बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी वीडियो हिंदी में सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

गांव की देसी बीएफ पिक्चर: बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में, रूबी बोली- तैयार हो जाओ, जवानी की गलियों के दीदार को!उसने अपनी कमर थोड़ी उठाई.

हिंदी हँड सेक्सी

दीदी ने तो पहले यह कह कर ना ही कर दी थी कि तुम्हारे जीजाजी नहीं मानेंगे. सेक्सी पिक्चर वीडियो चुदाई कीविकी से मिलने से पहले मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरी ये भूख कभी नहीं मिटने वाली है.

फिर मैं ऊपर जाकर टीवी देखने लगा, पता नहीं मुझे नींद कब लग गई और मैं उसी बेड पे लेट गया. मराठी झवाझवी सेक्सी मराठी झवाझवी सेक्सीइस समय उनको मेरी नंगी गांड दिखाई दे रही थी, अब जाकर सामने मम्मी का पेटीकोट मुझे नजर आया.

मेरा पूरा लंड एक ही बार में उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर तक चला गया.बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में: मैंने उसको एकदम से अपनी छाती से लगा लिया और हमने एक दूसरे के होंठ चूसने शुरू कर दिए.

उसके बाद कुछ लम्हों के बाद बापू ने प्यार से पद्मिनी के चेहरे को अपने हाथों में लिया और उसकी आँखों में अपनी में देखते हुए बोला- तू बापू से बहुत प्यार करती है ना?पद्मिनी ने बहुत ही नर्म धीमी आवाज़ में जवाब दिया- इसमें कोई शक है क्या बापू, दुनिया में सबसे ज़्यादा आपसे ही तो प्यार करती हूं.दिल्ली में मैं जहां रहता था, वहां मेरे सामने के घर में फर्स्ट फ्लोर पर एक फैमिली रहती थी.

भूत मारने वाला सेक्सी वीडियो - बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में

तभी टीचर ने अपना लंड मेरी तरफ करके कहा- वन्द्या इसे चूस लो, इसका टेस्ट ले लो.मैंने मौका देख कर अपना लंड चलती गाड़ी में बाहर निकाला और छुआ दिया आंटी की ड्रेस पर और हाथ डाला उनके बूब्ज पर…अब मैं इंतजार नहीं कर सकता था, आज मुझे कुछ भी क्यों ना करना पड़े, मैं करूंगा… ऐसा सोच कर फिर मैंने बूब्स को हाथ लगाया और आंटी परेशान हो गयी.

उसकी चुत सहलाते हुए मैंने एक उंगली को उसकी गरम चुत में डाला तो चुत पूरी गीली हो गई थी. बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में थोड़ी देर में मुझे भी मज़ा आने लगा ओर मैं गांड उठा उठा कर उसका साथ देने लगी.

इसके बाद अब जब भी आंटी बस नजदीक से निकलतीं, तो आते जाते मैं उनके मम्मों को या गांड पर चुटकी काट लेता.

बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में?

बाद में हम किस को तोड़ते हुए एक दूसरे की आंखों में डालकर हंसने लगे क्योंकि हम दोनों ने लास्ट नाइट को ही छत पे सब प्लानिंग कर रखी थी. मेरे अन्दर समा गई, पर मैं पूरी मस्ती में मदहोशी में थी, तो चाचा का लौड़ा चूसने लगी और चाटने लगी. मैंने अपना बाहर निकाला हुआ लंड अंदर डाला स्कूटर साइड में लगाई और आंटी को साइड में ले गया और आंटी का हाथ लेगी में डाला और किस करने लगा आंटी को.

मैंने उसके बालों को पकड़ के खींचा और एक हाथ से उसका मुँह बंद कर के तेज़ी से चोदने लगा. जब पद्मिनी ने टीचर के बारे में कहना शुरू किया था, उस वक्त वो अपनी पेंट में से ज़िप खोल कर अपना लंड निकालने वाला था. उन्होंने सर पलटा कर मेरी आँखों में देखते हुए मेरे होंठों को अपने होंठों में ले लिया और चूसने लग गईं.

तो वो डरते हुए बोलीं- अरे मैं तो मजाक कर रही थी, तेरी शक्ल देखकर ही पता चल गया था कि तूने कभी कुछ नहीं किया होगा और थोड़ा नर्वस भी लग रहा था. उसके बाद हम कई बार कॉलेज में इवेंट्स में साथ काम करते रहे और इस तरह से धीरे धीरे हमारी दोस्ती बढ़ने लगी थी. चुदाई के बाद हम दोनों साथ में बाथरूम में नहाने गए और फिर नहा कर मैंने उसे उसके कॉलेज के बाहर छोड़ा.

