बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ म्यूजिक

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियोन की बीपी सेक्स: बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस, कसम से दिल खुश हो गया था क्योंकि जब वो मेरी सिगरेट सुलगा रही थी तो उसके कुर्ते के गहरे गले से उसकी चूचियों की मादक घाटी मेरा लंड खड़ा करने लगी थी.

बीएफ ब्लु फिल्म हिंदी में

महेश सर लगातार किस करते करते मम्मी की कभी गांड दबाते तो कभी उनके बालों को सहलाते. नंगे वाले फोटोमैं- सच में यार तुम्हारी चूत आज तक किसी ने नहीं मारी!वो चिल्लाती हुई बोली- भैन के लौड़े … मैं क्या झूठ बोल रही थी मादरचोद.

लेकिन कल जो हुआ, वो Xxx भाभी चुदाई कहानी मैं आपको बताने जा रही हूँ. सेक्सी बीएफ व्हिडिओ इंडियनअब मैं भाभी की गर्दन के पास आया और मैंने कहा- मैं आपको अच्छा लगता हूं?भाभी ने तुरंत कहा- बिल्कुल नहीं … भला कोई देवर अपनी भाभी के साथ ऐसा करता है.

मैं जल्दी से अपने जिस्म को एक छोटे से तौलिया से बांधकर बाथरूम से बाहर आया और आकर दरवाजे को खोला.बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस: अपनी जॉब की वजह से मैं मुंबई में अकेला रहता हूं और मेरी फैमिली एक छोटे से शहर में रहती है.

मैं अपने बर्थ सूट में उसके सामने अलफ नंगी खड़ी थी और वो ऊपर से नीचे तक मेरे प्रत्येक अंग को निहार रहा था.उसकी आँखें मेरी आँखों से नीचे जाने लगी और थोड़ा नीचे जाकर टी शर्ट के अंदर मेरी चूचियों पर रुक गयी.

बीएफ पिक्चर दाखवा - बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस

दीदी बोल पड़ी- ये क्या कर रहा है?मैंने दीदी से कहा- मालिश कर रहा हूँ … मैंने पहले ही बोला था कि मैं स्पा जैसी मालिश कर देता हूं.इस सब में अब मुझे भी मज़ा आने लगा था और मेरा मन कर रहा था कि मैं भी सब कुछ करूँ पर ऐसा दिखा नहीं सकती थी उसको!उसने मेरा हाथ पकड़ के अपने लंड पे रख दिया और खुद मेरी गोल चूचियों से खेलने लगा जिसके निप्पल एकदम तन के खड़े हो गये थे और उसी का साथ दे रहे थे.

उसने अभी शर्ट्स और टी-शर्ट पहनी हुई थी, जिसमें से उसका फिगर और भी अच्छी तरह से निखर रहा था. बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस गुलाबी पतले रसीले होंठों पर डार्क रेड लिपस्टिक, गाल तो ऐसे चमक रहे थे मानो उन पर जरी लगाई हो.

गुप्ता जी के यहां भी दो किरायेदार रहते थे, जिसमें दो परिवार रहते थे.

बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस?

दाढ़ी रगड़ते रगड़ते वो जांघ को चूमने लगे ‘उम्म्म … पुच्छ … पुच्छ … पुच्छ. ये जानते ही मैंने उससे पूछा- अब तेरे रूम पर कौन है?तो उसने कहा- रूम नहीं, वो हमारा घर है … और वहां मैं ही रहता हूं. इस बार मैं भी घर से ये सोचकर निकली थी कि कितना भी दर्द हो, पर मैं उसका पूरा साथ दूंगी.

मेरा भी लण्ड बाहर आने को बेताब था।अब मैं उनकी चूत में उंगली कर रहा था और उनका हाथ मेरे लण्ड पर आ गया था. डॉक्टर ने मुस्कुरा कर कहा- नीचे कहां?मेरी पत्नी ने शर्मा कर कहा- उधर चूत में. दरअसल मैं अपनी गर्लफ्रेंड फौजिया के परिवार से काफी पहले से जुड़ा हुआ हूँ और उसकी अम्मी मुझे काफी पसंद करती थीं.

