मधु बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,सेक्सी नंगी बीएफ फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी फिल्म सारी: मधु बीएफ सेक्सी, उसने अपना डीपी व्हाट्सएप पर जो लगाया था, उसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी.

बीएफ सेक्सी फिल्म गाना वाली

अपना विशालकाय लंड पकड़ के बोले- देखो!उनका लंड देख मेरे तो होश उड़ गए. बीएफ हॉट लड़कीमैं बोली- नहीं नहीं … मुझे शर्म आ रही है, ऐसा मत बोलो … मैं ऐसा नहीं कर सकती.

इस बात पर संजू की थोड़ी आंखें झुक गईं … पर अगले ही पल नीरज ने संजू का चेहरा उठाया और उसके होंठों को बेतहाशा चूसने लगा. बीएफ भाभी का सेक्समेरे लंड की मोटाई के आधे के लगभग उसकी चूत का द्वार खुल गया था जो करीबन डेढ़ इंच के पास था.

तभी वो बोली- देवर जी, कहां खो गए?मैंने अपने आपको सम्भालते हुए कहा- कुछ नहीं भाभी … बस लाइफ़ में पहली बार इतने पास से आपकी ख़ूबसूरती देखी है.मधु बीएफ सेक्सी: ”वैसे तो मुझे तुम्हारी बात पर भरोसा है लेकिन फिर भी मैं तसल्ली करना चाहता हूँ, तुम यहाँ आओ.

फिर मैंने भी दस बारह धक्के और मारे और अपना सारा माल उसकी चूत में छोड़ दिया.ये सुनते ही मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी, जिससे उसकी चूत से ‘फच … फच.

बीएफ चोदा सेक्सी वीडियो - मधु बीएफ सेक्सी

मैंने आलिया को पता चले बिना ही, एक गुलाब खरीद लिया और कार में छुपा दिया.मेरे घर पर कोई होता ही नहीं था, तो कौन पूछता कि तुम्हारे कपड़े कैसे बदल गए.

पार्टी में सबके साथ एन्जॉय करने लगी। लेकिन मेरी गांड फटी पड़ी थी क्योंकि मेरा मोबाइल भाई के पास ही था। व्याकुलता में रात कटी. मधु बीएफ सेक्सी मैंने डीएनडी का लोगो लगाया और दरवाजा बंद कर के पूर्णिमा से बोला- लो अब तो टीटी भी चला गया, अब तो कोई नहीं आने वाला!उसने मुझे गुस्से से देखा.

मैं उसके लिए बेड पर घोड़ी बन गई और उसने फर्श पर खड़े होकर पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

मधु बीएफ सेक्सी?

दीदी ने हामी भर दी, तो अंकल ने दीदी के हाथ को पकड़ लिया और दीदी को लेकर दूसरे रूम में ले गए. जीजा का लंड मेरी चूत में ही था लेकिन तभी उनके लंड से वीर्य निकलने लगा. ये सुनकर सपना की आंखों में वासना की खुमारी चढ़ने लगी और वो मुझे प्यार से देखने लगी.

पानी का तापमान ऐसा बनाया कि जब उसकी चूत पर गिराऊं तो उसको कुछ राहत मिले. वो खड़ा हो कर अपनी टी-शर्ट उतारने लगा, तो मैं भी खड़ी होकर उसकी टी-शर्ट उतारने लगी. ”उससे क्या होगा?”मेरे भाग्य में होगा तो एक कुंवारी लड़की को छूने चोदने का मेरा सपना पूरा हो जायेगा.

ज़ेबा के लगातार विरोध करने और ये कहने कि ‘भाई प्लीज़ … ऐसा नहीं करो. जेठजी मेरी तरफ ही देख रहे थे, जैसे वो जानने को बेचैन से थे कि आगे मैं क्या करने वाली हूँ?मैं उनकी मनोदशा समझ गयी और अब मुझसे भी और देरी बर्दाश्त नहीं हो रही थी. तो मैंने उस भाभी की चुत पर अपनी नाक लगा कर चुत की महक को अपने अन्दर समा लिया.

खैर … चुत को ढकने में कुर्ती काम कर रही थी, नहीं तो बाहर रास्ते में ही चोदू लोग मुझे अपने लंड की गर्मी निकालने के लिए उठा ले जाते. तब मैंने उनके एक बूब को अपने मुंह में ले लिया और दूसरे को सहलाने लगा और उसके निप्पल को निचोड़ता.

