बीएफ सेक्सी दिखा

छवि स्रोत,नेपाली जंगली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लूटूथ वाली सेक्सी मूवी: बीएफ सेक्सी दिखा, मैंने अपने घर पर कॉल करके बोल दिया कि मैं आज रात अपने दोस्त के घर पर ही रुकूंगा.

हिंदी सेक्सी वीडियो चुदाई हिंदी

शारदा चाची- चोद साले … ‘अपनी बेटी’ को चोद कर बड़ा खुश हो रहा है, साले … झड़ जा मेरी चूत में ही …उनकी बात सुनकर मैं सोच में पड़ गया- कपिल ने कहा ममता को चोदा, चाची ने कहा ‘अपनी बेटी’ को चोदा? ममता कहीं कपिल और शारदा चाची की औलाद तो नहीं?मैं दिमाग के घोड़े दौड़ाने ही लगा था और अगले ही पल सब कुछ साफ हो गया. বিএফ ইংলিশ বিএফजब हम दोनों भाई बहन की सांसें सामान्य हो गईं तो मैं उसे बाँहों में उठा कर बाथरूम में ले गया.

मुझे जागता हुआ देख उसने बोला- मुझे नीचे बहुत ज्यादा गर्मी लग रही है. सेक्सी नंगा वाला वीडियोमैंने देखा कि इस उम्र में भी ताऊ की चुदाई किसी नौजवान के लंड से कम नहीं थी.

उसने ये कहते हुए एक हाथ से अपनी जिप खोली और अपना लंड निकाल कर लंड को मेरे गालों पर टच कराने लगा.बीएफ सेक्सी दिखा: शैली मेरे से बोली- अंकल का क्या तूफानी लौड़ा है, आज मम्मी को मज़ा आ जाएगा.

पिंकी ने अमर के अंडरवियर के साइड से उसके लंड को बाहर निकाला और ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी.लंड बाहर निकलते ही वो बुरा से मुँह बना कर बोली- अंकल ये आपने क्या कर दिया … आपने तो मेरे मुँह में ही सुसु कर दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी हॉट बीपी - बीएफ सेक्सी दिखा

फिर मैं उसकी नाभि में गीली जीभ डालकर अन्दर बाहर करने लगा तो सरिता अपने दोनों हाथों से मेरा सर सहलाने लगी.पिंकी ने एक बार फिर अमर को खींचा और उसके गालों व होंठों पर किस कर दिया.

थोड़ी देर के बाद उसकी बॉडी अकड़ने लगी और उसकी फ़ुद्दी ने नमकीन पानी छोड़ दिया और वो बोली- भाई, अब मत तड़पाओ, डाल दो मेरे अन्दर!मैंने उसे अपना लंड चूसने को बोला, पर उसने मना कर दिया. बीएफ सेक्सी दिखा मैं हामी भरकर नफीस चाचा को रूपये देने लगा तो नवाज भाई बोले- अरे मेरी तरफ से …पर मैंने चाचा को कीमत बिल के मुताबिक दे ही दी और नवाज को अपने घर का पता बता दिया.

उसके बाद मैंने अपनी बीवियों और सालियों को गुलाबो के साथ अपनी पहली चुदाई की कहानी सुनाई और रात को दिलिया के साथ सुहागरात मनाई.

बीएफ सेक्सी दिखा?

तू तो अपने जीजा से कई बार करा चुकी है, तो तेरे लिए तो कोई बात नहीं थी. फिर भी मैंने पूरी कोशिश की भैया और भाभी की फिल्म देखते हुए मजा लेने की मगर तुम्हारे लंड के अलावा इसको भला और कौन शांत कर सकता है मेरे राजा!बहुत देर तक भैया ने भाभी की चूत अपनी जीभ से चोदी और जब तीसरी बार भाभी झड़ी तब भैया ने दोबारा अपना लंड भाभी के मुंह में दे दिया. हम अगली बार टाइम ज्यादा मजा लेंगे और जगह भी दूसरी देखेंगे, तब बताना मज़ा आया या नहीं.

नीचे उतार कर उसकी गर्दन पर किस करने लगा, होंठों पर चूमा, गाल पर चुम्मा चाटी करने लगा. मैं चाहकर भी रोक नहीं पा रहा था, तो मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और उसका हाथ पकड़कर कहा- ऐसा मत कीजिए, मुझे कुछ हो रहा है. मैंने उसका सर पकड़ लिया और उसके मुँह के अन्दर जोर जोर से घस्से लगाने लगा.

