इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,एचडी सेक्सी एचडी सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

भी मेट फाइल: इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ, उसने मुझे तौलिया दिया और बोली- लो अपना सर पौंछ लो, मैं चेंज करके आती हूँ और फिर चाय बनाती हूँ.

सेक्सी वीडियो चाची की चूत

ललिता कितनी किस्मत वाली है साली … जब चाहती है, उसे लंड मिल जाता है. राजस्थान सेक्सी ऑडियोफिर उसने अपनी टांगों को थोड़ा सा फैला लिया और अपनी चिकनी गुलाबी चूत को अपनी उंगलियों से धीरे धीरे रगड़ने लगी.

मेरे निप्पलों को अपनी उंगली और अंगूठे के बीच में लेकर मसलती हुई नोंचने लगी. ब्लू फिल्म सेक्सी में चाहिएहम दोनों बिस्तर पर लेट गए और चिपक कर आहह आहह करके अपनी सांसों के सामान्य होने का इंतजार करने लगे.

मैंने दरवाजे को हल्के से खोलकर उसमें से झांककर देखा तो हीरा बाबू वहां आया हुआ था.इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ: जैसे ही मैंने बिना आवाज किए हाथ से पर्दे को हटाया तो देखता हूं कि सुनीता के हाथ में मूली थी, जिसे वह अपनी चूत में डाल रही थी और अन्दर बाहर कर रही थी.

मैंने और आरती ने सबसे पहले एक दूसरे को जोर से हग किया और उसके चेहरे को देख कर मैंने अपने होंठ उसके रसीले होंठों पर रख दिए.यह मकान मेरे उस सलाहकार की चाची का था और उसके चाचा का निधन हो चुका था.

सेक्सी हिन्दी video - इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ

मैं जमकर झटके लगाने लगा और वो भी अपनी गांड आगे पीछे करके मस्ती से चुदाई का भरपूर आनन्द ले रही थीं.इस बार मैं कोई चार पांच साल बाद मामा जी के घर आया था तो सुमन से भी अभी मिला था.

मैं- साली बहन की लौड़ी रंडी, देख कैसे खुद गांड में लौड़ा ले रही है कुतिया, ले चुद मेरे लौड़े से छिनाल … अब तो रोज तेरी नूरानी चूत और गांड में मेरा लौड़ा घुसेगा बहनचोदी. इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ आंटी की चूत खुल गई थी और वो आह आह करके अपनी गांड आगे पीछे करके तेजी से चुदाई में भरपूर साथ देने लगी थीं.

ओह माय गॉड … इतना लंबा और मोटा लंड…!!मैंने पहली बार इतना हब्शी लंड देखा था.

इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ?

फिर धीरे धीरे अपनी जीभ दूधघाटी के बीच से होते हुए नाभि पे अपनी जीभ डाल कर चूसा. उस वक्त हमने नया घर लिया था और जहां पर हमने नया घर लिया वह कॉलोनी एकदम खाली थी. ललिता भाभी बोलने लगीं- राज चोदो मुझे … आह और जोर से धक्का लगाओ … आहह आहहह लव यू जान तुम कितना अच्छा चोदते हो.

सोनम फ्रंट सीट पर बैठकर मेरे लन्ड को पैंट के ऊपर से पकड़ कर दबा रही थी और साथ में रास्ता भी बता रही थी।कुछ देर कार ड्राइव के बाद हम दोनों सेलेक्ट सिटीवॉक मॉल पहुंच गए. मैं कभी उनकी गर्दन पर किस करता तो कभी उनके कान पर अपनी जीभ चलाता और कान के निचले हिस्से को चूसता. शादी से पहले मैं थी बड़ी मनचली और हमेशा लंड बुर और चुदाई के बारे में सोचती रहती थी.

क्योंकि मैंने किसी औरत को पहली बार इतनी नजदीक से छुआ था तो मैं उसके ऊपर भूखे भेड़िए की तरह टूट पड़ा।इतने ज्यादा जोश में था मैं कि मेरा पूरा चेहरा और कान लाल हो गये थे. अब आगे वर्जिन देसी चूत सेक्स कहानी:साबिरा के बदन की गर्मी का मज़ा ले ले कर मेरा लौड़ा भी खड़ा हो चुका था और कच्छे से बाहर आते ही हवा में लहराने लगा. फिर समीर भैया एक अरसे से मुझे पटाने की कोशिश में लगे हैं तो इसी लिए उन्हें चोदने का पहला हक़ देना बनता था.