अब वह ऊपर आकर मुझे जोर जोर से चोदने लगा, मुझमें हिलने डुलने की भी ताकत नहीं बची भी. इतनी हसीन गर्म जिस्म वाली कामुक लेडी अगर पास में सोई हो तो नींद कहां से आती है.

मैंने कहा- ऐसा करो, तुम अपनी चूत मेरे मुँह के उपर ले आओ, मैं तुम्हारी चूत चूसूँगा, तुम मेरा लंड!उसने कूद कर मेरे नाक के ऊपर अपनी चूत रख दी और प्रेम से लंड को चूसने लगी.

सुनीता ने आपके लंड की इतनी तारीफ की थी कि मैं भी खुद को रोक नहीं पाई और मैं यहाँ आप से चुदवाने के लिए आ गई.

मैं हैरान था कि यह लड़की कैसे मेरे पेशाब वाली जगह को अपने मुंह में लेकर चूस रही है, मैंने उससे अपना लिंग छुड़वाने की कोशिश की लेकिन उसने नहीं छोड़ा. हम दोनों की काम वासना पूरी तरह से जाग गयी थी और एक दूसरे के ऊपर कंट्रोल नहीं रहा. मुझे बहुत ही अजीब लगा, मजा सा भी आया, मैं सर से बोली- प्लीज कमलेश सर क्या कर रहे हैं, मुझे गुदगुदी हो रही है…टीचर जी अपनी जीभ निकाल कर मेरी चूत को चाटने लगे.

उसकी मांसल जांघों के बीच, उसकी गीली पैंटी की खुशबू अब उस तक आने लगी. सिर्फ उतना कहूँगा जितना कर पाना आपके लिये मुमकिन हो। पर एक बात और बताइये. नीचे दोनों एक दूसरे को गालियाँ देते हुए कुछ ज्यादा ही चुदासी हो रही थीं और मेरे लंड को गालियाँ देते हुए कह रही थीं- साला घोड़े जैसा लंड घर में ही था और हम बाहर बड़ा लंड खोज रही थी.

वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी तो मैं उसे सहारा देकर ले गया, फिर हम भी बहन ने एक दूसरे को साफ किया और वापस आ गए।वापस आने के बाद हम भाई बहन बाक़ी पूरी रात एक दूसरे को चूमते चाटते रहे.

उसकी इन सब बातों से मेरा जोश और बढ़ गया, अब मैं पूरा लन्ड बाहर निकाल निकाल के धक्के लगाने लगा. मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 23 साल है, मैंने अभी स्टडी खत्म की है और अभी घर पर ही रहता हूं. कमलेश सर को मम्मी बोलीं- अगर लाइट गुल हो गई थी तो बाहर बैठ जाते, आप भी पसीने-पसीने हो गए.

वो पढ़ा लिखा है मगर उसकी किस्मत उसकी शादी के बाद से ही उससे रूठ कर चली गई है. उसी दिन रात को पिंकी ने कहा कि दीदी मुझे कल किसी से मिलने जाना है, जो मेरी पुरानी सहेली है. सर उसी रेखा में पैंटी के ऊपर से उंगली चलाने लगे, मेरी आंखें बंद होने लगीं.

इधर रजत अब मयूरी की चूचियों को छोड़कर उठकर उसकी चूत के पास आकर बड़े गौर से अपने भाई-बेहेन की चुदाई का दृश्य एकदम समीप से देखने लगा.

यह सुनकर मेरी तो किस्मत खुल गई कि आज इस मक्खन बदन को छू सकूँगा, जिसके मैं सपने देखता था. उसने मेरी तरफ़ हाथ बढ़ाया मैंने रोक दिया, वो मुझे बहुत मिन्नत के साथ देखने लगा.

बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में अचानक पीछे से मेरे कान में में किसी ने जोर से चिल्लाया- लो मैं आ गई. इसमें मैं नीचे लेटा और सीमा अपनी चूत मेरे लण्ड पर रखते हुए लंड निगलती हुई बैठ गई और मेरी ऊपर झुक गयी.

बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में मुझे सैमी ने आकर पकड़ लिया, उसने कहा- तुमको चोट तो नहीं लगी?यह कहते हुए उसने मुझे पैरों पर खड़ा करने की कोशिश की. वह मैडम आई मेरे पास और मुझसे पूछा- क्या मैं आपके साथ सीट पर बैठ सकती हूं?मैंने उनको एक बार गौर से देखा, बहुत ही सुंदर देखने में लग रही थी, मैंने सोचा कि चलो इस बहाने अच्छी सूरत देखने को तो मिलेगी.

