एक्स एक्स पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,बड़ी चूची वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी भाभी नहाते हुए: एक्स एक्स पिक्चर बीएफ, मैं टॉयलेट में जाकर पेशाब करने लगा और जब मैंने मूतने के बाद लंड को हिलाया तो लंड में हवस सी जाग उठी.

न्यू सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

मुझे यहां रहते हुए करीब आठ महीने हो गए थे, लेकिन हम लोगों ने कभी बातचीत नहीं की थी. बीएफ मूवी ओपन वीडियोमैंने पहले‌ तो थोड़ा सा पीछे होकर मोनी की चूत से अपने लंड को बाहर निकाला फिर अपने लंड पर से उस कॉन्डोम को उतारा जो कि मेरे वीर्य के भरे होने के कारण नीचे लटक सा गया था।सही में मेरे लंड से उस दिन कुछ ज्यादा ही वीर्य निकला था.

गुप्ता जी इतना बड़ा एहसान लेने को तैयार नहीं थे लेकिन धीरे धीरे मान गये. हिंदी लव बीएफकूलर को मैंने अपने कमरे में लगाने के लिए मानसी से पूछा तो वो बोली- ठीक है.

ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई ग़लती हो, तो प्लीज़ माफ़ कर देना.एक्स एक्स पिक्चर बीएफ: उस दिन मैंने देखा कि आगे वाला मेन दरवाजा अंदर से लॉक नहीं किया गया था.

ठीक वैसे ही जैसे हेतल दीदी अपने रितेश जीजू से अपनी चूत की प्यास बुझवाती है.उसके बाथरूम के अन्दर जाते ही वो दूसरी वाली मुझे देख कर मुस्कुराई और मुक्के से मारने का इशारा किया.

सेक्सी बीएफ वीडियो देसी वाला - एक्स एक्स पिक्चर बीएफ

आंटी को गालियां देता हुआ मैं उनके मखमली दूध पर मुँह रख कर स्तन चूसने लगा, साथ में स्तन काट भी लेता तो आंटी जोर से सीत्कार मार देतीं- आह आह … हरामखोर इतने दिन हो गए … तुझे अकेली आंटी का बिल्कुल भी ख्याल नहीं आया … मेरे देव राजा, बना ले मुझे अपनी रांड … कुतिया पर … अब और ज्यादा ना तड़पा, मेरी चूत पानी पानी हो रही है, इसको इसका औजार दे दे.नहाते हुए सुमन पूछने लगी- सेक्स इसी को कहते हैं क्या?मैंने कहा- यह तो सेक्स की एक झलक भर थी.

किस तो करने दो अपने बूब्स पर!दीदी बोली- ठीक है, एक बार करके चला जा अपने रूम में वापस. एक्स एक्स पिक्चर बीएफ बुआ ने अपनी जीभ से सारा माल मुंह के अंदर कर लिया और फिर लंड को ही मुंह में भर लिया.

मैंने कहा- कैसी लगी मेरी चुत?तो वो बोले- मस्त … बड़ी टाईट लग रही थी.

एक्स एक्स पिक्चर बीएफ?

जब सुबह को राधिका की नींद खुली, तब वो हम दोनों भाई बहन की चुदाई होते हुए देखने लगी. मैं प्रदीप शर्मा पंजाब का रहने वाला हूँ परंतु दिल्ली के पालम में रहता हूँ. तुम देखना पसंद करोगी?मैं डर गई, मुझे समझ में आ गया कि वो क्या कहना चाहता है.

या फिर चलो दोनों लोग एक साथ ही मूतने चलते हैं, मैं तुम्हें मूतते हुए देख लूंगी और तुम मुझे. मैं रुक गया और चुदाई खत्म होने के बाद उनकी काम वाली काम करने लगी थी. मैं हौले हौले से उसकी चुत पर हाथ घुमाने लगा और धीरे धीरे करके मैंने अपने पूरे लंड को उसकी चुत में घुसेड़ दिया.

मुझे इस तरह देखते देख कर वह बोली- देखते ही रहोगे या चखने का मूड है?मैंने कहा- नेकी और पूछ पूछ? जरूर चखूँगा. फिर शाम हुई तो हम दोनों का छत पर नंगे होकर चुदाई का सिलसिला चलने लगा. मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और खुद अपने सिर को उसकी फैली हुई टांगों के बीच रखकर अपनी निगाहों को उसकी चूत पर टिका दिया.

