एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सारा सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

radha सेक्सी: एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ, एडमिशन के टाइम उसके पिता साथ थे शायद इसलिए उसने कपड़े सिंपल पहन रखे थे.

आंटी की चूत की फोटो

नमस्कार दोस्तो, यह इंडियन सेक्स स्टोरी मेरी मामा की लड़की की चुदाई की है. हिंदी सेक्सी एचडी ब्लू फिल्ममहेश- अगर तुम ने मुझे बीच में रोक दिया तो मेरी कोई भी बात माननी पड़ेगी.

मेरे सामने वाला तो कब का मेरे मुँह में झड़ कर बाजू में बैठा था मगर सिराज मुझे कस कर चोदे जा रहा था. बहु ससुर की सेक्सीमैंने कहा- सरिता अगर बुरा नहीं मानो तो मैं अभी व्हिस्की के 2-3 पैग लगाऊंगा.

अब तक आपने देखा कि कैसे विवेक ने मेरी चुदाई की और अब मैं और विवेक चुदाई की सारी हदें पार कर चुके थे.एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ: लेकिन चुत में लंड डालने की स्थिति इसलिए नहीं बन सकी क्योंकि सभी लोग सटे हुए सो रहे थे, जरा भी हल्ला या झटका लगने से चिल्लपों होती तो गेम बज जाता.

पांच मिनट तक मैंने उसकी चूत को चूसा, वो अपने चूतड़ इधर उधर हिला कर अपनी चूत चत्वा रही थी, उसे गुदगुदी हो रही थी.एक दिन मुझे अपने सेल फोन में पड़ोस की लड़की का नंगा फोटो दिखाया और कहने लगा कि मैंने इसको चोदा है.

सेक्सी नंगी सेक्सी पिक्चर - एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ

अब वे बिल्कुल नंगे मेरे ऊपर शिकारी भूखे जानवर से टूट पड़े, वहीं ताक में एक सरसों के तेल की शीशी रखी ,थी उसमें से तेल लेकर अपने भंयकर लम्बे मोटे लम्बे लंड पर तबियत से मला और मेरी गांड पर टिका दिया.फिर मैं धीरे धीरे उस के रसीले होंठों पर किस करने लगा, इस बाद वो भी साथ देने लगी.

अब हम 69 की पोजिशन में थे, वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उस की चूत और गांड चाट रहा था. एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ अन्तर्वासना के लाखों पाठक प्रशंसक पूरी दुनिया में हैं जो इसकी सेक्स कहानियों को बड़े चाव से पढ़ते हैं; इनमें से अभिजात्य वर्ग के महिला पुरुष भी हैं जो अपनी तार्किक बुद्धि से कहानी को परखते हैं भले ही वे कहानी पर कोई कमेंट्स न करें.

शायद मुझे ये सब अच्छा लग रहा था क्योंकि मेरी चुत इतनी गीली हो चुकी थी कि स्कर्ट भी मेरे चुत के पानी से भीग गई थी.

एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ?

मैंने एक हाथ से तो दूध का गिलास पकड़ रखा था और दूसरे हाथ से उसके दूध को दबा रहा था. उसने मुझे सीधा किया और अपने लंड का जो वीर्य बचा था, वो उसने मेरी क्लीवेज में भर दिया. पहले तो मैंने ज़्यादा ध्यान नहीं दिया था, लेकिन पता नहीं एक दिन क्या हुआ कि मैंने उससे बोला कि खुशबू मेरी एक बात मानेगी, मुझे कुछ कहना है.

उस लड़के ने मार्किट में कहीं मिलने के लिए कहा तो कॉलेज से आते टाइम ये मिली भी. अभी मेरी शुरुआत थी इंस्टिट्यूट में तो मैं कोई अपनी इन्सल्ट नहीं कराना चाहता था बल्कि मैं यह देखना चाहता था कि इसका रियेक्शन क्या होगा? यह ही सोच कर ही मैं जाकर मिला तो उसने मुझे पूछा- कहिये आपको किससे मिलना है?तो मैंने जवाब दिया- मैं इंगलिश बोलना सीखना चाहता हूँ, हालाँकि मुझे पढ़ना, समझना और लिखना आता है लेकिन बोल नहीं पाता हूँ. घर बहुत सुन्दर था, उसके पड़ोस से लगा एक मकान और था जिसमें एक लड़का किराये पर रह रहा था.