उन्होंने मुझे देखा, मैंने उनको धीरे से पूछा कि वो ग्रिल को लॉक कर दिया?उन्होंने बोला- हां कर दिया.

सेक्स फिल्म वीडियोस

दस मिनट की चुसाई के बाद मैं झड़ने वाला था, मैंने कहा- रस निकालूँ?तो उसने कहा- हां मेरे होंठों पर निकाल दो. इस बार हम दोनों ने एक दूसरे को इतना ज़ोर से बांहों में भर लिया था जैसे हम दोनों बहुत साल बाद एक दूसरे को मिले हों. मैंने जोर का एक धक्का दिया तो मेरा लंड आधा उनकी बुर में घुसता चला गया.

जब 2 घंटे बाद मैं उससे मिलने पहुंचा तो देखा कि निक्की अकेली नहीं थी, पम्मी भी उसके साथ थी. तो हमने कहा- क्या शर्त है बोलो?पम्मी- एक तो सारे कपड़े नहीं उतारूंगी, मतलब ब्रा और पेंटी पहने रखूँगी और दूसरा जो चाहे करो, पर अन्दर नहीं लूँगी. उसने मुझसे पूछा कि क्या तुम मुझे पसंद करती हो?तो मैंने अपनी आँखें बंद कर लीं आज मेरे मन की बात उसने मुझसे पूछ ली थी, तब भी मैंने शर्म के चलते कुछ नहीं कहा और खुद को उसकी बांहों में ढीला छोड़ दिया.

तब उसने बताया- मैं बनारस की रहने वाली हूँ और गुवाहटी जा रही हूँ अपनी माँ के घर!उसने पूछा- आप कहाँ से हो?तब मैंने उसे बताया कि मैं लखनऊ से हूँ और असम जा रही हूँ अपने पति के पास… वो आर्मी में हैं तेजपुर में!बात करते करते करीब 11.

मैं भी भाभी के पास ही बैठ गया और उन्हें पकौड़े बनाने की तैयारी करते देखता रहा. अब क्यों शरमा रही हो?मैं भी उसकी बात पर मुस्करा पड़ी और वो समझ गया कि मेरी तरफ से आगे बढ़ने के लिए हरी झंडी है. इतने में पीयूष सामने आ गया और बोला- मौसी तुम बहुत सुंदर लगने लगी हो.

मधु- अब तो बता दो मेरे बारे में ख्याल था तुम्हारे मन में?मैंने उसकी ओर देखा, वो भी मुझे ही देख रही थी. उसे दिन के समय ऐसे नंगी दिखना शर्मनाक लग रहा था पर मुझे ज्यादा उत्तेजक कर रही थी जिससे मुझे चुदाई करने में ज्यादा मज़ा आ रहा था।मैं उसे चोदते चोदते उसके ऊपर चढ़ कर कर कुत्ते की स्टाइल में कमर हिला हिला कर चोदने लगा। फिर हम दोनों एक साथ झड़ कर साथ में चिपक कर लेट गए और मैं उसकी बॉडी पर किस करने लगा. थोड़ी देर बाद हम दोनों ने एक दूसरे को छेड़ते हुए फिर से चुदाई शुरू की.

बाथरूम में जाते ही मैंने सुरेश जी का तना हुआ लंड अपने मुँह में भर लिया और अपने सिर आगे पीछे करके उनके लंड को जोरों से चूसना शुरू कर दिया. मैंने भी इससे ज़्यादा कुछ बात नहीं की, क्योंकि अगर मैं लेट हो गया तो बॉस मेरी क्लास ले लेगा.

थोड़ी देर बाद वो आया और बोला- भाभी, चलिए थोड़ी देर अन्दर बैठते हैं?मैंने उसकी तरफ देखा और अन्दर चली गयी. तब तक भाई वहीं बैठ के बाकी बातें बता रहे थे कि कैसे उन्होंने बड़ी बूब वाली के मजे भी मुझे दिलवाये. वो अभी भी साड़ी और ब्लाउज में थीं, तो मैं फिर से उनको एकटक प्यार से देखता रहा.

तो जूही बोली- हाँ अपन अब रोज बैट बॉल खेलेंगे!फिर मेरे को बाद में दोस्तों से पता चला कि वह बैट बॉल का खेल नहीं है वह तो सेक्स है.

आखिर में एक फ्लैट अच्छा लगा, वहां के मकान मालिक एक बुजुर्ग दंपत्ति थे. झड़ जाने के बाद उन्होंने अपना जिस्म पूरी तरह से मेरे हवाले कर दिया था. मगर उसे ना जाने क्या हो गया था मुझे अपनी गोद में बिठा कर मुझे चूमता रहा और साथ ही बोलता रहा कि मेरे बाप ने मेरी ज़मीन पर कब्जा कर लिया.

