हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,लड़की का पानी कैसे निकलता है

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट एंड सेक्सी मूवीस: हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म, पिछले भागतान्त्रिक मसाज़ के बाद चुदाई का दौरमें आपने पढ़ा कि कैसे लड़की ने विदेशी महिला की तान्त्रिक मसाज़ करके उसके साथ लेस्बियन सेक्स किया, फिर अपने पति को बुलाकर उस महिला को सेक्स का भरपूर मजा दिलवाया.

खड़ा हो रहा है

उसे ट्रेन में बिठा कर लौटा, तो प्लेट फार्म पर ही रनवीर (पिछली कहानीगांड मराने का शौक क्या क्या न कराएका पात्र) दिखा. लाईव्ह सेक्सीऐसे तो मैं अपनी महिला ग्राहकों के भी स्तनों को देखता था, पर वीना मेरी उम्र से 4 साल छोटी थी.

फिर जैसे ही मेरा गांव आने वाला था, तो चाचा जी ने बाइक को रोकने का कहा. सेक्सी गीत वीडियोमैं सोचने लगा कि अगर भैया को भाभी ने ये सब बता दिया तो … या मेरी मां को बता दिया तो क्या होगा.

तो सरिता भी मेरे गाल को चूमती हुई बोली- सब तुम्हारी मेहरबानी है हर्षद.हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म: फिर एक दो दिन बाद उसने अपने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और उसे चूसने लगी.

उसने अपनी बांहों में मुझे जकड़ लिया और गांड उठाने लगी।मैंने भी लंड की रफ़्तार तेज कर दी.चूंकि ये मेरा पहली बार था इसलिए कम शराब में ही मुझे नशा ज़्यादा हो गया.

छूत में से खून कैसे निकलता है - हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म

मैंने पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत पर अपनी जीभ रखकर चाटना शुरू कर दिया.उसने झट से मुझे अपने पास खींच कर अपनी गोद में ले लिया, बैठे-बैठे ही अपने से चिपका लिया और हम दोनों के होंठ दुबारा से मिल गए.

मैं- पर भाभी टेस्ट ट्यूब बेबी भी तो कर सकते हैं न!भाभी- हां पर स्पर्म डोनेट कौन करेगा. हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म खैर … मैं अपनी बहन के बारे में फिर किसी और दिन बात करूंगा, फिलहाल मैं अपनी स्टोरी पर वापस आता हूँ.

मैंने उन दोनों से पूछा- अब निकलूँ?तभी भाभी मुस्कुराकर बोली- हां अब निकलो देवर जी.

हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म?

तुम एक दिन के लिए आओ ना!मैंने कहा- वीडियो कॉल करो ना … हम आमने सामने बातें करेंगे. उन्होंने मेरी तरफ गुस्से से देखा और बोलीं- साले क्या इरादा है तेरा?मैं माफी मांगने लगा. आज मैं अपनी हॉट लड़की की देशी सेक्स कहानी बताने जा रहा हूं जो मेरे साथ आज से 7 साल पहले हुई थी.

मैंने उससे कहा कि भाभी मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में भर लो और जोर जोर से चूसो. दस मिनट बाद पापा ने अपने लंड का पानी मेरी चूत में ही छोड़ दिया और भैया मम्मी की चूत में झड़ गए. चोद लेना मुझे दबा कर जितना मन करे तुम्हारा!फिर हम दोनों ने अपना दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म के यूजर आईडी शेयर किए और रोज रात को बातचीत होने लगी।हमेशा हम दोनों सिर्फ सेक्स चैट करते थे और एक दूसरे को अपनी न्यूड्स शेयर करते थे।हम दोनों ने मिल कर एक डेट डिसाइड किया कानपुर में मिलने का।मैं ट्रेन से कानपुर गया.

विलियम के लगातार मेरी चूत के दाने को अपने मुंह में लेने के कारण अंत में वही हुआ जो मैंने सोचा था. कल बातें करते मैंने उससे कई बार कहा था कि वो काले रंग में बला की खूबसूरत लगती है. हमने उस दिन 5 राउंड लगाए और अलग अलग तरीके से जैसे उसको आइस मसाज … मतलब अपने होंठों में बर्फ दबा कर उसके पूरे बदन को मसाज दिया.

