हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्स हिंदी बीएफ सेक्स हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

एनिमल सेक्सी मूवी: हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ, शीतल भाभी ने अन्दर ब्लैक कलर की ब्रा और पैंटी पहनी थी, जो उनके गोरे बदन पर कयामत ढा रही थी.

हिंदी वीडियो बीएफ सेक्सी पिक्चर

जिन्होंने मेरी पहले की कहानीप्यारी बीवी की गांड चोदकर वीर्य भर दियापढ़ी है, उन सबको मेरे बारे में पता होगा. इंडियन बीएफ फिल्म दिखाइएसभी भाइयों को मेरी तरफ से नमस्कार और सभी भाभियों, आंटियों और रसीली लौंडियों को मेरा बहुत बहुत प्यार.

नमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप सभी … आशा करता हूँ कि आप बिल्कुल ठीक होंगे. हॉट्स बीएफमेरे पति ने इस्त्री को बाजू में रखकर अपने दोनों हाथ मेरे गांड पर रख दिए और मेरे चूतड़ों को प्यार से मसलते हुए हाथ फेरने लगे.

फ्रेंडस मेरी एक फंतासी थी कि अगर मुझे कहीं से एक ऐसी टाइम मशीन मिल जाए और मुझे उस मशीन के जरिये अपने भूतकाल में जाने का मौका मिल जाए तो मैं क्या क्या करूंगा.हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ: सच कहूं तो मुझे ये सब करने में डर लग रहा था लेकिन मजा भी बहुतआ रहा था.

बाद में मैं जब उठी, तो देखा कि मेरी सहेली का भाई मेरी चूत को चाट रहा था.भैंस भैंसे से चुद कर फारिग हो गई तो मैं भाभी के पास से अपने घर आ गया.

हिंदी बीएफ डांस - हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ

एक पेग पीने के बाद मैंने उनसे कहा कि वो बैठकर इंजॉय करें और मैं तब तक तैयार होकर आ जाती हूं.मेरे चेहरे को अपने हाथों में लेकर सरनी बोली- आज तुम्हें जो चाहिए, जैसे चाहिए, मैं वैसे करने को तैयार हूं.

आज जो कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूँ वह मेरी पड़ोस की भाभी के साथ हुई एक घटना है. हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ उसकी बात सुनकर मैं हंसते हुए सोनल के पास गया और नीचे झुककर उसकी चुत पर किस किया.

वे जाने की कहने लगे तो मैंने कहा- आपके साथ कौन रहता है, कहां रहते हैं?वे बोले- अकेला रहता हूं.

हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ?

देखता हूँ तुम जैसी लड़कियाँ कैसे पास होती हैं फिर!” सर ने गुर्राते हुए धमकी दी और मेरी कमीज़ के अंदर हाथ डाल कर मेरी चूचियों को मसलने लगे. मैंने तौलिया लपेट कर दरवाजा खोला तो देखा गेट पर गोरी-चिट्टी जूली एक लाल रंग की साड़ी और ब्लाउज में खड़ी हुई थी. भाभी की चूत बिल्कुल साफ़ बिना बाल की मेरे सामने मानो ये बोल रही थी कि क्या देख रहे हो, आज ही संवरी हूँ चुदने के लिए.

वसुन्धरा की जिद, वसुन्धरा का मान, वसुन्धरा का नारीत्व, वसुन्धरा का प्यार … ये सब पूर्णता को प्राप्त होने को थे और वसुन्धरा चौदह साल के जमे हुए काल-खण्ड की क़ैद से से बस … बाहर निकलने को ही थी. उसके बाद सीमा भी अपने आफिस से आ गयी और हम दोनों से हमारे अनुभव के बारे में पूछने लगी. उसने मेरी तरफ सवाल भरी निगाहों से देखा … तो मैंने कहा जानेमन मैं सोच रहा था कि आराम से काम हो जाए, पर अब लगता है जोर लगाना पड़ेगा.

अपनी अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगी कि जीजू ने कैसे मेरीकजिन सिस्टर को चोदाऔर अपनी दोनों सालियों के साथ कैसे ग्रुप में चुदाई की।धन्यवाद. भाभी आंटियां अपनी अपनी चूत में उंगली करते रहें और अगर आपके पास लौड़ा है, तो अपनीचूत की खुदाईउससे कराती रहें. एकदम से हुए दर्द से पूजा चीखी और बोली- आह … मर गई … थोड़ा धीरे धीरे चोदो ना यार ….