कोई मेरी मटकती गांड देख कर खुद के लंड को मसलता तो कोई मेरे बड़े, मोटे और टाइट बूब्स को … और चेहरे पर तो सब फिदा थे. भाभी की चूत का पानी इतना गर्म था कि जल्द ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया.

उस गाने में आखिर में एक किस पहले लड़की लड़के के गाल पर करती है … और फिर लड़के को एक बार करना था.

ऐसा लग ही नहीं रहा था कि ये मैं हूँ, ये तो कोई बहुत ही खूबसूरत लड़की थी.

मैंने कहा कि मैं क्या करूं … क्या मुझे कोचिंग के बाद घर चली जाना चाहिए?इस पर उन्होंने कहा- हम दोनों आज तुम्हारा जन्मदिन कोचिंग पर ही मनाते हैं. बीच बीच में बॉस मेघना के चूतड़ों पर ज़ोर से थप्पड़ मारते जा रहा था. अब मैं घर से 12 बजे के करीब निकली और बाहर आते आते मैं पूरी भीग गयी.

मैं पहले से ही बाथरूम में अपनी नंगी जवानी को देख कर मदमस्त हो रही थी और अब एक साथ दो लड़कों की इन हरकतों से मैं और भी गर्म होने लगी थी. एकदम से लंड लेने से भाभी सिहर गई और ‘उंह आन्ह मर गई …’ कह कर लंड लीलने लगी. मैं बिस्तर पर लेटा हुआ उसके आने का इंतजार कर रहा था और आहिस्ते आहिस्ते अपने लंड को सहला रहा था.

‘ऊउ ममम्मी आआह आऊच्च आह … कितना अन्दर पेल रहे हो आंह …’यही सब करती हुई रूना मेरी कमर को पकड़कर जोर जोर से हिलने लगी.

नहा धोकर बाहर आने के बाद मैंने रेशमा को मेरे बैग में से निकाल कर एक थैला पकड़ा दिया. लेकिन उसी बीच मुझे उसकी नजरें देख कर समझ आ जाता था कि ये भी मुझे पसंद करती है. फिर मैंने भाभी को वापस घोड़ी बनाया और उनकी गांड में थूक लगाकर लंड घुसा दिया.

चाची बोलीं- यही करोगे या आगे भी बढ़ोगे … कब से मेरी चूत पानी छोड़ रही है. मुझे पता था कि मुझे नंगी देखने के बाद मेरा भाई भी रुकने वाला नहीं है. मेरी गांड की गर्मी से पिघल कर वो जूस बूंद-बूंद कर के रिसता, तो मैं माहवारी होना महसूस करती.

’मैंने कहा- हां बेबी … मेरा भी होने वाला है आह रानी और अन्दर ले लो आह.

भाभी बोली- आह विराट … तुमने तो मार ही डाला! मेरी चूत चाटो!मैं तुरंत नीचे सरक कर अपना मुंह चूत पर लगा के मजे से चाटने लगा. हॉट बेब सेक्स स्टोरी मेरे पड़ोस में रहने वाली एक सेक्सी लड़की से दोस्ती और यौनाकर्षण की है.

इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ मैंने भी कोशिश की कि उसके लंड पर दांत ना लगे और उसे पता भी न चले कि मैं ऐसा कर रही हूं. मैंने कहा- दोनों एक साथ चोदते थे क्या?वो बोलीं- नहीं, दोनों अलग अलग दिन चोदते थे.

इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ मेरे मन में उसे चोदने की इच्छा हो रही थी, मन कर रहा था कि साली को यहीं पकड़ कर चोद दूँ. आमतौर पर मैं कसरत करने जिम जाता था पर लॉकडाउन में घर में छत पर कसरत करने लगा था.

उसने मेरी तरफ अपनी चूत हिलाई और बोली- कैसी लगी?मैंने कहा- तू तो एकदम हॉट माल है.

