बीएफ मूवी चलती हुई

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर देहाती ब्लू पिक्चर देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

ইংলিশ ফিল্ম ব্লু ফিল্ম: बीएफ मूवी चलती हुई, फिर मेरी बारी आई तो मैंने उमेश को लिटाकर उसके होंठों को चूमा, फिर गर्दन पर चूमा … उसकी छाती पर … और धीरे धीरे नीचे आती गयी.

कोरियन बीएफ

उन्होंने अपना लंड मां की चूत पर रखा और अंदर किया और उनका करीब 2 इंच लंड अंदर घुसा।मेरी मां थोड़ा सा छटपटाई. ब्लू पिक्चर बढ़िया-बढ़ियाजब से पापाजी चल बसे हैं, शायद तभी से हम दोनों बहुत क्लोज़ हो गए थे.

थोड़ी ही देर बाद पापाजी के धक्के तेज होते चले गए और मैंने अपने पैर उनकी पीठ पर बांध दिए. बीएफ फिल्म देखनाउसके ब्वॉयफ्रेंड होने की जानकारी लगभग सभी को थी, इसलिए उस पर कोई ज़्यादा चान्स नहीं मारता था.

फिर वो बीच बीच में मुझे देखता तो मैं बस शर्मा कर रह जाती थी।वो धीरे धीरे मेरी चूचियों पर उंगली फेरने लगा जो मेरे अंदर सनसनाहट पैदा कर रही थी.बीएफ मूवी चलती हुई: मेरी सेक्स कहानी एकदम सच्ची है, इसमें किसी किस्म की कोई फेंका फांकी नहीं है.

मैं अपने मामा के घर गया तो मेरी नजर मामी की चूचियों पर चली जाती थी.मेरे पूछने पर हेड कांस्टेबल ने मुझे बताया कि इन दोनों लड़कियों का पासपोर्ट गुम हो गया है, इनकी मदद कर दो और इनसे पैसे ले लेना.

बीएफ नॉर्मल - बीएफ मूवी चलती हुई

तभी वो बाहर आये और बोले- सॉरी, वो मैं दरवाज़ा बन्द करना भूल गया था।मैन कहा- कोई बात नहीं।फिर हम बैठ के खाना खाने लगे.दुर्भाग्य से उसी शाम को मेरे एक अन्य दोस्त का एक्सीडेंट हो गया, तो हम कुछ दोस्त कॉलेज से सीधा हॉस्पिटल चले गए.

पर जड़ी बूटी और शायद क़ुतुब के चूरन का असर अभी तक खत्म नहीं हुआ था, सो निजात पाने के लिए छोटी ने मेरी सहायता करने के लिए मेरे ऊपर आकर लंड को अपने चूत पर सैट करके धक्का लगा दिया. बीएफ मूवी चलती हुई इसलिए मैं वहां से चली गई और रात को जब तुम्हारे पास बात करने गई, तो तुम किसी ओर लड़की से बात कर रहे थे, उस समय मुझे तुम पर बहुत गुस्सा आया था.

जब रूबी की गांड का छेद चौड़ा हो गया तो मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदना शुरू किया.

बीएफ मूवी चलती हुई?

इस तरह से 2004 से लेकर 2019 तक मैंने मामी को जी भर के चोदा होगा, लेकिन इस पूरे समय में मामी ने मुझे अपना गांड चोदने को नहीं दी और ना ही उन्होंने मेरा लंड चूसा. कुछ समय बाद उसकी चूत और ज्यादा गीली हो गई, तो मैं समझ गया कि ये जो सुबह सही गलत का भाषण दे रही थी … वो अब खुद भी मजे ले रही है. लेकिन मेरा यह मानना है की जब इतनी मस्त साइट पर जब कोई आता है तो दिलो दिमाग़ में चुदाई की चूं चूं और लन्ड की लपलप को लेकर ही आता है.

वो बोली- न जाने इस शेफ के हाथ को चूमने का फिर मौका मिले या ना मिले. मैंने दो चार धक्कों के बाद ही भाभी की चूत में गर्म गर्म वीर्य छोड़ दिया. प्रशांत चुपचाप अन्दर आया और उसने मम्मी को पीछे से पकड़ लिया और उनके गाल पर किस करके बोला- मम्मी हैप्पी बर्थ डे.