भाभी की तरफ धुंआ छोड़ते हुए उनको आँख मारी और कहा- आती क्या खंडाला?बस भाभी ने एकदम से मेरे पास आकर मेरे सिगरेट निकाल कर खुद कश खींचा और धुंआ मेरे मुँह पर छोड़ते हुए मुझे किस करने लगीं. अब मेरी बॉडी को कहीं यहाँ तो कहीं वहां गांड को छूने लगा, तो कहीं मम्मों को दबाने लगा. उसने फिर अपना ब्लाउज खोला और ब्लाउज खोलते ही मैंने झट से पूनम के ब्रा का हुक़ लगा दिया.

चेंज करने के लिए जब सामने पेंटी आईं तो भाभी बोलीं- कौन सा कलर लूँ शेखर?ये सुन कर मैं थोड़ा घबरा गया और हिचकिचाते हुए मैंने बोला- भाभी कोई भी कलर ले लो. मैंने उसे लेटाया और एक तकिया उसकी क्मर के नीचे लगाया और मैंने थोड़ा उसका चूत रस लिया, उसे लंड के उपरी हिस्से पर 3 इंच तक लगाया ताकि लंड आसानी से चूत में जा सके और फिर मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा उसके मुँह से हह्ह्ह्ह की आवाज़ निकल आई.

पर क्या करूँ?तो मामी ने मुझे कहा- मुझे प्यार करता है तो आज भर के कर ले प्यार… ले तेरी मामी आज तेरी है.

मैंने कहा- इसे भी चुदाई सिखानी है, आधी चुदाई तो रात को सिखा दी है और आधी घर पर सिखाऊँगा.

मुझे अपने पर बड़ा गुस्सा आया कि मैंने इतना अच्छा मौका हाथों से जाने दिया. अंजलि दीदी चुदाई के मामले में पूरी अनुभवी थी, चूत में लंड घुसते ही वो मुझे और भी सेक्सी तरीके से चूमने लगी. मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख कर जोर जोर से किस करना शुरु किया और वापस से एक जोर का झटका दे दिया, इस बार मेरा लंड पूरा उसकी चूत में घुस गया था.

मैंने ज़ोर से दो झटके लगाए और अपना सारा माल उसके मुँह में ही निकाल दिया. सरिता का भीगा बदन और उसकी तनी हुई चूचियाँ मेरी पीठ को पीछे से छूकर अन्दर ही अन्दर मेरी सेक्स की भावना को भड़का रही थीं. इस कहानी में आपने पढ़ा था कि मेरे बेटे को दस दिन की ट्रेनिंग पर बाहर जाना था और बहूरानी को अकेली न रहना पड़े इसलिए मुझे उसके पास दस दिनों के लिए जाना पड़ा था.

वो जैसे खुद से बात करते हुए ऐसे ऊपर छत पर देख कर बोली- हे भगवान मुझे तूने लड़की क्यों बनाया.

मैंने उस की गर्दन को दूसरी तरफ से टच करते हुए कहा- इधर से भी पी लूं पानी?उसने हँसते हुए कहा- पी ले, सब तेरा ही तो है. वो चला गया और मैंने बाहर जाकर अंदर से दरवाजे की कुण्डी लगा दी, हालांकि वो दरवाज़ा भी कांच का ही है. तुम भी मजाक करती रहती हो!दिव्या- मजाक नहीं यार सच में तुम बहुत अच्छी लग रही हो.

मुझ पर तो जुनून सवार था, मैं कस कस के काकी की चूत में धक्के मार रहा था. वैसे तो उनकी सेक्स लाइफ शुरू से ही अच्छी थी, लेकिन पिछले 4-5 सालों में माया की वासना बढ़ने लगी थी. यहाँ तक कि अमित ने भी उसे आजतक इतना गिफ्ट नहीं दिया होगा, जितना मुझे दे दिया था.

जब मुँह में मेरा लंड जाता तो दोनों के मुँह की गर्मी से मेरा लंड और टाइट हो जाता था.

फिर वो मेरी सीट पर आ गए, थोड़ी देर तक हम दोनों ऊपर की सीट पर बैठे रहे फिर टीसी आया तो उन्होंने अपना टिकट दिखाया, जो कन्फर्म नहीं हुआ था. क्या मुझसे कोई खास काम है?)अवी- आपका नाम क्या है (मिनी है)अवी- आप करती क्या हैं? (पढ़ती हूँ)अवी- कहाँ? (यहीं पास में.

एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ उसमें केवल एक गले पर बंधी पट्टी खोलोगे वो नीचे तक बिना कपड़ों के हो जाएगी. थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि कोई मेरे होंठों पर लंड रगड़ रहा है, तो मैंने आंख खोल कर देखा तो वो तिवारी सर थे, हमारे कॉलेज के एकाउंट्स के सर।उन्हें देख कर मैं डर गई और नायडू सर को अपने ऊपर से हटा दिया और अपनी टीशर्ट से अपने नंगे जिस्म को छुपाने लगी।तभी नायडू सर बोले- बहन के लोडे, थोड़ी देर से नहीं आ सकता था? बस इस रण्डी का पानी निकालने ही वाला था।और दोनों हँसने लगे.

एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ अपनी जीभ को नोक सी बना कर अन्दर घुसाने लगा, पर वो थोड़ा सा भी अन्दर नहीं गई. फिर उसने मुझे फोन पर अपनी चुत का फोटो भेजा, मुझे उसकी बहुत अच्छी लगी.

मेरी इच्छा है कि मेरा लंड मेरी भाभी के मुंह में हो और मेरा वीर्य निकल जाये.

ಚಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

और ऐसा भी नहीं है कि मैं उसकी चुदाई कम करता हूँ हफ्ते में कम से कम 4 दिन चोदता हूँ।तो बताइये दोस्तो, आपको मेरी चुदाई स्टोरी कैसी लगी? कृपया अपने विचार अवश्य दें।[emailprotected]आप मुझे फेसबुक पर भी मिल सकते हैं, मेरी फेसबुक आई डी है :[emailprotected]. जब देखा कि वो गर्म हो चुकी है तो मैंने उसकी सलवार को खोल कर उसे नीचे कर दिया. मैंने अपनी गति तेज़ कर दी और मैं उसकी गांड में ही झड़ गया उसकी गांड मेरे रस से भर गई थी.

अब हमारा रोज रात को 11 बजे मिलने का टाइम फिक्स हो गया और हम रोज रात को मिल कर कई कई बार चुदाई करने लगे. दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी सच्ची गांड चुदाई की नोन वेज हिंदी गे स्टोरी, मुझे मेल करके बताएं. चचा जान ने मेरे कंधों को पकड़ के मुझे खड़ा किया, जिस से मेरा दुपट्टा पलंग पे गिर गया.

फिर उन्होंने मेरी आने सर को नीचे की और मेरी गर्म चूत में अपनी जीभ को रख कर बड़ी बेताबी से चूत चाटने लगे.

मौसी की गांड पतले कपड़े से साफ दिखलाई दे रही थी, रोहण खींच खींच कर चुदाई कर रहा था. मैंने दस मिनट चूत चाटने के बाद बोला- अब तुमको भी ओरल सेक्स करना पड़ेगा, मेरा लंड मुँह में लेना पड़ेगा. उन दिनों मैंने अपने लंड की बड़ी ज़ोर शोर से मालिश करके तगड़ा बना लिया.

अब हम 69 की पोजिशन में थे, वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उस की चूत और गांड चाट रहा था. मैंने अपने फ्रेंड से पूछा- यार, ये लड़की कौन है भैया के कमरे में?मेरे फ्रेंड राकेश ने बताया कि ये भैया की गर्लफ्रेंड है. एक दिन मुझे गर्मी लग रही थी तो मैं लुंगी में रह कर ही पढ़ाई और योगा खत्म करके छत पर खड़ा था.

बाहर चलेंगे। और हां, कपड़े इतने ही पहनना कि बस निप्पल और चुत ढक जाए, समझी?रिया ने उल्टा सवाल दागा- पागल है? रात के 11 बज रहे हैं. अगले दिन मुझे उसकी कजन ने प्रपोज कर दिया, पर मैंने उसे मना कर दिया क्योंकि एक तो मुझे वो पसंद नहीं थी और दूसरा उसको हां करने से ये चली जाती और बने बनाये काम की माँ चुद जाती.

मुझे उस टाइम अजीब सा लगा तो मैंने कहा- ठीक है पर इस समय तुम यहाँ कैसे और कुछ लोगे चाय या कॉफ़ी वगैरह?अमित- सॉरी मिनी, पर तुम इस ड्रेस में बहुत ही अच्छी लग रही हो. मैं गुस्से में सोचने लगी कि ये क्या बात हुई, इससे ऐसा जवाब मिलेगा, ये पता नहीं था. वो नहाने चले गए, नहाने के बाद उन्होंने बाथरूम से आवाज दी कि मिनी बाहर तौलिया है.

मेरी बहन मेरे लंड को हाथ मे लेकर ऊपर नीचे करने लगी जैसे वीडियो में हो रहा था.

