ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स नई वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

വീഡിയോ സെക്സ് വീഡിയോ: ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई, साड़ी के अंदर पूरी रोशनी तो नहीं जा रही थी लेकिन उनकी चूत की हल्की झलक मुझे मिल रही थी.

नर्सों की सेक्सी फिल्म

वो बाथरूम से निकल कर जल्दी से अपने रूम में चली गईं और दूसरी लाल रंग की साटिन की नाइटी डाल कर बाहर आ गई. नंगी सेक्सी पिक्चर दाईलंड को गांड के छेद पर रखवा कर वो धीरे से बैठती चली गयी और मेरा लंड मेरी बीवी की गांड में आराम से उतर गया.

मुझे लड़की को देखते देख चाचा बोले- बड़ी सुंदर बहू है न? बहुत सेवा करती है मेरी. मियां खलीफा पोर्न वीडियो सेक्सीधीरज मेरे दूध देखते हुए बोला- इकबाल तू सही बोला था, साली एक नंबर का माल है बहन की लौड़ी बड़ी गर्म माल है.

शैलू- ना ना मैडम जी, मुझे नहीं जाना इस हवेली में … और आप भी मत रहो यहां भूत रहते हैं.ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई: अब आगे देसी सेक्स का खेल:मालिक मालिक … गजब हो गया मालिक! जल्दी चलो!”बाहर से ही कोई चिल्लाता हुआ अन्दर भागता हुआ आया, जिसे देख कर मुखिया खड़ा हो गया.

इन दो दिनों में रुक्मणी भाभी मुझसे काफी घुल मिल गयी थीं, मुझसे हंसी मज़ाक करने लगी थीं.अंदर जाते समय उसकी सहेली मुझे देखकर मुस्करा रही थी।बाद में देर रात उस सहेली का भी कॉल आया। फिर उसकी सहेली भी मेरे लंड से चुदी.

fm रेडियो खोल सेक्सी - ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई

अब तक की सेक्स कहानीगांव की चुत चुदाई की दुनिया- 6में आपने जाना था कि मुखिया ने सुमन को हरी से चुदने के लिए राजी कर लिया था.वैसे तो मैं चाहती थी कि सर को अपनी गर्म जवानी दिखा कर इतना तड़पा दूं कि वो खुद आकर मुझे चोद जाएं.

उधर सुरेश ने मीनू के मुँह में लंड घुसा दिया और एक दो झटकों में ही उसका पानी निकल गया. ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई अम्मी ने उसका पूरा वीर्य खा लिया और लंड को चूस चाट कर एकदम साफ़ कर दिया.

आंह जानू मैं आपकी चुत को पहले प्यार से काटूंगा और अपने दोनों हाथ आपके दोनों चूचों को मसलूंगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई?

मैंने भाभी के व्हाट्सएप पर हाई का मैसेज किया, तो उनका जवाब नहीं आया. मैं होंठों के चुम्बन को बड़े अच्छे से करता हूँ और एक गुड किसर समझता हूँ. मैंने इशारे में आंटी से पूछा कि क्या हुआ तो उसने ना में गर्दन हिला दी और फिर अंदर चली गयी.

मैंने उनके पास कॉल करने के लिए कहा तो वो बोली कि वो खुद ही कॉल करेगी. अब हरी होंठों से लेकर नाभि तक जीभ को घुमाता जा रहा था और सुमन खड़ी हुई मज़े ले रही थी. अभी पहले उसको जाकर शांत कर।मामी से बात करने के बाद मैं पूजा भाभी के पास गया और उनसे माफी मांगने लगा और बोला- भाभी सॉरी, मुझसे गलती हो गयी.

अब समय और परिस्थिति के अनुसार दोनों में जिस किसी के होंठ या चूचे हाथ लगते, मैं पकड़ कर चूस लेता था. मैंने भाभी को जाकर बोल दिया, भाभी भी सफर से थक गयी थीं तो वो भी मान गईं. वो जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … इमरान … ऊईई … आह्ह … उफ्फ … हाए।इतने में ही मैंने फिर से भाभी के होंठों को अपने होंठों में लॉक कर लिया और जोर से पीने लगा.

