बुढ़िया के बीएफ

छवि स्रोत,नंगी लड़की डांस

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी बीएफ फिल्म दिखाओ: बुढ़िया के बीएफ, मैंने धीरे से उसके टॉप में पीछे से हाथ डाल दिया और उसकी पीठ को सहलाने लगा.

सिलाई मशीन धागा

उसने अपने हाथों से मुझे अलग करने का प्रयत्न किया लेकिन मैं डटा रहा. लड़की के बुरमोहिनी ने काफी जोर दिया और कहा- नहीं आप अपनी कार को वर्कशॉप में भिजवा कर एस्टीमेट बता दें, मैं पैसे ट्रांसफर कर दूँगी.

जब मैंने अपनी बहन की गांड में से लंड निकाला तो उसकी गांड से गू मेरे लंड में लग गया था. बिग ब्लैक कॉक सेक्सउन दोनों के चेहरे पर संतुष्टि के भाव थे पर मैं अभी भी संतुष्ट नहीं थी.

मैं- लेकिन भैया, मैंने ऐस फक़ वीडियो में देखा कि जब पहली बार गांड फटती है, तब बहुत ज़्यादा दर्द होता है.बुढ़िया के बीएफ: अब मुझसे भी कंट्रोल नहीं हो पा रहा था इसलिए मैंने बाथरूम में जाकर पिंकू की मदमस्त जवानी और चूत की वीडियो देखकर जोर जोर से लंड हिलाने लगा.

राजीव एक हाथ से मेरी नंगी जांघ सहलाने लगा और पूरे रास्ते वो मेरी चूत में उंगली करता रहा.दोनों तरफ से मज़ा लेने के लिए मैंने भी रीना को बिस्तर की ओर धकेला और झुकते हुए मेरा लौड़ा उसके मुँह में देकर उसका मुँह चोदने लगा.

अंडरवियर सेक्सी - बुढ़िया के बीएफ

अब आगे हॉट देसी न्यूड गर्ल सेक्स कहानी:जैसे तैसे वह दिन गुज़र गया और अब अगला दिन हो चुका था.ये सुनकर रेखा की मां कहने लगी- हां अंकित, तुम्हारे ये घोड़े जैसे लंड का स्वाद मुझे भी लेना है.

फिर थोड़ी देर के बाद लखनऊ आ गया और वो अपनी सास के साथ चली गई।उसके बाद हम एक-दूसरे से कभी नहीं मिले।इस तरह सफर में मैंने बहू और उसकी सास को गलती से चोद दिया।आपको यह स्लीपर ट्रेन सेक्स कहानी कैसी लगी?मुझे कमेंट्स में बताएं. बुढ़िया के बीएफ करीब 10-12 मिनट की चुदाई की बाद वो बोली- मेरा होने वाला है, मुझको माँ बना दो.

मेरे मुँह के सामने हिलती हुई उसकी चूचियों को मैं बारी बारी से चूस रहा था, उसके कड़क निप्पलों को बारी बारी से दांतों की पकड़ में लेकर खींच रहा था.

बुढ़िया के बीएफ?

वो मुझसे अकेले में मां कहने की जगह अपना अदिति लेकर बुलाने को कहती थीं. कहानी के पिछले भागबहन की चुदक्कड़ जेठानी चुद गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि रात को जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों सो गए थे. उनके चूतड़ों की लचक इतनी ज्यादा है कि जब वो चलती हैं तो दोनों चूतड़ ऊपर नीचे हिलते हैं.

पर जब मैं हद से ज्यादा आगे जाकर उसके बोबे और गांड पर हाथ लगाकर ये सब करता, तो अम्मी कहतीं कि अब तुम्हारा भी निकाह करना पड़ेगा. वो जो कुछ भी कर रहा था, जहां भी छू रहा था, मेरे शरीर में उत्तेजना पैदा हो रही थी. पर मेरी समझ में नहीं आ रहा था कैसे करूं?सोनी के बारे में घर वालों को मैं अभी बताना नहीं चाहता था क्योंकि सोनी दूसरी जाति की थी.

