बीएफ 2005 के

छवि स्रोत,जापानी सेक्सी हॉट वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ कैसे बनती है: बीएफ 2005 के, मेरा भी यह पहला सेक्स का अनुभव था पर मैंन पोर्न मूवी से सब सीख रखा था.

भाई बहन का सेक्सी चूत

मेरा लंड खून और चूत के पानी से नहाया हुआ और भी कठोर और मोटा दिख रहा था. कॉल गर्ल पुणेजाते जाते उसने सबके सामने मेरे होंठों के पास चूम लिया और कामुक हंसी के साथ चली गईं.

उन्होंने मुझे रोक लिया और बात करते करते … भाभी की चूत चुदाई की कहानी का मजा लें. భూమిక సెక్స్ భూమిక సెక్స్ భూమిక సెక్స్उसके बाद मैंने उनके मम्मों को चूसना शुरू किया, तो भाभी मस्त सिसकारियां लेने लगीं.

मैंने स्पीड बढ़ा दी और 15-20 धक्कों में हम दोनों का साथ पानी निकल गया.बीएफ 2005 के: दो मिनट में मैं बेकाबू हो गया और मैंने चाची से सिसकारते हुए कहा- बस चाची… अब मुंह में ही निकल जायेगा.

मैं वहां सामान सेट कर रहा था कि तभी बरखा भी वहां आ गयी वो मुझे पूछने लगी कि मैं कहां से हूँ.उसकी आँखों की खुमारी बता रही थी कि वो टीन सेक्स वाली चुदास से गर्म है और कोई बहुत ही हॉट मूवी देख रही है.

राजस्थानी खेतों में सेक्सी वीडियो - बीएफ 2005 के

मुझे परम सुख तो जब मिलता है, जब लड़की की चूत चाटो और उस समय जिस तरह से उसकी सिसकारी निकलती है … वो सुन कर मेरा लंड खड़ा होकर उसकी चुदाई करना मांगने लगता है.जब मेरा वीर्य निकलने को हो गया तो मैंने उसका पूरा आनंद उठाने के लिए अपनी आंखें बंद कर ली और पूरी तरह उस वेश्या के नंगे बदन से चिपक कर उसकी चूत में लंड को पेलते हुए उसको चोदने लगा.

मैंने नाचती अनुजा को आगे बढ़ कर अपने सीने से लगाया और उसके होंठों को चूसने लगा. बीएफ 2005 के मैंने बच्चों को टीवी पर लगा दिया और अंजना को तैयार होकर ऊपर आने को बोला.

परिवार में सब मुझे मिलन कहते हैं, पर मेरे आशिक मुझे मालिनी कहते हैं.

बीएफ 2005 के?

उसने पहली बार में ही मेरे लंड को अपने हलक तक ले लिया, जिससे पूरा लंड फिर से गीला हो गया. मैं भाभी के चूतड़ों से कई बार में बीच में चिपक कर रुक जाता, तो भाभी मुझे प्यार से सहलाने लगतीं. जब भी वो कुर्सी पर बैठती थी तो उसकी गांड उसकी कुर्सी पर बाहर निकली हुई अलग से ही दिखाई देती थी.

आंटी कुछ नहीं बोलीं, शायद वो खुद भी अपनी बेटी के सामने मुझसे चुदवाना चाह रही थीं. भाभी हंस कर बोलीं- फिर इसके बाद क्या अपनी भाभी को बिना चुत के कर दोगे?मैंने भी हंस कर भाभी को चूम लिया. उसके बाद आंटी ने दो मिनट के पश्चात् अपनी कमर को हिलाना शुरू कर दिया.

तो पीयूष ने पूछा- मुझे भी मिलवाएगा क्या उससे?मैं बोला- क्यों नहीं यार … जब तुमने अपनी बुआ की लड़की मेरे से चुदवाई थी, तो मेरा भी तो कुछ फ़र्ज़ है. कुछ ही देर में इस बात का भी खुलासा हो गया कि मैं अपनी माँ को भी चोदता हूँ और उनसे मैंने दो बेटियों को जन्म दिया है. हम दोनों ने रसोईघर, छत पर भी चुदाई का मजा लिया था … मतलब ये कि हम दोनों ने घर का कोई कोना ऐसा नहीं छोड़ा था, जहां सेक्स न किया हो.

