बीएफ वीडियो आजा

छवि स्रोत,सब चंगा सी

तस्वीर का शीर्षक ,

वॉलपेपर खूबसूरत: बीएफ वीडियो आजा, मगर अभी तक उन्होंने एक दूसरे को इस बात की भनक नहीं लगने दी कि मैं दोनों की ही चूतों के मजे लेता हूं.

मॉडल गर्ल

प्रीति के शब्द:मैं तो सुन्न पड़ गई थी, जब भाई ने मुझे नंगी ही डिलीवरी बॉय के सामने जाने को कहा. सेक्सी गेम पाठवाये सुनकर वो जोर से हंसने लगीं और उन्होंने मुझसे कहा- मुझसे छुपाने की कोई जरूरत नहीं है.

आह … क्या नज़ारा मैं इतनी गर्म थी कि दोनों बहुत बुरी तरह मेरे छेदों को लेना चाहते थे. गेम सेटिंगमेरी पिछली सेक्स कहानीभाभी ने घर बुला कर मेरे लन्ड का शिकार कियाआप सभी ने पसंद की, धन्यवाद.

तो मैं उसका सिर दबाने लगा और साथ मैं उसकी पास्ट लाइफ के बीएफ के बारे में पूछने लगा.बीएफ वीडियो आजा: फिलहाल मैं अपने पाठकों के द्वारा साझा किए अनुभवों को कहानी के रूप में अन्तर्वासना के माध्यम से आप सब तक पहुँचा रहा हूँ.

आज जीजा जी भी मुझे उन दोनों का सेक्स दिखाने के लिए जोर से आवाजें निकाल रहे थे.जब कमरे में पहुँचा … तो देखा बाकी सब मस्त सो रहे थे बस मौसी जाग रही थीं.

हस्तमैथुन करती लड़की - बीएफ वीडियो आजा

उसको समझाते हुए मैंने कहा- तुम भी तो सिंगल हो और मेरी भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.मेरे पूछने पर बोली- कुछ नहीं आज पता चला मेरी ननद कितनी नसीब वाली है कि उसे आपके जैसा पति मिला है.

मुझे भी चूत चाटने की ऐसी लत लगी कि मैं अब जब भी किसी को भी चोदता हूँ, तो पहले चूत चाट कर उसे 2 से 3 बार झड़ा देता हूँ, तभी लंड लगाता हूँ. बीएफ वीडियो आजा (मेरी जान अभी तो ये शुरुआत है … हमने अभी असली खेल तो शुरू ही नहीं किया है.

मुझे ऐसा लगता था कि वो मुझे पसंद करता है क्योंकि वो जब भी मेरे घर आता था तो मुझे ही देखता रहता था.

बीएफ वीडियो आजा?

टीवी की आवाज़ काफी तेज थी और ब्लू फिल्म में एक पॉर्न स्टार लड़की की चुदाई की आह-आह … हॉल में गूंजने लगी. मैडम का आदेश सुनते ही मेरी जीभ को जो काम करना था, उसने शुरू कर दिया. फिर मैंने फोन किया, तो अनुषी ने फोन काट दिया और सिर के पास रख दिया.

मैं उसकी चूत के दाने को चूसने लगा, जिससे वो और ज्यादा चुदासी हो गई. मुझे चूसने के बारे में नहीं पता और मेरा मन भी नहीं कर रहा था उनके लिंग को अपने मुंह में लेने का मगर वो चाहते थे कि मैं उनके लिंग को मुंह में ले कर चूस लूँ. वह काम करने की हालत में नहीं थी तो हमने उसे अगले दिन सुबह आने के लिए कह दिया.

ये कहकर नम्रता ने लंड को अपनी चूत के अन्दर कैद कर लिया और पाल्थी मार कर मेरी जांघों के ऊपर बैठ गयी. ताऊ जी भी बुआ की जांघों के बीच में अपनी गांड चला कर उसकी चूत में अच्छी तरह से लंड पेल रहे थे. वो बोली- ओके फिर आज क्या हुआ?मैंने उसे सब बता दिया कि अंकल ने किस किया, मम्मों को दबाया … वगैरह वगैरह.