मैं अपनी उभरती जवानी में एक मुस्टंडा हो गया था और अच्छे मौके की तलाश में था. मेरी गांड फटने लगी कि कहीं भाभी ने ये सब बातें भाई को बता दीं, तो मेरी तो वाट लग जाएगी. मैंने जैसे ही अपनी जीभ उसकी चुत में डाली, वो मज़े के मारे खुश हो गई और गांड उठाते हुए बोली- आआह राजा.

वोदका चूत पर डालने से भाभी को वहां थोड़ी जलन भी महसूस हुई लेकिन मैंने अपनी जीभ से चाट चाट कर भाभी की चूत की सारी जलन मिटा दी,भाभी की चुत रो पड़ी और इसके बाद भाभी कामुकता से बोलीं- राजेश प्लीज़ अब मेरे ऊपर आ जाओ… अब नहीं रहा जाता. मैंने देखा मेरे सामने को कार पार्क की हुई थी उसका पीछे का टायर पंक्चर था.

मौके का फायदा उठा के उस्मान ने माया की नाभि के नीचे अपनी उंगली फिरा दी. फिर हमेशा की तरह सुबह मैं उठते ही फिर से ऑनलाइन हुआ और नोटिफिकेशन्स चैक करने लगा. वो मुझसे हाथ छुड़वा कर अपने रूम में चली गईं और मैं उसके पीछे चला गया.

पंजाबी सेक्सी पिक्चर पंजाबी

जैसे कई लोग लिखते हैं कि उनका लिंग नौ दस इंच का है और वो लगातार चार घंटे तक सेक्स कर सकते हैं और कैसी भी कामिनी को हरा सकते हैं, उसे पूर्ण रूप से संतुष्ट कर सकते हैं … रात में डाला सुबह निकाला टाइप का या मैंने उसकी योनि चाटी, वो झड़ गयी और मैं सारा रस पी गया या वो मेरे लिंग मुंड घुसाते ही चीख पड़ी फिर ये फिर वो … और उसने मेरे लिंग का पानी पी लिया और इसे चाट चाट के साफ़ कर दिया.

अब मैं रोज़ उसको लाइन देता था और मेरी मेहनत रंग लायी।एक दिन मैं किचन में पानी पी रहा था और वो आँगन से बर्तन लेकर आई, उसने बर्तन अंदर लाकर रखे तो हम दोनों एक दूसरे के बेहद करीब खड़े थे और मैंने उसकी आँखों में आँखें डाल कर देखा. मुझे टेंशन हो गया कि अगर गालों पे निशान हो गए तो मैं अपनी बीवी को क्या जवाब दूँगा. अब हमारा रोज रात को 11 बजे मिलने का टाइम फिक्स हो गया और हम रोज रात को मिल कर कई कई बार चुदाई करने लगे.

आज चाची कुछ अलग लग रही थीं, उन्होंने आज गहरे गले वाला सलवार सूट पहन था, वो भी लाल रंग का, उसमें वो और भी खूबसूरत लग रही थीं. भाभी तो बस चीखे जा रही थीं मैंने फिर से उन्हें टेबल पर लेटाया और उनके मम्मों को पकड़ कर लगभग नोंच डाला और धक्के मारने लगा. गांव की कुंवारी लड़की की सेक्सी वीडियोमैं भाभी की कमर और पीठ को चूमते हुए मैंने अपने मुँह से ही उनकी ब्रा के हुक़ खोल दिए.

कुछ देर बाद मेरा दर्द कम हुआ और मजा आना शुरू हुआ, तो मैं नीचे से गांड उचकाने लगी. राहुल अपनी मर्जी कर रहा था, उसने अपनी भाभी के होंठों को चूस चूस कर उनको सुजा दिया.

वो हर दस मिनट में दस बार करवटें बदलती और हर आधे घन्टे बाद टॉयलेट में जाती और हर बार बहुत देर बाद वापस आती. उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोलीं- ना बेटा ,ये मत कर बस माफ़ कर दे. खैर मैं शादी अटेंड करके सीधा आगरा लौट आया और अपनी पढ़ाई पर लग गया क्योंकि मेरे एग्जाम जो थे.

ऑफिस के बाद दारु पीना और लेस्बियन सेक्स करना इतना ही काम बचा था हमारे पास. अब मैं उसके बिल्कुल नज़दीक सट गया और गर्दन के ऊपर से हाथ रख के उसके मम्मों को दबाने लगा. वो करीब आई और मुझे चपत मार कर बोली- क्या हुआ? कहां खो गए? क्या देख रहे हो?तभी मैं नॉर्मल हुआ.

