w.com बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,देवर भाभी का ब्लू फिल्म सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

डाउनलोड होने वाली सेक्सी: w.com बीएफ हिंदी, आंटी ने मुझे फोन पर ये बता दिया था कि इमरान और उसके पापा दो दिन के लिए बाहर जायेंगे.

महालक्ष्मी सेक्सी वीडियो

मैडम बोली- तो देर किस बात की है, आ जाओ!मैंने कहा- इतनी जल्दी नहीं, अभी तो बहुत कुछ बाक़ी है. हेरा फेरी सेक्सीहॉट हिंदी सेक्स स्टोरी की शुरूआत करने से पहले मैं आप सभी को अपने बारे में बता देना चाहती हूँ। मेरा नाम सोनम वर्मा है और मैं एक शादीशुदा महिला हूँ। मेरी उम्र 34 वर्ष है.

तभी भाबी बोली- अब तुम नीचे आ जाओ और मैं तुम्हारे लंड पर बैठकर अब तुम्हारी चुदाई करूंगी. नोट वाला सेक्सीफिर उनके उठते ही मैंने उनको दीवार से लगा दिया और उनकी चूची जोर जोर से दबाने लगा.

हम दोनों अब चरम शिखर पर पहुंचने को तैयार थे और एक दूसरे को चूमना छोड़ कर एक दूसरे की आंखों में आंखें डाल कर देखते हुए धक्कों की गिनती बढ़ाने लगे.w.com बीएफ हिंदी: जैसे-जैसे मेरे लंड के धक्के उसकी चूत में लग रहे थे वैसे-वैसे उसके चूतड़ भी उठ कर मेरे धक्कों का जवाब देने लगे थे.

और आज भी हम में से कोई भी सहेली आपस में एक दूसरे से मिलती है तो उन दिनों को सब उतना ही मिस करती हैं जितना कि बाकी सहेलियां.मैं- अरे कैसे हो गया दीदी … और आप अब बता रही हो, पहले क्यों नहीं बताया … तुम बता सकती थी न … मुझे रात को ही जगा लेना था.

तृषा और मधु की सेक्सी वीडियो - w.com बीएफ हिंदी

मैंने कहा- तो क्या तुमने सब कुछ अच्छी तरह देखा था?वो बोली- हां, उसका लंड लगभग मेरे आधे हाथ के जितना था.संभोग में केवल पीड़ा स्त्री को नहीं होती … बल्कि पुरुष को भी होती है.

कुछ ही पलों में कविता सिसकती, चीखती हुई अपनी योनि का रस से कांतिलाल के लिंग को नहलाने लगी और फिर कुछ झटके मारते हुए कांतिलाल के गले से लग ढीली पड़ने लगी. w.com बीएफ हिंदी वो समझ गई और उसने एकदम से मेरे गाल को नोंचने के लिए हाथ बढ़ाया … तभी रिक्शा रुक गया और मैं उतर गया.

मैं अभी उसकी चुत देखने का तरीका सोच ही रहा था कि उसने पैर उठाते हुए मुझे अपनी पैंटी दिखाई और कहा- यार, मेरी कमर का दर्द जा ही नहीं रहा है, आज तो और भी ज्यादा दर्द है.

w.com बीएफ हिंदी?

और यह कहते हुए उसकी आँखों में आंसू आ गए।मैंने उसके माथे पर चूमते हुए उससे कहा- सोनम, तुम चिंता मत करो, तुम्हारी बदनामी मेरी बदनामी है. मैंने सब जगह देख लिया, पूरे घर में, छत पर … आस पास … लेकिन वो नहीं मिली. उसने खुल कर बताया कि उसकी जवानी प्यासी है, उसका मन सेक्स में उलझा रहता है और उसकी वजह से पढ़ाई में भी बहुत कम ध्यान लगता है.

