मां बेटी की नंगी बीएफ

छवि स्रोत,पूरी नंगी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

गुजराती सेक्सी खुला: मां बेटी की नंगी बीएफ, मेरी पहली कहानी थी:फाग में पड़ोसी लड़के से चुद गयी मैंमेरी शादी को 3 साल हो गए हैं और जो बात मैं आप लोगों को बताने जा रही हूँ, वो मेरी शादी के कुछ महीनों बाद मेरे साथ घटित हुई थी.

चुदाई वाली सेक्सी ब्लू पिक्चर

उसने मेरी एक चूची को मसलते हुए कहा- इतनी भी क्या जल्दी है भाभी जी! आज तो हमारे पास पूरी रात है. ब्लूटूथ पे सेक्सीमम्मी- आह रहने दो चाची … मेरी चूची मत दबाओ … काहे आग लगा रही हो … तुम तो अपने लड़के से चुदवा लोगी … मेरा क्या होगा?तब चाची ने कहा- इससे ज्यादा आग तो चुदाई देखने में लगती है … तुम चाहो तो आज रात को मैं तुमको अपनीचुदाई का सीनदिखाऊंगी … तुम देखना कैसे मस्ती से चोदता है मेरा लड़का.

मुझे उन सबकी बातों को सुनकर न जाने क्यों बड़ा अच्छा लग रहा था मगर मैं कम बोलती हूँ, तो चुप रही और उनकी बातों का मजा लेती रही. पुची मुलीचीजेठ जी मस्ती में आकर मेरी हवा में उठी हुई टांगों के तलुवे चाटने लगे.

वो बेहाल हो गई, तो मैंने लंड निकाल कर चूत में घुसा दिया और उसकी चूचियों को दबाने मसलने लगा.मां बेटी की नंगी बीएफ: उन्होंने मुझसे पूछा कि आप मुझे एक हफ्ते से रोज देखते हो ऐसा क्यों है?उनकी इस बात पर मैं थोड़ा डर गया और सर झुका लिया.

तब उसने मेरे बाल खींचे और बोला- कुतिया तेरी गांड में गद्दे लगे हैं … आह मज़ा आ रहा है.”तुम्हारी थकावट और कमजोरी दूर हो जाये तो खेलने को तैयार हो?”हाँ, सर.

भोजपुरी सेक्सी एक्स - मां बेटी की नंगी बीएफ

भाभी भी दोनों के बीच में पड़ी हुई बहुत तेज तेज कामुक सिसकारियां ले रही थीं.शीना वापिस आयी और घड़ी में टाइम देखा तो हमें ये खेल खेलते हुए दो घण्टे हो गए थे.

करीब 11:00 बजे ट्रेन अपनी फुल स्पीड पर दौड़ रही थी तो भाभी की आंख लग गई. मां बेटी की नंगी बीएफ मैंने खुद को दुबारा तैयार किया तो राजकुमारी पूजा ने मुझे एक गिलास दिया.

फिर कैंटीन में पहुंचकर हमने देखा कि कैंटीन में बहुत भीड़ थी और वहां पर कोई टेबल खाली नहीं थी.

मां बेटी की नंगी बीएफ?

जल्दी ही वो खर्राटें मारने लगे।मुझे मौसी पर और किस्मत पर गुस्सा आ रहा था। मैंने ज़ोर ज़ोर से चूत को उंगली से रगड़ रगड़कर खुद को ठंडी किया. अरे अदिति बेटा, मेरे ऊपर से अपने पांव तो हटा तभी तो मैं तुझे चोद पाऊंगा न!” मैंने कहा. मैंने अमित से पूछा- डॉक्टर ने तुम्हारे कान में क्या बोला था?अमित बोला- कुछ नहीं यार … वो बोला था कि कल तुम नीचे से खुली वाली ड्रेस पहन कर आना.

मैंने शन्नो की चूत में लंड की मार तेज़ कर दी और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा. मैं पूनम के चेहरे पर थोड़ी परेशानी के भाव स्पष्ट देख सकता था, तो मैंने उनसे बात करनी शुरू कर दी- अब परेशान क्यों हो?पूनम- कई सालों के बाद लंड ले रही हूँ राहुल … कुछ मत बोलो. [emailprotected]स्टूडेंट एंड टीचर सेक्स कहानी का अगला भाग:जिस्म की भूख- 3.

