इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,मारवाड़ी भोसिया

तस्वीर का शीर्षक ,

मोनालिसा के बीएफ एचडी: इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो, मेरे लोड़े से पानी निकलने ही वाला था कि तभी मैंने बरखा को बोला- अपना मुंह आगे करो.

छोटे बच्चों की मोटरसाइकिल

तो हुआ यूं कि हमारे घर में मेरा कमरा मम्मी और पापा की बगल में ही है. अधिक सेक्सीभाभीजान – याल्ला … बाप रे ये क्या है देवर जी … ये आपका ही लंड है ना … या किसी जानवर का लगवा लिया है … ये तो आज मेरी चूत को फाड़ देगा.

मुझे नींद नहीं आ रही थी, तो मैंने लाईट बन्द कर दी क्योंकि मुझे लाईट में नींद नहीं आती है. पति-पत्नी में बेडरुम की बातेंदस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई करने के बाद अंकल बोले- मेरा निकलने वाला है … बोल मेरी अदिति रंडी … मैं अपना माल कहां निकालूं?मैं कराहते हुए बोली- आपने अपने मन की ही की है … अब भी क्या पूछते हो … आप मेरी चुत में ही गिरा दो … कुछ तो राहत मिलेगी.

मैं अपनी जांघ का हाल देख कर लड़कियों के बारे में सोचने लगा कि उनकी जांघों और चूत का भी यही हाल हुआ होगा.इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो: मैंने छिप कर कई बार दीदी की चुदाई डॉक्टर और उसके कम्पाउण्डर के साथ देखी.

जल्दी ही मैं अपने जीवन की किसी और रीयल सेक्स स्टोरी के साथ लौटूंगा.मैंने उसकी चूचियों को पीते हुए काफी देर तक उसकी गांड को दबाया और फिर दोबारा से उसको होंठों पर किस करने लगा.

नगर सेक्स - इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो

वो हंस कर बोलीं- क्या तुम दोनों एक साथ चुदाई कर चुके हो?मैंने सुषमा आंटी की चूचियां मसलते हुए कहा कि हां हम दोनों कई बार एक साथ चुदाई कर चुके हैं, यदि आप बोलो तो आपकी खिदमत में सुजन को पेश कर दूँ?आंटी मन ही मन खुश हो रही थीं.लेकिन मैं बगल में देख रहा था कि बड़ी जुड़वां के हाथ थोड़े-थोड़े हिल रहे थे.

बहुत कंट्रोल करने के बाद भी जिस तरह से वो मेरी जांघ पर हाथ रख कर सहला रही थी, उसकी ये हरकत जैसे आग में पेट्रोल डालने का काम कर रही थी. इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो पूरे कमरे में हम दोनों की चुदाई की जोर जोर की आवाजें आने लगीं ‘फच … फच!मैं भाभी के चूतड़ों को मसलने लगा.

मेरे दोस्त की जवान मृत्यु के बाद मैं उसकी पत्नी की मदद किया करता था.

इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो?

कमरे में मानो सब खत्म सा हो गया था और उसकी मादक आवाजों के सिवा कुछ भी नहीं रह गया था. मैंने कहा- मैंने आधा ही डाला था … पर तेरी बुर सील बंद है न इसलिए तुमको दर्द हुआ था. वो बोली- अगर किसी को पता लग गया तो?इतना सुनते ही मैंने उठकर उनके रूम का दरवाजा बंद कर दिया और उसे अंदर से लॉक कर दिया.

अपनी गर्लफ्रेंड की नंगी चूत को मैंने उसकी टांगों को फैलाते हुए चौड़ी कर दिया था और मेरा लंड उसकी चूत में जाने के लिए तैयार था. मैंने उसे कैसे पटाया और उसकी सेक्सी चूत की प्यास को कैसे बुझाया? मेरी इस रीयल सेक्स स्टोरी में जानें. जब सुबह उठा, तो देखा कि 11 बजने वाले थे और मेरी मीटिंग 10:30 बजे की थी.

