हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर साड़ी में चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

इंग्लैंड वीडियो सेक्स: हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में, हॉट भाभी सेक्स कॉम कहानी मेरे दोस्त की बड़ी साली के साथ रोमांस की है.

काजल एक्टरनी की सेक्सी वीडियो

बाइक चलाते हुए बहुत दर्द हो रहा था और मुझे घर पहुंच कर नहाना भी है. अंग्रेजी कॉलेज सेक्सीपाठिकाओं की पसंद के लिए सबसे जरूरी जानकारी लंड के साइज़ की होती है.

सुसर जी को चोदते हुए करीब 2 मिनट ही हुए थे कि उन्होंने अपना सारा माल मेरी चूत में उड़ेल दिया. मुझे सेक्सी फोटो देखना हैमैंने भी दूसरी चूत की जुगाड़ देखते हुए तेज झटका मारा और शनाया से कहा- तुम सुमन से बात करो, मैं श्रुति से बात करता हूँ.

बर्तन धोकर वो किचन में खाना बनाने लगी और मुझसे बात करने लगी कि क्या बनाना है.हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में: मगर ये कमाल की बात थी कि इतनी देर तक चूत चूसने के बाद अभी भी भाभी का पानी नहीं निकला था.

पहले तो वो आधा ही लन्ड चूस रही थी पर फिर मुखिया जी ने माँ का सिर पकड़ा और अपना पूरा लन्ड माँ के मुँह में डाल दिया.‘आआहह उहह वीरू जी …’ जैसे कामुक सीत्कार रेशमा के मुँह से बाहर आने लगे.

बिहारी सेक्सी चित्र - हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में

उसने कहा- मेरी धड़कनें सुनो, इतनी हिम्मत जुटानी पड़ी यहां आने के लिए.कुछ मिनट की धुंआधार चुदाई के बाद हम दोनों ही चरम सीमा पर पहुंच गए थे.

सानू- आह धीरे कर यार … चल अब छोड़, देख लिया!मगर मैंने लंड नहीं छोड़ा, बल्कि हाथ में लेकर दो तीन सड़का मारे तो वह लंड छुड़ाने लगा. हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में मैं हंसने लगा और उसकी जांघ सहलाते हुए बोला- तुमसे प्यार हो गया है मिहिका मेरी जान.

मनीष ने मुझे और कसके एक हाथ से पकड़ लिया और दूसरे हाथ से अपना पैंट और अंडरवियर उतारने लगा.

हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में?

इस बार सुमैत्री मेरे लंड के वार को सहन नहीं कर पाई और जोर की आह भर कर बिस्तर पर अपनी पोजीशन छोड़ कर लेट गईलेकिन मैंने सुमैत्री को कमर से पकड़ा हुआ था इसलिए मैं भी सुमैत्री के साथ बिस्तर पर उसके ऊपर लेट गया. रास्ते में उसने अपने बैग से मेकअप का सामान निकाला और अपना हुलिया ठीक कर लिया. चूत शान्त हुई तो मैंने अपना लंड अन्दर पेल दिया और धकापेल चुदाई करने लगा.

तो उसके लिए मैं माफी चाहती हूँ क्योंकि मुझे हजारों की संख्या में मेल आते हैं और सभी को जवाब दे पाना मेरे लिए मुश्किल है. मेरे लंड हिलाने से मैं भी हिल रहा था इसी वजह से मेरी मौसी की नींद टूट गई और वो जाग गईं. मैंने उस पर एक हाथ रख कर दूसरे हाथ को कंधे के पास रखा और झटके से उठा लिया.

मैं दोनों गिलासों को टकरा कर चियर्स करते हुए बोला- जब सुहाना लगेगा तो कोई रोएगा किस लिए?वो मुस्करा कर बोली- तब मुझे ऐसे ही क्यों छोड़ रखा. मैं और नीचे सरककर सभी जगह चूमते हुए उसकी गोरी गोरी मांसल जांघों पर चूमने लगा. साक्षी के यहां से निकलकर मैं अपने दोस्त के घर पहुंचा तो वहां पर सिर्फ उसका भाई गौरव ही मिला.

