सट्टा किंग बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स बीएफ इंग्लिश

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी देवर भाभी को चोदा: सट्टा किंग बीएफ, तभी यश ने कहा- चलो, इसे अंदर बेड पर लेकर चलते हैं, अब की बार जरा तबियत से चोदना है भाइयो!राहुल ने अपना लंड मेरे मुंह से निकाल कर मुझे अपनी गोद में उठाया और सब अंदर चल पड़े.

तमिल एसएक्सई

उधर पूर्ण उत्तेजना की स्थिति में आए स्वान ने भी नताशा के मेरे लंड से भरे गालों को टहोका तो वो मेरा लंड अपने मुंह से निकाल स्वान के लंड पर ट्रान्सफर हो गई. मल्लिका शेरावत बीएफबड़ी सी गोल गांड एकदम गोरी, बीच में एक लकीर जो गुलाबी गांड के छेद से होते हुए हल्की भूरे बालों से भरी उसकी चूत पर आकर खत्म हो रही थी.

कुछ मिनट बाद मेरा पानी निकल गया और मैंने सारा पानी उसके बुर में ही डाल दिया. सेक्सी वीडियो भेजिए भोजपुरीफिर मेरे थोड़े मनाने और कसम दिलाने पर उसने बताया कि शायद उसने मुझे पहले भी कहीं देखा था, शायद किसी प्रोग्राम में या किसी रिलेटिव के घर पर… इसलिए उसका ध्यान मुझा पर ज़्यादा था.

वो उत्तेज़ित हो गई और चुत के पानी चोदने से लंड को भी फिसलने में मदद मिल गई.सट्टा किंग बीएफ: ! मैं रोती रही, चिल्लाती रही, मगर पूरी रात उसने मेरी चुत को चोद-चोद के सुजा दिया था.

मैं मामा से बोली- एक बात पूछूँ?मामा बोले- हाँ पूछो?मैं बोली- आपका लंड इतना ज्यादा और इतनी ज्यादा गर्म पानी कैसे छोड़ता है?तो मामा बोले- पहली बार मैंने चुदाई की है ना.हमें जब तक फ्रेशर नहीं मिल जाता था क्लास के लड़कियों से बात करना भी मना था.

बिहारी आंटी बीएफ - सट्टा किंग बीएफ

मैं वहीं खड़े होकर सब देख रहा था, तभी रजनी ने वहीं खिड़की की तरफ करवट ली.कोमल- हाँ यार ऐसा ही कण्ट्रोल है साले का अपने मस्ताना पे बहन चोद का, यार सोचा आज स्काइप पर तुम लोगों की चुदाई देख कर हम भी चुदाई का आनन्द लेंगे.

मेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे. सट्टा किंग बीएफ थोड़ी देर बाद मैं उसका चेहरा उठाकर उसके होंठ पर किस करने लगी, नीलम भी साथ देने लगी, उसने मेरे मुंह में अपनी जीभ डाल दी और मेरे होंठों को चूसने लगी.

ऐसे ही काफी देर तक चला और फिर दोनों झड़ने को हुए तो बोले- कहां निकालें? मेरा मन उनके माल को गांड में लेने का किया तो मैंने इशारे से गांड में झड़ने को कहा.

सट्टा किंग बीएफ?

भाभी की इस नाराजगी भरे कमेंट्स से मुझे ग्रीन सिग्नल सा मिला, मैंने धीरे से कहा- तो हम क्या मर गए हैं भाभी?यह सुन कर भाभी एकदम से सर घुमा कर मेरी आँखों में देखने लगीं. मैं उसे चूमता हुआ पेट तक आया और अपने हाथों से उसके मम्मों को दबाता रहा. सोनू ने बताया कि कल उसका बहुत दिल किया तो उसने अपनी उंगली से आग शांत करने की कोशिश की परन्तु मजा नहीं आया.

इधर आओ।मैंने उसको पूरा नंगी किया और उसे बेड पर लिटा दिया। उसने अपने दोनों पैरों को खोल कर अपनी नंगी चिकनी चूत का नजारा दिखाया. उसने मुझे अपने बाहुपाश में पूरी ताकत से जकड़ लिया साथ में अपनी टाँगें मेरी कमर में लपेट के किसी आक्टोपस की तरह मुझे अपनी गिरफ्त में ले लिया. और बस फिर क्या था बस चुदाई शुरू हो गई।साथियो, औरत की पूरी स्पीड से चुदाई करो ताकि उसको शिकायत का कोई मौका ही ना मिले।भाभी- अयाया अम्म्म ओह प्रिन्स और जोर से और जोर से करो.

मैंने पैंटी को हवा में घुमाते हुए, सोफे पर रॉबर्ट बैठे के पास फेंक दी. जानबूझ के तौलिया मैंने नहीं लिया था और कपड़े भी बाहर सोफे पर ही रख के मैं अन्दर चला गया. मैं उसकी बगल में खड़ा उसके लंड को तेजी से सहलाने लगा और मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी भुजा पर रख दिया और उसकी मोटी भुजाओं को सहलाने लगा.