आंटी लौड़ा चूसते चूसते अपने दोनों हाथ से चूचियों को दबाने लगीं और अपनी चुत पर हाथ फेरने लगीं. वसुन्धरा ने जल्दी-जल्दी अपने शरीर से ब्लाउज़ और अंगिया को मुक्त किया और मेरा दायां हाथ उठा कर अपने बाएं उरोज़ पर रख कर मेरे हाथ के ऊपर से ही अपने हाथ द्धारा अपने उरोज़ को दबाने लगी और मेरे धड़ का नीचे का हिस्सा नीचे से साड़ी समेत अपनी दोनों टांगों की कैंची में बाँध लिया.

उसको समझाते हुए मैंने कहा- तुम भी तो सिंगल हो और मेरी भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

उसके गोरे चूचे जिनके गुलाबी निप्पल थे, मैंने अपने मुंह में भर लिये.

पहले दोस्ती मजबूत हुई, फिर हम दोनों अपनी पर्सनल जानकारी एक दूसरे से साझा करने लगे. उसने अपना 8 इंच का मोटा लंड एक बार में ही मेरी चूत में पूरा घुसेड़ डाला. मैंने उसकी गांड के छेद में जैल डाला और मेरे लंड पर भी तेल लगा कर उसको सीधे लेटा कर उसकी गांड के छेद पर लंड रख दिया.

इस घटना को मैं कहानी के रूप में पहली बार लिख रहा हूँ, अगर कोई गलती हो जाए, तो प्लीज़ माफ कर देना. मौसी कुतिया सी बनी, तो एक औरत ने मेरे मुँह को पकड़ कर मेरी मौसी की गांड में दे दिया और चाटने के लिए बोला. मैंने पूछा- किस लिए?वो बनावटी गुस्से से बोली- अरे बाबा खाना खाने के लिए.

मेरी पिछली कहानीभाई की दीवानीपढ़ कर कुछ अन्तर्वासना के पाठकों ने मुझे नया नाम चुलबुली मोनी दिया है, जो मेरे ऊपर सही जंचता है.

वो बोली- ये फोन भी मुझे दे दे, इस फोन में उल्टी सीधी वीडियो देख कर तू बिगड़ गया है. अब ऐसा ही कुछ हाल‌ मेरा था।जैसा कि मैंने पहले भी बताया था मेरे मम्मी-पापा मोनी व उसकी बहनों को अपनी बेटी की तरह मानते हैं इसलिये मैंने कभी सपने में भी मोनी के बारे में गलत नहीं सोचा था मगर आज मोनी के साथ ऐसा कुछ करते हुए मेरी उत्तेजना अपने चर्म पहुँच गयी थी। मैं वैसे ही मोनी‌ के‌ बारे में सोचकर काफी उत्तेजित था. उन्होंने कपड़े पूरे पहने हुए थे लेकिन उनके मुंह से आह्ह … स्स्स … आह मानसी … हम्म … जैसी कामुक आवाजें निकल रही थीं.

मेरी वासना की कहानी के पहले भागमेरे नीग्रो सैंया जी-1अब तक आपने पढ़ा कि मेरे क्लासमेट अफ्रीकी नीग्रो निकोलस ने मुझसे आई लव यू बोल दिया था, जिस वजह से हम दोनों दूसरे दिन कॉलेज में एक दूसरे से नजरें चुराते रहे. मैंने एक फर्जी कॉल की, थोड़ी देर बात करने के बाद डॉली को बताया कि रात को रुकना पड़ेगा, चलो दीदी के घर चलते हैं, तुम अपनी मम्मी को बता दो. उसने तुरंत ही लण्ड मुँह से बाहर निकाल दिया और तक दो तीन पिचकारी उसके चेहरे पर गिर गयी और बाकी सारा वीर्य उसके बूब्स के ऊपर कमीज पर गिर गया।कुछ देर हम दोनों वैसे ही लेटे रहे।फिर कुछ देर बाद वो उठ कर अपने मुँह और कपड़ों को साफ करते हुए थोड़े गुस्से से बोली- ये क्या कर दिया? सारा चेहरा और कपड़े खराब कर दिए।मैं धीमी सी आवाज में सोरी बोला.

दोस्तो, एक वो शादी का दिन था और एक आज का दिन है, इस दौरान मैंने पता नहीं कितनी बार अपनी मौसी को चोदा होगा.

