इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी बीएफ चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

ઇન્ડિયન દેશી સેક્સી: इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती, पहली बार सबको दर्द होता है, मुझे भी हो रहा है… पर चुदाई का मजा लेने के लिए थोड़ा दर्द तो सहन करना ही पड़ेगा.

सेक्सी चुदाई जबरदस्त

”मैंने सलवार को ऊपर खींचा और बिना नाड़े को बांधे, नीचे की बर्थ पर ही लेट गई और कुछ देर बाद मैंने आँखें बंद कर लीं. बीएफ घोड़ा वालाघर आते ही मैंने जूसी रानी को वहीं ड्राइंग रूम में सोफे पर गिरा कर के मासिक धर्म के रक्त से भरी हुई चूत की ज़बरदस्त चुदाई कर डाली.

हम एक दूसरे की मारेंगे दोस्त हैं, पर नया माल नया माल है, बहुत माशू क है, वायदा कर दिलवाएगा, कैसे भी उसे पटा, मुझे उसकी चाहिए. इंडियन भाभी एक्स एक्स एक्समैं प्रिया के उरोज़ों के बीच की दरार की लम्बाई अपनी जीभ से नापने में मशग़ूल था.

बस फिर क्या था, उसने मुझे अपने गले से लगा लिया और ब्रा का हुक पीछे से खोल दिया, जिसका असर यह हुआ ब्रा उतर गई और मैं ऊपर से पूरी नंगी हो चुकी थी.इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती: फ़िर वो वीडियो बंद करके बोलीं- अगर तुम चाहते हो कि मैं ये वीडियो अंकल को ना दिखाऊं, तो तुम वही करोगे जो मैं करने को कहूँगी, वो भी बिना कोई सवाल किए…मैंने डरते हुए बोला- जो आप कहोगी, मैं वो ही करूँगा, लेकिन प्लीज ये वीडियो डैड को मत दिखाना.

मैंने उसके मोटे लंड को घूर कर देखा तो उसने उसी वक्त अपने लंड को सहलाया और मुस्कुराते हुए दरवाजा बंद करके ट्रायल रूम में वापस घुस गया.’) बैठी होती तो मैं कब का टूट पड़ता उसकी चूत पर, पर मुझे यहा बहुत सब्र से काम लेना था.

ब्लू सेक्स बीएफ - इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती

जैसे ही मैंने अपना अंडरवियर निकाला और उसने मेरा 8 इंची लौड़ा देखा, उसने भागकर बेड पर छलांग लगा दी.मैंने लंड को चूत में घिसते घिसते उसकी चूत में हल्का से अन्दर किया, मेरा सुपाड़े के बहुत थोड़ा ही हिस्सा अन्दर गया होगा कि सोनी के मुंह से उफ्फ निकला।फिर बोली- सर आपका लंड तो बहुत गर्म है।हाँ… साथ ही तुम्हारी चूत भी काफी गर्म है।” कहते हुए मैंने हल्के से एक और झटका दिया, सुपारा जाकर उसकी चूत में फंस गया.

उसके दोनों पैर मेरे पैरों के ऊपर थे और उसने अपनी एड़ियां उठा रखी थीं. इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती पर उनके जोर देने पर मैंने बता दिया कि मेरे रुपये खो गए हैं तो उदासी मेरे दिलोदिमाग पर छाई हुई है.

मैं भी गांड उठा कर उसके लम्बे और मोटे लंड से चुत चुदाई का मजा लेने लगी.

इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती?

वो बोली- जीजू आधे घंटे से तो आपका लंड मेरी चुत के अन्दर है और आप बोल रहे हो कि बड़ी जल्दी खत्म हो गई. मैंने भाभी से वैसे ही झूठ कह दिया जबकि मैं अपने ब्वॉय फ्रेंड से कई बार चुदवा चुकी थी. आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है?आपकी प्रतिक्रिया मेरे लिए बहुमूल्य है।धन्यवाद.

जब भी मुझे मौका मिलता तो मैं उसको किस कर देता था, उसके मम्में दबा देता था. कुछ देर बाद आशीष वहाँ से चला गया और अभी मुझको पूरी रात भर चंदर के साथ ही रहना था. जैसे ही उन्होंने मेरा खड़ा लंड देखा, वो देखकर उसको हाथ में लेकर सहलाते हुए बोलने लगीं- आज 3 साल बाद इतने बड़े लंड से चुदाई का मज़ा ही कुछ और होगा.

