दिल्ली की लड़कियों की बीएफ

छवि स्रोत,देहाती सेकसी

तस्वीर का शीर्षक ,

अलीराजपुर आदिवासी फोटो: दिल्ली की लड़कियों की बीएफ, क्या करता घर में शादी होने के कारण कोई जगह ही खाली नहीं मिल रही थी.

ठंड में बिना पानी के कैसे नहाये

अजय अंकल ने बोला- पूरा लो ना!और अजय अंकल ने मां का सर अपने लंड में दबा दिया।मां अंकल के लंड को पूरा नहीं ले पा रही थी. मराठी सेक्स व्हिडिओ नवीनफिर मम्मी बोलीं- अच्छा अब छोड़ और मुझे काम करने दे, मैंने तेरे लिए तेरा पसन्दीदा चिकन बनाया है.

आएशा मुस्कुराते हुए बोली- आप तो बड़ा फ्लर्ट करते हैं … पर मुझे आप अच्छे लगे. रोज बीज गिराने से क्या होता हैदिशा पटानी का दूसरा हाथ मेरे कंधे पर था। हम दोनों रोमांटिक म्यूजिक के साथ कपल की तरह डांस करने लगे।मुझे शराब का थोड़ा नशा भी होने लगा था।इस समय दिशा के कातिलाना बूब्स मेरी छाती को छू रहे थे.

उसके कहने पर मैंने अपने हाथ की मुट्ठी बना ली और उसकी चूत में देने लगा.दिल्ली की लड़कियों की बीएफ: मैंने भी जोश में आ कर सोनल के बाल पकड़ कर उसे खड़ा किया और उसे किस करने लगा.

फिर पापा ने मुझे नीचे गिराया और मेरी स्कर्ट ऊपर करके मेरी कच्छी को नीचे कर दिया.उस दिन मुझे पता लगा कि हमारे पड़ोसी लड़के से पहले भी मेरी बहन किसी और से अपनी चूत को चुदवा चुकी थी.

पान वाला बाबू - दिल्ली की लड़कियों की बीएफ

मैंने हॉट गर्ल आयशा के मुंह को अपने मुंह से दबा लिया और उसके होंठों को चूसते हुए लंड को पूरा उसकी चूत में धकेल दिया.मैं एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूँ और उसी कंपनी की तरफ से कॉर्पोरेट क्रिकेट खेलता हूँ.

फिर जब थोड़ी दूर आ गये तो शौहर ने बताया कि जब तुम चल रही थी तो तुम्हारा बुर्का तुम्हारी गांड में फंसा हुआ था. दिल्ली की लड़कियों की बीएफ आज मैं आपको एक ऐसी आंखों देखी घटना बताने जा रही हूं जिसके बारे में पढ़कर शायद आपको अपनी आंखों पर यकीन करना मुश्किल हो जायेगा.

उनके इस अंदाज से मै बहुत खुश हुआ और उनकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और उन्हें किस करने लग गया.

दिल्ली की लड़कियों की बीएफ?

मैंने भी बाबा की सेवा करने का वादा किया और फिर घर आकर सबको मेरे गर्भवती होने की खुशखबरी बताई. ) अब मुझे यह समझ में नहीं आ रहा था कि जब मेरी मां को अजय अंकल लेकर गए और वे दोनों है विशु के कमरे में, तो क्या विशु वहां नहीं था?मैं नीचे गया और विशु को ढूंढा लेकिन विशु वहां पर था नहीं, मैंने उसको फ़ोन किया लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ था. भाभी ने लंड हिलाते हुए कहा- अब क्या मुहूर्त निकाल कर चुदाई शुरू करोगे?मैंने भाभी की बात का कोई जबाव नहीं दिया.

मेरे अंदर लड़कियों वाला गुण भी है; यह बात मैं पहली बार समझा।दो दिन बाद फिर उन्होंने मुझे इशारा कर के बुलाया. जैसे ही मैं कंडोम का रैपर फाड़ रहा था, उसने मुझे रोक दिया और मना कर दिया. जोकि गड्डे में गाड़ी के आ जाने से उसकी सिसकारी के रूप में निकल रहे थे.