फिर उसने मुझे सीधा लेटाया और मेरी चूत की दरार में अपना लंड रगड़ने लगा.

पैंटी के अंदर हाथ डाला तो उंगलियां उसकी चूत के रस से चिपचिपी हो गयीं जिसे मैंने मुंह में डालकर उसकी चूत के पानी का स्वाद चखा।नमकीन सा स्वाद था उसकी चूत के पानी का जो मुझे काफी पसंद आ रहा था.

इसके साथ ही मैं उन सभी से माफ़ी भी मांगती हूँ, जिन्हें मैं रिप्लाई नहीं कर पाई. लंड को उसकी चूत से बाहर निकाला तो उसकी चूत के खून से लंड लाल हो गया था. मगर यही सही वक्त था उसकी चूत को अपने पति के लंड से चुदाई के लिए तैयार करने का.

मुझे गुदगुदी और मजा दोनों आ रहे थे।उन्होंने उन दोनों को बिल्कुल गीली कर दिया ताकि उनका लंड आसानी से उनमें चला जाए. उसने बोलना शुरू किया- दीदी मैं स्कूल के दिनों से ही आपको पसंद करने लगा था. आखिर मेरे लण्ड की मंजिल आ ही गई, मेरे लण्ड ने पिचकारी मारी और मैं निढाल होकर रेखा पर लुढ़ककर उसकी चूचियां चूसने लगा.

संदीप का लंड बड़ा था, इसलिए मैं चाहती, तो भी आधे से भी कम लंड ही मुँह में समा पाता.

इसके बाद मैंने बाथरूम में जाकर अपने सारे कपड़े उतारे और ब्रा-पेंटी और ब्लाउज पेटीकोट पहन लिया. वो बोला- ये वही पैंटी है क्या जिसमें तू तीन-चार महीने पहले ही एक लड़के के साथ पकड़ी गई थी?मैं बोली- हां वही है. उधर से प्रीति की मम्मी की आवाज आई- प्रीति बेटा, हमको आने में देर हो जाएगी.

अब मोना ने डोली की चुत के नीचे एक तकिया लगाया, जिससे उसकी चुत कुछ खुल सी गई. मैंने बोला- हां बोलो न!मेरी आंखों में झांक कर संजू बोली- आज रोहित आया था. भाभी ने मेरे तने हुए लंड को पकड़ कर जोर से अपनी तरफ खींचते हुए कहा- इसमें मेरी जान बसती है.

उसने 9 बजे के बाद मिलने का टाइम कहा था क्योंकि उसको बदनामी का भी डर था.

वो जब आयी थी, तो उसने सबसे हाथ मिलाया था … और मेरी तरफ हाथ बढ़ाए खड़ी थी. उनकी उंगलियों को मुँह में लेने लगा और उनके मम्मों को बेतहाशा दबाना चालू कर दिया.

मधु बीएफ सेक्सी आलिया मुझे उठाने के लिए आवाज लगाई- ओ मेरे प्यारे राजा … अब उठ जा … सुबह के आठ बज गए हैं, हमें शॉपिंग करने जाना है. मैं अपनी दोनों टांगें उसकी कमर से लिपटा कर उसके धक्कों का जवाब धक्कों से ही दे रही थी.

मधु बीएफ सेक्सी प्लीज आराम से करो!मगर वह कहां मानने वाला था … वह अपने शरीर का पूरा वजन मेरे ऊपर डाल कर जोर जोर से मेरी गांड मारने लगा. बहुत ही भाग्यवान होते हैं वो लोग जिन्हें ‘पद्मिनी’ वर्ग की स्त्री का समीप्य नसीब होता है.

मैं वैसे ऑफ़िस के लिए 8:30 बजे घर से निकलता था, पर उस दिन मैं सुबह 7:30 बजे ही तैयार हो गया.

सेक्सी सेक्सी सीन दिखाओ

उस पर परमीत और मनु ने मुझे बार-बार संदीप के नाम से छेड़ कर और बेचैन कर दिया. मेरी दीदी एक ऐसी कुंवारी लड़की है, जिसे देखने के बाद एक बुड्डे आदमी को भी अपनी जवानी लौट कर आती महसूस होने लगती है. ”तुम किसी से कम हो क्या?”कुछ भी हो कुंवारी लड़की कुंवारी ही होती है.