उसने खुशी खुशी मेरी मैली चड्डी ले ली और बोली- जीजू, जब मुझे आपने लंड की याद आयेगी तो मैं इसी को सूँघ कर काम चला लूंगी. फिर पूरे कमरे को झाड़ू लगा कर आंटी ने मुझसे कहा- मैं मुँह हाथ धोने के बाद आकर काम बताती हूं.

आता हूं बेटा … पहले तू अपनी चूत अपने हाथों से खोल दे और अपने पैर ऊपर कर ले.

जब मैंने उसे आई लव यू बोल दिया तो वो बोली- मगर मैं किसी और से प्यार करती हूँ.

फिर मैंने दूसरे हाथ से धीरे से उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और उसके बूब्स को ब्रा से बाहर निकाल दिया. कुछ ही पलों बाद उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. सर अपने हाथ से उनके मम्मों को मसलते हुए उनको चोद रहे थे, धकापेल धक्के लगा रहे थे.

फिर मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगा. उन्होंने मुझसे बताया- मैं स्ट्रैस में रहती हूँ और मेरा अपना कोई भी ऐसा नहीं है, जिसके साथ मैं कुछ पल बिता सकूँ, अपना दुख बांट सकूँ. आप चोद रहे हैं और मेरे दिमाग में आपका लंड अपने बेटे का लंड जैसा लग रहा है.

पहले हम दोनों में कोई खास दोस्ती नहीं थी, सिर्फ नार्मल बातें ही होती रहती थीं.

मैं जब भी उठना चाहता था, तो बीवी अपने पैर से मेरी गांड को पकड़ लेती थी. किसी तरह मेरा ये तड़पना ये मचलना खत्म हो जाए, पर आशीष उठकर मुझे बिना कुछ बोले जल्दी से मुझसे अलग हो गया. वह मुझे पीछे धकेलने की कोशिश करने लगती थी लेकिन मैं अपने पूरे जोश में था.

मैं उसका निचला ओंठ चूस कर अपना लण्ड हल्का से पीछे करता था फिर कस कर धक्का लगा कर उसका ऊपरी ओंठ चूसने लगता था जिससे चूत लण्ड को जकड़ लेती थी, उसकी जीभ को चूसने लगता था तो जैसे चूत लण्ड को अंदर खींच कर चूसने लगती थी. मेरे सपनों की रानी के होंठ इतने मस्त हैं कि बस ऐसा लगता है कि उनको चूसता ही रहूं … चूसता ही रहूं. वह एकदम से पीछे घूम गई और मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरे होंठों को चूसने लगी.

लेडी डॉक्टर, जो मेरी स्कूल की क्लासमेट थी, से बात की तो वो बोली- चूंकि लंड की नसें खड़े रहते समय दबी लगती हैं इसलिए ये बैठ नहीं रहा है बाकी तो पूरी गहन जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.

वो झट से मेरे ऊपर आ गया और मेरे गांड में लंड टिका कर अपने पैरों से मेरे पैरों को फैला दिया और मेरे ऊपर लेट कर मुझे कस के जकड़ लिया. इसी बीच भैया को डिपार्टमेंटल ट्रेनिंग की लिए शिमला जान पड़ा और ट्रेनिंग की बाद उनकी ड्यूटी चीफ मिनिस्टर की सिक्योरिटी में लग गयी.

हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ मैंने निशा को हाथ से पकड़कर अपने पास खींचा और उसके कान में बोला कि बेड के नीचे आओ. सोनल के मुँह से लौड़े पर बैठने का सुनकर मेरे लौड़े ने एक बार तुनकी मार कर ख़ुशी जाहिर की कि शायद उसका नम्बर चूत में घुसने का आ गया है.

हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ वसुन्धरा ने तत्काल अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मेरे लिंग का अपनी योनि के मुख पर स्वागत किया. मैंने अगले दिन से अपनी बॉडी लैंग्वेज चेंज की और जैसे ही मुझे अंकल जी आते दिखे मैं अपने दरवाजे पर उकडूं बैठ गयी और अपने घुटनों में अपना सिर छिपा लिया जैसे मैं बहुत दुखी होऊं.

