सेक्सी बीएफ भोजपुरिया

छवि स्रोत,सेक्सी दे सेक्सी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी नंगी वीडियो में: सेक्सी बीएफ भोजपुरिया, मैं रूम में आया तो देखा कि मेरी बहन बिस्तर के बीच में किसी चुदासी रंडी की तरह टांगें फैला कर ऐसी सोई थी, जैसे न्योता दे रही हो, आओ और चोद दो.

जानवर वाली बर्फ

मुझे बड़ा अच्छा लगता कि अच्छा ना दिखते हुए भी मेरी बहुत सी खूबसूरत महिला मित्र हैं. इंडियन सेक्सी वीडियो साड़ी वालीमैंने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत पर अपनी जीभ रखकर चाटना शुरू कर दिया.

मैंने भी उसका साथ दिया और उसके होंठों को चूमने लगा।अब मैं फुल मूड में मुस्कान के पूरे चेहरे को चूम रहा था और अपने हाथों से उसको बड़े बड़े बूब्स को दबा रहा था. वीवो एक्समैं भी अपने दोनों हाथ उसके गले में डाल कर चुदाई का पूरा मजा उठा रही थी.

मैं समझ गया कि ये दोनों मां बेटी पक्की लंडखोर हैं और अब इन दोनों को एक साथ एक ही बिस्तर पर चोदना है.सेक्सी बीएफ भोजपुरिया: बस वाले लड़के और होटल के स्टाफ ने मिलकर सारे टूरिस्ट का सामान बस से नीचे उतार दिया.

मैंने जल्दी जल्दी से कुछ धक्के लगाए और लंड चूत से खींच कर सारा माल उसके पेट पर निकाल दिया.नैना- आह आह मिंटू धीरे करो … लग रही है यार … कहीं भागी थोड़ी जा रही हूँ आंह आंह रुक जा साले … आह धीरे चोद न!लेकिन मैं आज उसकी एक नहीं सुनने वाला था.

ब्लू फिल्म कश्मीरी - सेक्सी बीएफ भोजपुरिया

मैंने भाभी से पूछा कि आप तो बहुत सुंदर हो, तो आप ऐसे बिना सजधज के क्यों रहती हो?भाभी ने उत्तर दिया- किसके लिए सजना.उसके चूसने का तरीका इतना ज्यादा मादक था कि मैं पानी पानी हो रही थी.

कुर्सी पर बैठती हुई बोली- हर्षद अब कैसा लग रहा है?मैंने कहा- पहले से काफी अच्छा लग रहा है. सेक्सी बीएफ भोजपुरिया मुड़ते हुए बस इतना कहा- ‘झूठे हो, ऐसे ही कह रहे थे कि मैं काले रंग में अच्छी अच्छी लगती हूँ!तब मेरा ध्यान गया कि उसने काला पहना था.

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था।जेठ जी को पता नहीं क्या मजा आ रहा था … मेरी चूत से मुंह हटा ही नहीं रहे थे.

सेक्सी बीएफ भोजपुरिया?

उन दिनों मैं दिल्ली की एक एड एजेन्सी में जॉब करता था और मेरा ऑफिस बाराखंबा रोड, कनाट प्लेस में था. पम्मी आंटी भी नीचे से अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगीं. मैं सौम्या का ये रूप पहले भी देख चुका था क्योंकि वो आखिर मेरी मम्मा ही तो है.

मैं भी पेट के बल ही उसके ऊपर लेट गया और उसकी चूत में लंड को डाल कर जोर जोर से उसकी चुदाई करने लगा. अब आगे Xxx इंडियन भाभी सेक्स स्टोरी:ट्रेनिंग खत्म होने के बाद जब हम दोनों घर वापिस आए, तो हमें बाहर तो मम्मा बेटे जैसा ही रहना पड़ता लेकिन घर में हम दोनों पति पत्नी की तरह चुत चुदाई का खेल खेलते रहते. मैंने खाला से पूछा- माल कहां निकालूं?उन्होंने कहा- अन्दर ही छोड़ दे.