अब मैं एचआईवी पोजीटिव हूं और अपनी स्नात्कोत्तर की पढ़ाई कर रहा हूं. एक मिनट बाद उसने मुझे ये कहते हुए दूर कर दिया कि बस … कोई जाग जाएगा.

मुझे जिस प्रोग्राम में जाना था, वहां पर मैं बहाना बनाकर जल्दी से निकला.

आपको जानकार हैरानी होगी कि उसने यह सब केवल अपने मनोरंजन और मौज मस्ती के लिए किया था.

बस अभी उसकी गांड नहीं मार पाया हूँ … मौक़ा मिलते ही वो छेद भी खोल दूँगा. उन्होंने मेरा सामने से खुलने वाला हाफ कुर्ता खोल दिया और मैंने उनकी ब्रा खोल दी. मेरा नाम अर्जुन है, मैं 19 साल का हूँ, मैं अपने पापा और सौतेली मां के साथ दिल्ली में रहता हूं.

मैं अपनी मकान मालकिन आंटी को पसंद करता था, उनसे मुहब्बत करता था और आंटी की चुदाई करना चाहता था. मैंने उससे कहा- प्लीज़ एक बार और चोदने दो … उसके बाद रिलैक्स हो लेना. उसकी 36 इंच की छाती … 30 इंच की कमर और 38 इंच की तोप सी उठी हुई गांड … जिसे बहुत लोगों ने मारी है.

मैं उसको अपनी गोद में उठाकर उसके रूम में ले गया और उसको बिस्तर पर गिरा कर किस करने लगा.

मैंने उसके लंड को जीन्स के ऊपर से पकड़ने की कोशिश की तो उसका लंड और ज्यादा तनाव में आ गया. तभी मैंने देखा वे दोनों जुड़वां बहनें एक लड़के के साथ एकदम चिपक कर फोटो ले रही थीं. बीच बीच में बारी बारी से में दोनों को अपनी टेबल पर लाता और पैग लगवाकर वापिस डांस फ्लोर पर ले जाता.

नहाने के बाद दोपहर में मैंने फिर से गांड में मोमबत्ती लगा कर एक बार फिर से गांड को लंड से चुदने के लिए तैयार किया. एक दिन जब मैं कॉलेज से घर आया, तो घर पर कोई नहीं था सिवाए अंजू भाभी के … सब पड़ोस के घर में कीर्तन में गए थे. हम अलग हुए, मैंने प्यार से उसके गाल को छूते हुए उसके कंधे पर हाथ रखा और फिर उसके बालों को खोल दिया.

हम अलग हुए, मैंने प्यार से उसके गाल को छूते हुए उसके कंधे पर हाथ रखा और फिर उसके बालों को खोल दिया.

मैं बोला- मॉम, किट्टी पार्टी में सबसे सेक्सी और हॉट आप ही दिख रही होंगी?मॉम बोली- नहीं बेटा और भी है 3-4 लेडीज जो मेरी जैसे फिगर वाली है और दिखने सेक्सी और हॉट नजर आती हैं. उसके अन्दर आते ही मैंने उसका टॉप ऊपर कर दिया और मैंने उसके निप्पल को सीधा मुँह में भरके चूसने लगा.

बीएफ 2005 के इसमें प्रकाशित कुछ सेक्स कहानियां काल्पनिक जरूर लगती हैं, लेकिन रसभरी हैं. पार्टी के बाद उसने दोबारा से मेरा नाम पूछा, तो मैंने भी उसका नाम और क्लास पूछ ली.

बीएफ 2005 के मैंने अपनी पत्नी स्वाति से पूछा- तुम कब वापस आओगी?वो बोली- कम से कम 2 दिन बाद. फिर वो कहने लगी- अरे आदित्य जी, आपके आने की खुशी में मैं तो यह पूछना ही भूल गयी कि आपको यहां पर आने में कोई परेशानी तो नहीं हुई?मैंने कहा- नहीं, कोई परेशानी नहीं हुई.

अब अपनी मामी के बारे में बता दूँ … वो कद में छोटी हैं तकरीबन साढ़े 4 फिट की होंगी.

