सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई

छवि स्रोत,देसी जबरदस्ती बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

रानी रंगीली राजस्थानी: सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई, उसकी गांड का छेद टाइट था, मेरा लंड उसकी गांड में पहले तो थोड़ा सा गया … फिर थूक लगा कर मैंने पूरा अन्दर पेल दिया.

पंजाबी ब्लू पिक्चर दिखाएं

मुझे उसके दूध दबाने में जो मज़ा आ रहा था, मैं वो शब्दों में बयान नहीं कर सकता. वीडियो फिल्म एक्स एक्स एक्समेरे लंड का साइज 4 साल पहले 6 इंच लम्बा और दो इंच मोटा था, मगर मेरी एक आंटी या कहूँ कि मेरे दोस्त की माँ ने मेरे लंड का साइज ही बदल दिया है.

उस दिन जब मैं बहू के मायके के शहर में पहुंचा तो उसके घर वाले स्टेशन पर उसको छोड़ने के लिए आये हुए थे क्योंकि वापिसी की ट्रेन आधे घण्टे बाद की ही थी. मौसी को पेलाप्यासी टीचर ने कहा- आह … मुझे अपनी रांड बना कर रखना … आह … और तेज कर …शायद वो झड़ रही थीं, मुझे गीला गीला लग रहा था और चिकना भी.

मैंने चाची की चुदाई करने का प्लान सोचना शुरू कर दिया लेकिन मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि मैं यह कैसे कर पाऊंगा.सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई: मेरा मोटा लंड उसकी चूत में घुसा तो उसकी चीख सी निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’मैंने भाभी की चूत में दूसरा धक्का दिया और अपना पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

मैंने अब मेरे शॉट लगाने शुरू किए और पूरी ताकत से अपना लंड उसकी चूत में अन्दर घुसा दिया, जिससे वो बहुत जोर से चिल्लाई और मुझे दूर धकेलने लगी.अगर आपकी बहन आपसे कुछ इंकार भी करे, तो मान लेना क्योंकि उन्हें इन सबकी आदत नहीं होती है.

தமிழ் ஆன்ட்டி ட்ரிபிள் எக்ஸ் வீடியோ - सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई

उन्होंने एक पिंक कलर का लखनवी चिकन पहना था जिसमें उनके मोटे मखमली रबड़ी के समान 38 साइज के चूचे अपने होने का पूरा अहसास करा रहे थे.बहू ने मेरी आंखों में देखा और हल्की सी मुस्कान के साथ मेरे बदन से लग कर खड़ी हो गई.

चाची मादक अंदाज से अपनी गांड हिलाते हुए उठीं और पेंटी उतार कर उल्टी होकर लेट गईं. सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई लगभग पांच मिनट में ही भाभी का शरीर अकड़ने लगा और वो मेरा सिर पकड़ कर अपनी बुर में दबाने लगी.

यह कहते हुए मैंने अपने दोनों हाथों से उनके दोनों कंधे पकड़ कर बैठाया और बोला कि भईया नहीं हैं भाभी … तो क्या हुआ … मैं हूँ ना.

सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई?

मैं बोला- ऐसी कोई बात नहीं … तुमको पढ़ाते वक़्त मेरा भी रिवीजन हो गया है. मैंने उसकी चड्डी को नीचे खिसकाना चाहा, तो उसके खुद ही चड्डी घुटनों तक सरका ली. फिर मैंने उनके पेट पर अपनी जीभ घुमाना शुरू किया, उनकी नाभि को चुमने लगा.

जबरदस्ती ही सही, पर मुझे लगने लगा कि उसने मुझे अपने वश में कर लिया था. उस दिन से सुनील को याद करते हुए ही मैं अपनी चूत को सहलाती और उंगली से उसे शांत करने लगी थी. जैसे ही मेरी पकड़ ढीली हुई निर्मला ने कहा- देखो तो, तुम तो अभी से ही झड़ने लगी, लंड से चुदने पर क्या होगा.