उसके बाद दीदी ने रमेश से मादक आवाज में कहा- रमेश … अब तुम अपने एक हाथ को मेरे नीचे को लाओ … ताकि मैं अपने मुनिया को छुपा सकूं. मीना की चुदाई से पहले पूजा मुझसे चुदना चाहती थी क्योंकि मंझली वो ही थी. रात को भी मुकेश को दारू पिलाकर हम सुला देते और खूबचुदाई का मजाकरते।गुलाब को गए हुए तीन महीने हो गये हैं.

मैंने हल्के धक्के के साथ अपने लन्ड के टोपे को उसकी बुर में एंट्री करवा दी. उस दिन जब मैंने तुम्हें गे पोर्न देखते हुए पाया तो फिर मैं बहुत खुश हो गया.

मैंने ऐसे ही लंड फंसाए रखा और दीदी के होंठों को, मम्मों को चूमने लगा, सहलाने दबाने लगा.

मैंने कहा- तो मैं इसमें क्या कर सकती हूँ?वो बोले- अगर तुम मेरी लवर होतीं, तो आज मैं तुम्हें जन्नत दिखा देता.

अब आगे हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी:मैंने शीना से पूछा– कैसा लगा शीना, मजा आया?शीना- बहुत मजा आया अंकल, अगर मुझे पहले पता होता कि सेक्स में इतना मजा आता तो मैं भी कब की अपनी बुर चुदवा लेती।मैं- अभी तुम्हारी बुर चुदी ही कहाँ है मेरी जान, अभी तो तुम्हारी बुर को मैंने छुआ क्या देखा भी नहीं. तब मैंने उसे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और अपना लंड उसकी चूत में हल्के से डालने लगा. चलो देख ही आते हैं, यहां आकर भी ताजमहल नहीं देखा तो एक पछतावा सा होता रहेगा.

फिर मैंने उसके कंधों पर मालिश करते हुए उसके बालों की चोटी बना कर अपनी पकड़ बनाई और उसे हल्के से खींचा. उनकी बेटी का अगले दिन चैकअप होना था, तो उन्होंने मुझसे हेल्प मांगी थी. उसके मन में भी हरीश के लिए प्यार उमड़ रहा था मगर वो कुछ हिचकिचा रही थी.

अरे अदिति बेटा, मेरे ऊपर से अपने पांव तो हटा तभी तो मैं तुझे चोद पाऊंगा न!” मैंने कहा.

आप जानते हैं कि याराना के बाद शत्रुता का दौर मेरी कहानियों की अगली शृंखला है। जिसकी पहली कड़ी मैं आपके लिए प्रस्तुत कर चुका हूं।जो पाठक नये हैं उनसे निवेदन है कि इस कहानी को पढ़ने से पहले आपशत्रुता का पहला दौरपढ़ लें।इससे आप कहानी को बेहतर ढंग से समझ पाएंगे।अब मैं शत्रुता का दूसरा दौर शुरू करने जा रहा हूं. कुछ देर बाद उसका दर्द कम हुआ तो मैंने लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. अब आगे मॉम सन हॉट सेक्स स्टोरी:अब मैं समझ गया था कि मां मुझे चुदाई करने का बुलावा दे रही हैं.

एक दिन मुझे मौक़ा मिल गया और मैंने उसकी बुक पर अपना फोन नंबर लिख दिया. अपने लण्ड का सुपारा बुर के लबों में फँसा कर मैं बहार के ऊपर लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा. करीब 5 मिनट जब उसका दर्द कुछ कम हुआ तो उसने अपनी गांड उठाकर मुझे इशारा किया.

पापा जी, देख लेना सब देख लेना, सारी रात है आपकी जो चाहो जैसे चाहो सो कर लेना पर अभी तो जल्दी से चोदो मुझे प्लीज …” बहूरानी मिसमिसाती हुई बोली और अपनी कमर फिर से बेहद कामुक अश्लील अंदाज़ में उचकाई.

मैंने कुछ ही देर में धीरे धीरे करके उनके शरीर का हर भाग चूस चूम लिया. मगर दो मिनट में ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और मैंने अपना लंड मामी के मुँह से बाहर खींच लिया.

मां बेटी की नंगी बीएफ पर अगर चुदाई के समय थोड़ी जबरदस्ती ना हो … तो कुछ कमी सी रह जाती है. फिर मैं झड़ गया।उसके बाद मैंने उसे बिस्तर पर लिटाकर दोनों टांगों को अलग कर अपना लंड उसकी चूत पर रखा और ऊपर से ही रगड़ने लगा।मैं उसकी चूची पीने लगा और लंड से चूत को सहलाता रहा.

