बीएफ वीडियो कुंवारी

छवि स्रोत,ई-मेल ओपन सेक्सी शॉट

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी देसी बीएफ सेक्सी: बीएफ वीडियो कुंवारी, आदित्य ने कहा- ठीक है।मैंने बाथरूम में जाकर साड़ी, ब्लाउज उतार दिया और गाउन पहन लिया.

हिंदी एचडी सेक्सी फोटो

उतने में उसके हाथ से मोबाईल गिरा, वह मोबाईल उठाने नीचे झुकी तो उसकी ब्रा के अंदर चुची साफ़ दिखाई दी. चूत मारने वाली सेक्सी वीडियो दिखाओमैं सीधा नीचे भाग गया, मैंने किसी से कुछ बात नहीं की और नहाने के लिए बाथरूम में घुस गया.

मुझे नीचे दिये ई-मेल पर अपनी प्रतिक्रिया भेजें!आपका अपना शरद[emailprotected][emailprotected]. क्सक्सक्स सेक्सी चुड़ैसाथ ही उन्होंने आंटी को भी नंगा कर दिया। अंकल ने आंटी का सर पकड़ कर नीचे करके अपना लंड उनके मुँह में घुसा दिया.

बोलती क्या?बोलने को था ही क्या?मेरा दावा है कि उस टाइम उसके दिल में यही ख्याल चल रहा होगा कि अब सिवाय आत्महत्या के कोई इज़्ज़त बचाने की राह नहीं है.बीएफ वीडियो कुंवारी: उसमें मेरे मम्मी-पापा और मैं रहते हैं।सोना भाभी और मेरे बीच में इस घटना की शुरूआत भाभी के नया सेल फोन लेने के बाद हो गई थी। भाभी और मेरे बीच में ज्यादा लगाव नहीं था.

मजा आ रहा है।गुप्ता जी इस पोज में 5 मिनट तक संजू को चोदने के बाद उसकी कमर को कस कर पकड़ लिया और पूरे वेग से चूत को चोदने लगे। बमपिलाट धक्के लगने से संजू की चीखें निकलने लगीं।वो ‘हम्म.मैं भी स्पीड बढ़ाता गया और वो भी गांड उठा-उठा कर चुत चुदाई के मज़े लेने लगी। वो कह रही थी- जान तुमने मुझे सेक्स का असल मज़ा दिया है.

देसी नंगी सेक्सी चुदाई - बीएफ वीडियो कुंवारी

मैंने सोचा मर गए!मयंक को और डांट पड़ी और मुझसे पूछा गया- क्या तुम्हें मालूम था इसका और मयंक यह सब कहाँ से लाता है?मैंने कहा- मुझे मालूम नहीं, मैं तो पढ़ाई पर ध्यान देता हूँ, आप नंबर देख लो!आंटी ने कहा- मयंक को समझा… और इसको पढ़ा!यह कहते हुए आंटी किताब लेकर चल गई.हालाँकि विवेक और अजय दोनों ने ही मम्मे दबाने और घोड़ी बना कर चोदने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी पर बेड का मजा कुछ और ही होता है और अभी उनके लंड की पिचकारी छूटी भी नहीं थी.

पर उसने यह भी भरोसा दिलाया कि वो किसी को भी इस बात के बारे में नहीं बताएगी. बीएफ वीडियो कुंवारी ’ कहने लगीं। मुझे समझ में आ गया कि वो फिर छूटने वाली हैं। मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी। थोड़ी देर बाद उनकी चूत के अन्दर ही माल डाल दिया और उनके ऊपर ही पड़ा रहा।फिर मैंने उन्हें थोड़ी देर बाद अपने ऊपर ले लिया और उनके मम्मों को चूसने लगा। थोड़ी देर बाद मेरा लंड अपने आप ही बाहर आ गया तो वो उठ कर बाथरूम में जाने लगीं।मैंने कहा- रुको ना.

उनकी चीख निकली ‘आआआआआअ…’तभी मैंने उनके होंठों पे अपने होंठ रख कर उनकी चीख को दबा दिया और रुक गया.

बीएफ वीडियो कुंवारी?

या यूं कहें कि हमारे मुख से स्वत: ऐसे शब्द झरते रहे।हम एक दूसरे का साथ देते हुए ‘आई लव यू…’ कहते हुए. झांटें छोटी छोटी हों जिनमें से चूत के लिप्स की स्किन भी दिखती रहे, ज्यादा घनी नहीं!नेट पर पोर्न देखने के मामले में भी मैं काली झांटों वाली लड़की ज्यादा प्रेफर करता हूँ. अब यह सब रोज का काम हो गया… जब भी निशा का पति बाहर होता, मैं अंदर चला जाता और हम खूब मजे करते.

पर हम दोनों की गांड अभी तक कुंवारी थी, और उंगली से चोदने पर ही दर्द होने लगता था. राजेश- प्लीज फोन मत रखना, मेरी बात तो सुन लीजिये, देखिये बिमलेश जी, आप शायद मुझे गलत समझ रही हैं, आप शादीशुदा हैं, अच्छी बात है, बच्चे हैं, अच्छा है, मुझे आपके वैवाहिक जीवन से कोई लेना देना नहीं है। मैं आपसे दोस्ती करना चाहता हूँ और कुछ नहीं मैं चाहता हूँ. मैंने इसी पोज में उसकी चूत को ठोकना शुरू किया तो रानी फिर से जोश में आकर मेरे लंड से अपनी चूत लड़ाने लगी और मिसमिसा कर अपने दूध खुद ही मसलने लगी.

चल लेट जा, तेरी कच्ची चुत पर रगड़ खा कर शायद ये लंड पिघल जाए।संजय ने पूजा को लेटा दिया और खुद उस पर सवार हो गया। अब वो लंड को चुत पर घुमाने लगा, साथ ही पूजा के चूचे चूसने लगा।पूजा को भी मज़ा आने लगा और वो भी गर्म हो गई। अब हालत ऐसे थे कि संजय का लंड पूजा की जाँघ में फँसा हुआ था और संजू जोर-जोर से उसको ऊपर से ही चोद रहा था। कभी-कभी लंड ऊपर आ जाता और सीधा चुत से टकराता. चूत और लंड का अटूट मिलन हुआ जैसे कभी वो जुदा होने वाले ही नहीं हैं. मेरी गांड दर्द करेगी।मैंने अपना मुँह उनके मुँह पर रख दिया और ज़ोर से चूमते हुए उनको अपनी गोद में बिठा लिया, फिर थोड़ा सा कमर से उठा कर उनकी गांड पर अपना लंड रख दिया और खुद भी ऊपर की तरफ झटके देने लगा।पर आंटी की गांड सच में बहुत टाइट थी और कुछ मेरा लंड भी मोटा था.

