बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी

छवि स्रोत,देहाती बीएफ गाने वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी हिंदी ऑंटी: बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी, उसने अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ा दिए थे। मैंने धक्के लगाने चालू रखे.

हीरोइनों का सेक्सी बीएफ

मैंने सोनिया भाभी की टांगें खोलीं और भाभी जी की चुत को चाटना शुरू कर दिया. जवान भाभी की सेक्सी बीएफभाभी के बड़े बड़े बूब्स, रंगीन बदन सच में नंगी भाभी बहुत ही मस्त लग रही थीं.

फिर उन दोनों ने मेरा ब्लाउज उतार दिया और दोनों मेरी चुचियों को मसलने, दबाने, चूसने, चाटने लगे. बीएफ चोदा चोदी वाला चोदा चोदीमैंने वो डोरी खोल दी और ऊपर ले जाकर मैं अब उसके स्तनों को दबाने लगा।अब मैं मेरे हाथ उसके जिस्म पर सहलाता हुआ पीठ पर से सलवार के अंदर गांड तक ले गया और वहां सहलाने-दबाने लगा.

मैंने भी उसकी बात सुनकर एक जोर का झटका दे दिया और लन्ड का सुपारा की मेरी गर्लफ्रेंड चूत को फाड़ता हुआ लगभग 2 इंच तक घुस गया.बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी: अभी मेरे कॉलेज को शुरू होने में एक महीना बाकी था, लेकिन मैंने पापा को बोला कि वहां अगर जल्दी जाऊंगा, तो उधर के माहौल में जल्दी घुल-मिल जाऊंगा.

मैं समझा कि शायद ज़ोहरा आपा अपनी अम्मी और शनाज़ के सुझाव से खुश नहीं है.उसी वक्त इस विचार ने मेरे लंड को एक सनसनी दे दी और वो तुनकी मारने लगा.

बीएफ हरियाणा सेक्सी - बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी

राजीव ने यीशा की टांगों के बीच आकर अपना लंड मेरी बीवी की चूत पर रखा और मेरी बीवी की चुत की फांकों में रगड़ने लगा.उसने लंड का अहसास पाते ही ज़ोर से एक आह भरी, जिससे मुझे समझ आ गया कि वो झड़ चुकी थी.

आकांक्षा- नहीं कुछ तो सोच रहा था … बता न क्या बात है?मैं- अरे नहीं … बस ऐसे कुछ भी नहीं है. बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी मेरी मौसी बोलीं- दीदी अगर मैं प्रेगनेंट हो गई, तो क्या होगा?तभी मेरे पिता जी ने कहा- तू भी मेरी आधी घरवाली है … पर आज से तू पूरी है.

उसके अब्बू यानि मेरे फूफा जी एक सरकारी कर्मचारी थे, परन्तु अब फूफा जी ने वीआरएस ले लिया था और वो रिटायर हो चुके थे.

बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी?

मैं उसके मम्मों के साथ खेलते हुए उन्हें चूस रहा था जिससे उसकी अन्तर्वासना और बढ़ गयी।इस बार मैंने उसे पलंग पर लेटा कर उसके दोनों हाथ उसकी चुन्नी से बांध दिए. मैं उन भूरे निप्पलों को पकड़ कर उनसे खेलने लगा।मामी मदहोशी में वासना भरी आवाजें किये जा रही थी।मैं उनकी आवाज से और उत्तेजित होता जा रहा था।मैंने दोनों चूचों को अपने हाथों में भरा और एक साथ दबाने लगा. मैं अब उनका बायां दूध टॉप के ऊपर से दबाने लगा और उस मम्मे को तेजी से मसलने लगा.

अगर मेरी इस कहानी को पढ़कर किसी हसीना की, किसी कमसिन लड़की की और मेरी प्यारी भाभियों की चूत गीली हो जाये तो अपने इस आशिक़ को सलाम अवश्य करना।मेरी शादी के लगभग 1 साल बाद ही संदीप की शादी भी होने वाली थी. तो वो बोली- आफिस में जाकर पता कर लो, वहीं से मिलेगा।अब मैं चली आयी आफिस!वहां तीन या चार लोग अलग अलग केबिन में बैठे थे. उसकी चूत बार बार मेरे लंड को चोद रही थी और इधर से मेरे लंड के धक्के उसकी चूत में लग रहे थे.

