर बाद मैंने उसके दोनों चूतड़ों को अलग करते हुए उसकी गांड के छेद को अपनी जीभ से सहलाने और चाटने लगा. अगले दिन हम दोनों घर पर आए तो मेरे पापा ने ही दरवाजा खोला और उसे देखकर पूछा- हेलो धीरज, कैसे हो? तुम्हारी अगली प्रमोशन हो गई या नहीं? मैं तो पूरी सिफारिश करके आया था।उसने पूरे अदब से जवाब दिया और बोला- सर, आपकी मेहरबानी है. सेक्सी वीडियो देखना है यूट्यूब परतभी उसको पहली नजर में देख कर उसे चोदने का ख्याल आया मेरे मन में!साड़ी पहने हुयी पतली कमर, फूली हुयी गाण्ड, छोटी चुची मन तो किया कि अभी पटक कर चोद दूं।फिर मैं उसके बताने पर उसके पति के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया और इस प्रकार वो हर तारीख पर कचहरी आने लगी।एक दिन कचहरी आने पर उसने मेरा फोन नम्बर मांगा तो मैंने दे दिया.

मयूरी चिहुँक पड़ी… हालाँकि वो इस चीज़ के लिए पहले से तैयार थी पर सेक्स को लेकर वो भी पहले से अनुभवी नहीं थी.

शाम को मैंने मामी से मज़ाक में ही बोला- मामी आज आपने कुछ देख लिया था क्या?तो मामी बोलीं- हां मैंने तो बहुत कुछ देखा है. मैंने यह बोल कर उसके दोनों पैर को दोनों तरफ फैला दिया और उसकी चूत थोड़ा फ़ैल गयी.

उसकी उम्र लगभग 35 वर्ष, रंग गेंहुआ और अच्छी तरह मेन्टेन किया हुआ फिगर था. उसमें भी कोई कोई लड़की के अन्दर बहुत ज्यादा सेक्स की इच्छा होती है, उन लड़कियों में से है ये वन्द्या. मैं मौके ढूंढने लगी उनसे अकेले में बात करने के लिए!एक दिन मौका मिल ही गया, हमारे घर की रसोई का बल्ब फ्यूज हो गया था, घर में मैं और मम्मी हम दोनों ही थीं तो मम्मी बोली- जा दुकान से बल्ब ले आ! और आते आते तेरे राहुल भैया को बुला के आना, वो बदल देगा.

अब मुझे समझते हुए ज्यादा देर नहीं लगी कि प्रीति कल रात को क्या कर रही थी.

जैसा आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानी के पहले भागतनहा औरत को परम आनन्द दिया-1में पढ़ा कि पूर्वी मैडम को मेरे साथ सेक्स करके बहुत मज़ा आया और अब वो मुझसे सप्ताह में कम से कम एक बार तो ज़रूर ही मिलती हैं और हम दोनों जम कर सेक्स करते हैं. चचेरी बहन से सेक्स की चाहत की इस कहानी के पिछले भागताऊ की लड़की को चोदा-2में आपने पढ़ा कि मैं अपनी चचेरी बहन को चोदना चाह रहा था और वो भी मुझे अपनी हरकतों से जता रही थी कि वो भी मेरे बिस्तर की रानी बनना चाहती है. इसे हटाऊं फिर?”वहां के भी बनाओगे क्या?” उसने मेरी आँखों में झांकते हुए पूछा और मेरा दिल धड़क के रह गया।मैं अटपटाया सा उसे देखने लगा जैसे फैसला न कर पा रहा होऊं कि हां कहूँ या न और मेरे असमंजस को देख वह एकदम हंस पड़ी- इतना सोच क्या रहे हो.

इंग्लैंड सेक्सी वीडियो वीडियोहां मेरी चूत के अन्दर बहुत जलन हो रही थी, दर्द भी बहुत ज्यादा था, अब खूब मज़ा भी आने लगा था. जब से मामा की उनसे शादी हुई थी, तब से ही मैं मामी को पेलने का ख्याल अपने मन में संजोए हुए था कि हो ना हो.

हिंदी सेक्सी 2022 की

मेरी गुलाबी पकौड़े से फूली चुत देख कर उनका लंड फिर से खड़ा होकर हिनहिनाने लगा. बस मैं समझ गया कि आज तो इसकी चुत की खुजली मेरे लंड के लिए ही जागी हुई है. शुरुआत में तो मुझे कुछ पता नहीं चला, पर थोड़ी देर में मुझे उंगली के अन्दर बाहर होने से अच्छा लगने लगा.

