बी बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,कुत्ता की सेक्सी वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

कविता भाभी का बीएफ: बी बीएफ सेक्सी, पर जैसे कि मेरी किसमत ही खराब थी।मेरे पति की प्रमोशन हुआ और उन्हें विदेश जाने का आदेश मिला।लेकिन मेरे सास ससुर ने मुझे जाने से मना कर दिया जिससे मैं भी नहीं जा सकी।संजय ने मुझसे कहा कि वो जरूर कुछ महीनों में आएगा और मेरी चुदाई करेगा।और उसका क्या था … रंडियों को चोदने मैं उसे भी मज़ा आने लगा था.

सेक्सी चुदाई किया

रास्ते में अंकल ने मेडिकल से आई-पिल ला कर दी। फिर थोड़ा आगे चल कर अंकल पानी की बोतल लाये, मैंने वहीं वो गोली खाई. लड़का का फोटो सेक्सीउसने अपना लंड सूंत कर थूक लगा कर टिकाया, तो जेम्स बोला- मेरे पास तेल की शीशी है.

मैं न्यासा की चुत पर अपना लंड घिसने में लगा था, पर अन्दर नहीं डाल रहा था. सेक्सी बीएफxxxउसने कहा- नहीं पूनम … अब कोई क्या कर रहा है, उस पर क्या कहा जा सकता है.

उनकी बड़ी सी गांड देखकर जो लग रहा था कि दीदी की जांघियां फाड़ कर पूरा का पूरा पिछवाड़ा बाहर आ जाएगा.बी बीएफ सेक्सी: वो आह करते हुए मुझे अपने सीने में दबा कर बोली- आह जोर से चूसो बड़ा मजा आ रहा है.

आप सब मेरा साथ दें और बतायें कि कहानी में कहां पर कमी रही और कहां कहां सुधार की गुंजाईश है.जो शीना की दिल की बात थी, उसकी ख्वाहिश थी मेरे लण्ड से चुदवाने की … वह तो अब बहुत ही अच्छे से पूरी हो रही थी और मेरे तो हर तरह से मजे ही मजे थे.

मराठी भाषा सेक्सी बीपी - बी बीएफ सेक्सी

मेरी पिछली कहानियों को आपका इतना प्यार मिला, उसके लिए मैं आपका धन्यवाद करता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि आगे भी मुझे ऐसे ही प्यार देते रहोगे और इमेल्स करते रहोगे.अगले भाग में चाची की बड़ी बहन परवीन आंटी को कैसे पटाया और कैसे चोदा … ये सब जानिए.

जब मैंने वहां पता किया तो मुझे पता चला कि इंटरव्यू एक्सपर्ट कुछ देर से आएंगे, इसलिए इंटरव्यू 1 बजे से शुरू होगा. बी बीएफ सेक्सी मैंने कहा- क्या?वो बोला- तुम जानती नहीं कि क्या दिखाना है?मैंने कहा- नाम ले कर बोलो, तो पता चले.

मैंने उसे बताया कि मेडिकल मसाज से बहुत सारी बीमारियाँ ठीक हो सकती हैं और मोटापा भी कम हो जाता है.

बी बीएफ सेक्सी?

फिर मैंने उसकी फुदी को अपनी उँगलियों से फैलाया और अपनी जीभ को बीच में रखकर उसकी फुदी चाटने लगा।यास्मीन अपने हाथों से मेरा सर पकड़ कर फुदी पर दबा रही थी, उसे मजा आ रहा था।अब मैं लेट गया और उसे बोला कि मेरे पैर के तरफ मुंह करके मेरे ऊपर आ जाओ और अपनी फुदी मेरे मुंह पर रख दो!यानि 69 वाला पोज।वो वैसे मेरे ऊपर आ गयी. मैंने जैसे ही भाई के लंड को हाथ में पकड़ा तो भाई एकदम से जैसे तड़प गये. मेरी मॉम ने मुँह खोल कर उस लड़के का लंड मुँह में ले लिया और उसका सारा माल निगल लिया.

उसने भी एक तेज आह के साथ अपने लंड से अमृत कलश छलका ही दिया, जिसे मैंने बड़े चाव से ग्रहण कर लिया. ” गौरी जल्दी से बोल पड़ी।पता है उसे देखकर मेरा मन क्या करता है?”त्या?”इसको खूँटी से लटकाकर इसकी टांगें पकड़कर खींच कर लम्बा थोड़ा लम्बा कर दूं?”हा. अब ऐसे में मकान मालकिन के अचानक ये पूछने से मैं घबरा गया और मेरी नजरें तुरन्त शायरा पर चली गईं.

