सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर

छवि स्रोत,देसी सेक्सी फिल्म बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

डोरेमोन की मूवी: सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर, भाभी इठला कर बोलीं- हां बोलो?मैं- एक बार मुझसे सेक्स करवा लीजिए ना!भाभी मुँह टेढ़ा करके बोलीं- हां कर लो, मैं ये रही.

डोके सेक्सी व्हिडिओ

काफी दिनों में अब जाकर मैंने ये कहानी पूरी की है।यह कहानी 5 साल पहले की है जो मेरे साथ बीती सच्ची घटनाओं पर आधारित है, मेरी शादी को जब 1 साल ही हुआ था।मेरी पत्नी का नाम शालिनी है, घर में सभी प्यार से उसे शालू बोलते हैं. बिहारी सेक्सी वीडियो फुल हदमुझमें अब और लंड लेने की हिम्मत नहीं थी पर गांड में अब खुजली सी मची हुई थी.

उसकी अम्मी आंखें बंद करके अपने बेटे को अपनी बांहों में समेट कर आहें भर रही थीं ‘आह … आह …’उनकी मादक आवाज निकल रही थी. सेक्सी भोजपुरी विडिओमैंने भाभी से कहा- ये आपकी सगी बहन हैं?भाभी बोलीं- नहीं, ये मेरे चाचा की लड़की है और गांव से मेरी मम्मी के साथ आई है.

कुछ देर के बाद वो दोनों नंगी हो गईं और मुझे भी चड्डी उतार कर नंगा कर दिया.सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर: कभी चुत चोदने का मन नहीं करता क्या!सूरज बोला- भाई मुझे उसकी कोई चिंता नहीं है.

इतनी देर हुई चुदाई से उनकी हालत खराब हो चुकी थी, वो अब चिल्ला भी नहीं रही थी, बस टांगें चौड़ी करके चुदाई का मज़ा ले रही थी।फिर थोड़ी और चुदाई के बाद उनके शरीर ने ज़वाब दे दिया और उन्होंने मुझे जकड़ लिया.मेरे अब्बू का नाम हाशिम है, वो पेशे से एक बिजनेसमैन हैं और एक नेटवर्क मार्केटिंग का काम करते हैं.

मुसलमानों की सेक्सी फोटो - सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर

वो मेरा सर पकड़कर चूत में दबा रही थी और मैं पूरी शिद्दत से उसकी चूत चाट रहा था.जब जब मैं अपने हाथ से उसकी नाभि को सहलाता, उसकी चूत तक हाथ ले जाता, वो सिहर उठती और अपने आपको मेरी छाती में छुपा लेती.

मैंने प्रिया के गले, होंठों, कंधों, पेट हर जगह किस किया और खूब चाटा. सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर छुट्टियां हो गई थीं तो मैं अपने चाचा के यहां आ गया था और मस्ती से छुट्टियां काट रहा था.

दीदी को मैं इतना गर्म कर देना चाहता था, जितना उत्तेजित जीजाजी जिया दीदी को नहीं किया होगा.

सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर?

मैं भाभी के चुचों पर काटने के निशान छोड़ने लगा और भाभी सिसकारियां लेती हुई कहने लगीं- उफ्फ्फ … ईस्स … आह चूस ले इन्हें …. एक मिनट यूं ही मेम को अपने लौड़े पर लिटाए रख कर मैंने उनसे फिर से पोजीशन बदलने को कहा. मैं हफ्ते में या महीने में एक या दो बार जब कॉलेज ऑफ होता है, तो घर चली जाती हूँ.

तो उसका भी हौसला बढ़ गया और उसने मुझसे धीरे से कहा- आपके हाथ बहुत ही सुंदर हैं. फिर तूने मना किया तो खड़े लंड को शांत करने के लिए तेरी मां चोदने का मूड बन गया. तो मैं सासू माँ के ऊपर से हट गया और उनको मौका दिया अपना ज़ोर दिखाने का!मैं लेट गया.

कहानी आगे बढ़े … उससे पहले मैं अपने ड्राइवर अंकल के बारे में बता देती हूँ. वैसे वो देखने में इतनी खास नहीं थी, पर सेक्स करना था क्योंकि मामा जी की वजह से मेरी गर्लफ्रेंड भी नाराज थी. शाम तीन बजे जब मैं भाभी के घर गया तो भाभी बेड पर लेटी टीवी पर हिन्दी फिल्म देख रही थीं और उनके बच्चे खेलने के लिए पड़ोस गए हुए थे.