मुझे ऐसे देख और मेरी हरकतें और चरम सुख की प्राप्ति की कामुक आवाज सुन सुखबीर भी खुद को ज्यादा देर न रोक सका. उसकी चूत का रस बह कर उसकी जांघों से होता हुआ टांगों पर आ रहा था। मैं उसके रस को चखना चाहता था लेकिन इस पोज़ में संतुलन बनाने के लिए उसे पकड़े रहना जरूरी था।वो एकदम गर्म हो चुकी थी। किसी रंडी की तरह मुझे गालियां बक रही थी- चोद बहनचोद … भड़वे, जब देखो मेरी गांड के पीछे पड़ा रहता है. मैं- चलिये तो फिर आप मुझे अपनी इच्छा बता दो, हो सकता है कि आपकी इच्छा पूरी करने में मैं आपका साथ दे दूँ.

मैंने कहा- साले का जितना लाल दिख रहा है, उतना गर्म है नहीं … वरना अभी तक तो काम हो जाता. सभी भाइयों को मेरी तरफ से नमस्कार और सभी भाभियों, आंटियों और रसीली लौंडियों को मेरा बहुत बहुत प्यार.

फिर मैंने एक जोरदार धक्का लगाया, तो अब मेरा लंड अंकल की गांड में घुस गया था.

मैंने मुड़ कर देखा, तो वो फर्श पर पौंछा लगा रही थीं और उनके गहरे गले के ब्लाउज से चूचे बड़ी मस्ती से हिल रहे थे.

जैसे ही निशा ने मेरे लोअर के अन्दर हाथ डाला, तो उसका हाथ सीधा मेरे टाइट लंड पर आ गया. वो मेरी चिकनी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को फचाफच चोदे जा रहा था. मैंने कहा- आप वादा कीजिये कि आप बुरा नहीं मानेंगी?कह कर उसका हाथ अपने हाथ में लेकर उसकी आँखों में सीधे देखने लगा.

वैसे तो मेरा उनके घर पर अक्सर आना-जाना लगा ही रहता था लेकिन मेरी ज्यादा बातें रवि के साथ ही होती थीं. यही सब सोच सोच कर मेरा मन मौसी की तरफ आकर्षित होने लगा और मैं मौसी को चोदने का सपना देखने लगा. अब जब पूजा के नाम की मुट्ठ लगनी शुरू ही हो गई थी तो एक बार में कहाँ मन भरने वाला था.

मामी शायद इसके लिये तैयार नहीं थी इसलिए उन्होंने अपने पैरों को समेट लिया.

वो बेसिन का सहारा लेकर थोड़ा झुक गई और बोली- मार पीछे से … चढ़ जा साले हरामी. मैंने उससे पूछा- मजा आया?वो हंस कर बोली- साले तूने मेरी चुत फाड़ दी … मगर अब तक ऐसा मजा नहीं आया था. अब मैं इस असमंजस में हूँ कि मुझे क्या करना चाहिए? क्या शादी के बाद यह सब ठीक है? प्लीज मुझे मेरी मेल आई डी पर बताइएगा जरूर.

मादक सीत्कारें भरते हुए अपने दांतों को भींच कर और चूतड़ों को उचकाते हुए वो झड़ने लगी. वसुन्धरा ने तत्काल अपना बायां हाथ मेरे हाथ पर से हटाया और अपने दोनों हाथों से मेरे सर को जकड़ा और मेरे सर को अपने स्तन की ओर दबाने लगी. अब मैंने भी बेशर्म होने की सोची और खड़े खड़े ही स्कर्ट के अन्दर हाथ डालकर मेरी पैंटी उतारकर अंकल के हाथ में थमा दी.

उफ्फ … भाभी का वह चेहरा अब मुझे याद आता है तो मेरी चूत में कुलबुली मच जाती है.

हमारा बैच लक्की था कि हमें कॉलेज की नई बिल्डिंग और नया हॉस्टल मिला था. मैं अंकल की कहानी बहुत चाव से सुन रहा था और अब मेरा लंड पूरी तरह सख्त हो चुका था.

