सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला

छवि स्रोत,भोजपुरी सेक्सी वीडियो डीजे

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी शेकशि: सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला, वो एक हाथ से मुझे अपनी तरफ खींचने की कोशिश करती हुई पूरा लंड चूत में उतरवा रही थी.

अमरपाली के सेक्सी फोटो

मोनिका मेरे सामने झुक कर बैठ गयी जिससे उसके यौवन पुष्प और ज्यादा मुखर होकर प्रकट हो गये. अंग्रेजी फुल सेक्सी मूवीराधिका ने कहा- क्यों ना चुदाई से पहले हम सब थोड़ा थोड़ा कुछ खा लें, फिर बाद में हम चुदाई का दंगल शुरू करेंगे.

मैंने बिना देर किये गीतू को नीचे बैठा कर अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया. बहन की चुदाई कहानीवो मेरे कान में धीमे स्वर में बोली- राजा चूची चूसना बंद मत कर … तेरे साथ हम कुछ नहीं करेंगे, ये तो बस इसको डराने के लिए ड्रामा किया था.

दिन में मैं उसके घर गया, तो देखा पूजा बाहर वाले रूम में ही बैठी हुई थी.सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला: बेडरूम में मैंने टीवी ऑन किया, बेबी बेड पर चढ़कर पालथी मारकर बैठ गई.

पैंट उतारने के बाद मेरे अंडरवियर में तना हुआ लंड देख कर उसने चैन की सांस लेते हुए कहा- आ जाओ मेरे पास …मैं सोफे पर उसके मुंह के पास जाकर खड़ा हो गया.आज मेरा ख्वाब पूरा होने जा रहा था, उसकी जिन चूचियों को मैं पिछले कई दिनों से सपनों में देख कर मुठ मारा करता था, आज वो साक्षात मेरे सामने उछल उछल कर अपनी रंगीनी बिखेर रही थीं.

देसी सेक्सी व्हिडिओ हिंदी - सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला

उधर काजल की सांसें धौंकनी की तरह चल रही थीं, जिसकी वजह से उसकी दोनों चूचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं.फिर मैंने पापा से कहा- आप भी मेरी गांड को जमकर चोदो, तुम्हारी बंध्या तुम्हारी रंडी बन कर रहेगी.

मोनी की उत्तेजना मुझसे भी ज्यादा तेज थी जो उससे बर्दाश्त नहीं हो रही थी इसलिये वह एक तरफ मुड़ कर मेरे चंगुल से छूटने का प्रयास करने लगी थी. सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला मैं भी अपने दोनों हाथ उनकी पीठ पर रख कर साथ देने लगी, उनकी पीठ पर भी बहुत बाल थे.

पहले दिन ही स्वीटी को देखते ही मेरी पूरी बॉडी में करेंट सा दौड़ गया था.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला?

चूंकि यह मेरी पहली कहानी है तो हो सकता है कि यह कहानी लिखते समय मुझसे कुछ गलतियाँ हो जाएं. मैंने उसकी दोनों चूचियां बारी बारी से अपने मुँह में भर कर खूब चूसीं. सरला ने पूछा- मंजू, क्या राजेश जी ने तुम्हें तुम्हारी गांड वाले होल में कभी फ़क किया है?मैंने कहा- हां, राजेश ने कई बार मेरी गांड मारी है.

डीजे की हाइट 4 फुट 10 इंच है और फिगर 32-30-34 का है उम्र 20 साल की है. उसके बाद आई होली, होली का दिन मेरी लाइफ का सबसे अच्छा दिन रहा या ये कहूँ कि उसकी लाइफ का सबसे बुरा दिन रहा. मैं उनके घर आता जाता रहता था और मेरे मम्मी और पापा की भैया भाभी से अच्छी बनती थी.

जब मुझसे लंड चुसाओगे तो और क्या होगा?” मैं तेज आवाज में बोली।वो पास आ गया. ”मैं बोली- ठीक है!मैंने उस वक्त नाईटी और अन्दर ब्रा पैन्टी पहनी थी. मगर उसके चेहरे के भावों से इतना पता चल ही रहा था कि वह कल की रात वाली हसीन चुदाई से मुझसे गुस्सा नहीं थी.

क्या बताऊं दोस्तो, उस 20 मिनट के सफर में मैं आनन्द के सागर में गोते लगा रहा था. लगभग 5 मिनट के बाद मेरा दर्द कम हो गया और मजा आने लगा, जिसकी वजह से मैं गांड उठा उठा के चुदने लगी.

