बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में

छवि स्रोत,रानी चटर्जी के बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ करिश्मा कपूर: बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में, पायल ने मेरे बदन को, कंधे को, चेस्ट को किस करना और काटना शुरू किया.

इंग्लिश बीएफ बीएफ बीएफ

जिन चीजों को सिर्फ पॉर्न फिल्मों में होते हुए देखा था, आज वो चीजें मेरे सामने, मेरे बदन पर हो रही थीं. हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो ओपनअब हम तीनों फिल्म देखने आ गए, वो रीना के कंधे पे हाथ डालकर बैठा था और जब थोड़ा अंधेरा हो जाता तो वो उसके मम्मों को दबा देता था.

मैंने मुस्कान से पूछा कि गांड की चुदाई में मजा आ रहा है?तो मुस्कान अपने मुँह से मस्ती भरी आवाज में बोली- ओह्ह यश. खुली बीएफइसने ही सबसे पहले मेरी कॉलेज में रेंगिंग की और पूरी नंगी ही कर दिया था.

कुछ दिन बाद अमित उसके मामा के यहां चला गया, तो मैं अकेला ही सर के घर क्लास पढ़ने जाता था.बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में: अगले दोपहर मेरे पास संदेश आया कि सब तैयार है और तारा मुझे अपने साथ दिन भर के लिए ले जाएगी.

तभी भाभी ऊपर को उठीं और उन्होंने मुझे अपने स्तन देखते हुए पकड़ लिया और बोलीं- क्या देख रहे हो?मेरी फट गई, मेरे मुँह से शब्द नहीं निकले.उसके इतना बोलते ही मैंने प्रिया को गोद में उठा लिया और उसे बाथरूम में ले गया.

बांग्लादेशी बीएफ बांग्लादेशी बीएफ - बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में

मन में उमड़ते जज्बात, घुटन और सेक्स की पूरी ना कर सकने वाली चाहत का नतीजा होती हैं कहानियाँ.फिर मैं बोला- जान, ये मेरा लंड ऐसे नहीं मान रहा … इसे तो आपकी चूत चाहिए.

जब भी मैं उसके कमरे में जाती तो इधर उधर भी देखा करती थी ताकि कुछ ऐसा उसके सामने मिल जाए, जिससे मैं उससे पूछूँ कि यह सब क्या है. बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में मैंने उसके गाउन को ऊपर से दोनों कंधों से सरका कर ऊपरी हिस्सा ओपन कर दिया.

मैंने जब भाभी के बारे में पूछा तो वो बोली कि वो यहीं है लेकिन अभी अपनी फ्रेंड की बेटी की शादी में गई हैं.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में?

वह इतना बेशर्म था कि उसने इतनी भीड़ भरी सड़क पर भी अपना लंड चेन से बाहर निकाल कर मुझसे सटा दिया. फिलहाल मैं अपनी मामी के साथ हमबिस्तर होकर इसी घनिष्ठ प्यार को महसूस कर रहा था. कुछ देर बाद वो बाहर आयी, तब उस ड्रेस में वो इतना पटाखा माल लग रही थी.

अपने चौपायों पर लेटी हुई शानदार ब्लोंड लड़की का दैदीप्तिमान चेहरा हमारी आँखों को चौंधिया दिए जा रहा था, उसके शरीर से निकलता तेज कमरे के वातावरण को उसी के रंग में रंगे जा रहा था. मेरे इतना कहते ही समाली अंकल ने कस के मुझे पकड़ लिया और मेरे मुँह में अपने मुँह को रखकर मेरे जीभ को चूसने लगे. मेरे बॉस की सेक्सी बीवी की चुदाई स्टोरी के पहले भागबॉस की गरम सेक्सी बीवी-1में आपने पढ़ा कि वो मुझसे अपने बदन की वैक्सिंग करवा रही थी.

हमारी नजरें टकराईं और क्या बताऊं दोस्तो, उसकी आंखों में मैं जैसे खो गया. जब तक आपका लंड जब अन्दर नहीं घुसेगा, आपका वीर्य जब तक मेरी चूत की गहराई में नहीं गिरेगा, तब तक मेरी चूत इसी तरह आग उगलती रहेगी. मैंने एक बड़ी लम्बी सांस ली और अपने आधे खड़े लंड से उसका मुँह चोदने लगा.

बस इतना सा ध्यान रखना जरूरी है कि दोनों को तरीके से संभाल के रखना होगा, वरना गड़बड़ हो जाएगी. उसके माता पिता किसी दूसरे शहर में रहते थे और वो यहाँ पर नौकरी करने के लिए ही आया था और हमारे शहर में एक किराये का मकान लेकर रहता था। हम दोस्त ज़रूर बने मगर हमारे बीच ऐसा कुछ नहीं था जिससे कोई कुछ कह सकता। हमारा मिलना जुलना और लंच भी बस आफिस तक ही था। और हम लंच भी एक साथ ही किया करते थे.