मैंने पूछा तो उन्होंने समझाया- तुम मेरे ऊपर आकर लंड अन्दर बाहर करो. उसके लंड के आकार का अंदाजा मैं उसके पैंट के ऊपर ही लगा रही थी और उस स्पर्श से मैं फिर से जोश में आने लगी थी. आखिर जिस किसी की खातिर सब आए थे वह एपिसोड उनकी आंखों के सामने सम्पन्न हो चुका था.

मेरे खेतों में जो मजदूर काम कर रहे थे, मैंने उनके लिए खाना भी ले लिया. मैं अपनी बाइक लेकर मूवी देखने चला गया, लेकिन मेरा एक दोस्त और बाकी लड़के वहीं रुक गए.

मैं भी उठ कर बैठी, तो मेरी योनि के किनारे गोलाकार में सफेद झाग सा बना हुआ था.

मैं एकदम से चौंक गयी, पर मैं जब तक कुछ समझ पाती कि उसने झट से मुझे पकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया और रूम का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया।उसके दरवाज़ा बंद करते ही मैं समझ गयी थी कि आज नीरू की आराधना पूरी होने वाली है।उसने बोला- मुझे पता है कि तुमको चुदना है और तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है.

मैम की कुर्ती थोड़ी छोटी थी, तो उनकी दोनों तरफ से हल्की सी कमर दिख रही थी. मगर गांव में जाने के बाद मां का फोन आया कि उनको अभी एक-दो दिन का वक्त और लगने वाला है. ऊपर से शावर का पानी गिर रहा था और नीचे से वो अपनी गर्म जीभ मेरी चूत में चला रहा था.

मैं उनकी टांगों को हवा में उठा कर आंटी की गांड के छेद को अपनी जीभ से चाटने लगा. विभोर ने मुझे सिनेमाघर में ही किस किया था और मेरी चूची भी दबाया था. उनकी भी नजर मेरे पर पड़ी और वे मुझे देख कर न जाने क्यों मुस्कुरा दीं.

इस वक़्त वो बहुत सेक्सी हो गयी और मुँह से मदमस्त आवाज निकलने लगी थी.

उस दिन जब मैंने उसको गाउन में देखा तो पता लगा कि ये किसी भी नौजवान लंबी रेस के घोड़े को हांफने पर मजबूर कर सकने वाले गुणों से भरी हुई जवानी की तिजोरी है. उसको लड़कियों की चूची और चूत के अलावा उनके बदन में कुछ और दिखाई ही नहीं देता था. उर्वशी की नजर की उत्सुकता मिहिर की शर्ट के खुलते हुए हर बटन के साथ बढ़ती जा रही थी.

आपका अमित दुबे[emailprotected]यह थी पूजा की दुख भरी कहानी! यही है हमारे समाज का नारी सम्मान. वो एकदम से गनगना उठी और उसने मेरा सिर अपने हाथों से पकड़ कर अपनी चुत पर सटा दिया. मैंने ओके कहते हुए चुदाई की पोजीशन बनाई और अपना लंड मैडम की चूत पर रख कर एक जोर का धक्का मार दिया.

मैं नहीं जानती कि वो सच कह रहा था या झूठ … पर मुझे उस वक़्त ऐसा लगता था कि दोनों का चक्कर है.

मैंने भाभी के चूतड़ों को जोर से दबा दिया, तो उनके मुँह से एक मादक सीत्कार आह … की आवाज निकल गई. फिर उन्हें तेल की शीशी दिखाई दी तो वे लपक कर उठा लाए और अपनी उंगलियों पर डाल कर चुपड़ने लगे.

सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई मैं जल्दी से उनके घर गया और अन्दर जाकर देखा तो असगर अपनी बहन ज़रीना के साथ लड़ाई कर रहा था. दोस्तो, मेरा नाम रजा है, मेरी उम्र 21 साल है, और मैं मुरादाबाद के पास सम्भल नामक कस्बे से हूँ। मेरी हाईट 5 फीट 10 इंच है, मेरा लण्ड 7 इंच लम्बा और 3.

सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई उसने मुझे बताया कि उसका नाम सबा है और वो मेरी दुकान के सामने ही किराए से रहती है. फिर मैंने ज्योति की चूत का रस अपने लंड पर लगाया … ज्योति मेरे लंड को देख कर घबरा गयी और बोली कि आह … इतने बड़े लंड से तो मैं मर ही जाऊँगी.

मैंने कहा- आपको तो अच्छा नहीं लगता था ये?तो वो बोली- तुमने मुझे मेरी चुत चूस कर इतना मजा दिया तो क्या मैं तुम्हारे लिये इतना भी नहीं कर सकती!यह कह कर प्रमिला आंटी फिर से मेरी जीभ को चूसने लगी.

शादीशुदा वाली बीएफ

मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था क्योंकि मैं हमेशा अपनी चूत के बाल को साफ़ करती रहती हूँ. थोड़ी देर में उसको मज़ा आने लगा और वो भी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी. मेरी मम्मी ने कहा कि मैं खुद विद्यालय में रहती हूं … और मुझे इसे पढ़ाने का समय नहीं मिलता है.

उसने नीचे से काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें उसके चूचे भरे हुए थे. मेरी मादक सिसकी और कामुक पुकार उसके कानों में पड़ते ही, वो किसी मशीन की भांति कमर चलाते हुए लिंग मेरी योनि में रगड़ने लगा. वो मेरी योनि में एक उंगली डाल लगातार जीभ से चाटता था, जिससे मेरी योनि से पानी रिसते हुए उसके मुँह और बिस्तर पर गिरने लगा.

मेरे पति जब मुझे नहीं चोदते हैं, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदने की बात करती हूँ.

मगर उधर शिफा को देख कर इंशा ने भी अपना लहंगा ऊपर उठाया और दोनों सहेलियां एक दूसरे के सामने अपनी अपनी फुद्दी रगड़ने लगी. उन्होंने मुझे तख्त पर बिठाया और वे नाश्ता बनाने अन्दर रसोई में चले गए. मैं जैसे ही विद्यालय पहुंचा, मैं मम्मी के आफिस में दाखिल हो गया, अभी घुसा ही था कि मैंने देखा एक हसीन लड़की वहाँ थी.

उसके बाद मैंने भाभी की चूत में अपनी जीभ को डाल दिया और उसकी चूत में जीभ को देकर उसे जोर जोर से चूसने लगा. उस दिन मैं सोचने लगा कि अब बढ़िया मौक़ा है … अब मामी को चोदा तो चोद लिया … नहीं तो पता नहीं मौक़ा मिले ना मिले!अब घर वालों के सामने क्या बहाना किया जाये कि मैं मामी की चूत मारने के लिए जा सकूं. दो मिनट तक मैंने उसकी चूत को सहलाया और फिर उसके पेट को चूमते हुए मैं उसकी चूत के बालों तक पहुंच गया.

उस मुश्किल वक़्त में हम एक दूसरे के साथी बने, जब हमें सहारे की सख्त जरूरत थी. दोस्तो … चुत और लंड सिर्फ चुदाई के लिए बने होते हैं, इसलिए आप अपनी झिझक खत्म करके मेरी चालू मॉम की चुदाई की कहानी पर अपने कमेंट्स बिंदास लिखिए, मुझे अच्छा लगेगा.

एक दिन मैंने उसकी सहेली हुमा से पूछा- ये सुशी इतनी मुस्कुराती क्यों है?तो वो बोली- सुशी आपको पसन्द करती है. मेरे दोस्त आयुष के बाजार जाने के बाद घर में सिर्फ मैं और उसकी गर्लफ्रेंड ज्योति दोनों अकेले ही रह गए थे. गालों से टपकती बूंदें उसके गले से होते हुए ब्लाउज के अन्दर जा रही थीं.

इस पर अनिल ने कहा- साली रंडी … केवल चूची दबाने पर मुझे रोक रही हो और सुरेश से चुदवाने में कोई दिक्कत नहीं है.

