बीएफ सेक्सी अंग्रेज

छवि स्रोत,बड़े घर की लड़कियों की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

होटल का सेक्स वीडियो: बीएफ सेक्सी अंग्रेज, हम एक-दूसरे की जुबान का रस पीने लगे।दसेक मिनट तक चूमने के बाद वो उठकर मेरे कपड़े निकालने लगी, अब मेरे बदन पर सिर्फ अंडरवियर रह गया।मैंने उठ कर उसके टॉप और जीन्स को निकाल दिया.

सेक्सी वीडियो वीडियो का

मेरे लिए यही गिफ्ट है। आओ अब सब मिल कर पार्टी करते हैं और आपको एक सरप्राइज़ भी देती हूँ।उसने ये कहते हुए संजय और मेरा हाथ पकड़ा और हम दोनों उसके आजू-बाजू होकर उसके बेडरूम की तरफ जाने लगे। बेडरूम का डोर जैसे ही उसने खोला. तानी सेक्सी वीडियोअन्दर ही नहीं घुस रहा था।मैंने फिर से कोशिश की और ज़ोर से झटका लगाया और ‘घप्प.

ऊउउइई…बस उसके मुँह से यही आवाज़ निकल रही थी। मैं भी अपने लण्ड को गोलाई में घुमा कर गाण्ड में अन्दर-बाहर करना चालू किया और आधे घंटे की घनघोर चुदाई के बाद मेरा गरम लावा भाभी की गाण्ड में ही भर गया।कुछ देर बाद भाभी ने मुझे चूम लिया और हम आधे घंटे तक एक-दूसरे से चिपक कर रगड़ते रहे।फिर भाभी ने कहा- रात बहुत हो गई है अब चलो. मुलाचा सेक्सी व्हिडिओतभी मुनीर माइक के अंडकोषों को हाथ से हल्के दबाते हुए माइक के सीने पे लेट माइक को मुँह लगा कर चूमने लगी.

क्योंकि उस रात की बातें तो वो ऐसे खुलकर कर रही थी‌, जैसे कि उसे कुछ पता ही नहीं या फिर जानबूझ कर वो अनजान बनने की कोशिश कर रही थी.बीएफ सेक्सी अंग्रेज: ’ कर रही थी और मुझे जन्नत का मज़ा आ रहा था। मैं बुरी तरह से उसकी चूत को चाट रहा था और अपनी जीभ से उसकी चूत को चोद रहा था।वो ‘आ.

फिर मैंने अपनी बहन की टाँगों को अपने कंधों पर रख लिए और अपने लण्ड को धीरे-धीरे अपनी बहन की चूत पर रगड़ने लगा।मैंने एक ही धक्के में अपना आधा लण्ड अपनी बहन की चूत में उतार दिया.अब तक मेरा लंड पूजा की आंखों के सामने धीरे धीरे और खड़ा होकर काफ़ी सख़्त हो गया था.

मारी दुल्हन सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी अंग्रेज

श्श्शशश … आह्ह्ह्ह …’ की एक जोर की सिसकारी भरकर अपनी दोनों जांघों के बीच मेरे सिर को दबा लिया.मुझे मेरा दोस्त (नीरज़) बदला हुआ नाम बुलाने के लिए आ गया।उसने मुझसे कहा- चलो बाल कटाने के लिए चलते हैं।मैंने कहा- मैं पहले ब्रश कर लूँ.

जब हमारी नई-नई शादी हुई थी।‘अच्छा तो आप पहले भी इस तरह की किताबें पढ़ चुकी हैं?’‘हाँ. बीएफ सेक्सी अंग्रेज उसका गोरा बदन चमक रहा था।मेरी काफी दिनों की प्यास अब और बढ़ गई थी। मेरा लण्ड इतना टाइट बहुत दिनों के बाद हुआ था।मैंने भी शर्ट उतारी और फिर से उसके ऊपर आ गया। अब हम दोनों के जिस्म ऊपर से नग्न थे और मैं अपने हाथों से उसकी चूची को मसल रहा था। अपने नग्न सीने को उसके जिस्म से रगड़ कर मैं उसकी वासना को जगाने लगा।ममता- आह राजी.

पर चूत बिलकुल गीली थी। उस गीली चूत में मैंने ‘गपाक’ से अपनी एक उंगली घुसा दी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज?

पता नहीं कोई बात तो थी, जिस वजह से उसको देर हो रही थी, मैंने उसकी समस्या को समझते हुए इंतजार करना बेहतर समझा. तारा ने लिंग को बाएं हाथ से पकड़ लिया और हिलाते हुए मुनीर का साथ देना शुरू कर दिया. और साथ ही एक हाथ से अपने मम्मों को भी रगड़ने लगी। उसका मुँह विरुद्ध दिशा में था.

मैं कुछ बोलती उससे पहले भाई मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे अपनी ओर खींच कर बोले- तुम ऐसी टेबल दो कि मेरी बीवी खुश हो जाए. पहले मैंने उसकी पैन्टी के ऊपर से ही उसकी चूत पर चुम्बन किया और फिर अपने मुँह में भर के चूसने लगा।वो पूरी तरह गरम हो चुकी थी. बस ये मानो एक तरह की क़यामत थी।डर लगता था कहीं हाथ लगाने से मैली न न हो जाए। मुझे अपनी किस्मत पर नाज हो रहा था।वो लड़की मेरे ही बारे में दूसरी लड़की से बात कर रही थी, वो भी लड़कियों वाले हॉस्टल में रहती थी, शायद उसका हाल भी मेरी तरह था.

