सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,यहाँ सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

xxxमाधुरी दीक्षित: सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ, उसका फ़िगर 34-26-36 का है, यानि कोई भी उसको नजर भरके देख ले, तो अपने आप ही लंड पर हाथ चला जाए.

बाप सेक्सी ओपन

आज वो बिल्कुल वैसे ही लग रही थीं, जैसे पिया की पहरेदार सीरियल में तेजस्विनी प्रकाश होली वाली सीन में दिखती है. दिवाली हिंदी सेक्सीकैबिनेट में कई लेडीज़ पर्सनल-केयर आर्टिकल्स पड़े थे, उन में बड़ी कम्पनी का बॉडी-लोशन, की बॉडी-क्रीम, की एन्टी-एजिंग क्रीम, परफ्यूम की शीशियां, हेयर-रीमूवल क्रीम, फ़िलिप्स का लेडीज़ इलेक्ट्रिक शेवर और वी वाश भी थी.

वॉल टू वॉल कार्पेटिड बैडरूम में एक डबलबेड के दूर वाली तरफ़ एक वार्डरोब और उसके साथ कोने में एक अटैच वॉशरूम का दरवाज़ा और बेड के इस तरफ़ आमने-सामने दो कुर्सियां और एक छोटी सी ग्लॉस-टॉप वाली राउंड काफ़ी-टेबल थी. बाथरूम सेक्सी चुदाईउसका तना हुया सख्त लंड मेरी गीली फुदी के होंठों का स्पर्श पाते ही हिचकोले मारने लगा और मेरी फुदी के अंदर जाने को बेताब होने लगा.

तो उन्होंने मुझसे कहा- ठीक है डियर, मैं आपकी हर इच्छा पूरी कर दूंगा.सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ: वो पजामा भी ज्यादा देर मेरे शरीर पर रह न सका क्योंकि जेठजी ने पजामे को खींच कर मेरे टांगों से अलग कर दिया.

लेकिन मैंने कितनी देर रुकता, दो मिनट बाद मैंने एक और धक्का दे मारा.लेखक की पिछली कहानी:कुंवारी नातिन को कराई लौड़े की सवारीरिटायरमेंट के बाद मैं अपने पुश्तैनी घर में रहने लगा.

एक्स सेक्सी व्हिडीओ ट्रिपल एक्स - सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ

फिर धीरे धीरे मैंने उसके टीशर्ट को ऊपर किया और उसकी चूची को ब्रा में से निकाल कर चूसने लगा और वह शस्सश शहहह करने लगी.उन्होंने मुझे पूछा- ताश (कार्ड) खेलने आता है?मैंने कहा- थोड़ा मोरा!बोली- ठीक है।सब लोग डाइनिंग हॉल में आ गए.

उन्हें बार-बार हिलाने डुलाने पर भी वो ना उठीं, तो मेरा दिमाग खराब हो गया. सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ मेरी कामुकता भरी सेक्स कहानी में अब तक आपने पढ़ा कि मैं अपने लेटेस्ट यार प्रीत सिंह के साथ सेक्स करके उसकी गोद में बैठी थी कि प्रीत ने मेरे भाई के बारे में सच बोल दिया.

मैंने पूछा- मगर हुआ क्या?वो बोली- जब मैं खुद सब कुछ कर रही हूं तो तुम्हें इतनी जल्दी क्या पड़ी है.

सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ?

पैंटी के अंदर हाथ डाला तो उंगलियां उसकी चूत के रस से चिपचिपी हो गयीं जिसे मैंने मुंह में डालकर उसकी चूत के पानी का स्वाद चखा।नमकीन सा स्वाद था उसकी चूत के पानी का जो मुझे काफी पसंद आ रहा था. मैं विक्की से बोली- बेबी खाना ला दो … मैं बहुत थक गई हूं … अब मैं घर पर नहीं बनाऊंगी. अंकल का लंड हाथ में लेते ही मम्मी बोलीं- आह तुम्हारा इतना बड़ा है?वो अंकल के लंड को प्यार से मसलने लगीं.

संजू अब मेरे साथ बिल्कुल फ्रेंक हो गई थी, क्योंकि मैंने उसे दूसरे से चुदा-चुदा कर और रोल प्ले करवा कर काफी खोल दिया था. मैं अपने आप को बहुत मजे में महसूस कर रही थी ऐसा मन कर रहा था कि आज यह व्यक्ति मुझे खा जाए बस! मेरी चूत को खा जाए. उस रात में मैंने 4 बार मालकिन पर चढ़कर उनको चोदा … और 2 बार मालकिन ने मेरे लंड के ऊपर चढ़ कर मुझे चोदा.

