बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ

छवि स्रोत,भक फुल फॉर्म

तस्वीर का शीर्षक ,

क्यूट सेक्सी वीडियो: बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ, चुदाई करते समय दूसरे को चुदाई करते देखना भी हम चारों को एक अलग सी उत्तेजना दे रहा था.

भाई बहन की स्टोरी

मैं उन्हें देखने में खोया हुआ था, मुझे उनकी आवाज़ दूर से आती सुनाई दे रही थी. త్రిబుల్ ఎక్స్ వీడియోస్ సెక్స్वो जोर जोर से सिसकारियां ले रही थीं और उनके मुँह से आवाजें निकल रहीं थीं- उँह उंह आह आह.

फिर मैंने अपने मोटे हो चुके लंड को उसकी स्कर्ट के नीचे से उसकी टाइट गांड में लगा दिया. हॉट सेक्स इंडियामैंने मेल बॉक्स खोल कर देखा तो उसमें भाई ने मुझसे पूछा था कि तुम्हारी भाभी तुम्हें अपनी भाभी बनाना चाहती है.

मैंने ब्रा के ऊपर से ही उनकी चूची को बहुत दबाया, मुझे बड़ा मजा आ रहा था.बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ: उसको पता चल गया था कि मैं गरम हो चुकी हूँ और मेरी गरम साँसों की वजह से उसका लंड भी तंबू बन चुका था.

एक दिन मैं अपने घर आ रहा था, तो घर के पास ही हमारे एक पड़ोसी राधे अंकल ने मुझे रोक लिया.और एक बात लंड लेने से बूढ़ी भी जवान हो जाती है… उम्र रुक सी जाती है.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಸೆಕ್ಸ್ - बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ

ये कह कर मनोज रसोई में चला गया और उधर से वो शहद ले कर आ गया, जिसको उसने मेरी चूत के अन्दर बाहर सब तरफ अच्छी तरह से लगा दिया.मैंने कहा- कब करोगी? और भी कुछ चाहिए क्या?उसने कहा- अभी तो तुम बस मेरी फ्रेंड के रूम पर चलो, फिर बात करती हूँ.

वो मेरे ऊपर आकर मेरे होंठों को चूसने लगा और मैं अपनी आँखें बंद करके अपने होंठों को उससे चुसवा रही थी. बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ वो नीचे से अपनी गांड हिलाने लगी और ऊपर से मैं उसके बोबे दबा रहा था.

मैं थक गई थी और झड़ गई, पर मैंने अंकित से कहा- तुम चूत के अन्दर मत झड़ना.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ?

मैं हॉल में पहुंची तो उन्होंने मुझे वहाँ पकड़ लिया और फिर मुझे अपनी बाहों में भर लिया. उन्हें जैसे करंट सा लगा, उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया और मुझसे लिपट गयी, उनका गोरा बदन सुर्ख लाल हो गया था. तकरीबन 20 मिनट की चुदाई में वो बार झड़ चुकी थी और मेरा भी निकलने वाला था, मैंने उससे पूछा- कहां पे निकालूँ?तो उसने कहा- जहां मन पड़े, वहां निकाल दो.

मुझसे रहा नहीं गया तो मैं अंडरवियर के ऊपर से ही अंकित का लंड चूसने लगी. उधर ऊपर मेरे चूचों को अपने हाथों से लाल जी जोर से दबाने लगा, नीचे पीयूष मेरी चूत चाट रहा था. उस परिवार में सलमा, उसकी बड़ी बहन शमीम और छोटा भाई वसीम और उसके अम्मी अब्बू थे.

उसकी बात सुनकर मुझे भी चुदास चढ़ने लगी और मैं भी अब आंटी में इंटरेस्ट दिखाने लगा. मैंने लंड का पानी चुत के अन्दर ही निकाल दिया और निढाल होकर उसके ऊपर गिर गया. पर यह बता दो कि तुम्हें मजा आया कि नहीं?तो मैं बोली- तुम दोनों को थैंक्स तुम दोनों की वजह से मुझे बहुत मजा मिला.

मैंने जरा सा हाथ नीचे किया तो पता चला कि कुछ गीला और चिपचिपा सा द्रव्य उसकी पेंटी से लगा है. साथ ही उसकी योनि में से कुछ गरम गरम सा बहने लगा और वो मेरे ऊपर ऐसे ही लेट गई.

इससे पहले कि मैं कुछ बोलती, उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रखे और किस करने लगा.

मेरी चाची की चूत चुदाई की कहानी के पहले भागकामुकता के घोड़े पर सवार चाची को चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी चाची को उसके बॉयफ्रेंड के साथ रेस्तराँ में देखा.