और साथ ही एक हाथ से अपने मम्मों को भी रगड़ने लगी। उसका मुँह विरुद्ध दिशा में था. कई बार तो मैं काफ़ी देर उनके उसको (लंड) अपने मुँह में लेकर चूसती रहती हूँ. मैंने रिया भाभी से कहा- मेरा लंड तुमको अच्छा नहीं लगा क्या?रिया भाभी ने कहा- अच्छा है यार … बहुत बड़ा भी है.

मुझे लग रहा था कि किसी अप्सरा की चूची चूस रहा होऊँ।मैंने उसकी चूचियों को चूस-चूस कर लाल कर दिया।अब मैंने उसकी कैपरी उतारनी शुरू की. तभी राजीव अंकल मेरी पीठ पर बेहोश की हालत में चिपक कर मुझे चूमने लगे और बोले- वन्द्या थैंक्स … आज मुझे तेरी गांड चोदने में जो संतुष्टि मिली, पूरी जिंदगी में कभी ऐसी सेक्सी चुदाई नहीं मिली, ना ऐसा मजा मुझे मेरी बीवी को चोदने में मिला, न कभी और बाहर वालियों को चोदने में मिला.

और मेरा 6 इन्च का लण्ड रेणु की चूत चीरता हुआ जड़ तक पहुँच गया।रेणु ने कराहते हुए कहा- उह्ह.

तो देखा कि उसने आज पैन्टी नहीं पहनी थी। मेरा हाथ सीधा उसकी चूत पर उगे कोमल बालों के ऊपर था।अब वो ‘सी सी.

फिर मैंने उन दोनों को लाइव कैमरे पे देखा, तो मुझे उन पर यकीन हो गया. उसके पैर बेड से नीचे लटके हुए थे और मैं उसके ऊपर किस करते हुए उस पर चढ़ा हुआ था. फिर मेरा माल निकल गया और वो पूरा माल पी भी गई।इसके बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी टाँगें फैलाकर देखा उसकी चूत पूरी शेव की हुई थी और गुलाबी-गुलाबी थी। मैं उसकी चूत में उंगली करने लगा और ज़ोर-ज़ोर से दाना हिलाने लगा।वो बड़बड़ा रही थी- ज़ोर से.

।बिहारी ने ये बात सन्नी की तरफ़ आँख मारते हुए कही थी। सन्नी भी समझ गया कि बिहारी उसको निधि के साथ अकेला क्यों भेज रहा है. कुछ देर बाद मैंने उसको अपना लंड चूसने को बोला, पर उसने लंड चूसने से मना कर दिया. श्यामा ने कहा- दीदी अब इसकी चिंता आप मुझ पर छोड़ दो, मैं इसे असली लंड दिलवा कर ही रहूंगी.

मैं आपकी बहन हूँ।भाई ने लौड़े को गाण्ड पर टिकाया और प्यार से छेद पर लौड़ा रगड़ने लगा।भाई- अरे दीदी डर मत.

क्योंकि इसके बारे में मुझे मालूम नहीं था। इससे पहले दूसरी एक साइट पर कहानी पढ़ता था. फिर मेरे गले में हाथ डालकर मुझे अपने ऊपर खींच कर किस करने लगीं।मैंने भी कुछ देर किस करते हुए उनकी चूत की फाँक पर अपना लण्ड रगड़ा।‘अन्दर डालो न. जिसने चुदाई का असली मजा अपने जीवन में अभी अभी ही जाना था।अब उन्होंने अपनी टाँगें चौड़ी करके अपना गाउन ऊपर उठाया और मेरे लंड पर बैठ गईं.

मैंने एक हाथ नीचे से उसके लहँगे के अन्दर डाल दिया और उसकी चुत को सहलाने लगा. क्या तुम एक बार उसके साथ सेक्स कर सकते हो।मैंने पूछा- उसका कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है क्या?वो बोली- नहीं. आज उसके रंग को देख कर समझ में आ रहा था कि मैडम की टांगों के बीच में खुजली मची है.

हमारा मिलना जितना भी हुआ, उसके और मेरे अपने शहर में पढ़ाई के दौरान करीब तीन साल तक हुआ.

तो वो टाँगें पसार कर मुस्कुरा रही थीं।अब मैं एक हाथ से उनकी चूत में और कभी उनकी गाण्ड में उंगली कर रहा था और दूसरे हाथ से उनकी चूचियाँ मसल रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी।फिर मैंने उनकी पैन्टी उतार दी और अपना अंडरवियर भी निकल कर फेंक दिया।अब हम दोनों बिल्कुल नंगे थे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मेरा लंड बहुत बुरी तरह से सख्त हो गया था. जब मैंने दोबारा पूछा, तो उसने बताया कि उसका पति उसे ज्यादा टाईम नहीं देता.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज तब तक में उसकी चूत की सलामी ले लेता हूँ।बस यही सोच कर मैंने अपना लंड सीधा उसकी गीली चूत पर रखकर एक धक्का दे दिया. मेरा नाम बिपिन है और मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूँ। बहुत दिनों से सोच रहा था.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज वरना चाचा जग जाएंगे।वो हँसने लग गई और बोली- मैं खुद आवाज नहीं कर रही. तो उसने बोला- भाई और पापा बाहर गए हैं और मम्मी बाथरूम में हैं।मैंने गहरी सांस ली.