मां बेटी की नंगी बीएफ उन्हीं दिनों गोविन्द का दोस्त राजेश और उसकी ब्याहता पत्नि बिंदु बैंगलोर घूमने के लिए आए. दूर राजस्थान बॉर्डर पड़ता था।इतनी दूरी में सिर्फ पत्थर और अधकटे जंगल थे।मैंने वहां पेट्रोल पंप बनाने का सोचा। वहीं अपना फार्म हाउस भी बनाना चाहता था मगर किसानों ने ज़मीन नहीं बेची।फिर शहर के बाहरी इलाके में मुझे ज़मीन मिल गयी। वहां से मृणालिनी का घर सिर्फ बारह कि.

मैंने लंड पर बहुत सारा तेल लगाया और उसकी बुर में उंगली से अन्दर तक तेल लगा दिया.

मा को चोदा

[emailprotected]हस्बैंड एंड वाइफ सेक्स कहानी का अगला भाग:दो से बेहतर चार- 3. सभी टीचर्स छात्रों को बसों में बिठाने में व्यस्त थे क्योंकि बस में जितनी सीट थीं, उतने ही छात्र बैठे जा सकते थे. उसने मुझे कुछ भी बोलने का मौका ही नहीं दिया और मुझ पर टूट पड़ी, किस करने लगी.

जब मुझसे रहा न गया तो मैंने फैसला कर लिया कि मैं गुलाब से फिर चुदूंगी. मैंने अमित से पूछा- क्या पहन कर चलूं?अमित बोला- कुछ भी पहन लो जान … तुम सारी ड्रेसेज में अच्छी लगती हो. वो थोड़ा सा लंड मुँह के अन्दर लेती और बाहर निकाल कर उसके सुपारे को जीभ से चाट लेती.

अईईई … कट गई आह केदार … मेरा आने वाला है … अहह पी ले भोसड़ी के पूरा रस चाट ले … आंह आंह.

जब मैं उसके मम्मों को उसकी टी-शर्ट के ऊपर से दबा रहा था, तो मैंने महसूस किया कि उसने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी. चलो देख ही आते हैं, यहां आकर भी ताजमहल नहीं देखा तो एक पछतावा सा होता रहेगा. सुन्दर ने पीछे से मेरी साड़ी के ऊपर से मेरे चूतड़ दबाए।मेरे मुंह से मीठी सिसकारियां फूटने लगीं.

मुश्किल से मैंने खुद को संभाला लेकिन इतनी चुदने के बाद अब मुझे अंदर से बहुत संतुष्टि हो रही थी।मैं वहां एक महीने रुकी और उन्होंने मुझे न जाने कितनी बार चोदा और मैं गर्भवती भी हो गई. हम लोग अभी अपनी सिगरेट पीने का कार्यक्रम शुरू ही करने वाले थे कि तभी हमें लगा कि शायद आगे कोने की तरफ कोई है. रास्ते में अभय बोला- कैसा लगा ममता? मजा आया?शर्माती हुई ममता ने खिड़की की तरफ मुँह फेर लिया … वो बोली कुछ नहीं.

भाई ने बहन को चोदा इस Xxx कहानी में! असल में मैंने खुद अपने भाई को अपने फायदे के लिए सेक्स करना सिखाया. मैंने उसके कंधों को दबाते हुए कहा- अरे यार, अगर यही करना था तो कम से कम दरवाज़ा तो बंद कर लिया होता.

हालांकि मैं जानता था कि पूनम बुआ बहुत देर तक मेरी इस बेदर्दी को नहीं सह सकेंगी, तो मैंने उनके सिर को छोड़ दिया. भाभी तीनों से चुदवाने के बाद मेरे पास आकर लेट गईं और फिर से सो गईं. अब शन्नो एक रंडी के जैसे चिल्ला चिल्ला कर चुदाई का मज़ा लेने लगी थी.

मुझे बस ये लग रहा था कि दीदी को शायद रमेश से मजा लेने का मूड बनने लगा है इसलिए वो उससे बात बनाते हुए ऐसा कह रही हैं.

करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैं और मीना एक साथ में ही चिल्लाते हुए झड़ गए. वो तेजी से सिसकार रही थी- आह्ह … आह्ह … ओह्ह नो … नो … ओह्ह … विशाल … वि. दीदी जब लेट गईं, तब उनकी दोनों चूचियां एकदम कड़क हो चुकी थीं और लेटने पर भी ऊपर की तरफ तनी हुई खड़ी थीं.