मैं एक बॉडी मसाज पार्लर में औरतों की बॉडी मसाज करता हूँ और कोई औरत सेक्स की प्यासी होती है, तो मैं उसको सेक्स का मजा देकर सैटिस्फाइड भी करता हूँ. मैं मेले में निहारिका को ढूंढ रहा था, पर निहारिका अपनी भाभी के साथ रात आठ बजे आई.

आज वो साउथ अफ्रीका में एक कंपनी में अच्छी पोस्ट पर सर्विस कर रहा है.

ऊपर की ओर बढ़ती मेरे दोनों हाथों की उँगलियां बस, दोनों शिखरों तक पहुँचने ही वाली थी कि पर्वत शिखरों की ऊंचाई और बढ़ने लगी और साथ ही मेरी उँगलियों के पोरुओं तले पर्वतों का तल कुछ-कुछ कठोर हो उठा था.

थोड़ी देर बाद मौसी खुद ही अपनी कमर आगे पीछे करने लगीं और मेरे कमर को भी पकड़ कर आगे पीछे करने लगीं. मैं उसके होंठों पर लगे उसके चूत के रस को चाट रहा था।पट्टी बंधी आंखों में उसके चेहरे का सबसे कामुक भाग उसके होंठ थे जो चाटने के बाद कमरे की रोशनी में चमक रहे थे। मैं उसके दाईं तरफ के गाल पर किस करते हुए उसके कान से होते हुए नीचे गर्दन पर पंहुचा। मौसम ठंडा था और कमरे में ए. मैंने खुद को घुटनों के बल कर लिया और देखा कि नंगी रानी तौलिये पर खड़ी है.

अब ऐसे ही दिन निकल गया और रात हो गयी। अब रात को खाना खाने के बाद पहले की तरह ही मैं टीवी चालू करके बैठा हुआ था और मोनी बर्तन आदि साफ कर रही थी। अभी तक मोनी ने‌ ना तो मुझसे कुछ कहा था और ना ही कोई बात की थी. तो वो बोले- अरे तू तो मेरी बीवी की एक्टिंग कर रहा है, तो शर्मा क्यों रहा है? वो तो इसे बड़े प्यार से चूमती है और लॉलीपॉप की तरह चूसती है. मैंने कहा- तू तो बड़ी चुदक्कड़ है मानू!फिर मैंने बोला- एक बार मुझसे चुदवा कर देख, मैं तुझे सच में जन्नत का मजा दे दूंगा.

कब मेरा पेटीकोट ब्लाउज निकल गया और कब मेरे तन से मेरी ब्रा पेंटी के चिथड़े उड़ गए, पता ही नहीं चला.

केशव नीचे लेट गया और मुझसे बोला- मेरे ऊपर आ कर अपनी चूत में मेरा लंड लो. कुछ दिन बाद ही भाभी के हज़्बेंड का ट्रांसफर जयपुर हो गया, तो भाभी वहां चली गई. अगर तुझे एक मर्द से शांति न मिले तो हम सब मिल कर तेरी चूत को चोद देंगे.

वो अपने मायके में जो पहले 15-20 दिन रहा करती थी, अब उसको पांच दिन भी वहां रहने में दिल नहीं लगता था. मेरा पूरा लंड भाबी के मुँह में जाते ही मुझ पर न जाने कौन सा शैतान सवार हो गया, मैंने अपना लंड एकदम से भाबी के गले तक ठांस दिया. उन्होंने अपना हाथ मेरे कंधे पे रखा, तो मैंने भी बिना देर किये अपना भी हाथ उनकी कमर पे रख दिया.

उस प्यार में अब हवस का मिठास मिलकर मेरी गीतू चाशनी से ज्यादा मीठी हो गई थी जिसका गर्म-गर्म रसीला बदन मैं अभी भोगना चाहता था.

वैसे तो निहारिका रात को ब्रा और कच्छी निकाल कर सोती थी, पर आज मैंने फोन पर उसको रोक दिया था. मैंने मामी को आज से पहले उस नियत से नहीं देखा था, लेकिन आज मेरी नियत बिगड़ गयी.

