हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू

छवि स्रोत,ममता की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू नंगी मूवी: हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू, ”कुछ सोच कर वो बोली- अच्छा ये बताओ, निगार कैसी लगी तुम्हें?निगार काफी अच्छी है.

कार्टून बफ

मेरा मन भाई साहब के लंड को देखने का करने लगा और मैं नंगी ही उनके कमरे के पास चली गयी. एक्स वीडियो 18 सालमैं उसकी गीली पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा और उसके होंठों को चूसता रहा.

उसने अपनी चारों सहेलियों से शायद यही सब बात डिस्कस की, तो उन लोगों ने उससे कुछ और करने का कहा. वाॅडी विलडर का सेक्सकासिब अस्मा का एक चूचा मुँह में लेकर अस्मा का दूध पीने लगा और दूसरा चूचा हाथ में लेकर मसलने लगा.

अपनी चूत सहलाती रहती है और बाथरूम में जाकर उंगली से अपनी चूत ठण्डी करती है.हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू: चुदते हुए वो चिल्ला रही थी- आह्ह राज … जोर से चोदो … आह्ह … और जोर से घुसाओ … फाड़ दो मेरी चूत को … ये तुम्हारे लंड की हमेशा प्यासी रहती है … इसी प्यास को बुझा दो.

पहले से ही सेक्स की बातें हो रही थीं, तो मेरा लंड टॉवर की तरह खड़ा था.मैडम को ऐसे बोलते देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैं मैडम के दोनों गालों को पकड़ कर मैडम की रसीले होंठों को चूमने लगा.

भाभी सुहागरात - हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू

मेरे पति घर में एक कमरे में सोते रहते थे और बॉस मुझे रोज चोदने घर आया करते थे.कुछ बोलना चाह रहे थे लेकिन बोल नहीं पा रहे थे। फिर जोर से उनके मुंह से आह्ह … निकली तो मैं डर गया.

कुछ ही पलों बाद भाई साहब और मैं एक दूसरे को पागलों की तरह चूम रहे थे. हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू भाभी की कामुक आवाजों को सुनकर मेरा जोश और ज्यादा बढ़ गया और मैं पूरे जोश में धक्का लगाने लगा.

हॉट लड़की की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस की लड़की ने अकेले घर में मेरे साथ बीयर का मजा लिया.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू?

मैं कमरे में जाते ही चाची की गांड मसलते हुए उन्हें चूमने लगा और चाची को बेड पर पटक दिया. मम्मी ने पहल करते हुए कहा- अजी सुनो … चलो आज मेरी मनोकामना पूरी कर दो. तभी उस सेक्सी भाभी ने एक बहुत ज़ोर की सिसकी ली और ‘आह आह अम्म्म अआह.

”ठीक है, तुम ये बताओ कि श्यामली को कब चोदना चाहते हो?”तुम जब करा दो. फिर खाना आ गया तो उसे खाया और करीब दस बजे के करीब उन्होंने उठकर कोई गोली खाई और एक एडवांटेज-72 मुझे दे दी. अजी मेरे नीचे नहीं … अपने नीचे देखिए।” अपने हाथों से मेरे घोड़े की ओर इशारा करते हुए वो बोली।मैंने नीचे देखा तो मेरे काले घोड़े पर रात को चढ़ाया लुंगी का आवरण नहीं था.

अम्मी की मांसल गांड का छेद फूलने खुलने लगा और अम्मी अपने दोनों चूतड़ों को आपस में मिलाने और खोलने लगीं. ”मैंने हाथ बढ़ाकर तपते मूसल जैसा लण्ड अपनी बुर के मुखद्वार पर रख दिया. उसकी बात सुनकर मेरी थोड़ी हिम्मत बढ़ी और मैंने अपना हाथ उसकी चूची के ऊपर रख दिया.

राज ने मम्मी की गांड में लंड पेल दिया और पापा ने चुत में लंड चलाना शुरू कर दिया. ये सुनते ही मैंने नूपुर के चुत के बालों पर अपने होंठों को घुमाना चालू कर दिया.

