एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ

छवि स्रोत,नौकर बीवी का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी नंगा वाला: एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ, मैंने बोला- मेरा लौड़ा आज रूम का किराया दे रहा है।वो बोली- बिहारी भोसड़ी वाले … जल्दी से निकाल दे.

गुजराती सेक्सी वीडियो चोदा चोदी वाला

वो इंतजार करने के बाद बोली- कहां चले गये?मैंने कहा- अब तो कहीं नहीं जा सकता. छोटी बहन बड़ा भाई सेक्सी वीडियोइसी का फायदा उठाते हुए उस औरत ने मोना के पैरों पर पड़ी चादर हटा दी और वह लड़का मोना की जांघों को सहलाने लगा.

अलीमा ना नुकुर करते हुए कुछ देर बाद राजी हो गई और बलविंदर उसके चूचों को बड़े प्यार से चूसने में लगा गया था. डॉग अँड वूमन सेक्सी व्हिडिओमैंने उसकी चूत का घमंड अपने लंड से कैसे तोड़ा?हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम अर्जुन है और मैं मुंबई से हूं.

मैंने देखा कि शबाना ने भी अपने कपड़े बदल लिए थे और वो एक बेहद दिलकश नाइटी में मेरे सामने खड़ी थी.एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ: इसके बाद मोना चुप हुई, तो उस महिला ने उस लड़के की तरफ देखा और उसने सामने खड़े लड़के से पैंट उतारने को कहा.

लेकिन कभी मिला ही नहीं!जिस पे साहिल बोला- आज मिला है तो कर लो अपनी हसरत पूरी!राजसी बोली- क्या ये मुझे पहली और आखरी बार मिला है? क्योंकि इस तरफ के लन्ड से अगर मैं रोज़ चुदूँ तो मेरा जीवन खुशनसीब है.पर मैंने तुरन्त कंडोम का पैकेट निकाल कर लंड को पहनाने की कोशिश करने लगा.

वागड़ी वीडियो सेक्सी - एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ

इसके बाद उस औरत ने मोना को जूस पिलाया और कहा- अब उठो … और आज रात को अपने शौहर से सेक्स मत करना.अचानक मुझे मेरे दोस्त का फोन आया।उसने कहा कि आज सुबह हमारा रिजल्ट आ गया है.

मैंने शबाना से पूछा- रस किधर लोगी?वो बोली- मुँह में तो ले चुकी हूँ अब तो आप मेरी इस सूखी जमीन की ही सिंचाई कर दो. एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ फिर उसने अपने खड़े लंड को हाथ में लिया और मुझे उठकर उस पर बैठने को कहा.

वो खाँसने लगी, मैं अनसुनी करते हुए उसके मुँह में झटके देने लगा और उसके मुँह को चोदने लगा.

एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ?

[emailprotected]हॉट वाइफ सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी सेक्सी बीवी की चुत चुदाई की हवस- 2. मेरा लौड़ा अब जोश में आकर तेज तेज झटके मारने लगा।अब वो भी गर्म हो गई और लंड को मजे से चूत में लेने लगी।मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा और उसकी चूत को ऊपर से सहलाने लगा।अब हम दोनों चुदाई का मज़ा लेने लगे।मामी बोली- राज आज से 7 दिन मैं तेरे लंड की गुलाम हूं. मैंने दोनों हाथों से उसके चूचे पकड़ लिए और लंड को फिर से अन्दर डालकर धक्के देने शुरू कर दिए.

ये बोलकर वो अपने घुटनों पर बैठ गयी और हर्षदीप ने भी लन्ड से कंडोम को निकाल लिया और लंड को आंटी के मुंह के सामने हिलाने लगा. हमारा घर और उसका घर सबसे ऊंचा था तो किसी की छत से हमारी छत नहीं दिखती थी. मेरी गांड से खून निकल आया था और जलन भी बहुत तेज हो रही थीफिर एक और स्ट्रोक लगा और पूरा लंड मेरी गांड में जा घुसा.

मैंने उसको पकड़ कर नीचे लिटा दिया और उसके पैर अपने कंधों पर रख कर पूरा लंड चुत में पेल दिया. कुछ मिनट मेरी चूचियों को पेलने के बाद उसने एक बार फिर से मेरे मुँह में लन्ड दे दिया. अगले दिन जब मैं स्कूल पहुंची तो वो पहले से ही क्लास में बैठा हुआ था.