बीएफ वीडियो आजा तभी मेरे दिमाग में बिजली सी कौंधी और एक ही पल में वसुन्धरा की झगड़ालू तबियत, सारी दबंगई, सारी बदतमीज़ी और इस वक़्त सहमी और छुई-मुई हो कर बैठी होने का राज़ समझ में आ गया. उन्होंने एक झटके में मेरी ब्रा और टी-शर्ट को निकाल फेंका और जोर जोर से मेरे बूब्स और निप्पलों को चूसने लगे.

बीएफ वीडियो आजा फिर उसने मेरे पूरे जिस्म को चूमना चाटना शुरू कर दिया, मैं भी उसका पूरा साथ देने लगी. मैं उसकी चूत को मसल रहा था, बीच-बीच में उसकी चूत को मैं जोर से मसल देता था और निप्पल को दाँत से काट लेता था.

अगर देखा जाये तो हम दोनों की करतूत में फर्क ही क्या है! जिस तरह से काजल सुमिना की सहेली है वैसे ही सुमिना भी तो काजल की सहेली है.

बीएफ सेक्सी पानी

हमने कई बार साथ कई सेल्फियां लीं, जिसमें किसी में वो मुझे पीछे से बांहों में लिए था, तो किसी में मैं उसकी नंगी पीठ पर हथेलियां घुमाती रहती थी. फिर मेरे भाई ने कहा- आशना बस अब तुम मेरा लंड फिर से चूसो और खड़ा कर दो. वैसे मैं तो दोनों बहनों की तरह दिल खोलकर नीचे ऊपर दोनों का मज़ा लेने को बेकरार थी.

पांच मिनट बाद मैं भी उनके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा माल पी गईं. पूरे कमरे में फट फक की आवाज़ गूंज रही थी और मैं भी मदहोशी में चिल्ला रही थी. सामने वाले टोयलेट में भी कोई है, इसलिए चैक कर रहा था।फिर कुछ देर बाद सामने वाले टॉयलेट के गेट की खुलने और बन्द होने की आवाज आयी तब हम दोनों को थोड़ी शांति मिली.

मेरे ख्याल से मेरी ऐसी बेलगाम कामुकता मेरे अवचेतन मन की अतृप्त और दबायी गयी ख़्वाहिश … प्रिया की ख़्वाहिश का ही नतीजा था.

मैंने एक हाथ से भाभी की सलवार का नाड़ा खोल दिया और चुत को सहलाने लगा. अंकल जी का बदन देख मैं उनके चौड़े चकले सीने पर मैं रीझ उठी और मन हुआ कि उनकी छाती से जा लगूं; हम लड़कियों को पुरुष की शक्ल से ज्यादा उनका चौड़ा सीना ज्यादा आकर्षित करता है, पता नहीं क्यों … अंकल जी के सीने से लगने की इच्छा उन्होंने खुद पूरी कर दी और सोफे से उठा कर मुझे अपनी मजबूत बांहों में भर लिया. मैंने उसकी गांड के छेद को चूसा और फिर अपना लंड अपनी बहन की गांड पर लगाकर धीरे से अंदर धकेलने लगा.

उस पर गुलाब जल लगाया और ट्रांसप्लांट ब्रा पेंटी पहनने के बाद साड़ी ब्लाउज पहना. लेकिन मेरा लंड मुट्ठी मारते मारते टेड़ा हो गया और एक मिनट में पानी भी निकल आता है. नारी भले ही किसी और टॉपिक में रूचि रखे न रखे लेकिन जब बात शॉपिंग पर आ जाती है तो उसको दुनिया में इससे रूचिकर विषय शायद ही दूसरा कोई लगता हो। अपनी चतुराई पर मैं फूला नहीं समा रहा था.

हम अलग हुए और एक दूसरे की बांहों में आकर एक दूसरे के मुँह को चूसने लगे. मैं गिरने को हुआ, तो मामी ने मजाक में मेरे चूतड़ों पे जोर से हाथ मारा और हंस दीं.

चाटो बॉस!! मजा आ रहा है … ओह्ह … ओह्ह्ह्ह” मैं अपनी गांड उठा उठाकर कह रही थी. तभी अंकल भी मेरे पास आकर बैठ गए और मेरी टी-शर्ट के ऊपर से ही मेरे मम्मों को मसलने लगे. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोलने लगी- कुछ नहीं … मेरी चुत को बहुत सुकून मिला है.