कुछ दिनों बाद भाई साहब ने सब कुछ ईश्वर की मर्जी मान कर खुद को समझा लिया.

फिर अम्मी उठ कर पौंछा लगाने चली गईं और वो पौंछा लगाते वक़्त मुस्कुरा रही थीं, क्योंकि वो यही समझ रही थीं कि हो न हो उनकी चूत का रस या वीर्य ही टपक गया होगा, जो मेरे पैर में लग गया था.

मैंने उससे बातों ही बातों में कहा- ये तो नकली लंड थे, मगर मेरी जान आज काश दो लड़के मुझे एक साथ चोदते पूरी रात … तो मजा आ जाता. फिर एकदम से मेरे बरमूदे में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को हिलाने लगी. अब उसकी जांघें मेरे सामने फैली थीं और उसने मेरे हाथ को अपने बूब्स पर दबा कर खुद ही अपने हाथ से प्रेस करना शुरू कर दिया था.

मयंक सर भी बहुत थक गए थे और मैं अपनी चूत को बार बार सहला रही थी … क्योंकि दर्द बहुत ज्यादा हो रहा था. राहुल को जैसे ही मैंने मना किया, वैसे ही राहुल ने टेप से मेरा मुँह बंद कर दिया. वो ‘ऊईईई ईईई उईई ईईई सीईई ईईईई मर गई … मर गई राज … आहह हहह …’ करने लगी.

मैंने हीरोइन से कहा- मेरा मन तुम्हारे साथ आंखों पर पट्टी बांधकर खेलने का कर रहा है.

आज मैं आपको अपनी जिंदगी की एक सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहा हूं।ये पोर्न सेक्स हिंदी कहानी उन दिनों की है जब मैं कॉलेज के फर्स्ट ईयर में था।मेरे पड़ोस में एक आंटी जी रहती थीं. मगर गुलचीन अपनी चूत से खून निकलता देख कर मुस्कुराते हुए बोली कि कासिब मेरे बलमा इसमें डरने की बात नहीं, ये तो आज मेरी चूत पहली बार चुदी है न … और मेरी चूत की सील टूटी है. दोस्तो, मैं लकी फिर से आपको डबल चुदाई सेक्स स्टोरी सुनाने हाजिर हूँ.

अपने कपड़े निकाल कर मेरी गोद में बैठ … तब तो डंडे पर तेरी जवानी का खुमार चढ़ेगा. वो लंड की खाल को ऊपर नीचे कर रहे थे जिससे उनका सुपारा बाहर आता … फिर अन्दर चला जाता. कई बार मैं जानबूझकर उसकी चूचियों पर कोहनी से छूने की कोशिश किया करता था.

मैंने उसकी एक टांग को टेबल पर रख कर फैला दिया और अपने लंड पर बटर लगा कर उसकी गांड में पेल दिया.

अब आगे की कोरोना सेक्स स्टोरी:लॉकडाउन में थोड़ी ढील मिलते ही जब मैं अपने रूम पर लौटा तो आंटी के घर का ताला लगा हुआ था. एक दो मिनट के बाद मामी ने मेरे कान में कहा- बियर खोलने दोगे!मैंने कहा- दूध का नशा तो खत्म हो जाने दो … मेरी जान.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू कितनी टाइट है तेरी चूत अंजलि … देख मेरा लंड कैसे मचल रहा है तेरी चूत में … ओहह तेरी चूत में लंड देकर मजा आ गया मेरी जान … तेरी दीदी से भी मस्त चुदाई करूंगा तेरी आज … आह्ह मेरी रानी!फिर जीजू मेरी चूत को चोदने लगे और स्पीड बढ़ा दी. चूंकि मैंने भी अब तक न जाने कितनी आंटियों भाभियों और लड़कियों को चोदा है, इसलिए मुझे भी अनुभव था.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू उसने मुझे कमरे में ले जाकर मेरी चुत में लंड पेल दिया और मुझे बेटी बेटी कहते हुए चोदने लगा. इसलिए मैंने जानबूझ कर सिसकते हुए कहा- ओह निकिता मैडम, आप बहुत सेक्सी हैं.