उसने आधा वीर्य मुँह के अन्दर छोड़ दिया और आधा मेरे मुँह के ऊपर छोड़ दिया. वो समझ नहीं पाया और पूछने लगा- किधर चाची?मैंने उसके हाथ को उठा कर अपनी पैंटी लाइन पर रख कर कहा कि इधर करो. सुनील ने बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा- दीपा, अगर भाईसाहब बनाना है तो मैं चला.

इसके बाद शिल्पा ने जोश में आकर राहुल को बेड पर बैठा दिया और सेक्सी स्माइल करके उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई. एक चुदक्कड़ आदमी के साथ इतनी जवान और कुंवारी लड़की थी, फिर भी कैसे मैंने अपने आपको रोका, ये मैं ही जानता हूँ.

पहले मैं मौनी पर ध्यान नहीं देता था क्योंकि मेरी कई गर्लफ्रेंड थीं और मेरे यार दोस्त भी बहुत थे.

अब मकान मालकिन की उम्र में तो महीना आने से रहा, बाकी रही शायरा? वो पैड जरूर शायद उसका ही इस्तेमाल किया हुआ हो सकता था.

ऊई माँ, याल्ला … मर गई, मेरी गांड फट गई … तुम्हारा लण्ड है या मूसल!”जाने क्या क्या चिल्ला रही थी लेकिन मेरा लण्ड रूका नहीं और उसकी गांड में वीर्यपात करने के बाद ही निकला. मेरा नंगा सेक्स कहानी के पिछले भागगैरमर्द से चुदाई की लालसामें अब तक आपने पढ़ा था कि एक गैरमर्द का मस्त लंड मेरी चुत में लार टपका रहा था. मेरे मुँह से दर्द भारी आवाज़ निकल गई और मेरी आंखों से आंसू आने लगे.

सन्नी को इशारा किया, जिससे उसने न्यासा को अपने ऊपर लेटा कर उसे जकड़ कर उसके होंठों को चूसने लगा. बताइए मैं कब शिफ्ट हो सकता हूँ?अशोक- मेरी तरफ से आप अभी से शिफ्ट हो जाओ और यह चाबी आपको रूपा दे देगी. जब मैं घर से निकली तो एक बार मेरा दिल कहने लगा कि नहीं मुझे वहाँ नहीं जाना चाहिए.

कभी पूछ लिया, तो उनको मैं क्या जवाब दूंगी!मुकेश- ठीक है साली मादरचोद, पहले लंड तो चूस … फिर देख कैसे मैं तेरी मां चोदता हूँ.

बाकी बाद में!इतना बोलकर मैं उनसे दूर हट गयी और दूर जाकर मुस्कुराने लगी. आरिषा- मुझे कैसी दिक्कत … मुझे तो एक बंदा चाहिए ही है, जो मेरा ख्याल रखे. मस्त फिटिंग का काला सूट, लंबी चोटी, आंखों में काजल, पैरों में जूती … एकदम मस्त कांटा बन कर आई थी … बिल्कुल हूर की परी लग रही थी.

मैंने मौका देखते हुए अपने लन्ड को बाहर खींचा और एक जोर के धक्के के साथ अपने लन्ड को उसकी चूत के अंदर तक पेल दिया. मेरे हाथ से पर्स व टिकट‌ तो छूटकर गिर ही गए, साथ ही मैं भी अपने आगे खड़ी उस लड़की पर गिर पड़ा. वो आहें भरने लगी- आह … जान … तेज करो … आह … उह …!कुछ ही देर में उसने मुझे बांहों में कसा और पलट गयी.

मैंने जैसे ही उसकी पैंट हटाई, उसका 8 इंच का मोटा लंड मेरे सामने हवा में झूमने लगा था.

अब मेरी स्पीड बढ़ भी रही थी, मैं तेजी से मॉम की चुत चुदाई कर रहा था. हमारी बेटी जिस स्कूल में पढ़ने जाती थी वहीं पर एक आदमी उसके बेटी को लेने और छोड़ने रोज आया करता था.

बी बीएफ सेक्सी वो बोली- फिर?मैं बोला- फिर मैं तुम्हारे गर्दन और कंधों से भी चुम्बन लेता. शायरा की चुत में मैंने अपने प्यार का झंडा गाड़ दिया था और मेरा लंड अब उसकी चूत की गहराई में जाकर वहां से पानी निकालने के लिए तैयार था.