मैंने अपना लंड साफ किया और जाकर सो गया, इसके बाद और कुछ नहीं हो पाया.

सेक्सी बीएफ कॉमेडी बीएफ

मिनी की जब शादी हुई थी, तो उसके पति का बड़ा बिजनेस था और पैसे की कोई कमी नहीं थी. इस लहंगा गिरने वाले हादसे पर क्षण भर के लिए वसुंधरा ने अपनी आँखें खोली और मेरी आँखें अपने तन के निचले भाग (जोकि करीब-करीब निर्वस्त्र था) पर जमी पाकर फ़ौरन दोबारा बंद कर ली और जल्दी से मेरी तरफ़ पीठ कर ली. गेम फिर से शुरू हो गया, ताश के पत्ते एक बार फिर से बंट गए और इस बार नतीजा ये आया कि टास्क करने की बारी सोनल की थी.

कुछ देर बाद मैंने उससे कहा- थोड़ी देर के लिए मेरे घर पर चलो, फिर तुम अपने घर चली जाना. एक बार वे मुझे गर्मियों में बेर खिलाने एक सुनसान बेरी के पेड़ के पास ले गए थे. वसुन्धरा ने अपने पांवों की कैंची सी बनाकर जुड़ी हुईं अपनी दोनों एड़ियां मेरे नितम्बों पर टिका दी.

इसी दौरान मैंने धीरे से उसका हाथ मेरे लंड पे रख दिया और उससे लंड सहलाने को बोल दिया.

मेरी योनि से मुझे लगा कुछ तेज़ पिचकारी सी छूटने को है और मेरा बदन मेरे बस में नहीं रहा. मैंने दिलिया को सहलाया उसका निचला ओंठ चूसा तो दिलिया की चुत का छेद वापस सिकुड़ गया था. उन्होंने मुझसे बताया- मैं स्ट्रैस में रहती हूँ और मेरा अपना कोई भी ऐसा नहीं है, जिसके साथ मैं कुछ पल बिता सकूँ, अपना दुख बांट सकूँ.

’‘मैं हाथ उनकी पीठ से नीचे सरका के उनके चूतड़ों पे ले के गयी और फिर एक उंगली से उनकी गांड को छुआ- मैं यहाँ प्यार करना चाहती हूँ. मैं जब भी उठना चाहता था, तो बीवी अपने पैर से मेरी गांड को पकड़ लेती थी. अगली सुबह आने से पहले हम साथ नहाये और उसको नहाते हुए मैंने रगड़ कर चोदा.

फिर उठकर उसने से मेरे बाल पकड़ लिये और मेरे होंठ अपने होंठों में लेकर बेताहाशा चूसने लगी. मैं आपका रवि खन्ना, एक बार फिर हाजिर हूँ अपने जीवन की सच्चाई के साथ.

मैंने बाथरूम में रखी तेल की शीशी से भाभी की गांड में तेल भर दिया और उंगली की, तो भाभी को मजा आने लगा. मैं उत्सुकता से प्रतीक्षा करने लगी कि कब वो मेरी योनि में लिंग प्रवेश कराएगा. तीसरे दिन रात नौ-साढ़े नौ का टाईम होगा, किसी ने मेरे फ्लैट की घंटी बजाई.

रितेश को लेकर मीरा की सोच बदलने लगी और उसकी कामुकता फिर से अंगड़ाई लेने लगी.

कंडोम निकाल कर शीतल के मुँह में अपना गाढ़ा गाढ़ा पूरा माल गिरा दिया. रवि मेरा अच्छा दोस्त बन गया। रवि की बहन का नाम सुषी था और वो 22 साल की थी। सुषी के बारे में आप को बताऊं तो सुषी का फिगर शायद 32-28-34 का होगा। उसकी हाइट 5 फीट 5 इंच की थी. मैंने उसको फेसबुक पर सर्च किया और उसके पास फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी.

प्रिया- आआ आहह!वो मेरे होंठों को अच्छे से पीने लगी और मैं उसकी चुदाई कर रहा था. मैंने थोड़ी सी कोशिश कर उसकी चूत तक जीभ पहुँचा ही दी और फिर जैसे ही जीभ उसकी चूत के अंदर जाने लगी, मीना की सिसकारियाँ बढ़ने लगी.