फिर वो मेरे ऊपर आकर बोले- सीमा मेरा वजन झेल लोगी ना?मैंने बोला- हां.

उसी की ये कहानी है, बहुत बार हम कहानी पढ़ते हैं कि कोई लड़की, भाभी मिली, जो सेक्स के लिए तड़प रही हो और उसके साथ सेक्स किया, मगर हमारे जिंदगी में ऐसा नहीं होता.

एक दूसरे को इस तरह से किस करने में वाकयी बहुत मजा आता है, ये मेरा अनुभव भी रहा था. एक दिन मैं मार्केटिंग के सिलसिले में वहां से गुजर रहा था तो मैंने देखा कि वो बिलकुल फ्री बैठी थी. उन मेल में आप सबने मुझसे अगली कहानी लिखने के लिए भी बोला था, तो आज मैं अपनी दूसरी कहानी आप सभी के मजे के लिए लिख रही हूँ.

थोड़ी देर नीचे लेट कर चूत चुदवाने के बाद पूजा बोली- हाय मेरी चूत के राजा, बड़ा मज़ा आ रहा है. मैं जल्दी से छत पर गया और फोन अनलॉक करके वीडियो देखने लगा कि क्या बना है. एक दिन जब जसवीर शॉप पे था, स्नेहा स्कूल गई हुई थी और मौसा जी कहीं शराब पीने गए हुए थे, तब घर में सिर्फ़ मैं और मौसी ही थे.

सब काम इस छोटी सी जगह में होना था और टाइम भी ज्यादा नहीं था, तो कपड़े उतारने में कोई फायदा नहीं था.

दोस्तो, मेरा नाम दिव्येश मिश्रा है और मैं जामनगर गुजरात का रहने वाला हूँ. ”मैं उनके पीछे जाकर उनसे सट के खड़ी हो गयी। एक साथ धक्का देने से टहनी थोड़ा सा खिसक तो गयी पर मेरा बदन उनके नंगे बदन पर रगड़ने की वजह से मेरी कामवासना जागृत होने लगी। मेरे स्तन उनकी पीठ में घुस गए थे, मुझे पूरा भरोसा था कि अंकल भी उत्तेजित हो गए होंगे।नीतू … थोड़ा और जोर लगाना होगा, तुम पीछे से ज्यादा जोर नहीं लगा सकती। एक काम करो तुम आगे हो जाओ, मैं तुम्हारे पीछे से जोर लगाता हूँ. उनमें से एक अंकल को पहचानती थी, वो मेरी मौसी की ननद के पति थे, वो आर्मी से रिटायर्ड हो चुके हैं.

वो मस्त हो कर कह रही थीं- शाबाश ऐसे ही लगा रह!मैं उनके बूब्स से खेल रहा था और उनके मम्मे धीरे धीरे टाइट होकर बड़े होते जा रहे थे. प्लीज मेरी कहानी के बारे में अपने कमेंट, अपनी राय मुझसे जरूर शेयर करें. चाची चाचा का लंड को जोर जोर से हिलाते हुए बोले जा रही थीं- जल्दी घुसा दो अपना मूसल लंड मेरी चूत में.

मैंने तेरी गांड को भी बहुत चोदा और अब लगता है कि तेरी चूत की रगड़ और गर्मी मेरा लौड़ा बर्दाश्त नहीं कर पाएगा.

उसकी नज़र शायद मुझ पर रही होगी, जिस वजह से उसने चाचा को बुला कर कहा- तुम पैसे नहीं दे सकते तो अपनी भतीजी की शादी मुझसे कर दो. धीरज एक मिडिल क्‍लास परिवार से था, उसने मुझे बताया कि वो एक मिडल क्लास के परिवार से है और उसके कुछ रिश्तेदार तो बहुत ही ग़रीब हैं.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में एक दिन भाभी ने मुझसे पूछा कि कॉलेज में मेरी कोई जीएफ बनी क्या?तो मैंने मना कर दिया. उसने टी-शर्ट के नीचे जालीदार ब्रा पहन रखी थी जिसमें उसके मम्मे बहुत ही सुंदर लग रहे थे.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में वो लड़का बोला- मैं आपके घर आ जाऊं?तो मैं बोली- आ जाओ!तो वो लड़का कुछ देर के बाद अपनी बाइक से मेरे घर आ गया. मैं- लंड से क्या करते हैं?अंकल- इसको अपने हाथों से पकड़ो, सहलाओ, फिर देखना.