फिर मैंने जैसे ही धीरे से जीभ की नोक को चुत के अन्दर डाला, वैसे ही भाभी ने पूरे जोर से मेरे सिर को पकड़ कर चुत में दबा लिया और बहुत जोर से चिल्लाते हुए झड़ने लगीं. फिर जैसे ही अंकल मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगे तो कुछ ही पल में मेरा माल निकलने लगा.

शमा के साथ मैंने ये डेट बड़ी मस्त गुजारी थी और अगली बार चुत चुदाई का प्रोग्राम लगभग पक्का हो गया था. मेरी मां रज्जी मुझे मना करती रहीं लेकिन मैंने लंड का पूरा पानी उनकी चुत में छोड़ दिया. मैंने अन्दर पर्चा रखा और सीढ़ियों से ऊपर उधर को जाने लगी, जहां सारी दवाएं रखी रहती थीं.

एकस एकस वीडियो

मेरी मां रज्जी अपनी मैक्सी ऊपर करने लगीं और वो घुटनों से ऊपर तक मैक्सी करके बैठने लगीं.

चित्रा ने नौकरानी से कहा- तुझे जाना हो तो चली जा, शाम को जल्दी आ जाना. आपको मेरी मामी की चुदाई की ये देसी गांड चुदाई कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें. टॉप और जीन्स के बीच जो फासला था उसमें से बहू की गुलाबी चिकनी कमर की झलक, उनके चलने से जांघों के जोड़ पर बनते त्रिभुज से उनकी कचौरी जैसी फूली चूत का सहज ही आभास होता था.

मुझे भी ये अहसास हुआ कि मैंने गलत ही पिटाई कर दी थी इसलिए मैंने उनसे सॉरी कहा और पूछ लिया कि किसी को ज्यादा तो नहीं लगी थी. चूमते चाटते हुए मैंने दोनों चूतड़ों को फैला दिया जिससे उनकी चूतड़ों की बीच की खाई में भूरे रंग की मामी जी की गोल सिकुड़ी हुई गांड का छेद नज़र आ गया. बॉस की चुदाईफिर उसने उठकर अपनी दोनों टांगें चौड़ी की और आईने में दिखाते हुए मुझसे बोली- ये क्या किया … तुमने मेरी छोटी चुत का भोसड़ा बना दिया और गांड भी देख … साला गड्डा सा खोद दिया.

मिहिका कभी लंड को हाथ से सड़का मारती तो कभी सुपारे को चाटती और कभी गले तक लंड लेकर अपने हाथ से मेरे आंडों को सहलाने लगती. मिहिका कराहती हुई बोली- आंह भोसड़ी के … धीरे नहीं चोद सकै के … घना दर्द हुआ सै!मैं थोड़ा सा हंसा और बोला- बस जान, अब प्यार त चोदूंगा.

बंगालिन भाभी- ठीक है, पर इसे कैसे तैयार करूं! अच्छा होगा कि तू ही अपने देवर को मेरा दूध पीने को तैयार कर दे ना!भाभी- ओके भाभी … मैं कोशिश करूंगी. वरना तो साड़ी उठाई सूखी भोसड़ी, भोसड़े में लंड डाला, चोदा, पानी निकाला और मामला टांय टांय फिस्स. मौसी बोली- छुपा मत, मुझे गांव की हर खबर रहती है। अभी बता दे, मैं कुछ कर दूंगी। बड़े घर में नाक मत कटवा देना.

अब वो भी लंड की लय में अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ देने लगी थी. आपको अपने लंड की मुठ मारनी हो, तो एक बार जल्दी से झड़ जाइए … और मुझे अपने मेल व कमेंट्स लिख भेजिए. मैंने सिगरेट विवेक को दे दी और अपने दोनों हाथ उसके पीछे ले जाकर उसे पकड़ कर अपने गले से लगा लिया.

शम्भू- सुनो, वो मेरा दोस्त है और मैं अपनी प्रॉब्लम (अपने लंड को छूते हुए) से परेशान था। मेरी उम्र के मर्दों में यह आम समस्या है। समझी?मैं- बहाने मत बनाओ शम्भू! तुम मान लो कि तुम्हारा लंड अब बेदम हो चुका है।हम दोनों ने शम्भू को उसके कमजोर लंड के लिए ताने दे देकर उसे परेशान करना शुरू कर दिया.