ड्राइवर अंकल ने मेरे दोनों मम्मों को दबाते हुए उनको एकदम टाइट कर दिया था. उसने मेरे लंड पर दबाव बनाये रखा और मेरा पूरा लंड कुछ ही पलों में उसके गले तक घुस गया था.

प्रकाश ने सोनू की मांग में सिंदूर भरा, उसे लाल चुनरी का घूंघट ओढ़ा दिया.

वो दोनों कॉलेज टाइम से एक-दूसरे को प्यार करते थे और इससे पहले भी सेक्स कर चुके थे.

फिर एकदम से उसने मेरे होंठों पर दबाव बनाया और निप्पल पर जोर से चूंट लिया. आखिर तुम्हारे इस मूसल जैसे लंड ने मेरी चूत को अपने लायक बना ही दिया. अब मैंने खुल कर लोगों से बात करना शुरू की, तो पता चला कि दिल्ली में तो गे लोगों की भरमार है.

जैसे ही उसने मेरे बूब्स को अपने हाथ में भरा, मेरी चूत ने जवाब दे दिया, मेरी चूत का रस बहता हुआ मेरी टांगों तक जा पहुंचा. फिर मैंने आंटी को आइडिया दिया कि आप कहीं किसी होटल में मेरी मम्मी को लेकर आ जाओ. अब सीन ये था कि अनिल पीछे से चूत चोद रहा था और दूसरा मुँह में लंड आगे पीछे कर रहा था … तीसरा लौंडा एक हाथ से पारुल की चूची दबा रहा था और एक हाथ से अपने लंड को आगे पीछे कर रहा था.

मैंने उसका कमीज और ब्रा ऊपर करके चूचियों को बाहर निकाला और चूसने लगा.

यह सब नॉर्मल तरीके से खाना खाते हुए हो रहा था और आनन्द को पता भी नहीं चल रहा था. मैं 89 प्रतिशत नंबरों के साथ पूरे विद्यालय में तीसरे स्थान पर आया था. मैं घर पर अकेला बोर हो रहा था तो मैंने एक सेक्सी कहानियों की किताब उठाकर पढ़नी शुरू की.

कहानी के पिछले भागइक लंड चाहिए मेरी चूत के लिएमें आपने पढ़ा कि मैं अपने मायके गयी तो भाभी के भाई के लंड मिलने की उम्मीद लेकर गयी थी. थोड़े टाइम बाद एक लड़की मेरी गर्लफ्रेंड भी बनी लेकिन अभी तक हम दोनों ने सिर्फ और सिर्फ किस ही किया था या कभी मैंने उसके दूध दबा दिए थे. Xxx भाभी सेक्स स्टोरी मेरे ताऊ के बेटे की पत्नी के साथ सेक्स की है.

वो अब मेरे और नक़दीक आकर खड़ा हो गया और आने वाले हर झटके पर वो अपना लंड मेरे गाल से छुआने लगा.

दोस्तो, मेरा एक दोस्त हसित है जो एक अच्छे स्कूल का प्रबंधक और प्रिंसिपल दोनों है. मैंने उसे बुलाया तो वो थोड़ा गुस्से में बोली- कहां रह गए थे, मैं कब से वेट कर रही हूँ.

सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर उसको मैंने बहुत मनाया और उसको मना कर अपने घर रात को बुलाने का प्लान बना लिया. मैंने कहा- ठीक है भाभी … जो आप कहें!फिर अगले दिन शाम को उनका कॉल आया कि आज मैं शॉप बंद करने के बाद घर पर आ जाऊं.

सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर मैं सुध बुध खोकर उसकी तरफ देखता रहा और वो कब मेरे सामने आकर खड़ी हो गयी, कुछ पता ही नहीं चला. कारण मुझे नहीं पता था लेकिन शायद उनकी छोटी बहन भी यहीं रहकर पिछले 2 साल से पढ़ाई कर रही थी.

मैं दोनों हाथों से भाभी के चूचों को पकड़ कर उन्हें बुरी तरह रगड़ने लगा तो भाभी दर्द से सिसकारियां भरने लगीं- आंह धीरे धीरे करो … आंह दर्द होता है.