मैंने चूत के ऊपर अपना लंड रखा ही था कि उसने अपनी कमर उचका कर मेरा आधा लंड अन्दर कर लिया. आह्ह आंटी के गर्म मुंह में लंड गया तो मुझे ऐसा मजा आया कि मैं उसको शब्दों में नहीं बता सकता यहां. मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- इनको दबाने में मजा मिल रहा है?वो शर्मा गई और उसने अपने चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी.

हालांकि उन दोनों की जोड़ी मिलती नहीं है, क्योंकि मेरा भाई थोड़ा सांवले रंग का है, ज्यादा काला नहीं है, बस थोड़ा ही है. थोड़ी ही देर में निम्मी के शरीर में ऐंठन होने लगी और वो अपनी कमर ऊपर उठाने लगी.

मां ने सफेद रंग की विदेशी सेक्सी ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मॉम के बूब्स स्तन मेरे अनुमान से भी काफी बड़े दिख रहे थे.

वो रोने लगीं … उनकी आंखों में आंसू आ गए थे और वो लंड बाहर निकलने के लिए कहने लगीं.

वो मेरे लंड को पकड़ते हुए बोली- तो भुलाओ ना यार … मैं तो उसको भूलने को तैयार हूँ … आप ही देर कर रहे हो. मेरी ख्वाहिश को जान कर एक दिन दीदी ने अपनी एक सहेली को मेरे पास भेजा. मैंने उसके ब्लाउज को अलग करके ब्रा को खोल कर मम्मों को आज़ाद कर दिया और उसके चूचुकों पर अपनी जीभ फिराने लगा.

जिससे मेरा 3 इंच लंड उसकी चूत में समा गया और अर्पणा के मुँह से मादक आह निकल गई. लेकिन मेरा इरादा कुछ और था, मैंने फटाफट ड्रेसिंग टेबल पर पड़े तेल को अपने लन्ड पर लगाया और मॉम की गोरी चिकनी गांड के छेद में अपना डालना शुरू कर दिया. मैंने उससे पूछा- तेरा खून किसने निकाला था?वो हंस दी और बोली- तेरे दोस्त मुकेश ने!उसका नाम सुनकर मेरी झांटें सुलग गईं.

फिर शायद दीदी ने मुझे इस तरह से घूरते हुए देख लिया, तो उन्होंने मुझे टोकते हुए बोला- ओ हैलो … ऐसे क्या देख रहे हो?उनके टोकते ही मेरी नजर एकदम से हट गई.

मैंने जीभ की रफ्तार बढ़ा दी और उसकी कोमल अछूती बुर को जीभ से चोदने लगा. फिर रूपा भाभी ने आवाज दी- कहां खो गए?इस पर मैं झेंप गया और बोला- कहीं नहीं. दोस्तो, मैं अपनी ग्रुप सेक्स कहानीगाँव की कुंवारी चुत की वासनाका दूसरा भाग आपके लिए पेश कर रहा हूँ.

जब मैं अपने कॉलेज के दिनों में था तो उस वक्त मेरी जवानी अपने पूरे उफान पर थी. मेरे ख्याल में मॉम और उनका सेक्सी नंगा बदन ही आ रहा था और पिछली रात की चुदाई भी याद आ रही थी. दरअसल हुआ ऐसा कि मेरी कॉलेज की पढ़ाई खत्म हो गयी और मैं एक कंपनी में काम करने लगा.

और इतने में अचानक भैया अंदर आ गये; मुझे नंगी देखकर हक्के बक्के रहे गये.

टाइट चूत होने की वजह से मेरा लंड उसकी चूत पर बार-बार फिसल जा रहा था. हालांकि वो मुझसे चिपक गई थी लेकिन अभी भी उसको मुझसे लाज आ रही थी, जोकि लाजिमी था.

इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो आह्ह … सुषमा, मेरी बहन, मेरे लंड को इतना क्यों तड़पा रही हो!मैंने उसके सिर को पकड़ कर अपने लंड पर अंदर दबाना और घुसाना शुरू कर दिया. विशाल ने कहा- मॉम, मैंने शाम को ही सभी कपड़े धोए हैं … अभी रात में पहनने के लिए कोई कपड़े नहीं सूख सके हैं … फिलहाल मेरी एक बनियान और एक तौलिया ही है.

इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो बहुत मुश्किल से उसका पानी पहले निकला और इतना तेज़ निकला कि उसने बिस्तर में ही पेशाब कर दी. उसके बाद मैंने दरवाजा खोला और चाची को अन्दर खींच कर गेट बंद कर दिया.

मैंने उसकी साड़ी उठाई, उसकी चूत वैसे भी पनियाई हुई थी, उसने मेरा लंड निकाला और फिर चूसने लगी.

मणिपुरी बीएफ

इसी बीच भाई ने मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया था और वो नीचे होकर मेरी चुत चाट रहा था. मेरी चचेरी भाभी भी मेरे ऊपर मर मिटी और अपनी जवानी मेरे लंड के नाम कर दी. वो बोली- अंकल, अब तो मैं आपकी हूँ … जैसे चाहो चोद सकते हो, मैं मना नहीं करूंगी … मैं वादा करती हूँ कि हमेशा आपसे चुदाई करती रहूंगी.

हमने एक दूसरे से अपने फोन नम्बर भी ले दे लिए थे, तो हम अक्सर मैसेज भेजने लगे थे. तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरे दोस्त नियाज की कहानी? इस कहानी के बारे में अपनी राय से मुझे अवगत करायें. फिर मैंने लंड का सुपारा भाभी की चुत के छेद में फंसाया और एक ही झटके में ही उनकी चुत में अपना लंड डाल दिया.

हमने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और उनको दबाते हुए उसकी चूत में कई शॉट मारे और फिर अंदर ही झर गये.

इस बार दो प्रयासों में पूरा 8 इंच लंड पेल दिया, जिससे वो फिर से तड़पने लगी थी. अगले दिन राजेश की जेठानी मेरे कमरे में आयी और बोली- कैसी रही हमारे घर में पहली रात?मैंने कहा- बहुत अच्छी थी. मेरा बड़ा लंड लेते ही आंटी की चीख निकल गई और अगले कुछ ही मिनटों में आंटी मेरे लंड से अपनी चुत की खाज मिटवाने लगीं.

मेरी बात पर वो शरमा गई और उसने एक इमोजी भेजी जिससे मुझे पता लगा कि वो शरमा रही थी. जब तक उसकी कोई कोशिश अमल में आती, या वो खुद को मुझे अपने आपको आजाद करा पाती, मैंने मन बना लिया था. फिर मैंने उसको अपनी तरफ खींचा, तो वो एक कटे हुए पेड़ की तरह मेरी बांहों में समा गई.

भीड़ और डीजे की आवाज अब शांति में बदल चुकी थी … लेकिन हमारी आंखें अब आपस में बात कर रही थीं. मुझे समझ आ गया था कि क्यों लोग लंड पेलने के लिए पागल हो जाते हैं … जिस्मानी रिश्ता बनाने के लिए एकदम वहशी हो जाते हैं.

मैं अभी बाकी था, सो अपने लंड को मामी की चुत के अन्दर ही डाले हुए रुका रहा. सरिता चाची बोलीं- हां ठीक है … आप शाम को दुह लेना … कौन ने रोका है. मैंने दोनों को उनकी पसंद के कपड़े दिलाए और उनकी मां के लिये भी सूट सलवार का कपड़ा खरीदा.

मैंने मिष्टी से कहा- मैं तुम्हारे पास एक दोस्त बन कर उस समय आना चाहता हूँ, जब तुम्हारी मम्मी घर पर हों.

मैंने उसे खींचकर उसकी बुर को अपने मुँह पर लिया और उसके मुँह को अपने लंड पर लगा दिया. लेकिन दरवाज़ा खुलते मैंने देखा डॉक्टर नहीं आया था। दीदी के साथ में डॉक्टर के यहाँ काम करने वाले दो बुड्ढे से आदमी थे. और मैंने बहुत देर तक पुष्पा का दूध पिया, मैं उसके ऊपर लेट गया!वह मुझे अपने ऊपर से हटाने लगी लेकिन मैंने उसको दबोच लिया और उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसकी चूत को जीभ से चाटने लगा.

कोई 5 मिनट ही हुए थे कि वो चुत में ही झड़ गए और अपना माल मेरी चुत में भर दिया. भाभी मुझे धक्का देते हुए कह रही थीं- यार समझा करो, तुम्हारे भैया हैं.