मैंने आहिस्ता से रानी को बिस्तर पर टिकाया और नीचे ग़लीचे पर बैठ कर रानी के पैरों को पालतू कुत्ते की तरह चाटने लगा.

मैंने उसके सेक्सी बदन से उसकी साड़ी निकाल दी और उसके ब्लाउज और ब्रा खोलकर उसके 34 डी नाप के मम्मों को चूसने लगा.

कुछ देर तक मैंने उसके चूचों को दबाने के साथ ही अपने लंड को उसकी गांड में अंदर धकेलना जारी रखा. मामी के साथ दूसरी रात की चुदाई कैसे हुई, ये भी काफी रंगीन कहानी है. मौसी कुतिया सी बनी, तो एक औरत ने मेरे मुँह को पकड़ कर मेरी मौसी की गांड में दे दिया और चाटने के लिए बोला.

उसने आंखें बंद कर ली और मेर सर पकड़ कर अपनी चुत पर झुकाने लगी और बोली- चूसो मेरे भोले राजा … मुझे भी मजा दो!मैंने भी उसकी चुत को चूसना शुरु कर दिया. मैं उसकी गुलाबी सी चुत को देख रहा था तो बोली- देखते ही रहोगे क्या, अब कुछ करो ना … नहीं तो मैं मर जाऊँगी. उनके संपर्क में आकर यह तो संभव था ही नहीं कि आप उनका दिल से अपने आप ही सम्मान करना शुरू न कर दें.

भाभी ने पूछा- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं बस टाईम पास कर रहा हूँ.

विकी खामोश बैठा रहा, मेरे हाथ का नींबू पानी था, इसलिए वो बड़े प्यार से पी रहा था. जल्दी ही मौसी ने अपने दर्द पर काबू पा लिया और फिर से अपनी कमर आगे पीछे करने लगीं. मैं बोला- क्या कहां डाल दूँ?वो नशीली आंखों से मेरी आंखों में झांकते हुए धीरे से वासना से बोली- अपना लंड मेरी बुर में डाल दो.

इसी के चलते मैंने उसकी गांड में लंड पेलने से शुरुआत की और जब वो दर्द से चिल्लाई, तो मेरी भाभी ने हम दोनों को बाहर बुला कर पूछा. मारे काम-हिलौर के, वसुन्धरा बिस्तर पर पीछे सीधी लेट गयी और बुरी तरह छटपटाने लगी. तेरी उम्र तो बहुत कम है लेकिन तेरी चूत बता रही है कि तू बहुत चुदी है.

नहीं तो अभी तक वो मुझे चोदने को कह देती या तो खुद ज़बरदस्ती मुझे पटक कर मेरे लौड़े पर चढ़ कर चुद लेती। ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि मैं उसको सैकड़ों बार चोद चुका हूँ और मैं उसके हर एक भाव से वाक़िफ़ हूँ। उसका यह भाव मुझे और भी उत्तेजित कर रहा था।उसके बदन की खुशबू पाकर मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था जोकि एक बार पहले ही झड़ चुका था। मैं उसकी गर्दन के पास था.

हम दोनों लोग की चुदाई से आवाज निकल रही थी और हम दोनों लोग की चुदाई की आवाज से और भी चुदास भरा माहौल बन गया था. दोपहर में हम घर में ही रहते थे, तो वनिता मेरे घर आ जाती थी या मैं उसके घर चली जाती थी.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला उसका मोटा लंड लेते ही मेरी आह निकल गई ‘आआह्ह्ह … साले मादरचोद … धीरे चोद भोसड़ी के … आह्ह्ह … आज ही चूत फाड़ेगा क्या?’वंश ने कहा- साली छिनाल तू न जाने कितने लौड़े खा चुकी होगी … तब मेरे लंड से चुदने आई रंडी साली … ले कुतिया. घर आकर जब मैंने इस पूरे घटना क्रम के बारे में सोचा, तो पाया कि कामिनी के साथ हुई चुदाई बहुत ही लाजवाब थी.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला मेरा अगला विचार है कि कोई मुँह को ढक कर मेरी आगे पीछे से एक साथ चुदाई करके मेरी ब्लू फिल्म बना दे, तो मुझे अपने चेहरे के अतिरिक्त अपनी बॉडी का हर पार्ट आप सबको को दिखाने का मौका मिले. मुझे लग रहा था कि उसको भी मजा आ रहा था और वो बार-बार मजे लेने के लिए ब्रेक मार रहा था.