संदीप ने मुझे बिस्तर के किनारे लाकर घोड़ी बनाया और खुद बिस्तर से उतर गया. मैंने धीरे धीरे लंड को आगे सरकाना शुरू कर दिया और पूरा लंड उसकी चुत में उतार दिया. वो थोड़ी सिहर उठी, उसने अपने हाथ से मेरे सर को पकड़ लिया मैं समझ गया कि वो मुझे वहीं चूमने बोल रही है, मैं उसे चूमता रहा.

मेरे फेसबुक स्टेटस हिंदी में ही होते थे और वो उन पर अक्सर अपना कमेंट किया करती थी.

अभी मैंने आधा खाना भी खत्म नहीं किया था, उससे पहले ही जेठजी ने अपना खाना खत्म कर दिया और हाथ मुँह धोकर मेरी तरफ देखकर मुस्कुराने लगे. तो उन्होंने कहा- खाना रख दे!और वे बेड से उठ गये और बोले- लंड चूस!और अपने पजामे से लंड निकाल खड़े हो गये।मैंने कहा- नहीं, रोटी खायी है मैंने, अब नहीं होगा. मेरे बदन पर सिर्फ अंडरवियर रह गया था और उनके तन पर ब्रा और पेंटी रह गई थी.

मैं भाभी की कराहें सुनता, तो और जोर-जोर से उंगली को चूत के अन्दर बाहर करने लगता. इसके बाद हम सभी फ़ार्म से निकल आए, कॉल ब्वॉय अपने रास्ते चला गया और हम दोनों अपने घर चले आए. मैंने मन बना लिया था कि दीदी की चूत मैं घर जाकर नहीं बल्कि यहीं पर चोदनी है.

और अब उसके हाथ की सभी उंगलियाँ मेरी फुदी के उपर मेरी टाइट पजामी पर घूम रही थी. यह सुन कर वो भी घबरा गया और उठने लगा, तो मैंने उसे खींच कर वैसे ही रहने दिया.

अब उन्होंने थोड़ा तेल अपने लंड पर भी लगा लिया और फिर से अपने लंड को मेरी गांड के छेद में लगा के जोर लगाया. मैंने कहा- अच्छा आप मेरे लिए क्या कर सकते हो?उसने कहा- कुछ भी!मैंने कहा- ठीक है, मेरी 3000 रूपये की हेल्प करोगे?उसने कहा- ठीक है, बताइए कैसे भेजने हैं. दरअसल मैं अपने मजे के चक्कर में ये भूल ही गई कि दूसरे कमरे में परमीत और मनु हैं … और जो चीजें हुई थीं, उससे संभवत: उन लोगों के भी जिस्मानी संबंध बन रहे होंगे.

अंकल मेरी मां की गांड की चुदाई इतने जोर से कर रहे थे कि उनके टट्टे मेरी मां के चूतड़ों पर आकर टकरा रहे थे और चट-चट-चट की आवाज हो रही थी.

उस पर मेरी गांड तक लंबे मेरे काले रेशमी स्ट्रेट बाल लहराते हुए देख कर तो लड़के और बुड्ढे मुझे सीने से लगाने को तड़प जाते हैं. शर्मा अंकल उनकी टांगों के बीच में थे और मेरी मां उनको अपनी तरफ खींच रही थी. मैं उनकी बातें सुनने की कोशिश करने लगा, पर उनकी बातें सुन नहीं पा रहा था … क्योंकि रूम का पंखा काफी तेज चल रहा था और वो बातें भी बहुत धीरे धीरे कर रही थीं.

जब मैंने चाची की नाभि को किस किया तो वे एकदम से तड़पी और आ … करके चिल्लाई मानो उन्हें किसने करंट दिया हो।फिर मैं उनको किस करते हुए नीचे आ गया और उनके पेटिकोट का नाड़ा खोल दिया और धीरे धीरे नीचे होने लगा. मैं बोला कि कुछ नहीं होता यार … तुम यूँ समझो कि मैं यहां हूं ही नहीं.