मेरी बातों को सुनकर पूजा पहले तो मुस्कुरा दी और फिर बोली- वाह रे मेरी चूत के राजा, अगर मैं भी अपनी गांड मरवाती तो क्या तुम मुझे ऐसे अपने कमरे में नंगी लिटा कर अपने लंड से मेरी चूत चोद पाते? मैं भी इस समय अपने पति का या अपने घर के किसी नौकर का लंड अपनी गांड में लेकर सो रही होती. मेरा लंड सटासट उनकी चुत की दीवारों को चीरते हुए मानो जन्मों के प्यासे लंड को उनकी चुत की गंगा में डुबकियां दिलाने में मशगूल होकर पागलों की तरह उन्हें चोदे जा रहा था. खाना खाने के बाद हमने एक बार और चुदाई की और तब वो बोली- बहुत मजा आया, इतना मजा मुझे मेरे पति के साथ भी नहीं आया।फिर हम लोग साथ में नहाने गए, उसने मेरे शरीर पे साबुन लगाया और नहलाने लगी.

हालांकि अब तक मैं समझ चुका था कि मनीषा भी अपनी चुत चटवाने का मजा लेने लगी है. अब दीमा संग हमारे लंड और सरलता से रूसी सुन्दरी की गांड में अन्दर-बाहर होने लगे. मयूरी ने फिर से जोर देते हुए कहा- अब तुम दोनों अंदर जाओगे या मैं अपने हाथ से ही अपने आपको सुखी कर लूँ.

विक्रम किसी कम्पटीशन की तैयारी कर रहा था और रजत अभी सेकंड ईयर में था. मेरा लौड़ा चड्डी में टाइट होने लग गया था और थोड़ा थोड़ा गीला भी होने लगा था.

जैसे ही उन्होंने अपनी चड्डी निकाली, उसका लंबा सा लंड मेरे आंखों के सामने था, मैं उसे एकटक देखे जा रही थी.

इतनी मस्ती की बातों के बावजूद भी मेरे मन में उनके लिए कोई ग़लत ख्याल नहीं थे. एरोप्लेन की सेक्सी वीडियोसच बताओ बहुत बार ऐसा ही होता है ना?हम सिर्फ किसी की याद करके आहें भरेंगे और मुठ मारेंगे, शादीशुदा हो, या गर्लफ्रेंड होगी तो हमें जिसके साथ सेक्स करना है, उसे सोच कर उसके साथ सेक्स कर लो. अमेरिका की सेक्सी विमैंने देखा कि शायद दोनों ने ही 2-3 घंटे पहले ऑफिस से छुट्टी कर ली थी और सीधे यहाँ पहुंच गए थे, ताकि मेरे आने से पहले अपनी सुहागरात मना लें. बस एक हफ्ते की बात थी, पर मेरे मन बहुत बेचैन हो रहा था … तरह तरह के ख्याल मेरे मन में आ रहे थे.

मैंने नोटिस किया कि मनीषा मेरा पूरा लंड देखने के लिए जैसे पागल से हो रही थी.

पर अशोक अभी रुकने के मूड में नहीं था, उसने एक और झटका मारा और बाप का लंड जड़ तक बेटी की गांड के अंदर चला गया. तुम मुझे पार्किंग के पास मिलो।मैं पार्किंग के पास गया और उनका वेट करने लगा। कोई 15 मिनट के बाद एक आई-20 आ कर रुकी और शीशा नीचे करके उन्होंने आवाज दी- रवि आओ अन्दर।मैं अन्दर बैठ कर बोला- साक्षी जी ये कार?साक्षी- मेरी है. चूँकि मेरी तो पहली बार किसी लड़की की साथ सेक्स मूवी देख रहा था तो फटी पड़ी थी.

मैंने कहा- क्या बात है मेरी रानी … आज बहुत रोमांटिक मूड में है?तो वह बोली- आज इस बारिश ने मूड रोमांटिक कर दिया!मैंने कहा- अच्छा ऐसी बात है तो आओ हम जन्नत में चलते हैं. अब भाभी भी जोश में आकर मुझसे कहने लगीं- उफ़फ्फ़ थोड़ा और ज़ोर से दबाओ ना. मैं कम्मो को कल से वाच कर रहा था जब वो उन लड़के लड़कियों के साथ मस्ती कर रही थी और ऐसा लगता था कि उसकी उमड़ती भरपूर जवानी उसे चैन नहीं लेने दे रही है और उसकी चूत चीख चीख कर लंड मांग रही है.