फिर मैंने उसके पूरे शरीर को चाटना शुरू कर दिया, जिससे रोनिता फिर से गर्म हो गयी. इतना सुनते ही भाभी रोने लगी कि ये सब बातें बाहर किसी को भी नहीं बताना … नहीं तो मेरी बहुत बदनामी होगी. बस चाय नाश्ते के टाइम पर या रात के खाने के टाइम पर कुछ हल्की फुल्की बात हो जाती थी.

राजशेखर ने कहा- बिल्कुल मेरी जान, इसकी प्यारी गीली चुत खराब थोड़े करूंगा. उन्होंने मुझे तख्त पर बिठाया और वे नाश्ता बनाने अन्दर रसोई में चले गए.

चूंकि मैं उनके घर में पहली बार आई थी और मुझे सिर्फ एक दिन के लिए यहां पर काम करना था तो मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया. मैंने पूछा- मैडम घर पर कोई नहीं है क्या?मैडम ने कहा- हां … घर पर तो कोई भी नहीं है. करीब 20 मिनट बाद पूजा ने बोल ही दिया कि तुम दोनों के बीच क्या चल रहा?मैं कुछ बोलता, उससे पहले संध्या ने बोल दिया कि वही … जो आप दोनों के बीच चल रहा है.

bfsexy वीडियो

फिर इंशा बोली- वो देख … तौफीक, साला बड़ा अच्छा लगता है मुझे, दिल करता है इसी से शादी कर लूँ.

मैं ऊपर से नहीं … अब नीचे से चोदना चाहता हूँ … अब आप मेरे लंड के ऊपर आओ. मैं अपनी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँमेरी पिछली सेक्स कहानीछत पर देवर भाभी सेक्स स्टोरीमें आपने पढ़ा था कि आखिरकार मैंने अपनी प्रिया भाभी को चोद ही दिया था. आपको मेरी भाभी की चुदाई की ये सच्ची कहानी कैसी लगी, मेल पर जरूर बताना.

मैंने मम्मी से अपने साथ चलने को कहा, तो वह चुपचाप मेरी मोटरसाईकल पर बैठ गईं. मैं अपने एक केमिस्ट मित्र से नींद की दवाइयां लाकर अपनी कामुक बहन के खाने में मिलाकर खिला देता. ट्रिपल एक्स सेक्सी ट्रिपल एक्सयह मेरी पहली कहानी है अगर कोई गलती हो मुझसे … तो आप मुझे माफ़ कर देना, यह कहानी बिल्कुल सच्ची है.

वो मुझ पर गुस्सा होने लगीं कि किसी और कि निजी सामग्री तुम्हें नहीं देखनी और लेनी चाहिए. फिर मैंने पीछे से उसकी मैक्सी को उठा दिया और उसके चूतड़ों को दबाने लगा.

कुछ देर बाद वो कपड़े पहनने लगी, तो मैंने कहा- अरे रात को यहां कौन आ रहा है … चल हम बिना कपड़ों के ही सो जाते हैं. फिर कुछ देर के बाद मामा ने मेरी मामी के गालों को किस करने कोशिश की तो मामी ने मरे मन से उनको किस करने दिया. जिन्हें देखकर मेरा लण्ड मोसी को तुरंत चोदने के लिए उतावला हो रहा था.

अभी इससे पहले कुछ और वो बोलती, मेरा हाथ उसके पैरों से होता हुआ, साड़ी के अन्दर चला गया. मंगल एक पालतू की तरह से एक एक करके अपने पूरे कपड़े उतरता ही चला गया. जैसे जैसे मेरे हाथ उसकी जांघों को सहला रहे थे उसकी सांसों की गति भी बढ़ती जा रही थी.

मेरी मॉम बहुत ही हॉट ड्रेस पहनती थीं, जिसको देखने का मैं आदी हो चुका था.

मैं अपने हाथों से उसके मम्मों को सहला रहा था और साथ ही निप्पल को भी छेड़ता जा रहा था. उसने मेरे कच्छे को भी नीचे खींच दिया और फिर मेरे लंड को सीधा मुंह में भर कर जोर से चूसने लगी.