यह कहते हुए राजीव अंकल के लंड से बहुत जोर की गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी मेरी गांड में भर गयी, मुझे एक अलग तरह का अहसास मिल रहा था.

भूत वाली कहानियां बताओ

के अन्तिम वर्ष में थी, छोटी लड़की प्रिया, उसने बारहवीं की परीक्षा दी हुई थी और सबसे छोटा लड़का कुशल, जिसने अभी आठवीं की परीक्षा दी हुई थी. अब मत शरमा, देख मेरी तरफ!राज अंकल बोले- तेरी यह जो प्यारी सी सेक्सी नाभि है, ऎसी सेक्सी नाभि मैंने आज तक नहीं देखी!और मेरे होठों को चूमने लगे. ऐसा लगा रहा था जैसे कि प्रिया की चुत अब अपने आप ही मेरे लंड को अन्दर खींच रही हो.

वो मुझे मिल गया।अब हमारी बात फोन पर होने लगी हम फोन पर सेक्स चैट किया करते थे। जब उसके घर पर कोई नहीं रहता था. अब मैं चुदने के लिए तैयार थी।मैं कुछ देर तक उसके लंड को चूसती रही और फिर जैसे-जैसे उसका लंड तनता गया. नहीं तो मैं मर जाऊँगी।मैं उसकी बातें सुन ही रहा था कि उसने फिर से गिड़गिड़ाते हुए कहा- तुम्हारा क्या जाएगा.

अभी तक की इस मस्त चुदाई स्टोरी में आपने जाना था कि जगत देव अंकल के मोटे लंड ने मेरी चूत से खून निकाल दिया था और इस बात को राज अंकल ने सबसे कहा कि मेरी चूत की सील जगतदेव अंकल ने ही तोड़ी है.

तो चादर खून से सनी हुई थी।मैंने चादर को पोलिथिन में डाल कर अपने बैग में रख दी कि अगर मैं गलती से भूल भी गया. ”वो बोली- नहीं दीदी, मैं उनको बता कर आई हूँ कि मैं दीदी के पास जा रही हूँ।फिर हम दोनों ननद भाभी कम्बल में लेट गयी और मैं उसे किस करने लगी. ऐसा तुम्हारी टीचर कह रही थीं। आज से वो तुम्हारी एक्स्ट्रा टयूशन लेने वाली हैं। रात को खाना-वाना खा कर तुझे भेजने को कहा है।’अब मेरे दिमाग में एक साथ कई सवाल घूमने शुरू हो गए। क्यों टीचर ने पिताजी को असलियत नहीं बताई? क्यों उन्होंने मुझे उनके घर एक्स्ट्रा टयूशन के लिए बुलाया क्यों.

पेले हातात देत असताना ते दोघे माझ्या कुल्ल्यावरून माझ्या थानांवरून हात फिरवत पेले हातात घेत होते. मैं इतनी गर्म हो चुकी थी कि मेरी चूत से पानी की बौछार हो रही थी जिससे दादा जी का लंड भी भीग चुका था. मगर कहीं पर भी इन पर तसल्लीबक्श उत्तर नहीं मिले।मैंने ढूँढने की बहुत कोशिश की.

थोड़ी देर तक मुझे चूमने के बाद पूजा फिर से ड्रेसिंग टेबल के शीशे में देखने लगी. भाई आपका हाथ लगाते ही अजीब सा महसूस हो रहा है।पुनीत ने आयिल पायल की गाण्ड के छेद पर डाला और उंगली से उसके छेद में लगाने लगा। कुछ आयिल लौड़े की टोपी पर भी लगा लिया ताकि आराम से घुस जाए।पुनीत उंगली को गाण्ड के अन्दर घुसा कर तेल लगाने लगा.

’मेरी सिसकारी को सुन कर जेठ मेरी फुद्दी को कस कर चाटने लगे। एक पल तो लगा कि सारे दिन की गरमी जेठ जी चाटकर ही निकाल देगें।मैं झड़ने करीब पहुँच कर जेठ से बोली- आहह्ह्ह् उईईसीई आह. मेरे लंड को अपने प्रवेशद्वार पर लगाकर प्रिया अब धीरे धीरे उस पर बैठने लगी. मयूरी की चूचियां इतनी बड़ी थी कि वो ब्रा में बस जैसे-तैसे ही कैद रहती थी.