तो हुर्रेम ने कहा- तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … इतना बड़ा लंड तो हमारे इन ब्वॉयफ्रेंड्स के भी नहीं है. भाभी जी ने उनके लिए भी पैग बना दिए और वो तीनों भी ड्रिंक एन्जॉय करने लगे.

वो मचलने लगी और कुछ ही सेकंड बाद उसकी टांगें एक दूसरे की विपरीत दिशा में खुलती हुई हवा में फैल गईं, चुत को अपनी गांड का सहारा देकर ऊपर को उठाने लगी. मौसी ने मेरे होंठों पर एक किस किया और अपनी नाईटी पहनकर बाहर चली गईं. मैंने नाश्ता किया, दूध पिया … पर मेरी नजर उसके चेहरे से हट ही नहीं रही थी.

उसके बाद दीवार के सहारे मां को खड़ा करके उनका एक पैर मैंने अपने हाथ में ले लिया और उनको चोदने लगा. वे तेजी से मेरी चुत चोदने लगे और मैं सिसयाने लगी- आहह इस्स आह अहमद आह आह ओह. चाची टांगें फैलाकर बोलीं- सोहेल जल्दी डालो … अब सहन नहीं हो रहा है.

मां बेटी की नंगी बीएफ नीचे से वह लड़का भाभी के मम्मों को बहुत बुरी तरह से चूस रहा था और पीछे के छेद में लंड पेले हुए दूसरा लौंडा उनकी कमर को अपने दांतों से काट रहा था. मीना की दर्द भरी तेज आहें और कराहें निकल कर महल का वातावरण गर्म कर रही थीं जिसे पूजा बड़े ध्यान से सुन रही थी.

सोनी साउंड

मेरी दीदी कुछ सोचने लगी तो रमेश ने खुद आगे बढ़ कर दीदी के पजामे का नाड़ा खोल दिया. वो मेरे घर पर आई, वो मेरे साथ चिपक कर बैठी थी क्योंकि मूवी डरावनी थी. देसी फैमिली की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी बेटी के यार से चूत मरवाने के बाद उससे गांड भी मरवा ली.

मैंने मैसेज करके बात की।अगले दिन मैंने उसे बोला कि मैं आ रहा हूँ तैयार रहना मिठाई के साथ।लोलिशा- ओके।मैं लोलिशा के वहाँ पहुँचा. जब खाना बन गया तो उसने मुझे पुकारा- साहिल जी, खाना लग गया है, आकर खा लीजिए. अनिता सेक्सी वीडियोमैं होंठ अपने चबा रही थी और सिसकार रही थी- उफ … चोद गुलाब … चोद … आह … फाड़ दे मेरी चूत … उफ … आह … ज़ोर से रगड़.

उन्होंने मुझे छोड़ दिया और बोले- शबनम कपड़े उतारो … फिर अच्छी तरह से होली खेलेगें.

आजकल भारत में हमारे जैसे लोग बहुत हैं … लेकिन बहुत कम लोग अपनी फीलिंग बता पाते हैं. माउथ सेक्स कहानी मेरी मौसी की जेठानी के साथ सुहागरात का रोलप्ले करते हुए किये ओरल सेक्स की है.

जैसे ही नियाशा ने मेरे लंड को ले के चूसना शुरू किया मेरी आह … निकलने लगी. अब दीदी ने भी मुझे और अपनी तरफ खींच लिया और अपने होंठों से मेरे होंठों को खींचने लगीं. बुआ ने अपने मुँह से लंड बाहर निकालते हुए मुझे घूर कर देखा और कहा- जब ये नहीं जा रहा तो इसको अन्दर ठूंसने की क्या जरूरत है? जितना चूस सकती थी, तुम्हारे बिना कहे चूसा है ना मैंने!मैं- कोशिश करने में तो कोई दिक्कत नहीं.

भाई बहन की सेक्सी स्टोरी के पहले भागबहन ने छोटे भाई की मुठ मार कर मजा दियामें अब तक आपने पढ़ा था कि अब अफ़रोज़ ने मुझसे रात की बात की और उसने बताया कि उसे मेरे हाथ से अपने लंड की मुठ मरवाने में बहुत मजा आया था.