फिर वो बोली- चल अब तेरी बारी, ले मज़ा जितना भी लेना है!मैंने अपने लंड पे थूक लगाया, उसकी फुद्दी पे अपना लंड रखा और हल्का सा झटका मारा…‘सस्स्सिईई ईईईईईई ईईईई…’ इस बार आवाज़ मेरे मुंह से निकली. अगले शॉट में वो किशोरी बिल्कुल नंगी होकर अपने घुटने मोड़ कर जांघों को पूरी तरह फैला के अपनी चूत अपने ही हाथों ओपन किये हुए लेटी थी और वो आदमी उसकी अर्धविकसित चूचियों को चुटकियों में मसलता हुआ उसकी खुली हुई चूत में जीभ घुसा कर चाट रहा था और लड़की पूरी तरह से उत्तेजित हो कर कामुक आवाजें निकाल रही थी.

वो मेरे घर पर 3 दिन रुकी और 3 दिन तक मैंने उसको खूब चोदा, मैंने उसकी गांड भी मारी और अब जब भी मौका मिलता है, मैं उसको चोदता हूँ.

विनोद मुझे बहुत प्यार करते हैं, मैंने भी अपने पति से बहुत प्यार करती हूँ.

मैंने मेरे मित्र चिंटू से भी इस बारे में बात की, पर समझ नहीं पा रहा था कि यह कौन हो सकती है?फिर एक दिन उसने ही मुझे मिलने के लिये बोला, पर मैंने फिर मना कर दिया. ’वो चूचे हिलाते हुए बर्तन धोती रही और मैं उनकी चूचियों का मजा लेता रहा. दारू का वो गिलास खाली हो चुका था, फिर उन्होंने मुझे अपने से अलग किया और सोफे का सहारा लेकर कुतिया स्टाईल में खड़ी हो गई और अपनी चूत में हाथ फेरते हुए बोली- आओ अब मेरी चूत में अपना लंड डालो.

मैंने झट से अपने कपड़े उतार दिए और सिर्फ़ अंडरवियर पर आ गया और सीधे भाभी की जाँघों पर बैठकर मालिश करने लगा. अब मैंने भी सोचा कि ऐसे तो काम नहीं बनेगा, और मुझे भी राजू की तरह ही अपना लंड उसके लंड के साथ ही अपनी बीवी की गांड में घुसेड़ना पड़ेगा! तभी राजू ने पोज़ बदलते हुए नीचे लेट कर नताशा को अपने ऊपर लिटा लिया, और नीचे से गांड मारने लगा. वो दिखने में काफ़ी सेक्सी रितिक रोशन जैसा दिखता है।मैं काफ़ी दिनों से उससे चुदना चाहती थी.

अजय ने कहा- ऐसे ही नंगी?रूबी हंस पड़ी, बोली- मैं और साराह कब कपड़ों में रहीं हैं…फिर भी रूबी ने टॉवल लपेट लिया.

मैंने हाथ हटाना चाहा तो वो बोला- क्या हुआ? पकड़ ले ना डंडा… तुझे गिरने नहीं देगा ये!मैंने कहा- भैया, आप गलत मत समझना लेकिन मेरे मन में अब ऐसा कुछ नहीं है. नताशा के मुंह से ओह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह की मधुर ध्वनि कमरे में शास्त्रीय संगीत की भांति गूंजते हुए वातावरण को गुंजायमान कर रही थी. कि किसी को भी कुछ बोलना नहीं।मैं बोला- ठीक है।अब हम दोनों पास एक बेड पर थे। मैंने धीरे उसके चूचे पर हाथ फेरा, वो कुछ नहीं बोली.

राजू ने मेरी बीवी यानि अपनी भाभी के मुझ की चुदाई करने की कोशिश में उसने एक बार जोर लगा कर लंड को पूरा नताशा के गले में उतार दिया, जिससे नताशा चकरा गई और मुश्किल से लंड को मुख से निकाल कर अपना गला पकड़ कर हांफने लगी, उसकी आँखों में आंसू आ गये और मुँह से लार टपकने लगी. उसने साड़ी पहन रखी थी जिससे उसका पेट साफ नज़र आ रहा था, दूर से ही पता चल गया कि वो बहुत चिकना है. अब दोनों ने भी उनकी जगह बदल ली, अब परीक्षित मेरी चूत को चोदने आ गए और चिंटू रानी की चूत को.

नीचे से एंड्रयू का लम्बा लंड चूत के छिलके उतार रहा था, तो पीछे से स्वान का मोटा लंड गांड की बखिया उधेड़ रहा था.

बाद में चाहो तो सो जाना। मैं उसे पप्पी लेकर उठा और बाथरूम में चला गया। वापिस आया तो बेडशीट बदल चुकी तो मैं सो गया। वो बेडशीट धोने चली गई थी।मेरी बहन ने करीब 7. 3 दिन के बाद आख़िर वो आ ही गई और मैंने अब और देर ना करते हुए उसको अपना सेल फोन दिखाते हुए उसका नंबर लेने की इच्छा जाहिर की.

बीएफ वीडियो कुंवारी पास की छत पर खड़े राजू ने ये सीन देख लिया। जब मोना खड़ी हुई तो उसकी नज़र उससे मिली और उसकी आँखें फट गईं।काका- अरे क्या हुआ. मैंने बिना कुछ सोचे सीधे शराब की बोतल मुँह में लगा ली और काफी खाली भी कर दी। कुछ ही पलों में मैं फिर से मस्त हो गई।अब दीपक ने मुझे औंधा लिटा दिया और उसने भी मेरी गांड में लंड डाल दिया। नशे के कारण मुझे कुछ भी असर नहीं हो रहा था.

