सास और दामाद का बीएफ

छवि स्रोत,ऑफिस की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ अच्छा वाला: सास और दामाद का बीएफ, क्या तुम कर दोगी?मैं बोली- हां बताइए नउन्होंने कहा- मेरे पैर बहुत दर्द कर रहे हैं … जरा मेरे पैर दबा दोगी?मैंने कहा- हां मम्मी, मैं आपके पैरों की मालिश कर देती हूँ.

मौसी और भतीजे की सेक्सी बीएफ

लेकिन इससे पहले कि हम दोनों और कुछ कर पाते, उनके बच्चों की आवाज आ गई. बीएफ हिंदी में चोदने वालीयहां के लिए ये भी रिपोर्ट थी कि वहां वही जोड़े जाते हैं, जिनको दूसरों के साथ सेक्स करने का मजा लेना होता है.

मैं- और इसका तुम क्या करोगी?गुल्लू- मुझे नहीं पता, डाक्टर ने कहा है. सनी लियोन का बीएफ एचडी मेंहमने साथ में चाय पीते पीते यह निश्चित किया कि अब तो कैसे भी करके चुदाई करनी है.

कुछ आधा घंटा बाद हम दोनों फिर से गर्मा गए और एक बार फिर से भाभी की जबरदस्त चुदाई शुरू हो गई.सास और दामाद का बीएफ: छोटे कस्बों में मिलने के लिए होटल तो होते नहीं हैं, शहर पास में था भी, तो भी हम लोग कभी हिम्मत नहीं जुटा पाए.

मैंने उससे पूछा- मज़ा आया या नहीं?वो हंस कर बोला- हां बहुत मज़ा आया.अब आप लोगों को ये बता दूं कि मम्मी का मुझे भेजने के पीछे केवल एक कारण था कि पापा दीदी के साथ कुछ ऐसा वैसा न करें.

हिंदी मूवी हिंदी बीएफ - सास और दामाद का बीएफ

पहले मैं अपना हाथ नीचे ले जाता, फिर धीरे धीरे ऊपर उधर तक आता, जहां तक उसका शॉर्ट्स था.मैं सोचने लगा कि अंधेरे में चुदाई के चक्कर में मैंने उसके मुँह पर तो ध्यान ही नहीं दिया, बस दूध और चूत पर ही ध्यान देता रहा.

उसके बाद जब भी समीर फ्री होता तो आ जाता और मुझे रातभर चोदता।प्रिय पाठको, आपको यह देसी Xxx सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:बुआ की सहेली की चुत दोबारा चोदने को मिली. सास और दामाद का बीएफ सुबह 9 बजे मेरी आँख खुली तो देखा कि मेरी एक तरफ नीता और दूसरी तरफ दीप बिल्कुल नंग धड़ंग लेटा सो रहे थे.

मैंने कहा- अभी थोड़ी देर पहले तो बहुत हाथ हिलाते हुए कह रहा था रिंकी दीदी रिंकी दीदी.

सास और दामाद का बीएफ?

अब तक उसने भी अपने कपड़े पहन लिए थे और वो मोबाइल में देख कर अपना हुलिया ठीक कर रही थी. तभी मैंने रिशू के कपड़े ठीक किए जल्दी जल्दी से!उस दिन से मैं सोचने लगा कि कैसे भी करके अपनी चचेरी बहन रिशू की बुर की चुदाई करनी है।इसके बाद हम सब लोग गर्मियों की छुट्टियों में अपनी बुआ जी के घर गए. वो मेरी चूत में जीभ से मेरी चूत के दाने को सहलाती हुई बोलीं- आह बहू … बहुत मजा आ रहा है और जोर जोर से मेरी चूत चाट!मैंने तभी सासू की चूत से जीभ हटा ली और उनके ऊपर से उठ कर अलग हो गई.