बी बीएफ सेक्सी डॉक्टर ने मेरी चूची को पी-पी कर, मसल-मसल कर पिलपिले आम से एक आकर्षक शेप दे दिया था और चूत की भी शक्ल सूरत बदल चुकी थी. प्रेम से उसने फिर से मेरे मस्तक पर किस करते हुए कहा- तुम बहुत खूबसूरत हो … और जितना लाजवाब तुम्हारा बदन है, उससे कहीं ज्यादा सुंदर तुम्हारा अन्तर्मन है.

इसलिए तो उसने उन्हें ना तो रोकने की कोशिश की … और ना ही उन्हें हमारे बारे में कुछ बताया.

इंग्लिश बीएफ नंगी फिल्म

होंठ सुर्ख लाल, सुंदर चेहरा, गदराया हुआ जिस्म देख कर बस लार ही टपक पड़े. मैं- तुमने मुझे जगाया क्यों नहीं?ज़ारा- पहले चाय पी लें?मैं- ठीक है ले आओ!मैं अंदर चला गया, कपड़े बदले. उससे बड़ी चाची भड़क गयी और बोल रही थी- तुम्हारे लंड में अब दम नहीं रहा, मुझे शांत किये बिना ही झड़ जाते हो।फिर बड़े चाचा कपड़े पहनकर बाहर चले गये.

हम तीनों ने चाय पी और वापस आते समय मैंने भाभी और अपने लिए नाश्ता और पानी की बोतल ले ली. पता चला कि कम से कम 15-20 दिन अस्पताल में रहना पड़ेगा, उसके बाद तीन महीने का कम्पलीट बेडरेस्ट होगा. उसके बाद मैंने भी दो पैग लगाये और फिर फ्रिज से बर्गर निकाल कर ओवन में गर्म करने के लिए रख दिये.

सामने से उसकी लाल रंग अंगिया में कैद उसके दोनों कबूतरों की कसमसाहट साफ़ दिखाई देने लगी थी.

इस समय मैं ऐसी परिस्थिति में था जब ना तो मैं भाभी को बेरहमी से चोद सकता था और ना वो जोरों से कामुक आवाज निकाल सकती थीं. अब इस फ्री इंडियन Xxx कहानी के अगले भाग में चलती बस में भाभी की मदमस्त चुदाई की कहानी को सविस्तार लिखूंगा. तभी संजू ने अपना थूक अपने हाथ में लिया और चूत में पूरा थूक लगा दिया जिससे चिकनाहट और बढ़ गई.

वो मेरे रसीले होंठों से कामरस चूसने लगा और उसके हाथ मेरे उन्नत नोकदार उरोजों को सहलाने लगे. अब हालात कुछ ऐसे थे कि मैं और ड्राइवर उसके मम्मों को मसलने में लगे हुए थे और वो हमारे लंडों को मसाज देने में लगी हुई थी. मैं उसकी चूत को कसकर भींचने लगा और वो एकदम से सिसकारने लगी- आह्ह … अम्म्म … आराम से … आह्ह … दर्द हो रहा है.

मैंने आगे बताया- मेरी एक खास तमन्ना है कि मैं तुम्हारी गांड भी मारूं क्योंकि मुझे तुम्हारी गांड बहुत पसंद है. मेरा तकरीबन आधा लंड अन्दर चला गया औऱ उसी वक्त मैंने किस करके उसका मुँह बंद कर दिया.

दो तीन बाद तेल से सनी उंगली डॉक्टर साहब की गांड में डाल कर घुमाई … अन्दर बाहर की, तो डॉक्टर साहब की गांड बिल्कुल ढीली हो गई. मेरा मन कर रहा था कि कमरे में जाकर तुरंत उसका तौलिया खोल कर सोफे पर ही उसकी गोद में सीधा उसके लण्ड पर बैठ जाऊं बिना कुछ कहे हुए!लेकिन साथ ही मैं विजय को तड़पाना चाह रही थी।लेकिन मेरा शरीर मेरे खुद के काबू में नहीं तो रहा था, मैं विजय से भी ज्यादा उतावली हो रही थी और खुलकर चुदाई करना चाह रही थी. वो अपनी आंख बन्द करके बोलने लगीं- आह आह … खा जाओ इन चूचों को मेरी जान … आह पी लो इनको अपने होंठों से.