बीएफ सेक्सी दिखा उन्होंने भी अपना सर बेड से लगा कर और अपने घुटनों के सहारे अपने कूल्हे ऊपर कर दिया. आज मुठ मारने में एक अलग ही मज़ा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लौड़ा हाथ में नहीं बल्कि उसकी फ़ुद्दी के अन्दर-बाहर हो रहा हो! दस मिनट के बाद मेरा लंड छूट गया और मेरे लंड से पिचकारी सीधी दीवार पर गिरी.

बीएफ सेक्सी दिखा सच कहूँ दोस्तो … मुझे लगने लगा था कि मौसी को चोदने का सपना, सपना ही रह जाएगा. उसके अधखुले ब्लाउज के सारे बटन खोलकर उसके चूचों को कैद से आज़ाद किया और धीरे-धीरे एक हाथ को नीचे ले जाते हुए उसकी कमर सहलाते हुए पेटीकोट का नाड़ा खोला और हम दोनों सांपों की तरह नंगे एक दूसरे से लिपट गए.

मेरा एक हाथ उसके स्तनों को दबा रहा था, दूसरा हाथ उसके पेट पर और उसके गालों को सहला रहा था.

महाराष्ट्र सेक्सी पिक्चर वीडियो

मैंने पापा के सामने एक शर्त रख दी कि माँ के आने के बाद भी मुझे आपके लंड से चुदाई करवानी है. दुनिया की नजर में तो मैं सीधा-सादा लड़का हूँ मगर चूतों का दीवाना हूँ. मैंने फिर हल्के से अपने लिंग को वसुन्धरा की योनि में वापिस आगे उसकी पुरानी जग़ह तक पहुँचाया.

हैलो फ्रेंड्स, मैं अंशित एक बार फिर से आपको अपनी बहन की चुत चुदाई की कहानी का अगला भाग सुनाने के लिए हाजिर हूँ. दूजे! यह मौका ही ठीक नहीं था, प्यार सहज़ भाव से किया जाता है और जल्दी-जल्दी योनि-भेदन कर स्खलित होना तो निरी पशुता है. आंटी के कोमल हाथों का स्पर्श और आंटी के मस्त गोल गोल दूध के दर्शन, जिसके वजह से मेरा हरामी लंड फिर से खड़ा हो गया.

जहां तक मेरा सवाल है, वसुन्धरा की योनि की पंखुड़ियों की मेरे लिंग पर लगती मुतवातिर(अनवरत) रगड़, मुझे सरासर जन्नत का नज़ारा करवा रही थी.

इसलिए मैंने सोचा कि कुछ ऐसा किया जाए कि वो मुझे नंगा देख लें और मेरा लंड देख कर उनके बदन में भी हवस की आग लग जाए. यह तो साधारण मिलन था … तुम बहुत प्‍यारे और मासूम हो इसलिये मैं तुम्‍हें अपने बेटू जैसा खुश करते रहूंगी. उसकी चूत देखते ही उसमें घुसने की जिद करता, पर करूँ क्या … लौंडिया सील पैक कमसिन माल थी और अभी पूरी तरह पकी भी नहीं थी.

सोनू कहने लगी- मेरी भी अच्छी किस्मत है कि पहली बार ही मुझे इतना बड़ा और मोटा लौड़ा मिला है. पटेल बोला- तूने अपनी झांटें साफ़ की हुई हैं … बंध्या तू बड़ी चुदक्कड़ है … आगे जाके रंडी बनेगी क्या … अपनी मम्मी की तरह … मैं सब जानता हूं तेरे घर के बारे में. ऊषा ने आगे बताते हुए कहा- जमाई जी मेरी चूत का बाजा बजा रहे थे और मैं उनकी चुदाई की धुन में नाच रही थी.

मैंने धीरे से अपना मुंह उसके कान के पास ले जाकर कहा- आप बहुत सुंदर हैं. मैं- तुमको प्यार करके ही बड़ा हो गया है ये!प्रिया- भैया और कस कसके कीजिए ना … आज एकदम गहरी कर दीजिए.