एक दिन शनिवार की नाइट में हम दोनों चैट कर रहे थे, उस वक्त रात को शायद 11:30 बज गया होगा.

जब उसकी बॉडी टच से मेरा बुरा हाल हो गया था और मेरा लंड लोवर फाड़ने लगा था, तो इसका भी ये ही हाल हुआ होगा. ये सुन कर मैंने भाभी को उठा कर अपने लंड के नीचे लिया और उनकी टांगें चौड़ा कर अपने लंड को उनकी चुत के अन्दर पेल दिया.

इसके एवज में वो हर ग्राहक से एक मोटी रकम वसूलती हैं, उसका 50% मुझे रेणुका मैडम को पे करना पड़ता है. जब वह लड़कियों के पीछे पैसा खर्च करता, तो उस वक्त मुझे भी फ़ायदा मिल जाता था. मैंने अपना लंड वहीं रोक दिया और उसके उभारों को सहलाने लगा, उसके होंठों को चूमने लगा.

करीब पांच मिनट तक चोदने के बाद मैं चरम सीमा पर पहुँच गया और उस से बिना कुछ बोले उसकी चूत में ही झड़ गया. वो मेरे सीने से चिपकी रही शायद उसे अच्छा लगा था इसलिए वो कुछ नहीं बोली. सुष्मिता मेम ने भी साथ देते हुए साड़ी और पेटीकोट को उतार दिया उन्होंने पेंटी नहीं पहनी थी.

एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ मैंने क्रीम लेकर उसकी गांड में भर दी और अपना लंड उसकी गांड में डालने लगा. सुबह को तो अक्सर शौच के लिए तालाब के पास किनारे पर लड़के, मर्द बैठते रहते तो जब वहां से निकलती तो एक आध बार कोई ना कोई लंड जरूर देख लेती… लंबे, काले, मोटे, गोरे सभी देखती और मजे लेने लगी।मैं 12वीं कक्षा में थी कि बगल के एक लड़के से टांका फिट हो गया और हम दोनों मौका देख चौका मारने लगे.

न्यू सेक्सी सेक्सी

तभी मुझे उनके फोन से मालूम हुआ कि उनके बच्चे दो दिन के पिकनिक के लिए जाने वाले थे. इसके बाद मैंने लंड को भाभी की चूत पे रखा और अपना काम दुबारा शुरू कर दिया. मैं जोर जोर से एक हाथ से उसके चूचे दबाता रहा और मुँह से दूसरे चूचे को काटता रहा.

काफी रात हो गई तो मैंने पूछा- सोना नहीं है आज?तो उसने बताया कि वो ट्रेन में है, लखनऊ जा रही है. बस कैसे भी करके आप मेरी बायोलॉजी मजबूत करवा दीजिये, तो मैं आपका यह एहसान जिन्दगी भर नहीं भूलूँगा. ब्लू सेक्सी ब्लू सेक्सहमारे घर अ कर वो सबसे पहले दुपट्टा उतार कर टांग देती, फिर अपना स्वेटर उतार कर रख देती और काम पर लग जाती.

मैंने देखा कि बातें करते हुए बार बार उसकी नजर मेरे फूले हुए लौड़े पर जा रही थी.

मैंने झट से उन्हें दीवार से लगा दिया और उनकी गर्दन को किस करने लगा. सविता ने धीरे धीरे मेघा के कपड़े उतारने शुरू किए और बस ब्रा पेंटी छोड़ी.

खैर उन्होंने मुझे बाथरूम की ओर इशारा करके उंगली दिखाते हुए कहा- एबी, उधर बाथरूम है. एक दिन मैंने अपनी सास से कहा- क्या आप रियल में लंड लेना चाहती हो?तो मेरी सासू मां बोली- नहीं यार, घर में बच्चे हैं, इन पर गलत असर पड़ेगा. फिर वो कपड़े पहनने लगीं तो मैंने कहा- कपड़े मत पहनो, आज आप मेरे साथ ऐसे ही सो जाओ.

हाथ मुँह धोकर आया फिर से एक एक कप चाय पी और रात ज़्यादा हो गई तो भाभी ने मेरे घर फोन करके बोल दिया कि राजेश अब कल सुबह आएगा क्योंकि रात हो गई है और अकेले में कार से परेशानी होगी.

मैंने दोबारा सैट करके धक्का मारा तो लंड का सुपारा उसकी चूत में अन्दर घुस गया था. चूंकि मैं भी अपनी मर्दानगी साबित नहीं कर पाया था, इसलिए चुप रह गया. माशूकी हमेशा नहीं रहती, मैं जब माशूक था, अपनी गांड पर बडे बड़े लंड झेले।वे बातें करते जा रहे थे और लंड पेले थे.