बीएफ पिक्चर हिंदी में बीएफ हिंदी में

इसके आगे शीनू ने क्या किया और उसकी बहन के साथ कैसे चुदाई का मजा आया. मां अपनी टांगों को फैला कर बोली- अपने लंड को एक बार इस पर लगा कर देख. दो मिनट के बाद चाची खुद ही अपनी गांड को पीछे धकेलते हुए गांड चुदवाने का मजा लेने लगी.

जब तक उसकी कोई कोशिश अमल में आती, या वो खुद को मुझे अपने आपको आजाद करा पाती, मैंने मन बना लिया था. मैंने सिप लिया और उसकी तरफ देखा, तो उसने मेरे होंठों से होंठ लगा कर आधा जाम ले लिया. मैंने धक्का दिया लेकिन पहले धक्के में मैं लंड को घुसाने में कामयाब नहीं हो पाया.

कुछ देर हमने एक दूसरे की चूचियों को दबाया और फिर चारों एक ग्रुप बना कर नाचने लगीं.

सच में क्या लंड था भाई का … ऐसे ही लंड की तो तलाश थी … ऐसा लंड जब मेरी चूत में जाएगा तो मुझे दुनिया का हर आनंद मिल जाएगा. उससे सब्जी लेकर मैं घर के अन्दर जाने लगी, तो वो मुझसे बोला- भाभी जी पैसे?मैंने कहा- भैया अभी अन्दर से लाकर देती हूँ. मैंने झुक कर मोसी के होंठों को चूसना शुरू किया और फिर तीसरे झटके में पूरा लंड मोसी की चूत में उतार दिया.

दो मिनट बाद वो बोली- जल्दी करो … अब तुम अपना लंड मेरी चूत में डाल दो. हालाँकि यह अभी सोने का वक़्त नहीं था, मगर मुझे पता था उसे नींद क्यूं चाहिए थी. बीच बीच में बारी बारी से में दोनों को अपनी टेबल पर लाता और पैग लगवाकर वापिस डांस फ्लोर पर ले जाता.

कुछ देर के बाद मैं अपने कमरे में चला गया और सोचने लगा कि मैंने मां को नाराज कर दिया. जल्दी ही मैं अपने जीवन की किसी और रीयल सेक्स स्टोरी के साथ लौटूंगा.

अचानक मेरे लोड़े ने चार-छह छोटी-बड़ी पिचकारियाँ हवा में निकलीं, उनमें आज इतना जोर था कि एक दो तो मेरे मुंह पर आ कर गिरी. मैंने ज्यादा फ़ोर्स नहीं किया क्योंकि उसको देख कर आज दिल में अजीब से जज्बात आ गए थे. फिर मेरी बीवी ने उसके पीछे की तरफ जाकर उसकी ब्रा को पीछे से खोल दिया.

मैंने निम्मी का नाम सुना, तो उसे चूमते हुए कहा- तुम चिंता न करो … हम शाम को उसे साथ ले जा कर उसकी पसंद की ड्रैस दिला लाएंगें.

लेकिन थोड़ी देर बाद अनिल ने एकता को नीचे बेड पर लिटा दिया और खुद एकता के ऊपर आकर मस्ती करने में लग गया. मगर सबने खाना भी खा लिया और सब अपने अपने कमरों में सोने के लिये चले गये. उन्होंने दिखावटी स्माइल पास करते हुए कहा- नहीं, कोई बात नहीं … मैं ठीक हूँ.

थोड़ी ही देर में वो अकड़ने लगी और मुझे अपने लंड पर कुछ गीला गीला सा लगने लगा. अभी टिकट निकाल कर देखने ही वाला था कि एक ने मुस्कुराते हुए कहा- घबराइए मत … हम लोग नहीं जा रहे हैं.

मैं नाटक करके सो गई और अपने पल्लू को अपनी चूचियों पर से हटा कर अलग कर दिया. उसने पूछा- अभी ही क्यों नहीं?मैंने कहा- अभी मिष्टी के पापा को आना है. वो बहुत खुश हुए और बोले- तुम इसका मतलब समझती हो?मैंने कहा- मैं आपसे प्यार करती हूँ.