अब वो दोनों जांघों तक नंगे होकर बैठ गये और आराम से आंटी को लंड चुसवाने लगे. पिछली स्टोरी में मैंने आपको बताया था कि उसकी एक और बहन, जिसका नाम कविता है, मुझे बहुत पसंद थी लेकिन मैं उससे कभी बात करने की हिम्मत नहीं जुटा पाया.

मैं रंजना को वहीं सोते हुए छोड़कर उठी और ऊपर वाले रूम में जा पहुंची.

इसलिए मैं जब भी गर्म होता था और वो मेरे पास होती थी तो उसको किसी रूम में ले जाकर उसके मुंह में लंड डाल देता था और जल्दी जल्दी उसके मुंह को चोदकर उसको सारा पानी पिला देता था.

अभी तक मैं एक लंड को पाने के लिए तड़पती थी मगर मुझे पहली ही चुदाई में दो-दो लंड से चुत चुदाई का सुख मिल गया था. फिर मैंने खाना खाया और दिनभर टीवी के सामने बैठकर टाइम पास करता रहा. उसकी जांघें देख कर मन मचल उठता और मेरे लंड में से सीन देख कर ही पानी निकल जाता.

भाभी ने भी ये देख लिया, मगर वो कुछ नहीं बोलीं और अपने काम में लग गईं. उसने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और अब मेरा लंड फिर से तैयार हो गया. मैं रंजना को वहीं सोते हुए छोड़कर उठी और ऊपर वाले रूम में जा पहुंची.

कुछ देर बाद आंटी से जब नहीं रहा गया तो वो मुझे गाली देते हुए बोलीं- चोद भी दे भोसड़ी के … आह अब मुझसे और नहीं सहा जाता राजा … अब मेरी गर्म चुत में अपना मूसल लंड डाल दो.

उनका चेहरा मेरे चेहरे के काफी नजदीक था और वो अब भी मेरी बांहों में थीं. मैं छटपटाने लगीमुझे ऐसे मचलती और तड़पती देख मेरे हस्बैंड का भी पानी जल्दी ही निकल गया और उन्होंने भी मेरी चूत में अपना सारा पानी निकाल दिया. अब हम दोनों फिर से गर्म हो गये और मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और रगड़ने लगा.

आंचल ने कहा- क्या तुम मुझे वो सुख दे सकते हो, जो मैंने आज तक जिंदगी में नहीं पाया. अब इस इंडियन आंटी सेक्स स्टोरी में आंचल जैसी अतृप्त महिला की चुदाई को लिखूंगा. फिर उसने समीज समेत मेरे कुर्ते को उठा दिया और मेरी चूची नंगी हो गयी.

एक मिनट बाद मेरा लंड खड़ा हो गया तो स्वीटी चादर के अन्दर सिर करके मेरे लंड को चूसने लगी.

करते रहो … आह्ह … मेरी चूत!मैं बोला- अब मैं तुम्हारी चूत में जीभ घुमा रहा हूं. वो अलीमा की अश्रुपूर्ण आंखों में देखकर आंखों से ही कह रहा था कि बस अब हो गया … अब और दर्द नहीं होगा.

एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ फिर वो शांत हुई और बोली- आपको पता था?मैं बोला- हां मुझे पहले से पता था. वो रानी को देखकर स्माइल किया करता था; हर वक्त रानी को घूरता रहता था.

एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ वो बोली- नहीं … पीछे नहीं।मैंने लंड को मामी के मुंह में डाल दिया और झटके मारने लगा. बलविंदर ने कहा- कुछ दिन रुक जाओ … मैं तुम्हें चुदाई के हर खेल में पारंगत कर दूंगा.

बात कैसे बनी?दोस्तो … मैं देवदास आप सभी के लिए एक नई हॉट क्लासमेट सेक्स की कहानी लेकर आया हूं.

संजोग पिक्चर

इस अंटी सेक्स की कहानी में नेकी करते समय हवस के जाग जाने का मसला है. मैंने कहा- अरे इसमें कोई अहसान की बात नहीं है बस आप साफ तरीके से रहा करो … और नहा कर ही खाना बनाया करो. मण्डप के बाहर सभी हमारे आने का इंतजार ही कर रहे थे। सभी ने वहां फूल मालाओं से हमारा स्वागत किया.