जैसे जैसे मैं चूत चाट रहा था, वो और ज़्यादा आवाज़ें निकलने में लग गई थी. मैंने कहा- चुत का दर्द नहीं संजना भाभी … वो गिरने वाला दर्द कैसा है.

जब मैंने उसे मेरे लंड को चूसने को कहा, तो वो बोली- तुम जो भी कहोगे, मैं वो सब कुछ करूंगी.

जी में आ रहा था कि अभी अपना लंड इसकी गांड से भिड़ा दूँ और इसकी मस्त पतली कमर पकड़कर धक्के मारूं.

मौसी ने कहा- देखा, चल अब मेरी गांड मार ले, पता नहीं अब दोबारा कब मौका आएगा. लीशा बोली- अभी मम्मी जी जाग रही हैं और दीदी भी पढ़ाई कर रही हैं, अभी कैसे आ सकती हूँ. मैं- आई लव यू भाभी, मैं आप से उसी दिन से प्यार करता हूँ, जबसे आपको देखा है.

सोनाली मेरे होंठों को चूसती हुई मुस्कुराकर बोली- तो मैं क्या भूतनी हूँ? जो तुम्हारे ऊपर लेटी हूँ. वो बोली- अब ये क्या कर रहे हो हर्षद?मैंने कहा- तुम्हारी चूत अन्दर से साफ कर रहा हूँ. मैंने उससे कह दिया था कि किसी भी तरह से ये बात अमित को पता नहीं चलनी चाहिए.

मैंने दरवाजा खोला और वो मेरे सामने ट्रे में नाश्ता और चाय लेकर खड़ी थी.

उसे गोद में उठा कर ही मैं बाथरूम में गया और वापस आया क्योंकि उससे चला ही नहीं जा रहा था. इसी बीच मैंने चाय में एक खौल लगाया और अंकल से कहा- आप इसको चखो, ठीक बनी है या नहीं. दो दो पराये मर्दों को नंगा देख रही हूँ, उनके लण्ड देख रही हूँ, उनके लण्ड चाट रही हूँ, उनसे अपनी बुर चटवा रही हूँ। और क्या चाहिए एक बुर चोदी बीवी को? आज मैं बिल्कुल रंडी बनकर इन दोनों लण्ड का मज़ा लूंगी।इन सब बातों से माहौल में और ज्यादा गर्मी हो गयी।मैंने आनंद की बीवी नेहा की बुर में पेल दिया और चोदने लगा.

फिर अपने एक हाथ से अपना तना हुआ लंड हिलाकर बड़बड़ाया- कौन है?मेरी लुँगी कमर से हटकर अलग हो गयी थी. मैं उसके दोनों पैरों के बीच अपने घुटनों के बल बैठ गया और अपने एक हाथ में लंड पकड़कर उस पर ढेर सारा थूक छोड़ा और लंड पूरा गीला कर दिया. आपका हर्षद मोटे[emailprotected]फोरप्ले सेक्स की कहानी का अगला भाग:बरसात में अजनबी लड़की की कुंवारी चूत मिली- 4.

भाई ने मुझे भी इसी वादे पर पूरी बात बताई कि घर पर किसी को मत बोलना.

मैंने उसकी चुत चूसना चालू की तो वो भी गर्मा गई और मैंने उसे ताबड़तोड़ चोद दिया. उसने मेरे दोनों हाथों को पकड़ा और मुझे अपने बिस्तर पर बगल में लिटा लिया.

हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में यह मेरी पहली सेक्स कहानी है देसी भाभी की चूत चुदाई की … मुझे उम्मीद है कि आप लोग इसे पसंद करेंगे. उस वक्त तक मोनिका और मैंने नाइटी पहन ली थी और उन दोनों के आने का इंतजार कर रही थीं.

हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में दोस्तो, सविता के बारे में मैं सब कुछ जान चुका था कि वो अकेली रहती है और उसे सेक्स काफी पसंद है, इसलिए तो वो अमित के अलावा कई मर्दों के साथ सेक्स करती थी, जिससे उसका तलाक हुआ. फिर मैंने पैंट की चैन खोल कर उसके अन्दर उसका हाथ डाल कर बोला- अब बाहर निकाल ले.

कुछ देर बाद हम दोनों की चुदाई पूरी हो गई और हम दोनों नंगे ही चिपक कर सो गए.

सेक्सी वर्जन सेक्सी

अब मैं सोने का नाटक ज्यादा देर तक नहीं कर सकता था क्योंकि मौसी को भी पता चल गया था कि मेरा लंड पूरा जोश में आ गया है मतलब मेरी नींद खुल गयी है. फ्रेंड्स, मैं आपकी रंगीली पूनम पांडेय एक बार फिर से चुदाई कहानी का मजा देने के लिए हाजिर हूँ. अब मुँह में लंड दिए वाला बाबा सीधा होकर लेट गया और उसने मुझे अपने ऊपर चढ़ा लिया.

सुनीता सेक्सी शरीर की मालकिन है, लेकिन सेक्स के नाम से कोसों दूर है. यही प्लान था हमारा।मैंने अपनी बांहों में उसे उठाया और बिस्तर पे ले आया. यह कहते हुए सोनाली मेरे ऊपर चढ़ गयी और मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- हर्षद जब से तुम्हारे इस मोटे लंड का स्पर्श हुआ है, तभी से मेरी चूत बार बार गीली होने लगी है.

बीच बीच में ही मैं निप्पल को एक पल के लिए चूसता और खींच कर काट देता.

जब नंदा के मोबाइल ने आवाज की, तो उसने मेरे मैसेज को पढ़ कर लिखा कि कोशिश करो कि ये एक दो पैग और पी ले. जब तक मैं उनके मुँह को बंद करता, तब तक बहुत देर हो गई और नीरजा को आवाज सुनाई दे गई. वह बोला- सुम्मी, तुम चिंता मत करो … आज तुम्हें ज़बरदस्त मजा आने वाला है.

यह सेक्सी फॅमिली की चुदाई कहानी मेरी बड़ी बहन अरुणिमा और मेरी मम्मी के ऊपर है. रूना भी गर्म हो गई थी और वो भी अपने हाथों से मेरे बालों को सहलाती जा रही थी. मैं- अरे वाह … तुम्हारी इस भरी जवानी में तुम्हारी पसंद तो बड़े बुज़ुर्गों वाली हैं.

रियान ने हम दोनों में परिचय करवाया और सना को बताया कि कैसे नार्थ इंडियन के इन अफसर ने बिना जान पहचान के मेरी हेल्प की. मैं रात में अपने कमरे में अकेली बिस्तर पर लेटी हुई करवट बदलती रहती थी और जब कभी मुझसे सहन नहीं होता था तो अपनी उंगलियों से ही अपने आप को शांत करने की कोशिश करती.

वो मेरे वीर्य को मीठी रबड़ी समझ कर चाट गया और मेरे लंड से आखिरी बूंद तक निचोड़ कर चाट ली. मुझे पहले तो स्वाद तो थोड़ा ख़राब लगा लेकिन फिर मैंने जो लड़कियों को पोर्न में लंड पीते हुए देखा था, मैं उसी तरह से लंड पीने लगी. मैंने अपनी दोनों उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं और साथ में मैं अपने अंगूठे से उसकी चूत के ऊपर वाला दाना सहलाने लगा.

अब मैं हमेशा सविता की फ़ोटो अपने फोन में रखने लगा जो मैंने मुंबई में ली थी.

अब टाइम था देसी गर्ल फक का!मैंने अपना मुँह उसके बुर से हटा दिया और अपना लंड वहां रख दिया. भाभी सेक्स Xxx कहानी में पढ़ें कि फर्स्ट क्लास कूपे में कैसे मैंने एक लड़के के साथ सेक्स की बातें करके उसे सेट किया, फिर घर बुलाकर उसके बड़े लंड का मजा लिया. मैं अब फ्री होने वाला था कि उसने मुझे लंड चूसने की याद दिलाते हुए अपने ऊपर से हटाया और मुझे खड़ा करके मेरे लौड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी.