ब्लू बीएफ व्हिडिओ

आज मैं तुमको प्यार से सिखाते हुए चोद रहा हूँ … कल को हो सकता है कि तुम किसी नासमझ लौंडे से चुदने का मन बना लो, तो तुम्हारी चुत के तो चिथड़े उड़ जाएंगे.

उसका कुर्ता ऊपर उठाकर कबूतरों को आजाद कर दिया और उसकी बुर सहलाने लगा. वैसे मुझसे तो इंतजार करना मुश्किल हो रहा था मगर उसकी बात भी माननी पड़ती थी मुझे. उसने बताया कि उसकी सील अठारह साल की उम्र में ही टूट गयी थी … और तभी से मुझे सेक्स की भूख लगी रहती है.

आंटी के हाथ में लंड जाते ही मेरे अंदर एक मस्ती सी भर गई और जैसे पूरे शरीर में करंट दौड़ गया. वो जरा सी मुस्कुराईं और बोलीं- मैं अपना नाम नहीं बताऊंगी, तो आप मेरा नाम क्या रखेंगे. जीजा साली की सेक्सी फिल्मेंमेरे कॉलेज में समर वेकेशन चल रहे थे, मैं दोस्तों के साथ जम्मू-काश्मीर जाने की प्लानिंग कर रहा था.

मैंने भाभी की टांगों को पूरा फैलाया और अपना लंड उनकी चूत पर सैट करके धक्का दे मारा. मैं- उफ़ ऑफ ओम्म ऊऊ … मेरी जान क्या मस्त लंड चूसती हो … भाभीजान तुम तो बिल्कुल किसी अनुभवी रंडी की तरह लंड चूस रही हो.

मैंने निशा को अपने ऊपर लेटाया और चूत में लंड डाल कर नीचे से धक्के लगाना शुरू कर दिया. शीनू समय पर आ जाती और जब तक मैं जाने की नहीं कहता, वो नहीं जाती थी. दरअसल हुआ ऐसा कि मेरी कॉलेज की पढ़ाई खत्म हो गयी और मैं एक कंपनी में काम करने लगा.

मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने मुझे अपनी तरफ खींचा और फिर से मेरे लंड को चूसने लगीं. जैसे ही उसने मुझे देखा वो जोर से चिल्लाई और मैं भी घबरा कर बाहर हॉल में आ गया. उन्होंने मेरी टांगें उठाई और अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया.

इसी के साथ मैंने अपने ब्लाउज के एक बटन खोल दिया … ताकि मेरा चूचे उसे साफ साफ दिखाई दे जाएं.

बोलो तो कल!मैंने बोला- ओके!मैं उसके ऊपर से उठा, तो वो अपने कपड़े उठाने लगी. मैंने उनसे कहा- गांड ढीली छोड़ना मेरी जान … बस मिसायल घुसने वाली है.

फिर बरखा अपनी गांड और चूत मुझे दिखाने लगी और कहने लगी- आज तुमको मेरी गांड और चूत दोनों ही मारनी है. मां भी कभी कभी अपने स्तर का कोई काम कर लेती हैं … लेकिन फिर भी घर चलाना मुश्किल ही होता है. फिर दो मिनट के बाद उसने मेरा सर वहीं पर दबा दिया और गांड उछालने लगी और फिर अचानक शान्त पड़ गयी.

मेरे लन्ड के आगे की चमड़ी बहुत पीछे चली गई थी, अंदर का लाल सुपारा बाहर था. वो बोली- क्या हुआ?मैं बोला- तुम्हें एक बार जी भर के देख लूं … शायद फिर कभी मौका ना मिले. ये तो सच है कि वक़्त सबका बदलता है, लेकिन इतनी जल्दी वक़्त बदल जाएगा … इसका मुझे बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था.

बीएफ 2005 के वो पूरे जोश में सिसकारियां ले रही थी- आहह मेरे राजा … आज बजा दो मेरे चूत का बाजा!मैंने उसकी नाभि पर किस करते करते धीरे से अपने दांतों से उसकी पैंटी को खींच कर निकाल दिया. मैंने कहा- क्यों?वो बोली- क्यों … मतलब क्या आप नहीं जानते हो कि किसी भी औरत में सन्नी लियॉन को देखने का क्या मतलब होता है?मैंने कहा- नहीं मुझे नहीं मालूम कि क्या मतलब होता है … मुझे तो बस सन्नी लियॉन की हिंदी मूवी अच्छी लगती हैं, तो मैं आप में वही सब देख रहा था.