कुल मिलाकर शरीर से उतना सैक्सी हूँ जितना लड़कियों को आकर्षित करने के चाहिए होता है।मेरी एक कम्प्यूटर की दुकान है, वहाँ पर मैं ओनलाइन फार्म भरने का काम करता हूँ।बात कुछ दिन पहले की है, मेरी दुकान पर एक लड़की आई जो कॉलेज का परीक्षा फार्म भरवाने आई थी। वो मेरे घर से 2 गली छोड़ कर रहती है, यूँ बोलूँ तो एकदम मस्त माल था।मैंने उसी समय सोच लिया कि इसको पटाना है। तो मैंने उसके मोबाइल नम्बर ले लिया.

मेरी सभी कोशिश बेकार हुए जा रही थीं, क्योंकि अंकल मेरे सर के बाल पकड़ कर मुझे अपने लंड पर दबाए थे. पिंकी के जाने के बाद मैंने आराम किया मैं भी थक चुका था। मैं बिस्तर पर जाते ही सो गया. नहीं तो मैं पागल नहीं हूँ कि तेरी और अपनी बदनामी करवाऊँ।’‘लेकिन आप पागल हो और आप दूसरों को भी पागल कर देते हो।’‘वो कैसे बहू.

पेलोगे कैसे? मेरी चूत और गांड तो एकदम सूखी है।”अब तुम ही बताओ।” दोनों ने अर्थपूर्ण स्वर में कहा।थोड़ा सोचने की एक्टिंग करने के बाद उसने अपनी टीशर्ट उतार फेंकी और ऊपरी धड़ से नंगी हो गयी। उसके हल्के उभार मगर जबरदस्त एरोला और पफी निप्पल वाले वक्ष दोनों हवसियों के आगे अनावृत हो गये।देखो बेटा. यह सब सुनकर मुझे भी और जोश आने लगा। हम लोग अब बहुत धीरे-धीरे बात कर रहे थे। मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और वो भी अपनी गाण्ड उचका कर मेरा साथ देने लगी।वो मादक आवाजें भी निकालती रही- प्प्प्उच.

तो वो मेरा बदन मसल-मसल कर पूरा जूस निकाल ले।मुझे हल्की सी हँसी आई।मेरे पति ने कहा- साले को मौका मिले तो तुझे निचोड़ कर पी ही जाए. मैंने उसके भोंपू दबाते हुए उसकी जांघों पर हाथ फिराया और धीरे से उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया. जब ये लंड की अभ्यस्त हो जाएं।तो दोस्तो, ये एक चूत चोदू की आपसे गुजारिश है कि लड़की या औरत की चूत को खिलौना न समझें.

इंग्लिश में फुल सेक्सी वीडियो

और मैंने ये जाना है कि चोदने से कहीं ज्यादा मज़ा और एक्साइटमेंट किसी लड़की को चुदते हुए देखकर आता है.

पूछने पर उसने बताया था कि वो कम उम्र में ही चुदाई कर चुकी थी, अब तक जब मौका मिलता है तब कर लेती है. मेरे से पूछने लगी कि इतनी स्पीड और इतने माल का क्या राज है? जब कि उसके पति इतनी स्पीड के कभी आस पास भी नहीं पहुंचा. वो बोली- वो बात ठीक है लेकिन मेरा नहीं मन … और मुझे पता है आप मुझे फ़ोर्स नहीं करोगे.

ताकि उसका डर थोड़ा कम हो जाए।फिर मैं खड़ा होकर उसके मुँह के पास आ गया. वो फटाफट मेरे अन्दर अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा और दो-तीन मिनट के अन्दर ही अंकित ने अपने लंड का पूरा का पूरा गर्म गर्म लावा मेरी चूत में भर दिया. मारवाड़ी सेक्सी छोटी लड़की की’‘तो तुमने क्या जबाब दिया?’‘मैंने कहा कि उसका कोई टाइम फिक्स नहीं होता है।’इतना कहकर मैं मॉल के मेनगेट की तरफ मुड़ी।मेरे पति ने मेरे साथ चलते हुए पूछा- क्या हुआ क्यों नाराज हो?मैंने पति की तरफ थोड़ा गुस्से से देखकर कहा- तुम्हारा घोड़ा कहीं भी खड़ा हो जाता है.

उसके मुँह से ये सब सुन कर मैं समझ गया कि ये चुदासी है और इसने इस बारे में किसी से जानकारी ली हुई है. मैंने उनसे झांटे आदि साफ़ करने का इशारा कर दिया था मगर मुझे नहीं मालूम था कि भाभी ने मेरी बात को समझ लिया था या नहीं.

आह … आह … आह … आहह आ…ह …”अंकल- क्या हुआ?मैं- उफ़्फ़ … उफ़्फ़ थोड़ा और घुसाओ न. ’मेरे ‘हाँ’ करते चाचा ने मेरी बुर पर मुँह लगा कर मेरी जाँघों को सहलाते हुए मेरी बुर को किस कर लिया।मैं अपनी बुर पर चुम्मी पाकर सीत्कार कर उठी ‘ओह्ह्फ्फ ऊफ्फ्फ आई ईईसीई. तो अंकल-आंटी ने मना कर दिया लेकिन बाद में जाहनवी और उसके भाई को जाने बोल दिया।हमने एक रेस्टोरेंट में जाकर डिनर किया। जाहनवी मेरे साथ बैठी थी और उसका भाई सामने था। वहाँ भी हम एक-दूसरे के साथ को फील करते रहे.