मैं उसकी कामना को समझ गया और मम्मे देखने की जगह मैंने बड़ी तसल्ली से उसके दोनों निप्पलों को बारी बारी से खींचे हुए चूसा और काटते हुए छोड़ पकड़ रहा था. नूपुर- देव, दर्द हो रहा है आह निकाल इसे … आह बहुत मोटा है साले … मैं मर जाऊंगी … ओह गॉड … प्लीज निकाल ले. शालू भी ये बात जान गयी थी कि लंड चूत पर आ चुका है और अब इसे अपने जिस्म में समा कर मजा लेने में ही सुख है.

मैं दीदी के पास बैठा था और मेरी नजर बार बार उनके चूचों पर जा रही थी.

मैं उससे यही सब बातें करते हुए धीरे धीरे से लंड उसकी गांड में डालता जा रहा था. मेरे वहां पहुंचते ही हेमा चाची बिस्तर से खड़ी होकर मेरे पास आईं और मेरे गले लग गईं. सफर बहुत लंबा है।करीब 2 घंटे बाद हम नाना के घर पहुँच गए।अब मेरे दिमाग में सिर्फ मौसी को चोदने के ख्याल आ रहे थे।क्योंकि बहट पहले से जब भी वो मेरे सामने आती तो मेरे सामने सिर्फ यही फीलिंग आती थी।और आज भी आती है।मेरे नाना के घर में नाना हैं, नानी हैं, मामा – मामी हैं.

उसने लिखा- तुम सोये नहीं हो अब तक?मैंने कहा- नहीं, अभी नींद नहीं आ रही. उनका पति बच्चे पैदा नहीं कर सकता था इसलिए दीदी को कोई औलाद नहीं थी. सही मायने में तो चुदाई का मजा मुझे अभी मिलने वाला था क्योंकि अब मैं पूरे होश में थी.

मगर अब उसे सुगर की बीमारी हो गई है, तो उसका लंड खड़ा ही नहीं होता है. रेशमी झांटों से ढकी हुई अलीमा की चूत को देखकर बलविंदर और भी ज्यादा पागल हो गया.

वो दोनों भी कपड़े पहनने लगे।तभी बारिश शुरू हो गयी।शेखर: अब कब दोगी चूत?अंजलि: वही सोच रही हूँ, तुम दोनों के लन्ड एकदम मस्त हैं।शेखर: ठीक है, तू अपनी चूत तैयार रखना।अंजलि: वो हमेशा रहती है, बाहर बारिश शुरू हो गयी है. वैसे ही फिर मैंने नीचे वाले होंठ के साथ किया और फिर एक लंबा चुंबन दे दिया उसको. उसने दरवाजा खोला और मुझे देखकर बोली- इतनी जल्दी आ गये?मैंने कहा- हां, मेरा काम जल्दी हो गया तो मैं आ गया.

एक बार तो उन दोनों ने मेरे दोनों छेदों में एक साथ लंड पेल कर मेरी सैंडविच चुदाई भी की.

जब मैं बीस साल का ही हुआ था, तब पहली बार मैंने अपने कजिन का लंड चूस लिया था. उसके मुँह से अंटशंट कुछ भी निकला जा रहा था- आह मेरे सरताज आह चोद दो मुझे … आह मैं आपकी दासी बन कर रहूंगी … आह रखैल बन कर रहूँगी आह मेरी चुत फाड़ दो … इतना मोटा तगड़ा लंड मुझे आज तक नहीं मिला. [emailprotected]Xxx गर्ल चुदाई कहानी का अगला भाग:पापा के दोस्त से पहली मस्त चुदाई- 5.

हेमा चाची ने मुझे देख लिया और इशारा करते हुए मुझे अपने घर बुला लिया. और एक बार जब कुंवारी चूत को लंड पहला मज़ा मिल जाये तो चूत में खुजली बहुत तेजी से होने लगती है.

[emailprotected]सेक्सी बुआ की वासना की कहानी का अगला भाग:मेरी बुआ की वासना- 2. तो दोस्तो, आपको मेरी प्यासी पड़ोसन Xxx कहानी अच्छी लगी या नहीं? जरूर बताना. ये बात भाभी को भी समझ आ रही थी और वो भी लंड को फील करते हुए कसमसा रही थीं.