मेरे गर्म वीर्य की धार के कारण पिंकी भी अब अपनी मंजिल पर पहुंच गयी थी जैसे मेरे ही झड़ने का इन्तजार कर रही थी। जैसे ही मेरे लण्ड से उसकी चूत में वीर्य की पिचकारियाँ निकलना शुरु हुई, उसने भी अपने हाथ पैरों को समेटकर मुझे कसकर अपनी बांहों में भींच लिया और अपनी चूत में ही मेरे लण्ड को दबोचकर उसे रह रह कर अपने प्रेमरस से नहलाना शुरु कर दिया।उसकी चुत लपलपा कर मेरे लंड को चूस रही थी. जो थोड़ी बहुत मलाई मेरे चेहरे पर गिरी थी, वो भी मैंने उंगली से समेट कर चाट ली. वो एकदम से बोली- तो सामने से नंगी हो जाऊं क्या?इस तरह से मैंने उसे सेक्स की बातों से गर्म कर दिया था.

इराक की सेक्सी मूवी

आपको कैसी लगी मेरी कालगर्ल बन कर इस नर्क से निकलने की क्सक्सक्स कहानी?मुझे मेल करके बताइएगा।[emailprotected].

अब उसकी बारी घोड़ी बना कर चूत चोदन करने की थी, उसे मैंने घोड़ी बना कर चोदा और अंततः पुनः नीचे लाकर चोदा. वो दोनों चलते हुए मां से कहने लगे कि आपको किसी भी चीज की जरूरत हो तो हमें बताइयेगा. मोमबत्तियों को बुझाने के बाद, वसुंधरा के बहुत मना करने के बावज़ूद मैं सभी जूठे बर्तन डाइनिंग टेबल पर से उठा-उठा कर किचन में सिंक में रखने लगा और वसुंधरा किचन में कॉफ़ी बनाने लगी.

’कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहा … एक दिन मैं, दीदी और श्वेता दीदी बाजार गए थे … बाजार में साकेत भैया भी थे. मैं रुक तो गया, लेकिन मेरा हुआ नहीं था, तो मैं दो पल बाद फिर से झटके मारता हुआ उसकी चुत में ही झड़ गया. बीएफ सेक्स भेजिएउस वक्त मेरी जान पर आ गई मुझे इतना तेज दर्द हुआ कि मैं जोर से चिल्ला पड़ी- मम्मीईई ईईईई नहीं मत करो!वो इतनी जोर से मुझे दबा रहा था कि उसका लंड सीधा मेरे बच्चेदानी से टकरा रहा था.

विशाल ने अपनी जेब से एक पेन ड्राइव निकाला और आशू की जेब में डालते हुए फुसफुसाकर बोला- इसको पूरे कॉलेज में बांट देना, तुझे तेरी औकात पता लग जायेगी. सपना उठी और घोड़ी बन कर बोली- जल्दी से कर ले … मैं थक गई हूँ … मैं ज़्यादा साथ नहीं दे पाऊंगी.

अब भाभी के मुंह से चीखें निकलने लगीं और कहने लगी- आह्ह … अहह बस होने ही वाला है निक, और जोर से चोद, आह्ह … घुसेड़ दे पूरा लंड मेरी चूत में. चाची गांड दबाते हुए चिल्ला रही थीं- आह मेरी जान … अब बस करो … पहले लंड डाल दो … बस जल्दी करो. ”मेरे पैरों तले से जमीन खिसक गयी थी ये जान कर कि मेरा भाई मेरी नंगी फोटोज देख चुका है.

वो जोर जोर से लंड हिला रहा था और मुझे देखते देखते उसने आगे से लंड का मुंह दबा लिया, पानी निकल गया था उसका … तो उसने आंख मार दी।मैं चुपचाप घर आ गई लेकिन अब मैं पागल होती जा रही थी वासना में! और सब शर्म छोड़ मैंने सोच लिया कि संजय का लंड चाहिए मुझे अब।अगली सुबह मैं दूध लेने गई तो संजय की मां दूध निकाल रही थी. कहानी के शीर्षक से ही आपने समझ लिया होगा कि मैं यहां पर किसके बारे में बात करने वाला हूं. अचानक भैया को किसी का कॉल आया और उन्होंने भाभी से कहा- मुझे जाना अर्जेंट होगा … एक काम आ गया है.