मैं सोचने लगा एक बार चुदाई कर लेता हूँ फिर तो सविता भाबी हर बार पहले लंड ही चूसेंगी. वो अपने पेट पे रम डालने लगीं, जो बह के उनकी चूत से सीधा मेरे मुँह में आ रही थी. जब वो चली गईं तो मुझे लगा कि माँ के रूम में कुछ खास चीज़ है, ज़ो वो मुझे नहीं हाथ लगाने देती हैं.

तभी सामने वाली भाभी के फोन से दिशा का फोन आ गया तो नंगा ही चल के मैंने फोन उठाया. मैंने कहा- अब दिखाओ अपनी चूत!उसने धीरे से अपना नाड़ा खोला और सलवार नीचे करने लगी, उसकी सलवार नीचे उतरते ही वो नीचे से नंगी हो गई, मैंने देखा कि उसने पेंटी नहीं पहनी हुई थी.

मैं कुछ भी कहने लायक नहीं थी मुझे तो पैसे की चमक ने अँधा कर दिया था.

हम दोनों के बीच एक अनजाना सा रिश्ता बन गया था जोकि मैं समझता था कि ये शायद चाची को सेक्स के नजरिये से पसंद आ रहा था.

मैंने बस के कंडक्टर से पूछा तो उसने बोला कि यहां एक यात्री और आएगा. मैं हंसते हुए बोली- मेरे मालिक मैं कब से माँ बनने के लिए तड़प रही हूँ. मगर एक बात सुन लो, उसे मैं अपनी मर्ज़ी से नहीं उसकी अपनी मर्ज़ी के साथ चुदवाने वाली थी.

वो बोला- ओके दोपहर एक बजे मैं ड्राइवर को भेजूँगा, उसके साथ चली आना. तभी मैंने देखा कि अब दोस्त की लंड पेलने की स्पीड बढ़ गई और वो झड़ गया. मेरी पहली चुदाई की कहानीपतिव्रता बीवी की गैर मर्द से चुदाईको काफ़ी लोगों ने पसंद किया और मुझे मेल भी भेजे.

मैंने एक कदम आगे बढ़ाने की ठानी और एक दोहरे अर्थ वाला संवाद मारा- अलका जी, अगर कोई भी काम हो तो बेखटके बोल दीजियेगा.

फिर तो मानो मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया और मैंने सीधा मेरा हाथ उसकी चूत पे रख दिया और ऊपर ऊपर से सहलाने लग गया. मैंने पैंटी के ऊपर से ही सेजल भाभी की चुत को चूमा, नमकीन चिपचिपा सा पानी मेरे होंठों पे लग गया. जैसे ही हम दूसरे कमरे में पहुँचे तो वहाँ एक और आदमी जो 60 साल के लगभग का होगा, बैठा था.

कैसे लग रही है आपको ये सेक्स स्टोरी, आप मुझे निम्न इमेल आईडी पर मेल करके अपनी राय दे सकते हैं. और हां पूरी रात तुम्हारी चुदाई करनी है, जब जब इस का पानी निकलेगा तो तुम्हें पीना पड़ेगा, नहीं तो मैं चुत को ही भर दूँगा. पर मेरे फ्रेंड ने बोला- पूजा का 5 दिन पहले एक्सीडेंट हुआ था और उसकी मौत हो गई थी.

ऊपर जैसे जाकर नाक किया मकान मालिक निकला, मुझे देख कर ऊपर से नीचे तक घूरने लगा और बोला- वाह वन्द्या, क्या मस्त हो, सच में बहुत मस्त माल हो!और गेट खोला।मैं बोली- अंदर तब आऊंगी जब यह सुरेंद्र जीजा भी अंदर रहेंगे.

मैंने सोचा कि मेरे पति तो 6 महीने नहीं आने वाले और मैं घर पर अकेली क्या करूँ?तभी मनीष अन्दर आया और दरवाजा बंद करके मेरे पास आके बैठ गया. अब तक मुझे भी मज़ा मिलने लगा था, इसलिए मैं खुद ही भाईजान से मज़ा लेने को बेकरार हो गई.

इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती इतनी मस्त चुदाई देख कर मेरा लंड मेरी शॉर्ट्स फाड़ बाहर निकलने को तैयार था और मैंने उसे अपनी पैन्ट से बाहर निकाल कर हाथ से मसलना शुरू कर दिया था. कुछ दिन बीते तो मैंने सोचा कि अब मुझे इससे अपने प्यार का इजहार कर देना चाहिए.

इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती मेरी पहली कहानी में मेरी मेल आईडी दूसरी थी और आज मैं अपनी निजी मेल आईडी से इस कहानी को आपकी नजर कर रही हूँ. मैं- फिर मुझसे कैसे पट्टी करवा ली?ऋतु- तुम नहीं करते तो कौन करता!मैं- अच्छा तो फिर मेरे रूम पर आ जाना, मैं कर दूंगा.

दीदी ने मुझे रानी दीदी की खींची हुई चार सेल्फी दिखाईं, जिसमें वो मेरा सोये हुए का लंड चूस रही थीं.

सीरियस बीएफ वीडियो

मेरा मुँह किसी लिसलिसी चीज़ से भर गया, जो ना चाहते हुए भी मुझे निगलना पड़ा. मैंने पूछा- क्यों?माँ ने कहा- कल रात गली में जो चोरी हुई थी… उससे गोरी आंटी डर गई है. मैंने उन्हें समझाते घर के सामने वाली गली तक छोड़ा और उसके अगले ही दिन मुझे अपने गाँव किसी काम से चार दिनों के लिए आना पड़ गया.

विवेक ने उसको गोल्डन ब्रा पहनाई और पेंटी को देख कर बोला कि अब ये भी पहनोगी. तब आंटी ने मेरी पैन्ट की तरफ देखा, मेरी पैन्ट थोड़ी गीली हो गई थी क्योंकि इस वक्त आंटी बहुत सेक्सी लग रही थीं. राज जी, यही तो पीड़ा है कि पैरों को या हाथों को कौन देखता है… कोई निगाह नहीं डालता… सबकी नज़रें सिर्फ चेहरा या बॉडी तक ही सीमित रहती हैं… वैसे तो किरण भाभी जी के हाथ भी और पैर भी काफी सुन्दर हैं.

मेरा मन करने लगा कि अभी के अभी भाबी की चुत में लंड पेल कर चुत फाड़ दूँ.

वो मेरे करीब आईं और भाभी मेरे लंड को पकड़ कर उसमें सेलोटेप से 50 ग्राम का तोला बाँधने लगीं. दोस्तो, अन्तर्वासना में यह मेरी फर्स्ट स्टोरी है, आशा करता हूँ कि आपको मेरी यह कामुक कहानी पसंद आएगी. इन घुंडियों को निप्पल तो नहीं कहा जा सकता, बस चने के दाने के समान एकदम गुलाबी रंगत लिए हुए थे.

इसलिये वह मेरी हर बात मानने को तैयार था और बस अपने लंड की घिसाई करवाना चाहता था. क्या तुम भी अपनी चूत में मेरा लौड़ा लेने को तैयार हो?वो अब भी डर रही थी, बोली- चुदने का मन तो मेरा भी बहुत कर रहा है पर… बहुत डर भी लग रहा है. जूसी रानी को भी ऐसी अचानक की जाने वाली चुदाई में बड़ा आनंद आता है तो उसने भी तुर्की ब तुर्की मेरा साथ दिया.

विवेक बहुत हट्टा कट्टा था, उसने नीचे बैठते हुए कामिनी को अपने कंधे पे ले लिया और उसकी चूत चूसने लगा. बड़ी बेरहमी से एक बार फिर मेरी गांड के छोटे से छेद में उसने अपना मोटा लंड पेल दिया.

मेरी गांड में बस के एसी की हवा लगते ही काम वासना और तेजी से भड़क उठी, उस पर एक मर्द का हाथ मेरी गांड को प्यार से सहलाए जा रहा था. शादी के लगभग 2 या 3 महीने बाद मेरी मम्मी ने एक दिन मेरे को भाभी जी के घर से कुछ सामान लाने को कहा. चूत पूरी गीली थी तो लंड बिना किसी परेशानी से चूत में अंदर तक समा गया.

मादक स्वाद से भेजा भन्ना गया, शरीर में चुदास की ज़ोरदार तरंगें अपना ज़ोर मारने लगीं.

भाभी उसको डांटकर वापिस ले जाती थीं… लेकिन वो लड़का तब भी नहीं मान रहा था. यह खेल शुरू हुआ था 3 साल पहले… मुझे जुए की बहुत खराब लत पड़ गई थी और इसकी वजह से मुझ पर पचास हजार की उधारी हो गई थी. मैंने हमारी वाली सीट के पर्दे अच्छे से बंद कर दिए ताकि बाहर से कुछ ना दिखे.