फिर हम चारों का खाना खत्म हुआ और हम सभी मुँह हाथ धोकर चुदाई के लिए रेडी हो गए. जब लड़की के शरीर में उभार आना शुरू होता है तब से ही उसको कुछ अजीब सा महसूस होने लगता है.

एक्स एक्स पिक्चर बीएफ घबरा के मैं झट से निगाह नीचे कर लेता और फिर उनके हाथों को देखने लगता. मैडम बाहर आई और मुझे एक तरफ कोने में ले जाकर पूछने लगी- क्या इरादा है?मैंने कहा- इरादा तो नेक है, अगर आप हाँ कर दो तो!वह मुस्करा कर मेरी तरफ देखने लगी.

एक्स एक्स पिक्चर बीएफ दीदी जब बाथरूम के दरवाजे तक पहुंच कर दरवाजा बंद करने लगी तो उसने मुझे देखा और पूछने लगी- क्या बात है?मैंने कहा- मैं आपको देखना चाहता हूँ. दो घंटे पहले जब घर की बाकी की औरतें ब्यूटीपॉर्लर जा रही थी तो मैडम अपने लैपटॉप पर बिज़ी थी.

मैं दिन में जाकर दो कप आइसक्रीम और ले आया और साथ में वियाग्रा की गोली भी ले आया.

सेक्सी पिक्चर बीएफ नेपाली

अगर तुझे ये अजीब लग रहा है, तो सुबह मेरे नंगे जिस्म को देख कर तेरा लंड क्यों खड़ा हुआ था. मैंने स्माइल दे दी।उसके दोस्त के आने के बाद उसने मुझे तैयार होने को कहा. पास जाकर मेरे मन में मेरी आंखों के सामने अंडरवियर में लेटे हुए जीजा जी के और करीब जाने की इच्छा हुई.

मैं अपने नंगे बदन को चादर से ढकने की कोशिश कर रही थी लेकिन चादर नीचे दबी हुई थी. तो उन्होंने कहा- हाँ तुम वाक़ई बहुत अच्छे हो तो वैसे अच्छे से बात करते हो. जीजा जी उसी दिन मेरी चूत की चुदाई करना चाहते थे मगर उस पड़ोसन ने आकर सारा खेल खराब कर दिया.

मैंने कहा- देता हूं भाई लेकिन!क्या लेकिन?”वही …”क्या वही?”बस एक बार …”नहीं यार, क्यों मेरे पीछे पड़ा है?”तेरा पिछवाड़ा है ही ऐसा.

यह सुनकर मेरी खुशी का ठिकाना न रहा। मैं सोच रहा था मेरी गैरमोजूदगी में मेरी गीतू ने अपनी चूत का रस महेश को ही पिलाया होगा. अब मुझे ख़ुद को रोकना मुश्किल हो गया और मैंने अपना सारा माल उसके गले में ही निकाल दिया. मैंने सिगरेट सुलगा कर कश खींचा, तो मेरे हाथ से सोनल ने सिगरेट ले ली.

दो-तीन बार ऐसा करने के बाद गांड-गुफा को समझ आ गया कि यह लौड़ा भी अपना ही शेर है और उसने प्रीतम लंड को अपने अंदर आसानी से आगे पीछे होने की इजाजत दे दी. इस अहसास से मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था कि कोई लड़का पहली बार मेरे मम्मों को दबा रहा है. उन्होंने मेरे लंड को छुआ तो मेरे शरीर में सनसनी सी मच गई।उन्होंने मेरी तरफ़ देखा और मैंने उनकी तरफ़ देखा और इशारे में बात समझ गई.

वो एकदम से उठे और मेरे जांघों के बीच में बैठ कर मेरी चड्डी निकाल दी. देवर तो घर में किसी की सुनता ही नहीं है, तो उसको बोलने का तो सवाल ही नहीं था.

आह-आह … आह-आह … करते हुए भोला ने मुझे कस कर पकड़ लिया और बोला- साली रंडी बंध्या अब मैं और नहीं टिक सकता हूं तेरी चूत में, मेरा काम तमाम होने ही वाला है. वो बोली- ठीक है, लेकिन सुरक्षित जगह है कि नहीं, वहां कोई परेशानी तो नहीं होगी ना?मैंने उसको बोला- बाबू मेरा विश्वास करो कुछ भी नहीं होगा. थोड़ी देर में नग्न दृश्य और फिर जब सनी लियोन के सम्भोग दृश्य शुरू हुए तो कसमसाने लगी.