आपको मेरी इस डर्टी सेक्स कहानी पर क्या कहना है, प्लीज़ मुझे मेल करें. मैंने उसकी गांड ऊपर करके कस कस के 20 मिनट तक धकापेल चुदायी की और इसके बाद सारा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया. जब वो सो रही होती, तो मैं बस उसके चेहरे को ही देखता रहता था और उसके हाथ को अपने हाथों में लेकर सहलाता रहता था.

उल्फ़त बोली- तुमको कैसी लड़की पसंद है?मैंने अपना हाथ उसकी जांघ पर दबाते हुए कहा- मुझे तुम्हारी तरह तीखी मिर्ची पसंद है. दोस्तो, हो सकता है कि आपको मेरी इस पहली सेक्स कहानी में सेक्स कम मिले, लेकिन ये मेरी सच्ची कहानी है.

सारे छात्रों के साथ मैं भी अन्दर जाने लगा,तो सर ने बोला- ये मेरी किताबें स्टाफ रूम में पहुंचा दो.

उनके जाने के 2 मिनट बाद वो आदमी भी उठ कर वहां से टॉयलेट की तरफ़ निकल गया.

बेड पर लेटकर मुझसे बोली- भोसड़ी के … आ और अपने लन्ड से मेरे भोसड़े की खुजली मिटा।मैंने उनसे कहा- आप गाली क्यों दे रही हो?तो वी बोली- गाली देकर चुदने में मुझे मज़ा आता है. ऐसा भी नहीं है कि मैंने अपनी तरफ हमारे इस रिश्ते में कोई योगदान नहीं दिया, समय समय पर मैंने भी इसको जरूरत पड़ने पर साथ दिया. फिर संजय अंकल ने मुझे घोड़ी बनाया और मेरी गांड के छेद में खूब सारा थूक लगा कर अपना लंड लगा दिया.

उन्होंने वाइट कलर का सूट पहना था, जो एकदम टाइट था और इस सफ़ेद रंग के सूट से उनकी लाल रंग की ब्रा साफ़ दिख रही थी. जब घर नजदीक आने को था, तो उसने अपनी उंगली निकाल कर अपने मुँह में दबा ली और मेरी तरफ वासना से देखने लगा. मेरी उससे भी पुरानी कहानीजवानी की शुरुआत मूसल लण्ड के साथमें मैंने बताया कि हॉस्पिटल वाले रमेश भैया ने कैसे मुझसे लण्ड मिला चुसवाया था लेकिन वो अचानक अपने गांव चले गए.

कुछ देर चुत चाटने के बाद मैंने उसको लेटाया और उसका गर्म सरिया जैसा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

अभी तू अपनी गर्ल फ्रेंड की बात कर रहा था … वो बता!मैंने उसके मम्मे ताड़ना बंद नहीं किए और कहा- कोई बनती ही नहीं है यार, पर मन करता है कि काश मेरी गर्लफ्रेंड होती, तो मैं उसके साथ खूब मजे करता. कभी होंठों पर तो कभी गालों पर, कभी उनकी चूचियों पर तो कभी गर्दन पर।वो भी अपने हाथों से मेरी पीठ को सहला कर मेरा हौसला बढ़ा रही थी. अब आगे:उसको शरमाते हुए देख मेरी थोड़ी हिम्मत बंधी और मैंने झट से उसकी सलवार के ऊपर से उसकी चूत पर अपनी मुट्ठी कस दी.

जैसे जैसे मैं एक हाथ से ज़िप खोल रहा था, वैसे वैसे दूसरे हाथ से उसके नंगे होते जिस्म को सहलाता जा रहा था. कुछ मिनट ऐसे ही गुजर गए और फिर उसने अपने चूतड़ उठा कर मुझे इशारा किया तो मैंने उस कमसिन लड़की की चुदाई शुरू कर दी. मैंने कहा- छोड़ो … पागल हो क्या … ये क्या कर रहे हो … मैं अभी घर में सब को बता दूंगी.

उसका टेबल मेरी चूत के पानी से गीला हो चुका था। अब तक मैं तीन बार स्क्विर्ट कर चुकी थी।मेरी चूत लाल हो चुकी थी तभी के मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज आने लगी.

वो आदमी दीदी को किस करने लगा और बोलने लगा कि मैं तो तुमको देखते ही समझ गया था कि तुम मेरे लंड की जुगाड़ हो. कहानी का पिछ्ला भाग:ट्रेन के सफर में मेरे शौहर की कारस्तानी-3सुबह ठीक 5 बजे मेरी नींद खुल गई और मैं उठ कर बाथरूम को चल पडी़.

बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी दोस्तो, आपको मेरी कज़िन सिस सेक्स कहानी कितनी पसंद आई मुझे जरूर बताना. मुझे नीचे दिए गये ईमेल पे अपनी प्रतिक्रिया भेजिए। साथ में कमेंट्स भी करें.

बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी उम्मीद है कि मेरी आपबीती आप लोगों को ज़रूर पसंद आएगी।कहानी आगे बढ़ाने से पहले मैं अपने बारे में बता देता हूं. मेरी ननदोई के साथ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि शादी के बाद जब मेरे पति मुझे सेक्स का पूरा मजा नहीं दे पाए और मुझे कोई बच्चा नहीं दे पाए तो मैंने कैसे अपने ननदोई पटाने का सोचा.

दोस्तो यह सेक्सी कहानी कैसी लगी आपको? मुझे ज़रूर बताएं और अपनी कीमती राय दें।मुझे मेल करें[emailprotected]पर।धन्यवाद।.

उंगली कटा हुआ फोटो

उनकी आह … आह … आह … की आवाज़ें और मेरे लंड का गांड में चारों तरफ हिलना जैसे पागल कर रहा था. इतना कह कर मैं वैशाली भाभी के दोनों चूचों को अपने हाथों में लेकर दबाने लगा, उनके मुँह पर किस करने लगा. इतनी चिकनी चूत होने के बादजूद लण्ड आधा ही घुसा लेकिन मेघा ऐसे चीखी मानो किसी हाथी का लण्ड घुस गया हो उसकी चूत के अन्दर।मैंने किस करते हुए उसकी आवाज रोकी और चोदना जारी रखा.

मेरी उससे भी पुरानी कहानीजवानी की शुरुआत मूसल लण्ड के साथमें मैंने बताया कि हॉस्पिटल वाले रमेश भैया ने कैसे मुझसे लण्ड मिला चुसवाया था लेकिन वो अचानक अपने गांव चले गए. हमने आपस में खुल कर सेक्स पर बात की और वैशाली ने मुझे अपना फोन नम्बर दे दिया. मैंने उनके पेटीकोट को हटाया तो अंदर का नजारा देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया.

उसके मोटे मोटे चूतड़ों को दबाते हुए मैं अपना लंड उसकी गांड पर ही रगड़ने लगा.

फिर मैंने उससे पूछा- तुम्हारे पास सिंदूर और मंगलसूत्र है क्या?उसने कहा- हाँ है. मैंने उसकी चूत में अपना लंड एडजस्ट किया और उसे ऊपर नीचे उछलने को कहा. अब देखना उन सब को मजबूरी क्या होती है ये समझ आ जाएगा और नजमा बाजी की तो मोटी गांड से खून निकलना है।फिर वो बोली- छोड़ो, आओ मेरा भी मन है चुदाई का.

मैं आंटी के ऊपर लेट गया और उसकी चूचियों को मसलते हुए उसकी पीठ को काटने लगा. मैंने कमरे में आकर अपने कपड़े उतारे और एक फ्रेंची में खड़ा होकर आवाज लगाने लगा- खुशबू तू जल्दी निकल फिर मुझे भी नहाना है. मैंने भी मामी के मखमली होंठों पर अपने होंठों को रखा और उनका रस पीने लगा.

मैंने ना में सर हिलाया और उनकी दोनों चुचियों पकड़ कर उनके मंगलसूत्र के अन्दर डाल दिया. सिर्फ मेरे दोस्तों को पता था कि मैं यहां पर हूं।अब मैंने देर न करते हुए सीधा अपना लन्ड बाहर निकाल कर उसकी चूत में रगड़ने लगा उसकी चूत पूरी तरह से गीली हुई थी मैंने जैसे ही हल्का अंदर को डालने की कोशिश की तो वह एकदम से चीख पड़ी.

अब तो मुझे खुद पर ही झुंझलाहट हो रही थी कि मैं तो अवनीत को देख देखकर मुठ मारता रहा और वो साला मूल चन्द्र का लड़का मेरी भानजी को चोद कर मजा ले रहा था. कुछ समय बाद हम दोनों एक दूसरे से मिलने के लिए बहुत ही ज्यादा बेताब हो गए थे. उसके छोटे छोटे सन्तरे मेरी छाती से टकराने लगे।मेघा के बूब्स मेरे हाथ में आ जाएं इतने ही बड़े थे।मैं दोनों हाथों से दोनों बूब्स को दबा रहा था। मैं उसके गले पर लव बाइट देने लगा और उसके फूले हुए गालों को काटने लगा।नीचे से मेरा लौड़ा मेघा की चूत में जाने को तैयार हो गया।उसको मैं किस करता जा रहा था.