इसी के साथ अपना मुँह उनकी नेट वाली पेंटी पर घिसते हुए मेरी गर्म सांसें उनकी चुत पर छोड़ने लगा. तभी मैंने देखा कि एक बहुत सेक्सी मस्त भरे हुए बदन वाली मस्त औरत उनके साथ आ रही थी. मैंने उसकी चूत के छेद पर अपना बड़ा और मोटा लंड रखा तो उससे चूत का छेद पूरा ढक गया.

अरुण से उसने साफ़ कह दिया था कि आज की रात मुझे तुमसे खुल कर मिलना है. बिना कुछ सोचे-समझे मैं बोली- चाचा मैं जिंदगी भर आप जो कहेंगे सब करूंगी, आपका पूरा साथ दूंगी गॉड प्रामिस, मम्मी की कसम चाचा, बस मुझे आज बचा लो और किसी को मत बताना बस. गले लगते वक़्त मैंने हल्के से उनकी पीठ पर हाथ फेर दिया और उन्होंने भी मेरे गालों पे हल्का सा किस किया.

बकायदा उन्होंने मेकअप किया हुआ था, बालों का जूड़ा बांधा हुआ था, निचले हिस्से की लट पूंछ की शक्ल में जूड़े से लटक रही थी और भाभी के चलने पे इधर उधर को मटक रही थी.

लौंडे भी कम नहीं थे, सब के सब किसी न किसी हसीना को इम्प्रेस करने की फिराक में थे. तभी वो एकदम से अकड़कर झड़ गई और उसकी चुत की आग से मेरा लंड भी पिघल गया. मैंने उसकी चुत पर लंड रगड़ा और बोबों के बीच में लौड़ा रखकर उसके होंठों पर टकराते हुए बूब फकिंग का मजा लेता रहा.

अब तक मेरा लंड खड़ा हो चुका था और चाची की नजर भी मेरे लंड पर चली गई थी. पता नहीं तुम्हें उससे क्या फर्क पड़ता है कि वह किसी के भी साथ सेक्स करें क्योंकि रीना तो मेरी संपत्ति है। कहीं तुम्हारा मन यह तो नहीं सोच रहा था कि मेरे इतने करीब होते हुए भी रीना अपने जीजू के अलावा किसी और से कैसे चुदाई कर सकती है?श्लोक गुस्सा हो गया और बोला- जीजू, आप ऐसा सोच भी कैसे सकते हैं कि मैं अपनी बहन के बारे में ऐसा सोच लूंगा. जैसे ही उसका पानी छूटने को था, उसने रूबी की कमर ज़ोर से दबाया और काँपते हुए धक्के मारने लगा, अपना पानी उसकी चूत में छोड़ दिया.

मैं खुश हो गया कि चलो इसकी सील तो टूटी हुई है, अतः आज यह ज्यादा रोया पिटी नहीं करेगी.

शाम को जब मैं चारा लाने के लिए खेत में गया था तो रास्ते में क्रिकेट का खेल चल रहा था, तो मैं खेल देखने लगा. रास्ते में मेडिकल स्टोर से से कॉण्डम का बड़ा पैकेट लिया और सेक्स टाईम बढ़ाने वाली गोलियां ले लीं.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ मैंने हामी भर दी तो वो मुझे अच्छे से समझाने लगीं कि क्या क्या करना है और कैसे डॉक्यूमेंट्स वग़ैरह चाहिए. मैंने फिर से उसके चुचे दबाने शुरू कर दिए और थोड़ी देर के बाद फिर से उंगली डालने की कोशिश की.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ अगर पूनम दीदी आ गईं तो क्या होगा?दीपक पिंकी को चोदते हुए बोला- अगर उसने कुछ कहा. मगर ये भी सोच रहा था कि क्या वह पद्मिनी को चोद पाएगा? क्या पद्मिनी चोदने देगी? क्या वह इन्कार नहीं करेगी? अगर उसने इन्कार किया और शोर मचाया तो क्या करूँगा.

न जाने कब ये हाथ में आएंगे क्या पता?देखते ही देखते वो मेरी बुलेट पर बैठी थी और मेरी बुलेट फुल स्पीड से शहर से बाहर जा रही थी.