मैंने उसकी चुत को पेंटी के ऊपर ही किस करके उसकी जाँघों को चाट कर टाँगों को चूमा. शहज़ाद ने मेरे दाने को मसलना शुरू किया तो मेरी सिसकारियां निकलने लगी.

आधे मिनट के किस में उसने तो मेरा सारा बदन नाप दिया।फिर हमें अकेले छोड़ वो चले गए.

‘लेकिन आपके पति को हो सकता है कि पसंद न आए… मेरा मतलब है कि शायद उन्हें पसंद न आए कि आप किसी दूसरे को स्पर्श करेंगी!’ एंड्रयू ने शंका व्यक्त की.

लंड पर मामी के हाथ के स्पर्श से मुझमें एक अजीब सी सिहरन हुई, पर धीरे-धीरे मुझे भी मजा आने लगा. रोहित ने भी कह दिया- हाँ सवी, मैं बस एक बार तुम्हें सेक्सी कपड़ों में देखना चाहता हूँ. मैंने मामा जी के लिए अपनी चुत की झांटें भी साफ़ कर ली थीं ताकि उनको चिकनी चुत का सरप्राइज दे सकूँ.

थोड़ी देर चूसने के बाद मामा खुद नीचे लेट गये और लंड को हाथ से पकड़ कर ऊपर की ओर तान दिया, मामा जी का लंड एकदम तलवार की तरह सीधी खड़ी हो गया, वो बोले- मेरे पैर के तरफ चेहरा कर लो और मेरे लंड पर गांड का छेद रख कर बैठ जाओ. जैसे ही मोना ने गेट खोला, उसके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आ गई क्योंकि उसके सामने उसकी खास सहेली मीना थी. अब हम अपना आपा खो चुकी थी। थोड़ी देर में हम दोनों के सारे कपड़े उतर गये। हम दोनों ने 69 की पोजीशन में आकर एक दूसरे की चूत खूब चाटी एक दूसरे की चूचियाँ खूब दबाई खूब पिया और एक दूसरे की चूत में उंगली डालकर कामरस निकाल दिया.

फिर मैं उसके बूब्स को दबाने लगा और वो बहुत ही खुशी से अहह अह्ह्ह करने लगी.

टीना- देख इसके लिए हमको कोई ऐसी लड़की ढूँढनी होगी जो तेरे पापा के साथ सेक्स करने को मान जाए. वैसे मैं अपनी इंजिनियरिंग की पढाई के लिए पिछले 2 सालों से दिल्ली में ही हूँ. मैं मर गई!मैं एकदम से रुक गया, क्योंकि चुदी हुई चुत को चोदने में चिल्लाहट का क्या काम! मुझे लगा कोई गड़बड़ हो गई है.

मेरे प्रिय पाठको, आप सबका धन्यवाद जो आपको मेरी पिछली हिन्दी सेक्स स्टोरीजमेरी बीवी की सहेली के साथ डर्टी सेक्सऔरबस के सफर में मिली कामुकता भरी एक अनजान भाभीअच्छी लगी. वे बहुत प्रसन्न दिख रहे थे।उन्होंने बताया- वे जिस लड़की अपनी बहन की सगाई करने तब आए थे आज उसी की शादी है. इस बार मैं उन्हें नर्मदा केनाल के रास्ते पर ले गया, वहाँ कोई भी आता-जाता नहीं था.

भाभी का सेक्सी शरीर देखकर मेरी पैंट में लण्ड टाइट हो रहा था जिसे भाभी कनखियों से देख जाती थीं.

ये बात उन दिनों की है, जब मेरी मौसीजी की 25 वीं एनिवरसिरी थी और मुझे घर की डेकोरेशन में मदद के लिए बुलाया था. तिवारी थोड़ा असहज महसूस करता है और अनीता से पूछ पड़ता है- क्या देख रही हैं आप भाबी जी?‘जी कुछ नहीं तिवारी जी, बस आपको अपना लंड सम्भालने में हो रही दिक्कत को देखकर थोड़ी हंसी आ गई.

सट्टा किंग बीएफ गुलशन जी आगे कुछ बोल पाते तभी बीच में हेमा ने उन्हें टोक दिया- आपको कुछ और नहीं सूझता क्या. रीना को उसकी एक बचपन की सहेली कविता का सपोर्ट है जो उसी शहर में रहती है और बैंक का जॉब करती है.

सट्टा किंग बीएफ क्यों बार-बार खड़ा हो रहा है। कहीं मेरे दिल में सुमन के लिए तो कुछ. ऋतु- अरे इसमें ज्यादा वक्त नहीं लगेगा… अपना लंड निकालो… जल्दी!मैंने जल्दी से अपनी पैंट नीचे उतारी और ऋतु झट से मेरे सामने घुटनों के बल बैठ गई.

वो भी मेरे सपने देख कर?उसने कहा कि फिर तुम मेरे ऊपर आ गए और अपने 6″ के लंड को मेरी चुत में रख कर जोर का झटका दे दिया, मैं चिल्ला पड़ी कि राहुल धीरे डालो.