वो बोलीं- अब नहीं बर्दाश्त होता जी … चोद दो मुझे … चोद कर फाड़ दो अपनी सोनाक्षी की चूत.

थोड़ी देर बाद दीदी को बाथरूम जाने की जरूरत महसूस हुई, तो वो मुझसे बोलीं- सामान देखना, मैं वाशरूम से आती हूँ. मैंने उधर से कार आगे बढ़ाई और एक दवाई की दुकान से उसके लिए गर्भ निरोधक गोली लेकर उसको खिला दी. जिसे देख कर मैंने अपना छह इंच का खड़ा लंड अपनी मां की चुत पर रखा और अन्दर पेल दिया.

अन्तर्वासना पर मैं रोज कहानियां पढ़ता हूं और मुझे बहुत मजा आता है चुदाई की हॉट स्टोरी पढ़कर।अब मैं आपको अपना वाकया बताता हूं. कोई काम है?वो बोली- नहीं उसे सोने दो। तुम भी आराम करो, मैं मंदिर जा रही हूं।बुआ के जाने के बाद मैंने राखी को जगाया.

एक भिखारी को उसने चलती कार में मेरे चूचे दिखवाये और मेरी चूत और गांड भी दिखाई. अचानक गाड़ी रुकने की आवाज से मेरी नींद खुली, तो मैंने देखा गाड़ी किसी बंगले के बाहर खड़ी हुई थी. चूची पिलाने के बाद उसने अपने सारे कपड़े उतार दिये और फिर मुझे भी नंगा कर दिया.

सिकसविडियो

मैंने फिर से एक हाथ से रजाई पकड़ी और खींचने लगा तो मेरा हाथ उनकी नंगी कमर को छू गया.

मैं अपनी प्यारी दीदी को गालों पर किस करते हुए उसके मम्मों को दबाने लगा. सेक्स की गोली का असर मुझपर इस कदर हुआ कि मैंने कई बार भाभी को बहुत देर देर तक चोदा. मेरा लंड उसकी चूत पर लगा था और मैं उसकी चूचियों को भींच भींचकर पीने लगा.

मेरा मन तो नहीं था जाने का … तब भी दोस्त की दोस्ती तो निभानी ही थी, मैंने अपने कपड़े पहने और चला गया. मैं बोला- पहली बार सबको ऐसा ही दर्द होता है लेकिन अब तो असली मज़ा लेना है. बहन के बीएफ वीडियोकिचन में मामी काम कर रही थी और सागर उनके पूरे बदन को तड़ता हुआ उनसे बात कर रहा था।कुछ देर बाद मामी काम खत्म करके बोली- चलो टी वी देखते हैं।सागर मामी के साथ बाहर हाल में टीवी के सामने पड़े सोफे पर बैठ गया.

एक मिनट के अन्दर हम एक दूसरे को एन्जॉय करने लगे थे और मुझे भी काफी मज़ा आ रहा था. रुबीना बाजी को अम्मी अब भी गाली देती थी और मोटी गांड वाली नजमा बाजी तो मार भी देती थी.

उसे वीर्य पीना बहुत पसंद था, हर बार अलग अलग पोजिशन में चुदाई चलती रही. आंटी इतनी जोर से उथल-पुथल कर गांड हिला रही थीं कि अब मैं ज्यादा कण्ट्रोल नहीं कर पाया. मैंने भी उसका इशारा समझ लिया और लंड को धीरे धीरे उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगा.

मेरी बहन ने चुत फैलाते हुए कहा- भाईजान अब अपना लंड मेरी चुत में पेल दो … अब मुझसे सहन नहीं होता. चारू की काली पैंटी उसकी योनि की दरार से निकले काम रस की बाढ़ के कारण कुछ भीगी-भीगी सी थी. उधर यदि समय मिले तो, ये पर्चा और पैसे ले जाओ, कुछ बाजार से भी काम निबटाते हुए आना.

फिर भाभी नाईटी पैंटी लेकर नंगी ही गांड हिलाते हुए अपने कमरे में चली गईं.

मैंने पहले उसे चौंक कर देखा और फिर पूछा- क्या?आकांक्षा- तू प्रिया मैडम और सर के बारे में सोच रहा था ना!मैं ये सुनकर चलते चलते रुक गया और एकटक उसे देखता रहा. फिर दिन में 10 बजे हम सब बाड़े में गए, वहां हम तीनों ने टैंक में पानी में चुदाई की.