उसने मैनेजर को वॉलेट के लिए बोला, तो मैनेजर ने उसको ऊपर से नीचे तक देखा और मुस्कुरा कर कहा- हां मेम, आप रुकिए, मैं वॉलेट अन्दर से लाता हूँ. जब उससे रहा न गया तो उसने मेरी शर्ट को खोला और फिर खुद जाकर बेड (जांच कक्ष के स्ट्रेचर) पर लेट गयी. इतनी सेक्सी औरत जब किसी को ऐसे खुले में लाइन मारे तो गांड तो फुकनी ही थी.

उसके बाद वो थोड़ा झुककर अपने हाथों को मेरे दोनों कंधो के बगल में रखकर धीरे धीरे कमर उठा कर मुझको चोदने लगीं और मैं उसकी दोनों चूचियों को अपने हाथों से मसलने लगा।कुछ देर तक वो मुझे ऐसे ही चोदती रही. मेरे काउंटर के सामने आकर गाड़ी को रोक कर कुछ अजीब सी नजरों से मुझे देखा और मैंने भी उसको नजरें चुराकर ध्यान से देखा.

मैं पिछली बार जब पुणे गया हुआ था, तब उधर पहुंचते पहुंचते मुझे शाम हो गयी.

उसने मेरी बीवी को चोदा कैसे?मेरी चालू बीवी की मदमस्त सेक्स कहानी के पिछले भागहनीमून में चालू बीवी के कारनामे-2में आपने पढ़ा था कि मैनेजर ब्रून हम दोनों को ब्रेकफास्ट के लिए बुलाने आया था.

शायद हम दोनों ने एक दूसरे के मन की बात को पढ़ लिया था, मगर तब भी अभी प्यार का इजहार नहीं हुआ था. वो मुस्कुराते हुए बोली- जानू अब देर मत करो … मेरी बुर में बहुत खुजली हो रही है. उसके घर मैंने चालू भाभी की चुत की चुदाई का मजा कैसे लिया?दोस्तो, मेरा नाम आशीष राणे है.

मैंने मेरा पूरा वीर्य छोड़ दिया और मॉम ने मेरे लंड का रस अपने मुँह में भर लिया और वो उसको स्वाद लेकर एकदम से पूरा गटक गईं. कुछ देर तक ओरल सेक्स का मजा लेने के बाद वो कहने लगी- बस रोहित, अब इस मोटे मूसल को मेरी चूत में डाल दो. सुविधा ने कहा- सर कुछ भी करना पड़े, मैं आपकी तरह एक नामी वकील बनना चाहती हूँ.

मगर मुझे घर में ही ऐसा लंड मिल जायेगा इसके बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

पहले तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी फिर अचानक अपना हाथ मेरे खड़े लंड पर रख दिया और सहलाने लगी. अंकल ने मां को नीचे की तरफ किया और खुद खड़े हुए और मां को इस पोजीशन के अंदर लेकर आए कि उनकी चूत जो है वह बाहर लटकी रहे. तो चाची ने अपनी बेटी को दूसरी तरफ लिटा दिया और मैं चाची के साथ सो गया.

इसलिए मैंने अपनी एक लेग्गिंग को अपनी चूत के पास से पूरा फाड़ दिया और उसके ऊपर एक टी शर्ट पहन ली. अह्ह … तुम्हारे साथ असली मज़ा आ रहा है चुदाई का।सोनू- अभी आगे देखो क्या क्या होता है चाची!यह कहते हुए उसके चेहरे पे शातिर मुस्कान थी. इस सेक्सी कहानी के पहले भागकिरायेदार की चुदक्कड़ बीवी-1में मैंने आपको बताया था कि मेरा दिल किरायेदार की बेटी पर आ गया था.

इससे जब भी बाइक के गड्डे में जाने से झटका लगता तो मैं उसके साथ और ज्यादा चिपक जाता था.