नंगी वाली ब्लू फिल्म

तो मैं सासू माँ के ऊपर से हट गया और उनको मौका दिया अपना ज़ोर दिखाने का!मैं लेट गया. ऐसा लग रहा था मानो दो ऊंची ऊंची पहाड़ियों के बीच कोई दर्रा (पास) हो।उनका सांवला रंग उन्हें और भी मादक बना रहा था।अब मैं उनसे बातें बंद करके एकटक बस उनकी सांसों पर उठती और गिरती चूचियां व उनके क्लीवेज देखे जा रहा था।मेरा लंड लगातार उनकी चूचियों को सलामी दिये जा रहा था।करीब 15 मिनट उन चूचियों को निहारने और सिर दबाने के बाद अब मैंने उनसे हाथ दबाने को पूछा. तो उसने मुझे बात करते-करते एकदम से पूछ लिया कि क्या वह मुझे किस कर सकता है.

फ्रॉक काफी शॉर्ट थी, मुझे हल्की शर्म भी आ रही थी कि इन कपड़ों में मैं कैसे बाहर निकलूंगी. आशा को कई लोग चोद चुके थे मगर चमेली की चुत को चोदने का मन होने के बावजूद भी नगर के किसी अन्य मर्द ने उसे अब तक नहीं छुआ था. मुझे नींद ही नहीं आयी रात भर!भैया और भाभी सुबह 8 बजे गांव के लिए निकल गए, तब जान में जान आयी.

वो मुझसे बोली- ओके तुम्हें जैसा भी लगा हो, पर तुम ये बात किसी से मत कहना.

पहले तो लगा कि तू मेरी जान ही निकाल देगा, मगर बाद में मुझे स्वर्ग का सुख दे दिया. तो भाभी ने बताया- मैंने आते जाते उस पान ठेले पर आपको दो-तीन बार देखा था. मुझे बड़ी बड़ी चूचियों और बड़े बड़े चूतड़ों वाली लड़कियां बहुत पसंद आती हैं.

फिर मां ने अपने ब्लाउज में से एक सिंगल चाबी निकाली और मेरे हाथ में देते हुए कहा कि अलमारी से ले लो. जिस कमरे में मां को बुलाया गया था, उस कमरे में दो खिड़कियाँ, एक रोशनदान है. लगभग तीस मिनट में उन्होंने मेरे दोनों स्तनों से दूध की आखरी बूंद तक निचोड़ ली.

पर एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि:यह कहानी आज से लगभग 1 महीने पहले की है जब मेरे मामा का जन्मदिन था. मैं नीचे लेट गया और वो मेरे दोनों पैरों के ऊपर खड़ी हुईं और झुक कर लंड हाथ में पकड़ लिया.

दो मिनट बाद वो आया तो उसने कहा कि मैंने रीना को पटा लिया है और अभी तेरे सामने ही यहीं पर सब कुछ होगा. मेरा काम अभी तक नहीं हुआ था, तो मैंने उनको धीरे-धीरे चूमना और चाटना शुरू कर दिया. कहानी के पिछले भागइक लंड चाहिए मेरी चूत के लिएमें आपने पढ़ा कि मैं अपने मायके गयी तो भाभी के भाई के लंड मिलने की उम्मीद लेकर गयी थी.

अंकल भी मेरे पीछे आ गए और मेरी पोजीशन देख कर समझ गए कि मैं क्या चाहती हूँ.

भाभी ने अपने ब्लाउज का एक बटन खोला और बोलीं- एकदम अनाड़ी देवर हो … सब कुछ मुझसे ही करवा रहे हो. लेकिन वो बोल रही हैं कि राजेश मेरा बेटा है, उसके साथ मैं ये काम नहीं करूंगी. उनका हाथ अब कंधे की सीध में था।जाने अंजाने उनका हाथ मेरे लंड पर रख गया। मेरा लंड फिर से फुफकारने लगा.

अंकल मेरे सामने लंड लेकर खड़े थे तो मैंने भी देर ना करते हुए उनका लंड हाथ में ले लिया और अपने हाथों से उनकी मुठ मारने लगी. Xxx अम्मी सेक्स कहानी में पढ़ें कि जब मैंने अपने ख़ास दोस्त को उसकी अम्मी की चुदाई करत देखा तो मेरे ऊपर क्या बीती.