उसकी गोरी गोरी टाँगों और उस नाइटी के अन्दर से निकलती मादक गरम हल्की हवाओं में जैसे फूलों की सुगन्ध मिला दी गई हो.

बीएफ सेक्सी भाभी

इस अवस्था में खड़े होने की वजह से अशोक का चेहरा मयूरी किए घुटनों के समीप है और मयूरी की स्कर्ट बहुत छोटी होने की वजह से उसकी जांघों और चूत के आस-पास की जगह का अशोक बड़े आराम से दर्शन कर पा रहा था. मेरी बीवी को सामान मंगाने का ऑर्डर दिए चार दिन हो गए थे, लेकिन पायल आ नहीं सकी थी. कुछ देर मिशनरी पोज में मेरी चूत में धक्के लगाने के बाद उनका गर्म गर्म माल मेरी चुत में उतर गया.

इस बार मैं उसकी चूत को अच्छे से चाटना चाहता था क्योंकि मुझे चूत चाटने में बहुत मजा आता है. मैंने अपना लंड जूही की चुत में डाल दिया और उसकी गांड को पकड़ कर उसकी चुत चोदने लगा. अब उनकी बारी थी मेरे से खेलने की … मैं तो उनके लंड चूसने के तरीके से पहले ही परिचित था, बहुत मस्त लंड चूसती हैं.

मैंने जैसे ही ये किया और मेरी गर्म सांसों ने उसकी गरदन को छुआ, वो एकदम से सिहर उठी.

मैंने पूछा- वो क्या है जानू?तो टीचर बोले कि वो मुझे एक औरत की तरह तैयार करके चोदना चाहते हैं. फिर मैंने भाभी को उल्टा लेटा दिया और उनकी गांड को सहलाने लगा, बिल्कुल गोल मांसल कूल्हे जैसे इन्हें संगमरमर के पत्थर की तरह तराशा गया हो. फिर मैंने उनके रेट वगैरा पूछे और 1 घंटे बाद उस मसाज पार्लर में पहुंच गया.

उसने ज़ल्दी से मेरे पैन्ट की चैन खोली और मेरा तन्नाता हुआ लौड़ा निकाल कर चूसने लगी. तब तक मैंने भी बिना झड़ा लंड पैंट के अन्दर कर लिया और अपने घर वापस आ गया. ये कहने के लिए मैंने जैसे ही अपना मुँह खोला तो मनोहर ने अपना लंड मेरे मुँह में अन्दर घुसा दिया.

मतलब लड़की की चूत भी पसंद है और लड़कों की गांड और लंड भी!बहुत सोचने के बाद आज मैंने कोशिश की कि आज अपनी पहली कहानी आप लोगों के सामने रखूँ. तभी माइक ने दो जोरदार धक्के मारे, जो उसकी योनि की बच्चेदानी तक गए होंगे.

आप रिश्ते से दादा जी हो लेकिन देखने से वैसे दादाजी टाइप के लगते नहीं. जब तक मैं वहां रहा मैंने एना को खूब चोदा, क्योंकि वहां किसी भी तरह की कोई रोक टोक नहीं थी कि घरवाले या मोहल्ले वाले ज्ञान दें. गोद में बैठते ही अब मेरी छोटी छोटी चुचियां केवल समीज़ में एकदम बाहर की ओर निकली हुई दिख रही थीं.

राज अंकल ने अंकित को उठाया, धीरे से बोले- अंकित उठ … उठ जा!जैसे ही अंकित उठा तो अंकल बोले- तू घबरा नहीं, डर नहीं, हमारी सारी बातें तो तूने सुन ही ली होंगी, अब तुझे डरने की जरूरत नहीं, तूने कुछ गलत नहीं किया, ना इस सोनू की गलती है, यह जवान है, सेक्सी है, इस उम्र में सबका मन करता है.

आज से जैसा दिनेश बोलता है, तू वैसा ही कर ले, तू मेरी रंडी और रखैल बन जा, तेरा पूरा खर्चा मैं उठाऊंगा. अब वो बिना कपड़े उतारे अपना हाथ मेरी शर्ट के अंदर डाल कर मेरे मम्मों को दबाने लगा और उनकी निप्पल से खेलने लग गया. मैंने अपनी योनि को एक तौलिये से साफ किया फिर मोबाइल पकड़ कर लेट गयी.

फिर उसने अपने फोन से उसके लवर को कॉल किया और बोला- मैंने सीमा से आने को बोला है. अब मेरी जान में जान आई, मैं अंदर जाकर पांच मिनट बाद निकली और वहाँ से चली गई.