वो तड़फ कर कहने लगी- आह … मन्नी … निकाल लो … बाद में करेंगे … अभी मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

देसी जंगल की चुदाई

स्स्स … आह आह अह्ह … हय … !उसकी गोरी, चिकनी, मखमली चूत को चोदते हुए इतना मजा आया कि पांच-सात मिनट में ही मेरे अंदर का जोश मेरे लंड के वीर्य में उबाल ले आया और मैंने उसकी चूत में वीर्य की पिचकारी मार दी. ”यह उनका घरेलू मसला था, मैं इस में क्या कह सकता था सो! सिर्फ सुन रहा था. मैंने डरते डरते उनके लण्ड की तरफ देखा; उनका लण्ड मुझे देख कर धीरे धीरे उछल सा रहा था और उसकी चमड़ी थोड़ी सी पीछे खिंच गयी थी जिससे उनके सुपारे का छेद दिख रहा था.

मैंने उस दुकान का पता लिया और बाजार जाकर भाभी का मोबाइल लाकर उन्हें दे दिया. वहाँ मेरा कोई फ़्रेंड नहीं था। मैं समय काटने के लिए मैं फ़ेसबुक पर बहुत ऑनलाइन रहता हूँ और पहले भी कई लोगों से मुलाक़ात कर चुका हूँ। साथ में मैं ऑनलाइन सेक्स मूवीज़ भी देखता हूँ।फ़ेसबुक पर मैं बहुत सी लड़कियों और भाभियों को रिक्वेस्ट भेजता हूँ कि काश़ कोई मिले और मैं मज़े ले सकूँ. जब मैंने अपनी जीभ तुम्हारी गांड में टच की, तो एक अजीब सा स्वाद लगा और उसके बाद जब मैंने तुम्हारी गांड को अपने थूक से गीला करके चाटा, तो और मजा आया.

मैं आगे की तरफ जाकर आंटी के चूचों को दबाने लगा और वरूण ने आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी.

मेरी इस टीचर सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा था मेरे साथ मेरे स्कूल में टीचर नम्रता और मैंने दूसरे के साथ सेक्स का मजा लेना शुरू कर दिया था. फिर उसने अपने लंड को पकड़ा और सुमिना की चूत में घुसा दिया और दोबारा से उसके होंठों को चूसने लगा. जीजू की जांघों पर बैठते हुए उसने जीजू की छाती पर हाथ फिराते हुए उसको सहलाना शुरू किया तो मानसी के कोमल हाथों की मदहोशी में आनंदित होते हुए रितेश जीजू उसके चूचों को मसलने लगे.

वो बोले- क्या?तब वनिता बोली- बाबूजी आपके दोस्त रवींद्र से मुझे चक्कर चलाना है. मगर जाने से पहले उसने मुझसे वादा लिया कि रात वाली बात कभी किसी से न कहूँ. दूसरे दिन वनिता दोपहर में घर आई और मुझसे पूछने लगी कि पति कब गए?मैं बोली- रात में 11 बजे.

कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप कमेंट जरूर करें और अपने विचार मेल के द्वारा भी साझा कर सकते हैं. मगर उसके चेहरे के भावों से इतना पता चल ही रहा था कि वह कल की रात वाली हसीन चुदाई से मुझसे गुस्सा नहीं थी.

मैं यहाँ पर अपना असली नाम नहीं बता रही हूं क्योंकि मेरे साथ जो घटना हुई उसके बाद यहाँ पर असली नाम बताना मुझे ठीक नहीं लगा. इसी के चलते मैंने उसकी गांड में लंड पेलने से शुरुआत की और जब वो दर्द से चिल्लाई, तो मेरी भाभी ने हम दोनों को बाहर बुला कर पूछा. उसके कमरे में पहुंच कर उसने मुझे पलंग पर बैठने को कहा और वो नहाने चली गई.

परंतु अब मेरी शादी होने वाली है, तो क्या सुहागरात के दिन मेरे पति को पता चल जायेगा कि मेरा योनि भेदन हो चुका है.

बीच में मैंने एक बार उसकी टांगों को हवा में उठाकर चोदा और मजा आया तो आपस में सटाकर उसको चोदने लगा. वो गीतू को एक रंडी कुतिया की तरह रगड़ रहा था। इसी बीच उसने गीतू की सलवार उतार दी। गीतू की गोरी-गोरी टांगें देख कर मेरे अंदर भूचाल आ गया और मैं सीधा गेट से अंदर चला गया।मेरे अंदर आने की आवाज़ सुनकर गीतू डर गयी और जोर से चिल्लाई- भूत!तब मैंने कहा- भूत की माँ की चूत! इधर आ हरामण! इतनी देर से इस भड़वे के हाथों से गर्म हो रही है जिसका झाँट बराबर भी लण्ड नहीं है!महेश के बारे में मैं जानता था. मौसी की हल्की सी आह तो निकली, पर इस बार उन्हें ज्यादा फर्क नहीं पड़ा.