उसकी गर्म सी चूत की गर्मी मुझे जांघ पर महसूस हुई और मेरे शेर ने अंगड़ाई लेनी शुरू कर दी.

मैंने तुरंत चाची को बेड पर लेटा दिया और दोनों टांगों को फैला कर लंड चूत के मुँह पर सैट करने के बाद जोर जोर से चोदने लगा. पर उन्होंने ऐसा कुछ करने के बजाय मेरा कुर्ता और शमीज उतार डाली और झट से मेरी ब्रा का हुक खोल दिया. उसके बाद उसने कहा- तुम बार की लोकेशन ही सर्च कर रहे थे न? तुम्हें भी बीयर बार जाना है क्या?मैंने कहा- हां इधर बैठ कर क्या करूंगा.

उसने खुद सजा पा ली थी लेकिन अपनी जान को गलत साबित नहीं होने दिया था. थोड़ी देर बाद मुझे शरारत सूझी और मैंने अपना एक हाथ रीना की कोमल जांघों पर बढ़ाया और हल्के हल्के उसकी कोमल मखमली जाँघें सहलाने लगा.

उन्होंने कहा- इससे पहले कभी भी इतनी देर तक चुदाई नहीं हुई और न ही इतनी अन्दर तक मैंने लंड को महसूस किया. मैंने भाभी को सोफ़े पे लिटा दिया और उनका ट्रेक सूट उतार कर अलग कर दिया. इस वजह से दूसरे दिन सुबह से ही मुझे वनिता के ससुर के लंड का शिकार बनना पड़ा.

इंग्लिश सेक्स इंग्लिश सेक्स बीएफ

मैंने फिर अपने हाथों से उसकी चुत को खोलकर लंड को सैट करके फिर एक जोरदार झटका मारा.

मैंने जब तक धक्का लगाता, उसने खुद ही गांड उठा कर लंड अन्दर डलवा लिया. मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया और मेरे बैग से मैंने तेल और जैल निकाल कर बगल की टेबल पर रख दिया. सो मैं नम्रता के जांघों के बीच आ गया और लंड को चूत के मुहाने पर टिकाकर एक झटका दिया.

तभी पीछे से मेरी मम्मी की एकदम से आवाज आई- कौन आया है?तब जाकर मैं बुआ से अलग हुआ, लेकिन जब तक गले लगा रहा, मैंने महसूस किया कि बुआ भी मेरी चौड़ी छाती की गर्मी का मजा ले रही थीं. अब वो बोले- लाओ जरा तुम्हारा जिस्म भी तो देखें कि अंदर से तुम कितनी सुन्दर हो. मुस्लिम बफटीवी की आवाज़ काफी तेज थी और ब्लू फिल्म में एक पॉर्न स्टार लड़की की चुदाई की आह-आह … हॉल में गूंजने लगी.

मैं बोला- क्या कहां डाल दूँ?वो नशीली आंखों से मेरी आंखों में झांकते हुए धीरे से वासना से बोली- अपना लंड मेरी बुर में डाल दो. ऊपर से मोहतरमा तहज़ीब से ऐसी कोरी कि मैं और सुधा जैसे ही एकांत में बैठते तो घड़ी-घड़ी बिना दरवाज़ा नॉक किये दनदनाती हुयी बिना मतलब कमरे में आ घुसती.

रानी तब तक बेल्ट खोल चुकी थी और पैंट को ढीला करके ज़िप भी खोल दी थी. भाभी उसको वहां से उठाते हुए किसी काम के बहाने से कमरे से बाहर लेकर चली गई. उनके संपर्क में आकर यह तो संभव था ही नहीं कि आप उनका दिल से अपने आप ही सम्मान करना शुरू न कर दें.

वह भी उतावली है चुदाई के लिए! क्यों न उसकी पहली और आमिर की पहली चुदाई करवा दें?मैं और भी उतावला हो गया और बोला- जल्दी करवाओ. अपने लंड से वह मेरी दीदी की छोटी सी गांड की चुदाई करने लगे और मेरी दीदी की चीखें निकलने लगीं. ये पहली बार था, जब मैं किसी लड़की को बिना टॉप और ब्रा के देख रहा था.