मैं रिंकी को जोर जोर से चोदने लगा तो वो चिल्लाने लगी- आह भैया … मार दिया … कितना अन्दर तक लंड पेल रहे हो! बड़ा मजा आ रहा है भाई! आह चोदो और जोर से चोदो. मैंने बिना जागे हल्के से आंख खोल कर देखा, तो भाई ने मेरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया था. कई मर्तबा मैंने मॉम को अपनी चुत में उंगली करते भी देखा, तो मैं समझ गया कि इनको भीचुदाई की आगसताती है.

सत्यम के सीने से लग कर आज मुझे पहली बार इतना सुकून मिल रहा था, जितना कभी अपने पति की बांहों में नहीं मिला था. इतना कहकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और अवनीत से अपना लण्ड चूसने को कहा. चुदाई चुदाई चुदाई … इस कहानी में मैंने खुद एक लड़के से अपनी वासना शांत की फिर उसी से अपनी 3-4 सहेलियों को भी मजा दिलाया.

बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी मुझे यह बात पहले अजीब लगी, बाद में मैंने सोचा कि क्यों ना इनको मजे करने दिया जाए. अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो नीचे दी गयी मेल आईडी पर मुझे मेल करके जरूर बतायें.

बेस्ट लिपस्टिक

2-3 मिनट बाद वह नीचे से अपनी गांड को उठाने लगी तो मैंने फिर से एक जबरदस्त झटका दे मारा. फिर मैंने उसकी चूत को चोदने के लिए उसकी जांघों को फैला दिया और अपने लंड को उसकी चूत के मुंह पर रगड़ने लगा. वो कहने लगी कि उसकी चूत में बहुत मजा आ रहा है, उसने और तेजी के साथ चोदने के लिए कहा.

मैंने किस करते करते ही अपनी पैंट और अंडरवियर को निकाल कर साइड में डाल दिया. उन्होंने मुझे कमर से पकड़ लिया और अपनी गांड उठाकर जोर जोर धक्के लगाने लगी. घोड़ा की बीएफ वीडियोमुझे सड़क पर आते जाते लोगों को देखकर ऐसी फीलिंग आ रही थी कि हम पब्लिक प्लेस में सेक्स कर रहे हैं.

तो हमें जब भी मौका मिलता तो हम चुदाई कर लेते थे।एक बार राहुल ने मेरी गान्ड भी मारी थी। लेकिन वो कहानी किसी और दिन।फिर राहुल के पापा का ट्रान्सफर रांची हो गया। तब से हमारी कोई बातचीत नहीं हो रही है।तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली सच्ची सेक्स कहानी। आपको मेरी पहली बार सेक्स करने की कहानी अच्छी लगी या नहीं? मुझे मेल करके जरूर बताना।मेल आईडी[emailprotected].

उसकी बुर की गर्मी से मेरा लण्ड भी पिघल गया और ढेर सारा वीर्य उसकी बुर में ही छोड़ दिया. दोस्तो, उस समय मोहल्ले हुआ करते थे और घर आपस में जुड़े हुए होते थे.

उसके जाने के बाद मैंने अन्तर्वासना की साईट खोली और भाई बहन की चुदाई की कहानी खोल कर पढ़ने लगी. मैं रात के 12:00 बजे तुम्हारे रूम में आऊंगी, तब हम रात में मस्ती करेंगे. हो … ये बात … क्या मैं तुम्हें हॉट माल लगती हूं?मैंने कहा- हां आप एक हॉट माल ही हैं … मेरा तो दिल करता है कि आपके गुलाबी होंठों से होंठ लगा कर आपका सारा रस पी लूं, आपकी धड़कनों को मैं महसूस करना चाहता हूं और उसके बाद!इतना कह कर मैं रुक गया.

मैंने धीरे से कहा- मैं क्यों खाऊंगी?उसने कहा- क्योंकि कीमत वसूले बिना मेरा मुंह बंद नही होता.

फिर जैसे ही किसी के आने की आहट हुई, तो तनिष्क एकदम से खड़ा हो गया और इधर उधर देखने लगा. उस रात शकील घर पर रुका अम्मी की चुदाई की जमकर!जाते समय अम्मी को कहा- अगली बार कब आऊं?तो अम्मी ने उसे परसों आने को कहा और साथ में यह भी कहा- मैं सुनीता से बात करूंगी और तुझे फोन पर बता दूँगी. मैं तो सोच रहा था कि मैंने उन लड़कियों को पटा कर चोदा है लेकिन असल में उन दोनों ने मुझे अपने जिस्म की प्यास बुझाने के लिए इस्तेमाल किया था.