पिंकी- आआआहा अमर जीजू, आपका लौड़ा तो बहुत सख्त है … मेरी चुत का भोसड़ा बना दिया है आपने अहह … अच्छे से पेलो मेरी चुत को. मैं मामी को खींच कर अपने ऊपर ले आयी और अपने ऊपर लेटा लिया और उनकी दोनों चूचियों को बाहर निकाल लिया. उन्होंने कहा- देवर जी, अभी इतना मज़ा आया है, तो आगे चुदाई में कितना मजा आएगा.

मैंने अस्पताल पहुंच कर रिया को सहारा देकर नीचे उतारा और कहा- तुम यहीं रुको … मैं कार पार्क करके आता हूं.

कुछ देर के बाद उसको मजा आने लगा और वह अपनी गांड में आराम से मेरी उंगली को लेने लगी. उसी समय यदि मैं पम्मी आंटी को देख लेता था … तो मेरा लंड पैंट फाड़कर बाहर आने को हो जाता था. पहली बात! यह समय ठीक नहीं था, कम से कम आज के दिन तो ऐसा कुछ होना ठीक नहीं था.

मेरे मुँह से आह आह निकल रहा था- आह चूसो भाभी … आह चूसो इसे! बहुत परेशान करता है ये लंड।भाभी- चिंता न कर, आज इसे ठीक करती हूँ मैं!और मुँह में लेकर चूसने लगी।मैंने भाभी की ब्रा तेज़ी से निकालने के चक्कर में फ़ाड़ ही दी. इसीलिए मैंने नीरजा की चूत का भोसड़ा बनाने की नियत से एक बार में ही पूरा लौड़ा पेल दिया था.

कौन हो तुम? यहां क्या कर रहे हो?मैं बोला- डरिए मत मैडम, मैं आपको ही देख रहा था. मेरी मिन्नत का उस पर असर हुआ और उसने अपने लण्ड के टोपे का दबाव मेरी चूत में कर दिया. सयुंक्त परिवार में पति पत्नी के बीच सेक्स होना भी कोई सामान्य घटना नहीं होती थी.

सेक्सी व्हिडिओ पंजाबी

अब मेरे लंड को एक और बार चिकनाहट मिल गई थी और मेरे लंड के धक्के और ज्यादा अंदर तक सुषी की चूत को धकेलने लगे.

मेरे ब्लाउज को प्रेस करके बाजू में रखकर अब मेरे पति ने मेरी साड़ी को प्रेस करने के लिए ले लिया. घर आकर मम्मा ने मुझसे कहा- तुमने मुझे बेकार में ये कटे फटे कपड़े दिला दिए. मैंने देखा कि इस उम्र में भी ताऊ की चुदाई किसी नौजवान के लंड से कम नहीं थी.

मैं हल्के हल्के लंड को अन्दर बाहर करने लगा और उसकी चुदाई जोर जोर से करने लगा. इस मजेदार सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि हम चारों होली की मस्ती भरे इस दंगल में कामुक रोमांस की शुरूआत कर चुके थे. हिंदी में भोजपुरी में सेक्सीमैंने देखा कि मेरे सामने आन्या घुटने पर बैठ गई और उसने डायरेक्टर का लंड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया था.

उसने हल्की सी मुस्कान देते हुए कहा- अच्छा इसलिए शर्मा रहे हो … ठीक है अन्दर जाकर टेबल पर लेट जाओ, मैं चैक करती हूँ. उनकी बात सुनकर सिर्फ मुस्कुराते हुए उनकी बात टालने की सोची और बाथरूम के अन्दर जाने लगी.

उसका हाथ जैसे ही मेरी चूत पर आया, मेरे मुंह से एक जोर की आह हह की आवाज निकल गई. मैं उसके उछलते हुए मम्मों को अपने सीने पर महसूस कर सकता था।चोदते-चोदते मैंने उसे गोद में उठा लिया. फिर उन्होंने मुझसे मेरी पिक मांगी और मेरी नंगी गांड देखने की इच्छा जाहिर की.

मैंने भाभी की चिकनी चूत को खूब चूस कर गर्म किया और इस बार उनको झड़ने से पहले ही एक बार चोदना तय किया. मैंने कहा- क्यों तुमको अपनी चूत पर चुम्मी नहीं करवानी है?दिशा बोली- मुझे तो आपका लंड चूसना है. इसलिए उसके खड़ा होने भर की देर थी कि मेरी चूत ने भी रस छोड़ना शुरू कर दिया.