ये कहानी मेरी और मेरी मामी सिमरन (नाम बदला हुआ) के बीच हुई चुदाई की कहानी है. आपके इस सवाल को सीधे तौर पर बता पाना मुश्किल है क्योंकि मेरी चूत में लंड बहुत लोगों का गया. शन्नो बोली- हां, मैं साहिल का लंड भी चूस लूंगी … मगर वो मेरे सामने लंड खोल कर आए तो.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी फुल एचडीनीता बोल रही थी- अवनीश अब मुझसे रहा नहीं जाएगा जान … अब जल्दी से अन्दर डाल दो. मैं एक हाथ से उसकी चुत सहला रहा था और एक हाथ उसकी टी-शर्ट के अन्दर बाहर कर रहा था.

चोदने वाली वीडियो हिंदी में

नीचे मामी जी की चूत अपनी गहराई में मेरे मोटे लंड को लिए पानी छोड़ रही थी, जिससे मेरा लंड भी सन चुका था. यदि किसी लड़की की झिल्ली फटी हुई होती है तो उसकी चुत से खून नहीं निकलता है. मगर दीदी की हाईट थोड़ी कम है, वो 4 फुट 7 इंच की ही हैं, मगर मेरी दीदी दिखने में बहुत सेक्सी हैं.

दीदी जब लेट गईं, तब उनकी दोनों चूचियां एकदम कड़क हो चुकी थीं और लेटने पर भी ऊपर की तरफ तनी हुई खड़ी थीं. थोड़ी देर में मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया कुछ रह गया था तो बाहर लटकते दो आंड!जब मेरा लंड उसकी चूत में पूरा चला गया तो मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठा ली और उसे जोर से चोदने लगा।उसके हाथों में पड़ी चूड़ियां खन खन और उसके पैरों में पड़ी पायल छम छम कर रही।चुदाई का ऐसा मधुर संगीत चल रहा था जैसे किसी बहुत बड़े संगीतकार ने चुदाई राग छेड़ दिया हो।कुछ देर में नीतू को भी मजा आने लगा था. मगर तुम्हारी बात कुछ और है, तुम पहले से ही चुदाई कर रही हो … और पता नहीं कितनों से और कितनी बार चुदवाया होगा … बोलो!कुछ देर सोचने के बाद जोया सर झुका कर धीमे से बोली- हां ऐसा तो है.

वैसे भैया आप ये सब करते कहां थे, खुले खेत में … या उन औरतों के घर पर?अभय- खेत में भी और जो आराम करने के लिए जो कमरा बना है ना … उसमें. विवाह ग्वालियर के एक मैरिज गार्डन से संपन्न होना था क्योंकि वर पक्ष ग्वालियर में ही रहता था और लड़की म. ममता … तुझे कैसा लगा … मेरी बहना मजा आया … अपने भैया से बुर चटवा के?ममता ने शर्माती हुई अपने हाथों से चेहरा छुपा लिया … और धीरे से बोली- मुझे नहीं मालूम.

सवा साल हो गया इसे तेरे होंठों का प्यार नहीं मिला!” मैंने बहू का एक चूचा मसल कर कहा. मैंने अपने न जा पाने की बात जान बूझ कर कही थी; मैं अदिति पर इस बात की प्रतिक्रिया देखना चाहता था.

पिछली कहानी में आपने पढ़ा कि आंटी ने मेरे साथसुहागरात का रोल प्लेकिया.

आंटी मुझे बहुत पसंद करती थीं और वो अपने किसी भी काम के लिए मुझे बुला लेती थीं. मोटी गांड वाली चाची की चुदाईशहजाद ने अपने फौलादी लंड से मेरी गांड में एक जोर का झटका दे दिया जिससे उसका टोपा भर गांड में घुस पाया. इंग्लिश बीएफ फिल्म नंगीउसने मेरे फोन का उत्तर न मिलने के कारण मेरे ऑफिस में मेरे कुलीग को फ़ोन करके पूछा कि मैं कहां हूँ. इस साल हम दोनों एक दूसरे के हो जाते … लेकिन लॉकडाउन ने सब मटियामेट कर दिया था.

मगर मैं बाहर की बदनामी से डरती थी और मेरे दिल में गुलाब का ही लंड बस गया था.

मैंने उनकी चुत की तारीफ़ करते हुए कहा- वाउ दादी, आप तो नेशनल हाईवे जैसी लग रही हैं … हजारों ट्रक गुजर गए आप के ऊपर से तो. कंडोम लगा कर मैंने उसकी चुत में फिर से लंड पेल दिया और झटके देकर उसकी चुदाई करने लगा. फिर मैंने अपनी पड़ोस वाली भाभी को देखा तो उनको अब सिर्फ एक लौंडा ही चोद रहा था.