आप सभी के हाथ पीछे बांध दिए जाएंगे, जिससे आप अपनी आंख की पट्टी उतार नहीं सकें. तभी फैसल ने कहा- चाची, भाभीजान शायद छत पर गई होंगी … और उन्हें आपकी आवाज नहीं सुनाई पड़ी होगी. वो औंधी सोई रहती थीं जिसमें मॉम के बड़े और सुडौल हिप्स व उनका पीछे वाला शरीर एकदम साफ़ दिखता था.

मेरा दबाव भाभी पर बढ़ता जा रहा था और मैं उन्हें दीवार पर पुश कर रहा था. मैं- फिर क्या हुआ था किसी को लगी तो नहीं थी?वो- नहीं … वैसे हुआ यूं कि मम्मी भैया के ऊपर गिरीं और मैं मम्मी के ऊपर.

पलंग के कोने पर ले जाकर उसे चोदा, दोनों पैर मेरे सर पर रख कर भी चोदा.

मेरी सांस भी उसकी सांसों की तरह तेज चल रही थी, माथे पर पसीनों के बूंदें उभर आई थीं.

मेरे शौहर ड्रिंक ज्यादा करते हैं और उनके पास मेरे लिए टाइम ही नहीं है. मैंने निकालने की कोशिश की लेकिन मेरा हाथ वहां तक नहीं पहुंच रहा था. देसी वर्जिन Xxx कहानी एक कुंवारी लड़की की है जो अपने पिता के दोस्त को पसंद करती थी.

फिर मैंने सोचा कि चूत के चक्कर में पैसा ज्यादा खर्च हो रहा है इसलिए अब नहीं दूंगा. कभी किसी फंक्शन या पार्टी में जाना होता तो वापसी में काफी देर भी हो जाती है. फिर वो मुझे देखने लगी।मैं अभी भी सोच ले डूबा हुआ था।मुझे ऐसे देखकर वो थोड़ा चिढ़कर बोली- अगर गाड़ी नहीं सिखाना … ऐसे ही सोचते रहना है … तो मुझे घर ड्रॉप कर दो।घर ड्रॉप करने के नाम पर मेरे शरीर में जैसे जोश आ गया था, अपने हाथों में आई इस चीज को में ऐसे तो नहीं छोड़ सकता था.

चाचा मम्मी में इतना डूब गए थे कि उनकी चुत में चाचा का लंड मस्ती से खुद ही आगे पीछे हो रहा था.

मैंने कोमल दीदी की शादी से पहले एक साल तक बहुत बार मोनिका, राधिका और कोमल दीदी के साथ सेक्स किया. मैंने पूछा- अब दर्द कैसा है?ज्योति मायूस आवाज में बोली- हां, पहले से तो काफी ठीक है. फिर उसके दाहिने पंजे को अपने हाथों में लेकर कि उसकी एड़ियों और तलवों को चूमने के बाद बारी बारी से उसकी उंगलियों और अंगूठे को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा।उसके बाद मैंने ज्योति की दोनों टांगों को फैला दिया और उसकी टांगों के बीच में आ करके उसकी बुर पर अपने होंठों को रख दिया.

मैं रश्मि के सर को मसाज दे रहा था और रश्मि अपने हाथों को मेरे सीने पर प्यार से फिरा रही थी. उसका लंड बड़ा था और वो मेरी कोरी गांड के छोटे छेद के हिसाब से एक मूसल लंड था. मैं एक दिन बाज़ार से एक छोटा स्पाई कैमरा ले आया जो फोन से कनेक्ट हो जाता था.

जब मैंने मैडम को छोड़ा तो वो सीधी खड़ी हो गईं और अपनी गांड पर हाथ रख कर दर्द महसूस करने लगीं.

पूरा लंड अन्दर तक डाल कर और फिर और तेल डाल कर चुदाई कर के दीप नीचे उतर गया. अगले दिन मैं और मोनिका कॉलेज में मिले और पार्क में ही वो मुझे अपने साथ चिपकाने लगी तो मैं उसे टॉयलेट में ले गया और दोनों ने चुदाई की जो जल्दी ही खत्म हो गई.

बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस कुछ ही देर में भाभी भी पूरी गर्मजोशी के साथ मादक आहें लेती हुईं गांड चलाने लगीं- आह … आह … प्रवीण … आह मजा आ रहा है … आह मुझे चोद दो मेरी जान. वो बोला- ये क्या होता है साब?मैंने लंड मुठियाते हुए कहा- जैसे चूत की सील टूटती है, वैसे ही लंड का धागा भी पहली बार में टूटता है.

बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस करीब 15 मिनट पापा ने दीदी को और चोदा और उनकी चुत में ही डिस्चार्ज हो गए. मैंने कुक्कू से पूछा- किस क्लास में पढ़ती हो?वो बोली- अभी 12वीं कम्प्लीट कर लिया है.

कोमल दीदी के मोटे चूचे अब 38 साइज के हो गए थे और वो किसी बड़े फल जैसे पपीता या तरबूज की तरह लग रहे थे.

चाचा की चुदाई

मैं बोला- आई लव यू सो मच अनन्या!अनन्या- मुझे पहले क्यों नहीं बोला तुमने?मैं- तुम फोन पर बात करती थीं, तो मुझे लगा तुम्हारा ब्वॉयफ्रेंड होगा. मैंने उसे समझाया और बोला- मेरे चूसने से जैसा तुझे मज़ा आया, ऐसा मुझे भी चाहिए. मैंने उसकी सारी शर्तें मान लीं और सुबह सुबह उठ कर नहा धोकर रेडी हो गया.

अब देर ना करते हुए मैंने कहा- तो मैं क्या करूं … तुम मुझसे क्या चाहते हो?अब विशु भी पूरी तरह से मेरे मन को समझ गया था कि मैं क्या चाहती हूँ. इसके बाद दीदी खुद लंड के ऊपर चढ़ कर हम लोगों के लंड को बारी बारी से चूत के अन्दर ले लेती थीं और चुदाई शुरू हो जाती. वो चूंकि फिल्म ऐक्ट्रेसेज को लेकर ज्यादा इच्छुक रहती थी तो मैंने उसे इंस्टाग्राम डाउनलोड करने की बात कह दी.

मैंने महसूस किया कि मेरे स्तनों से दूध टपक रहा था तो मैंने कुनमुनाते हुए जागने का नाटक करना शुरू कर दिया.

उसने भी लंड पेलने में देर न की और मुझे घोड़ी बना कर मेरी सवारी गांठने लगा. मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और उनकी चूत में मेरे लंड का पानी निकल गया. जब मेरी नज़र पड़ी, तो बिट्टू पल्लवी को स्मूच कर रहा था और उसका हाथ उसके टॉप के अन्दर उसके मम्मे मसल रहा था.

पापा दीदी को चोदते हुए बोले- आज तुम्हारी चूत फाड़ दूंगा, साली आज तेरी रात भर लूंगा. उसका लंड जैसे ही चूत में घुसा, मैं ऊईई ईई ईईई सीईई ईई करके चिल्ला उठी. अब मेरी समझ में आ गया था कि भाभी उतनी शरीफ नहीं हैं, जितनी दिखती हैं.

कुछ देर बाद वो बोलीं- अब डालो ना!मैंने कहा- पहले मेरे कपड़े तो उतारो मेरी जान. मैं खड़ा होने ही वाला था कि उसने मेरे कान में एक चांटा लगाया और बोला- अबे साली रंडी, उठने को किसने बोला!ये बोलते ही उसने मेरे ऊपर मूतना शुरू कर दिया.

मैं उनके मुँह के ऊपर अपनी चूत को रगड़ने लगी और उनकी चूत चाटनी शुरू कर दी. वह बाहर बाहर से लंड चाट रही थी, पर मुझे कुछ भी महसूस नहीं हो रहा था. लेकिन इससे पहले कि हम दोनों और कुछ कर पाते, उनके बच्चों की आवाज आ गई.

कहानी के पिछले भागभाभी से दोस्ती और प्यार की कहानीमें अब तक आपने पढ़ा था कि स्वाति भाभी मेरे साथ कमरे में मेरी बांहों में मचल रही थीं और उनकी वासना भड़क चुकी थी.

हां पैंट के अन्दर मेरा 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लंड अपनी आजादी और अपनी बारी का इंतजार करते हुए तड़प रहा था. मैंने हंसते हुए कहा- ओह अच्छा … प्यार करता है तू मुझसे!वो बोला- हां रिंकी दीदी. वो कह रही थी- अब तुम आते क्यों नहीं हो?मैंने उससे कहा- आजकल मकान का काम ज्यादा होने से टाइम नहीं मिल पाता है.