पत्नी के साथ सेक्सबात करते करते मैंने रश्मि से बोला- ये लो पैसे!उसने हाथ आगे किया और हल्के से मेरा हाथ दबाते हुए एक आँख मार दी. मेहनती और काबिल पति की वजह से जल्दी ही अंजलि के पास लाखों का बैंक बैलेंस भी हो गया था.

सेक्सी वीडियो 2021 के

कहानी का पहला भाग :कंजरी मंजरी की पहली चुदाई-1मगर फिर भी मंजरी ने दिल नहीं छोटा किया, वो पुलकित से एक पत्नी की भान्ति बोली- सुनिए जी, जब हम नहीं मिले थे न, तब मैं सोचती थी कि हमारा पहला मिलन बहुत ही यादगार होगा, आप मुझे बहुत प्यार करोगे, मगर आप ने तो बस अपनी ही आग बुझाई है, मैं तो अभी भी जल रही हूँ. कहानी का पिछला भाग :मेरी जवान भानजी ने मेरी बेटी की कुंवारी बुर दिलाईआपने मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी में पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी भानजी को चोदा, फिर उसने मुझे मेरी बेटी की चूत चोदने में मदद की. लेकिन रण्डी कभी सुधरती नहीं… या बात मेरी रंडी माँ ने अच्छे से साबित की.

वो फिर से चिल्लाने लगीं- हरामजादे दानव… आह… मुझे एक बार में ही मार डाल… कुत्ते… आह… मार दिया… अह…मुझे और ज़्यादा जोश आ गया तो मैंने उन्हें गोद में उठा लिया और गोद में लेकर चोदने लगा. फिर अमित एक उंगली से उस माल को मेरी बीवी की गांड में भरने की कोशिश करने लगा, मेरी बीवी की गांड में उंगली करने लगा. मेरी मॉम भी वहीं पर डांस कर रही थीं जो कि लहँगा चोली में थीं और वो बहुत हॉट लग रही थीं.

मैंने पूछा- जी, कौन शीतल? मैंने पहचाना नहीं!फिर उसने बताया कि वो ही जिसने पार्क में आपका नंबर लिया था. देखिए, ये कोई भी लुब्रिकेंट से ज़्यादा चिकना होता है और भरपूर मजा देता है. लेकिन जब तुम लास्ट टाइम इससे चुदवाने जा रही थीं तो मैंने तुम्हारे सेल में इसकी और तुम्हारी चैट देखी थी.

मैंने उसे ज़ोर से पकड़ा और दूसरा धक्का लगाया, लंड उसकी बुर में जा चुका था और वो जैसे बेहोश सी हो गयी और मुझे अपने से दूर धकेलने लगी. इरफान- क्या हुआ? अब भी नाराज हो जो कुछ बोल नहीं रही हो?मैं- नहीं नहीं किचन में थोड़ा काम कर रही हूँ.

मैंने अपनी पेंट की चैन खोल कर अपना लंड उसके हाथ में दे दिया और वो मेरे लंड को मसलने लगी.

अमित- वो मान जाएगी, लेकिन तू बता तू तैयार है क्या इसके लिए… जो मैं बोलूं करेगा तू?सन्नी- जी अमित सर उसके साथ सेक्स करने के लिए मैं कुछ भी कर सकता हूँ. ईडयन सेक्सउम्म्ह… अहह… हय… याह… शालू… आह… मर जाऊंगी… ओह गॉड… इतना अच्छा लग रहा है आह…” अकीरा मदहोश होकर बड़बड़ाने लगी तथा अपनी ब्रा को खोल कर अपने स्तनों को मसलने लगी. পর্ন মুভিসसबसे पहले मेरी भांजी पिंकी ने मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी. मैं थोड़ी देर वहीं रुका रहा और उस को किस करता रहा, उस के चूचों को दबाता रहा.

उम्म्ह… अहह… हय… याह…!सीमा ने मेरी जेब से रंग निकाल कर मेरे लंड पर लगाया और मेरा लंड अपनी चुत में डलवा लिया.

लड़की मेरे सामने चुप बैठी हुई थी, मैंने बातों की शुरुआत की और कहा कि आपका नाम क्या है?तो उन्होंने बोला कि जी मेरा नाम पूनम है. मैं रेणुका भाभी को सीधा करके उनके मोटे मोटे मम्मों से दूध पीने लगा. बाथरूम में ब्रांडेड क्रीम, हेयर रेमूवर्स, मसाज क्रीम और कई तरह के परफ्यूम थे.