दोनों अपने हाथों से अपने चूचे मेरे मुँह में घुसेड़ रही थीं और गालियां दे रही थीं और एक दूसरे को किस भी कर रही थीं. फिर वो हल्के से मुस्कुरायी और अपने भाइयों से बोली- अभी तुम दोनों सो जाओ… कल जल्दी जागना है.

मैंने देखा कि मम्मी ने शावर चला रखा है और नाईटी के ऊपर से ही पानी उसके बदन पे बह रहा है और वो अपने हाथों से अपने ही बदन को सहला रही है! मेरा लौड़ा तो अब चड्डी फाड़ कर बाहर निकलना चाह रहा था. नयन नक्श तो इतने अच्छे हैं कि देखने वाला उसे देखते ही मुठ मारने पर आमदा हो जाए. उन्होंने फिर मुझे कहा- तुमने मेरा यह सफ़र बहुत ही खुश खुशनसीब बना दिया.

मराठी हॉट सेक्सी वीडियो

मैंने उनसे वैसे ही पूछा कि आपने मुझे उठाया क्यों नहीं?तो उन्होंने कहा कि तुम सोते हुए बहुत मासूम लग रहे थे.

वो धीरे-धीरे अपना लंड आगे-पीछे करता रहा और अपनी चोदन गति थोड़ी बढ़ा दी. कुछ देर के बाद ट्रेन दादर पहुँची और उधर से दो महिलायें एक छोटी बच्ची के साथ आईं और मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गईं. उन्हें इस समय कुछ भी याद नहीं था कि वे घर में हैं, वे सगे भाई-बहिन हैं, उनके बीच खून का रिश्ता है.

हुआ यूं कि मुझे एक शादी के लिए देहरादून से आगे कलसी नगर जाना था, तो मुझे रात को ठीक दस बजे दिल्ली आइएसबीटी से कलसी की बस पकड़नी थी. मैंने तीनों के लिये एक एक और पेग बनाया और हम धीरे धीरे सिप लेने लगे. सेक्सी एक्स दिखाइएअब उनकी बारी थी, वो मुझे लिटा कर ऊपर आ गईं और मेरी पेंट को निकाल के अंडरवियर के ऊपर से किस करने लगीं.

उसने मुझे किस किया और बोली- आज जो हुआ, वो करने की हिम्मत तुमसे मिली है. कुछ ही देर बाद उसकी वासना उसके दर्द पर हावी होने लगी, वो भूखी शेरनी की तरह मेरे होंठों को खाने लगी तथा अपनी गांड उठाने लगी.

उनके स्तन भी बिल्कुल मेंटेन थे और उनकी गांड भी हल्की सी बाहर निकली हुई थी जिससे कि मुझे उन्हें देखकर अन्दर से सेक्स की भावना जाग गई. ना जाने मुझे क्या हुआ कि सर जो कर रहे थे, वो बहुत अजीब लगने लगा था, पर इसमें अलग तरह का मजा आ रहा था. लुंगी के नीचे कितने ज़ोरों से बापू हाथ चला रहा था और अचानक उसकी लुंगी भीग गयी थी.

फिर 5-10 मिनट तक लगातार राहुल ने मेरी चूत में झटके दिए और गिनती की 6 पिचकारियां मेरी चूत में छोड़ दीं, जिनका मुझे पूरी तरह से अहसास हो रहा था. यह कहते हुए सर ने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखवा दिया और मेरे हाथ में पकड़ा दिया. उनकी चूत का रस लेने के बाद मैं उनके ऊपर आ गया और उन्हें चूमते हुए अपना लिंग उनकी योनि से रगड़ने लगा.

जब मैंने उससे पूछा कि अब कैसा फील हो रहा है?तो उसने मुस्कुराकर कहा- बहुत अच्छा.

वो मुस्कुरा कर हाय बोलीं- बैठो!मैं सोफे पे बैठ गया, वो पानी लेने चली गईं. मुझे चुत चाटना कुछ ज़्यादा ही पसंद हैअब आंटी मेरे सामने एकदम नंगी बैठ गईं.

कुछ पल बाद उसकी कराह कुछ कम सी हुई तो मैंने फिर से धीरे से एक और झटका दे दिया. पर वो मुझसे बोलने लगी- इतनी मस्ती आ रही है, तो अपनी वाली के दबा ले ना. वरुण- माँ आपने कहा था शॉपिंग मेरी पसंद से होगी, आप अपना साइज दो, मैं लेकर आता हूँ!सविता- ठीक है, 36डी 32 38फिर हमने इस साइज की 3 ब्रा पेंटी का सेट लिया और फिर हम घर के लिए निकल गए।जब हम कार में थे तो मेरे बेटे ने मुझसे पूछा- माँ शॉपिंग करके कैसा लगा?सविता- अच्छा लग रहा है!फिर हमने थोड़ी जनरल बातें की और घर पे आ गए.