वो इतने तेजी से दूध दबा रहा था जैसे उसका प्लान ही मेरे मम्मों को बड़े करके रोज़ उसके मज़े लेने का हो. क्या हो गया अगर वो विधवा है तो … क्या उससे दोबारा जिंदगी जीने का हक नहीं है? वो भी इंसान है और इतने दिनों से हमारे घर का ख्याल रख रही है.

वो नाराज तो नहीं दिख रही थी क्योंकि वो अपनी मर्जी से मेरे साथ सेक्स करने के लिए तैयार थी. मैंने झट से उनकी कमर में हाथ डालकर मैक्सी कमर तक कर दी तेल डालकर अच्छे से कमर की मालिश करने लगा. मैंने देखा तो एक पतली दुबली सी लड़की सोफे पर आंखें नीचे किए हुए बैठी थी.

वीडियो देवर भाभी की

मैं अपने दोनों हाथ ऊपर से नीचे करते हुए उसके बदन की मालिश करने लगा.

वो लंड अन्दर जाते ही रुक गईं और मेरे लंड को चूत में महसूस करने लगीं. मैं एक बार को तो चौंका कि भाभी को भैया ने क्या एक बार भी नहीं चोदा, जो ये कह रही हैं कि उन्हें लंड चूत में जाता है, तो कैसा लगता है. नमस्कार दोस्तो, आज मैं अपनी ज़िंदगी की एक ऐसी कहानी बताने जा रहा हूँ जो सिर्फ और सिर्फ मेरी है, लेकिन सामाजिक रिश्ते होने के कारण आज तक किसी को नहीं बता पाया.

कुछ पल बाद मैंने दीदी से कहा- दीदी, तुम अपनी कैपरी को थोड़ा ऊपर कर लो, तो मैं और ऊपर तक दबा देता हूं. मैंने उनके बच्चों के बारे में पूछा, तो उन्होंने बताया कि उनका कोई बच्चा नहीं है. नंगी फिल्म दिखाइए नंगी फिल्मलगभग दस मिनट तक चुत चाटने के बाद चाचा ने अपनी जीभ की रफ़्तार बढ़ा दी.

गुरु बाबा सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने एक बाबा से अपनी चुदाई करवाई थी. तो नीता हंस कर बोली- अरे पगली, इतनी उंगली नहीं करनी है, बस थोड़ा सा ताकि तुम हमें सेक्स करते देख सको, और हम तुम्हें उंगली करते.

कुछ ही देर में बुआ ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरे पैरों के पास आकर मेरे निक्कर को खींच दिया. मगर तू कहती थी कि नहीं मुझे तो तेरे पति से अपनी गांड फड़वाने का मन है तो ले ले मज़े!उसके बाद दीप ने नीता को खूब चोदा और फिर वो जब दोबारा झड़ा तो मेरे मुंह पर झडा. मेरी बुआ मेरे घर में ही नहीं बल्कि मेरे पूरे गांव में सबसे ज्यादा सुंदर थीं.

वो कामुक होकर मुझे चूची चुसवाती हुई बोलीं- हां राजा फाड़ देना … मुझे भी अपनी चुत में बड़ी आग लगी है. वहां पहुंचकर भाभी अपने सहेलियों के साथ घुल-मिल गईं और मैं और भैया उनके दोस्तों के साथ खड़े रहकर बातचीत करने लगे. मैंने बोला- ओके मेरी जान, ये बताओ कि आपके पति कितने दिनों के लिए जा रहे हैं?भाभी बोलीं- वो 20 दिन के लिए जा रहा है … तुमको इन बीस दिनों तक मेरी चूत चोदना है.

कुछ ही पलों बाद कल्पेश ने अपने दोनों हाथ से मीरा की ड्रेस को उतारने लगा.

मैंने कहा- अरे मैं उंगली क्यों करुँगी? मैंने तो तुम्हें पहले ही कह दिया था कि मुझे सब्र नहीं हो रहा. एक झटके से मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया और झुक कर उसकी चूत की महक लेने लगा.