सेक्सी कार्टून वाला बीएफमैंने फिर पूछा- कितनी लड़कियों के साथ कर चुके हो आप?वो बोला- हफ्ते में दो छुक्करिया तो मिल ही जाती हैं. मैंने बेड के साइड में लगा स्विच ऑन किया, तो कमरे में हल्की रोशनी जल उठी.

राजस्थानी ब्लू पिक्चर सेक्सी

मुझे अंदाजा था कि मेरी बीवी की डिलीवरी मीनाक्षी की डिलीवरी के डेढ़ दो महीने बाद होगी. जब मैं अपनी बहन की चुत चूसने लगा तो वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ़्फ़्फ़. मैंने सोचा कि कुछ करना पड़ेगा वर्ना ये मुझे सोने नहीं देगी। मैंने उनकी रजाई को देखा तो वो लगभग सीने तक ओढ़ी हुई थी.

मैंने उससे काफी सहज भाव से बात की थी तो वो मेरे व्यवहार से काफी खुश थी और मुझसे काफी सहज होकर बात करने लगी थी. फिर दिन में 10 बजे हम सब बाड़े में गए, वहां हम तीनों ने टैंक में पानी में चुदाई की. उसके बाद अभय ने मेरी बहन की गांड में लंड डाला तो वो आसानी से घुस गया.

कुछ देर बाद तनिष्क ने मुझे घोड़ी बना कर मेरी गांड में अपना लंड डाल कर चोदना शुरू कर दिया. अब धीरे धीरे उसकी सिसकारियां निकलने लगी उसके बूब्स मसलने लगा और उसकी गान्ड चोदने लगा।वो भी धीरे धीरे गांड चलाने लगी।अब मैं जोश में आ गया और अपनी रफ़्तार बढ़ा दी. उसके मुंह से अब तेज तेज आवाजें आ रही थीं उम्म्ह… अहह… हय… याह… जिनमें दर्द और आनंद का मिला जुला सा रूप था.

अगर मुझे पहले पता होता कि तेरा लंड इतना बड़ा है, तो शादी से पहले तुझसे जरूर चुद जाती. लेकिन सागर ने उन्हें पकड़ लिया और वो नाटक करते हुए बोली कि उनका पैर हल्का सा मुड़ गया है।सागर ने मामी का ये नाटक तुरंत समझ लिया और उनको अपने गोद पर कमर से खींच कर बिठा लिया और उनका दोनों पैर उठा कर अपने पैरों पर रख लिया.

मैं भी अपनी जैकेट उतार कर रजाई के अंदर घुस गया और फिर शुरू हुआ असली खेल.

मेरी बुर केला खाने की आदी है, लौकी पेलोगे तो चिल्लायेगी ही!”इस बीच मैंने धक्के मारना शुरू कर दिया था, जब डिस्चार्ज किया तो अवनीत ने कहा- मामू, मैं तो रोहित की दीवानी हूँ और उसके बिना रह नहीं सकती लेकिन मेरी चूत आज से तुम्हारे लण्ड की दीवानी हो गई. चलने वाली बीएफ मूवीसाथ में बड़बडा़ रहा था- साली होशियारी करती है, अब पता चला मुझसे पंगा लेने का अंजाम. हिंदी पिक्चर बीएफ सेक्स वीडियोपहले अंकल ने सुपारा मेरी गांड के छेद में फंसाया, तो मेरी आंखें फटने लगीं. उस दिन जब मैं पढ़ाने के बाद जब अपने घर लौटा, तो रात भर उनके चिकने बदन के बारे में सोचता रहा.

वो हर वक्त सेक्स के लिए तैयार रहने वाली लड़़की थी इसलिए मुझे उसके साथ बहुत मजा आता था.

वो बोला- लगता है बाबा का लंड बहुत पसंद आ गया तुम्हें?मैंने कहा- दिलाया भी तो तुमने ही है. इस बीच मैंने लगभग रोज ननदोई जी से चुदाई करवायी क्योंकि ननद रोज टहलने जाया करतीं थीं. जैसे लोगों को शराब का नशा होता है, ऐसा ही नशा होता है चूत का और मुझे भी बस यही नशा था- बस चूत ही चूत।इंसान की जिन्दगी में सेक्स का अत्यंत ही सुन्दर अहसास होता है.