मैं पूरी मस्ती में उफ उफ़्फ़ आह आह चिल्ला रही थी।कुछ देर बाद साहिल बेड से उतरा और मुझे बेड पर लिटाकर अपनी ओर खींच लिया.

सेक्सी झवाझवी सेक्स व्हिडिओ

ये तय हो गया था कि प्रोजेक्ट हम सब मिल कर प्रवीण के रूम में बनाएंगे. संडे को पूरा दिन या कभी हम दोनों बहनें उसके घर जाकर उसके साथ खेलती थी।उसके आने के बाद मैंने उसके लिए चाय बनाते हुए सोचा कि क्यों ना आज मार्किट इसको अपने साथ ले जाऊँ. शालू को अब ससुर के लंड से असीम आनंद मिलने लगा और उसकी पलकें भारी होने लगीं.

इसके चूचे कितने कड़क हैं … मेरा तो मन कर रहा है कि अभी इसके दूध ही चूस लूं पहले. ”कुलजीत अब तीन घंटे नहीं लौटेगा, इतना कहते हुए मैंने हनी को अपनी बांहों में भर लिया. मैंने अनजाने डर की वजह से संगीता के बेडरूम की ओर देखा, जहां मेरा भतीजा रवि सो रहा था.

अब मैंने पूरी ताकत लगा दी और दो-तीन मिनट के बाद मैं भी बोल पड़ा- आह्ह … डार्लिगं … मैं भी झड़ने वाला हूं.

जब से तेरे पापा का स्वर्गवास हुआ, तबसे घर की कंडीशन ठीक नहीं है, अब तू घर पर कुछ ज्यादा पैसे भेज दिया कर बेटी!मैंने उन्हें ढांढस बंधाया और फोन रख दिया. सुयश का रूम समता के रूम के सामने वाला था।समता रूम में जाकर फ्रेश होकर सुयश के रूम में आई. कुछ देर बाद अस्मा फिर से गर्म हो गई और कासिब से बोली- भाई अब बर्दाश्त नहीं हो रहा … प्लीज़ अब जल्दी से अपने लंड से मेरी चूत फाड़ दो.

आज वैसे भी मजदूर दिवस की छुट्टी है।लेकिन रोहित तो घर पर नहीं है बेटी।” मैं बोल पड़ा. इशिका ने चुत पर मेरा हाथ लगाते ही हटा दिया, पर मेरा बार बार हाथ इशिका की चुत पर ही जाकर लग रहा था. मैंने उसे उठाया और अपना एक दूध उसके मुँह में लगा दिया, जिससे वो दूध पीने लगी और चुप हो गयी.

मैं सोकर उठा, गेट खोला … तो देखा कि आंटी और नूपुर दोनों सामने खड़ी थीं. मैं भी नंगा हो गया और वहीं बोरी पर लिटा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा.

मैंने कुछ सोचा, तब तक मैडम फिर से बोलीं- आ भी जाइए, मैं कौन सा आपको खा जाऊंगी. उसी दिन शाम को किचन में भी कुछ रखना था, तो उन्होंने फिर से मुझे बुलाया. अब मैंने पूरी ताकत लगा दी और दो-तीन मिनट के बाद मैं भी बोल पड़ा- आह्ह … डार्लिगं … मैं भी झड़ने वाला हूं.

थोड़ी ही देर में मैंने उसकी चूत चाटने की अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत का रसपान करने के लिए तैयार हो गया.

फिर मैंने आंटी को फोन करने की कोशिश की लेकिन उनका फोन बंद आ रहा था. ये सुनकर मैंने जल्दी अपने कपड़े उतार दिए और अम्मी के सामने नंगा हो गया. मैं और तेजी से अपनी चुत उठा कर राज से चुसवाते हुए कहने लगी- आह पापा … पूरी चुत खा जाओ आह बड़ा मस्त चूसते हो आप!हम दोनों मम्मी पापा के लगाए हुए स्पाई कैमरों की मौजूदगी को जानकर ऐसा बोल बोल कर उन दोनों को गर्म कर रहे थे.

आंटी उसी पल वापस पलटीं और अपनी गांड मटकाते हुए दूध लाने अन्दर चली गईं. थोड़ी देर बाद पुष्पा को मज़ा आने लगा और वो लंड को लोलीपॉप के जैसे चूसने लगी.

