मुसलमानी का बीएफ

छवि स्रोत,सुहागरात बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

अलिअ भट्ट सेक्स: मुसलमानी का बीएफ, अभी तक तो मैं आंटी के चूतड़ और चूचे ही देखता था लेकिन एक दिन मेरी किस्मत खुली और मैंने पम्मी आंटी को बिल्कुल नंगी देख लिया.

सेक्सी गिफ्ट

वहां पर अंकल किस करने वाले थे और मुझे कौन कौन से प्रकार से तंग करने वाले थे, क्या पता. भोजपुरी का सेक्सी गानामाँ म्म्म … मर गई ईईई … मेरी फट जाएगी कुत्ते, जरा धीरे नहीं पेल सकता था हरामी!कपिल- अभी तो शुरुआत है शारदा.

ताऊ बीच बीच में ताई की चूत में लुटिया में से पानी डाल रहे थे क्योंकि वो गर्मी के दिन. बीएफ चालू करोवो बेड के दूसरी साइड गयी तो उसने देखा कि बेड पर भी वो ही पंखुड़ियां बिछी हुई हैं और साइड में एक दिल भी बना हुआ है.

मैंने पूरे जोर से अपना लंड उसकी तपती चूत में घुसाया और दे घपाघप, दे घपाघप चोदने लगा! फच-फच … फच-फच … की आवाजों से और राशि की सिसकारियों से पूरा कमरा गूँज रहा था.मुसलमानी का बीएफ: उसने अपना चेहरा मेरी तरफ करके मेरी कमर के दोनों बाजू में अपने दोनों पैर रख कर नीचे बैठ गई.

उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और बोली- इसको मैं शांत कर देती हूँ.लंड को रगड़ रगड़ के सहलाते हुए लंड की सफाई होने से मुझे ये लग रहा था कि कहीं मेरा पानी उनके मुँह पर न फिक जाए.

सेक्सी बीएफ गांव देहाती - मुसलमानी का बीएफ

मैंने कहा- हां मेरी जान, अब मैं तुम्हारी चूत को कभी प्यासी नहीं रहने दूंगा.मैंने उसके मोमे दबाये, चूचियों को चूसा और सारा की चुत में उंगली करने लगा.

मेरे पति न जाने आज किस मूड में थे कि वे मेरी चुत लगातार हचक कर चोदे जा रहे थे. मुसलमानी का बीएफ मैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत के आसपास की भूरी फांकों को हटाया और देखा तो उसकी चूत का छेद, जिसमें मुझको अपना लंड डालना था, वो वैसा ही था, जैसे छेदों में अब तक मेरा लंड जा चुका था.

इसी तरह पूरा महीना निकल गया, मैं उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ कर ही पानी निकाल पा रहा था या कभी उसके मुँह में लंड डालकर पानी छुड़ा देता था.

मुसलमानी का बीएफ?

मेरी यह सच्ची दास्तान आपको कैसी लगी, मुझे इस पर अपनी राय और अपने कमेंट मेरी मेल आईडी पर जरूर दें. मैंने अपना चेहरा ठीक उनके चेहरे के सामने करके और अपना हाथ उनके मम्मे से हटा कर उनकी चूत पर रखते हुए कहा. वैसे ही उसके मुँह से तेज तेज आह … निकलता हुआ मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

थोड़ी देर बाद डोर बेल बजी और मैंने गेट खोला तो एलेक्स और जॉन आ गए थे. [emailprotected]हॉट भाभी सेक्सी चुदाई कहानी का अगला भाग:दीवाली पर भाभी की अतृप्त चुत चुदाई हुई- 2. हालांकि आज मीरा बहुत खुश थी कि उसे उसकी प्यास बुझाने वाला मिल गया था.

टप्प … टप्प … टप्पा … टप्प टप्प … टप्प … टप्पा … टप्प! टप्प … टप्प … टप्पा … टप्प!फिर अचानक ही वसुन्धरा की योनि के अंदर आँखिरी बिंदु पर पहुँच कर जैसे मेरे लिंग में विस्फ़ोट हो गया. रोहन ने फिर सफाई देते हुए कहा- वैसे मुझे तो कोई परेशानी नहीं है लेकिन तुम्हारी परमिशन भी तो जरूरी है. मेरी बहन ग्रेजुएशन के पहले साल में थी। मैं अपने घर कभी-कभी जाता था। मेरा और मेरी उस चचेरी बहन का घर थोड़ी दूरी पर ही था।मैं घर जाता तो मेरे घर पर मन नहीं लगता था, तो मैं अपने घर से ज्यादा उसके घर पर ही रहता था। मैं उसको देखकर बहुत खुश हो जाता और मैं उसको अपनी बाँहों में भर लेता था।एक दिन ऐसे ही जब मैं उसके घर पर गया तो मैंने उसको जाते ही हग कर लिया और उसको अपनी बांहों में कस कर भर लिया.