कभी हम लड़कियों को कुछ काम होता था तो हम उन तीनों में से किसी एक को भी बता दिया करती थी … या फिर उनको हमारी से कुछ हेल्प चाहिए होती थी, तब वे भी हम लोगों को यह चीज बता दिया करते थे. अंकल ने अपना हाथ मेरे पैंट के अन्दर डाल दिया और मेरी सिसकारी निकल गई. मेरा नशा बढ़ गया था और मेरा चेहरा आपा के चूचों के पास था, मैंने हल्के से एक चूची में दांत गड़ा दिया.

उसी समय मुझे उसका खड़ा हुआ लंड महसूस हुआ, जो कि अच्छा ख़ासा लग रहा था. वो जाग कर लंड के लिए गर्माने लगी तो फ़ज़लू भी बिना टाइम खराब किए चुदाई को रेडी हो गया.

अदिति एकदम से गर्मा गई और उसने अपने हाथों से मेरा सर अपनी चूत पर दबा लिया.

मैंने सोनी की टांगों को घुटनों से और चौड़ी कर दीं और उसकी चूतके छेद में अपनी बीच वाली बड़ी उंगली डाली.

उसी पल मुझे एक भयंकर झटका सा लगा और मैं वहीं पर खड़ी खड़ी झड़ने लगी. मैं- तो नवाज भाई से भी कराई होगी?वह- वो तो, जब मैं चिकना लौंडा था, तब से रगड़ रहे हैं. मेरे लिए बस इतना जरूरी है कि तुम मेरे साथ हो तो सिर्फ मेरी बन कर रहो और मुझे तुम पर पूरा भरोसा है.

इसलिए मैं अपने पति को बस यही बोल देती हूँ कि डॉक्टर ने मुझे दवा दे रखी है, खा रही हूँ. बहुत सारे पाठकों ने मेरी कहानियों को सराहा भी है और हजारों की तादाद में मुझे आप सभी के ईमेल भी मिलते हैं. नहाने के बाद मैं एक छोटी सी फ्रॉक बहन कर बिना पैंटी के नंगी ही सो गई.

करीब पांच मिनट डॉगी स्टाइल में चुदाई करते हुए सिमी झड़ने के नजदीक आ गई.

मैंने जब उनसे इस बारे में पूछा, तब उन्होंने बताया कि हां ऐसा होता तो है … और इसमें बुरा भी कुछ नहीं है. वो उसकी सुंदरता और उसकी मदहोश कर देने वाली फिगर के बारे में ही सोच रहा था. भाभी भी कम नहीं थीं, उन्होंने अपना राम बाण चलाया और पूछा- बताओ आपको मेरी कसम है, कौन है वो खुशनसीब लड़की?मैंने कहा- भाभी बता दूंगा लेकिन आपको भी मेरी कसम है, आप बुरा नहीं मानोगी.

मैं उन्हें दिन दिन भर निहारने लगा था, हमेशा ही उन्हें ढूंढने लगा था और ख्याली पुलाव पकाने लगा था. दोस्तो, मैं चूत गांड Xxx कहानी में भरपूर सेक्स लिख कर आपको मजा देने का प्रयास कर रहा हूँ और उम्मीद कर रहा हूँ कि आपको भी मजा आ रहा होगा. फिर उसने मेरी चड्डी नीचे कर दी और मेरा खड़ा हुआ लंड मुँह में ले लिया.

एक थे फ़ज़लू मियां, चालीस साल की उम्र में भी भले उसकी शादी नहीं हो पाई थी मगर उसे इस बात का जरा भी गम नहीं था.

थोड़ी देर में वो मेरे ऊपर से उठा और उसका लौड़ा मेरी गांड से बाहर निकल कर लटक गया. वो मेरे चंगुल से छूटने का प्रयास कर रही थी लेकिन मैंने उसको दबाये रखा और उसकी गर्दन, गाल और कान चूमता रहा.

बुढ़िया के बीएफ अब शीरीं, फ़ज़लू मियां की बेगम बनकर उसके लंड को खुश रखने में लग गई थी. और मैं यहां पर उसके पति को गाली दे देकर उसका मुँह मेरे लौड़े से चोद रहा था.