मैं शर्माते हुए बोला- नहीं नहीं, मैं पहले से ही बहुत शर्मीला किस्म का लड़का रहा हूँ. लंड घुसते ही सायली की चीख निकल गयी- आआह आआ ऊऊऊ मर गयी … धीरे कर न मादरचोद … तेरा लंड है कि गर्म गर्म रॉड … आह फट गई मेरी … आह अन्दर तक गर्मी महसूस हो रही है … लगता है ऐसे ही तेरा लंड मेरी चूत में जिंदगी भर धूम मचाता रहे. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोले- समय नहीं बताने का, अभी तुम चलो, अभी तुम्हें कुछ मस्त दिखाने का टाइम है.

आरती सेक्सी फिल्म

उसकी ड्रेस मैंने उतार दी ताकि चुदाई के बाद किसी को उसकी ड्रेस देख कर यह न लगे कि ये ऐसी हालत में कैसे हो गई.

एक बार झड़ने के बाद मैं कोई दस मिनट बाद फिर से गर्म हो गया और फिर से स्यू मामी की चूत का बखिया उधेड़ना शुरू कर दिया. मैंने उनका हाथ अंडरवियर में डाल दिया और वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए हिलाने लगी. तो मैंने उसकी टांग को उसके मुंह की तरफ मोड़ दिया जिससे उसको बहुत दर्द हुआ.

मैं बोली- होने दो दर्द को, ये मुझे तु्म्हारे प्यार की याद दिलायेगा. दरोगा हांफते हुए बोला- वाह गीता रानी … सच में यार तू बहुत टाईट माल थी रे … देख साला लंड तेरी चुत की गर्मी से कैसे चुस सा गया. हिंदी ब्लू पिक्चर इंग्लिशमगर लंड मोटा था और चुत की फांकें कसी हुई थीं, तो लंड अन्दर कैसे जा पाता.

फिर उसे पकड़कर मैं लंड को उसके असली घर में पहुंचाने लगा।वह अपनी आंखें बंद किए हुए ही बोली- अरे डार्लिंग! कड़क लन्ड को बाहर मत निकालो … चोदो और तेजी से चोदो … आज मेरी तेईस साल की जवानी की प्यास बुझा दो, अपने मोटे खीरे से मेरी बुर में खलबली मचा दो. उनकी नाजुक पतली कमर गजब मटकती है, जिसकी वजह से उनके चूचे और चूतड़ भी मस्त थिरकते हैं.

मैंने उसकी एक टांग को टेबल पर रख कर फैला दिया और अपने लंड पर बटर लगा कर उसकी गांड में पेल दिया. औरत की वासना क्या क्या करवा लेती है उससे!मैंने उनसे साफ़ शब्दों में कहना उचित समझा और कह भी दिया- मामी जी क्या आपको मालूम नहीं है कि मामा जी की तबियत खराब है और वो अस्पताल में भर्ती हैं. मेरे नथूनों में आ रही उसके जिस्म की खुशबू से मेरा लंड तुरंत खड़ा हो गया.

फिर मैडम ने मेरे सीने पर गौर करते हुए कहा- तुम जिम करते हो क्या?मैं बोला- जी मैडम. अस्मा ने कासिब का चुम्बन लेते हुए कहा- फिर क्या हुआ भाई?कासिब- फिर उस दिन मैंने गुलचीन की तीन बार चुदाई की … और हर बार अपना मनी गुलचीन की चूत में और मुँह में छोड़ा. पर को अब भी मेरा लौड़ा चूस रही थी।उसने जीभ से चाट चाट कर मेरा लंड साफ़ कर दिया और फिर से मुंह में ले लिया और चूसने लगी।लंड खड़ा होने तक वह चूसती रही।फिर उसने अपने कपड़े उतार दिए और बोली- देखो, गांड तो मैं दूंगी नहीं … चूत में करना है तो कर लो।मैं उसका ऐसा बर्ताव देख चौंक गया.

उसके बाद कभी उसके होंठों पर, कभी दाएं बूब, कभी बाएं बूब को चूसता रहा.