तो मैंने क्या किया?दोस्तो, मैं आपको आज एक सच्ची बेवा माँ बेटा सेक्स स्टोरी बता रहा हूँ कि कैसे मैंने शराब के नशे में अपनी अम्मी की चुदाई की. मैंने उससे बोला- आज मैं तुम्हें कार चलाना सिखा दूंगा, सीखोगी?वो मान गई. मैं- देखो राहुल भैया, मुझे सीने में दर्द हो रहा है, अगर तुम चाहो तो मेरी मदद कर सकते हो.

मुझे पता था यह ज्योति का पहली बार है तो मैंने धीरे धीरे चोदना शुरू किया. उसके बाद मैंने उसे उलटा किया और उसके चूतड़ों को कहता, उनपर दांतों से काटा. मीनाक्षी लंबी लंबी सांसें ले रही थी और मेरा सर अपनी चूत पर दबा रही थी.

और अब रिशू को भी मजा आने लगा, वो कहने लगी- भाई, आज अपनी बहन की बुर चोद दो खूब! अमन दूध भी दबा लो जितना मन हो!मैंने कहा- बहुत दिन से मैं तुम्हें छोड़ने की कोशिश कर रहा था … आज जाकर मिली हो मेरी जान!उस रात रिशू को कई बार चोदा. वो बिना परवाह किए लगातार सिसकार रही थी और मेरे बाल पकड़ कर साबुन की तरह छाती पर मल रही थी.

भाभी की चूत को चीरने के लिए मैंने उनकी तरफ कामुक निगाहों से देखा तो भाभी भी समझ गईं.

इधर उन दोनों की आवाजों को सुन कर कुछ रानियों का ध्यान छोटी रानी के कक्ष पर गया.

इधर मेरी उंगली मिताली की चुत में जोर जोर से चलने लगी और मिताली भी मेरा सुपारा मसलने लगी. दोस्तो, मैं रिशांत जांगड़ा आपके सामने अपनी मम्मी की चाचा जी के साथ शादी की कहानी पेश कर रहा हूँ. और मेरा मन कब से भाई के प्यार के लिए तरस रहा था।फिर हम लोग कामुक होने लगे, एक दूसरे को चूमने लगे.

मैं पीछे को सरक कर बैठ गया और वो मेरे लौड़े पर बैठने ऐसे आ गई मानो आज उसका चुदाई का दिन था. अब हमारा चुदाई का सिलसिला चल रहा है, हम दोनों आज भी चुदाई करते हैं. मम्मी इसके जवाब में अपनी आंखें बंद करके सिर्फ ‘आंह नरेश … आज से मैं तुम्हारी हुई … आह चख लो मुझे … जितना पाना है पा लो मुझे … आह …’ की आहें भर रही थीं.

मैंने उसे चुप कराया और कहा- इसमें रोने वाली क्या बात है … क्या तुम्हें अच्छा नहीं लग रहा है?वो बोली- अच्छा तो लग रहा है मगर तुम जोर जोर से चूस रहे थे, उससे दर्द हो रहा था.

मैंने उसके एक चूचे को दबाना शुरू किया तो उसकी मादक आहें निकलना शुरू हो गईं. ज्योति गर्म होने लगी और उसके चुचे ऊपर नीचे होने लगे, उसकी चूत से प्रीकम आने लगा. हमारी जरूरत को बिना रोक-टोक के पूरी हो जाती है ताकि हम लोग मौज मस्ती से जी सकें, इतनी आय है.

पर तुमने कभी नोटिस ही नहीं किया।मैंने कहा- अच्छा जी, ऐसी बात है क्या!उस दिन सिर्फ हमारी नॉर्मल बातें हुई।उसने बताया- कॉल मैं खुद करूंगी, तुम मत करना. तभी अचानक से मेरे छोटे मियां भी नैना की चूत की गहराई में खो गए और झटकों के साथ मेरा सारा गर्म गर्म लावा नैना की चूत में समा गया था. चाचा- अरे मेरी जान क्यों मना कर रही हो?मम्मी- देखो नरेश, तुम कुछ भी कर लो … पर ये मत करो.

जब वो मेरे कपड़े उतार रहा था तो मैंने अंडरवियर में से ही उसका बड़ा लंड महसूस किया.