दीदी अगर आज आप मेरे लिए जमाई जी के लंड का इंतजाम न करती तो सच में मैं छत से कूद कर अपनी जान ही दे दती. वह लड़की कम कॉलेज आती थी, तो ज्यादातर प्रेक्टिकल्स मैं और निकोलस ही किया करते थे. मैंने कटोरी उसके हाथ से ली और कटोरी में जीभ डाल कर पूरे दूध को चाट गया.

जापानी बीएफ चोदा चोदी

बस में पूरी रात हम दोनों जागते रहे पर मजे तो कम ही किए!सुबह 5:00 बजे बस ने उसके गांव के नजदीक शहर में उतार दिया.

उसके अगले दिन फिर अंकल जी आते दिखे, मैं पिछली सुबह की तरह ही खड़ी थी और उन्होंने मुझे अपने पीछे आने का इशारा कर दिया. दूसरी बार लंड को हाथ में पकड़ा और जोर-जोर से उकडू बैठ कर हिलाने लगा. उसने पहले तो मना किया, पर मेरे बहुत ज़ोर डालने पर वो मान गई, शायद उसके अन्दर भी मिलन की आग जल रही थी.

दोस्तो, आप सभी को मेरा हृदय से आभार है कि आप लोगों ने एक बार फिर से मेरे द्वारा लिखी गयी कहानीलंड के मजे के लिये बस का सफरको बहुत पसंद किया. यह सुन कर वो हवस से मुस्कुराने लगीं और उन्होंने अपनी टांगें किसी रंडी की तरह ही खोल दीं. बीएफ फर्स्ट ईयरजबकि रिम्पी के दिमाग में ये सब बातें नहीं आती थीं कि मैं उसके घर में इतनी देर से क्यों बैठी हूँ.

मैं पोर्न देखने में इतना तल्लीन हो गया था कि मुझे पता ही नहीं चला कि कब भाभी रूम के अन्दर आ गईं. पहले तो मुझे काफी संकोच हुआ, डर भी लगा कि पता नहीं उन्हें सही में काम है या मुझे डांटने के लिए बुला रही हैं.

दिशा गनगना उठी और उसके मुँह से एक किलकारी सी निकल गई- उफ्फ्फ … जीजू. ये मुझे इसलिए मालूम हो गया था क्योंकि मुझे कई बार बाथरूम में मूली और गाजर मिलती थी. वह बोली- ठीक है, मगर वादा करो कि अंदर नहीं डालोगे?मैंने कहा- नहीं, अंदर नहीं डालूंगा.

उसने कहा कि हां मुझे प्राची ने तुम्हारे साथ सेक्स की सारी बात बता दी थी. अपनी एड़ियां ऊपर करके उसे एक किस किया और बोली- जाने से पहले एक क्विकी करेंगे क्या?नहीं डार्लिंग … मुझे नींद आ जायेगी … रात को आने के बाद आराम से करेंगे. मैं अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ फैला देता ताकि मेरा लंड पूजा की गांड में आसानी से अन्दर बाहर हो सके.

भाभी मेरा खड़ा लंड देख कर बोलीं- रोहन इतनी उम्र में तुम्हारा ये इतना बड़ा कैसे है? तुम्हारे भैया का तो इससे काफी छोटा है … अगर तुम कहो तो इसकी भी मसाज कर दूँ?मैंने हां में सर हिला दिया.

मेरी चुत इसी मौके का इंतजार कर रही थी कि कब मेरा हाथ साड़ी के अन्दर घुसकर उसे सहलाये. हमारी बर्थ कन्फर्म नहीं थी, परन्तु हम दोनों स्टेशन आ गए और मैंने टीटी को 200 रूपये देकर स्लीपर कोच में एक बर्थ कन्फर्म करवा ली.

मैंने उसको बोला- शादी के बाद भी अगर तुझे किसी भी तरह की मेरी जरूरत हो तो मैं उसके लिए हमेशा तैयार हूं. मम्मी मुझसे बोलीं- कल से सर से मैं भी योग सीख लिया करूंगी, पर पापा को मत बताना. प्रिया ने मेरी तरफ देखा और हंसती हुई बोली- क्या चाहते हैं आप मुझसे?मैं- वो जो तुम्हारी पैंटी में है.