मतलब वो मेरे दीदार को हर समय उतावली रहती थी।जैसे ही मैं अपने घर से निकलता. लेकिन डर लग रहा था कि अगर मकान-मालिक को पता लग गया तो कमरा तो खाली करवाएगा ही. उसने मेरे दोनों हाथ उठाए और अपने मम्मों पर ले कर फिर मेरे हाथ से अपनी ब्रा ऊपर उठवा कर वहां दबवाने लगी.

मेरे मामा के घर मामा-मामी और उनकी दो बेटियाँ हैं उनकी सिर्फ दो बेटियां आनवी और अनु हैं.

अब फिर कभी आऊँगा तो तेरी गाण्ड मारूँगा।इतना बोल कर उसने अपने कपड़े पहने और चला गया. वो बड़बड़ा रही थी- सही करते हो राजा जी … तुम्हीं ने मेरी खुजली का इलाज किया … जल्दी से काम पूरा करो, नहीं तो मैं गली के कुत्ते से चुदवा लूंगी.

फिर मैंने बाहर घूमना भी कम कर दिया और घर के पास ही टहलता रहता था कि कहीं मुझे दिख जाए या मिल जाए।एक दिन ऐसे ही मैं अपने बिल्डिंग की छत पर खड़ा कुछ सोच रहा था कि तभी वो वहाँ सूखे कपड़े रस्सी पर से उतारने के लिए आई।मैंने उसे देखा तो वो मेरे पास आई और बोली- थैंक्स. ऋतु जी आप बुरा ना माने तो मैं आपका स्क्रीन टेस्ट लेना चाहता हूँ।मैं कुछ बोलती. तेरी माँ को चोदूँ मोना रानी… हाय हाय हाय… ला मादरचोद अपनी बहन को भी ले आ कुतिया… तेरी माँ और बहन दोनों की चूतें चीर दूंगा हरामज़ादी… साली रंडी की औलाद… बाप का लंड चूसने वाली बदचलन… बहन की लौड़ी बदज़ात कहीं की.

मेरी पिछली कहानी थीपति के बॉस से चूत गांड चुदवा कर मजा आयाजिसमें मैंने जिक्र किया था कि मैं अपने चचेरे भाई से चुदवाती थी. जो उसने किया था। मैं भी उसका सारा माल पी गया।अब मेरा लौड़ा पूरी तरह से तैयार था, मैंने उससे कहा- शुरू किया जाए. जब मैं अपने गाँव में बारहवीं कक्षा की पढाई ख़त्म कर चुका था।मेरे प्यारे दोस्तों से मुझे चुदाई की अनेक पुस्तकें पढ़ने को मिलती थीं.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज फिर उसकी और चुदाई के सपने दिखा कर मैं ऐसे तेरी चूत में लंड डालूँगा … ऐसे किस करूँगा … दूध दबाऊंगा निप्पल चूस लूँगा. अब तक वो भी गर्म हो गयी थीं, क्योंकि वो मुझसे कह रही थीं कि वो मेरा लंड चूसना चाहती हैं.

सपने में सुंदर लड़कियों को देखना

धीरे-धीरे मैं उसे चूमते और चाटते हुए नीचे आने लगा और मैंने उसके टी-शर्ट और शॉर्ट्स अपने हाथ से निकाल दिए, अब वो सिर्फ़ पैन्टी में थी. ताकि मोनू आराम से चटाई कर सके।मोनू समझ गया और लपलप चाटने लगा।मुझे लगा कि मैं झड़ने वाली हूँ, मैंने कस कर मोनू का सर पकड़ लिया और ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी- ओह्ह. अन्दर कोई नहीं था, एक चौकी थी जिस पर गद्दा लगा था और एक पानी का जग.

मैंने जाते ही उसको बेड पर लिटा दिया और उसको किस करने लगा, वह भी मेरा साथ देने लगी. उस दिन के बाद से तो मैं और मेरा देवर हम दोनों का जब भी चुदाई करने के मन करता था और जब भी हम दोनों घर में अकेले रहते थे तो चुदाई करते थे. सेक्सी फिल्म डाउनलोड करनाजिसके लिए मैं आया था। धीरे से मैं उसके कंधे पर हाथ रख कर उसके और पास आ गया और हल्के से उसके गाल पर एक चुम्बन दे दिया.

बिल्कुल साफ़ थी।मैंने उसे हाथ से छू कर देखा, मैंने जैसे ही उसे हाथ लगाया वो एकदम सिकुड़ कर मेरे सीने से लग गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब तो कन्ट्रोल से बाहर था, मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत पर रखा और हल्का सा ही अन्दर गया होगा.

मैं बेहोश हो गई थी।फिर उसने आराम-आराम से अपने लंड को आगे-पीछे किया. हैलो मेरा नाम है रीना और मैं हरियाणा में रहती हूँ। मेरा फिगर 34-30-36 का है और मेरी लंबाई 5 फुट 5 इंच है।मुझ में सबसे ख़ास बात है.