उनकी साड़ी पलटते ही उनकी बिना बालों की चुत अंकल की आंखों से सामने थी.

चूचों को मसाज देने के बाद वो बेकाबू हो गई और उसने खुद को मेरे हवाले कर दिया. थोड़ी देर तक तो ऐसे ही चला, फिर जैसे-जैसे एक-दूसरे की गर्माहट एक-दूसरे के जिस्म में सामने लगी, दोनों की ही पकड़ एक-दूसरे पर ढीली पड़ती गयी. फिर उसने हम दोनों के लिए चाय बनायी और खाने के लिए कुछ स्नैक्स भी लेकर आई.

मुझे हल्का हल्का दर्द होने लगा मगर कुछ ही देर के बाद मेरी गांड को मजा सा आने लगा. पर मेरा दूध बहुत बड़ा होने के कारण उसके मुँह में नहीं जा पा रहा था.

मैं उतावला हो रहा था तो सुमेर से बोला- भाई, गुलाबो कैसी दिखती है?सुमेर बोला- थोड़ा सब्र रख … सुंदर है. मैंने लंड बाहर निकाला और आंटी ने मेर लंड को चूस कर खुद को दुबारा तैयार किया. मोनी के पीछे चिपकर मैंने अब एक बार तो उसकी कमर को सहलाया फिर धीरे से अपना हाथ सीधा ही उसकी चूचियों की तरफ बढ़ा दिया.

प्रेग्नेंट बीएफ सेक्स

फिर मेरी नजर पड़ी एक मेरे ही ऑफिस की लड़की पर, जो वहां पर काम करती थी.

देरी के लिए माफ़ी चाहता हूँ, कुछ वजह से आगे की कहानी पूरी नहीं लिख सका था, लीजिये पेश है आगे की कहानी:वलीमा की रात मैंने सारा और ज़रीना को 4 बार चोदा और उनकी गांड भी मारी. ऐसे करते हीं मैंने देखा कि आज बुआ ने पेंटी नहीं पहनी थी और उनकी बिना झांटों वाली चिकनी चूत मेरे सामने थी. मगर मैं अभी उसकी मस्त गांड को अपने जीभ से चोदने में लगा था और उंगलियों से उसके दाने को मसल कर मजा ले रहा था.

मुझे लगता था कि इसके पति की गैरमौजूदगी में यदि ये पेट से हो गई, तो हमारा प्यार बदनाम हो जाएगा. मैंने उसको लण्ड चूसने का इशारा किया तो लण्ड पकड़ कर चूमने, चाटने और चूसने लगी. पंजाबी सेक्सी बीएफ हिंदी मेंलंड ने अंगड़ाई ली और धीरे धीरे नैना की चिकनी जांघ के भार के नीचे उठना शुरू हो गया.

टीवी की आवाज़ काफी तेज थी और ब्लू फिल्म में एक पॉर्न स्टार लड़की की चुदाई की आह-आह … हॉल में गूंजने लगी. उसके बाद फिर से एक जोरदार झटके के साथ उसकी चूत में धकेलते हुए धक्का दिया और पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में समा गया.

फिर मैं उठा और उनकी सलवार को नीचे खींचकर उतार दिया और साथ में उनकी पेंटी को भी! मैंने देखा कि उनकी चूत गीली थी. हेतल ने कहा- तो फिर तेरा क्या जाता है इसमें … अगर मैंने राज से चुदवा भी लिया तो वो हम दोनों के बीच की बात है. एक तेज आवाज ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करती हुई वो मेरे मुँह पर ही छूट गई.

मैं भी अपने दोनों हाथ उनकी पीठ पर रख कर साथ देने लगी, उनकी पीठ पर भी बहुत बाल थे. रिदम ने अपना एक हाथ मेरे हाथ पर रख दिया और मेरे हाथ को मसलने लगा और उसके बाद वो मेरी चूचियों तक अपना हाथ ले गया और मेरी चूची को दबा दिया. यह देख कर मैं उसको गोद में उठा कर घर ले आया और मैंने दादा जी से उसके लिये दवा देने के लिये कहा.