मैंने उसके चूतड़ों को अपने हाथों से अपनी ओर खींच कर लंड को आगे धकेल दिया. पक …” की आवाज के साथ उनका लंड मेरी चुत से बाहर निकला और हम दोनों का काम रस मेरी चुत से चादर तक बहने लगा. सास के तानों से मैं इतनी तंग आ गयी थी कि मैं कुछ भी करने के लिए तैयार हो गयी थी.

उसके बाद रानी, काको और कृष्णा की चूत को चोद कर उनकी चूत को भी शांत किया. वो मेरा हाथ पकड़ कर एक तरफ को ले जाते हुए बोला- माय डिअर … इधर थोड़ी झाड़ी में आ जाओ.

आपको ये टीचर की चूत की आग की स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल और कमेंट्स के जरिये बताना.

रानी को ब्रून का लंड भा गया था और ब्रून तो पहले से ही रानी की चुत फाड़ने के चक्कर में था.

उनके होंठों को चूसते हुए मुझे भाभी के मीडियम साइज के बूब्स दबाने में काफी मजा आ रहा था. उसके बाद क्या मैं टीचर मैम की चुदाई कर पाया?मेरा नाम करन है, मैं दिल्ली में रहता हूँ. अचानक मुझे अपनी हालत का अंदाजा हुआ और मैंने अपने हाथों से अपने स्तन छुपाने की कोशिश की.

मम्मी दर्द में ही बोली- अरे कोई बात नहीं, आज के बाद से तो मैं आपकी हूं. उसकी सबसे ज्यादा पसंद आने वाले बात ये थी कि वो बला की खूबसूरत थी और उसका रंग दूध सा सफेद था. लेकिन मेरा यह मानना है की जब इतनी मस्त साइट पर जब कोई आता है तो दिलो दिमाग़ में चुदाई की चूं चूं और लन्ड की लपलप को लेकर ही आता है.

फिर शायद भाभी से रहा नहीं गया और उन्होंने मेरे कान में बोल ही दिया- बस दिखाते ही रहोगे कि अन्दर भी डालोगे?मैंने बोला- आपको पसंद आया?तो भाभी बोलने लगीं- इतना बड़ा और मोटा लौड़ा मैंने आज तक नहीं देखा … बस कुछ भी नहीं करो, पहले सीधे मेरी चूत में डाल दो जल्दी से.

फिर वे दोनों थोड़ी देर के लिए दूसरे कमरे में चले गए और इस प्रकार भैया भाभी का रिश्ता पक्का हो गया. यहाँ तक कि मैं घर में मॉडर्न कपड़े भी पहनती हूँ उस पर भी कोई पाबन्दी नहीं लगायी. मैंने कहा- पापाजी, लगता है मुझमें कोई कमी है, इसीलिए अभिजीत को बाहर जाना पड़ा.

पूरे रास्ते मैं उनको रगड़ता रहा, मसलता रहा … मैंने ऐसा कोई भी पल नहीं छोड़ा था, जिसमें मैंने मामी को छेड़ा नहीं था. ममता जी एक छोटे गाँव की रहने वाली थी और काफी पुराने विचारों वाली महिला हैं. वो बोली- लेकिन आपके सामने … कैसे?मैंने कहा- देखो, जांच तो पूरी करनी ही होगी.

एक बार ऐसे ही मजे ले रहा था और मेरा हाथ उनके मम्मों पर टिका था और अपना काम कर रहा था.

पीहू भी मदहोश होकर अपनी बांहों में मुझे कसकर पकड़ लिया।कुछ देर मैं पीहू को ऐसे ही चूमता रहा, फिर मैंने अपने होंठों में उसके निचले होंठ को लेकर चूसने लगा. उसकी मदद से मैंने उसकी मामा की लड़की को भी चोदा, वो अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा.

दिल्ली की लड़कियों की बीएफ क्या मामला है, इनका परिवार कैसे बनेगा? पति पत्नी एक साथ नहीं रहेंगे तो गृहस्थी कैसे बनेगी?मेरी पत्नी हमेशा एक ही जवाब देती- मुझे खुद समझ नहीं आ रहा और मम्मी से पूछती हूँ तो उनका भी ऐसा ही जवाब होता है. उसके बाद कुछ देर तक वो मेरे पास लेटी फिर अपने कपड़े पहन कर अपने रूम में चली गयी.