उसने कराहते हुए बोला- जीजू मार दिया … दर्द हो रहा है … अभी फिर से मत डालना. ये कहानी मैं अगली बार लेकर आऊंगा, अगर आप सभी को मेरी कहानी अच्छी लगी, तो मुझे मेल कर दीजियेगा क्योंकि पहली कहानी है तो गलती को नजरअंदाज कर रोमांस का मजा लेते हुए अपनी दुआएं भेजिएगा. उसने शर्म के मारे जल्दी से चादर ओढ़ ली और मुझे तिरछी निगाहों से देखने लगी.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए

एक बार तो मैं कुछ चौंका, मगर फिर सोचा कोई कॉलेज का दोस्त होगा, इधर आ रहा होगा तो यह भी साथ हो ली होगी.

मैंने उसकीचूत में जीभको अंदर तक डाल दिया और पूरी जीभ को उसकी चूत में घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा. मैंने कहा- अगर तुम्हारा पति आ गया तो?वो बोली- उसको ये भी नहीं पता कि वो कहां पड़ा हुआ है. जब मैं टेबल से नीचे उतर रहा था तो बरखा ने अपने बूब्स मेरे लंड से टच कर दिए.

वाह पापा जी वाह!लेकिन यह वीडियो कॉलिंग चुदाई मैं भी देखना चाहता था तो मैंने फटाफट अपने दिमाग की लाइट जलाई. उसका चेहरा मेरे लंड के सामने था … मेरा लंड मेरे पेट पर मस्ती से लोटा हुआ था. ब्लू पिक्चर भेजो भाईजब मेरी पत्नी वापस आई तो उसके साथ उसके घरवाले यानि कि मेरी सास-ससुर भी आ गये.

जब भी मौका मिलता था वो दोनों एक दूसरे की चूत में उंगली किया करती थी. मैं अभी उसके लंड को बाहर निकाल पाता कि उसने मेरा सर अपने लंड पर दबा दिया और मैं अपना मुँह हटा ही न सका.

वो कहने लगी- जानू तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … इतनी सी चूत में कैसे चला गया?मैं मुस्कुराया दिया और धक्के मारने लगा. बरखा मेरे लंड का सारा पानी पी गई और वह मेरे लोड़े को अपनी जीभ से साफ करने लगी. मैंने देखा कि चाचा मेरी चाची की चूत चाट रहे थे और चाची अपने पैर जोर जोर से हिला रही थी और उऊ उह आह आआ आ आ उम्म्ह… अहह… हय… याह… र्रर्रर्रर … करने लगी और बोल रही थी- अब डाल दो, अब मत तड़पाओ।लेकिन चाचा उनकी चूचियाँ दबाने लगे और बोले- धीरे बोलो … नहीं तो मनीष उठ जाएगा.

रूपा भाभी ने मना कर दिया और बोलीं- पंकज … अब घर वालों के आने का टाइम हो गया है … तो फिर कभी करेंगे. वो बोली- क्यों?मैं चुप था और सोच रहा था कि बंदी हाथ ही नहीं रखने दे रही है. मैंने उसे हाथ नीचे करने को कहा, जिसे उसने अच्छे बच्चे की तरह मान लिया.

’ की आवाज़ तेज़ी से आने लगी और मैं कमर उठा उठा कर उससे चुदवाने लगी.

मेरे पापा ने चाची को खूब चोदा, चाची भी ऊपर नीचे होकर खूब मज़े से चुदवा रही थी और खूब सिसकारियाँ ले रही थी. पिक्चर देखने के बाद मुझे चुदाई का मज़ा लेने का मन करने लगता तो मुठ मार कर लंड हिला लेता था.

लेकिन बाद में जब हम दोनों ने उसे गोद में उठा कर उसके दोनों छेद एक साथ चोदे, तो उसे लंड झूला मजा देने लगा. अब कोई नई चूत चोदने के लिए मिल रही थी, वो भी मेरी स्वयं कि पत्नी की सहमति से. कुछ देर बाद जब वो नॉर्मल हो गई, तब मैंने दोबारा से लंड उसकी चूत में पेल दिया.