उसने भी नशीली आंखों से मुझे देख कर कहा- आज तक मेरे बीएफ ने भी कभी मेरी बुर को नहीं चूसा था.

मैंने कहा- जानेमन कोई बात नहीं, मैं तुम्हारे अन्दर थोड़ी सी जान डाल देता हूँ. फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला और एक दो बार हिलाकर मेरी नाभि पर अपना माल गिरा दिया. लेकिन मैं न चाहते हुए भी खुद को रोक नहीं पाया और एक लंबी सांस लेते हुए भाभी की चुत में ही झड़ गया.

अशोक ने मुझसे उनकी फैमिली के बारे में पूछा, जिससे उसे पता लगे कि उनकी जरूरत कितने बड़े घर की है. इस बार के झटके से उसकी चीख उसके गले में ही रह गई और उसकी आंखों से तेजी से आंसू बहने लगे.

दोस्तो, हम दोनों का प्रेम विवाह जरूर था, पर समय के चलते हमारा वैवाहिक जीवन निरंतर खराब होता चला गया था. एक तो सर से मुझे करीब से बात करने का मौक़ा मिल जाता था और दूसरे मेरी गणित भी ठीक होने लगी थी. मैंने सोचा कि इस मस्त देसी सेक्स कहानी को आप लोगों के साथ शेयर करूं.

बीएफ एचडी पोर्न

तो मैंने लोशन अपनी उँगलियों पर लगा कर तीसरी उंगली भी उसकी चूत में डाल दी.

मैं तैयार हो गया फिर घर वालों को बोला- आज मेरी नाईट शिफ्ट है … सुबह घर आऊंगा. हमें बताया गया कि दोपहर में मरीज से केवल एक बार ही मिला जा सकता है. अनु मुझे एकान्त में जाकर पहले होंठों का चुम्बन लेकर बोली- फूफाजी, देखा मैंने अपना वादा पूरा कर दिया.

अब जब मेरा लंड उसकी चुत पर घिसता, तो वो नीचे से अपनी कमर काफी ज्यादा उठा कर लंड को अन्दर लेने को करती. उन्होंने अपना एक हाथ नीचे किया और मेरे शॉर्ट्स के ऊपर से ही मेरे लिंग को पकड़ लिया. सेक्सी वीडियो स्टोरी के साथउसने बाहर आकर सिर्फ एक नाईट गाउन पहना, फिर किचन में जाकर सबके लिए चाय बनाने लगी.

वो- वो क्यों?मैं- मूवी देखना और वो भी तुम्हारी जैसी हॉट लड़की के साथ, फिर तो कॉर्नर की सीट ही लेनी पड़ेगी ना, इतना अच्छा चांस कोई कैसे मिस करेगा!वो- अच्छा तो ये चल रहा है तुम्हारे दिमाग़ में!मैं- अरे नहीं … मैं तो‌ मजाक कर रहा हूँ. मीरा ने झट से सीमा की सलवार और पैन्टी उतार दी और फिर कुर्ता व ब्रा उसके शरीर से अलग करके उसे पूरी तरह से नंगी कर दिया.

उसने हंसते हुए मेरे पैंट का हुक खोल कर मेरे खड़े लंड और आंडों सहित बाहर निकाल लिया और एक ही बार में लंड को मुँह में भर लिया. मैंने पूछा- किसपे लुटा चुकी है?तो वो बोली- एक आदमी नीतू का दोस्त है. सीमा ने फिर अपना राग अलापा, बोली- एक बार मेरी सुन लो … सच बताना कि उस रात तुम्हारे साथ कौन था, क्या ये तुमने अपने पति को बताया या पति ने तुम्हें बताया … तुम सबको कसम है सच सच बताना?सबने कसम खाकर बताया कि न तो उन्होंने बताया और न ही उनके पतियों ने पूछा.

इसमें किसी भी समय रोगी में सेक्स करने की इच्छा जागृत होती है और सेक्स न होने पर हाथ पैर मारना या बेहोश हो जाना आम बात है. भाभी मुझसे आंख के इशारे से पूछने लगीं कि मैंने रोका क्यों?तो मैंने उनसे बोला कि मेरी जान को कपड़े मैं ही पहनाऊंगा. वह खुद नीचे अंडरवियर बनियान में लेटा था और उसने मुझे अपने ऊपर लिटा रखा था।फिर रोहित ने पीछे से मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा की दोनों पट्टियों को पकड़ कर निकाल दिया.