ये सुनते ही उन्होंने अपने चॉकलेट से भरे मुँह से मुझे किस किया और सारा चॉकलेट मेरे मुँह में डाल दिया. मैंने उसकी चूत को अपने हाथों से एक बार फिर भींच लिया और एक विदाई पप्पी दी. कमरे में जाते ही वहां का नजारा देखा तो किसी सुहागरात वाले कमरे की तरह सजा हुआ था.

उसने कहा- तुझे कैसे पता चला बे भोसड़ी वाले?उनके बीच अब मामला बिंदास हो चला था. मैंने एक पल की भी देरी न करते हुए उसकी पैंटी के अन्दर हाथ डाला और सीधा उसकी कामुक और कामरस में भीगी हुई चूत पर रख दिया. थोड़ी देर तक मैं नीरज के मुंह में ही मूतती रही, फिर सुनील भी उसके साथ नीचे बैठ गया और उसने मेरी चूत अपने मुंह पर रखवा ली.

बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस मुझे उन दोनों पर थोड़ा शक भी होने लगा था परन्तु मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया. इस बार काफी देर तक चुदाई का मजा लेने के बाद मैडम बोलीं- कोई और पोजिशन ट्राई करें.

सेक्सी सेक्स फिल्म

मुझे उन दोनों पर थोड़ा शक भी होने लगा था परन्तु मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया. उसके बड़े-बड़े तरबूज से गांड के दोनों फलक बाहर की तरफ से निकल चुके थे. तभी मेरी नजर फोन पर गई तो मोनिका के मैसेज को देख मेरी उदासी में नई किरण उगने जैसा महसूस हुआ.

वो- अब रूक जा साले … लौड़े मुझे दर्द होता है … मैं झड़ गयी कमीन … अब रुक जा. दोस्तो उन दोनों ने रात भर सम्भोग किया और एक दूसरे के शरीर की प्यास बुझायी. सेक्सी वीडियो इंग्लिश बीएफवो शर्माती हुई बोली- ये गलत बात है, तुम मेरे जीजू हो, लेकिन मेरा दिल ये मानने को तैयार नहीं हो रहा है.

थ्रीसम सेक्स हॉट स्टोरी में पढ़ें कि मेरी दोस्ती अपने पड़ोस के एक कपल से हो गयी.

दोस्तो, ये दृश्य इतना अच्छा था कि मुझसे एक पल के लिए भी अपनी नजरें नहीं हट पा रही थीं. क्या बताऊं दोस्तो … क्या माल लग रही थी मेरी बहन रिशू!फिर मैंने दूध दबाये थोड़ी देर तक उसके बाद रिशू की ब्रा और पैंटी भी निकाल दिया.

फिर से मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उनका गाउन ऊपर करके अपना लंड उनकी चुत में डाल दिया. लेकिन जबसे भाभी के बच्चे मेरे पास पढ़ने आने लगे तो अब भाभी हर महीने फीस देने मेरे घर ही आती है और थोड़ी देर बातें करके चली जाती है।समय बीतता गया और गर्मी के दिन आ गए।एक दिन मैं बाहर घूम रहा था और मेरी नजर भाभी पर पड़ी. डबल सेक्स की यह कहानी मेरी मम्मी की चूत गांड चुदाई की है, वो भी मेरे सामने! मैं जुए में पैसे हार गया तो मेरी मम्मी मेरी मदद के लिए आई.

मैंने अन्दर जाकर रोते हुए सुहानी दीदी से माफी मांगना शुरू कर दिया और अपने सारे कारनामे उसके सामने बताने लगा.

उसकी बातें सुनकर मैंने शर्म से मुंह दूसरी ओर घुमा लिया और ग्लास को होंठों को चखने का मौका मिल गया. मेरा मन थोड़ा बदला और गुस्सा भी कम हुआ, शायद उससे मिलने का एक्साइटमेंट ही होगा. उनमें से एक दोस्त का ख्याल आया, जो अभी ग्रेजुएशन में हमारे कॉलेज में पढ़ता है.

चूत में लंड कैसे बढ़ता हैसूट सलवार में मेरी पतली कमर, मोटी गांड और पकने को रेडी मस्त बूब्स थे. बातों में मुझे पता लगा कि बच्चा ना होने के कारण आनन्द और नैना का रिश्ता आजकल कुछ सही नहीं चल रहा था.