कोई 15 मिनट की चुदाई के बाद उसका जिस्म अकड़ने लगा और उसने मुझे बहुत ज़ोर से जकड़ लिया और ‘आह्न्न … चाचू मैं गई … आंह. मैंने भी आज सोचा कि ये क्या हो रहा है, क्या हकीकत में सेक्स में इतनी गर्मी होती है या सुमन को बुखार चढ़ गया है? इसी बीच मैंने अपने आप पर थोड़ा काबू कर सुमन से पूछा- अगर तुम्हें ज्यादा परेशानी हो तो डॉक्टर के पास ले चलते हैं।तब सुमन ने मेरी लोअर के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- उफ्फ राजू, तुम कितने भोले हो.

बीएफ मूवी चलती हुई उसका 8 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा लंड जब चूत में जाता है तो स्वर्ग की सैर करवा देता है. जब वो मेरी चूमते हुए मेरे चूतड़ों को मसल देता था तो मेरी चूत में झनझनाहट होने लगती थी।अब मुझसे रुका नहीं गया, कई महीनों से मुझे लंड नहीं मिला था, मुझे लंड चूसना बहुत पसंद है तो मैं उठी और उसके लन्ड चूमने लगी.

बीएफ मूवी चलती हुई उस दिन रात को भी मैंने चाची के नंगे बदन के बारे में सोच कर एक बार फिर से मुठ मारी. फिर उसने मेरी जांघों पर हाथ फेरते हुए कहा- मेरे साथ मेरे घर चलना चाहोगे?मैंने कहा- हां बिल्कुल, पर तुम्हारे पति?उसने कहा- मेरे पति बिज़नेसमेन हैं.

वह लेडी अब मेरे बिल्कुल पास आकर लेट गई और अपने फोन से घर कॉल करके बताने लगी कि वह अब बस से घर आ रही है.

फिल्म सेक्सी देसी

मगर मैंने पति से कह दिया- मुझे सेक्स बहुत पसंद है और मुझे दूसरे लड़कों से भी चुदना पसंद है. दो दिनों बाद ही मैं उस क्लब की इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर अपनी पिक्स देखने गया, मगर मुझे वो नहीं मिलीं. तब मुझसे रहा नहीं जाता और कई बार तो मुठ मारके अपने लौड़े को शांत करना पड़ता था.

मुझे लगा था कि वो शायद कुछ करेगी, लेकिन उसने उस रात में कुछ नहीं किया जबकि वो जाग रही थी. वो लेटने लगी तो मैंने उसकी साड़ी उतार दी और पैंटी के ऊपर से उसकी चुत मसलने लगा. गोपनीयता के कारण मैंने इसमें कुछ चीजें बदल दी हैं जैसे कि जगह के नाम और पात्रों के नाम.

पहाड़ी लोग सेक्स करने में थोड़े से धीमे होते हैं लेकिन अंकल बिल्कुल अलग लेवल पर थे.

आज तक मैंने जिनकी भी अपने लम्बे मोटे लंड से चुदाई की है उन्होंने बाद में खुल कर मुझसे चुदाई करवाई है. उसने अपनी बांहें फैला दीं तो मैंने भी उसे मैंने उसको अपनी गोद में बैठा लिया और खिलाने लगा. वो इस झटके को सहन नहीं कर पाई और चिल्ला उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और रोने लगी.

उसने लॉन्ग कट का एकदम टाइट सूट पहना था जिसमें से चूचियों का ऊभार ऊपर से मस्त लग रहा था. वसंत ऋतु में मौसम भी कुछ ऐसा हो जाता है कि हर तरफ प्रकृति में सुंदरता और मादकता छा जाती है. आपकी वाइफ क्या करती हैं और कितने बच्चे हैं?मैं- सारी बातें आप क्या आज ही कर लेंगी? कुछ बाद के लिए भी रखिए.

फिर उसे पलट कर चूतड़ों के ऊपर के इलास्टिक को पकड़ कर बांए चूतड़ों के नीचे, फिर दांए चूतड़ों के नीचे … क्योंकि औरतें के चूतड़ों के नीचे पेन्टी खींचने में ही मशक्कत करना पड़ती है. पर तुम मुझे उनसे भी खूबसूरत लगती हो, तुम्हारी सील तोड़कर मैंने तुमको कली से फूल बनाया है। तुमको चोदने के चक्कर में तो बहुत लड़के पड़े होंगे.

