सनी लियोन का नंगा बीएफ

छवि स्रोत,राजस्थानी न्यू सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

દેવર ભાભી કિ ચૂદાઇ: सनी लियोन का नंगा बीएफ, अब उसकी चूत किसी प्यासी बुलबुल की तरह मुंह बाये मेरे लंड को तक रही थी.

रक्षाबंधन pic

मम्मे तने हुए थे जैसे कि तोपों की जोड़ी निशाना साढ़े गोला दागने को तैयार हो. जोधा अकबर की कहानीमैंने उसे वहीं पर उसके होंठों पर एक किस किया और उसकी क्लीवेज जो कि बहुत ज्यादा ही गहरी थी, उस पर किस किया.

मामा जी को भी लगा कि मेरी चूत पूरी गीली हो गई है, उन्होंने मुझे किचन की स्लैब पर बैठा कर मेरी दोनों जाँघों को फैला कर अपनेहोंठ मेरी चूत के होंठों से लगा दिए।मेरी चूत से एक भीनी भीनी सी खुशबू आ रही थी जो मामा को पागल बना रही थी. मराठी लड़की की सेक्सीअजय स्पीड से धक्के दे रहा था। अब फ्लॉरा भी उसका साथ देने लगी गांड को हिला-हिला कर चुदने लगी।अजय- आह.

चाची बोलीं- मेरे कन्हैया, मेरी बहुत पुरानी चाहत तूने आज पूरी कर दी.सनी लियोन का नंगा बीएफ: कुछ देर ऐसे ही हम दोनों ने उनकी चूतें चूसीं, और फिर जब रुचिका की चूत ने पहला फव्वारा छोड़ा तो मैंने अपनी जीभ को पूरी तरह उसकी चूत के अंदर डाल दिया और एक उंगली भी साथ ही उसकी चूत में उतार दी.

वो आजकल की लड़कियों जैसी सींकिया नहीं थी बल्कि अच्छी मांसल बदन वाली थी.32 और रंग गोरा था, बस कोमल के उरोज गोल और भारी लगते थे, तो मेरे नोकदार ऊपर की ओर उठे हुए… उसकी चूत की फांकें थोड़ी सी खुली हुई थी, तो मेरी एक लकीर जैसी दिखाई देती थी। इन बातों के अलावा हमारे चेहरे में फर्क था, इसलिए मैं कोमल से भी ज्यादा कातिल नजर आने लगी थी, ऐसे भी दोनों की हाईट भी मॉडलों जैसी 5.

বাঙালি বিএফ - सनी लियोन का नंगा बीएफ

तो सर पहले तो गुस्सा हुए, फिर नार्मल हो गए और बताया कि उन्हें ठोकने से ज्यादा ठुकवाना पसंद है.’सविता के चूचे चूसते-चूसते अगले धक्के में मैंने पूरा लंड अन्दर चुत की जड़ तक पेल दिया.

हमारी पहली मुलाकात एक झप्पी के साथ शुरू हुई जिसके दौरान मुझे उसके भरे चुचों का अनुमान हुआ. सनी लियोन का नंगा बीएफ जल्दी से बाहर निकालो।मैंने उनकी बात को ना सुना और धक्के देता रहा। कुछ समय बाद वो भी अपनी गांड उठा-उठाकर चुदवाने लगीं। मैं भी पूरी स्पीड में धक्के दे रहा था। फिर मैंने उनको उठाया और डॉगी बनने को कहा। भाभी कुतिया बन गईं.

कोई और भाई-बहन क्यों नहीं है?हेमा- ये कैसा सवाल है? भगवान की मर्ज़ी नहीं हुई बस!सुमन- प्लीज़ माँ आप नाराज़ मत हो.

सनी लियोन का नंगा बीएफ?

फिर वो मुझे पूछा- क्या हुआ शीला, आप सोये नहीं?तो मैंने कहा- जी नहीं, एक्चुअल मुझे नींद नहीं आ रही थी. पड़ोस वाली जवान भाभी को नंगी देख कर मेरा मन भाभी की चुत की चुदाई का हो गया. अब आप भी अपना दिखा दीजिए।तो मामा हंस कर बोले- क्या दिखा दूँ?वो मेरे मुँह से लंड शब्द सुनना चाह रहे थे.

यह बात तब की है जब मैं मात्र 18 वर्ष का था, परन्तु शरीर से तगड़ा था. एक दिन जब मैंने खेलने के लिए शालू से कहा तो उसने पूछा- भैया कौन सा खेल खेलना है?मैंने कहा- घर-घर वाला. मुझे मज़ा आ रहा था, जब भी जाती, कभी सूट, कभी साड़ी, कभी कुछ तो कभी कुछ… मगर मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि वो इतने पैसे खर्च कर रहा है पर अब तक चुदाई कोई बात नहीं हुई.

लंच तो बाहर से ही आता बैंक में, पर डिनर उन दोनों ने मिलकर बनाना शुरू कर दिया. चाची की बात सुन कर जब बड़े चाचा कुछ सोच में पड़ गए तब मम्मी बोली- इसमें सोचने की क्या बात है? यह ठीक ही तो कह रही है कुछ दिनों के लिए इसे भी यहाँ रहने दो. मामाजी कभी मॉम की चूत में उंगली डालते और कभी चूमते। मामाजी ने ऐसे करके मॉम के पूरे शरीर को अपनी जीभ से चाट लिया।मामाजी ने चूत में घुसेड़ने के लिए लंड को हिलाया और मॉम ने भी अपनी टाँगे फैला दीं और मामाजी को लंड घुसेड़ने का सिग्नल दिया।इस वक्त मॉम की चूत मुझे साफ़ दिख रही थी.