मुझे बिस्तर पर औरतों के साथ तरह तरह के एक्सपेरिमेंट करने में बहुत मज़ा आता है. मैं अपने दोस्त से बोलूँगी कि वो तुमको कोरियर करवा दे, जिसको तुम्हें बस लेना ही है. शीतल- आ… ह… आह…विक्रम रुका नहीं और उसने उस हाथ की एक उंगली को अपनी माँ की चूत में पेल दिया और उसको अंदर-बाहर करके अपनी माँ को अपने हाथ से चोदने लगा.

तो मैं उसे जल्द से जल्द अपने नीचे लिटा लूँगा।उन्होंने फिर मुझसे कहा- प्लीज़ अनु को छोड़ दो.

दादा जी की सफेद और काले बालों से भरी छाती, मेरे गोरे मुलायम चुचों पर रगड़ने लगी. बिल्कुल साफ़ थी।मैंने उसे हाथ से छू कर देखा, मैंने जैसे ही उसे हाथ लगाया वो एकदम सिकुड़ कर मेरे सीने से लग गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब तो कन्ट्रोल से बाहर था, मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत पर रखा और हल्का सा ही अन्दर गया होगा. तो चादर खून से सनी हुई थी।मैंने चादर को पोलिथिन में डाल कर अपने बैग में रख दी कि अगर मैं गलती से भूल भी गया.

ब्लू सेक्सी फिल्म लाइवअब दादा जी ने मेरी दोनों टाँगों को पकड़ कर ऊपर की तरफ उठा दिया और फिर अपने लंड पर अपना पूरा वजन डाल कर लंड मेरी चूत के अन्दर बाहर करने लगे. मैं बहुत जोश में आ गया था। मैंने उसे लिटाया और उसके ऊपर मैं लेट गया। मैं अपना लण्ड उसकी चूत में डालने लगा.

हिंदी सेक्सी चित्रपट

पति के इस उद्गार पर मेरा ध्यान उस आदमी की तरफ गया। लगभग पैंतालीस साल से ऊपर की उम्र का वो आदमी मुझे जिस भूखी नजरों से देख रहा था. यह होटल मेरे ऑफिस के पास ही था। अब मेरे बॉस के अनुसार में सजने के लिए पार्लर गई. अब वो नीचे से अपनी गांड इधर उधर हिलाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी.

मॉम डैड का नाम लेकर कह रही थीं- आह … राजू मेरी जान … चोद दे अब तो जोर से … चोद दे डैड …डैड भी लंड पेले जा रहे थे. जो कि किस करने से मेरे मुँह में आ गई।गोली खाने के कुछ पलों बाद मैं अपने कंट्रोल से बाहर हो गई. पर हमारी फैमिली के उनके साथ बहुत अच्छे संबंध हैं और हम सब फैमिली की तरह ही रहते हैं।चाचा दो भाई हैं.

उसके मुँह से ‘लंड’ शब्द सुन कर मैं और गरम हो गई और मैंने कहा- चल अब अपनी रीमा दीदी की चूत और क्लिट चाट।मोनू ज़ोर-ज़ोर से चाटने लगा, वो कभी-कभी अपनी जीभ मेरी चूत में अन्दर-बाहर कर देता था।मैं बोली- शाबाश मोनू. इसके बाद मैं सीधा प्रिया के कमरे में चला गया, प्रिया कपड़े प्रेस कर रही थी. सुधा आंटी चालू टाइप की एक रंडी की तरह बाहर जाती हैं। लेकिन यह बात सिर्फ़ मुझे और मेरी मम्मी को पता है… तभी वो मम्मी से डरती हैं।सुधा आंटी का फिगर 34-30-34 का है.

लग ही नहीं रहा है कि ये दो माल टाइप की लड़कियों की माँ है।मैं बोली- मैं तुम्हारा लण्ड नहीं झेल पाऊँगी, तुम्हारे मालिक का लण्ड तो इसका आधा है।वे दोनों हँसने लगे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !इतने में रज्जन ने अपना लण्ड में मेरी चूत के मुँह पर रख दिया. वरना आजकल की लड़कियाँ तो बॉयफ्रेंड ऐसे चेंज करती हैं जैसे कि कपड़े बदल रही हों।मैं- भाई और आप बताओ.

बाहर निकाल इसे!मैं रुक गया और मामी को किस करने लगा।चूत थोड़ी टाइट थी क्योंकि मामी ने 3 साल से चुदवाया नहीं था।फिर जब मामी का दर्द कम हुआ.

दिल तो नहीं भरा था चुदाई से, मगर उसका टाइम हो चुका था, इसलिए उसने बाय बाय कर दी. हिंदी सेक्सी वीडियो comआज मैं ऐसी कहानी लिखने जा रहा हूँ जो मेरी एक पाठिका ने मुझे सुनाई थी. सांसों के सेक्सी वीडियोहर सुख-दुःख में मेरी साथी है।मुझे पता है कि लड़के सेक्स के भूखे रहते हैं. कमर और पीठ का मैल उतर रहा था।मैं बोलता जा रहा था- बहुत मैल निकल रहा है.

आखिरकार 15-20 झटके मारने के बाद मैंने अपना रस उनकी गांड में भर दिया और उनके ऊपर गिर गया.