सत्र में क्रीम

तो मैंने एक झटके में ही उसकी पेंटी उसके बदन से अलग कर दी और उसकी चूत में एक उंगली डालने लगा. मुझे भाभी की चीख सुनकर बहुत अच्छा लग रहा था, मैं इसी तरीके से भाभी की चुदाई करने लगा, इसी तरह मैं कभी धीरे कभी उनकी चूत में अपना लंड पेलता रहा. करीब 15 मिनट की जोरदार बेहेन की चुदाई के बाद अब विक्रम का लंड पानी छोड़ने वाला था… वो जोर से बोला- मयूरी बहना … मैं आने वाला हूँ… क्या करूँ?मयूरी- प्लीज भैया… अपने लंड का पानी आज मेरी चूत में ही छोड़ना… मैं इस चुदाई का पूरा सुख लेना चाहती हूँ… आ… ह…विक्रम- फिर ये लो… आ… आह…और ऐसा कहते हुए हो एक झटके के साथ अपना वीर्य पहली बार अपनी छोटी बेहेन की चूत में छोड़ दिया.

’ फिर वो बोला ‘यो बेबी…सेक्स इन द पूल! मेरा फिगर देख कर सबके होश उड़ गए फिर हम सबने कपड़े उतार दिए और हम लोगों ने पूल में ही सेक्स किया. ऐसा करने में मयूरी ने उसकी पूरी मदद की और अपनी एक टांग उठा कर उसने विक्रम के कंधे पर रख दिया. यह बात सुनकर मैं हंसने लगा और सुरेश जी से कहा- कल रात से सुबह तक जो काम हम कर रहे थे, वही जिंदगी में असली काम है.

इसके बाद सोनम ने अपना बैग अपनी फ्रेंड के रूम पर रखा और फिर उसने अपने फ्रेंड के रूम की एक चाबी मुझे रखने को दी.

काम वासना से सराबोर कर देने वाली मेरी चुदाई की कहानी पर आप अपने विचार मुझे मेल से भेज सकते हैं. अगर जगी हुई होती तो वह ज़रूर पूछती कि इतनी सुबह सर्दी में कहाँ और क्यों जा रहे हो. जैसे कि मैंने पिछली चुदाई की कहानी में बताया था कि मैं अपनी मौसी की लड़की प्रगति को हमेशा चोदता रहता हूँ.

पर ये सब देख कर भी वो एकदम सामान्य थी, बल्कि वो खुश थी…मयूरी उठी और बाथरूम की तरफ बढ़ने लगी. ”मैंने उसे अन्दर बुला लिया और थोड़ी देर में ही उसके थोड़े से पैसे बदल दिए क्योंकि ज्यादा बदलने का नियम नहीं था. उसने भी अपने भाई को 20 रूपये दिए और अपने भाई को मेरे 10 रूपये वापस करने के लिए भेजा है.

अब मुझे बाजार से कुछ शॉपिंग करनी थी, क्योंकि मेरे पास साड़ी नहीं थी. जब वो नार्मल हुई तो मैंने एक जोर का झटका मारा जो उसकी बुर को फाड़ते हुए उसकी जड़ तक चला गया और वो मुझे नोचने लगी, धकेलने लगी, उसकी आंखों से आँसू आ गए.

पर मेरा लंड तो अभी खड़ा था, तो मैं अपना 7 इंच का लंड उसके मुंह के पास ले गया. कुछ देर बाद उसने फिर से मुझे चोदना चालू किया और मैं ऐसे ही बिना कोई हील हुज्जत के पड़ी रही. चलिये मेरा पेटीकोट उतारिये, मेरा मुन्ना आज खुल कर देखेगा अलौकिक सुंदरता … आज यह खुल कर जन्नत की सैर करेगा.

मैंने अभिलाषा को फोन नंबर मिलाया, तो अभिलाषा ने कहा- जूली जरूर आपके पास आएगी, उसने मुझसे वादा किया था.

जब भाभी ने कहा कि उनके दोनों बच्चे अपनी नानी के यहाँ गए हैं तो मुझे लगा कि भाभी की इस बात में कुछ झोल है. दिन भर के काम के बाद मुझे थोड़ी थकान थी तो मेरी नींद लग गयी और वो भी प्यार से मेरे ऊपर आराम से लेटी रही।थोड़ी देर बाद मुझे लन्ड में फिर से गीला गीला महसूस हुआ देखा तो जूही मेरे लन्ड को पकड़ के हिला हिला के चूस रही थी. मुझे नहीं मालूम था कि ये छोटी सी लड़की इतना मजा देगी और मेरा 8 इंची लौड़ा इतने आसानी से अपनी नन्ही सी चूत में ले लेगी.

कुछ ही देर बाद मैं उसका घर देख लेने के बाद अपने घर के पास सड़क पे आ गया और एक सिगरेट ले कर पीने लगा. तब तक भाई वहीं बैठ के बाकी बातें बता रहे थे कि कैसे उन्होंने बड़ी बूब वाली के मजे भी मुझे दिलवाये.