दिल्ली की लड़कियों की बीएफ मैं अपने भाई के सामने गयी और उसके सामने झुक कर अपने बालों को झटकने लगी. मैंने उससे कहा कि जिधर चुत चुदाई होना है, मैं उधर की बात कह रहा हूँ.

उसका ध्यान मेरे चुम्बनों पर ही था कि मैंने उसके होंठों को बंद करते हुए एक ही झटके में मेरा 7 इंच का लंड पूरा अन्दर ठांस दिया.

सेक्सी वीडियो भेजिए सर

एक मोटा गर्म लंड मेरी गांड से भिड़ गया। लंड के आकार से ही मैं समझ गई कि ये तो ननदोई जी हैं।ननदोई जी ने मेरे कान के पास अपना मुँह किया और बोले- देखो दुल्हनिया … हम अभी नहीं सोये नहीं थे. मेरे ख़ास दोस्त की बहन की चूत चुदाई की इस कहानी के पहले भागदोस्त की बहन बनी गर्लफ्रेंड-1में आपने पढ़ा कि मैं दीपावली की शुभकामनाएं देने अपने दोस्त के घर गया तो उसकी बहन से मुलाकात हुई. उसने मुझे हाथ पकड़ कर खड़ा कर दिया और खुद ही मेरी पैंट को खोलने लगी.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी प्रतिक्रियाओं से जरूर अवगत करायें. हो सकता है कि आप इस सेक्स कहानी को पढ़ते हुए बोर हो रहे हों … तो प्लीज़ मुझे झेल लेना, मगर कहानी जोरदार और सच्ची है. मैं भौचक्का रह गया, मेरी आंखें बड़ी बड़ी और मुँह खुला का खुला रह गया.

यश ने मुझे पकड़ कर उठाया और अजीब तरह के पोज़ में खड़ा करके पीछे से फिर चोदने लगा.

मैंने जब आंखें खोलीं तो सामने का नजारा देख कर मुझे अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ. उसने पूछा- मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाओगे?मैंने कहा- क्या मैं तुमको इतना पसंद आ गया हूँ?उसने आंख मारते हुए कहा- ज्यादा नहीं थोड़ा सा, लेकिन हम मिलते रहें, तो मुझे तुम और भी ज्यादा पसंद आ सकते हो. अपने सोशल मीडिया अकाउन्ट में उसने मैसेन्जर पर अपने लंड की फोटो भी भेजी हुई थी.

अभिनव मां की पीठ पर हाथ फेर ने लगा और उसका लंड मां की गांड पर घिसने लगा. भाभी ने हामी भरी और मैंने माँ को फोन करके बता दिया कि मैं सीधे प्रोग्राम में पहुंच जाऊंगा. इतने में शोभा की चूत से पानी आ गया और चूत और लण्ड के बीच छप छप की आवाज आने लगी।मैंने शोभा को फिर सीधा किया और दूसरी पोज़ में फिर चोदने लगा.

वो सिसकारने लगी- आह्ह … और जोर से! बहुत दिनों के बाद किसी ने मेरी चूचियों को अपने हाथों में लिया है. मैंने झट से दीदी के कुरते को ऊपर करते हुए निकाल दिया और अपने भी पूरे कपड़े उतार दिए.

फिर मैंने उसकी चूत में दोबारा से जीभ डाल दी और उसकी चूत को खाने लगा. लेकिन मेरी मां ने मना कर दिया; मां ने कहा- मैं मुंह में नहीं लेती हूं. मगर उनको ये बात नहीं मालूम थी कि मुझे उन दोनों के बारे में ये सब भी पता है.

अपने पापा से अपनी चुत चुदाई की कहानी में अभी बस इतना ही लिख रही हूँ.

मुझे तो उन्हें सहलाने में ही इतना मज़ा आ रहा था कि मैंने थोड़ा समय तो उसी में लगाया. मैंने भी सोच लिया कि मोहिनी भाभी को तो बाद में देखूँगा, पहले इस हिमानी की चूत का स्वाद जरूर चखूंगा इसलिए अब मैं उससे मिलने का कोई भी मौका नहीं छोड़ता था. क्या बताऊं यारो … क्या लग रही थी वो! फोटो में वह उतना खूबसूरत नहीं दिख रही थी लेकिन रियल में क्या लग रही थी.