दोनों पैर बेड पर, दोनों खड़े हुए घुटनों को अपने दोनों बाजुओं से क्रास पकड़ कर अपनी ठोड़ी घुटनों पर रख कर मेरी ओर गहरी नज़रों से देख रही वसुन्धरा किसी और ही आयाम की लग रही थी.

इतना कह कर मैं बाथरूम में गया और अनुषी को याद करते हुए मुठ मारने लगा, जल्दी ही लंड ने पानी छोड़ दिया. वो अपने हाथों से मेरी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर मेरे मुंह को ऊपर-नीचे करने लगा.

जीजा जी मुझे मजा दे रहे थे और मजे में मैं यह नहीं जान सकी कि लिंग को ज्यादा जोर से नहीं मसलना चाहिए. पीछे से एक लड़के ने सूट को मेरी गांड से हटा कर मेरी गांड को दबाना शुरू कर दिया. आपको ये मेरी गैंगबैंग चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

फिर उसने मेरे पीछे हाथ लगाया और बुरके के ऊपर से मेरी 36 नाप की गांड दबाने लगा. उस पर गुलाब जल लगाया और ट्रांसप्लांट ब्रा पेंटी पहनने के बाद साड़ी ब्लाउज पहना. मैंने भी पीछे से उसे पकड़ लिया और उसके बूब्स दबाते हुए उसकी गर्दन में किस करने लगा.

बीएफ वीडियो आजा ऐसे ही एक बार मैं और मौसी खेत में चुदाई कर रहे थे … तभी मौसी की एक पड़ोस की भाभी ने हमें देख लिया … उसके बाद क्या हुआ, वो सब कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. लेकिन उसने मेरे हाथ की सिगरेट ले ली और मुझे दूसरी सिगरेट जलाने की कह दी.

नेपाली लोकल बीएफ

तत्काल वसुन्धरा मेरा सर अपने हाथों में ले अपने उरोजों पर दबाने लगी और उसके मुंह से आहों-कराहों तूफ़ान फ़ट पड़ा- आह … उफ़ … हा … उई … ई … ई … हक़्क़ … सी … इ … इ … ई … ई … आह … उफ़ … हाय … जोर से करो राज … यस … यस … ओ गॉड! सी. कुछ देर एक दूसरे को देखने के बाद मैंने मामी को लेटा दिया और उनके ऊपर आकर उनको किस करने लगा. कुछ ही देर में उनके लंड ने कामरस से चिकनी हो चुकी मेरी चूत में मजा देना शुरू कर दिया.

आज मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ, वो किसी और की नहीं, मेरी अपनी है. काम तो कल्पना में ही विराजता है और कल्पना शुरू होती है आधे-अधूरे, ढके छुपे शब्दों से, अनजाने में सीने से ढलके आँचल से, तिरछी-नज़र से, सहज़-इशारे से, झुकती पलकों में अधूरे से इकरार से, महबूब के अपने निचले होंठ को दांतों से तिरछे काटने में. व्हाट इस सेक्सउसके ब्लाउज में भरे हुए चूचे देख कर मैं उन पर टूट पड़ा और उनको ब्लाउज के ऊपर से ही जोर से भींच दिया.

अन्दर जाते ही मैंने निहारिका को बेड पर लिटा लिया और और उसके ऊपर चढ़ गया.

हाँ … हाँ यही बात है!” वसुन्धरा के बारे में सोचते हुए और ख्यालों में उलझे हुए मेरे मुंह से ये शब्द निकल गए. एक टाइम आया, जब मैं मेरी चचेरी बहन और मेरी गांड मारने वाला दोस्त रवि तीनों ने साथ में एक ही बेड पर अकेले वक़्त गुजारा.

ऐसा लग रहा था कि जैसे ताऊ जी के हाथ के छूने से उनको बहुत ज्यादा मजा आ रहा है. मैंने थोड़ी देर में ही दूसरा झटका मार दिया और पूरा लंड शीतल की चूत में जड़ तक पेल दिया. इसका असर यह हुआ, जो लंड अभी तक नम्रता की जांघों के बीच सोया हुआ था.

पहले तो टेंडर अटेण्ड करने और नेगोटिएशन्स के लिए, फिर इक बार प्री-डिलीवरी इंस्पेक्शन के लिए आदि-आदि.