बुढ़िया के बीएफ ये वही लड़का था, उसको देखते ही मेरे मुँह से निकल गया- तुम!उसने भी मुझे देखा और बोला- तुम कौन हो?मैंने अपने आपको संभाला और उसको डांटने के अंदाज में बोली- तुमने मुझे मारा क्यों?अब वो लड़का डरने लग गया. मैं भी उसका पूरा साथ दे रही थी और कमरे का माहौल और गर्माता जा रहा था.

अली- फिर उसके बाद?मैं- फिर उसके बाद उनकी चूत का भोसड़ा बनाने का काम शुरू कर देता हूँ.

ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर भेजो

मैं दर्द से चीख रही थी और वो मेरे होंठों को चूसते हुए मुझे चोदे जा रहे थे. मैं उसका सारा पानी पी गया और कुंवारी बुर को चाट चाट कर साफ कर दिया. फिर मैंने भी उससे उसके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछ लिया तो वो मुस्कुरा कर बोली- हां एक था लेकिन मैंने उसे छोड़ दिया.

पहले अम्मी को चोदने का मौक़ा मिला तो मैंने उसकी बेटी की चूत की बात की. फिर मोहिनी उसके निप्पल अपनी जीभ से छेड़ने लगी तो अर्णव पागल होने लगा. अब मैंने उसकी गांड के ऊपर भी लोशन लगा दिया और थोड़ा दाब देते हुए गांड की मसाज करने लगा.

आप मुझे मेल करें[emailprotected]इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:फेसबुक से मिली खूबसूरत भाभी को होटल में चोदा- 2.

जिससे ना मुझे सांस आ पा रही थी और ना ही मेरी हालत ऐसी थी कि मैं उन तीनों को अपने से दूर धकेल पाऊं. फिर वो नीचे आयी और मुझे गाली देने लगी, उल्टा सीधा बोलने लगी- साले हरामी तूने मेरे कपड़े खराब कर दिए, तुझे तमीज नहीं है कि किस तरह से घर में रहना चाहिए. उसने मोहिनी का हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मोहिनी के बूब्स चूसने लगा.

स्नेहा गुस्से में बोली- ये सब क्या चल रहा है … तुम दोनों ने मुझे धोखा दिया. तभी पिंकू बोली- भैया अब मत तड़पाओ प्लीज, प्लीज मुझे चोद दो, जल्दी से अपना लंड मेरी चूत पर दो और मुझे अपनी बना लो प्लीज!इतना सुनते ही मैं और जोश में आ गया. मैंने भी उसे खुश करने की सोची और अपने होंठों को बिना अलग किए हल्का सा खड़ा होकर उसके साइड में आते हुए उसे अपनी गोद में बैठा लिया.

लंड सहलाते हुए मैं सोचने लगा कि काश ऐसी ही मेरी बीवी हो तो उसकी पूरी पूरी रात चुदाई करूंगा. जैसे ही पॉल का खेल खलास हुआ तो रीना ने मुझे हटाते हुए मेरा लंड पॉल की गांड से बाहर खींच लिया.

मेरी चीख निकलते ही सुरेश ने अपना लौड़ा मेरे मुँह के अन्दर ठूंस दिया जिससे मेरी चीख अपने मुँह के अन्दर ही गुम हो गई. फिर हमने फ़ोन नंबर भी एक्सचेंज कर लिए और हमारी फ़ोन पर भी बातें होने लगीं. अब मैंने उन दोनों से कहा- तुम दोनों एक दूसरे को किस करो और मैं अपना काम करता हूँ.

बहनों की शादी के कुछ दिन बाद ही मुझे चुदाई की भयंकर तलब लगी तो सामने अम्मी थी.

इसके बाद अपने हाथों से मेरी गांड का छेद खोल कर अपना टोपा रख कर मेरे ऊपर चढ़ गए. समय पर उस बेचारी ने हमारी मदद की है और यदि उसी मां की तबीयत ज्यादा खराब हो, तो तू उन्हें अस्पताल ले जाना. मुझे पर्दे की झिरी से साफ़ नजर आ रहा था कि वो अपनी चूत रगड़ने लगी थी.