एक बार को तो मैं बिल्कुल टूट गई थी मगर शुभम के रूप में मुझे नया सहारा मिल गया है।मैं उनकी इस बात को उस समय तो नहीं समझा लेकिन बाद में अच्छी तरह से समझ आ गया।फिर वो फोन मुझे पकड़ाकर फिर से मेरे सीने से लग गई जिसकी उस समय जरूरत तो थी नहीं क्योंकि वो अब नॉर्मल हो गयी थी. करीब डेढ़ घंटे एक दूसरी को नंगी नहलाने के बाद हम बाथरूम से किस करती हुई बाहर निकली और बिना शरीर को पौंछे ही बिस्तर पर गिर गयी।आधे से ज़्यादा घंटे तक हम दोनों अपने बिस्तर पर ऐसे ही नंगी पड़ी रही।फिर सीमा उठी और नंगी ही मैग्गी बनाने लगी. एक में मौसा जी और मौसी जी सोते थे और एक में उनके दोनों लड़के और लड़की.

आदिवासी xxxx

एक दो बार कोशिश करने के बाद भी लंड का सुपारा प्राची की गांड में नहीं जा रहा था.

पर मैंने घर का दरवाजा पहले ही बंद कर रखा था तो वो अंदर नहीं आ पाई और बाहर से ही आवाज देने लगी. लेकिन मेरा बदन अब भट्टी की तरह जल रहा था लण्ड के लिए!कभी कभी विजय के साथ वीडियो कॉल पर नंगी होती तो वो सेक्स चैट में इतनी पागल कर देता कि अगर उस समय कोई दरवाजा तोड़ कर अंदर घुस जाता तो विजय के सामने ही किसी से भी चुद जाती. सोनाली की चूत अब फूल गयी थी, तो मैंने उसकी जांघों को सहलाकर दोनों तरफ फैला दिया और अपना लंड एक हाथ में पकड़कर उसकी फूली हुई चूत की फांकों में रख कर एक ही धक्के में पूरे लंड को चूत की जड़ में उतार दिया.

उसका पति जल्दी में था तो उसके पति ने मीनाक्षी से कहा- मुझको काम की वजह से अभी जाना होगा और मैं कल शाम तक आ पाऊंगा. जिया दीदी- मतबल आज की रात तुम अपनी दी को गर्लफ्रेंड बनाना चाहते हो!मैं- नहीं. सेक्सी इंडियन भोजपुरी वीडियोवो पास में डेस्क के पास गई और म्यूज़िक ऑन करके आ गई और बोली- लो हो गई पार्टी शुरू … चलो एंजाय करो.

वो बोलने लगी- इतना मजा तो मुझे मेरे पति के साथ कभी नहीं आया, जितना कि आज तुम्हारे साथ आया है. फिर उसने पूछा- तुम दोनों में से कौन जाने वाला है? वो सिर्फ एक को ही ऊपर लेगी.

उसने मेरा लंड फिर अपने मुँह में लेकर चूसने लगा मेरा लंड उसके गले की गहराई में जाकर वापस आ रहा था. मेरा नाम रेहाना है, मैं 28 साल की हूँ, सुन्दर हूँ, गोरी चिट्टी हूँ और 5′ 5″ के कद वाली हूँ।मेरी पिछली कहानी थी:शादी के बाद मेरे ससुराल में कुछ दिनयह कहानी सुनें. उसकी इस इच्छा को पूरी करने के लिए कुछ इंतजाम करना था, तो बाद में उसे पूरा करने का तय किया गया.

हां छोटी भाभी मेरे लिए नई थीं क्योंकि उनकी शादी पिछले साल ही हुई थी. जैसे जैसे मैं चूत को चाटकर साफ करता था वैसे ही दीदी की चूत और ज्यादा रस छोड़ देती थी. मैं बेबी को देखने लगा और मैंने उनसे कहा- बेबी बिल्कुल आप पर गया है.

हम सभी दोस्तों ने एक साथ बेक्रफास्ट किया फिर हम सभी दिल्ली घूमने निकल गए.