मेरी अम्मी की सहेली ने उनको बताया कि उसका पति ठीक से चुदाई नहीं कर पाता तो उसको बच्चा नहीं हो रहा. वो उठ बैठी और धीरे से बोली- क्या कर रही है … पागल हो गयी है क्या तू … ये क्या कर रही थी तू? सामने तन्मय सो रहा है, वो देख लेगा तो?नीता बोली- यार करने दे ना … बहुत मन कर रहा है … मुझसे तो रुका ही नहीं जा रहा. थोड़ी देर बाद मैंने फिर से मॉम के पेट पर हाथ रखा और अपना लंड मॉम की गांड के पास सटा दिया.

योगा स्टेप

फिर हम दोनों बैठ कर बातों में खो गए, पुरानी यादें एक एक करके सामने आने लगीं. ये सेक्स कहानी मेरी पहली देसी कहानी है और मेरे साथ रियल में हुई एक सच्ची घटना है. आपको मेरी गांड मरवाने की चुदाई की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल करें.

खड़ा लंड देख कर भाभी ने कहा- मुझे ज्यादा मत तड़पाओ, मेरी चुत में आग लगी है.

तेज धक्कों से माही रोने लगी और बीच बीच में मुझे गालियां देती रही- आआहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद कुत्ते साले अह्ह आईईई … भैन के लंड धीरे चोद साले … थोड़ा धीरे कर … मैं तेरी कोई रांड नहीं हूँ … धीरे कर साले!उसकी गालियां सुनकर मुझे और जोश चढ़ रहा था.

थोड़ी दूर जाकर उसने पीछे मुड़कर देखा लेकिन मैं उसके चेहरे के भाव को समझ ही नहीं पाया कि वह कहना क्या चाह रही है. इतना कहते हुए मैंने उसकी रज़ामंदी से उसको किस किया और हम फिर अपनी जॉगिंग ख़त्म करके घर वापस आ गए. एक्ससी बीएफउस पर एक बार जिसकी भी नजर पड़ जाए, तो समझो वो उसके शरीर को पूरा निहारे बिना नहीं रहेगा.

दोस्तो, आपको मेरी कज़िन सिस सेक्स कहानी कितनी पसंद आई मुझे जरूर बताना. 3 बजे से पहुंचा हुआ मैं 7 बजे तक इन्तजार करता रहा, सवा 7 बजे अवनीत बाहर आई तो मुझे लगा कि माधुरी दीक्षित आ गई है. मगर मैं जब तक लंड लगाता, तब तक वो मेरा सर अपनी बुर में दबाकर पानी छोड़ने लगी.

मेरी मौसी मुझे अपने पास बुलाकर बोलीं- बेटा कैसे हो … मैंने आज बड़े दिनों के बाद तुमको देखा है … कितना बड़ा हो गया है रे तू. मैं अब मालिश करने की बजाय मौसी की गांड को सहलाने पर ध्यान देने लगा.

मेरी पहली सेक्स कहानी है हरियाणवी चुदाई की, इससे पहले मैंने कोई भी कहानी लिखी नहीं है, अगर मुझसे कोई गलती हो जाए तो प्लीज़ नजर अंदाज कर दीजिएगा.

मैंने उसकी गर्दन के पास आकर उसके कान में हल्के से कहा तो वो इस बात पर शर्मा गयी. उसने अंदर जल रही आग को बुझा दिया और अंदर हॉल में बिल्कुल अंधेरा हो गया. ये देखकर मेरा वीर्य छूटने को हो गया क्योंकि मैं भी इतनी देर से अपने लंड को निकाल कर हिला रहा था.

बीएफ भोजपुरी सेक्सी वीडियो बीएफ गरम भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक शादी में सर्दी की रात में हाल में बिस्तर लगा कर सोना पडा. फिर उसके बाद क्या हुआ? मजा लें यह सेक्स स्टोरी पढ़ कर!कुछ ही देर बाद अंकल बुआ को लेकर आ गए.