बीस मिनट बाद अब वो झड़ने वाली थी, सो चिल्लाने लगी- चोद और जोर से चोद मादरचोद. मैं पेशे से एक जॉब कंसलटेंट हूँ और नागपुर, महाराष्ट्र में मेरा अच्छ खासा काम है. इसलिए सबसे बढ़िया बात ये कि जो करना चाहो, बिंदास करो, कुछ पाप नहीं होता.

बिहारी भोजपुरी सेक्स

मैं- आप अपने हाथों से उतारो!भाभी ने अपने हाथों से मेरा शॉर्ट उतार दिया तो मेरा लंड उछल कर बाहर आया और भाभी को सैल्यूट करने लगा. तब तक मेरा लंड टाइट हो चुका था और ऊपर से उनकी गांड के छेद में अड़ गया था. घर आने के बाद भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे बैठने का कह कर अपने रूम में चली गईं और थोड़ी देर बाद बाहर आकर बोलीं- शेखर भाई साहब हम दोनों को दुबारा मार्केट में उसी दुकान पर जाना पड़ेगा.

मैंने उधर पहुँच कर मकान ढूँढा, फिर दरवाजा खटखटाया तो पूनम की फ्रेंड ने दरवाजा खोला और उसने डाइरेक्ट मुझे बोला- शेखर जीजू नमस्ते.

”तब तक पूनम ने मेरा लंड खुद ही अपनी चुत में घुसा लिया और मेरे ऊपर लेट गई.

मैंने उसके ब्लाऊज को उतारा, नीचे काले रंग की ब्रा थी जिसमें से उसके आधे आधे चूचे मुझे दिखाई दे रहे थे. मैंने भी उसके गले में किस करना शुरू कर दिया और अपने हाथों से उसके बोबों को जोर जोर से दबाने लगा, उसकी कामुक आवाज मुझे और भी ज्यादा पागल कर रही थी. सेक्स सेक्स एक्स एक्स एक्समैं बैठ गया और अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया और एक दमदार शॉट लगा दिया.

थोड़ी देर बाद ही वो गुलाबी रंग का टॉप और जींस की छोटी सी निकर पहन कर आ गई. मोना- तमीज से बात करो रवि, मैं अपने पति की बेइज्जती बर्दाश्त नहीं कर सकती. करीब पंद्रह मिनट बाद जब वो चाय लेकर आईं तो उन्होंने जीन्स टी शर्ट चेंज करके नाईट गाउन पहना हुआ था.

दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि साइंस कहती है कि जैसा आंखें देखती हैं, बस मन वैसा जरूर सोचता है तो मुझे पक्का विश्वास था कि मीतू अब चुदने के बारे में सोच रही थी. मैंने पूरा लंड चाट चाट कर साफ कर दिया और लंड से बचा हुआ पूरा वीर्य पी गई.

फिर क्या था दोस्तो, मैंने अपना लंड निकाला और चूत के ऊपर लंड को रख कर अन्दर धकेलने लगा.

मैं भी जोश में ‘मेरी चूत मार… बहनचोद साले… चोद मुझे… रण्डी बना ले मुझे अपनी… और चोद आआहहह… मेरे राजा चोद मुझे!’ पता नहीं मैं क्या क्या बकने लगी, मेरी आँखें बंद थी. फाड़ डालो मेरी चूत को… ये मुझे बहुत सताती है बहुत ही परेशान करती रहती है. अन्नू भाभी बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- अलग अलग पोज़िशन में चोदने से मज़ा आता है.

ડોગી સેકસી વીડિયો अब जब भी रूचि जी को मेरी जरूरत रहती है, वे मुझे वाट्सएप करती हैं, मैं उनके घर जाकर उनको जरूर खुश करता हूँ. फिर मीना सागर के पास गई, शरमाते हुए उसका लंड अपने हाथ में लिया और वैसे ही हाथ में लेकर दोनों मेरे पास आये.

चूंकि अब तक हम लोग व्यस्क चुटकुले सुना कर एक दूसरे के सामने लंड चूत भी खुल कर बोलने लगे थे. अगले दिन में भाभी के पास गया और बात करने लगा, पर भाभी मेरी किसी भी बात का कोई जवाब नहीं दे रही थीं. उन्हें मेरी हरकतों का पता है मगर वो आगे से भीड़ में फंसी थीं, तो कुछ कह नहीं सकती थीं.