मैंने दर्द से कहा- ये क्या है?जमीला- और तुमने नीचे क्या किया … तुम्हारा दर्द मेरे इस दर्द से कहीं कम है. रात को जब सोने की बारी आई तो हम जीजा साली लूडो खेलने लगे और लाईट बंद कर दी.

नमस्कार दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का एक पुराना पाठक हूँ और यहां की सभी सेक्स कहानियां बड़े चाव से पढ़ता हूँ. नंगी लड़की की Xx कहानी में पढ़ें कि कैसे हम दो सहेलियों ने एक सर्राफ को उसकी दूकान में उसके जेवर पहन नंगा फोटो शूट करवाने के लिए मनाया. जो घर पहले वाला था, वो किरायेदारों के लिए बना दिया गया था और नए घर का उपयोग हम सब करने लगे थे.

मैंने दीदी को मोबाइल के बारे में बता दिया, तो वो मेरी तरफ देखने लगी. और डिनर में क्या बनाऊं, बताओ? क्या तुम्हारी पसंद का पुलाव बना दूं और साथ में …सैक्स की गर्मी कुछ कम होते ही उनका सासू माँ वाला प्यार जाग गया था. तभी सासू माँ ने एक और झटका दे डाला, उन्होंने मेरे पैंट और अंडरवियर दोनों खीचकर नीचे कर दिये.

सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर दूसरे दिन जब सुबह सुबह मैंने देखा कि दीदी नहाने जाने की तैयारी कर रही है. मैंने कहा- फिर?लवी- जब श्वेता बड़ी हो गई, तब उसके मम्मी पापा यहां से बाहर शिफ्ट हो गए थे.

एक्स एक्स एक्स बीपी एक्स एक्स एक्स

भैया लेट गए और भाभी एक हाथ में सिगरेट लिए हुए भैया के कड़क लंड को चूमने लगीं. जब भी मैं भाभी को देखता तो मेरा लंड खड़ा हो जाता और …दोस्तो, मैं शुभ प्रताप सिंह कोटा (राजस्थान) से हूँ, आप सबके खड़े लंड और गर्म चूतों को मेरा प्रणाम. मैंने अपना एक हाथ उसके हाथ पर रख दिया और दूसरे हाथ को उसकी गर्दन पर फेरने लगा.

मैं बोला- क्या बात है मां, आज इतना टेस्टी और पोषक खाना?मां बोली- आजकल तू इतनी मेहनत जो कर रहा है! जॉब भी करता है. उनकी कजिन पूनम का पति, यहां से गुजर रहे थे, तेरे जीजू से काम था कुछ, तो घर आए हैं. सेक्सी पिक्चर अभिषेकवो कई बार टीवी देखते टाइम मेरे हाथ को अपने दो हाथों में ले लेती थीं.

जिया दीदी- क्या बताना चाहते हो?मैं- आप मेरी क्रश हो … मतलब पहले मैं आपको पसंद करता था.

वो दोनों बिस्तर पर आ गईं और मुझे सिगरेट पीने लगीं, मुझे गंदी गंदी गालियां देने लगीं. सोनाली ने अपनी गांड उठाकर मुझे अपनी बांहों में कस लिया और वो झड़ने लगी.

लेकिन उसको अभी भी विश्वास था कि मैं नींद में ही हूं और हाथ अनजाने में ही उसके लण्ड पर दबा है. फिर मेरा पानी भाभी की चूत में निकल गया।तब हम दोनों लेट गये।इस तरह मैंने भाभी की चुदाई का मजा ले लिया था. मैंने बाथरूम लॉक किया और नंगा होकर उसकी सलवार को चुत की जगह से नाक पर रख कर सूंघने लगा.

मैंने पूछा- दीदी आप भी कहीं जा रही हो क्या?वो बोली- नहीं, ड्रेस रखी रहती है … अब न कहीं जाऊं, तो सोचा घर में ही डाल लूं.

फिर उसने मुझे अपनी गोद में उठाया और खुद नीचे लेटकर मुझे अपने लंड पर बैठा लिया. बचपन में मेरे माता पिता की मृत्यु हो गई थी, तब मैं दुधमुंहा बच्चा था. जब तक उन्होंने मेरी शर्ट उतार कर फेंक दी और अब वो बैड के कोने पर बैठ कर मेरी पैंट खोलने लगी.