मेरे एग्जाम शुरू हो गए और मैंने उससे बात करना कम कर दिया।उसके बाद मुझे पता लगा कि उस लड़की की 3 साल पहले शादी हो चुकी थी. मूवी खत्म हुई तो हम पार्क में देर शाम तक टहलते रहे और ढेर सारी बातें करते रहे, कभी मैं उसके दूध दबा देता, कभी वो मेरे लन्ड को दबा देती. और मेरा लण्ड भी तैयार हो गया।अब मैं सुनीता भाभी के ऊपर चढ़ गया मैंने उसकी दोनों टाँगें चौड़ी कर दीं और फिर अपना लोहे की सख्त लण्ड उसकी चूत के मुँह पर रखा और उसे पहले किस करने लगा.

हम लोग ऐसे बातें कर रहे थे कि जैसे हम लोगों की जान पहचान बहुत पुरानी है. धीरे-धीरे माहौल गर्म होने लगा, दोनों मर्द खुलने लगे। मेरे पति ने अपनी शर्ट को निकाल कर सोफे पर फेंक दिया. उससे वो सीट सीधी नहीं हो रही थी तो मैंने बिना कहे ही उसकी सीट सैट करने में मदद कर दी.

जापानी सेक्सी भेजो

मैंने नीरू को धीरे से हाथ लगाया तो उसने कोई विरोध नहीं किया, वह सोने का नाटक कर रही थी. घर पहुंचते ही सबसे पहले तो मैंने सुलेखा भाभी को देखा जोकि रसोई में खाना बना रही थीं. मैंने दो तीन बार प्रयास किया लेकिन मेरा लंड नीरू की चूत में नहीं घुस पा रहा था और वह घबराहट के मारे बार-बार उछल रही थी.

5 घंटे मेरे ऑफिस में रुके और मैं बातें करते-करते पूरे समय यही सोचता रहा कि काश यह औरत एक बार मेरे साथ सेक्स के लिए राज़ी हो जाए.

उसके बाद तू चुदाई के लिए एकदम पक्की हो जाएगी… फिर चाहे आगे डालो या पीछे.

वो भी मेरा साथ देने लगी। वो आज भी टी-शर्ट और स्कर्ट पहने थी। मैंने उसे पलंग पर इस तरह से लिटाया कि उसके पैर ज़मीन पर ही थे और पीठ पलंग पर।मैंने उसकी टी-शर्ट ऊपर कर दी. मैंने अन्तर्वासना पर बहुत सी कहानियाँ पढ़ीं, तो मन किया कि आज अपनी ज़िन्दगी के कुछ हसीन पल आप सब पाठकों के साथ साझा करूँ. हॉट सेक्सी एक्स एक्स एक्स मूवीअब दादा जी मेरे ऊपर से उठे और मेरी दोनों टाँगों के बीच बैठते हुए मेरी पेंटी को खींच कर उतार दिया और फिर अपना भी कच्छा उतार कर खुद घुटनों के बल बैठ गए.

उनकी हाइट 5’5″ है और वो एक बहुत ही सेक्सी लेडी हैं, उनका फिगर 38-30-36 का है, उनकी उम्र 38 साल की है. मालिश करते करते जब मैं अपना हाथ और नीचे ले गया, तब भाभी ने कहा कि आज बस रहने दो. इसलिए मैंने लंड बाहर कर दिया और अपने मुँह में लेकर चूसने लगी।फिर एकदम से उसने एक पिचकारी के साथ अपना माल मेरे मुँह में निकाला और मेरा मुँह उसके माल से भर गया।उसके माल का टेस्ट बहुत नमकीन सा था और फिर मैंने सारा माल निगल लिया।उसका बहुत माल निकला था।फिर हम दोनों वॉशरूम गए और एक साथ नहाए और शावर लिया।अब हमें अन्दर दो घंटे हो चुके थे.

इसी बीच वह दोबारा पूरी तरह गर्म हो चुकी थी, मैंने उसको कहा- नीरू, मेरे लंड को मुंह में लेकर मजा दो ना!उसने कहा- नहीं जीजू, मुझसे नहीं हो पाएगा!लेकिन मेरे काफी समझाने के बाद उसने मेरे लंड को मेरे से मुंह में लिया. आगे इस रसीली दास्तान को जानने के लिए मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए.

हालांकि मैंने उन्हें बिना कपड़ों के देखा नहीं था, पर उनके बूब्स बड़े लगते थे.

फिर उन जांघों के बीच बैठकर अपना चेहरा उसकी चूत के पास ले गया। वो बड़े आश्चर्य से मेरे काम को देख रही थी।‘क्या कर रहे हो?’‘जानू. अब वो नीचे से अपनी गांड इधर उधर हिलाने लगी और छूटने की कोशिश करने लगी. वे मम्मों के बीच में लंड रगड़ने लगे और बोले- साली कुतिया रंडी वन्द्या.