राजेश ने दोनों हाथ ऊपर करके मेरे ब्लाउज के हुक तोड़ दिए, ब्लाउज को फाड़ डाला और मेरी ब्रा को निकाल दिया।मेरी चूची एकदम से बाहर आ गई और राजेश उनको जोर जोर से दबाने लगा. उसकी कराहों से मैंने अपनी स्पीड कम नहीं की … और ऐसे ही मैं उसे दस मिनट तक पेलता रहा.

जब मेरी एम एस सी के पहले वर्ष की पढ़ाई शुरू हुई, तो मैंने कॉलेज में एक लड़की को देखा. मेरी जींस में से मेरे लंड का उभार साफ दिख रहा था, जिसे चाची ने भी देख लिया था. फिर मैंने मामी के सारे कपड़ों को निकाल कर दूर फेंक दिया और साथ में अपने कपड़ों को भी निकाल कर मामी के ऊपर चढ़ गया.

जेनिल के चुचे छोटे आकार के थे, कमर भी कोई ख़ास नहीं थी और गांड भी दबी हुई थी. सोना ने एकदम से मेरे सिर को पूरा अपनी चूत में दबा दिया और वो झड़ने लगी. मेरा लंड आज भी उसकीगुलाबी चूतके लिए तड़प उठता है।प्रिय पाठको, मुझे आशा है कि आपको इस छोटी सी लेकिन रोमांटिक कहानी में मजा अवश्य आया होगा.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू हम दोनों ने एक ही गिलास से व्हिस्की का जा लिया और आधे घंटे बाद फिर से चुदाई की धमाचौकड़ी हुई. मैंने अपने पैरों का थोड़ा सा और फैला दिया ताकि दीपक को चूत में लंड घुसेड़ने में दिक्कत न हो.

सेक्सी वीडियो दिखाइए जोरदार

जैसे ही सायली ने अंकित की पैंट नीचे की, उसका तना हुआ लंड पैंट से आजाद होकर हवा में लहराने लगा. गीता- आआह इसस्स … आइ उफफ्फ़ … साहब अब मत तड़पाओ ना … जल्दी से पेल दो ना अन्दर … आह मेरी जल रही है … अन्दर से आग सी लगी है. बॉस ने मेरी चूत पर 4-5 बार अपने हाथ को फेर कर मेरी चूत को और भी ज्यादा रुला दिया.

बॉस ने मेरी चुत का सारा रस चाट लिया और उठ कर एक कपड़े से मेरी चूत साफ कर दी. मैं बोली- ठीक है, पर हम उन दोनों को पटाएंगे कैसे!अब चार लोगों में एक साथ चुदाई कैसे हो, इसकी पूरी मॉम डैड सेक्स स्टोरी मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी. मंगलसूत्र की मोती की डिजाइनउसकी चूची दबायीं, चूत को रगड़ा और फिर उसको चोदने के लिए तैयार हो गया.

रवि के स्पर्श से उसके लंड का क्या हुआ, साथ ही मीता की कुंवारी जवानी से मस्त उसकी सीलपैक चुत की चुदाई की कहानी को मैं अगली बार पेश करूंगी.

संगीता ने और ताकत से मेरे बालो को खींचा और कहने लगी- आदि, मुझे अपने प्यार से भर दो … मुझसे अब नहीं रहा जाता यहह्य … आम्ममम यस आदि फक मी विद योर टंग. वो देख नहीं सकते थे मगर ऐसा लग रहा था, जैसे कह रहे हों कि ले अनुराधा चूस ले मेरा लंड … निकाल दे मेरा पानी.

मैडम उठ कर और केक लाने जा रही थीं कि तभी मैंने उनसे पूछा- शौचालय कहां हैं मैडम?वे बोलीं- बस सीधे से आगे चले जाओ. जब भी मैं घर में अकेली होती, तो मैं अपनी चुत को उंगलियों से शांत कर लेती थी. फिर अब्बू की गर्दन को हाथों में लपेट कर अब्बू के गालों को, गर्दन को और होंठों को चूसने लगीं.

इसलिए मैंने जानबूझ कर सिसकते हुए कहा- ओह निकिता मैडम, आप बहुत सेक्सी हैं.