उसने आते ही मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिया. मैंने कॉर्नर की टिकट्स ले लीं और पॉपकॉर्न और कोक लेकर अन्दर चले गए.

माँ अपने घुटनों पर बैठी और मुखिया जी के लन्ड को अपने हाथों में लिया, उसे चाटने लग गयी. वो रोने लगी तो मैंने कहा- फिर मैं अपने इस खड़े लंड का क्या करूं!उसने कहा- तुम पहले इसे बाहर निकालो प्लीज़. उसके लंड चूसने के तरीक़े से लग रहा था कि वास्तव में वो सच बोल रही है.

सेक्सी फिल्म निकाल

मां ने पापा को एक धक्का मारा और मुझसे भी बोली- शर्म नहीं आती, कब से चल रहा है ये!मैं पापा के पास जाकर खड़ी हो गयी और बोली- पापा की कोई गलती नहीं है … इस सबमें मेरी गलती है.

मैंने उसे उसके फ्लैट तक छोड़ा और जाने लगा लेकिन उसने मुझे चाय के लिए आमंत्रित किया. वैसे तो मैं बहुत बार चुद चुकी हूँ मगर मेरी फुद्दी में हमेशा खुजली मची रहती. मेरे पति ने आजतक कभी मेरे मम्मों को इतने प्यार से सहलाया भी नहीं है.

नीता ने अपना सर मेरे कंधे पर रखकर कहा- मुझे बहुत डर लग रहा है हर्षद. मैंने पूछा- भाभी भी जा रही हैं क्या?भैया ने क़हा- मैं अपने दोस्तों के साथ जा रहा हूं. पंजाब की चुदाई सेक्सीसाथ ही मैंने अपनी नाइटी को कमर तक ऊपर कर दी ताकि उसे मेरी गांड के दर्शन भी हो जाएं.

नीता बोली- हर्षद देखो न … अभी तुम्हारा मूसल कितना फिट बैठा है, बिल्कुल हिल तक नहीं रहा है. इतनी देर में अमन आया और अपने कपड़े उतारने लगा और आज उसने अपना अंडरवियर भी उतार दिया और मेरे तरफ मुँह करके लंड हिलाने लगा.

मैंने अपने लंड को आहिस्ता आहिस्ता जोर देकर सुपारे तक बाहर निकाल लिया. वो बोली- पंडित जी, सन्तान प्राप्ति के लिए कौन सी पूजा करवानी चाहिए. मैं बोली- राज तू हम दोनों की गांड मारेगा क्या? यदि ना तो मैं किसी और से मरवा लूं.

कुछ देर बातें करने के बाद मैंने कहा- तो चलो अब जो करने आए हैं, वो करते हैं. चार बजे मैंने उसको फोन किया और पूछा- कहां पर है?उसने कहा- मैं बाहर निकल आया हूँ. वो बोली- मेरे मुँह कर कपड़ा बांध दो और तुम मेरे दर्द की परवाह मत करना.

मैं इतना करीब हो गया था कि हम दोनों की सांसें एक दूसरे से टकराने लगी थीं.

मैंने उसे बिस्तर के किनारे घोड़ी जैसा बनाया और उसकी गांड पर थूक लगा कर उसे चिकना किया. Xxx मामी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी ननद हमारे यहाँ रहने आई तो उसके साथ उसका भांजा भी आया.

दोस्तो, मैं आपकी पूनम पांडेय एक बार से अपनी चुदाई कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. वीरेन्द्र- उसकी साले की खुद ही लुकलुका रही होगी … क्या जबरदस्त सैटिंग है. उसकी मुस्कान देख कर मैंने उसके एक हाथ को मेरे हाथ में लिया और धीरे से सहलाने लगा.

