हेलो सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,नेटवर्क बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

पंजाबी सेक्सी आवाज में: हेलो सेक्सी बीएफ, अशोक को अपनेबेटी की चूततो नहीं दिख रही थी क्योंकि वो जांघों में नीचे कहीं छुपी हुई थी और वो अपने आँखें फाड़-फाड़ कर अपनी बेटी के सामने ही उसकी चूत में नजर भी नहीं डाल सकता था, पर गांड और उछलती हुई चूचियों पर से वो अपने ध्यान हटा नहीं पा रहा था.

हिंदी बीएफ बीएफ ब्लू फिल्म

अब हम दोनों एक दूसरे को चोदते हुए अपनी प्यास को शांत करने पे ध्यान दे रहे थे. बीएफ सेक्सी एचडी में ब्लूमैंने उसका टावेल उतार दिया और किस करते हुए एक हाथ से उसकी चूचियां दबाने लगा.

तभी मैडम ने मुझे आवाज दी- हैलो कहां खो गए!मैं डरते हुए हकला कर बोला- क … कुछ नहीं … बॉस ने भेजा है मुझे. ससुर बहू की चुदाई का बीएफचूंकि उस पर अभी भी दवा का असर था, इसलिए उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और बिना झिझके वो मेरी चूत पर फिर से सवार हो गया.

उस वक़्त मम्मी ने साड़ी पहनी थी, पर उनके गहरे गले के ब्लाउज से उनकी चूचियों की लाइन दिख रही थी और संपत जी वहीं पर एकटक देख रहे थे.हेलो सेक्सी बीएफ: शाम को अशोक घर आया तो उसने बताया कि उसके बड़े भाई यानि के मयूरी के बड़े चाचा की तबियत अचानक ख़राब हो गयी है तो उसको देखने जाना है.

मुझे अंकित बोला- शरमा मत, तू अपना काम कर ले, मैं पीछे घूम जाता हूं.मुस्कान अब मेरे ऊपर पेट के बल लेटी हुई थी और उसका मुँह मेरे लंड को चूस रहा था.

पंजाबी में बीएफ सेक्स - हेलो सेक्सी बीएफ

मेरे सांवले हाथ में पकड़ा हुआ अंकल का गोरा लंड अब झटके भी ले रहा था.इससे मेरे शरीर में आनन्द की लहर दौड़ जाती। मेरे मुंह से आह आह आह की आवाजें निकलने लगी.

रजनी जी ने कहा- पर किसी ने देख लिया तो?फूफा जी समझ गए कि इनको चुदना तो है. हेलो सेक्सी बीएफ मैं दो मिनट के लिए वैसा ही पड़ा रहा, उनके दूध चूसता रहा और उनको चूमता भी रहा.

मैंने अपने एक हाथ से भाभी की टांग को जरा और फैलाया और साड़ी ऊपर करके उनकी चूत को खोल दिया.

हेलो सेक्सी बीएफ?

किसी पुरुष से शारीरिक संबंध के बाद उसका प्रेम और अपनत्व अत्यंत प्रगाढ़ हो जाता है. तुम्हारे साथ कोई फोटो तो नहीं है ना उसके पास?”उसने जवाब दिया- नहीं सर. चाची ने कहा- पास में तेल रखा है, उसे मेरी चूत और अपने लंड पे डाल और लंड को चूत में डालने की कोशिश कर … अगर दिक्कत हो तो रुक जाना.

मृदुला ने मुझसे कहा- राज, यू लुक्स सो हैंडसम!मैंने कहा थैंक्यू मेम. मैं वो दर्द दुबारा महसूस करना चाहती हूँ पंकज प्लीज़ एक बार में ही पूरा डालना. यों तो कई बार मैंने उसकी चूत चूमी थी लेकिन आज एक अलग स्वाद आ रहा था और मैं उसकी चूत में मदहोश होने लगा और उसकी चूत के अंदर जीभ से कुरेदने लगा.

कुछ देर बाद वो चाचा से बोला कि इसकी टांगें फैलाओ ताकि चूत को देख सकूँ कि यह चुदी हुई है या नहीं. मैंने उसके चुचे जैसे ही छुए मानो मेरे जिस्म में 11000 किलोवाल्ट का करेंट दौड़ गया. पति ने कहा- मेरा लंड तुम्हारी चुत में अटक गया है, धक्के मारूंगा तो तुम्हें दर्द होगा.

इसके बाद वहीं पास के जियो सेंटर से मैंने जियो की नयी सिम भी अपने आधार कार्ड से ले कर एक्टिवेट करवा कर ले ली. मैंने उससे साथ चलने के लिए इशारा किया तो उसने मना करते हुए कहा कि वो मुझे अपने साथ नहीं ले जा सकती क्योंकि यहां सब उसको और उसके पति को जानते हैं.

उसकी आंखें फैलकर चौड़ी हो गईं और उसने‌ दोनों हाथों से मेरी कमर को पकड़ लिया.

पर हम लोग तो चुदाई करने में मस्त थे तो किसको डोर बेल की आवाज सुनाई देती!तब चाची ने अपनी चाबी से दरवाजा खोला और अंदर आ गयी.

और इतना सुनते ही हम दोनों की हंसी छूट पड़ी।फिर मैंने प्रीति को कहा- ओह तो अब तुम बड़ी हो गयी हो।इसके बाद मैंने प्रीति से कहा- मेरी प्यारी ननद जी, मैं तुमको एक बार फिर से दोबारा बिना कपड़ों के अपनी चूत में उंगली करते हुए देखना चाहती हूँ।प्रीति बोली- मैं भी भाभी… आपको इसी हालत में देखना चाहूंगी. मैं जब छोटा था तो अक्सर बाथरूम के बाहर छुप कर अपनी माँ और बहन की चुत की सीटी सुनता था. उस वक्त चूंकि सिर्फ बात होती थी, उसमें सेक्स से भरी हुई बातें हुआ करती थीं तो हम दोनों ही बहुत हॉर्नी हो जाते थे.

तेरी दोनों बहन भी बहुत चुडक्कड़ हैं, जब लालजी को मैं दारू पिला देता हूं, तो लालजी नशे में मुझे सब बताता है. मैं अपनी चूत को बहुत साफ़ रखती हूँ इसलिए उसको मेरी चूत चाटने में बहुत मजा आ रहा था. मैं सारा वीर्य उनकी गांड में आखिरी बूँद तक डालकर ऐसे ही कुछ देर तक उनके ऊपर लेटा रहा.

फिर ज्योति ने फाटक से लिंग को मुह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी वो … जैसे पोर्न फिल्मों में लड़कियां चूसती हैं.

लेकिन भाभी की तरफ से कोई उज्र नहीं हुआ तो मैंने उन्हें अपनी बांहों से पकड़ कर खड़ा कर दिया और उनसे चिपक कर उनकी पीठ सहलाने लगा. मेरे मुँह से लंबी लंबी सांसें निकल रही थीं और वो बेरहमी से बुरी तरह मुझे चोदे जा रहे थे. घर में सिर्फ मैं और मामी, सर्दी का मौसम और साथ में पूरी रात, माहौल तो बना हुआ था.

हम दोनों ने एक दूसरे को अपनी बांहों से इस कदर कसा हुआ था कि उसकी चूचियां मेरी छाती में गड़ रही थीं. फिर अशोक ने फिर से उसकी गांड और अपने लंड पर बहुत सारा तेल लगाया और अपना लंड अपने बेटी की मखमल जैसी गांड पर रखकर सेट करके पूछा- बेटी, तुम तैयार हो?मयूरी- कब से पापा… मैं तो हमेशा से चाहती थी कि आप मेरी गांड उसी तरह मारें जैसे आप मम्मी की मारते हो. मैंने उसके गाल पे किस किया, फिर उसके गले और गर्दन पर किस करते हुए उसको बेड पर लेटा दिया।तब मैंने आंटी की सिल्की नाइटी को तुरंत निकाल दिया और मेरे कपड़ों को भी निकाल फेंका।आंटी का गोरा बदन देखकर मेरा 8 इंच का लौड़ा तुरंत खड़ा हो गया, मैंने उसको किस करना शुरु किया, फिर मैंने उसके बूब्स अपने हाथों में लिए.

चूंकि वो मेरी अच्छी दोस्त थी, तो एक बार वो मुझसे मेरी सेक्स लाइफ के बारे में पूछने लगी.

लगभर दस मिनट की इस नायाब क्रिया के बाद जब रजत के लंड ने अपना पानी छोड़ा तो मयूरी ने उसके लंड से निकले हुए एक-एक कतरे को चाट-चाट कर साफ कर दिया. इतने में मेरे दोनों दूध जम के पकड़ कर राज अंकल जोर जोर से मेरी चूत में अपने लंड के धक्का मारने लगे और फिर देखते ही देखते दो मिनट के अन्दर राज के लंड से बहुत ज्यादा गर्म गर्म लावा मेरी चूत में भरने लगा.

हेलो सेक्सी बीएफ तीसरे दिन मैं उनको मॉर्निंग 6 बजे होटल से लेकर उदयपुर के लिए निकला. अपने तकिये का एक कोना ब्लेड से काटकर उसमें से रुई निकालकर ब्रा में भर लिया.

हेलो सेक्सी बीएफ सब जगह देखने के बाद वो फर्स्ट फ्लोर पर एक रूम में किसी लड़की से बतिया रहीं थीं. भाभी अब भी कुछ न बोलीं, तब मैं वही हाथ धीरे धीरे उनके मम्मों पर ले जाने लगा और जैसे ही मैंने उनके मम्मों को पकड़ा, वो एकदम से सिहर गईं और मेरा हाथ छुड़ाकर बाथरूम से बाहर निकल गईं.

मेरी सहेलियों के साथ ऐसा हुआ भी है कि उन्होंने अपने ब्वॉयफ्रेंड से चूत चुदवाई और बाद में उनके ब्वॉयफ्रेंड्स ने उनकी बदनामी भी कर दी.

రేప్ సీన్

मैं अपने सिर को उत्तेजना में झटकने लगी और उनके सिर को अपनी छाती पर जोर से दबाने लगी. कैसे एक ही बार में मैंने तुम्हें एक्सपर्ट बना दिया।” अब इसका क्रेडिट भी उसी ने ले लिया।हो गया न. इससे अब पापा का चेहरा पूरी तरह से मयूरी की बांहों और चूचियों में कैद हो गया.

यह थी मेरी कहानी रेशमा के साथ!और मुझे नहीं पता था कि उसकी नौकरानी के साथ भी मुझे चुदाई करने का अवसर मिलेगा. मैंने उनके दोनों पैरों को फैलाकर चुत को सूंघा तो उनकी चूत से एकदम मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी. फिर मैंने एक प्लान बनाया और सोने की कोशिश करने लगा था कि मैं कल सुबह जल्दी उठ कर दोपहर को अपने प्लान पर काम कर सकूं.

नमस्कार मित्रो, मैं अनिल, मेरी उम्र चौबीस साल है, ये मेरी पहली कहानी है.

पायल के मम्मे इतने बड़े थे कि सुनील के हाथ में और मुँह में समा ही नहीं रहे थे. शुरू में भाभी मुँह फेरने लगीं और वापस छूटने की कोशिश करने लगीं, पर मैंने उन्हें कस के पकड़ रखा था. अब तो भाभी मुझसे अपनी आहें भरते हुए कहने लगी थीं कि प्लीज़ तुम अब देर ना करो.

मैंने सोचा अधिक इन्तजार करने से अच्छा है कि पैसेंजर ट्रेन से ही चली जाऊं. फिर मैंने मुस्कान को कस के पकड़ लिया और जोर जोर से उसके होंठों को चूसने लगा. थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उनकी जाँघों के बीच रखा और धीरे धीरे चुत पे ले गया.

इतने में जो सबसे एजेड अंकल थे, वे आए और सीधे मेरी चूत में अपना मुँह रख दिए और बोले- इसकी तो चूत बहुत बह रही है. कुछ देर बाद मैं एक लड़की के पास गई और उससे बोली- मुझे तुमसे कुछ पूछना है.

कारण थी एक लड़की … जिससे दोनों भाई प्यार करते थे और उसने दोनों को बेवकूफ बना कर मजे ले लिए. हाय मार डाला चोदू राजा, ठीक है कर ले, पर पहले मुझे तेरा मोटा तगड़ा गोरा-गोरा लंड अपने हाथ में पकड़ना है. मैंने उसको उल्टा लेटाया और पास रखी तेल की शीशी से तेल निकाल कर उसकी पीठ पर डाल कर मसाज करने लगा.

फिर टीचर ने अपने सारे कपड़े उतार दिए, उनका लंड और बॉडी देख कर मेरे तनबदन में आग सी लग गई.

दोस्तो, पिछली कहानीमालिक की बेटी के बाद उसकी बहन को चोदामें आपने पढ़ा था कि कैसे सतीश और बुआ जी का टांका सैट हो गया था और सतीश ने बुआ जी को चोद दिया था. मैंने बोला- इतनी उम्र का?तो वो बोली- उम्र से क्या होता, वो कितना पैसा मेरे लिए खर्च करता है और जितना सेक्स का मजा देता है, ऐसा तो कोई 25 साल का लड़का भी नहीं देगा. इसके बाद वो दोनों भी आगे आ गए जिनको अभी तक मैं देख भी नहीं पायी थी.

उन्होंने एक बड़े से होटल में कमरा बुक करवाया था, जो मुझे नहीं बताया था. मैंने उसको उल्टा लेटाया और पास रखी तेल की शीशी से तेल निकाल कर उसकी पीठ पर डाल कर मसाज करने लगा.

फिर उसने मुझे अपने ऊपर लिया और बोली- भितोर ठेलो (मतलब अन्दर डालो)मैंने गौरी की चूत पर लंड का निशाना लगाकर धक्का लगाया तो फिसल गया और साइड में चला गया. अब तक उसने अपने दोनों भाइयों को ट्राई कर लिया था और दोनों उसके चंगुल में फंस चुके थे. घर में अगले 3 घंटे के लिए मयूरी और उसकी खूबसूरत माँ अकेली थी थे और कोई डिस्टर्ब करने वाला नहीं था.

தமிழ் பேமிலி செஸ் வீடியோ

मैंने कहा- यह आपका घर है?उन्होंने कहा- हाँ!फिर बोली- मैं आज अकेली हूं घर में!मैंने पूछा- आपके पति? बच्चे?तो उन्होंने कहा- किसी बर्थडे पार्टी की वजह से बच्चे एक रिश्तेदार के यहां गए हुए हैं.

उसकी सेक्स की बात को लेकर मैंने उससे ज्यादा तो कुछ नहीं कहा बस उसकी जानकारी को जितना खुल कर बता सकता था, उतना मैंने उसको बता दिया. हम दोनों एक सी विचारधारा की थी तो अपनी पर्सनल बातें भी करने लगी थी. अशोक- अच्छा?मयूरी- हाँ…अशोक- फिर?मयूरी- फिर मैंने ये निश्चय किया कि मैं आपको आपका हक़ जरूर दूंगी अगर आप की मर्ज़ी हुई तो.

पर रजत ने अभी तक अपनी नजर ऊपर की नहीं थी तो उसको मयूरी के कुंवारी चुत के दर्शन अभी तक हुए नहीं थे. मुझे ख़ुशी है कि आप सबको मेरी कहानी पसंद आयी और आप सबने व्यक्तिगत रूप से मुझे ईमेल पर इसकी सराहना की. स्कूल या लड़की के बीएफ वीडियोखैर उन्होंने मेरी बात पर ज़्यादा ध्यान नहीं दिया और जो पैसे मुझसे लिए थे उनको लेकर चलते बने.

अपने खड़े लंड को चूत पर लगा कर एक झटका फिर से दे मारा मेरा और आधे से ज्यादा लंड प्रिया की चूत में घुसता चला गया. मेरी बात का अर्थ समझ के कम्मो का मुंह शर्म से लाल पड़ गया उसने अपना निचला होंठ दांतों से दबा कर हंसती हुई आँखों से मुझे देखा पर कहा कुछ नहीं.

अशोक ने अपने दोनों हाथों से मयूरी की कमर पीछे से पकड़ कर एक जोरदार झटका उसकी गांड पर मारा. उनके इस तरह गांड उछालने के कारण उनके मम्मे ज़ोर ज़ोर से उछल कूद करने लग गए थे. मेरे द्वारा गांड सहलाये जाने पर डीके भी थोड़ा सहज हुआ और अब वो जॉन के साथ साथ मुझे भी किस करने लगा.

पापा जी, कहां गया आपका वो?” वो अपना हाथ नीचे लेजाकर टटोलते हुए पूछने लगी. मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में आपको बता दूँ कि वो बहुत सेक्सी और हॉट लड़की है, उसका फिगर बहुत मस्त है. जगत देव अंकल ने ठोकर मारी और बोले- वन्द्या तू हम लोगों की रखैल बन जा.

वैसे आज तक किसी ने मेरा लिंग मुँह में नहीं लिया था और न किसी ने चूसा था तो मुझे इस अहसास के बारे में पता नहीं था, मेरा पहली बार था ऐसा! कसम से, मैं आपको बयाँ नहीं कर सकता … मुझे इतना मजा आ रहा था.

एक आगे की तरफ जो नियमित प्रयोग में आता था, वो अलग गली में खुलता था और दूसरा जो सिर्फ भैंसों के लिए था और घर के पिछले हिस्से में था. मेरा पूरा मेकअप करने के बाद उन्होंने मेरे साथ एक सेल्फी ली और बोले- चलो अब तुम बेड पर बैठ जाओ.

कहीं कुछ हो गया तो?”मैंने उसे प्यार से चूमते हुए उसे समझाने का प्रयास किया- देखो. ये सब उसने अकेली प्लान किया था और उसने सारी बात अपने परिवार में किसी को भी बताई नहीं थी. धक्के इतनी तेज और ताकत से लग रहे थे कि हर धक्के पर थप थप थप की आवाजें निकल रही थीं.

अरे ऐसा कोई कीमती सामान नहीं है, पर सब जगह ताला तो लगाना ही पड़ेगा न!” उन्होंने कहा और अदिति को साथ लिए निकल लिए. पर पेट पर वो कितनी देर तक मालिश करती, थोड़ी ही देर में उसको मयूरी की उन विशाल चूचियों का रुख करना पड़ा. मेरी सेक्सी स्टोरी पर आप अपने विचार मुझे मेरी मेल पर भेजें![emailprotected].

हेलो सेक्सी बीएफ आज मैं मेरे जीवन की एक और वास्तविक घटना को कहानी का रूप देकर आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रही हूँ. हम लोग बहुत घूमे और उसी दौरान हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे के करीब आ गए.

सेक्सी सेक्सी फिल्म मूवी

मैंने सोचा ‘यह क्या … आया था मैं यहां पर मालकिन के लिए … लेकिन यहां तो नौकरानी भी चूत खोले बैठी है! इसका मजा भी मुझे चख लेना चाहिए!जब वह मुझे बाथरूम में छोड़ कर बाहर जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़ा कर अपनी ओर खींच लिया और उसकी चूचियां दबा दी, साथ ही कस कर एक किस कर दिया मनमाने ढंग से!वो मुझसे खुद को छुड़ाने की कोशिश करती रही लेकिन वह असल में छुड़वाना भी नहीं चाह रही थी, मजा लेना चाह रही थी. मैं यहाँ मेरी कामवासना कहां बुझाऊं, उसके बारे मैं सोच सोच कर कई बार मुठ मार लेता हूं. बस 5 मिनट लगातार किस के बाद हम अलग हुए और मैं सीधा उसके चुत पर टूट पड़ा.

रात को वो अपना कमरा बंद कर लेता था और मुझे कह देता था कि अपना कमरा अन्दर से बंद रखना. यह कह कर अंकल खड़े हो गए और बोले कि चुत का खिलौना इसके अन्दर है, उसको निकाल लो. सबसे बढ़िया सेक्सी बीएफतब देखना सभी कैसे उछलती हैं, जैसे किसी मछली को पानी से बाहर निकाल दिया गया हो.

मुझे बहुत मजा आ रहा था उससे चूत चटवाने में!और बाद में मैंने भी उसका लंड चूसा और इस ओरल सेक्स में हम दोनों एक एक बार झड़ गए थे.

उसके मैसेंजर में उसने कई लड़कों से बहुत सी चुदाई की बातें की हुई थीं. वासना और चूत गांड चुदाई से भरपूर मेरी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.

मैंने कहा- अच्छा सुन, शहद है क्या?बोली- अब शहद का क्या करेगा तू हैरी?मैं- अरे दूध में शहद मिला के पीने से वो वियाग्रा का काम करता है. मैंने तब पूजा को अपनी बांहों में समाते हुए उसकी चूची पर चुम्मा देते हुए 5-6 जोरदार धक्के मारे और बोला- अरे पूजा रानी, क्यों नाराज़ हो रही हो? मैं तुमसे मज़ाक कर रहा था. एक दिन रात को वो मुझसे से मैसेज के थ्रू बात कर रहे थे, तभी उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैंने कभी सेक्स किया है?तो मैंने भी कह दिया- हां.

हिमानी तड़पने लगी, मैंने एक दो बार और अन्दर बाहर किया तो हिमानी दर्द से बिलखने लगी.

तो मैंने उनके पास जाकर पूछा- क्या हुआ दिव्या? कुछ बोल क्यों नहीं रही हो?दिव्या जैसे मेरे इसी प्रश्न का इंतजार ही कर रही थी, अपनी मां की ओर देखते हुए मुझे बोली- मैं जानती हूँ कि मेरी माँ एक औरत है, उसके शरीर की भी कुछ जरूरतें हैं. अब मैंने उसकी टी-शर्ट को हल्के हल्के ऊपर किया और उसकी पीठ को चूमने लगा. एक दिन रात को वो मुझसे से मैसेज के थ्रू बात कर रहे थे, तभी उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैंने कभी सेक्स किया है?तो मैंने भी कह दिया- हां.

सूरज बीएफमैंने अलमारी में से अपना पजामा निकाला और उसको बीच में से थोड़ा उधेड़ दिया ताकि मेरा पप्पू वहां से निकल सके. माइक को मैंने जवाब दिया कि मुझे सोचने का समय चाहिए, मेरे लिए घर से निकल पाना मुश्किल है.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में दिखने में

जैसे ही लंड ने चूत से दोस्ती की तो भाभी भी मेरा साथ देने लगीं और अपने चूतड़ उछाल उछाल कर मुझसे चुदवाने लगी थीं. इसी तरह लगभग बीस मिनट तक एक-दूसरे को जोर जोर से चूसने और चाटने के बाद अशोक ने अपना लोहे जैसा खड़ा लंड अपने जवान बिनब्याही बेटी की चूत में डाला और जोर-जोर से पेलने लगा. इतना कह कर पूजा पलंग से उठ कर नीचे खड़ी हो गयी और नंगी ही टॉयलेट की तरफ चलने लगी.

तू सब कुछ भूल कर इन पलों का मज़ा ले; ऐसा हसीन मौका और समय ज़िन्दगी में बार बार नहीं मिलता!” मैंने उसे कहा और अपनी शर्ट और बनियान भी उतार कर फेंक दी. उनका पेटीकोट ढीला था, तो मुझे उनका पिछवाड़ा भी दिख रहा था और उनके बोबे जोकि नंगे थे साफ दिख रहे थे. मैं बहुत ध्यान से लंड को देख रही थी कि अंकल का लंड एकदम साँप की तरह चमक रहा था और सुपारे के ऊपर वाली चमड़ी मेरे हाथ की उंगलियों से पीछे की ओर खिंचाव पाकर कुछ पीछे की ओर सरक गई.

अगले ही पल मौसी मेरे 7 इंच के लंड को चूस रही थीं और मैं मौसी के मुँह को ही चुत समझ कर चुदाई करने लगा. उसे एक झटका सा लगा था और उसने अपनी अवस्था का ज्ञान अपनी कमर हिलाकर करवाया. फिर मयूरी ने बातचीत शुरू की- पापा…अशोक- हाँ बेटा?मयूरी- आपको अफ़सोस है ना कि मैं आपको मेरी कुंवारी चूत के साथ नहीं मिली… और आप मेरी चूत का सील नहीं तोड़ पाए?अशोक- ऐसी बात नहीं है… पर हाँ, अगर ऐसा होता तो मुझे और मजा आता.

मैंने सोचा ‘यह क्या … आया था मैं यहां पर मालकिन के लिए … लेकिन यहां तो नौकरानी भी चूत खोले बैठी है! इसका मजा भी मुझे चख लेना चाहिए!जब वह मुझे बाथरूम में छोड़ कर बाहर जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़ा कर अपनी ओर खींच लिया और उसकी चूचियां दबा दी, साथ ही कस कर एक किस कर दिया मनमाने ढंग से!वो मुझसे खुद को छुड़ाने की कोशिश करती रही लेकिन वह असल में छुड़वाना भी नहीं चाह रही थी, मजा लेना चाह रही थी. एक दिन दीदी के सास ससुर हमारे घर आए, रात को वे लोग रुके, फिर तय हुआ कि शादी बाहर की जाए.

मैंने किसी तरह खुद पर संयम किया और उसको मसाज टेबल पे लेटने को कह कर कपड़े निकालने लगा.

उसके कमरे का एक दरवाजा भाभी के कमरे में खुलता था, जिसे वह बंद रखती थी और दूसरे दरवाजे के बाहर एक कवर्ड बरामदा था, जिसमें से सीढियाँ नीचे उनके ड्राइंगरूम में जाती थी. सपना चौधरी की सेक्सी वीडियो बीएफमेरी पुत्र वधू की भतीजी कम्मो मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी लेकिन कोई मौक़ा नहीं मिल रहा था तो वो निराश हो चुकी थी. योग सेक्सी वीडियो बीएफमुझे कुछ याद नहीं अंकल जी … आप मुझे बना तो नहीं रहे न?” कम्मो ने असमंजस से मेरी तरह देखा. उसने आप एक छोटी सी स्कर्ट पहनी और ऊपर में एक काले रंग का टॉप जो बहुत ही ज्यादा ढीला था.

अब मैं बिल्कुल निश्चिंत महसूस कर रहा था; सारी बाधाएं दूर हो गयीं थीं.

इससे मेरी चुत में और पेट में दर्द हो रहा था तो मैंने अपने पति से विनती की कि वो अपने वीर्य की धार मेरी चुत में छोड़कर छह दिन से सूखी पड़ी चुत को भिगो दें. मुझे महसूस हुआ कि मनीषा शायद की-होल से देख रही है, तो मैंने अपने रूम की लाइट भी ऑन कर दी. मैंने उसको टेबल से उठाया और दीवार के साथ खड़ा करके उसकी एक टांग उठाई और चुत में अपना लंड सीधा डाल दिया, जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत में घुसा, वो दर्द से चीखने लगी.

उस वक्त चूंकि सिर्फ बात होती थी, उसमें सेक्स से भरी हुई बातें हुआ करती थीं तो हम दोनों ही बहुत हॉर्नी हो जाते थे. उसने मुझसे कहा कि इस कहानी को अन्तर्वासना को भेज कर प्रकाशित करवा दूँ, इसलिए मैं यहां उसके लिए ये कहानी लिख कर भेज रहा हूं और उम्मीद करता हूं कि अन्तर्वासना के सभी पाठक इस कहानी को जल्द से जल्द पढ़ कर मजा ले सकें. रजत बिल्कुल समझ नहीं पा रहा था कि यह उसके साथ क्या हो रहा है, वो अवाक् रह गया पर फिर धीरे से बोला- अरे? क्यूँ दीदी?मयूरी- क्योंकि तुमने मुझे पूरा नंगा देख लिया है तो अब मुझे अच्छा नहीं लग रहा है.

बीपी जानवरों की

उनको ये सब बहुत अच्छे से आता था, मुझे भी इसे तैयार होकर अच्छा लग रहा था. आंटी के मम्मों की साइज़ का सही अंदाजा हुआ तो समझ आया कि आंटी चूचियां नहीं बड़े बड़े चूचे थे. अब मैंने उसे घोड़ी बना कर लंड उसकी चुत पे रखा, उसकी चुत टाइट तो थी नहीं सो थोड़ा सा प्रेशर दिया और पूरा लंड अन्दर चला गया.

मैंने उसका एक हाथ पकड़ कर लंड पर रख दिया, तो वो हल्के हल्के से मेरे लंड को दबाने लगी.

फिर उसने पायल के एक मम्मे को अपने मुँह में खींचा तो उसका पूरा चूचा तो मुँह में समा ही नहीं रहा था.

जैसे मेरी चूत में लंड घुसा लगा कि मैं मर गई, मुझे इतना तेज दर्द हुआ, तो समाली अंकल जल्दी से अपने होंठों से मेरे होंठों को काटने लगे. हाथ पे लगे तो सिग्नेचर… और दिल पे लगे तो नेचर तो, क्या इंसान भी बदल जाता है. ब्लू फिल्म सेक्सी चुदाई बीएफआज तू मुझे पूरा चोद दे और मेरी चूत भी फाड़ कर चाहे टुकड़े टुकड़े कर दे.

बड़े ही प्यार से रेशमा ने मेरे लंड से पूछा- मेरा बाबू … आज तुमको बहुत मजा आएगा इस रानी के साथ!मेरे लंड ने भी ऊपर नीचे हिल कर उनको जवाब दिया हां में!और उसके बाद रेशमा ने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और लंड चूसने लगी, वे लंड चूसने में एक्सपर्ट हैं, मेरी तो जैसे जान निकल रही थी. मैं हल्के हाथ से उसकी चूत में डूबी उंगलियों से चूत की दीवारों को सहलाने लगा. इस वक्त मेरे मम्मे चाचा जी की मर्दाना छाती से रगड़ कर सुख ले रही थी.

मैंने मालिश खत्म की और 5 मिनट के चुसाई के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. लेकिन मुझे कोई नहीं दिखाई दिया, तो किसी तरह मैंने स्नान किया और तैयार हो गई.

ये सब करते हुए मेरा लंड खड़ा हो चुका था और प्रिया की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर रगड़ मार रहा था.

गांड में तेल लगाने के कारण मेरा लंड पच पच की आवाज के साथ अन्दर बाहर हो रहा था. तुम्हें मेरी चुत की सीटी सुननी है तो टॉयलेट के बाहर खड़े हो कर सुनो. उसकी जुबान एकदम गुलाबी मुलायम थी, मैं उसे दांतों से हल्का रगड़ने लगा, जोर जोर से चूसने लगा.

फोटो चाहिए बीएफ कॉलेज में लंच के टाइम उसने अपने एक दोस्त को बोला कि मिलने के लिए रूम चाहिए, हमें रूम मिल गया. मयूरी- क्या आप जानना नहीं चाहते कि वो कौन लोग हैं जिन्होंने आपकी बेटी की जवान चूत का भेदन किया और उसकी सील तोड़ दी?अशोक- हाँ… जरूर जानना चाहूंगा… बताइये… कौन हैं वो लोग?मयूरी- वो दो लोग आपके अपने दोनों बेटे हैं.

जब हम बड़े हुए और प्यार का असली मतलब समझे, तो हम भी औरों की तरह बाहर अकेले मिलने के बहाने ढूँढने लगे. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ने वाले समस्त पाठकों को गोपाल कुमार का सादर नमस्कार! मैं बहुत दिनों से सोच रहा था कि अपनी चुदाई की नयी कहानी लिखूं लेकिन मौका ही नहीं मिल पा रहा था. उसके बाद में वो मेरी बॉडी पर साबुन लगाने लगे, मेरे लंड और गांड के छेद पर अच्छे से साबुन मल दिया.

सुहागरात हॉट सेक्सी

वो एक बार फिर से पायल के मम्मों को मसलने लगा और उसके निप्पलों को मरोड़ने लगा. अंकल के लंड की चमड़ी सुपारे के पिछले हिस्से पर से जैसे ही पीछे को हुई कि सुपारा एक मस्त टमाटर सा दिखने लगा. भाभी ने मेरे सर को जोर से पकड़ लिया और लम्बी लम्बी साँसें लेने लगीं.

दीमा के लंड ने ब्लोंड लड़की का मुंह वापस कब्ज़ा कर उसमे अपने मोटे लंड द्वारा उथल-पुथल करनी शुरू कर दी थी और मैं नताशा की दूसरी, बाईं बांह और वक्ष स्थल के बीच में लंड को घिसने लगा था. दरअसल हमारे कमरे में एक दरवाजा बंद रहता है, जो मकान मालिक के पास है, तुम्हारे भैया के टूर पर जाने के बाद बीच का दरवाजा हिमानी खुला रखती है। परंतु अब तुम आ गये हो.

वो बोला- अगर साथ तुम जैसी का मिलेगा तो शैतान नहीं तो और क्या बन सकता हूँ.

कुछ देर मिशनरी पोज में मेरी चूत में धक्के लगाने के बाद उनका गर्म गर्म माल मेरी चुत में उतर गया. वे इतनी तेजी से लंड अन्दर बाहर कर रहे थे कि जैसे कोई मशीन लंड पेल रही हो. पर बार बार माइक और मुनीर द्वारा पूछने पर अब मेरे दिल में हलचल सी होने लगी.

हम बाल्कनी में ही मजा लेने बैठ गए और हंसी मजाक नॉनवेज जोक, अपनी बीवियों की बुराईयां करना, कुछ प्लान बनाना शुरू हुआ. फिर धीरे से वो मेरे पेट को चूमते हुए मेरी झांटों तक पहुंचा और उसने अपने दांतों से खींचते हुए मेरे शॉर्ट्स को उतार दिया. प्रिया की चीख कहीं उसकी मम्मी को ना सुनाई दे जाए इसलिये जल्दी से मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में भरकर उसका मुँह बन्द कर दिया.

वह इतना बेशर्म था कि उसने इतनी भीड़ भरी सड़क पर भी अपना लंड चेन से बाहर निकाल कर मुझसे सटा दिया.

हेलो सेक्सी बीएफ: रात को करीब 8:15 पर उसका फ़ोन आया- मैं टॉयलेट में आ रही हूँ… तुम तैयार रहना. मैं अपनी जीभ से उसके निप्पल पर घुमाने और अपने हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा.

दबोचने के अंदाज में।उसने अपने हाथ मेरी पीठ पर पंहुचा लिये और मुझे कस लिया, जबकि अपनी टांगों को उठा कर उनसे मेरी जांघें जकड़ लीं।धक्के लगाने हैं?”नहीं. उस समय हम डॉगी स्टाइल में चुदाई कर रहे थे तो चाची को मेरा लंड पूरा का पूरा दिखाई दे गया. तब भी समय निकाला और आज मैं अपनी सच्ची बॉडी से बॉडी मसाज सेक्स कहानी लेकर आप सबके समक्ष उपस्थित हो रहा हूं.

यह हुए कहते आंटी ने मेरे लंड को हाथ में लेकर ज़ोर से दबाते हुए अपनी चुत के मुँह पर रख लिया.

उसने पैंटी नहीं पहनी हुई थी तो उसके अंतःअंगों का सीधा स्पर्श उसके पापा के होंठों और नाक से हो गया. उस दिन हम 3-4 घंटे साथ रहे, जिससे सोनिया भी मुझसे खुल कर बात करने लगी. हैलो, मैं राहुल बठिंडा से हूँ। मैं आप सब को मेरी सेक्स कहानी बताना चाहता हूँ। काफ़ी समय से मैं ये कहानी लिखना चाहता था, पर समय ही नहीं मिला। आज समय मिला है.