मैंने कहा- जानू अभी तो आधी ही अन्दर गयी है … अभी तो मैं इसमें पूरा हाथ भर का अपना अन्दर डालूँगा. जबकि मैं पहले से ही जान चुका था कि वो मेरी बहन की चुदाई करने के लिए मेरे ही घर पर आ रहा है. मुझे ये नहीं समझ आ रहा था कि इस लंगूर को अंगूर जैसी बीवी कैसे मिल गई.

ये सोचते हुए मैं अपने मन को पक्का करने लगा था कि बहन की चुत जरूर मिल जाएगी. उनकी साड़ी की सिलवटें खोल दीं और अब मामी केवल ब्लाउज और पैटीकोट में ही रह गई थी. लेकिन उसने खुद को सम्भाला और पीछे मुड़ गयी, वो मुझसे बोली- इतनी भी क्या जल्दी है … अन्दर चल कर धीरे धीरे सब करते हैं.

सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई अब तो उसके मुंह से सिसकारियां निकल रहीं थीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मम्मीईई … आह्ह … चोदो जानू … आइ लव यू डार्लिंग!जैसे जैसे चुदाई आगे बढ़ रही थी वो मुझसे लिपटने लगी थी. चूंकि मैंने पैसे ले लिये थे इसलिए मैंने अपने हाथों ही मुसीबत मोल ले ली थी.

ब्लू सेक्सी पिक्चर हॉट

हम दोनों भाई बहन की चुदाई करने लगे और साथ में एक दूसरे को किस भी कर रहे थे. मैं उसके होंठ छोड़कर उसके चूचों पर आ गया और मुँह में लेकर चूसने लगा. अब मैंने एक एक करके उसके सारे कपड़े उतार दिए … और उसकी चुत में फिंगर डाल दी.

मगर मैं घर पर मौजूद नहीं था इसलिए ना चाहते हुए भी मिहिर जाने के लिए इजाज़त माँगने लगा और उसने कहा कि यदि किसी भी चीज़ की आवश्यकता हो तो उर्वशी उसे बता दे. मेरी कजिन भी शायद इस बात को समझ रही थी कि मैं जानबूझ कर ब्रेक नहीं लगा रहा हूं. पाकिस्तान की सेक्सी वीडियो बीएफमेरे लंड का रस पी कर उनका चेहरा और भी ज्यादा खिल गया था या कहूँ तो और भी ज्यादा खूबसूरत हो गया था.

मैं- फिर आगे क्या हुआ?पूजा- मेरे ज्यादा बोलने पर उसने मुझे डांट दिया.

मास्टर साब बोले- आप यहीं आराम करें … अभी दस बज रहे हैं, सुबह में साथ चलूंगा. इसके बाद उसने मुझे कई बार चोदा और हर बार उसने मुझे चोद कर मस्त कर दिया.

मेरी इस हरकत से वो और भी उत्तेजित हो गया और अपने हाथों पर संभालता हुआ अपना पूरा भार उसने मेरे बदन पर डाल कर मुझे तेजी से चोदने लगा. वो मुझे अपने साथ अपने पति के बिस्तर पर ले गई और फिर हम तीनों का खेल शुरू हो गया. पर तुरंत झड़ने के बाद जल्दी लंड खड़ा होता नहीं है, इसलिए मुझे वहां से बाहर जाना पड़ा.

मैंने मज़ाक मज़ाक में उसको बोल दिया कि तुम मेरी गर्लफ़्रेंड बन जाओ … और मुझे प्रपोज़ कर दो.

उन्होंने संजय के लंड को पकड़ा और बोलने लगीं- अब देर न करो मेरे राजा … जल्दी से लंड पेल दो … मेरी चूत की प्यास बुझा दो. पूजा- मुझे पहला लड़का 11 वीं क्लास में मिला था, जो अकेले में मुझसे बहुत ही मीठी मीठी बात करता था. मैं- मतलब! क्या मिल गया तुम्हें ऐसा … मेरी बुर कोई 18 साल की लड़की की थोड़े है, जो ऐसा बोल रहे हो.