मैंने मेल बॉक्स खोल कर देखा तो उसमें भाई ने मुझसे पूछा था कि तुम्हारी भाभी तुम्हें अपनी भाभी बनाना चाहती है. भाभी बोलीं- कब से चल रहा है यह सब?मैंने बताया कि ये कल ही मिली थी उसकी बुकिंग आई थी और रात 11-30 बजे उसे 17 सैक्टर छोड़ कर घर आ रहा था तो उसका दोबारा फोन आया कि उसने खाना नहीं खाया था और होटल में 11 बजे के बाद डिनर नहीं देते हैं. ‘अच्छा जी… आप क्या ज्योतिषी भी हैं? अभी परखती हूँ आपको… बताइये क्या हैं मेरी जनम कुंडली?आशा है यह वृतांत आपको अच्छा लग होगा.

इंडियन गर्ल्स व्हाट्सएप नंबर

क्या हुआ पापा जी; ऐसे क्या देख रहे हो? आपकी अदिति बहू ही हूं मैं!” वो चहक कर बोली.

चूत लंड, मम्में, लंड चूसना, चूत चाटना, चुदाई … ये सब पोर्न फ़िल्में अब तो सहज ही सबको उपलब्ध हैं. अब हम एक ऐसे मैदान में आ गए थे, जहां आजू बाजू में जंगल था, गांव से दूर और जहां इतने जल्दी किसी के आने की संभावना ना के समान ही थी. मैं उनका इशारा समझ गया और उनको बांहों में ले कर उनके बेडरूम में ले गया.

नलिन गुस्से से पागल हो कर बोला- यह लड़की बेशर्मी की सारी सीमाएं पार कर चुकी है! मम्मी जी इससे कहो कि ये अभी मेरा घर छोड़ दे … चली जाए यहाँ से!मम्मी बोली- बहू कहीं नहीं जायेगी … यह अपनी जगह सही है. सुरेश जी अपने लंड के पानी की एक एक बूंद मेरे अन्दर छोड़ते रहे और तब तक मुझे पर लेटे रहे. छोटी बच्ची का सेक्सी व्हिडीओबाबा ने हवा में हाथ घुमाया और चमत्कारी रूप से उनके हाथ में एक फूल आ गया.

और मयूरी तो बला की खूबसूरत है… तो उसने अपने हुस्न को हथियार बना कर अपनी माँ का ही शिकार करने का मन बनाया. बहुत याराना है मेरा मेरे चाचा के साथ!एक बार मेरी सहेली सपना और मैं पिंक पर्ल (वाटर पार्क) घूमने.

मैं इधर उधर देखता हुआ तेजी से उसके घर की तरफ गया और जल्दी से गेट खोलकर अन्दर घुस गया. तू उम्र को क्या चूत से चाटेगी, तुझे तो लंड से मतलब है कि उम्र से चल. मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई तो उसने आहें भरना शुरू कर दीं और मचलने लगी.

बापू घुटनों पर ही था और सर ऊपर उठाकर पद्मिनी से कहा- बस अपना यह स्कर्ट ऊपर उठाकर बापू को अन्दर की जाँघ और अपनी पेंटी दिखा दे, मैं बहुत खुश हो जाऊँगा. मेरा आधा लंड सारिका की चुत में घुस गया और वो चिल्ला उठी- आह आआ मर गई. मैंने उसको होंठों पे अपने होंठ रख दिए और खूब मज़े से चूसना शुरू कर दिया.

उसने पद्मिनी को बिस्तर पर लिटा दिया और उसके पैरों के तरफ बैठ कर उसकी स्कर्ट को उठाते हुए जाँघ पर अपना जीभ को फेर कर कहा- चल बोल… क्या मामला है तेरा टीचर के साथ?पद्मिनी ने देखा कि उसके बापू की नजर उसकी स्कर्ट के नीचे उसकी पेंटी पर ही टिकी है, तो उसने हाथों से अपनी स्कर्ट को नीचे करके जांघों को ढक दिया.

आपने मेरी पहली कहानीप्यासी ननद और भाभी की जयपुर के रास्ते में चूत चुदाईपढ़ी. शिवदयाल जी का लंड… असल में यह स्टोरी मेरी माँ और शिवदयाल जी की है और काफी हद तक … काफी हद तक क्यों बोलूँ … बिल्कुल सौ प्रतिशत रीयल है.

तो मैंने इस तरह नादानी में मेरे जीवन के पहले सेक्स किया जो मुझे जिंदगी भर याद रहेगा. मेरी सोच इस देसी बाला की ओर गहराती गयी … गाँव से शादी में आई है; पुराने ढंग का पहनावा, बालों में कंघी करके कसी हुई चोटी, गुजरे जमाने का फोन लिए… बात करने का देहाती लहजा और वैसे ही हावभाव ये सब चिह्न उसके फॅमिली बैकग्राउंड को बखूबी दर्शा रहे थे. कुछ देर तक शांत हो गया जैसे मानो एक बड़े युद्ध के बाद सन्नाटा छा गया हो.