मेरी सुंदर भाभी का नाम चित्रा है, जो एक्सर्साइज करने से एकदम फिट है. मैंने बिना कुछ कहे उनकी टी-शर्ट ऊपर कर दी और उनकी चूची का पहली बार दीदार किया.

जब विक्रम अटेंडेंस लगाने आया, तो मैंने उसी के रूम से अपनी और भैया दोनों की प्रेजेंट लगवा ली.

मैं अपने लिए चाय बनाकर भाभी के पास सोफे पर जाकर बैठ गया और उनको ऐसे ही घूरने लगा.

धीरे-धीरे मैं उनकी पैन्टी के किनारे से हाथ डालकर उनकी चूत सहलाने लगा. तू एक काम कर बलराम के पास जा, उसका हाल चाल पूछ कर आ और उसकी कोई सेवा भी कर आना. देख कैसे फनफना कर झटका मार रहा है!राजेश बोला- इसको शराब का नहीं तेरी गांड का नशा चढ़ गया है.

वो रोने लगी थी- अअअह ऊऊउ मम्मीईई रे … जीजू तुम तो हैवान हो गए हो अअअअ … दीदी कैसे सहती हैं. मैं उसकी चूत को चूसने लगा और वो मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. धोती में ही मोटा मूसल उछल कूद करके धोती को जैसे उतार फेंकना चाह रहा था.

अब्बू अम्मी के पास जाकर उनकी गांड की तरफ बैठ गए और अम्मी का पेटीकोट धीरे से उठा कर उनकी पूरी गांड को नंगा कर दिया.

बस की लाइट काफी देर पहले ही बुझ चुकी थी, तो कुछ खास दिख भी नहीं रहा था. पास जाकर उसने गरिमा की टी शर्ट ऊपर की और उसके मम्मों पर रंग रगड़ दिया. कुछ मिनट बाद हम दोनों झड़ने को हुए तो मैंने बुआ को फिर से अपने नीचे लिटाया और ऊपर आकर जोर से धक्के मारने लगा.

मैं पूरा लंड ले भी नहीं पा रही थी … मगर वे दोनों जबरदस्ती लंड पेले दे रहे थे. फिर पैसे भी मिलने लगे तो मैंने अपनी सहेलियों को इसका मजा दिलवाना शुरू कर दिया है. बहू मेरे पैरों के बीच अंडरवियर में उठे लिंग को आश्चर्य से देख रही थी और फिर शर्माने लगी.

उसने नीचे से चूचियों पर ब्रा ही पहनी हुई थी और आंटी की चूत नंगी ही थी.

इस तरह से आंटी ने मेरे साथ अपनी सुहागरात मनाई और मैंने भी पति बनकर उसकी खूब चुदाई की. बस आप झट से मेरा लंड अपने गुलाबी गुलाबी होंठों से सहलाते हुए पहले थोड़ा अन्दर लो और बोलो कि वाओ जानू ये तो लॉलीपॉप के जैसे लग रहा है.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई मुखिया- अरे बेटी, इतनी देर हो गई नाले में पानी नहीं आया … तो मैं देखने चला आया. मेरी माँ की चूत पूरी क्लीन थी और वो माँ की चूत में उंगली देकर उनकी फिंगरिंग करने लगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई मैं- भाई का कॉल आया था … वो बोल रहे थे कि भाभी का अच्छे से ख्याल रखना. आपकी पिंकी सेन[emailprotected]छोटी चूत की कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 6.

2 इंची लण्ड खड़ा होने लगा।बातचीत के दौरान ये भी पता चला कि सभी लोग काम पर गए हैं और लड़की पढ़ने।मैंने रात वाली बात पूछा तो उन्होंने बताया कि ये अक्सर होता रहता है। वे मेरे साथ नहीं सोते.

चुत लैंड की सेक्सी

मैं इस लॉकडाउन में जिस शहर में फंस गया था, वो मेरे घर से 1500 किमी दूर था. सुरेश के मुँह से लंड चुत और चुदाई की बातें सुनकर मीनू थोड़ी शर्मा रही थी. मैंने दीक्षा से कहा कि जो मैंने सेक्स टाइम बढ़ाने की और लंड कड़क करने की दवाइयां उसको दी थीं, तुम वो लेकर आओ.