आंटी की गदरायी मस्त गांड को अपने हाथों से दबोचते हुए और गांड के छेद को कुरेदते हुए उन्हें मज़ा दे रहा था. फिर जब सब लोग थक कर बैठ गए तो कोमल के आग्रह पर मयूरी ने अपने मायके में हुई चुदाई की शुरुआत की कहानी शुरू की. अब वो बिना कपड़े उतारे अपना हाथ मेरी शर्ट के अंदर डाल कर मेरे मम्मों को दबाने लगा और उनकी निप्पल से खेलने लग गया.

सेक्सी बीएफ एचडी फिल्म

जब ये वाली चुदाई होगी तो उसकी कहनी भी मैं अपने अन्तर्वासना पाठकों के लिए अवश्य लिखूँगा.

हमारे होंठ और जीभ यूं ही काफी देर तक आपस में लड़ते रहे फिर बहूरानी नीचे हाथ लेजाकर जैसे कुछ टटोल के ढूँढने लगी. वो अपने पति से वो सब पाना चाहती थीं, लेकिन पति के द्वारा समय न दे पाने के कारण वो हमेशा ही प्यासी बनी रहती थीं. तब मुझे समझ में आया कि चाचा मुझे बेचने के लिए लड़के लाता है और उनको मेरे को दिखाता है.

ट्रेन अगले स्टेशन पर रुकने लगी तो झटका लगते ही पीछे वाले आदमी ने मेरी गांड को आगे को धकेला. तुम्हारे साथ कोई फोटो तो नहीं है ना उसके पास?”उसने जवाब दिया- नहीं सर. हिंदी गाने बीएफ सेक्सीएक बार तो उसने मुझे मना कर दिया किन्तु मेरे कुछ जोर देने पर वो मान गयी, फिर हमने साथ में लंच किया तो बातों बातों में पता चला कि वो यहाँ अकेली रहती थी और उसे जयपुर आये काफी समय हो गया था, और पहले वो कहीं और जॉब करती थी।वो लंच नहीं लायी थी तो मैंने उससे अपना लंच शेयर किया इसलिए मेरा पेट नहीं भरा.

दोस्तो उस बैंगन से मादक नमकीन सी खुशबू आ रही थी उस डस्ट बिन में विश्पर के भी पैकेट पड़े थे. शायद डीके और मेरे साफ सुथरे रिश्ते की जिस्मानी रिश्ते में बदलने की यह शुरूआत थी.

मामी जी भी अपनी गुदा ढीला करके, पूरा दिल खोल के खुशी से गांड मरवा रही थीं. और कुछ अपनी तरफ से मिला कर उनको दहेज में ज़रूरी ज़रूरी वस्तुएं दीं और एक हनीमून ट्रिप ऊटी का बुक कर दिया. और उसने बताया कि मेरा पति हमेशा शराब पीकर आता है और सो जाता है मुझे हाथ भी नहीं लगाता है और कभी करता भी है तो दो चार झटके लगाकर अपना काम करके सो जाता है।उसने यह भी बताया कि वो मुझे शुरू से ही पसंद करती है पर बता नहीं पाई.

दोपहर में सरिता हमारे घर पर सोने के लिए टीवी देखने के लिए या खेलने के लिए रोज आती थी क्योंकि उसके पापा की आय बहुत कम थी और उनके घर में पंखा और टीवी नहीं था. अब उन्होंने मेरी कमर पकड़ी और धीरे से अपने लंड का टोपा मेरी गांड में घुसाने लगे. जब मैं प्रिया की चूत की चुदाई कर रहा था तो मन किया कि उसकी गांड की चुदाई करूँ, पर मैंने सोच लिया था कि सब कुछ कर लूंगा तो नेक्स्ट मीटिंग में भी तो कुछ होना चाहिए, इसलिए मैंने उस दिन प्रिया की गांड नहीं मारी.

अशोक के सामने अब उसकी बेटी बिल्कुल नंगी पड़ी हुई थी, हालाँकि उसने कपड़े तो पहने हुए थे पर वो मयूरी का शरीर का कोई भी भाग ढकने में कामयाब नहीं था.

मुझे फैशन का बहुत शौक है और जब भी मेरे चाचा का लड़का आता है, जिसको मैं भाई बोलती हूँ, वो मेरे जिस्म की खुशबू से ही मदोश हो जाता है. मैंने देर ना करते हुए उसकी सलवार उतार दी और उसकी चिकनी चुत को देखते ही दिल खुश हो गया, जो इस वक्त फूल कर डबल रोटी की तरह दिख रही थी.