बीएफ वीडियो कुंवारी मैंने भी अपने दोनों पैर खोल दिये कि वरुण अपना लंड मेरी चुत में डाल दे!वरुण ने मेरा गाउन कमर तक उठा दिया मेरी चुत उसके सामने थी उसने धीरे से मेरी जांघ पर हाथ फेरा और धीरे धीरे मेरी चुत पर हाथ रख दिया. गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुसा जैसे ताजे माखन में चम्मच…दस मिनट तक चची को चोदा और मैं चची की चूत के अंदर ही झड़ गया.

तुम हमारी बॉलीवुड में ट्राय क्यों नहीं करती हो?मैं- करना तो चाहती हूँ, पर.

नई लड़की के बीएफ

उसमें लिखा कि आज तुम वाइट रूमाल लेकर आई तो मैं समझ गई हूँ कि तुम्हारे भाई ने तुम्हारी ब्रा-पेंटी के साथ छेड़छाड़ की है। अब वो दिन दूर नहीं कि वो तुम्हारे साथ सेक्स भी करेगा। अब मैं नेक्स्ट स्टेप बता रही हूँ कि तुम अपने घर में तुम थोड़े खुले कपड़े पहना करो. शैली ने मुँह से लंड बाहर निकालना चाहा, पर मैंने निकालने नहीं दिया बल्कि उसे क्स कर पकड़ कर पूरा माल ज़बरदस्ती उसे पिला दिया. फिर उन्होंने मुझे लंड मुँह में डाल के चूसने को कहा तो मैंने मना कर दिया पर फिर फीस की याद आने के कारण मैंने लंड मुँह में ले लिया.

मेरा भी बहुत मन कर रहा था कि मैं भी नंगी हो जाऊँ पर डर लग रहा कहीं कोई देख ना ले. जीजू ने मुझे उठा के बेड पे पटका और मेरी पेंटी को खींच कर उतार फेंका और मुझे टाँगें खोलने के लिए इशारा किया. मैं तो उसे देखता ही रह गया। मैंने सोच लिया कि मैं उसे चोदूंगा जरूर.

फिर उन्होंने मुझे गले पर किस किया और फिर मेरी पीठ पर चूमते हुए मेरे ब्लाउज का धागा खोल दिया.

मेरी नज़र मैडम के बूब्स पर गई और तभी वो उठने लगी तो मैंने देर ना करते हुए उनके गाल पर एक किस कर लिया तो वो पहले थोड़ा सा शरमाई, फिर हंसकर मेरे होंठों को चूमने लगी और अब मैडम सोफे पर एकदम सीधा होकर मेरे ऊपर लेट गई. सुन्दर ने मुझे वहीं पलंग के ऊपर लिटा दिया और मेरी स्कर्ट उतारने लगा. जब चाची ने पूछा कि कहाँ थे तो मैं बोला- कैस और जुबिया को पढ़ाने भाभीजी ने बुलाया था!आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे[emailprotected]इस पर mail करें!कुमार सोनू साई की सभी कहानियाँ.

रीना रानी तो यह खेल कई बार खेल चुकी थी तो झपट के लौड़े को बिल्ली की तरह चाट चाट के खीर खाने लगी. आकर्षक और स्मार्ट होने के कारण मेरा सभी लड़कियों से मेलजोल बड़े अच्छे से हो जाता है।यह कहानी मेरे दोस्त सुनील और उसकी वाइफ दुशाली की है। दुशाली के बारे में बताऊं तो वो एक स्मार्ट और बोल्ड सेक्सी हाउस वाइफ है. दीदी के मस्त मम्मे देख कर मेरा तो लंड खड़ा हो गया था।उधर दीदी को देख कर सुनील तो जैसे पागल हो गया था। सुनील का लंड भी काफ़ी बड़ा था। करीबन साढ़े पांच इंच का बहुत मोटा लंड था। दीदी को सुनील ने अपना लंड चूसने को बोला.

सीधे मीना को अपनी बांहों में ले लिया और उसको गालों पर किस करके धीरे से उसके कान में थैंक्स कहा. करीब 15 मिनट की लंड चुसाई के बाद मैंने उनको सीधा करके अपना लंड उनकी चुत पर रखकर जोरदार शॉट मारा। मेरे लंड का 1/3 हिस्सा चुत के अन्दर घुस गया। आंटी की चुत दर्द से परपरा उठी.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… अजय ने उसके टॉप के अंदर हाथ डाल कर उसके मम्मे अच्छे से दबा दिए. मुझे परेशान देख कर अम्मा बोली- साहिब, मुझे लगता है कि आप बालक और माला को देखने एवम् मिलने के लिए बहुत व्याकुल हैं. जेसिका मेरा बराबर साथ दे रही थी तो मुझे भी उतना ही आनन्द आ रहा था जितना कि उसे!बीच में मैंने 2 बार लंड को निकालकर उसके मुँह में डाला और फिर उसे चोदा.

मैंने अभी थोड़ा सा लौड़ा ही रजनी की चूत के अंदर डाला था कि वो ऊँची ऊँची दहाड़ती हुई कराहने लगी- उई आह आह उफ्फ्फ जीजू आह चुदवा दिया साली बहन… चोद… ने आज… आह.

आआआ… ह्ह्हहह…’ कह कर चिल्लाई मगर पिंकी ने नीचे लोवर पहन रखा जिसमें इलास्टिक लगा हुआ था‌, जब तक‌ वो मेरा हाथ पकड़ती, तब तक ‌बहुत देर हो गई ‌थी… और बिना तकलीफ के ही मेरा हाथ सीधा उसके लोवर व पेंटी में उतर गया. साराह और विवेक खूब फोन पर बात करते और साराह सारी बातें चटकारा लेकर रूबी को बताती. तो अब घोड़े के लौड़े की सवारी के मज़े ले लो।मैंने दोनों हाथ उसकी कमर में डालकर बड़े-बड़े बोबों को भंभोड़ते हुए मसलना चालू कर दिया। साथ ही लंड से आंटी की चूत को धीरे-धीरे चोदने लगा।वो दूध मसलवाते हुए अपनी चूत में लंड का पूरा मज़ा ले रही थी और मैं भी हौले-हौले उसकी चूत की ठुकाई कर रहा था। सच में बहुत मज़ा आ रहा था।आंटी बहुत खेली खाई थी.

कहानी का अपने पूरे शबाब पर आना अभी बाकी है…[emailprotected][emailprotected]. अब वो बेचारी भोली भाली क्या जाने कि मेरे मन में क्या क्या चल रहा था और मैं अपनी फंतासी में किसे चोद रहा था.