मैं ऐसे ही बाहर लड़कियों के पीछे पड़ा था और घर में इतना बढ़िया माल है. हरी- उफ़फ्फ़ कितनी मादक खुशबू है तेरी चुत की … आज तो इसे चोदने में मज़ा आ जाएगा. फिर उसने बाथरूम में रखी अपनी शेव करने वाले रेजर से मेरी चूत साफ की और मुझे लेकर फिर से बिस्तर पर आ गया.

मैंने कहा- तो जब मैं आपको लंड दिखाता था तो कैसा लगता था?वो बोली- पहले दिन तो मैं डर ही गयी कि इस लड़के को ये क्या हो गया जो बाहर नंगा घूम रहा है! उसके बाद फिर मुझे अच्छा लगने लगा.

वो भी नखरीली रांड की तरह बेड पर लेट गई और चुत ठोकते हुए बोली- आ जाओ मेरे शेरों … आज जी भरके भोग लो अपनी जान का. सच में मैं बता ही नहीं सकता कि वो इस समय कितनी अधिक मादक और खूबसूरत लग रही थी. एक दिन मैं ऑफिस से आकर सोफे पर बैठा ही था कि समीक्षा बोली- जीजू मैं आपके लिए चाय ले कर आऊं!मैंने उससे कहा- नहीं, मैं आज दूध पियूंगा, तुम मुझे दूध पिला दो.

मैंने आंटी को चूमना जारी रखा और धीरे धीरे लंड को गांड में चलाता रहा. जब मैं उनके रूम में पहुंचा तो चाची तैयार हो रही थी और उसने ब्रा चढ़ा ली थी. सर ने एक धक्का दिया मैं जोर से चीखी- आईई मां … फट गयी … ईईईई … आईई.

संध्या मौसी से मैंने कह दिया था कि मौसी जी आप आराम करो मौसा जी को खाना मैं खिला दिया करूंगी. वो बोली- तुम अपना मसाज पार्लर खोल लो, बढ़िया चलेगा।मैंने बोला- ठीक है, देखेंगे बाद में!उसके बाद मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी चूत के पास हाथ ले जाकर सहलाने लगा और फिर एक उंगली उसकी चिकनी चूत में डाल दी.

रोशनी आई, तो सबने उससे बोला कि तू हमारे साथ रह सकती है, पर तूने किसी को बिगाड़ा या गलत संगत में डाला, तो अच्छा नहीं होगा. मैं सब देख कर दंग हुआ जा रहा था कि मेरी अम्मी के इतने प्यारे दूध हैं. उसके पैर अंदर की ओर मुड़े हुए थे इसलिए गांड मेरी ओर ज्यादा निकल आयी थी.

मैं किचन के अन्दर जा कर सरसों के तेल की बोतल ले आया क्योंकि जैल कम बची थी.

पूरी तरह से ठीक-ठाक होकर हम दोनों एक एक करके उस कच्चे घर से बाहर निकले. अब इसकी चुदाई की कहानी आगे लिखूंगी, तो आपका लंड भी टनटन करने लगेगा. उसके चुचे एकदम से फूले फूले से थे, जिनके निप्पल एक छोटे चने जैसे थे.

बस ये सोच रहा था कि बाकी सदस्यों के साथ अब ये भी मेरी दिनचर्या में शामिल हो जायेंगी. मैं इस हालत में इतनी मस्त हो गयी कि दिमाग समझ ही नहीं पा रहा था कि कौन सा मर्द ज्यादा अच्छी चुसाई कर रहा है.

दो मिनट में रूचि हो होश आया … तो उसके हाथ अपने आप ही उन फ्लावर्स को लेने के लिए आगे आ गए. वो कहने लगी- नहीं, तुम मेरी फूल सी बहन को हैवानों की तरह चोदोगे, मैं तुम्हें ऐसा कभी नहीं करने दूंगी. वो तेजी से अपनी गांड को ऊपर नीचे करते हुए अपनी चूत को चुसवा रही थी.

गुजराती सेक्सी वीडियो फुल ओपन

चार दिन बाद मेरी सासु मां ने मुझे कॉल किया, क्योंकि मेरी होने वाली वाइफ और ससुर बाहर चले गए थे.