क्ष्क्ष्च

वो मेरे बाल पकड़ कर मेरे मुँह को चोदने लगी और जोर जोर से मेरे मुँह में धक्के मारने लगी. दोस्तो, मेरी पिछली कहानीमकान मालकिन भाभी की चूत गांड चुदाईसे पता है कि मेरी नई मकान मालकिन ललिता यादव को मैं बिंदास चोदता हूं. भाभी का वज़न बहुत अधिक था इसलिए भाभी मना कर रही थीं लेकिन जब भाभी मेरे लंड को अपनी चूत में टिका कर बैठीं तो मेरा लंड एक बार में उनकी चूत में समा गया.

धीरे धीरे अपने हाथ से लौड़ा मेरे कच्छे के ऊपर से ही सहलाते हुए उसने अब मेरा कच्छा नीचे की तरह खींचना चाहा. बीच बीच में मैंने किरण का मुँह रेशमा की गांड से बाहर निकाल कर कई बार उसके मुँह पर थूक भी दिया. अब धारा का गोरा नंगा जिस्म किसी चमकते हुए संगेमरमर की मूर्ति की तरह नज़र आने लागा.

मेरे एक फ्रेंड की भी वहीं जॉब थी तो कभी कभी मैं उसके पास आकर पार्टी कर लेता था.

भाभी शाम को ऊपर टहलने आया करती थीं तो कभी कभी बात भी हो जाया करती थी. मुझे मजा आने लगा और मैंने धीरे धीरे करके अपना पूरा लंड मॉम के मुँह में घुसेड़ दिया. कुल मिलाकर शेखर के होश उड़ाने के लिए धारा का ये रूप काफ़ी साबित हो रहा था.

मेरा नौकर गोपू हमारे लिए खाना बना कर अपने घर चला गया था और अब मैं और रूपा फिर से अकेले थे. इसी तरह 20 मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैं उनकी गांड में ही झड़ गया. ऐसा करने से मेघना बुरी तरह से छटपटाने लगी और अपनी कमर को आगे पीछे मटकाने लगी.

जब वो मेरे बूब्स को मींजते और मैं उछल उछल कर चुदवाती तो बड़ा मजा आता था. फिर कुछ दिन बाद ही मुझे कंपनी के द्वारा कंपनी के काम से कुछ दिनों के लिए दूसरे शहर जाने के लिए बोला गया.

मैंने वैसे ही किया और आसिफ ने तेल की बोतल उठा कर मेरी चिकनी गांड पर गिराने लगा. मैंने ये बात पापा को बताई तो वो बोले- हां ठीक है न, तुम कल चली जाना. उन्होंने मुझे बुरी तरह से जकड़ लिया और अपनी पूरी ताकत से मुझे चोदने में लगे थे.

मगर उसने मेरे हाथ को हटा दिया और बोली- हट साले … वर्ना मैं मम्मी से कह दूंगी.

आह एक बहुत ही उन्मादक महक मेरे नाक में पड़ी और मैं खुद को रोक नहीं पाया. भाभी चिल्लाने लगीं- उई मार डाला … आह फट गई मेरी!उन्हें दर्द होने लगा. तो रमन ने कहा- एक रात और रुक जाओ, कल चली जाना, जहां कहोगी वहाँ छोड़ आऊंगा।दो चुदाई से मेरी भी प्यास कहां बुझने को थी, मैंने चेहरे की खुशी छुपाते हुए हां कर दी।हां करने की देरी थी, रमन फिर मुझे चोदने को तैयार थे।उन्होंने मेरे भीगे बदन से तौलिया खींच फेंका, अपने बेडरूम में मुलायम बिस्तर पर धकेल दिया और मेरी चूत में उंगली करने लगे.

फिर मैंने उससे कहा- आप मेरी सीट पर आकर बैठ जाइए और बच्ची को आराम से सोने दीजिये. मैंने नीरज के बारे में पूछा, उसने बताया कि उसे उसके दफ्तर से कॉल आ गया था तो वो जल्दी निकल गया और विजय तो रात में ही घर चला गया था।तो मैंने उससे पूछा- आप कहां सोये? सॉरी, मैंने आपको आपके कमरे से ही बाहर निकाल दिया.