आरम्भ में मुझे बिल्कुल नहीं पता था कि वे दोनों हमारे साथ यात्रा में होंगे. मैं जहां रहता हूं, वहां चंडीगढ़ के एक सेक्टर में जिम में जाया करता था. मुझे लड़कियों को चोदने में ज्यादा मजा नहीं आता बल्कि शादीशुदा भाभी या आंटी को चोदने में ज्यादा मजा आता है क्योंकि वो बिस्तर पर रिस्पॉन्स अच्छा करती हैं।अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए सीधे कहानी पर आते हैं.

अब मेरे मन में भी इस सम्भोग को कामुकता और रोमांच भरे अन्दाज में खत्म करने की इच्छा जागृत हो गई थी. मैंने लंड बाहर निकालते हुए कहा- अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है. मैंने सोचा कि इससे पहले कि बात इमरान तक पहुंचे मुझे कुछ करना चाहिए.

उनके बूब्स एकदम नंगे थे क्योंकि उन्होंने अपनी नाइटी के सामने वाले बटन खोल रखे थे. फिर उसने खुद ही मेरे कच्छे में हाथ दे दिया और मेरे लंड को मुट्ठी में भर लिया.

वो निर्मला के पीछे जाकर अपना लिंग उसकी योनि में प्रवेश करा के किसी दुश्मन की भांति उसे धक्के मारने लगा था.

उसने मुझे रोकते हुए कहा- सब कुछ यहीं करोगे क्या? चलो कमरे में चलते हैं.

दोनों ने एक दूसरे का पानी पिया और अलग हो गये।मैंने उसे कहा- कोई आ सकता है इसलिए बाकी काम रात में करेंगे।तो वो मान गई और हम दोनों ने अपना मुँह धोकर कपड़े पहन लिए।दिन में जब वो किचन में खाना बना रही थी तो मैंने उसके गांड पे अपना लंड लगा दिया. मैंने बोला- अच्छा वो कैसे?अम्मा ने कहा- वो जब हमारे ससुर जी थे, तब उनसे सेक्स करती थीं. अपूर्वा जब रसोई में काम खत्म कर रही थी, तो उसके टॉप में से उसके बड़े बड़े मम्मे और लोअर में से उसके चूतड़ साफ दिखाई दे रहे थे.

वे मुझसे बोली- निखिल, यह गर्म दूध पी लो, इसमें हल्दी भी डली हुई है. उसने हाथ पैंट के ऊपर से ऐसे लग रहे थे, मानो वे अपने कड़क होते लिंग को अपनी अपनी जांघियों के भीतर ठीक कर रहे हों. इस घटना को बताने के लिए मुझे अन्तर्वासना से ज्यादा अच्छा मंच नहीं मिला कोई.

उसने मुझे बूब्स जॉब देना शुतु किया यानि अपनी चूचियों के बीच में मेरा लंड लेकर मेरा लंड सहलाने लगी.

मां ने अनु की मां और पड़ोस की कुछ औरतों को साथ लिया और उस दिन वो निकल गये. हम तीनों एक ही बिस्तर पर बैठे हुए थे और अपनी टांगों पर कम्बल डाला हुआ था. मैंने देखा कि उसने अपने गीले कपड़े एक एक करके अपने बदन से अलग करने शुरू कर दिये.

जब मैं दीदी के यहां पर रहने के लिए आया था तो तब से लेकर अब तक मैंने कभी भी उन दोनों के कमरे से किसी तरह की आवाज नहीं सुनी थी. इन कहानियों में आप सभी को हम पांचों सहेलियों को सेक्स लाइफ और गुप्त बातों के बारे में पता चलेगा. [emailprotected]हॉट हिंदी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कॉलेज गर्ल चुदी पड़ोसी अंकल से- 2 (बिंदास ग्रुप).

अब सब लोग बोले- अब हम लोगों को चलना चाहिए … क्योंकि अब 2 घंटे बाद कैसीनो जाना है.

उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मुझे अपनी छाती से चिपका लिया. मैं उससे ताकतवर था और उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में घुसा आनंद दे रहा था.

w.com बीएफ हिंदी उसने अपनी मजबूरी मुझे बताई और कहा- जो नुकसान होगा वो भी मैं देने को तैयार हूं मगर आप जल्दी आ जाओ. सच में दोस्तो, कल्पना करो कि एक मस्त गोरी लड़की, जिसकी चुचियां 36 की और गांड 38 की हो, तो वो क्या लगती होगी.

w.com बीएफ हिंदी उसने मुझे भी चिप्स खाने के लिये कहा तो मैंने भी दो-तीन चिप्स निकाल ली और उसके साथ बैठ कर ही खाने लगा. उसकी ऐसी आवाज सुनकर उसकी मां बोली- क्या हुआ?भाभी बोली- कुछ नहीं, ऐसा लग रहा था जैसे पीछे कुछ चुभ रहा हो.

उसने मुझसे पूछा- यार निहाल … तू जब मेरी बीवी को चूम रहा था और चाट रहा था, तो मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

ಶಿಲ್ಪಾ ಶೆಟ್ಟಿ

मेरे धक्कों से जब वो बहुत रोने लगीं, तो मैंने उनको जकड़ कर लंड पूरा घुसा दिया और उनकी चूत सहलाने लगा. मैंने उससे कुछ नहीं कहा … क्योंकि उससे इस बारे में बात करने का कोई सबब ही नहीं था. उनकी इस बात को सुनते ही मेरे दिल में भाभी को चोदने का ख्याल आने लगा.

उसके चूमने से मैं और उत्तेजित होने लगी और मैंने एक हाथ से उसके सिर को सहारा दे दिया. जब लिफ्ट बंद होने लगी तो आंटी ने मुझसे पूछा- ऊपर जा रहे हो या नीचे?एकदम से उनके सवाल करने पर मैं कुछ जवाब न दे सका और मैंने कहा- अम्म … मैं … ऊपर जा रहा हूं. मेरे होंठ आंटी की चूत पर लगे तो उसके मुंह से एक आह्ह निकल गई और उसने मेरे होंठों को अपनी चूत पर दबा दिया.

अंदर जाते ही भाभी ने बल्लू की शर्ट और पैंट उतरवा दी और फिर सोफे पर उसको बिठा दिया.

बस मैं बिना वक़्त गंवाए अपने मुँह से उसके पेट को चाटता हुआ उसकी बुर तक आ गया. फिर उसने मेरे हाथों को हाथों से पकड़ कर बिस्तर के दोनों तरफ फैला कर दबा दिया. हम होटल से बाहर आ कर एक गार्डन में गए और वहां कुछ देर बैठकर एक दूसरे की बाँहों एक दूसरे को किस किया.

कुछ लोग रास्ते में ही किस कर रहे थे, जिसे देखकर हम लोग एक दूसरे से नजरें मिला कर आंखों को झुका लेते थे. इधर अपनी सगी बहन की चुदाई देख कर मेरा मन कर रहा था कि मैं भी अभी अंतरा को चोद दूँ. हम दोनों फोन पर फ्लाइंग किस करने लगे और धीरे धीरे सेक्स की बातों पर आ गए.

फिर एक दिन उन दोनों ने मुझसे कह दिया कि आज के बाद वो कभी भी मेरे साथ सेक्स नहीं करेंगी. लेकिन मुझे यह बात बहुत बुरी लगी क्योंकि मैं अपने पति को धोका नहीं दे सकती.

राजेश्वरी अब इतनी उत्तेजित हो चुकी थी कि उसने चादर को पकड़ खींचना शुरू कर दिया और अपना पूरा बदन मरोड़ना शुरू कर दिया. इधर मेरे लंड को गरम गुफा का अहसास हुआ, तो मैं पूरे जोश में आ गया था. अभी मुझे अच्छा लग रहा था तो मैंने भी उसे पकड़ कर झटके के साथ बिस्तर पर लेटा दिया और उसके होंठ चूसने लगा.

तेरे पापा को यह बात पता है कि उनके बाद मैं तेरे भाई से चुत चुदवाती हूं.