लेकिन भाभी ने हमारे दूसरे किरायेदार से बाइक पर लिफ़्ट ली और मुझे अनदेखा कर दिया. फिर मैंने चाची को अपने ऊपर लिया और मेरा लंड उनकी चूत में डाला और चोदता रहा। फिर मैं उनके पीछे से गया और एक पैर ऊपर किया और चुदाई करता रहा।इस तरह हमने बहुत सारी स्टाइल और पोजीशन में चुदाई की और करीब 20 मिनट तक हम चुदाई करते रहे।चाची को बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी चाची की चूत चुदाई करने में बहुत मजा आ रहा था. ”क्या पापा आप भी?”सही कह रहा हूं, इसमें गलती इस साले लंड की है जो मुझे बैचेन किये जा रहा है।”सायरा मेरी तरफ घूमते हुए बोली- पापा, आप अपने उत्पाती लंड को कभी भी शांत कर सकते हैं.

अब उसने मेरे हाथ और आंखें खोल दीं और वो काम की देवी मेरी बगल में नंगी ही लेट गयी. कुछेक पल तो इस का वसुंधरा पर कुछ असर होता नहीं दिखा लेकिन चंद ही क्षणों बाद इस पर वसुंधरा की प्रतिक्रिया बहुत ही विस्फोटक हुई.

हमने पालक पनीर की सब्जी, दाल रोटी चावल, पापड़ सलाद तैयार करके टेबल पर सजा दिया.

फिर वो तेजी के साथ धक्के लगाते हुए आह्ह … आह्हह … करते हुए मेरी चूत में ही झड़ने लगे.

आदी- नहीं … मैं बता दूंगा … तुम मेरे लिए कुछ नहीं कर रही हो … और न ही मुझे बाहर कुछ करने दे रही हो. उस पर कब से नजर है मेरी जान?मैंने कहा- प्लीज, एक बार सैट करा दो ना!वो हंसकर बोली- अरे वो आपको सह भी पाएगी … कहां आप 78 किलो के और कहां वो बेचारी मुश्किल से 40 किलो की. किसी बॉडी बिल्डर से कम नहीं लग रहा था वो। उसको देख कर किसी भी चूत का चुदने को मन कर जाये.

मैंने उनके ऊपरी होंठ को अपने होंठों में कैद किया और उन्हें चूसने लगा. मैंने तेल लगे हुए लंड को भाभी की चूत पर लगा दिया और एक झटके में ही भाभी की चूत में घुसा दिया. देखने वाली बात यह थी कि अभी तक मैंने वसुंधरा के किसी भी गोपनीय नारी-अंग को न तो आवरण-विहीन किया था और न ही स्पर्श किया था लेकिन तिस पर भी वसुंधरा का शरीर भयंकर काम-ज्वाला में तप रहा था.

मैं कह नहीं सकती या अपने उस आनंद को शब्दों में बयां नहीं कर सकती, उनकी कमर में मेरे नाखून गड़ रहे थे.

हमने बड़े मजे से खाना खाया और इस दौरान हम दीदी से और ज्यादा घुल-मिल गए … या कहा जाए, तो खुल गए. मैंने परमीत के हाथों से उसे लेना चाहा, तो परमीत ने हाथ हटा कर मुझे और तड़पा दिया. मैं सोच रहा था कि जब वो खुद ही मेरे साथ सेक्स करने के लिए मरी जा रही है तो मेरे बाप का क्या जाता है.

दीदी के मुँह से डिल्डो का खुला वर्णन सुनकर हम दोनों बड़े आश्चर्य से उनको देखने लगे. वो अपनी जेब से फोन निकाल कर फिर से मेरे भाई का नम्बर मिलाने लगा तो मैंने उसका फोन छीन लिया और उसी की जेब में डाल दिया. जींस और लाल रंग के टॉप में जैसे ही मीना एयरपोर्ट से बाहर निकली, उसे देखते ही मेरा लण्ड उछल उछलकर सैल्यूट करने लगा.

फिर अपने खड़े लंड में कंडोम लगा कर उसकी चुत में रखा और एक तेजी से शॉट मार दिया.