दूसरी तरफ मोनी हल्का-हल्का कसमसाते हुए बस टसक रही थी।जिस लड़की या औरत के बारे में आपने कभी गलत नहीं सोचा हो और उसी लड़की या औरत के साथ जब आप ऐसा कुछ करते हो तो जो उत्तेजना उसके साथ चढ़ती है वैसी उत्तेजना किसी और के साथ नहीं चढती. पीछे से गांड में लंड गया और आगे से अजय ने मेरी चूत में एक साथ लंड डाल दिए.

मेरे बड़े और खड़े लंड को स्पर्श करते ही भाभी की चुदास भड़क उठी, वे कहने लगीं- आज मैं तुमको सेक्स का असली मज़ा दूँगी. जिन्होंने नहीं देखी, उन्हें मैं बता दूं कि ये एक सॉफ्ट कोर पोर्न मूवी जैसी है. इससे उसकी आह निकलने लगी और वो अपने होंठों को अपने दांतों से पकड़ने लगी.

पेशाब करने वाली लड़की

इधर बिना किसी डर के, काल्पनिक नाम रख कर हम अपनी दिल की बात सभी के साझा कर सकते हैं.

मैं सुबह से उठकर सोनल को चोदने लगा था और सोनल भी अपनी गांड उठा कर मेरा साथ दे रही थी. मैं- नहीं जान, अगर मैंने बुलाया और तुम नहीं आईं, तो वो अच्छा नहीं लगेगा मुझे. फिर मैंने अपनी पैन्ट खोली और लंड निकाल कर उनके पेट के पास लगा दिया.

तो … ‘जो मिला, वही ग़नीमत’ पर अमल कर उस ईर्ष्या की भावना को दिल ही में दफ़न कर देता था. दोस्तो, कैसे हो आप सब? मेरा नाम अंकित पटेल है और मैं अहमदाबाद (गुजरात) से हूँ. రేష్మి సెక్స్ వీడియోएक रात मैंने रीना को फ़ोन किया और कहा- कितने दिन हो गए है, तुम्हारा खूबसूरत चाँद सा मुखड़ा देखे हुए, तड़प तड़प के मेरा तो जी बेहाल है.

काजल ने अभी वही ब्रा और पैन्टी पहनी हुई थी, जो मैंने उसके लिए अपनी जानू से उसको भेजी थी. फिर उसके कातिलाना मम्मों को दबाने लगा, जिससे राधिका मदहोश होने लगी.

पर मैंने मना कर दिया, तो वो सब कहने लगे- अबे साले आज पीके तो देख, रात को भाभी की मस्त चुदाई करेगा. वो अहसास शायद ही जिंदगी में कभी भूल पाऊँ!वो बेइंतहा मेरे होंठों को चूसते जा रहे थे. थोड़ी देर में भाभी मेरे से बोलीं- आर्य तुम थके होगे, जा कर नैना वाले कमरे में आराम कर लो.

मैं उन चारों के पीछे-पीछे कभी काजल को देख रहा था और कभी आस-पास की दुकानों पर नज़र घुमा कर टाइम पास कर रहा था. दोस्तो, यहां सोनू और उसकी सलोनी मौसी की कहानी समाप्त होती है, आप सबको ये कहानी कैसी लगी? और अगर आपके हिसाब से कहानी में कुछ कमी रह गई हो या सुधार की जरूरत हो, तो कृपया मुझे जरूर बताएं. उस प्यार में अब हवस का मिठास मिलकर मेरी गीतू चाशनी से ज्यादा मीठी हो गई थी जिसका गर्म-गर्म रसीला बदन मैं अभी भोगना चाहता था.

अगर तुम मेरी जिंदगी में नहीं आए होते, तो जो मुझे अब मिलने जा रहा है, कभी नहीं मिलता.

इस आसन में दो ही मिनट में मेरी चूत ने अपना रस छोड़ दिया, पर भाई पर उसका कोई असर नहीं हुआ. जैसे ही मैंने उसको चुदाई की पोजीशन में करके अपना लंड उसकी चुत में घुसाया, वैसे मुझे लगा कि लंड किसी गर्म भट्टी में दे दिया हो.