बीएफ सेक्सी औरत

तब भी मेरी ये जानने की इच्छा थी कि आखिर कौन है, जिससे दीदी इतनी लंबी बातें करती हैं. उस हॉस्टल में देश विदेश की मस्त और गर्म लड़कियों को देख कर मेरा लंड बार बार अपनी चरम सीमा पर खड़ा हो जा रहा था, लेकिन बेबसी में मुझे लंड को सिर्फ हिला कर ही शांत करना पड़ रहा था. तुझे मैंने पूरा मजा दिया ना, फिर क्यों कंडोम के पीछे पड़ा हुआ है?मैंने कहा- तुमने निकाला कंडोम?वो बोली- हां, तो? मजा नहीं मिला क्या तेरे को?मैंने झल्लाते हुए कहा- तुम्हारा दिमाग खराब है क्या? तुमने कंडोम क्यों निकाला?वो बोली- साले अब दिमाग मत चाट, तेरा हो गया ना, अब निकल यहां से.

फिर हमने सभी फॉर्मेलिटीज पूरी की और मैं अगले दिन से वहां रहने आ गया. उसके जाने के दस मिनट बाद ही सभी के लंड बैठ पाए होंगे, ऐसा मेरा अंदाज था. दिशा सेक्सलेकिन संतुष्ट हो गई ना?मॉम बोली- हां आज थोड़ी थकी हुई हूं इसलिए जल्दी हो गया.

अब आगे:मेरे मामा और मामी अपनी सुहागरात मना रहे थे तो मैंने मामी की नंगी चूत देख ली थी.

मेरी इंडियन सेक्स स्टोरी के पिछले भागचाची को पटाकर चूत चुदाई का मजा लिया-1में मैंने आपको बताया था कि अपनी कज़न सिस्टर की शादी में मैंने चाची की गांड पर लंड लगा दिया था. लेकिन तेरा लन्ड यह तेल लगाने के बाद मेरी गान्ड में आराम से घुस जायेगा.

फिर मैंने लंड का टोपा जैसे ही उसकी चुत के अन्दर किया, वो चिहुँक उठी. फिर मैंने एक झटका और मारा, तो उसके मुँह से लम्बी सी कराह निकली- आह हम्म सससस … मर गई. मुझे अपनी किस्मत पर यकीन नहीं हो रहा था कि जिस लड़की को पहली बार देखते हुए मेरे मन में उसकी चुदाई का ख्याल आया था, वह आज मेरे लंड के नीचे थी.

उसने फिर अपनी एक उंगली को उसकी चूत में दे दिया और ऊपर से उसको जीभ से भी चाटती रही.

मौसी मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं मौसी के होंठों को चूस रहा था. मैंने अपनी शर्ट उतार कर अलग कर दी और निशा से बोला- यार, तुम उस साइड घूमो, मुझे पैंट बदलनी है. मॉम सेक्स विडियो की बात पर थोड़ी सीरियस होकर बोली- तू यह सब देखता है?मैं रोने जैसा चेहरा करके बोला- सॉरी मॉम, आगे से नहीं देखूंगा.

हॉस्टल गर्ल सेक्सीइसके बाद कई बार मैंने आंटी की चूत बजाई और फिर अचानक से वो ऑफिस छोड़ कर पंजाब चली गई. एक तो दारू का नशा उस पर बदन तोड़ चुदाई ने उसकी सारी शक्ति छीन ली थी.

हिंदी एचडी बीएफ चोदी चोदा दर्दनाक

आंटी मेरा लम्बा लंड देख कर मस्त हो गईं और बैठ कर मेरे लंड को चूसने लगीं. अब मैं पूरी तरह बरखा के सामने नंगा होकर खड़ा था पर अभी तक बरखा का सिर्फ साड़ी का पल्लू ही नीचे था. मैं उनके घर जाता रहता था तो भाभी मुझे कोई भी काम बता देती थी और मैं उनके काम भी कर दिया करता था.