कहानी में अगर आपको मजा आ रहा हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रिया जरूर भेजें. अपनी बहन को मैंने बेड पर लेटा दिया उसके मुंह पर अपनी चूत को रख दिया.

सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ इसके बाद उन्होंने मुझे बताया- तुम्हारे भैया मेरे साथ ऐसे ही करते हैं. उस वक्त मैं एक शादी में गया था जहां पर मैं अपनी मौसी की लड़की से मिला.

सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ उसने भी मुझे पहचान लिया था क्योंकि मैंने पहले ही बता दिया था कि मैंने किस रंग के कपड़े पहने हैं. भैया के साथ मेरी अच्छी पटती थी तो मुझे वहां पर कई दिन बाद तक रुकना था.

अब तक तो मैं सिर्फ यही सोचती थी कि तू आशीष के साथ ही मुंह काला करती रही होगी.

जंगल के बीएफ सेक्सी वीडियो

पायल ने मेरे कंधों से हाथ मेरे मजबूत बाजुओं पर लाकर अब पूरे रिदम के साथ मेरे लंड पर कूदना शुरू कर दिया. उन्होंने मोबाइल लेकर अपने फ़ोन से मेरे नंबर पर गूगल की मदद से कुछ रूपए ट्रांसफर कर दिए. कुछ देर तक मैं वैसे ही घुटनों के सहारे बैठे बैठे ही जेठजी का लंड चूसती रही, पर जल्दी ही मेरे घुटने दुखने लगे, इसलिए मैं उठ खड़ी हुई.

तेरे ये गदराये बदन को मेरे जैसे ही आदमी की जरूरत है; कोई कमजोर आदमी तुझे खुश नहीं कर सकता!इतना कह कर मेरी चड्डी के ऊपर से मेरे गांड को सहलाते हुए बोले- आज तक कितनों से चुदी हो?मैं बोली- बस एक से ही!वो बोले- लगता है किसी गलत के हाथ में लग गई थी, तुमको जो मजा चाहिए वो दे ही नहीं पाया. कुछ और कोशिश करने के बाद पूरा लंड गांड में चला गया और वो जोर जोर से धक्के लगाने लगे. वो फिर से बहुत तेज चिल्लाई, पर इस बार मेरे होंठ उसके होंठों से चिपके थे, तो उसकी आवाज मुँह से बाहर ही नहीं आई.

कुछ दिनों बाद अंकल घर आए, तो मम्मी ने उनको शिल्पा आंटी के बारे में बता दिया.

मैं एक साफ दिल का इंसान हूं, इसलिए सभी मुझे पसंद भी जल्दी ही कर लेते थे. तो वो मुझे बताने लगी- हुआ यूं कि तेरी दीदी, सोनाली नाम की एक लड़की के साथ पूरी नंगी होकर पता नहीं क्या क्या करने लगी थी. मेरी मां ने मुझे दूल्हे यानि कि मेरे मामा का कमरा सजाने के लिए काम दे दिया था.

मोनिका- क्यों?मैं- तुमको पता है … मैं क्यों अपने आपको रोक नहीं पाऊंगा. ऐसे ही उसने दो तीन बार रूक कर लंड को आधा प्रवेश करा दिया और आधे लंड से ही गांड चोदने लगा. फिर हम दोनों नंगे ही पड़े रहे और मैं भाभी के बोबे चूसते हुए ही उनकी बांहों में ही सो गया.

कामिनी बोली- मैं हर दर्द सह लूंगी, बस अब जल्दी पेलो … मेरी बुर में बहुत खुजली हो रही है. मेरे मन में डर लगने लगा लेकिन फिर भी हिम्मत करके मैं बाइक से उसके घर के लिए निकल पड़ा.

ज्योति मेरे पास आकर खड़ी हुई तो मैंने उसकी स्कर्ट ऊपर उठाकर उससे कहा- पैन्टी नीचे खिसकाओ. दोस्तो, उस दिन के बाद से मेरी सेक्सी मॉम की तरफ देखने का मेरा नजरिया बदल गया था. थोड़ी देर बाद उसे प्रकाश की बहकी बहकी आवाज में गाली की आवाज आयी- साली रंडी, मेरा मजाक बनाती है.

एकदम से मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा और मैंने अपना माल उसके मुंह में गिराना शुरू कर दिया.