सोनल- भाई अगर आप दोनों की चुदाई का खेल हो गया हो, तो नाश्ता तैयार है. मैं बार बार बाहर की तरफ ध्यान दे रही थी और वो मुझे दबाने में मस्त था. दूसरे दिन वनिता दोपहर में घर आई और मुझसे पूछने लगी कि पति कब गए?मैं बोली- रात में 11 बजे.

मछली मारने की तरीकामैंने शॉपिंग का समान उठाया, बाहर आया। रास्ता बिलकुल साफ था, कोई जगा हुआ नहीं था। न ही इस फ्लोर के बाद किसी के मिलने की आशंका थी। मैंने उसके हाई हील्स निकाल दिए ताकि सीढ़ी चढ़ने में उसे परेशानी न हो। सीढ़ी लिफ्ट के बगल में ही थी।वो बिल्कुल नंगी थी. या तो मैं तुम्हारे गांव ही आ जाऊंगा वरना तुमको फिर सतना ही बुला लूंगा.

हिंदी इंडियन सेक्सी वीडियो बीएफ

अजय ने मेरी चुचियों पे बैठ कर मेरे मुँह में अपना लौड़ा दे दिया और नीचे से वरुण मेरी चूत चूसने लगा. कुछ देर बाद मुझे जानकारी मिली कि मामाजी को अभी कुछ देर में ही लखनऊ जाना है. राधिका- अब मुझे समझ में आया कि तुम तब क्यों सोनल को छोड़कर दिशा को चोदने लगे थे.

एक हाथ से मैं काजल की चूची को मसलने लगा और दूसरे हाथ पैन्टी के ऊपर से काजल की चूत को सहलाने लगा. वैसे तो मुझे भी गरबा और डांडिया खेलने का शौक है और मुझे डांडिया खेलना आता भी है. मगर खिड़की खुली हुई थी तो मैं खिड़की में खड़ा होकर स्थिति का जायजा लेने लगा.

आठ-दस धक्कों के बाद लंड ने उसकी चूत के अन्दर पानी छोड़ना शुरू कर दिया. फिर मैंने उसके दोनों चूचों को हाथ में पकड़ा और उसके ऊपर लेटता चला गया. लंड चूत की फांकों में घिसते हुए ही उसने एक हल्का सा धक्का मेरी चूत में मारा.

सुमन एकदम से उठ कर कहने लगी- क्या कर रही है?मगर मैंने फिर से सुमन के भीगे हुए चूचों को अपने हाथों में पकड़ लिया और उनको दबाने लगी. हम लोग पहले साथ में काम कर चुके थे, लेकिन मैं बाद में वहां से काम छोड़कर चला गया था.

मैंने अपने दोस्त से बोला कि तू तेरा और मेरा नम्बर लिख कर उधर फेंक दे.

उसके चूचों को मुंह में लेकर में चूसने लगा और उसके निप्पलों को पीने लगा. रवीना टंडन की नंगी फोटोमेरी मोटी और गोल चूचियों को देख कर नीचे वाले लड़के ने अपने दोनों हाथों में उनको भर लिया और उनको कस कर दबाने लगा. बाथरूम करते हुए वीडियोमैंने पूछा कि तुमको कैसे पता कि इससे अच्छा नहीं लगता? क्या तुमने कभी ऐसा किया है?आतिशा हड़बड़ा कर बोली- नहीं. घर आकर मैं अपने रूम में चला गया और आंटी भी अपने काम में व्यस्त हो गईं.

उसने मुझे दिखा कर उंगली से निकाल-निकाल कर हर एक कतरा पीया मेरे रस का। फिर उठी और मेरी गोद में आ कर बैठ गयी.

मामी- हां चोदो मेरे जानू चोदो … अपनी मामी को … मैं कब से इस दिन का इंतजार कर रही थी. मौसी ने एक बार फिर मेरी तरफ गुस्से से देखा और छी करते हुए मेरे लंड की तरफ झुक गईं और मेरे लंड को पकड़ कर सुपारे पर थूक दिया. आप सब जानते हैं कि पूजा के साथ मेरी चुदाई की तमन्ना पूरी हो रही थी.

इस वजह से उसकी आंखें बंद हो गई थीं और वो मज़े ले ले कर आवाज़ निकाल रही थी. और वसुन्धरा जी! आप भी ध्यान रखना प्लीज़! हम घर नहीं गए, कोई कारण ही नहीं था घर जाने का. लगभग नंगे होकर मैंने मामी को वहीं बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर बेतहाशा चूमने लगा.