इसके बाद तो उसने मेरी गांड भी मारी थी जो मैं अपनी अगली गांड चुदाई वाली सेक्स कहानी में बताऊंगी. सच में दोस्तो, चाचा और मम्मी हम तीनों के मुँह से अपनी शादी के लिए हां सुनकर बहुत खुश हो गए थे.

सास और दामाद का बीएफ करीब 15 मिनट पापा ने दीदी को और चोदा और उनकी चुत में ही डिस्चार्ज हो गए. फिर कोमल दीदी ने मुझे टांग को फैलाने को बोला और मेरे मुँह की तरफ अपनी चूची करके मेरे लंड को हाथ में पकड़ कर उस पर बैठ गईं, जिससे पूरा लंड कोमल दीदी की चूत की गहराई में उतर गया.

सास और दामाद का बीएफ मैंने जोर लगाकर सुनील का पानी अपनी चूत से निकाल दिया जिससे मेरे पेशाब की भी दो तीन बूंद निकल गयी. चूत को चाटते हुए मैंने एक उंगली भी उसकी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा.

रानी भी उनके साथ बहुत खुश थी क्योंकि यह सब उसे बहुत दिन बाद करने को मिल रहा था.

सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ सेक्सी बीएफ

मैं- जी मेम, क्या हुआ?महिला- वो मेरी कार बंद हो गई है और मेरा फोन भी स्विच ऑफ़ हो गया है, तो किसी को कॉल भी नहीं कर पा रही हूँ. मुझे थोड़ा बहुत वो अन्दर जाते महसूस होता भी, तो दर्द इतना होता कि मुझे लगता मर ही जाऊंगी. दस मिनट तक ऐसा ही चलता रहा, मैं कभी उनकी गर्दन को चूमता, कभी उनके चूचों को दबाता.

मैंने जो अंकिता को बोला था, वो ही उसे बोला कि तेरे मम्मों से दूध आ रहा है. मैंने प्लान बनाया कि मैं इंस्टाग्राम में फेक अकाउंट बना कर मेरे मनपसंद लड़के के साथ सेक्स करूंगा. हम दोनों होंठों से होंठ लगा कर जीभ भी एक दूसरे के मुँह में डालने लगे.

लंड पेले हुए वाला लड़का बड़ी तेजी से रानी की चूत पर धक्के मारे जा रहा था.

अब बोल रही है दम लगा कर चोद … ले बहन की लौड़ी लंड ले कमीनी … आंह तेरी मां को चोदूँ साली रंडी की जनी. महेश सर मम्मी को पीछे से पकड़े हुए थे वो अपने हाथ को मम्मी के शरीर के आगे कमर पर इधर उधर कर रहे थे और वो दोनों आपस में कुछ बात कर रहे थे. चल अब तेरी बारी, चूस इसे!मैंने दीप का ढीला लंड अपने हाथ में पकड़ा और अपने होंठों से लगाया.

इसके बाद जयेश मुझे अपने घर ले गया और अपनी बीवी के सामने में गांड मारी. तभी मेरी नजर बाथरूम पे पड़ी जो अजय के रूम के बगल में था।उसका दरवाजा थोड़ा खुला था और अंदर अजय नंगा नहा रहा था।वो बिल्कुल दरवाजे के पास खड़ा शावर से नहा रहा था और खुले दरवाजे से झांटों के बीच लंड साफ़ दिख रहा था. दोपहर का खाने के बाद उसने फिर से पूछा- क्या सोचा तुमने?‘कुछ भी नहीं.

हम दोनों काफी देर तक चुदाई करते रहे और दो बार चुदाई के बाद हम रुक गए. आईने में अजय की बैचनी मुझे साफ़ दिख रही थी।मैंने अजय को अपनी ब्रा का हुक लगाने को कहा.

अब राजेश भी सिसकारियाँ ले रहा था।राजेश ने मुझे नीचे गिराया और लण्ड को चूत के मुँह पर रख दिया. जैसे ही मेरा लंड उसकी चुत से टकराता, वो अपनी गांड उठाकर मेरे लंड को अपने अन्दर लेने की कोशिश करने लगती. शायद महेश सर का लंड 7 इंच लंबा और 3 इच मोटा था जिसके चुत में घुसने से मेरी मम्मी की आवाज निकल गई- आह मर गई महेश … धीरे करो.