मैं उनका लंड चूस कर खड़ा भी कर देती थी मगर वो चूत में लंड पेलते ही झड़ जाते थे. मेरी मौसी फिर से गर्म होने लगीं और उनके मुँह से मादकता भरी सिसकारियां निकलने लगीं. com/chachi-ki-chudai/dost-ki-bua-sex-story/चलिए, कहानी पर आते हैं।मैं आपको बता दूँ कि यह घटना मेरे साथ दो साल पहले ही घटी है और पायल मेरे एक घनिष्ठ मित्र तरुण की चचेरी बहन है।आशा है कि सभी दोस्तों ने अपने अपने लण्ड को तैयार होने का इशारा कर दिया होगा.

हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में इतने टाइम बाद तो हम पहली बार मिले थे, हमने इतनी मस्ती की थी और अब उसके साथ बिछोह का समय काफी कष्टकारी लग रहा था. जीजा ने अपना फनफनाता लंड आरजू के मुँह में दे दिया और रस के फुव्वारे से आरजू का मुँह भर दिया.

हरियाणा हॉट सेक्सी

मोनिका भी अपने बेडरूम में चली गयी और उसने मुझे फोन करके पूछा- क्या हुआ भाभी?मैं बोली- तुम सोने का नाटक करो, वो ज़रूर आएगा और नहीं आया तो मैं उसके पास चली जाऊंगी. दूसरी तरफ ज्योति चाची अपनी चूत को मम्मी के मुँह के सामने रखी और बोलीं- स्वाति दीदी, चाटो न इसे … आंह चाटो. आज मैं चूतिया हस्बैंड सेक्स कहानी लेकर आप लोगों की सेवा में हाजिर हूँ.

रेखा- ओके अंकल!मैं उठकर खड़ा हुआ और फिर से अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया ताकि लंड फिर से मजबूत और सख्त हो जाए. मेरे गुलाबी होंठों को कालू अंकल इतने जोर जोर से चूस रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे साला मेरी सांस ही खींच लेगा. सेक्सी वीडियो सेक्सी अंग्रेजी वीडियोमैं काफी पहले से अन्तर्वासना और फ्री सेक्स कहानी की स्टोरीज पढ़ती आ रही थी, तो मैंने सोचा कि क्यों न मैं आप सभी के अपनी कोई नई स्टोरी लेकर हाजिर होती हूँ.

ताबड़तोड़ चुदाई करते करते आंटी की आंखों से आंसू बहने लगे और मैं होंठों को चूमने लगा.

जैसे जैसे उसका गाउन ऊपर हो रहा था, मेरे दिल की धड़कन तेज हो रही थी क्योंकि उसका अन्दर का गोरापन देख कर मेरी आंखें फटी जा रही थीं. लंड अन्दर जाने के बाद मैंने थोड़ी देर झटके नहीं मारे, यूं ही रुका रहा.

मोनिका भी अपने बेडरूम में चली गयी और उसने मुझे फोन करके पूछा- क्या हुआ भाभी?मैं बोली- तुम सोने का नाटक करो, वो ज़रूर आएगा और नहीं आया तो मैं उसके पास चली जाऊंगी. ‘चल कुतिया उठ …’ये कह कर बलदेव सीधा लेट गया और मैं उसकी छाती की तरफ पीठ करके लंड गांड में डालकर कूदने लगी. उधर से साबिरा भी किसी बाजारू रंडी की तरफ लंड चूत की बातें करने लगी.

आह मुझे इस लंड की जरूरत है … ओह चोद मजे से … चोद चोद कर आज मेरी चूत फाड़ डाल!हम दोनों चुदाई में इतने तल्लीन थे कि दीन दुनिया की कोई खबर ही था ना थी.

दोनों जांघ फ़ैलने से उसकी चूत ने भी अपना मुँह खोल दिया और उसका छेद साफ साफ दिखने लगा. कुछ देर बाद चाची की सांसें तेज तेज चलने लगीं और उनकी कमर कुछ ज्यादा ही तेजी से मेरे लंड को रगड़ने लगी. ये सेक्स कहानी मैं, अपनी पिछली सब कहानियों के कारण मिली प्रंशसा से प्रेरित होकर लिख रही हूँ.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी भेजिएसविता मेरे बारे में जानती थी कि मैं रात के खाने से पहले व्हिस्की पीता हूँ, इसलिए उसने कहा कि अगर आप पीना चाहते हैं, तो पास में ही वाइन शॉप है, आप अपने लिए व्हिस्की ला सकते हैं. उसने कम से कम 25 मिनट लगातार चोदा, उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाला.