कुछ दिन बाद मैंने उससे उसका फ़ोन नम्बर मांगा तो उसने देते ही बोला- क्या अब आपका भी नंबर मिल सकता है?मैंने कहा- हाँ आज शाम को एक अनजान नंबर से कॉल आएगी, वही मेरा नंबर रहेगा. बुआ का लड़का भी शायद यही चाह रहा था कि मैं उसके लंड के आकार को देख कर गरम हो जाऊं, इसलिए तो वो अंडरवियर में टीवी देखने आया था. अब जब भी बुआ का लड़का और मैं जब भी मौका पाते हैं, हम दोनों लोग चुदाई करने लगते हैं.

बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में जब मेरा लंड लोहे की रॉड की तरह खड़ा हो गया, तो सोनम ने मेरी पेंट और निक्क़र निकाल दी और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. किन्तु उसके चेहरे की मुस्कान बता रही थी कि वो ख़ुशी से फूली नहीं समां रही थी.

राजस्थानी ओल्ड सेक्स वीडियो

प्रिय पाठको, आपने पढ़ा होगा कि मेरी पहली कहानीमेरी अंतरंग डायरी: ग्रुप सेक्स में कौमार्य विसर्जन-1कुछ ऐसे शुरू हुयी थी. चूंकि उसका कॉलेज में पहला दिन था तो मैंने उससे पूछ लिया- न्यू एडमिशन?तो उसने हाँ में जवाब दिया. वो टायलेट की ओर जा रही इथी कि उसका मूत वहीँ निकल गया और वो वहीं दरवाजे के पास लेट गयी.

जैसे तैसे करके मैं वहां से निकला, पर उनकी भोली शकल मेरे दिमाग़ में घूम रही थी. रितु को नशा होने लगा था और उसने अपना टॉप उतार दिया, वह ऐसे ही बैठ गयी. गांव की सेक्सी पिक्चर हिंदीउसने पूछा- क्या ड्रिंक करते हो?वो बोला- मैडम झूठ नहीं बोलूँगा, करता था मगर अब इतने पैसे ही नहीं है कि पीने की सोच भी सकूँ.

सीमा ने अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर की ओर घुमा कर अपने आपको मेरे ऊपर लाद दिया.

मैंने जेम्स से पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो काम कैसे चलता है?तो वह हंस कर बोला- हाथ है … और तो कोई चॉइस नहीं है अभी!तभी रितु अपने कपड़े बदल कर आयी और इस वक़्त वह एक शोर्ट जो बहुत ही शोर्ट थी, और एक ढीला टॉप पहन कर आयी. इसके साथ वो कभी मुझको किस करती, तो मैं कभी उसके चूचे चूसता और दबा देता.

इतना कह कर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और खुद को मनोज के हवाले कर दिया. मेरे घर वाले भी उसके साथ मिलने में मुझ पर कोई पाबंदी नहीं लगाते थे. तो उसने मेरे को जबरदस्ती टाइट पकड़ लिया और मेरे लिंग को पूरा अपनी योनि में डाल दिया.

हमने फिल्म देखना स्टार्ट किया, कुछ ही देर में फिल्म में हॉट सीन स्टार्ट हो गए.

लेकिन जैसे ही राहुल के होंठ मेरे होंठों से अलग हुए, मैं राहुल को धक्के देकर अपने घर की तरफ़ भाग गई. ?”सुमन ने फिर हां में सर हिलाया और कुछ देर की मस्त चुदाई के बाद उसने अपना चुत का रस छोड़ दिया. लेकिन घर पर आकर, जैसे ही मेरी सासू ने दरवाजा खोला और मुस्कुरा कर मेरी ओर देखा, बस मैं फिर से विचलित हो गया.

सेक्सी वीडियो एचडी सुपरओह, क्या ताकतवर मर्द था … इससे पहले मेरी चूत की आग किसी मर्द ने इस तरह 10-12 झटकों में नहीं बुझाई थी।क्योंकि अब मैं तृप्त हो चुकी थी तो मैंने उससे कहा- ढिल्लों, बस करो, मेरा हो गया है. मेरे दोनों पैरों के बीच आकर उसने अपने लंड को मेरी चूत पर रखा और लंड से मेरी चूत को सहलाने लगा.