लेकिन यदि लड़की चुदी हुई हो तो उसकी चूत से न तो खून निकलता है और न ही वो ज्यादा चीखती चिल्लाती है. वो हंस कर बोलीं- हम्म … मतलब अब बड़ा हो गया है तू!मैंने पूछा- कैसे जाना भाभी!भाभी बोलीं- तेरी सब शरारत समझती हूँ.

मैंने फिर पूछा- रात को ऐसा क्या देखकर आई हो?सोनू कहने लगी- पापा ने मम्मी की बहुत जबरदस्त चुदाई की.

मेरे होंठ का स्पर्श अपनी चूत पर पाकर कल्पना मचल उठीं और सिसकारियां भरने लगीं.

उन तीनों के अंदर आने के बाद मैंने उनसे कहा कि मैं कपड़े बदल कर वापस आती हूँ. अब मैं उसके मम्मों को दबा रहा था और वह मेरे होंठों को चूसते हुए ‘ऊंह … ऊंह …’ की आवाज कर रही थी. एलेक्स अपना लंड मेरे मुँह में डाल कर मेरी गर्दन आगे-पीछे कर रहा था.

सैट पर भौमि और आन्या जैसी हॉट ऐक्ट्रेस होने के कारण सबका लंड हमेशा खड़ा ही रहता था. अब मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ जमाए और हल्के हाथ से उसके चुचे को दबाना शुरू कर दिया. जैसा कि मैंने अपनी पहली सेक्स कहानी में भी बताया था कि मैं एक स्पा केन्द्र में काम करता हूँ.

दो दो पैग के बाद उन्होंने एक सिगरेट सुलगाई तो मैंने भी एक सिगरेट जला ली.

मैंने उसको इम्प्रेस करने के लिये उसके सब्जेक्ट्स में अपना इंटरेस्ट दिखाया और बस बड़ी मेहनत से उसके सब्जेक्ट का अध्यन करने लगा. जब मैंने भाभी की चुत को चाटने के लिए मुँह नीचे लगाया, तो भाभी ने मना कर दिया. अजय बोला- बस राज भाई, आज मेरा सपना साकार कर दो, बहुत तमन्ना है मेरी अपनी बीवी को किसी और से चुदवाते हुए देखने की! उसकी मस्त सिसकारियाँ सुनते हुए अपना लंड हिलाने का मेरा सपना आज पूरा कर दो.

सन्जू की चूत अभी तक गीली ही थी सो फच की आवाज के साथ मेरा लंड अन्दर चला गया और मैं उसे रोहित के सामने ही चोदने लगा।ये सब देखकर रोहित का लंड पैन्ट में हरकत करने लगा और कुछ पैन्ट में उभार भी आ गया। ये सब सन्जू देख रही थी. मैं उसके ऊपर 69 की स्थिति में लेट गया और उसकी चुत को चूसना शुरू कर दिया. मैं पेशे से एक कम्प्यूटर इंजीनियर हूँ और एक कंपनी में जॉब करता हूं.

वो पागलों की तरह उसे खा जाने की नीयत से चाट और चूस रही थी।मैंने उसे 69 के पोजीशन में अपने ऊपर लिटा लिया और उसकी चूत को चाटने लगा.

नैना बोली- मुझे यूं ही प्यासी क्यों छोड़ के जा रहे हो?मैंने कोई जवाब नहीं दिया और अपने फ्लैट में लौट आया. मैं चारपाई पर लेटा था और मदहोशी में ठंडी हवा का लुत्फ ले रहा ही था कि तभी पायल की झंकार मेरे कानों में पड़ी.

मुसलमानी का बीएफ मेरे पैर फैला कर उसने मेरी चुत में अपना मुँह लगा दिया और जीभ से चाटने लगा. उनके हाथ मेरी साड़ी प्रेस करने में लगे थे और उनका कड़ियल लंड मेरी चुत का बाजा बजा रहा था.

मुसलमानी का बीएफ जब मैंने उसे आई लव यू बोल दिया तो वो बोली- मगर मैं किसी और से प्यार करती हूँ. उसकी गांड को मैंने कैसे चोदा उसके बारे में मैं अपनी अगली कहानी में बताऊंगा.

मैंने हिम्मत करते हुए अपने सारे कपड़े उतारे और सिर्फ चड्डी में होकर बाथरूम में घुस गया.