सेक्सी पोर्न फिल्म हिंदी में

कुल मिला कर अप्सरा सा रूप लिए कमनीय काया की वो स्वामिनी किसी कुलीन कुल की विदुषी नारी ही लगती थी. फिर उसने पूछा- मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाओगे?मैं बोला- क्यों मज़ाक कर रही हो. अच्छा लग रहा है मेघा!”नीचे से मशीन बहुत तेज मेघा को चोद रही थी और ऊपर मनोज का भी होने वाला था और नीचे से मेघा का भी!मनोज, मेरा होने वाला है!”रुको… मेरा भी!” मनोज ने डिल्डो निकाल कर साइड पर रख दिया और मेघा की चूत में लंड डाल कर चोदना शुरू कर दिया.

एक बार उसका दोस्त मेरे साथ गलत करने की कोशिश करने लगा कि इस चिकने को ही चोद लेते हैं तो रमेश इस बात पे गुस्सा हो गया और उसको थप्पड़ भी मारे. ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’थोड़ी देर में इतने में भैया ने भाभी को फिर नीचे पटक कर अपना लंड भाभी मुँह में ठूंस दिया और मुझेभाभी की चूत में लंडडालने को कहा. अच्छा देख तुझे अगर ढेर सारे पैसे मिल जाएं तो तुझे यहाँ काम करने की कोई जरूरत भी नहीं होगी और तू अपनी माँ के साथ आराम से रह पाएगी.

और आज पहली बार मुझे मेरे लंड पर गुस्सा आया कि आख़िर ये इतनी जल्दी क्यों खड़ा हो रहा है.

दोस्तो, मैं लव शर्मा एक बार फिर हाज़िर हूँ अपनी अगली कहानी को लेकर जो एक अस्पताल से सम्बन्ध रखती है. अब मैं घर पर अकेला था तो मैं टाइम पास करने के लिए लैपटॉप चलाने लगा. मैंने तो कहा था उससे आने के लिए पर वो कह रही है कि अगले महीने उसका कोई एग्जाम है बैंक में पी ओ.

फिर दीपक ने मुझे अपने घर पर जो मेरे होटल से थोड़ी सी ही दूर था, खाने पर बुलाया. तिवारी थोड़ा असहज महसूस करता है और अनीता से पूछ पड़ता है- क्या देख रही हैं आप भाबी जी?‘जी कुछ नहीं तिवारी जी, बस आपको अपना लंड सम्भालने में हो रही दिक्कत को देखकर थोड़ी हंसी आ गई. फिर उसने अपनी ब्रा को भी अपने से अलग कर दिया और अपने बूब्स को दबाते हुए मेरे पास आई.

मैंने उनके मम्में चूसने के बाद उनके पेट को चूमते हुए उनकी नाभि को किस किया. भाभी मेरे बालों पे हाथ फेर रही थीं और कह रही थीं- और ज़ोर से मेरे राजा.

उन्होंने अपने हाथों से मेरे सिर को धकेलते हुए हटा दिया और मुझे लगभग बिस्तर पर पटकते हुए मेरे ऊपर चढ़ गईं फिर मेरे पाजामा के नाड़े को तेज़ी के साथ खोल दिया और खींचते हुए बाहर निकाल दिया. वो थोड़ी सी कमीनी थी, हमेशा इश्कबाज़ी करती थी और जब भी मैं उसके पास आया करता था तो वह मुझको अपनी इश्कबाजी की सारी बातें बताया करती थी. फैमिली अच्छी है लड़का फॅारेन में इंजीनियर है, आपको चलना है अभी, हम लेने आए हैं।मैं- मैं तैयार हूँ पर मुझे ड्यूटी पर छोड़ने वाले डाक्टर साहब आ जाएं.

मेरी जिज्ञासा और बढ़ गई… मैंने कहा- पत्नी तो वो आपके दोस्त की है, तो आपने उसकी चूत कैसे मारी?तो उसने बोला- बहुत लंबी कहानी है… जैसे तुझे मेरा लौड़ा पसंद आ गया, वैसे ही इसको भी मेरा लौड़ा पसंद आ गया था.

सुमन- आप ऐसे क्यों बोल रही हो दीदी? मैंने मना कब किया, मौका आएगा तब मैं भी कर लूँगी ना. ”चूत की झांटें शेव करना मेरा प्रिय काम है, इसे मैं बड़ी लगन से, प्यार से, आहिस्ता आहिस्ता करता हूँ क्योंकि चूत की स्किन ब्लेड के लिए बहुत ही कोमल और नाज़ुक होती है जरा सी असावधानी से चूत को कट लग सकता है; हालांकि चूत में लंड कैसा भी पेल दो उससे इसका कुछ नहीं बिगड़ता. नीतू को बिस्तर पे पटक कर गोपाल ने जल्दी से अपने कपड़े निकाले और फिर वो नीतू पे टूट पड़ा.

ऋतु बेहोशी वाली हालात में जा चुकी थी!कुछ देर में मैंने ऋतु को ढीला छोड़ उसके स्तनों को दबाते हुए धक्के लगाना चालू कर दिया और राहुल भी उपर से ऋतु की गांड पकड़ कर उसकी चुदाई करने लगा अब ऋतु की चूत और गांड दो मोटे मोटे लंड जा रहे थे. मैं भी किचन की जा रही थी कि मैं अपने रूम के बाथरूम की तरफ गई तब मैंने अपने बेटे को पेशाब करते देखा.