उसने बताया कि उसका नाम नव्या है और वह 28 वर्षीय एक महिला है, नोयडा में रहती है. मैं समझ गया और मैंने उसे चूमते हुए कहा- मेरी डॉल तुझे मेरे साथ मजा आया या बुरा लगा?वो मेरे सीने से चिपकती हुई बोली- आप बहुत मस्त मर्द हैं. मिहिरा- आप अपने दोस्त के लिए वक़्त भी नहीं निकल सकते?मैं- दोस्त … वो कब बने?मिहिरा- अरे आप उस दिन मेरे हाँ में हाँ मिला रहे थे ना … तो मुझे लगा हम दोस्त बन गये हैं.

इंडियन सेक्स xxx

वो उठ कर बाथरूम में जाने को हुईं लेकिन मैंने उन्हें उठने नहीं दिया.

उसकी दोनों जांघें कांपने लगीं और सारे कमरे में उसकी सिसकारियां गूंज उठीं- आह्हह आआह्ह मम्मीईई आह्हह ओओह … बसस्स आंह्ह!जल्द ही उसकी पूरी बुर पानी से लबालब भर गई और मैं उस पानी को बड़े प्यार से चाटता गया. उसने ब्रा नहीं पहनी हुई थी तो उस बिग बूब्स गर्ल के दोनों स्तन मेरे सामने झूल रहे थे. बॉस एक बार फिर से मेघना के नंगे बदन को चूमने चाटने लगा और दूध को जोर जोर से मसलने लगा.

साथ ही वो ‘आहह आह …’ करके बोलने लगीं- आह राज और तेज तेज चोदो मुझे … आह कितना अच्छा चोदता है. मगर ये सीन देख कर मेरी आंखें खुली की खुली ही रह गईं और लंड ने अपना मादरचोदपन दिखाना शुरू कर दिया. सेक्सी पिक्चर वीडियो यूट्यूबमैंने मॉम को लिटाकर दोनों टांगें फैला दीं और ऊपर आकर एक झटके में अपना लौड़ा घुसा दिया.

मैंने बाथरूम में अच्छी से स्नान किया और अपने दैनिक काम काज में लग गई. अब आप ये सोचिए कि आप दोनों का क्या होगा?भाभी के चेहरे पर एक अलग ही खुशी दिख रही थी.

एक दिन मेरे पास एक मेल आया, जिसमें एक लड़की ने मुझसे मेरा व्हाट्सएप नम्बर मांगा. जब आज मैं ये अपनी देसी चूत सेक्स कहानी लिख रही हूँ तो मेरी शादी को दो साल हो गए हैं. मुझे पता था कि साबिरा की अनचुदी बुर की झिल्ली लौड़े को घुसने से रोक रही है, इसलिए मैंने जोर का धक्का मार दिया था.

Xxx चाची चुदाई कहानी में पढ़ें कि पढ़ाई के लिए मैं चाचा के घर रहता था. सोनम बिस्तर में आकर श्वेता की चूत में उंगली डाल कर चोद रही थी और मेरा लन्ड चूस रही थी. मैंने भी अपनी दोनों टांगें फैलाईं और उनकी कमर में टांग डालकर उनके गले में अपनी बांहें डाल दीं.

फिर हम लोग खाना खाने एक होटल में गए जहां मैं और आरती आमने सामने बैठ गए और एक दूसरे को पैरों से छेड़ने लगे.

मैं सरिता को आपने ऊपर खींचकर चूमने लगा, तो सरिता भी मेरे होंठों को चूसने लगी. उसको भी पता चल गया कि मैं उसको गांड खोलने का आदेश दे रहा हूँ तो उसने भी अपने हाथ से अपने मांसल चूतड़ फ़ैलाए और मेरे लौड़े का स्वागत करने लगी.

जल्द ही मेरा लंड अपने पूरे जोश में आ गया और अब रूना ने मुझे लेटा दिया और मेरी आंखों में देखते हुए बगल में बैठकर लंड को सहलाने लगी. उधर मोहन बाबू केवल मुझे देखने, बात करने और मुस्कुराने तक ही सीमित थे, आगे बढ़ने की उनकी हिम्मत ही नहीं हो रही थी. एक रात को बात करते करते कब हमारी बात सेक्स चैट में बदल गई, मुझे पता भी नहीं चला.