इस तरह अपना काम ख़त्म करके मैं सुकांत जी को अपनी गाड़ी में घर ले गयी और फिर चाय नाश्ते डिनर के बाद हमारे बीच वो सब हुआ जिसके लिए वो आये थे.

काफी देर बाद मैंने भी उसके चूतड़ों में ही रस छोड़ दिया और बीस मिनट उससे चिपट कर पड़ा रहा. मैंने उसको गले से लगाया और उसके लंड को पकड़ कर उसको लिप किस कर दिया.

कहकर मैंने उसकी नाइटी को निकलवा दिया और अब वह मेरे सामने ब्रा और पैंटी में खड़ी थी. दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ बताना और किस किस की चूत गीली हुई … ये भी बताना. तभी हमारी नज़रें आपस में मिली और मैंने उसे सेक्सी से अन्दाज़ में एक स्माइल दे दी और अपनी मोटी गांड को जींस में मटकाती हुई उसके सामने से चली गयी.

मैंने उसी वेटर को एक सौ का नोट और दिया, उसने मेरी चुदाई को देख कर हम दोनों को डिस्टर्ब नहीं किया था. मेरे ऑफिस में मेरी सहेलियों ने मेल एस्कोर्ट को बुला कर मुझे अलग-अलग मर्दों से चूत चुदवाने का चस्का लगा दिया था. वो बोली- आते आते शुरू हो गए?मैंने बोला- बहुत तड़फाया है, अब नहीं छोडूंगा.

एक्स एक्स पिक्चर बीएफ मैं उठकर उसके पैरों की तरफ मुँह करके लेट गया और वो भी अपने बच्चे की ओर पीठ करके लेट गयी और मेरा लण्ड मुँह में लेकर चूसने लगी. मेरे साथ देते ही उसको भी मज़ा आ गया और उसने धीरे धीरे किस करते करते मुझे जकड़ना चालू कर दिया.

बीएफ फिल्म के चित्र

कुछ दिन बाद फिटनेस सेंटर में एक और नई भाभी ने जॉइन किया, वो शादीशुदा थीं, लेकिन उनका फिगर गजब का था. मैं उसके पैरों को किसी कुत्ते की तरह चूमने लगा। मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं कुछ भी बता नहीं सकता। मैं उस समय सातवें आसमान में उड़ रहा था।फिर लगभग 5-7 मिनट लण्ड चूसाने के बाद मेरा शरीर अकड़ने लगा और मेरे लण्ड ने गर्मागर्म लावा छोड़ दिया और लण्ड से लावा की पहली पिचकारी उसके मुँह में ही गिर गई. तो भाई मस्ती में बोलने लगा- आह्ह्ह साली क्या कर रही है … मेरा लंड खाने का इरादा है क्या?मैंने लंड को मुँह में लिए लिए उसकी आंखों में देखा और आंख मार दी.

वो नीचे बिछौना बिछाते हुए बोली- आओ शरद, आज मैं तुम्हारी मालिश भी कर दूं. मैंने पूछा- तुम्हारे हाथ काम्प क्यों रहे हैं? तुम शर्माओ मत … खुल के मालिश करो. सेक्सी हिंदी में बीएफ फिल्मलेकिन अभी मैं सिर्फ सोने का नाटक कर रहा था क्योंकि मेरी प्लानिंग तो मानसी के चूचे देखने की थी.

मेरे भैया को ये बात पता भी नहीं थी कि उनका एक दोस्त उनसे मिलने आता है तो मुझे देखता रहता है.

एक दिन सुबह कहीं जाने के लिए कार निकाल रहा था तो देखा कि गुप्ताइन की लड़की डॉली छाता लेकर खड़ी थी और गुप्ता जी स्कूटर निकाल रहे थे. तीन-चार धक्कों के बाद उसके लंड ने मानसी की चूत में अपना गर्म-गर्म पौरूष उगलना शुरू कर दिया और आगे की तरफ हेतल ने अपनी चूत के रस से मानसी के मुंह को भिगो डाला.

हेतल ने कहा- तो फिर तेरा क्या जाता है इसमें … अगर मैंने राज से चुदवा भी लिया तो वो हम दोनों के बीच की बात है. इधर मैंने नम्रता को पीछे से जकड़कर उसकी फांकों को सहलाना शुरू किया, तो वो आह-आह करने लगी. और वो चला गया।विक्रम ने धीरे से मेरा घूंघट हटाया और बोला- क्या गजब माल फंसाया है राकेश ने!मैं हँस दी और उसने मेरे बूब्स दबा लिए और मेरे कपड़े निकलने लगा.