इससे पहले जॉन ने उसके होंठों को कस कर अपने होंठों से दबा दिया और एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे आधा लंड बुर की सील को तोड़ता हुआ अन्दर घुस गया. मेरा नाम माधव शर्मा है, मैं इंदौर में पढ़ाई करता हूँ और यहाँ किराये के एक रूम में रहता हूँ।मेरी हिन्दी पोर्न स्टोरी की घटना आज से चार माह पहले की है जब मैं अपने नए रूम में रहने के लिए आया था, अभी दो दिन हुए थे यहाँ पर, एक दिन शाम के टाइम में सो कर उठा था, मेरा लंड लोअर में तम्बू बनाये हुए था और मैं उसे पकड़ कर मसलते हुए फोन पर बात करने लगा. गर्लफ्रेंड की अदला बदली करके चुदाई की तमन्ना-1मेरी हिन्दी सेक्सी स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मेघा का मन मेरे सामने किसी और लंड से चुदने का था तो हम लोग एक डिस्को में गए थे.

बड़े लंड वाली सेक्सी फोटो

फिर हम बारात लेकर लड़की वालों के घर गए और वहाँ पर रवि ने कैसे एक लड़की की चूत मारी.

मैं चाची की मस्त जाँघों पर बिल्कुल झुक गया था और एक किस उनकी जांघों पर किया. हो सकता है ये असली कालगर्ल्स के नंबर हों या किसी ने किसी लड़की को परेशान करने के लिए उसके असली नम्बर शहर के नाम के साथ लिख दिए हों. टीना ने अपना आइडिया सुमन को बताया तो वो उसको अच्छा लगा फिर दोनों काफ़ी देर तक उसी टॉपिक पे बात करती रहीं.

तू ना क्यों कह रही है?सुमन- मैं नंगी हो जाऊंगी तो संजय जी मुझे देख लेंगे. वो धीरे-धीरे उंगली से चुत को खोलता, उसकी गुलाबी लकीर में ऊपर से नीचे उंगली घुमाता. सौतेली मां बेटी का बीएफचाची ने मुझे लिटा दिया और अपनी साड़ी ऊपर की फिर अपनी दोनों टांगें मेरी कमर के दोनों तरफ करके मेरे ऊपर बैठ गईं और अपनी चूत मेरे खड़े लंड पर रगड़ने लगीं.

तुम्हें उनसे कोई काम है क्या, जो ऐसे उतावले हो रहे हो?संजय- मुझे क्या काम होगा, मैं तो ऐसे ही पूछ रहा हूँ. उस दिन मेरी बहनें स्कूल चली गईं और मैं सर दर्द का बहाना बना कर स्कूल नहीं गया.

हमें उसके साथ आज ही यह मीटिंग जरूर करनी है, वरना हमारा बहुत नुकसान हो जाएगा. यहाँ से download करें!हिन्दुस्तानी लड़कियों से हिन्दी या अन्य स्थानीय भाषाओं में सेक्स चैट करने के लिएदेलही सेक्स चैटपर आयें और मजेदार गर्मागर्म बातों का मजा लें! यहाँ पर आप विडियो सेक्स चैट यानि कैमरे पे भी लड़कियों को अपने इशारे पर नचा सकते हैं. पण्डित जी ने उठकर कमरे की लाईट जला दी, उन्होंने मेरी ओर देखा और फिर मंत्रमुग्ध से मेरे बदन को निहारते रहे.

अपने प्रतिसाद मुझे भेजते रहें और साथ ही मुझे आपके दिमाग में भी कुछ ऐसे नए आइडिया हो तो लिख भेजिए, मैं कोशिश करूंगा कि उनको इस कहानी का हिस्सा बनाकर प्रस्तुत किया जाये. परीक्षा के दौरान उसने मुझे बहुत हेल्प की, जिससे मैं पास हो गया और वह दोबारा फेल हो गई थी. गुलशन- बहुत खूब फ्लॉरा भगवान ने बड़ी ही फ़ुर्सत से तुम्हें बनाया होगा.

सुमन भाभी जब अपने पानी छूटने के करीब आने लगीं तब उन्होंने कहा- सैम उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज जल्दी करो.

मैंने मेहमान को तवज्जो देने की खातिर अपना लंड हटा लिया और मेरी बीवी ने अकेले स्वान के लंड को चाटना शुरू कर दिया. मैं- ठीक है मेरी जान… अह्ह्ह अह्हह्ह!फिर चाची बोली- इतनी देर हो गई… जल्दी कर, मैं थक गई… साले पर तेरा लंड अभी तक नहीं थका है.