मैं- क्या हुआ आपको?कल्पना- पैरों के बीच दर्द कर रहा है … मुझसे चलते नहीं बन रहा है.

लंड का कुछ माल जागृति मेम के हाथ पर लग गया था जिसे उन्होंने चाट लिया. मैंने देखा कि उसकी चूत से तरल पदार्थ बहने लगा और उसके पजामे को गीला करता हुआ नीचे की तरफ जाने लगा था.

मैंने कहा- ठीक है लेकिन मैं तुम्हें आईपिल लाकर दूंगा … तुम खाती रहना, वरना तुम प्रेग्नेंट हो जाओगी. मुझे तो तुमने पूरा नहला दिया साहिल! मुझे तो तुमसे प्यार ही हो गया है मेरे जानू!मैं उसको देखा और स्माइल करने लगा. तभी आंटी ने कहा- अभी थोड़ा रुकना गौरव … मुझे कुछ सामान भी ऊपर रखवाना है.

वह किचन का स्लैब पकड़ कर थोड़ी सी नीचे झुक गई और उसकी चूत अब पहले से ज्यादा खुल गई. दस मिनट धकापेल चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत से लंड निकालने का सोचा तो वो समझ गई थी, उसने मुझसे कहा- बाहर नहीं निकलना … मुझे अन्दर ही तुम्हारा स्पर्श चाहिए. मम्मा ने गुस्से में कहा- अपनी मां से शादी करनी है तुझे … पागल है क्या? मां से भला कौन शादी करता है?मैंने बेशर्मी लेकिन अपराध भरे स्वर में बोल दिया- मैं तो करना चाहता हूं.

बीएफ सेक्सी दिखा फिर मैंने उससे पूछा- तुम मेरे लिए क्या लायी हो?उसने मुझे परफ्यूम दिया और काफी सारी चॉकलेट्स भी. करीब पन्द्रह मिनट के बाद वो झड़ गयी और दो-चार धक्कों के बाद मैं भी। पहली बार पूजा की भट्टी को चोदने के बाद लंड को बड़ा सुकून मिला.

रिया चक्रवर्ती का सेक्सी वीडियो

मैंने मोटा लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसे उसकी चूत के छेद पर रख कर अन्दर धक्का दे मारा. मैं- बहुत ख़ूबसूरत आँखे हैं आपकी, आपके मुस्कराने से गाल पर डिंपल पड़ते हैं, वो आपकी तरफ आकर्षित करते हैं. फिर उन्होंने जब मेरी सुपारे को बाहर निकालने के लिए खाल नीचे की, तो मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मेरे लंड ने अपना लावा उगल दिया … जो उनके पूरे चेहरे पर जा लगा और थोड़ा सा उनके मुँह में भी चला गया.

मेरा लंड देखकर मेरी पत्नी खुश हो गयी, बोली- अभी रुक जाओ, मेरी बहन आयी है!उसे क्या पता कि मेरा लंड तेरे लिए नहीं साली के लिये तैयार था. रिया के घर में कोई नहीं था तो वो मेरे घर चली आई और हम दोनों ने साथ में लंच किया. देसी सेक्सी चुदाई हिंदी मेंरात को जब सोने की बारी आई तो जगह कम होने के कारण सबको अड्जस्ट करना पड़ा.

शायद उसे नहीं पता था कि मैं भी छत पर ही हूं और इस नजारे को देख रहा हूं.

करीब 25 दिन बाद मम्मी पापा को छोटे भाई की पढ़ाई के लिए पुणे छोड़ने जाना था. मैं किस करते हुए जागृति मेम की चूचियों को दबा रहा था और जागृति मेम मुझे कस कर अपने गले से लगाई हुई थीं.

उसकी चूत से कामरस बह रहा था, जिससे मेरा लंड पूरी तरह से गीला हो गया था. अगर अब ये मेरी सच्ची कहानी आशीष भी पढ़ेगा, तो उसे मैं जो कभी नहीं बतायी, आज बता दे रही हूं कि मेरी सील कब और कैसे टूटी. जब वो मुझे चोद रही थी, तब मेरे चेहरे के सामने उसकी पीठ थी, तो मैंने उसको घुमाकर चेहरा मेरी तरफ करने के लिये कहा.