हिंदी सेक्सी भोसड़ामैंने सरिता की पैंटी अपने दोनों हाथों से घुटने तक नीचे सरका दी तो मेरे लंड का सुपारा चूत की दरार में रगड़ खाने लगा था. मैंने कहा- ठीक है, अगर तू रीना को पटा सकता है … तो मुझे कोई ऐतराज नहीं है.

ஆன்ட்டி பிஎஃப் வீடியோ

वो अपनी चूत से बहने वाले कामरस को देखकर बोली- इतना सारा कामरस! मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है हर्षद. नीचे की मंजिल पर हमारा परिवार रहता है और ऊपर की मंजिल के दो कमरे मम्मी ने किराये पर दे रखे है. जैसे ही उसकी मचलती जवानी मेरी कामुक आंखों में पड़ी तो मैं रीता को देखता ही रह गया.

बिंदास हूँ, खूबसूरत हूँ और साथ ही साथ बोल्ड और हॉट हॉर्नी गर्ल हूँ।मुझे बुर्का वगैरह बिलकुल पसंद नहीं है मेरी अम्मी जान को भी नहीं!मैं पढ़ी लिखी हूँ और आज की लड़की हूँ। ओपन माइंडेड हूँ ब्रॉडमाइंडेड हूँ और आधुनिक विचारों वाली हूँ. मैंने चैक किया तो पता चला एमसी बॉक्स में शॉर्ट सर्किट हो जाने के कारण से लाइट ऑफ हो गई थी. कुछ देर तक तो मैं बस उसे ही निहारता रहा कि इतना हैंडसम बंदा मेरी लाइफ में आ गया था.

वो बोली- तुम्हारी कोई गलती नहीं है, वो सब अचानक से हुआ … और तुमने तो मुझे गिरने से बचाया. विशाल और प्रकाश की इच्छा थी कि अब वो लोग अपनी पत्नियों को वेश्या के जैसे तकलीफ़ दें और उनकी गांड मारें. उन्होंने मुझसे पूछा कि अभी क्या पहन रखा है?मैंने उनसे बताया कि पिंक कलर की नाइटी.

उनके पलंग के ऊपर एक तेल की शीशी रखी थी, मैंने हाथ बढ़ा कर उन्हें दे दी. शिल्पा से मुलाकात की शुरुआत ही ऐसी हुई थी कि उसके चुचे पकड़ने को मिल गए थे.

मैं आपको बता दूँ कि यहां हरियाणा में लड़कियों को जाट लड़के बहुत पसंद आते हैं क्योंकि वो लंबे तगड़े होते हैं और काफी पैसे वाले भी.

तुम जो चाहो वो मैं तुम्हें दूँगा मेरी जान!ये बोलते बोलते मैंने अपनी लुंगी निकालकर नीचे फैंक दी और टी-शर्ट भी निकाल दी. इंग्लिश ब्लू सेक्सी फोटोरवि और मोहन दोनों ने आपस में सलाह करने के बाद कहा- सर दीवाली की गांव जाएंगे, तब कोशिश करेंगे. desi सेक्सी भाभीउसने लगातार धक्के लगाते हुए मेरी गांड में ही पानी छोड़ दिया और अलग हट गया. हॉट कॉम सेक्सी कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त के घर में मुझे उसकी साली मिली.

अगर वो मान जाती है तो तुम उसकी अम्मी को बोलो कि मेरे घर में कोई नहीं है, मैं अकेली हूँ मुझे डर लगता है, इसलिए आज जमीला को मेरे पास मेरे घर जाने दो.

प्राची और मेरी कामक्रीड़ा में आगे क्या क्या हुआ, स्वाति को मैं मिला या नहीं, ये जानने के लिए पढ़ते रहें. कुछ ही पलों में मुझे दीदी के आने की आहट हुई तो मैं दरवाज़े की तरफ़ मुँह करके साबुन शरीर पर मसलने लगा. पिछले भागदोस्त की साली की धुआंधार चूत चुदाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि सोनाली की चूत चुद चुकी थी और वो मेरे साथ लेटी थी.