उन्हें पता था कि स्कूल से छुट्टी होने के बाद यहाँ से लड़कियों का झुण्ड साइकिल पर निकलेगा और स्पीड ब्रेकर पर उनके मम्में उछलेंगे और वे बेहद बेशर्मी से आँख गड़ा कर हमारी उछलती गेंदें देखेंगे. कहकर उसने मेरे होंठों को चूम लिया।मैं फिर मम्मी-पापा को छोड़ने स्टेशन गया। ट्रेन लेट थी और आते-आते शाम हो गयी. भाभी बोलीं- देवर जी, आज तो तुमने मुझे ऐसा मज़ा दिया है कि मैं क्या बताऊं.

मैं इस चुदाई में इतनी मस्त हो गई कि ‘आह ऊऊ आआ अंकल … ऐसे ही … हां दे दो झटका. जैसे ही मैंने आतिशा की चुत के ऊपर हाथ रखा, तो वो बोली- भैया, प्लीज़ ये मत कीजिए. वो बोला- आशना, मम्मी पापा नहीं है और ऐसा मौका हमें कभी नहीं मिलेगा.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला मैं भी स्टाफ रूम से लंच करके बाहर पानी की टंकी के पास हाथ धोने के लिए जा रहा था. सौ लोगों के हुज़ूम में अकेली दहाड़ने वाली शेरनी, ऐसे सहमी सी बैठी थी जैसे अदालत में एक ऐसा मुजरिम सहमा बैठा हो जिस को अभी … बस अगले ही पल सज़ा सुनाई जानी बाकी हो.

सेक्सी दिखा वीडियो

फिर उसने मुझे अपने ऊपर ले लिया और मैं ऊपर नीचे होकर अपनी गांड चुदवाती रही. उसने मुझसे कहा- तुम मेरे लिए किसी परी से कम नहीं हो! अपनी पूरी जिंदगी में मैं तुम्हारी जैसी लड़की को नहीं चोद पाता. उसके लंड मुँह में लेने के बाद दस मिनट बाद ही लंड का माल उसके मुँह में छूट गया.

बाहरवीं कक्षा के पेपर नज़दीक थे, तो पापा ने मुझे घर रहकर पढ़ने के लिए कहा. हम दोनों लोग की चुदाई से आवाज निकल रही थी और हम दोनों लोग की चुदाई की आवाज से और भी चुदास भरा माहौल बन गया था. kajal సెక్స్उसके बाद जब मैं उसके रूम पर गयी, तो उसने बताया कि आज वह मुझसे शादी करेगा.

इसके बाद मैंने राजेन्द्र जी के सामने इस बात को चैक करना शुरू कर दिया.

घर में कोई ज्यादा लोग नहीं थे तो नौकरों को छुट्टी दे दी, सिर्फ मेरी एक पर्सनल नौकरानी गुलाबो (जी हाँ वही गुलाबो … अब हवेली पर मेरी पर्सनल नौकरानी) सारा और दिलिया रह गए घर में!गुलाबो यहाँ कैसे पहुंची यह कहानी फिर कभी!सारा बोली- आमिर, आज आप दिलिया की साथ सुहागरात मनायें!मैं दिलिया के कमरे में पहुंचा. जैसे ही लंड अन्दर गया, माँ चिल्ला उठीं- क्या कर रहे होओ ओओह … इतनी टाइट चुत को फाड़ोगे क्याआ … धीरे डालो ना जरा … आअ अहह … आज तो मार ही दिया.

ये सब मेरी ही आउट डोर फैंटेसी थी। जो मैंने उसे पहले बता रखा था।फ्लोर की बात याद आते ही मेरा ध्यान टूटा. उनकी जिंदगी में जो कुछ भी अब तक घटा था वह सब बहुत ही हैरान कर देने वाला था जिसकी भरपाई आज हो गई थी. मेरी यह सेक्सी स्टोरी कैसी लगी, इसके बारे में अपने बहुमूल्य विचार रख कर कहानी को सार्थक बनायें.

मैं उसको चोदता रहा और बीस मिनट की जोरदार चुदाई के दौरान वह दो बार झड़ गई.

जब मैंने अपनी पैंटी पर हाथ लगा कर देखा तो मेरी पैंटी भी गीली हो चुकी थी. फिर एक मिनट के बाद पोजीशन बदल कर वो मेरे पीछे आया और मेरे 34 के बूब्स को बुरके के ऊपर से ही दबाने लगा. वह अपनी गांड को बार-बार मेरे लंड की तरफ पीछे धकेल रही थी और मेरे अंडरवियर में तना हुआ मेरा लंड उसकी गांड में घुसने की कोशिश कर रहा था.