एक्स एक्स एक्स सनी लियोन की

मैंने सोनू से पूछा- तुम्हारी मम्मी की चूत से ऐसे ही निकलता है?उसने कहा- हां, ऐसे ही निकलता था लेकिन वह तो कुछ एक बूंद होती थीं, यह तो निकले जा रहा है. अब उसकी गोरी गोरी जाँघों में उसकी पैंटी ही बची थी जो मैंने अपने चिपरिचित अंदाज में उतार दी. जैसे ही मेरा हाथ उसके कोमल चुचे पर गया, उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई.

उन्होंने मुझे उस पलंग पर नंगी लिटा दिया, जिस पर पापा मम्मी सोते थे. हमारी सोसायटीज नजदीक ही थीं तो भाभी बोली- क्या आपको लैपटॉप की डिस्पले के बारे में कुछ पता है?मैंने कहा- हां. फिर जॉन ने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स को आज़ाद कर दिया.

उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और बोली- इसको मैं शांत कर देती हूँ.

वे दोनों गर्म हो गए और एक दूसरे को लिप किश करते हुए चुदाई में लग गए. एक अजीब सी गंध और स्वाद मेरे मुंह में घुल गया जिसे मैंने थूक के साथ गटक लिया और धीरे धीरे लण्ड चाटने लगी. साली जी लो संभालो अपने जीजू का पूरा लंड अपनी गोरी गुलाबी चूत में!यह कहते हुए जीजू ने एक जोर का धक्का और मार दिया इस बार जीजू का पूरा 8 इंच का लंड मेरी चूत में समा गया.

मुझे बहुत मजा आ रहा था लेकिन इतनी उत्तेजना को मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी. मैं कोई जबरदस्ती नहीं करना चाहता था, इसलिये मैंने सोचा कि रात को इसको मना कर चोद लूँगा. मैंने अपने टिफिन से कटोरा निकाल कर पकड़ाते हुए बोला- वाशरूम में जाओ और इसमें दूध निकाल लो और मेरे नाम से अपनी चूत में उंगली कर लीजिए और अपनी पैंटी में मलाई दे दीजिए.

मेरी ही चूत का नमकीन पानी मेरे मुंह में घुल गया जिसे मैं गटक गई और उनके होंठ चूसने लगी. प्रिया ने मेरी आंखों में देखा- बहुत अच्छी लगती हूँ मैं आपको!मैं- हां.

मेरी अंतरात्मा मुझे इस बात की इजाजत नहीं देती थी कि मैं कोई फूहड़ या अश्लील हरकत करूं किसी को आकर्षित करने के लिए. इस झटके से उसका मुंह खुल गया। मैंने मौके का फायदा उठा कर अपनी जीभ डाल कर उसका मुंह टटोल लिया। बड़े ही उत्तेजक तरीके से किस करते हुए उसकी चूत चुदाई करने लगा. वो भी एक कदम आगे निकली, बोली तो ठीक है, मैं तुम्हारी चड्डी पहन लेती हूं, अगली मुलाकात में मैं तुम्हें लौटा दूंगी.

मैंने जूली को अपने गले से लगा कर उसकी पीठ पर हाथ फिराना शुरू कर दिया.

मैंने उसे घर बुला कर जो कांड कर दिया था, उससे उसकी चूत में आग लग गई थी. मोनी का पति बहुत अधिक शराब पीता था जिसकी वजह से वो कुछ करने की बजाय सो जाता होगा और वैसे भी मोनी अपने पति के साथ इतना रहती भी तो नहीं थी, तभी तो मोनी को अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ था … उसकी शादी को दो साल से भी ज्यादा का समय हो गया था मगर अभी तक उसको कोई बच्चा नहीं था. कितना प्यार नाम है, तुम्हारी ही तरह प्यारा और खूबसूरत!” अंकल जी ने मेरी तारीफ़ की तो मैं गदगद हो गई.

ऐसे मौकों पर पिंकी साड़ी के नीचे पेंटी नहीं पहनती ताकि चुदाई में आसानी रहे. मैं उसकी खूबसूरती से उस पर मोहित हो गया और उसे पटाने के चक्कर में पड़ गया.

मैंने अपनी मम्मी के पास आकर उनके गालों पर किस किया और अपने होंठों से उनके कान को सहलाने लगा. सच बताऊं दोस्तो, इस हालत में अगर कोई भी हवस या फिर और नजरों से देखेगा, तो मैं उसको जानवर ही मानूँगा. उसने मेरे चेहरे की तरफ देखा तो मैंने उसको फ्लाइंग किस दे दी और लंड को अंदर मुंह में लेने का इशारा किया.