एचडी सेक्सी सेक्सी

मेरे टीचर मेरी स्कर्ट में हाथ डालकर बोले- वन्द्या, मैं तुम्हें बहुत पसंद करने लगा हूं, तुम बहुत सेक्सी हो. तो टीचर ने जवाब दिया कि जब कोई नहीं है, तो फिर मैं तुम्हारा बॉयफ्रेंड बन जाता हूँ. मैं उनकी इस हरकत से जब नहीं हिला, तो धीरे से बोलीं- मुझे पता है कि तू जाग रहा है, एक्टिंग मत कर.

उसने हैरत से पूछा- उससे क्या होगा?मैं बोला कि तब गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी, अगर हो भी गयी तो कुछ दूर आगे जाने के बाद बन्द हो जाएगी और तुम कहना कि आज मेरा बहुत इम्पोर्टेन्ट पेपर है, तो वो तुमको अकेले जाने देगा और तुम मेरे पास आ जाना. मैं समझ गया कि अब यह लड़की गर्म हो चुकी है, फिर मैंने आधे उतरे हुए कुर्ते को उसके जिस्म से अलग किया, फिर उसकी ब्रा उतारी. अपने मुँह में उसका पूरा बूब ले लिया और जलन के मारे उन्हें ज़ोर के काटे जा रहा था.

कमरे पर पहुँचा तो देखा मसाज बॉय… उसका भी नाम भूल गया हूं… चलिये काम चलाने को देवेश रखे देते हैं, फर्श पर नंगा लेटा हुआ है और उसके ऊपर सुमेर चढ़ा हुआ उसकी गांड में लंड पेले था, गांड मार रहा था. मैं घर पर अकेला था और जूही को चोदने का इससे अच्छा मौका मिल भी नहीं सकता था. मैं अब किसी से कह भी नहीं सकता था और लोग मुझे पटाते भी नहीं थे क्योंकि मैं अब माशूक लौंडा नहीं था, जवान मर्द था.

उसने एक बार फिर से अपना वीर्य मेरी चूत में ही डाल दिया, जिसके कारण मुझे बाद में गोली खानी पड़ी थी. मैं दिल्ली अपनी कोचिंग के लिए आया था, काफी रूम देखे लेकिन कोई पसन्द नहीं आया.

वो धीरे बोली- रूको, मैं देखती हूँ!मुझे अब सिर्फ़ उसके कदम की धीमी आहट सुनाई दे रही थी रूम से जाते!मेरी आँखों पे पट्टी बन्धी थी और दोनों हाथ बँधे थे.

चाचा पूछने लगे- कहां जलन हो रही है?मैं बोली- चूत और गांड दोनों जगह हो रही है. तमिळ सेक्सी व्हिडिओ तमिळमेरी गांडू सेक्स कहानी के पहले भागजगह नई नये दोस्त-1में अपने पढ़ा कि मेरी उम्र अब 27-28 साल हो चुकी थी तो अब मैं चिकना नहीं रहा था, मुझे लौंडे नहीं मिलते थे. अफ्रीका फुल सेक्सी वीडियोउस वक्त एक उसकी चाचा की लड़की निकिता है, उसके बारे में वह मुझे चुदाई के लिए बोलता है. अब मजा आ रहा है न?” उसने दूसरे हाथ को नीचे ले जा कर मेरी गोद में मौजूद दूध मसलते हुए पूछा।हं-हां।”बस ऐसे ही लंड से भी आयेगा, थोड़ा छेद ढीला हो जाये बस।”करो कैसे भी.

फिर मेरे मोबाइल में मुझे ‘प्राइवेसी एप’ दिखाते हुए बोलीं- इसमें क्या है रोहण?मैंने कहा- कुछ नहीं है भाभी.

फिर पूरी बॉडी को बॉडी से मिला कर रगड़ा जाता है और इसके बाद कबड्डी खेली जाती है. डैड और उनके दोस्त थोड़ी देर बाद ड्रिंक्स और अपनी बातों में बिज़ी हो गये. मैंने अन्दर पेंटी पहनी ही नहीं थी तो मेरे नंगी चूत उनके सामने आ गई थी.

लेकिन तभी उन्होंने जोर से धक्का देकर मुझे अपने ऊपर से हटा दिया और बिस्तर से नीचे उतर गईं. अब मैं जॉब के सिलसिले में चंडीगढ़ आ गया हूं और यहीं रह कर कोई न कोई रंडी या औरत की चुदाई करता रहता हूं. मैंने उसे समझाया- तुमने ये पहली बार किया है, तभी ऐसा हुआ है।मैंने उसे समझाया कि उसकी सील टूट चुकी है।उसकी चीख निकल रही थी पर मैंने उसे अपने लबों से लॉक कर रखा था तो वो कुछ कर भी नहीं सकती थी.