सेक्सी वाला एप्स चाहिए

कभी कभी तो मैं उसके दूध इतनी ज़ोर से दबा देता कि उसकी चीख निकल जाती. खुले में तो नहीं, पर तीनों को पता था कि पोर्न मूवी लैपटॉप के किस ड्राइव में कहाँ रखी है. ”उन्होंने होटल का नाम बताते हुए चलने का कहा, हम दोनों होटल में आ गए.

तुरन्त नहाने की वजह से मयूरी के शरीर पर अभी भी पानी की बूंदें थी और ये सब रजत को और भी मदहोश कर रहा था.

मैं भी उनकी गोरी चिकनी गदरायी मोटी मोटी भरी हुई जांघें देख कर मुँह में पानी लाता और अपनी जीभ होंठों पर फिराने लगता.

पापा का बिजनेस है और मम्मी हाउसवाइफ हैं, मैं और मेरा भाई एक ही कॉलेज में साथ साथ पढ़ाई करते हैं. ऐसा कहते हुए वो बिस्तर पर चढ़ कर खड़ी हो गाती और पापा के हाथ से किताब छीन कर बगल में पटक दी. सबसे सेक्सी लड़की कौन हैये सुनते ही रशीद बोला- अरे तू ऐसी है कम से कम दस बार चोदने के बाद भी तेरा जादू बढ़ता ही रहेगा, तू डर मत.

इस तरह से उसने मुझे उसके लव अफेयर के बारे में भी बताया और मुझसे पूछा- आपका कोई ब्वॉयफ्रेंड है?तो मैंने ना बोला. अब तक की इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागग्रुप सेक्स का ऑनलाइन मजा-2में आपने जाना था कि मुनीर तारा और माइक का थ्री सम सम्भोग चल रहा था, जिसे मैं ऑनलाइन देख रही थी. मैं जोर की आवाज के साथ उनके मुंह में झड़ गया और वे घुटने के बल बैठ कर सारा पानी पी गई.

चाचा- क्या करूँ रानी, तुम्हारी चूत ही ऐसी है कि चोदे बिना नहीं ठहर सकता. वो देख के बोली- तो पहले क्यों नहीं लगाया इसको?मैं- अरे हम दोनों का पहली बार था, सो मैं इस एहसास को फील करना चाहता था.

उस वक्त मामी वहीं खड़ी थीं और मैंने अपना तौलिया ढीला कर दिया ताकि वो नीचे गिर जाए और मामी जी को मेरे लंड के दीदार हो जाएं.

जैसे ही चाचा का लंड मेरी गांड के छेद में टच हुआ, मुझे बहुत अजीब सी फीलिंग हुई. फिर अशोक ने फिर से उसकी गांड और अपने लंड पर बहुत सारा तेल लगाया और अपना लंड अपने बेटी की मखमल जैसी गांड पर रखकर सेट करके पूछा- बेटी, तुम तैयार हो?मयूरी- कब से पापा… मैं तो हमेशा से चाहती थी कि आप मेरी गांड उसी तरह मारें जैसे आप मम्मी की मारते हो. मैंने उसकी कमर को फिर से कसकर पकड़ा और पूरी ताकत लगा कर धक्का मार दिया, जिससे पूरा का पूरा लंड दीदी की चुत की गहराई में उतर गया.

बीपी विदेशी सेक्सी मैंने मौसी के पीछे जाकर उनकी कमर को पकड़ा और अपना लंड उनकी तोप सी उठी गांड के रास्ते चुत की फांकों में लंड फेरा, तो मौसी ने जरा एडजस्ट करते हुए लंड को रास्ता दिखा दिया. उसकी फोटो मैंने जय को भेजी तो वो शालिनी का दीवाना हो गया। मैंने जय को उसका रेट बताया और बात पूरी पक्की कर ली।2 दिन बाद रविवार था, जय ठीक समय पर मेरे पास आ गया.