मैंने कहा- क्या सच में तेरे लंड को अभी कोई छेद नहीं मिला?वो बोला- नहीं साब, मेरा लंड अभी कुंवारा है.

आज मुझे मम्मी की चुदाई देखकर उनकी हकीकत के बारे में पता चला, हॉट मदर सेक्स देख मैं बस चुप रह गया. पूरा दिन यूं ही रिश्तेदारों से मिलने मिलाने, जान पहचान बढ़ाने में निकल गया. वो बोला- ये क्या होता है साब?मैंने लंड मुठियाते हुए कहा- जैसे चूत की सील टूटती है, वैसे ही लंड का धागा भी पहली बार में टूटता है.

भाभी ने कहा- कर दिया ना अपनी भाभी को खराब … ले लिया मजा?ये कह कर भाभी हंस दीं. दीदी बहुत गोरी हैं, इसलिए उनकी चुचियों से ऐसा लग रहा था कि खून आ जाएगा.

हमारे बीच में अब आप वाली औपचारिकता खत्म हो गई थीउसने पूछा- तुम अकेले ही रहते हो?मैं बोला- हां अंकिता जी. भाभी मना करने लगी, कहने लगी- कोई देख लेगा!मैंने कहा- भाभी, दादी तो सो रही है. मैंने ये देख कर एक दिन एक तरकीब लगाई और ऐसे ही दोस्ती में मैंने उसे प्रपोज कर दिया.

बीएफ दिखाओ अच्छी वाली

गाँव से थोड़ी दूर मेला लगा हुआ था और घर के सभी लोग मेला देखने गए हुए थे.

ये कहानी मेरे एक दोस्त सागर की जुबानी है, उसी हॉट वर्जिन फर्स्ट सेक्स कहानी को आपको सुना रहा हूँ. मेरे टांग बुआ के चूतड़ों के ऊपर होने के कारण मेरा लंड बुआ की गांड की दरार में पूरी तरह फिट हो गया था. अब वो ‘आह हहह आहह ओहह …’ करके मेरे जिस्म में अपने नाखून गड़ाने लगी और मैं झटके पर झटके रफ्तार तेज करने लगा.

ऐसे लग रहा था जैसे यह दोनों एक दूसरे को पहले से जानते हैं और हमारे सामने नाटक कर रहे हैं, जैसे पहली बार मिले हैं. मैंने उससे कभी प्यार या दोस्ती के लिए हां नहीं की थी लेकिन वो मेरा प्यार मानो एक जादूगर था. बीएफ बीएफ दिखा दोमैंने अपने हाथों को ड्राइविंग सीट के पीछे रखा और थोड़ा सा आगे की ओर झुक कर अपने पैरों को आगे बढ़ाने की कोशिश करने लगा ताकि मेरे पैर ब्रेक तक पहुँच जायें.

चाचा- आय हाय … कितना मीठा रस भरा है इनमें … मेरी जान … मन करता है तुमको खा जाऊं. एक एक्सिडेंट में मेरे अब्बू जी चल बसे, जिससे मैं और मेरी अम्मी दोनों अकेले रह गए.

सूट सलवार में मेरी पतली कमर, मोटी गांड और पकने को रेडी मस्त बूब्स थे. उसने भी लंड पेलने में देर न की और मुझे घोड़ी बना कर मेरी सवारी गांठने लगा. अब आगे हॉट दीदी Xxx चुदाई कहानी:अंधेरा होते ही दीदी ने कंबल हटा दिया और बोली- लो मैंने कंबल निकाल दिया, अब मालिश करो.

उसके कुछ देर बाद एक बार फिर से दोनों में घमासान चुदाई का युद्ध हुआ. ये सुनकर मेरे दोस्त ने रश्मि से कुछ बात की मगर वो लगातार अपनी तबियत खराब होने की बात कहती रही. उसमें से एक पाठिका ने मुझे ग्रुप सेक्स के लिए आमंत्रित किया लेकिन मैंने उसे प्यार से मना कर दिया.