भोजपुरी गाना डीजे में वीडियो

जैसे ही मैंने उसके बूब्स देखे तो मेरी आँखें उन्हें देखती ही रह गई। क्या बूब्स थे उसके… एकदम गोरे और एकदम टाइट और उन पर ब्राउन कलर के निप्पल क्या लग रहे थे।मैंने उसके एक निप्पल को मुंह में लिया और चूसने लगा और पागलों की तरह काटने लगा. जिसको देख कर अंकिता ने कहा कि वाह क्या बात है, ये तो सोने का नाम ही नहीं ले रहा. अब पद्मिनी को समझ में आ रहा था कि उसकी जवानी उसके बाप को भी गरम कर रही है.

मैंने उसको गिलास दिया और हम दोनों ने आज की चुदाई की मस्ती के लिए चियर्स बोल कर जाम टकराए.

अब रजत का पूरा लंड मयूरी के चूत के अंदर था और रजत ने झटके मारने शुरू कर दिए थे.

डॉक्टर को मैंने कह दिया था कि उससे 1000 रूपए फीस के माँगना, वो नहीं दे पाएगी. हम दोनों पति पत्नी को थ्रीसम चुदाई किये बहुत दिन हो गए थे और रितु को नए लंड का मजा नहीं मिला था, मैं भी उसको चुदते हुए देखना चाहता था, उसे मेरे सामने टाँगें उठा कर और जोर जोर से चुदने में और उसे मुझे सताने और जलाने में मजा आता है. सेक्सी वीडियो छोटी लड़की वालीअब अंडरवियर में बापू का लंड एकदम फॉर्म में था और पद्मिनी एक बार अपनी नज़र वहां करके मुस्करा रही थी.

तो मैंने बाथरूम में रखी हुई क्रीम अपने लिंग और उसकी गांड के छेद पर मल कर एक बार फिर प्रयास किया. सुरेश जी मेरी जाँघों पे आके बैठ गए और मेरी गांड के छेद पर देर सारा थूकने लगे. वो भी अचानक एक बार मेले में और दूसरी बार अभी थोड़े दिन पहले ही घाट पर.

मैं तुम तीनों से रोज चुदवाऊंगी और जहां बोलोगे, वहां चुदवाने चले चलूंगी. फिर मैं वहां उसको एक राउंड और चोदा और निकलने लगा तो उसने मुझे कुछ पैसे दिए और फिर अपनी बात दोहराई कि किसी को पता न चले.

मैंने भी ज़ोर दे धक्का दे मारा और अपने लंड को भाभी की गांड के अन्दर डालने लगा.

खैर जब इसकी बात हो ही गयी तो मैं अपनी वर्जिनिटी लूज़िंग की कहानी से शुरू करता हूँ. मैं- ठीक है बड़ी दीदी, आज के बाद बड़ी दीदी कहूँगा, नाम तो नहीं ले सकता. उसको लगा शायद मैं सो गया हूँ, तो वह धीरे धीरे हाथ और ऊपर लाई और मेरे लन्ड को टच करने लगी। अचानक वो तेल छोड़कर चड्डी के ऊपर से लन्ड सहलाने लगी। मैं सोने का नाटक करने लगा, मेरा लन्ड खड़ा हो गया, उसने जरा सा ऊपर होकर यह चेक किया कि मैं सो गया या जग रहा हूँ.

बैगन की सेक्सी 30 बजे शाम को फस्ट क्लास एसी में डी लोअर बर्थ में था और अपर बर्थ अभी खाली थी. दीदी अपने स्तनों को टेबल पर रखकर लेटी हुई थी और उनकी टांगें टेबल पर नीचे आई हुई थी.

जैसे उन अंकल ने आवाज दी कि कुल्हाड़ी कहां रखी है वन्द्या, कुल्हाड़ी लेने आया हूं. कुछ देर तक मैं स्तब्ध सा उसकी रेशम जैसी चिकनी मुलायम टांगों की सुंदरता आँखों में बसाता रहा, फिर रेखा को हौले से उठाकर उसकी शमीज़ भी उतार डाली. उसने कुछ देर चूमने के बाद मेरी ब्रा और पेंटी को निकाल दिया और मैं उसके सामने के एकदम मादरजात नंगी हो गयी.