अब आगे अम्मा सेक्स कहानी:खाला ने कहा- मुझे तो बताओ यार, मुझसे क्या शर्माना … बोलो?उसने धीरे से कह दिया कि हां कभी कभी मन करता है. वो जगह अच्छी नहीं थी, पर वहां मूवी देखने सिर्फ तीन कपल आए थे … या यूं कहूं कि ओरल करने ही वो लोग आए थे. मेरी खाला चिल्ला उठीं- मादरचोद भोसड़ी के … मार डाला साले चुत फाड़ दी मेरी!मैं कुछ नहीं बोला, बस धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मगर मुझे तो चूत की तलब टीना ने ही लगाई थी और चुदने का मन टीना को भी था. मैंने सोचा कि सौम्या बहुत खुश होगी क्योंकि उसकी पास्ट लाइफ में भी इतना मज़ा, इतनी खुशियां भर गई थीं, लेकिन सौम्या को तो मेरे बच्चे की मां ना बन पाने के गम ने जकड़ रखा था.

चाची ने लंड मुँह में ले लिया और लंड को पकड़ कर उसके सुपारे पर जीभ से चटखारे मारने लगीं.

मैंने उसकी ऊंह आह को सुनकर चूत में और तेजी से उंगली को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

मिनी के ऊपर चढ़कर प्राची ने अपनी गांड को उठा दिया जिससे प्राची डॉगी स्टाइल में हो गई. मेरा लंड जाकर अन्दर किसी चीज़ से टच हुआ, जिससे मॉम को बहुत दर्द हुआ. चुदाई के बाद मैंने उससे चाची के बारे में बात की, तो वो आंख दबा कर हंसने लगी.

मुझे लगने लगता है कि मेरा प्यार ही मेरे जीवनसाथी बनने के लिए परफेक्ट है. अब भाभी मेरे सामने केवल पैंटी में थीं और उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी. दोस्तो, मैं हर्षद मोटे आपको अपनी गरम सेक्स कहानी के अगले भाग में मजा देने के लिए फिर से हाजिर हूँ.

मैंने टीना को दूसरी तरफ करके उन लड़कों को अपनी उपस्थिति से अवगत कराया तो वो शांत हो गए.

पूरे कमरे में आह आह की मधुर ध्वनि गूंजने लगी थी- उफ्फ अह्ह जान लव यू बेबी उफ्फ्फक बेबी अब मैं रोज चुत चुसवाऊंगी … आह. कुछ मिनट बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाल लिया और उसके बाजू में लेट गया. मैंने उससे कहा कि भाभी मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में भर लो और जोर जोर से चूसो.

मैं- भाभी, आज तो स्वर्ग की अनुभूति करवा दी आपने … वैसे ये ग़लत है कि मैं पूरा नंगा हूँ और आप अभी तक कपड़ों में हैं. उसकी तरफ से इस तरह की बातें होना शुरू हुईं तो मुझे समझ आ गया कि उसे चुदने की लालसा है. वो मुझे बिल्कुल चूतिया समझती थी तो मेरे सामने ही अपने कपड़े बदलने लगती थी.

उनके घर के मुख्य दरवाजे के पास एक कांच की खिड़की थी जिससे उसके बेडरूम और किचन को छोड़कर बाकी सब दिखता था.

मैं अभी कुछ समझ पाता कि उसने एक ही धक्के में अपना लौड़ा मेरी गांड में उतार दिया. मैं- अब कैसी है तबियत आपकी?माया दीदी हंसती हुई बोलीं- चलने लायक छोड़ा नहीं … और अब पूछ रहा है कि कैसी तबियत है … वो छोड़ और ये पूछ कि मजा आया या नहीं?मैंने पूछा- तो चलो यही बता दो कि आपको मजा आया या नहीं?वो आंख दबाती हुई बोलीं- जिन्दगी में पहली बार इतना मजा आया.

सेक्सी बीएफ भोजपुरिया आप कोशिश तो कीजिए, मैं नहीं तो मेरी जैसी कोई न कोई आपको मिल ही जाएगी. मैंने उसके गोल गोल मस्त मम्मों को अपने हाथों में पकड़ा और एक को मुँह में भरकर चूसने लगा.