उसने हैरत से पूछा- उससे क्या होगा?मैं बोला कि तब गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी, अगर हो भी गयी तो कुछ दूर आगे जाने के बाद बन्द हो जाएगी और तुम कहना कि आज मेरा बहुत इम्पोर्टेन्ट पेपर है, तो वो तुमको अकेले जाने देगा और तुम मेरे पास आ जाना. खाला नेअपनी चूत से बाल साफ़ किये हुए थे, चूत थोड़े गुलाबी रंग की थी और गीलेपन की कुछ बूंदे साफ़ दिख रही थी. हमारे घर के पास ही एक पार्क है, जहाँ बहुत सी औरतें सुबह के टाइम घूमने टहलने आती थीं.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ जैसे ही मैं छेद में उंगली डालने का प्रयास करती, तो उसकी गांड सिकुड़ जाती और उसकी जीभ मेरे चूत में और अन्दर घुस जाती. वो कहने लगी- फिर क्या होगा? कहीं टीटीई मुझे कुछ कहेगा तो नहीं?मैंने कहा- परेशान मत हो, मैं टीटीई से बात कर लूँगा, तुम मेरे साथ मेरी सीट में एडजस्ट कर लेना.

गांड मारने का

कुछ देर बाद वो नार्मल हुई और अपने मुँह से कपड़ा निकल कर मादक सिस्कारियां निकालने लगी. वो बिल्कुल बुड्ढे थे, मैं छोटी सी लड़की थी, वो मुझसे उम्र में लगभग चालीस वर्ष के बड़े थे. हुआ यूं कि मुझे एक शादी के लिए देहरादून से आगे कलसी नगर जाना था, तो मुझे रात को ठीक दस बजे दिल्ली आइएसबीटी से कलसी की बस पकड़नी थी.

शायद खुद को टटोल रही थी कि अगर कभी राशिद और समर एक साथ उसे आगे और पीछे से भोगते तो वह स्वीकार करती या नहीं?शायद चली जाती. उसने मुझे अन्दर बुलाया और मेरे दोस्त वाले कमरे में मुझे ले जाकर बैठाते हुए बोली कि तुम बैठो, वो अभी थोड़ी देर में आ ज़ाएगा, उसने मुझसे कहा था कि यदि मेरा दोस्त आए तो उसे अन्दर बिठा लेना. साल की लड़की के सेक्समाँ के बारे में बताती हूँ आपको … मेरी माँ काफी स्मार्ट और खूबसूरत है, उनका फिगर 36-32-37 है, क्योंकि मैं और मेरी माँ ब्रा और पेंटी एक साथ में खरीदते हैं तो कन्फर्म साइज़ पता है.

मैं शरमा गई तो सर बोले- जानती हो क्या अधूरा रह गया था?मैं बोली- नहीं सर.

पर फिर भी मैंने उनके गांड के गोलों पे के थप्पड़ बरसाये।मेरी ज़िन्दगी के मजे देख के जलन भी हो रही थी दीपक को… कि मैं पूरे मज़े ले रहा हूँ जीवन के… वो भी फ्री में!लेकिन मैं तो मज़े में था मुझे क्या करना था।लेकिन एक दिन मेरे दोस्त दीपक की बददुआ काम कर गयी, एक दिन मैं और मामी बेडरूम में चुदाई का खेल शुरू ही करने वाले थे कि उनकी बेटी आ गयी उसने हमको देख लिया और नाराज़ हो के अपनी सहेली के घर चली गयी. वहां रहने को ज्यादा साधन नहीं थे, अतः मेरे साथ ही रहने लगा। हम पास के ढाबे में खाना खाते, नौकरी करते और बाहर सड़क पर थोड़ा घूम लेते.

अब वो मुझे खूब प्यार से किस पर किस किये जा रहा था और मेरे चूचे भी दबाए जा रहा था. फ़िर लेकिन मैं भी अपनी धुन में लगा रहा और मैंने थोड़ा अन्दर बाहर किया तो उसे भी मज़ा आने लगा. मैंने उससे चिपक गया, उससे चिपकते ही मेरे शरीर में अलग ही रोमांच भर गया.

मैंने सुनीता से कहा- वाह सुनीता, तुम्हारे तो मजे हो गए, अब तो तुम अंकित से रोज चुदाई करवाओगी.