तभी मालकिन ने लेटे हुए ही अपनी गर्दन पीछे करके देखा और मेरा लंड देख कर वह एकदम सीधी होकर लेटी और उठ कर बैठ गई.

मैंने जरा मूड में आकर पूछा थ, तो मालकिन फिर से सीधी होकर लेट गईं और साड़ी को नीचे लाते हुए झट से उठ कर बैठ गईं. इस गर्म सेक्स स्टोरी में अब तक आपने पढ़ा कि संदीप ने मेरे दोनों पर्वतों का बराबर मर्दन करते हुए सम्मान दिया और कुछ देर तक वहां अपनी जिह्वा का करतब दिखाने के बाद वापस चूत की ओर लौटने लगा.

दुकान का नाम था- दहिया न्यूट्रीशन्स!शीशे के मेन डोर पर ही जॉन अब्राहिम की मस्क्यूलर बॉडी वाली हॉट शर्टलेस फोटो लगी हुई थी. उसने अंतिम पल में लंड बाहर निकालना चाहा, तब तक मेरे मुँह को प्रसाद प्राप्त हो चुका था. थोड़ी ही देर में उसने खुद ही अपनी चूत को मेरे लंड की तरफ धकेलना शुरू कर दिया.

मगर मैंने उसको कहा- एक दो बार ही दर्द होगा; उसके बाद तुम्हें आराम मिलना शुरू हो जायेगा. उसने हम दोनों से टिकट मांगा, पर हमारे पास रिजर्वेशन वाला टिकट नहीं था तो उसने हमें उस डिब्बे से उतरने को कहा. उसने मेरे गाल को खींचते हुए कहा- वाह मेरी छमिया, मेरे दिमाग में ये बात क्यों नहीं आई?मैंने कहा- दिमाग तो तेरा चूत में लगा रहता है.

मधु बीएफ सेक्सी मैंने चुम्बन रोकते हुए चाची से लंड को मुँह में लेने को बोला, पर वो मना करने लगीं. दीदी ने अब कुछ पलों का ब्रेक लिया और अपनी अल्मारी की तरफ चली गईं, वो अल्मारी से कुछ निकालने लगीं.

सेक्सी विडियो फिल्म

मैंने चाचा की शेविंग किट से रेज़र लिया और ब्लेड बदल कर चाची की चूत पर फोम लगा कर उनकी चुत साफ़ करने लगा. ममता फुल मस्ती दे रही थी, मैंने उससे पेटीकोट उतारने को कहा तो बोली- साहब, गैर मर्द के सामने हम लोग सारे कपड़े नहीं उतारते. उन्होंने मेरे दूध को अपने सीने से दबाया और लंड आधा बाहर निकाल के तुरंत एक और धक्का लगा दिया.

)मैंने बाइक पर उसके पीछे बैठते हुए कहा- चल ना लंडर, मैं नहीं आने वाला इस सड़े से जिम में. मेरे बड़े बूब्स में पसीना आने से बचने के लिए मैं खुले कपड़े डालती हूं. बीएफ थ्री एक्सउसकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई, तो मैं उसके चूतड़ चूमने लगा, मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा.

मेरे बाल बिखर कर उसके चेहरे के इर्द गिर्द फैल गये और वो अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों बूब्स को पकड़ कर बारी बारी अपने मुँह में डाल कर चूसने लगा.

उसकी बातों के जवाब में मेरे मुँह से निकल गया- आहह संदीप … आह … ऐसे ही चोदते रहो … आहह संदीप लव यू यार!यह कहते हुए मैं झड़ गई. वो घुटनों के बल ज़मीन पर बैठ कर मेरी ओर देखा और कहा- अब अपनी इस सजा के लिए तैयार हो जाओ.

उसने आगे कहा- गीत जब तुम पास आती हो, तो मन में उमंग भर जाती है, एक खुशनुमा अहसास मेरा आलिंगन कर लेती है. बीच रात में चाची मेरे लंड से खेलने लगी और हम दोनों ने ओरल सेक्स के बाद चूत चुदाई की. इस दो अर्थी बात पर हम दोनों ने एक दूसरे को पल के लिए देखा और हंस दिए.

इसलिए कह रहा हूं!”और धीरे-धीरे मैं उसके होठों को चूमते हुए उसके कपड़े उतारने लगा.

साथ ही जेठजी अपने दोनों हाथ ऊपर करके मेरे दोनों दूध दबाने लगे, जिससे मेरे निप्पल तन गए और मुझे चूत चुसवाने का मज़ा आने लगा. हुआ यूं कि एक दिन दीदी देर शाम को अपने ऑफिस से घर आ रही थीं, तो रास्ते में दीदी को कुछ बदमाशों ने खींच लिया. मैंने पूछा- क्यों भैया का तगड़ा नहीं है क्या?प्रिया- उसका तगड़ा होता, तो आपके लौड़े को मैं घास भी नहीं डालती.

हिंदी में देसी बीएफ फिल्मफिर शाम को भैया का फोन आया कि उस दिन वो अपने दोस्त के साथ काम के सिलसिले में उसके घर पर ही रुकेंगे. फिर मैंने जैसे ही लेगिन्स उतारने लगी, वैसे ही वो पीछे आया और मेरी लेगिन्स भी फाड़ दी.

बड़े लंड सेक्सी वीडियो

मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि हम दोनों दोस्त थे तो मुझे कोई परेशानी नहीं थी उसके साथ सेक्स करने में!वह मेरे बूब्स को अपने दोनों हाथों से बहुत तेज तेज दबा रहा था चूस रहा था। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, नीचे मेरी चूत में आग लगी हुई थी, वह पानी छोड़ छोड़ कर गीली हो गई थी. मैं एक हाथ से उसकी चूचियों को सहला रहा था, तो वो अपने एक हाथ से मेरे छाती पर उगे घने बालों से खेल रही थी. पर लंड के खड़े होकर अकड़ जाने और साइज में बहुत बड़े होने की वजह से मुझसे ये भी नहीं हो पा रहा था.

हालांकि नतीजा ये निकला कि अब मेरा अपनी चाची को देखने का नज़रिया बदल चुका था. मैं उसकी मक्खन सी चिकनी जांघों पर किस करता हुए उसकी चुत तक आ पहुंचा. जब वो कपड़े धोती, तो उसके गोरे गोरे मम्मों देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता.

मैंने गौर किया कि दीदी जब पढ़ रही थी, उस वक्त उनका चेहरा पूरा लाल हो गया था और वो पसीने से पूरा तरबतर हो गई. वो अधूरा सच कह रही थी, हमने डिल्डो के बारे में थोड़ा बहुत तो सुन रखा था, पर आंखों के सामने लंड जैसी आकृति का खिलौना पहली बार आया था. फिर अपने हाथों से मुझे एक बना कर देते हुए बोली- डार्लिंग, मैं नहा कर आती हूँ.

दो मिनट के बाद ही मैंने धक्के लगाते हुए उसकी चूत को गर्म वीर्य से भर दिया. अब संदीप मुझे चाटते हुए चूत तक पहुंच गया, पर मैं उसे स्खलन की वजह से कुछ देर चूत से दूर रखना चाहती थी.

मैंने जैसे ही अपनी कार स्टेशन के गेट पर लगाई, तो देखा कि वो दोनों मेरा ही इंतजार कर रहे थे.

मैं ये बोली ही थी कि तभी सागर ने मुझे अपनी तरफ खींच लिया और एक जोर की किस करके मेरी कमर को अपने दोनों हाथ से पकड़ लिया. मनाली सेक्सी बीएफफिर अचानक से मेरे लन्ड को दबा कर बोली- देखो यार, तुम मुझे चोदना चाहते हो; ये तो मुझे समझ में आ रहा है. ब्लू बीएफ चुदाई वीडियोराजन ने उससे बहुत अपनेपन से पूछा- तुम दोनों के बीच क्या अनबन है?ममता बोली- कुछ नहीं, मेरा नसीब ही ऐसा है. प्रीति:उस दिन के बाद से मेरे कॉलेज की हर लड़की मेरे भाई के बारे में ही पूछती रहती थी.

वे मेरे गुलाबी गाल को चूमते हुए बोले- सोनम जान, मजा आ रहा है न अब तुम्हें?हां … बहुत अच्छा लग रहा है.

मैंने पूछा- तुमने आंख क्यों मारी?वो बोली- तुमने क्यों मारी?मैंने कहा- पहले तुम बताओ. मैंने दीदी की जीभ अपने मुँह में खींच लिया और उसे काट लिया … क्योंकि मेरा शरीर कामरस त्याग रहा था और अमृत मंथन का अजीब सुख अपनी मंजिल पा रहा था. रात तो मैंने रवि को कॉल लगाया और कहा- मेरी गांड की खुजली का कुछ इलाज करो।रवि बोले- ठीक है, मैं कुछ इंतज़ाम करता हूँ।करीब एक सप्ताह बाद मेरे नाम से एक पार्सल आया.

मेरा पूरा लंड भाभी के मुँह में ही था, तो आवाज उनके मुँह में ही दब कर रह जाती थीं. जीजा जी नताशा के मम्मों को दबा रहे थे और वो दोनों अभी किस कर रहे थे. साथ ही इस बात की खुशी भी थी कि उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हो रहा था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी चाहिए वीडियो में

संजू ने बिना ब्रा पहने ही अपनी खुली शर्ट का एक बटन लगाया और हम लोग दबे पांव अपने साले और सलहज के रूम की खिड़की के पास आ गए. बारिश में भीगी उस लड़की को देख कर लग ही नहीं रहा था कि वो मेरी बहन है. वसुंधरा के दायें हाथ की दो उंगलियां मेरे होंठों और दांतों के बीच आ गयी.

ऐसा ही हुआ, अगले दिन सब ताजमहल देखने चले गये तो मैं हनी को लेकर अपने कमरे में आ गया.

बिक्कू ने तुरंत जाकर गेट बंद कर दिया और बोला- देख बंध्या, अब तेरे घर वाले भी काफी देर से पहुंचने वाले हैं.

जब सफल नहीं हो पाती तो वो भी मेरे सुपारे को काट लेती और मुझे हारकर दांत रगड़ना बन्द करना पड़ता।काफी देर तक हम दोनों के बीच ऐसा चलता रहा. फिर धीरे से उठ कर मेरे लण्ड में चूत की दरार पर रख कर दबा दिया और …[emailprotected]. दिखाएं बीएफवो उस जगह पर कोशिश करके बार बार धक्के पर धक्के मार रही थी और हर बार इस्स्स इस्स्स.

अगले ही पल दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाल दी, जिससे उनकी प्रिन्टेड ब्रा और 36 बी साइज के कातिलाना चुचे दिखने लगे. क्योंकि कल स्वीटी आंटी जाने वाली थीं और मैं एक बार और उनकी चुदाई करना चाहता था. ज़ेबा के मुँह से भंयकर चीख निकलती, उससे पहले मैंने अपना मुँह उसके मुँह पर रख दिया.

विशाल ने अपनी जेब से एक पेन ड्राइव निकाला और आशू की जेब में डालते हुए फुसफुसाकर बोला- इसको पूरे कॉलेज में बांट देना, तुझे तेरी औकात पता लग जायेगी. मैं यहां थोड़ा अपनी पत्नी की भाभी और उसके भाई के विषय में बता दूँ … अर्थात मेरी सलहज और मेरा बड़ा साला.

ये सुन कर मेरी धड़कनें बढ़ गयीं। आज उनके इस अवतार को देख कर मुझे दीदी के करीब जाने में भय सा लग रहा था.

मैं वहीं पास में चाय ठेले पर चाय पी नाश्ता किया और बाइक उठा कर घर आ गया. साथ ही इस बात की खुशी भी थी कि उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हो रहा था. वो उस जगह पर कोशिश करके बार बार धक्के पर धक्के मार रही थी और हर बार इस्स्स इस्स्स.

लड़कियों का बीएफ सेक्सी अंकल ने मेरी पीठ पर हाथ रख कर मुझे अपनी छाती पर झुका लिया और मेरे बूब्स अपने होंठों में लेकर चूसने लगे. फिर असलम अंकल मेरी चूत को चाटने लगे भानुप्रताप अंकल मेरे दोनों बूब्स को दबाने लगे.

बेटा शैली, तुम मेरी सेक्स की जरूरतें पूरी तो नहीं कर सकती लेकिन कम जरूर कर सकती हो. जीवन में पहली बार अपनी पत्नी को ही नंगी देखा था और अब सिल्क!सिल्क ने मेरी शर्ट उतार फेंकी थी. दीदी ने भी अपने कपड़े ठीक किये और सामान्य होते हुए दरवाजा खोल दिया.

मां अपने बेटे को

पर उस वक्त मेरा पूरा शरीर कांपने लगा, जब मामी ने मुझे देखा और उन्होंने मेरे गाल पर एक किस कर ली. डिनर-टेबल पर ऊँचे कैंडल-स्टैंड में तीन बड़ी-बड़ी मोमबत्तियां जल रही थी और कॉटेज की तमाम दूसरी फालतू लाइट्स बंद कर दी गयी थी. मैं- ले ना भैनचोद कमीनी … ले मेरा पूरा लंड ले … काला और मोटा लंड भुसंड ले … कुतिया साली रांड … हमम्म ह्म्म्म मम आहहह और ले आआ … अह … और चुद भैन की लौड़ी.

वो बड़बड़ाने लगा- आई लव यू तान्या!मैंने उसके कान में धीरे से कहा- चुप रहो … दरवाजे पर आदी खड़ा है … और उसने ये सब कुछ देख लिया. उसके बाद वहीं एक अच्छे रेस्तरां में हमने डिनर लिया, साथ में एक एक का वोडका तड़का लगाया और होटल आ गए.

अब मेरे पास न नौकरी थी न बीवी और न मेरा बेटा!इन सबने मुझे तोड़ कर रख दिया.

रोहित- ओहो, तो आप भी काफी मदद कर सकते हो, सिलेबस काफी मैच होता है अपना. पैग का एक घूँट लिया और एक सिगरेट जला कर गिलास लिए बाथरूम में चले गए. मैंने कहा- इसमें नया क्या है?उन्होंने कहा कि इसके आगे मैं तुम्हें नहीं बता सकती.

गांड मरवाने में भी उस ने काफ़ी प्रोटेस्ट किया … लेकिन मैं उसकी गांड के दरवाजे से भी अन्दर दाखिल होने में कामयाब हो गया. फिर मैंने ससुर जी को फोन लगाया तो वो बोले- अगर कोई साधन मिलता है तो तुम लोग उस पर आ जाओ. एक दूसरे की आंखों में आंखें डाल कर सफर का मजा और ऊपर से अंगों की रगड़न का हम मजे ले रहे थे.

मैं अपनी कामयाबी पर अन्दर ही अन्दर प्रसन्न भी थी और मुझे संदीप पर तरस भी आ रहा था.

मधु बीएफ सेक्सी: मैंने कहा- क्या हुआ जीजू? आपको कुछ काम था क्या?वो बोले- नहीं, मैं तो अपने रूम में बोर हो रहा था इसलिए सोचा कि अपनी साली से जाकर बात कर लूं ताकि थोड़ा मन बहल जाये. इसके बाद भाभी मेरे करीब आईं और मुझसे पूछने लगीं- हैलो डार्लिंग … कैसी हो … आज तो तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो, आज मैं तुम्हें बहुत प्यार करूंगा.

ये मैंने अपनी एफबी पर पोस्ट डाल कर कुछ इस तरह से उसको विश किया था कि यदि वो देखे, तो उसको ही समझ में आए कि ये मैंने उसके लिए ही लिखा है. वसुंधरा! यह यह … मैं! कैसे … क्यों …??” सेंटर-टेबल पर कॉफ़ी का करीब-करीब खाली कप रखते हुए मैं हकलाया. कक्क … कोई बात नहीं, इसे दिन में ऑफिस भेज दें और शाम को एक घंटे घर भी आप कहेंगी तो मैं हेल्प कर दूंगा पर … इसे मेहनत बहुत करनी पड़ेगी.

मैं एक साफ दिल का इंसान हूं, इसलिए सभी मुझे पसंद भी जल्दी ही कर लेते थे.

वो बोली- दामाद जी, तुम तो बड़े कमीने हो कि तुम दारू पीकर सब कुछ भूल जाते हो. दोस्तों के साथ घूमना हो या फिर मूवी देखने के लिए जाना हो किसी चीज की कोई रोक-टोक नहीं है. मैं भी उसके बगल में जाकर लेट गई और अपने हाथों से अपनी चूत को सहला रही थी.