जब भी पैसे की जरूरत रही है, मुझे बिना किसी रोक टोक के मिल जाते हैं.

उसने बोतल में से थोड़ा सा तेल मेरी गांड पर टपकाया और उंगली की मदद से तेल को मेरी गांड में भर दिया. मेरे चुदक्कड़ साथियो, आपको मेरी गर्लफ्रेंड Xxx कहानी कैसी लगी … अपनी राय से मुझे अवगत कराएं.

मुझसे सब्र नहीं हो रहा था इसलिये मैं अब सीधा ही उसकी चूचियों पर टूट पड़ा। मैंने उसकी एक चुची को पकड़ कर पहले तो उसे ऊपर ऊपर हल्के से चूमा, फिर उसके निप्पल को अपने मुंह में भरकर जोर से चूस लिया. उसके सिहरने का कारण था कि अनिल की उंगली उसकी चूत के अन्दर पहुंच चुकी थी. मेरे ख्याल से आप सब दोस्त ये सोच रहें होंगे कि मुझे फ्री की चूत नीतू की मिली होगी.

बाहर दो ही कुर्सी थीं, दीपा वापिस मुड़ी एक और कुर्सी लाने तो वहाँ इतनी जगह ही नहीं थी कि तीन कुर्सी और टेबल पड़ सके. जैसे जैसे झटके तेज होते गये वैसे-वैसे ज़ारा की आहें भी तेज और मादक होने लगीं. ज़ब वो गिड़गिड़ा रहा था, उसकी गोलियों को मैंने हाथ से मसल दिया और लंड समेत गोलियों को ज़ोर से दबोच कर पूरे कमरे में गोल गोल घुमाया.

बी बीएफ सेक्सी मुझे उसके चूतड़ों की दरार में अपने लंड को रगड़ने में बहुत मजा आ रहा था. न ही वो मुझसे ये कहता कि मैं किससे क्या बात करती हूं और दूसरे लड़कों को आकर्षित करती हूँ.

தமன்னா ப்ளூ ஃபிலிம்

वहां पहुंच कर मैं स्टाफ रूम में गया, तो मुझे वहां एक 30-32 वर्ष की महिला दिखी. ये उन्होंने पहले भी बता दिया था कि आप जब भी आओगे, तो मैं आपको एक दो दिन में जाने नहीं दूंगी. ख़ास बात ये कि मुझको इस वक्त जैसा चाहिए था, इधर वैसा ही मुझे मिलने लगा.

” मधुर की आवाज काँप सी रही थी।क … क्या हुआ? कहीं एक्सीडेंट तो नहीं हो गया?” मेरी तो जैसे रूह ही कांप उठी और मेरा दिल किसी अनहोनी की आशंका से धड़कने लगा था।प्लीज एक बार आप घर आ सकते हो तो जल्दी आ जाओ. ” महेश ने अपनी बेटी को समझाया।ओह्ह्हह पिता जी, डाल दो अपना मोटा मूसल लंड मेरी चूत में और खूब जमकर मेरी चूत का कचूमर बनाओ. इंडियन देहाती सेक्सी एचडी वीडियोवह भी समझ गया था कि मैं जाग गई हूँ, उसने मुझसे कहा- माँ, मैं आपकी गांड मारना चाहता हूं.

मैं स्टाफ रूम में बैठे था कि वो आयी और मुझसे 2 कुर्सियां दूर बैठ गईं.

ठण्ड के समय अन्धेरा भी जल्दी हो जाता है, 7 बजे तक मैंने देखा कि हमारे कॉलोनी में सन्नाटा पसर गया था, उस दिन ठण्ड भी बहुत ज्यादा ही थी. सुनील का आधा लंड जिप के अंदर ही था इसलिए पूरा लंड मेरी चूत में नहीं जा पा रहा था.

मैं उसके होंठों को चूसने लगा और वो मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों को दोगुनी तेजी से चूसने लगी. उस लड़की पर गिरने से मैं नीचे गिरने से तो बच गया मगर वो लड़की मुझ पर बुरी तरह भड़क गयी‌ और तमाशा खड़ा हो गया. वो शादीशुदा थी मगर उसका पति मिडल ईस्ट में काम करता था, इसलिए वो उसके पास नहीं रहता था.

मैं अपनी कहानी में सभी पात्रों के नाम चेंज कर रही हूं लेकिन रिलेशन सही-सही लिख रही हूं.