उसके गर्मजोशी से चुम्बन करने के अंदाज को देख कर मुझे भी मजा आने लगा और मैं भी मौके का फायदा उठाते हुए उसकी टी-शर्ट निकालने लगा. कुछ ही देर में हम दोनों बहुत गर्म होने लगे और एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे। मेरा एक हाथ उसकी कमर पर था और दूसरे हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था। उसकी साँस बहुत तेज हो गयी थी और वो मेरे हाथ को अपने मम्मों पर दबा रही थी.

उस रात उसने मुझे 4 बार चोदा… या यूं कहो कि हम दोनों ने 4 बार सेक्स किया और पति पत्नी की तरह चुदाई का मजा उठाया. अब आगे आपको बताऊंगा कि मैंने कैसे अनामिका के कहने पर उनकी बहन की प्यास बुझाई और और मैं उन दोनों बहनों की सेक्स की भूख आज भी शांत कर रहा हूँ और वे दोनों आज मुझसे बहुत ही खुश हैं।तो चलिए अब देर न करते हुए अब कहानी की शुरुआत करते हैं. अब तक आपने पढ़ा था कि मुझे एक पुलिस अधिकारी ने अपनी बहन बना कर मुझसे अपना काम करवा लिया था लेकिन उसने मुझे खुद हाथ भी नहीं लगाया था बल्कि उसने मुझसे राखी बंधवाने का इरादा भी जताया था.

बीएफ बीएफ वाली

दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई में मैं थोड़ा थक सा गया था तो मैंने उसे अपने ऊपर आने को कहा.

उसने हमें वोदका पीते देख फ्रिज से पिकेल्ड ककेम्बर और सेलेड फिश निकाल कर हमें पेश कर दी. मैंने उसे उठा कर बिस्तर पर पटक दिया और उसके टॉप को बीच में से फाड़ दिया… तो उसका संगमरमर जैसा तराशा हुआ बदन धीरे धीरे मेरे सामने आता गया. मैंने कहा- ठीक है, आज मैं आपको बॉडी लैंग्वेज के बारे में बताऊंगा, वो अंग्रेजी बोलने के समय बहुत जरूरी होती है, उससे कॉन्फिडेन्स नजर आता है.

मैं पेशे से इंजीनियर हूँ और यहां जयपुर में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ. उसने अपनी किरायेदारी में रहने वाली बहुत सारी औरतों को और अपनी नौकरानी को भी चोदा है. बीएफ पिक्चर वीडियो बीएफ सेक्सीमैं जाता हम लोग पढ़ाई करते, कुछ हंसी मजाक होता और मैं घर वापस आ जाता, लेकिन कभी उसके साथ कुछ करने की हिम्मत नहीं हुआ.

मेट्रो में घुसते ही भाभी रुक गई पर मैं पीछे से भागता हुआ आ रहा था तो अपने आपको रोक नहीं पाया और भाभी की गांड से अपना लंड गलती से टकरा दिया. दूसरी कहानी थीमेरी फुद्दी को लंड की आदत पड़ गईजिसमें मैंने आपको बताया था कि मैंने पहली बार अपनी चूत कैसे चुदवाई थी.

वह मेरे लंड को मुँह में लेकर आंड सहलाते हुए लंड को आगे पीछे करने लगी. उसके गुंदाज बदन का वो पहला स्पर्श तो मुझे जैसे जन्नत में ही पहुंचा गया. उसने कहा- क्यों ना आज ही मैं तुम्हें तुम्हारी जोरदार कहानी दिला दूँ.

अब नीलम भाभी नीचे बैठ गईं और पूनम खड़ी हो कर अपनी चुचियां चुसवाने लगी. कुछ देर तो मैंने बारिश रुकने का इंतजार किया, पर फिर बातों ही बातों में न जाने मुझे क्या सूझी. उसकी 36-26-34 की फिगर के साथ वो जबरदस्त काँटा माल है और मेरे क्लास की मिस यूनिवर्स जैसी है.

वो 69 की पोजीशन में होकर मेरी चुत चाटने लगा और बड़ा लंड मेरे गले से भी आगे जाने की सोच रहा था.

भाभी उसको डांटकर वापिस ले जाती थीं… लेकिन वो लड़का तब भी नहीं मान रहा था. अब तो बस उसके शरीर पर एक पैन्टी बची हुई थी, वो भी आगे से पूरी भीगी हुई थी.