बस उसी रात से मेरे मन में अपनी साली के प्रति गर्म भावना जग गई कि इसकी चुत कैसे चोदी जाए.

फिर मैंने भाभी के ब्लाउज को पीछे से हटा दिया और उनकी पीठ और कमर पर बहुत सारी चुम्मियां करते हुए नीचे आता गया. जब तक मेरी मामा की बेटी मेरे घर पर रही, तब तक हम दोनों चुत चुदाई का मजा खेल लेते थे.

मैंने अपना खाली करने के बादमैडम को बोला तो वो बोलीं- मुझे तुम्हारी गोद में बैठ कर पीना है. लगभग दस मिनट तक चुत चाटने के बाद चाचा ने अपनी जीभ की रफ़्तार बढ़ा दी. [emailprotected]ए सेक्स स्टोरी ऑफ़ लस्ट का अगला भाग:कुंवारी भाभी को चोदकर मां बनाया- 3.

उसने मुझको अपनी जांघों पर बैठा रखा था और मेरे एक हाथ में अपना लौड़ा पकड़ा रखा था और अपने एक हाथ से मेरी चूचियों को निरंतर मसल रहा था. नमस्ते, मैं रवि राजपूतमेरी पिछली कहानी थी:चलती बस में साली की चूत की चुदाईआज फिर एक नई सेक्स कहानी के साथ वापस आया हूं. फिर खड़ी होकर वो तेल की बोतल लाई और लंड पकड़ कर उसमें तेल लगाने लगी.

सास और दामाद का बीएफ बुआ शांत हो गईं तो मैं धीरे धीरे अपने लंड को बुआ के चूतड़ों के दरार में घिसने लगा. उनके ऐसा करने पर मुझे चुत के अन्दर का गुलाबी भाग दिख रहा था, जो वाकयी लाजवाब था.

रियल हिंदी बीएफ

उधर अपना नहाना आदि पूरा करके मैं बाहर निकल ही रहा था कि मुझे ऊपर से किसी लड़की की पायल छनकने की आवाज आई. मेरा मन थोड़ा बदला और गुस्सा भी कम हुआ, शायद उससे मिलने का एक्साइटमेंट ही होगा. मैंने नैना की नजर से नजर मिलाई तो उसके चेहरे को भी पसीनों की बूंदों ने घेर लिया था.

पीठ पर मालिश की तो उनका ब्लाऊज़ हाथ में फंस रहा था तो उनने उसे ढीला कर दिया. सौम्या, मैंने बस कुछ मौज मस्ती करने के लिए तुमसे बात शुरू करी थी, पर कब वो बातें प्यार में बदल गयी पता ही नहीं चला. शिल्पा राज की बीएफवो बोली- अन्दर ही गिरा दो प्लीज़!ये सुनकर मैंने तेज़ी से 10-12 धक्के मारे और ज़ोर से चिल्लाते हुए झड़ना शुरू कर दिया.

मैंने बोला- क्यों?वो बोले- तुम्हें चुदाई करनी है न?मैंने हां कर दिया.

मैंने कहा- क्या बात है मेम … आप कहीं जा रही हो क्या?वो मुस्कुरा कर बोलीं- हां आपके साथ. बल्कि एक दो बार तो मैंने महसूस किया कि जितना झटका लगता था, वो उससे कुछ ज्यादा ही उछल कर मेरी पीठ से अपने मम्मे रगड़ देती थी.

मम्मी की चुत से चाचा के काले मोटे लंड से निकला हुआ वीर्य इतना सफेद और गाढ़ा था कि मानो वीर्य नहीं कोई क्रीम हो, एकदम फेवीकोल जैसा पदार्थ बह रहा था. मेरे दादा जी की 5 बेटियां और 2 बेटे हैं, जिनमें मेरे पापा सबसे बड़े हैं. अगर आराम से गांड मारी जाए तो मजा आता है … और जान मैं तेरी तो बड़े प्यार से फाड़ूँगा … बस थोड़ा सा झेल लेना.