उन्होंने अपने हाथ की तरफ देखा, फिर दूसरे हाथ से मेरे लंड को मेरे लोअर अन्दर करके वो उठ कर वहां से चली गईं. मैंने गौर किया की उसके बदन पर कई जगह काटने के निशान थे, जैसे कि उसके दूध पर पीठ पर और उसके चूतड़ों पर. वो बोलीं- उससे क्या होगा?मैंने कहा- मेरे और आपके बीच कुछ खुलापन आएगा.

इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ किसी भी दूसरे मर्द के नीचे टांगें खोलने में उसको जरा भी देर नहीं लगती थी. मॉम का थूक मेरे थूक के साथ मिलकर, दीपाली की गांड को गीला कर रहा था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी बफ

मैं दोनों की बातें सुनकर हंसने लगा और बोला- मेरी रंडी मौसी और मॉम झगड़ा मत करो. फिर मैंने मॉम को सीधा किया और हम 69 की पोजीशन में आकर एक दूसरे के चूत लंड को चाटने चूसने लगे. वो मुझसे बात करने लगी थी और मैं भी उससे सामान्य तौर पर बात करने लगा.

तभी मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनकी गर्म सांसों को महसूस करने लगा. फिर वो सोने की कह कर चैट खत्म करके सोने चली गई … मगर कुछ मिनट बाद ही उससे मेरी चैट फिर से शुरू हो गई. सेक्सी एचडी वीडियो बिहारमौसी ‘आह हहह उईईई …’ करती रहीं लेकिन अब मैं बिना रूके उन्हें तेजी से चोदने लगा और किस करने लगा.

भाई के जोर लगाने के बावजूद भी उनका लंड मेरी चूत के अन्दर नहीं घुस पा रहा था.

मेरी बात पर मुस्कुराती हुए नीता ने मेरे दोनों गालों पर बारी बारी से चूम कर कहा- बहुत बदमाश हो तुम. वो बोला- कैसी लगी ब्रेड?मैंने कहा- मजा तो आया पर तुम्हारी गाढ़ी मलाई ब्रेड में लगी होती तो और मजा आता.

मैं अपना हाथ उनकी चूचियों की तरफ ले गया तो वो बोलीं- आशीष, ये क्या कर रहे हो?मैंने झट से अपना हाथ वहां से हटा दिया. मेरी मॉम ‘ऊईई ऊईई …’ चिल्ला कर कराहने लगीं और बोलीं- आंह बाहर निकाल ले तनु … दर्द हो रहा है. तभी सुची ने कहा- अब मेरा नंबर …तो सोनी हट गई और सुची अपनी सलवार उतार कर घोड़ी बन गई.

किसी भी दूसरे मर्द के नीचे टांगें खोलने में उसको जरा भी देर नहीं लगती थी.

मेरे पूछने पर उन्होंने बताया कि अंकल नाइट ड्यूटी गए हैं, सुबह आएंगे. चाची बोलीं- यही करोगे या आगे भी बढ़ोगे … कब से मेरी चूत पानी छोड़ रही है. पर खुद पर अंकुश बहुत जरूरी था वरना इस समाज की नजरों में जिस्म का धंधा करने वाली रण्डी बनने में देर नहीं लगती।कितनी अजीब बात है, हर कोई अपनी रातें रंगीन करने को रण्डी चोदना चाहता है पर दिन में सब ऐसे अछूत को तरह उसे देखते हैं जैसे रात में उसकी उसकी चूत से पवित्र होकर आए हों।खैर, मैंने अपनी भावनाओं पर अंकुश लगाने के लिए अपना ध्यान काम पर केंद्रित करना शुरू किया.

सेक्सी चीन की वीडियोआठ बजे तक रूपा खाना खा चुकी थी और मैं अपने कमरे में बैठा शराब पी रहा था. मैं धीरे धीरे से धक्के लगाने लगा और वो भी गांड में रगड़ लगने से मजे ले रही थी.