देहाती सेक्सी वीडियो दिखा

भाभी की चीख निकल गई और वो छटपटाती हुई कहने लगीं- आंह मर गई … निकालो इसे … बहुत दर्द हो रहा है. फिर क्या था … मैं हर रोज रात में मम्मी और दीदी के साथ नंगा होकर सोता और सेक्सी फॅमिली में जिसको मन करता उसको चोदता. आरजू ने मुझे बताया कि जीजा तो एकदम तैयार है और मैं भी, पर जगह की अड़चन है.

अञ्जलि ने अपना दूसरा हाथ उठाकर, मेरे बाएं कंधे को पकड़ और मुझे अपनी ओर खींचने लगी. वो बोला- दीपक मेरे घर आ सकते हो?मैंने जल्दी में बोल दिया- हां अभी आता हूँ. जस्सी जोर से चिल्लाई- ये क्या कर रहे हो प्रकाश … ये मैं पहली बार देख रही हूँ.

मैं भी हंसती हुई जोर जोर से चिल्लाने लगी- आंह कालू अंकल … चोदो मेरे राजा अह चोदो मुझे … आआह और जोर जोर से चोदो मुझे … मेरे राजा मेरी चूत का भोसड़ा बना दो … मैं तुम्हारी हूँ आह!मैं पूरी चुदाई की वासना में डूब चुकी थी और अपना पूरा होश खो चुकी थी, बस बड़बड़ाए जा रही थी. डरी सहमी चेतना एक शब्द भी नहीं बोली और घर में किसी और को नहीं बताने की मिन्नतें करने लगी. ख़ास दोस्त को गांड मरवाने का शौक लगामें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी खाना बनाने किचन में थी और हम दोनों दोस्त कमरे में टीवी देखने लगे थे.

अब उन दोनों में से कौन पहले मेरे लंड का इस्तेमाल करने वाली थी, ये मैं देहाती चुदाई की कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. जब मैं स्खलन करने वाला था, मैंने अपना लंड निकाल लिया और उसके हाथ पर स्खलन कर दिया.

विलास ने सरिता भाभी को बुलाकर कहा कि आप सब लोग तैयार होकर सोहम को भी तैयार करके लाओ.

मौसी ने कहा- बस हो गया … इतना ही दम था … इसी दम पर अपनी मौसी की चुदाई करना चाह रहा था. रंडी सेक्सी वीडियो दिखाइएसेक्सी बॉडी होती है … कभी डाल कर महसूस किया उसमें?मुझको समझने में देर नहीं लगी बेटा रवि, आज भाभी मूड में लग रही है. सेक्सी पिक्चर का गाना दिखाइएघर के काम समेट कर अर्चना दीदी ममेरे भाई बहनों की रातभर चोदम चोद की रिकॉर्डिंग को एडिट कर रही थीं. मैंने भी अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को सम्हाला और सविता अपनी कमर हिलाते हुए लंड अन्दर बाहर लेने लगी.

प्रियांशु ने शायद ये सोचा होगा कि उसके लंड के एक झटके में चूत में जाने से मैंने सिसकारी भरी है, पर मैंने ये आह दो लंड से चुदने के बारे में सोच कर भरी थी.

कुछ देर बाद उसने भी मुझको उल्टा लिटाया और मेरे पूरे जिस्म को अच्छे से चाटा. मैं चाची की जांघों को देखने लगा तो चाची ने बड़ी अदा से अपनी जांघ खुजला कर मुझे गर्म करना शुरू कर दिया. सना ने भी मेरा हाथ अपने सीने पर रख लिया और उसने मेरे हाथ से अपने एक दूध को दबवा लिया.