मैंने कहा- टेंशन ना लो, दो मिनट का दर्द है … उसके बाद जो आनन्द आज तुम्हें मिलेगा, वैसा मजा तुम अपने पूरे लाइफ में नहीं पाओगी. हम अलग हुए, मैंने प्यार से उसके गाल को छूते हुए उसके कंधे पर हाथ रखा और फिर उसके बालों को खोल दिया. तभी बार के डीजे ने जोश भरे अन्दाज में निम्मी के बर्थ-डे की अनाउन्समैन्ट की, निम्मी ने केक काटा, सबने मिलकर बर्थ-डे साँग गाया.

इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो इस बीच निशा दो बार पूरी तरह से अकड़ कर झड़ चुकी थी और मेरी पीठ पर नाखूनों के निशान बन चुके थे. कहीं से आवाज आती- कहां जा रहा है चिकने?कभी कोई सामने से आकर कहती- रस्ते का माल सस्ते में चाहिए तो इधर आजा!कहीं से 200 की आवाज आती तो कहीं से 500 और 1000 की.

शेखावाटी बीएफ

रात को सोते हुए मैं सोच रहा था कि अब यह किस्सा जहाँ पहुँच गया है, आशिमा को चोदे बगैर मुझे चैन नहीं आएगा. मेरा पूरा लंड घप्प की आवाज करते हुए उसकी चूत में समा गया और झटका लगते ही वो बिस्तर पर मुँह के बल गिर गयी. पांच मिनट तक उनकी चूत को जीभ से चोदने के बाद चाची से बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने मुझे पीछे धकेल दिया.

उसकी कमर को पकड़ कर हल्का सा धक्का दिया, तो आधा लंड अन्दर चला गया … वो कसमसा गई. मैंने सहमति में गर्दन हिला दी तो वो मुझे हाथ पकड़ कर एक कमरे की तरफ लेकर जाने लगी. रंडियों कालेकिन मॉकटेल फ्रिज में रखने के दौरान मैंने तीनों जार में थोड़ी थोड़ी व्हिस्की मिला दी.

कॉलेज सेक्स की मेरी कहानी के पहले भागकॉलेज टूअर का सेक्सी सफर-1में आपने पढ़ा कि हम सब जवान कॉलेज स्टूडेंट्स लड़के लड़कियाँ टूर पर विशापट्टनम गए हुए थे.

बार-बार बहाने से चाची की गांड में लंड को धकेलते हुए मैं उन पर चढ़ा जा रहा था. मगर वो इतने आत्मविश्वास के साथ प्रिया के लिए बात कर रही थी जैसे कि प्रिया मेरी नहीं उसकी दोस्त है और प्रिया को मुझसे बेहतर तरीके से जानती है.

वो महिला बोली- नहीं जी, कोई दिक्कत नहीं है, इनकी तो आदत है मज़ाक करने की. मैं बारात में जाने के लिए निकलने वाला ही था कि पड़ोस के मामा की बेटी स्वाति व उसका भाई गौरव आ गए. फिर उन्होंने ऊपर से मैक्सी उतार दी और कहा- पहले चूचों को दबाओ … फिर चूसना.

हम अलग हुए, मैंने प्यार से उसके गाल को छूते हुए उसके कंधे पर हाथ रखा और फिर उसके बालों को खोल दिया.

मैं भी थक गया हूं और आप भी!मॉम बोली- हां बेटा, थक गई हूं मैं!फिर मैं लेट गया और मेरा लन्ड बिजली के खंबे की तरह सीधा खड़ा था. वो लंड चूस रही थी और मैं …मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागप्रिंसीपल मैडम के साथ कार सेक्स-2में आपने पढ़ा कि मैडम के मायके जाते हुए रास्ते में बारिश के कारण गाड़ी खराब हो गई. बेशक जाओ, मैं कुछ नहीं कहूंगा लेकिन इतना ध्यान रखना कि जब जीजू के पास जाना तो यह पैकेट अपने पास रखना.

मोटू मोटू पतलूकुछ देर तक ऐसे ही इधर उधर की बातें होती रहीं और फिर वो किचन में चाय बनाने के लिए चली गई. अगले दिन मेरा साला आ गया और वह दोनों उसी कमरे में सोए, जिस बेड पर मैंने कुछ दिन पहले काव्या को चोद कर बच्चा दे दिया था.