चुदाई एक्स

पाटिल जी ने भी उसको अपनी बाजुओं में कस लिया और उसकी चूचियां चूसते हुए वो भी नीचे से धक्के लगाने लगे. कंपनी के हर वर्कर को मैं व्यक्तिगत रूप से पहचानता हूँ और कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए हम सब एक परिवार की तरह मेहनत करते हैं. अब वो हंस दिया और फिर से एक बार मेरे कंधे से हाथ लेकर सीधे मेरी टी-शर्ट के अन्दर कर दिया.

मैं मन में कहने लगी कि खाना खाकर … उसने आपकी बहू की इज्जत ही खा ली. उनकी आंख दबी तो मन बेकाबू हो गया और मैंने उसी पल भाभी को अपनी ओर खींच लिया. बस फिर क्या था … उसने कहा- यार कभी साथ बैठते हैं न, मुझे दारू पिए बहुत दिन हो गए हैं.

वो फिर से चार्ज हो गई थीं और ‘आहहह आह …’ करके अपनी गांड उठाती हुई चूत आगे पीछे करने लगी थीं. यह मेरा पसंदीदा तरीका है क्योंकि किसी माल को जब घोड़ी बनाओ तो उसकी गांड पर जब धक्के पड़ते हैं और उसकी गांड जब लहराती है, तो वो मजा ही अलग है. जब मैं तुमको उसके सामने चोदूंगा तो तुम इस सबका इल्ज़ाम शिराज पर डाल देना.

मेरे पति का तो इतना काला लंड है कि चूसने की बात दूर … चूमने को भी दिल नहीं करता. वो रोती हुई लेटी रही और मैं बेहद ही आराम आराम से अपने लंड को आधा बाहर निकालता और फिर अन्दर करता.

तुमने जिस तरह आज मेरी चुदाई की है, आज पहली बार चुदाई का असली मजा मुझे मिला है.

मैंने चाची की चूत के अन्दर माल डाल दिया और हम दोनों वैसे ही नंगे चिपक कर सो गए. लंड का लंड सेक्सीअब देख क्या रहा है, जल्दी से इस लंड को अपनी बहन की प्यारी चूत में डाल दे. jio सेक्सी व्हिडिओसबको चाय देकर देविका ने मुझे भी चाय दी और खुद लेकर मेरे पास बैठ गयी. जैसे ही उसके थूक से मेरा लौड़ा पूरा गीला हुआ, वैसे ही मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह से बाहर निकाला.

उसके बाद तो लगातार चार दिन तक हम दोनों के ऊपर बस चुदाई का भूत सवार था.

चाची उठीं और साड़ी उतार कर अलग करने लगीं और अपने पेटीकोट के नाड़े को ढीला कर पेट के बगल लेट गईं. मेरी मकान मालकिन लगभग 45 साल की एक महिला हैं, जिनके पति कुछ साल पहले ही स्वर्गवासी हो गए थे. थोड़ी देर बाद मैंने सुची से उसके घर में अकेले में पूछा- जरा ढंग से बताओ कि किसी नई के साथ कैसे खेला जाता है.

हमें देखकर वो बोली- यार मुझे अकेला छोड़कर तुम दोनों कहां चले गए थे?वो ये सब मुझे आंख मारती हुई बोली थी. एक ही झटके में पूरा लंड अपने गले तक ले गयी और जोर जोर से चूसने लगी. तू जितना बुड्ढा है तेरा लण्ड उतना ही जवान है। साला बिना रुके चोदे जा रहा है.

इंग्लिशxxx

पाटिल जी ने भी अपने धक्के रोकते हुए मेरे मन को समझ लिया और रेशमा को कसके अपनी बांहों में भर लिया. इसका मतलब साफ़ था कि जब मैं उन्हें कल चूम रहा था, तब मौसी जाग रही थीं. हम दोनों ने जल्दी जल्दी अपना अपना खाना खत्म किया और लगभग 8 बजे ही मैं सोने के लिए कमरे में चला आया.

आंटी की गांड पहले से काफी खुल चुकी थी और अब लंड जल्दी जल्दी अन्दर बाहर अन्दर बाहर हो रहा था.