चुदाई की ब्लू पिक्चरउसकी गुलाबी पैंटी में उठी हुई उसकी चूत की फांकें देखकर मैं बेकाबू हुआ जा रहा था. जिस औरत के ये दोनों अंग सेक्सी होते हैं, उसे कोई भी मर्द चोदना चाहता है.

सेक्सी भेजो सेक्सी सेक्सी बीएफ

अब मैं अपनी गांड को दोनों हाथों से दबा रही थी और कह रही- आह जान … मेरी गांड की प्यास बुझा दो. मैं जैसे आसमान मैं उड़ रही थी और उसके सर को अपनी चूत पर जोर से दबाने लगी. मैं- मतलब! क्या मिल गया तुम्हें ऐसा … मेरी बुर कोई 18 साल की लड़की की थोड़े है, जो ऐसा बोल रहे हो.

कल्पना ने बहुत शर्माते हुए अपनी सेक्स फेंटेसी बताई कि उसका बहुत मन है कि वह किसी औरत के साथ लेस्बियन सेक्स करे. मैंने ये भी मान लिया कि ये शर्म और झिझक तो कुछ दिन में खत्म हो ही जाएगी, ज़रा इस तरह से भी सेक्स का मजा ले लिया जाए. मैंने बीस मिनट तक उसकी गांड मारी और साथ में उसकी चुत में उंगली भी चलाई.

अंधेरे में जंगल में बेटे का लंड लेते हुए अलग ही रोमांच पैदा हो रहा था मेरे अंदर. एक सुनसान जगह देख आकर उसने रास्ते से अलग हटते हुए एक कच्ची पगडंडी पर बाइक उतार दी. उसने कहा- कैसे लूं मुँह में … जैसे दीदी ने लिया था विद्यालय में … वैसे?मैं हैरान था कि उसे कैसे पता चला.

पूरी योनि बाहर से भीतर तक चिपचिपी होकर लिंग के घर्षण से छप छप कर रही थी. उसी कार्यालय में काम कर रही एक अन्य लड़की, जो दिखने में बहुत ही सुन्दर थी.

वो एकदम से तड़पने लगी और अपने दोनों पैरों और जांघों से मेरे सिर को जकड़ लिया.

थोड़ी देर बाद मेरा भी होने वाला था, तो मैंने बुआ को बोला- बुआ मेरा निकलने वाला है. ಫುಲ್ ಎಚ್ಡಿ ಬಿಎಫ್अगर मैं आज की समझ के हिसाब से बोलूँ, तो उसने माँ की पेंटी को अपने लंड पर रखी हुई थी. भाभी की बीएफ मूवीवह मम्मी से कह रहा था- नीतू रानी आज कौन से स्टाइल से चुदवाओगी?मम्मी कहने लगीं- जिस भी स्टाइल में चोद सको चोद दो … बस मेरी चुत की गर्मी शान्त कर दो. सुरेश दसवीं के बाद ही बाहर चला गया था, पर जब कभी गांव आता तो हम सबसे जरूर मिलता.

फिर मैं उठकर उसके मुँह के पास लंड ले गया और उससे लंड चूसने को बोला, तो वो मेरा लंड चूसने लगी.

मैं अपनी सेक्स कहानी को आगे लिखूँ, उससे पहले मैं आप सभी को थोड़ा अपनी बहन के बारे बता दूँ. इतना बोलते ही वो मोनिषा आंटी को जोर जोर से भंभोड़ने करने लगा … जोर जोर से उनके दूध दबाने लगा और उनके कपड़े उतारने लगा. सुरेश को मेरी योनि में बहुत मजा आ रहा था और मैं अब समझ गयी थी कि जितनी जोश में अब वो है, जल्द झड़ जाएगा.

उसकीनंगी जवानीदेख कर मेरे मन में फिर से चुदाई का ख्याल आने लगा मगर उसने मना कर दिया. इतना कहते हुए वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे और दीवार में बने आले में रखी तेल की शीशी उठा ली. दूसरे दिन जब जिम में नेहा उन कपड़ों को पहनकर आयी, तो लड़के उसको देखते ही रह गए.