अंकल- देखा, मैंने कहा था ना कि जिंदगी में सब कुछ पहली बार ही होता है. डेढ़ सौ से ज्यादा बार अपने शुक्राणु दान करने वाला मैं रोहित (बदला हुआ नाम) ज्यादा नहीं तो कम से कम 60-70 बच्चों का बाप तो बन ही चुका हूं शायद. ब्याह के दो साल बाद जब मुझे बच्चा ना हुआ तो सास मुझे ताने देने लगी.

बाबा के रूकने के बाद भी मैंने अपनी योनि को उनके लिंग पर रगड़ना जारी रखा.

मैं उसके दोनों मम्मों को पकड़ कर दबाने लगा और बारी बारी से दोनों को चूसने लगा. सामान सैट होते ही हम लोग जाने को हुए, तो मैम ने बोला- अरे … तुम लोग चाय तो पीते जाओ. वो भी आंख दबाते हुए बोली- मैंने तुम्हारे लिए आज ही चूत के बाल साफ़ किए हैं.

उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह… आऊऊ… ओह्ह… उफ्फ… चोदो मेरे राजा।करीबन 15 मिनट तक मैं उसकी चूत को फाड़ता रहा और वो चुदती रही. मैं उसको वासना की हद तक गर्म करना चाह रहा था ताकि वो चुदने के लिए खुद ही तैयार हो जाये.

अब खुद ही मेरा मन कर रहा था कि बाबा मेरे दूधों को अपने मुंह में लेकर पीने लगे. मैं उससे बोला- बुर में दर्द हो रहा हो … तो बोलो, तुम्हारी गांड में लंड डाल दूं?वो डरते हुए बोली- आज नहीं बाबू, फिर कभी कर लेना. हमारे मुहल्ले में एक विधवा महिला रहती थी जो किसी स्कूल में टीचर थी, उसकी एक बेटी थी लगभग 20 साल की.

शहर की लड़कियों की सेक्सी वीडियो

मैं जाते समय यही सोचता हुआ आश्चर्य कर रहा था कि इन सब लोगों को इतनी हवस चढ़ी हुई है कि सबने मुझे तुरंत गुड नाईट कह दिया.

अब उसके मुँह से निकलने लगा- आह आह आह, फ़क मी हार्डर … आह आह … साले क्या मोटा लंड है … फाड़ दो मेरी गांड को. कुछ देर बाद मैं बोला कि जान मैं झड़ने वाला हूं … बोलो अपना पानी कहां निकालूं?वो बोली- जानू यह मेरे प्यार की पहली बरसात है … इसे मेरे अन्दर ही निकालना. उसके बाद मैंने जोर से काफी देर भाभी की चूत को चूसा और भाभी सिसकारियां लेने लगी.

उसने फोन उठाया और बोली- साहब जी को इतने दिनों बाद याद आई मेरी?मैं- अरे यार मैं कुछ काम में व्यस्त हो गया था और तुम भी शायद व्यस्त थीं … जिससे मुझे कॉल नहीं किया. उसकी बुर की फांकों को उंगलियों से फैला कर लंड के सुपारे को चूत के मुंह पर सेट किया और एक जोर का धक्का मारा।जैसे ही लंड उसकी चूत में घुसा उसके मुंह से एक चीख सी निकल गयी. ब्लू फिल्म पुरानी वालीफिर विजय ने बारी बारी से रानी और काको की चूत को चाटना शुरू कर दिया.

मैं कुछ लेने के बहाने से रसोई में जाता, तो कभी उनकी चूची या उनकी गांड सहला देता, जिससे मामी मुझे प्यार से देखतीं और मुस्कुरा देतीं. मैंने उसकी चूत से उंगली निकाली और लंड को बाहर खींच कर उसकी चूत को चाटने लगा.

मगर मैंने कहा- आप चुदाई देखोगे कैसे? दिन में तो आप जॉब पर होते हो!पति बोले- मैं पूरे घर में छोटे कैमरे लगा दूंगा और तुम्हारी चुदाई कहीं से भी देख लूंगा. मेरे बहुत कहने पर उन्होंने धीरे से जीभ निकाल कर सुपारा चाटा … और जीभ हटा ली. सगाई के बाद टोनी ने मां से कहा कि वो मुझे अपने साथ लेकर जा रहे हैं.