सेक्सी बीएफ भोजपुरिया ‘उम्मम्म सर मार डालोगे क्या इस्सस सर … ऐसे मत करो न यार …’‘तेरा मुँह जब तक खुला रहेगा … तू बोलती रहेगी. मैंने उसे बांहों में भर लिया और पीठ सहलाते सहलाते ब्रा कर हुक खोल दिया.

सबसे पहले मैं अन्तर्वासना साइट को शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसकी वजह से लाखों लोगों को अपने चरम सुख की प्राप्ति होती है और लोगों की कहानियां पढ़कर पाठक मजे लेते हैं.

बीएफ पिक्चर की चुदाई

अब मैंने फिर से उसके होंठों को अपने होंठों से मिला दिया और किस करने लगा. हालांकि मुझे तो राहुल सब कुछ पहले ही बता चुका था कि उसकी चाची कैसे खड़े लंड पर कूदने की शौकीन हैं. इस पोज में मुझे शिल्पा को चोदने में कुछ ज्यादा ही आसानी हो रही थी और बहुत मजा भी आ रहा था.

कुछ ही देर में उसकी नींद खुलने लगी और उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं. अब वो बोली- तुम भी कुछ बोलना चाह रहे थे!मैंने कहा- कुछ नहीं, बस वापिस चलने को ही बोल रहा था. मैंने उसकी कान की लटकन को बारी बारी से मुंह में लेकर चूसा और फिर गैस बंद करके उसे रूम में ले आया.

इस कहानी की नायिका रुचिता (बदला नाम) नामक लड़की है, जो कि मेरी ही कॉलोनी में रहती थी.

मैं चूचियों को दबाने लगा, तो चाची बोलीं- क्यों गर्म कर रहा है, फिर तू मुझे संभाल नहीं पाएगा. उन दोनों पूरी चुदाई देखने के बाद मैं अपने लंड को शांत करने के लिए टॉयलेट में चला गया. फिर जैसे मेरी Xxx साली ने दुबारा कहा- आह और जोर से … और जोर से और जोर से जीजू.

तो मैं बोली- तू कर देगा मेरी मालिश?वो मान गया और उसने तेल से मालिश शुरू कर दी।इसके हाथ के स्पर्श से मैं गर्म हो गई और आह आह आह की आवाजें निकालने लगी. मैंने सोचा कि चलो सॉफ्टवेयर देखने के साथ साथ श्रेया के साथ थोड़ा फ़्लर्ट भी कर लूंगा. इतना सुनते ही मेरे लंड के रोंगटे खड़े हो गए कि ये सही मिली है, बेटा यहां पर काम बन सकता है.

उसकी तरफ से इस तरह की बातें होना शुरू हुईं तो मुझे समझ आ गया कि उसे चुदने की लालसा है. 15 मिनट बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया और हम दोनों अलग हुए.

मेरी मम्मी मुझे रोकेंगी भी तब भी मैं उनसे कोई न कोई बहाना करके आपके आ जाया करूंगा. मैंने उनसे कहा- ठीक है, आप अपना काम खत्म कर लीजिए और जब आप फ्री हो जाओ, तब आ जाना. इतने में निशा पीछे से बोली- वाह अमित … आपने तो इतनी अच्छी बॉडी बना रखी है.

तो मुझे पहली चूत कैसे मिली, पढ़ें इस गर्म लड़की की लोकल सेक्स कहानी में!दिल्ली यूनिवर्सिटी से मैं बी.

मैंने कहा- तो क्या हुआ … तुम्हें लाने की क्या जरूरत थी!वो बोली- तो क्या हुआ, क्या मैं नहीं ला सकती थी!मैंने कहा- हां ला सकती हो लेकिन ये फ़ोन इतना महंगा लाने की क्या जरूरत थी?वैसे ये फोन और फ़लक का फ़ोन सेम था. करीब दस दिन तक ताबड़तोड़ चुदाई हुई और जब माहवारी का समय निकल गया, तो भाभी बेहद खुश हो गईं. मैंने उसके हाथ छोड़ दिए और वो मेरे बालों में हाथ रखकर मेरा सिर अपनी चुत पर दबाने लगी.