फिर उसने मेरी चड्डी नीचे कर दी और मेरा खड़ा हुआ लंड मुँह में ले लिया. मैं उसके ऊपर को होती हुई घुटनों के बल वहां से बाहर निकल गयी और रसोई में पानी पीने चली गयी.

आज मुझे चाय फिर वसुंधरा भाभी ने ही दी … वो भी दिलफरेब मुस्कुराहट के साथ. जब मैं उससे अलग हुआ तो देखा और उसकी हालत देख कर उसे बहुत बार सॉरी बोला. [emailprotected]लड़के की गांड की कहानी का अगला भाग:बूढ़े अंकल ने मेरी कुंवारी गांड चोदकर खोली- 2.

हिंदी सेक्सी सेक्स

अब मेरा लावा उसकी चूत में गिरने वाला था, मैंने उसे कसके अपनी बांहों में भर लिया और उसकी चूत में पूरा माल डाल दिया.

उनके निप्पल हर वक्त ऐसे तने रहते थे, जैसे अभी अभी किसी मर्द के मुँह में डालकर जी भरके चुसवा कर आई हों. वो इठला कर बोली- फिर क्या किया था?मैंने कहा- तुम खुद ही सोच सकती हो कि मैंने क्या किया होगा?वो आंख नचाती हुई बोली- मैं कैसे कुछ सोच सकती हूँ?मैंने कहा- अच्छा चल मैं प्रेक्टिकल करके दिखा सकता हूँ. आज पिंकू कुछ ज्यादा ही सेक्सी लग रही थी, आस पड़ोस के लड़के सब पिंकू को ही देख रहे थे।पिंकू मुझसे बिल्कुल सट कर बैठ गई, जिससे उसके बूब्स मेरी पीठ पर महसूस हो रहे थे।मैं जानबूझकर जोर जोर से ब्रेक लगाने लगा जिससे पिंकू के बूब्स मुझे पूरी तरह महसूस होने लगे.

मैंने सेक्स कहानी में ये पढ़ा था कि अगर कोई लड़की, लड़के का लंड चूसती है, तो वो लड़का खुद को संभाल नहीं पाता और खुद भी बेचैन हो जाता है. मेरा लौड़ा मैंने रेशमा के मुँह से बाहर निकाला और किरण के बाल खींच कर उसे रेशमा के सामने लिटा दिया. दादी माँ दादी पोती पर शायरीमैंने कहा- क्या हुआ भैन की लौड़ी … साली हंस क्यों रही है?वो बोली- अपने हथियार को सम्भालो भाई … पैंट फाड़ कर बाहर आने को बेकाबू हो रहा है.

मैंने पूछा- क्या गड़बड़ हो जाएगी?ज्योति ने मुझे बताया कि अन्दर माल गया तो बच्चा ठहर सकता है. फिर अर्णव मोहिनी की चूत के दाने को जीभ से छेड़ने लगा तो मोहिनी उत्तेजना में पागल हो गयी और अर्णव का सर पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगी.

पर तभी पाटिल जी ने रेशमा की कमर पकड़ कर उसकी चूत मेरे लौड़े पर दबा दी और खुद जोर जोर से उसकी गांड फाड़ने लगे. एक ही झटके में फिर से मेरा लौड़ा किरण की चुदी-चुदाई भोसड़ी में आर-पार घुस गया. उसकी बात सुनते ही मैंने उसकी कमर को कसके पकड़ा और एक जोरदार धक्का दे मारा.

मैंने सर के प्रस्ताव के बारे में सोनी को बताया, सोनी को भी सर का प्रस्ताव मेरे लिए ठीक लगा क्योंकि सोनी के पापा भी घर घर जाकर बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते थे. मैं मानता हूं कि मैं अपने मां बाप का इकलौता हूं, पर इस बात के लिए वो कभी राजी नहीं होंगे. पर शायद राकेश इस बात को नहीं देख पाया कि मैं चोर नजरों से उसके लंड को देख रही हूँ.

मैं बहुत ज्यादा रो रही थी क्योंकि आज तक मेरे साथ इतना घटिया बर्ताव किसी ने भी नहीं किया था.