मैंने जल्दी से उसकी ब्रा भी खोल दी और अब उसकी चूचियों को मैं जोर जोर से दबाने लगा वह बस आहें भर रही थी ‘आअह रोहित… उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और बार बार ऊपर की तरफ देख रही थी कि कहीं उसका बेटा देख तो नहीं देख रहा. वो चिल्लाने लगी तो मैंने उसके नर्म नर्म होंठों पे अपने होंठ लगा दिए. अब आप जानते हैं फर्स्ट ए सी में दो टिकट का मतलब है एक कैबिन आपका हो जाता है.

वो मुझसे छूटने के लिए मचलती रही और कहने लगी- प्लीज़ जीजू नहीं मत करो. भाभी ने अपनी चुत में मेरे लंड को जज्ब करते हुए भाभी ने आँखें बंद कर लीं और मोन करने लगीं. ऋतु के होंठ लगते ही उत्तेजित होकर एक मिनट में ही मैंने एक के बाद एक कई पिचकारी उसके मुंह में उतार डाली.

सट्टा किंग बीएफ अतुल उठा फ्रेश हुआ और उसने अपने बैग में से एक टी-शर्ट और लोवर निकाल कर पहन लिया. एक टांग शोल्डर पे रख के फिर डालो अंदर तो लगता है कि टांग की तरफ चला गया है, अंदर हड्डी में लग रहा होता है जाकर ना…वो भी अपना मजा देता है.

योगा सेक्सी वीडियो फुल

उसे देख कर कोई अंदाज भी नहीं लगा सकता था कि ये स्त्री लंड की प्यासी अपनी चुदास से त्रस्त रहती होगी. गोरी गिलहरी थोड़ा सा कुनमुनाई और उसने प्रसन्न आँखों से अपने चोदू तरफ देखा, तो उसने भी मुस्कुरा कर जवाब दिया. दोस्तो, मैं रवि वर्मा नवाबों की नगरी लखनऊ से हूँ, मेरी उम्र 25 साल है.

आखिर उसकी चूत चाटना छोड़ कर मैंने उठकर संजना के हाथ में अपना लंड थमा दिया. तब मैंने उसके पैन्ट में बना तंबू देखा तो मैं और जोश में आ गई और धीरे-धीरे अपनी कमर को हिलाने लगी. साड़ी वाली भाभी का सेक्सी बीएफतो वो मेरी बाइक के पीछे आ कर बैठ गयी, मैंने बाइक स्टार्ट की, हम चलने लगे.

?गुलशन जी की बात सुनकर सुमन के दिमाग़ में एक आइडिया आया- वाउ पापा क्या आइडिया दिया है, ये मस्त है इसमें मज़ा आएगा.

पापा उठने लगे तो मैंने मना कर दिया कि अभी थोड़ी देर लंड चुत में पड़े रहने दो. वो मंगल… वो मंगल… वो मंगल…मंगल… मंगल… मंगल…वो मंगल रात सुहानी थी,वो पिया से चुदने वाली थीकोई भेन का लौड़ा…होय…कोई भेन का लौड़ा चोद गया.

मुझे दीदी की चूत तो नहीं दिखी पर उनकी गांड की बड़ी बड़ी गोलाइयाँ मेरी आँखों के आगे नाचने लगी. मैंने देखा कि जब मामी जाग चुकी हैं और उनको मेरे हाथ में मम्मे देख कर भी कोई दिक्कत नहीं है तो मैं समझ गया कि मामी राजी हैं. हमने खुद को आदम कद आईने में देखा, पूरी की पूरी रंडियाँ दिख रही थी हम!फिर हम दोनों वाशरूम में जा कर खूब नहाई, दोनों ने एक दूसरी को खूब मल मल कर नहलाया। फिर फ्रेश हुई और ब्रेकफास्ट के लिए रेस्टारेंट चल निकली। कल का हैंग ओवर अब जा चुका था.

कितने प्यार से लंड चूसती है मेरी बहूरानी और कितने समर्पित भाव से अपनी चूत मुझे देती है, जैसेकोई अनुष्ठान, कोई यज्ञ हो.

मेरा एक हाथ उसकी चूचियों को मसल रहा था, दूसरा हाथ उसकी चड्डी में प्रवेश कर रहा था. मैं भी कपड़े बदल लूँ।उन्होंने कार मेरे रूम की ओर मोड़ दी हॉस्टल के ग्राउन्ड में कार से उतर कर हम अपने रूम पर पहुँचे, भाई भी साथ में रूम पर आ गए। मेरा रूम हॅास्टल का एक रुटीन कमरा था. माँ भी अपने चूतड़ों को तेज़ी के साथ नचाते हुए अपनी गांड को मेरे जीभ पर धकेल रही थीं और मैं उनकीचूत को जीभ से चोद रहा था.