पहली बार आज हाथ से लंड को पकड़े हुए थी, मैं बता नहीं सकती उस पल मुझे क्या फील हो रहा था. हम हर रोज तो चुदाई करके ही सोते हैं, लेकिन रात में हमारी चुदाई नहीं हो सकी थी. फिर मैंने धीरे से महसूस किया कि उसने मेरी ज़िप खोल दी और अंडरवियर को हटा दिया.

हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ अच्छा तो ये तुम्हारी और डीओ की मिली-जुली खुशबू है, बहुत ही मादक है ”अंकल ने मेरी दोनों कांखों पर किस किया और दोनों जगह पर जीभ भी घुमाई. मैं रूम में जाकर बैठ गया और शीतल घुटनों के बल चलती हुई रूम में आने लगी थी.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश सेक्स बीएफ

दिशा- बड़े आराम से सम्भल जाएगा जीजू … आज हम तीनों इसके लिए भारी पड़ने वाली हैं. रास्ते में बाइक लेकर घर जाते हुए सोचने लगा कि क्या यही प्यार होता है?बस मैं सोचता ही रहा और सोचते-सोचते मेरा घर आ गया. मुझसे क्यों शरमा रहे हो? अभी तो हम दोनों के अलावा यहाँ पर कोई भी नहीं है.

मम्मी-पापा, एक भाई, जो कि मुझसे एक साल छोटा है और एक बहन है, वो मुझसे दो साल छोटी है. बेड पर बैठ कर हम दोनों ऐसे बात करने में लगे थे जैसे हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त हों और बहुत सालों से एक दूसरे को जानते हों. बीएफ बीएफ हिंदी में सेक्सीमैंने पूछा- उन्हें मेरे से तो कोई प्रॉब्लम नहीं है?तो वो बोली- नहीं नहीं, आपको वो बहुत पसंद करते हैं, इसी लिए मुझे आपके पास पढ़ने आने की अनुमति दे रखी है.

मगर मैंने तो अपने पर काबू रखना ही सही समझा, पर इस भोसड़ी वाले लंड को को कौन समझाए … उसने तो फिर से खड़ा होना चालू कर दिया था.

होटल चुदाई कहानी में पढ़ें कि एक रिसोर्ट में दो कपल में बीवियों ने आपस में तय कर लिया कि वे आपस में अपने पति बदल कर चुदाई का मजा लेंगी. मैंने कुछ पल सोचने के बाद उससे कहा- ठीक है, कहाँ पर मिलना है?उसने कहा- वह सब मैं आपको फोन करके बता दूंगी.

मैंने दूसरे ही दिन मेरी फ्रेंड को कॉन्फ्रेंस में लेकर पापा से बात भी करा दी कि मैं उसके घर पर ही हूँ. मैं उन लोगों की बातें तो नहीं सुन पाती थी क्योंकि मैं कुछ दूर पर खड़ी रहती थी और वो अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात करती रहती थी. श्वेता ने शुभी को शर्ट उतार कर डांस करने के लिए कहा तो शुभी मना करने लगी.

आशीष ने मेरे हाथों को जैसे ही अपने हाथ से पकड़ा और उसमें घड़ी पहनाने लगा, मुझे उस पल से अच्छा कुछ नहीं लगा.

मैंने हिम्मत करते हुए अपने सारे कपड़े उतारे और सिर्फ चड्डी में होकर बाथरूम में घुस गया. फिर मैंने आंटी से कहा- आंटी, कल का सब कुछ सही है न … कल आना है ना?आंटी बोलीं- हां जरूर. इस बार जब निशा ने अपनी गांड पीछे की, तब तक मेरा लंड खड़ा हो चुका था और टाइट भी हो चुका था.

साउथ बीएफ पिक्चरफिर मैंने भाभी को उनके हाथ पकड़ कर बैठा दिया और अपने दोनों पैर उनकी कमर के दोनों तरफ करके बैठ गया. मैंने चूत पर हाथ लगाया तो वह सूज चुकी थी, एकदम सुर्ख लाल हो गयी थी.