मैं सटासट सटासट अपना लंड उनकी टाइट गोल गांड में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके चोद रहा था.

मैं पूरी ताकत से धक्के लगाने लगा और उसे गालियां देने लगा- हां मेरी रंडी, तुझे तो मैं बीच चौक पे चोदूंगा मां की लौड़ी साली कुतिया. अभी कुछ देर पहले तक जिस हुस्न की मल्लिका के मख़मली जिस्म को वो भोग रहा था उसका हसीन चेहरा भी देखने को नसीब नहीं हो सका था. बिहारी सेक्सी लडकीउन्होंने लंबे लंबे करारे करारे शॉट लगाने शुरू किए और साथ में पीछे से हाथ डालकर मेरे बूब्स को मसलना शुरू किया.

मुझे भी इसी तरह की रंडी को चोदना पसंद था, जो किसी गुलाम की तरफ मेरे हर जुल्म सहन कर ले और मेरे लौड़े से दिन रात चुदती रहे. मैंने अपने एक हाथ से देविका की चूत की फांकों को दोनों तरफ फैला दिया और दूसरे हाथ से अपना लंड पकड़ कर लंड का सुपारा उसकी फांकों में सैट कर दिया. ह्म्म्म … ओह्ह्ह … ओह्ह … आह्ह … फाड़ दो शेखर … फाड़ दो इसे!” धारा उन्माद में बक-बक करती हुई ज़ोर-ज़ोर से उछल उछल कर अपनी गांड मरवाने लगी.

उनकी सांसें तेज होने लगीं और उनका बदन उनके कंट्रोल से बाहर होने लगा. दस मिनट की इस चुम्माचाटी के बाद मैं गीता की नाईटी के ऊपर से ही उसके निप्पलों को अपने होंठों से बारी बारी चुभलाने लगा.

मॉम ने गुस्से में मुझसे कहा- शर्म नहीं आती, ये सब करते हो!मैंने सॉरी बोला लेकिन वो गुस्सा होकर रूम से चली गईं.

रगड़ रगड़ कर नहाने के बाद मैं खड़ी हो गयी और अपने भीगे जिस्म को तौलिये से पौंछने लगी. वो बोले- अच्छा तो ये होती है नाईट ड्रेस … और क्या पहना है मेरे बाबू ने?मैंने बोला- क्या मतलब भैया?उन्होंने कहा- अरे लड़कियां अन्दर और भी कुछ पहनती हैं ना?मैं बोली- हां भैया मैं भी पहनती हूँ, पर रात में अन्दर कुछ नहीं पहनती हूँ. आंह चूस मेरी गांड मादरचोद हिजड़े की बीवी, आज तुझे तेरे उस नामर्द पति के सामने नंगी करके मेरा मूत पिलाऊंगा साली कुतिया!पाटिल की बातों से मुझे पता चला कि किरण का पति नामर्द है.

सेक्सी कुत्ते और लड़की मेरी आग शांत हो गई और मैं अपनी अंडरवियर बाथरूम में रख कर वापिस बेड पर आ गया. मैंने आवाज देकर पूछा- कौन है?तो भाई झट से बाथरूम में घुस आया और मुझे कमोड पर बिठा कर मेरी टांगें खोल दीं.

ललिता की गांड का छेद अब खुल चुका था और दर्द की जगह अब मजा ने ले ली थी. बस उसी पल मेरे लंड ने कुछ तेज पिचकारियां देविका के गले में गहराई में मार दीं और मैं झड़ गया. इतना बोल कर मैंने उनकी रजाई को हटा दिया और भाभी को अपने बांहों में पकड़ के उनके होंठों पर टूट पड़ा.

सेक्स with bhabhi

मैंने अपने लौड़े पर तेल लगाया और गांड में गिराकर जैसे ही धक्का लगाया, ललिता भाभी ‘ऊई ईई ऊईईई आहह आहह …’ करने लगी. रेशमा ने बना किसी आनाकानी के अपनी जीभ बाहर निकाली और मेरे टट्टों को चाटने लगी. कोई पन्द्रह मिनट चुदाई के बाद मैंने भाभी से कहा- मेरा पानी निकलने वाला है.