தமிழ் விள்ளகே ஆண்ட்டி செஸ் வீடியோमैं एक दिन पीछे आम के पेड़ के पास गया और फिर आम देख कर मुझे आम तोड़ने का मन हुआ. घबरा के मैं झट से निगाह नीचे कर लेता और फिर उनके हाथों को देखने लगता.

मोनिका की चुदाई

मैंने उसे रास्ता सुझाते हुए कहा- उंगली को थूक से गीला करके गांड के अन्दर डालो, चली जाएगी. लेकिन उस दिन मुझे समझ में आ गया था कि इस खजाने को क्यों पसंद किया जाता है. वसुन्धरा पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगड़ से इंग्लिश लिट्रेचर में पी एच डी थी और डगशाई में किसी हाई-फ़ाई इंग्लिश स्कूल में वाईस-प्रिंसिपल थी.

मेरी सुहागरात वाले दिन रवि मेरे पास बैठ कर बातें करने लगा और अपना हाथ मेरे शरीर पर फिराने लगा. मैं भी पूरा आनन्द लेने लगी ‘आअहह … अहह …’ मुझे अपने भाई से अपनी चुत चटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था. सेलिना आकर मेरे पेट पर बैठ गई और उसकी गांड मेरे लंड से टच होने लगी.

उन्होंने मेरे दोनों बड़े बड़े दूध को दोनों हाथ से सम्हाला और मेरे गुलाबी निप्पल को चूसने लगे. ऐसा पहली बार नहीं हुआ था, लेकिन इस बार सीन ये था कि मैं भी इन दिनों अपने घर आया हुआ था. थोड़ी देर रुक कर मैं काजल के नजदीक गया और मोबाइल में देखने लगा, तो कल रात मेरी जानू ने जो फोटो खींची थीं, वो वही देख रही थी.

घुटनों के बल बैठने के बाद उसने मेरे मुंह को खोल दिया और अपने लंड को मेरे मुंह में दे दिया. मैं लंड को सहलाने लगा और बस मुठ मारने ही वाला था तभी भाभी की आवाज आई- प्रणय!उनकी इस आवाज से मेरा लंड एकदम से ढीला हो गया और मैं जल्दी से पेशाब करके तुरन्त बाथरूम से निकल कर भाभी के पास चला गया.

ऊई उईई मर गयी! आराम से बॉस!! ऊईईई सी … सी … आहह्ह” मेरी हालत खराब हो रही थी.

पहले तो मैंने उस आवाज पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं समझ रहा था कि सुमिना अपने कमरे में कुछ काम कर रही होगी. कुत्र्याची सेक्स10 मिनट मेरी गांड चोदने के बाद उसने अपना माल मेरी चुत में भर दिया और उठ कर अंदर चला गया. डॉट कॉम सेक्सी डॉट कॉम सेक्सीतभी मैंने उन्हें पलट दिया और डॉगी स्टाईल में चोदना शुरू कर दिया क्योंकि मैं उनकी गांड पे चमाट मारते हुए उनकी चुदाई करना चाहता था. रानी मेरे सर को सहला सहला के मेरे मुंह को कभी एक चूची पर फिर दूसरी चूची पर लगा रही थी.

उसने कहा- मेरा रूम यहीं पास में ही है लेकिन अभी मेरी ड्यूटी खत्म नहीं हुई है.

इधर मैंने अपने कपड़े सही किए और हजार का नोट दीदी के मुँह में ठूंसते हुए उसे डिनर का पैकेट लाने को बोल दिया. यह बात मुझे तब पता चली, जब मैं उसका नाड़ा खोल रहा था और वो मेरे हाथ पकड़ रही थी. उधर चूत के रस की बौछार से लंड सनक गया और गोलियों में एक पटाखा फूटा.

मैं- क्या मौसी और कहां?मौसी भी समझ चुकी थीं कि मैं क्या चाहता हूँ उनसे और टाइम कम होने की वजह से जल्दी भी करना था … इसलिए मौसी ने भी बिना टाइम गंवाये बोल ही दिया- डाल ना जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में … और चोद मुझे … चोद चोद कर फाड़ दे मेरी चूत को … पिछले 12 सालों से लंड के लिए बहुत तड़पी है मेरी चूत … अब तू और मत तड़पा इसे … जल्दी चोद मुझे. डॉली बाहर आई, कार में बैठी तो मैंने पूछा- पेपर कैसा हुआ?तो खुशी से उछलकर बोली- बहुत अच्छा. उस दिन दोपहर में हमारे घर की डोर बेल बजी, तो मैंने दरवाजा खोला और सामने बुआ को खड़ा देख बहुत खुश हुआ.