पुरी बीएफ

कुछ मिनट में मेरा लंड चुत में ही वापिस खड़ा हो गया और मैं उसको चोदने लगा. शिखा के बोलते ही मैंने धक्का लगाया तो मेरा लंड फिसल गया और चूत के अंदर नहीं जा पाया. मैं भी उसे गाली देने लगा- ले रण्डी कुतिया साली रांड छिनाल मादरचोद बहनचोद!आह आह आह …” उसके मुंह से आवाजें निकल रही थी, उसके बड़े बड़े मोटे चुचे हिल रहे थे। वो बस मुझे गाली दिए जा रही थी और कमर चला रही थी नीचे से!थोड़ी देर के बाद उसने मुझे नीचे पटक दिया और खुद ऊपर आ गयी, गाली दे दे के वो मुझे चोदने लगी, मेरी छाती को नोचने लगी.

तुम्हें तो कोई काम नहीं है ना?मैं बोला- नहीं यार, मैं तो यहाँ अकेला ही रहता हूँ. अपने पास बिठा कर पापा ने मुझसे रात वाली बात विस्तार से बताने के लिए कहा. अब मुझे तो कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा था, मैंने पूछा- नफीसा भाभी, मैं आंटी को क्या जवाब दूँ?तो नफीसा ने कहा- अभी थोड़े दिन तक इस बात को टाल दो, फिर आगे देख लेंगे.

फिर उन्होंने मुझे बाथटब की साइड पर बिठाया और कहा कि अपने पैर चौड़े कर लो. मैं- रुक … फिर तुझे और मजा देता हूं … तू बिस्तर पर टांगें फैला कर लेट जा. मैं उसे समझाने की हर संभव कोशिश करने लगा कि सब अन्जाने में हुआ है और सीमा समझकर मैंने उसकी बीवी वीणा के साथ मदहोशी में ये कांड कर दिया.

वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथ मेरी गिरफ़्त से छुड़वा कर मेरी पीठ पर कस कर बाँध रखे थे. अब मैंने मम्मा को अपने नीचे लिटाया और मम्मा ने भी अपनी चिकनी टांगों को पूरा फैला लिया ताकि मेरा लंड उसकी चूत में जाने में कोई दिक्कत ना हो.

मैंने भाभी के एक दूध पर हाथ रख कर उसे मसल दिया और कहा- आज तुम सब भूल जाओ भाभी … बस मेरे साथ चुदाई का मजा लो.

फिर जब उनसे ना रहा गया तो उन्होंने मुझे गोद में उठाया और अपने रूम में ले गए. भारतीय हिंदी बीएफ वीडियोअ… अ…अ की लंबी सीत्कार के साथ झड़ गई और पेट के बल ही बेड पर पस्त हो गई।मैं बोला- मेरा अब तक नहीं हुआ है. बीएफ चाहिए इंडियनसोनू की चूत ने पानी छोड़ दिया और उसने कस कर मुझे अपनी ओर खींच लिया. सुन कर सच में अच्छा लगा कि देश की लड़कियां भी कुछ करने की इच्छा रखती हैं और वो माँ-बाप धन्य हैं जो अपनी लड़की को पढ़ा रहे हैं.

वो उत्सुक हुई और बोली कि क्या है सरप्राइज … जल्दी बोलो न!मैंने कहा- रुको न थोड़ी देर.

भीतर जाकर वाशरूम का दूसरा दरवाजा और कुंडी भी खोल दी जो वाशरूम के अंदर से ही खुलता और बंद होता है. सुरेश अंकल मेरी भावनाओं, तमन्नाओं, मेरी प्यास से अनजान प्रातःकाल पर निकलते और मुझे बिना देखे अपनी ही धुन में निकल जाते; वो घूम कर वापिस करीब सात बजे लौटते थे पर लौटने में भी उनका यही क्रम रहता था कि बिना किसी की तरफ देखे मजबूत कदमों से फुर्ती से चलते हुए लौट जाते. फिर शाम को ऑफिस का काम खत्म करके मैं जब ऑफिस से घर के लिए निकला, तो रात हो गयी थी.

प्लीज़ कोऑपरेट मी। (प्रिय मैंतुम्हारी चुदाई करना चाहता हूँ, कृपया मेरा साथ दो)।इस पर रीनल ने जवाब दिया- डार्लिंग, वी ऑलरेडी क्रॉस्ड आवर लिमिट (प्रिय हम पहले ही हमारी सीमा पर कर चुके हैं) अब इससे ज्यादा मैं साथ नहीं दे पाऊंगी।विक्रम-प्लीज रीनल, मैं इतना करके अधूरा नहीं रह सकता. वो कुछ कोचिंग सेंटर में पार्ट टाइम पढ़ाया भी करती है जिससे अपना खर्चा खुद निकाल सके. आज मैं आपके लिए एक और गर्म सेक्स कहानी लेकर आया हूँ, जो अभी चार महीने पहले मेरे साथ घटी थी.