सेक्सी फिल्म चाहिए सेक्सी फिल्म चाहिए

तो दादी को जाना था।दादी ने मुझको अपने साथ चलने के लिए बोला क्योंकि घर में किसी एक का रुकना ज़रूरी था.

नूपुर- देव, दर्द हो रहा है आह निकाल इसे … आह बहुत मोटा है साले … मैं मर जाऊंगी … ओह गॉड … प्लीज निकाल ले. मैंने भी झट से अपनी पैंट की जिप खोल दी और अपना लंड बाहर निकाल लिया. मेरी वासना अपने शिखर पर चढ़ने लगी और मैंने हाथ पीछे करके उसके लंड को पकड़ कर कहा- बड़ी जल्दी टाईट हो गया.

अपनी झांटें साफ करके लंड चिकना किया और नहा धो कर तैयार होकर पहले से ही तय जगह चला गया. उनके सिर से दुपट्टा निकाल दिया और हेमा चाची के होंठों को कस के चूम लिया. हिंदी में सेक्सी वीडियो रोमांसअभी भी उसका लन्ड और बचा था अंदर जाने को!लेकिन अब मेरे मुँह में जगह नहीं बची थी, मैं उतना ही लंड चूसने लगी.

आंटी मुझे अच्छी तरह से जानती हैं तो हमारे अच्छे संबंध हैं। जब उन्हें पता चला कि मैं भी शहर में हूं तो उन्होंने मुझसे उनके घर रुक जाने के लिए कहा. इस बार के धक्के में मेरा पूरा लंड उसकी गांड की जड़ तक घुसता चला गया.

क्योंकि मुझे शाम तक लखनऊ वापस आना था।फिर शाम को जब मैं वापस आने वाला था कि तभी उस फ़ोन की घंटी बजी. मैं जोरदार धक्के लगाए जा रहा था और भाभी के मुँह से मजे वाली मादक आवाजें निकली जा रही थीं. अलीमा बलविंदर के अंगूठा को ऐसे चूसने लगी, जैसे किसी बच्चे के मुँह में निप्पल दे दिया गया हो.

उस दिन उसने शॉर्ट्स और टीशर्ट पहनी थी।फिर से उसको मैं किस करने लगा और साथ ही मैं एक हाथ से शॉर्टस के ऊपर से उसकी चूत रगड़ रहा था. इससे मुझे बड़ी हिम्मत मिली और मैंने अपनी अम्मी की चीटिंग सेक्स स्टोरी को लिखना तय कर लिया. मेरा लन्ड अब तक चाची की चूत में घुसा हुआ था।थोड़ी देर बाद दोनों अलग हुए चाची ने लंड चूस कर साफ़ कर दिया।चाची ने चादर ओढ़ ली नानी के रुम चली गई।थोड़ी देर बाद चाची आई और बोली- राज, अम्मा पर दवा का असर है.

आठ महीने बाद मनजीत ने मुझे बताया कि सुमन ने एक लड़के को जन्म दिया है.

मैंने स्पीड और तेज़ कर दी लेकिन मैडम ने मुझे रोक दिया और लन्ड बाहर निकालने को बोला।उनकी चूत में से मैंने लन्ड बाहर निकाला. किस करते करते मैंने उसको उठा कर बिस्तर पर ले गया और उसके मम्मों को ऊपर से ही दबाने लगा.

मगर फिर न जाने उसके मन में क्या आया कि उसने एकदम से पूछ लिया- क्या देख रहा है?मैं एकदम से घबरा गया और कुछ नहीं बोल पाया. उसका कहना था कि मैं बाबू जी का इसलिए चूसती हूँ क्योंकि मुझे अपनी नौकरी बचानी है. मैं बोला- क्या हुआ … कुछ गलत बोल दिया मैंने?उन्होंने बोला- तुम तो अभी भी गलत ही बोल रहे हो ना!मैंने बोला- क्या!उन्होंने कहा- क्या मैं तुम्हें अब भी आंटी लग रही हूँ?मैंने बोला- नहीं आंटी … सॉरी सॉरी आंचल जी … मेरा यह मतलब नहीं था.