मैंने भी अपना एक हाथ उसके कंधे से ले जाकर उसकी चूची पर रख दिया और दूसरा हाथ उसकी मुलायम, अनछुई चूत पर रख दिया. कुछ लड़कियां मेरी दुकान पर मोबाईल ठीक करवाने या रिचार्ज करवाने आ जाती थीं. मैंने अपना लंड श्रेया की गांड से बाहर निकाला, तो मैंने देखा कि मेरे लंड का धागा टूट चुका था और उससे थोड़ा खून निकल रहा था.

ब्लू सेक्सी महिला

घर पर मैं गाउन ही पहनती थी और उसे अपनी ओर आकर्षित करने के लिए अन्दर ब्रा और चड्डी नहीं पहनती थी ताकि मेरा गाउन मेरे जिस्म पर चिपका रहे और मेरे अन्दर के अंग उसके सामने झलकते रहे. सेक्स विद फ्रेंड वाइफ की इच्छा उसे देखते ही हो गयी थी मेरी! मैंने उसे लाइन देना शुरू किया तो उसकी प्रतिक्रिया ने मेरी वासना को और भड़का दिया. आपको बता दूँ कि सोनम बहुत लौड़ों का स्वाद ले चुकी है, पर सती सावित्री बनना तो लड़कियों का स्वभाव होता है.

मैं बाथरूम की तरफ बढ़ा तो बाथरूम के सामने, उसके अंडरगारमेंट्स वहीं फर्श पर पड़े थे.

मैंने एक बूब को हाथ से दबाना शुरू किया और दूसरे की घुंडी को चूसना चालू कर दिया.

दोस्तो, मैं हर्षद मोटे आपकी सेवा में इस गरम सेक्स कहानी का अंतिम भाग लेकर हाजिर हूँ. शब्बो की कमर, गर्दन तक तो ठीक था मगर एक बार वीरु का हाथ शब्बो की चूची के बिल्कुल नीचे तक आ गया था।दोनों को इस बात का आभास हो रहा था मगर दोनों भी चुपचाप उसका मजा ले रहे थे. मां बेटे की चुदाई सेक्सी मूवीअब नहीं सहा जाता मुझसे!मैंने उसकी चूचियां रगड़कर कहा- जैसा तुम चाहो, वैसा ही होगा नीता.

उसकी ऊपर उठती गांड बता रही थी कि उसे भी मेरे लौड़े से चुदवाने में मजा आ रहा है. उसने अपनी नाईटी के ऊपर से ही चूत को सहलाया और बोली- नीता हर्षद, अरे अन्दर भी आ जाओ. अच्छी तरह लंड देख कर बोली- सिर्फ दिखने में ही बड़ा है … या बड़ा जैसा काम करने लायक भी है?उसका उपहास मुझे चुभ गया.

कहानी के पिछले भागमंगते बाबा को फंसा कर दो लंड लिएमें आपने अब तक पढ़ा था कि वो दोनों बाबा मिल कर मेरी फुद्दी मार रहे थे. हम तीन लोग ही रात को घर में थे उनके ड्राइंग रूम में ही फर्श पर गद्दे बिछा कर लेटे थे.

मम्मी चाची की चूत चाटने लगीं और चाची के कंठ से सेक्सी सिसकारियां ‘आह आह ऊह ऊह हाय आ मजा आ गया आह …’ निकलने लगीं.

नंदा ने अपना गिलास खाली करके मुझे देते हुए कहा- चलो अब बाहर चल कर कुछ नाश्ता कर लेते हैं. और तब मैंने उनकी गांड में अपना लन्ड घुसा दिया और प्यार से चोदने लगा. करीब पन्द्रह-बीस मिनट की चुदाई के बाद सुमैत्री ने बोला- मैं झड़ने वाली हूँ.

बर्थडे सेक्सी आज पहली बार मैं ये सब अनुभव कर रही हूँ हर्षद … तुम कमाल के मर्द हो. मैंने पूछा- मेल फ्रेंड या फीमेल?वो बोला- भाभी …मैंने उसे बीच में ही टोकते हुए बड़े प्यार से कहा- भाभी की मां का भोसड़ा और भाभी की बहन की चुत.