मैंने पापा के सामने एक शर्त रख दी कि माँ के आने के बाद भी मुझे आपके लंड से चुदाई करवानी है.

मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा ताकि मामू भी चुदाई की आवाज़ सुन लें और समझ जाएं कि हम जाग रहे हैं. मैंने लहंगा गोल करके, कुएं की सी शेप बना कर कुर्सी के आगे ज़मीन पर वसुंधरा के पैरों के पास रखा और हाथ बढ़ा कर वसुंधरा के दोनों पांव उठा कर लहंगे के बीचोंबीच रख दिए. मैं बोला: यहां दरवाजे पर खड़ा होकर नहीं कर सकता, इंपोर्टेंट बात है.

सेक्सी विडियो 2018मेरे घर से थोड़ी दूर पहले मैं स्कूटी के ब्रेक नहीं लगा पाया और मेरी एक सामने से आ रही कार की टक्कर हो गयी. इस बार वो मुझे अपनी बांहों में भरके हल्की हल्की आवाजें निकाल रही थीं और बीच बीच में बोल रही थीं कि पेट में नाभि के पास दर्द कर रहा है थोड़ा आराम से पेलो.

जापानी ऑयल की कीमत

में भुवनेश्वर तक 2 पैसेंजर वाला कूपा खाली है, आप बोलो तो आप दोनों को देता हूँ? वो हम दोनों को एक समझ रहा था. भैया के लंड का सुपाड़ा लाल गाजर के जैसे रंग में आ चुका था जिसको भाभी लॉलीपोप की तरह बीच-बीच में अपनी जीभ से चाट लेती थी. यह बड़ी उम्र की औरत की चूत की कहानी तब की है, जब मैं 12वीं में पढ़ता था.

कुछ दिन हमारी ऐसे ही बातें हुईं, फिर अगली बार बातों बातों में मैं उसको आप आप करके बात कर रहा था. लेकिन इतनी हिम्मत न तो मुझमें थी और ना ही सरनी में!फिर सरनी जाने को तैयार हुई. वह मेरी तरफ पलटना चाहती थी मगर मैंने उसको अपनी बांहों में जकड़ रखा था.

शादीशुदा भाभी की कुंवारी बुर के चोदन की कहानी के इस भाग से संबंधित आपके सुझाव मुझे भेजें. उसने ज़ोर से अपने मुँह पे हाथ रख कर खुद का मुँह दबा लिया ताकि आवाज़ बाहर ना जाए. मैंने कहा- सॉरी भाभी, आपका नम्बर सेव नहीं था इसलिए मैंने आपको पहचाना नहीं.

इस कहानी को शुरू करने से पहले मैं आपको अपनी पिछली कहानी के बारे में संक्षिप्त जानकारी देना चाहूंगा ताकि आप इस कहानी को पिछली कहानियों के साथ जोड़ने में सहूलियत महसूस कर सकें. रिया- तुम अभी क्या कर रहे हो?मैं- मैं अभी पढ़ाई के लिए यहां रहता हूं.

इसी तरह मैंने करीब आधा घंटा उन्हें अलग अलग आसनों में चोदा … तब जाकर मेरा पानी निकला.

मैं तो खुद उसकी चूत घाटी में अपने लंड को रगड़ कर जन्नत की सैर कर रहा था. सेक्सी ब्लू वीडियो साड़ी वालीदरअसल बहुत दिनों के बाद इतने मोटे लंड से चुदने के कारण मेरी चूत से खून बाहर आ गया था. लड़कियां ब्रा क्यों पहनती हैकमाल की बात ये थी कि इस रगड़न से मुझे उसकी मुलायम गांड का अहसास कुछ ज्यादा ही हो गया था मगर बंदी ने कुछ नहीं कहा. इस साईट पर मुझे बहुत से लोग मिले लेकिन सब टाइमपास टाइप वाले आदमी निकले.

आज न जाने क्या बात हो गई थी कि मेरे पति का लंड मेरी चुत के चिथड़े उड़ा रहा था.

मैं पहली बार उन्हें देख रही थी, कोई भी पहली बार देखे, तो इम्प्रेस हो जाये ऐसी उनकी पर्सनालिटी थी. मैंने मासूम बनते हुए कहा- ठीक है मम्मी, आप मेरे सामने ही योग सीख लिया करो. मैंने सोनू की टांगों के नीचे से हाथ डाला और उसके घुटनों को मोड़ते हुए लंड से चुदाई शुरू की.