बीएफ सेक्सी दिखाओ चुदाई वाली

भाभी मेरी तरफ देख कर बोलीं- आजकल तुम मुझे कुछ ज्यादा ही देखने लगे हो … क्या बात है? क्या गर्लफ्रेंड ने मना कर दिया है. प्रिया- अब खूब कस कसके पेलिए … आंह बड़ी खुजली हो रही है मेरी चूत में!मैंने प्रिया की चूत में लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. जब वो मुझे चोद रही थी, तब मेरे चेहरे के सामने उसकी पीठ थी, तो मैंने उसको घुमाकर चेहरा मेरी तरफ करने के लिये कहा.

मीना मचल पड़ी और बोली- अजय देखेगा तो क्या बोलेगा? ऐसा मत करो!मैं मीना की बात को अनसुनी करते हुए उसके चेहरे पर किस पर किस करने लगा!मीना फिर बोली- राज प्लीज़ मुझे बहकाओ मत, छोड़ो मुझे!लेकिन मुझे आभास हो चुका था कि उसकी ‘ना’ बस जज्बाती है, अंदर से तो वो भी तैयार हो गयी है.

दो मिनट तक मेरे होंठ चूसने के बाद उसने उठकर अपने कपड़े पहन लिये और बाहर चली गयी.

खैर मेरी हालत खराब हो चली थी, लेकिन तब भी मैं उनका पूरा साथ दे रही थी. वैसे भी जवानी के वो दिन ऐसे होते हैं कि दिन में अगर सौ काम करो तो नब्बे काम लौड़े को शांत करने के लिए लिए होते हैं. भोजपुरी बीएफ हिंदी एचडीआखिरकार तुम मेरी साली जो हो! लेकिन आज बिना चोदे नहीं छोड़ सकता, तुम समझ सकती हो मेरी मजबूरी!मैं- सॉरी जीजू, यह सब मैं नहीं कर सकती, चाहे आपको बुरा लगे तो लगे!मेरी यह बात सुनकर जीजू समझ गए कि शिवांगी चोदने नहीं देगी और जबरदस्ती करने पर प्रॉब्लम हो सकती है.

बातों बातों में पता चला कि उसका पांच साल से कोई लड़का ब्वॉयफ्रेंड है. मैंने अपना एक पैर बीवी घुटने के बाजू बाहर रख दिया, फिर बीवी को आहिस्ता से मेरे साथ पीछे आनेके लिये कहा. मेरे सामने अंजलि अपनी टांगें खोल कर ऐसे पड़ी थी जैसे उसे मेरे लंड का इंतजार हो.

शीतल भाभी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, इस पर आप मुझे जरूर अपनी राय दें. मैं सुमन की चूत के ऊपर लंड रगड़ने लगा और निशाना लगाकर अन्दर दबाव बनाने लगा.

अभी लंड ने बुर में एंट्री ली ही थी कि रूपा चीखने लगी- उई दैया रे मर गई … आंह भैया … इसे बाहर निकालो … आंह बहुत दर्द हो रहा है.

मैं क्या सोचता था इनके बारे में, क्या समझकर इनकी इज्जत करता था मैं … और आज इन्होंने मुझको ये क्या बोल दिया है. थोड़ी देर लंड चूसने के बाद उन्होंने मुझे खड़ा किया और मेरा लोवर नीचे करने लगे लेकिन मैंने उन्हें मना कर दिया कि अभी नहीं!कारण ये था कि इधर खुला था. थोड़ी देर बाद फिर से माया भाभी ने मेरा लंड अपने हाथ में ले लिया और खेलने लगी.

बीएफ लंड की चुदाई मिसेस शर्मा पर क्यों इम्प्रैशन जमाना? ये नितिन भी ना कुछ भी बोलते रहता है. मैं सिर्फ एक इंसान होने के नाते उनका अकेलापन दूर करने में भरपूर साथ दे रहा था.