मेरी चुदाई इस तरह की हो गई थी कि वो जब भी मेरे घर आती, मुझसे चुदाई करवा कर ही जाती थी. [emailprotected]नई भाभी की चुदाई कहानी का अगला भाग:भाभी की प्यासी चूत और बच्चे की ख्वाहिश- 5.

रवि को चुदाई करते हुए दस मिनट हो चुके थे कि तभी उसकी स्पीड तेज़ हो गई.

जब हम वहां से फ्री हुए तो हमें बहुत अच्छी और फ्रेश फीलिंग आ रही थी.

मैं कुछ दिन उनके घर में रहा तो वहां क्या हुआ?दोस्तो, मेरा नाम ऋषभ है. उसके मुँह से निरंतर आवाजें निकल रही थीं ‘आंह बस कर यश … आहह … ओह … अहहह …’काफी देर तक मैं उसकी ऐसे ही चुदाई करता रहा. जब वो उठकर जा रही थी, तो उसके चूतड़ों की थिरकन देख कर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

निशा बोली- अमित आपने बोला था ना कि आप मुझे ठीक कर दोगे, तो अब ठीक करो … मुझे कल जिम जाना है. मैं- पर भाभी टेस्ट ट्यूब बेबी भी तो कर सकते हैं न!भाभी- हां पर स्पर्म डोनेट कौन करेगा. खाला ने सीधे कहा- जेबाँ तुम तो काफी सेक्सी हो, स्कूल में लड़के तुम्हारे पीछे लगे रहते होंगे?उसने कहा- अरे खाला क्या आप भी …वो शर्माने लगी.

क्या मस्त लग रही थीं भाभी … ब्लू कलर की साड़ी, ब्लैक ब्लाउज फिगर 34-30-36 का, एकदम कयामत लग रही थीं.

रिया के मुँह से बस कामुक सिसकारियों की आवाज ही निकल रही थी और उसके हाथ लगातार मेरे बालों में चल रहे थे. वो चाहकर भी कुछ नहीं कर पा रही थी और उसे उस जलन के आगे कुछ नहीं दिख रहा था. ये कहकर मौसी मेरे होंठों को चूसने लगीं और मैं भी पागलों की तरह और ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा.

अब भाभी मेरे सामने केवल पैंटी में थीं और उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी. भाभी बोलीं- अब चोदेगा भी, या चमाट ही लगाता रहेगा?इतना सुनते ही मेरा लंड उनकी चूत में वापस समा गया. अब मैं सरिता की चूचियां और जोर से मसलने लगा और उसके निपल्स भी उंगलियों में पकड़कर मरोड़ने लगा.

शायद सौम्या डार्लिंग ने मेरी फूली हुई पैंट को देख लिया था और मेरी उत्तेजना को नोटिस भी कर लिया था.

मजाक मजाक में मैंने पूछा- चाची, मेरे साथ मजा आया था ना?तो उन्होंने शरमा कर मुंह नीचे करके हाँ में गर्दन हिला दी. मैंने सोचा कि पहले भाभी की चूत को लंड का स्वाद चखाता हूँ, बाद में गांड की बात देखूंगा.

हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म शिल्पा की मादक आवाजें बदस्तूर निकल रही थीं- आहह यश आह … और जोर से और जोर से करो. सुर्ख गुलाबी रंग का कामदार लहंगा और नेट की चूनर में भाभी की जवानी मस्त दिख रही थी.

हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म पंजाबी भाभी सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ. सौम्या मुस्करा कर बोली- तुम कितने कमीने हो … अपने बाप की सुहागरात में अपनी मम्मा को चोदने आए हो और अपनी मम्मा के मुँह में लंड दे दिया.