साला उसकीगांड का छेदइतना टाइट था कि बहुत जोर लगाने के बाद अन्दर गया. थोड़ी देर चूसने के बाद अपने मुंह से मेरा लौड़ा निकालते हुए वो बोली- बस रोहण, अब जल्दी से अपने इस लौड़े को मेरी चूत में डाल दे. फिर अचानक से वो बोली- पिंटू एक बात बोलूं … किसी से बोलेगा तो नहीं!मैंने कहा- बोल न!तो उसने बताया कि उसका कल कोई पेपर नहीं है.

सेक्सी फोटो बढ़ियामुझे समझ आ गया था कि स्याली मामी की चुत को मेरे मजबूत लंड की आवश्यकता है. वो भी कुछ ज्यादा पी लेने की वजह से बेसुध सोई पड़ी थी और मेरी हालात उसकी चुत की आवाज़ और हल्की सी झलक देखने के बाद खराब हो रही थी.

भाभी की चुत सेक्सी

अभी वो कॉलेज जाती है। उसका बदन अभी भरा नहीं है लेकिन वो बहुत सुंदर और कातिल जिस्म की मालकिन है. वो चुत चूसे जाने से पूरी तरह गर्म हो चुकी थी और उसकी चूत भी गीली हो चुकी थी. फिर मैंने उसकी पैंटी को हल्का सा साइड किया और उंगली अंदर पैंटी में दे दी.

मैंने उसके खाने की तारीफ की, तो वो बोली- अब तो आपको रोज तारीफ करनी पड़ेगी. उसे देख कर तो मैं एकदम से डर गया और हुक्का को उठा कर अलग को रख दिया. उसने मेरा लौड़ा हाथ में पकड़ा और उसे हाथ से ऐसे रगड़ने लगी, जैसे मैं मुठ मारता था.

मैं महाराष्ट्र के एक छोटे से शहर का रहने वाला हूँ जो लातूर जिले का ही एक गांव है. मैं एक हाथ से उसके टट्टों को मसल रही थी, जिससे वो बहुत छटपटा रहा था. फिर मैं शाम को मेडिकल दुकान जाकर गोलियां खरीद कर घर आया और चाची की गांड मारने के बारे में सोच सोच कर चाची के फ़ोन आने का वेट कर रहा था.

चूंकि मैंने भी अब तक न जाने कितनी आंटियों भाभियों और लड़कियों को चोदा है, इसलिए मुझे भी अनुभव था. उसने कहा- ये क्यों?मैंने कहा- यदि तुम पहली बार चुद रही हो, तो तुम्हें लंड जरूर चूसना चाहिए.

उसके चूसने का अंदाज ऐसा था कि जैसे उसने लंड को जिन्दगी में पहली बार ही देखा हो.

मैं बोला- भाभी तुझे लगे के मेरे जैसे से कोई छोरी सैटिंग करेगी के!भाभी बोली- नू तो पता बहुत दिन से है … देखने लग रही तू मेरे से भी एक दो बार बोला होगा. इंडियन मंस स्कैंडलमैंने उसकी नाइटी की डोर को खोल कर उसकी नाइटी को उसके जिस्म से अलग कर दिया. दिल्ली की लड़कियों का सेक्स वीडियोवो मेरा सर पकड़ कर अपना लंड मेरे गले तक उतार देते, जिससे मुझे कई बार खांसी भी आ जा रही थी. वो समझते हुए बोले- गुलाबी रंग के कागज़ से?मैंने मुस्कुराते हुए कहा- एक कागज से पूरी साफ़ नहीं हो सकेगी, इसके लिए कुछ ज्यादा कागज़ इस्तेमाल करने होंगे.

मैं उनके पैरों के पास आया, तो खुद भाभी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर चुत की फांकों में उसे सैट कर दिया.

मैंने सोचा कि अगर मैं इसको जई नहीं दी … तो ये अगली बार चूत नहीं देगी. उसके जाते ही मैंने अंकिता का हाथ पकड़ा और अपने लोवर के ऊपर ले जाकर उसके हाथों में अपना लंड थमा दिया. मैं बोला- भाभी, आप तो परी की तरह सुंदर हो फिर भी!भाभी बोली- अरे आदमी की फितरत तो कुत्ते जैसी होती है.