फिर शुरू करते हैं।‘ओके मैं भी अपने कपड़े चेंज करके आती हूँ।’मैंने भी अपने कपड़े बदले और वो भी एक मस्त नाइटी पहन कर आ गईं।हम दोनों लोग एक ही साथ बैठ गए और सारा सामान सामने रख लिया। मैंने भाभी से बोला- ये शुभ काम आप के हाथ से शुरू हो तो ठीक रहेगा।भाभी ने ‘हाँ’ कह कर पैग बनाए, हम लोगों ने चियर्स किया गिलास गटकने लगे।जैसे ही पहला पैग अन्दर गया. मूवी स्टार्ट हुई तो वो चौंक कर बोली- हाय ये क्या?वो बोली- ये सब तू देखता है?तो मैं थोड़ा शर्मा गया और हाँ बोला. टी-शर्ट में से उसके बड़े-बड़े उभरे हुए चूचे, कसी हुई जींस में गांड पीछे से फूली हुई देख कर मेरा मन तो बावला हो गया।मैंने कहा- क्या बात है अंजलि.

हिंदी बीएफ एक्स एक्स व्हिडीओ

’वो आँखें बंद करके चुम्बनों और चुसाई का मजा लेने लगी।मैंने धीरे-धीरे अपना मुँह नीचे किया और जीन्स और पेंटी एक साथ उतार दी।आह क्लीन शेव्ड चिकनी चुत थी.

जिससे मुझे उसकी चुत में लंड घुसेड़ने में आसानी हो रही थी और मैं पूरा लंड बाहर निकालकर ‘घचाक. फिर शाम को मैंने उसे कॉल की तो उसने उठाया नहीं पर उसका मैसेज आया कि मुझसे बात ना कर… तूने मुझे हर्ट किया है. उसकी ये कामुक आवाजें मुझे और जोश में लाने लगीं। मैं भी ज़ोर से मम्मे दबाने लगा और अगले ही पल उसे घुमा कर मैं उसका पेट चूमने लगा ‘उमाह.

मुझसे अब नहीं रहा जा रहा है।मैंने एक ही झटके में ही अपना पूरा लंड पेलने की कोशिश की. पर जब मैंने उन्हें पहली बार सेक्स करने के लिये बोला तो मेरे मन में भी एक डर था कि क्या होगा पर इतना विश्वास था कि यदि उन्होंने मना कर दिया तो कोई समस्या नहीं होगी पर दोस्ती वो दोनों जरूर बनाये रखेंगे. पंजाबी चुदाई सेक्सी पिक्चरतेरे भाई ने घर सर पर उठा लिया और बेटी तू इतनी रात तक क्यों बाहर रहती है, मुझे तेरी फ़िक्र रहती है।टीना- आप बिना वजह मेरी फ़िक्र करती हैं। मैंने कहा ना मैं आपकी बेटी नहीं बेटा हूँ.

रोहन मेरे पीछे ही था और मेरे हाथों को पकड़ा हुआ था…तभी उसके झटके तेज हो गए और वो झड़ने लगा।मैंने रोहन से कहा- रोहन खाली हो गया क्या तेरा?तो रोहन ने कहा- हाँ मम्मी, मुझसे कंट्रोल ही नहीं हुआ…उत्तेजना के कारण मेरी चूत भी पानी छोड़ रही थी।ग्यारह बजने को थे… फिर हम लोग पूल से वापस अपने अपने रूम में आ गए. मैंने हैरानी से उसके ओर देखते हुए कहा- अम्मा, आप यह क्या कह रही हैं? यह बालक मेरा और माला का कैसे हो सकता है?अम्मा बोली- साहिब, जब मैं छोटी बहू के पास गई हुई थी तब आपके और माला के बीच जो रास-लीला चलती रही उसके बारे में मुझे सब पता है.

गुप्ता जी ने संजना की चूत में अपना थूक दो-तीन बार थूका, जिससे संजू की चूत थूक से चिपचिपी हो गई।अब गुप्ता जी अपने लंड का सुपारा संजना की चूत में घुसाने लगे। थूक की चिपचिपाहट एवं चूत के पानी से गुप्ता जी का मूसल लंड संजू की कोमल चूत को चीरते हुए अन्दर घुसने लगा।संजना ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊई. मैंने उसकी सलवार में हाथ डालना चाहा पर उसने मना कर दिया। फिर मैंने उसका हाथ पकड़ के मेरी पैन्ट पर रख दिया, वो धीरे धीरे मेरा लंड दबाने लगी. दोनों एक साथ झड़ गए। अब कमरे में बस दोनों की साँसें सुनाई दे रही थीं। काफ़ी देर संजय ऐसे ही पूजा पर पड़ा रहा। फिर उसको लगा कि पूजा पे वजन ज़्यादा है.

मेरी सदाबहार बीवी अब सारी शर्मोहया त्याग कर बेशर्मों की तरह स्वान के केले के तने जैसे मोटे-चिकने लंड को चूसने में लगी थी, उसके हैट जैसे विशाल टोपे को किसी लोलीपॉप की तरह चूस रही थी. फिर तू ऐसा क्यों बोल रहा है?मैंने दीदी से सीधा पूछ लिया- तुम्हारे और सुनील के बीच में क्या चल रहा है?दीदी यह सुन कर चुप हो गईं. 20 मिनट तक सचिन ने मेरे पूरे शरीर को दुबारा चूमा, चाटा, चूसा… और वो दुबारा मेरी चुदाई करने के लिए तैयार हो गए.

तभी मुझे अपनी जांघ पर कुछ महसूस हुआ, मेरे नजर जब मेरी जांघ पर पड़ी तो देखा की साहिल मेरी जाँघों को सहला रहा है और जांघ सहलाते-सहलाते उसकी उंगली मेरे फांकों के बीच भी फिसल जाती थी.

गीता की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा हुआ था और उसके ब्लाउज़ से उसकी थोड़ी थोड़ी छातियाँ दिख रही थी. स्कूल गर्ल सेक्स दो चूत एक साथ-1अभी तक आपने पढ़ा कि दो स्कूल गर्ल सेक्स में काफी खुली हुई थी, मेरी दोस्त बन चुकी थी, आपस में लेस्बीयन सेक्स करती थी, लंड गांड चूत आदि शब्दों का प्रयोग सबके सामने खुले आम करती थी.