हिंदी सेक्सी वीडियो एचडी फुल

मैंने दोनों को बुलाया और बोला- देखो अब कल शाम तक हम तीनों घर में पूरे नंगे रहेंगे. मैंने उसकी चुत में एक उंगली डाली, उसकी मुँह से आवाज़ निकली ‘आहह अनिल दर्द हो रहा है. उसे किस करना आता नहीं था तो मैं जैसे जैसे करता, वो भी वैसा ही करती.

मैंने यस कहा और उससे ड्रिंक के लिए पूछा तो उसने बोला कि हाँ उसका मन है. कुछ टाइम बाद मुझे होश आया, अब मुझे पिलाई हुई दवाई का असर भी ख़त्म हो चुका था.

मैं- आप अपने हाथों से उतारो!भाभी ने अपने हाथों से मेरा शॉर्ट उतार दिया तो मेरा लंड उछल कर बाहर आया और भाभी को सैल्यूट करने लगा.

अब जल्दी बताओ मुझे कब करने को मिलेगा और कैसे करूँगा? और कैसे उसे पैसे दूंगा?मैं- तुम उसके लिए कोई एक गिफ्ट लो और उस गिफ्ट के अन्दर जितनी किस करनी है उसके रूपये जोड़ कर रख देना और एक चिट्ठी रख देना कि ये सब तुम्हारे लिए है. मुझे वही सब सीन याद आने लगा जो अमित और गांव और अवी ने मेरे साथ किया था. मैंने उस के हाथ में अपना लंड दिया, वो ना ना करने लगी लेकिन मैंने उस को लंड छोड़ने नहीं दिया.

मेरी सहेली का एक बॉयफ्रेंड था और वो अपने बॉयफ्रेंड को बेबी कहती थी. कुछ देर बाद धीरे धीरे वो मुझ से खुलने लगीं, तो हमारे बीच सेक्स की बातें होने लगीं. उस दिन के बाद मैं बहुत खुश हुआ और इस तरह से मैंने प्यासी मकान मालकिन भाभी की प्यास बुझा दी.

फिर मम्मी शाम 3 बजे दूसरे घर गयी जहाँ हम हमारी गाय रखते हैं, वहाँ से मम्मी पूरा काम करके ही आती हैं तो हमारे पास डेढ़ दो घंटे का समय था.

एक्स एक्स देहाती सेक्सी बीएफ: इसके बाद मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगा लिया और उसकी दोनों टांगें फैला कर अपना लंड उसकी गांड पर सैट कर दिया. मैं कॉलेज से आया और आंटी के पास घर की चाभी लेने चला गया।आंटी उस टाइम अपने कमरे की सफाई कर रही थीं, उन्होंने सिर्फ़ ब्लाउज और पेटीकोट पहना हुआ था.

मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ कर थोड़ा सा ऊपर किया और छोड़ दिया, जिससे उसे अच्छा लगा क्योंकि लगता था कि इस तरह से चुदाई का ये उसका पहला अनुभव है. तभी सामने वाले यंग लड़का भी जोर से अपना मस्त लंड मेरी चूत में एक ही झटके में पूरा डाल दिया, मुझे लगा कि मर जाऊंगी, मेरी आँखों से आंसू निकलने लगे, बहुत दर्द हो रहा था, मुंह में लंड घुसा था इसलिए चिल्ला भी नहीं पा रही थी।अब मेरी चूत में गांड में और मुंह में तीनों जगह एक साथ लंड अन्दर बाहर हो रहे थे, बहुत तेज दर्द हो रहा था, सबके लंड बहुत बड़े और मोटे थे। जोर जोर से मुझे तीनों एक साथ चोदने लगे. तो पता लगा कि किसी वजह से वो लड़की आज नहीं आई है। अगले दिन आ जायेगी.

अब से पहले मैं जब भी आता था तो स्टोर में भैया होते थे या भैया और भाभी दोनों होते थे.

करीब 5 मिनट बाद ही गीतांजलि भी आ गई तो उसने जब मुझे सोफे पर बैठा हुआ देखा तो उसने मुझसे हाय कहा और वो मेरे गले लग गई और इस तरह से लगी कि उसकी चूत मेरे लंड को टच करने लगी, इसी वजह से मेरा लंड मेरे पजामे में ही खड़ा होने लगा. मैं जोश में चूत चुसाई करने लगा, तभी उसकी चुत से बहुत सारा पानी निकल गया जो मैं सारा पी गया. मैं- इसकी क्या जरूरत थी और अभी ही देख लूँ क्या?अमित- हां बाबा, अभी देख लो.