मैं इतने दिनों से चुदी नहीं थी, इसलिए इन दोनों का लंड देख कर ऊपर से ही फड़फड़ा उठी.

मैंने लंड बाहर निकाला और आंटी ने मेर लंड को चूस कर खुद को दुबारा तैयार किया. इस तरह के वीडियो को आप बस आनन्द लेकर देखिये मगर उसमें दिखाए गये सभी दृश्य कल्पित होते हैं जिनका असल जिंदगी से सरोकार बहुत कम होता है. उसकी चूत को साफ करवाने के बाद मैंने नहाते हुए ही बाथरूम में उसकी गांड भी मार ली.

सेक्सी बीएफ चलते हुएमैं- हां तभी तो जब तक पूरा चाटकर साफ नहीं कर लेता, तब तक तुम्हारी चूत को छोड़ता नहीं हूं. तभी अंकल ने अपने धक्के तेज कर दिए और कुछ ही देर में अंकल का माल आंटी की गांड पर निकल गया था.

आसाम की बीएफ

ऐसे ही दिन निकलते गए और भाभी के फोन न आने के कारण मैं मुठ मारता रहा. फिर मैंने पूछा कि उसकी मैरिज लाइफ कैसे चल रही है?मेरी बातें सुनकर थोड़ा परेशान हो गयी. ” इस से पहले वसुन्धरा कुछ और कहती, मैंने वसुन्धरा के दिल की बात बूझ कर पहले ही उसको मुतमईन कर दिया.

मैंने गौर से देखा, पारो का गोरा रंग था और साफ़ सुथरी थी, सुन्दर नैन नक्श थे. मैंने अर्पित से कहा- बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज़ निकाल लो … मुझे नहीं चुदवाना. हिमाचल में मिनिस्ट्री ऑफ़ एजुकेशन ने अपने बहुत सारे हाई-स्कूलों के लिए बहुत सारे कम्यूटर्स … बहुत सारे बोले तो कोई पांच सौ से कुछ ज्यादा ही कम्यूटर्स खरीदने का टेंडर निकाला था और टेंडर 28 नवंबर को खुलना था.

जीजा बोले- साली कुतिया, तुझे तो मैं बेटी की तरह नहीं अपनी बीवी की तरह रखूंगा. मैं मुस्कुरा दी और जो कुछ भी रात में अंकल के साथ हुआ, वो सब उसको बताया. मैंने कुहनियों के बल उचक के एक चूचा मुंह में ले लिया जबकि दूसरा चूचा रानी स्वयं ही दबाने लगी.

बाली रानी आज भी उतनी ही सुन्दर, उतनी ही सेक्सी और उतनी ही चुदक्कड़ और गांड मराऊ है. गांड मारना या मारने की प्यास जागी या नहीं? आपके कमेंट का इंतज़ार रहेगा.

वो उठ कर अपने रूम की तरफ जाने लगी जहां पर रितेश मानसी की चुदाई कर रहा था.

आप सभी से निवेदन है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताएं. बीएफ भेजो वीडियो में हिंदीलेकिन पॉइंट्स के हिसाब से ये तय हुआ कि मुझे सबसे पहले अपनी बहन सोनल की सील तोड़ने पड़ेगी, फिर ही मैं दिशा को चोद पाऊंगा. बीएफ बिहारी सेक्स वीडियोनम्रता बोली- यह क्या कर रहे हो यार?मैं- मजा ले रहा हूं और जब मजा लेना है, तो पूरा मजा लेना है. मगर उस दिन के बाद से मेरे मन में हर लड़की के लिए अलग ही इज्जत का भाव अपने आप ही पैदा होने लगा था.

मैंने कहा- आप बनाती रहो, मैं कब मना कर रहा हूँ?दीदी खाना बनाने लगी और मैं पीछे से दीदी की चूची को दबाने लगा। थोड़ी देर में खाना तैयार हो गया।दीदी बोली- चलो पहले खाना खा लिया जाए, फिर तुम अपनी इच्छा पूरी कर लेना।मैं बोला- दीदी मैं पहले नहा लेता हूं.