’ की आवाज आई।पवन अंकल ने और जोर का झटका मारा तो अबकी बार माँ जोर से चिल्लाईं ‘आह. मैं ये एहसान कभी नहीं भूलूंगी।मैंने उनको चूमते हुए कहा- रानी बुआ क्या एहसान, मैं तो अपना हूँ न आपका आय लव यू बुआ।उन्होंने भी कहा- लव यू टू सोना बेटा।उसके बाद मैंने बहुत बार बुआ को चोदा।मेरी बुआ की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी. रोज रात को 12 बजे के करीब वो आता और सुबह 5 बजे चला जाता। वो रात में 5 घंटे मेरी जम कर अच्छे से चुत चुदाई करके मेरी कामुकता का इलाज करता और मेरी चुदाई की भूख को मिटाता।दो महीनों तक मेरी रात में बहुत चुदाई हुई। रोज 5 घंटे की चुदाई से मेरी जिन्दगी में हरियाली आ गई।थोड़े दिन में मेरी चुदाई का असर मेरे ऊपर भी होने लगा था.

तब मैंने सोचा कि क्यों न कोई कंप्यूटर कोर्स कर लिया जाये!मैंने अपने घर के पास के इंस्टिट्यूट का नाम सुना था. और जब तुम नहीं मिलते हो तो उस रोज फिंगरिंग करती हूँ।इतनीसेक्सी कामुकता भरी बातें. तो उन्होंने इठला कर पूछा- कुछ और भी किया कि नहीं?तो मैंने भाभी से पूछा- कुछ और का मतलब?तो उन्होंने बोला- जैसे तुमको मालूम नहीं है.

बीएफ वीडियो कुंवारी मैं बड़ा हैरान हुआ, मैंने गीता की और देखा वो सोफ़े पे बैठ कर चाय पीने लगी और मुझे आँख मार कर मुस्कुरा कर इशारा किया, जैसे कह रही हो, चिंता मत कर, मज़े कर!मैंने अपनी बेल्ट और पैन्ट की हुक खोली और अपनी पैन्ट और चड्डी उतार कर नीचे गिरा दी. मम्मी ने कहा- क्या ख्याल है?तो यश ने कहा- आज रात मैं तेरी गांड मारना चाहता हूँ.

सुपर बीएफ सेक्सी वीडियो

वहाँ जाकर बाईक को साइड में खड़ा किया और देखा तो सामने से एक बुजुर्ग व्यक्ति, जो करीब 55 साल के रहे होंगे, वो हमारे पास आए और बोले- पधारो सा. ‘बताओ न गुड़िया, देखो स्नेहा, अगर तुम मेरे साथ कोआपरेट नहीं करोगी तो फिर मैं तुम्हारे मुहाँसों के लिए कुछ नहीं कर पाऊंगा. तो उस पार्टी में मैं गया, सबसे हाय हेलो के बाद मैंने खाना शुरू किया तभी मुझे स्नेहा दिखी.

दिनेश ने मुझे अपने बाकी टीम से इंट्रो करवाया और एक एक्टर को बुलाकर उसे एक सीन दिया। वो सीन मुझे उस लड़के के साथ करना था।सीन था कि प्रेमी अपने प्रेमिका को छोड़ कर जा रहा है और प्रेमिका को उसे रोकना है।सीन शुरू हुआ।मैं पहले 4 बार चूक गई. मगर उसने लंड अपने मुँह में नहीं लिया।मैंने उसकी चुत पर मुँह रख दिया। चुत चूमते ही वो कामुक सिसकारियां लेने लगी। उसकी बुर बहुत टाइट थी. सेक्सी बाते हिंदी मेंजा निकाल का ले आ।उसने जल्दी से कन्डोम निकाला और पहनने लगा। उससे कन्डोम पहनना भी नहीं आ रहा था। यहाँ मैं चुदास से पागल हो रही थी।मुझसे सहा नहीं गया.

फिर मैंने इधर-उधर देखा।बड़े वकील साहब की मेनचेयर पर एक मोटा कवर पड़ा था। मैंने उसे उतार कर फर्श पर बिछा कर.

वो लाइफ से ये लाइफ लाख गुना अच्छी है।सुमन- सच में दीदी आप बहुत अच्छी हो, ऐसा मज़ा ऐसा सुकून आज तक नहीं मिला, मेरी पूरी बॉडी इतनी हल्की हो गई कि ऐसा लगता है मैं हवा में उड़ रही हूँ। थैंक्स दीदी मुझे ये सब सिखाने के लिए!टीना- अरे थैंक्स कैसा. मैंने भी कुछ हरकत ना करते हुए चुपचाप से अपने होंठ खोल दिए और ऐसे खोले कि उसे लगा शायद नींद में ही मेरे होंठ खुल गए.

उधर दूसरी तरफ नताशा की चिकनी, बाल रहित चूत और एंड्रयू के विशाल लंड के बीच घमासान युद्ध मचा हुआ था, अपने पेट के ऊपर बैठी दोस्त की बीवी की गांड के छेद को अपने दोनों हाथों से फैलाए हुए वो लहराते हुए मेरी छोटी सी गुड़िया की चूत में तेज धक्के मार रहा था. सचिन का लंड एकदम तना हुआ 6 इंच लंबा और मोटा लंड देख कर मैं डर गई थी. नीलिमा- तुम दोनों क्या बातें कर रही हो?दीपा- कुछ ख़ास नहीं… मैं कह रही थी कि आज स्विमिंग पुल में कौन किस पे लाइन मार रहा था.

मुझे मज़े का पता ही नहीं चला था, मगर आज बहुत मज़ा आया। उस दिन बस दर्द हो रहा था।उसको पहली बार में खून भी नहीं निकला था। इसको लेकर वो खुद कहने लगी कि पता नहीं खून क्यूँ नहीं निकला। तब मैंने उसको समझाया कि ज़रूरी नहीं हर लड़की को पहली खून निकले।दोस्तो, रिश्ते में भरोसा ज़रूरी है, खून निकलना या सील का टूटना जरूरी नहीं.

लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा था कि उसे चोदने के लिए कैसे कहूँ। मैं भी जानती थी कि वो मेरे बड़े-बड़े मम्मों को घूरता है. दोस्तो… अब मुझे लगाने लगा कि मेरी चुत चुदाई आज मेरा भाई से होने वाली है. मेरी नज़र मैडम के बूब्स पर गई और तभी वो उठने लगी तो मैंने देर ना करते हुए उनके गाल पर एक किस कर लिया तो वो पहले थोड़ा सा शरमाई, फिर हंसकर मेरे होंठों को चूमने लगी और अब मैडम सोफे पर एकदम सीधा होकर मेरे ऊपर लेट गई.

ब्वॉय ब्वॉय सेक्सी वीडियो5 इंच है और मैं इससे संतुष्ट हूँ।मैं अपनी इंजीनियरिंग के तीसरे साल में था और तब तक मैंने कोई भी सेक्स एक्सपीरियेन्स नहीं किया था। बस मैं अन्तर्वासना पर आप लोगों की कहानियां पढ़ता रहता था जिनमें कुछ गे सेक्स स्टोरीज भी थी. और रात के दस-ग्यारह बजे तक पहुँचे।वहां से ऑटो से साहब के बंगले पहुँचे.

डाउनलोड्स की बीएफ

एक से बड़ी एक छिनाल रहती है यहाँ, ऊपर से बड़े नेक, शरीफ और अंदर से एक नंबर की रंडियाँ साली!मैंने पूछा- इनके साहब लोगों को नहीं पता क्या?रामू काका बोले- क्यों नहीं पता, वहाँ भी सेटिंग है, कोई एक दूसरे को नहीं पूछता. मैं सोचता था कि फर्स्ट टाइम सेक्स करूं तो मेरा फर्स्ट पोस्चर खड़े होकर सेक्स करने वाला हो. लेकिन जाते जाते पूजा ने अग्रवाल साहब का एक बार फिर लंड चूसा और माल पिया, बोली- मेरी शर्त याद रखना!तो अग्रवाल साहब बोले- ठीक है!दोस्तो, आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी जिसमें एक भाई ने बहन को चोदा? मुझे मेल करके ज़रूर बतायें, मुझे आपके मेल्स का इंतज़ार रहेगा.

थोड़ी ही देर बाद दरवाजे की घण्टी बजी, मैंने दरवाजा खोला और देखा तो चिंटू और परीक्षित दोनों थे, हमने उन्हें अंदर बुलाया जैसे ही वो अंदर आये रानी तुरन्त चिंटू को हैप्पी बर्थडे बोल कर उनके होंठों पर किस करने लगी, तभी परीक्षित ने उन दोनों को अलग किया, उसके बाद मैंने भी उनको होंठो पर एक लम्बी किस देकर उन्हें बर्थडे विश किया. कुछ देर चोदने के बाद मैं निशा से बोला- माल कहाँ निकालूँ?वो बोली- अंदर ही आने दो, मैं पिल ले लूंगी. अब तो हर शुक्रवार को मैं राजे के घर आ जाती हूँ और तीन दिन खूब चुदती हूँ.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… अजय ने उसके टॉप के अंदर हाथ डाल कर उसके मम्मे अच्छे से दबा दिए. उनकी फिगर 38-30-40 की थी, जो बाद में पता चली। उनके बड़े-बड़े चूचे और उठी हुई गांड देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया। मुझे शांत होने के लिए अन्दर बाथरूम में जाकर मुठ मारना पड़ा। मैं दिन रात उनकी चुत की चुदाई के सपने देखने लगा।मैं छत पर अपने अलग रूम में रहता था और अंकल-आंटी भी ऊपर ही रहते थे। उन्होंने नीचे का हिस्सा रेंट पर दे रखा था।करीब एक साल पहले की बात है, अंकल की ब्रेन ट्यूमर की वजह से मौत हो गई. वैसे वो खुले विचारों की है, उसने बताया था एक बार कि ऐसे तो उसके हसबैंड भी खुले विचारों के ही हैं, परन्तु मैं अभी तक उसके हसबैंड से मिला नहीं हूँ, और न ही कभी फोन पे बात हुई है.

मैं भी तो तुम्हारी आंटी की चूत खूब चाटता हूँ चोदने से पहले!’ मैंने कहा. ऑडियो सेक्स स्टोरी-ऑडियो सेक्स स्टोरी- श्वेता और शब्दिता ब्यूटी पार्लर में लेस्बियन सेक्ससेक्सी लड़कियों की आवाज में सेक्सी बातचीत का मजा लें!हम एक दूसरे में खोते जा रहे थे, मेरे हाथ उसके मम्मों पर चले गए और दूसरे हाथ से मैंने उसका लोअर नीचे कर दिया और चूत के दाने को सहलाने लगा.

साथ ही उन्होंने आंटी को भी नंगा कर दिया। अंकल ने आंटी का सर पकड़ कर नीचे करके अपना लंड उनके मुँह में घुसा दिया.

नताशा का मुंह खुला हुआ था लेकिन वो मेरा लंड नहीं चूस रही थी, बल्कि उसके मुंह से ओह-आह की मधुर ध्वनि पूरे कमरे को गुंजायमान करते हुए वातावरण को रंगीन बना रही थी. मतलब सेक्सीमैं जोधपुर(राज) में रहता हूँ।मेरे घर के पड़ोस में एक अंकल अकेले रहते थे, उनकी उम्र कोई 35-36 साल की रही होगी। उनकी वाइफ का एक्सिडेंट हो गया था और वो मर गई थीं. हिंदी सेक्सी वीडियो फुल एचडी सेक्सीमैं मजे में लंड चूसते हुए दिल खोल कर चुदवा रही थी कि तभी मेरी नज़र मेरे शौहर पर पड़ी, वो संजय से कुछ कह रहे थे, मुझे देख कर हँसने लगे. ज्यादातर लोगों अनुसार चूत ‘मारने’ के लिए होती है बस… उनके पास वो सौन्दर्य बोध वो दृष्टि ही नहीं होती जो उन्हें चूत के मनोहारी रूप के दर्शन करा सके.

खाना खा के फिर चले जाते हैं और रात को दूकान बंद करके नौ साढ़े नौ तक आते हैं.