फिर मैंने उससे कहा कि ऊपर ही ऊपर करो, जो करना है … और जल्दी करो, फिर हमें यहां से चलना भी है. डॉली भी मेरी तरह मेरे मुँह में जीभ डालकर मेरी जीभ की चुसाई कर रही थी. मेरे पेट के ऊपर हाथ फेरते हुए चालाकी से पेटीकोट का नाड़ा भी उसने खोल दिया और मेरा पेटीकोट भी निकाल दिया.

जब मैं बगीचे में गया तो अचानक देखा कि सोनाली एक पेड़ के पीछे बैठ कर मूत्र त्याग कर रही थी. तो दोस्तो, यह घटना मेरे साथ मेरी जिंदगी में वास्तविक रूप से हुई थी.

मैंने उसे देखा, रमा में पहले के मुकाबले थोड़ा बदलाव आया था, अब उसके स्तन पहले की तरह सुडौल नहीं थे बल्कि झूल रहे थे, उसके चूचुक भी काफी लंबे दिख रहे थे. फिर एक दिन मैंने उनसे कहा कि आपने बच्चों के बारे में डॉक्टर से सलाह ली है क्या?मेरी बात को वो टाल गई. मैं थोड़ा नाराज़ हुआ लेकिन मैंने गुस्से में उससे बैड पर गिराया लंड को खड़ा किया और उसकी चूत पर रखकर सहलाया और झटके के साथ एक बार में आधा अंदर डाल दिया.

काजल हीरोइन की सेक्सी पिक्चर

जैसे ही उसका दर्द कुछ कम हुआ तो एक जोरदार धक्के के साथ मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

उसके लिंग से चिकास (precum) और मेरी योनि के गीलापन से आसानी से लिंग गुदगुदाहट करता हुआ भीतर चला गया. चूंकि मैं भी काफी उत्तेजित था तो मेरे लंड से भी काफी चिपचिपा पदार्थ निकल चुका था. कमलनाथ- क्यों तुम्हारी दीदी तुम्हें नहीं बताती क्या?राजेश्वरी- नहीं.

मैंने धीरे से अपने हाथ को मौसी की छाती के आगे ले जाकर उनकी चूची पर रख दिया. हालांकि स्कूल के समय बारहवीं क्लास में मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, लेकिन उसने मुझे धोखा दिया और वो मुझे छोड़ कर चली गयी. करिश्मा कपूर का सेक्सी वीडियो दिखाओरवि ने पूरी लय पकड़ ली थी, उसकी धक्के मारने की तरकीब और ताकत से मैं समझ गई थी कि अब ये झड़ने वाला है.

मुझे नहीं पता था कि ये सब करना भी होता है या नहीं, मगर जो भी हो रहा था अपने आप ही होता चला जा रहा था. राजशेखर और मैं दोनों ही बहुत गर्म थे और शायद इस बात की कोई फ़िक्र नहीं थी कि हम किस अवस्था में सम्भोग कर रहे हैं.

उसकी बीवी के मोटे-मोटे चूचे देख कर मन करने लगा था कि पहले उनसे ही खेल लूं. फिर वो मेरे गले के चारों तरफ हाथ डाल कर मेरे होंठों को किस करने लगी. वो उधर पहुंच गई और उसने मुझे फोन किया, तो मैं उसे रात को अपने ले आया.

इसके बाद उसने अपने तनतनाए हुए लंड पर चॉकलेट लगा ली और न चाहते हुए भी मैंने उसका लंड मुँह में ले लिया. मैं- खाना तो खाएँगे लेकिन एक शर्त पर, आज की रात ख़त्म होने से पहले आप हमें किस करोगी. कुछ देर बाद मैं उठी और मैंने अपनी ब्रा पेंटी पहनी, उसके बाद अपनी मैक्सी पहन कर अपने रूम में जाने लगी.

मेरे तने हुए लंड की छुअन से भाभी की हल्की सी आह्ह निकली लेकिन भाभी ने खुद को रोका हुआ था.

आंटी मेरे 6 इंच लंबे व 3 इंच मोटे लन्ड को देखते ही रह गई, फिर वो बोली- मेरे पति का बस 4 इंच का ही है. एक दिन पढ़ते हुए मुझे एक चीज़ समझ में नहीं आ रही थी, तो दिमाग चकराने लगा.