ताकि जब तुम ना हो तो मैं उसको चूस के उसका रस पी सकूं!मैंने प्रिया को बोला कि वह खुद ही नए बॉयफ्रेंड बना ले ताकि उनका लन्ड चूस सके. मैं उसकी चूत को चाटने लगा और उसके एक हाथ में अपना लौड़ा पकड़ा दिया.

एक मिनट बाद ही वो आंखें मसलती हुई जब बाथरूम के पास आई तो मैं अपने लंड को हिला रहा था.

आपको मेरी लंड गांड की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल व कमेंट्स करके जरूर बताएं. पायल- ओह मैं तो डर ही गयी थी। अकेले रहने की आदत सी जो हो गयी है … वैसे तुम्हें इतनी हार्ड कोर …राहुल पायल की चूत को सहलाते हुए- हाँ … हाँ … क्या हार्ड कोर??पायल हल्के दर्द के साथ मुस्कुराती हुई- मेरा मतलब, हार्ड कोर मेहनत के बाद भी नींद नहीं आयी क्या?राहुल पायल की सूजी चूत को एक नज़र देखते हुए- बस तेरी इसी अदा ने तो मुझे दीवाना बना दिया है जानेमन. पाटिल जी- आअह तेरे मां को चोदूं बहनचोद, चूस अच्छे से लौड़ा मादरचोद आज देख कैसे इस हिजड़े की बीवी की गांड फाड़ कर इसे घर भेजूंगा.

सबसे पहले तो मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और रूपा को भी नंगी करके अपनी जांघों पर बैठा लिया. तब तक मैं अपने कालेज की पढ़ाई पूरी करके घर में कुछ दिन के लिए रहने आ गया. जब से मेरी और मेरे भाई का चुदाई का सिलसिला शुरू हुआ था, तबसे मैंने पैंटी पहनना बंद ही कर दिया था क्योंकि उसको हर वक्त बस मेरी चूत ही चाटनी होती है और उत्तेजना में न जाने उसने मेरी कितनी पैंटी फाड़ दी थीं.

उसने अपने दोनों हाथ से लंड पकड़ा और नीचे झुककर अपने मुँह से ढेर सारा थूक मेरे लंड के सुपारे पर छोड़ दिया.

इंडिया सेक्सी बीएफ व्हिडिओ: उसने होंठ खोलकर मेरा लंड सीधा मुख में ले लिया!लगातार पांच सात मिनट चूसने के बाद उसने मेरे लंड से निकली गर्म गर्म वीर्य की धार अपने मुँह में ले ली।मेरा पानी निकालने के बाद वो उठकर बैठ गयी. लगभग 10 मिनट तक चुदाई के बाद मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाली हूँ, तभी वो भी बोले कि अब मैं छूटने वाला हूँ.

मेरे फ्रेश हो कर आने के बाद मॉम बाथरूम में चली गईं और थोड़ी देर बाद मॉम एक काले रंग के मस्त गाउन में बाहर आ गईं. मैंने उसकी कमर की कस कर पकड़ी औऱ एक ही झटके में नत्थूलाल को चूत की तंग गुफा की गहराई में तेजी से ठोक दिया. फिर मैंने काव्या से कंडोम पहनाने को बोला तो उसने बड़े प्यार से मेरे लंड पर कंडोम चढ़ा दिया.

कमरे में ज्यादा रोशनी नहीं थी और हम दोनों एक संदूक के पीछे छुपे थे.

तो वो उसकी बात पर बोला- देखो पूनम, उसने आज गोला मारा है और अगर उसको बाहर कुछ हो जाता तो कौन जिम्मेदार होता. फ्रेंड्स, मैं विराज!आपने इस कहानी के पिछले भागबिजनेस पार्टनर से प्राइवेट सेक्रेटरी की अदला बदलीमें अब तक पढ़ा था कि पाटिल जी रेशमा को अपने साथ ले गए थे और मैं पाटिल जी की सेक्रेटरी किरण को अपने लंड की तरफ खींच रहा था. मैं गीता की कोमल और पतली कमर को हर जगह चूमता हुआ नीचे रस टपकाती हुई उसकी चूत की तरफ बढ़ गया.