फिर अब्बू के बाद धीरे धीरे और किसी को भी पता चल जाएगा, तो पूरी फैमिली की बदनामी होगी. मेरे पति के ऑफिस जाने के बाद घर पर मैं और विजय घंटों फोन पर बातें करते रहते, पूरे नंगे होकर एक दूसरे के अंगों को निहारते सेक्स चैट करते. जवानी की दहलीज पर कदम रखते समय जिस तरह के सेक्स के सपने दिमाग को उत्तेजना के शिखर पर पहुंचा देते हैं, उस सबका समावेश इस हिंदी सेक्स कहानी में आपको पढ़ने को मिलेगा.

चचेरी बहन की चुदाई

फिर ससुर जी ने मेरी चूत पर तेल लगाया और थोड़ा तेल अपने लन्ड पर लगाया और मेरी चूत के ऊपर रख उसे रगड़ने लगे. उस लड़के में अच्छी बात ये थी कि वो मेरी पसंद के मुताबिक एक वर्जिन गे था. उससे मेरी एक दो बार बस हैलो हाय हुई … हुई क्या, मैंने ही उससे हाय कहा.

श्रुति कुछ देर बाद बेड के किनारे पर बैठ गई और मेरा सिर दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे होंठ पर किस करने लगी ‘मुआह्हह …’एक लंबे किस के बाद उसने ‘आई लव यू बेबी …’ बोला और मेरे सिर को अपने सीने पर दबा लिया.

खैर … मुझे इस चीज़ की कोई टेंशन नहीं थी क्योंकि आज तो वैसे भी में लवी के साथ किस से कुछ ज़्यादा करने के मूड में था.

उसने मेरे लंड को बहुत मस्त तरीके से चूसना शुरू कर दिया।मुझे तो जन्नत का मजा मिल रहा था. वो भी हंस गई कि मैं बांसुरी बजाने की बात मतलब लंड चूसने की बात कर रहा हूँ. पाली सेक्सी वीडियो पिक्चरजिया दीदी को हल्का हल्का सा दर्द हो रहा था जो उनकी कामुक आवाजें बता रही थीं.

पागल हो तुम … और इसका किसी को पता चला तो बदनामी का क्या?जयदीप- यार कैसे पता चलेगा! न उसके घर पर कोई है और न हमारे. मुझे ऐसा लगा कि जिससे मेरा लंड छिल गया हो … जबकि दूसरी तरफ चाची की चीख निकल गई. सोनम कपड़े पहनने लगी, प्रकाश ने उसे रोककर कहा- सोनम रानी, तुम बिना कपड़ों के ज्यादा सुंदर लगती हो, अभी तो रात बाकी है.

मैं भी पूरा लंड सुपारे तक बाहर निकाल कर उसकी चूत में धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था. अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था, मैं भी फूफा जी की जांघ पर अपना हाथ रख देती.

बस मैंने चौका मार दिया- अच्छा वो ब्रा आपकी है?तभी भाभी बोलीं- हां मेरी है.

मैंने एक झटके में भाभी की पैंटी फाड़ दी और उन्हें पूरी नंगी कर दिया. रीना से बात करने के बाद मैंने हसित की तरफ देखा और उसे बताया कि रीना रेडी है. चाची को अपने गिरफ्त में ले वीरू ने एक जोरदार झटका दिया और सरसराता हुआ उसका लौड़ा शब्बो की बंद पड़ी भोसड़ी को चीरता हुआ उसकी बच्चेदानी को चूमने लगा.

हॉट सेक्सी वीडियो राजस्थानी रमेश सर- आह बहुत मजा आ रहा है हज़ीरा … आह क्या तुमको भी मजा आ रहा है मेरी लैला!हज़ीरा अपनी गांड को ऊपर नीचे करती हुई बोली- हां मेरी जान, एकदम लग रहा है कि स्वर्ग में आ गयी हूँ मेरे मजनूं … और जोर से चोद दो मुझे … आह. मैंने कहा- क्यों, वो कहां चला गया है?वो बोली- मैंने उसे किसी सामान के लिए बाहर भेजा है.

उसने रीना का पेटीकोट कमर तक ऊपर कर दिया और ब्लैक पैंटी में मेरीबीवी की कसी चूतदेख कर मदमस्त हो गया. और जैसे ही इसका आभास वीरू को हुआ कि शबाना की गांड से उसके लौड़े का निकाह हो चुका है तो उसने भी शबाना को ऊपर उठा लिया. अब हज़ीरा ने अपने हाथ से अपनी चूची रमेश सर के मुँह में देना शुरू कर दिया और अपनी गांड उठाती हुई चुदवाने लगी.