वीडियो भोजपुरी सेक्सी गाना

हम दोनों पिछले चार साल से रिलेशनशिप में थे, पर मेरी पढ़ाई के कारण मुझे बाहर ही रहना होता था, तो हम बहुत कम ही मिल पाते थे. अपने पति के सामने तो बहुत सीधी लग रही थी, पर अब वो मुझ पर डोरे डाल रही थी. मैंने उससे कहा- यदि तुमको नींद आ रही है, तो तुम मेरी गोदी में अपना सर रखकर सो जाओ.

खाना अभी तैयार नहीं हुआ था, तो वो बाहर बैठ गया और फ़ोन पर किसी से बात करने लगा.

उनकी 38 के साइज के चूचियां जब मेरे सीने से आकर सटीं तो पूरे बदन में एक करंट सा दौड़ गया था.

कल्पना ने बहुत शर्माते हुए अपनी सेक्स फेंटेसी बताई कि उसका बहुत मन है कि वह किसी औरत के साथ लेस्बियन सेक्स करे. मैंने ब्लू फिल्म के लिए पूछा, तो उसने बताया कि हां उसकी कई ब्लू फ़िल्में भी बन चुकी हैं. नंगी फिल्म गंदीऐसे ही दिन बीतते गए, अपनी चूत की मांग, शारीरिक भूख को मैंने अनदेखा कर दिया था, पर उसका परिणाम मेरी सुंदरता पर और मानसिक स्थिति पर होने लगा था.

वो मुझे चूमते हुए कभी मेरे स्तनों को दबाता, कभी चूतड़ों को, कभी जांघों को सहलाता और मैं बस उसके हाथ झटकती रहती. चूंकि ये उसका ही शहर था और वहां सब जान पहचान वाले भी थे, इसलिए उसका डरना लाजिमी था. रागिनी- देखो … ये मत समझना कि मैं बहुत ग़लत लड़की हूँ … पर सेक्स की ज़रूरत हर इंसान को होती है.

मैंने पूछा- मैम आप मुझे कोई नया विषय भी पढ़ाने वाली थीं?उन्होंने मुझे हैप्पी बर्थडे कहते हुए कहा- हां मुझे पता है कि आज तुम्हारा जन्मदिन है … और मैं आज ही से नया विषय पढ़ाऊंगी. उन्होंने फिर कहा- बोला ना कि शॉर्ट्स पहन कर आ!उनका इशारा मेरी तरफ था क्यूंकि मैंने जींस पहन रखी थी.

वह मेरा हाथ अपने पैंट के ऊपर से ही लंड पर रख कर बोला- थैंक्यू तो ठीक है … पर मेरा क्या … आप तो मजे से मेरे मुँह में अपना रस छोड़ कर बैठ गई हो … पर इसका क्या होगा?”उसका लंड पैंट में ही फड़फड़ाने लगा था.

मैं कैसी मस्ती से अपनी चूत चुदवा रही हूँ और हम दोनों एक दूसरे को सेक्स का मजा दे रहे हैं. पर अगले ही पल उसने बताया कि जबरदस्ती करने का आईडिया सरस्वती ने ही दिया था. लाइन में दूसरे सिरे पर खड़ी एकता को इसी तरह उत्तेजक प्यार करने लगा.

मराठी सेक्सी बीएफ हिंदी पर उस समय ये प्यार मोहब्बत करना तो दूर की बात, लोग आपस में बातें भी नहीं करते थे. मोनिषा आंटी ने लंबी सांस लेते हुए कहा- बहुत दिनों बाद किसी ने मेरी चूत को चूसा है.

अबकी बार वो बोली- क्या इरादा है तुम्हारा?मैं बोला- मैं कुछ समझा नहीं. अब बोलो, किसकी मारूं?हालांकि अभी भी मुझे शक था कि इनमें से कोई भी मुझसे चुदने के लिए राजी हो सकेगी. दोनों ने सरसों के खेत की तरफ पीठ करके साड़ी ऊपर की और मेड़ पर बैठ कर पेशाब करने लगीं.