सेक्सी वीडियो इंग्लिश पिक्चर हिंदी में

इस बार वो जैसे ही चढ़ने लगी, तभी अचानक स्पीड ब्रेकर आ गया और वो मेरे ऊपर गिर गयी. अब उसके हाथ भी मेरे लन्ड को सहलाने लगे, होंठ चूसना छोड़ के वह उठी और यह चेक किया कि उसकी लड़की सो गई या नहीं।देखने के बाद उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिये और नंगी हो गई, फिर उसने मेरी चड्डी भी निकाल दी। मंझी हुई खिलाड़ी की तरह मेरे ऊपर आ गयी और मेरे छाती पर किस करने लगी, मेरे छाती के निप्पलों को बारी चूसने लगी. जैसे ही वो चढ़ी उसकी गांड मेरी तरफ़ एकदम चौड़ी हो गयी और मेरे लंड की हालत खराब हो गयी.

इतना होते होते लड़की की उम्र सत्ताईस अट्ठाईस हो जाना मामूली से बात है और उतनी उम्र तक बिना चुदे रहना किसी तपस्या से कम नहीं. मैं एक घर में पेईंग गेस्ट की तरह से रहता था तो घर का मालिक राजू मेरा दोस्त बन गया था क्योंकि हम दोनों हमउम्र थे.

मेरी पिछली कहानी थीपड़ोसन आंटी का अंगप्रदर्शन और धमाकेदार चुदाईयह सेक्सी स्टोरी मेरी और एक हाई प्रोफाइल भाभी की चुत की आग की है.

मेरा पूरा जिस्म अब मचल के अकड़ने लगा, मुझे कुछ समझ भी नहीं आया और मेरी चूत के अन्दर से चूत रस की गरम गरम पिचकारी निकल पड़ी. मयूरी जिद करते हुए- भैया, दिखा दो ना प्लीज…विक्रम- हाँ मेरी जान… तू बिल्कुल देख ले और जो करना है वो कर इसके साथ… अब ये पूरी तरह से तुम्हारा है. बीवी ने अपनी मुठ्ठी में मेरा लंड पकड़ कर चुत के छेद पर सैट किया और लंड पर बैठ गई.

वो कहने लगी- मैं लाइट चालू करूँगी, तुम दोनों यह क्या कर रहे हो, मुझे भी देखना है. लेकिन अब हम दोनों को जब भी चुदाई का मन करता है तो हम खूब चुदाई का मजा लेते हैं. लौंडा आ आ आ ई ई ई कर रहा था, हाथ पैर फेंक रहा था पर सुमेर इन सब हरकतों से निर्लिप्त उसकी गांड में दे दनादन… दे दनादन… अंदर बाहर… अंदर बाहर… लंड करने में लगा था, उसकी कमर जोर जोर से ऊपर नीचे, ऊपर नीचे हो रही थी, शायद वह पूरा पेल रहा था लड़के की!सुमेर अपनी दोनों बांहों में लड़के को चपेटे था, लड़का फड़फड़ा रहा था पर उसकी गिरफ्त से छूट नहीं पा रहा था.

मैंने उसके मुँह पे उसका दुपट्टा बाँध दिया और दोनों हाथ पकड़ कर मेरी गांड की तरफ़ पीछे ले लिए और लंड डालने लगा.

बीएफ चोदा चोदी भोजपुरी में: कभी वो मेरा लंड चूसतीं, तो कभी मैं आंटी की गांड, कभी उनकी बुर की फांकों को अपने मुँह से भर कर चाटता. बुआ जी ने चुदाई की बात को समझते हुए कहा- हां, मैं मानती हूँ कि उस समय जो हुआ ठीक था, पर अब तुम अनु के साथ कुछ नहीं करोगे और हां मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है.

दूसरे दिन सुबह 11 बजे सीमा के मम्मी पापा और छोट भाई कहीं बाहर चले गए. धीरे धीरे मेरी कोशिशें जारी रहीं और किसी तरह हमारी फ़्रेंडशिप हो गई. सारिका 2 गिलास पानी लेकर आई और मेरे साथ सोफे पर बैठ कर बात करने लगी.

देर रात को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रचना मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहला रही थी.

फिर थोड़ी देर तक मेरी चूची चूसने के बाद वो खड़ा हुआ और उसने अपना लंड. करीब 15 मिनट की ताबड़तोड़ और जबरदस्त चुदाई के बाद अर्चना का शरीर अकड़ने लगा और वो अपने चरम पे पहुँच कर झड़ने लगी और उसके कुछ ही देर धक्के लगाने के बाद मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल लिया और सारा माल अर्चना के पेट के ऊपर गिरा दिया।कुछ देर बाद वो उठी फर अपना पेट और चूत एक कपड़े से साफ किया और बाथरूम की तरफ चल दी. मामी ने कहा कि मैंने अपने जीवन में कभी इतनी जबरदस्त चुदाई नहीं की है.