वो बैठी थी, मैंने जाते ही पहले दरवाजा बंद कर दिया और उसके पास वाली कुर्सी पर बैठ गया. लेकिन एक दो बार आनन्द के चलते धक्के तेज लग गए वह थोड़ा सा इंऊं … करती हुई अंगड़ाई लेती हुई फिर से सो गई. चाची ने भी अपना पल्लू गिराया और ब्लाउज खोलते हुए बोलीं- इस खेल के लिए तुम्हें बूब्स से खेलना होगा … तो चल शुरू हो जा.

शीतल- सॉरी बेटा… ज्यादा जोर से दबा दिया क्या मैंने?मयूरी- नहीं माँ… बहुत अच्छा लग रहा है… ऐसे ही करो न… आह!शीतल- ठीक है बेटा… तो तुम क्या कह रही थी?मयूरी- माँ… आप गुस्सा तो नहीं करोगे ना…शीतल- नहीं बेटा… आप बिना डरे अपनी बात बताओ?मयूरी- माँ… कुछ दिनों से मेरे मन में…शीतल- बोलो बेटा?मयूरी- वो… मैं …शीतल- अरे कोई बात नहीं बेटा… आप बताओ… क्या बात है… डरने की कोई जरूरत नहीं है. ई…ई”मेरी जान निकल गई, उनका लौड़ा मेरी आधी चूत में लसलसा कर अंदर चला गया था और मेरी आँखों से आँसू की धार बहने लगी. मैं उसका जोश देखते हुए उस पर चढ़ गया और मैं उसके पूरे जिस्म को चूमने लगा.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में इस बार मैं उसकी चूत को अच्छे से चाटना चाहता था क्योंकि मुझे चूत चाटने में बहुत मजा आता है. जिस जिस्म को देखने हम पिछले एक वीक से तड़प रहे थे, बिना लाइट के उस हुस्न को कैसे देखेंगे.

सेक्सी बीएफ वीडियो दिखाएं

उसने मुझे हाथ पकड़ कर खड़ा कर होंठों पर चूमते हुए लंड पकड़ कर बोली- सच राजू, आज तुझे इस तरह प्यार करके मुझे सपने जैसा लग रहा है. एक दिन उसने कहा कि मेरी मकान मालकिन और उसके परिवार के सब लोग कुछ दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं. हम दोनों सोफे पर बैठे और चाची पानी लेकर आईं, हम दोनों ने पानी पिया और उनकी तरफ देखने लगे.

स्वाति जिसको अब उतना दर्द नहीं था, उसने आंख खोलते हुए कहा- अन्दर नहीं, बाहर ही निकालना. संपत ने मम्मी की नाइटी की ऊपर की डोरी खोल दी और अपना हाथ मम्मी की मोटी चुचियों पर चलाने लगे. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर एचडीजीजा जी (दीपक) का लंड मैं अपनी चूत में ले चुकी हूँ, वो आपकी चूत को बहुत खुश रखेंगे.

मगर उसने गालियों को अनसुनी करके एक और धक्का मारा, जिससे उसका पूरा लंड मेरी गांड में अन्दर तक घुस गया.

जब मैं छोटा था, तब वो मेरे सामने ही कपड़े बदल लेती थीं, मैं तभी से मौसी के मम्मों का दीवाना हूँ. उन्होंने मुझे औंधा कर दिया और मेरी गांड पर किस किया, हल्के से उस पर काटा.

मैं बोली- यार उनकी चुदाई देखकर मेरी चूत से पानी निकाल रही थी रात को. अब दोनों भाइयों के दिल में धक्-धक् हो रही थी कि मयूरी पता नहीं क्या बोलने वाली है. हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम कपिल है और मैं यहां पर नया हूँ, तो मुझसे कोई भूल या गलती हो जाए तो माफ़ कर देना.

मैं बहुत देर तक उस फोटो को देखती रही, तब जा कर पता लगा कि उसने कम्प्यूटर की मदद से मेरा और अपना फेस उस फोटो पर लगाया था.

”जी!” पूजा ने इससे ज्यादा कुछ नहीं कहा।मैंने चलने को कहा तो और जैसे ही दरवाजे की तरफ चला तो पूजा की मीठी सी आवाज कानों में पड़ी- प्लीज आप थक गए होंगे … चाय पी कर जाइये. ” कहते हुए उन्होंने मेरी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया।आहऽऽऽ… पापा…उम्म…” उनके स्पर्श से मेरी मादक सिसकारियाँ निकालनी शुरू हो गई।उम्म… यू आर सो स्वीट नीतू… तुम्हें खाने का मन कर रहा है. मैंने कहा- तुम्हारे साथ क्या क्या कर सकता हूं?तो उसने कहा- लिप किस, गांड में… पर लंड नहीं चूसूँगी.