एक्स एक्स एक्स बिहार बीएफतो हो सकता है वहाँ तुझे भी ऐसा मौका मिल जाए, बस हाँ कह देना और लाइफ के मज़े लेना. करीब 20 मिनट बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने पूरा मुठ उसकी चुत में ही छोड़ दिया.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स मूवीस

आप अपने विचार मुझे मेल कर सकते है साथ ही इंस्टाग्राम पर भी जोड़ सकते है. और उसका लंड भी ढीला हो कर लटकने लगा।मैंने कहा- अब दोनों किसी को नहीं बताएंगे कि आज रात क्या हुआ था।उसने हंस कर मुझे चूम लिया।फिर मैं अपने बिस्तर में आकर सो गई। सुबह उठे तो मेरे पति अपने काम में लग गए। मुझे अपने कमरे और घर की सफ़ाई करनी थी। मैं सफाई करते हुए देवर के कमरे तक चली गई, वो लेटा हुआ था।मैंने उसके गाल पर अपने हाथ को फेरा तो वो मुस्कुराने लगा।‘कैसा लगा रात को?’वो बोला- मज़ा आ गया भाभी. मेरी आँखों के सामने मानो ब्लू फिल्म फ़ास्ट फॉरवर्ड में चलने लगी थी!इधर नताशा काफी तेज गति के साथ स्वान का लंड चूसे जा रही थी, तो उधर एंड्रयू कुत्ते की तरह लपड़-2मेरी बीवी की चूतचाटने में लगा था!कुछ देर बाद शायद एंड्रयू का मुख थक गया और उसने मेरी रूसी सुन्दरी के पैरों को सीधा कर उसे बाईं करवट लिटा उसके पीछे लेट कर अपने एक हाथ से लंड सीधा कर मेरी प्राणप्यारी बीवी की चूत में घुसेड़ दिया.

मैं उनके पैरों की तरफ आया, धीरे से साड़ी को उठाया और जैसे ही मैं साड़ी ऊपर खिसकाने लगा, चाची ने करवट बदल ली. तो मैं बोली- प्लीज गांड नहीं!सुरेश बोला- चुप चाप रह, हम जो करते है. सुमन कमरे में आ गई और बिस्तर पर बैठ कर बड़बड़ाने लगी- मुझे पता था माँ, आपका जबाव ऐसा ही होगा, इसी लिए मैंने रात को ही फैसला कर लिया था कि मैं पापा को उनके हिस्से की ख़ुशी ज़रूर दूँगी, चाहे उसके लिए मुझे कुछ भी करना पड़े.

मेरे को तो सूट नहीं करती, मेरी स्किन काली पड़ जाती है उससे!”ठीक है, फिर रेजर से ही बना दूंगा. मैंने एक किताब उठा ली कि तभी मेरे बगल में बैठा हुआ लड़का बोला- अबे किताब वापस रख दे. मैंने उनके घर के आगे बाइक रोकी तो वो मुझे अंदर आने के लिए कहने लगी.

फिर मैंने उसका चेहरा दोनों हाथों से पकड़ कर उसके नाज़ुक होंठों को चूम लिया. फिर थोड़ी देर बाद उसका फ़ोन आया कि उसके कमरे में मच्छर नहीं हैं, अगर नींद न आ रही हो तो मैं उसके कमरे में आ जाऊं.

संजय की बात सुनकर पूजा खुश हो गई और लंड को चूसने लगी और संजय उसके मम्मों से खेलने लगा.

कई चित्रों में चूत में लंड घुसा था और चूत की शान में कई शायरी भी लिखीं थीं. गांव वाली भाभी कीमेरे हाथ कभी उसकी मोटी भरी हुई गांड को नोचते, कभी उसके स्तनों को!ऋतु बेकाबू होती जा रही थी, उसने खुद को पीछे करते हुए मेरे मुँह में अपनी चूत को जोर जोर से रगड़ना चालू कर दिया. सेक्सी फिल्म बीपी वीडियो मेंपण्डित जी ने आधे घंटे बाद ही दुबारा सम्भोग की इच्छा जाहिर की, जिसे मैंने सहर्ष स्वीकृति दे दी, क्योंकि मुझे भी इच्छा जागृत हो रही थी. जल्दी ही मेरी और भी सेक्स स्टोरी आपके सामने आने वाली हैं तो मेरी इस सेक्स स्टोरी एन्जॉय कीजिएगा.

मैं भी आनन्द में सिसया रहा था- हाय मेरी माँ… आह ईई ईई ओह ओह… तुम्हारी चूत कितनी टाइट है, ओह माँ ओह ओह मेरी माँ उईई और चूत बहुत गर्म हैं, ओह मेरी प्यारी माँ दुलारी माँ लो अपनी चूत में बेटे के लंड को, ऐसे ही लो, देखो आज उई ईई ये उसी चूत को चोद रहा है जिससे निकला है.

उसने घबरा कर कहा- गांड में मत डालो, बहुत दर्द होगा!तो मैंने उससे कहा- डरो मत तुमको दर्द ना हो, इसी लिए तो तेल लगाया है. जैसे ही वो अन्दर गया, मैंने देखा कि कहीं से मेरा गाउन फटा तो नहीं है. सुमन ने फिर खुजने के बहाने से अबकी बार अपने पजामे में हाथ डाल दिया और उसे थोड़ा नीचे कर दिया यानि पजामे को बस दो इंच और नीचे करती तो उसकी चुत का दीदार उसके पापा को हो जाता.