मैं बोला- मॉम इतने बड़े, सेक्सी, हॉट और गोरे बूब्स तो मैंने पोर्न वीडियो में भी नहीं देखे कभी!मॉम बोली- थैंक्स बेटा!फिर मैं बोला- मॉम, आपके बूब्स में यह लाल लाल क्या हो गया है?तब वो मेरे पास बेड पर आकर बैठी और बोली- बेटा, यह तेरे पापा का कारनामा है. वो मुझे हद से ज्यादा प्यार करते हैं और पूरी तरह से संतुष्ट भी रखते हैं. उसका बदन इतना सेक्सी था कि मैंने डेढ़ घंटे में तीन बार मुठ मार ली थी.

कुछ देर तक उसका डर खत्म करने के बाद और उसे पूरी तरह से कामुक कर देने के बाद मैंने अपने लंड को उसकी बुर के मुँह पर रखा. मैंने अपनी जिप को खोल दिया और पैंट को खोलते हुए अंडवियर नीचे करके लंड को बाहर निकाल लिया. वो पूरे मनोयोग से मेरी फुद्दी को चाट रहा था और कोशिश कर रहा था कि जहां तक हो सके वो अपनी जीभ मेरी फुद्दी के अंदर डाल दे।मैंने उसको कहा- मेरी जान, इधर को घूम जा, मैं भी कुछ चूस कर देखूँ।उसने उठ कर अपनी पेंटी उतारी.

उन्होंने खुद को मुझसे तुरंत छुड़वाया … और पूछा- और दूल्हे राजा …ऐसे कह कर वो मुझे छेड़ने लगीं. कोई दस मिनट बबाद बाइक की आवाज़ सुनाई दी, तो मैं शांत होकर ऐसे लेट गई … जैसे विशाल को लगे कि मॉम सोई हैं.

इधर एक बात और बता दूं कि मेरी सलहज काव्या करीबन 6 महीने हमारे यहां रही और इन 6 महीनों में मैंने कैसे कैसे उसको मन भर चोदा … यह मैं अपनी अगली कहानियों में लिखूंगा.

उस दिन के बाद से मुझे पता नहीं क्या हुआ कि मेरा मन बार-बार मम्मी पापा की चुदाई को लाइव देखने के लिए करने लगा. செக்ஸ்ய் வீடியோ மொவயேहर थप्पड़ के झटके में उसके मुँह में रवि का लंड और अन्दर चला जाता था. देवर भाभी सेक्सी व्हिडिओ हिंदीऔर मैंने बरखा से पूछा- तुम्हारी गांड का क्या साइज है?तो बरखा ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा- मेरी गांड का साइज तुम खुद ही पता कर लेना. मेरा मन कर रहा था कि जाकर प्यार का इजहार कर दूं, पर हिम्मत नहीं हुई.

अगली कहानी में आपको बताऊंगा कि मैंने और कैसे कैसे मोसी को चोदा … मोसी और मेरे बीच में और क्या-क्या हुआ.

थोड़ी देर बाद मैं हनी की टांगों के बीच आ गया, उसके कबूतर पकड़ लिये और बुर चाटने लगा. मैंने कहा- रोज़ हाथ से काम चला रहा था … अब आप मिल गयी हो, तो आप ही अपने हाथ से शांत करो. मैंने बोला- क्या शेव नहीं करती हो?उसने कहा- शादी से पहले करती थी … पर अब तो दिल ही नहीं करता.

फिर पापा ने अपने लन्ड की नकली चूत से चुदाई बीच में रोक दी, पापा अभी भी संतुष्ट नहीं हुए थे. फिर बरखा ने अपनी चूत पर एक जेल जैसी लगाई और मेरे लंड पर भी वह जेल लगा दी. वो मस्ती से चिल्ला रही थी- चोदो मुझे … आह जोर से चोदो रॉकी … अहह अहह अब रहा नहीं जा रहा रॉकी … आज मेरी प्यास बुझा दो … अन्दर तक डालो लंड को … आह आह आह आई लव यू रॉकी.