मैंने देर ना करते हुए उनकी चुत में अपना मुँह लगा दिया और उनकी चुत चाटने लगा. मैंने भी सोचा यह अच्छा हुआ … अब मैं खुल कर चुदवा सकती हूं।शादी तय होने के बाद वो मुझे चोदने के लिए बुला लेता था. मैंने भी पीछे से हाथ ले जाकर उसकी जीन्स को टटोलते हुए उसकी पैंट के अन्दर हाथ डाला तो मैंने पाया कि उसने पैंटी भी नहीं पहनी हुई थी.

पहली बार वाली सेक्सी वीडियोमैंने बोला- आरव काम क्यों नहीं किया तुमने!आरव जबाव में कुछ नहीं बोला, बस रोने लग गया. अंकल मॉम की चूत को अपने हाथ से सहलाने लगे और धीरे धीरे चूत के दाने को पकड़ कर मींजने लगे.

रँडी सेक्सी

वो समझ नहीं पाया और पूछने लगा- किधर चाची?मैंने उसके हाथ को उठा कर अपनी पैंटी लाइन पर रख कर कहा कि इधर करो. उधर अनामिका एक पल के लिए रुकी और वो फिर से मेरा लंड मुँह के अन्दर बाहर करते हुए चूसने लगी. उनके बदन और लंड के आसपास बहुत सारे बाल थे और ये मुझे सबसे अधिक उत्तेजित कर रहा था.

वे दोनों हंसने लगे और बोले- इतनी आसानी से नहीं चोदेंगे तुझे … तूने हमें बहुत तड़पाया है. फिर मैंने उसके लंड को खुद ही संभाला और अपनी चिकनी चुत पर घिसने लगी. मेरी स्पोर्ट्स बाइक पर रेखा मेरे पीछे बैठी तो बाइक की बनावट के कारण मेरे ऊपर लदी हुई थी.

मैं खाना खाकर 11:30 बजे बाईपास पर बताए गए बस स्टैंड पर प्रतीक्षा करने लगा. मेरे चूसने से उन पर लगे थूक के कारण वो काले अंगूर की तरह चमक रहे थे. थोड़ी बहुत ना-नुकर के बाद मुझे हीरो-होंडा पैशन बाइक मिल गयी और मेरी साइकिल पर रोहित ने कब्ज़ा कर लिया.

उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हुआ … तो मैं समझ गया कि शायद उसकी गांड भी चुद चुकी थी. वो एक पल मुझे देखने के बाद बोलीं- तुम्हारी मम्मी का फ़ोन आया है … लो बात कर लो.

मेरी पिछली कहानी थी:पति के साथ दर्द और आनंद भरा बीडीएसएम सेक्सइसलिए मैं आपके लिए एक और गर्म कहानी लेकर आई हूं.

नमस्कार मेरे प्यारे दोस्तो और पाठको, कैसे है आप सब?उम्मीद करती हूँ कि सब मजे में होंगे, ऐसे ही खुश रहिए और मजे करते रहिए!मैं सुहानी चौधरी आप सबका अपनी अगली कहानी में स्वागत करती हूँ। आप सबसे निवेदन है कि कृपया कहानी को पूरा पढ़िये!हो सकता है मैं आप सबके ई-मेल का तुरंत रिप्लाई नहीं कर पाऊँ, क्योंकि मैं 3-4 दिन में चेक करती हूँ. बड़ी भाभी की सेक्सी पिक्चरजब मेरे मुंह से तेरी दीदी ने तेरा नाम सुना तो वो मुझे गाली देते हुए बोली कि तुमने मेरी फूल जैसी बहन को भी नहीं छोड़ा. सेक्सी मराठी पिक्चर दिखाओक्योंकि जब भी मॉम का पार्टी में जाना होता है, उस दिन मॉम बहुत खुश होती थीं. मेरा लंड जैसे ही खड़ा हुआ मैंने उनको लिटा कर उनकी चूत में लंड झटके से डाल दिया.

फिर एक झटके में ही पूरा लन्ड उसकी चुत में डाल दिया।लन्ड डालते ही वो दर्द चिल्ला उठी.