मेरा खड़ा लंड देख कर पहले तो वो कुछ देर देखती रही, फिर अचानक से उसने लंड हाथ में लेकर ऊपर नीचे किया और अपने मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया. वो बोली- फिर तुम ही बताओ कि क्या पहनूं?मैंने सोचा और कहा- जो पहनना है पहन लो. अब धीरे धीरे उजाला होने लगा तो मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चोदने लगा.

सेक्सी हिंदी खुल्लम-खुल्ला

वो मुझे पकड़ कर क्लासरूम में ले गयी और मेरी शर्ट खोलकर मेरी छाती को चूमने लगी. अब मैंने उसकी चूत को सहलाना शुरू किया और अपनी जीभ को चुत पर ले जाकर चाटना शुरू कर दिया. उस लड़की की सेक्सी चूत में तो केवल एक लकीर ही थी … मतलब एकदम सील पैक माल लग रही थी.

भाभी मुझे घर के बाहर ही मिल गई और बोली- चलो घर में दूध निकलवा देना.

मैं लपक कर उसके पास गया और मैंने लंड को उसके चूतड़ों से सटा दिया और उसको झुकने के लिए कहा.

मेरा लंड खड़ा होता देख वो उठी और उसने मुझे नीचे लिटा कर मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया. [emailprotected]Xxx गांड चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरी जवानी और सेक्स की प्यास- 5. पंजाबी पगड़ीमेरी टी-शर्ट उतरते ही संगीता मेरी चौड़ी छाती को देखने लगी और पागलों की तरह मेरी छाती पर यहां वहां किस करने लगी.

वो कहने लगी- तुम बात बात पर गुस्सा क्यों हो जाते हो … लो कर लो, जो करना है. परीक्षक महोदय ने मेरा अच्छी तरह से मुआयना किया और मिठाई की प्लेट मेरी ओर करते हुए बोले- लो बेटा मुँह मीठा कर लो, तुम्हारा काम सफल होगा. मैंने कहा- क्या कहा?उसने कहा- मुझे बड़ा वाला केला पसंद है … लेकिन अभी तक बड़ा केला मिला ही नहीं.

वहाँ बहुत ही ज़्यादा भीड़ थी; इतनी कि हम लोग अंदर तक नहीं जा पा रहे थे।अब आप लोग जानते ही होंगे कि धनतेरस वाले दिन कितनी भीड़ होती है।रागिनी आगे आगे थी और उसी भीड़ में मैंने चुपके से साहिल का हाथ पकड़ लिया था।हम अपनी बारी आने का इंतज़ार करने लगे. कुर्ती के निकलते ही चाची के मम्मे सफ़ेद रंग की ब्रा में कसे हुए सामने दिखने लगे.

चुत पर झांटें न देख कर मैंने चाची से पूछा कि क्या बात है मेरी जान … तेरी चुत तो एकदम साफ है.

अब सब तुम्हारे फैसले पर हैं … अगर तुम्हारी न है, तो मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है. मेरा सम्पर्क एक ऐसी महिला से हुआ जिसे सेक्स संतुष्टि के साथ साथ दिली प्यार की भी जरूरत थी. और मैं फिर आँखें बंद करके मज़ा लेने लगी।अब चाचा ने अपनी उंगलियां बाहर निकल ली.

भाभी की चड्डी बेचारा मेरा लंड को अपनी चुत रानी के बिना ही शांत होने की कोशिश कर रहा था. ऐसा बोलते ही भाभी ने नीचे बैठ कर मेरा लंड मुँह में भरा और लॉलीपॉप की तरह चूसना शुरू कर दिया.

मैं अभी भाई साहब के पानी को चाटकर अपनी चूत सहला ही रही थी कि तभी बाहर से भाई साहब के बुलाने की आवाज आयी. उसके बाद मैंने अंडरवियर में ही माल गिरा दिया और फिर मुझे भी नींद आ गयी. चूंकि सुरेश को पता था कि आज चुत चुदाई होगी तो वो पहले से ही एक पावर बढ़ाने वाली गोली खा चुका था.