करीब और 5 मिनट उसकी बुर को ठोकने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया. भाभी ने उनका साथ देते हुए अपनी कमीज को हाथ ऊपर करते हुए निकलवा दिया. मैं जहां जहां धक्के मार उसे पकड़ चिपकी रही, वहीं वो तब तक गुर्राते हुए झटके मारता रहा.

मैंने अपनी खिंचाई होते देखी तो बात बदलने की कोशिश करने लगी- अच्छा सुनो … अब शाम हो गई. तभी दोस्त लोग आ गए और बोले- क्या भाई … इतने दिनों बाद मिले हो और सूखे सूखे?मैं बोला- देखो भाइयो, अपुन है एक शरीफ बंदा … लेकिन सिर्फ़ बड़ों की नज़रों में … ये लो पैसे और एक बीयर का कार्टून उठा लाओ. अब मेरा खुद ही मन कर रहा था कि वो अपने लंड को मेरी चूत के अंदर डाल दे.

w.com बीएफ हिंदी उसके बाद उसको चोदने का मौका नहीं मिला क्योंकि उसकी जल्द ही शादी हो गयी. मैंने बड़ी मुश्किल से अपने आप पर काबू किया लेकिन मेरा लंड पूरा बेकाबू हो गया था और खड़ा हुआ साफ दिख रहा था.

बीपी साडी

उसके बाद कई बार भाभी ने मौका पाकर मुझसे अपनी चूत मरवाई और मैंने भी भाभी के पूरे मजे लिये. उसने पोजीशन बदली और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए।अब मेरा पूरा लंड उसके मुंह में बिल्कुल गले तक जा रहा था और मैं उसकी चूत को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था. वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को चूमते हुए अपना एक हाथ नीचे ले जाकर अपने लिंग को मेरी योनि के द्वार की दिशा देने लगा.

मैं अपना रजिस्टर टयूशन पर भूल आया था, तो मैं वापिस लेने के लिए इंस्टिट्यूट पर गया. मगर उसकी दर्द भरी कराह से पता चल रहा था कि धक्कों में बहुत ताकत थी. सेक्स फिल्म हिंदी सेक्सीवो दोनों आपस में बातें करने लगीं और कुछ देर के बाद लाइट बुझा दी गई.

जब सब जगह नजर दौड़ाने के बाद मैंने ठीक ठाक पाया तो मैंने हल्के से अपने हाथ को भाभी के चूचों पर लाकर उनको छेड़ने लगा.

वहां बड़ा सा आइना लगा था, सो मैं उसमें ऊपर से नीचे तक अपने आपको देख सकती थी. वो मुझे धक्के मारे जा रहा था और मैं बिना उसे कुछ बोले अपने ऊपर से हटाने का जोर लगा रही थी.

मैंने उससे कहा- फ्रेश होना है?वो बोली- तुम्हारा मतलब नहाने से है न. उसके बाद मैंने उसको फोन करने की कोशिश की लेकिन उसका वो नम्बर बंद हो चुका था. तभी उसने मुझे हाथ पकड़ कर वापस बिठा लिया और निवाला तोड़कर बोली- अगर ये नहीं खाया, तो कभी किस नहीं करूँगी.

मैं पैसे देकर ये सब काम नहीं कर सकता हूं और न ही मेरे पास इतने पैसे हैं देने के लिए।वो बोले- मैं जानता हूं समीर और पहले ये सब न बताने के लिए मैं तुमसे सॉरी कहता हूं.

कविता ने कांतिलाल का लिंग चूस कर एकदम कठोर बना दिया था और अब कांतिलाल अपने लिंग को योनि से मिलाप कराने को व्याकुल होने लगा. मैं उसकी चूत में लंड को डालने लगा तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम निखिल चौहान है। मैं दिल्ली में रह रहा हूं और मैं गुड़गांव में एक ऑटोमोबाइल कंपनी में एक मैकेनिकल इंजीनियर के रूप में काम करता हूं.