मॉम ने मेरी तरफ गुस्से से देखा, तो मैंने उनसे घोड़ी बनने के लिए इशारा किया. पांच मिनट के बाद बाबा भी एकाएक जोर से धक्के देने लगे और उनके लिंग से वीर्य की गर्म पिचकारी मुझे मेरी योनि में लगती हुई महसूस हुई. मेरा शरीर का तापमान सामान्य देख के बुआ थोड़ी सी मुस्कराई लेकिन बोली कुछ नहीं और चुपचाप नीचे चली गई।दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी काल्पनिक कहानी जरूर बताना।[emailprotected].

उस वक्त भी सिर्फ उसके दूध देखे थे, चूत की झांटों को तो सिर्फ हाथ से महसूस किया था.

उसकी चूत चुदाई मैंने कैसे की?मेरा नाम राज है, मैं पुणे का रहने वाला हूँ. मैं उसकी कमर पकड़ कर उसे चोदने लगा, नीचे से वो आहें भर रही थी।कुछ देर चोदने के बाद मैं रुक गया और उसकी चूचियाँ दबाने लगा।फिर कुछ देर बाद उसके बालों को पकड़ कर उसका सर हल्का पीछे खींच कर फिर से उसे चोदने लगा.

दिन भर भी मिल जाये तो चाटता रहूं मैं उस छेद को अपनी जीभ से।मैंने चाची की घुंघराले बालों वाली चूत पर मुंह रखा और उसको चाटने लगा. आपकी वाइफ क्या करती हैं और कितने बच्चे हैं?मैं- सारी बातें आप क्या आज ही कर लेंगी? कुछ बाद के लिए भी रखिए. मैंने कुछ नहीं कहा और वो अपनी पैंट की चेन को बंद करके बाइक पर जा बैठा.

जैसे ही उसका हाथ मेरे गर्म से सोये हुए लंड पर लगा तो लंड में करंट सा दौड़ गया. मैंने भी रानी के होंठों से अपने होंठों को मिला दिया और हम दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे. आकाश के मुंह से कामुक सी आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … मेरी जान … ओह्ह … तुम्हारी चूचियां कितनी मस्त हैं.

बीएफ मूवी चलती हुई मैंने कहा- अब मुझे भी जन्नत का आनन्द लेने दो और मैंने धकाधक अपनी साली की चूत को पेलना शुरू किया. उसका ध्यान मेरे चुम्बनों पर ही था कि मैंने उसके होंठों को बंद करते हुए एक ही झटके में मेरा 7 इंच का लंड पूरा अन्दर ठांस दिया.

छोटे वाली सेक्सी वीडियो

अपनी जीभ से मैं उसकी भगनासा को चाटने लगा और धीरे धीरे चुत को चाटने लगा. दोस्तो, मैं प्रेम फिर से अपनी कहानी लेकर आया हूँ। इसमें मैं अपनी गांड की सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ कि इसका उद्घाटन कैसे हुआ. पूरे दिन हम दोनों के दूसरे के साथ काम करते हुए एक दूसरे को टच करके मुस्कुराते रहे.

मैं 5 फुट 10 इंच कद का हूँ और सामान्य चेहरे मोहरे का 26 साल का एक युवक हूँ. वो दिन में भी बोल रही थी कि उसने मेरे लिये रिम्पी और काजल की चूत का इंतजाम किया है. 2021 का ब्लू फिल्मअमरीश ने मेरे से पूछा- सुकृति, मेरे फ्लैट पर चलें?मैंने बोला- ओ के!उसने मेरे गांड पर चमाट लगाई और बोला- आज तो इसकी खैर नहीं!मैं मुस्कुराई और शरमाती हुई बाहर निकली.

मैं भी उस भीड़ में घुसी, तो मुझे महसूस हुआ कि जिसके हाथ में मेरा जो भी शरीर का अंग लग रहा था, वो उसको दबा रहा था.

तभी बहन बीच में बोली कि उसे भी बुला लीजिए … आज पूरा मजा आ ही जाने दो. मैंने उससे पूछा- अब चुदवाएगी मेरी रंडी?वो बोली- हां भोसड़ी के … कितनी बार पूछेगा … अब जल्दी से लंड पेल ना.