मोमबत्तियों की झिलमिलाती रोशनी में वसुंधरा की कज़रारी आँखें हीरों की तरह चमक रही थी. मनु की बातों से स्पष्ट था कि वो परमीत के नंगे बदन को देखने के लिए कितनी उतावली थी. मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उससे कहा- ये क्या कर रही थी तुम मेरे लैपटॉप में?मैं जानता था कि वो भी सेक्स कहानियों का मजा ले रही थी.

फिर जब वो उत्तेजित हो गई, तो बोली- अब जल्दी से अपना लंड मेरी चुत में डाल दो … नीचे बहुत आग लगी हुई है इसे बुझा दो. करीब आधे घंटे बाद नहा-धो कर, पूरी तरह से रिलैक्सड मैं जब वाशरूम से बाहर आया तो देखा कि आतिशदान में और लकड़ियां डाल दी गयी थी और उसमें भड़भड़ा कर आग जल रही थी.

दोस्तो, कैसे हो आप लोग … मैं शुभम (बदला हुआ नाम), आपको सबसे पहले अपने बारे में बात देता हूं. उसके जिस्म के ऊपर अच्छे से चढ़ गया और मुँह में मुँह डाल कर चाटने लगा … ताकि दर्द से चीखने की आवाज बाहर न जाए. हमने देर रात एक बजे तक बातें की और कब नींद आ गई कि पता ही नहीं चला.

बीएफ पिक्चर ब्लू पिक्चर

उन्होंने मेरे दूध को अपने सीने से दबाया और लंड आधा बाहर निकाल के तुरंत एक और धक्का लगा दिया.

वैसे शर्म लिहाज़ तो मैं त्याग ही चुकी थी, पर फिर भी पता नहीं क्यों … मैं ये सब करने से खुद को रोक नहीं पायी. मैंने उछल कर उसके बालों को पकड़ लिया और उसका सर जोर से अपनी चूत में दबा दिया. मैंने कहा- आप इतने विश्वास के साथ कैसे कह सकते हो?वो बोले- तुम जैसी लड़की को देख कर भला किसका मन वो करने को नहीं करता होगा!मैंने अन्जान बनते हुए पूछा- क्या करने का मन जीजू?वो बेबाक तरीके से बोले- चुदाई!जीजा के मुंह से चुदाई शब्द सुन कर मैं शरमा गई.

फिर मैं चाची की चूत में उंगली डाल कर चुदाई करने लगा तो वो आवाज निकाल रही थी- आ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… आहा!और मुझे बड़ा मजा आ रहा था. इस बात पर संजू की थोड़ी आंखें झुक गईं … पर अगले ही पल नीरज ने संजू का चेहरा उठाया और उसके होंठों को बेतहाशा चूसने लगा. बीपी सेक्सी वीडियो हिंदी ओपनमैंने कहा- ऐसा क्यों?उन्होंने बताया कि यह काम सिर्फ शादी के बाद पति-पत्नी के बीच ही किया जाता है.

इस बार जब सब कुछ खुद करने का सोच लिया था, तो मैं इसमें पीछे क्यों रहती. रोहित- आह भाभी … आह भाभी … मज़ा आ गया भाभी और तेज़ और तेज़!मैं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्या लंड है तेरा बे, चोद चोद आह आह!मैं जोर से उछलती, उसका लंड पूरा चुत के जड़ तक लेती.

संजू के भैया झट से तौलिया खोजने लगे और प्रियंका बगल में पड़े चादर से बदन ढकने का प्रयास करने लगी. प्रीति:मैं छत पर बैठी रो रही थी, मेरे हाथों में शराब की बोतल थी। वैसे मैं शराब पीने की आदी नहीं थी. आप कहां हैं?मैं बोली- रुको मेरा फ्रेंड आ रहा है, वो तुम्हें लेकर आएगा.

दोस्तो, पसन्द तो मैं दीदी को बचपन से ही करता हूं। जब से लन्ड जवान हुआ है तब से ही मैं उनके हुस्न का दीवाना हूँ। स्कूल में जब दीदी स्कर्ट में गांड मटकाते हुए चलती थी तो मेरा लन्ड मचल उठता था। मैंने कई बार अपनी बहन के बारे में सोच कर मुठ मारी है. मैंने देखा कि जीजा का लंड उनके अंडरवियर में पूरा जोश में आ चुका था. इस रसीली चुदाई की कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ.