कासिब ने जोर से मेरा चूचा मसल दिया और बोला- साली छिनाल रंडी कुतिया … मेरा लंड चूसने से मना करती है. इसी बात को लेकर कपिला से मेरी लड़ाई हो गयी और फिर मैं उससे कभी नहीं मिला. कुछ देर के बाद उसने मेरी गांड से लन्ड निकाला और छेद में फिर से थूका.

मीता को चैक करने के चक्कर में सुरेश बार बार उसके बूब्स और चुत को छूकर मज़ा ले रहा था. सुरेश- हां ये ठीक रहेगा … मगर आज नहीं क्योंकि मीनू की चुत पर आज सूजन है. सेक्सी दिखाइए सेक्सी सेक्सी सेक्सीफिर मैंने उसकी टांगें खोल दीं और अपना लिंग उसकी चिकनी चूत पर रख दिया और रगड़ने लगा.

मैं रात में मीनाक्षी से भले बात करता हूं, पर दिल दिमाग पर आप ही छाई रहती हैं. ऐसा लग रहा था जैसे स्वर्ग लोक से उतर कर पृथ्वी पर अप्सराओं का झुंड आया है और नदी के बहते स्वच्छ जल में स्नान का मज़ा लूट रहा है.

उनकी चूचियों को जी भर के दबाने के बाद मैंने अपना हाथ भाभी की जांघ पर रख दिया. बुआ पूरी तरह से उत्तेजित हो चुकी थीं और उनकी लाल रंग की पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी. राहुल बोला- ओके जान, मुझे पता है तुम्हें नाम तो मालूम है … लेकिन शर्म के मारे तुम नाम नहीं लोगी.

मैं लेट गया और जैसे मैंने उसके बदन को चूमने और चाटने के बाद उसकी सेक्सी चूत को चाटा था, वैसे ही उसने भी किया. जब वो फिर से तैयार हो गयी तो उसने अपने नीचे एक पीले रंग का तौलिया बिछा लिया. उसने हाथों से मेरी पीठ को पकड़कर मेरी छाती को अपने सीने से चिपका लिया और फिर थोड़ा चूतड़ों को ऊपर करके मैंने अपने मोटे खीरे को दाएं हाथ से पकड़ा और उसकी बुर में अंदर दबा दिया.

मेरा रूम से स्टेशन 3 किमी पर था, मैं वेट कर रहा था और स्टेशन पर आंखें सेंक रहा था.

मीता को चैक करने के चक्कर में सुरेश बार बार उसके बूब्स और चुत को छूकर मज़ा ले रहा था. फिर मैं मामी को यह घटना एक मनोहर कहानी के रूप में प्रस्तुत करने लगा।वो बहन की चूत चुदास को एक स्वाभाविक एवं प्राकृतिक घटना के रूप में सुनकर खुश हुई। मामी को मैंने स्पष्ट किया कि मेरे और मेरी उम्र के सभी नौजवानों में सेक्स के प्रति अत्यधिक रूझान ही इस तरह की घटनाओं का मूल कारण है.

फिर मैंने एक तेज़ झटके के साथ लंड अन्दर किया और जल्दी से उसके होंठों पर किस करने लगा. हैलो फ्रेंड्स, मैं आप सबकी चहेती पिंकी सेन एक बार फिर से आपके मनोरंजन के लिए एक बहुत ही कामुक सेक्स कहानी के अगले भाग को आपके सामने रख रही हूँ. जब मैंने अपनी आंखें बंद कीं तो उस सुन्दर स्त्री का चित्र मेरे चित्त में दिखाई पड़ा और मैं उसी को याद करते हुए अपने लन्ड को जोर-जोर से हिलाने लगा.