उन्होंने इसकी शादी किसी अपने दोस्त के लड़के से करने की सोची हुई है, जो बहुत अच्छी जॉब करता है. तब ही कुछ देर बाद वो औरत एक एक्टिवा बाइक से जाने लगी, तो मैं अपने दोस्त से बहाना कर के वहां से निकल गया. अब मैंने सोचा कि अगर मैं दीपक से कहूँगी तो हो सकता है, वो मुझे ग़लत समझ ले.

मराठी सेक्सी वीडियो हिंदीशाम को अरुण अपने घर पर पहुंचा, डोर बेल को बजायी, कुछ देर बाद उसकी पत्नी नीलम ने दरवाजा खोला. उन लड़कियों में से एक लड़की, जिसका नाम सबा (बदला हुआ नाम) था, उसको मैं बहुत पसंद करने लगा था.

इंग्लिश चुदाई मूवी

तीन दिनों तक लगातार मलाई के उपयोग से वल्लिका की त्वचा काफ़ी चिकनी हो गई थी. एक दिन हम दोनों लोग शाम को ऑफिस से काम करने के बाद बाहर खाने गए थे, तो वो मुझे अपने बारे में बताने लगा. रितु ने हम दोनों के सर अपनी छाती पर दबा रखे थे और हमारे दूसरे हाठों ने रितु के शोर्ट को उतार दिया था.

तुम वहाँ पर एक मासूम सी लड़की बन कर रहना और अगर कोई अच्छा लड़का तुम्हारी नज़र में हो, तो पहले मुझे बताना. उसे कुछ देर बाद एक उसी के नाम की एक प्रोफाइल दिखी, जिसमें उस औरत ने अपना खुद की इमेज को लगाया हुआ था. एक दिन मैंने देखा कि वो किसी लड़की को कमरे में लाकर चोद रहा है, उसका लंड देख कर मेरी कामवासना भी हिलौरें लेने लगी.

आप सबको मेरी अन्तर्वासना हिंदी कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बताना, मुझे ईमेल करें. अभी यही सब सोच रहा था कि तभी मेरी हवसी नज़र एक औरत पर पड़ी, जो आने में थोड़ा लेट हो गयी थी. अब जाकर थोड़ा आत्मविश्वास जगा तो मैंने उस महारानी जैसे माल से उसका नाम पूछा.

मैंने उससे पूछा- दिव्या, तुम खुश हो ना?उसने नजरें उठा कर मेरी आँखों में देखा और बोली- आप खुश हैं ना?मैंने पलकें झपका कर हाँ में उत्तर दिया तो वो फिर मेरे सीने से लग गयी. मैंने अनीता दीदी को जल्दी से कपड़े पहनने को बोल दिया दीदी फटाफट कपड़े पहनने लगीं.

पैंटी ना पहनने की वजह से जब भी स्कर्ट ऊपर होती, उसकी चूत दिखने लग जाती.

उन्होंने भी कुछ दूर चलने के बाद कार को एक जगह साइड में ले ली और मुझे अपनी ओर खींचकर गले से लगा लिया. कैमरा बढ़ियावो जैसे ही चीखी, मैंने अपने होंठ उसके होंठ पर रख दिए और उसके होंठ चूसता रहा. saataa मटका .comमैंने पहले से ही उनको पूरा गर्म किया हुआ था ताकि उनको तकलीफ़ ना हो और उनकी चुत में से कामरस का ज्यादा से ज्यादा रिसाव हो. झाड़ते हुए जब मैं अंकित की तरफ गई, तो मैंने जानबूझ कर अपना पल्लू गिरा दिया.

मेरी निगाह रूपा के मस्त उठे हुए मम्मों पर थी जोकि रूपा ने भी भांप लिया था.

मैंने किसी से कोई सेक्स नहीं किया लेकिन मुझे मालूम है कि मेरी कौमार्य झिल्ली टूट चुकी है. अपनी बहूरानी को राजस्थानी बंजारिन के भेष में देखकर उन्हें इसी रूप में चोदने को मन मचलने लगा. जैसे ही उसका लंड गांड में घुसा तो दूसरे ने अपना लंड आगे से चुत में घुसा दिया.

वो अच्छा हुआ कि मैंने अपना एक हाथ उसके मुँह पर रख दिया था, नहीं तो वो चिल्लाने ही वाली थी. अब मेरे मुँह में ही दिनेश का लंड छोटा हो गया, मतलब कि दिनेश झड़ कर पूरा खाली हो गया. सुधीर आगे बोला- सर, यह सुन्दरी का उदगार था … मेरी तरफ से भी थैंक्स सर।मैंने कहा- चल आगे सुना?सच सर, अगर आप यह रास्ता नहीं दिखाते तो सुंदरी का यह सुन्दर रूप तो मैं कभी देख ही नहीं पाता।” सुधीर फिर आगे कहना शुरु किया:हम लोगों ने अभी कपड़े पहने ही थे कि दरवाजे की घंटी बजी.