सेक्सी चुदाई लंड

मालकिन के कमर में नस चढ़ी थी जो हल्का सा दाब पढ़ते ही कट की आवाज आई और नस उतर गई. मॉम ने जेनीका आंटी का एक निप्पल उसके पूरे दूध सहित अपने मुँह में ले लिया और वो ज़ोर ज़ोर से चूसने लगीं. कुछ ही देर में मुझको लगने लगा था कि विशु आज मेरी चूत को पूरी तरह से घिस डालेगा.

मैं भी एकदम से चौंक गया कि ये क्या हुआ?फिर कुछ 10 सेकंड के बाद उसने मेरे होंठ छोड़े और मेरे माथे पर एक किस करके मुझे हग करके लेट गयी. वो बोली- अभी खाना खाते वक्त मेरे साथ बैठ जाना, मैं तेरी बात करा दूंगी. वह प्यार से आहें भरते हुए कहने लगी- भैया, अब मत तड़पाओ, अब बस चोद दो।मैंने ज्योति की बातों पर ध्यान ना देते हुए उसकी चूचियों को मसलना चालू रखा.

तभी मैंने रिशू के कपड़े ठीक किए जल्दी जल्दी से!उस दिन से मैं सोचने लगा कि कैसे भी करके अपनी चचेरी बहन रिशू की बुर की चुदाई करनी है।इसके बाद हम सब लोग गर्मियों की छुट्टियों में अपनी बुआ जी के घर गए. मुझे उनकी फूली सी चूत देख कर बड़ा आश्चर्य हुआ कि इस उम्र में भी मम्मी की चूत बड़ी मस्त लग रही है. फिर पापा का कॉल आया कि मैं कुछ दिन और नहीं आ सकता, पिताजी की तबियत भी ठीक नहीं है और यहां फसल की कटाई भी करवाना है.

चाचा मम्मी में इतना डूब गए थे कि उनकी चुत में चाचा का लंड मस्ती से खुद ही आगे पीछे हो रहा था. मेरी इस इरोटिक सेक्स की कहानी को जो भी आंटी, भाभी और लड़की पढ़ रही हैं, वो सब अपने कपड़े उतार कर एकदम नंगी होकर अपनी अपनी बुर में उंगली डाल कर कहानी का मजा लें … और जितने भी लड़के मेरी कहानी पढ़ रहे हैं, वो सब भी अपना लंड निकाल कर हाथ में ले लें और मस्ती से हिला हिला कर कहानी पढ़ें.

मैं अपने माता पिता की एकलौता पुत्र होने के कारण गांव में और रिश्तेदारों में भी मेरा बहुत अच्छा सा वर्चस्व हो गया था.

मैंने प्यार से नैना को उसके बेड पर लिटाया और उसके बराबर में ही लेट गया; उसके प्यारे प्यारे बालों में अपना हाथ फिराने लगा था और उसने अपने हाथ में मेरे लंड को ले लिया था. मां बेटा के बीएफवो लंड देखते हुए अचम्भित हो गयी, बोली- हाय बाबा, आपका तो इतना बड़ा लंड है. ब्लू फिल्में सेक्सी बीएफदूसरा हाथ मैंने उसकी गर्दन में डाला और अपने लंड को उसकी चुत पर सैट करके जैसे ही झटका मारा, लंड फिसल गया. मैंने धीरे से उसकी ब्रा को उसके कंधे से नीचे कर दिया और ब्रा मम्मों से नीचे सरका दी.

वैसे अच्छे से तो लेता है ना तू मुँह में?मैं- हां अच्छे से लेता हूँ … तुम टेंशन मत लो.