उधर रीना की चूत अब चुदने के लिए बिल्कुल तैयार थी तो इधर मेरा लौड़ा भी रीना जैसी बाजारू रंडी की चूत मारने के लिए तैनात हो चुका था. एक लड़की से मैंने उसकी क्लास का पता किया, वो मेरे से एक क्लास आगे था.

कुछ देर बाद फिर से पीछे मुड़ कर मैंने अपनी गांड पापा की तरफ कर दी- लो मेरी गांड को मारो पापा!फिर पापा तेल लेकर आए और मेरी गांड पर लगाने लगे. एनल पोर्न सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी रिश्तेदार लड़की की चुदाई की. मेरे घर वालों ने मुझे काफ़ी बार समझाया कि मैं वर्णिका के साथ ना रहूँ, पर मुझे किसी की कोई बात समझ नहीं आती थी.

वो नंगी होकर मेरे साथ सोना चाहती थीं और उन्हें आज कोई नहीं रोक सकता था. अब मैंने धीरे धीरे रेखा के कपड़े उतारे, तो हफ्ज़ा ने भी अपने कपड़े उतार दिए. हुआ ये कि जब भी मैं अपनी वाइफ के साथ सेक्स करता था, तो मुझे अंदाजा था कि शालिनी छिप छिप कर कई बार हमारी चुदाई देखने आया करती थी.

बुढ़िया के बीएफ एक रेन कोट वाली जैकेट को बैग में ऊपर से ही रख लिया था क्योंकि बारिश का कुछ भरोसा नहीं था, वो कभी भी हो सकती थी. मैं करीब 15 मिनट तक उसे ऐसे ही चोदता रहा, फिर मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ.

एक्स एक्स सेक्सी वीडियो डॉट कॉम

करीब दस मिनट तक मैंने उसकी पीछे से चुदाई की होगी, तब तक वो एक बार झड़ चुकी थी. इस दौरान हमारी काफी बार कॉल पर बात भी हुई और उसने मुझे उकसाया भी कि तुम क्या आओगे डरपोक कहीं के. जब मुझे लगा कि अब मनु की चूत मेरा लंड लेने के लिए रेडी है, तो मैंने उसकी चूत की फांकों में लंड रखकर एक धक्का लगा दिया.

उन दोनों के मुँह से तड़प भरी आवाजें निकल रही थीं और पूरे रूम में आनन्द का समागम चल रहा था. मैं होटल के रूम में पहुंचा, तो मैं पहले पॉलीबैग साइड में रखा और जाकर सोफे पर बैठ गया. ऑस्ट्रेलिया सेक्सी बीपीउसने एक कम्फर्टर निकाला और उसके ऊपर एक पुरानी बेडशीट फर्श पर बिछा दी.

सोनी के जाने के बाद मेरे कुछ दोस्तों ने झिझकते हुए बताया कि उन्हें सोनी मेरे लायक नहीं लगी.

‘आआआह … मादरचोद साले जीजू … भैन के लौड़े एक बार में ही डाल दिया पूरा … आंह थोड़ा धीरे धीरे नहीं कर सकता … आंह मुझे दर्द हो रहा है. मैंने अपने दिलो दिमाग में एक ही चीज ठान ली थी कि मुझे आज किसी भी हालत में लौड़ा चाहिए और मैं अपनी खुजली किसी भी हालत में एक असली लौड़े से मिटा कर ही रहूंगी.

स्कूल की छुट्टी होने के बाद प्लान के अनुसार दोनों लड़कियां बहाना बना कर निकल गईं जिस वजह से राकेश को दरी समेटने के लिए रुकना पड़ा. फिर हमारे बीच हालात बनते चले गए और सपना भाभी मेरे लंड के नीचे आने को मचल गईं. मैंने कहा- तो आप टहली कहां हैं?वो बोली- जब आप नीचे चले जाएंगे तब टहल लूंगी.

उसके सुडौल चूचे, ऊपर उठी हुई गांड इतनी सेक्सी और हॉट है कि किसी भी लड़के का लंड फटने को हो जाए.