मैंने उनके कान में कहा- मैं तुम्हारी जरूरत पूरी कर दूँ?वो मुस्कुराई और बोली- हाँ?मैंने कहा- मेरे रूम में चलना पड़ेगा. बोलीं- मैंने तुम्हारे भैया का कभी मुँह में नहीं लिया है।फिर मेरे मनाने पर भाभी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने चाटने लगीं। फिर हम 69 की पोजीशन होकर एक-दूसरे का गुप्तांग चूसने-चाटने लगे।बस 5 मिनट के बाद भाभी बोलीं- अब मत तड़पाओ।मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर रखा और जोर से धक्का मारा,भाभी की चूत में लंडघुसने से उनके मुँह से चीख निकल गई, भाभी बोलीं- आह.

चून्चियों का रस पान करा दो ना…जिससे पिंकी शर्मा गई और कहने लगी- क्या बोल रहा है… प्लीज…ऐसे नहीं… मुझे शर्म आ रही है…’मुझे मेरा सिग्नल मिल गया था, अब मेरे होंठ सीधे उसके निप्पल पे थे, पहले तो मैंने हल्के से किस किया फिर उसे मुंह में भर के हल्के हल्के चूसने लगा जिससे पिंकी सिसकने लगी और अपने नितम्बों को पलंग पे रगड़ने लगी।दूसरा निप्पल मेरी उंगलियों के बीच था.

अब उनका लंड चुत में बराबर अड्जस्ट हो गया था और अनिता को भी होश आने लगा था.

फिर हम दोनों अलग हुए, मामा जी फ्रेश होने बाथरूम चले गये, मैं पूरे कपड़े पहन कर किचन में चाय नाश्ता बनाने लगी. आंटी थोड़ी मुस्कुराई और बोली- क्या देख रहे हो?मैं- कुछ तो नहीं!और मैं जूस पीने लगा. उसने नीचे देखा और अपनी चुत को भी हाथ लगा कर चैक किया।उधर संजय का लंड तो लोहे जैसा सख़्त हो रहा था। वो सोच रहा था कि अब इसे कैसे शांत करूँ, तभी उसकी मुश्किल पूजा ने आसान कर दी।पूजा- मामू अपने तो मेरी फुन्नी को चाट के साफ कर दिया और सारा मज़ा रस भी पी गए.

मुरुगन ने मुझे अपने नीचे ले लिया और मेरे साथ ही मुरुगन भी मेरी चुत में झड़ गए. जस्सी की कहानी को शब्द देने में कुछ नमक मिर्च जरूर लगाया है पर आप सभी को यह कहानी इतना उत्तेजित जरूर करेगी कि सभी पढ़ने वाले स्वयं को संतुष्ट करने को बाध्य हो जायेंगे. पर जल्दी ही अपना लंड निकाल कर उसकी चूत को ढूँढने लग गया कि अगर इसके मुँह में ही लगा रहा तो इसी में मेरा माल निकल जाएगा और फिर दुबारा मौक़ा कब लगेगा.

मैं हमेशा पूजा के नहाने के बाद नहाता था ताकि मुझे उसकी ब्रा और पैंटी देखने को मिलती थी.

वो रिंग लेकर उस शराबी के पास जाकर बैठ गई। सुमन को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था।सुमन- ये आप क्या कर रही हो. हेमा ने कुछ बोलना चाहा मगर गुलशन जी ने चुप करवा दिया और वो भी खाना लाने चली गई. उनके दोनों हाथ मेरी कमर और मेरे काले घने रेशमी बालों में घूम रहे थे.

मगर काका उसके पति के काका थे तो वो शर्माने का नाटक करने लगी- नहीं, मुझे आपसे बड़ी शर्म आ रही है. मैंने अपनी चूत सिकोड़ ली और कस ली… उसके मुँह से भी जोर की सिसकारी निकल गई. मेरे भी आनन्द की सीमा न थी मैं भी सिसकार रहा था- हाय मेरी रंडी, तुम्हारी बुर कितनी टाइट और गर्म है, ओह मेरी प्यारी बहन, लो अपनी बुर में मेरे लंड को… ओह ओह.

दोस्तो, कैसे हैं आप!मैं तो बहुत अच्छी हूँ… मुझे उम्मीद है कि आप सभी भी मस्त हैं.

अब कोमल ने रेजर लिया और एक हाथ से योगिराज को पकड़ा और उसको हिलाते हुए और दायें बायें करके मेरी झांट साफ़ कर दी, मेरी टांग चौड़ी करवा के मेरी पूरी झांट यहाँ तक कि गान्ड के बाल भी साफ कर दिए।उसके बाद आफ्टर शेव लोशन लगाया तो मेरे तो करंट सा लग गया हल्की जलन तो होती ही है. फिर उसने अपने लब बंद कर लिए और अन्दर ही अन्दर अपनी जीभ मेरे लंड के चारों तरफ फिराने लगी.

सनी लियोन का नंगा बीएफ ऋतु ने उसे उकसाते हुए कहा- पर जरा सोचो… उसका लम्बा और खूबसूरत लंड तुम्हारी नाक से सिर्फ कुछ ही दूरी पर होगा. ‘आह बेबी धीरे, आह प्लीज प्रतीक, कम ऑनलाइन, चोदो!’ उसकी सिसकारी निकलने लगी.

सनी लियोन का नंगा बीएफ ‘मेरी आपा भाबी माँ, गुलफाम कली, गुलफाम कली ही एक ऐसी है जो इस प्रॉब्लम का हल ढूँढ सकती है. दोनो में होड़ लग गई कि कौन ज्यादा से ज्यादा मेरा रस पीती है और इस तरह मेरी एक-एक बूंद निचोड़ ली कमीनियों ने… मेरा लंड मुरझा कर उनके होंठों से निकल कर बाहर आ गया पर फिर भी दोनों ने अपनी किस नहीं तोड़ी.

मैंने मजाक में कहा- भाई, सब आप जैसे लोगों की दया है जो अपनी बीवियों की चूत का रस इसको पिलाते हैं.