दिन में जब कोई काम होता, तो वो मुझे बार बार छूने की कोशिश करते और एक दूसरे के इर्द गिर्द ही रहते. मैं अदिति को सच नहीं बताना चाहता था क्योंकि हो सकता था कि वो फिर मेरे साथ रुकने के लिए मना कर देती इसलिए मैंने उसको पूरा सच नहीं बताया. मेरी तरफ से कोई विरोध होता न देख कर उन सभी को समझ आ गया कि मैं उनसे क्या चाहती हूँ.

एक दिन मैंने रिदम को भी बता दिया कि मैं अपनी सहेली के साथ शॉपिंग करने के लिए जाऊंगी तो मेरे रिदम अपनी बाइक लेकर मुझसे मिलने के लिए शॉपिंग माल आ गया. तो वो बोले- अरे तू तो मेरी बीवी की एक्टिंग कर रहा है, तो शर्मा क्यों रहा है? वो तो इसे बड़े प्यार से चूमती है और लॉलीपॉप की तरह चूसती है. लेकिन उस दिन मैं माँ के साथ सोने को तैयार हो गया क्योंकि माँ के साथ सोते समय मैं हमेशा उनके पेट पर हाथ फिराता हूं.

ब्लू बीएफ हिंदी में ब्लू बीएफ

उसकी बताई जगह पर पहुंचकर मैंने उसको फोन किया तो उसने अपना क्वार्टर नम्बर बता दिया. हम अलग हुए और एक दूसरे की बांहों में आकर एक दूसरे के मुँह को चूसने लगे. भाभी मुंह खोलने से बचना चाहती थी क्योंकि अगर आवाज बाहर जाती तो किसी को भी हमारी चुदाई के बारे में शक हो सकता था.

अभी तक आपने पढ़ा कैसे मैंने सारा आपा के हलाला से पहले नूरी खाला को चोदा और फिर मेरा निकाह सारा आपा से हुआ.

क्या तुम मेरी इच्छा पूरी करोगे?मैंने कहा- अगर आप कहती हो, तो भला मैं कैसे मना कर सकता हूँ.

फिर एक एक करके आठों उंगलियां चूसीं, तलवों के उभार चूसे, एड़ियां और टखने चाटे. हिना बोली- कहिये पंकज जी?मैंने कहा- मुझे आपकी गांड में भी लंड डालना है. बीएफ एचडी भेजिएबड़ी देर बाद जो झड़ा तो मैं तो उसके वीर्य की बरसात से सराबोर होने लगी.

वो भी पार्क में आ गया और उसने मुझसे पूछा कि तुम्हारे भैया कहाँ हैं?मुझे पता था कि वो मुझसे बात करने की कोशिश कर रहा है क्योंकि वो जब भी मेरे घर आता था तो मुझसे बात करने की कोशिश करता था. लंड चुत में जाते ही वो एक पल के लिए बिल्कुल शांत हो गई और तेज़ी से सांसें लेने लगी. मैंने काजल से पूछा- कैसी लगी मेरी चॉइस?वो शर्मा कर आंख बंद करके बोली- आप बड़े बेशर्म हो.

सोनल भी उत्तेजित होकर सिसकारियाँ भर रही थी- आह अह ओह भाई आह आह … यू आर सो हॉट!उधर दिशा और राधिका दोनों बहनें हम भाई-बहन को चुदाई करते देख रही थी. मेरी बहन ने भी कमर उठा कर मेरे लंड को अपनी चिकनी चूत में खाना शुरू कर दिया.

मैंने कहा- देता हूं भाई लेकिन!क्या लेकिन?”वही …”क्या वही?”बस एक बार …”नहीं यार, क्यों मेरे पीछे पड़ा है?”तेरा पिछवाड़ा है ही ऐसा.

उनका काम नहीं हुआ था और तीन हफ्ते तक रुकने का कार्यक्रम निरस्त हो गया था. फिर मेरी क्लास आ गयी, वो साथ उतरा और उसने बोला- जरूरत पड़े तो फ़ोन करना!और मेरा हिप दबा दिया. वो कहते हैं ना कि किसी को दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है.

कविता भाभी की सेक्सी बीएफ पांच मिनट की जोशीली चुदाई के बाद वह मेरी चुत में झड़ने लगा, तो मैं लगभग बेहोश सी हो गयी थी. वो बोल रही थी कि क्या ये कर रहे हो आरव प्लीज़ छोड़ दो … कोई आ जाएगा … ये रेस्टोरेंट है.