ममता नीचे से रोहित के तरोताजा दैत्याकार लिंग को चूम-चाट और चूस रही थी. जब मेरा रस निकलने वाला था, तो इस बार मैंने शालिनी से बिना पूछे ही उसकी चूत को अपने लंड के रस से लबालब भर दिया. जब मैंने रानी की चूत से लंड को बाहर निकाला तो उसकी चूत से मेरे वीर्य और रानी की चूत के वीर्य का मिश्रण बाहर आ रहा था.

मगर मुझे घर में ही ऐसा लंड मिल जायेगा इसके बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

यद्यपि अपने देश में ऐसे पतियों की संख्या बहुत कम हुआ करती थी परन्तु आज के सूचना संचारण के फलस्वरूप विचार प्रसारण संसाधनों की वृद्धि से इनकी संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है. जो भी कमियां रही हों या फिर आपके मन में कोई सवाल या शंका हो तो मुझे लिख भेजें. वो बोली- रुकिये, मैं आगे से पैर मोड़ कर बैठती हूं … उसके बाद आप अपना लंड घुसेड़ देना.

देवर और भाभी की ब्लू पिक्चरइसके बाद मैं जल्दी ही आपको बताऊंगा कि सुमन की शादी के बाद हमने पहली चुदाई कैसे की. जब भी मेरा लंड किसी चुत के अन्दर जाता है, तो चुत वाली की कराहें निकल जाती हैं.

देसी सेक्सी ब्लू पिक्चर हिंदी में

जल्द ही बस सामान्य स्थिति में आई और वह मुझसे अलग होने लगी तो मैंने जानबूझकर उसके दबाए रखा. मैं बोला- कुतिया … बड़ी कह रही थी जल्दी डालो … जल्दी डालो … अब क्या हुआ? माँ चूत गई तेरी मादरचोद?वह बोली- जानू, आराम से डालो, मेरी गांड अभी तक अनचुदी है, कुछ दिन में खुल जायेगी तो आराम से ले लूंगी आपका मोटा मूसल!मेरी बीवी की चूत में 8 इंच लम्बा 4 इंच मोटा खीरा और गांड में 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लण्ड एक साथ घुस रहा था. मैंने तुरंत उसकी ओर करवट ले ली और अपने तने हुए लंड को उसके हाथ पर टच करवाने लगा.

मैंने कई मिनट तक उसके जिस्म की गर्मी को महसूस करते हुए उसको बांहों में लिपटाये रखा और चूमता रहा. और अब माँ को सोनू ने गोदी में ले लिया था और माँ की गर्दन पर चुम्बन कर रहा था. फिर मैंने कुछ नहीं पूछा। थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि वो शायद रो रही थी।मैंने एक तरफ गाड़ी रोकी और उनसे माफ़ी मांगी और बोला- शायद मेरी वजह से आपको दुःख पहुंचा है उसके लिये मैं सॉरी हूं।वो बोली- नहीं ऐसी कोई बात नहीं है। मेरी किस्मत ही खराब है। जवानी में मेरी मर्ज़ी के खिलाफ ही मेरी शादी कर दी गई.

मैंने आपकी बहुत बातें सुनी है कि आप बहुत अच्छा करते हो तो अजय अंकल बोले- कौन बोलता है?तो माँ ने कहा- आपकी बीवी ही बोलेगी और कौन बोलेगा. कुछ ही देर में उसने मेरे पूरे चेहरे पर लगी अपनी चुत की मलाई को चाट कर साफ़ कर दिया था. यह सब देख कर मैंने यश से कहा- यश प्लीज … धीरे से करना … यह मेरा दूसरी बार का सेक्स ही है.

मैंने धीरे से उसके सीने पर हाथ रख दिया और उसके रिएक्शन का वेट करने लगा. ऐसा लग रहा था जैसे मेरा लंड किसी गर्म तपती हुई भट्टी में जा रहा हो.