नगरी नगरा बीएफ

पिक्चर देखने के बाद मुझे चुदाई का मज़ा लेने का मन करने लगता तो मुठ मार कर लंड हिला लेता था. क्योंकि उनसे पहले मेरी जितनी भी गर्लफ्रेंड्स रही थीं, सब मेरी हम उम्र की ही थीं और उनके चूचे इतने बड़े नहीं थे. मैं तुरंत कम्बल में घुस गया और मैंने मोसी को बांहों में भरा तो झटका सा लगा.

मुझे इस हालत में देख कर वो अपना लौड़ा सहला कर बोला- साली कितनी बड़ी रांड लग रही है तू … तेरी चुचियां कितनी बड़ी हैं. मेरी फ्रेंड का उसके घर से फोन आ जाने के कारण वो फोन पर बात करने लगी थी. इस बार मैंने तेज झटका लगाया, तो वो तड़प कर रह गयी … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उसने छूटने की कोशिश की, लेकिन मैंने उसे छोड़ा नहीं.

कभी वीर्य का प्रेशर बहुत ज्यादा हो जाता तो मुठ काम कर जाती थी, मगर यह तो खाली पेट को खील से भरने जैसा था, मुठ मारने में ना तो चूत की वह गर्माहट और फिसलाहट मिलती थी, ना ही इसमें लड़की के कोमल बदन को अपने नीचे मसलने आनंद. मैं उसके मम्मों के साथ खेल ही रहा था कि उसने नीचे से हाथ निकलते हुए मेरा लंड अपनी चूत पर टिका दिया. उन्होंने अपनी गांड को मेरे सामने कर दिया और मैंने चाची की चूत में पीछे से लंड लगा दिया.

और भी एक दो लोग आस पास बैठे थे।पहले तो मेरे पतिदेव ने जाकर मृत जीजी के पाँव छुए और फिर अपने जीजा से गले मिल कर रोये।मैं भी रो रही थी. मोसी की बातों से मुझे और जोश चढ़ रहा था और मैं पूरी ताकत के साथ उसकी चूत में लंड को धकेल रहा था.

आपका बच्चा यदि आईवीएफ से जन्मा है तो उसका डीएनए टेस्ट आपकी पत्नी से मिले या न मिले, आपका अपनी पत्नी पर शक करना व्यर्थ है और न ही आपको इस तरह का अर्थविहीन इल्जाम लगाने का कोई अधिकार है.

अपनी बहन की चूचियों को देख कर कई बार मेरे मन में ख्याल आता था कि कहीं यह भी अपनी चूत चुदवा रही होगी. अनन्या पांडे की चुदाईवो इस बार ज्यादा तड़प रही थी और उसकी गांड से भी खून निकलने लगा, लेकिन मैं रुका नहीं. सेक्सी पहली पहला वालाइस तरह से हमारे बीच आपसी रजामंदी बन गई और एक बार फिर से सेक्स का खेल शुरू हो गया. वो जरा सी मुस्कुराईं और बोलीं- मैं अपना नाम नहीं बताऊंगी, तो आप मेरा नाम क्या रखेंगे.

उसने कहा- क्यों … अभी क्या बाकी रह गया है … मैं पूरी नंगी तो तुम्हारे सामने पड़ी हूँ.

नहीं तो कोई और होता तो मेरी जैसी हॉट और सेक्सी औरत की चूत को चोदकर फाड़ डालता. मैंने आगे बढ़कर उसके चेहरे को हाथों में लेकर चूम लिया, फिर मैंने कहा- शीनू एक बात बताओ … क्या तुम मुझ पर विश्वास करती हो?उसने हां में सिर हिलाया. अगले दिन उस लड़की ने मुझसे मिलने की इच्छा जतायी तो …दोस्तो, मैं साहिल श्रीवास्तव प्रयागराज उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ.