गूगल कैमरा चालू करो

डार्लिंग अभी तो जन्नत का सुख मिलेगा।’मुझे दर्द हो रहा था।‘बस डार्लिंग थोड़ा सब्र करो. आप सबने मेरी पिछली कहानियों को बहुत पसंद करा, मैं आप सबका दिल से धन्यवाद करती हूँ! और जो दोस्त मेरी कहानी पहली बार पढ़ रहे हैं, वे मेरीपिछली xxx हिंदी स्टोरीजरूर पढ़ें और मज़ा लें. राहुल भी कमरे में आ गया और सिर झुका कर बोला- सोरी नेहा…!मैंने उसके होठों पर उंगली रख दी और कहा- चुप हो जाओ! बाहर कोई देख लेता तो?मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख दिये.

कितनी कोशिश कर ली, नींद आ ही नहीं रही है, बदन में जगह-जगह खुजली सी हो रही है, पता नहीं क्यों?टीना- ऐसा क्या हो गया तुझे. बातों बातों में उसने बताया कि फ़ोन पर बॉयफ्रेंड से बात करते करते वो गर्म हो गई थी तो उसने मेरे साथ सेक्स किया. मैंने तो उससे एक बार फोन पर हंसी हंसी में कहा भी कि वो कोई बॉय फ्रेंड ढूँढ ले और अपनी तमन्ना पूरी कर ले.

नोच ले, बेटीचोद नोच ले मेरी बोटियाँ… बना दे मेरा मलीदा… इतना मज़ा पाने के लिए अगर कम्बख्त मुझे कुचल कुचल के जान भी निकाल डाले तो भी ग़म नहीं… आअह्ह… आअह्ह… आअह्ह… हाय मरजाने राजे… तेरी माँ की चूत… कमीने… आअह्ह्ह्ह… आअह्ह्ह्ह… आअह्ह्ह्ह मेरी सहनशक्ति का बांध टूट गया और मैं चरम सीमा के पार एक तूफान की तरह झड़ी.

क्या आपको गोपाल ने यहाँ भेजा है या आप गोपाल की कुछ लगती हो?मोना ने दूध खुजाने के बहाने साड़ी का पल्लू हटा दिया जिससे सुधीर को उसके दूध साफ दिखने लगे. उसने पूछ ही लिया तो टीना ने कहा कि ऐसी बातें बताते वक़्त चुत में आग लग जाती है, जिसे बुझाना ज़रूरी होता है, इसलिए मेरी जान पीरियड खत्म होने दे, सब बता दूँगी. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि सुमन के पिता गुलशन जी ने उसे अपने साथ चलने को कहा तो वो कुछ कन्फ्यूज सी हो गई।अब आगे.

लगभग 15 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद पूजा ठंडी हो गई मगर संजय तो दूर-दूर तक झड़ने के करीब नहीं था. करीब एक घंटे की चुदाई के बाद फूफा जी 15 मिनट तक ऐसे ही मेरी चूत में लंड गाड़े मुझ पर लेटे रहे. दोनों लड़के पूरी तन्मयता के साथ गांड का भक्काड़ा बनाने में लगे हुए थे.

मैं पहले भी हंसी थी पर अकेली हंसी थी पर उस दिन मैं रोहन के साथ हंस रही थी, मैं रोहन को ऐसे हंसता देख कर बहुत खुश थी।वही मेरे जीवन का सबसे खुशनुमा पल था, जिसका जिक्र मैंने कहानी की शुरुआत में ही किया था।जब बड़ी मुश्किल से हंसी थमी तो रोहन ने कहा- कविता हम ऐसा कब करेंगे?उसने ये बड़ी मासूमियत से कहा था. पेंतीस के, करीब आयु के दोनों मोटे तो नहीं पर भरे हुए थे।सुकांत बोला- आप दोनों एक साथ सो जाएं.

रोहित इस बात को समझ गया फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया औरअपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगा. मैंने उनसे चाबी मांगी तो वो उसी अवस्था में उठीं और टेबल के ड्रावर से चाबी निकलने नीचे झुकी, जिससे गीला पेटिकोट उनके पिछवाड़े से चिपक गया, उनके बूब्स बहुत बड़े थे, ब्लाउज़ में कसे हुए थे. थोड़ी ही देर में अनीता ने दरवाजा खोला वो एक ब्लैक नाइटी में थी और बहुत ही सेक्सी लग रही थी.

मैंने क्या किया? टीना ने तुझसे मजाक किया था तुम्हारी नींद पूरी हो गई होगी तब तू उठ गया.

सुमन- दीदी बताओ ना पहली बार संजय ने कैसे आपको प्रपोज किया था?टीना- अबे, ये कोई लव वाला मामला नहीं है जो वो मुझे प्रपोज करेगा समझी?सुमन- अच्छा जो भी मामला है आपकी पहली चुदाई कैसे की थी संजय ने, वो तो मुझे आप बता सकती हो ना?टीना- बता सकती हूँ मेरी जान, मगर आज नहीं जब मेरे पीरियड ख़त्म होंगे तब बताऊंगी. लंड सबका खड़ा होता है, ख़ासकर जब कोई उसे इतने प्यार से सहलाए।मॉंटी की लुल्ली भी अकड़ने लगी और जल्दी ही वो एक लंड बन गई. 30 पर होटल के बाहर पार्किंग के पास मिलूंगा, तुम मुझे नीचे मिलना!मैंने कहा- ठीक है भाई!और फिर खड़ा होकर फ्रेश होने लगा।नहा कर, तैयार होकर ठीक 9.

अबकी बार उनका अज़गर चुत को फाड़ता हुआ पूरा अन्दर घुस गया और इस बार दर्द की इंतेहा हो गई, बेचारी अनिता इस दर्द से बेहोश हो गई मगर गुलशन अब लंड को स्पीड से आगे-पीछे करने लगे. मैं करने को तो बहुत कुछ कर सकता था लेकिन मैंने कुछ नहीं किया, उसे कैसे भी करके उसके बिस्तर पर उठा ले गया और उसे होश में लाने की कोशिश करने लगा.