मैं उसके और करीब आता जा रहा था और उसकी सांसें मुझे अपने चेहरे पर महसूस होने लगीं. हिमानी ने अपनी बांहें मेरे गले में डाल दीं और हम दोनों एक दूसरे को चूमते हुए बिस्तर पर आ गये. क्या तुम मुझे मॉल में साथ दे सकोगे?मैंने भाभी से कहा- कल मेरी 7 से 3 बजे तक की ड्यूटी है.

एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ उसके बदन को तिरछी निगाह से देखता था।उस समय तक तो फ़रज़ाना दीदी को ये बात पता नहीं थी कि मैं उनको पसंद करता हूं. और दूसरे हाथ से साहिल के लौड़े को सहला रही थी।कुछ देर बाद साहिल ने उसके गालों और उसके गले को बड़े प्यार से चूसा.

लड़की कुत्ते के साथ

मैं भी बार बार उसकी चूचियों पर अपना मुँह रगड़ कर उसकी गोलाइयों की नर्मी का मजा ले रहा था. मामा की बनियान पूरी पसीने में भीगी रहती थी और मैं उनके आसपास घूमता रहता था ताकि उनके बदन को ताड़ सकूं. दरअसल मैं इस बिल्डिंग में पुराना किरायेदार था और आंटी मुझ पर भरोसा करती थी.

मगर वो सलमान एक पहलवान सा मर्द था, उसने मेरी अम्मी की चुदाई को जारी रखा. ‘आहह आहह आहह आहह ऊऊह आऊऊऊ’ की आवाज से पूरा कमरा गूंज उठा था।अब धीरे धीरे उजाला होने लगा था।मामी के होंठ मेरे होंठों को चूसने लगे और उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया।अब मामी की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो मुझसे लिपट गई. श्रीमान सेक्सी फिल्ममुझे उसके मुँह से निकले शब्द अन्दर तक झकझोर गए थे कि मुझे इससे बेरुखी क्यों है.

जैसे ही हेमा चाची चबूतरा साफ करके पीछे मुड़ीं … तो उन्होंने मुझे देख लिया और मुझे देख कर मुस्कान बिखेर दी.

मैंने मस्ती में आकर होंठों से उसके दाने को कसके पकड़ कर उस पर अपने दांत गड़ा कर हौले से चबा लिया. फिर मैंने पूरा जोर लगाकर उसकी चूत में धक्का दे दिया और उसकी कुंवारी चूत को फाड़ता हुआ मेरा लंड 5 इंच तक उसकी चूत में जा घुसा.

उसने समझ लिया और अपनी चुत को एकदम से उठा दिया, उसी पल मैं उसकी चुत पर मुँह रखा और चुत चाटने लगा. अब मामा मेरे बगल में आ लेटे और फिर उन्होंने मुझे अपने ऊपर खींच लिया. मुझे उनके बदन की चिकनाहट को अपने हाथों से मलने में बड़ा मजा आ रहा था.

फिर कल्पना मुझसे बोली- तुम दोनों जाओ अंदर, मैं यहीं पर तुम्हारा इंतजार करूंगी.

उसकी मां मुझे जानती थी क्योंकि कई बार वो रानी के पास रुक कर जाया करती थी. वो मस्त आवाजें निकालने लगी- ऊह आह आई लव यू सुरेश!मैंने भी कहा- लव यू हेमा डार्लिंग. एक बार लंड दिख जाए, तो मेरी कोशिश रहती है कि उस लंड को पकड़ का चूस लूं या सहला कर उसकी गांड मार लूं.

साड़ी वाली साड़ी वाली सेक्सी वीडियो10 मिनट तक वो लड़का रानी की चूत से लगा रहा और उसने चूत को चाट चाटकर रानी की चूत का पानी निकाल दिया. खुशबू वाली कैंडल, फूल और परफ्यूम से महकता हुआ मेरा रूम बहुत सुंदर लग रहा था.

डब्ल्यू डब्ल्यू सेक्सी शॉट

आज दोनों जगह का खाना मैं अपने घर में ही बनाऊंगी, तो तुम खाना खाने के लिए 9 बजे हमारे घर आ जाना. मेरे नितम्ब मम्मी के सामने थे।कुछ देर बाद मम्मी सो गई और कुछ मिनट बाद मैं भी सो गया।जल्द ही अगला भाग आएगा। तब तक मेरे साथ बने रहें और कहानी का मजा लेने के लिए तैयार रहे।यह पहले दिन की ही कहानी है. मेरे भाई बहन भी अपने स्कूल गए थे और अब्बू तो घर में रहते ही नहीं थे.