तब मुझे लगा कि शायद पण्डित खुद ही मुझे चोदने के फिराक में है।मैं मन ही मन खुश हो गई।नीलम ने बताया कि पण्डित जी का कार्यक्रम उनके जजमान सिंह साहब के फार्म हाउस पर होगा जो शहर के बाहर दो तीन किमी दूर है और प्रायः मैरेज लान की तरह बुक होता रहता है, वहाँ एक बड़ा हाल है और चार पांच कमरे हैं।एक दिन पहले नीलम ने बताया कि वह वहाँ गई थी सिंह साहब की पत्नी से मिल कर आई है. इधर जीजाजी दीदी को चित लिटाकर उनके ऊपर चढ़ चुके थे और हुमच हुमच कर चोद रहे थे. उसने मुझे बाद में बताया कि उसने कई बार मुठ मारी हमारी आवाज ही सुनते सुनते.

सेक्सी. विडीयो

उसके होंठ मेरे कान के बिल्कुल पास थे और वो मीठे दर्द से हल्के हल्के चिल्ला रही थी ‘आआआ आआअहहह… रोहण… आई लव यू… फ़क मी… आई लव यौर बिग… कॉक… तुम्हारा मोटा लंड… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआआ… मेरी चूत में अन्दर तक डाआआअलो… और जोर से… और जोर से… आआआअह्ह्ह… मेरी चूत तुम्हारी है… मारो मेरी चूत… चोदो मुझे. थोड़ी देर बाद उसकी ट्रेन आ गई और मैं उसको लेने प्लेटफॉर्म पर गया, जब वो ट्रेन से उतरी तो सच में क्या कयामत ढा रही थी, टीशर्ट और जीन्स पहने हुए, कंधे पर बैग टांगे हुए, कानों में ईयरप्लग लगाए हुए मेरी तरफ चली आ रही थी. फिर मैं आज हीना की चुदाई के समय से यौवन को मसलने के लिए बेताब भी था, क्योंकि हीना ने मुझे चोदा था, मेरे लंड को भी शांत किया था, पर मैं हीना को छू भी नहीं सका था.

मैंने पूछा- आप कहाँ जा रहे हो?तो उसने कहा- मैं यहाँ से आगे हिसार जाऊँगा.

मैंने अपने हाथ यश के सीने पे रख कर ऊपर नीचे होने की स्पीड बढ़ाई और पूरी ताकत से खुद की ही चूत चुदवाने लगी.

मैंने अपनी सुहागरात को भी चूत चिकनी नहीं की थी क्योंकि मेरी शादी मेरी मर्जी के खिलाफ इस बदसूरत से आदमी से हुई थी. चाची की आहें और मस्त मादक कराहें निकलती रही और वे मुझसे पूरी मस्ती से अपनी चुत चुदाई करवाती रहीं. भाभी के साथ सेक्स हिंदी मेंपीटर ने मुझे दीवार को चिपकाया और वो फिर से अपना हलब्बी लौड़ा मेरी चूत के अंदर बाहर करने लगा.

आओ अन्दर, आज घर पर कैसे?मैंने- कुछ नहीं बस आपको देखने का मन कर रहा था. दोनों की चीखें गूंज रही थी कमरे में ‘आआआ आआआआ अहह ह हह हहह… सीईईई ईई… चाआआअटो… और तेज… और तेज… आआअह आआआह आआअह!तभी ‘मैं तो गईईईईई ईईईई ईईईई’ बोलते हुए ऋतु झड़ने लगी और विकास ने सारा रस पी लिया. लगभग दस मिनट बाद वो हटीं और मुझे अपने ऊपर चढ़ा कर मेरे लंड को अपनी चूत में डलवाने लगीं.

मैं शौर्य सिंह जालंधर पंजाब का रहने वाला हूँ, अच्छा गठीला बदन है मेरा…यह उस समय की बात है जब मैं कॉलबॉय बनने की कोशिश में था. उसने अपना एक हाथ टेबल पर रखा हुआ था जिससे उसकी आधी आस्तीन की शर्ट में से उसके डोलों की नसें उभर रही थी जो मुझे और भी दीवाना बना रही थी.

सौभाग्य से नीचे वाली महिला, नहीं, उसे महिला कहना अनुचित होगा, लड़की के टॉप का गला कुछ ज्यादा ही बड़ा था जिससे उसके अधनंगे बूब्स के दर्शन मुझे बहुत पास से बड़ी अच्छी तरह से हो रहे थे, मतलब आँखें सेंकने यानि चक्षु चोदन का पूरा पूरा इंतजाम था.

ऋतु उसको आज ऐसे चूस रही थी जैसे कुल्फी हो… अन्दर तक ले जाती, जीभ से चारों तरफ चाटती और फिर बाहर निकालते हुए हल्के से दांतों का भी इस्तेमाल करती… वो लंड चूसने में परफेक्ट हो चुकी थी. ये लंड आपकी चुत की सेवा के लिए ही है।भाभी बोलीं- मैं जब भी फ्री रहूंगी आपको फोन करके बुला लूँगी. मैंने उसे अपने से अलग किया तो उसे लगा कि मैं वहां से जाना चाहता हूँ.