अमिताभ बच्चन की सेक्सी फिल्मएकदम कैंची की भांति कांतिलाल ने अपनी टांगों को कविता के साथ फंसा लिया. आप ऐसा भी समझ लें कि वो सब शायद इसीलिये उस मूवी को देखने आये थे ताकि मूवी के बहाने बस मजे ले सकें.

भाई बहन का सेक्सी वीडियो कहानी

जब वो अपनी बीवी से बात कर रहा था, मैं काव्या के पीछे खड़ा होकर चुपके से अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ रहा था. फिर उसने मेरी जीन्स की चेन खोल ली और मेरी जीन्स के अंदर हाथ डाल कर मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को हाथ में भर लिया. उसने बड़ी तसल्ली से अपने लिए ब्रा पेंटी खरीदी और पैक करवाके मेरे साथ वापस आ गई.

जैसे जैसे मैं जोर लगाती जा रही थी, वैसे वैसे मेरे पसीने छूटने लगे थे और मेरी योनि में झनझनाहट होने लगी थी. उसने मुझे व्हिस्की लेने को कहा मगर मैंने विनम्रतापूर्वक मना कर दिया क्यूंकि मैं अल्कोहल का सेवन नहीं करता हूं. अन्तर्वासना डॉट कॉम स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोस की एक आंटी और उनकी बड़ी बेटी को चोदने के बाद मेरी नजर आंटी की छोटी बेटी पर थी.

राजशेखर अब एकदम अलग अलग तरह से धक्के मार रहा था और मैं यकीन से कह सकती हूं कि उसका एक एक धक्का निर्मला की बच्चेदानी पर जोरदार चोट कर रहा होगा. उनका ये खेल बस कुछ पल चला और रवि अपने तनतनाये हुए लिंग को निर्मला की योनि में घुसाने को पुनः तैयार हो गया. वैसे मुझे जहां तक लग रहा था कि वो भी मेरे मन की इच्छा को जान चुकी थी लेकिन कुछ कह नहीं रही थी.

सबने मेरा फोन नम्बर लिया और फ़िर शाम को 7 बजे मुझे हवाई जहाज से धनबाद छोड़ दिया. फिर एक दिन उन दोनों ने मुझसे कह दिया कि आज के बाद वो कभी भी मेरे साथ सेक्स नहीं करेंगी.

उसका लिंग सरसराता हुआ मेरी योनि में आ जा रहा था और मुझे कराहने पर विवश करे दे रहा था.

मेरे ठोस बदन कड़कते लंड बदन की गर्मी ने उनको दर्द और मजा दोनों मिल रहा था. हिंदी में सेक्सी एचडी मूवीमां की चिकनी हो चुकी चूत को पांच मिनट तक जम कर चोदा और फिर मेरा माल मां की चूत में ही निकल गया. सेक्सी वीडियो छोडा छोड़ि सेक्सी वीडियोमैं अभी उसकी चुत देखने का तरीका सोच ही रहा था कि उसने पैर उठाते हुए मुझे अपनी पैंटी दिखाई और कहा- यार, मेरी कमर का दर्द जा ही नहीं रहा है, आज तो और भी ज्यादा दर्द है. मैंने कहा- संगीता डार्लिंग, इतनी कमाल की चीज सिर्फ मुझे मिलनी चाहिए थी.

मैं उसके साथ किस में इतना अधिक खो गई थी कि मुझे पता ही नहीं चला कि उसने मेरी साड़ी निकाल दी.

जैसे ही मेरी जीभ स्वीटी की चूत में गई तो उसने बेड की चादर को नोचना शुरू कर दिया. उन कपड़ों को देख राजेश्वरी बहुत खुश हुई और बोली- यार, मैंने भी यही कपड़े आज के रात पहनने की सोची थी. मेरी साली अपने कपड़े बदल रही थी, उसके शरीर पर केवल ब्रा और पेंटी थी, उसका शरीर बिल्कुल संगमरमर की तरह चिकना था.