उसने मोना का सहयोग देखा, तो उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसके पूरे बदन पर किस करने लगा. अब हर्षदीप ने आंटी को अपनी बांहों में उठा लिया और उसे बिस्तर पर लेटा दिया. बुआ ने गांड हिला कर शंटिंग शुरू करने का इशारा दिया, तो अब मैं उन्हें धकापेल चोदने लगा.

हम पार्क और रेस्टोरेंट में कई बार साथ जा चुके थे लेकिन मैं कभी उसके घर नहीं गया था. मैंने भी जोर नहीं डाला क्योंकि मैं उसको चोदने का मौका छोड़ना नहीं चाहता था. एग्जाम आने वाले हैं, उसकी तैयारी में लगा हूं।फिर बातों बातों में दीदी मुझसे पूछा- कोई गर्लफ्रेंड बनी या नहीं?तो मैंने बोला- मुझे कहाँ कोई लड़की देखती है।दीदी बोली- तुझमें क्या कमी है?तो मैं बोला- आजकल की लड़कियों को हैंडसम लड़के अच्छे लगते हैं.

मेरे वीर्य ने निकलना शुरू किया ही था कि शबाना ने अपनी दोनों टांगों से मुझे जकड़ लिया. मैंने पोर्न वीडियो में देखा था कि लड़कियां कैसे इतना बड़ा लन्ड बड़े आसानी से चूस लेती है पूरा अपने मुँह में घुसा कर!उसी तरह धीरे धीरे उसका भी लन्ड मैं अपने मुँह में घुसाती गयी.

चुदाई करना कुछ समय के बाद आपकी मजबूरी बन जाती है चाहे सामने वाली औरत शक्ल सूरत में कैसी भी हो.

इसके बाद अपने हाथों से मेरी गांड का छेद खोल कर अपना टोपा रख कर मेरे ऊपर चढ़ गया. सेक्सी वीडियो देसी चुदाई दिखाओतो चुदाई कैसे हुई?हैलो, मैं आपको ठाकुर के लंड की ताकत का अहसास कराते हुए उसकी देसी चुदाई की स्टोरी लिख रहा था. डाउनलोडिंग सेक्सी डाउनलोडिंग सेक्सीजब अलीमा झड़ने वाली थी, तो वो बड़े जोर से चिल्लाने लगी- आह अंकल … आह मैं गई … आह मर गई … आह. कोई भी जवान स्त्री किसी प्रुरुष की काम लोलुप नज़र को भली भांति पहचानती है, तो मंजुला भी सब कुछ समझ कर चुपचाप सिर झुकाए खाना खा रही थी.

दीदी भी आने वाली थी तो हम बाहर आ गए।थोड़ी देर बाद दीदी भी आ गई और मैं अपने घर आ गया।उसके बाद हमें मौका ही नहीं मिला।अब तो उसकी शादी भी हो गई है।तो दोस्तो कैसी लगी मेरी कहानी पसंद आई होगी ना?मुझे मेल करें![emailprotected].

फिर उसने मेरी सलवार में हाथ दे दिया और मेरी चड्डी के अंदर हाथ देते हुए मेरी चूत को छू लिया. उनके गोरे गोरे बदन पर काली कसी ब्रा में उनके दूध मानो फटे पड़ रहे थे. मैंने पूरा माल फर्श पर निकाल दिया।मुठ मारने के बाद जब मैं रिलैक्स हुआ और आंखें खोलीं तो अचानक मेरी नज़र चाची पर पड़ी जो मुझे देख रही थी।डर और शर्म से मेरी हालत पूरी तरह से ख़राब हो गयी थी।उस दिन के बाद फिर मैं जब भी चाची को देखता तो अपनी नजरें चुरा कर भाग जाता था।जब भी वो सामने होती थी तो मैं कट लेता था.

वहां पर मुझे देखकर सभी लोग बहुत खुश हुए क्योंकि मैं उनके घर 3 साल बाद गया था. पानी की बूंदों ने जैसे ही अलीमा के बदन को छुआ, मानो ऐसे लगा कि जैसे किसी गर्म लोहे पर पानी पड़ गया हो. अगले दिन सुबह मैं जल्दी उठ गया और जल्दी जल्दी तैयार होकर घर से निकला.