कैसी लगी मेरी सेक्स कहानी… मुझे इसके बारे में जरूर लिखें, मेरे मेल पर अपने कमेंट्स भेजें. फिर मेरी तरफ इशारा करके बोलीं- यह मेरे पति ने एक चूत पैदा की है, जिसकी आज तुझे नथ उतारनी है. लेकिन जब मैं उसके ऊपर से नहीं हटा, तो अपने आपको मुझसे छुड़ाने के लिये मुझे जगह-जगह काटने लगी.

वो बड़ी मस्ती से मुझसे अपना लंड चुसवा रहा था और कुछ देर एक बाद लंड चूसने के बाद वो मेरे मुँह में ही झड़ गया. फिर उसके बाद तो भाभी के नाम की मैंने न जाने कितने बार मुठ मारी।फिर एक दो दिन बाद मैं सुबह सुबह अपने छत पे घूम रहा था, तभी भाभी अपने घर के पीछे आयी और अपनी साड़ी ऊपर करके मूतने के लिए बैठे गयी. मैंने बोला- ऐसे कैसे दिखाओगी अपनी सील, ऐसे थोड़े ही मुझे कुछ दिखेगा.

इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती मैंने तुरंत उसकी मेल आई डी ली और बोला कि घर जाकर दो तीन कहानियां मेल कर दूंगा. हाँ वैसे रोशनी तुम आजकल कॉन्फिडेंट लगती हो, बस तुम्हारे पुठ्ठे हल्के से दबे हुए हैं.

बीएफ पिक्चर सेक्सी चोदा चोदी

तभी अचानक वो कार भी आगे की तरफ निकल गयी, लेकिन ये क्या… एक मिनट के बाद अचानक ही वही कार वाली लड़की रेस्तराँ के अंदर दाखिल हुई, और मैं तो जैसे उसे देखते ही जड़वत हो गया, तभी उसने मुझे देखा और मेरे पास आकर हेलो करने के प्रयास से अपना हाथ आगे बढ़ाया, मैं तो मानो अपनी ही दुनिया में खोया था. उसके दोनों हाथ मेरे बालों में थे और मेरे हाथ उसकी कमर को सहला रहे थे. वह इसे रोज की तरह का मजाक समझ रही थी, पर तभी उसकी नजर मेरे तम्बू से खड़े लंड महाराज पर गई.

आपको मेरी ये गांड चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ आप कमेंट्स करके जरूर बताना कि मेरी यह हसीन रात के बारे में जानकार आपको कैसा लगा. आह्ह्ह की बजाए मेरी सीत्कारें राघव के नाम की चिल्लाहट में बदल रही थीं. सेक्सविडियोंनंदा रानी के बारे में जानने के लिए कहानी पढ़ेंचंदा रानी की कुंवारी बहन की नथलेकिन रेखा रानी का जूस कोई सामान्य जूस नहीं था, यह तो शहद जैसा गाढ़ा था.

तो मैंने कहा- पसंद आया गुलाम?भाभी बोलीं- मेरे उनसे दुगना है और मोटा भी है.

और जैसा आप जानते हैं कि सफ़ेद गमछा पानी से भीग जाने के कारण शरीर से चिपक जाता है. क्योंकि सूरज ढलने लगा था और हम दोनों को घर पहुँचना था तो हम उस किले से जल्दी से बाहर निकल आए.

इसके बाद वो मेरे अंग अंग को चूसने लगा, मुझे बहुत गुदगुदी हो रही थी, मगर मैं हिल भी नहीं पा रही थी. फिर जाने से पहले वो बोला- अगले साल जब मैं वापिस आऊँगा तब तक यह पूरे संतरे बन चुके होंगे. मैं उनके लंड को हिलाने लगा, मेरे हाथ में उनका लंड आ गया था, जो काफी मोटा और तगड़ा था.

वो बोली- होगा… जरूर होगा, चल जल्दी कर भोसड़ी के… तू है ही इस लायक साले जल्दी आ.

उन्होंने अपनी उंगली मेरे मुँह में दे दी, मैंने अंकल की उंगली चाटकर गीली कर दी. इस तरह उन्होंने मुझे आधे घंटे तक लगातार चोदा और इस दौरान में दो बार झड़ चुकी थी. अब मैंने उससे पूछा- कमला तुम्हें मुझसे चुद कर मजा आया ना?कमला- हां तुमने तो पहले मेरी जान ही निकाल दी थी.

नंगी नंगा वाला वीडियोघर पहुँचते ही मेरा लंड फिर से उछाल मारने लगा, जो वो अच्छी तरह से देख रही थी. पिछले भाग में आप सबने पढ़ा के कैसे मॉम अपने घर के नौकर से चुदाई करवा के कॉलेज के लिए निकल गईं.