मैंने बोला- नहीं नहीं, जब गर्लफ्रेंड ही नहीं बनी … तो सेक्स कैसे करूंगा. योनि तक लिंग पहुंचते ही उसने लिंग का सुपारा मेरी योनि की छेद में टिका दिया. लेकिन कभी-कभी मां भी चुद जाती है, अगर लन्ड मोटा हुआ और चूत का छेद छोटा होता है तो वहां गांड फटने में समय नहीं लगता.

होरा कैसे देखे

अंतरा ने मुझे किस करना शुरू कर दिया और हम दोनों ने सेक्स का पूरा मजा लिया. आपसे यह भी मेरा अनुरोध है कि अनाप शनाप बातें लिख कर मुझे और दुखी मत करें. पता नहीं अगले सुबह क्या होने वाला था, पर अब मैं सोचना छोड़ आंखें बंद करके सो गई.

मैंने बोला- तुझे पता भी है कि एक माशूका ओर आशिक के बीच क्या होता है?वो बोली- कुछ भी होता है … लेकिन लास्ट में तो चुदाई ही होती है.

मैंने बड़े ही कामुक अंदाज़ में राजशेखर की आंखों में आंखें डाल कर उसके गले को पकड़ा और उसे खींचते हुए अपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए.

खैर … कुछ देर बाद उसने सारा काम खत्म कर दिया और मेरे लिए और अपने लिए भी चाय बना कर ले आयी. उसने इसी के साथ अपने एक पैर को पूरा मोड़ा और अपने दूसरे पैर को मोड़ कर उसके ऊपर रख दी. पाकिस्तान सेक्सी पाकिस्तानमैं खुश था लेकिन मैं तब फूला नहीं समा रहा था जब मैंने मम्मी के साथ उसी हॉस्टल गर्ल पूजा को देखा.

ऐसा बोलते ही उसने मेरे पास आते ही मुझे पकड़ कर किस करना चालू कर दी मैं टी-शर्ट में थी. मैंने उसकी चूत में जीभ डाल कर उसकी चूत को अपनी जीभ से ही चोदना शुरू कर दिया. पर अब उनके कई सारे देसी और विदेशी मित्र हैं, जो इस तरह की जीवन शैली पसंद करते हैं.

मैंने कहा- नहीं आंटी, अगर आपने उनको फोन किया तो मुझे बहुत मार पड़ेगी. पूरा बिस्तर पानी से गीला हो ही चुका था और अब वीर्य के दाग भी लग गए थे.

राजशेखर ने रमा के ब्लाउज के ऊपर से उसके स्तनों को दबाना शुरू कर दिया था.

और साथ ही कल वाली बातों के कारण वो मेरे साथ बातें करने में भी एकदम खुल गई थी. लेकिन बारहवीं तक पहुंचते पहुंचते मुझे सेक्स के बारे काफी जानकारी और रूचि हो गयी थी. वो बोली कि यार आज ये वाली एक्सरसाइज करने में तुम मेरी थोड़ी हेल्प कर देना … मुझे पीछे कमर में थोड़ा दर्द है.

अमेरिकन सेक्सी एचडी फिर मैंने उनसे इसका कारण पूछा।राजेश ने बताया कि उसकी पत्नी भले ही पैसे लेकर सेक्स करती है लेकिन वो खुद सेक्स के काबिल ही नहीं है. फिर मैंने उसकी चूत में उंगली डालकर उसे पूरा गर्म कर दिया, जिससे उसकी चूत से रस निकल गया.

ये बात उन दिनों की है, जब मैं अपनी बुआ के यहां छुट्टियों में गई हुई थी. भाभी ने बादाम का दूध पीने को दिया और बोली- अबी तो पहले वाली शैतानी तो नहीं करते हो?मैं एकदम डर गया और बोला- नहीं भाभी, अब नहीं करता।भाभी बोली- तुम्हारे भैया भी बचपन से यही करते आ रहे थे; अब उनमें कमजोरी आ गई और अब उनसे बच्चा पैदा नहीं होता।कुल मिला कर सोने का समय हो गया और हम एक ही बेड पर सो गए. एक दिन जब मैं सुबह उठा तो मेरे मम्मी और पापा कहीं जाने की तैयारी कर रहे थे.