ये इंडियन भाभी बूब्ज़ कहानी कुछ समय पहले की ही है, जब हमारी फैमिली एक रिश्तेदार की शादी में जाने वाले थे. ‘आहह उम्म महह फक मी साली रांड … आह चोद मां की लवड़ी …’हम दोनों मस्त होने लगी थीं और अपनी चूत की आग बुझाने में मगन हो चुकी थीं. उन्होंने मुझे बिस्तर पर लिया लिया और मेरी साड़ी और पेटिकोट को निकाल दिया।मैं उनसे कुच्छ भी कहने की स्थिति में नहीं थी, मुझे मजा आ रहा था।फिर वो सब नंगे हो गए और सबने बारी बारी अपना लन्ड मेरे मुंह में देने शुरू कर दिया।मैं भी बड़े छोटे लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

थोड़ी ही देर में मैं अपने रस का स्वाद लेकर उसको चाट कर साफ कर रही थी. पर मोनिका बोली- दीदी सही बोल रही हैं शिव, तुम जाओ अब!मैं वहां से तो आ गया पर अब सोचने लगा कि काश मैं अपनी मॉम को बोल कर कोमल दीदी से शादी कर लूं. बस मैंने लंड चूत से निकाला और उसके मुँह पर सारा पानी निकाल दिया, वो मस्ती से मेरे पानी को चाट रही थी.

सेक्सी ब्लू पिक्चर दिखाइए वीडियो

इसमें गलती छोटे लड़के की थी, वो अपनी मां का हाथ छोड़ कर रोड क्रॉस करने लगा था. थोड़ी देर बाद मैंने जानबूझ कर अपना हाथ फिर से उसके मम्मों पर रख दिया. मेरे सास ससुर एकदम धार्मिक विचारों के थे और हमेशा खुदा की इबादत में लगे रहते थे, जिसके कारण उन्हें मेरी या मेरे देवर की कोई परवाह नहीं थी.

बिना अन्तर्वासना की कहानी पढ़े मेरी सुबह नहीं होती और न ही रात में नींद आती है.

काफी देर बाद जब उससे रहा नहीं गया, तब जाकर उसने मुझे अपने ऊपर खींचा और मेरा लंड अपने हाथों से पकड़ कर गाली दी.

दीप के साथ लम्बे लम्बे किस करने से ही मेरी चूत में पानी आना शुरू हो गया. जबकि उस बेचारे ने मुझे हाथ भी नहीं लगाया था, बस यूं ही मेरे सीने से लगा सुबकता रहा. बाबा की बीएफबाथरूम में जाकर खुद को शॉवर के नीचे खड़ा करके नहाया और एक नई ब्रा पैंटी पहन कर बाहर कमरे में आ गया.

इस अत्यंत मनमोहक वेबसाइट के सभी पाठकों को मेरा सादर नमस्कार!मैं भी आप सभी की तरह चिरकाल से नियमित पाठक हूँ और जब भी समय मिलता है, इस पर नई पुरानी कहानियां पढ़ता हूँ. मैं अब निकिता को रोज उसके आने के टाइम पर दरवाजे पर आकर उसे गुडमॉर्निंग बोलने लगा. अब मैं उसे ही देखे जा रहा था, मेरे मन में चुदाई के ख्याल आने लगे कि क्यूं न इसे चोदने की कोशिश की जाए!फिर मैंने हिम्मत की और अपना हाथ उसके मम्मे पर रख दिया और सोने का नाटक करने लगा.

मैंने उन्हें चॉकलेट दी, तो उन्होंने चॉकलेट फाड़ कर एक बड़ा सा बाइट काटा और बिस्तर पर बैठ गईं. अगर कुछ काम है तो बता दो, मैं बता दूंगा।वो बोली- नहीं उन्हीं से काम था।मैं बोला- ठीक है!वो बोली- फोन में क्या करता रहता है सारा दिन?मैंने कहा- कुछ नहीं.

फिर उन्होंने कहा- देखो भाई, ये सब बातें हम दोनों के बीच ही रहनी चाहिए, किसी को हॉट सिस फक स्टोरी का पता चला तो बदनामी हो जाएगी.

चाचा चूमते चाटते हुए अपना हाथ उनकी कच्ची पर ले आए और कच्छी को धीरे-धीरे नीचे की ओर सरकाते हुए उतारने लगे. थोड़ी देर बाद अंजलि बोली- क्या कर रहे हो चाचा?कुछ नही!”अबे भोसड़ी के … जब कुछ नहीं कर रहे हो तो दूर हट!”क्या हुआ मेरी जान?” मैं उसकी पीठ को चुमते हुए और उसकी चूची को दबाते हुए बोला. इसके बाद वो अपने दो हाथों को मम्मी के पेट पर ले जाकर उसे भी मसलने लगे.