बहन भाई की सेक्सी बीएफ पिक्चर

तो हुआ यों कि एक दिन हम लोग यानि मैं और अनामिका सेक्स कर रहे थे और चुत चुदाई के बाद ऐसे ही साथ में लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे और हम एकदम नंगे थे।और तब अनामिका ने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से झूमने लगा था. अब उसने मेरी पेंटी उतार दी और मेरे ऊपर लेट कर उसने अपना खड़ा लंड मेरी चुत के छेद में ज़ोर से घुसा दिया. मैं जब रात को रूम पर आया तो मैंने टीवी पर एक ब्लूफिल्म चला दी, जिसे देख कर मुझे चुत चोदने का मन करने लगा.

पहले मैंने उसे होंठों पर किस किया, फिर उसकी गर्दन पर किस करते हुए मैं नीचे आने लगा. मैंने पूनम को डॉगी स्टाइल में किया और अपने लंड को पूनम की गांड के छेद पर रख कर धक्का दे दिया. धीरे धीरे मेरी उससे बातचीत शुरू हुई और उसने मुझे बोल भी दिया कि वो मुझे पसंद करती है.

अब उसके पास बोलने के लिये कुछ नहीं बचा था, उसकी हालत काटो तो खून ना निकले जैसी हो गई थी. दिन निकल आया था और मोहन मुझसे आँखें नहीं मिला रहा था, वो शर्मा रहा था. कुछ ही देर में मेरा लंड अकड़ गया और उसका पैन्ट में रुक पाना दूभर सा लगने लगा.

वहाँ मेरे दो दोस्त और होंगे, तुमको सबको अपनी जवानी का जलवा दिखाना पड़ेगा. मैं अक्सर उसको टच करता, कभी पीठ पर, कभी गाल पर, कभी उसकी कमर पर हाथ फेर देता, वो कुछ नहीं कहती.

एक दिन ऐसे ही विशाल भैया कंपनी के काम से बंगलौर गए थे और जाते वक़्त मुझ यह बताते गए कि अगर वैशाली को किसी चीज़ की ज़रूरत पड़ जाए तो उन्हें मार्केट लेके चले जाना.

उसकी गर्लफ्रेंड बहुत सेक्सी माल थी, उसके चुचे उसकी गांड सब मस्त थे. ब्लू हिंदी देसीदूसरे ही दिन उन्होंने मुझे फिर कॉल किया और बताया कि आज मेरे बाथरूम के शावर में पानी नहीं आ रहा है, प्लीज़ जल्दी आ जाओ. तमिल सेक्सी बीएफअब तो मैं व्ट्स ऐप पर अपने दोस्तों के साथ चैट करती थी मैं! और अपनी सहेलियों से बात करती थी. मैं ड्राइंग रूम में आया, कामिनी के हाथ में गिलास था और वो स्लीवलेस घुटनों तक की नाईटी पहने थी.

वो चीखने लगी- आहहहहह बाहर निकालो इसे… आहह… माँ रे… मैं मर गई… बहुत दर्द हो रहा है… मुझे नहीं चुदवाना.

मैंने उठकर अपने कपड़े पहने और बाहर आया तो देखा दीदी खाना बनाने की तैयारी कर रही थी. बीच बीच में मैं मुंह से प्रिया का अंगूठा पकड़ने की कोशिश भी करता, लेकिन प्रिया अंगूठा किसी तरह छुड़ा लेती. मेरी रसायन विज्ञान काफी अच्छी होने के कारण उसने मुझसे कुछ सवाल पूछे, बस फिर क्या था.

जब वो वॉक करती तो वो कभी उसके गांड पे हाथ मारता तो कभी उसके मम्मों पे हाथ फेरता. मैंने बीच में ही रोकते हुए उसे बोला अभी से ही शुरू हो गई रुको।बोली- डफर… मैं चुदने के लिए नहीं, कुछ दिखाने के लिए खोल रही हूँ। हमेशा उसी का नशा चढ़ा रहता है क्या तुझे?मैं बोला- नशा चढ़ाया किसने?देखो मेरी जांघ पर एक छोटा सा जख्म आ गया था जिसके कारण चलना फिरना मुश्किल हो रहा था. जल्दी ही आर्थर का लंड टनटनाने लगा और आकार में दुगना तीन गुना हो गया! अब वो मेरी परी के नन्हे से मुख में नहीं समा रहा था और ब्लॉन्ड रसियन बार्बी डॉल उसे अपने दाहिने हाथ में पकड़े हुए उसके छतरी जैसे चौड़े-मांसल टोपे को अपनी सुन्दर, गुलाबी जीभ को बाहर निकाल कर चाटने लगी थी.