सेक्सी बीएफ हिंदी भोजपुरी एचडी

तभी मेरी नज़र मेरी कजिन यानि चचेरी बहन पर गई, वो बहुत ही गजब का माल लग रही थी. मैंने उसको समझाते हुए कहा- मेरा मतलब अब इसकी जिम्मेदारी के साथ साथ, तुम जब कभी रिलैक्स होना चाहो … तो यहां आराम कर सकती हो. मैं उनके बूब्स के साथ खेलना चाहता था चूत और गान्ड के साथ अपने लन्ड का एनकाउंटर करना चाहता था.

आंटी की तेज चीख निकल गई, लेकिन मुझे मालूम था कि ये दर्द कुछ ही देर का है.

फिर आ जाना।मैंने खाना खाया और 9 बजे के करीब बरामदे में लेट गया। ऐसा लग रहा था कि जैसे दिल बाहर निकल आएगा.

एकता बनावटी ग़ुस्सा करते हुए कहने लगी- नहीं … मुझे जाने दो … मुझे नहीं लेना ऐसा वाला मजा. फिर क्या था अपनी तो जैसे लॉटरी लग गई!सुबह मैं जल्दी ही उठ कर नहा धो कर तैयार होकर मामा के घर पहुँच गया. चंडीगढ़ सेक्सी ब्लू फिल्मकशिश ने मुझे छेड़ते हुए कहा- सर जी इन्नी गर्मी? (इन्नी इतनी)मैं- तंदूर में आटे का सख्त होना स्वभाविक है.

मैं बोला- मॉम, 38″ के 42″ कैसे हो जायेंगे?तब मॉम बोली- बेटा, जब किसी लड़की की शादी होती है तो शादी के बाद उसके शरीर के कई अंगों में वृद्धि होती है विशेष तौर पर बूब्स और हिप्स में! क्योंकि आदमी औरत जब शारीरिक संबंध बनाते हैं तब परिवर्तन आता ही है. विशाल ने कहा- मॉम क्या मैं आपकी मदद कर सकता हूँ?मैंने पूछा- कैसे?विशाल ने साफ़ साफ़ कह दिया- आपको चोदने के लिए मेरा लंड बेचैन हो गया है. फिर कुछ ही पलों में कोई 8-10 झटकों में मैंने भाभी का मुँह अपने वीर्य से भर दिया.

वो बोलीं- क्या सुनूं?मैंने बोला- आप मेरे साथ चलो बस दस मिनट के लिए … अगर मैं नामर्द साबित हुआ, तो खुद ही शादी के लिए मना कर दूंगा. बुआ शायद मेरे इरादे भांप गयी थीं- चल बदमाश, अकेले में तू अपनी दुल्हन से मिलना … चल अभी कोई आ जाएगा.

मैं शादी-शुदा हूँ पर मेरा एक बॉयफ्रेंड भी है थोड़ी बड़ी उम्र का … करीब 45 साल का! और मेरे बॉयफ्रेंड की एक 19 साल की बेटी है जिसका नाम आशिमा है पर प्यार से उसे सब आशी कहते हैं.

वे ताला बाहर से नहीं लगाते थे हमारे घर की तरफ से लगाते थे ताकि किसी को पता ना चले कि वे लोग कहीं बाहर गये हैं।प्रमिला आंटी की उम्र लगभग 42-43 साल होगी. मैंने जीभ की रफ्तार बढ़ा दी और उसकी कोमल अछूती बुर को जीभ से चोदने लगा. उसके बाद बारी आई पीठ और कमर की, मैं उसकी गांड पर चढ़ कर बैठ गया और उसकी पीठ और कंधों के साथ ही कमर की मसाज करने लगा.

స్స్ వీడియోస్ अब मैंने अपने हाथ से धीरे धीरे उसके पैर कुछ इस तरह से फैलाये कि वो जागे न. जब मैं भाभी की कमर को किस कर रहा था, तब उनकी गांड के छेद पर मेरा लंड लग रहा था.

आफताब का भी यही हाल था, और आप शायद मानेंगे कि कुंवारे लड़के की यही हालत रहती है. वो बोली- कहां आ रही है बारिश … मौसम तो साफ़ है?मैंने देखा तो अब बूंदें नहीं आ रही थीं. इस मोलभाव को तय करने का अधिकार मेरे पास रहता था … जिससे मुझे अक्सर काफी पैसा और रिश्वत मिलने की गुंजाइश रहती थी.