एक्स वीडियो चाहिए

मूछ वाले आदमी ने दूसरे से कहा- तुम जरा बाहर जाओ और इसके बाप को नीचे घुमा कर ले आओ. प्रिया की विदाई के कुछ घंटे बाद प्रिया के मम्मी-पापा, वसुन्धरा और उस का परिवार भी अपने-अपने घर के लिए विदा हो गए पर एक बात क़ाबिल-ऐ-ग़ौर थी. चूंकि मैं कई बार कई किस्मों के लंड से चुद चुकी थी इसलिए मुझे उसका लंड लेने में कोई दिक्कत नहीं हुई.

वो मज़े में आ गया और बोलने लगा- रंडी आज तू चूदेगी!मैं और ज़ोर से उसका चूसने लगी.

लण्ड का सुपारा बेबी की चूत के लबों के बीच रखकर मैं उसकी चूचियों से खेलने लगा और वो लण्ड को चूत के अन्दर लेने की जोर आजमाइश कर रही थी.

इस कहानी को पढ़ कर आप लोगों को मजा आया या नहीं, आप कहानी पर कमेंट करके बताना और अगर आप मैसेज करना चाहते हैं तो मुझे मेल भी कर सकते हैं. ये मेरे पति ने एक बार मुझे दारू के नशे में टुन्न करके अपने एक अधिकारी के लंड से खुलवाया था. सेक्सी वीडियो मां बेटे वालारानी के हुक्म के अनुसार मैंने तौलिया आगे को फैलाया और रानी का एक पैर उठाकर आगे को रखा.

जो भी होगा तुम्हारी मर्जी से ही होगा।फिर मैं दीदी को किस करने लगा और अपने हाथों से उसकी चूची को दबाने लगा। थोड़ी देर के बाद हम दोनों की किस खत्म हुई और हम दोनों लंबी सांसें लेने लगे. मैं घर चलूं?नम्रता- नहीं मेरे राजा, तुम्हारे साथ मुझे मेरे पति के आने तक पूरा समय नंगी रहकर ही बिताना है. इसी बीच नताशा भाबी मेरे लंड को मुँह से निकाल अपने नर्म हाथों से लंड को दबाने लगीं.

अगले दिन जब मैं स्वाति से मिली, तो उसने बताया कि शनिवार को शाम में आज साथ में पार्टी करेंगे, फिर तू उन दोनों के साथ मौज करना. इस दोहरी चोट को वो सह नहीं पाई और बहुत ज़ोर से चीख़ पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह… जिसको मैंने अनसुनी करके अपना लंड पूरा निकाल कर वापस से एक ज़ोर का झटका दे मारा.

जीजा जी ने फिर से पूछा- कुछ और चाहिए क्या आपको?पड़ोसन समझ गई कि जीजा जी उसको वहाँ से जाने के लिए कहना चाहते हैं.

साड़ी खोलते ही उसके बड़े-बड़े चूचे जो उसके ब्लाउज में भरे हुए थे वो मुझे दिखाई देने लगे. मैं भी मौसी को पूरी तरह तड़पाना चाहता था, इसलिए बीच बीच में लंड को चूत के छेद पर रखता और धीरे से धक्का देता और फिर पीछे करके फांकों में ऊपर नीचे करने लगता. मैं धीरे धीरे अपना हाथ उनकी कमर पर फिराने लगा … और अपने हाथ को बुआ की चूची तक ले गया.

लड़कियों की चुदाई वीडियो सेक्सी मैंने भाबी की दोनों टांगें चौड़ी करते हुए उनकी चुत के होंठों को खोला और अपना लोहे जैसे तना हुआ लंड भाबी की चुत पर रख भाबी के चूतड़ों को पकड़ अपना लंड भाबी की चुत की गहराइयों में घुसाने लगा. फिर मैंने पूछा- यार आपकी कोई सहेली नहीं है, उसको भी बुला लो, फिर ज्यादा मजा आएगा.

उसका मोटा लंड लेते ही मेरी आह निकल गई ‘आआह्ह्ह … साले मादरचोद … धीरे चोद भोसड़ी के … आह्ह्ह … आज ही चूत फाड़ेगा क्या?’वंश ने कहा- साली छिनाल तू न जाने कितने लौड़े खा चुकी होगी … तब मेरे लंड से चुदने आई रंडी साली … ले कुतिया. लंड को उसकी गांड में पिरोया और तेल की शीशी से तेल टपकाना शुरू कर दिया. मैंने उसकी कुर्ती के आगे के दो बटन खोल दिए और काजल के सीने पर मेरा हाथ फिराने लगा.