मेरी मामा की बेटी भी अपनी कुंवारी बुर में भाई का लंड लेकर चुत चुदाई का मजा ले रही थी.

मेरी पत्नी जो बिल्कुल सीधी-सादी थी, आज वह बिल्कुल मॉडर्न माल हो गई है. लगातार धक्के लगाने से मेरा भी पानी छूटने वाला था तो मैं रुक गया और लंड बाहर निकाल लिया. अपने सामने ड्राइविंग सीट पर बैठी हुई उसे काम अग्नि से जलाती हुई स्वर्ग की उस अप्सरा को में बिना पलके झपकाए आँखें गड़ाए खड़ा-खड़ा देख रहा था.

पतंजलि बीएफअब अनिल के मोटे लंड पर मेरी मॉम अपनी चौड़ी चिकनी गांड को फैलाकर बैठ गईं. मैंने दाल तड़का, जीरा राइस और थोड़ा नाश्ता जैसा खाना ऑर्डर कर दिया.

बीएफ गानों के साथ

थोड़े देर बाद मैंने उसका एक हाथ पकड़ कर अपने लोवर में डाल दिया और अपना लंबा मोटा लंड उसके हाथ में पकड़ा दिया. वर्जिन सिस्टर की चुदाई स्टोरी मेरे चाचा की जवान बेटी की कुंवारी बुर की चुदाई की है. मैं भी अपने कपड़े चेंज करके बाथरूम में फ्रेश होकर अपने रूम में आ गया.

फिर न जाने कब राहुल ने मुझे दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और मेरी नाइटी उठा कर मेरी चुत चाटने में लग गया. चूंकि मेरी पत्नी देखने में माल लगती है तो उसे देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाता है. तभी मेरे फोन पर घंटी बजी और दूसरी तरफ से एक प्यारी सी सुरीली आवाज मेरे कानों में आयी ‘अन्नू जी.

बार बार मैं उन्हें किस करने की कोशिश कर रहा था लेकिन वह अपने होंठ खोल ही नहीं रही थीं. फिर वो लड़के धीरे धीरे मेरे घर में भी बहाने बना कर मेरी बुआ के लिए आने लगे थे. कुछ ही पलों बाद उन दोनों ने एक साथ पानी छोड़ दिया और हम सब चिपक कर लेट गए.

दीदी नानुकुर करतीं तब भी हम दोनों उन्हें चूत में दो मिनट उंगली कर देते और चूत जब गीली हो जाती, तो समझो काम हो गया. दो मिनट तक मैं यूं ही धीमे धीमे से चुदाई करता रहा लेकिन मुझसे रहा नहीं गया और मैंने फिर से स्पीड बढ़ा दी.

मोनिका- कोई दिक्कत नहीं है, दीदी घर आ गई हैं, तो हम शाम को उनसे मिलने चलेंगे.

हम दोनों नंगे ही कार से बाहर निकल कर आए, डिक्की से अपना सामान लिया और अन्दर चले गए. वीडियो वीडियो बीएफ एचडीवह बोली- नहीं अंकल बस ऐसे ही!मैंने पूछा- ठंड लग रही हो तो बोलो एयरकंडीशनर बंद कर देता हूँ. जंगली देसी बीएफफिर उसने मुझे खड़ा किया और मेरा एक पैर अपने कंधे पर रखते हुए अपने लंड को मेरी चूत पर सैट किया. मैं दीदी की चुत देखने के लिए काफी बेचैन था, पर वह मुझे छोड़ ही नहीं रही थीं.

शादी के बाद जब पहली बार भाभी अपनी ससुराल आईं तो उस समय उनसे मेरी ज्यादा पहचान ना हो पाई.

मगर मेरे अन्दर इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं उस प्रस्ताव को स्वीकार कर सकूँ. मैं जैसे ही उसके माल को मुँह से थूकने वाला था, उसने अपने मज़बूत हाथों से मेरे मुँह को बंद कर दिया. थोड़ी देर बाद मैं उसकी चूचियों से सरकता हुआ धीरे से उसकी नाभि पर आ गया और उसकी नाभि पर किस करते हुए उसके पजामे का नाड़ा ढीला कर दिया.