दोस्ती तो थी लेकिन पूरी तरह पवित्र, किसी भी प्रकार का सेक्सुअल आकर्षण या शारीरिक संबंध कभी भी किसी के साथ नहीं रहा. उनकी सोच एक अलग बात है, मगर आपकी बिना रज़ामंदी के कोई रिश्ता पक्का नहीं हो सकता. मैं अपनी जवानी दिखाने के लिए अपने पड़ोस की औरतों के साथ शाम को घूमने निकलने लगी.

कतरिना कैफ कि सेक्सी विडिओ

जैसे जैसे डीके के धक्के बढ़ते गए, मेरे और जॉन के बीच का घर्षण भी बढ़ता गया. इस चुदाई से उसे खूब मजा आया था और वो मुझसे बहुत खुश हो गई थी और अब तो गाहे बगाहे उसकी चुदास को मेरा लंड शांत करने लगा था. मेरा भी लंड पेंट से बाहर आने लगा, मेरा लंड उसको अपनी चुत में महसूस हो रहा था.

” कम्मो बोली और अपनी चप्पल उतार कर पांव ऊपर कर के पालथी मार के बैठ गयी. मयूरी- आ… आह… पापा…अशोक कुछ नहीं बोला और अपने हाथ की एक उंगली मयूरी की गांड की दरार से होते हुए उसकी गांड की छेद में डालने लगा.

मैं उनसे अकेले में मिलने को बहुत एग्ज़ाइटिड था, पर शरम भी बहुत आ रही थी.

जब मैंने आँखें खोली तो देखा कि दरवाजे पर नौकरानी खड़ी है और बड़ी गौर से वह हम दोनों की लंड चुसाई देख रही थी. उस पूरी रात मैंने उनके नाम की दो बार मुठ मारी और सुबह 4 बजे सो पाया. इसलिए लिख रहा हूँ।बात उस समय की है, जब मैं चंडीगढ़ में पढ़ता था। शुरू में तो काफी दिक्कत आई, नया शहर था.

अन्दर बिस्तर पर चाची पूरी नंगी चित लेटी हुई थीं और चाचा उनकी चूचियों पर टूटे पड़े थे. फिर मैंने धीरे से उसके कुरते को उतार दिया, जिसमें उसने भी मेरा साथ दिया. मयूरी की इस मनमोहक काया को देखर रजत अपनी नजरें मयूरी के इस कातिल बदन से हटा नहीं पा रहा था.

थोड़ी ही देर में उसने अपना दूसरा हाथ, जो बेटी की गांड के छेद में व्यस्त था, को वहां से आजाद कर उसको मयूरी की चूचियों पर लगा दिया, इस तरह से अशोक अब पूरी तरह अपना ध्यान उन विशाल और बहुत ही आकर्षक गोरी चूचियों को चूसने और मसलने में व्यस्त हो गया.

देहाती बीएफ सेक्सी पिक्चर: जैसे ही मैं लेटी, चाचा ने मेरे दोनों चूतड़ों को फैला कर गांड के छेद को खोला और जोर जोर से गांड चाटने लगे. दोनों भाई-बहन काम वासना में लिप्त सब कुछ भूलकर एक दूसरे पर कुर्बान हो जाना चाहते थे.

मैंने सत्यम को पानी लाकर दिया… सत्यम ने मुझे अपनी गोद में बैठा लिया और अपने भूतकाल के बारे में बताते हुए मेरे निप्पल मसलते रहे. मैंने भी मन ही मन तय कर लिया कि इसे रोशनी में पूरी नंगी करके अपने लंड पर झूला न झुलाया तो मेरा भी नाम नहीं. मयूरी को अब बहुत ज्यादा आनन्द आने लगा, उसने अपने होंठ पापा की होंठों पर रख दिए और जवाब में पापा ने भी अपने होंठों से उसके निचले होंठ को कैद कर लिया.

अब मैंने भी बिना देर किए भाभी को सीधा लेटाया और अपना लंड उनकी चूत की फांकों में लगा कर अन्दर डालने लगा.

इस बार मेरा लंड उसकी बच्चेदानी से टकरा गया, जिससे प्रिया को थोड़ा दर्द हुआ. अपने हाथों से आंटी के आमों को मसलते हुए मैं अपनी गांड को गोल गोल घुमाता रहा. चाचा जी बोले- वाह रे मेरी बहू रानी, तेरी तो गांड तो और भी कमाल की है.