हिंदी सेक्सी वीडियो साड़ी वाली चुदाई

इस वक्त निर्मला के चेहरे पर दर्द के भाव दिखने लगे, जब रवि अपना लिंग उसकी योनि में प्रवेश करने का प्रयास कर रहा था. जब उन्होंने खुद ही अपना हाथ नहीं हटाया, तो मैंने भी उनके हाथ को हटाने का प्रयास नहीं किया. मेरे परिवार में हम दो भाई और माँ-पापा है। माँ हॉउस वाइफ है जबकि पापा किसान हैं। हमारे पास 30 बीघा जमीन है जो कि बिल्कुल नहर के पास है.

तभी मेरे पति ने कहा- ओ मेरी जान रोशनी … ले ले मेरा लंड यह तेरे लिए ही है … जितना इसका रस पीना है, पी ले … भर कर मैं हमेशा तुझे अपनी रण्डी बना कर रखूंगा … चाहे कुछ भी हो … आज की रात तो तुझे पूरी एक मस्त रंडी बना कर चोदूंगा. यह घटना मेरे साथ तब हुई थी, जब मेरी बड़ी बहन की सहेली ने मुझे नंगा करके मेरे साथ सेक्स किया था.

उस समय उसकी सांसें बहुत तेज़ चल रही थीं और इसी वजह से उसकी चुचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं.

उन दोनों न लड़कियों ने मेरी पैंटी निकाली तो नहीं थी, पर बालों को पैंटी की शक्ल दे दी थी. उसके बाद मैंने अपना अंडरवियर निकाल दिया और आंटी के हाथ में अपना लंड दे दिया. फिर उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और मेरे चूचों को दबाने लगा.

अन्दर दो लड़कियां थीं, उन्होंने मुझे कपड़े उतार कर एक जगह लेटने को कहा. जल्दी ही आपको किसी नई लड़की की एक नई देसी फुद्दी की चुदाई कहानी बिंदास ग्रुप की ओर से देखने को मिलेगी. काफी देर उसकी चूत को जीभ से चोदते हुए हो गई तो वो फिर से गाली देने लगी- साले मुझे अपने लौड़े से कब चोदेगा हरामी?मैंने कहा- रंडी, पहले वादा कर कि जितनी औरतों को तू जानती है उन सब की चूत मेरे लंड को दिलवायेगी.

दूसरा राउंड बीस मिनट तक चला और इस राउंड में हम दोनों एक साथ ही झड़ गये.

w.com बीएफ हिंदी: मैंने पीछे से उसकी कमर को दोनों तरफ से पकड़ा और उसके गोरे बदन को नोंचते हुए चुदाई शुरू कर दी. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ गर्दन से हटा कर उसकी बेबी (चूत) पर रख दिया.

इतना सुनने के बाद मैंने भाभी को कार से नीचे उतरने के लिए कहा और कार को लॉक कर दिया. मौसी ने मुझे देख कर स्माइल की और फिर अपने कपड़े लेकर दूसरे रूम में चली गई. मैं दर्द और मजे में बस आह्ह … उफ्फ … ऊईई … आईई … ओह्ह … आह्ह … अंकल … आराम से … आह्ह … ईईईई … मम्मीईई … आह्ह करती रही और अंकल मेरी चूत को रौंदते चले गये.

मैं खाना खाने के बाद अपने कमरे में गया और अन्तर्वासना साईट खोल कर भाई बहन की सेक्स स्टोरी पढ़ने लगा.

हमारे बीच सच कहूँ तो सिर्फ चुदाई वाली प्यास थी और चुदाई की चाहत थी, जिससे हम एक दूसरे की आँखों में देख कर महसूस कर लेते थे. फिर कुछ देर बाद उन्होंने मेरी पैंट को खोला, तो मेरी चड्डी में मेरे लौड़े ने आतंक मचा रखा था. उसने बोला- ऐसा क्यों?मैंने बोला- क्योंकि वो कमरा नजमी के कमरे से दूर है … और तुम्हारी अम्मी के कमरे से आवाज बाहर नहीं आती है.