उसे भी हार्दिक का लंड बढ़िया लग रहा था और उसे लंड चूसने में कोई दिक्क्त भी नहीं थी. लगभग 5 मिनट मेरा लंड चूसने के बाद आंटी खड़ी हो गईं और अपनी मैक्सी उतार कर किनारे रखती हुई बोलीं- गौरव, 4 महीनों की प्यासी चूत है.

तब तक हार्दिक ने अपना लंड उसके होंठों से लगा दिया और उससे लंड चूसने को कहा. चाय नाश्ते के बाद, विशाल ने कहा- मोहन और रवि, तुम दोनों एनीमा लेकर आ जाओ. ये बात विमला को पता थी, फिर भी उसकी विनती पर मैं पिघल गया और उसके हाथों पर मेहंदी बनाने के लिए तैयार हो गया.

बीएफ फिल्में सेक्सी

मैं भी अपने आपको रोक नहीं पा रहा था तो मैंने सरिता की चूचियां दोनों हाथों में पकड़कर जोर का धक्का मारकर पूरा लंड सरिता की चूत में जड़ तक ठांस दिया और उसकी पीठ पर अपना सर रख दिया.

टीवी पर कोरोना की खबरें आ रही थीं तो मैं बोर हो गया और मैंने एक मूवी लगा दी. थोड़ी देर बाद फेरे हुए, सौम्या ने सच में मेरी मलाई से भरी चूत के साथ ही फेरे लिए … वो भी बिना पैंटी के. मेरे सामने आकर मेरे होंठों पर उसने अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठों को चूसने लगा.

माया दीदी मेरी मौसी की लड़की हैं और वो अपने पति और बच्चों के साथ मेरे ही घर जा रही थीं. जापान जाने के लिए मैंने लैटर आने के अगले ही दिन मेरा और मम्मी के पासपोर्ट वीसा के लिए अप्लाई कर दिया था. हनी सिंह के सेक्सी गानेझड़ने के बाद मैंने टीना की तरफ देखा, तो वो मादकता से मुस्कुरा रही थी.

मेरी गांड में उंगली घुसेड़ता थप्पड़ मारता, मेरी गांड को दांत से काट लेता. सौम्या मेरे होंठों को नहीं छोड़ना चाहती थी लेकिन मुझे उसके नीचे वाले रसीले होंठों को किस करना था तो मैं उसके लहंगे में घुस गया और सीधा सौम्या की चूत पर हमला कर दिया.

एक दिन ऐसे ही रविवार को दिन भर इधर उधर घूमने के बाद बहुत देर हो गयी थी. वो फिर से लंड हिलाने लगी तो मैंने उसे घोड़ी बना दिया और चुदाई करने लगा. वह सीधा मेरे ऊपर गिरते हुए फिर से मेरे होंठों को चूसने लगा; काफी वहशी तरीके से चूस रहा था.

ऑनलाइन कैम सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लड़की ने अपनी मर्जी से मेरा लंड चूसा. मैंने कहा- ये जेबाँ तो आज घर पर है, हम लोग कैसे मजा करेंगे?वो बोली- मुझे भी समझ नहीं आ रहा है. मुझे भी मजा आया मगर अपनी बहन के साथ इस तरह की क्लिप को देख कर उस पर चर्चा करना मेरे लिए जरा असहज करने वाला था.

मुझे बहुत शर्म भी आ रही थी।उन्होंने मेरी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर करके चूत में उंगली डाल दी.

ये सोच कर जैसे ही मैंने कंडोम खोलने के लिए पैकेट उठाया तो वीना ने मना कर दिया. दोस्तो, यह मेरी पहली सेक्स कहानी है मौसी की चूत की चुदाई की … तो अगर लिखने में कोई गलती हो जाए तो माफ़ कीजिए.