वैसा ही जबरदस्त मोटा … लगभग दस ग्यारह इंच का तो होगा ही … भयंकर लंड था. मैंने तो अनजाने में एक उंगली छाया की सूसू पर रख दी।उसकी आवाज आई- आआआआ आ…ह हहह भाभी।और हंसने लगी।मैं होश में आई कि मैं किस दुनिया में चली गयी थी और क्या पाप कर रही थी. मैंने भी सुनील भैया की गर्दन को पकड़ लिया और उनके लंड के मजे लेते हुए चुदने लगी.

राजा बोला- साली अभी तो रंडी की तरह गिड़गिड़ा रही थी … अब सह मादरचोद. उन्होंने कोई अच्छी वाली ब्रा पहन रखी थी, ये मैं उसकी दिख रही स्ट्रिप से कल्पना कर सकता था. मेरा अभी चुदाई करने का मूड तो था लेकिन मैं अभी कोई बात तय नहीं कर पा रहा था क्योंकि भाभी का मूड मुझे नहीं मालूम था कि वो क्या चाहती है.

सेक्सी नंगी सेक्सी नंगी पिक्चर

उसी तेज बारिश में अभिषेक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी चुचियां दबाने लगा और मुझे किस करने लगा. एक मिनट बाद मैंने अपने यार से पूछा- गिफ्ट कैसा लगा?उसने मुझे चूम कर बोला- बहुत अच्छा … मुझे जीवन में अब तक ऐसा कुछ नहीं मिला था. शायरा के पर्स में दो अढ़ाई हजार कैश के साथ दो-दो एटी‌एम कार्ड पड़े थे.

उसकी इस मादक अदा से मैं अब तक बस झड़ा ही नहीं था, बाकी मेरा सब काम हो चुका था.

मैं रोज अपनी छाती को सुबह शाम शीशे के पास खड़े होकर घूरती और मन ही मन कहती कि कुछ तो आकार बदलने लगा है और मैं खुश हो लेती.

अगले भाग में चाची की बड़ी बहन परवीन आंटी को कैसे पटाया और कैसे चोदा … ये सब जानिए. पर ना शायरा अपना जोश कम कर रही थी … और ना मैं अपनी गति कम कर रहा था. सेक्सी फिल्म ब्लू पिक्चर मूवीअब आगे:मैं ट्यूशन पढ़ा कर कमरे पर आया, तब से ये सोच सोच कर पागल हुए जा रहा था कि आज रात सील पैक चूत खोलने का मौका मिलेगा.

पर मेरा बेटा बड़ा हो रहा था।मेरे पति ने विदेश आने को कहा पर यहां सब फैला पड़ा था तो मैंने मना कर दिया।अब मैं आज के समय में आती हूं।मेरे पति विदेश में एक अच्छी पोस्ट पर हैं. ”किसने? क्या बात है?”तो शुरू करूं … परमीशन है?हां भाई साहब यह भी कोई पूछने की बात है. सपना आहें भरने लगी थी।अब मेरे अंडरवियर को अंशिका ने उतार दिया। उसके बाद मैंने अंजू की चूत के अंदर जीभ डाली.

कुछ देर विक्रम यूं ही उसे प्यार से निहारता रहा, फिर अपने मोबाईल से उसकी कुछ तस्वीरें ले लीं. एक बात पूछूं आपसे भाभी?”हां बोल?”आज आपने जानबूझकर मुझे विजय के घर पर रहने के लिए बोला.

सुगंधा भाभी मुझे होंठों पर चूमते हुए वासना से भरी आवाज में शरारत करते हुए बोलीं- आह कैसी परमिशन.

मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि राहुल शिल्पा की गांड भी मारने वाला है. वो बोली- मैंने आज तक गांड चुदाई नहीं करवाई है मगर तेरी इच्छा है तो कर लेना. मामी को उनकी पैंटी तो मिली नहीं … लेकिन उनकी नजर मेरे खड़े लंड पर जरूर पड़ गयी.

बिना आवाज वाला सेक्सी वीडियो आरिषा भाभी को अपने नौकर रामू के मोटे लंड से दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगीं- लंड बाहर निकालो … आह मैं मर गई. मेरी सास अन्दर ने काली ब्रा पहनी हुई थी, जिसमें वो और भी मस्त माल लग रही थीं.

मगर मैंने देखा कि आस पास के लड़के लड़कियां एक दूसरे से चूमा-चाटी कर रहे थे और किसी ने किसी का लंड पकड़ रखा था, तो किसी ने उसके मम्मों को दबा दबा कर उसकी मीठी मीठी आवाजें निकलवा रहा था. रास्ते में अंकल ने मेडिकल से आई-पिल ला कर दी। फिर थोड़ा आगे चल कर अंकल पानी की बोतल लाये, मैंने वहीं वो गोली खाई. जैसे ही मैंने लंड फंसाया, उसी वक्त मैंने प्रीति की कमर पकड़ कर एक जोरदार धक्का दे मारा.