देसी भाभी सेक्सी वीडियो

सुषी पहले तो टाल-मटोल करने लगी, तरह-तरह के बहाने करने लगी लेकिन मैंने उससे पूछना जारी रखा और अंत में उसने मुझे अपने दिल की बात बता ही दी.

अब मैं समझ गया और मैंने उन्हें अपने हाथों से उठाया और उनके गालों पर एक किस कर दिया. उसके बाद मैं उससे कैसे मिलूंगी?मैंने कहा- ठीक है, मैं आज शाम को तुम्हारे पास आ जाता हूँ और उसके बाद हम इस बारे में बैठ कर बात कर लेंगे. फिर मैं बोला- एक सच बोलूं?कह कर कुछ सेकण्ड के लिये रुक कर उसका चेहरा देखा.

जय लंड देव … जय जय जय लंड देव जी … आप महान हैं … मगर पहले राजे तुझे स्वर्ण अमृत पिला दूँ फिर इस मुसण्ड को इनाम दूंगी. कुछ पल के इस स्वर्ग सा आनंद देने वाले स्खलन के बाद मोनी मूर्छित सी होकर धम्म से बिस्तर पर गिर गयी और हाँफने लगी. जूही चावला की बीएफअब मेरे मन में भी एक जिज्ञासा पैदा होने लगी थी कि पापा मेरी माँ की चूत को किस तरह चोदते होंगे.

उसने मेरे लंड के सुपारे को अपनी चूत की फांकों पर महसूस किया, तो वो कमर उठाते हुए लंड को लेने की कोशिश करने लगी. ब्लाउज का गला घटा होने से उसके दोनों स्तनों के बीच की दरार भी बड़ी मस्त दिख रही थी.

अब मैं फिर से उनके ऊपर आ गया और उनके होंठों से चूमना शुरू करते हुए धीरे धीरे नीचे की तरफ जाने लगा. बॉस का फार्म हाउस शहर से दूर सुनसान इलाके में था, यहाँ ज्यादा लोग आते भी नहीं थे।कुछ देर बात करने के बाद मैं रूम में चली गई. कल्पना- आज तो मेरी सच में सुहागरात हो गयी … तुमने तो आज मुझे अपना दीवाना बना दिया … क्या क्या और कैसे कैसे करते हो तुम ये सब?मैं- कल्पना जी, यही तो मेरा काम है, अगर बाकी मर्दों जैसा हम भी करने लगें, कि बस आए, डाले, हिलाये अपना पानी निकल गया बस … सामने वाला पूरी तरह से सैटिस्फाइड हुआ या नहीं … इससे मतलब नहीं रखेंगे, तो हमे पूछेगा ही कौन.

हाथ में भर गया तो हिलाने में कैसी देरी? लंडराज को हिलाना शुरू कर दिया. मैं बोला- बात कैसे होगी, अब नंबर तुम दोगी नहीं … ऊपर आता हूँ तो बोलती हो कि मम्मी शक करती हैं. उसका मस्त गोरा बदन पूरा लाल हो चुका था, चुत पूरी सूज गई थी, मम्मों पर मेरे उंगली और दांत के निशान दिख रहे थे.

पिंकी की ननद ने अपनी भाभी को अपनी देखभाल के लिए बुला लिया था ताकि वो अमर का और उसके परिवार के लिए ध्यान रख सके.

कसी हुई ब्रा से चाची के 36 साइज़ के गोल बोबे बाहर आने को बेताब लग रहे थे. ”शारदा चाची- हां-हां मुझे सब पता है कि तुम लोग क्या कर रहे हो!और एक शरारती मुस्कान आ गयी उनके चेहरे पर यह बात कहते-कहते।मैं- नहीं नहीं चाची, हम लोग तो बारात के स्वागत की बात कर रहे थे क्योंकि जो दूल्हा है वो भी हमारे ही दोस्तों में से है.

विशाल भैया के आने के बाद अब हमें ज्यादा मौका तो नहीं मिल पाता मगर जब भी विशाल भैया कहीं बाहर जाते हैं शगुन भाभी मुझे चुदाई के लिए बुला लेती है. यही सब सोच सोच कर मेरा मन मौसी की तरफ आकर्षित होने लगा और मैं मौसी को चोदने का सपना देखने लगा. मैंने थोड़ी सी कोशिश कर उसकी चूत तक जीभ पहुँचा ही दी और फिर जैसे ही जीभ उसकी चूत के अंदर जाने लगी, मीना की सिसकारियाँ बढ़ने लगी.