कुछ देर बाद साड़ी में एक भरे हुए जिस्म की दूध जैसी गोरी महिला ने दरवाजा खोला. अकेले घूमने जाना, रात को लंबी ड्राइव पर बाइक में निकल जाना, उसका मुझे इस प्रकार पकड़ कर बैठना कि मेरा लंड उसके टच से ही खड़ा हो जाए … ये सब आम होता था. फिर उसने अपना लंड बाहर निकाला धीरे-धीरे करके मेरी चूत में डालने लगा.

अपनी चुत पर हुए इस हमले से रिया के मुँह से हल्की सी सिसकारी निकल गयी. मेरे लंड महाशय की लम्बाई मोटाई इतनी है कि ये किसी सूखे कुंए से भी पानी निकाल दे. अब बारी उसकी लैंगिंग्स को उतारने की थी, तो में खड़ा हो गया और उसे चूमने की बजाए उसकी कमर के पास उंगलियां घुमाने लगा, जिससे वो और भी ज्यादा मचलने लगी.

सेक्सी बीएफ भोजपुरिया तभी लड़की की आवाज आई- आह चोद दो मुझे भाई!मैं ये आवाज सुनकर गर्म हो गई. वो बोली- फोन क्यों नहीं उठा रहे थे?मैंने कहा- मैं तुमसे तुम्हारा जवाब जानना चाहता हूँ.

बीएफ सेक्सी नई वीडियो

मैंने भी हामी भर दी।अब आखिरी एग्जाम होने के एक दिन बाद उसने मुझे सुबह 10 बजे घर आने को कहा. इसलिए जब सोनाली नीचे आकर सो गयी, तो मैं मौका पाते ही तुम्हारे पास आ गयी. शुरू शुरू में हमारी नॉर्मल बातें हुई जैसे कि आप क्या करते हैं कहां रहते हैं।यह सब एक महीने तक चलता रहा.

तब भी मैंने सौम्या से वादा किया कि मैं उससे शादी के बाद भी मिलता रहूंगा और उसकी चुदाई किया करूंगा. तीसरा राउंड करने के बाद हम लोग एक साथ मिलकर नहाए और बाहर आकर उसने अपने कपड़े पहन लिए. लिंग बड़ा करने की दवामैंने लंड को बाहर निकाला और वो अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर जल्दी जल्दी आगे पीछे करने लगी.

उधर वीडियो में जैसे लड़के ने अपना लंड लड़की की चूत में घुसाया, उसने भी मेरी चूत ने घुसा दिया.

कोचिंग क्लास शुरू किए हुए एक महीना हो गया था, सब कुछ सही चल रहा था. वो दिखने में सुंदर, कद साढ़े पांच फिट और फिगर 34-30-36 का, बाहर निकले कूल्हे, बहुत ही सेक्सी फिगर.

अब उसने अलमारी बंद कर दी और पीछे मुड़ी तो मैं उसे अपनी बांहों में कस कर होंठों को लगातार चूमने लगा. उसने कुछ सेकड रुकने के बाद एक और झटका मारा जिससे उसका सारा लंड मेरी गांड में चला गया. अब मुझे भी जोश आ रहा था तो मैंने सरिता के गाउन को नीचे से उठाकर ऊपर से निकाल दिया और सरिता की नंगी मांसल गांड को दोनों हाथों से सहलाने लगा.

चाचा की जब शादी हुई, तब से मैं चाची के काफी नजदीक रहा, मतलब बिल्कुल एक बेस्ट फ्रेंड की तरह.

भाभी दरवाजा खुलते ही कमरे में अन्दर आते ही पूछने लगीं- कैसी रही पार्टी, मना लिया बर्थ-डे. इतना सुनने के बाद तो मेरा लंड और मैं खुशी से झूम उठे क्योंकि अब मेरे घर में वीना और मेरे सिवाय कोई नहीं रहेगा. जब भी मैं अपनी बुआ के घर जाता, तो उनके पड़ोस में ही मेरा मन लगा रहता था क्यूंकि पड़ोस में रहने वाले की बेटी सोनल मुझे बड़ी भाती थी.