मैंने भी अपने लंड को उसकी चूत पर घिसना शुरू किया तो मानसी ने अपनी चूत को उठाकर मेरे लंड का स्वागत किया. लेकिन ऊपर वाले ने हमारी जल्दी ही सुन ली।कुछ दिन बाद एक विवाहित जोड़ा आया और उसमें से वो आदमी मेरी माँ से कमरे के किराये के बारे में बात कर रहा था। मैं उस जोड़े में कुछ और ही देख रहा था।वो एक नव विवाहित जोड़ा था। वो लेडी तो. वो तुम्हें रोज एक टास्क देगी, तुमको उसे पूरा करना होगा और जिस दिन तुम सारे टास्क पूरे कर दोगी, समझो तुम हमारी पक्की वाली फ्रेंड बन गई हो।सुमन ने भी मुस्कुरा के संजय की बात मान ली और ‘अभी के लिए कोई टास्क दो’ ऐसा कहकर सबको चौंका दिया।संजय- वाउ ये हुई ना बात.

अगर कोई दोस्त मुझसे अपनी सेक्सी कहानी लिखवाना चाहती या चाहता है तो उनका मेरी तरफ से सवागत है. तभी मैंने उसके कपड़े पड़े हुए देखे, उसमें एक मिक्की माउस वाली पेन्टी और पिंक कलर की ब्रा थी. जब माला फिर से फर्श पर बैठने लगी तब मैंने उसे मना किया और पकड़ कर अपने पास बिस्तर पर बिठा लिया.

सेक्सी बीएफ चुदाई करना

जवाब में लड़की उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके अपने होंठ चबाने लगती, उसके बाद उस आदमी ने अपना लंड निकाला, अपनी हथेली को मुंह के पास लाया और अपनी लार हथेली पर गिराई और फिर अपने लंड पर उसको मलने लगा. उसका जिस्म बिल्कुल चमक रहा था और उसने हल्का सा गहरे गले का टॉप और नीचे छोटी सी स्कर्ट पहन रखी थी, जो मुश्किल से उसकी चूत को ढक पा रही थी. कभी बाहर कर रही थी।लगभग दस मिनट लंड चूसने के बाद मेहनत रंग लाई और गुप्ता जी का लंड खड़ा होने लगा।संजना खुश हो गई और गुप्ता जी के आंडों को सहलाते हुए लंड को नजाकत से चूसे जा रही थी। धीरे-धीरे गुप्ता जी का लंड बहुत भयंकर रूप से टाईट हो गया और फनफनाने लगा, जैसे कोई लोहे का मोटा सा सरिया हो।मैंने उस लंड को देखा तो सहम गया… वो लगभग 7.

लेकिन मैंने तो तुम्हें कुछ कहा ही नहीं।तब मैंने थोड़ा सामान्य होते हुए कहा- वास्तव में मुझे कुछ मेल करने वालों की करतूत याद आ गई तो मैं भड़क उठा.

उसकी चूत में उंगली डालने से मुझे महसूस हुआ कि वो शायद पहले भी सेक्स कर चुकी थी.

मैं कानपुर में रहता हूँ। मैं आज आप लोगों को अपनी एक चुदाई की कहानी सुना रहा हूँ। यकीन मानो कि ये कहानी एकदम सच्ची है। ये मेरी और मेरी कजिन सिस्टर यानि चचेरी बहन की चुदाई की कहानी है।मैं दस दिनों के लिए अपनी मौसी के घर रहने गया था। जब मैं वहाँ पहुँचा तो सब बहुत खुश हुए। मेरी मौसी तो सबसे ज़्यादा खुश थीं. गर्मी ज़्यादा थी तो एकदम खड़ा हो गया, फिर मैं घूमा और लंड को दबा दिया, फिर टीवी देखने लगा, उस समय से भाभी भी सोच में पड़ गई कि शायद देवर जी को चूत की भूख है. सेक्सी फक्किंग वीडियोअगले शॉट में वो किशोरी बिल्कुल नंगी होकर अपने घुटने मोड़ कर जांघों को पूरी तरह फैला के अपनी चूत अपने ही हाथों ओपन किये हुए लेटी थी और वो आदमी उसकी अर्धविकसित चूचियों को चुटकियों में मसलता हुआ उसकी खुली हुई चूत में जीभ घुसा कर चाट रहा था और लड़की पूरी तरह से उत्तेजित हो कर कामुक आवाजें निकाल रही थी.

आपने मेरी पिछली दो कहानियोंगलती बीवी की सज़ा सास कोऔरसास के साथ मौसेरी साली की चुत चुदाईमें पढ़ा कि मेरी बीवी को सेक्स में कोई इंटरेस्ट नहीं था जिसकी सजा मेरी सास और साली को भुगतनी पड़ी. चुदाई का तूफान अपने चरम पे था काका के मूसल ने लावा बरसाना शुरू कर दिया। उसकी गर्म धार मोना की चुत को बड़ा सुकून दे रही थी. साहिल- अब मुझे समझ आया कि तेरा लंड तना क्यों था पानी में… नीलिमा और रीता को स्विम सूट में देखकर तेरी नियत डोल गई.

फिर मेरी बीवी बोली- तुम क्य कर रहे हो?मैं बोला- मैं चाय पी रहा हूँ. तो उन्होंने कहा- एक शर्त पर?मैंने पूछा- क्या पायल जी?तो उन्होंने कहा- आप मुझे ये पायल जी… पायल जी….

मैंने आकर कमरे के दरवाजे खिड़कियाँ खोले तो कमरे में ताज़ी हवा आई और कमरे में ताज़गी आई.

मैंने उसको लंड चुसाने का मन बनाया, मैं लेट गया और उसके सर को नीचे धकेला, वो नए जमाने की लड़की थी, उसको अंदाज़ा हो गया कि मैं क्या चाहता हूँ, वो नीचे आई और मेरे पैरों पर बैठ कर मेरे लंड को सहलाने लगी, झुक कर मेरे लंड को चूमा और एक बारगी मेरे लंड को मुँह में ले लिया. कुछ मिनटों में ही अंजलि के चूतड़ उछलने लगे तो मैंने भी लंड को हल्का निकाल फिर से अंदर डाला. दोस्त की गांड मारी: मेरी गे सेक्स स्टोरी-1यह गे सेक्स स्टोरी उस समय की है जब मैं एक क्लास आगे आ गया था और मुझे अब ‘गे’ सेक्स की आदत सी पड़ गई थी। आप तो जानते ही हो कि लंड को चूसने और गांड मारने में कितना मजा आता है। अब मुझे रोज़ सेक्स करने का मन करता था.