वह अचानक से डर गई और मुझसे बोली- जीजा जी, आपने तो मुझे डरा ही दिया. कुछ देर बाद वो गर्म हो गईं और उन्होंने मेरा लंड छोड़ कर अपनी साड़ी उतार दी और पेटीकोट ऊपर उठा कर बिस्तर पर लेट गईं. हमने एक्सरसाइज शुरू की, उसने मुझसे अपनी सहेलियों के बारे में पूछा, जिनकी वजह से उसने जिम ज्वाइन किया था वरना उसकी कोई दिलचस्पी नहीं थी.

सेक्स बीपी बीएफ

आपको यह कार सेक्स स्टोरी कैसी लगी इसके बारे में अपनी राय जरूर देना. वो हंस दी और बोली- तुम्हारे पास मुझे पूरी तरह से जानने का क्या तरीका है?मैंने कहा- वो कोई तरीका नहीं होता है … बस एक दूसरे को समझना ही एक तरीका होता है. इसके बाद भी 1000-1000 रूपए में उसने 4 बार अपनी और 3 बार अपनी रूममेट की चूत दिलवाई.

वो लंड की गर्मी से पागल हो गई थी और गांड उठाते हुए बोल रही थी- आह … आशु डाल दो अन्दर … फाड़ दो मेरी चूत.

मैं कस-कस कर धक्के लगा रहा था और मौसी एक बार फिर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… करती हुई अपनी चूत चुदवाने लगी थी.

मैंने उसे बियर निकाल कर दी, पर उसने एक घूंट पीते ही उसे बाहर निकाल दी और बोली- बहुत बेकार स्वाद है. मेरे पापा के थप्पड़ों की थपाक थपाक की आवाज़ आ रही थी और मेरी मॉम आहह आहह करके आवाज़ कर रही थीं. भाभी की सेक्स कहानीउसने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत के छेद पर रखा और मैंने अपना लोड़ा उसकी चूत में एक झटके से अंदर कर दिया और प्यार प्यार से धक्का मारने लगा.

वे हल्की सी आवाज भी कर रही थी- ऊ ओ ओ ओ मा!और मॉम अपना एक हाथ अपने ही बूब पर रख कर दबाने लगी. आह्ह रामू … मेरी चूत को चोदो, और जोर से चोदो रामू, मैं बहुत दिन से लंड नहीं ली थी. परीक्षा के बाद मैं घर में ही खाली बैठा रहता था। एक दिन घर पर मेरी छोटी मोसी आयी.

उसकी चुचियां इतनी रसीली थीं कि मेरा उन्हें छोड़ने का मन नहीं हो रहा था. मैंने जब से तेरे 8 इंच के लंड को देखा है ना, तभी से मैं तुझसे चुदवाने के लिए बेचैन हो गई हूं.

आपको मेरी मॉम की चुदाई की ये सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.

उसने इसका अहसास होते ही मुझसे बोला- क्यों घूर रहे हो मुझे? कभी कोई लड़की नहीं देखी क्या लेटी हुई?मैंने कहा- लेटी हुई तो बहुत देखी हैं लेकिन रात में इतनी खूबसूरत और हसीन … वह भी अकेले में इतने पास से आज तक ना देखी, ना छुई!इतना सुनते ही जैसे उसने अपने यौवन पर इतराते हुए मेरी तरफ को अंगड़ाई ली. मैंने कहा कि वो पूछेगी कि पापा दस साल पहले मर गए थे, तो ये दोनों कहां से आईं … तब क्या जवाब देंगे. प्रीति बोली- क्या हुआ, मजा आ रहा था?आरिफ़ा का चेहरा प्रीति के सवाल पर शर्म से लाल हो गया.

सेकसीबीबी इसके बाद वो बोली- सर, क्या आपने ही कल फोन किया था?मैंने उसे ऑफिस के अन्दर चलने का इशारा करते हुए कहा- हां. चूंकि मेरा प्लान पहले से ही उसके साथ मजा लेने का था, तो मैंने कार्नर सीट ली थी.

उसके टॉप में से उसके संतरे जैसे चुचे बहुत मस्त लग रहे थे और निप्पल भी अंगूर के दाने के बराबर थे. उसे देख कर सुजन बोला- मिष्टी, यह फोन किसका है?मिष्टी- यह फोन मेरा है?फिर हमने उसका नंबर ले लिया. कोई पन्द्रह मिनट बाद उसके घर से सब चले गए और उसके पापा मम्मी और दोस्त को मैं बाय करके अपने घर चला जाऊंगा, मैंने ऐसा उन सभी को दिखाया.