कैसे बनाते हैं बताइए

ये सुन कर वो बहुत खुश हुआ और उसने लंच का ऑर्डर कर दिया, जो थोड़ी देर बाद आ भी गया. मैंने हंसकर कहा- रेखा जी, आप क्यों जाग रही थी उस टाइम… आपको भी शायद शशिकांत जी सोने नहीं दे रहे होंगे. इसके बाद मैंने अपना लंड आंटी की बुर के मुहाने पे रख दिया और बोला- जानू धीरे धीरे चढूं कि एकदम से पेल दूँ?वो बोलीं- अरे मेरे राजा जैसे चढ़ना है चढ़ जाओ.

एक हाथ से मुठ मारते और एक हाथ से पद्मिनी की चूतड़ों को थाम कर अपने लंड को शांत करने लगा.

मेरी प्यास मिटा कर, मेरी गांड मारकर मेरे गांड में पानी छोड़े ताकि गांड में चल रही आग उस पानी से बुझ सके.

वो लड़का उसके साथ बहुत बार चुदाई भी कर चुका था, जैसा उसने मुझे चैट में बताया था. फिर जैसे ही मैं और वो रूम के अन्दर आये, वो पागलों की तरह मेरे होंठों को काटने लगी और मेरे कपड़े निकालने लगी. বোদি চোদাमेरी चूत को किसी ने काट दिया हो अन्दर से… वो धीरे धीरे धक्का लगाने लगा.

जितना प्यार मैं तुमको करता हूँ, शायद ही दुनिया में कोई बाप अपनी बेटी को करता होगा. अगर तुम्हारे पास नहीं हैं, तो मैं तुम्हें कल दे दूँगी, जो तुम यहाँ बदल लेना. और जाते जाते मुझे आँख मारती हुई बोली ‘नाईस कॉक!’वरुण- स्मिता, तुम्हारा बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस क्या था आज तक का?स्मिता- मेरे बॉयफ्रेंड ने पार्टी दी थी.

पद्मिनी ने आँखों को बंद किया हुआ था, उसको समझ में आ गया था कि बापू क्या चाहता है. तेरा लौड़ा बहुत मस्त है, लगता है बस तू मुझे चोदता ही रहे उंहहह ऊंहहह उंहहह दिनेश आहहहह.

मैंने उसके बालों को पकड़ के खींचा और एक हाथ से उसका मुँह बंद कर के तेज़ी से चोदने लगा.

मैं अब अपने स्कूल में जो ससुराल के पास ही था वहाँ बारिश में खुले दरवाज़ों के अन्दर ज़मीन पर पट्टी बिछाकर चुद रही थी. अन्तर्वासना पर ये मेरी प्रथम कहानी है, उम्मीद करता हूँ, आपको अच्छी लगेगी और इस कहानी में एक प्रतिशत भी मिलावट नहीं है. मुझे पता था कि हम दोनों का पहली बार है तो इसलिए मैं उसके मुंह को अपने मुंह में लेकर चूमने लगा और अचानक ऐसे ही उसे चूमते हुए एक जोर का धक्का लगाया, मेरा लन्ड उसकी चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया.

मम्मी की सेक्सी वीडियो उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम जब भी मैं बुलाऊँ तो उसी दिन आ सकते हो?मैंने कहा- रेशमा जी, पटना से रांची बहुत दूर है, आठ दस घंटे लग जाते हैं, अगर आपने मुझे बुलाना हो तो मुझे दो तीन दिन पहले बता देना और आने जाने का किराया भी दे देना तो मैं जरूर आ जाऊंगा. फिर जब उसका पानी निकलना शुरू हुआ तो वो कुछ हाँफने लगा और मुझे कस कर अपने साथ दबा लिया.

हम दोनों 69 में आ गए, उसने अपनी जीभ मेरी चूत पर फिराना शुरू किया, तो मेरी आहें निकलने लगीं और मैं पागलों की तरह कभी उसका लंड चूसती, कभी उसके आंडों को चाटने लगती. दोगे न?मैंने सुनसान देख कर उसको अपनी बांहों में भर लिया और पूछा- उस आदमी से मजा नहीं आया था क्या?अरे उसने तो पेला ही था कि तुमने अपने लंड पर बिठा लिया था. दीदी मैं भी उनके लंदन जाने से पहले जितनी बार हो सके, चुदना चाहती हूँ.