उन्होंने धीरे से कराहते हुए कहा- एक ही बार में डाल कर 5-6 धक्के मार दो … मेरी परवाह मत करो!ये सुनते ही मैंने लंड को बाहर को खींच कर बाकी लंड पर तेल की बूंदें टपकाईं और तेल की चिकनाई कुछ ज्यादा करते हुए एक जबरदस्त धक्का दे मारा.

दूसरे दिन मैं सुबह उठा, तब वहां कमरे में मेरे अलावा कोई भी नहीं था. मुझे अपने पास लिटा कर वो मेरे बदन से लिपटने लगी और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया.

मुझे बहुत मज़ा आने लगा था और मेरे मुँह से ज़ोर ज़ोर की सिसकारियाँ निकलने लगी. अब शाम को जल्दी आ जाना, मैं कंट्रोल नहीं कर पा रही हूँ बहुत दिन हो गए हैं. एकदम से नर्म और मुलायम, जैसे कह रहे हों कि इनके रस की एक-एक बूंद को निचोड़ लो.

अब आगे:मैं- जीजा जी, दीदी को सेक्स के मामले में ऐसी कौन सी चीज है, जो पसंद नहीं है. फिर मैंने चाची को अपने ऊपर लिया और मेरा लंड उनकी चूत में डाला और चोदता रहा। फिर मैं उनके पीछे से गया और एक पैर ऊपर किया और चुदाई करता रहा।इस तरह हमने बहुत सारी स्टाइल और पोजीशन में चुदाई की और करीब 20 मिनट तक हम चुदाई करते रहे।चाची को बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी चाची की चूत चुदाई करने में बहुत मजा आ रहा था. हम दोनों एक दूसरे की बांहों में हाथ बाहें डाल कर बाहर थोड़ा घूमे, इधर उधर देखा, मगर वहां कोई नहीं था.

सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ इसलिए अब मैं कोई जगह ढूंढने लगी और साथ में कोई प्लेब्वॉय भी खोजने लगी थी, जो गांड मारने में निपुण हो. फिर उसने मुझे एक हेलमेट दिया, वो मैंने पहन लिया।उसने मुझे बाइक पर बिठाया और चल पड़े.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी में

अंकल पास में रखे एक डिब्बे को लेकर आए और दीदी की कमर के पास रख कर बैठ गए. मैं अपने हाथ धीरे धीरे उसके बदन को सहलाते हुए उसके पेट पर ले आया और हल्के हाथ से उसके पेट को सहलाने लगा और थोड़ा झुक कर उसके नर्म होंठों को फिर से चूमने लगा. गृहस्थी के कारण मैंने अपने जीवन में केवल 2 ही औरतों के साथ सेक्स किया था.

राकेश के पिता किसी सरकारी विभाग में अधिकरी हैं, उसके घर में तीन कारें हैं और कारें बदल बदल कर ज्योति को घुमाता था और लॉंग ड्राइव पर भी ले जाता था. इस पर वो बोली- फिर भाभी को क्या बोलेंगे?मैंने कहा- उसे मैं फ़ोन करके बोल देता हूं कि आज नाईट शूट है. हिंदी ब्लू पिक्चर सेक्सी इंग्लिशवो जोर जोर से लंड हिला रहा था और मुझे देखते देखते उसने आगे से लंड का मुंह दबा लिया, पानी निकल गया था उसका … तो उसने आंख मार दी।मैं चुपचाप घर आ गई लेकिन अब मैं पागल होती जा रही थी वासना में! और सब शर्म छोड़ मैंने सोच लिया कि संजय का लंड चाहिए मुझे अब।अगली सुबह मैं दूध लेने गई तो संजय की मां दूध निकाल रही थी.

चाची मुझसे व्हाट्सएप पर बातें किया करती थीं, तो कभी कभी वो मेरे सामने रो दिया कर दी थीं.

फिर दीदी चली गई … मैं फिर दीदी के कमरे में गया और दीदी का लिखा उस पत्र को पढ़ने लगा. उसने पीछे से अपना लंड मेरी चुत में डाला और अपने दोनों हाथ से मेरे कंधे को पकड़ कर मुझे चोदना चालू कर दिया.