दिसावर में आने वाला नंबरसौम्या- अरे अगर तेरा बाप मेरी चुदाई नहीं करेगा, तो तू पैदा कैसे होगा?‘अरे यार, पैदा ना होने में एक रात रुक जाऊंगा तो क्या हो जाएगा. उस शादी में मैंने दो और लड़कियों को भी अपने लौड़े के लिए पक्का कर लिया था.

एक्स एक्स एक्स सेक्स कम

मैंने उसकी टांगें नीचे की … और उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर किस किया, उसके नीचे हाथ डालकर उसे अपनी बांहों में कस लिया. मैंने मैडम को उसी समय बता दिया कि मैंने आपको मुठ मारते हुए खिड़की से देख लिया था. मेरे मुंह की आवाजें उईई … उईई … उईई … माँ … उफ्फ उफ्फ की जगह यस … ओ या … फक … फक … फक … फक … या या बेबी … ओ गॉड या या या … मैं बदलती जा रही थी.

बेड पर लेटी हुई भाभी सेक्सी दिख रही थीं, उनके लाल लाल होंठ, लम्बे बाल. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राज है, मेरी उम्र 25 साल है और मैं आपके साथ अपनी लाइफ का सबसे पहला अनुभव साझा करने जा रहा हूं. वीना अपने कॉलेज से 2 बजे आ गयी, तो घर में मुझे देख कर पूछा- चाचा, दादी कहां हैं … दिख नहीं रही हैं?मैंने उसको सब बताया.

लेकिन मैं रिहर्सल में अकेले डांस करते हुए किसी को जमा नहीं इसलिए सिलेक्शन कमेटी ने मुझे डुओ डांस परफ़ॉर्मेंस करने के लिए कहा. मैंने कुछ नहीं बोला तो उन्होंने मुझे खड़ा कर दिया और एक ऊंची सी टेबल पर बिठा दिया. मैं भी अपने आपको रोक नहीं पा रहा था तो मैंने सरिता की चूचियां दोनों हाथों में पकड़कर जोर का धक्का मारकर पूरा लंड सरिता की चूत में जड़ तक ठांस दिया और उसकी पीठ पर अपना सर रख दिया.

मैं टीना को लेकर घर से निकला और हम दोनों खाने के लिए अच्छा सा रेस्तरां खोजने लगे. मेरी पिछली कहानी थी:मामा की साली की वासनामैं कुरुक्षेत्र हरियाणा का रहने वाला हूं.

मैंने उसकी चूत को कम से कम 10 मिनट तक चोदा और अन्दर ही अपना पूरा पानी निकाल दिया.

मैं- कोई बात नहीं दीदी वैसे भी जब कमरे से बाहर था, तो बहुत प्यार करने जैसी आवाजें आ रही थीं. सेकसी फोटो कममैंने एक हाथ उठा कर उसके स्तन पर रख दिया और पूरी मस्ती से दूध दबाने लगा. सेक्स वीडियो खुलम खुलादेखने में वह बहुत सुंदर है, उसके होंठ रसीले हैं।उसके स्तन गोल गोल उसकी कमीज से बाहर को निकलते रहते थे। मेरा मन उनको देखकर लालायित होता था कि साली को पकड़ कर अपने नीचे लेकर उसकी चूचियां मसल कर चूस लूं।एक रात मैं साली की बेटी नेहा की चूत की चुदाई की कल्पना करके मुठ मार रहा था. मैं दो मिनट रुका और जब उसे होश सा आया तो वो मेरी आंखों में वासना भरी निगाहों से देखने लगी.

लेकिन मैं रिहर्सल में अकेले डांस करते हुए किसी को जमा नहीं इसलिए सिलेक्शन कमेटी ने मुझे डुओ डांस परफ़ॉर्मेंस करने के लिए कहा.

रवि का चेहरा धुलवाकर मोहन ने उसे लाल लिपस्टिक, बिंदी लगा दी और रवि को चादर ओढ़ा दी. विशाल ने ज़मीन पर खड़े होकर अपना पूरा लंड एक ही झटके में रवि की गांड में डाल दिया. मेरी बात सुनकर वो थैंक्स बोल कर जैसे ही पीछे को मुड़ी, उसकी टाईट गांड को देख कर मैं अपना लंड सहलाने लगा.