भोजपुरी सेक्सी गाना सेक्सी लेकिन पता नहीं उसको क्या हुआ कि उसने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए और तकरीबन हमने दस मिनट तक किस किया। बाद में वो अलग हो गई और फिर से हम बातें करने लगे लेकिन आग उस तरफ जल चुकी थी।थोड़ी ही देर में हम दोनों ने एक और किस किया. उसका कहना है कि उसने तुझे कभी इस निगाह से नहीं देखा और ना ही वो तेरे से प्यार कर सकता… बिना प्यार के सेक्स में तुझे मज़ा आए ना आए उसकी कोई गारंटी नहीं.

जो कि वो अगले दिन स्कूल में चौथे लेक्चर के बाद की बुक थी। साथ ही मैं बुधवार की राह देखने लगा।उसका स्कूल मॉर्निंग का स्कूल था तो वो रोज 6 बजे उठ जाती थी। उसके बाद मैं 6. कितनी गंदी स्मेल आ रही है।टीना- अरे भाई पार्टी में कभी-कभी हो जाता है. इससे मेरी दोनों जाँघें रोहन की कमर पर टिक गई और मेरी कमर बिस्तर से थोड़ी ऊपर हवा में झूलने लगी।रोहन ने देरी न करते हुए अपने लण्ड को मेरी चूत पर टिकाया और एक जोरदार धक्के के साथ अपना करीब सात इंच लम्बा और दो इंच मोटा लण्ड मेरी चूत में उतार दिया जो सीधा मेरी बच्चेदानी से जा टकराया.

एक्स एक्स एक्स वीडियो एचडी में बीएफ

मैंने धीरे से अपने लण्ड को उसकी चुत में प्रवेश कर दिया, उसने मेरा पूरा सहयोग दिया. मैं कुछ कहता इतने में गीता आ गई, चाय लेकर… वो बोली- अरे मैडम जी, ये तो बहुत शर्मीला है, मैं करती हूँ. आप काफ़ी स्मार्ट लगती हैं।अब रात में भाभी से बातें होने लगीं तो मैंने पूछा- भाभी आज नींद नहीं आ रही है क्या?वो बोलीं- नहीं.

उसने अपने दूसरे हाथ से मेरी पैंटी को मेरी जांघों तक नीचे कर दिया।मैं किसी लाश की तरह पड़ी हुई थी. क्या मस्त खुशबू आ रही थी उनके जिस्म से…मौसी की सिसकरी निकलने लगी- अह्ह्ह बेटा… और जोर से… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह मेरा राजा… चाट इसे!वो मदहोश होकर बोले जा रही थी.

अब कोमल फिर से हमारे बीच सैंडविच बन के चुदने लगी और भद्दी गालियां देने लगी.

मगर मेरी एक बात समझ नहीं आ रही वो मेरे सामने तो शायद वो सब कर दे जो तुमने बताया है मगर तुम्हारे सामने कैसे करेगी?संजय- तेरी समझ मेरी समझ से बहुत कम है. कुछ देर बाद हम मिशनरी स्टाइल में आ गये और मैं काफ़ी तेज झटके मारने लगा. अब भाई बस लंड मेरी चूत पे रखने ही वाला था कि मेरा मादरचोद बॉयफ्रेंड का फोन आ गया.

मैं तुरंत समझ गया लेकिन फिर भी मैंने नाटक किया- हाँ ठीक है, मैं अभी पानी लाता हूँ!और मैं उठकर पानी लाया, उनसे बोला- यह लीजिए!तो मैडम ने देखा तो मुझे हँसी आ गई. मैंने अपना लंड उसकी चूत पर लगाया वो उछली और अंदर डालने का इशारा किया. 5 इंच का लंड पूरा अपने मुँह में भर लिया और बड़े प्यार के साथ उसे चूसने लगी.

चची की एक बेटी 6 साल की… मेरे चाचा विदेश मे जॉब करते हैं तो साल में एक बार दो हफ्ते के लिए आते हैं, चची गाँव में मेरे दादा दादी के साथ रहती है.

बीएफ वीडियो कुंवारी: खाना खाकर चारों समुद्र तट पर रेत पर ही लेट गए… वहाँ रिसोर्ट के बंदे ने उन्हें नीचे बिछाने को टॉवल दे दिये. तुझे पता है, तू जल्दी निपट जाता है।कहानी का अगला भाग:गे सेक्स स्टोरी: गांड की चुदाई के शौकीन-2.

अब विवेक की बारी थी चूत और चूत वाली को मदहोश करने की… उसने चूस चूस कर रूबी को इतना गर्म कर दिया कि रूबी वासना की आग में जलते हुए गिड़गिड़ाने लगी- राजा, अब अपना लंड दे दो. करीब 10 मिनट तक हम किस करते रहे, फिर मैंने उसको कपड़े उतारने के लिए बोला तो मना करने लगी. उसका मुंह पैरों पर, लंड चूत में और हाथ चूचों पर… ज़बरदस्त तालमेल से मेरी चुदाई हो रही थी जबकि जूसी लगी पड़ी थी वाइब्रेटर के नक़ली लौड़े के साथ.

दस पंद्रह शॉट में ही मैं तो चरम आनन्द को प्राप्त होकर विस्फोटक रूप से स्खलित हुई, चूत से मलाई की बरसात होने लगी, चूत तेज़ी से बंद खुल बंद खुल करती हुई मलाई से राजे के लौड़े को भिगोने लगी.

ऐसे तो उम्र भर लौड़ा चुसवाता रहूँगा मेरी जान!एक घंटा मेरे लौड़े का स्वाद लेने के बाद मधु बोली- अब तुम्हारी बारी मेरे लौड़े उस्ताद! ये गोरा बदन तेरे होंठों और लंड के लिए बेताब है, कसम से इतना स्वाद लंड नहीं चूसा कभी, भले ही अब तक चुदाई नहीं की लेकिन लौड़े बहुत चूसे हैं. तभी नीचे से अमिता ने अपनी चूत से जोर से धार निकाली और मेरे लंड को भिगो दिया, मुझे ऐसा लगा जैसे उसने मेरे लौड़े पे गर्म गर्म पेशाब कर दी हो।मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से निकाल दिया। हम सभी ‘उन्ह आई उई आह आह. उसका गोरा चेहरा लाल सुर्ख हो गया था और उसकी आँखों से बहते आंसू रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे.