एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए

छवि स्रोत,सेक्स कितने प्रकार से किया जाता है

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत का वीडियो: एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए, यह चाची सेक्स स्टोरी जो मैं आज आप लोगों को बता रहा हूं ये आज से करीबन 6 महीने पहले की घटना है.

मेकअप गेम मेकअप गेम

उसने बिना समय गंवाए पहले उसपर किस किया फिर ऊपर का हिस्सा मुख में लिया और एक प्रोफेशनल की तरह अंदर बाहर करने लगी. xxx:+संघ+के+राज्यउसके गुलाबी होंठ सुराज के लंड के गुलाबी सुपाड़े को चूस और चाट रहे थे.

मैं लवली की मां को साथ में ले गया और मां को मैंने होटल में ही आराम करने के लिए कह दिया. इंदौर शहर देखना हैमुझे बहुत दुख हुआ, मैं बहुत रोई अपनी फ्रेंड के गले लगकर!लेकिन साथ ही एक फीलिंग थी मुझमें कि मैं इसे पटा कर रहूंगी … कैसे भी!मैंने आपको पहले ही बताया कि मेरा फ़िगर बहुत कमाल का है.

विपिन भैया कहने लगे कि अगर मैंने उनका कहा मान लिया तो वो मुझे घर के लिए वह पुस्तक पढ़ने और देखने के लिए दे देंगे.एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए: उसके चूचों को अपनी पीठ पर रगड़वाने का आनंद लेते हुए मेरे लंड ने मेरा कच्छा गीला कर दिया था.

मैंने जोश में आकर उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल कर उसे नीचे सरका दिया और उसकी टांग पकड़ कर दूसरी तरफ घुमा दिया … ताकि खिड़की की रोशनी अच्छी से उसकी चूत और चेहरे पर पड़ सके.रीना भी उसके लंड को पूरा मुंह में लेते हुए चूसने की कोशिश करने लगी.

बच्चे को दूध पिलाने के तरीके - एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए

ये सब इतनी जल्दी से कैसे कर लिया मां?वो बोली- राजा चौंको मत, मैं ये सब नीचे से ही पहन कर आई हुई थी.इसके बाद मैंने अपने कपड़े उतारे और अपने लण्ड पर कोल्ड क्रीम लगाकर मनीषा की टांगों के बीच आ गया.

आलिया- पक्का?रोहित- हां बच्चा!अब आलिया ने अपना हाथ बढ़ा कर रोहित के पायजामे को तंबू बना रहे उसके लंड को अपने हाथ में पायजामे के ऊपर से ही थाम लिया. एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए मैंने उसे सोने दिया और उसके नंगे बदन पर कम्बल ढक दिया।कुछ देर बाद मुझे भी नींद आ गयी.

मैंने आकाश की बात का कोई जवाब नहीं दिया क्योंकि सोनिया आकाश को घूर रही थी और मैं इस वक्त बात को आगे नहीं बढ़ाना चाह रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए?

मैं अन्तर्वासना पर अपनी काल्पनिक ख्यालों वाली कहानी लिख रही हूं यह बात मेरे हस्बैंड को नहीं पता है।मैं अपने पति से छिपाकर अपनी लाइफ में एक दोस्त चाहती हूं जो हमेशा मेरा साथ दे सेक्स में! और मेरी गर्म जवानी को खूब चूसे. अब मेरे लिए मां बेटी दोनों उपलब्ध हैं, जैसे मौका मिल जाये वैसे चोद लेता हूँ. उसने मेरी तरफ देख कर आंखों में आंखें डालीं, तो मैंने फिर से आंख दबा दी.

फिर दीदी भी अपने रूम में आयी और उसने अपने रूम का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया. फिर मैंने मां की चूत में अपना लंड डाल दिया और उसको आधे घंटे तक चोदा. फिर धीरे धीरे मैंने सविता भाभी की चूत में अपना लंड पेलना शुरू किया.

फ़ाइनल एक्जाम से पहले मेरी शादी भी हो गई।अपने कॉलेज से फ़ाइनल इयर के एक्जाम में मैं पूरी तरह पंजाबी दुल्हन की तरह, हाथों में मेहंदी, कलाइयों में चूड़ा, नए नए कपड़े, और पूरा दुल्हन का मेकअप करके पेपर देने जाती थी।चलो पेपर हुये, मैंने पास भी कर लिए। मगर शादी हो चुकी थी, तो कॉलेज करने के बाद भी मैंने गृहणी बनना ही पसंद किया।ससुराल वालों का बिज़नस अच्छा था. कुछ दिन के बाद एक दिन उसने मुझे मेल किया और बोली- संडे को मैं फ्री हूँ … मुझको संडे को तुमसे मिलना है. शाम को लौटने के बाद मैंने खाना खाया और फिर तैयारी के बारे में पूछा तो पूजा बोली कि सब रेडी है.

फिर उसने मुझे बेड पर पेट के बल लिटा कर पीछे से मेरी कोली भर ली और अपना लंड मेरी चूत में घुसाकर चोदने लगा. मैं बाहर आकर कॉलेज के गेट के पास एक तरफ छिप कर खड़ा हो गया और बाहर निकलने वाले स्टूडेंट्स को देखने लगा.

भाभी ने मेरे लंड को हिलाते हुए कहा- सुहागरात में सबसे पहले हमें जोरदार चुदाई करनी चाहिए … बाकी बातें बाद में करनी चाहिए.

उसी समय सुमन घी लेकर कमरे में अन्दर आ गई और टेबल पर रख कर वापस जाने लगी.

मैंने कहा- लेकिन बेटा, मैं ये तुम्हारे अच्छे भविष्य के लिए कह रही हूं. इसलिए मैंने सलवार के ऊपर से भाभी की चूत पर किस करनी शुरु कर दी।वो सिहर उठी. वो मेरे होंठों को इतनी जोर से कस कर चूसने लगी जैसे कोई भूखी शेरनी हो.

मेरी मेल आईडी है[emailprotected]अगली बार जल्दी ही अगली सेक्स कहानी में मिलते हैं. इसलिए अब उसके मोटे और लम्बे लंड को बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था. वो मुझसे शरमाती थी लेकिन रिंकू और शिवम के लंड को पूरी मस्ती में सहला रही थी.

मैंने सोचा कि अब इसकी हिम्मत ज्यादा ही बढ़ रही है, अगर इसे नहीं रोका … तो यह पब्लिक प्लेस में कुछ ऐसा वैसा ना कर बैठे.

चूंकि ये लोग बहुत पैसे वाले थे तो इनके घर में हर तरह की सुख सुविधा मौजूद थी. सपना बोली- ठीक है, आज मदर डेयरी का पी लो और फिर कल सिस्टर डेयरी का पी लेना. उसके जाने के अगले ही पल जेनिफर ने मेरे लंड को सहलाया और हम दोनों एक दूसरे की ओर देखने लगे.

आपको मेरी मुँहबोली बहन सौम्या की चुत चुदाई की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. तभी पद्माकर दरवाजा बंद करके अन्दर आ गया और फिर से मेरे मुँह में लंड देने लगा. गुरी जो कि शराब के नशे में बिल्कुल लुप्त था, उसने आव देखा ना ताव उसने भूमिका को रंग लगाना शुरू किया.

उसने काफी समय बाद लंड लिया था, तो उसे दर्द हो रहा था … पर मुझे पता था ये थोड़ी देर की ही बात है.

मैंने उसके बालों को पकड़ रखा था और धीरे धीरे उसके मुँह को चोद रहा था. पापा ने मुझे नोयडा छोड़ने आना था तो उन्होंने अपने मालिक से कहा- मुझे छुट्टी चाहिए.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए मैडम ने मेरा लंड पकड़ लिया, जो उनके हाथ के स्पर्श से कुछ ज्यादा ही तनाव में आने लगा. बीच बीच में लंड को मुंह से निकाल कर वो मेरे टट्टों को भी चूसने लगी थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए मैंने शरमा कर पूछा- कैसे?तो उन्होंने कहा- सुहागरात में तुम्हें अपने आप पता चल जाएगा. आंटी बोलीं- तुमको मैं कैसी लगती हूँ?मैंने बोल दिया- आप बहुत खूबसूरत हैं.

मेरी कंपनी का क्लाइंट मेरी बीवी की मोटी और भारी भरकम गांड को ताड़ रहा था.

बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर

फिर मैंने बोला- आज ही मिलना है क्या?रानी बोली- आज घर पर कोई नहीं है और मैं अकेली बोर हो रही हूं तो सोचा आपको बुला लेती हूं. आधे घंटे के बाद हम दोनों एक बार फिर से दूसरे राउंड के लिए तैयार होने लगे. उसकी सिर्फ आंखें और बाल ही काले हैं, बाकी हर चीज गोरी है एकदम गुलाबी.

मगर रोहित ने फिर से उसकी जांघों को चौड़ी करके उसकी चूत को फिर से किस कर दिया. उन्होंने अपने 8 इंची हथियार से फिजा की चूत का रेशा रेशा हिला कर बिल्कुल ढीला कर दिया. जब वो छुट्टी से आई तो मैंने उसके फ्लोर पर जाकर उसे चोदना चाहा लेकिन वो जल्दी झड़ कर सो गई।उसके बूब्स मेरे सिर के नीचे गले के पास से दब रहे थे उसके इस स्पर्श से मेरे हाथ से पैंट छूट गयी.

इस बार चोपड़ा का लंड एकदम से गांड में घुस गया और चोपड़ा नसरीन की गांड मारने लगा.

पूजा बोली- हां, ये एकदम मस्त है, अब मेरा बच्चा होने तक ऐसे ही रहना. पांच मिनट तक भाभी ने मेरे लंड को चूसा और जब मुझसे रुका न गया तो मैं भाभी को उठा कर अंदर रूम में ले गया. लेकिन अब उसे सेक्स के बारे में बहुत सारी चीजें मालूम थी, वो अपने कमरे में बैठकर गंदी किताबें पढ़ती थी और अपनी चूत के अंदर उंगली करती थी, उस पूरे इलाके में ऐसा कोई भी लड़का नहीं था जो भूमिका को पसंद था या उसके लायक था.

अब मुझे भी गुस्सा आ रहा था कि वो मेरी बीवी का फायदा उठाने की सोच रहा है. चूंकि होली का दिन था तो चाचा ने और अन्य रिश्तेदारों ने शाम को शराब पी रखी थी और बाकी लोग होली खेल कर थक कर सो रहे थे।इसका फायदा ये दोनों उठा रहे थे. मैंने घी इतना ज्यादा लगा दिया था कि उसका लंड चमकने लगा था और घी टपक रहा था.

मैंने अपना मोटा लंड उसकी चूत में फंसा कर एक धक्का दिया और 2 इंच तक लंड उसकी चूत में घुस गया. राधिका- तो उस गांडू का क्या होगा?मोनिका- उस साले का तो मैं नाम भी नहीं लूंगी … उसका तो छोटा सा लंड है.

मैं- अच्छा … तो कभी कहा क्यों नहीं? यदि कह देतीं तो मैं भी अपनी आशनाई जाहिर कर देता. अल्पना- हम्म … जैसे तू बहुत दूध की धुली है? तू भी तो अपने बॉयफ्रेंड का मजे से लेती है।मैं- अच्छा अच्छा सुन … तेरे बॉयफ्रेंड का लण्ड बहुत मस्त है. बस एक बार शादी करवा दूं उसके बाद कोई टेंशन नहीं होगी, मैं जानता हूं कि लवली और पिताजी सेक्स के भूखे हैं, वो लोग तो केवल चुदाई का मजा लेना चाहते हैं.

अपने ऑफिस की शर्मीली लड़की संग मैं मस्ती करता रहता था पर उसकी चूत चुदाई नहीं कर पाया था.

मैं- तो दरवाजा खोल कर बाहर जाने में डर नहीं लगता है? छत पर तुझे डर लगता है. परंतु अभी मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है … मुझे पहले चूत में लंड चाहिए. वह मेरी बात को समझने की कोशिश भी नहीं करना चाह रही थी कि इस रास्ते पर कितनी मुश्किलें हो सकती हैं.

करीब 15 मिनट बाद वो बाहर आया तो उसका बदन थोड़ा गीला था और उसके बदन के बाल चिपके हुए थे. उस वक्त मेरी बीवी लवली अपनी चूत को पापा से चुसवा रही थी और बोल रही थी- अब तो आप मुझे चोद ही चुके हैं.

लेकिन वह फिर से अलग हो गया।मैंने कहा- इसका मतलब कि तुमने पहले ऐसा कभी नहीं किया। अब सुनो मेरे दोनों पैरों को मेरे सिर की ओर करो. उसकी चूत भी अब शांत हो गयी और भाभी अब धीरे धीरे सिसकारियां ले रही थी. लम्बे किस के बाद उसने मेरे कपड़े उतारे और बोली- दीदी पहले मैं इससे अपनी चूत चुसवा लूं … चाहो तो आप मेरे मुँह पर बैठ कर अपनी चूत भी गीली करवा लो.

सुहागरात की चुदाई वीडियो बीएफ

मेरा थोड़ा सा लंड चुत में घुस गया और उसी वक्त जेनिफर के मुँह से आवाज निकल गई.

बस उसके इतना बोलने की देर थी कि मैंने उसको पकड़ा और अपने पास खींच कर उसके होंठों से अपने होंठ सटा दिए. अंजलि- मेरे खोलते-खोलते तुम बिखर जाओगे … बिस्तर पर टें न बुलवा दी, तो कहना. तब यश ने कहा- मुझे लगता है कि दीदी को मेरे साथ सोना आरामदायक नहीं था।माँ ने मेरी तरफ देखा.

सुराज इतनी जोरों से मनुषा की गांड मार रहा था जिसका असर मनुषा को सुबह होने वाला था. इसी बात पर मैंने उसके गालों को चूम लिया और उसके बूब्स को एक बार फिर से दबाना स्टार्ट कर दिया. जानवरों का संभोगअब मैं दुविधा में फंस गयी थी कि उसको पति तो बना लिया, अब उसके लिये बच्चा कैसे पैदा करूं.

मेरे लाख समझाने के बाद भी उस पर कोई असर नहीं पड़ता हुआ दिखाई दे रहा था मुझे. दूसरे ने अपना लंड मेरी बहन के मुँह में दे दिया और हिना लंड चूसने लगी.

जब मेरा लंड पूरा टाइट हो गया तो अब मैंने देर न करते हुए उसकी टांगों को चौड़ी करके उसकी चूत पर लंड को रखा और उसकी चूत पर अपने लंड के सुपारे को घिसने लगा. वो बोली- 18 साल से ठंडी पड़ी हुई है जवानी, आज जब लंड मिला है तो झड़ ही जाएगी. इसलिए मामी कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रही थी अपनी प्यास को शांत करने में.

इसके बाद एक हाथ अल्पना की चड्डी में डालकर वो मेरी सहेली की चूत को सहलाने लगा. मेरी मामी की उम्र 28 साल है और वो देखने में बहुत ही ज्यादा आकर्षक लगती है। मुझे साइज़ की तो ज्यादा जानकारी नहीं है पर उनके चूचे बहुत मोटे हैं और गांड भी बहुत पीछे निकली हुई है. उनका गोरा बदन, तीखे नैन-नक्श, सुडौल स्तन और चूतड़ थोड़े उठे हुए थे और वे इतनी कशिश पैदा कर देते थे कि देखने वाले के लंड में झुरझुरी आए बिना ही रह पाए.

मैंने शिवकुमार से कह दिया कि हम लोग आर्य समाज मंदिर में शादी करते हैं और तुम डेट निकलवा लो.

”इतना कहकर मैं उठा और मनीषा को पूरी तरह से नंगी करके बेड पर लिटा दिया. वो शिथिल स्वर में बोलीं- करण तुमने तो आज मुझे जन्नत का मजा दे दिया है.

मैंने भाभी से लेटने के लिए कहा, तो भाभी मुझसे बोलीं- मेरे घर के बाहर का दरवाजा लॉक कर जाना … मैं उठ नहीं सकूंगी. अपना माल बहन की गांड में निकालने के बाद शिवम शांत हो गया और दीदी भी ठंडी हो चली थी. मेरे अंदर की औरत की जो भावनाएं नीचे कहीं दब गयी थीं आकाश ने उनको फिर से जगा दिया था.

मैंने उसको किस किया और नीचे लंड पर इशारा करते हुए उसको लंड मुँह में लेने को कहा. हालांकि मैंने उससे पूछा था कि तुम अपनी चुत में उंगली कर रही हो? जिस पर उसने कहा कि ये मत पूछो … बस आग लगी है. मैंने उसकी चूत को चूसना छोड़ कर अपना लंड उसकी चूत पर लगा दिया और उसको चोदना स्टार्ट कर दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए मेरी बहन ने भी उसे अपनी खुली बांहों में भर लिया और उसका लंड पकड़ कर छेद की तरफ दिशा देने लगी. मैं सोच रही थी कि ये कुछ हरकत करेगा, लेकिन शायद वो अभी भी डर रहा था.

हिंदी में बीएफ देसी बीएफ

वीडियो कॉल शुरू हुई तो मुझे उसके गोरे गोरे चूचे और चूतड़ देख कर मेरा लंड पूरा टाईट हो गया था. इस वक्त मेरा लंड दीदी की चुत में पूरा अन्दर तक जा रहा था, जिससे उनकी बच्चेदानी पर हमला हो रहा था. मैं भी उसके अंदर झड़ गया।मैं सिम्मी के ऊपर 5 मिनट तक लेटा रहा और उसको प्यार करने लगा, उसे थेंक्स बोलने लगा.

इतना मैं समझती थी कि क्या होता होगा उं दोनों के बीच!मैंने एक दिन अपने घर पर सोना और अल्पना को बुलाया और ब्लू फिल्म देखी. मेरी बात पर दीदी ने हार मान ली और बोलीं- अच्छा तुम अन्दर आ जाओ और दरवाजा बंद कर देना. काजल देवगन सेक्सफिर मैंने सपना से कहा कि अब तुम मां की चूत को अपने होंठों का सुख दो.

अब इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपके सामने सलोनी की चुत चुदाई का पूरा मजा लिखूंगा.

ठीक है?वो मान गई।मैंने नहा धोकर तैयार होकर 11 बजने से 5 मिनट पहले गाड़ी निकाली और सलोनी को लेने चल पड़ा।मैं सोच रहा था कि जिस औरत को मैंने आज तक भाव नहीं दिया, ढंग से उसकी तरफ कभी देखा भी नहीं, आज मुझे उसकी चूत मारने के लिए चाव चढ़ा हुआ है।खैर मैं उसे चुपके से उठा लाया और घर आ कर गाड़ी खड़ी करी. कुछ देर उसकी चूचियों को दबाने के बाद वो सपना की चूचियों को पीने लगा.

दरअसल पहले तो मैं सोचता था कि मेरी बहन की चूची मेरी मां की चूची पर ही गयी हैं. वह चुदवाने में बहुत मास्टर थी और बिल्कुल अंग्रेजी ब्लू फिल्मों की तरह चिल्ला चिल्ला कर मेरा उत्साह बढ़ा रही थी. रोहित जानबूझकर- वो क्या, मुझे समझ नहीं आ रहा है?वो बोली- वही, आपका … वो!रोहित- मेरा क्या?आलिया सेक्सी आवाज में- आपका लंड!रोहित- तो खुद ही हाथ में पकड़ कर देख लो कितना बड़ा है.

इधर की सेक्स कहानी को पढ़ते हुए एक दिन मैंने सोचा कि क्यों ना मैं अपनी भी कहानी आप सबके साथ साझा करूं.

दीदी ने आगे होकर मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और सहलाना शुरू कर दिया. मैंने कहा- तो वो लोवर के अन्दर क्या था … वो तो बताओ?दीदी बोलीं- अरे कपड़ा था वो. एक दो पल उसने हैरत से मेरे लंड को देखा और फिर भाभी ने अपने हाथों से अपने चेहरे को ढक लिया.

जोश का टेबलेटकंपनी के मुख्य अकाउंट ऑफिसर को इंटरव्यू लेना था और उसके बाद की सारी प्रक्रियाओं के लिए सारे प्रतिभागियों को मेरे पास आना था।अमूमन यह मेरे लिए हर दूसरे तीसरे दिन होने वाली सामान्य प्रक्रिया थी. इस भाई बहन की चूत चुदाई कहानी पर अपनी राय देने के लिए मुझे नीचे दी गयी मेल आईडी पर अपना मैसेज भेजें.

सेक्सी बीएफ हिंदी भोजपुरी देहाती

अगले दिन मेरी पत्नी स्कूल चली गई तो मैंने दिव्या को फोन किया कि अगर अभी डिटेल्स दे जाओ तो मैं आज तुम्हारा सीवी बना लाऊंगा. और इस तरह हम रोज रात फोन सेक्स करते और मौका मिलने पर चुदाई कर लेते. काफी देर तक उसने रंडी की तरह सुराज का लंड चूसा और फिर सुराज उसको उठा कर बेड की ओर ले गया.

बस आंखें बंद करके लेटा हुआ था। अभी तक मेरा पूरा नशा नहीं उतरा था और थकावट भी हो रही थी इसलिए मेरी आंखें नहीं खुल रही थीं. मैंने भाभी के पीछे जाकर लंड को सैट करके एक ही झटके में पूरा अन्दर पेल दिया और चोदने लगा. पता चला कि उसके पति उसको मजा नहीं दे पाते, वो चूत में उंगली से मजा लेती है.

अब मैं जान गयी थी कि वो हम दोनों में से किसी को छोड़ने वाला नहीं था. हसित- इसकी मुलायम चुत के लिए तो मैं कुछ भी कर दूँ … यार … साली फिल्म की एक्ट्रेस की चुत भी इसकी चुत के सामने फेल है. वो मादक सिसकारियां ले रही थी और मजे से बोले जा रही थी- अह्ह आह्ह आह्ह जोर से … मेरी जान.

दीदी बोलीं- शिव घर में तो मम्मी आ गई हैं … अब हम घर में नहीं कर सकते हैं. उसकी गांड चूसते चूसते मैंने फिर से भाभी को पलट दिया और उसकी चिकनी चुत मेरे सामने थी.

मोनिका बोली- और हम दोनों क्या बनेंगे?राधिका बोली- हम भी मां ही बनेंगे … क्योंकि पापा तो बस शिव ही बन सकता है.

तब भी उस शाम मैंने एक पॅकेट कंडोम का ले लिया और मन ही मन भाभी की चुदाई के ख्यालों में खो गया. सेक्सी डब्लू डब्लूउसने भी मुझे अपनी बांहों में समेट लिया और हम दोनों एक बार फिर से एक दूसरे को किस करने लगे. सेक्सी वीडियो download comलवली पूरी की पूरी नंगी हो चुकी थी और पापा लवली को अपनी बांहों में भर कर चूसने लगे. रिंकू बोला- चूसो न जान इस लंड को, तुम्हारे मुंह के लिए उतावला हो रहा है.

जब मैंने उसके होंठों पर किस करना शुरू किया, तो वो जाग गई और खड़ी हो गई.

जवान लड़की की चूत की खुशबू लेने से वो खुद को रोक न पाया और उसने आलिया की पैंटी को नाक से लगा लिया और उसकी चूत की खुशबू को सूंघने लगा. उनको बिस्तर पर लिटाने के बाद मैंने उनकी तरफ देखा और उनसे पूछा- भाभी, आपको ज्यादा चोट तो नहीं आई है?उन्होंने कहा कि मेरे पैर में और कमर में काफ़ी दर्द हो रहा है. उसने भी मुझे अपनी बांहों में समेट लिया और हम दोनों एक बार फिर से एक दूसरे को किस करने लगे.

उसके बाद बीस मिनट बाद तैयार होकर बाहर आया, तो जीजा जी और दीदी नाश्ता कर रहे थे. मैंने धक्के देते हुए उसकी गांड में सारा वीर्य निकाल दिया और उसके ऊपर ही गिर गया. पन्द्रह मिनट बाद मैंने उसको पूछा- कहां हो?वो बोली कि बस स्टैंड के पास हूं.

बीएफ व्हिडिओ सेक्सी फिल्म

मैंने अपना अपना लंड उनकी चूत में घुसा कर जोरदार चुदाई स्टार्ट कर दी. मेरी नजरों को पढ़ते हुए भाभी ने कहा- तुम दो दिन का खाना मेस से बंद करवा दो, अब से नीचे आकर खा लिया कर लेना. भाभी ने मेरे करीब आकर मेरे गालों पर एक चुम्मी ली और मेरी छाती पर हाथ फेर कर कहा- चिंता न करो … बस अब मुझसे खुल कर बात करना.

मैंने चोदाई की रफ्तार को बढ़ा दिया और रिया जी की ताबड़तोड़ चोदाई शुरू कर दी.

मुझे दोबारा जेनिफर को चोदने का मन कर रहा था, लेकिन अब शायद ये मुश्किल था.

एक दो दिन ऐसे ही बीत गए, फिर एक दिन मैं सुबह अपनी गैलरी में खड़ा कॉफी पी रहा था. तो मैंने जोश में उठाकर उसे नीचे किया और खुद ऊपर हो गया और तेजी से चूत मारने लगा. चूत चाटने का वीडियोउनकी ‘आह्ह्ह्ह्ह्ह’ करके हल्की सी चीख निकल गई और आंटी ने मुझे कसके पकड़ लिया.

उनके मम्मों को चूसते ही मैंने उनको गोद में उठा लिया और उसी बेडरूम की ओर चल दिया, जहां उनका बेटा सो रहा था. इससे पहले की फिजा की चीख निकलती उससे पहले ही आसिफ ने उसके मुंह को अपनी हथेली से दबा लिया. अचानक से जैनब उठ गई और मेरा लंड मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

मैंने पूछा- अच्छा … कब?वो बोला- कब देखा वो छोड़ … ये बता कि इतने हार्ड डॉटेड कंडोम से किसकी चूत फाड़ने का इरादा है?मैंने बोला- गर्लफ्रेंड की. मैंने अपना नम्बर उस महिला को सेंड कर दिया। अलगे दिन दोपहर के बाद मेरे व्हाट्सप्प पर एक अज्ञात नम्बर से मैसेज आया।हैलो, मैं रानी। (बदला हुआ नाम)मैं- कौन रानी?रानी- कल आपने अपने मेल से नम्बर सेंड किया था न?मैं- अच्छा आप! बहुत प्यारा नाम है आपका रानी।रानी- अच्छा इतना पसंद आया मेरा नाम?मैं- हां.

जीजा जी ने हामी भरते हुए उनको अपनी बांहों में समेट लिया और वे दोनों सो गए.

उसकी गोरी गोरी जांघों के बीच में उसने जो नीले रंग की पैंटी पहनी हुई थी उसको देख कर तो मैं पागल सा हो गया. उसका क्या हल निकला, ये सब मैं अपनी क्सक्सक्स हिंदी कहानी को कुछ दिन बाद लिखूंगा. मगर यहां पर देखने वाली बात ये भी थी कि प्यार को अक्सर अंधा कहा जाता है.

बबीता जी की चुदाई मुझे अब समझ में आ गया था कि सपना की इतनी बड़ी बड़ी चूचियां ऐसे ही नहीं बनी हैं. मैंने खुद पर काबू किया और कहा- सॉरी मैम!उसने कहा- सॉरी मत कहो सेक्सी … मेरा जिस्म देख कर किसी का भी मन डोल जाए.

जीजा जी- राज ब्रेकफास्ट के बाद हम घूमने जाएंगे, इसलिए तुम तैयार हो जाना. पिछली बार पिता ने कॉम्प्रोमाइज किया था और अबकी बार कॉम्प्रोमाइज करने की बारी बेटे की थी. इस एकत्रित हुए वीर्य और थूक के मिश्रण ने आहत हुए मेरे लिंग पर किसी मरहम का काम किया और जलन में राहत अनुभव हुई.

एक्स एक्स एक्स बीएफ इंडिया

अपनी पोजीशन लेकर सुराज ने पीछे से उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. दीदी ने आगे होकर मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और सहलाना शुरू कर दिया. वो मुँह बनाते हुए बड़बड़ाने लगी कि न जाने किसके साथ मुझे जुड़ना पड़ रहा है.

मैंने उससे कहा- अब मुझ पर कोशिश करो।उसने मेरे माथे पर, फिर गाल, और फिर होंठ चूमने शुरू कर दिया।उसके बाद उसने मेरे शरीर को रगड़ना शुरु किया और फिर वह मेरे स्तन पर हाथ ले आया।मैंने उसे कहा- मेरे बूब्स दबाओ।मैं उत्तेजित हो रही थी. वो ये सब देख कर बहुत खुश हुई और बोली- ये सब क्यों किया?मैंने उसे साड़ी दी और बोला- ये लो … आज तुम्हारा बर्थडे गिफ्ट है.

पूरा निचोड़ने के बाद मेरे लंड को मुंह से निकाला और चाट चाट कर उसको पूरा साफ कर दिया.

अब गुरी खुद ही घोड़ी बन गया और भूमिका को उसकी गांड चाटने के लिए बोला. यह चाची सेक्स स्टोरी जो मैं आज आप लोगों को बता रहा हूं ये आज से करीबन 6 महीने पहले की घटना है. फिर बिना उनसे पूछे मैंने भाभी की साड़ी घुटने तक ऊपर कर दी और आयोडेक्स लगाने लगा.

फिर जब मुझे पता चला कि भाभी छत पर आ चुकी है तो मैं जल्दी से अपने कपड़े उतार कर फिर से बालकनी में पहुंच गया और मैंने वहीं पर सामने शीशा भी रख लिया. हमारा संबंध 4 साल तक रहा। इस दौरान वह जयपुर से वापस उसके घर चली गई लेकिन कभी कबार वहां बहाना बनाकर मुझसे मिलने आती थी। और फोन पर सेक्स चैट भी किया करते थे. स्मृति की नंगी छाती और बड़े संतरे के आकार की चूचियां चूसते हुए मैं उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा.

फिर धीरे धीरे मेरी चूत की चुदाई होती रही मेरी सहेली के यार के लंड से.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चाहिए: बीच-बीच में वह मेरे मम्मों को काट भी लेता था, जिससे मैं चिल्ला उठती थी. एक बार की बात है … सर्दियां चालू हो रही थीं और घर का गीजर काम नहीं कर रहा था.

मैंने उनसे नमस्ते की, तो उन्होंने कहा- तुम कल आ जाना … आज मेरी तबियत ठीक नहीं है. वे दोनों इतने दिन बाद मिले तो दोनों में कैसा रोमान्स हुआ! कल्पना सेक्स स्टोरी का मजा लें।लेखक की पिछली कहानी:दिशा पटानी के साथ हसीन रातनमस्कार दोस्तो, मेरा नाम केविन है और मेरी उम्र 20 साल है. मैं बोला- भाभी अब सब कुछ आपने देख ही लिया है तो अब क्या बचा है, इतना भी क्या शरमा रही हैं आप?इतना बोल कर मैंने अपना पजामा अपनी टांगों से बिल्कुल ही उतार कर अलग कर दिया और अब मैं भाभी के सामने पूरा का पूरा ही नंगा होकर खड़ा हो गया.

वो मस्ती में गांड उठा उठा कर मेरे लंड से चुदने का मजा लेने में लग गयी.

तो मैं भी बैठ गया।मेरी गर्लफ्रेंड की अम्मी ने उस दिन गाउन पहना हुआ था बिना ब्रा के, उसके स्तन बेहद मोठे और फिगर भी जानदार था।मुझसे मेरा मोबाइल घबराहट में नीचे गिरा, एकदम रिज़वाना नीचे झुकी और फोन उठाते हुए अपने चूचों के दर्शन कराए. वो समझते थे कि उनकी औलादें सो जाते हैं, पर हम उनकी सभी हरकतों पर ध्यान देते थे. भाभी ने मुझे देखते हुए कहा- ऐसे ही देखते रहोगे … या कुछ करोगे भी?मैं भाभी के पास आ गया और उनके हाथ को पकड़ कर चूमने लगा.