सेक्सी बीएफ हिंदी जंगल

मेरा बदन अब तक अच्छा खासा भर चुका था, मेरे चेहरे पर लुनाई आ गई थी, मेरी ब्रा का साइज़ भी बदल गया था और मैं पूरी तरह से माल बन चुकी थी. मुझे थोड़ा दर्द होने लगा था और मैं हल्की हल्की सिसकियां भी ले रही थी- आऽऽऽहह फ़क मी … फ़क मी!यह सुनकर उसे जोश आने लगा था और वो और ज़ोर से मेरी चूत को अपनी उंगलियों से चोदने लगा. रबड़ी में खूब किशमिश, बादाम, पिस्ते, अखरोट, काजू और छुआरे पड़े हुए थे.

मैंने कभी उसके साथ पहले ऐसी बातें नहीं की थीं, तो मैं भी शर्मा रही थी.

मैंने उसे रास्ता सुझाते हुए कहा- उंगली को थूक से गीला करके गांड के अन्दर डालो, चली जाएगी.

फिर उसने मेरे पीछे हाथ लगाया और बुरके के ऊपर से मेरी 36 नाप की गांड दबाने लगा. मेरी तो जान निकली जा रही थी कि कहीं मैं चुत में पहुंचने से पहले झड़ ना जाऊं. श्रुति सेक्सीकरीबन पांच मिनट बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ, तब मैंने राधिका को उठाकर बेड पर पटक दिया.

विशाल के शब्द:मित्रो, मैंने अपनी बहन के साथ हजारों बार सेक्स किया, लेकिन उससे मेरा मन कभी नहीं भरा. मैं उसके होंठ चूसने लगा और मैंने अपना औज़ार एक ही झटके में उसकी चूत में दे मारा. फिर हम दोनों में यहाँ-वहाँ की बात होने लगी और होते-होते बात सेक्स तक पहुंच गई.

मैं तो बस अपनी गीतू को चूसना चाहता था।मैंने देर न करते हुए उसकी गुलाबी रंग की पैंटी उतार दी. पर कुछ में तो मेरे सुबुद्ध पाठकों के वाक़ई में लाज़बाब सुझाव थे या बहुत ही बुद्धिमत्तापूर्वक आलोचन.

वैसे मैंने उस भाभी के बारे में आप लोगों को अब तक कुछ भी नहीं बताया है.

बाप ने मस्ती के साथ करीब दस मिनट तक अपनी दोनों बेटियों से अपने लंड को चटाया और लंड का पानी निकाल कर अलग हो गया. तभी दिशा और राधिका दोनों एक दूसरे से लेस्बियन किस करने लगीं और मम्मे सहलाने लगीं. मैं उसकी गुलाबी सी चुत को देख रहा था तो बोली- देखते ही रहोगे क्या, अब कुछ करो ना … नहीं तो मैं मर जाऊँगी.

भाई बहन की चुदाई की कहानी हिंदी में साड़ी खोलते ही उसके बड़े-बड़े चूचे जो उसके ब्लाउज में भरे हुए थे वो मुझे दिखाई देने लगे. इसी तरह यहाँ भी था, भाभी के और उसके पति के बीच सेक्स सम्बन्ध कुछ खास नहीं थे.

इस घटना को मैं कहानी के रूप में पहली बार लिख रहा हूँ, अगर कोई गलती हो जाए, तो प्लीज़ माफ कर देना. कैसे मैंने कैसे अपने लंड से भाबी की प्यास बुझाई, कैसे उनके प्यारे से भोसड़े को जम कर चोदा. मैं अपनी बाजू में लेटी सोनल के मम्मे मसलते हुए उसे किस कर रहा था और वो भी मेरा साथ देती हुई अपनी चुत में उंगली घुमा रही थी.

सेक्सी बीएफ चुदाई अंग्रेजी

मैं भी ड्राइवर भैया के बगल में बैठ कर टीवी देखते हुए आम खाने लगा और मैं उनसे बातें भी कर रहा था. पांच मिनट की जोरदार चुसाई के बाद मैंने उसके मुंह में वीर्य को निकाल दिया जिसको वो पी गई. उनके मोटे लंड के हर झटके के साथ बुआ के मुंह से एक कामुक आह्ह निकल रही थी.