पीछे से उसकी चूत पर लंड को सेट किया और आधा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

वो मुझे अपनी चूत देने के लिए कैसे राजी हो गयी?दोस्तो! मेरा नाम हर्ष है, मैं एम. हिंदी बफ वीडियो मेमैंने सोच रखा था कि उस दिन मैं कम से कम उससे एक किस के लिए तो पूछूंगा ही, क्यूंकि अगर वो मना करती, तो मैं उसके बाद उसमें कोई समय बर्बाद नहीं करने वाला था. उघडा सेक्समेरे पूछने पर उसने बताया कि सब रिश्तेदारी में बाहर गांव गए हुए हैं. उनको इस हालत में देख कर मेरे पैर कांपने लगे, लेकिन मजा भी बहुत आ रहा था.

मैं- अगले वीकेंड हॉस्टल से परमिशन लेकर आओ, मेरे घर पर साथ में रहेंगे.

तो मैंने कहा- बस कर यार … कोई देख लेगा … अभी के लिए बस इतना काफी है. अब तो भाभी खुल करगर्लफ्रेंड के साथ सेक्सकी बातें भी पूछ लिया करती थी. ससुर और बहू की चुदाई की सेक्सी गन्दी कहानी के पहले भागपति ने कराई बहू ससुर की चुदाई-2में आपने पढ़ा कि मैं अपने ससुर को अपनी चूत दिखा चुकी थी, उनकी कामवासना को जगा चुकी थी.

वो मस्ती में मेरे लंड को दबा रही थी और मैं उसकी चूचियों को दबा रहा था. उसको मैंने चुदाई के लिए कैसे पटाया?दोस्तो, कैसे हो आप लोग? मैं उम्मीद करता हूं कि आपको अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ने में मजा आ रहा होगा. मैं समझ गया कि सेक्स का निर्णय मेरा लग ज़रूर रहा था, पर था अमीषा का ही.

ashok सेक्सी

मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया और अब मेरे सामने उसके दोनों उरोज एकदम खुल कर फुदकने लगे. उस दिन से उनको किस करना उनकी गाण्ड को दबाना उनके चूचों को मसलना शुरू हो गया. किसी को बाहर से देखने पर कुछ पता नहीं चल रहा था कि हम दोनों के बीच में क्या हो रहा है.

सब हंसने, तभी उसने अपना एक हाथ मेरी लेगिंग्स की अन्दर डाल दिया और चुत में दो फिंगर डाल दीं.

मैं जानता था कि सुविधा तो वो अपनी मचलती और तड़पती चूत के लिए कर रही है.

मेरा मुंह उसकी योनि के पास पहुंच गया और मेरा लंड उसके मुंह के करीब पहुंच गया. अगले दिन कोमल की मां मेरे पास आई और उसने मुझसे काम और सैलरी के बारे में बात की. हिंदी बीएफ चोदने वालावाराणसी कैंट स्टेशन पर पहुंच कर हम लोग अपनी ट्रेन का इंतजार कर रहे थे.

धीरे से मैंने उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठाया और उसके पेट को सहलाना शुरू कर दिया. मां पिताजी के धोखे के बाद टूट सी गयी थीं और उनका मेरे सिवाए कोई और नहीं था. मैंने मालती की छोटी बहन को कैसे चोदा, वो मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

मैंने उससे बोला- साली जब ले नहीं सकती थी … तो मेरे लंड से चुदवाने क्यों आई. मैंने चुप कराने के लिए अपना कंधा उसे दे दिया और उसकी कमर और पीठ को सहलाने लगा.

इस दौरान वो कभी मेरे लंड के ऊपर अपना हाथ लगा देती थी, जिससे मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा.

मैंने उसे अपनी बांहों में लेकर प्यार किया और उसको जगाते हुए चलने के लिए कहा. मैंने उनकी वाइफ से बोला- मेम आप कपड़े चेंज करके वहीं मुझे बुला लीजिएगा … जहां आपको मसाज करवानी है. वो बोली- ऐसा क्या करेगा तू?मैंने कहा- वो तो मैं घर चल कर बता दूंगा कि मैं क्या कर सकता हूं.

बाप बेटी का ओपन सेक्सी वीडियो फिर रात को खाना खाने के बाद हम सब लोग एक साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे. कुछ पल का विराम देने के बाद मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये.