मैं भी उस पर लाइन मारता रहता था पर दो महीने कोशिश करने के बाद भी मैं उसको पटा नहीं सका. अब मैं आहहह आहहह करके उसके लन्ड का मज़ा ले रही थी।आज कितने दिनों बाद मेरी ऐसी चुदाई हो रही थी।मेरे पति तो बस मेरे ऊपर चढ़कर मुझे थोड़ी देर चोदते और थककर सो जाते और मैं अपनी चूत सहला सहला कर रोती रहती।लेकिन समीर के फौलादी लंड ने आज मेरी चूत का भरता बना दिया था।मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. इसके बाद चाचा अपना लंबा, मोटा और सख्त लंड मम्मी की चुत की तरफ ले गए.

सेक्सी बीएफ बिहार वाली

वो मुझे देखते ही बोली- आज पापा नहीं है, उन्होंने कहा था कि सिंह साहब का बेटा आएगा, तो उसे दूध दे देना. अब ये शायद उसे भी अच्छा लगने लगा था तभी तो वो कोई विरोध नहीं कर रही थी. मैंने सॉरी बोला तो अनन्या ने कहा- कोई बात नहीं, पहली बार में थोड़ा दर्द होता है.

मेरा तो पहली बार था ही, उसका भी पहली बार ही था और जगह भी सही नहीं मिल रही थी.

ठीक उसी प्रकार जब कोई पुरुष/स्त्री कॉल ब्वॉय या कॉल गर्ल को बुलाते हैं, तब उन्हें आशा से भी अच्छा मज़ा देना तुम्हारा काम है.

वो उस वक्त तो कुछ नहीं बोली थी मगर आज जब उससे मेरी बात हुई तो मैं समझ नहीं पा रहा था कि ये मेरी बात मानेगी या नहीं. कुछ देर लंड बुर चूसने के बाद मैं सीधा हो गया और उसकी बुर को देखकर फिर से अपना मुँह उसकी बुर पर रख दिया. सेक्सी बीएफ वीडियो लड़कीउन्होंने मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर अपनी चूत में घिसना शुरू कर दिया.

उम्मीद करता हूँ कि आप सबको मेरी इंडियन देसी गर्ल Xxx कहानी पसंद आई होगी. काली पैंटी होने के कारण धब्बा तो नजर नहीं आ रहा था पर गीले होने का अहसास हो रहा था. मम्मी चाचा का सर अपनी चुत से पीछे को हटाने लगीं और अपनी टांगें भी बंद करने लगीं.

जैसे ही मैं घर गया, मुझे पता चला कि मेरे मम्मी पापा 5 दिनों के लिए बाहर जा रहे हैं. वो लंड अन्दर जाते ही रुक गईं और मेरे लंड को चूत में महसूस करने लगीं.

मैंने चाचा से कहा- ठीक है चाचा, मैं कुछ सोचता हूँ और कुछ जुगाड़ लगाकर आपको फोन करता हूं.

मैडम पूरे रास्ते बोलती रहीं कि कब उनकी शादी हुई, कैसे सेक्स किया और उनके पति के साथ झगड़ा, फिर तलाक. पिछले भागसेक्सी लड़की को नंगी देखामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी साली मीना मुझसे चुदने के लिए लगभग राजी हो गई थी. वो अपने पैरों को मेरे पैर से लपेट रही थी और हाथों को मेरी पीठ पर कस रही थी.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर सोने के कुछ समय बाद मैंने उसको जैसे ही किस की, वो जाग गयी और हल्के स्वर में कहने लगी- ये क्या कर रहे हो?मैं बोला- अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है. पजामे के साथ उन्होंने अपनी पैंटी भी उतार दी और मेरे मुँह पर मूतने लगीं.