घोड्याची सेक्स व्हिडीओ

मेरी तो समझ में ही नहीं आ रहा है कि क्या करूं?मैंने पूछा- आपके पति या भाई वगैरह नहीं है क्या?वो बोलीं- हां पति तो हैं, मगर वो दिल्ली में फंस गए हैं और वापस आने का कोई साधन ही नहीं है. लेकिन मैं पहली बार चुदाई उससे करना चाहती थी, जो मुझे प्यार करता हो … और शादी के बाद ही करना चाहती थी मतलब मैं पहला सेक्स अपने पति के साथ ही करना चाहती थी. अब आंटी ने बैठ कर ब्लाउज और पेटीकोट, चड्डी को धोया और जैसे ही वो झोपड़ी की तरफ मुड़ीं, मैं वापिस झोपड़ी में आ गया.

मैंने उसको कैसे चोदा?मैं विजय अपनी जवान पड़ोसन अंकिता की चुत चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ.

मेरे मम्मी पापा रोड एक्सीडेंट में चल बसे।हम दोनों भाई बहन के 10-15 दिन तो ठीक से गुजरे लेकिन बाद में खाने को भी लाले हो गये.

मुझे तो लगा कि आप गुस्सा हो जाओगी और फिर पता नहीं आप मेरे बारे में क्या सोचोगी।चाची- अगर तूने नहीं बताया तो पक्का मैं गुस्सा हो जाऊंगी।फिर मैंने बता ही दिया और बोला- गन्दी चुदाई मतलब मुझे गंदी तरह से चोदना पसंद है. मैंने पहले दाएं तरफ वाला दूध चूसा, फिर कुछ देर बाद बाईं ओर वाला चूसा. भारतीय सेक्सी हिंदी पिक्चररास्ते भर में मैंने अपनी साड़ी एकदम नाभि के नीचे कर लिया और फिर पल्लू इस तरह से ओढ़ा कि मेरी चूचियाँ दिखने लगी.

आंटी मेरे गाल से गाल लगा कर कहने लगी थीं- राजा मैं क्या करूं, मेरे पास अपनी गर्मी शांत करने के लिए इन्हीं फिल्मों का सहारा रहता है. हालांकि मैं हिम्मत करने की बात मन में सोच रहा था मगर डर के मारे मेरी गांड से अंगारे भी बरस रहे थे. मैं हमेशा से ही हॉट एंड जीरो फिगर वाली गर्ल्स की चुदाई का सपना देखता था … पर यकीन मानो, लड़कियों से बात करने में मेरी गांड की हवा निकल जाती थी.

दीदी सती सावित्री जैसे दिखा रही थी और आदित्य इतना शरीफ बन रहा था कि नजरें तक नहीं उठा रहा था. फिर मैंने अपने लंड पर भी थूका और अपने लंड का सुपारा उनकी गांड के छेद पर रगड़ने लगा.

भाभी ने फिर से मुझे अपने ऊपर खींच लिया और लंड को फुद्दी में रगड़ना चालू कर दिया.

मैंने दुबारा से सही से सैट करके एक धक्का मारा, तो लंड आधा अन्दर चला गया. मेरा लंड और आसानी से गपागप गपागप अंदर बाहर होने लगा।चाची बोली- राज, आज तक मैंने इतनी चुदाई करवाई लेकिन तेरे लंड जैसा मज़ा कभी नहीं मिला!अब तो मेरे लंड को जैसे पंख लग गए गपागप गपागप गपागप अंदर बाहर करने लगा. अंजलि घुटनों के बल बैठकर दोनों के काले लन्ड हाथ में लिए हुए थी और बारी-बारी से दोनों के लंड चूस रही थी।दूर दूर तक उन्हें कोई चिंता नहीं थी किसी के आने की, गजब की रांड बन गयी थी मेरी बहन!फिर वो खड़ी हुई तो वो दोनों उसकी चूची दबाने लगे.

सेक्सी एचडी में पंजाबी मेरी सुंदरता को देखकर बहुत लोगों ने मुझे मसलने के लिए काफी कोशिश की थी. मैं बोला- भाभी कुछ काम था?भाभी- हां, तुम्हारे भईया अभी तक नहीं आये हैं.