पुलकित को भी शायद मेरी इस हरकत का पता चल गया था और वो भी जानबूझ कर मेरे पीछे आकर अपना लौड़ा मेरी गांड पर टच कर रहा था.

सेक्सी वीडियो बढ़िया वाली

इस तरह से दोस्तो … निशा की शादी होने तक मैंने निशा और शिल्पा को बाथरूम में, स्टोर रूम में … और निशा के रूम में बहुत बार चोदा. मैंने जानबूझ कर कहा- भाभी, भैया का तो प्रमोशन हुआ है, फिर भी आप दोनों लड़ रहे थे!भाभी- तुम्हें कैसे पता?मैं- रात में मैं पानी पीने के लिए नीचे आया, तो पता चला कि आप दोनों लड़ रहे थे. हुआ यूं कि जब सब कार्यक्रम निपट गए तो अब महिलाओं को खाना खिलाने की बारी थी.

मैंने तुम्हें काफी छोटे से बड़े होते देखा है, तो मुझे थोड़ा डर सा लगता है. उसने मेरी कमर पकड़ कर मुझे पीछे खींचा, जिससे उसका पूरा लंड मेरी चूत में समा गया. मैं उन्हें चोदने के लिए बेचैन था, वो भी लंड की तलबगार थी पर डरती थी शायद!दोस्तो, मैं गौरव एक बार फिर से देसी आंटी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

जैसे ही उन्होंने मेरी तरफ देखा तो पूछने लगीं- कुछ चाहिए?मैं- नन ना.

वो रोज की 5-6 सिगरेट भी पीते हैं और उनके मुँह से हमेशा सिगेरट की दुर्गन्ध आती रहती है. रगड़ रगड़ कर और चूस चूस कर रेखा के दोनों गोरे गोरे स्तन लाल हो गए थे. मैंने मजा किरकिरा न करते हुए उसकी चूची को दबाना शुरू कर दिया और साथ ही जीभ से उसके कान के पीछे चाटने लगा.

मैंने सरिता को हाथ देकर उठाया और सरिता बैठकर चुत से बहते हुए कामरस को देख कर बोली- बहुत दिनों के बाद मेरी प्यासी चुत की प्यास तुम्हारे मोटे लंड ने बुझायी है हर्षद!हां सरिता आज मैं भी बहुत खुश हूँ. मैं घबरा रहा था कि पता नहीं वो मेरे बारे में क्या सोचेगी, पर उधर से कोई जवाब नहीं आया. वहीं पर दीदी को अपनी पजामी में कुछ दिक्कत हुई और वो उन लोगों के सामने गांड ऊंची करके झुकी.

मैं अन्तर्वासना सेक्स कहानी की साइट का रेग्युलर पाठक हूँ और यह मेरी बहुत मनपसंद साइट है. मेरे शौहर के 3 साल पहले इन्तकाल के बाद आज पहली बार मेरे दिल में जज्बात काबू नहीं रहे.

पोर्न भाभी की कहानी के पहले भागअनजान भाभी की अन्तर्वासनामें अब तक आपने पढ़ा था कि रीटा मेरे साथ सेक्स करना चाहती थी मगर मैं हिचकिचा रहा था. वो मेरे होंठों को चूसकर बोली- हर्षद अब पूरा चला गया ना अन्दर … चूत में बहुत दर्द हो रहा है. इस पोज में हम दोनों को बहुत मजा आता है इसलिए मेरी प्यारी पत्नी को ये पोज पसंद है.

मैंने एक झटके में पूरा लंड चूत में घुसा दिया जिस पर उसने फिर से गहरी और लंबी सांस खींची.

[emailprotected]देसी न्यूड गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:भाभी की चचेरी बहन की मस्त चूत चुदाई- 2. मैंने उससे ऐसे ही कह दिया कि आज मैं पहली बार किसी लड़की के साथ चाय पर … या कहो डेट पर आया हूँ. वीना की उम्र उस वक़्त 19 साल थी और उसके चुचे अपने आकार में आ चुके थे.