उसने मेरे गाल पर चूम लिया और बोली- प्लीज … बन जाओ ना … एक रात के लिये. सुरेश- अच्छा ये बात है, तुम उस लड़की के ऊपर से मज़े ले लेते हो और चोद नहीं पाते हो, तो उसकी क्या हालत होती होगी?रवि- नहीं, वो नींद में होती है … तब मैं ये सब करता हूँ. मैंने दोनों के लण्ड पकडे़ और ऊपर नीचे करने लगी।आदिल और विक्रम ने एक एक चूचा मुंह में ले लिया और उनको चूसने लगे। आदिल ने तभी मेरे चूचे पर काट लिया।मैंने चीख कर कहा- साले, क्या कर रहा है?वो बोला- कुतिया, तूने ही कहा था खाने के लिए.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई मैंने नीचे एक सफ़ेद टी शर्ट और छोटी सी स्कर्ट पहनी थी।विक्रम ने भी अपनी टी शर्ट उतार दी। वो ऊपर से नंगा हो गया और नीचे तो वो सिर्फ़ शॉर्ट्स में ही था।अब हम ड्रेस कोड में थे। उसने कार स्टार्ट कर दी। रास्ते में कभी वो मेरी चूची दबाने लगता तो कभी चूत पर हाथ मार देता था. इस सेक्सी फॅमिली चुदाई कहानी पर आप अपने विचार कमेंट्स में दें और यदि मुझसे कुछ और बात करना चाहते हैं तो मेरी ईमेल आईडी भी नीचे दी हुई है.

मारवाड़ी सुहागरात की सेक्सी

चूंकि नीचे पेटीकोट भी था और पैंटी भी तो मैं अच्छी तरह से चूत को महसूस नहीं कर पा रहा था. उसने तुरंत उठकर मुझे दीवार से हवा में ऊपर की तरफ चिपका दिया और आखिरी के धक्के ताबड़तोड़ जड़ना शुरू कर दिए. तब आदिल बोला- चल तुझे भी साफ करते हैं पानी से!उसने पेपर नेप्किन दिये और कहा- चल कार से निकल!मैंने कहा- क्यों?तो उसने कहा- वहीं तो पानी से नहलाने वाले हैं।मैंने कहा- ठीक है।मैं उतरी और वो दोनों भी उतरे और आदिल ने कहा- चल नीचे बैठ जा।मैं बैठ गई और आदिल मेरे सामने आकर खड़ा हो गया और बोला- आंखें बन्द कर और मुंह खोल!उसकी बात का मतलब मैं समझी नहीं.

अब उन्हें भी मज़ा आने लगा था, तो वो मेरा सिर अपनी बगल में दबा रही थीं. दीदी नाचने लगीं, मैं उनकी चूचियां उछलते हुए देखने लगा, मेरा लंड खड़ा हो गया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी सेक्सी फिल्मकुछ देर बाद मैंने अपना लंड निकाला, जिसे देख कर उसके आंखें फटी की फटी रह गईं.

वो मेरे लंड को प्यार से सहलाती रही और एक मिनट में ही मेरा लौड़ा फिर से तन गया.

उस पर मैंने इतना साउंड रखा कि मुझे पोर्न स्टार की तड़पने की आवाज़ सुनाई दे. मैंने बोला- आज तुझे रांड की तरह चोदेंगे, देख लेना साली आज तेरा क्या हाल करता हूं.

तुम संकोच मत करो इसको लेकर। वैसे भी तुम जैसे जवान लड़के के साथ तो कोई भी औरत मनोरंजन के लिए तैयार हो जायेगी. मेरी सुंदर भाभी का नाम चित्रा है, जो एक्सर्साइज करने से एकदम फिट है. सेब जैसे कड़क चूचे, जिनपर छोटे छोटे से भूरे रंग के निप्पल और पतली कमर के नीचे एकदम नोकदार चुत, जो एकदम क्लीन चमचमाती हुई थी.

भाभी चुदासी सी बोल पड़ीं- जब नीचे आग लगी होती है, तो तेज तो होना ही पड़ता है.

जैसे ही सभी लोग सड़क के दूसरी तरफ भागे, मैंने सुशी को गेट खोल कर भीड़ में शामिल कर दिया. वहां जाते हुए रास्ते में हम दोनों एक दूसरे से कुछ न कुछ बातें करते रहे थे और एक दूसरे से सहज हो चुके थे. इस तरह से उस रात मौसी की चूत मारकर मैंने इतना मजा लिया कि मैं मौसी का दीवाना हो गया.

मालिश करके सेक्सीइस सबमें एक बात ऐसी थी, जिसने मुझे अब तक नहीं छुआ था और वो था सेक्स. पिछले भागगांव की चुत चुदाई की दुनिया- 5में आपने अब तक पढ़ा था कि मीता के सामने सुरेश के मुँह से निकल गया था कि उसके दोनों भाइयों में से ही कोई एक उसकी जवानी से रात को छेड़छाड़ करता है.