गुजराती भाभी के सेक्सी फोटो मयूरी की चूचियां इतनी बड़ी थी कि वो ब्रा में बस जैसे-तैसे ही कैद रहती थी. विक्रम तौलिया रखकर बाहर जाने लगा तो शीतल बोली- अच्छा सुन बेटा!विक्रम- हाँ माँ…शीतल- अब जो तू अंदर आ ही गया है तो क्या मेरी पीठ में साबुन लगा देगा?विक्रम- जरूर माँ…विक्रम को शीतल ने साबुन दिया, पेटीकोट ऊपर तक होने की वजह से पीठ आधे से ज्यादा ढकी हुई थी.

जब मैं अमेरिका में नया था और हमारे हॉस्टल में काफी लड़कियाँ थीं। मैं उनको देख हैरान था. पर ऐसा लग रहा था जैसे कोई फूल की कली हो।मैंने जैसे ही रेणु की चूत को छुआ. हाँ … मैं यहां पर यह मानने को तैयार हूं कि हमारा रिश्ता पहले शारीरिक आकर्षण से आगे बढ़ना शुरू हुआ था और हमारे शारीरिक मिलन ने दिन ब दिन हमारे सम्बन्धों को दिल की गहराइयों तक मजबूती प्रदान की थी.

सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म एचडी

मुझे उसके निप्पल कड़क से महसूस हो रहे थे। उसकी चूचियों प्रेस करने में मुझे मजा आ रहा था। उसके बाद उसे बिस्तर पर बैठा दिया. तुम्हारा चूहा मेरे बिल में घुस गया है।मैं हँस दिया।भाभी थोड़ी देर में कुछ शान्त हुईं और अपनी कमर आहिस्ते-आहिस्ते हिलाने लगीं।मैं समझ गया कि अब मौका सही है. तो बोली- कल दिन में आ जाऊँगी।अब मैं कल का इन्तजार करने लगा अगले दिन उसका फोन आया.

जिस नाम से आप उसका नाम अपनी भाषा में बचपन से सुनते और सुनते आ रहे हों. उन्होंने अब अपना लंड दूधों के बीच से निकाल कर दोनों हाथों से मेरे मम्मों को पकड़कर पूरी ताकत से कस कर दबाया.

फिल्म शुरू हो गई।कुछ देर के बाद मैंने उसकी जाँघों पर हाथ रखा तो उसने कुछ नहीं कहा.

और अब रजत का नियन्त्रण अपने पर से पूरा ही छूट जाता है और उसने अपने एक हाथ से शीतल को सर अपने लंड पर जोर से दबा दिया. और तुम यहाँ नाईटी में क्या कर रही हो? कोई तुमको इस हालत में देख लेता तो. मैंने अपने होंठों को बुआजी के होंठों में लगा कर उनको चूसना चालू कर दिया उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर में बड़े मजे से चूम चाट रहा था.

मैं भी रबिंग पैड को उनके चूतड़ों पर गोलाई में घुमा घुमा कर मस्ती से उनकी गांड को दबाने लगा।फिर साबुन से हाथों से मला. वो तड़फ उठी।मैंने उसके पैर खोल दिए और अपनी जीभ को उसकी बुर के मुहाने पर टिका दिया। अपनी जीभ से उसकी बुर की फांकों को चाटते हुए जीभ को ऊपर-नीचे फिराने लगा।वो मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी, मैं जोर-जोर से चाटने लगा. मैं बयान नहीं कर सकता कि कुदरत के बनाये इस खेल में कितना आनन्द भरा है.

प्रीति ने सारा रस पी लिया और मीठानंद के अंडुए और झांटों पर जीभ फिराने लगी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज: और मैंने मुठ मार ली।फिर थोड़ी देर बाद मैं अपनी बाल्कनी में खड़ा था. भगवान कसम … इतनी गोरी लड़की मैंने अब तक ना कभी चोदी थी और शायद चोद भी न पाऊंगा.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम संजय है और मैं आज आपके सामने अपनी जिंदगी की एक हसीन दास्तान बताने जा रहा हूँ, जो मेरे साथ कुछ साल पहले हुई थी. अगर कोई आदमी ज़रूरत से ज़्यादा परेशानी और उत्पीड़न सह रहा हो और उसके बाद भी अपनी चाहत पूरी ना कर पा रहा हो. उफ्फ … क्या आनन्द था! मेरी मीता के यौवनकलश आज भी सम्पूर्ण गोलाई के साथ गुब्बारे के सदृश कठोर और मुलायम दोनों गुणों के साथ मेरे जेहन में छा गए थे.

यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !फिर बोली- मेरे पति मुझे टाइम ही नहीं देते.

दोस्तो, आपको विश्वास नहीं होगा कि उसकी चूत पर एक भी बाल तक नहीं था बिल्कुल चिकनी चूत … अपने जीवन में मैंने पहली बार ऐसी चूत देखी थी बिना बाल वाली! बिल्कुल चिकनी गोरी चिट्टी छोटी सी!इसी बीच मैं उसकी टांगों के बीच आया और मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगा दी. मैं भाभी के मम्मों को दबाने लगा और वो मेरा लंड मसलने लगी। फिर वो उठी और मेरा अंडरवियर उतार कर लंड को मुँह में डाल लिया. अपनी माँ के द्वारा अपनी चूत-चटाई और उंगली से चुदाई के बाद मयूरी को अब अपनी योजना बहुत हद तक तो सफल होते हुए नज़र आ रही थी.