सेक्सी बीएफ एचडी में फुल

मैंने बड़े शिकायत वाले अंदाज में कहा कि मौसी और भाबी आप लोग हमारे घर पर क्यों नहीं आते हो?तो मौसी हंस कर बोलीं कि अबकी बार चलूंगी. जिसके लिए बड़े बड़े ऋषि मुनियों का ईमान डोल गया था, आज वही मंजर मेरे सामने था. उन दोनों की उम्र में काफी फासला होने के कारण उन दोनों में हंसी मजाक नहीं होता था.

मैंने जानबूझ कर इसे शब्द का प्रयोग किया था क्योंकि मैं उससे थोड़ा खुलना चाहता था.

फिर धीमे से मैंने उसके शर्ट को उतारा तो उस के चूचों को देखता ही रह गया.

इस तरह से वो सारे रास्ते मेरे आमों को दबाता रहा और चूत में उंगली भी करता रहा. मैं इस वक्त बेबस थी, मेरी चूत में लंड घुसा हुआ था और हम दोनों एकदम नंगे होकर चुदाई का खेल खेल रहे थे. सेक्सी भेजा सेक्सीकामिनी बोली- हां अब नीचे से ऊपर की तरफ चूस ठीक से…वो जैसे जैसे बोलती जा रही थी, मुझको करना पड़ रहा था.

मैंने जब ये सेक्स वाली बात ऋतु को बोली तो वो भी घबरा गई, लेकिन बाद में मजबूरी में वो मान गई. बोल दो ना कि ओवर टाइम करना है तो यही काम करना पड़ेगा वरना काम छोड़ दो. चूत, झांटों वाला स्थान और काफी गहराई तक जांघें उसके चूत रस व मेरी मलाई के मिले जुले माल से सनी हुई थीं.

तभी मैंने पास देखा तो अन्नू और एकता खड़े थे और हमें इस तरह की चुसाई करते हुए देख रही थीं. कोई देख ना ले, इसलिए मैंने अपना न्यूज़ पेपर ऐसे लगा लिया कि सामने से ना दिखे.

तब मैंने उससे कहा कि जब पति पत्नी पहली बार बिस्तर पर मिलते हैं तो वो जो करते हैं, वैसा तुम करो.

उसने पापा से कहा कि मेरे देवर की डेथ हो गई है, इसलिए उसको वहाँ भेजना पड़ा. आर्थर खुश होकर नताशा को अपनी कलाइयों पर ऊपर की और उछलने लगा जिससे नीचे की ओर गिरती हुई नताशा की चूत में आर्थर का मोटा लंड सटासट अन्दर बाहर होने लगा. हम लोग चुदाई में इतना मस्त थे, हम लोग दरवाजा बंद करना भी भूल गये थे और हम लोगों को पता भी नहीं चला कि कोई हम लोगों की चुदाई को देख भी रहा है.

एचडी एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो जो औरत अपने पति से शारीरिक रूप से संतुष्ट नहीं होती है, उसे जिगोलो संतुष्ट करता है मतलब वो उस औरत के साथ सेक्स करता है और बदले में वो उस औरत से अपनी मेहनत की फीस लेता है. आपको मेरी ये नसीहत भरी कहानी पसंद आई या नहीं… तो प्लीज़ मुझे मेल कीजिएगा.

अब उसके मुँह में खून लग चुका है, अब जब भी उसका दिल करेगा, वो आपको चोद देगा. अब तक मैं लंड घुसने से पहले ही उसके निप्पल चूसने की वजह से दो बार पानी छोड़ चुकी थी. उसने मेरी एक ना सुनी पूरे एक घंटा तक मेरी चुत को खींच खींच कर चूसता रहा.

हिंदी में बीएफ पिक्चर दिखा दो

यही बात मैंने अलका से भी कही कि सब कहानियां मेरी गर्ल फ्रेंड्स में ही घूम रही हैं. मैं जैसे उनके घर पहुँचा, भाभी बोलीं- गुस्सा हो?मैंने न में सर हिलाया, उन्होंने जो चाय बनाई थी, वो चुपचाप पीने लगा. नाभि से ढाई-तीन इंच नीचे से क्रीम रंग की पिंडलियों तक लम्बी एक कैपरी, नाज़ुक साफ़-सुथरी दायीं टांग के ऊपर बायीं टांग, दोनों पैरों के नाख़ून थोड़े बड़े पर अच्छे से तराश कर उन पर लाल रंग की नेलपॉलिश लगी हुई.