लेकिन जीजू आपकी स्पीड भी मस्त थी यार … मेरी चुत का तो एक बार में ही भोसड़ा बन गया. और अगर आप एक स्त्री हैं, तो आप एक स्त्री होने के नाते अपनी मेल में मेरी इस सामाजिक पहल और मेरी इस सोच को जांचकर दो शब्द जरूर भेजना. बुर के दाने को मसलना, अपनी एक उंगली सिर्फ वहां तक डालना, जहां तक दर्द न हो, ये सब वो उस वक्त करती रही थीं, जब कभी भी उन्हें मौका मिल जाता था.

मुसलमानी का बीएफ मैं सुषी की चूत में लंड जब डालता तो ऐसा लगता कि संसार में इससे बड़ा दूसरा कोई और सुख नहीं है. सच कहता हूं दोस्तो, मन तो किया कि अभी दरवाजा खोल कर अन्दर चला जाऊं और मौसी को वहीं बाथरूम में चोदने लगूं, पर ऐसा मुमकिन नहीं था, क्योंकि मौसी ने शायद दरवाजा अन्दर से लॉक किया था.

न्यू इंडियन एक्स वीडियो

मैं- हां ले मादरचोद … तेरी मां की चूतरंडी की औलादभड़वी साली … तेरी मां भी चोद दूंगा भैन की लौड़ी लंड की प्यासी भोसड़ी वाली. मैंने ये कहते हुए उसे अपना गैस चूल्हा और सिलेंडर दे दिया कि मैं बाद में दूसरे सिलेंडर और चूल्हे का इंतजाम कर लूंगा. मैं तो वसुन्धरा के ऊपर से क्या उठता पर इस ज़ोर-आज़माईश में मेरे होंठों की पकड़ से वसुन्धरा के दोनों होंठ छूट गए.

कल्पना ने थोड़ा झिझकते हुए कहा- जब आपने नीचे किस किया, तो मुझे समझ में ही नहीं आया कि क्या हुआ मुझे, इतना अच्छा मुझे कभी नहीं लगा था, वो अहसास मैं कैसे बताऊं आपको, मेरी समझ में नहीं आ रहा है. फिर जागृति मेम ने मेरा एक हाथ अपनी एक चूची पर रख दिया और दबाने का इशारा कर दिया. सेक्सी पूरी नंगीअब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने उससे पूछा- कहां निकालूं मेरी जान?तो उसने कहा- अन्दर मत निकालना, मुझे तुम्हारा रस चखना है.

अब मेरे लंड को एक और बार चिकनाहट मिल गई थी और मेरे लंड के धक्के और ज्यादा अंदर तक सुषी की चूत को धकेलने लगे.

उसे भी मजा आ रहा था पर थोड़ी देर में भाभी की बाहर आने की आहट हुई, तो हम दोनों अलग हो गए. एक हाथ को नीचे ले जाकर उसकी चूत के ऊपर उसके लोअर के ऊपर रख दिया और दबाने लगा.

उन्होंने भी अपनी पीठ ऊपर उठाकर मेरा सहयोग किया, जिससे मेरा काम थोड़ा आसान हो गया और मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया. तो वो पूछने लगी- क्यों?मैंने कहा- मेरे डैड से मेरी बनती नहीं है, इसलिये मेरी मॉम ने मुझे ये अलग फ्लैट दिया हुआ है. मगर पहली बार पूजा की चूत में लंड गया था इसलिए न चाहते हुए ध्यान को यहाँ-वहाँ भटकाने की कोशिश करने लगा ताकि ज्यादा से ज्यादा देर तक उसकी चूत को निचोड़ने का समय मिले.

और मेरे लण्ड को सहलाते हुए बोली- अब मुझे भी चोदो!मैंने सारा के कपड़े निकाल दिए और उसे किस करने लगा.

मैंने उनका लंड पकड़ कर कहा- खबरदार जो किसी और की चूत की तरफ लंड उठाकर देखने की कोशिश भी की तो! मुझे पता था कि अगली बार सप्ताहों तक लंड महाराज और चूत का मिलन न हो पायेगा इसलिए मैं उनके लंड को अपने दोनों चूतड़ों के बीच में फंसा कर सो गयी. पहले उन्होंने मेरा पूरा मुँह रंगा, फिर मेरी शर्ट में हाथ डाल कर पूरे सीने, पेट और पीठ को रंगा. हमने दोनों ने ही साथ में खाना खाया और खाना खाकर फिर से टीवी देखने लग गए.

সেক্স পিকচার দেখাওमैंने इधर-उधर देखते हुए चुपचाप उसके होंठ पर उंगली रखी और फिर उंगली उसके मुँह में डालकर इधर-उधर घुमाया और फिर अपने मुँह में वही उंगली डाल कर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगा. मैंने झट से उसकी आवाज़ दबाने के लिए जल्दी से उसके मुँह को बंद कर दिया.

sex video हिन्दी

भाभी बार बार ये देख कर मुस्करा रही थीं, साथ में मैं भी मुस्करा रहा था. मैंने कहा- साले का जितना लाल दिख रहा है, उतना गर्म है नहीं … वरना अभी तक तो काम हो जाता. वो … मैंने आज अंजलि को दे दी सर …” पिंकी ने हड़बड़ा कर कहा।ओह … हां … इसकी तो और भी बड़ी-बड़ी और मस्त हैं.

पापा का बिजनेस अच्छा चलता था, तो बचपन से ही हमें किसी चीज की कमी नहीं थी. भाभी- क्यों प्रवीण, मुझमें ऐसा क्या है?मैं- क्योंकि भाभी आप का फिगर मुझे बहुत अच्छा लगता है और आप तो बहुत हॉट एंड सेक्सी हो, मेरा तो मन करता है कि आपकी किस ले लूँ. शीतल ने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और मेरे मुँह पर अपनी चूत रख कर बैठ गई.

मैं पंजाब पहुँचा जहाँ अजय मेरा पहले से ही इंतजार कर रहा था!अजय अपनी कार से मुझे अपने घर ले गया. यह देखते ही जीजू ने अपना एक हाथ मेरी चूत पर रख दिया और बोले- शरमाओ मत मेरी साली रानी, लो मैंने तुम्हारी पिंकी को अपने हाथ से छुपा लिया, अब इसको कोई नहीं देख पाएगा, वैसे तुम्हारी चूत बहुत ही सुंदर है. यहाँ पर मेरे सिवा कोई नहीं रहता क्योंकि पापा गांव की मार्केट में दुकान पर रहते हैं और पापा के साथ सब वहीं पर रहते हैं.

नया नाड़ा तो मैं अभी अपने वॉर्डरोब में से निकाल लाता हूँ और साथ में कैंची भी. घर पहुँच कर मैंने महसूस किया कि मेरी चाल बदल चुकी थी, मेरे चलने फिरने में वो पहले वाली बात नहीं रह गई थी, मेरी चूत में भी अजीब से फीलिंग हो रही थी पता नहीं क्यों?अगले दिन मैं स्कूल नहीं गयी, मन ही नहीं कर रहा था तो सारे दिन अपने रूम में बेड पर पड़ी रही और अपनी पहली चुदाई की एक एक बात याद करती रही.

तभी मकान मालिक किराया लेने आ गया और मुझसे बोला कि तेरे पापा से बात हुई थी.

जैसा कि आप सभी जानते ही हैं कि इस उम्र में चुदाई करने का कितना मन करता है. लैंड बॉसी का वीडियोवो बहुत गर्म हो चुकी थी और कह रही थी- प्लीज प्रवीण अब चोद दो, घुसा दो अपना लंड मेरी चूत में. नौकरानी की चुदाई सेक्सी वीडियोउस दिन हम दोनों ने काफी देर तक बात की और उसी बीच अंजलि ने मुझे खाना खाने का कहा. पहले तो थोड़ी देर मैंने उनके चूतड़ों को हाथ से मसला, फिर अपने मुँह से उनके चूतड़ों को चूमने लगा.

शुरुआत में तो उसने मुझे कुछ नहीं बताया था, लेकिन धीरे धीरे उसकी अपने ब्वॉयफ्रेंड्स से फ़ोन पर बातों से मुझे समझ आने लगा.

मैं खाना खा रहा था, तभी मेरे दिमाग में एक आईडिया आया, मैं बोला- काश अभी भाई होता तो मेरे पैरों की मालिश कर देता, तो मेरा दर्द थोड़ा कम हो जाता. तभी स्नेहा ने अपना पैर मेरे ऊपर किया और मेरे लंड को स्पर्श करते हुए रगड़ने लगी. मैंने एक दो बार फिर से हाथ नीचे लेकर जाने की कोशिश की, पर उन्होंने मुझे हर बार रोक दिया.

उसके झुकते ही मुझे मेरे चूतड़ों के बीच कुछ गर्म कठोर चीज महसूस हुआ कि ये उसके सुपारे का स्पर्श था. लेकिन दिल में एक खुशी भी थी कि चलो इसी बहाने मैंने पम्मी आंटी को नंगी तो देख लिया. उम्म … आआ … आह्ह …इस तरह की कामुक आवाजें निकालते हुए उसने मेरे हाथों को पकड़ लिया और मैंने उसकी जांघों को पकड़ लिया.

वीडियो ब्लू मूवी

वो न तो दिन में कभी मेरे करीब आने की कोशिश करती थी और न ही रात को लाइट जला कर मुझे उसके बदन को देखने का मौका देती थी. वह कंपनी में मैनेजर तो है ही और मेरा अंदाजा था कि वह मुझे किसी अच्छी जॉब पर लगवा देगा. उसकी हाइट करीब 5’4″, बिल्कुल सोने जैसा रंग और फिगर भरीपूरी यही कोई 32-30-36 का होगा। अब ऋजु को देख मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था और मैंने आगे बढ़कर अपना हाथ ऋजु के हाथ पर रख दिया। वो नीचे नजर करके मन्द मन्द मुस्कुराने लगी.

मैंने देखा कि इस उम्र में भी ताऊ की चुदाई किसी नौजवान के लंड से कम नहीं थी.

मैंने कहा- भाई जान, मेरे पुट्ठे भले थोड़े ज्यादा हों, पर हथियार तो आपका मजबूत है.

मैंने कहा- देखती हूँ अगर कोई सवारी मिलती है तो!उसने कहा- चलिए आज मैं आपको छोड़ देता हूँ. आगे कैसे क्या हुआ, वो सब कुछ मैं अलग अलग हिस्सों में लिखते हुए सारी सच्चाई आप सब पाठकों के सामने लाऊंगी. जंगल चुदाई बीएफमैंने भाभी के बारे में एक अपने दोस्त से पूछा जोकि गांव में ही रहता था.

उसी समय मैंने मम्मी को तेजी से चोदना शुरू कर दिया था तो मेरा मोटा लंड मेरी मम्मी की चूत को भोसड़ा बनाने में लगा हुआ था. विशाल भाई से बात करने के बाद उन्होंने बताया कि उनकी कंपनी में एक कंप्यूटर इंजीनियर की जगह खाली है. मुझे घर पर छोड़ने के बाद वो वापिस चला गया और मेरे घर के अंदर भी नहीं आया.

हम दोनों ने सुषी को चुप कराने की बहुत कोशिश की लेकिन वह भी चुप नहीं हुई और आंटी भी चुप नहीं हो रही थी. क्या इसी को प्यार कहते हैं?हम दोनों काफी थक चुके थे और एक दूसरे के साथ काफी देर तक लिपटे रहे.

उंगली करने के साथ ही अपने गोल-मटोल चूचे भी एक हाथ से दबाये जा रही थी.

तभी सोनम बोली- हम तीनों बहनें बाहर दरवाजे पर रहेंगी, तुम चिंता नहीं करना, आराम से मिलना बंध्या … पर मिलने का पूरा बताना. एक महीने बाद भाभी दिन में ही अपने पति के साथ क्लीनिक पर आ गयी और घूंघट की आड़ से मुस्कराने लगी. सारा के पहले शौहर इमरान की बहन दिलिया को देख मेरा मन अब फिर बेईमान हो गया था.

सेक्सी भोजपुरी चोदा चोदी अरे अभी तो कह रही थी चोद दो!धीरे-धीरे शारदा चाची ने दर्द कम होने का नाटक करते हुए अपनी गांड को उछालते हुए अपने भाई के लंड को अपनी बुर में लेना शुरू कर दिया. मैं अपना लिंग-मुण्ड वहीं टिका छोड़ कर वसुन्धरा के जिस्म के ऊपरी भाग पर छा गया.

करीब पाँच मिनट ही हुए होंगे कि सर ने अपनी बांहें फैलाकर हम दोनों के कंधों पर रख दी- शाबाश … जल्दी-जल्दी करो. कुछ देर ऐसे ही जवान भाभी की चुदाई करने के बाद मैंने भाभी को आंगन के फर्श पर लिटा दिया और खुद उनके ऊपर लेट कर अपना लंड उनकी चूत में घुसा दिया. इससे भाभी के बदन में आग सी लग गई, उन्होंने मेरा पूरा मुँह अपनी चूचियों में दबा लिया.

सेक्सी लड़की चुदाई वीडियो

मगर शरीर की चाहत के लिए कभी कभी मम्मा अपनी चूत में उंगली या मूली या गाजर डाल कर खुद को संतुष्ट कर लेती थीं. भैया ने आशा के भाभी के बालों को पकड़ा और अपने लंड की गोलाई पर भाभी के होंठों को फिराने लगे. जैसे ही वह बेड से उठी, वीर्य उसकी चूत से निकल कर उसके दोनों पटों पर बहने लगा.