भोजपुरी सेक्सी पोर्न वीडियो

अपनी ऑफिस की लड़की की चुदाई करते हुए भी मैं उससे बहुत समय तक अपना लंड मुंह में देकर ही चुसवाया करता था. भाभी कराहती हुई बोलीं- आंह आराम से करो यार … मैं बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ और तुम्हारा बहुत मोटा भी है. जिया दीदी- क्या बोल रहे हो, कहीं आज सेलिब्रेशन में ड्रिंक्स तो नहीं कर ली तूने?मैं- मैंने ड्रिंक नहीं की है दी … मैं पूरे होश में बोल रहा हूं.

मैं भी सोच रहा था कि जब बहन इतना खुल कर मजा ले रही है, तो मैं क्यों पीछे रहूँ. अब मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था कि कुछ काम बन सकता है और आज भाभी की चूत चोदने को मिल सकती है.

जब सोनम की सांस घुटने लगती, तो वह अपना लंड थोड़ा निकाल लेता, फिर गले तक डाल देता.

मेरी अम्मी की मादक आवाजें निकलने लगीं- आ … आह … चूस ले आह!अब हम दोनों की आंखें बंद हो गई थीं. मां बोली- जो करना है, जल्दी करो!इतना कहते ही भैया मां की विशालकाय चूची को अपने मुंह में भर कर चूसने लगे. एक दिन भैया को हॉस्पिटल में व्यस्त होने के कारण घर आने देरी हो रही थी और भाभी को बाजार से कुछ ज़रूरी सामान खरीदना था.

प्रकाश ने कुछ बार उसके साथ संभोग किया, फिर उसकी अपनी बीवी साथ संभोग करने की इच्छा ख़त्म हो गयी. तभी अचानक से उनके हाथ से कप फिसल गया और गर्म कॉफ़ी मेरे पैंट पर गिर गई. मेरी चूत को उंगलियों से रगड़ने लगा और फिर से अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया.

ऐसे ही एक दिन चैटिंग करते वक्त उन्होंने मुझसे बोला कि तुम वाकयी बहुत खूबसूरत हो.

सेक्सी सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चर: मगर दोस्ती का गाढ़ापन और एक दूसरे से मिलने की चाहत कब तक रोक लगा सकती थी. मैंने कहा- यदि मैंने एक बार तुम्हारे साथ वो सब किया तो आगे तुम मेरी शिकायत कर सकती हो कि मैंने तुम्हारे साथ वो सब किया था.

उससे मेरी नजरें मिलीं तो वो हाथ के इशारे से मुझे थम्ब दिखा कर मेरी तारीफ़ करने लगी. मैंने गांड से लंड को बाहर निकाला तो फच्छ की आवाज के साथ लंड बाहर आ गया. ये कहते हुए वो अपनी चूत पर रखे एक हाथ को, जिसकी वजह से ही लंड चूत में पूरा न जा सका, हरकत में ले आई.

मैं भी देर ना करते हुए मॉम की दोनों टांगों के बीच आ गया, उनकी टांगों को ऊपर उठाया और लौड़े को चूत पर सैट कर दिया.

मैंने थोड़ा अपना सर एडजस्ट करने के लिए आंख खोली तो देखा कि वह लगातार मुझे देखा जा रहा है. मैं तुरंत उसकी चूत पर टूट पड़ा और अपनी जीभ को उसकी चिकनी चूत में डाल कर आगे-पीछे, ऊपर नीचे करने लगा. तीनों नंग-धड़ंग वहीं सो गए।अगले दिन सुबह सबसे पहले शीना उठी।दस बज रहे थे।कमरे और बेड की हालत देख कर वो मुस्कुराई।उसके पिछवाड़े में दर्द था, जिसका अहसास उसे मलत्याग करते समय हुआ।उसने जी भर कर राजीव और तुषार को गालियां दीं। उसने मन ही मन तय कर लिया कि अब राजीव को हाथ भी नहीं लगाने देगी।शीना ने एक फ्रॉक डाली और घर समेटते हुए किचन में चली गयी।उसने अपने लिए चाय बनाई.