पोर्न बीएफ हिंदी

मैं ओंठ चूची पीते हुए मसलते हुए मजे में डूब रहा था।फिर दीपा बोली- अभी तक किसी कॉलेज गर्ल की जवानी देखी है?मैंने न में सर हिलाया तो बोली- अभी देखोगे?और इतना कहते हुए उन्होंने अपनी स्कर्ट खोल कर नीचे फेंक दी. अब मैं उसकी चुत में लगातार दबाव बनाते हुए अपने पूरे लंड को उसकी चुत में अन्दर बाहर करने लगा था. एक तो उसका लंड छोटा औऱ पतला है और उसे जानकारी भी नहीं है कि कोई लड़की को कैसे पेला जाता है.

उसने मुझे बताया कि मेरे पति के दोस्त हेडरेक ने उसको मेरे घर पर भेजा है. मैंने निशा को अपने ऊपर लेटाया और चूत में लंड डाल कर नीचे से धक्के लगाना शुरू कर दिया.

अगर तेरी जगह कोई दूसरा लड़का होता, वो भी एक अकेली सेक्सी औरत के साथ रहता होता और मेरे जैसी सेक्सी क्वीन और सेक्सी हॉट फिगर वाली औरत की देख कर वो कंट्रोल नहीं कर पाता और सुबह से अब तक जबरदस्ती मेरी चुदाई कर लेता, मेरे चूत को फ़ाड़ देता और बूब्स को चूस चूस के सुजा देता.

मेरे कमरे में एसी चलने के बावजूद निम्मी और मैं पसीने-पसीने हो रहे थे, निम्मी का शरीर एक बार फिर ढीला पड़ गया था, परन्तु मेरे लौड़े की अकड़न अभी भी बनी हुई थी. अब वो सोफे से उठ कर बिस्तर पर जाकर लेट गयी और मैं उसके पीछे पीछे जाकर उसके ऊपर चढ़ गया. आशिमा को सेटल करने के लिए मम्मी एक महीने की छुट्टी लेकर दिल्ली आयीं.

इससे पहले भी मैं चाची के बदन को छू दिया करता था मगर उस वक्त वह सब मज़ाक में होता था. उसका चेहरा मेरे लंड के सामने था … मेरा लंड मेरे पेट पर मस्ती से लोटा हुआ था. मेरी सेक्स कहानी के पहले भागटीन सेक्स: बेटी की सहेली की चुदाई का मजा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी बेटी की दोस्त शिखा की चुदाई की.

मनी के मायके वालों में मेरी साली हनी हमारे रिश्ते के सबसे ज्यादा खिलाफ थी.

बीएफ 2005 के: मैंने उसे अलग किया और अलग करने के साथ ही अपने आपको भी कपड़ों की बेड़ियों से मुक्त कर दिया. लेकिन मैं बगल में देख रहा था कि बड़ी जुड़वां के हाथ थोड़े-थोड़े हिल रहे थे.

अतः मैं फोर्सफुली उसे जीभ से चाटता रहा और वो पूरी तरह मेरे मुँह में झड़ती चली गई. लेकिन मैंने उसको कसके पकड़ा हुआ था, जिससे वह मुझसे अपने आपको छुड़ा नहीं पाई. मैं आज किसी भी तरह से मॉम को नंगी देखना और उसकी चूचियो को छूना चाहता था पर हिम्मत नहीं हो रही थी.

मैंने पूछा- तो इसकी फोटो क्यों खींच कर लाया?वो बोला- इसको भी चोदेंगे.

मेरी हालत तब खराब हुई, जब मेरी ऑफिस वाली दोस्त वहां थी और उसकी मम्मी ने मुझसे उसका परिचय कराते हुए कहा- ये मेरी बड़ी बेटी है. कुछ मिनट हम दोनों यूं ही पड़े रहे, फिर हम दोनों ने उठ कर सबसे पहले अपने कपड़े पहने और सीट पर बैठ गए. उन्होंने कई बार अंदर डालने की कोशिश की पर लंड बहुत मोटा था, वो मेरी चूत के अंदर नहीं जा रहा था.