आपको पसंद आ रहे हैं, इसका प्रमाण आप मुझे मेरी गे Xxx कहानी पर अपने मेल भेज कर दे रहे हैं. कहानी के पिछले भागअंग्रेज टूरिस्ट का लंड मेरी गीली चूत परमें आपने पढ़ा कि मैंने एक अंग्रेज टूरिस्ट के साथ चलती बस में सेक्स का मजा ले रही थी. उनके झड़ने के कुछ देर बाद भी मैं उनकी चूत को चूसता रहा और उनका नमकीन पानी मेरे मुँह में आता रहा.

बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे बीएफ

जैसे ही सरिता नीचे झुकी, तो मैं उसके पीछे जाकर उसकी गांड से सटकर खड़ा हो गया. मैंने कहा- हां सिमरन, आज मैं तेरी चुत को अपने 7 इंच लम्बे लंड से हचक कर चोदूंगा. बेडरूम के अंदर सच में क्या सीन था वो!उन्होंने मुझे बेड पर पटका और जल्दी जल्दी अपने सारे कपड़े उतार लिए.

चाची वैसे तो थोड़ी मोटी थीं मगर उनके बड़े बड़े मम्मों और तोप सी तनी हुई गांड देख कर लंड खड़ा हो जाता था.

मगर आज मैं मेरी शादी से पहले की स्कूल सर सेक्स कहानी को ही आपके सामने लिख रही हूँ.

आशा करता हूँ आप सबको पसंद आएगा और आपका भी प्यार करने का मन बन जाएगा. ’‘ठीक है जान … मुँह में ले लेता हूँ उम्म्म इस्स …’‘हां ऐसे आराम मिल रहा है आह सर चूसिए इनको. भांगड़ा गाना वीडियोमैं अपना लंड मॉम की चुत के बाहर ही, कभी ऊपर, कभी नीचे की तरफ रगड़ रहा था.

दोस्तो, उसकी इस बात से मेरे लंड ने इतनी जोर का झटका मारा कि मुझे लगा कि मेरा पानी अभी निकल जाएगा. वो उसके बाद भी कुतिया के जैसे हिले जा रही थी जो कि एक और नया अनुभव था. उसका रुझान भी मुझे कुछ सकारात्मक लगा तो मैं उससे कुछ ज्यादा ही बात करने लगा.

कुछ पल बाद वो कपड़े पहन कर बाहर आई और मुझे नकली गुस्से से देख कर स्माइल देती हुई बोली- चलो खाना खाते हैं. मैंने वक्त की कमी देखते हुए उसे न तड़पाते हुए आगे बढ़ना शुरू कर दिया, उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर अपने हाथ उसके उरोजों पर दबाते हुए कड़क धक्का लगा दिया.

मैंने शिखा से पूछा- यार किधर लेगी?तो वो मुँह में लंड चूसना चाहती थी.

वो मुझसे धीमे स्वर में बात करने लगीं- मैंने तुम्हारी ये चुदाई लीला देख ली है और मैंने ट्यूशन वाले बच्चों को छुट्टी दे कर वापस भेज दिया है. आपकी पहचान सिर्फ मुझ तक और सिर्फ मुझ तक रहेगी, मैं अपनी ज़ुबान देता हूं. फिर थोड़ी देर हिलाने के बाद हम दोनों का पानी प्रियंका के सामने ही निकल गया.

चोदा चोदी इंडियन इस तरह मेरा लंबा और मोटा लंड रेखा की चूत की गहराई में जाकर गर्भाशय के मुख को रगड़ रहा था तो रेखा को सनसनी होने लगी. उसे बहुत दर्द हो रहा था तो मैं ऐसे ही रुक गया और उसे किस करने लगा, उसके मम्मों को दबाने लगा.