वो वहां से बाहर चल गए, तो मैंने सपना से बोला- मैं कपड़े चेंज कर लूं. फिर एक राउंड उसने थ्रीसम किया। उस कॉलबॉय ने हम दोनों को इतना खुश किया कि उस फीलिंग को शब्दों में लिखना संभव नहीं है।तो दोस्तो, आपको मेरी पहली कहानी कैसी लगी? मैं दुबारा फिर से माफी चाहती हूँ कि मेरी कहानी में अगर कोई गलती हो तो मेरी आप सब से हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि कृपया मुझे अपने अपने सुझाव मेरी मेल आई डी[emailprotected]पर दें. कुछ देर मेरी चूत चुदाई करने के बाद इंस्पेक्टर साहब ने मुझे उल्टा लिटा दिया और मेरी गांड में थोड़ा तेल लगा कर एक ही झटके में अपना लंड मेरे अन्दर तक डाल दिया.

मायजिओ बताइए

करीब 10 मिनट में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वो एकदम से अकड़ गयी थी. तब मैंने कहा- धीरे धीरे डालूंगा, थोड़ा दर्द होगा पर आज ये दर्द मेरे लिए सहना पड़ेगा तुमको।पीहू बोली- भइया, मैं आपके दिया हर दर्द सहूंगी. कुछ समय वैसे रहने के साथ ही मैं धीरे धीरे नीचे बढ़ने लगा और नीचे आकर मैंने अपने दांतों के सहारे उसकी पैंटी को नीचे करना शुरू कर दिया.

कुछ ही पलों में मैंने उसको हल्का सा ऊपर उठाया, ताकि उसकी ब्रा भी खोल सकूं. हूर बार-बार मेरे लंड को सहला रही थी और मैं उसकी चूत को उंगली से चोद रहा था.

मैं अपनी पत्नी की चुदाई नहीं बल्कि अपनी कामवाली बाई की चुदाई की कहानी आपको बताने आया हूं.

फिर मामी ने मेरे कान में धीरे से कहा- पहले अपने कपड़े उतार लो।मैं बाथरूम में गया और जल्दी से अपने कपड़े वहां पर टांग कर आ गया. उसी वक्त इस विचार ने मेरे लंड को एक सनसनी दे दी और वो तुनकी मारने लगा. पहली चुदाई बहुत मजा आया … सच में!उसके बाद हम दोनों चिपक कर सो गये सुबह चार बजे का अलार्म लगाकर क्योंकि सुबह अपनी अपनी रजाई में जाना था.

वो बोली- राज नहीं।मैंने कहा- आज तुम मेरी बीवी हो और अपने पति को खुश करना तुम्हारा काम है।फिर मैंने उसकी गान्ड में तेल लगाया और उंगली घुसा दी. वो भी गर्म हो गयी थी और एक हाथ से मेरा लण्ड पकड़ने की कोशिश कर रही थी. मैंने उसकी दोनों टांगों को उठा कर अपने कंधों पर रख लीं और उसके मम्मों को सहलाने लगा.

मैंने अपनी पूरी ताकत लगा दी और फट … फट … व पच … पच … की आवाज के साथ पूरी स्पीड में उसकी चूत को खोदने लगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो चाहिए सेक्सी: माँ की सुनता हूं तो बीवी नाराज हो जाती है और बीवी की सुनता हूं तो माँ नाराज हो जाती है। क्या करूं … समझ नहीं आ रहा है. इस तरह हम दोनों ने चुदाई का पूरा मजा लिया और अपने-अपने कपड़े पहन लिये।इतनी हार्ड और बड़े हथियार से चुदाई की वजह से ज्योति भाभी की चूत में सूजन आ गयी थी।भाभी को दो दिन तक बुखार भी रहा लेकिन फिर मैंने उसको पेन-कीलर खिलायी.

मैं ये सब देखकर हैरान था कि एक अजनबी के सामने माधवी भाभी ने ये सब बिना किसी डर के सामने रख दिया था. तो उन्होंने मुझे अपनी बांहों में लपेट लिया और मेरे होंठों से अपने होंठ जोड़ कर मेरे होंठ चूसने लगे. अभी मैंने दूसरा धक्का नहीं मारा था कि इससे पहले ही चाची की आंखों से आंसू निकल गये.

तब तक सुमेधा भी नंगी हो गयी और वो भी सत्यम की दूसरी बाजू में बैठ गई.

मेरे सामने उनकी गोरी चिकनी चूत आ गई।मामी की गोरी चिकनी चूत को देखकर मेरे होश खोने लगे. इतना सोचकर मैं फटाक से ज़ोहरा आपा की चूत को अपनी बीवी शनाज़ की चूत समझ कर चूमने लगा. अब एक बार फिर से अंकल ने अपने लंड के मोटे सुपारे पर क्रीम लगाई और फिर अपना लंड मॉम की गांड के छोटे से छेद पर सटा दिया.