देवर भौजाई की नंगी सेक्सी वीडियो

उसकी ये बात सुनते ही अशोक ने बोला- किशोर, ला इस कुतिया को अब मेरे हवाले कर दे. मुखिया- अबे भोसड़ी के … मेरा गुलाम होकर मुझे नहीं बता रहा!कालू- मालिक आपको मुझ पर विश्वास नहीं है क्या! आपका काम बन जाएगा और क्या चाहिए आपको, बोलो मंजूर है?मुखिया- साला पहले ही दिमाग़ खराब है. इस भाई ने बहन को चोदा सेक्स कहानी के प्रति अपनी राय, सुझाव मुझे जरूर मेल करें.

मैंने जल्दी से बैग से व्हिस्की की बोतल निकाली और दो पटियाला पैग खींच लिए. साधारण जीवन होने के बावजूद भी जवानी में कदम रखते ही मेरे अन्दर सेक्स और मर्दों में बहुत ज्यादा रूचि हो गयी थी. वो बोली- दीदी को बता दूं?मैंने कहा- तुम क्या बताओगी जानेमन, मैं ही बता देता हूँ.

मैं झड़ने के बाद एक मिनट वैसा ही खड़ा रहा और पूरा शांत होने के बाद फ्रेश होकर बाहर आ गया. उसकी हवस भरी सिसकारी निकल गयी- आह्ह … राज … और उसने मुझे अपने ऊपर पकड़ कर खींच लिया और मेरे होंठों को चूसते हुए अपनी चूत को मेरे लंड की ओर धकेलने लगी. हरी- आह कूदो मैडम जी, आह ऐसे ही उफ्फ … क्या गर्म चुत है तेरी … आह आज तेरी ऐसी जमकर चुदाई करूंगा साली तू याद करेगी मुझे.

सन्नो- ऐसे तो हम काम करते हुए बूढ़े हो जाएंगे और हमारी जवानी बेकार निकल जाएगी. अब सारे राज़ एक साथ जानोगी क्या! बस इतना समझ लो कि दो नंबर के काम हैं.

मैंने उसकी चूत को ऊपर-नीचे अंदर बाहर सब तरह से चाटा और उसको अपने थूक में पूरी नहला दिया.

मगर बिना रुके उसने फिर से एक धक्का मारा और मेरी गांड में उसका लंड पूरा घुस गया. सेक्सी वीडियो गधा वालाधीरज के मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगीं- आह … आह … बड़ी मस्त मालिश करती हो आंटी. कंचन का सेक्सी वीडियोमुझसे ज्यादा रुका न गया और मैंने उसकी चूचियों को बारी बारी से पीना शुरू कर दिया. मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागछोटी मामी की चुदाई बाड़े में- 2में आपने देखा था कि कैसे मैं सीमा मामी के यहां गया और मैंने पोंछा लगाते हुए उनकी चूची देख ली.

चाचा ने अपने हाथ से लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया और सुहानी उनके चूतड़ों और झांटों पर हाथ फिराती रही.

कालू- क्या बात है मैडम जी, उस हरी के लिए इतना तैयार होने की क्या जरूरत थी. मुखिया ने गीता को फिर से गोदी में बिठा लिया और उसके चूचे मसलने लगा. वो ढेर सारा थूक लगाकर धीरे धीरे अपने अंगूठे को पूरा अंदर बाहर करने में लगा हुआ था.

सुरेश ने मन में सोचा कि क्यों ना इस कच्ची कली को चोदकर इसकी सील तोड़ने का मज़ा लिया जाए. मैंने ट्रेन में अपना स्लीपर सीट ले लिया और कुछ देर के बाद ट्रेन चल पड़ी. देसी विर्जिन सेक्स स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि बंगाली भाभी ने अपनी ननद के बारे में मुझे बताया कि आ रही है और वो चुद जायेगी क्योंकि उसे लंड की जरूरत है.