पहली मुलाकात के बाद उसी दिन मेरे लंड ने उसके जिस्म का मजा कैसे लिया?दोस्तो, मेरा नाम अमित है और मैं मुंबई से हूँ. पांच मिनट बाद हम दोनों अलग हुए और गाड़ी में बैठ कर उनके घर की तरफ चल दिए. उस दिन घर के अन्दर जाकर वो अपने कपड़े उतारने लगा पर मुझे देख कर वो रुक गया.

सेक्सी बीएफ देसी वाली

कुछ पल प्यार करने के बाद अंकिता उठ कर बाथरूम में जाने लगी पर उसे चलने में दिक्कत हो रही थी. फिर पापा दीदी की चुचियों को छोड़ कर चूत के ऊपर आ गए और एक उंगली डाल कर आगे पीछे करने लगे. अब मैं जल्दी से खाना खाकर बाहर निकल आया और कुछ दूर चलने पर मुझे प्रिया की मटकती हुई गांड दिख गई.

फिर हम दोनों ने साथ में खाना खाया और हमारे बीच बातों का सिलसिला चलता रहा. मेरी आंख बंद होने के कुछ देर बाद मुझे कुछ अजीब सा महसूस होने लगा था.

वैसे आपने तो दीदी की चूत पर चुम्बन किया ही होगा ना … तो आपके लिए कोई नई बात थोड़ी होगी.

एक और बात ये कि ट्रेनिंग के बाद परीक्षा होती है, जब तक परीक्षा पास नहीं करते, ट्रेनिंग चालू रहेगी. मैं उनसे नजरें मिलाते हुए बोला- कुछ कमी रह गई हो, तो माफ कर देना क्योंकि यह मेरा फर्स्ट टाइम था, सब जल्दी जल्दी के चक्कर में हुआ. मेरा मन थोड़ा बदला और गुस्सा भी कम हुआ, शायद उससे मिलने का एक्साइटमेंट ही होगा.

इसके साथ ही ये भी संभालना होता था कि कहां से कितनी सवारी बैठी हैं और कहां से कितनी सवारी आ रही हैं. मैंने भी मौके को देखते हुए उसके दोनों पैर ऊपर करके मेरा लंड उसकी चूत पर रख दिया. एक दिन मेम का फोन आया और उन्होंने मुझसे कहा- मुझको कुछ पैसों की ज़रूरत है, क्या कुछ हो सकता है?मैंने कहा- मेरे पास तो नहीं है.

जब मेरी बहन घर आई तो उसने इस वाकिये को अपनी डायरी में लिखा, जो आज मेरे हाथ लग गई और मैंने आपको उसकी ग्रुप सेक्स की कहानी को आपके सामने पेश कर दिया.

सास और दामाद का बीएफ: मैं और मेरा एक खास दोस्त जिसका नाम रोहन था, दोनों एक ही कॉलेज में पढ़ते थे. तो मैंने उस मैकेनिक को कॉल किया और उसको बताया- पुणे से दस किलोमीटर दूर पर एक महिला की कार बंद हो गई है.

तभी नैना मेरे पास आई और बोली- अनुराग जी, आपको रात में नींद तो सही आई थी ना!मैंने नैना की ओर देखा और कहा- नैना जी, एक हसीना ने रात भर सोने ही नहीं दिया. उन्हीं दिनों मेरे देवर के रिश्ते की बात चल रही थी जो बाद में किसी वजह से टूट गई. बुआ ने उसे फोन किया और थोड़ी देर बाद एक चौबीस साल की पतली सी लड़की आई.

तब मैंने अपने चचेरे भाई को भी बताया कि कि मैंने अपने माँ बाप को सेक्स करते हुए देखा.

मैंने दीदी से कहा- हां, मालिश में कोई कमी नहीं रहने दूंगा, तुमको मजा आएगा और तुम्हारा दर्द भी चला जाएगा. बिना अन्तर्वासना की कहानी पढ़े मेरी सुबह नहीं होती और न ही रात में नींद आती है. मैं पहले पार्लर गयी, वहां अच्छे से मेकअप करवाया और वैक्सिंग भी करवा ली.