पर ये मेरा डर कुछ ही देर में खत्म हो गया क्योंकि उसके साथ एक लड़का और बच्चा ही था. उसके हाथ अब भी मेरे सर पर लगे थे और मैं उसकी चुत की मलाई को बड़े मजे से चाट कर मजा ले रहा था.

मैंने अपनी आँखें बंद की हुई थी और मेरे हाथ मेरे बूब्स को जोर जोर से मसल रहे थे. उसका लंड खड़ा हो गया था तो मैंने अपनी चूत को उसके लंड पर सेट किया और लंड को अपनी चूत में आश्रय दे दिया. जैसे जैसे मैं जवान होता गया तो मेरे मन में भी औरत के जिस्म की तरफ आकर्षण प्रबल हो रहा था.

इंडियन सेक्सी नंगा

जबसे मैंने उसे देखा, तो मैं उसकी तरफ कुछ ज्यादा ही आकर्षित होने लगा था.

अगर इनमें सब कुछ क्लियर रहा तभी मुझे स्पर्म डोनेट करने का अधिकार दिया जायेगा. हिमानी कद काठी में गोल मटोल, मम्मों के नाम पर दो मोटे सेब एकदम तेन हुए थे. लेकिन अगर वो अपने पति से संतुष्ट नहीं है, तो भले ही उसे चारदीवारी में बंद कर दो, वो कुछ भी करके लंड ले ही लेगी.

ताई जी का घर बहुत बड़ा नहीं था, इसलिए कुछ मेहमानों का इंतजाम हिमानी के यहां कर दिया. चार-पांच मिनट तक भाभी की चूत में धक्के लगाने के बाद ही मेरे लंड से मेरा नियंत्रण छूट गया. सेक्सी फिल्म वीडियो देखने वालाइसके बाद मैंने जाने के लिए अपने कपड़े उठाए, तो बड़ी ने मुझे पकड़ लिया.

कुछ दिन पहले ही आप लोगों ने हम शौहर-बीवी की कहानीबीवी की चुदाई वीडियो काल पर दिखायीफ्री सेक्स कहानी साईट पर पढ़ी होगी. तभी एकदम से उमेश मेरे पीछे आया और बोला- आप अपनी प्लेट मुझे दीजिए, मैं निकाल देता हूँ.

खाने पर पापा जी को बुला के मैं जैसे ही मुड़ी, मैंने अपना मोबाइल नीचे गिरा दिया और मोबाइल उठाने के लिए नीचे पूरी झुक गयी और हल्की सी अपनी टांगें भी फैला दी. सीधा अंगुली अंदर न डाल कर पहले आसपास गोल गोल अपनी सारी उंगलियों से सहलाया. फिर एक दिन जब सब साथ में डिनर कर रहे थे तो किशोर ने बताया कि आफिस के काम से 1 महीने के लिए बाहर जाना है.

वो खुशी से खड़ी हुई और पहले ब्रा फिर पैंटी उतार कर फेंकते हुए बोली- आजा साले … मेरे भैया के आने से पहले जितना चोदना है, चोद ले. वो मुझे खींच कर अपने बेडरूम में ले गई और मुझे बेड पर पटक कर धीरे धीरे अपने कपड़े उतारने लगी. उसे मस्ती आने लगी, बोली- जोर से … और जोर से … और जोर से!उसके इतना कहते ही मैंने जोर जोर से उस लड़की की चुदाई करना शुरु कर दिया.

तो आज की कहानी यहीं पर खत्म करते हैं और आगे की कहानी मैं आपको बाद में बताऊंगा.

उफ्फ … क्या लग रही थी मेरी मां!अब अभिनव ने मां के ब्लाउज को भी खोल लिया. मेरी ब्लाउज के गहरे गले में से मेरे दोनों मम्मों के बीच की घाटी साफ दिख रही थी.

थोड़ी देर बाद मैंने उसके गर्दन कंधे पर किस किया और उसके कपड़े उतार दिए. मैं उसकी चूत में जीभ दे दे कर उसकी चूत के रस की बूंद को बाहर आने से पहले ही चाट लेता था. मेरी इस कहानी के बारे में अपना प्रतिक्रयाओं के जरिये भी अपना प्यार जाहिर करें.

उन्होंने फूलदार मैक्सी पहनी थी जो काफी फिटिंग की थी और गला भी बड़ा था जिसमें हल्के से ऊपर के चूचे दिख रहे थे. तो साराह ने मेरी उंगलियों को अपने होंठों में दबा लिया और चूसने लगी. कुछ देर बाद में उसका दर्द धीरे धीरे कम होना शुरू हुआ, तो उसने मजे लेना शुरू कर दिया.

दिल्ली की लड़कियों की बीएफ पापाजी बोले- बहू, अब बर्दाश्त नहीं होता है यार!तो मैंने कहा- आपको रोका किसने है?पापाजी बोले- जाओ कंडोम ले आओ!मैंने कहा- पापाजी, आप मेरे हो और आपके साथ चुदाई में मुझे कंडोम की जरुरत नहीं. साफ़ बोलो, यदि तुम नेहा की चुदाई करना चाहते हो, तो उसको तेरे लिए तैयार कर सकती हूँ.

ब्लू सेक्सी पिक्चर इंग्लिश वीडियो

जब दर्द कम हुआ तो धीरे धीरे उसकी बुर में अपना लौड़ा अंदर बाहर करने लगा. विजय ने मेरी मां (बिमला) को कहा- साली रंडी, तू खड़ी हुई क्या कर रही है. यहां मैं अपने एक हाथ से उसके मम्मों को ज़ोर ज़ोर से दबाए जा रहा था, दूसरे हाथ से दीदी की गांड को ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था.

मेरी गर्लफ्रेंड मेरे फ्लैट पर अकेले नहीं सो पाती क्योंकि उसे डर लगता है. मैं अपने मामा के घर गया तो मेरी नजर मामी की चूचियों पर चली जाती थी. सुकून पहुंचाने वाली आवाज़ें सुनाओअपने केबिन के अन्दर जाते ही मैंने उसको बुलाया और उसको एक पेनकिलर फिर से देकर, उसकी एक पप्पी ले ली.

फिर मैनेजर ने हमारी टेबल पर आकर रानी और मुझे थैंक्स कहा और अपना परिचय दिया.

मैंने अपनी बहन की चुदाई कैसे की?हैलो, मेरा नाम सागर है, ये बदला हुआ नाम है. मैंने बिना कोई प्रतिक्रिया दिए उसकी ब्रा हटा दी और फिर उसके मम्मों की मालिश शुरू कर दी.

मगर फिर भी कभी कभार हम कहीं न कहीं चुदाई का प्रोग्राम कैसे भी करके सेट कर लेते थे. उसकी नज़र मेरे खड़े लौड़े पर चली गयी जिसे देखकर वो थोड़ा सा मुस्कुरा कर रह गयी. कुछ देर बाद मेरी उसके कपड़े उतरने की बारी थी … मैंने हाथ बढ़ाया, पर उसने मेरे हाथ पकड़ लिए.

मैंने अपने होंठों के बीच में दबा कर उसकी चुत के दाने को दबाते हुए चूसा और अपनी जीभ से चुत को अन्दर तक चाटा.

कुछ देर के बाद जब उसको थोड़ी राहत मिली तो मैंने धीरे धीरे करके उसकी चूत में लंड को चलाना शुरू कर दिया. मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- बीती रात में ही तो तुमने मेरी चूत को चोदा है. पर मेरा मन अभी नहीं भरा था तो मैंने उससे पूछा कि उसके घर में चॉकलेट है या नहीं.

एचडी सेक्सी मूवीसआकाश भी मस्ती में उसकी चूची को पीते हुए उसकी चूत को सहलाने में लगा हुआ था. जिसके कारण उन्हें सर्दी लग रही थी।उसको कांपते देख कर मैंने कहा- शायद आपको सर्दी लग रही है.

चुदाई की ऑडियो स्टोरी

मैंने पापा से कहा- आज मैं तेरी पत्नी बन गई हूँ … चोदो मेरे राजा … फाड़ दो आज अपनी पत्नी रंजीता की चूत … आज से मैं तेरी सब कुछ हूँ … रांड भी, रखैल भी, बिटिया भी, गर्लफ्रेंड भी और पत्नी भी … आज पूरा निचोड़ दो अपनी जान को. मैंने उससे पूछा, तो उसने कहा- खाना ले आऊं क्या?तो मैंने बाहर झांक कर देखा, तो बाहर सब तरफ अंधेरा था. अन्तर्वासना पर मैं अपनी एक आपबीती आप लोगों के साथ शेयर करना चाहती हूं.

फिर मैंने इस बात की पुष्टि करने के लिए उसके हाथ पर अपनी पैंट में तने लंड को टच करके थोड़ा दबाव बढ़ा दिया. मुझे जोर जोर से चोदते हुए वो इतनी तेजी़ से धक्के लगा रहा था कि मिनट दर मिनट मैं ऊपर की तरफ खिसकती जा रही थी. नीचे से उसने अपनी गांड उचका दी और इस तरफ से मैंने लंड पर जोर दिया तो लंड का टोपा उसकी चूत में घुस गया.

उसने अपनी पैंट खोल दी, मैं उसके लण्ड को गौर से देखने लगा तो उसने बोला- तुम भी अपना लण्ड दिखाओ?और फिर उसने मेरे हाफ पैंट को खींच दिया. मैंने उनके होंठों को चूसने के लिए आगे गर्दन की तो उन्होंने मुझे रोक दिया. कोई उसे एक बार देख ले तो उसी पल उसे चोदने के बारे में जरूर सोचने लगेगा.

दिल्ली में मेरा दोस्त और दोस्त के भाई रहते थे, तो मैं उनके साथ में रहने लगा. कम ऑन फास्ट … और ज़ोर से … मेरे पति का लंड मुझे संतुष्ट नहीं कर पाता है … पर आज मैं बहुत खुश हूँ कि मेरे पति ने मुझे एक पराए मर्द से संतुष्ट करवा दिया … मुझे अपने पति पर गर्व है … तुम मुझे चोद कर संतुष्ट कर दो … आह आह.

कृष्णा बोली- साली रंडियों, यहां बाथरूम में ही चूत फड़वानी है क्या, चलो निकलो यहां से बाहर.

फिर पापाजी ने ढेर सारा घी अपने लंड पर लगा लिया और थोड़ा घी मेरी गांड के छेद पर लगाकर उसमें 2 उंगली घुसा दी. स्कूल लड़की का सेक्स वीडियोउसने अपने हाथ पीछे ले जाकर मुझे रोका, तो मैंने ड्रेस ऊपर करनी बंद कर दी. अच्छी अच्छी कहानियांबात दिसम्बर 2018 से शुरू होती है। सिगरेट पीने की आदत की वजह से मैं अक्सर सिगरेट खरीदने पास वाली गली में चला जाया करता था. किंतु मुझे इतना पता है कि मैं किसी भी औरत या लड़की को बिस्तर पर खुश कर सकता हूं.

यह देख कर मैं बहुत खुश हुआ कि मेरी बीवी इतनी मस्त है जिसे हर कोई चोदना चाहता है.

फिर मैंने धक्के लगाने शुरू किए और मामी अपने हाथों से अपनी टांगें चौड़ी किए हर धक्के के साथ आआह आआह कर रही थी. अपनी गांड की कहानी में मैं बता रहा हूँ कि मेरी गांड का उद्घाटन कैसे हुआ. और यह गलत नहीं है, तुम किसी को धोखा नहीं दे रही हो बल्कि तुम्हारे साथ गलत करने वाले को सही जवाब दे रही हो.

इस लिए मेरे कहने पर ब्रून ने रानी के बगल में एक चेयर लगाई और उसे अपनी बांहों में साध लिया. मेरे मुँह से ये सब सुनकर पापा जी भी हंसने लगे, बोले- मतलब तुम्हें भी ये गंदे शब्द बोलना पसंद है?मैंने कहा- हाँ पापाजी, मुझे फ्रैंक बोलना पसंद है. प्रशांत चुपचाप अन्दर आया और उसने मम्मी को पीछे से पकड़ लिया और उनके गाल पर किस करके बोला- मम्मी हैप्पी बर्थ डे.

देसी सेक्सी वीडियो देखनी है

वो धीरे धीरे मेरी रफ़्तार को पार कर गयी और वो भी मुझे ज़ोरों से चूमने लगी. थोड़ी देर बाद मैंने उसकी टांगों से अपना मुँह निकाला और उसे खींचते हुए अपने लंड के निशाने पर सैट कर लिया. वो थोड़ा खांसी, फिर अगले ही पल उसने पूरा माल पी लिया और लंड को चाट कर साफ कर दिया.

15 वर्षों में हजारों बार मैंने मामी को पेला है।मेरी मामी का नाम रुकसाना (बदला हुआ नाम) है। यह कहानी 2004 की है जब मेरी मामा की शादी में मैं बारात में गया जिस दिन मैंने अपनी मामी को पहली बार देखा था.

फिर बोले- बहू क्या हुआ?मैंने कहा- पापाजी, अभिजीत ने मुझे रूम से बाहर निकल दिया है.

अब मैंने मेरा बॉक्सर नीचे करके अपना पूरा खड़ा लंड बाहर निकाल लिया था. इसके बाद काली रंग की पैंटी में मेरी बीवी की 36″ साइज की गांड और बड़ी लगने लगी और वो घोड़ी बनकर अपनी गांड के दर्शन करवाने लगी. ट्रिपल एक्स जैसी फ़िल्मेंसुहागरात की सेज पर पहुंचने से पहले ही शेरवानी की पजामी में तन गया था.

वो कसमसाते हुए मेरे होंठों को पुच पुच की आवाज करते हुए जोर से चूस रही थी. कुछ मेरी गांड चुदाई करके भाग जाते या कुछ गांड मारने पर ही मुझे याद करते. अब उन्होंने मां के पैरों को मोड़ा ताकि मां के पैर अजय अंकल के कंधों पर आएं और अजय अंकल ने अपने हाथ माँ के कन्धों के बगल में रखे और धड़ाधड़ धक्के मारने लगे.

मजा लें सेक्स स्टोरी का!दोस्तो, मेरा नाम फरहान अंसारी है मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ. लंड अन्दर तक पेलने के बाद मैं फिर से रुक गया और उसकी चूचियों को चूसने लगा.

उनका घर कुछ ऐसा बना हुआ है कि घर की लम्बाई या यूं कहें कि गहराई बहुत ज्यादा है.

5 इंच मोटे लंड का मालिक हूँ, लेकिन मैं अपने इसी सामान्य लंड से काफी महिलाओं की जरूरत पूरी करने की कोशिश करता हूँ. मैंने अंडरवियर निकाल दिया तो मेरा लम्बा और मोटा लौड़ा देख कर वो घबरा गयी. उसके चेहरे को ऊपर किया और उसको अपनी तरफ खींचते हुए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

दक्षिण भारतीय पिक्चर वो चिल्ला चिल्ला कर कराह रही थी- आह आह … मोर एंड मोर … फक मी फ़ास्ट. तभी उसका बेटा आ गया और हमारी एक दूसरे को खुश करने की ये कोशिश अधूरी रह गयी.

दूसरे दिन भी दोपहर में कोई नहीं था, तो बाहर का गेट बंद करके हम दोनों मामी और भांजे चुदाई में लग गए. मैंने उससे उसकी नंगी फोटो मांगी तो उसने नंगी पिक्स देने से मना कर दिया. मैं अपना मुँह उनकी बुर के फांकों पर लगा कर पैंटी के ऊपर से ही चाटने लगा उम्म्म् … मुच मुच मुच …मामी के मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं- अह्ह … उह्ह्ह्ह … उह … मेरे राजा चूसो मेरी चूत को … अह्हह … मज़ा आ रहा है.

ప్రెగ్నెన్సీ సెక్స్

यह देखते ही आकाश भी जोश में आ गया और उसने तुरंत मेरी गान्ड में अपना हाथ मार दिया।क्योंकि 1 घंटे तक ऊपर कोई आने वाला नहीं था और हमारी क्लास भी ऊपर एकदम किनारे थी तो मोहित ने आकाश से कहा- हम एक काम करते हैं; दोनों लोग एक एक करके इसकी बुर फाड़ते हैं।मोहित बोला- पहले तू बाहर खड़े होकर यह देखता रह कि कोई क्लास की तरफ ना आए. इनको तो मैं अच्छी तरह जानता था लेकिन मामा की बड़ी लड़की सुमन से पहली बार मिला था. फिर उसने बोला- आप कल शादी में नहीं जाओगी?मैं बोली- जाना तो चाहती हूँ … लेकिन मैं अपनी परेशानी तो आपको बता चुकी हूँ.