जब कंडक्टर आया और उसने टिकट के लिए कहा, तो उसने मुँह फेर लिया और बाहर देखने लगी. फिर उसने कहा- जीजू, मेरे मुंह मे पेशाब कर दो प्लीज!मैंने उसके मुंह में पेशाब कर दी.

उसकी इस बात पर मैंने उसे मेरे साथ ऊपर सोने के लिए बोला तो उसने मना कर दिया और बोली- अगर किसी ने देख लिया तो कोई गलत सोचने लगेगा।तभी मैंने उठकर सीढ़ियों का मेन गेट बंद कर दिया और रूम का गेट भी बंद कर दिया और बोला- अब अगर तू मुझसे चिपक कर भी सोएगी तो भी कोई नहीं देखेगा।मेरे ये बोलते ही भावना का चेहरा लाल हो गया और मुझे गुस्से से देखने लगी.

तब मैं बोली- सुखबीर जी, अब आप ऊपर आकर करो और जल्दी झड़ जाओ, सुबह होने को है. उसने अपना दांया पैर मेरी कमर पर रख दिया और बांया पैर मेरे दोनों पैरों के बीच में दे दिया. रंगे सियार तो मुझे सख्त नापसंद हैं, रंगे सियार से मतलब जो लोग अपने बाल, और दाढ़ी मूंछ को काली डाई से रंग करके जवान दिखने का बेहूदा प्रयास करते हैं न वो; अब सफेदी तो झलक ही जाती है चाहे आप कितना भी जतन कर लो.

पर एक बात बता, तुझे डर नहीं ऐसे खुले आसमान के नीचे चुदवाते हुए?मैंने कहा- शुरू में डर लग रहा था … पर फिर जोश में होश खोने का बाद कहाँ खयाल रहता है दुनिया का।उसने बोला- चल मजा आया ना तुझे?मैंने कहा- बहुत मजा आया!और हम हंसने लगी।तो दोस्तो, आप सबको मेरी बिना शादी की सुहागरात की सच्ची कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बताइएगा।धन्यवाद।[emailprotected]. बड़ी देर तक अन्दर घुमाते रहे, फिर तेल से लसड़ा लंड मेरी गांड पर रखा और धक्का दे दिया. मैं झटके से उठकर बैठ गई, अंकल के हाथ पर एक चपत लगाकर उनको बोली- अंकल बस हो गया … अब मैं जा रही हूँ.

बाहर से सोनू गुस्से में बोली- कुतिया कहीं की साली … क्या मैंने कहा था आज ही खुजली मिटाने को … अब भुगत.

मुसलमानी का बीएफ: काफी देर धकापेल के बाद आखिरकार उन दोनों का पानी निकल गया और दोनों निढाल हो गए. भैया ने भी भाभी के बालों को पीछे की तरफ खींच रखा था जैसे भूरी घोड़ी पर काली लगाम हो.

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। आँखें बंद करके होंठ चुसाई का मजा ले रही थी। वो इतने उत्तेजक तरीके से मेरा होंठ चूस रही थी कि मैं रोमांचित हो गया था. जब मुझसे रहा न गया तो मैंने हिम्मत करके अपना एक हाथ उसके पेट पर रख दिया और धीरे-धीरे उसके बूब्स की तरफ बढ़ाने लगा. उसने लाल रंग का सलवार सूट पहना था और सफेद रंग का दुपट्टा ले रखा था.

मैं जहाँ पर जॉब कर रहा था वहाँ मुझे ज्यादा मजा नहीं आ रहा था काम करने में, इसलिए मैंने विशाल भाई से बात करने की सोची.

एक से एक खूबसूरत गोरी गुलाबी लड़कियां मेरे जीवन में आईं और उनका भोग भी लगाया लेकिन काली सलोनी लड़की पहली बार मेरे से टकराई थी. उसके मुख से एक आह निकली- आई ईईई … मादरचोद, बिल्कुल रांड समझ कर ठोक दिया अपना हथियार. जीजू- शिवांगी, तुम लंड तो मस्त चूसती हो, पहले कभी किसी का चूसा है?मैं- जीजू आप बहुत शरारती हो, पहली बार मैंने किसी का लंड देखा है तो कैसे चूस सकती हूँ फिर?जीजू- फिर तो तुम्हारी किसी ने चूत भी नहीं चूसी होगी, चलो आज मैं अपनी प्यारी साली की गोरी गुलाबी चूत को चाटने का शुभारंभ करता हूं.