नंगा ब्लू पिक्चर वीडियो

मैंने उसको बोला- आप इतनी खूबसूरत हो और आपनी जिंदगी ऐसे ही जाया कर रही हो?वो हंसने लगी कि बस मुझे कोई शौक नहीं है, हमको तो कमीशन मिल जाता है, बस उतना ही हमारे लिए काफ़ी है. दूसरे का नाम चाचा ने दिनेश बोला, वह उन्हीं के परिवार का था, जो चाचा से उनका खेत खेती करने के लिए लिए हुए था. आप तो जानते ही हो मैं एक अच्छे घराने से हूँ और दिखने में भी काफी हॉट सेक्सी और हैंडसम हूँ.

अब तक आपने पढ़ा था कि पद्मिनी ने बापू को बता रही थी कि टीचर ने उसके साथ क्या क्या किया था. मेरे प्रिय दोस्तो और भाइयो, भाभियो, आप सबको मेरा नमस्कार!मेरी पिछली कहानीफ़ोन सेक्स चैट से देसी चूत की चुदाई तकआप सबने जरूर पढ़ी होगी तो आप तो जानते हैं कि मैं पटना से हूं और मेरी हाइट लगभग 6 फुट है और मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लंबा और लगभग सारे 3 इंच मोटा है.

फिर मैंने उनकी सुतवां नाक को अपने होंठों में दबा लिया और चूसने लगा, हल्के से काटने लगा.

दीदी अपने स्तनों को टेबल पर रखकर लेटी हुई थी और उनकी टांगें टेबल पर नीचे आई हुई थी. अब आओ और अपनी लंबी टांगों का कमाल दिखाओ मेरी जानेमन।मैं लेटने वाले सोफे पर लेट गया, सीमा भी बेड से उठ कर आई और अपनी चौड़ी सेक्सी गांड मेरे लंड की तरफ करके आगे की तरफ मुंह करके मेरी गोद में बैठ गई और उसकी चूत में मेरा लिंग अपने आप प्रविष्ट हो गया. बता बनेगी हमारी रखैल?मैं बोली- हां चाचा, बनूंगी तुम्हारी रखैल आज से अभी से.

मैं कल घर पर अकेली हूँ और हाँ मैं अभी तक किसी से भी चुदी नहीं हूँ, ना ही मैं चाहती हूँ कि तुम्हारी और प्रगति की बात किसी को भी पता चले. उन्होंने मुझे आँखें खोलते देखा तो बोलीं कि मुझे भी थोड़ी देर सोना है. मनोरमा ने उसके सामने उसको फीस दे और बाहर आ कर बोली- तुम अभी घर जाओ और कल आराम से बैठ कर इस पर चर्चा करेंगे.

सामने से मैं रीना की गांड नहीं देख पा रहा था लेकिन उसके शरीर का आकार महसूस कर सकता था कि जितनी सेक्सी आगे से है पीछे से उतने ही लंड फाड़ सेक्सी होगी.

बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखाओ: उसने आगे बोला- अरे क्या सोच रही हैं मैडम जी कल मेरे ही बालक ने आपकी चुदाई के लिए पट्टी बिछाई थी. दूसरे दिन शाम को मैं अपने घर आने को निकला, तो उसने मुझे 3000 रूपये दिये.

इस पर मनोज ने मेरी चूत को अपने थूक से भर दिया ताकि उसमें जरा फिसलन आ जाए. फिर वो चला गया, उसके बाद मैंने उसकी नाइटी को निकाल दिया और उसको लिटा कर उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा. दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है? अपने कमेंट्स जरूर भेजें!मेरा ईमेल है:[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरे बेटे की डायरी: बेटे ने अपनी माँ को चोदा-2.

अब मैं जॉब के सिलसिले में चंडीगढ़ आ गया हूं और यहीं रह कर कोई न कोई रंडी या औरत की चुदाई करता रहता हूं.

दिन में कई कई चक्कर महबूबा की गली के लगाने पड़ते थे तब कहीं जाकर उनकी एक झलक मिलती थी देखने को. उन्होंने दुबारा चार्जर के बारे में पूछा, तो मैंने चार्जर लाकर उनके हाथ में थमा दिया और उनका चेहरा देखने लगा. अभिलाषा मुझे अपने कमरे में ले गई और मुझसे कहने लगी- देखिए मिस्टर राज! आपने बताया था कि आप लगभग चेन्नई आते रहते हैं और दूसरा होटल छोड़कर हमारे यहां आपने रहना पसंद किया है, परंतु यह लड़की रिसेप्शन की ट्रेनिंग पर आई है और कुछ दिन बाद चली जाएगी.