ब्लू फिल्म हिंदी में वीडियो दिखाएंएक दिन मेरी बीवी कुछ काम कर रही थी, तो वो मुझसे बोली कि आप ये कचरा नीचे डाल आइए. मैंने मदर डेयरी पर टोकन खरीदा और लाइन में लग गया, लेकिन मैंने देखा कि मेरे आगे सरिता भी दूध की लाइन में लगी हुई थी.

सेक्सी हिंदी नंगा

वो अपना मुंह हथेलियों से ढके सीधी लेटी थी, उसके उन्नत उरोज सांसों के उतार चढ़ाव के साथ उठ बैठ से रहे थे; दोनों पैर अलग अलग से फैले थे जिससे उसकी मांसल जांघों का वो फैलाव उसके बदन की कामुकता को और प्रबलता से दर्शा रहा था. कोमल भाबी अपनी गांड मटकाते हुए चली गईं, मैंने कपड़े पहने और लिफ्ट से उनके घर आ गया, दरवाजा खुला था. पास जाकर देखी तो दरवाजा अंदर से लॉक था और मैंने साइड में बने होल से देखी तो अंदर देखा कि मम्मी पापा दोनों नंगे होकर कुछ कर रहे हैं, मम्मी पूरी नंगी नीचे लेटी हैं और पापा पूरे नंगे उनके मूतने की जगह पे अपना लंड डालकर धक्के दिए जा रहे हैं.

पांच मिनट बाद संपत जी मम्मी की चुचियों को दबाते हुए बोले- समधन जी मेरा एक काम करोगी?मम्मी संपत जी को चूमते हुए बोलीं- तुम बताओ तो राजा. सही कहा जाए तो एक उत्तेजित मर्द के भीतर बहुत सारी ताकत एकाएक आ ही जाती है. करीब 20 मिनट के बाद मैं भी उनकी चुत में ही डिसचार्ज हो गया और अपना सारा पानी उनकी कसी हुई चुत में ही छोड़ दिया.

अंकल मुझे हर रोज टाफी देते थे और मुझे टाफी चूसने में बहुत मजा आता था. लेकिन आज की कहानी मेरी पिछली कहानी से भी पहले की है जब मैं किसी चूत के लिए तरस रहा था, तड़प रहा था. ! अरे मैडम आपको कोई ग़लतफ़हमी हुई है और आप शायद किसी और के चक्कर में मुझे यहाँ खींच लाईं.

फिर अगले पल मैं खुद ही अंकल के गोद में आगे की ओर थोड़ी सी उचकी और अपनी समीज़ को दोनों हाथों से खुद ही निकालने लगी. वो मेरी रजा समझ गया और अब वो मेरी चूची को अपनी हाथों में लेकर दबाने लगा.

मैंने कहा- तुम्हारे साथ क्या क्या कर सकता हूं?तो उसने कहा- लिप किस, गांड में… पर लंड नहीं चूसूँगी.

मुझे मेरे भाई ने खूब मजा दिया, मेरी वासना की पूर्ति का साधन अब मेरा भाई बन गया था. ब्लू सेक्सी बीएफ हिंदीवासना से मेरी आवाजें थोड़ी तेज होने लगी और मैं बहुत ज्यादा गर्म हो गयी थी चुदवाने के लिए और मैं उसको बोलने लगी- अब मुझसे नहीं रहा जाता है बस, मेरी चूत नहीं चाटो … मेरी चूत में लंड भी डालो!और उसने मुझे बिस्तर पर चित लिटा दिया और मेरी चूत में अपना लंड डालने लगा. टीचर सेक्स बीएफउसके कुछ मिनट बाद ही मैं भी आने वाला था तो मैंने लंड को बाहर निकाला और उसके पेट के ऊपर झड़ गया क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि वो मेरी वजह से दिक्कत में आए. चूत के रस छोड़ देने से अन्दर चिकनाहट भर गई थी, जिससे एक मीठी से गुदगुदी हो रही थी और उसके मुँह से प्यारी मिठास भरी सिसकारी सुनाई देने लगी थी.

अब मैंने भी बिना देर किए भाभी को सीधा लेटाया और अपना लंड उनकी चूत की फांकों में लगा कर अन्दर डालने लगा.

उसकी चूत बहुत टाईट थी, जिसकी वजह से मेरा लंड उसकी चूत में नहीं घुसा. मैं उसकी चुत पर उंगली फेरकर चूत का मजा ले रहा था और वो भी मेरी उंगली का अपनी चूत पर फिरवाने का मजा लेने लगी थी. यही सोच कर मैं एक महीने तक नेहा के कॉलेज की तरफ नहीं गया और इसी बीच मैं मोनिका से कोई दस बाद मिला.