मुझे लगा कि बात बन गयी, मैं उस दिन आफिस से जल्दी निकल गया और रात 8 बजे की तैयारी करने लगा, रात 8:30 को बांद्रा में उसके फ्लैट में पहुँच गया।जिया अपने घर में अपनी मेड के साथ अकेली ही रहती थी, उसके पापा पेरिस आते जाते रहते हैं बिजनेस के सिलसिले में तो जिया को पैसे की कोई कमी नहीं थी, वो तो बस मजे के लिए जॉब कर रही थी।मैं उसके फ़्लैट की बिल्डिंग के पास पहुंचा ही थी कि मेरा फोन बज उठा. अब उसने अपने लंड पे थूक लगाया और एक झटके में अपना लंड मेरी फुद्दी में पेल दिया.

उसकी रेशमी, नर्म, मुलायम और घुंघराले झांटों के बीच उसकी बुर तो ऐसे लगती होगी, जैसे घास के बीच गुलाब का ताजा खिला हुए फूल हो.

अब हमहूँ घर जाहिके तैयारी में रहेले कि हमार बॉस हमके रोक के कहिले- बबीता, थोड़ा काम बाक़ी बा… औ के खत्म करवा दौ… फिर हम ही तौके घर छोड़ देब…हम कहिने कि ठीक बा… और वैसे भी हमरा खातिर काम ज्यादा मायिने रखत रहे!शायद हमरी बात से हमरे सर इम्प्रेस हो गईले. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि आज कुछ सालों बाद ही यह मज़ा मुझे नसीब हुआ था. तो मैंने उस से कहा- मेरी गर्लफ्रैंड है, तो उस से आपको क्यों जलन हो रही है?उसने कुछ नहीं कहा और नाराज हो गयी.

आंटी कामवासना से आआस्सस्स…” कर रही थीं और कह रही थीं- आह… और जोर से राज… आज इनका सारा दूध पी जाओ… खा जाओ इनको… ये आज से तेरे लिए ही हैं… जब तेरी इच्छा हो, मुझे चोदने आ जाना. प्रिया की बेफिक्र ऊंची-ऊंची आनन्दमयी सिसकारियाँ पूरे बैडरूम में गूँज रही थी. मैंने भाभी की चूचियों को चूसा तो इस बार उन्होंने मेरे लंड को हिलाकर खड़ा किया और किचन से मक्खन लेकर आईं.

मुझे ऐसा लगा जैसे उनके हाथ के नीचे मेरा हाथ है और मेरा हाथ उनके गांड और बुर में चल रहा है.

इंडियन सेक्सी बीएफ देहाती: आंटी बोलीं- मैं तो बस तेरे लंड के लिए ही बनी हूँ… जल्दी से घुसा दे और मेरी इतने दिनों की प्यास भी बुझा दे. कुछ देर बाद उसने खाना बनाया था वो हम दोनों ने मिल कर टेबल पर लगाया और बैठ कर खाना खाया.

थोड़ी देर में ही उसने अपना लंड निकाला और सारा वीर्य ऋतु के पेट पर और चेहरे पे डालने लगा. ” राखी बोली।मैं शर्त नहीं हारूँगी, अभी तक तुमने खोल कर कहाँ देखा है. जब आप तैयार हो तो मैं भला आपकी बहन को खुश करने के लिए मना कैसे कर सकता हूं?इसके बाद हमने फिर से सेक्स करना शुरु कर दिया.

कामिनी मुझसे बोली- देखना क्या गिरा है?मैंने कैमरे को अपनी आड़ में लेकर उठाते हुए कहा- कुछ नहीं.

अब मैं आंटी के बारे में आपको बता दूँ, उन्होंने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी जो उसके गोरे रंग पर गजब ढा रही थी. फिर मैंने उसी उंगली से भाभी की भगनासा को छुआ, भाभी का जिस्म एकदम से कांप उठा, भाभी के बदन में उत्तेजना की एक लहर दौड़ गई, भाभी कसमसाने लगी तो मैं उनकी चुत को चाटने लगा और एक हाथ से उनके मम्मों को भी दबा रहा था. अब मेरा मंजू की गांड के बीच में सटा हुआ था, मैंने मंजू की गर्दन में किस करना शुरू कर दिया, मंजू उतावली हो गयी, अपनी गांड को हिलाने लगी.