दोनों बूब्स सुर्ख लाल हो गए थे, उन पर मेरे दांत के निशान पड़े हुए थे।जब मैंने उसे रोते हुए देखा तो गुलाबो को अपनी बांहों में ले लिया और किस करने लगा। मैंने गुलाबो के कान में कहा- जानेमन, रोती क्यों है, मैं तुझे कुछ नहीं होने दूंगा!और गुलाबो की चुची को सहलाने लगा. अब मैंने चुत के छेद पर लंड को रखकर एक ही धक्के में पूरा का पूरा लंड डाल दिया. ऊषा के मुंह से मुझे मेरे ही पति की चुदाई की तारीफ सुन कर बड़ा मजा आ रहा था.

डब्ल्यू डब्ल्यू सेक्सी बीएफ बीएफ

हां जब कभी भी उसकी जरूरत होती, तो उसकी चूत में लंड डाल देता और अपना पानी उसकी चूत में गिरा देता और फिर सो जाता. फ़्रेंड्स ये मेरी सच्ची देसी कॉलेज सेक्स कहानी थी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल जरूर करें. अब मैंने मम्मा को अपने नीचे लिटाया और मम्मा ने भी अपनी चिकनी टांगों को पूरा फैला लिया ताकि मेरा लंड उसकी चूत में जाने में कोई दिक्कत ना हो.

कभी कभी मुझे लगता है कि जो औरतें चुदाई में असंतुष्ट हैं, चुत की चुदाई की भूखी रह जाती हैं, मैं उनको चोद कर उनको आनन्द प्रदान करूं और थोड़ा पुण्य कमा लूँ. उसके बाद जीजू ने मेरी चूत की फांकें अपने दोनों हाथों से फैला दी और अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने लगे.

भाभी मेरे लंड पर हाथ ले जाकर उसे हिला रही थीं और दूसरा हाथ सर पर घुमा रही थीं.

अचानक से भाभी नेअपनी चुत में उंगलीडाल ली और दूसरे हाथ से अपने एक मम्मे को मसलने लगीं. उसने ज़ोर से अपने मुँह पे हाथ रख कर खुद का मुँह दबा लिया ताकि आवाज़ बाहर ना जाए. मैंने कहा- पाण्डे जी, अगर मैंने बात की और उसने कुछ बोल दिया तो मेरी इज़्जत की तो वाट लग जायेगी.

एक दिन ऊपर वाले ने मेरी हालत को समझा और मुझे चुदाई के सुख से रूबरू करवा दिया. उसने बताया कि उसके मम्मी-पापा शादी में गए हुए हैं और वह घर पर अकेली है इसलिए उसने मुझे बुलाया है. मैं ज्यादा तड़प रही थी या विलियम … यह तो पता नहीं लेकिन तड़प दोनों में जबरदस्त एक दूसरे को पाने की थी.

मैंने हल्के से अपने लंड को उसकी गांड की दरार पर ऊपर नीचे फिराना शुरू किया.

हिंदी वीडियो सेक्स बीएफ: पहले गालों को, फिर उसके होंठों को पिया और गर्दन पर किस करते हुए उसकी चुचियों को खूब पिया. क्योंकि धीरज मेरी चूत में ही अपने लंड का पानी निकाला करता था और कहता था कि पूरा मज़ा चुदाई का लेना है तो चुदाई के समय कोई सावधानी ना करो.

मैं- अरे मैंने खुद अपनी आंखों से उन्हें रात में भाई के साथ मजे लेते हुए देखा है. सेक्स कहानी की नायिका, मेरे हसीन सपनों की रानी सुमन के साथ मेरा प्रेम शुरू हुआ. मेरे जिन दोस्तों ने मेरी पिछली कहानियों को नहीं पढ़ा, वो इस कहानी के शीर्षक के नीचे दिए मेरे नाम पर क्लिक करके मेरी पिछली कहानियां जरूर पढ़ें.

कई बार सबके सामने ही मेरे साथ भाभी बहुत अश्लील मजाक तक कर दिया करती थीं.

अब जब कभी भी भाभी को चोदने का मन होता, तो भाभी की जबरदस्त चुदाई करके मजा ले लेता. अबकी बार वो पहले से ज़्यादा ज़ोर से चीखी पर मेरा मुँह होने के कारण उसकी चीख दबी रह गई. मैं अपना लिंग-मुण्ड वहीं टिका छोड़ कर वसुन्धरा के जिस्म के ऊपरी भाग पर छा गया.