मनमीता ने मुझे बांहों में जकड़ लिया और मैंने मेज के ऊपर ही उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये. उसके होंठों की छुअन से मेरे लंड में फिर से तनाव आने लगा लेकिन उसको चोदने की अब हिम्मत नहीं हो रही थी क्योंकि मुझे भूख लग गयी.

वैसे तो सारी कहानियां अपने-आप में सम्पूर्ण हैं, फिर भी पुरानी कहानियों पहले पढ़ लेने से आप को नयी कहानी का ज्यादा आनंद आयेगा, यूं नहीं भी पढ़ेंगे तो भी चलेगा.

इससे गुप्ताइन तो खुश हो रही थी लेकिन मेरे मन में एक नया विचार पनप गया कि यदि डॉली को चोदने का मौका मिले तो क्या कहने. चाची की चूत पर उगी हुई लम्बी लम्बी झांटों को बड़े ध्यान से कैंची से काटने के बाद मैंने चूत पर शेविंग क्रीम को लगा दिया. दोस्तो, मेरी रसीली भाभी और कुवारी दुल्हन की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी … कमेंट्स करके बताएं.

मैं सोच रही थी कि दिन में कहाँ किसी को मौका मिलता है? अभी मैं जीजा जी के कामुक व्यवहार से इतनी परिचित नहीं थी और सोच रही थी कि जीजा जी को मेरे साथ सुहाग दिन मनाने का मौका शायद ही मिल पायेगा क्योंकि वह तभी मिल सकता था जब मैं दीदी के घर जाऊं और हम दोनों को अकेले में रहने का मौका मिले. ताऊ ने बुआ की टांगों को अपने हाथों से थोड़ा और फैलाया और फिर तेज-तेज जोश भरे धक्के लगाने लगे. मैंने फिर भाभी से पूछा- आप कहां रहती हैं?उन्होंने बताया कि वो आवास विकास में रहती हैं.

”एक करारे धक्के के साथ मेरी माँ की चुदाई का समापन हो गया।अच्छा राजेश अब डॉक्टर के बुलवा लो!”नहीं आज नहीं!”क्यों तुमने मेरी ले तो ली, अब क्या?”अरे आज तो हमारे सम्बन्ध की शुरुआत हुई है, घर चलते हैं, और करेंगे। वैसे आपको मज़ा आया?”बिल्कुल भी नहीं!”क्यों?”ऐसे क्या मज़ा आएगा, तुमने तो अपने कपड़े भी नहीं उतारे, बस घुसा दिया.

बीएफ वीडियो आजा: जब नैना बहुत छोटी थी, तो अक्सर आकर मेरी गोदी में बैठ जाती थी और मेरे गाल पकड़ कर तोतली भाषा में बोलती थी कि ताता कितने प्याले हैं. मैंने कहानियां तो बहुत पढ़ी हैं, पर सभी सच हैं या नहीं … ये मुझे नहीं लगता.

मैं वाशरूम से हाथ मुँह धोकर वापस रूम में आया, तो वो टॉप पहन रही थी यानि सिर्फ़ ब्रा में थी. वो एकदम से उठे और मेरे जांघों के बीच में बैठ कर मेरी चड्डी निकाल दी. वो बोल रही थीं- ओह्ह … तुम नहीं जानते … औरत में बहुत गर्मी रहती है … तुम इस बात को तब तक नहीं समझोगे, जब तक मेरे अन्दर नहीं आ जाओगे.

यह सब देखने और उनके बीच का वार्तालाप सुनने से मेरे बदन में भी हलचल मच गई थी.

लेकिन मेरी चूत आज काफी टाइट थी क्योंकि मैं बहुत दिन से चुदी नहीं थी. लेकिन पॉइंट्स के हिसाब से ये तय हुआ कि मुझे सबसे पहले अपनी बहन सोनल की सील तोड़ने पड़ेगी, फिर ही मैं दिशा को चोद पाऊंगा. काजल के करीब जाने का एक यही मौका था मेरे पास जिसे मैं किसी भी हाल अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहता था.