उसने मुझे आंख मारते हुए ऐसे दोनों हाथ ऊपर करके अंगड़ाई ली कि उसका सीना फूल गया. उसकी उभरी हुई चूत पाव रोटी की तरह फूली हुई बिल्कुल चिकनी, साफ … जैसे चूत न हो संगमरमर हो. आज जीजा जी भी मुझे उन दोनों का सेक्स दिखाने के लिए जोर से आवाजें निकाल रहे थे.

सेक्स बीएफ देसी बीएफ

भाबी के इस तरह लंड पर कूदते हुए खेल के दौरान ही मैंने भाबी के दोनों कूल्हों के बीच के छेद में उंगली घुसा दी, जिससे भाबी भी चिहुंक उठीं- देव, अब इसमें भी अपना ये मूसल डालोगे क्या?मैं- हां भाबी … पता नहीं कब से मुझे आपकी गांड मारने का मन कर रहा है. लगभग कुछ मिनट बाद वो बाहर आई, तो उसे देख कर मैं फिर उत्तेजित हो गया. वो मुझे फोन पर पॉर्न फिल्म दिखाने लग जाते थे और मेरे गालों को चूमने लग जाते थे.

वो एक पिंक कलर की नाईट ड्रेस पहने थे जो सामने से पूरी खुली थी और एक डोरी से बंधी हुई थी. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और फिर एकदम से शांत होकर मेरे ऊपर लेट गये.

मैं समझ गया कि मनीषा की चूत प्यासी है और इसको तगड़ी चुदाई की जरूरत है.

मैंने कहा- सिर्फ मिलने का ही मन बनाया था या और भी कुछ करने का मन था. उसकी ऐसी कोई जगह मैंने नहीं छोड़ी होगी, जहां मैंने अपनी जीभ ना लगाई हो. वो शायद यह सब इसलिए करना चाहते थे क्योंकि उनको लग रहा था कि दीदी के साथ लाइव सेक्स दिखाकर वो मुझे भी फिर से सेक्स के लिए तैयार कर लेंगे.

हम लोग उस समय नए नए जवान हो रहे थे, इसलिए सेक्स के प्रति हमारा आकर्षण अपनी ऊंचाईयों पर था. वैसे तो उसको देख कर ही मेरे मुंह में पानी आ गया था लेकिन मुंह के साथ-साथ लंड में भी पानी आने लगा था. मैंने कहा- हां जीजा, अपने यार आशीष के अलावा मैं पांच-छह मर्दों से और चुदवा चुकी हूं.

मैंने पूछा तो उसने बताया कि उसकी दीदी की डिलीवरी के चलते घर वाले हॉस्पिटल में गये हुए हैं.

एक्स एक्स पिक्चर बीएफ: उस दिन दोपहर में हमारे घर की डोर बेल बजी, तो मैंने दरवाजा खोला और सामने बुआ को खड़ा देख बहुत खुश हुआ. मैंने एक लंबी सांस ली और उसकी चुत की खुशबू को अपने ज़हन में उतार लिया.

मैंने जोर से अपनी आँख बंद कर ली क्योंकि मैं जान गई थी कि अब वो काला मोटा लंड मेरे शरीर के अंदर जाने वाला है।उन्होंने मेरे होंठों को आजाद कर दिया. धकापेल चुदाई के बाद इससे पहले मैं खलास होता, मैंने नम्रता को पेट के बल लेटाकर उसकी गांड मारने लगा. पिचकारी पर पिचकारी छूटने लगी और सारा माल बुआ के होंठों पर गिरने लगा.

इसके कुछ मिनट बाद ही बस स्टॉप आ गया था और हम दोनों लोग बस से नीचे आ गए.

मैंने अपने लंड को नीचे बैठे हुए ही एक हाथ से हिलाया तो लंड ने जैसे कह दिया हो- बहनचोद! अब तो डाल दे मुझे इस माल के अंदर …मैंने जीभ को मनमीता की चूत से बाहर निकाल कर उसको यहां-वहां से चूसा चाटा और मनमीता मुझे ऊपर उठाने लगी. मैंने वैसा ही किया फिर उसने मुझे गोद में उठा कर अपनी कमर से लटका लिया. मेरी स्पीड तेज हुई तो दोनों के मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… इस्स्स … ओह्ह जैसी कामुक आवाजें पूरे माहौल को गर्म करने लगीं.