करिश्मा कपूर बीएफ

थोड़ी देर में हम ब्रा पैंटी के काउंटर के पास पहुंचे, तो वह शर्मा गई. धीरे-धीरे मैं उसकी जींस के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा और अर्पणा के आम जैसे मम्मों को फिर से चूसने लगा. मैं उसके पास गया और बहुत आराम से उससे पूछा- आशिमा, वह लड़का कौन था?कॉलेज का एक दोस्त है!” आशिमा ने डरते हुए धीरे से बोला.

’ वाली भाषा को तिलांजलि देते हुए उससे कहा- चलो तुमने पर्दा हटा ही दिया है … तो अच्छा हुआ. कॉलेज में मेरे एक दोस्त ने मुझे ‘आई लव यू’ बोला तो मैंने भी बोल दिया.

उसको पीरियड नहीं हुए … तो उसको वो टेंशन बढ़ गई … क्योंकि उसके लास्ट पीरियड के बाद से उसने अपने पति से नहीं चुदवाया था.

मेरे ख्याल में मॉम और उनका सेक्सी नंगा बदन ही आ रहा था और पिछली रात की चुदाई भी याद आ रही थी. मैंने दो मिनट बाद फिर से उसके हाथों को पकड़ा और होंठों को अपने मुँह में दबाकर लंड अन्दर डालने लगा. वो बोली- बस 5 मिनट मेरी पिकी को चाटो … मैं तुम्हारा खेल कब से देख रही हूँ … अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा … जल्दी करो.

इधर रात भी हो रही थी, तो मैंने सोचा- छोड़ो यार … किसी रेस्ट हाउस में चला जाता हूँ. ये देख कर उन्होंने एक प्यारी सी स्माइल दी और प्यार से मेरे सर में थप्पड़ मारकर बोलीं- खाने खा ले … अभी तू छोटा है, ये सब देखने की तेरी उम्र नहीं है. इस बार मैंने भी हिम्मत करके मॉम के गाल हल्का किस कर दिया और मॉम को भी अच्छा लगा.

वो मुझ से पूछने लगे- तुम तैयार हो अपनी चूत की चुदाई के लिये?मैंने कहा- इतनी दूर तुम्हारे साथ आयी हूँ.

इंडियन पोर्न बीएफ वीडियो: (तुहाडे तुम्हारे)कशिश- सारा शहर … या तुसी अपना तुक्का लगान नूं फिरदे हो?( या आप अपना नम्बर लगाने की चाह में हो?)मैं- मैं ता सलाह दित्ती है. मैंने उसके लंड को अपने हाथ में लेकर उसके लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया.

उसके मुँह से कामुक आवाज़ के साथ मुझे गाली भी सुनाई से रही थी- मादरचोद भोसड़ी के … तेरा लंड कितना गर्म है … हाय … साले पूरा अन्दर तक मजा दे रहा है … अअह … उउई … आहह … मज़ा आ रहा है … आज तक इतना मज़ा नहीं आया … पहले पता होता … तो कभी उंगली से काम नहीं चलाती … हाय राम उईईई माँ … आह. सुजन बोल पड़ा- तुम्हारी फोटो एक ही शर्त पर डिलीट करूंगा, तुमको मेरे साथ सेक्स करना पड़ेगा. मैं सच बता रहा हूं कि अन्तर्वासना की पहल हम जैसे लोगों के लिए वरदान है.

पहला शाट में लन्ड पूरा गया नहीं … लेकिन दूसरे झटके में लन्ड पूरा, मॉम की गांड चला गया.

कहानी का पिछला भाग:टीचर की अन्तर्वासना ने मुझे चुदक्कड़ बनाया-1अगले दिन जब मैं विद्यालय गया. मैंने कोई चेतावनी नहीं दी क्योंकि अगर मैं ऐसा करता तो वो सावधान हो जाती और उसके बाद उसको लंड लेने में तकलीफ होती. एक पल बाद मैंने अपना मुँह उसकी बुर के पास ले जाकर उधर की महक सूंघने लगा.