अभी 5-10 धक्के उसने और मारे कि उस झनझनाहट की लहर मेरी नाभि से उतरता हुआ योनि तक चला गया. प्लीज़ दोस्तो, मेरी इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी पढ़ने के बाद अपना फीडबैक देना मत भूलिएगा. नीरजा से मैंने कहा- कहो क्या बात है?वो मुझको गले लगा कर बोली- आई लव यू रवि … प्लीज मुझे माफ कर दो.

गर्ल्स और डॉग का सेक्स

आप अपने लहंगे के नाड़े की गाँठ काट दें और अपना लहँगा ज़मीन पर ही छोड़ कर ड्रेसिंगरूम में चली जाएँ और मुझे वहीं से आवाज़ दें. अब मम्मी बोलीं- ठीक है, गाड़ी सही हो जाए और आने का तय हो जाए, तो बता देना. मेरे चेहरे को अपने हाथों में लेकर सरनी बोली- आज तुम्हें जो चाहिए, जैसे चाहिए, मैं वैसे करने को तैयार हूं.

वो मुझे बहुत तेज तेज चोदने लगे और कुछ ही पलों बाद उन्होंने अपने लंड का सारा पानी मेरी गांड में छोड़ना शुरू कर दिया.

घर आया तो मेरी आंखों के आगे बार बार भाभी की बड़ी बड़ी सेक्सी चूचियां घूम रही थीं.

मैंने पूछा- कैसा स्वाद था?वह बोली- थोड़ा कड़वा था और थोड़ा सा नमकीन भी. जागृति मेम देखने में बीस साल की लड़की सी लगती थीं और देखने में बहुत खूबसूरत और हॉट माल लगती थीं. मलाइका अरोड़ा की सेक्सीजैसे ही उन्होंने पानी खत्म किया, मैं उन्हें जाने का बोल कर बाहर के कमरे की तरफ जाने लगा.

मैं उसे देख कर यही सोच रही थी कि आज तो पहला दिन है, अभी तो पूरी रात बाकी है और कल का पूरा दिन … और रात पता नहीं! तब तक ये मुझे कितना चोदने वाला था. अगले दो दिन तक मैंने उसे कॉल भी नहीं किया और उसकी कोई कॉल रिसीव भी नहीं की. उसकी शादी उसके प्रेमी से टूटने के बाद आज वो पहली बार किसी मर्द के इतने करीब आई थी.

उसके बाद हम लोगों ने कॉफी पी जो रश्मि ने सीमा के किचन में जा के खुद मेरे लिए स्पेशली बनाई और कहा कि अगली बार वो खुद के घर में मुझे बुलाएगी और मेरे साथ अपनी फैंटेसी को पूरा करेगी. वो वही स्टूल पे बैठ गया और मैं भी बेड से पैर लटका के बैठ गयी।मैंने कहा- घर तो बहुत अच्छा है, अच्छा सजाया हुआ है.

मैं उसके ऊपर 69 की स्थिति में लेट गया और उसकी चुत को चूसना शुरू कर दिया.

मैं मम्मी के एकदम पास गया और देखा मम्मी के होंठ हल्के हल्के थिरक रहे थे … वो लंबी लंबी सांसें भी ले रही थीं, एकदम कामुकता के साथ डरी सहमी हुई थीं. मैंने उसे हाथ में ले लिया और उनकी आंखों में देख कर कामुक इशारा कर दिया. फिर जब कभी उसका कोई ब्वॉयफ्रेंड उसके घर आ जाता, तो रिम्पी मेरे सामने ही अपने उस ब्वॉयफ्रेंड को किस कर लेती थी.

किन्नर सेक्सी चुदाई वीडियो सोनल ने अपने निप्पल मींजते हुए दिशा से कहा- देख दिशा, तुम्हें टू पीस में देखकर मेरे भाई का हथियार खड़ा हो गया है. एक हाथ का अंगूठा पहले मेरी चूत में डालकर गीला कर लिया और फिर मेरी गांड में घुसा दिया.