वो मेरे गालों से अपने गाल सटाते हुए बोला- नहीं दीदी, आप गलत सोच रही हो. वो तेज तेज सीत्कार करने लगी; वो बड़बड़ाने लगी- आंह … और अन्दर तक जीभ डालो … आह तेज … यस सक मी बेबी … और तेज … आंह मज़ा आ रहा है और तेज!ये ही सब बोलते बोलते प्रीति एकदम से झड़ गई. इसके बाद कुछ टाइम में दूसरा और फिर तीसरा ग्लास भी ख़त्म कर लिए हम लोग.

मैंने अंडरवियर को हल्का सा नीचे किया और श्वेता की चूत पर लंड को लगा दिया.

कल जब मैं उससे बात नहीं करूंगा, तब आलिया मुझे मनाने की कोशिश करेगी और आखिरकार मेरी नाराजगी देखकर वो जरूर हां कह देगी. उसके बाद चूत और लंड की लड़ाई शुरू हो गयी और उससे निकलने वाली ध्वनियां वातावरण को और उत्तेजक बनाने लगीं. उसने खुद ही मेरा 7 इंच का लंड पकड़ लिया और जोर जोर से आगे पीछे करने लगी.

बीपी बीपी सेक्सी चुदाईचूंकि वो मुझसे उम्र में छोटा है … इसलिए उसने मुझे बड़े सम्मान से नमस्ते भी की. संदीप ने मुझे मजे लेते देख कर अपना पूरा जोर लंड पर डाल दिया और उसका विशाल लंड मेरी गांड फाड़ता हुआ जड़ तक समा गया.

മലയാളം കളി വീഡിയോ

भैया दीदी अपने एक हाथ से दीदी के मम्मों को नाइटी के ऊपर से ही दबा रहे थे और दीदी भैया की पीठ सहला रही थी. इस दो अर्थी बात पर हम दोनों ने एक दूसरे को पल के लिए देखा और हंस दिए. पता नहीं राजन की बात का ममता पर क्या असर हुआ, वो मुस्कुरा दी और खाना ख़त्म कर लिया.

अब जब वो सो रही थी तो मैं ध्यान से उसके पूरे जिस्म को निहार रहा था. कुछ देर बाद जब मैं अपनी कॉलोनी में पहुंचा, तो दीदी को अंकल के दरवाजे पर खड़ा पाया. दिन में किसी के घर जाना, वो भी अपने माल से मिलने, तो खतरा पूरा रहता है.

जब बिक्कू ने मेरा ध्यान दरवाजे की तरफ दिलाया तो मैं कहने लगी- अभी रहने दे बिक्कू, थोड़ी ही देर में मेरा भाई और मेरी मां आने वाले हैं. वसुंधरा का जिस्म रह-रह कर झटके खाने लगा और उस के मुंह से जिबह होते जानवर की सी आवाजें निकलने लगी. चाची लंड सहलाते हुए बोलीं- इतना बड़ा तो तुम्हारे चाचा का भी नहीं है.

जिसको देखने के लिए मैं तीन चार साल से तड़प रहा था आज उसको अपनी आंखों के सामने नंगी देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा है. बाथरूम में मैं चाची की चूत को चाटती थी और वो मेरी चूत को चाटा करती थी.

’कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा … एक दिन मैं, दीदी और श्वेता दीदी बाजार गए थे … बाजार में साकेत भैया भी थे.

प्रीति का दर्द जब थोड़ा कम हुआ तो प्रीति हल्के हल्के अपनी गांड को हिलाने लगी. 4 साल की औरत का सेक्सी वीडियोअब मुझे डर था कि कहीं मेरी मां उन दोनों ठेकेदारों और जीजा को बुला कर गाली न देने लगे. न्यू सेक्सी मूवी एक्स एक्स एक्सहम दोनों कार से उतर आए, मैंने अपना बैग निकाला और हम दोनों साथ में घर में अन्दर आ गए. हम सब नंगे ही टेबल पे नाश्ता करने लगे।आखिर में मैम फ्रीज़ से आइसक्रीम लायी.

वो पूरे जोश में आकर चिल्लाने लगी- आंह जल्दी चोदो … फाड़ दो मेरी बुर को.

मैंने अपनी दोनों बाहों का हार बना कर संदीप के गले में डाल दिया और उसका वरण कर लिया. लाईट जल रही थी और मेरी दोनों सहेलियों के बदन पर नाममात्र भी कपड़े नहीं थे. तो मैं घर आ गई।रात को सोचती रही कि क्या मस्त लंड है संजय का! मेरे मन में सेक्स की भावना आने लगी तो मैं उठी और अपने पति के पास गई क्योंकि मेरे पति अलग कमरे में सोते हैं.

मैं बोली- नहीं यार … घर वालों से परमिशन नहीं मिलेगी … और मिलेगी भी तो मम्मी बोलेंगी कि मेरे भाई को भी साथ में लेकर जाओ. अब तो मेरा मन भी करने लगा था कि अपनी बहन के साथ अपनी भी चूत की चुदाई करवा लूं. दोस्तों क्या गांड थी, पीछे से चुदाई करने में इतना मज़ा आ रहा था कि बस मन कर रहा था कि इसको जीवन भर ऐसे ही चोदूं … कभी अलग ना होऊं.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो चालू

मुझसे उसका ऐसा करना बर्दाश्त नहीं हो रहा था और मेरा खड़े रहना मुश्किल होने लगा था. वो बोली- मैं घुड़सवारी करूंगी तो मुझे भी मालिश करानी पड़ेगी?मैं बोला- हाँ, अगर मालिश कराओगी तो घोड़े पर तुम्हारा कन्ट्रोल रहेगा. उधर आलिया भी किलकिला रही थी- ओह मर गई आह राज … धीरे चोदो … मुझे दर्द हो रहा है … आंह राज तुम्हारा बहुत बड़ा है.

मैं पहुँच गया उसके घर और उस को सब बता दिया।उसने कहा- मज़ा आ गया! क्या खबर लाये हो।मैंने कहा- हो जाये फिर?उसने कहा- मोस्ट वेलकम!मैंने गेट बंद किया और वहीं उसको पकड़ के उसके होंठ चूसने लग गया.

बाथरूम में मैं चाची की चूत को चाटती थी और वो मेरी चूत को चाटा करती थी.

अन्तर्वासना पर कुछ सेक्स स्टोरी तो मुझे कल्पना मात्र लगती हैं और कुछ बहुत ही रोमांटिक और सत्य लगती हैं. हो सकता है मेरे कुछ सवाल तुमको अटपटे लगें पर अपना दोस्त समझकर जवाब देना, सारी बातें तुम्हारे और मेरे बीच रहेंगी. बाथरूम करने वाला सेक्सी वीडियोमैंने कहा- चलेगा भाभी … इतना ही भरोसा है मेरे ऊपर … तो अगली प्लानिंग मुझे करने दो.

जब भी मेरा मन करता था मैं पोर्न मूवी देखते हुए अपनी चूत में उंगली कर लिया करती थी. भाभी ने भी मुझे नहीं रोका और वो भी मेरे हाथों के स्पर्श का मजा लेने लगीं. अभी तक मैंने लेस्बियन सेक्स के द्वारा ही अपनी चूत का पानी निकाला था.

वो बोले- मम्मी, अगर आपको कोई ऐतराज न हो तो मेरे पास और भी ऐसे कई बड़े लोग हैं जो हमारे घर पर आना चाहते हैं. पैग का एक घूँट लिया और एक सिगरेट जला कर गिलास लिए बाथरूम में चले गए.

इसके बाद मुझे अपने पूरे गहने पहनने को दिए और पहनने में सहायता भी की.

जब मैंने चाची की नाभि को किस किया तो वे एकदम से तड़पी और आ … करके चिल्लाई मानो उन्हें किसने करंट दिया हो।फिर मैं उनको किस करते हुए नीचे आ गया और उनके पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया और धीरे धीरे नीचे होने लगा. मैंने अपनी हथेलियों पर थोड़ा तेल और लिया और उसके पेट पर मालिश करते हुए उसके जवान कसे हुए उभारों तक ले जाने लगा. मुझे लंड पेलते हुए ही समझ आ गया था कि स्नेहा भाभी की चूत अब भी बहुत टाइट है.

भोजपुरी सेक्सी सेक्सी भोजपुरी सेक्सी एक दिन जब मैं ऑफिस से आया, तो खाला ने ज़ेबा के पेट से होने की खुशखबरी सुनाई. थोड़ी देर ऐसे ही चुदाई करने के बाद हम दोनों का एक ही टाइम पर वीर्य निकला और कमरे में गचागच की आवाज़ अब फचाफ़च में बदल गई.

मेमना दूसरे के घर का था, जो थोड़ा दूर था, वहां आने जाने में समय भी लगता और ये तो हमारे लिए और भी अच्छा था. आलिया मुझे प्यार से राजा कहकर बुलाती थी और मुझसे आलिया बड़ी होने पर भी मैं उनको प्यार से आलिया कहकर बुलाता था. जब वो उठने लगी तो उसकी चूत में जबरदस्त दर्द हुआ और वो उठते-उठते बैठ गयी.