मैं हूँ न … मैं कर दूंगा मदद!वो मेरी बात पर थोड़ा हंसी और थोड़ा गुस्सा दिखा कर बोली- तरुण हम दोनों बस अच्छे दोस्त हैं और अच्छे रहेंगे. हमने खुलकर एक दूसरे को अपनी बातें बता दीं और मुझे लगा कि पॉल और रीना वही जोड़ा है, जिसकी तलाश में मैं इतने दिनों से था. मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और पोजीशन लेकर अपने लंड को उसकी चूत में डाल दिया.

बिकिनी बॉडीमेरी बहन पिंकू की नींद लग चुकी थी इसलिए मैंने हिम्मत करके एक हाथ उसकी कमर से ले जाकर पेट पर रख दिया।धीरे-धीरे मैंने उसकी फ्रॉक ऊपर कर दी. जैसे ही मोहिनी ने फ्रेंची उतारी, तो अर्णव का खड़ा हो चुका लंड उछल कर बाहर आ गया और मोहिनी की गाल से टकरा गया.

गुजराती एक्स व्हिडीओ

मैंने अम्मी की कमर पकड़कर अम्मी की आंखों में देखते हुए कहा- नगमा, मैं और मेरा हथियार इतना बड़ा हो गया है कि बिस्तर पर रात भर तेरी चीखें निकलवा सके. दोस्तो हॉट चुत वांट फक़ कहानी में आगे क्या हुआ, वो अगले भाग में लिखूंगी. मुझे भी मजा आने लगा, मैंने अली का सर पकड़ कर लंड पर दबाना शुरू कर दिया.

सुहानी बस अपनी आंखें बंद करके होंठ चूसने के मज़े ले रही थी और अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ रही थी. करिश्मा मेरे कंधे पर सर रख कर सो गई और मैं उसके चूचे देखते देखरे सो गया. जैसे ही पॉल ने खुद का वीर्य चाट लिया, वैसे ही रीना ने उसको मेरे लौड़े की और धकेला.

मैंने चाची की पेशाब को अपने मुँह में लिया, थोड़ा पी लिया बाकी बदन पर गिरा लिया. अब तक मैंने पॉर्न वीडियो में ही लंड देखा था और आज असलियत का लंड देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा था. मैंने अपने एक हाथ में लंड पकड़कर सुपारा अदिति की चूत की दरार पर टिका दिया.

कुछ देर बाद मैंने उसे उल्टा लिटा दिया, फिर धीरे-धीरे ऊपर से नीचे तक उंगली घुमाने लगा. मैं- हां कुणाल मजे करो, मैंने भी तो तुम्हारी शालिनी के मजे लिए हैं.

वो गौरवान्वित महसूस कर रहे थे कि उन्होंने मुझे इतनी जल्दी झाड़ दिया.

तब मैंने उसके मुंह को बंद कर दिया और धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा।और अवसर पाते ही मैंने एक जोर का धक्का लगाया पूरा लंड सनसनाता हुआ अंदर चला गया।वो छटपटाने लगी थी. सुहागरात कैसे होती हैअब मैंने अपने लंड को उसकी चूत के छेद पर रखा और एक ही झटके में अपने लंड को उसकी चूत में डाल दिया. खन्ना सेक्सलेकिन पहले नाग ने दूध का रसपान करने के लिए दोनों बूब के बीच में जगह ढूंढ ली और वहीं आगे पीछे होने लगा. फिर समीर भैया ने मुझे लंड के नीचे लटकती अपनी दोनों गोलियों को बारी बारी से चुसाया.

फर्स्ट किस की कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की बहन ने मुझसे फेसबुक पर सम्पर्क किया.

मैं चिल्ला पड़ी- आह मार गई साले बहनचोद … कभी और किसी को नहीं चोदा क्या … कैसे डालते हैं साले तुझे पता नहीं है क्या?भाई ने बोला- नहीं चोदा है, तू मेरी पहली माल है. फिर मैं खड़ी हो गई और अपनी एक टांग को उठा कर बोली- अब चोदो मेरी चूत को!भाई अपना लंड सहलाते हुए बोला- हां मेरी जान. उसके होंठों का रसास्वादन करते हुए मुझे दस मिनट से भी ज्यादा समय हो गया था.