पहले पहले मीना ने मना किया लेकिन बाद में वो मान गयी, एक पेग लेकर मीना बोली- अभी आती हूँ. फिर अपने दोनों हाथों में मेरा लंड पकड़कर ऊपर नीचे सहलाकर मलहम लगाने लगी. सारे रिश्ते नाते, वक़्त, दुनिया … सब कभी पीछे छोड़ कर हम दो भाई बहन अपनी मानोकामना पूरी करने में लगे हुए थे.

सेक्सी व्हिडिओ मराठी भाषा

कभी उसके कान, गाल और होंठों को काटने लगा, तो सरिता और मदहोश हो गयी. अब अंकल बेड पर चढ़कर मेरे नजदीक बैठ गये- नीतू … अब मुझे तुम्हारी शर्ट को खोलना पड़ेगा. कुछ देर सोचने के बाद डिसाइड किया कि कुछ न कुछ तो करना ही पड़ेगा और ऐसा मौका बार बार आता भी नहीं.

जल्दी ही मेरी झिझक गायब हो गई और लण्ड चूसना मुझे अच्छा लगने लगा और मैं इसे हिला हिला कर चाटने और मुंह से म्मम्म. हम चारों ने दारू से भरे गिलास आपस में टकराए और अपने होंठों से लगा कर आज की चुदाई के कार्यक्रम की सफलता के लिए चियर्स बोला.

पिंकी अमर को खाना देने उसके कमरे में आई तो अमर ने पिंकी के हाथ से खाने की थाली लेते हुए ही हरकत कर दी.

मेरी उम्र 25 वर्ष है, मेरा रंग गोरा है तथा मैं 5 फुट 9 इंच लम्बे कद का हूं. मैंने उसके जी-पॉइंट यानि चुत के दाने को हल्के से काटा, तो वो उछल पड़ी. सर ने मम्मी की चूत को चाटना नहीं छोड़ा, तो मम्मी ने सर से कहा- अब चोद भी डाल साले.

मेरा दिमाग चकरा गया कि ये घर क्यों आने को बोल रही हैं, जबकि प्लान तो कुछ और है. मैं उसके निप्पलों को चूसने लगा और मेरा लंड मानो मेरी पैंट को फाड़ कर बाहर निकल जाएगा. ऐसे ही एक दिन में उनको बातों बातों में बोल दिया- अगर तुम मुझसे प्यार ही नहीं करती हो … तो मुझे तुमसे कोई बात नहीं करनी.

मैं अपने घुटने के बल बैठकर सरिता की नाभि के आजू बाजू अपनी जीभ गोल गोल घुमाने लगा तो सरिता सिहर उठी.

बीएफ सेक्सी दिखा: मैं- हां तो मेरे कॉलेज में आ जाओ न … मैं तुम्हारा एडमिशन करवा देता हूं. तो मैंने बोला- भाभी, जल्दी से झोटे का डंडा पकड़ कर लाइन में लगा दो.

सुरेश अंकल मेरी भावनाओं, तमन्नाओं, मेरी प्यास से अनजान प्रातःकाल पर निकलते और मुझे बिना देखे अपनी ही धुन में निकल जाते; वो घूम कर वापिस करीब सात बजे लौटते थे पर लौटने में भी उनका यही क्रम रहता था कि बिना किसी की तरफ देखे मजबूत कदमों से फुर्ती से चलते हुए लौट जाते. बुर से निकले स्वादिष्ट माल को पी जा प्यारे भाई!उसकी बुर फड़फड़ा रही थी और उसकी गांड में भी कम्पन हो रहा था. मैं दिलिया की जीभ चूसने लगा और मेरी दुल्हन दिलिया की चूत मेरे लण्ड का रस निचोड़ती रही.

रितेश को भी ये अहसास थोड़ी देर बाद हुआ क्योंकि वो भी मीरा के चूतड़ों की गर्माहट में खो गया था.

साली हवशी रांड कमर उछाल उछाल के चुदाई करवाने लगी, मेरी पीठ पे उसने अपने नाखूनों को गड़ाना शुरू कर दिया. मैंने डेस्क से दूसरी चाबी निकाली और स्कूटी लेकर एसजी हाईवे पर निकल पड़ी. उन्होंने मुझे वापिस बुलाया और पूछा- शाम को कितने बजे फ्री होते हो?मैं कुछ समझा नहीं तो उन्होंने बोला- सरनी का कुछ काम है स्टडी का.