मैंने मिनी के ऊपर लेट कर उसके माथे पर किस किया, उसकी आंखों को किस किया और उसके आंसू को चाट गया. फिर उनकी तरफ से यदि जरा सी भी हरी झंडी जैसी कुछ दिख जाए, तो लंड हाहाकारी बन जाता है.

रनवीर पंजाबी मुंडा गोरा भूरा मस्त … अब पहले से ज्यादा तगड़ा हैंडसम हो गया था. कोई इस खूबसूरत मुस्कुराती लड़की पर अपना दिल खो बैठे, तो मैंने भी कह दिया कि डेट पर आया हूँ … हा हाहा हा. मैंने आंटी को बिल्कुल दीवार से चिपका दिया था और आंटी के ऊपर अपना पूरा भार देकर उनको जोरों से दबा कर चोदने लगा.

सेक्सी वीडियो अंग्रेजी के

मैंने बोला- निशा, आपका दर्द अब कैसा है?उसने कहा- पैरों से लेकर कमर तक हो रहा है.

साथ ही मैंने एक हाथ से शिल्पा की गर्दन को पकड़ कर उसे अपने पास खींच लिया और उसके होंठों को चूमने लगा. लंच होते ही हम एक दूसरे की ओंठों की प्यास बुझाते।इस तरह कई दिन निकलने के बाद मैंने आगे बढ़ने की इच्छा जताई. तब तक आप मुझे मेल करें कि आपको हॉट सिस्टर Xxx कहानी कैसी लग रही है.

मैं रूम में आया तो देखा कि मेरी बहन बिस्तर के बीच में किसी चुदासी रंडी की तरह टांगें फैला कर ऐसी सोई थी, जैसे न्योता दे रही हो, आओ और चोद दो. अब पुलकित बोला- ये क्या कर रहा है सैंडी!मैं बोला- वही, जो तुम डांस फ्लोर पर नहीं कर सके थे. ठाकुर सेक्समेरे चूसने से भाभी की चूचियां सख्त होने लगीं और उनके निप्पल भी कड़क हो रहे थे.

अगले दिन मैंने उनका मोबाइल लेकर देखा तो उस कमेंट के जवाब में चाची ने लिखा था कि हां क्यों नहीं. दूसरी मंज़िल पर मेरे भाई और बहनों का रूम था और तीसरी मंज़िल पर मेरी चाची और मेरा रूम था.

मैं अपना एक हाथ सरिता की चुची पर रखकर उसे मसलने लगा … तो सरिता ने अपना एक पांव सीधा मेरी टांग पर चढ़ा दिया. तभी मैंने सोचा कि अब मैं होटल जाकर फ़लक के सरप्राइज की अपनी तैयारी करूंगा. अचानक से उसका मैसेज आया- गुड मॉर्निंग … आज मैं नहीं आऊंगी, आप प्लीज़ बस को रोकना, मैं बच्चों को भेज रही हूँ.

वो बोलीं- मार ले मेरी जान … चूत तो चोद ही ली है, अब गांड भी मार ले. ये बोल कर चाची शर्माने लगीं और बोलीं- अभी रात बहुत हो गई है, अभी जाकर सो जा. शाम को 6:00 बजे तैयार होते हुए मैंने लाल ब्लाउज और गोल्डन बॉर्डर वाली काली साड़ी पहनी.

मेरी आंखों का पीछा करती हुई वो भी लजा गई और उसने अपने पैरों से गोरी चुत ढकने का प्रयास किया.

आप कहें … तो मैं आपकी बीवी के कपड़े पहनकर, सजकर आपसे झगड़ा करने का नाटक करूंगा. मौसी- हां, अच्छा हुआ तुम आज आ गए … वर्ना मुझे आज से अकेली ही रहना पड़ता.

मैंने पूछा- क्या हुआ … रस टपका न!वो बोला- एक बार झड़ने के बाद मुझे देर लगती है. मैं असल में तो उसे नहीं चोद पाया पर मैं उसे चोदना चाहता था तो कल्पना से यह कहानी लिख दी. मेरी मम्मी आज घर पर नहीं थीं वो अपने स्कूल के काम से शहर से बाहर गई हुई थीं और मेरा भाई मेरे लिए कोई समस्या नहीं था.

हम दोनों सेक्स के लिए जब गर्म हो जाते हैं, तो फोन से एक दूसरे को बुला लेते हैं. मैंने उससे कहा- तुम कपड़े क्यों उतार रहे हो?उसने कहा- कपड़ों में तेल लग जाएगा तो ख़राब हो जाएंगे. दस मिनट बाद हार्दिक झड़ने वाला हो गया था तो हार्दिक ने शनाया से कहा.

हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म उसने मुझे कहा- तब तो बहुत ही मजा आएगा और मुझे तुम्हारी गांड मारने का भी मौका मिल जाएगा. ’मैंने फिर वैसे ही पानी पिया और पानी गर्दन से होता हुआ बूब्स में चला गया.

मशीन की सेक्सी पिक्चर

मैं खड़ा हो गया और उसे घोड़ी बना दिया, पीछे से उसकी चूत को चाटने लगा. सरिता भाभी और सोनाली नाश्ता लेकर आईं और सबको नाश्ता की प्लेट देने लगीं. मैंने बाहर से राहुल को मैसेज करके बता दिया कि अब मैं बाहर आ गया हूँ.

मेरी मम्मी ने यह पुरानी घटना अपनी एक सहेली को मेरे सामने ही बतायी थी जिसे मैंने सुन लिया था. अब मुझे रात का इंतजार था कि कब वह हमारे घर आए और कब कुछ बात बन सके. लड़की की चूची दिखाइएमेरी गारंटी है कि मुम्बई पहुँचने तक तुम खुद लपक लपक कर अपने कमीने को प्यार करोगी.

सरिता अपनी बांहों में कसकर बोली- हर्षद, अब जल्दी से अपना मोटा और लंबा लंड मेरी चुत में डालकर अपने लंड का अमृत पिलाकर मेरी प्यास बुझा दो … मेरी चुत तड़फ रही है.

बाजार से आते वक्त मैं सेक्स की गोली लेते हुए अपने कमरे पर आ गया था. बहुत दिनों से मेरी इच्छा थी कि कोई आए और मेरी गांड में लंड डालकर मुझे चोदे.

सरिता मदहोश होकर सिसकारियां लेने लगी- ऊफ्फ उन्ह आह आह हूँ हुं स् स्ह स्ह हा!उसके मुँह से मादक आवाजें निकल रही थीं. आप मुझे मेल करना न भूलें कि आपको मेरी फंतासी से भरी ये सेक्सी कॉलेज गर्ल Xxx कहानी कैसी लगी. कुछ देर बाद जब अदिति को थोड़ा आराम हुआ तो मैंने लंड को पीछे खींचकर एक जोर का झटका मारा.

इस समय चाची की चूत पूरी खुल कर दिख रही थी, जिसे देख मेरे लंड में भी आग लगने लगी थी.

वो हार्दिक से बोली- अब नहीं रहा जा रहा … जल्दी से लंड डाल दे चूत में. तेरा कुछ करने का मन किया?मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारा भी ऐसे ही मन कर रहा है?उसने मेरी तरफ देखते हुए कहा- हां. अब जब मैं उसकी सिसकारियां सुनता तो और जोर जोर से अपनी उंगली को चूत के अन्दर बाहर करने लगता जिससे शिल्पा को मजा भी आ रहा था और उसकी चूत काफी गीली भी हो गई थी.

ब्लू फिल्म खुल्लम खुल्लाशिल्पा की तेज आवाज निकलने वाली थी लेकिन मैंने झट से उसके मुँह को अपने होंठों से दबा दिया. यह कहानी मेरे दोस्त सौरभ की है जो उसके और उसकी मौसी की बेटी शिखा के बीच घटी थी.

गांव की लड़कियों की हिंदी सेक्सी फिल्म

सब लोग सीधे अपने कमरों में चले गए और वह लड़की मुझे देख कर वॉशरूम जाने के बहाने बाहर आ गई. चुम्बन में हमारी जीभ ऐसे लड़ रही थी जैसे न जाने क्या जादू हो गया हो. इतना कहकर वो अपनी गांड उठाकर मेरा साथ देने लगी, साथ में अपने दोनों हाथों से मेरी गांड सहला रही थी.

मेरा इतना कहते ही उसकी बांहों की गिरफ्त और तेज हो गई।ऐसा नहीं था कि आकांक्षा और मैं पहली बार गले मिले थे लेकिन इस बार अहसास अलग था. मैं गुजरात से हूं और यह कुवारी लड़की की सेक्सी कहानी मेरी एक सच्ची कहानी है. मेरे घर से कुछ ही दूर एक अलग ब्लॉक में मेरा खास दोस्त रहता है, जिसका नाम राहुल है.

मैंने कहा- ठीक है, जैसा आप कहो!तो दूसरे दिन दोपहर को मेरी बहन हमारे घर आ गयी. आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने और चाची जी के बारे में बता देता हूँ. तभी उसका पूरा बदन अकड़ने लगा और उसकी चुत ने अपना गर्म गर्म पानी मेरी उंगली पर छोड़ दिया.

मैंने उसके पास बैठ कर देखा तो वो मोबाइल में चुदाई की कहानी पढ़ रही थी. मैंने उनकी बात सुनी तो एक ही झटके से अपना आधा लंड उनकी गुलाबी चूत में उतार दिया.

मुझे लंड चुसवाते समय ऐसा लग रहा था कि मैं जन्नत में सैर कर रहा हूँ.

मैंने शिल्पा को दीवार की तरफ खड़ा कर दिया, जिससे उसका चेहरा दीवार की तरफ हो गया था. ऐक्स ऐन ऐक्स डॉट कॉमजब शादी की तारीख तय हो गयी तो विलास ने मेरे घर आकर शादी का कार्ड देकर कहा- सब लोग शादी में आना!मैं, मां और पिताजी शादी में गए थे. चोदा चोदी वीडियो दिखाओउसमें एक लड़का बड़े उत्साह और खुशी से लंड चूस रहा था और गांड मरवा रहा था. आखिर में मैंने उसे अपने बैग से बिकिनी निकाल कर दी, जो कि पिंक कलर की थी.

वह- आह जीजू … मुझे पता होता कि इसमें कितना मजा आता है, तो मैं कब का आपके पास आ जाती.

मेरे लोअर में फूल चुका मेरा लंड जैसे ही साली की बुर में छूता, उसकी गांड अपने आप उठने लग जाती. इतने में विलास अपनी बाईक लेकर आया और मैं पीछे बैठकर सबको बाय करके आगे बढ़ गया. वो कुतिया सूंघते सूंघते यहाँ आएगी जरूर!दोनों ने लंच किया और मेज़ साफ करी।आशु ने अपने पहने कपड़ों में ही रही सही सफाई निबटानी शुरू की।अब उसने वैक्युम क्लीनर चला लिया था ताकि आवाज़ बाहर तक जाये।रेखा का मन अब सफाई में कहा था, वो इधर उधर से आते जाते आशु को चूम रही थी।तभी डोरबेल बजी.

उन दोनों ने मुझे किसी काम के लिए बुलाया था तो सोचा दोनों ही काम एक साथ हो जाएंगे।एलिस्टेयर के जाने के कुछ देर बाद मैं केविन और लांस से मिलने चली गई. पेशाब बंद होते ही सरिता ने आंखें खोलीं और मेरा लंड हाथ में लेकर बोली- हर्षद तुम बहुत शैतान हो. मैं शिल्पा के एक चुचे को दबा रहा था, तो दूसरे को मुँह में लेकर चूस रहा था.

जवान भाभी की सेक्सी चुदाई

फिर मैं झड़ने लगा तो मैंने लंड चूत से बाहर खींचा और लंड का पानी भाभी के बदन पर फेंक दिया. वह सोच में पड़ गई, तो मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?उसने बोला- साबुन नहीं है. उनकी पतली सी बिल्कुल सफेद दूध से भी साफ कमर पर काले रंग की पैंटी थी.

बचपन में जिसे हम सब मोटी मोटी कह कर चिढ़ाते थे, वो आज हुस्न की परी लग रही थी.

तो शीना और पारुल दोनों के छोटे से नाइट सूट या उनमें से झाँकते मम्मों से तुषार का तो तम्बू तन जाता पर इन दोनों की बेपरवाही में कोई फर्क नहीं था।वो इंतज़ार करता कि कब पारुल सो जाये और कब वो शीना को खींच ले अपनी तरफ।शीना को भी अब उसकी लत पड़ गयी थी। शीना को अब बिना तुषार का लंड पकड़े नींद नहीं आती थी।पारुल तो हर बार ही कहती कि वो नीचे गद्दा बिछा कर सो लेगी ताकि शीना की एक रात खराब न हो.

मैंने उसको कॉल किया तो उसने बताया कि अभी उसका पति घर पर है, इसलिए उसे थोड़ा टाइम लगेगा. अब मैंने चाची के होंठों को चूसना शुरू किया और धीरे धीरे उसकी चूत में लंड के धक्के लगाने लगा. दादा पोती चुदाईमैं उससे बात करने का प्रयास कर रहा था किन्तु वो मुझ पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रही थी.

जब हम लोग मेले में घूम रहे थे तो सब महिलाओं ने मौत का कुंआ देखने को कहा. अब मैं सीधे घुटने के बल आ गया और अपने दोनों हाथों से रेखा की कमर को पकड़ कर रखा. उन्होंने आगे बताया कि जब ज्यादा पैसे की जरूरत होती है तो मैं तेरी खाला को भी ले जाती हूं.

उनसे मैं कैसे चुदी?हेलो फ्रेंड्स, मैं जेसिका एक बार फिर नई कहानी के साथ उपस्थित हूँ. हम दोनों इतने ख़ास दोस्त थे कि हम हर चीज़ को एक दूसरे में बांट लिया करते थे, चाहे वो कोई खाने की चीज हो या खेलने की या गाड़ी.

सिमरन लगातार कामुक आवाजें निकाल रही थी- आह राज आह … क्या कर दिया है तुमने मेरी चुत में आग लगा दी है … आंह मुझे फाड़ दो मेरी जान!तभी मैंने उसके एक हाथ को पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया.

मैं भी अपने आपको रोक नहीं पा रहा था तो मैंने सरिता की चूचियां दोनों हाथों में पकड़कर जोर का धक्का मारकर पूरा लंड सरिता की चूत में जड़ तक ठांस दिया और उसकी पीठ पर अपना सर रख दिया. इस हमले से वो चीख पड़ी पर मैंने उसकी परवाह किए बिना धकापेल चुदाई जारी रखी. उसकी नाभि में जीभ डाल कर गोल गोल घुमाने लगा, ये शिल्पा को और भी ज्यादा मजा दे रहा था.

सेक्सी गर्ल ब्लू पिक्चर औपचारिकता पूरी करने के बाद मैंने सबसे पहले उसके रूम का बंदोबस्त कराया और उसका सामान क्लॉक रूम के लॉकर में रखवा दिया. पांच मिनट बाद मेरा लावा छूटने वाला था और चाची से पूछा कि माल किधर टपकाऊं?चाची ने कहा- अन्दर ही छोड़ दे, मैं गोली खा लूंगी.

कोमल के मम्मे चूसने में बड़ा मजा आ रहा था, उसके निप्पल काफी कड़क हो गए थे. उसने देर रात का इसलिए कहा था ताकि जब मेरे घर के सब लोग सो जाएं और उसकी दादी भी गहरी नींद में सो जाएं तब हम दोनों आराम से मिल सकें और सेक्स कर सकें. तब एक बार और … क्या हुआ हुआ, समझ गए न!बहुत दिनों बाद उस तरह की चुदाई से मैं भी खुश थी।उसके बाद हम तीनों ने पूल में मस्ती की और फिर आकर मैंने कपड़े पहने.

बुढ़िया वाला सेक्सी वीडियो

इसमें बड़े चाचा चाची, उनका बड़ा बेटा और दो छोटी बेटियां, छोटे चाचा और चाची, दो बेटे और एक बेटी … और ताऊजी ताईजी, उनका एक बेटा और बेटी रहते हैं. मैंने देखा कि उसने फ्रिज में रखी आइसक्रीम उठा ली थी, वो आइसक्रीम मेरी चूत में भरने का प्रयास कर रहा था. अब पत्नी ने अपनी गांड उठाकर मुझे चोदने की अनुमति दे दी तो मैं अपना सात इंच का लंड पत्नी के चुत में अन्दर बाहर करके आराम से चोदने लगा.

लंड लेते ही भाभी की सांस अटक गयी वो कुछ बोलतीं, इससे पहले मैंने अपना पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया. जब मैं वापस आया तो देखा कि चाची का गाउन कुछ ज्यादा ही ऊपर ऐसे उठा हुआ था, जैसे कह रही हों कि बेटा आ जा मेरी गांड मार ले.

अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने कहा- आप बुरा न माने तो मैं एक चीज करना चाहूंगा.

वो अपने मुँह से ‘आह आह आह …’ की आवाजें निकाल रही थी, जो मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. मैं खुश हो गया पर मैंने उससे कहा- ये क्या है?वो बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- इसकी क्या जरूरत थी?वो बोली कि तुम्हारा फ़ोन टूट गया था. मुझे देखते ही उन्होंने मुझे ‘गुड मॉर्निंग गौरव …’ बोलते हुए कातिलाना आंख मारी.

दीदी- उहहह … आहहह धीरे करो … ईहहह मजा आ रहा है आहहहसभी ने दीदी को खूब चोदा. और दोनों ही टॉवल में थे।यह समझते मुझे देर नहीं लगी कि दोनों कहाँ गायब हो गए थे।फिर … फिर क्या … चुदने के लिए तो मैं तैयार थी ही … तो उसके कुछ देर बाद मैं दोनों के सीने पर हाथ फेरने लगी. फ्रेंड्स, मैं हर्षद आपको अपनी गरम सेक्स कहानी में एक बार फिर से मजा देने के लिए हाजिर हूँ.

मैंने उसे डाक्टर को दिखाया तो डॉक्टर ने कहा- अदिति को टायफायड हो गया है … और यह बहुत कमजोर भी हो गई है.

हिंदी हिंदी में बीएफ फिल्म: ‘अच्छा मैं ही बदमाश हूँ और तुम?मैंने कहा, तो सरिता बोली- अब चुप करो. उसने कहा- तुम पूरे चालू हो और ये क्या माल … मैं कोई गन्दी लड़की हूँ, जो मुझे माल बुला रहे हो.

मौत के कुंए का खेल जैसे ही चालू हुआ, तो मुकेश ने फिर से अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और मेरी गांड को दबाने लगा. मम्मी भैया के लंड को चूस रही थीं और पापा ने मेरी चूत में अपने बड़े लंड को घुसेड़ दिया था. कुछ देर इसी तरह चूमाचाटी में ही हम दोनों को कब नींद आ गयी, कुछ पता ही नहीं चला.

कहानी के पिछले भागअनजान टूरिस्ट से चुदने होटल में चली गयीमें आपने पढ़ा किअब आगे फुल नाईट सेक्स की कहानी:10 मिनट तक एक दूसरे को प्यार करने के बाद उसका लण्ड दुबारा से पूरे विकराल रूप में आ चुका था.

तब उसने दूसरा धमाका करते हुए बताया- वह लैटर उसने मेरे लिए नहीं बल्कि तुम्हारे लिए भेजा है. मम्मी बोलीं- खाना बनाना पड़ेगी बेटी, तुम लोग बातें करो, मैं खाना बना देती हूँ. मैं लगातार तड़फ रही और चीख रही थी- अहहह उउईइ मांआ मर गई …मेरी चुत फट गई.