कई बार तो हमने बाहर होटल में जाकर भी खुब चुदाई की।और एक बात जो मैं सभी पाठकों को ख़ास तौर से बताना चाहूँगा कि संगीता में एक बहुत बड़ा गुण था कि वो लण्ड को चूसना बहुत अच्छे से जानती थी।आप लोगों को मेरी यह सेक्स कहानी कैसी लगी? प्लीज मुझे मेल करके बतायें और अगर कोई गलती हो तो मुझे क्षमा करें। मेरी कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद. मैंने कहा- कौन, देवेन्द्र …?मुकेश बोला- इसका मतलब आप जानते हो, मैंने उसका नाम कब बताया था, बस लड़के के बारे में पूछा था. मैंने लंड को चूत के मुँह पर रखा और ऊपर से नीचे रगड़ने लगा, चूत का मुँह हल्के से खुलता और बंद हो जाता साथ में मेरा लंड दाने को भी सहला देता.

हिंदी में बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी में

फिर मैं आगे बढ़ा और उसका कुरता और लेग्गिंग उतार दिया। उसने पीले रंग की ब्रा और पैंटी पहनी थी। उसका फिगर 36 -30 -38 था। मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए, वो एकटक से मेरा लंड देख रही थी।मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपना लंड उसके हाथ में दे दिया. मगर एक दिन मुझे पता नहीं क्या सूझी कि मैं उसके कमरे में चली गई और देखा कि उसके कमरे में बहुत सी अश्लील किताबें थीं और उनमें से बहुत सी फोटो वाली भी थीं. मुझे इस तरह से बड़ा मजा आया और मैंने इस तरकीब से आगे भी खेलने का मन बना लिया.

तू मेरी चूत को आज फाड़ दे! और हाँ, यह मम्मी वाला जो आइडिया दिया है, इस काम को जरूर करवा देना.

हालांकि मम्मी समझ गई थीं कि ये समधी जी हैं और शायद मेरी मम्मी को संपत जी का लंड भा गया था तो वे भी उनसे चुदवाने को राजी हो गई थीं.

लिफ्ट बीच में रोकने की वजह से अलार्म बजा और उसके साथ ही वो मेरी तरफ घूम कर अपने घुटनों पर आ गयी. फिर मैंने देर नहीं करते हुए लंड को उसकी चुत पर रख दिया और ऊपर से ही घुमाने लगा. एचडी बीएफ दिखाइए हिंदी मेंमेरा भी लंड पेंट से बाहर आने लगा, मेरा लंड उसको अपनी चुत में महसूस हो रहा था.

दबा कर चूस कर मसल कर, चूतड़ पर कमर पर जांघों पर सहला कर, तेरा रस निकाल दूँ. जब उसका लंड सख्त नहीं हुआ तो वो मुझसे बोला- आज इसको मुँह में डाल कर चूसो. मेरी बीवी को सामान मंगाने का ऑर्डर दिए चार दिन हो गए थे, लेकिन पायल आ नहीं सकी थी.

उसने बताया- मैं सारा दिन सेक्स ही सोचती रहती हूँ, इसलिए पढ़ नहीं पाती. वहां खेत में काम करने चाचा चाची और भैया जाते थे और भाभी घर पर रहती थीं.

उधर ही छत पर एक लकड़ियां वगैरह रखने की एक जगह सी बनी थी, जिसे पड़ोसी बाथरूम की तरह यूज़ करते थे.

बस 5 मिनट लगातार किस के बाद हम अलग हुए और मैं सीधा उसके चुत पर टूट पड़ा. वो पूरा खेला खाया हुआ था, इसलिए उसको मेरे जिस्म से खेलने में ज़रा भी टाइम नहीं लगा और ना ही कोई शरम जैसी आई. क़रीब दस मिनट बाद वो थोड़ी शांत हुई, तो मैंने उसको सहलाते हुए धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करने लगा.

पोर्न सेक्स मराठी मैंने फिर से पूजा को चोदते हुए पूछा- क्यों क्या हुआ तुम्हारी चूत को. इतना कह कर भाभी बेड पर लेट गयी फिर रंडी की तरह पैर फैलाकर भाभी बोलीं- अब चाटो न मेरी चूत.

ये देख कर एक बाजू सुनील और दूसरी में मैं उसकी बांहों को किस करने लगे और उत्तेजना बढ़ने पर उसे काटने लगे. मैं प्रिया की कमर को दोनों हाथों से पकड़ कर अपने लंड को जोर जोर से प्रिया की चूत की चुदाई करने में लगाया हुआ था. घर में घुसते ही आयेशा ने मेरी टीशर्ट फाड़ दी और मेरे शोर्ट्स निकाल कर मुझे नंगी कर दिया, ब्रा पैंटी मैने भी नहीं पहनी थी। तभी साहिल और आयेशा दोनों नंगे हो गए, फिर जोरदार चुदाई का राउंड चला जो लगभग एक घंटे तक चला।हम तीनों बिस्तर पर ऐसे ही नंगे पड़े रहे.