क्सक्सक्स फॅमिली

ऐसा पहली बार नहीं हुआ था, लेकिन इस बार सीन ये था कि मैं भी इन दिनों अपने घर आया हुआ था. उसने कहा- मैं आज दुनिया का सबसे खुशनसीब इंसान हूँ, जो मुझे तुम जैसी अप्सरा को चोदने का सौभाग्य मिला. फिर धीरे धीरे मैं उसके होंठों से हटकर उसके गर्दन पर चूमने और चाटने लगा.

तीन-चार धक्कों के बाद उसके लंड ने मानसी की चूत में अपना गर्म-गर्म पौरूष उगलना शुरू कर दिया और आगे की तरफ हेतल ने अपनी चूत के रस से मानसी के मुंह को भिगो डाला. पहले तो मुझे यकीन ही नहीं हुआ, फिर मैंने दोस्त को कॉल किया, तो पता चला वो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ है.

लंड भले ही पैंट में मचल रहा था लेकिन दिल कह रहा था- नहीं, अभी ये सही वक्त नहीं है।गाड़ी सड़क पर दौड़ रही थी कि अचानक एक रिक्शा वाला सामने आ गया तो पापा ने एकदम से ब्रेक पर पैर दबा दिया और बड़ी मुश्किल से गाड़ी की टक्कर रोड के बीच बने डिवाइडर से होते हुए बची.

मेरे ख्याल से वह अपनी चूचियों को छिपाने के लिए उठी थी मगर अब मैं उसके ऊपर आ चुका था इसलिए वह बस कंधे सिकोड़ कर रह गयी. मैंने कभी उसके साथ पहले ऐसी बातें नहीं की थीं, तो मैं भी शर्मा रही थी. अगर देखा जाये तो हम दोनों की करतूत में फर्क ही क्या है! जिस तरह से काजल सुमिना की सहेली है वैसे ही सुमिना भी तो काजल की सहेली है.

उसकी चूत में मैं उंगली चलाने लगा और एक हाथ ऊपर की तरफ उसके चूचे को भी दबाता रहा. हम दोनों फिर से एक-दूसरे से किस करने लगे, जिससे हमारे अन्दर की वासना जाग उठी. मैं बाथरूम जाकर वापस आया और फिर हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर एक दूसरे के नंगे बदन का अहसास करते रहे। वे धीरे धीरे मेरे लंड को हिला रही थी.

मैंने सोचा यदि अभी मना करूंगा, तो ये जो पहले का चूमा चाटी वाला खेल भी नहीं खेल पाऊंगा, तो मैं भैया की बात मान गया.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश वाला: उनके मुँह से आवाज़ निकल रही थी- आह उईईई … क्या मस्त चूत चाटते हो … अब जीभ से नहीं, लंड से मुझे चोद दो मेरी जान. रवि बॉस के जबरदस्त लौड़े ने मेरी सालों पुरानी तमन्ना पूरी कर दी थी.

मैं वंश से बोली- वंश क्या हम रियल कपल नहीं बन सकते?वंश मेरी तरफ देखता हुआ बोला- मम्मी आप ये क्या बोल रही हो?मैं बोली- हां … मैं ठीक बोल रही हूँ … जो तूने सुना है मैं वही कहना चाहती हूँ. जब मामी का ध्यान बंटा, तब मैंने जोर का झटका दिया, जिससे मामी की चीख निकल गई- आहहहह आहहह … मर गई …मेरा आधा लंड मामी की चुत में चला गया. लेकिन तब भी जब भी मैं अपना वीर्य उसके अन्दर नहीं गिराता था तब वो एक दर्द सा महसूस करती थी.

मैं एक बार तो सोचने लगी कि इतना मोटा लंड मेरी छोटी सी चूत में कैसे जाएगा, पर मुझ पर तो चुदने का भूत सवार था, तो मैंने सोचा कि जो होगा देखा जाएगा.

मेरी चूचियां बड़ी होने के कारण ब्रा सिर्फ एक चौथाई चूचियों को ढक पा रही थी. उनके एक खेल के अनुसार मुझे आंख पर पट्टी बाँध कर तीनों के बारी बारी से मम्मे मसल कर ये तय करना था कि पहले दूसरे तीसरे क्रम के अनुसार मैंने किस किस के मम्मे दबाए थे. मैंने उससे पूछा- डू यू वांट इट स्लो डाउन (आराम से करना चाहती हो)वो कुछ नहीं बोली, उसने बस न में सर हिलाया.