फिर कुछ ही देर में मैंने जैसे ही उसकी चूत के दाने को अपनी जीभ से कुरेदा … वो सिहर गई. उसने मुझसे कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, चीनी का डिब्बा तुम्हें मिल गया हो, तो थोड़ा पीछे हटो … मुझे नीचे से एक बर्तन निकालना है. मैंने निशा से कहा- आप पेट के बल लेट जाओ, मैं आपके पैरों की मालिश कर देता हूं.

deepak सेक्स

उसका इस तरह मुझे घूरना मुझे भी अच्छा लगता था क्योंकि जय काफी हैण्डसम और अच्छे जिस्म वाला था. मैंने तब टालने के लिए बोल दिया- हां हां जानू … मैं तुमसे जरूर शादी करूंगा. जैसे ही उसने दीदी की बुर में अपने लंड का सुपारा पेला, दीदी जोर से ऐसी चिल्लायी, मानो उसके लंड ने दीदी की बुर को फाड़ दिया हो.

उसने दो तीन बार मेरे लंड के टोपे को ऊपर से नीचे तक अपनी गर्म गर्म जीभ से चाटा. कुछ देर में मैंने चाची की पैंटी पर माल गिरा दिया और उसके बाद ब्रा पैंटी पानी से साफ करके रख दी.

मैं उठकर सरिता के बाजू में लेट गया सरिता उठकर बैठ गयी और वो अपनी चूत की तरफ देखकर बोली- हर्षद, देखो ना कितना सारा रस बह गया है.

लड़के ने लड़की की चीखें निकाल कर रख दीं और अपना पूरा पानी उसके मुँह में भर दिया. मैं आपको बताना चाहूंगा कि उस लड़की का नाम शालू था, काफी ज्यादा गोरी-चिट्टी थी और भरे हुए शरीर की मालकिन थी. ‌मैं समझ तो सब रहा था लेकिन फिर भी मैंने अपना मुँह पैंटी से हटाया और उससे पूछा- ये तुम क्या कर रही हो?अब वो बोली- तुम समझ तो सब रहे हो … फिर भी मैं बता देती हूँ.

राहुल ने अगले ही पल चाची की साड़ी उतार का साइड में रख दी और ब्लाउज के हुक खोलने लगा. उसकी तरफ से इस तरह की बातें होना शुरू हुईं तो मुझे समझ आ गया कि उसे चुदने की लालसा है. ऐसा नहीं है कि मैं आकर्षक नहीं हूँ, लेकिन जब क़िस्मत ही चूतिया हो, तो बंदा क्या ही कर सकता है.

फिर उसने मुझको पीछे को धक्का दिया मेरी टांग उठा कर मेरी गांड चाटने लगा.

सेक्सी बीएफ भोजपुरिया: मेरी नजर उठ ही नहीं रही थी उनके सामने!तभी जेठ जी ने पूछा- तुमने खाना खाया?मैं बोली- आप खा लीजिए, मैं बाद में खा लूंगी. सब लोग सीधे अपने कमरों में चले गए और वह लड़की मुझे देख कर वॉशरूम जाने के बहाने बाहर आ गई.

पर एक दो बार बात करने के बाद उन पर मेरा प्रभाव बहुत अच्छा असर डालता है. उसकी गांड भी उसकी चूत की तरह बिल्कुल चिकनी थी।मैं उसके कूल्हे सहलाने लगा. फिर धीरे से मेरी ब्रा खोल दी और मुझे लेटा कर मेरी चूची पीना शुरू कर दी.

वो थोड़ा संकोच करने लगी तो मैंने बोला- तुम मुझे अगर दिखाओगी नहीं, तो मैं कैसे कुछ कर पाऊंगा.

एक पल सोचने के बाद मैंने फिर से कहा- मॉम, क्यों ना उसके जानने से पहले तुम उसे भी मुझसे चुदने के लिए तैयार करो. दोस्तो, अभी मेरी कहानियां शुरू हुई हैं … आगे और भी रंगीन रातों वाली सेक्स कहानियां लेकर आऊंगा. सोनाली भी हाथ में दोनों के लिए चाय लेकर आयी और मेरे पास ही बैठ गयी.