इस वक्त तक मैं चंडीगढ़ में जॉब करने लगा था और मेरी तब नाइट ड्यूटी थी. हम दोनों एकदम अचंभित हो कर कुछ देर वहीं पर खड़े रहे, फिर हमने अपने कपड़े पहन लिए. बात जनवरी 2011 की है, मैंने अपने जीवन की प्रथम हवाई यात्रा की गोवा से इंदौर, इंदौर पहुँचते ही मेरी एक अजीज मित्र अक्षिमा मुझे लेने इंदौर हवाई अड्डे पर आई.

साइकिल कैसे चलाएं

ले आज तेरी मैं गांड चोदती हूँ।जैसे ही उसने अपना नकली मोटा लंड मेरी गांड में डाला.

रिया के तेवर देखकर मुझे अंदाजा हुआ कि ये लड़की कुछ तो खुराफाती करने वाली है. छेद से झाँकने के बाद पूजा ने धीरे से कहा- वाव… ऋतु, तुम्हारे https://www. और अचानक उन्होंने पीछे से आकर ना… मुझे अपनी बांहों में ले लिया और बिना कुछ पूछे मुझे चूमने लगे.

आगे जो बातचीत हुई वो इस प्रकार है:राजे- हेलो… कौन बोल रहा है?मैं- हेलो गुड आफ्टरनून राज कुमार जी… मेरा नाम मोना है और आपका नंबर आपकी एक फ्रेंड ज्योति ने दिया है. माला उस आवाज़ को सुन कर अत्यंत उत्तेजित हो गई और अपने कूल्हे उठा उठा कर मेरे हर धक्के का उत्तर देते हुए मेरा साथ देने लगी. सेक्सी सेक्सी व्हिडिओ पिक्चरमेरे बहुत से अंतरवासना मित्रों की मेल्स आई और मैं उनको धन्यवाद देता हूँ मेरी कहानियों को प्यार देने के लिए!मेरी पिछलीहिंदी सेक्स कहानी शादीशुदा गर्लफ्रेंड की चूत में लन्डमें आपने पढ़ा कि कैसे मैंने जानवी के साथ मज़े किए और आज भी कर रहा हूँ.

मैं भी चुदास की भीषण अग्नि में सुलगती हुई चिल्लाई- चोद दे मादरचोद चोद दे… दिखा दे मेजर साहिब को अपने लंड की पावर… ज्योति से बड़ा सुना तेरे चोदन का… आज देखूं तो सही कितनी जान है तेरे लौड़े में!तब तक फरीदा भी बाथरूम से अपना चूतप्रदेश साफ करके आ गई थी और सुमित ने उसको अपनी जांघों पर बिठा लिया था. मैं उनसे मिला, मामी खुश थी, उन्होंने मुझे अपना दूध पिलाया और मैंने उनकी खूब चुदाई.

फिर उसका बदन कुछ रिलैक्स हुआ और मेरे ऊपर से उतर कर वो मेरी बगल में लेट गई और अपनी एक जांघ मेरी कमर से लपेट कर मुझे अपनी ओर खींच लिया. अब तक की इस हिंदी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि गुलशन जी अनिता की चुत चोदना चाहते थे. शर्ट के ऊपर के 2 बटन खुले होने की वजह से ऐसा लग रहा था जैसे शर्ट फाड़ कर बाहर आएंगे.

तुझे पसंद आए बस वो ले ले।बस फिर क्या था, उसने और भी कपड़े ट्राई किए, कुछ स्कर्ट्स भी लिए। सुमन के दिमाग़ में लन्दन की लड़की की इमेज थी तो उसने कुछ सेक्सी शॉर्ट स्कर्ट्स और टॉप भी ले लिए।गुलशन जी बस इधर-उधर घूम रहे थे, उनको नहीं पता था कि सुमन क्या-क्या ले रही है। जब काफ़ी देर हो गई तो वो सुमन के पास गए और उससे पूछा- कितना टाइम लगेगा?सुमन- बस हो गया पापा. गोरी, चिकनी जांघें, कोई मोटी, कोई पतली, गोरी, चिकनी बाहें, कोई गदराई, कोई सूखी सूखी. साथ में कपड़े भी खराब हो गए।जब राधा को अहसास हुआ कि राजू का पानी निकल गया है वो चिड़चिड़ी हो गई।राधा- तू कभी मेरा साथ नहीं देता.

नेवली खुर्द के मेन रोड तक पहुंचने के बाद मैं जाखोद खेड़ा की तरफ जा रहे हाइवे की तरफ चल पड़ा.

मैंने ‘हाँ’ कह दिया तो ऋतु ने मुस्कुराते हुए कहा- तो ठीक है… फिर शुरू हो जाओ. स्स्स्स…सस… की आवाज़ें निकाल रही थी।यह देखकर तीन चार जोरदार शॉट मारे और जड़ तक बुर में लंड घुसा दिया और अपने होठों को उसके होठों से चिपका उसके ऊपर चित लेटा रहा।अब मैंने झटकों की गति और बढ़ा दी। तमन्ना ने अपनी टाँगें ढीली कर ली मतलब उसका पानी छूट गया था।उसके 5 मिनट बाद ही मैंने भी अपना माल उसकी बुर में छोड़ दिया.

उठे हुए चूचे चूस डालूँ और गाण्ड को छलनी कर दूँ…वो मुझे देखते ही पहचान गई. हुआ यूं कि एक दिन हमारे पड़ोस के थाने से फ़ोन आया कि पुलिस ने मेरे पति को गिरफ्तार कर लिया है। किसी ने छोटी बच्ची को गाड़ी से टक्कर मार दी है और पुलिस ने शक के आधार पर इनको धर लिया है।मैं थाने भागी. ऋतु ने मेरे लंड के सिरे पर अपनी जीभ फिराते हुए पूजा से कहा- अरे देख क्या रही हो… इधर आओ और मेरी मदद करो.