सेक्सी 9 साल की लड़की की

भाई साहब कुर्सी से हट गए और अब मैं कुर्सी पर कुतिया बन गयी, जिससे मेरी गांड ऊपर उठ गयी. मैंने कहा- हां, बियर में सोडा ही तो होता है … अल्कोहल तो नाम मात्र का होता है. पांच मिनट ही मैंने उसकी गांड मारी … क्योंकि उसको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था.

बहुत देर तक उसके दूध चूसने और मसलने के बाद मैंने उससे कहा कि वो बेड के कोने पर आ जाए. उससे शावर खुल गया था और वो बंद नहीं हो रहा था।उसने मुझे बुलाया, जैसे ही मैंने दरवाजा खोला देखा तो वो पूरी भीगी हुई थी.

उधर मेरी बहन ने साबुन से चूत धोई और गीजर के गर्म पानी से चुत को साफ किया.

मेरा लंड खड़ा था और जोश में था, तो आसानी से उसके मुँह को खोलता हुआ गले में चला गया. रीति को दूसरों की नजरों से बचा कर मैंने उसे बाहर निकाला और थोड़ी दूर के बाद उसे मेडिकल स्टोर से आई-पिल की गोली लेकर दे दी. मैंने कहा- तो तुम चुप क्यों खड़ी थी?तो वो बोली- क्या फायदा … मेरी माँ का तो रोज का ये ही काम है।मैंने कहा- तुम्हें कुछ परेशानी नहीं है?तो वो बोली- मुझे क्या फ़र्क पड़ता है।मैंने उसे कहा- तो तुम मेरे साथ कर लो!तो वो बोली- मेरी मां को पता चला तो मेरी गांड तोड़ देगी।मैंने कहा- कुछ नहीं पता चलेगा.

कुछ देर तक लंड चूसने के बाद मैं उठा और उसके लंड को अपनी गांड के छेद में लेकर उसके लंड पर धीरे धीरे बैठने लगा. हीरोइन ने कहा- नहीं, मैं और आगे का सोचती हूँ, तो लगता है कि फिर मुझे काम नहीं मिलेगा … क्योंकि ये इंडस्ट्री ऐसी ही है. मामी जी ने मुझे अपनी बांहों में एक बार तो कस लिया … अगले ही पल उन्होंने मुझे छोड़ दिया.

मैंने झट अपनी शर्ट और ट्राउज़र को पूरी तरह से उतार दिया और नंगा खड़ा हो गया.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी ब्लू: अब तक भाभी एकदम आसमान में उड़ने लगी थीं और उनके मुँह से मादक आवाजें निकलने लगी थीं- आह्ह उह आशस हह आह्ह … मत कर आह कितना सता रहा है. मैं उत्तेजित होकर अपनी क्रिया को और तेज करने लगता, जिससे उनकी उत्तेजना और बढ़ जाती.

वो दोनों आवाजें मुझे जानी पहचानी सी लगीं, तो मैंने उन पर नज़र मार कर देखा. फिर तुरंत मेरी सास मेरी पत्नी से बोली- चलो बेटी रसोई में, खाना जल्दी बना लेती हैं।लेकिन मां अभी तो सुबह ही है!” मेरी बीवी आश्चर्य से बोली।अरे! फिर भी चलो!” मेरी सास ने जोर दिया. मेरा लंड अभी एकदम कड़क नहीं हुआ था, तो मैंने उसे घुमा कर उसके मुँह में लंड पेल दिया.

तो मैं रुक गया और उसके पैर फिर से अपने कंधे पर रख दिए।अब मैंने अपने एक हाथ से उसकी गांड का छल्ला खोला और उसमें थूक भर दिया.

बस पावस को मत बताइयेगा कि आपने चूत खोलने के लिए आपने मेरी चुदाई ही कर दी. इस बार मैंने पूजा को रेखा कह कर ही चोदा, जिससे उसके दिमाग से रेखा की चुत दिलाने की बात न निकले. मगर जीजू के द्वारा मेरे बूब्स दबाये जाने से मुझे बहुत मजा आ रहा था.