फिर सुमन बोली- मुझे आधा घंटा दो … और आप दूसरे कमरे में मेरी प्रतीक्षा करो. ये शायद इसीलिए हुआ था क्योंकि मैंने अपना लंड हेमा चाची के काफी अन्दर तक जो डाल दिया था. अब यहाँ क्या हुआ कि आगे पीछे वाली दो सीट के बीच में जो गैप होता है उससे होते हुए मुझे अपनी विंडो सीट तक जाना था.

मारवाड़ी नया सेक्स वीडियो

उसकी चूत की सिकुड़ने मुझे अपने लंड पर महसूस हुई और उसकी चूत ने बहुत सारा गर्म द्रव छोड़ दिया. वो खाँसने लगी, मैं अनसुनी करते हुए उसके मुँह में झटके देने लगा और उसके मुँह को चोदने लगा. साथ में मेरे छबीले मामा बैठे थे और सामने लड़के की गांड चोदी जा रही थी.

मैं रहने वाली पुणे की हूं और यहाँ फ़िलहाल एक आईटी कम्पनी में असिस्टेंट मैनेजर के तौर पर जॉब करती हूं. सलोनी- तो फिर आज तक तुमने किसी के नहीं देखे हैं क्या?मैंने कहा- क्या?वो बोली- वही जो तुम उस दिन मेरे देख रहे थे.

थोड़ी ही देर में मेरा माल निकल कर उसके मुँह में चला गया, जिसे उसने पी लिया और मेरे लंड को चूसते हुए एकदम से साफ़ कर दिया.

इसी के साथ मुझमें चुदाई के दौरान काफी देर तक लगे रहने के कारण आज तक मैंने सबको उनकी डिमांड से ज्यादा संतुष्ट किया है. मैंने भी जोर नहीं डाला क्योंकि मैं उसको चोदने का मौका छोड़ना नहीं चाहता था. दो चार सीढ़ियां उतरने के बाद मैंने फिर से चूची को सहलाया और उसने फिर से मेरे लंड को छू लिया.

वो बोला- क्या हुआ योगिता को?मोनी बोली- देख ले आकर, रात भर इतनी चुदी है कि उसको होश ही नहीं है. इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के सभी पात्रों के नाम और स्थान काल्पनिक हैं. सलमान हंसने लगा- तो क्या हुआ जान … मुझे भी तो कुछ सीलपैक छेद चाहिए न?‘वो सब बाद में.

और राज का लंड चूसते हुए मुझे लगने लगा था कि उसका भी अब निकलने वाला है तो मैं राज का लंड और ज़ोर से चूसने लगी।और फिर कुछ ही देर में राज अपने मर्दाना माल से मेरा मुँह भरने लगा।उसने अपने वीर्य की एक-एक बूँद मेरे मुँह में ही डाल दी.

एक्स वीडियो भोजपुरी बीएफ: चाची से बात करते हुए मेरा लंड तन गया था और उसने कामरस छोड़ना शुरू कर दिया था. फिर मैं उसको मनाता रहा और उसको चुदाई के लिए मनाने में मुझे 15 दिन लग गये.

अभी रात के 8 ही बजे थे और भाभी सारा काम खत्म करने के बाद टीवी सीरियल जरूर देखा करती थी. बाबा के रूम की लाइट जल रही थी और उनके कमरे से किसी के बात करने की आवाज आ रही थी. मैंने जोरों से उसके स्तन दबाए, मैंने उसके निप्पल को उँगलियों से मसलने लगा।अपने होंठों से मैंने उसके होंठ बंद कर दिए।उसके आंसू निकल आए।शायद उसने इतना बड़ा लंड कभी नहीं लिया था.

वो चिल्ला उठीं- आह मार दिया … धीरे करो ना … तुम्हारा लंड बड़ा भी है और मोटा भी … आह साले ने फाड़ दी मेरी.

चाची बड़ी कामुकता से मेरे हाथों से अपने जिस्म पर वीर्य की मालिश करवा रही थीं. आंटी ने भी मुझे अपनी बांहों में भर लिया और चुदाई का खेल आगे बढ़ चला. और जब दोपहर बाद मेरी मैम आयी तो उन्होंने मुझे बुलाया और बोली- आफिस में साहिल के पास चली जाओ.