हद पॉर्न कॉम

नहीँ ये सब गलत है दीदी!” कहकर वो झटके से अलग हुआ और बेड से उठ गया। मुझे बहुत गुस्सा आया। मैं खुल कर उससे चुदने को भी नहीं कह सकी थी. इस बीच रेखा आ गई, उसने दरवाजा बंद देखकर आवाज लगाई लेकिन हम लोग अपनी मस्ती में डूबे हुए थे कि ध्यान ही नहीं दिया. अब हम दोनों में काफी हंसी मजाक हो रहा था और वो बिल्कुल नॉर्मल हो चुकी थी.

करीब 5 मिनट बाद वो मुझे पलंग से नीचे ले गए और मेरे पीछे आ गए और मेरी कमर पकड़ के पूरा लंड उतार दिया मेरी प्यासी फुद्दी में! और मेरी गोरी गोरी पीठ को चूमते हुए मेरी चुदाई करने लगे. मैं जाने के बाद हमने थोड़ी बातें की, फिर मैंने उनसे कहा- मैं कहाँ सोने वाला हूँ?तब उन्होंने कहा- हम दोनों मेरे रुम में यानि बेडरूम में ही सोने वाले हैं.

जीजा जी- नीरज, चल तू बता … सबसे पहले जिया के अलावा तू किसके साथ मजा करना चाहेगा?नीरज हिचकिचाने लगा, वो जिया की तरफ देख रहा था.

अपनी सेक्सी चाची के मदमस्त चूचों को दबाने और चूसने में मुझे इतना मजा आ रहा था कि जैसे कोई रबड़ की बॉल मिल गई हो. एक तरफ तो मेरा मुंह उसकी चूत में था और दूसरी तरफ वो मुझे लंड चुसवाने का मजा दे रही थी. उनकी रोने का आवाज सुन कर श्वेता दीदी दीदी के कमरे के दरवाजे के पास आकर आवाज लगाने लगी- क्या हुआ प्रिया?साकेत भैया- कुछ नहीं तुम सो जाओ.

वो बोली- अच्छा, और वो तेरा यार आशीष? मैं जानती हूं कि तू ये सब उसी से सीख रही है. वो बोली- ऐसी कोई बात नहीं है सर!तो मैंने कहा- मैंने तुमसे पहले ही कहा था तुम मेरा ध्यान रखोगी, मुझे खुश करोगी. उन्होंने इसी अवस्था में रहकर मेरी चूत में दो उंगलियां घुसेड़ दीं और मेरी जीभ को चूसने लगीं.

वो बोला- साली जी, तुम फिक्र मत करो, तुम्हारी चूत को इतना चोदूंगा कि तुमसे चला नहीं जायेगा.

सेक्सी मूवी फिल्म बीएफ: परमीत की आवाज ट्रेन की साइरन की तरह हमारे कानों में टकराई और हम दोनों एक साथ खुश होकर सीधे घुटने के बल बैठ गए. जीजू ने मेरी पैंटी को उतार दिया और मेरी चूत को अपनी हथेली से सहलाने लगा.

मैं भी उसे कभी धीरे तो कभी तेज चोदने लगा ताकि हम दोनों चुदाई का पूरा मज़ा ले सकें. मैंने कहा- मैं जानती हूं चाची कि आप चाचा के लंड से चुदाई के बाद भी प्यासी रह जाती हो. ज़ेबा बुरी तरह शर्मा रही थी … जब मैंने उसके मम्मों पर हाथ रखा, तो उसने अपने आपको सिकोड़ लिया.

उसने मुझे कमोड पर हाथ रख कर झुकने का कहा और वो पीछे से लंड डाल कर मुझे चोदने लगा.

जैसे ही मैंने पढ़ा कि नायक ने नायिका की दोनों टांगें अपने कंधे पर रख लीं और लंड को चूत में जड़ तक पेल दिया. फिर मैंने उसके चेहरे पर लगे अपने माल को उंगली से इकट्ठा किया और उसके मुँह में डाल दिया. कई बार मैं विशाल को खुद ही मेरे बदन को छूने का मौका देती थी ताकि वो मुझे पटक कर चोद दे.