हमेशा की भांति सुलेखा ने मुझ पर लाइन मारना शुरू कर दिया, वो मेरे इर्द गिर्द मंडराती रहती, बार बार मेरी नज़रों से नज़रें टिकटिकी लगा कर मिला लेती. मेरे नहाने के बाद जैसे ही माला ने शावर के बंद होने की आवाज़ सुनी तो वह मुझे तौलिया देने के लिए एक बार फिर बाथरूम के दरवाज़े मुस्कराते हुए खड़ी हो गई. जब मैंने उसके परिवार के बारे में पूछा तो वह कहने लगी- मेरे बेटा है, बहू है, तीन पोते हैं.

सनी लियोन का नंगा बीएफ एक बड़ी सी बिल्डिंग के बाहर गुलशन जी की गाड़ी रुकी और फिर वो बिल्डिंग में एक फ्लैट के बाहर जाकर बेल दबाने लगे. चुत बोल मेरी जान और आज तुझे उससे भी ज़्यादा मज़ा दूँगा।संजय की बात सुनकर पूजा खुश हो गई और भाग कर उससे लिपट गई।संजय का लंड उसके पेट में चुभने लगा तो पूजा ने अलग होकर उसको पकड़ लिया।पूजा- बहुत गंदा है.

लोड करने वाला फोल्डर

तो देखा कि वही भाभी वहाँ कपड़े सूखने के लिए डाल रही थीं और मुझे देख रही थीं।पहले तो मैं थोड़ा घबराया. इसमें बहुत खुजली हो रही है।मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और जोर का झटका दे दिया। एक ही बार में आधा लंड अन्दर चला गया. सिर्फ़ दिक्कत अगर होती है भी तो सिर्फ़ प्राइवेसी और सेक्यूरिटी को लेकर ही होती है वरना कोई परेशानी नहीं होती.

चल अब ऊपर-नीचे होकर चुदवा ले, मज़ा आएगा।पूजा अब गांड को हिलाने लगी, उसको थोड़ा दर्द था मगर लंड की गर्माहट उसको सुकून दे रही थी। उसकी चुत भी गीली हो गई थी तो अब लौड़ा फिसलने लगा था। अब उसको हल्के दर्द के साथ मज़ा आने लगा।पूजा- आह. क्योंकि थोड़े दिन बाद घर से पापा का फोन आया कि शालू विक्की के साथ चंडीगढ़ आना चाहती है. गाड़ी वाला आ जाएकभी कभी मेरे निप्पल को काट लेता और मैं दर्द के मरे सिहर सी जाती मगर मुझे मजा भी आ रहा था।धीरे धीरे वो निचे की तरफ चला गया और मेरी चूत को चाटने लगा.

कितना खतरनाक सा लगता है ये, मेरी जैसी पुसी की तो ये चिथड़े चिथड़े कर डालेगा.

सुमन ने मॉंटी को खड़ा ही रखा और खुद घुटनों के बल बैठ कर उसके लंड को फिर से चूसने लगी. वो हैरान थी कि मैंने भी ये सब कर लिया।उस दिन के बाद मेरे भाई ने और मैंने रोज रात को सेक्स किया। यह भाई बहन की चुदाई स्टोरी आगे भी जारी रहेगी।आप मुझे मेल कर सकते हैं।[emailprotected].

अभिनव के द्वारा उसी के शब्दों में लिखी निम्नलिखित रचना आपके लिए प्रस्तुत है:अन्तर्वासना की प्रिय पाठिकाओं एवम् पाठकों को मेरा अभिनंदन!मेरा नाम अभिनव है, मेरी आयु पच्चीस वर्ष की है और मेरा शरीर बहुत हृष्ट-पुष्ट एवम् तंदरुस्त है क्योंकि मैं स्कूल और कालेज में खेल कूद में बहुत भाग लेता था. अब यार मैं भी जवान था और वो आंटी पंजाबन थीं, जो कि मुझे बाद में पता चला. चुत अगर क्लीन हो तो आई लव टू लिक इट।मैंने एकदम भाभी की चुत के होंठ खोल दिए और अपनी जीभ को अन्दर-बाहर करने लगा। भाभी गर्म होने लगीं और मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबाने लगीं। भाभी जोर-जोर से कह रही थीं- खा जाओ मेरी फुद्दी.

शायद वे पहले से ही चुत की शेविंग करके आई थीं। मामाजी ने चूत को चाट-चाट कर गीली कर दी थी। मामाजी मॉम के चूत पर जितना अपना लंड रगड़ रहे थे, उतनी ही मॉम बेकाबू होती जा रही थीं। फिर मामाजी ने अपना लंड मॉम के चूत में घुसेड़ दिया। मॉम के मुँह से जोर से आवाज निकल गई- आआह्ह्ह्ह.

अब आगे:नताशा ने अपनी पोजीशन को थोड़ा सा बदलते हुए अपनी गांड थोड़ी और फैला दी, और मेरा लंड अब थोड़ा आराम के साथ उसकी गांड में घुसना शुरू हो गया. मेरी चुत पहले ही पानी पानी हो रही थी जिससे मेरी पैंटी पूरी गीली थी. आप काका से रात को कैसे चुदीं?मोना ने रात की सारी घटना राजू को बताई फिर राजू से भी पूछा कि वो ऐसा क्यों हो गया.

काली लड़की की सेक्सी वीडियो! खुद ही उसे मेरी गोद में बिठा दिया और अब बात आगे बढ़ गई तो मुझे कोस रही हो। मैं तो तुम्हें कब से ये बात बता देती पर मेरी बातें तुम सुन कर तुम बिना पार्टनर के बेचैन हो जाती, और शायद मेरे प्यार को समझ भी नहीं पाती। पर अब तुम भी उसी दहलीज पर खड़ी हो जहाँ पर मैं खड़ी हूं। अब तुम मेरी भावनाओं और प्यार को अच्छे से समझ सकती हो।मैंने तुरंत कहा- तुम्हारा मतलब क्या है?प्रेरणा ने कहा- अब इतनी भोली मत बन. सभी खुश थे… और नताशा के बाथरूम से वापस आने पर सब उसकी आवभगत में लग गए!दोनों मेहमानों ने खुद अपने हाथों से बनाकर अपनी भाभी को शेम्पेन का पेग दिया और खाने को स्नेक्स.

व्वे सेक्स

ना ही उसका कोई अपना होता है और ना ही पराया!लेकिन फिर भी मैंने बनावटी मुस्कुराहट देते हुए कहा- भैया, आपने तो कहा था आप रवि के पास ले जाओगे… ये कौन सा गांव है फिर?संदीप बोला- ये तेरी भाभी यानि कि मेरी गर्लफ्रेंड का ससुराल है, जिसको तू बस में मेरी बीवी समझ रहा था. दो घंटे में संजय ने पूजा को 3 बार चोदा उसको एकदम थका दिया और फिर दोनों चिपक कर सो गए. टीना- देख मेरे पीरियड के चक्कर में बहुत दिनों से मैं चुदी नहीं हूँ.

चल आजा।सुमन- नहीं दीदी ये मुझसे नहीं होगा, प्लीज़ आप निकाल लो ना प्लीज़।टीना ने उसके पजामे में हाथ दिया और बड़े आराम से रिंग निकाल ली। वो आदमी हिला भी नहीं. बाथरूम जाने से पहले मैं जल्दी जल्दी में केवल पेंटी और टॉप ही पहन पाई थी क्योंकि बाथरूम से वापस आने के बाद चुदाई ही करवानी थी. उनकी बात सुन कर मैं बोला- ठीक है चाची, आप जाकर अपने बाथरूम का पिछला दरवाज़ा खोल दो तब तक मैं इस कमरे को अन्दर से बंद करके मेरे बाथरूम के पीछे की सीढ़ियों से नीचे आता हूँ.

मौसी ने अपनी उंगली से अपनी चूत को सहलाना शुरू कर दिया, वो कभी मुझसे अपने बोबे चुसवाती, कभी मेरे होंठ चूसती, कभी मेरी छाती को चूमती, चूसती. राहुल को और मजा आने लगा था, उसने आह भरी…बोला- आह… आह… मजा…आ रहा है…मैं उंगली अन्दर डाल कर गोल गोल घुमाने लगी और अन्दर बाहर करने लगी. मैंने उनसे पूछा- क्या बात है भाभी, आज आप अभी तक नहाई नहीं हो?तो उन्होंने कहा- आज मैं ब्यूटी पार्लर जाने की सोच रही हूँ.

अरे बोर मत हो दोस्तो, ये तो सिर्फ हमारी इंट्रो थी, बस कहानी अब शुरू होने जा रही है. गुलशन- चुप साली आह… ले उहह उहह बदजात तू मेरी रखैल है… उहह उहह ले मुझे बाप बोलकर आह… ले उहह तू बचेगी नहीं ले उह.

लगभग 5 मिनट तक सुमन लंड चूसती रही, फिर उसको भी चूत में खुजली होने लगी तो उसने मॉंटी को कहा- अब जैसे मैं कहूँ वैसे ही करना ताकि हम दोनों को मज़ा आए.

गोरी रशियन लड़की के चेहरे के परेशान लक्षण बता रहे थे कि उसे दो मोटे-मोटे लंडों को अपनी गांड में घुसवाते हुए काफी दर्द हो रहा था लेकिन वो किसी तरह से दर्द को बर्दाश्त करते हुए बीच-बीच में दांत फाड़ते हुए मुस्कुराती जा रही थी!मेरी प्यारी सी गुड़िया ने अपना बाईं हथेली सोफे पर टिका रखी थी और दाएं हाथ से उसने सोफे को कस कर पकड़ रखा था. सोला साल की लडकी का सेक्स व्हिडीओकहकर वो मेरी तरफ घूम गया और उसके लंड पर बस अड्डे की तरफ से आ रही लाइट पड़ने लगी. सेक्सी वीडियो 2016 केअभी छोड़े देता हूँ।मैं उसके बगल में बैठ गया।वह फिर बोला- देखेंगे।तब तक और दोस्त आ गए, हम सब शाम को घूमने निकल गए।मेरे रूममेट का नाम सुकांत सिंह था. मैं जब निधि के रूम में गया तो उन्होंने पूछा- क्या बात है?मैं बोला- बाहर जगह नहीं है इसलिए मामी ने मुझे आपके रूम में सोने के लिये बोला है.

तुझे किसने कहा तू नौकर है? अरे तू तो बस मेरी मदद करने आई है और मुझे मेम साब नहीं, दीदी बोल.

मैंने कहा- बस हो गया चाची!फिर मैं सूई बाहर खींच कर रुई से रगड़ने लगा. कई चूत वाली रानियों ने भी कहा कि इस बार तो तड़प ही रही है हमारी चूत आपके इंतज़ार में!तो फिर देखो अब मैं आ गया हूँ, एक नई कहानी लेकर और इस कहानी से अपने लंड और चूत का पानी जरूर निकालना और मुझे ईमेल पे बताना भी कैसे निकला आपका पानी. ये समझ के बाहर है?संजय- सालो, इसे चोदना मेरा मकसद नहीं है, मैंने कहा ना इसको ऐसी रंडी बना दूँगा कि दिन रात ये लंड लंड करेगी, तब जाकर मेरे दिल को सुकून मिलेगा।विक्की- मगर क्यों यार ऐसा क्या किया इसने जो तू इसे रंडी बनाने पे तुला है?संजय- ये आज की नहीं बहुत पहले की भड़ास है.

तभी ये ऐसे बोल रही है।काका ने मोना को समझाया- तू पहले विस्तार से सब बात बता. और उधर से कंडक्टर ने सीटी मार दी- बहादुरगढ़ वाली बस चलने वाली है, कोई सवारी बाहर है तो बस में आकर बैठ जाए. अपने लंड को मेरे मुँह में दबा-दबा कर भरने लगा, मेरी तो जैसे सांस ही अटक गई। उसका लंड आधे से भी ज्यादा मेरे मुँह में जा चुका था और वो मेरी चूत को अपने थूक से नहला रहा था।उउफ्फ.

सेक्सीvideos

असल तो हम सब अच्छे से आपस में मिल लें, इसलिए छोटी सी पार्टी रखी है और हाँ सुबह के लिए सॉरी यार. मेरठ से एक औरत, जिसकी उम्र 28 के आस पास होगी, चढ़ी, वहाँ से दो तीन कपल और चढ़े, वो सब एक साथ सीट लेकर बैठ गए क्योंकि काफी सीटें खाली थी. मैंने उत्तर में कुछ नहीं कहा और अपने लिंग को चाची के मुंह के पास कर दिया जिसे उन्होंने चूस एवं चाट कर साफ़ कर दिया.

कोई तकलीफ तो नहीं?मैंने कुछ नहीं कहा।फिर बोला- थोड़ा तेज करूं?उसने धक्कों की स्पीड और पावर बढ़ा दी और फिर धक्के और जोरदार धक्कों में बदल गए। मैं इतना पुराना गांड मराने वाला था.

काका झटके पे झटके लगा रहा था और मोना की चुत पानी झड़ रही थी। जब मोना झड़ के शांत हो गई तो उसको अब चुत में जलन सी होने लगी।मोना- आह.

बस चल पड़ी, थोड़ा अंधेरा भी हो गया था तो हम ऐसे ही बात करने लगे तो पता चला कि वो भी देहरादून जा रही है और वहीं रहती है. मैंने कहा- अच्छा, ठीक है आंटी, आज ऐसा मान लो कि मैं आप से ही मिलने आया हूँ. राजस्थान का सेक्सी व्हिडिओवो रात को हमेशा नाईटी में रहती थी और वो ब्रा पहनती नहीं तो उनके बूब्स साफ़ दिखाई देते थे.

फिर मेरा हाथ पकड़ कर अपने हाथों में ले लिया और बोली- बेटे कल से तुमने मुझे बहुत गर्म कर दिया है, जब तुम्हारा माल मेरे ऊपर गिरा है तब से गर्म हो चुकी हूँ. अब मज़ा आने लगा है।अब काका ने मोना की कमर को कस कर पकड़ लिया और चुत में उंगली करते हुए उसकी गांड में तेज़ी से लंड पेलने लगे।मोना अब उत्तेजित हो गई थी, उसकी चुत भी गर्म हो गई थी। उसने काका से कहा- थोड़ी देर मेरी चुत में लंड डाल दो. चूत में अभी से सुरसुराहट होने लगी और चुचुक में तेज़ी से बढ़ती हुई अकड़न का अनुभव होने लगा.

वो तो जैसे तैयार ही बैठी थी मेरा फोन सुनने के लिये… ‘हाय अंकल जी, जल्दी से आ जाओ अब!’‘अरे आ तो गया ही हूँ लेकिन आना कहाँ है, भोपाल तो मैं पहली बार आया हूँ मुझे यहाँ का कुछ नहीं पता!’‘अंकल जी, आप एक नंबर प्लेटफोर्म के बाईं तरफ वाले गेट से बाहर आ जाओ, फिर किसी ऑटो वाले से मेरी बात कराओ, मैं उसे समझा दूंगी कि कहाँ आना है. एकाएक वो लड़का भी उठा और अपनी सीट से बाहर निकलते हुए बस के बीच से होते हुए नीचे उतर गया.

मैं पहले उसकी दोनों टांगों को फैला कर अपना मुँह चूत पर ले गया और मैंने उसकी चूत को चूमा, फिर चूत के बालों को होंठों में दबा कर ऊपर खींचने लगा, फिर उसके योनि-लबों को अपने होंठों में दबा लिया.

मोना- नीतू कहाँ हो तुम… मैं आ गई हूँ… तुम्हारे जीजू अभी तक उठे या नहीं?गोपाल- अरे ये मोना को भी अभी आना था क्या… नीतू तुम जाओ और कहो मैं सो रहा हूँ… समझी और कुछ मत बताना. गांड चाटी, फिर मुझे भी उनका लंड चूसना पड़ा।मैं हॉस्टल के जिस कमरे में रहता था, उसमें से मेरा रूममेट इन्दौर ट्रान्सफर करा कर चला गया. अब मेरी बात सुन… जीजू के पास जाकर धीरे-धीरे उनके पैर दबा और वो मेरे बारे में पूछें तो कहना मैं बाहर किसी काम से गई हुई हूँ.

বাঘিনীর মত ছুটে আসে class 3 मेरा लंड ये सब देखकर दो मिनट के अन्दर ही अपनी चरम सीमा तक पहुँच गया और उसमें से मेरे वीर्य की पिचकारी निकल कर ऋतु के माथे से टकराई. दोस्तो, हम तीनों आपस में राजदार हैं इसलिए हम बेझिझक अपने खाली पलों का मज़ा वटसएप पे लेते हैं.

फिर हाथ से लंड को पकड़ कर सहलाते हुए बोली- बड़ा है लंड तुम्हारा बाबू. चून्चियों का रस पान करा दो ना…जिससे पिंकी शर्मा गई और कहने लगी- क्या बोल रहा है… प्लीज…ऐसे नहीं… मुझे शर्म आ रही है…’मुझे मेरा सिग्नल मिल गया था, अब मेरे होंठ सीधे उसके निप्पल पे थे, पहले तो मैंने हल्के से किस किया फिर उसे मुंह में भर के हल्के हल्के चूसने लगा जिससे पिंकी सिसकने लगी और अपने नितम्बों को पलंग पे रगड़ने लगी।दूसरा निप्पल मेरी उंगलियों के बीच था. पढ़ाई से थक जाते तो घूमते-फिरते मस्ती करते, असल में कैरियर के टेंशन का सबसे बड़ा टेंशन एक्जाम ही रहता था। चूमा-चाटी लपटना आदि सब नॉर्मल था.

डाउनलोड पिक्चर

उसने पहले मेरे लुल्ले का मुँह चूमा और फिर उसकी चमड़ी पीछे हटाने लगी. मैंने धक्का लगया तो इस बार एक बार में ही लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया. दीदी ने अपना एक हाथ मेरी चुची पर रखा और ब्रा से बाहर निकाल दिया और अपना मुख मेरे निप्पल पर ले जा कर चाटने लगी.

मैंने सुलेखा के मम्मे ज़ोर से दबाये, अच्छे कड़क चूचे थे हरामी कुतिया के- सुन कमीनी, मेरी जान अब थोड़ा दिमाग लगा के कोई जुगाड़ जमा. इसके होंठ देख कितने प्यारे है ना!मीना- हा हा हा तुझे किसने रोका है.

वो हंस पड़ी और बोली- आज रात तेरे साथ करवाती हूँ, तुझे सब पता चल जायेगा लेकिन उससे पहले तुझे पटाखा बनाना पड़ेगा.

अभी से सो रही है। मैंने धीरे से परदा हटाया और देखते ही दंग रह गई। ऊषा आंटी को पड़ोस वाले अंकल चोद रहे थे। मैं अचम्भे में रह गई कि ये क्या हो रहा है। मैं उनको देखने लगी. ऐसे करने से उसकी चूत बहुत ज्यादा पनिया गई और चूत रस बह बह कर बिस्तर भिगोने लगा. जब देखो चुत और लंड की बातें लेकर बैठ जाती है।टीना- अबे चुप साले बहनचोद मुझे ज़्यादा ज्ञान मत दे.

मैंने अनजान बनते हुए कहा- अच्छा मैं प्रतीक्षा करता हूँ, लेकिन यह खून कहाँ से आया? क्या तुम्हें कहीं चोट लगी है?मेरे प्रश्न सुन कर उसने शर्म से सिर झुका लिया तथा उसका चेहरा एवम् कान लाल हो गए और उसने बाथरूम से बाहर जाते हुए कहा- साहिब, सब ठीक है आप निश्चिंत रहिये और मुझे कहीं कोई चोट नहीं लगी है. फिर सीमा किचन में चली गई, मैंने सोचा कि यही मौका है, क्यों न सीमा दीदी पर ट्राई किया जाए. मानसी अब मेरे से मिलने को बहुत बेचैन हो गई और बोली- तो कहीं और मिल लेंगे पर तू मेरे से मिलने आ पहले, किसी पार्क में मिल लेंगे या कहीं मॉल में.

अब उसने सुपारे को बुर पर सैट किया थोड़ा सा बुर में फँसा कर वो पूजा पर चढ़ गया और उसके होंठों को कस के अपने होंठों में दबा दिया.

सनी लियोन का नंगा बीएफ: मैंने अपना मुंह जैसे ही उसकी चूत पर टिकाया, उसके शरीर में एक सिहरन सी हुई और उसकी नींद खुल गई. कल रात जब मैं तुम्हारे कमरे का दरवाज़ा खोलने लगी थी तब तुम फोन पर शायद अपनी मामी से ही यौनक्रीड़ा की बाते कर रहे थे.

चूत थोड़ी टाइट होने से मेरे लंड में भी दर्द होने लगा लेकिन मैंने उन्हें चिल्लाते रहने दिया और दूसरे धक्के में पूरा लंड जड़ तक अंदर घुसा दिया. सुबह चाची ने मुझे चाय के लिए उठाया और बोलीं- उठो जनाब, पेपर देने नहीं जाना क्या?तो मुझे उनके बोलने के अंदाज पे हंसी आ गई, मैं बोला- हाँ आज और भी बहुत तैयारी करनी है. अभी लगभग तीन बज रहे थे, हमें चार बजे तक अपना चुदाई कार्यक्रम खत्म कर लेना था।हमने जल्दी ही एक दूसरे को चूम चाट कर गर्म कर लिया। अब तक शरीर का हर अंग दर्द से टूट रहा था, पर चुदाई का नशा फिर से चढ़ते ही दर्द कहाँ गायब हो गया, पता ही नहीं चला.

उन्होंने मेडम से थोड़ी यहाँ वहाँ की बातें कीं और मेरे बारे में पूछने लगीं कि इसे कैसे जानती हो, लगता है कोई क्लोज रिलेशन है?मेडम ने मुझे अपना दोस्त बताया.

जमीला- बहन के लौड़े राजेश, ऐसे मेरी चूत फाड़ ही डालोगे, कितनी बेरहमी से पेला मस्ताना को… रहम नहीं आया तुझे मेरी चूत बेचारी पर?मैं- आहह चूत बेचारी… साली दिन से कितनी बार ले चुकी और चुद चुकी है और बेचारी चूत जब तो कहती हो. क़सम से अब आप जीजाजी को भूल जाओगी।फिर मैं भी बिस्तर पे चढ़ गया और उसके ऊपर लेट कर उसे चूमने लगा। मैं उसके दोनों मम्मे बारी-बारी से दबाने लगा। फिर मैंने दाँये तरफ वाले निप्पल को अपने मुँह में भर लिया और हल्का हल्का सा काटने लगा।उसे दर्द हो रहा था. कल ही पापा ने हमारे पुराने घर की चाभी मुझे दी और कहा है कि उसकी सफ़ाई करवा दूँ, उसका मेंटीनेंस करवा कर वो उसको माल का गोदाम बनाएँगे।वीरू- वाउ यार.