वह बोलने लगा- वह मेरी मुनिया क्या चूत है तुम्हारी … आज तो इसकी पूरी सर्विसिंग करूंगा … आह बड़ा मजा आ रहा है मुनिया आह … उफ्फ्फ्फ़ साली. नैना ने भी कहानी लिखने में मेरी काफी मदद की और मुझे हर वो छोटी से छोटी बात बताई, जिससे कहानी को और ज्यादा कामुक बनाया जा सकता था. मास्टर ने चुदाई और तेज कर दी और भाभी का शरीर हिचकोले लेता हुआ झड़ने लगा.

सेक्सी ब्लू भाई बहन का

उन्होंने अपना चमकता हुआ लंड चूत पर रखा और जोर से धक्का देकर अन्दर कर दिया. मौसी के मुलायम, गोरे चूतड़ और दोनों चूतड़ों के बीच की दरार मेरे लंड के काफी नजदीक थी. उनके पति को गुस्सा आ गया, वो बोला- ले साली आज अपने लंड से तेरी चूत फाड़ ही देता हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उसे उठा कर खड़ी किया और उसके दोनों हाथों की कलाइयों को अपने पंजे में पकड़ कर उसकी चूचियों को बारी बारी चूसने लगा. उसने लंड को देखा और आश्चर्यचकित रह गयी, वो हाथ में लंड लेकर टटोलने लगी.

वहां पर क्या क्या हुआ?दोस्तो, मैं हर्षद आपको अपने दोस्त की गांड चुदाई की कहानी सुना रहा था.

वह मेरे सारे बदन पर हाथ फेरने लगा और मेरे बूब्स खूब कस कसके दबाने लगा. वो बोली- तो मुँह दिखाई नहीं दोगे?मैंने अपनी जेब से एक अंगूठी निकाल कर उसकी उंगली में पहना दी. इससे मैडम मदमस्त हो गयीं और मुझसे बोलीं- अब उंगली निकाल कर सकिंग करो … बहुत मजा आ रहा है.

मैं दूसरी चुदाई शनाया की मर्ज़ी से चाहता था और उसे भी दूसरा लंड मिले ऐसा कुछ सोच रहा था. अगले दिन फ़लक के जाने का टाइम आ गया था, वो जाने के लिए रेडी हो गई थी. मैं दरवाजे के बाहर खड़ा था और अन्दर झांक कर देखने की कोशिश करने लगा.

उसने अपने लौड़े का टोपा मेरी गांड पर एक दो बार घिसा और छेद पर सैट कर दिया.

हिंदी बीएफ दिखाइए हिंदी में: कोई बीस मिनट तक ताबड़तोड़ चूत चोदने के बाद मेरा माल निकलने वाला हो गया था. मैंने उससे कहा- तुम वहीं रुको, मैं तुम्हें लेने के लिए पहुंच रहा हूँ.

मेरे रोकने के बावजूद उन्होंने अपना हाथ अन्दर डाल दिया और मेरी जांघ को सहलाते हुए अपना हाथ मेरी चूत तक ले गए. ये कह कर अब सुमैत्री सीधी लेट गई और मैंने अपने लंड से कंडोम निकाल दिया. जबकि अन्दर से मैं खुशी महसूस कर रहा था क्योंकि मैंने वह हासिल किया था जिसका मुझे लंबे समय से इंतजार था.

वे व्यंग्य में या पता नहीं प्रशंसा में बोल रहे थे- हम इनके साहस और काबिलियत को सलाम करते हैं.

बिना समय गंवाए महंत ने फिर से हल्का झटका लगा दिया और दर्द में ही दर्द दे दिया. मैंने अपने तौलिये में से अपना लंड बाहर निकाला और दीदी का स्कर्ट थोड़ा ऊपर करके अपना लंड उनकी पेंटी पर लगा दिया. मैंने अपने दोस्त राकेश के चूतड़ पर हाथ फेर कर कहा- इसकी तो अभी झांटें भी नहीं आई हैं, अभी एकदम चिकनी रखी है.