ब्लू पिक्चर के वीडियो दिखाएं मैंने राहुल से जय के बारे में पूछा तो वो कुछ नहीं बोला और मुस्करा दिया. काम पिशाच-1तीन चार दिन बाद मेरा लुल्ला बिल्कुल ठीक हो गया, मगर इन दिनो में मैं मौसी से इतना खुल गया, इतना घुल मिल गया कि मुझे जैसे उसके बिना सांस ही ना आती हो.

नीतू- क्या हुआ दीदी, आप मुझे ऐसे क्या देख रही हो?मोना- देख रही हूँ तेरे अन्दर कितनी गर्मी है. फिर उसने धीरे से सुमन के कान में कहा कि संजय चुत की चुसाई बहुत मस्त करता है. थोड़ी देर सबीना की गांड को मैं जोर से चोदने लगा अब मैंने रफीक को बेड से नीचे उतर कर मैंने जमीला को सबीना के नीचे से आगे खिसक कर सबीना की चुचियों पर मुँह ले जाने को कहा तो जमीला आगे खिसक गई और अब उसके मुँह पर सबीना की मस्त बड़ी चुचियाँ थी, जिनको वो चूसने लगी और सबीना का मुँह भी जमीला की चुचियों पर आ गया.

सेक्सी वीडियो बुर चोदने वाला सेक्सी

यहाँ से download करें!वीडियोवो मंगल रात सुहानी थीवो पिया से चुदने वाली थी. फिर मोना ने नीतू की मदद से खाना बनाया और दोनों ने अच्छे से खाना खाया और मोना उसे अपने कमरे में साथ ले गई. ‘क्या क्या क्या…’ करते हुए वह जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लौड़े पर रख दिया तो वो फिर हाथ हटा के जाने लगी.

फिर सुमन भाभी ने मेरे लंड को हाथ से सहलाया, मुझे बेड पर लेटा दिया और सुमन भाभी बिस्तर पर बैठ कर मेरे लंड को किस करने लगीं. स्कर्ट्स मेरी पसंद की ड्रेस, जिसमें से चुत का जल्दी काम लग जाता है.

फिर मैंने भाभी को घोड़ी बनाया और उनकी चुत में अपना लंड डाल कर फिर चुदाई करने लगा.

अब वो मुझे किस करने लगी और कब उसने मेरे कपड़े उतार दिए, मुझे पता भी नहीं चला. तू भी सिंगल है और वो भी, सो मैंने लगे हाथ उसको रिक्वेस्ट सेंड कर दी. मैं दोबारा बेड के पास गया और फिर से चाची की साड़ी को पेटीकोट के साथ धीरे-धीरे ऊपर खिसकाने लगा और कमर के पास लाकर छोड़ दिया.

मेरा लंड मेरीबहन की गांडके नीचे झूल रहा था और वो मेरे निपल्स को चूस रही थी… मैं तो जैसे जन्नत में था. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:बिजनेस बचाने के लिए अफ्रीकन लंड से चुद गयी-2. सुमन भाभी जब थोड़ा नार्मल हुईं, तो मुझे किस करने लगीं और कहने लगीं- यार सैम, मेरी शादी के बाद आज पहली बार किसी ने मेरी चूत चाटी और पहली बार मेरे इतना पानी छूटा.

अगर एक के साथ करने का मौका मिले तो क्या बोलती है?फ्लॉरा- एक के साथ तो कर सकती हूँ.

सट्टा किंग बीएफ: उसके पसीने की खुशबू से मेरे अंदर फिर उत्तेजना का संचार होने लगा और अब मैं भी नीचे से अपनी कमर उठा कर उसका साथ देने लगी. इसके बाद क्या हुआ?’‘इसके करीब 10 मिनट के बाद तुम्हारा पूरा पानी मेरी गांड में निकल गया.

एक मिनट ही लूंगी मुंह में… अंकल जी, मुझे लंड चूसने से बहुत आत्म संतुष्टि मिलती है पता नहीं क्यों… आज बहुत दिनों बाद चूस रही हूँ. फिर उसने चम्मच लेकर मेरा वीर्य चाय में घोल दिया और मजे से चाय पीने लगी. उन्होंने झुक कर मुझे पानी दिया तो में उनके बड़े चूचे देख कर हैरान रह गया.

तब तक जय ने अपना लंड मेरे मुँह से निकाल लिया था और आराम से मेरी चुदाई होते देख रहा था.

मस्त है ना!फिर वो भाभी की चुत में उंगली करने लगी और मेरा हाथ उठाकर भाभी के मम्मे पर रख दिया. वो तो गोरे-गोरे सॉफ्ट गेंद की तरह थे। मैं उन मम्मों को बड़ी बेताबी से चूस रहा था।कोई 5 मिनट के बाद उसने बोला- सिर्फ़ तुम ही चूसते रहोगे या मुझे भी लॉलीपॉप चूसने का मौका दोगे?मैं उसकी बात समझते हुए उठा और उसने मेरे सारे कपड़े उतार कर मेरा 7 इंच का लौड़ा अपने हाथ में ले लिया।उसने बोला- अरे वाह. ऋतु की चमकती त्वचा के सामने वैसे तो पूजा कुछ भी नहीं थी पर हर किसी का अपना स्वाद है.