जाट बॉय स्टेटस

वो अब मुझे जोर जोर से किस कर रहा था और उसका एक हाथ मेरी शॉर्ट्स के अन्दर पहुंच कर मेरी गांड को जोर जोर से दबा रहा था. शायद वो पहले भी चुद चुकी होगी क्योंकि जिस तरह से वो मजा लेना चाह रही थी उससे पता चल रहा था कि वह लंड का स्वाद ले चुकी है. सेकेंड ईयर में है लेकिन उसको मेरे देवर ने 2 बार पकड़ लिया अपने बॉयफ्रेंड के साथ घूमते हुए, इसलिए पढाई बंद करा दी हमने.

साले किसको बताएगा … उस नए इंस्पेक्टर को! साले हरामी, वो भी मेरा ही आदमी है.

माँ बाप सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक रात अम्मी अब्बू के कमरे आती आवाजें सुन मैं देखने गयी तो वे दोनों नंगे थे.

भाई- पांच दिन लग जाएंगे, क्यों कोई काम है!मैं- नहीं, मैं ऐसे ही पूछ रहा था. यदि मैं अपने लिंग के बारे में बताऊं, तो मेरा लिंग 7 इंच लम्बा और 2. सेक्स वीडियो साड़ी वाला सेक्सी वीडियोमैंने कामुक अंदाज में कहा- आ जाओ जानेमन, तुम्हारी बीवी तुम्हारे लिए तैयार है.

मैंने लंड को कच्छे के ऊपर से मसला और एक बार फिर से प्रिया की चूचियों पर टूट पड़ा. मैंने आंटी से कहा कि तुम्हें कितने दिन से पटाने में लगा हुआ था मैं, तुमने मुझे लाइन क्यों नहीं दी?आंटी बोली कि वो अपने पति से बहुत डरती है और वो उसको मारता भी है. कुछ देर में राजेश भी आ गया और मुझे वहां देख कर हैरान हो गया और बोला- तू इधर कैसे आ गया?मैं बोला- क्यों? नहीं आना चाहिए था क्या? तुमसे ही स्पेशल मिलने आया हूँ.

मैं उसके दोनों पैरों के बीच में गया और अपना लंड पकड़ कर चूत पर रगड़ने लगा. इतना बोलते हुए ही सोनू के लंड से वीर्य की धार मेरे चूचों पर आकर लगने लगी.

भाभी ने बिना कुछ संकोच किए मेरी बात मान ली और अपना हाथ वहां फिराने लगीं.

सोनू अब क्या तुम मेरे बारे में जानना चाहते हो?मैंने हां में सर हिलाया. सारा खेल उसको समझ में आने लगा कि पिछले दिनों मीता के साथ जो हुआ, उसका कारण ये रवि ही है. थोड़ी देर बाद उसको भी मजा आने लगा।फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रखा और जोर के धक्के मारने लगा.

सेक्सी हिंदी राजस्थान वीडियो अब उसकी चुत की आग ठंडी हो चुकी थी तो उसे किसी तरह की जल्दी नहीं थी. पांच मिनट के अंदर ही मामी ने मेरे लंड को चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया.

उसके बाद उन्होंने कपड़े से अपनी चूत और मेरे लन्ड को साफ किया। फिर हम दोनों एक दूसरे की बांहों में चिपककर नंगे ही सो गए।इस चुदाई के बाद फिर 3 बजे मेरी आंख खुली तो मैंने रीमा मैडम की चूत को सहला कर उनको जगाया. संगीता- हैलो रवि तुम कहां हो? घर पर मेहमान आए हैं और उनको तुम्हें छोड़ने उनके घर जाना है. उनके जाने के बाद मैंने उठकर ब्रा और पैंटी अलगनी पर टांग दी और नीचे आ गया.

फुल सेक्सी वीडियो चोदने वाली

मैं घर की ओर अपने चरमसुख की लालसा में बिना कहीं रुके पहुंचना चाहता था। परंतु समय ने करवट ली और बीच रास्ते मेरे पास मेरी माँ का फ़ोन आया।माँ बोली- तेरी मामी भी आएंगीं, उनसे बात कर कि तू उनको कैसे और कहां मिलेगा?सुनकर मेरा माथा ठनक गया. मैं अपने हाथों से अपनी इज्जत ढकने की कोशिश करने लगी लेकिन मेरे पति ने मेरे हाथ भी छातियों पर से हटा दिए. मैंने उससे कहा- जान धीरे बोलो, तेरी दीदी जाग सकती है, ज्यादा चिल्लाओ मत.