उसी वक्त उनके मोबाइल पर किसी का फोन आया और वो बात करने के बाद उठकर जाने लगीं. वो बोली- तूं इबै नीचे आ।मैं जल्दी से गेट बंद करके नीचे आ गया।उसने कहा- सामने जो डिजायर खड़ी … उसमै बैयठ जा जाकै!मैं डर के मारे जल्दी से बैठ गया. अब दोनों एक दूसरे को चोदने लगे।तब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा.

दुनिया के सबसे बड़े बॉडी बिल्डर

मामी जी ने भी मस्त होकर सिसकारी भर दी- ओह्ह्ह राहुल … जल्दी से मेरी चूत को अपने लंड से चोदो ना … आह अपने मोटे लंड से पेलो … ओह्ह राहुल. कुछ दो मिनट लंड चुसवाने के बाद अचानक से मैं उठ गया और उसको उठा कर उसकी ट्रैक पैंट निकाल दी. मेरे बेटे की अभी कम उम्र थी, सो मैंने उनके साथ नहीं जाने का फैसला किया था.

बरखा के साथ दिल्ली में मेरी लाइफ मजे से चल रही थी, खर्चे पानी की कोई परेशानी नहीं थी क्योंकि महीने में एक बार चित्रा आती थी और लाख, दो लाख दे जाती थी.

उन्होंने मेरा मोबाईल नंबर अपने मोबाइल में ‘स्नेहा तेरा दूध अमृत …’ के नाम से सेव किया हुआ था.

जब वो खुद अपनी गांड ऊपर उठाने लगी तप मैंने मज़ाक करते हुए पूछा- कैसा लग रहा है अब … ठीक तो लग रहा है ना?प्रभा दर्द भरी आवाज में बोली- हां, अब अच्छा लग रहा है. उसके बाद मैंने दोनों बच्चों को सुला दिया और एक गहरे गले का लाल रंग का नाईट गाउन पहन लिया जो मेरे घुटनों तक आता था. बीएफ फिल्म चालू करोडैड- हां चुद ले यार … अगर तूने सच में अपने यार से चुदवाया तो मैं तुम दोनों का गुलाम बन जाऊंगा.

वो चुदाई के समय कहते थे कि कोई दूसरा ही बंदा मुझे चोद रहा है और वो मुझे उस बंदे से चुदता हुआ देख रहे हैं. आप सबसे विनती है कि अपने घरों में ही रहें और स्वयं को सुरक्षित रखने के साथ ही दूसरों को भी सुरक्षित रखें. उनके लिंक में किसी मर्द से चुद चुका था। उसी बंदे ने हमको बताया था।मैं काफी अचंभित थी मुकेश वाली बात से।सुरजन बोला- एक राउंड और लगा ले.

आयुषी बेड पर नंगी लेटी हुई ऐसे लग रही थी जैसे कोई अप्सरा मेरे लंड से चुदने के लिए रेडी पड़ी हो. अफ़रोज़ के लंड का पानी निकालते निकालते मेरी चुत ने भी पानी छोड़ दिया था.

यह दृश्य देखकर मेरी चुत फड़क उठी और मेरा मन दोबारा से सेक्स करने का करने लगा.

डाल दो अपना लन्ड मेरी बुर में, अब बर्दाश्त से बाहर है!मैं- इतनी भी क्या जल्दी है मेरी जान, अभी और मजे लो चुदाई से पहले के!यह बोलकर मैं बेड से नीचे उतरा और शीना को घोड़ी बनने को कहा. इस देसी सेक्स कहानी के पिछले भागबहन ने भाई को मुठ मारते देखाhttps://www. फिर एक टाइम आया कि उसने पैंट की चैन खोल दी और मेरा लंड बाहर निकाल लिया.

देवर भाभी के बीएफ सेक्स फिर उसी पोजीशन में वो खुद आगे पीछे होने लगी और हर धक्के को आइने में देख कर चुदाई का मजा लेने लगी. फिर उसने अपने दोनों हाथ मेरे पैरों के बीच बेड पर टिका दिए और कमर को उठा उठा कर आगे पीछे करते हुए चुदाई करने लगी.

मैं उत्तेजित होने लगा और अपने हाथ उनके सर के पीछे ले जाकर उनके बालों को पकड़ कर उन्हें अपनी तरफ खींच लिया. उसका मस्त और गठीला शरीर मुझे पागल किए जा रहा था और मैं मस्त होकर कभी उसके होंठों को तो कभी चूची को, तो कभी पेट को पागलों की भांति चूम रहा था. मैंने अपने होनों हाथों की दो दो उंगलियों को काम पर लगा दिया और अपनी मम्मी के चूचुकों को उंगलियों में दबा कर मींजने लगा.