सेक्सी गाना वीडियो में भोजपुरी

एक दिन मैं ऑफिस से घर आया तो वो मेरे घर में मेरे पत्नी के साथ बात कर रही थीं. मैं उनके नाक से छोड़ी गयी सांसों को अपने सीने में भरने का जतन कर रहा था. उसने एक हाथ को मेरे मम्मों और दूसरे को मेरी चूत पर रख कर बोला- मैं हर दिन इनके बिना कैसे रहता था, मैं ही जानता हूँ.

लिफ्ट बीच में रोकने की वजह से अलार्म बजा और उसके साथ ही वो मेरी तरफ घूम कर अपने घुटनों पर आ गयी. दो मिनट में मेरा भी पानी निकल गया, लंड पहले ही काफ़ी गर्म हो चुका था … तो उसे पानी निकालने में ज्यादा टाइम नहीं लगा.

उसने मुझे बताया कि उसका चाचा, जब भी वो नहाने जाती थी, तो गुसलखाने का दरवाजा खोल देता और दरवाजे में आ कर खड़ा हो कर मुझे नंगी देखता रहता था.

और तेरी गांड का तो कहना ही क्या, अब मैं तेरी गांड को चोदने जा रहा हूं. मैंने कहा- मां जी, अगर यह बच्चा मेरा होता और मैं अपनी ननद की जगह मैं होती तो क्या होता? यही सोच कर मैं बहुत डर गई. जब मैं उस खिड़की के पास गया था तो उस और एक पड़ोसन भाबी मस्ती में अपने बड़े बड़े बोबों को सहलाते हुए नहा रही थीं.

डांस वांस करके फोटो खिंचवा के हम लोग धीरे से बारात के पीछे होते जायेंगे और फिर चुपके से निकलकर यहीं धर्मशाला में आ जायेंगे. इस पर वो बहुत खुश हो गई और बोली- यार दोस्त हो तो कोई तुम्हारे जैसा, वरना यहां तो सब साली हरामजादियां ही हैं. तुम्हें बहुत बहुत धन्यवाद… नहीं तो तुम्हारा ये मखमली जिस्म मुझे भोगने और चोदने को कैसे मिलता.

उस पर ऑनलाईन वीडियो चल रहा था जिसमें एक लड़का एक लड़की को बड़े प्यार से चोद रहा था।मैंने प्रीति से कहा- प्रीति, तुम जो करती हैं वो ग़लत नहीं है क्योंकि इस उम्र में अक्सर हॉस्टल की जवान होती लड़कियां ऐसा करती हैं और आपको यह अकेले करने की कोई जरूरत नहीं है।तब वो बोली- क्या मतलब?फिर मैंने कहा- जब तुम यह सब कर रही थी तो मैं भी लेटे लेटे अपनी चूत में उंगली कर रही थी.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में: अंकित ने मेरी चूत में भरा राज अंकल के लंड रस और उसी में मिला मेरी चूत रस को चाट चाट कर साफ़ कर दिया. तभी तारा ने अपने पर्स से एक रेडियो निकाला और उसमें अंग्रेजी में कहा कि हम आ गए हैं.

हम लोग बताई हुई जगह पर पहुँचे और उस महिला को फोन किया तो उसने बताया कि शालिनी अभी बाहर गई हुई है, थोड़ी देर बाद आएगी, तब मिल लेना; आप लोग इन्तज़ार करो।हम लोग वहां रुकने की बजाये 1 किमी दूर रोड पर आकर एक रेस्टोरेन्ट पर बैठकर इन्तज़ार करने लगे. मामी जी भी मेरे लंड को अपनी गांड की दरार में चुभन महसूस करके मचल उठीं- ओह्ह्ह राहुल. लेकिन असल बात ये थी कि उन्होंने गाऊन के ऊपर वाले अपने दो बटन खोल दिए थे, जिससे उनके चुचे लगभग बाहर आ रहे थे.

अब मेरे हाथ आगे की ओर होते हुए उनके स्तनों को मसल रहे थे, उनके निप्पल को पकड़कर खींच रहे थे.

माइक ने एक और आखरी हल्का धक्का दिया और तारा के ऊपर अपना पूरा वजन गिरा दिया. उन्होंने एक बड़े से होटल में कमरा बुक करवाया था, जो मुझे नहीं बताया था. चुदाई में क्या कैसे और क्यों होता है … ये सब मैंने अन्तर्वासना से ही जाना.