उसकी चूत लगातार पानी बहा रही थी, मानो मुझे कह रही थी कि आ जाओ … समा जाओ मुझमें. इस दौरान उसके चूचों के साथ ही साथ मैं उसकी योनि का भी रसपान कर लेता था, पर अभी तक हमारे बीच बात सहवास तक नहीं पहुंची थी और ना ही मैंने एक भी बार सोनी को अपना लंड चूसने के लिए बोला था. [emailprotected]होटल रूम चुदाई स्टोरी का अगला भाग:बहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेला- 3.

ब्लू पिक्चर वीडियो सेक्सी

मैंने उन दोनों को लिटाया और उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनकी जांघों को चूमने लगा. अब आपा उठ कर मेरी गोद में बैठ गईं और हम दोनों एक दूसरे से लिपटे रहे. पहले वो वहां हाथ से सहलाता रहा, फिर उसने हल्के से एक दूध को दबा दिया.

फिर गीता ने मुझे गले से लगा लिया तो हम दोनों ने एक दूसरे को चूम लिया.

यार मैं क्या करूं, उसके पास कोई छोटा पैक था ही नहीं और न ही उसके पास खुले पीस थे.

मैंने आज पहले से सब कुछ प्लान कर रखा था तो अन्दर ब्रा और पैंटी नहीं पहनी थी. सबसे पहले घर के अन्दर जाते ही हमने बहुत अच्छी स्मूच की और धीरे-धीरे एक दूसरे के कपड़े उतारना शुरू कर दिए. काजल कैसे लगाएंतभी ड्राइवर ने एक कट मारा, जिस वजह से मामी मेरी तरफ झुक गईं और उनके संतरे जैसा एक चूचा मेरी कोहनी से लग गया.

बहुत सोचने के बाद मैंने खुद अपनी मां के साथ चिपक कर उनको जिस्मानी गर्मी देने का सोचा. भाभी की चूत की मां चुद गई और वो अपनी मुट्ठियों को भींच कर मुझे नौंचती रहीं. भैया ने अपना लंड मेरी गांड की दरार में घुसा दिया और अपना हाथ मेरे पेट पर रख दिया.

अब मैं लंड सटासट सटासट अंदर बाहर करने लगा।हम दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसने लगे और मैं झटके पे झटके मारने लगा।वो भी अपनी कमर उठा-उठा कर मेरा लंड ले रही थी और मैं जोश में आकर जोर जोर से झटके मारने लगा।अब वो आह हहह ओहह उह करके बोलने लगी- और तेज झटका मारो यार!मैंने उसे अपना नाम राज बताया उसने अपना नाम नाजिया बताया।वो बोलने लगी- राज तू मुझे तेज तेज झटके मार के चोद यार!मैंने उससे घोड़ी बनने को कहा. भैया मेरे पास आकर देखकर बोले- अरे ये दोनों तो टूटे हुए हैं, अब हम लोग बाहर कैसे निकलेंगे?मैं चुप रही.

राजीव बोला- हां लेकिन कैसे?तो सनी हंसते हुए बोला- ऊपर वाले की मेहर है.

मैंने उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने के साथ साथ उसकी ब्रा को खोल दिया. नगमा ने फौजिया को बुलाकर फ़ज़लू को शीरीं के कमरे में ले जाने को बोला. चुदाई के समय रीना की चूत से निकलते चूतरस से मेरा लौड़ा भी सफ़ेद हो चुका था.

भोजपुरी रंडी का नंगा नाच तभी अचानक से सब सामान्य हुआ तो देखा कि हम दोनों एक दूसरे से लिपटे हुए हैं. एक गांडू के लौड़े से निकलता इतना सारा माल देख कर मुझे भी आश्चर्य हुआ.

दस बारह तगड़े शॉट लगवाने के बाद भाभी की चूत ने लंड को झेल लिया और अब उनकी आहें व कराहें धीमी पड़ने लगी थीं. एजेंसी वाले ने एक बार फिर से कम्प्यूटर देख कर बताया कि कल फुल बुक है. भाभी थोड़ी देर के लिए चुप हो गईं, बाद में बोलीं- पागल, तुमने तो मेरी जान ही निकाल दी थी.