मैंने उसके चूचे मसलते हुए उसे धक्का दिया और कहा- नीतू अब लेट जाओ … अब मैं तुम्हें चोदूँगा. मुझे नीचे लिटा कर मेरी पत्नी मेरी फ्रेंची के ऊपर से ही तने हुए लौड़े को अपनी जीभ से चाटने लगी. उसके बदन को मेरी नजरें मोर के पंख की तरह सहला सी रही थी जिसके स्पर्श से उसके बदन में झुरझुरी सी पैदा होने लगी थी.

न्यू सेक्सी फोटोस

उसका रंग दूध सा सफ़ेद, लंबाई उसकी कुछ 5 फुट 8 इंच थी, फिगर उस समय कुछ खास नहीं मात्र 28 के मोम्मे, 30 की कमर और 30 के चूतड़ थे पर फिर भी मुझे उससे प्यार हो गया था।मैंने उसको फेसबुक पर मैसेज किया और उसका रिप्लाई आ गया. पूरा माल चाटने के बाद वो बोली- आह्ह … बहुत ही गाढ़ा और स्वादिष्ट है. फिर बाद में वो नीचे होकर मेरे लंड को दबाते हुए हिलाने लगी और अपने मुँह में लंड लेकर चूसने लगी.

उस दिन मुझे पता लगा कि हमारे पड़ोसी लड़के से पहले भी मेरी बहन किसी और से अपनी चूत को चुदवा चुकी थी. धीरे-धीरे मेरी बीवी ने अपनी ब्रा खोली और अपने चूचों को आजाद कर दिया.

जब मेरा लंड वीर्य छोड़ने के कगार पर पहुंच गया तो मैंने उसको बता दिया कि मेरा लंड थूकने वाला है.

मैंने फ्रिज से ठंडा पानी लिया और कुछ पीस मीठे के, एक प्लेट में रख कर उसके पास आ गया. फिर उसने मेरे लंड को देखा और बोली- इतना मोटा लंड! मुझे डर लग रहा है इसको देखकर. हम अंदर वाले कमरे में थे और ये भूल गये थे कि बाहर से कोई आ भी आ भी सकता है.

उंगली डाल-डाल कर मैं उनकी चूत को चोदता … एक उंगली, फिर दो उंगली, फिर तीन, फिर चार उंगली गप्प गप्प उनकी चूत में चली जाती. वो देखने में कुछ खास नहीं थी या फिर सफर की वजह से कोई ज्यादा सजी धजी नहीं थी. उसकी इस फ्रॉक में आस्तीनों की जगह डोरियां थीं, जिसे मैंने उसे कंधे से खिसकाकर निकाल दिया.

अब अंकल ने मुस्कुराते हुए मेरे टांगों को पकड़ा और मुझे बेड के किनारे तक खींचा.

बीएफ मूवी चलती हुई: लेकिन मेरी मां ने कर लिया।मां ने अंकल के लंड पर तेल लगाया और उनके सुपारे को पीछे किया।अंकल ने कहा- इसको मुंह में लो. पापा ने मुझे चोदते हुए कहा- आह … मेरे साथ बारिश में नंगी होकर डांस करेगी?मैंने हामी भर दी.

जब उसका छेद चौड़ा हो जाये तो फिर उसको किसी पोजीशन में चोदा जा सकता है. यह सुनकर उसकी खुशी का ठिकाना नहीं था, वो बोली- तो क्या मैं केक काट लूं?मैं बोला- हां काट लो. मैं- यार, तुम्हारे बिना आजकल दिल नहीं लगता है … बस ये लगता है कि तुम्हें खा लूं.

मगर न तो भाभी जी की शर्म कम हुई और न ही मेरी अन्तर्वासना, मेरी उस सोच को कम होने दे रही थी कि भाभी को कैसे चोदा जाए.

फिर उसने थोड़ा रुक कर दूसरा धक्का भी दे दिया और मेरी चूत में अपना आठ इंची लौड़ा पूरा फंसा दिया. 5 मिनट इसी तरह गांड मारने के बाद राजेश ने लण्ड बाहर निकाल दिया वो पसीना पसीना हो गया था. मैंने अपनी जीभ को धीरे से बाहर निकाला और चाची की चूची को जीभ से छूने लगा.