मैंने भी उसके करीब कुर्सी सरकाते हुए उसकी बांहों से अपनी भुजाओं को इस तरह से सटा दिया, ताकि उसको ये न लगे कि मैं उसके शरीर पर हाथ फेर रहा हूँ. थोड़ी देर बाद सीन बदला, हीरो ने उस लड़की को सोफे पर लिटाया और उसकी बुर पर अपना लंड घिसने लगा.

अजय अंकल ने उसे खींचा जिससे मॉम की ब्रा पीछे से फट गई।मां ने पहले तो थोड़ा सा गुस्सा किया लेकिन अजय अंकल ने उनकी बात को बीच में ही काटते हुए उनके होंठों पर होंठ रख दिए और जोरदार चुंबन दे दिया.

पहले अभिनव ने माँ की टांगों को चौड़ा किया और अपना लंड पर थूक लगाया. इसी कारण से वो सब मेरी इस बात से खुश रहती हैं और उन्हीं के माध्यम से मुझे अगली चुत का इंतजाम हो जाता है. मैंने कहा- लाइए!वो साड़ी लाई जिसमें उनकी काली पैंटी भी थी।मैंने उनकी साड़ी और पैंटी प्रेस कर दिया.

अब बस आज रात के सहवास से लड़की हुई, तो शायद अभिशाप से मुक्त हो सकते थे. फिर मैंने कुछ नहीं पूछा। थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि वो शायद रो रही थी।मैंने एक तरफ गाड़ी रोकी और उनसे माफ़ी मांगी और बोला- शायद मेरी वजह से आपको दुःख पहुंचा है उसके लिये मैं सॉरी हूं।वो बोली- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है। मेरी किस्मत ही खराब है। जवानी में मेरी मर्ज़ी के खिलाफ ही मेरी शादी कर दी गई. उसके मुंह से आह्ह आह्ह … करके सिसकारी निकल रही थी मगर मैंने उससे कहा कि थोड़ा आराम से आवाज करे.

हां, यह पर यह बात जरूर जोड़ना चाहूंगा कि इंसान कितना भी रोमांटिक मिजाज वाला क्यों न हो, किंतु सामाजिक मान-मर्यादाओं का ध्यान रखते हुए उसे लाज-शर्म का लिहाज भी करना पड़ता है.

दिल्ली की लड़कियों की बीएफ: मैं उसकी कोमल मखमली पीठ पर अपने हाथ से सहला रहा और दोनों एक दूसरे में जैसे खो गये थे. वो बोल रही थीं- आह और तेज चोदो मुझे … और तेज चोद बेटा … पूरा लंड पेल्ल्ल …मॉम लगभग 17-18 मिनट बाद झड़ गईं.

उनके बुलावे पर मैं उनके यहाँ गया और उनकी मसाज कर उनके अन्दर की शर्म व लाज-झिझक को समाप्त किया और खुल कर जीवन का आनंद लेने की नई राह दिखाई. मैंने कहा- आप इस तरह के शौक भी रखती हो क्या?वो बोली- मनोज ने ही मुझे इसकी आदत लगाई है. झड़ने के बाद राजा ने अपना लंड बाहर खींचा और एक बार फिर से अंजलि की गांड को चूमने लगा.

जैसे ही मैंने उमेश का नंगा जिस्म देखा, तो मैं तो बस पागल सी हो गयी.

मैंने उसको घोड़ी बनाया और जब मैं चुत को थोड़ा चाटने गया, तो देखा कुछ सफेद सा रस उसके चूत से निकल रहा है. जहां तक भारत की बात है तो मैंने देखा कि यहां भी पुरुष किसी महिला का शिकार हो सकता है. राजश्री की शर्ट के ऊपर से ही उसकी चूचियों को मसलते हुए वो बोला- देख राजश्री, अब पूनम की चूत दिलवाना तेरा काम है.