इस देसी सेक्स का खेल कहानी के लिए आपके मेल की प्यासी आपकी प्यारी पिंकी सेन. अपने कपड़ों को खोल मैंने लुंगी लपेट ली और मैं आराम करने लगा। रह रहकर उस लाल साड़ी वाली लड़की का नहाती हुई का नग्न बदन मेरी आंखों के सामने आ रहा था। लुंगी में से मेरा लंड खड़ा होने लगा.

दोस्तो, मैं राज शर्मा आपको अपनी इंडियन आंटी सेक्स कहानी बताने आया हूं कि कैसे मुझे एक आंटी की चुदाई करने का मौका मिला.

हम दोनों सहेलियों का पानी निकल जाने के बाद हम दोनों ही शिथिल हो गई थीं. रघु का लंड अब अकड़ कर दर्द करने लगा था, तो उसने मीनू के मुँह में घुसा दिया और उसके मुँह को चोदने लगा. मैं ऐसे ही बाहर लड़कियों के पीछे पड़ा था और घर में इतना बढ़िया माल है.

शाम को तय समय पर सुशी फिर से मौका देख कर घर से निकली और पीछे के रास्ते से मेरे मकान में आ गई. मेरा मन करता था कि कोई मेरे स्तनों को मसल डाले और उन्हें अपनी सशक्त मुट्ठियों में भींच कर निचोड़ दे कस के, मेरे होंठों को चूस डाले. मैंने देखा कि उसकी आंखें बंद हैं, अपने होंठ दांत में दबाए हुए वो ‘ऊ ऊ ऊ … आह आह …’ कर रही थी.

आपको कुछ आइडिया है कि ये सब कहां गए होंगे?मुखिया- अब क्या बताऊं बलराम जी.

ब्लू पिक्चर बीएफ चुदाई: कहां निकालूं अपने माल को?वो बोलीं- जहां तेरी मर्जी हो, वहीं डाल दे. मैंने चोरी से उसे मोबाइल में ब्लू फिल्म दिखा कर उसे गर्म किया तो …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम दीपक है और ये सेक्स कहानी मेरे एक पाठक ने अन्तर्वासना के लिए लिखने के लिए भेजी थी, जिसे मैं आपके सामने पेश करने जा रहा हूं.

भाभी नंगी नंगी चूत की कहानी में पढ़ें कि मैंने भाभी की दीदी को नंगी करके चुदाई शुरू कर दी थी. खैर, अगले दिन भाई साब उसको कंप्यूटर सिखाने के लिए नीचे कोचिंग सेंटर ले गए और हर रोज़ 1 घंटे के लिए वो नीचे कंप्यूटर सीखने जाने लगी. मैंने भी उसकी गांड पर चमेट मारी और बोला- ऐसे क्या देख रही है रंडी … तू साली बाहर दूसरों के लौड़े चुत में लेती है, तो मैं भी दूसरी चुत क्यों न चोदूं … पर मेरा प्यार और हवस तेरे लिए हमेशा ऐसी ही रहेगी.

एक दिन भाभी का कॉल आया- आज मुझे बाजार से कुछ कपड़े लेने हैं, तो साथ चलना.

वो जोर से सिसकारने लगी- आह्ह राज … आईई … आह्ह … उफ्फ … इस्स … क्या कर रहे हो … ओह … आह्ह … मजा आ रहा है … आह्ह … हां … चूसो … आह्ह … ऐसे ही।वो मेरे मुंह को अपनी चूत में अंदर घुसाने की कोशिश करने लगी. जब मुझसे रुका न गया तो मैंने भाभी को धक्का देकर पटक लिया और उसकी चूत को ऊपर से सहलाते हुए उसके बोबों में मुंह दे दिया. वो बोली- तुम अपना मसाज पार्लर खोल लो, बढ़िया चलेगा।मैंने बोला- ठीक है, देखेंगे बाद में!उसके बाद मैंने थोड़ा सा तेल लिया और उसकी चूत के पास हाथ ले जाकर सहलाने लगा और फिर एक उंगली उसकी चिकनी चूत में डाल दी.