गाना लोड करने वाला फाइल

उधर मीरा से रहा नहीं गया, वो नंगी ही निखिल के कमरे के बाहर खड़ी होकर उन दोनों की चुदाई का खेल देखने लगी. उसके बाद दोनों शहर आ पहुंचे, जहां अभय को फसलों के लिए कुछ कीटनाशक दवाइयां लेनी थीं, उसने वो लीं. सच बात तो यह है दोस्तो … कि हम दोनों बारहवीं कक्षा से लेकर आज तक एक दूसरे से बेइंतेहा प्यार करते आए हैं.

बुआ हल्की हल्की खांसती हुई मेरे लंड को निगलने की कोशिश में लगी थीं. मगर मैं बाहर की बदनामी से डरती थी और मेरे दिल में गुलाब का ही लंड बस गया था.

ये देख कर वो उठकर जाने लगी तो मैंने कहा- क्या हुआ?उसने बोला- मैं अभी पानी लेकर आती हूँ.

सर ने चाची के पेटीकोट का नाड़ा खोला और बोले- शबनम, ब्लाउज़ भी उतार दे. मैंने कहा- मारने का इरादा लेकर आई हो क्या?वो हंस पड़ी और उसने मेरे गले में बांहें डालकर अपनी तरफ खींच लिया. वहां मैं अपनी बहन को मिलने गया तो देखा कि वो अपने बॉयफ्रेंड से चुद रही है.

मैंने उस वक़्त टी-शर्ट पहनी थी तो मैंने तुरंत मेरी टी-शर्ट ऊपर करके अपने दोनों दूध उनके सामने खोल दिए थे. तो दोस्तो, मैं उम्मीद करती हूं कि आप लोगों को मेरी सेक्स कहानी पसन्द आयी होगी. वो मुझे अपने घर में अन्दर ले गयी और मुझसे ड्राइंग रूम में बैठने को कह कर खुद अन्दर चली गई.

डॉक्टर ने पुरानी रिपोर्ट्स को देखा ओर नई रिपोर्ट को देख कर कहा कि यह भगवान का ही चमत्कार है, क्योंकि अंडाणु और शुक्राणु का मिलन हो ही नहीं सकता था.

मां बेटी की नंगी बीएफ: मेरी मां रज्जी मेरी गोदी से उठकर खड़ी हो गईं और अपनी मैक्सी निकाल कर वो मेरे सामने खड़ी हो गईं. इसका तो बस एक ही उपाय था कि मैं सनी से ना चुदूं … जो कि मुमकिन बात नहीं थी.

मां मुझसे छूटने की कोशिश करने लगीं … पर मैं मां को पकड़े रहा और धीरे धीरे लंड को अन्दर डालता रहा. फिर मैं उसके कंधे पर हाथ रखकर बाथरूम तक गई और बोली- भाई मैं नहा लूँ, तू बाहर खड़ा हो जा!वो बाहर खड़ा हो गया और मैं ऊ … आह्ह … आई … की आवाजें करते हुए दर्द का नाटक करते हुए नहा ली।मैंने तौलिया लपेट लिया और फिर नीलू को कहा कि मुझे कमरे में ले चले।वो मुझे उठाकर कमरे में ले गया।फिर मैंने उसको अलमारी से मेरा गाउन और पैंटी निकालने को कहा।भाई मुझे लगातार देख रहा था. उसने मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी चूत पर अपनी जीभ की नोक को फिराने लगा.

वो सिसकारने लगी- आह्ह … विशाल … ओह्ह … विशाल … आह्ह … स्स्स … जोर से … आह्ह … यस … आई लव यू … आह्ह।उसकी ये सिसकारियां सुनकर मैं उसके निप्पलों को काटने लगा था और वो अधिक ज्यादा कामुक होती जा रही थी.

जब हम दोनों घर वापस आए, तब तक शाम के आठ बज चुके थे और मेरे डैड भी आ चुके थेरोहन अंकल ने उन्हें भी नंगा कर दिया था और उनसे अपने पैर दबवा रहे थे. अब मैं आपको अपने उन दोस्तों के बारे में बता देता हूं, जो लोग टूर पर जा रहे थे. थोड़ी देर बाद वो सहज हुई उसकी चीखें अब लम्बी लम्बी सांसों में बदल गयी.