রিয়াল সেক্স ভিডিও

मैंने पूछा- आंटी क्यों ना आप मेरे रूम पर चलो या मैं आपके रूम पर चले चलता हूँ. मैं- कहां है तू … और क्या अभी अकेली है?सरस्वती- मायके में हूँ, भैया भाभी अपने ससुराल गए हैं … इसलिए आज अकेली हूँ. वो ओपन माइंडेड हुई, तो मैंने जानबूझ कर उससे पूछा- ये सेक्सी का मतलब क्या होता है?उसने कहा- तुम्हें सेक्सी का मतलब नहीं पता है?मैंने कहा- नहीं.

वह अपने साथ बॉम्बे डाइंग का जंबो साइज का टॉवल लेकर आया और पूरी तरह नंगी एकता के पीछे जाकर उसके दोनों हाथ ऊंचे किए और टॉवल को उसके वक्ष पर लपेटकर अच्छे से बांध दिया और एकता के निर्वस्त्र शरीर को ढक दिया. पांच मिनट बाद दोनों बाहर आए और लड़के ने मुझसे कहा- आप आज रात यहीं रुक जाइए, मैंने सब नौकरों को आज छुट्टी पर भेज दिया है.

उसने दीदी को किसी खिलौने की तरह खींचा और उनकी दोनों टांगों को फैला कर उनकी चूत में लंड डाल दिया.

मुझे ज़रीना को चोदते हुए आधा घन्टा हो चुका था और मैं उसे अब भी चोद रहा था. मैंने कहा- माँ जैसी हो … माँ तो नहीं हो ना …बस मैं अपने काम में लग गया. तब से मैं और विभोर हमें जब भी मौका मिलता है तो हम लोग सेक्स करते हैं.

उसने तनिक भी देरी किए बिना लिंग तुरन्त मेरी योनि में प्रवेश करा दिया और फिर से तेजी से धक्के मारने लगा. मैं मस्ती से भर गई और मैंने दोनों टांगें जमीन से उठा हवा में ऊपर लहरा दीं. मेरी ये लव सेक्स और चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज करके जरूर बताएं[emailprotected]मुझे आपके मैसेज का इंतज़ार रहेगा.

उसने मेरे कपड़ों को हाथ लगाया, तो मैंने उससे कहा- मैं उतार देती हूँ … मेरे पास यही ड्रेस है … तुम्हारी जल्दीबाजी में कहीं फट न जाए.

सेक्सी बीएफ चाहिए चुदाई: आज उसकी साइज़ 40-30-43 की बन गई थी, जबकि पहले वो 26-24-26 की एक मरियल सी खटारा थी. मैं ये बात समझ गयी थी कि उसे समलैंगिक सम्भोग पसंद है, इसी वजह से मुझसे इतना बात करती थी.

यह मेरी किस्मत ही थी कि उनकी सुहागरात के लिए इस तरह की व्यवस्था की गई थी कि खिड़की से ही सारा नजारा देखा जा सकता था. ” बेडरूम से बाहर आते वक्त मेरे कान पर शब्द पड़े, पर मैं सीधा अपने घर चली आयी. मैंने तीन-चार मिनट तक इसी रफ्तार से पायल की चूत की चुदाई की और फिर जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने पूछा कि कहां पर निकालूं?वो बोली- बाहर निकालना.

अगर हम उसके घर में सेक्स और चुदाई नहीं कर सकते तो क्या हुआ हम किसी और जगह पर जाकर चुदाई कर लेंगे.

तभी मेरे दोस्त आयुष ने मुझे रोकते हुए कहा- तारीफ़ ही करता रहेगा या फिर कम्प्यूटर भी सही करेगा?मैंने कहा- यार, कम्प्यूटर ही तो सही करने आया हूं. पांच मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे को हमने चूसा और फिर दरवाजे की बेल बजी. आधी रात में जवान लड़की मेरे लंड के साथ छेड़खानी कर रही थी तो भला मैं कब तक खुद को कंट्रोल रख पाता.