हिंदी बीएफ देहाती फुल एचडी रात में जब मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि मेरे हाथ में उसका लंड था. मैं आपको बताऊं कि जब मैंने भाभी को चोदा था, तब मुझे मालूम चला था कि आज से पहले भाभी कभी नहीं चुदी थीं … और इधर मैंने भी किसी को अभी तक नहीं चोदा था.

मैंने कहा- भाई आप जो भी हो, अगर बात नहीं करनी थी तो परेशान क्यों कर रहे हो. फिर मैडम मुझे ऊपर सेकंड फ्लोर के एक क्लास रूम में लेकर गई और डांटने लगीं. मैं उसके उतरे कपड़ों में नाक घुसेड़ कर लंबी लंबी सांसें लेकर मज़े लेता था.

और भाभी सेक्सी वीडियो

फिर उन्होंने मेरी बुर में अपना थूक डालकर उंगली की और फिर से मेरे ऊपर चढ़ गए. उसी बीच मैंने उसकी ब्रा पहना दी और सीधा करके अपने तरफ मुँह कर लिया. उसकी सांसें तेज तेज चलने लगीं और इसी वजह से उसकी चूचियां उठने बैठने लगीं.

मैंने भी मौके को देखते हुए उसके दोनों पैर ऊपर करके मेरा लंड उसकी चूत पर रख दिया. मैंने 2-3 बार पूछा और वो भी अपना नाम बताती रही … लेकिन मेरी समझ में नहीं आया.

उस मकान मालिक ने मकान की चाभी सोसाइटी के सेक्रेटरी को दी हुई थी और मकान मालिक विदेश में रहता था.

भाभी ने तुरंत ही मेरा हाथ अपने स्तनों से हटा दिया और बोलने लगीं- अब तो मैं तुम्हारी बीवी हूँ, आराम से नहीं कर सकते हो क्या?इसके बाद मैंने भाभी का गाउन खोल दिया, साथ ही साथ मैंने झट से भाभी की ब्रा और पैंटी को भी निकाल फैंका. फिर चाचा ने मम्मी का हाथ ऊपर उठा कर अपना मुँह मम्मी की बगल (अंडरआर्म्स) में लगा दिया और चाटने लगे. फिर भाभी ने मुझसे मेरे बारे में पूछा, तो मैंने जानबूझ कर झूठ बोला कि मैं अकेला रहता हूं.

उसकी बुर से पानी निकलने लगा था और वो पानी उसके पैरों से होकर चादर पर गिर रहा था. जब तक मेरी मामा की बेटी मेरे घर पर रही, तब तक हम दोनों चुत चुदाई का मजा खेल लेते थे. दोस्तो, मैं बड़ी चुदक्कड़ लड़की हूं और 24 घंटे चूत चुदवाने के मूड में रहती हूं.

धीरे-धीरे करके उसको भी अच्छा लगने लगा और वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी.

बीएफ सेक्सी वीडियो लेडीस: क्योंकि जब उन्होंने मेरे उनके पास आने पर कोई नकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी, तो मुझे लगने लगा था कि वो भी मुझे पसंद करने लगी थीं. नशे में क्या हुआ वो मैं आपको सेक्सी साली की जवानी के अगले भाग में लिखूँगा.

दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि पार्टनर स्वैप सेक्स इन ओपन से आपके लंड चुत एकदम गर्मा गए होंगे. अब दीप्ति को देखकर मुझे अहसास हो रहा था कि मैं किसी और की बीवी को अपनी गर्लफ्रेंड समझकर ठुकाई कर रहा था. जिस हुस्न को देखकर कभी मैं आहें भरा करता था, आज वो बेनकाब होकर मेरे सामने मुझसे भोग लगवाने के लिए आतुर थी.

वैसे मेरा गांव में घर है, लेकिन यहां किसी काम से आया था और लॉकडाउन में फंस गया हूँ.

मैंने अपने हाथ उसकी कमर के पास रखे और अपने दोनों हाथों से उसकी मालिश करने लगा. मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी कि मैं कुछ आगे बढूँ, लेकिन मैं कुछ नहीं कर सका. मेरे सामने दीप्ति की मदमस्त फूली हुई चूत एकदम साफ और चिकनी गुलाबी चूत थी.