सनक्ससक्स

भैया मेरे पास आकर देखकर बोले- अरे ये दोनों तो टूटे हुए हैं, अब हम लोग बाहर कैसे निकलेंगे?मैं चुप रही. दो बार की चुदाई के कारण हम थक चुके थे इसलिए नंगे ही एक दूसरे से चिपककर सो गए. मैंने भाभी को जल्दी से घोड़ी बनाया और एक झटके में लंड को उनकी चूत में पेल दिया.

मैं भी उसके दर्द को समझते हुए थोड़ा रुक गया और उसके होंठों पर किस करने लगा. जैसे जैसे रिक्की बड़ा हो रहा था, उसको भी सेक्स के बारे में भी जानने की इच्छा होने लगी थी पर अभी भी लड़की उसकी दोस्त नहीं बन सकी थी.

मैंने तुरंत मन बना लिया कि इस न्यू चूत की सील तो मैं ही तोड़ूँगा चाहे कुछ भी करना पड़े.

वो बोला- तुम यहीं रुको, मैं पार्किंग से गाड़ी लेकर सीधा गेट पर लगा दूंगा. मैंने उनकी साड़ी खोली और पेटीकोट को खोला तो देखा उन्होंने पैंटी नहीं पहनी थी. दोस्त लड़की की सेक्स कहानी कुछ यूं है कि, जब 2017 में मेरी पहली पहली नौकरी लगी थी तब मेरी उम्र 23 साल थी और मेरी पोस्टिंग राजस्थान के अलवर शहर में हुई थी.

कोठे की वेश्याएंशीरीं के कमरे के बाहर कान लगा कर दोनों की आवाज सुनतीं और हंसती हुई बातें कर रही थीं कि आखिर फ़ज़लू मियां ने शीरीं की चूत को अपने नौ इंची लौड़े के शीशे में उतार ही लिया है. रेशमा आज भी मेरे ऑफिस में काम करती है और महत्वपूर्ण बात ये है कि आज उसकी कोख में मेरा ही बच्चा पल रहा है. मैं जानता हूँ कि रात में तुम बाथरूम में इतनी देर क्यों रहती हो? तू अगर चाहे तो हम-दोनों एक दूसरे की मदद कर सकते हैं.

जैसे ही मैंने उसकी पैंटी निकालने की कोशिश की, उसने मुझे हटाया और मेरे ऊपर आ गयी.

बुढ़िया के बीएफ: उसके आते ही मैंने उसे पकड़कर बिस्तर पर लिटा दिया और चुम्मा-चाटी करने लगा. इसी वजह से मेरी छत से लगभग सभी की छत दिखती है और उन छतों पर घूमती हुई सुंदर सुंदर मनमोहक सुंदरियां रहती हैं.

मैं सोनी को गर्म तो करना चाहता था … पर उतना नहीं कि वो स्खलित हो जाए. उसे इतना ज्यादा नशा हो गया था कि वो क्या बोल रही है, उसे भी नहीं पता था. फिर अंकित मुझसे बोला कि बताओ … तुमने कैसे देख ली वो पिक्स?तब मैंने उसकी बात काटते हुए कहा- मुझे सारी पिक्स देखनी है भाई … प्लीज़ दिखाओ.

इस वजह से मुझे ऐसे इंसान की जरूरत है, जो मुझे पूरा चरम सुख दे और वो इतना भरोसे वाला भी हो, जिससे मुझे डर भी ना रहे.

तो अपने आइटम सम्भाल लेना और मुझे बताने से न चूकना कि मेरी Xxx स्कूल गर्ल हॉट स्टोरी कैसी लग रही है. मैंने बात रखी- बुआ हमें एक कामवाली की आवश्यकता है, आपकी नजर में कोई है क्या?मैं रेखा को बुआ कहता था क्योंकि मेरे मां पापा को वो भैया भाभी कहती थी. वो मुझे देखने लगा और बोला- तुम तो बहुत ही बड़ी रंडी लगती हो, कितने लंड डलवा चुकी हो इस चूत में?मैं बोली- पता नहीं भाई कितने लोगों से चुदवा चुकी हूँ.