बीएफ एचडी वाला सेक्सी

उसको भी अपना पानी जल्दी निकालना था ताकि वो मेरे लंड का मज़ा दर्द से नहीं बल्कि एन्जॉय करते हुए ले सके‌. मैं उसकी चूत को कसकर भींचने लगा और वो एकदम से सिसकारने लगी- आह्ह … अम्म्म … आराम से … आह्ह … दर्द हो रहा है. वो पूरी असली लंड की तरह का था, क्योंकि जो फोटो उसने मुझे पैकेट में थी, उसमें लंड की फोटो ही थी.

वो हंस कर बोली- हां … ये तो है … कभी कभी मैं इसको अपने हाथों से सहला लिया करती थी … तो जरा सा पानी निकल जाता था, लेकिन आज ये झरना तो रुक ही नहीं रहा. स्वाति भाभी ने भी अब एक दो बार तो अपनी गर्दन व होंठों को छुड़ाने की कोशिश की मगर फिर वो भी शांत हो गयी.

उसे मैं कमरे में ले गया और उसे अपनी बांहों में लेकर अच्छे से किस करने लगा.

साड़ी उतारने के बाद जूली ने अपनी कमर मटकाते हुए अपने ब्लाउज के बटन चटका दिए और उसका ब्लाउज उसके मम्मों पर लटक गया. हर 15-20 धक्कों के बाद मैं एकदम से सुपर फास्ट ट्रेन के जैसे धक्के लगाने लगता, जिससे भाभी की हालत खराब हो जाती. अतः मेरे लिए कपल स्वैप करना सबसे बड़ी फैंटेसी बन गई और इसके लिए योजना बनाना आरंभ कर दिया.

लेकिन मैंने उन्हें यह नहीं बताया कि मैं विजय के घर होम आइसोलेट हो गई हूं. हालांकि हमारी स्लीपिंग बर्थ का कंपार्टमेंट बंद था, तो कोई भी हमें देख नहीं सकता था. उसके झटकों से ही मेरा लंड आराम से न्यासा की चुत में अन्दर बाहर हो रहा था.

मेरा भाई लूसी के बूब्स को चूस रहा था और वो हल्की हल्की आहें भर रही थी.

बी बीएफ सेक्सी: हम दोनों एकदम से वासना के वशीभूत हो गए थे और मैंने उसे सामने से अपनी बांहों में भर लिया. फिर थोड़ी देर के बाद मौनी का फोन आया और वो कहने लगी- ऊपर आ जाओ, मां सो चुकी है.

’ उसने इतना ही कहा और अपनी टांगें ऊपर उठा कर मेरी कमर पर ऐसे लपेट लीं, जैसे मुझे अपने लंड को ऐसे ही चूत में हमेशा के लिए रखने के लिए बोल रही हो. मेरे एक स्टूडेंट ने होम वर्क नहीं करने का एक ऐसा कारण बताया, जिसे सुनकर मैं हिल गया. मैं इधर उसका नाम नहीं ले सकता, आपके लिए मैं उसे जूली नाम दे रहा हूँ.

स्वाति भाभी अब कुछ देर तो शांत रही फिर बोली- वो मम्मी तो गुड़िया (सपना भाभी की बेटी) को लेकर मन्दिर गयी हैं … और घर में मैं अकेली ही हूँ!भाभी ने‌ अब हल्का सा अपना चेहरा बाथरूम‌ से बाहर निकालकर मेरी तरफ देखते हुए कहा।उसने इस बार ‘घर में मैं अकेली‌ ही हूँ’ इस बात पर कुछ ज्यादा ही जोर देकर कहा था.

ज़ोरदार 10 मिनट चुदाई के बाद मैं उनकी चुत में ही झड़ गया और मैं उनके ऊपर गिर गया. इस पर मनोज ने कहा- आप क्या बात करती हैं … थैंक्स तो मुझे उसका करना चाहिए, वरना मैं अभी तक किसी होटल में ही पड़ा रहता. मैं इंटरनेट के इस युग को सराहने लगा कि अब ऑनलाइन छेद के लिए लंड खोजने की व्यवस्था कितनी आसान हो गई है.